सोमवार, 30 अक्तूबर 2023

अक्तूबर माह में हवा की गुणवत्ता खराब बनी

अक्तूबर माह में हवा की गुणवत्ता खराब बनी

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। जिले की हवा में प्रदूषण का जहर लगातार घुलता जा रहा है। पिछले कुछ दिनों में हवा की गुणवत्ता बद से बदतर हो गई है।
अक्तूबर माह में हवा की गुणवत्ता लगातार खराब बनी हुई है। बदलते मौसम ने मुश्किलें बढ़ा दी है। निर्माण कार्य, वाहनों की बढ़ती संख्या, बिना मानक चल रही फैक्ट्रियां और धुआं उगलते वाहन सबसे बड़ी वजह बन गए हैं। मुख्य मार्गों के निर्माण में भी मानकों का पालन नहीं किया जा रहा है। पानी का छिड़काव तक नहीं किया जाता। यही वजह है कि रोजाना हवा की गुणवत्ता खराब हो रही है।
रविवार को एक्यूआई 231 के खराब स्तर पर रिकॉर्ड किया गया। क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी अंकित सिंह का कहना है कि विभाग की टीम सोमवार से तेजी से जांच अभियान चलाएगी। जहां पर मानकों का पालन नहीं हो रहा है, वहां पर बंदी की कार्रवाई होगी।
जिले का एक्यूआई तीन सौ पर भी पहुंच चुका है। 13 अक्तूबर को 292 रहा, जबकि 14 अक्तूबर को 303 पर पहुंच गया था। चिकित्सकों का कहना है कि बाजार में जाने के दौरान भी मॉस्क और चश्मे का प्रयोग करना चाहिए। इससे किसी हद तक खराब हवा से बचाव किया जा सकता है।

424 परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया

424 परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ सोमवार को मेवालाल अयोध्या प्रसाद स्मारक इण्टर कालेज, सोरांव प्रयागराज में 3,357 करोड़ लागत की 424 विकास परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण/शिलान्यास किया तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत समूह की महिलाओं को डेमो चेक, प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत लाभार्थिंयों को चाभी का वितरण किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकत्री सरोज भारतीय की छः माह की बेटी कृति का अन्नप्राशन भी कराया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम में उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार प्रयागराज में मां गंगा, मां यमुना व मां सरस्वती संगम करके इस देवनगरी को पवित्र बनाती है, उसी प्रकार हमारी भारत की सनातन हिंदू संस्कृति है, जिसमें अनेक जातियां एकजुट होकर परम्परा व संस्कृति को मजबूत बनाने का काम करती है। समय≤ पर हमारे ऋषि-मुनियों, महापुरूषों ने इसे सिंचित कर पल्वित व पुष्पित करने का कार्य किया। हमारा सौभाग्य है कि आज हमें प्रयागराज की इस धरती पर यह महासम्मेलन करने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। मुख्यमंत्र ने कहा कि यह धरती महाऋषि वाल्मिकी की पावन धरती है। इस पावन धरा पर भगवान श्रीराम के पावन चरित्र को अपने आदिकाव्य रामायण के माध्यम से हम सबको विरासत के रूप में जोड़ करके महर्षि वाल्मिकी ने सदैव-सदैव के लिए हमारा संवाद प्रभु श्रीराम के साथ जोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश की डबल इंजन सरकार ने वाराणसी में संतशिरोमणि रविदास जी के पावन जन्मस्थली के पुनरूद्धार का कार्य कर उनको नमन करने का कार्य कर रही है। पूर्व की सरकारों ने ऐसे महापुरूषों के योगदानों को भुलाने का कार्य किया है। हमारी सरकार आज की युवा पीढ़ी को ऐसे संत/मतात्माओं के योगदानों से रूबरू कराने का कार्य कर रही है। यह हमारा सौभाग्य है कि स्वतंत्र भारत को एक संविधान देने की जब बात आयीं थी, तो यह संविधान हमें बाबा साहब भीमराव अम्बेड़कर जी ने प्रदान किया था। आज 142 करोड़ लोग बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के संविधान से प्रेरणा और प्रकाश प्राप्त करते हुए विकास और समृद्धि की एक नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जी को आज किसी ने सम्मान देने का कार्य किया है, तो वह हैं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार ने डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर जी के निवास स्थान से लेकर उनकी कर्मस्थली तक को सम्मान के साथ जोड़ा है और उनकी स्मृति को जीवंत बनाने के लिए उनका स्मारक बनवाने का कार्य किया है, जिससे कि आज की युवा पीढ़ी उनके योगदानों को समझ सके।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार जो बोलती है, वह करके दिखाती है। आप लोग देखते होंगे कि हमारी सरकार द्वारा संचालित की गयी कितनी सारी जनकल्याणकारी योजनाओं से अनुसूचित जाति/जनजाति के लोग लाभान्वित हुए है। प्रधानमंत्री ने अभी हाल में ही भगवान बिरसा मुण्डा की जयंती तिथि 15 नवम्बर को ‘‘जनजाति दिवस’’ के रूप में मनाने की घोषणा की है। 26 नवम्बर की तिथि ‘‘संविधान दिवस’’ के रूप में मनायी जाये, यह भी प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ही सम्भव हुआ है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी जबसे देश के प्रधानमंत्री बने है, तब से ‘‘सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास’’ के सिद्धांत पर सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के दिया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में हर गरीब को चाहे वह किसी भी जाति का हो, अगर वह पात्रता की श्रेणी में आता है, तो उनको आवास, राशन, आयुष्मान कार्ड, उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना सहित अन्य योजनाओं के लाभ से लाभान्वित कराने के साथ ही उनको रोजगार उपलब्ध कराने का काम हमारी सरकार कर रही है। पूरे प्रदेश में अनुसूचित जाति/जनजाति को जमीन के पट्टे देने का कार्यक्रम दु्रतगति से चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2025 में प्रयागराज की धरती पर महाकुम्भ का आयोजन होने जा रहा है, जिसे हम भव्य, दिव्य व स्वच्छ महाकुम्भ बनायेंगे तथा देश-विदेश से आने वाले लोग स्नान दर्शन करने के साथ ही प्रयागराज की भव्यता को भी देखेंगे। यहां पर महाकुम्भ-2025 के सफल आयोजन हेतु कई निर्माणाधीन परियोजनाओं का कार्य तीव्रगति से कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं सभी को आश्वस्त करता हूं कि जो भी विकास की योजनाएं है, ये बिना किसी भेदभाव के आप तक पहुंचेंगी। जो लोग योजनाओं का लाभ प्राप्त कर चुके है, उनके आर्थिक स्वावलम्बन के लिए कार्य किया जायेगा एवं जो लोग अभी लाइन में लगे है, उन्हें योजना का लाभ मिलता रहे तथा जिन पात्र लोगो का नाम अभी तक पात्रता सूची में नहीं आया है, उनका नाम शीघ्रता के साथ सूची में डलवाकर उन्हें भी जल्द से जल्द जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कराया जायेगा। आज श्रमिकों के बच्चों के लिए अटल आवासीय विद्यालय बनाकर उन्हें शिक्षित करने का कार्य किया जा रहा है। बिना भेदभाव के सभी वर्गों के अभ्यर्थीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी निःशुल्क कर नौकरी प्राप्त कर सके, इसके लिए अभ्युदय योजना की शुरूआत की गयी। उन्होंने कहा कि सरकार समाज के आखिरी पायदान पर खड़े लोगो के बच्चों की शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सरकार द्वारा उन्हें शिक्षित करने के साथ रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है। हमारी सरकार के पूर्व अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगो को शासन की योजनाओं से वंचित किया जाता रहा है, लेकिन हमने उन्हें बिना किसी भेदभाव के शासन की सभी योजनाओं से लाभान्वित कराकर देश की मुख्य धारा से जोड़ने का कार्य कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी हाल ही में प्रधानमंत्री के जन्मदिवस के अवसर पर ‘‘विश्वकर्मा श्रमयोजना’’ का शुभारम्भ हुआ है, जिसमें परम्परागत कार्य करने वाले हस्तशिल्पियों को लाभान्वित कर उन्हें आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है।
इस अवसर पर केन्द्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज भारत के विकास में उत्तर प्रदेश अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि डाॅ0 अम्बेडकर ने गरीबो, असहायों व अनुसूचित जाति के लोगो के उत्थान के लिए जो कार्य किया था, आज वहीं कार्य देश में प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश में योगी आदित्नाथ के नेतृत्व में हो रहा है। आज लोगो में जाति के नाम पर हीनभावना नहीं होनी चाहिए। देश व प्रदेश की सरकार आप के विकास के लिए निरंतर कार्य कर रही है और आगे भी कार्य करती रहेगी। भारत सरकार बिना किसी भेदभाव के सभी योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत पात्रों तक पहुंचाने का कार्य कर रही है। पूर्व की सरकारों में आप के अधिकार का लाभ किसी अन्य व्यक्ति तक पहुंचता था, परंतु प्रधानमंत्री ने बिचैलियों का खेल खत्म करते हुए सभी योजनाओं का लाभ सीधे आप तक पहुंचाया है।
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि आज पूरा विश्व उत्तर प्रदेश की ओर देख रहा है एवं हर तरफ उत्तर प्रदेश की चर्चा है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक, ऐतिहासिक धरोहरों को नई पहचान व नया कलेवर तो मिल ही रहा है साथ ही उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था और औद्योगिक प्रगति आसमान छू रही है। उत्तर प्रदेश भारत के विकास में अहम योगदान दे रहा है। मुख्यमंत्री के अथक परिश्रम व दूरदर्शी सोच से यह सम्भव हो रहा है। उत्तर प्रदेश इंटरनेशनल इवेंट हब के रूप में स्थापित हुआ है।
इस अवसर पर मंत्री असीम अरूण ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश सरकार व मुख्यमंत्री हमेशा गरीबों के कल्याण के लिए सोचते है। मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति के लोगो के कल्याण हेतु मुख्यमंत्री के पद पर रहने के पूर्व से ही कार्य करते रहे है। उन्होंने कहा कि मैं यदि कुछ विगत वर्षो की बात करूं, तो प्रधानमंत्री ने गरीबों के कल्याण एवं विकास के लिए देश का खजाना खोल दिया है। उन्होंने कहा कि उद्योगो को बढ़ाने, कौशल विकास, शिक्षा, छात्रवृत्ति के लिए चलायी जा रही योजनाओं के साथ ही हर क्षेत्र में हमें लाभ मिला है। देश व प्रदेश की सरकारों में अनुसूचित जाति के लोगो की पर्याप्त हिस्सेदारी देकर अनुसूचित जाति के लोगो को आगे बढ़ाने का कार्य हमारी सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सर्वसमाज के लोगो का विकास हो रहा है। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास के मूलमंत्र पर कार्य किया है।
इस अवसर पर राज्यमंत्री समाज कल्याण विभाग संजीव कुमार गोंड,सांसद इलाहाबाद रीता बहुगुणा जोशी, सांसद फूलपुर केशरी देवी पटेल, सांसद कौशाम्बी विनोद सोनकर, सांसद भदोही रमेश चन्द्र बिंद, महापौर उमेश चन्द्र गणेश केसरवानी, विधायकों व विधान परिषद के सदस्य सहित जनप्रतिनिधियों के अलावा भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 रंजना त्रिपाठी ने किया।

7 लोगों को 16 साल के कारावास की सजा सुनाई

7 लोगों को 16 साल के कारावास की सजा सुनाई 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। लुधियाना की एक अदालत ने मुजफ्फरनगर के दो ड्रग सप्लायरों सहित सात लोगों को 16 साल के कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने सभी पर 1.60 लाख रुपये के जुर्माने की सजा भी सुनाई है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक पूरा मामला एक मार्च 2021 को पंजाब के लुधियाना जिले के थाना डाखा क्षेत्र का है। पुलिस ने दशहरा ग्राउंड से भारी मात्रा में बुलेट मोटर साइकिल पर प्रतिबंधित दवाओं की सप्लाई करने जा रहे लुधियाना निवासी सुखपाल सिंह को गिरफ्तार किया था।
पूछताछ के बाद पुलिस ने मुजफ्फरनगर के द्वारिका पुरी निवासी दक्ष अरोरा एवं नई मंडी थाना क्षेत्र के सुभाष नगर निवासी प्रवीण कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। पूछताछ में नशीली दवाओं की तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हुआ था। विवेचना में थाने के एएसआई हरप्रीत सिंह ने दोनों आरोपियों समेत सात के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था।
बचाव एवं अभियोजन पक्ष की दलील सुनने के बाद लुधियाना के अपर सत्र न्यायालय (विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस एक्ट) अमरिंदर पाल सिंह ने सभी को दोषी करार दिया। प्रत्येक दोषी को 16-16 साल का कारावास एवं 1.60-1.60 लाख रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई। सभी दोषियों को कस्टडी में लेकर सेंट्रल जेल भेजा गया।
लुधियाना की अदालत ने महत्वपूर्ण मामले में दो साल साढ़े सात महीने में फैसला सुनाया। मुजफ्फरनगर निवासी दक्ष अरोरा, प्रवीण कुमार, मेरठ के थाना नौचंदी के कोलनपुर निवासी विनय कुमार गुप्ता, लुधियाना निवासी सुखपाल सिंह और हनी सहगल, हरियाणा के अंबाला कैंट निवासी विशाल आनंद, पंजाब के संगरूर निवासी मनदीप सिंह को सजा का एलान किया। एनडीपीएस एक्ट की धारा 22 एवं 29 में सभी का दोषी करार देते हुए सजा दी गई।
लुधियाना के एनडीपीएस एक्ट के विशेष न्यायाधीश अमरिंदर सिंह ने 87 पेज के निर्णय में दोषियों की ओर से कारित अपराध पर कड़ी टिप्पणी की है। बचाव पक्ष के अधिवक्ताओं ने सजा के प्रश्न पर कम करने के लिए विभिन्न तर्क प्रस्तुत किए। लेकिन न्यायाधीश ने अपराधियों के अपराध को गंभीर माना।
उन्होने कहा कि इस तरह के कृत्य से युवाओं की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है और कॅरियर बर्बाद किया जा रहा है। नशीली दवाओं के अधिक सेवन से रोजाना युवाओं की जीवन की डोर टूट रही है। अपराध समाज हानिकारक है। भारी मात्रा में नशीली दवाओं की बरामदगी को गंभीर माना।
नशीली दवाइयों के अवैध कारोबार में मुजफ्फरनगर के दक्ष अरोरा ने बीते एक दशक में करोड़ों की दौलत कमाई थी। नई मंडी थाना क्षेत्र के द्वारिका पुरी निवासी दक्ष अरोरा पर तीन साल पहले कानून का शिकंजा कसा था। पंजाब पुलिस और नारकोटिक्स विभाग को एक बड़े मामले में कार्यवाही के दौरान मालूम हुआ कि मुजफ्फरनगर से नशीले केप्सूल, टैबलेट, सीरम और इंजेक्शन की आपूर्ति हो रही है।
योजनाबद्ध तरीके से पुलिस ने जाल बिछाया। हिरासत में लिए एक आरोपी से दक्ष को फोन कराया और नशे में प्रयोग हो रहे कैप्सूल की डिमांड कराई। बेखबर दवा विक्रेता अपने गोदाम से संबंधित कैप्सूल की पेटियां लेकर आपूर्ति के लिए बताई जगह पहुंच गया और पुलिस ने उसे धर दबोचा।

सपा एमएलसी को टोल प्लाजा पर 1 घंटे तक रोका

सपा एमएलसी को टोल प्लाजा पर 1 घंटे तक रोका 

संदीप मिश्र 
वाराणसी। सपा एमएलसी लाल बिहारी यादव को कैथी स्थित टोल प्लाजा पर एक घंटे तक रोके रखा गया। टैक्स जमा करने का दबाव डाला गया। कहासुनी करके विशेषाधिकार का हनन करने किया गया। इसे लेकर एमएलसी ने चौबेपुर थाने में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। चौबेपुर थाने की पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।
आजमगढ़ जिले के विशुनपुर गांव के मूल निवासी शिक्षक एमएलसी लाल बिहारी यादव ने पुलिस को बताया कि वह बीते 11 अक्तूबर की रात अपने घर जा रहे थे। चौबेपुर थाना क्षेत्र में राजवारी पुल के पहले कैथी टोल प्लाजा पर वह रात लगभग 12 बजे पहुंचे। उनके पहुंचने पर टोल प्लाजा के कर्मचारी 5-6 की संख्या में आए। सभी उनसे टोल टैक्स मांगने लगे। उन्होंने बताया कि वह विधान परिषद सदस्य हैं और उनके वाहन पर आगे सचिवालय का पास भी लगा हुआ है। इसके बावजूद टोल प्लाजा के कर्मचारी नहीं माने और उनके वाहन के सामने दूसरा बैरियर भी लगा दिया। इसके बाद रात 12 बजे से एक बजे तक उन्हें जबरन रोके रखा गया और उनके विशेषाधिकार का हनन किया गया। एमएलसी ने कहा कि टोल टैक्स के नाम पर उनसे जबरन वसूली का प्रयास किया गया। टैक्स न देने पर टोल प्लाजा के कर्मचारी जानलेवा हमले की नीयत से उनके पास आए और झगड़ा करना चाहे तो उन्होंने अपने वाहन का शीशा बंद कर लिया। इस घटनाक्रम को टोल प्लाजा में लगे सीसी कैमरे की फुटेज में देखा जा सकता है। इसके साथ ही घटनाक्रम का वीडियो उन्होंने भी अपने मोबाइल में रिकॉर्ड किया था। इस संबंध में चौबेपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

पहले भी हुआ विवाद
पहले निषाद पार्टी व उनके समर्थकों से टोल प्लाजा पर विवाद हुआ था। तब टाेल प्लाजा कर्मियों ने विधायक समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

चीफ सेलेक्टर इंजमाम ने अपने पद से इस्तीफा दिया

चीफ सेलेक्टर इंजमाम ने अपने पद से इस्तीफा दिया 

अखिलेश पांडेय 
इस्लामाबाद। भारत में खेले जा रहे वनडे वर्ल्ड कप 2023 के बीच पाकिस्तान क्रिकेट से एक बड़ी खबर सामने आई है। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के चीफ सेलेक्टर इंजमाम उल हक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना यह इस्तीफा पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के चीफ जका अशरफ को भेज दिया है।
53 साल के इंजमाम उल हक को हारून रशीद के पद छोड़ने के बाद अगस्त के महीने में पीसीबी का चीफ सेलेक्टर बनाया गया था। इससे पहले इंजमाम ने 2016-19 के दौरान भी चीफ सेलेक्टर का पद संभाला था।उनके चीफ सेलेक्टर रहने के दौरान ही पाकिस्तान ने भारत को हराकर 2017 की आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी जीती थी।
इंजमाम उल हक की गिनती पाकिस्तान के महानतम खिलाड़ियों में होता है। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम के नाम वनडे क्रिकेट में पाकिस्तान के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है. इंजमाम उल हक ने कुल 375 वनडे मैच में पाकिस्तान के लिए 11701 रन बनाए हैं। वनडे इंटरनेशनल में इंजी ने 10 शतक और 83 अर्धशतक लगाए।
टेस्ट मैच में भी इंजमाम उल हक का रिकॉर्ड शानदार रहा और उन्होंने 120 टेस्ट मैच में 8830 रन बनाए, जिसमें 25 शतक और 46 अर्धशतक शामिल थे। इंजमाम 1992 के वर्ल्ड कप में विजेता रही पाकिस्तान टीम का भी हिस्सा थे। रिटायरमेंट के बाद उन्होंने अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कोच के रूप में भी काम किया।

सिसोदिया की जमानत याचिका खारिज की

सिसोदिया की जमानत याचिका खारिज की

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। मनीष सिसोदिया को सुप्रीम कोर्ट से भी बड़ा झटका लगा है। शराब घोटाले में गिरफ्तार किए गए आम आदमी पार्टी के दूसरे सबसे बड़े नेता मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका सर्वोच्च अदालत ने खारिज कर दी है। सुनवाई पूरी करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को इस साल फरवरी के अंत में गिरफ्तार किया गया था।
इससे पहले विशेष अदालत और हाई कोर्ट ने मनीष सिसोदिया को जमानत देने से इनकार कर दिया था। हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में दरवाजा खटखटाया। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुना और कई सावल भी किए। मनीष सिसोदिया की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सिसोदिया को निर्दोष बताते हुए कहा कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। वहीं, जांच एजेंसियों की ओर से अडिशनल सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कई दलीलें रखते हुए सिसोदिया की जमानत याचिका का विरोध किया।
सीबीआई और ईडी का दावा है कि दिल्ली आबकारी नीति के जरिए शराब कारोबारियों को फायदा पहुंचाया गया और बदले में रिश्वत ली गई। हालांकि, दिल्ली सरकार और आम आदमी पार्टी ने आरोपों को सिरे से खारिज किया है। केजरीवाल सरकार का कहना है कि भाजपा और केंद्र सरकार राजनीतिक कारणों से उसके नेताओं को झूठे मुकदमों में फंसाने में जुटी है। हाल ही में आप के एक अन्य बड़े नेता संजय सिंह को भी ईडी ने इसी केस में गिरफ्तार किया है।

राजस्थान: चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू

राजस्थान: चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू 

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान में आगामी विधानसभा आम चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया सोमवार को शुरु हो गई और इसके पहले दिन आठ प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किए। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि सोमवार को अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया शुरू हो गई और पहले दिन राज्य में आठ विधानसभा क्षेत्रों के लिए आठ उम्मीदवारों ने नौ नामांकन पत्र दाखिल किए।
पहले दिन सात प्रत्याशियों ने गंगानगर, गढ़ी, भीलवाड़ा, बहरोड़, बानसूर, नोखा और चौरासी विधानसभा क्षेत्रों के लिए एक-एक नामांकन पत्र तथा घाटोल विधानसभा क्षेत्र में एक उम्मीदवार ने दो नामांकन पत्र दाखिल किए। गुप्ता ने बताया कि प्रदेश की सभी 200 विधानसभा सीटों के लिए 30 अक्टूबर को चुनाव कार्यक्रम की अधिसूचना जारी होने के बाद रिटर्निंग अधिकारी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालयों एवं अन्य महत्वपूर्ण कार्यालयों के बाहर लोक सूचना चस्पा की गई है।
नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि छह नवम्बर है। रविवार के कारण पांच नवंबर को नामांकन पत्र दाखिल नहीं किए जा सकेंगे। नामांकन प्रक्रिया पूर्वाह्न ग्यारह बजे से अपराह्न तीन बजे तक दाखिल किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच सात नवम्बर को की जाएगी।
उम्मीदवारों के नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि नौ नवम्बर है और पूरे प्रदेश में एक ही चरण में 25 नवम्बर को सुबह सात से शाम छह बजे तक मतदान कराया जायेगा। मतगणना तीन दिसम्बर को होगी। श्री गुप्ता ने बताया कि नामांकन दाखिल करते समय सामान्य अभ्यर्थी को 10 हजार रुपये और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थी को पांच हजार रुपये जमानत राशि जमा करानी होगी।
अभ्यर्थियों को नामांकन के समय सभी सुसंगत एवं आवश्यक दस्तावेज जैसे जमानत राशि का प्रमाण, प्रारूप-ए एवं बी, शपथ पत्र आदि के साथ आना होगा। यदि अभ्यर्थी उसी निर्वाचन क्षेत्र का निर्वाचक नहीं है जहां से वह चुनाव लड़ रहा है तो अभ्यर्थी को संबंधित निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक नामावली की प्रति या निर्वाचक नामावली से संबंधित भाग की प्रमाणित प्रति दाखिल करनी होगी।

जिला स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक आहूत की: डीएम

जिला स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक आहूत की: डीएम 

जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक आहूत

कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर होगी सख्त कार्यवाही: जिलाधिकारी

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। महात्मा गांधी सभागार, कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक आहूत की गई।
बैठक में उद्यमियों द्वारा यूपीसीडा, सिविल यूपीसीडा, अग्निशमन, लोक निर्माण विभाग, नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया, ई0एस0आई0सी0, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, नगर पालिका परिषद लोनी, जीडीए, जिला पंचायत परिषद, जीएसटी, पुलिस विभाग, विद्युत विभाग से सम्बंधित शिकायतें प्रस्तुत की गई। अधिकारियों द्वारा बैठक में बताया गया कि उक्त सभी बिन्दुओं पर कार्य चल रहा हैं और कुछ बिन्दुओं पर कार्य अनुमोदित है, जो कि जल्द शुरू करवा दिया जायेगा। 
जिलाधिकारी ने कहा कि उद्यमियों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी का सामना ना करना पड़ा। यदि विभाग के अधिकारियों द्वारा समय सीमा पर कार्य पूरा नहीं करवा जाये तो आगामी बैठक में उन्हें उसकी रिर्पोट प्रेषित की जाये। कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों को जिलाधिकारी ने अधिकारियों के उपस्थित ना होने के लिए कारण बताओं नोटिस भेजने के निर्देश दिये।
बैठक में मुख्य रूप से श्रीनाथ पासवास डीसी, प्रदीप कुमार सत्यार्थी, फरीद अख्तर, रामपाल बर्मन, हिमांशू शेखर तिवारी, जीएस बुधियाल, वन्दना तौमर, विनित कुमार, अरविन्द कुमार, महेश उपाध्याय, अमित कुमार, आलोक कुमार, पीके वाजपेयी, रूपेन्द्र कुमार सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी और बड़ी संख्या में उद्यमी उपस्थित थे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-344, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. मंगलवार, अक्टूबर 31, 2023

3. शक-1944, कार्तिक, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 16 डी.सै., अधिकतम- 22+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नेशनल क्रश रश्मिका मंदाना सिर्फ साउथ सिनेमा का ही नहीं, अब ...