मंगलवार, 15 सितंबर 2020

सीमा पर तनाव, रक्षामंत्री ने दिया जवाब

 अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख में सीमा पर चल रहे तनाव पर लोकसभा में मंगलवार को बयान देंगे। विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार से लगातार सवाल कर रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत-चीन सीमा पर चल रहे तनाव पर सरकार से कई सवाल पूछे थे। माना जा रहा है कि तीन बजे सदन शुरू होती ही राजनाथ सिंह इस मुद्दे पर बयान देंगे। केंद्र सरकार मानसून सत्र के दूसरे दिन संसद सदस्यों के भत्ते और पेंशन (संशोधन) विधेयक, 2020 समेत तीन विधेयक पारित होने के लिए मंगलवार दोपहर को लोकसभा में जाएगी। अन्य विधेयकों में आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक, 2020 और बैंकिंग विनियमन (संशोधन) विधेयक, 2020 शामिल हैं। इन विधेयकों को सोमवार को लोकसभा में पेश किया गया था, जब मानसून सत्र में पहली बार सदन की बैठक हुई थी।


संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी वेतन, भत्ते और पेंशन (संशोधन) विधेयक को सदन में पेश करेंगे। इसी मुद्दे पर जारी अध्यादेश को कानून बनाने के लिए ये विधेयक लाया जाएगा। यह 20 से अधिक नए विधेयकों में से है, जो 11 अध्यादेशों की जगह लेंगे, जिन्हें सरकार इस दौरान पारित करने का लक्ष्य रखती है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 को संशोधित करने के लिए बैंकिंग विनियमन (संशोधन) विधेयक, 2020 सदन में पेश करेंगी।                 


शहरीकरण समस्या, आधुनिक 'सच': मोदी

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहरीकरण को समस्या की जगह आज के दौर की सच्चाई बताया है। बिहार को अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर की सात अहम परियोजनाओं की सौगात देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि शहरीकरण आज के दौर की सच्चाई है। लेकिन कई दशकों से हमारी एक मानसिकता बन गई थी, हमने ये मान लिया था जैसे कि शहरीकरण खुद में कोई समस्या है, कोई बाधा है! लेकिन मेरा मानना है, ऐसा नहीं है। ऐसा बिलकुल भी नहीं है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि एक दौर ऐसा आया, जब बिहार में मूल सुविधाओं के निर्माण के बजाय, प्राथमिकताएं और प्रतिबद्धतताएं बदल गईं। राज्य में गवर्नेंस से फोकस ही हट गया। इसका परिणाम ये हुआ कि बिहार के गांव पिछड़ते गए और जो शहर कभी समृद्धि का प्रतीक थे, उनका इंफ्रास्ट्रक्चर अपग्रेड हो ही नहीं पाया।


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सड़कें हों, गलियां हों, पीने का पानी हो, सीवरेज हो, ऐसी अनेक मूल समस्याओं को या तो टाल दिया गया या फिर जब भी इनसे जुड़े काम हुए वो घोटालों की भेंट चढ़ गए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जब शासन पर स्वार्थनीति हावी हो जाती है, वोट बैंक का तंत्र सिस्टम को दबाने लगता है, तो सबसे ज्यादा असर समाज के उस वर्ग पर पड़ता है, जो प्रताड़ित है, वंचित है, शोषित है। बिहार के लोगों ने इस दर्द को दशकों तक सहा है। बीते डेढ़ दशक से नीतीश कुमार, सुशील मोदी और उनकी टीम समाज के सबसे कमजोर वर्ग के आत्मविश्वास को लौटाने का प्रयास कर रही है। जिस प्रकार बेटियों की पढ़ाई को, पंचायती राज सहित स्थानीय निकाय में वंचित, शोषित समाज की भागीदारी को प्राथमिकता दी गई है, उससे उनका आत्मविश्वास बढ़ रहा है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि अब केंद्र और बिहार सरकार के साझा प्रयासों से बिहार के शहरों में पीने के पानी और सीवर जैसी मूल सुविधाओं में निरंतर सुधार हो रहा है। मिशन अमृत और राज्य सरकार की योजनाओं के तहत बीते 4-5 सालों में बिहार के शहरी क्षेत्र में लाखों परिवारों को पानी की सुविधा से जोड़ा गया है।


प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि बीते 1 साल में, जल जीवन मिशन के तहत पूरे देश में 2 करोड़ से ज्यादा पानी के कनेक्शन दिए जा चुके हैं। आज देश में हर दिन 1 लाख से ज्यादा घरों को पाइप से पानी के नए कनेक्शन से जोड़ा जा रहा है। स्वच्छ पानी, न सिर्फ जीवन बेहतर बनाता है बल्कि अनेक गंभीर बीमारियों से भी बचाता है।                


प्रशिक्षण के दौरान पाक विमान दुर्घटनाग्रस्त

इस्लामाबाद। पाकिस्तान वायु सेना (पीएएफ) का एक विमान मंगलवार को पंजाब प्रांत के अटॉक शहर के पास उस समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जब वह नियमित प्रशिक्षण के मिशन पर था। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि पायलट ने खुद को विमान से सुरक्षित बाहर निकाल लिया है।


डॉन न्यूज ने पीएएफ के बयान के हवाले से कहा, “पायलट को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। जीवन या संपत्ति का कोई नुकसान नहीं हुआ है।”पीएएफ ने कहा है कि दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए बोर्ड ऑफ इंक्वायरी का आदेश दे दिया गया है। बता दें कि यह इस साल की ऐसी पांचवीं दुर्घटना है।


इससे पहले मार्च में इस्लामाबाद में शकरपरियन के पास 23 मार्च की परेड के रिहर्सल के दौरान पीएएफ का एफ -16 विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें विंग कमांडर नौमान अकरम की मौत हो गई थी। उससे पहले 12 फरवरी को खैबर पख्तूनख्वा के मर्दन जिले में तख्त भाई के पास एक नियमित प्रशिक्षण मिशन के दौरान एक पीएएफ ट्रेनर विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। यह तीसरा पीएएफ प्रशिक्षण विमान था जो दो महीने से भी कम समय में एक नियमित प्रशिक्षण मिशन के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है।                


अपने बच्चों की तरह हमें भी करुणा दिखाएं

नई दिल्ली। बेबाकी से अपनी बात रखकर विवादों में घिरीं अभिनेत्री कंगना रनौत ने मंगलवार को समाजवादी पार्टी (सपा) की राज्यसभा सांसद जया बच्चन पर उनके सदन में दिये गये बयान पर हमला बोला है। कंगना ने कहा कि यदि मेरी जगह आपकी पुत्री श्वेता और पुत्र अभिषेक होते तब भी क्या आप यही बात कहती।


जया बच्चन के आज राज्यसभा में दिये गए बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा,” जया जी, आप तब भी वही बात कहेंगी, अगर मेरी जगह आपकी बेटी श्वेता को में छोटी उम्र में पीटा जाता, नशीला पदार्थ दिया जाता और छेड़छाड़ की जाती, तब भी क्या आप यही कहतीं। अगर अभिषेक लगातार बदमाशी और उत्पीड़न की शिकायत करता और एक दिन फांसी पर लटका मिले? हमारे लिए भी करुणा दिखाएं।”


सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में बॉलीवुड में नशे के मामले पर कहा कि फिल्मजगत को बदनाम करने की साजिश की जा रही है।                


अमेरिका ने चीन पर लगाए नए प्रतिबंध

वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ कार्रवाइयों में अमेरिका ने एक और कदम उठाया है। जबरन मजदूरी का हवाला देते हुए अब वहां से आने वाले  कॉटन, हेयर प्रोडक्ट, कंप्यूटर कंपोनेंट और कुछ टेक्सटाइल को प्रतिबंधित कर दिया गया है। चीन के शिनजियांग प्रांत में रहने वाले उइगर समुदाय के लोगों से जबरन मजदूरी करवा कर बन रहे प्रोडक्ट पर अमेरिका की ओर से यह रोक लगाई गई है। इस प्रतिबंंध के फैसले पर अमेरिका ने बताया कि चीन की सरकार शिनजियांग में रहने वाले उइगर समुदाय का मानवाधिकार हनन कर रही है, इनका शोषण किया जा रहा है और इसीलिए यहां तैयार किए गए प्रोडक्ट उत्पादों को लेकर ये फैसला लिया गया है। 


उइगर मुसलमानों को डिटेंशन कैंप में भेजने, उनके धार्मिक गतिविधियों में हस्तक्षेप के अलावा उनके शोषण को लेकर दुनिया भर में चीन की किरकिरी हो रही है ।  उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों और दूसरे अल्पसंख्यक समुदायों के शोषण और उत्पीड़न मामले पर रोशनी डालने के लिए नया वेबपेज जारी किया है।             


ज्यादा से ज्यादा कोरोना जांच की अपील

सीडीओ ने अधिक से अधिक कोविड-19 का सैम्पल देकर टेस्ट कराने की जनपदवासियों से की अपील।


बस्ती। सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका ने जनपदवासियों से अधिक से अधिक कोविड-19 का सैम्पल देकर टेस्ट कराने की अपील किया है। पुलिस लाईन सभागार में आयोजित सप्ताहिक समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि 415 कन्टेनमेन्ट जोन में 139533 जनसंख्या के बीच में कुल 267 सिम्प्टोमेटिक केस मिले है। इसमें से दुबौलिया तथा परसरामपुर में एक भी सिम्प्टोमेटिक केस नही मिला है। यह स्थिति अत्यन्त चिन्तनीय हैं। उन्होने सभी एमओआईसी को निर्देश दिया है कि पाॅजिटिव पाये गये केस तथा उनकी कान्टैक्ट ट्रेसिंग कर अधिक से अधिक लोगों की सैम्पलिंग कराये।
उन्होने निर्देश दिया है कि हाई तथा लो रिस्क लोगों का टेस्ट प्राथमिकता पर कराया जाय। यदि कोई निगेटिव पाया जाता है तो पुनः पाॅचवे दिन उसका सैम्पल लेकर जाॅच करायी जाय। जाॅच करते समय सही तरीका अपनाया जाय। उन्होने निर्देश दिया कि कन्टेनमेन्ट जोन में बास, बल्ली से बैरीकेटिंग की जाय, पुलिस बल तैनात किया जाय। होम आईसोलेशन में रहने वाले पाॅजिटिव पाये गये केस के घर के बाहर पोस्टर लगाया जाय। उस पर परिवार के सभी सदस्यों का नाम लिखा जाय। दवा का किट उपलब्ध कराया जाय। किट में गिलोय की गोली अवश्य रखी जाय।
उन्होने निर्देश दिया कि होम आईसोलेशन में रह रहे लोगों को आरआरटी टीम के डाक्टर का फोन नम्बर दिया जाय, जिस पर वे अपनी समस्या की जानकारी दे सकेंगे। इसके अलावा एकीकृत कमाण्ड कंट्रोल सेण्टर का नम्बर 05542-245672 पर भी वे अपने बीमारी के बारे में जानकारी दे सकते है।
उन्होने सभी एमओआईसी को निर्देश दिया कि अपने क्षेत्र में सभी बैंक, सरकारी दफ्तर के कर्मचारियों का सैम्पलिंग कराये। प्राईवेट नर्सिंग होम तथा प्राईवेट डाक्टरों के मीटिंग करके कोविड-19 के प्रोटोकाल से अवगत कराये। भीड़-भाड़ वाले स्थान, हाट बाजार में भी सैम्पल लेने की भी व्यवस्था करें। बैठक का संचालन सीएमओ डाॅ0 एके गुप्ता ने किया। इसमें ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नन्द किशोर कलाल, उप जिलाधिकारी आशाराम वर्मा, नीरज पटेल, आनन्द श्रीनेत, मुख्य कोषाधिकारी श्रीनिवास त्रिपाठी, एसीएमओ डाॅ0 सीके वर्मा, डाॅ0 फखरेयार हुसैन, डाॅ0 जलज, आलोक राय तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे।              


पाकिस्तान का सैन्य अड्डा बन रहा 'चीन'

बीजिंग/ इस्लामाबाद। चीन पाकिस्तान की मदद से पीओके में अपना सैन्य अड्डा बनाने की योजना पर काम कर रहा है। माना जा रहा है कि इसी के चलते लद्दाख में तनाव की स्थिति बनी हुई है। चीन सीपेक के जरिए तेल सप्लाई के लिए हिंद महासागर पर अपनी निर्भरता को कम करना चाहता है, यही वजह है कि वह ग्वादर बंदरगाह पर खूब निवेश कर रहा है। ऐसे में भारत के लिए दोहरे मोर्चे पर चुनौती बढ़ गई है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग इन दिनों घरेलू मोर्चे पर घिरे हुए हैं। पहले अमेरिका के साथ हुई ट्रेड वॉर से चीन की अर्थव्यवस्था को झटका लगा। उसके बाद कोरोना वायरस और अपने कई फैसलों को लेकर शी जिनपिंग अपने आलोचकों के निशाने पर हैं। ऐसे में आशंका जतायी जा रही है कि शी जिनपिंग घरेलू स्तर पर हो रही आलोचना से बचने के लिए भारत पर युद्ध थोप सकते हैं। मुंबई स्थित जसलोक अस्पताल के न्यूरोसाइट्रिस्ट डॉ. राजेश एम पारिख का ऐसा मानना है।                                           


डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को दी धमकी

वॉशिंगटन डीसी। ईरान के दक्षिण अफ्रीका में अमेरिका की राजदूत की हत्‍या के साजिश रचने की खबरों के बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने तेहरान को बड़ी धमकी दी है। उन्‍होंने कहा कि अगर ईरान ने कासिम सुलेमानी की हत्‍या का बदला लेने के लिए अमेरिका या अमेरिकी लोगों पर कोई हमला किया तो वह किसी भी ईरानी हमले का 1000 गुना ज्‍यादा विनाशक हमले से जवाब देंगे।
ट्रंप ने ट्वीट किया, 'मीडिया में आई खबरों में कहा गया है कि ईरान कासिम सुलेमानी की हत्‍या का बदला लेने के लिए (अमेरिकी राजदूत की) हत्‍या की साजिश रच रहा है या अमेरिका के खिलाफ अन्‍य हमले की साजिश रच रहा है। कासिम सुलेमानी की हत्‍या भविष्‍य में अमेरिकी सैनिकों पर होने वाले किसी भी हमले और अमेरिकी सैनिकों की हत्‍या को रोकने के लिए किया गया था।'             


'अमेरिका-ताइवान' के बीच नाराज चीन

ताइपे/ वाशिंगटन डीसी/ बीजिंग। अमेरिका की ताइवान के साथ प्रस्तावित आर्थिक वार्ता को लेकर चीन खासा नाराज है। चीन ने अमेरिका को आगाह किया कि यदि वह इस प्रस्तावित आर्थिक बैठक से पीछे नहीं हटता है, तो दोनों देशों के संबंधों को ‘गंभीर नुकसान’ हो सकता है। अमेरिका-चीन आर्थिक बैठक में एक वरिष्ठ अमेरिकी मंत्री के भाग लेने की संभावना है।


ताईवान के साथ संबंध तोड़े अमेरिका- चीन
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने अमेरिका से ताइवान के साथ सभी तरह के आधिकारिक आदान-प्रदान रोकने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि यदि अमेरिका ऐसा नहीं करता है, तो दोनों देशों के संबंधों को ‘गंभीर क्षति’ पहुंच सकती है और इससे ताइवानी क्षेत्र में शांति और स्थिरता प्रभावित हो सकती है।           


भू माफियाओं से जमीन छुड़वाने की मांग की

अतीश त्रिवेदी 


सरकारी जमीन से भू माफिया का कब्जा हटवाने की मांग


लखीमपुर खीरी। ग्राम पंचायत धिरावां वासियों ने मुख्य मंत्री उप्र शासन एवं उप जिलाधिकारी गोला को ग्रामीणों ने शिकायत भेजकर हैदराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम गोविंदा पुर में स्कूल के कृषि फार्म एवं बीज गोदाम की भूमि पर किए गए।अवैध कब्जे को पैमाइस कराके मुक्त कराने की मांग की है। धिरावां के हसीब उर्फ मुन्ना,गोविंदापुर के शैलेन्द्र, सूरज, शिशुपाल, जगदीश, राजकुमार ,बेंचेलाल ने भेजे शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि कुम्भी के ग्राम गोविंदापुर सिथति उच्च प्राथमिक स्कूल के कृषि फार्म गाटा संख्या 190,रकवा है।0.4780 व बीज गोदाम गाटा संख्या 191,रकवा 0.1130 की वेशकीमती भूमि के कुछ भागपर भू माफिया प्रदीप वर्मा ने पक्का मकान बनाया एवं  कुछ पर बाहन आदि खड़ा करकेअस्थायी रूप से कब्जा कर रखा है। इसमें बीज गोदाम की भूमि पर अवैध कब्जे के कारण दशकों पूर्व से लगती चली आ रही साप्ताहिक बाजार का सार्वजनिक स्वरूप भी संकुचित हो गया है। बाजार के दुकानदारों एव ग्रामीणों ने अवैध कब्जा हटवा वाने की मांग की है।           


    


गौशाला के स्थान पर सड़कों पर असहाय पशु

अतीश त्रिवेदी


गौशाला की जगह सड़क पर भटक रहे असहाय पशु


लखीमपुर खीरी। संबंधित मामले में एसडीएम अखिलेश यादव ने बताया कि हर ब्लाक स्तर पर दो-दो गौशाला प्रस्तावित की गई हैं व निर्माणाधीन हैं। एक माह के अंदर गौशाला बन जाएंगी। जो भी आवारा जानवर बाहर घूम रहे हैं। उन सभी को गौशालाओं के अंदर किया जाएगा। सरकार के तमाम कोशिशों के वावजूद भी गौवंश गौशाला की जगह सड़क पर भटक रहे हैं। जिससे आए दिन अशहाय पशु दुर्घटना का शिकार व राहगीर भी दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। जिससे राहगीरों को काफी दिक्कत व गौवंशो पर भी काफी दुर्घटना का असर देखने को मिल रहा है। एक तरफ सरकार गौवंशो को गौशाला की राह दिखाने में लगी हुई है। वहीं दूसरी तरफ गौवंशो को गौशाला के जगह सड़कों पर भटकना पड़ रहा है। आखिर अशहाय गौवंशो को इन राहों पर कबतक भटकना पड़ेगा यह एक यक्ष प्रश्न है। वहीं छुट्टा जानवरों को भटकने के कारण जानवर कूड़ा करकट में फेंके गए प्लास्टिक व अन्य उपयोगी चीजें खाकर प्राण त्याग रहे हैं।  इन कारणों से पौस्टिक आहार सेवन करने मे अशहाय पशु दूर है। आखिर छुट्टा पशुओं को देख रेख व गौशाला की जगह सड़क पर क्यों भटकाया जा रहा है। वहीं आए दिन छुट्टा पशु भी दुर्घटना का शबब बने हुए हैं। आखिर सरकार इन छुट्टा पशुओं को सहारा कब देगी। जिससे इन छुट्टा पशुओं से निजात मिल सके।
आवारा पशुओं के चलते किसानों का भूख प्यास और नींद सब गायब सा हो गया है। आये दिन गायों की समस्या बढ़ती जा रही है। जो हमारे किसान भाई काफी परेशान रहते हैं जो रात दिन खेतों में रहकर अपने लहराती हुई फसल की रखवाली करते हैं। अगर किसान खेतों पर ना पहुंच पाए तो आवारा पशुओं का झुंड फसल को पूरी तरह से रौंदकर बर्बाद कर देता है फिर भी यह समस्या खत्म नहीं हो पा रही है। इसका मूल कारण क्या है की गायों की संख्या काफी अधिक है और गांवों में देखा है की हर गांव में 40 से 50 गाय आवारा घूम रही हैं  जो  गायों की दुर्दशा देखी नहीं जा रही है। कहीं तार से कट जा रही हैं कही किसी प्रकार से चोटिल हो रही हैं।       


सबके सम्मान व सबके हित के लिए काम

भानु प्रताप उपाध्याय


कांग्रेस ने सब के सम्मान व सब के हित में काम कियाः चौधरी नीर पाल सिंह


शामली। दलित नेता अरविंद झंझोट प्रदेश सचिव अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निवास स्थान मोहल्ला पंसारीयान वाल्मीकि कॉलोनी शामली में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं अखिल भारतीय जाट महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार मुख्य अतिथि का फूल माला पहनाकर स्वागत किया।पूर्व मंत्री चौधरी नीर पाल सिंह जी ने अपने संबोधन में कहा है, की कांग्रेस पार्टी दलित समाज कमजोर वर्गों एवं किसान मजदूर व्यापारियों एवं जन हितेषी पार्टी है। हमारी पार्टी सभी वर्गो का सम्मान करती है और उनके हक अधिकारों के लिए निरंतर प्रयासरत है। कांग्रेस पार्टी ने अपने कार्यकाल में वाल्मीकि समाज के सम्मानित प्रतिष्ठ डॉक्टर बूटा सिंह जी को केंद्रीय गृह मंत्री बनाकर वाल्मीकि समाज को सम्मान देने का काम किया था। और उत्तर प्रदेश में भी कांग्रेस सरकार ने स्वर्गीय चौधरी हरी सिंह वाल्मीकि को कैबिनेट स्वास्थ्य मंत्री बनाकर वाल्मीकि समाज को सम्मान देने का काम किया था और लगभग 30 वर्ष से उत्तर प्रदेश में किसी भी पार्टी ने वाल्मीकि समाज से कैबिनेट मंत्री नहीं बनाया गया है और हमारी कांग्रेस पार्टी की सरकार ने अपने कार्यकाल में वाल्मीकि समाज के लोगों को एवं रोजगार सभी युवाओं को सभी विभागों में स्थाई रोजगार देने का काम किया था कांग्रेस पार्टी सभी को एक साथ लेकर चलने एवं सभी को समान अधिकार मिले ऐसी हमारी पार्टी की नीति है!
इस अवसर पर चौधरी राजबीर सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष भारतीय किसान मजदूर संयुक्त यूनियन (रजि.) अरविंद झंझोट प्रदेश सचिव अनुसूचित जाति विभाग कांग्रेस नंदू प्रसाद वाल्मीकि जिला संयोजक राष्ट्रीय वाल्मीकि समाज प्रतिनिधि मंच (भारत) प्रमोद कश्यप कुमारी काजल वाल्मीकि प्रदेश प्रभारी पश्चिम उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस मुकेश कुमार सलेक चंद शामिल रहे।


24 घंटे में मोबाइल चोरी का निस्तारण किया

भानु प्रताप उपाध्याय


थाना थानाभवन पुलिस द्वारा मोबाइल चोरी की घटना का 12 घंटे में किया सफल अनावरण


शामली। पुलिस अध्यक्ष शामली श्री विनीत जसवाल का आदेश अनुसार चलाई जा रही चेकिंग महान व्यक्ति के क्रम में अपर पुलिस अध्यक्ष शामली के निर्देशन के क्षेत्र अधिकारी थाना भवन के कुशल नेतृत्व थाना थानाभवन द्वारा चेकिंग के दौरान सूचना पर एक नंबर चोर को चोरी किए मोबाइल सहित गिरफ्तार करते हुए। चोरी की घटना का 12 घंटे में असफल निवारण करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है। गिरफ्तारी के संबंध में थाना थानाभवन पर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। आपको बता दें कि 14/9/2020 की देर रात्रि को श्री राजवीर पुत्र जय सिंह निवासी ग्राम गोगवान थाना बाबरी जनपद शामली द्वारा एक मोबाइल फोन रेडमी अज्ञात चोर द्वारा चोरी कर लिए जाने की थाना थाना भवन पर दाखिल की गई थी। दाखिल तहरीर के आधार पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया गया था। पकड़े गए, अभियुक्त ने अपना नाम सलमान पुत्र शाहिद निवासी मोहल्ला का कस्यावान थाना थाना भवन जनपद शामली बताया।                                 


2 बाइक बरामद, 2 बाइक चोर अरेस्ट किए

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


दो बाइकें बरामद, दो बाईक चोर गिरफ्तार


हापुड़। जनपद में वाहनों की चोरी करने वालें वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर पुलिस ने 5 चोरी की बाईकें बरामद की है।
जानकारी के अनुसार सोमवार देर रात सिम्भावली पुलिस ने वाहन चैकिंग के दौरान हाजीपुर रोड़ पर बाईक सवार दो युवकों को हिरासत में लेकर पूछताक्ष की।
पकड़े गए सिम्भावली निवासी मोहित और धीरज ने पुलिस को बताया कि वे वाहन चोर हैं और जनपद से वाहन चोरी कर सस्तें दामों में बेच देते थे। दो अन्य वाहन चोर नदीम और नाजिम फरार हो गए।पुलिस ने उनकी निशानदेही पर पांच बाईकें बरामद की हैं।             


हापुड़ः ट्रैक्टर ने बच्चे को कुचला, मौत

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


चौकी का घेराव टैक्टर से कुचलकर बच्चें की मौत


हापुड़। अपने घर जा रहे एक 12 वर्षीय बच्चें को तेज गति से आते एक ट्रैक्टर ने टक्कर मारकर कुचल दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। गुस्साए मौहल्लेंवासियों ने पुलिस चौकी का घेराव कर जमकर हंगामा व नारेबाजी की।
जानकारी के अनुसार हापुड़ के मजीदपुरा निवासी शान की बुआ का 12 वर्षीय पुत्र राजू को सोमवार देर शाम मदरसें के पास एक तेज गति से आते एक ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई।
गुस्साए मौहल्लेंवासियों व परिजनों ने शव को जदीद पुलिस चौकी का घेराव व रख जमकर हंगामा व नारेबाजी की।
मौके पर पहुंचे शहर कोतवाल सुबोध सक्सेना ने कार्यवाही का आश्वासन देकर मामला शांत किया। पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया।                


अवैध कटान करने वालें 3 कबाड़ी गिरफ्तार

अतुल त्यागी, मुकेश सनी


चोरी कर अवैध कटान करनें वालें तीन कबाड़ी गिरफ्तार, वाहन बरामद


हापुड़। जनपद में वाहन चोरी कर अवैध रुप से कटानें करनें वाले दो कबाड़ियों सहित तीन चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से एक छोटे हाथी में 5 बाईक,स्कूटी एवं अन्य सामान बरामद किया।
जानकारी के अनुसार हापुड़ जनपद में चोरी हो रहे वाहनों के मद्देनजर पुलिस ने एक अभियान चलाकर वाहन चोरी कर अवैध कटान करनें वालें गैंग के तीन सदस्य मजीदपुरा निवासी अमजद,नाजिम उर्फ लड्डू व ईंदगाह कालोनी निवासी शाहिल उर्फ गुड्डू को गिरफ्तार कर लिया।
शहर कोतवाल सुबोध सक्सेना ने बताया कि पुलिस ने उनके पास से एक छोटे हाथी में पांच बाईक,स्कूटी,व अन्य सामान बरामद किया।
पकड़े गए चोरों ने बताया कि वे जनपद में अलग अलग स्थानों से वाहनों को चोरी कर कटान कर अलग अलग पार्ट्स में बेचते हैं।                                                     


हिमाचलः 3704 सक्रिय संक्रमित, 85 मौतें

श्रीराम मौर्य


शिमला। हिमाचल में कोरोना (Corona) का कुल आंकड़ा दस हजार के करीब पहुंच गया है। वहीं, 3704 एक्टिव केस (Active Case) हैं। अब तक 6171 लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 85 की मृत्यु हुई है। आज भी पांच कोरोना मृत्यु दर्ज की गई हैं। इसमें कांगड़ा जिला के मेडिकल कॉलेज टांडा में दो की मृत्यु हुई है। हमीरपुर जिला के सुजानपुर के 53 वर्षीय व्यक्ति ने मेडिकल कॉलेज टांडा में दम तोड़ा है। व्यक्ति ने पिछले कल दम तोड़ दिया। व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऊना (Una) जिला के 71 वर्षीय व्यक्ति ने भी मेडिकल कॉलेज टांडा में दम तोड़ा है। व्यक्ति को 12 सितंबर को अस्पताल में लाया गया था। व्यक्ति टाइप टू डायबिटीज का मरीज था। आज सुबह व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। यह ऊना शिफ्ट किया गया था। वहीं, शिमला, सोलन (Solan) व मंडी में एक-एक की मृत्यु हुई है। अभी हिमाचल में कुल आंकड़ा 9972 है। पिछले कल रात 9 बजे के बुलेटिन के बाद हिमाचल में 63 मामले सामने आए हैं। वहीं, कोई भी मरीज ठीक नहीं हुआ है। इसमें मंडी में 51, शिमला में आठ व बिलासपुर में चार मामले आए है।


किस जिला में कितनी मृत्यु, कितने हुए ठीक


कोरोना मृत्यु मामले में सोलन व कांगड़ा (Kangra) जिला बराबरी पर है। यहां पर 18-18 मौतें हुई हैं। शिमला में 13, मंडी (Mandi) और ऊना में 9-9, सिरमौर में 6, चंबा व हमीरपुर में पांच-पांच, बिलासपुर व कुल्लू (Kullu) में एक-एक की मृत्यु हुई है। अगस्त माह से अब तक 73 लोगों की जान जा चुकी है। हिमाचल में डेथ रेट 0.85 फीसदी के करीब पहुंच गया है। वहीं, सोलन जिला के 1412, बिलासपुर के 320, चंबा के 475, हमीरपुर के 560, कांगड़ा के 902, किन्नौर के 77, कुल्लू के 265, लाहुल स्पीति के 8, मंडी के 387, शिमला के 332, सिरमौर के 954 व ऊना के 479 लोग ठीक हुए हैं। हिमाचल में रिकवरी रेट 61.88 पहुंच गया है।


किस जिला में कितने कुल मामले और एक्टिव केस


सोलन जिला में सबसे अधिक 2272 कुल मामले हैं और 840 एक्टिव केस हैं। बिलासपुर (Bilaspur) में 531 कुल मामले और 210 एक्टिव केस, चंबा में 639 कुल मामले और 155 एक्टिव केस, हमीरपुर (Hamirpur) में 738 कुल मामले और 173 एक्टिव केस व कांगड़ा में 1531 कुल मामले व 611 एक्टिव केस हैं। किन्नौर में कुल मामले 121, एक्टिव केस 44, कुल्लू में 388 कुल मामले और 122 एक्टिव केस, लाहुल स्पीति में 29 कुल मामले और 21 एक्टिव केस, मंडी में 960 कुल मामले और 564 एक्टिव केस, शिमला में 633 कुल मामले और 281 एक्टिव केस, सिरमौर 3 में 1259 कुल मामले और 299 एक्टिव केस व ऊना में 871 कुल मामले और 384 एक्टिव केस हैं।


सोने में एक बार फिर तेजी से आई गिरावट

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। सोने की कीमत में एक बार फिर गिरावट आई। सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को घरेलू सर्राफा बाजार में सोने की कीमत में गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को सोने के भाव में 24 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट दर्ज की गई। इस गिरावट के साथ ही दिल्ली में सोने का हाजिर भाव 52,465 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है।रुपये में बढ़ोत्तरी के चलते सोमवार को सोने में यह गिरावट आई है। सोना पिछले सत्र में 52,489 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ था। चांदी की बात की जाए तो चांदी की कीमतों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। चांदी में 222 रुपये प्रति किलोग्राम का उछाल आया है। अब चादीं की कीमत 69,590 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है। गौरतलब है कि पिछले सत्र में चांदी 69,368 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बंद हुई थी। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक तपन पटेल ने बताया कि दिल्ली में 24 कैरेट सोने के हाजिर भाव में भी सोमवार को रुपये में मजबूती के चलते 24 रुपये की गिरावट आई। आपको बता दें कि भारतीय रुपया सोमवार को घरेलू शेयर बाजारों में स्थिरता के बावजूद एक डॉलर के मुकाबले पांच पैसे की मजबूती के साथ 73.48 पर बंद हुआ। वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर की बात करें, तो सोने का वैश्विक भाव सोमवार को उछाल के साथ 1945.5 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड करता दिखा। वहीं, चांदी का वैश्विक भाव सोमवार को 26.87 डॉलर प्रति औंस के साथ स्थिर ही ट्रेंड करता दिखा।                       


लगातार तीसरी बार सपा महानगर अध्यक्ष

लगातार तीसरी बार समाजवादी पार्टी महानगर अध्यक्ष बने इफ्तेखार हुसैन का हुआ ज़ोरदार स्वागत


बृजेश केसरवानी।


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा सै०इफ्तेखार हुसैन को लगातार तीसरी बार महानगर अध्यक्ष की बागडोर मिलने पर जार्जटाउन स्थित ज़िला कार्यालय पर सपा कार्यकर्ताओं ने फूल माला पहना कर ज़ोरदार स्वागत किया।ज़िलाध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव की अध्यक्षता मे हुए स्वागत कार्यक्रम में ,विधान परिषद सदस्य बासुदेव यादव, डॉ मान सिंह यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष पंधारी यादव,पूर्व सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल, प्रदेश सचिव अल्पसंख्यक सभा मो०शारिक़,दान बहादूर मधुर,सै०मो०अस्करी,रविन्द्र यादव,नाटे चौधरी, गीता पासी, मंजू यादव, काशानन सिद्दिकी,  नवीन यादव, मो अजहर, सहित भारी संख्या में सपाईयों ने फूल माला पहना कर लगातार तीसरी बार महानगर की कमान मिलने पर श्री इफ्तेखार को बधाई दी।श्री इफ्तेखार ने करैली स्थित आवास से आधा दर्जन गाड़ीयों के क़ाफले के साथ हाईकोर्ट स्थित बाबा साहब भीम राव आम्बेडकर की प्रतिमा पर पहोँच कर माल्यर्पण किया।वहाँ से सुभाष चौराहा होते हुए सिविल लाईन बस अड्डा चौराहे पर स्थित डॉ०लोहिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए जार्जटाउन कार्यलय पहोँचे जहाँ पहले से मौजूद सपा पदाधिकारीयों व कार्यकर्ताओं ने फूल माला से लाद कर स्वागत किया।श्री इफ्तेखार ने पूर्व ज़िलाध्यक्ष बाबू जवाहर सिंह की मूर्ति पर माला पहना कर नमन किया।नव नियुक्त ज़िलाध्यक्ष योगेश यादव की अध्यक्षता में हुए स्वागत कार्यक्रम मे इफ्तेखार हुसैन ने स्वागत से अभिभूत हो कर सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। कहा संगठन में सभी जाति और धर्म के लोगों को सम्मान देते हुए संगठन का विस्तार कर २०२२ में पुनाः अखिलेश यादव के नेत्रित्व में सरकार गठित करने को तन मन से कार्य करुंगा।स्वागत करने वालों में र्व श्री ज़िलाध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव,पंधारी यादव,बासूदेव यादव,डॉ मान सिंह यादव,कृष्णमूर्ति सिंह यादव, एस पी सिंह पटेल, मंसूर आलम,डॉ सुरेश यादव, दानबहादुर सिंह,सै०मो०अस्करी,मो०शारिक़,रविन्द्र यादव रवि, संतलाल वर्मा, नाटे चौधरी,मयंक यादव जॉन्टी,ननकऊ यादव,मो०अज़हर,वक़ार अहमद,रणधीर यादव,सन्दीप यादव ब्लाक प्रमुख,आक़िब जावेद,मो०इसराइल,मशहद अली खाँ,किताब अली,अब्दुल समद,अब्बास नक़वी,सैफ फरीदी,शबी हसन,पिन्टू यादव,वीरु पासी,शहनवाज़ अहमद,अब्दुल अहद,गिरजा शंकर यादव,दया शंकर यादव,रेखा उपाध्याय,मंजू यादव,पूनम श्रीवास्तव,निशा शुक्ला,बिट्टू भारतीय,अब्बास हुसैन,आसिफ अन्सारी,मो०नदीम,सै०मो०हामिद आदि शामिल रहे।


संस्थान के द्वारा जारी जलकल बिल रोकें

जल संस्थान प्रयागराज द्वारा पहले जारी किए गए जल कल बिल को शीघ्र रोके  -- प्रमिल केसरवानी
रिपोर्ट बृजेश केसरवानी


 प्रयागराज। जनहित संघर्ष समिति के प्रदेश अध्यक्ष प्रमिल केसरवानी जी ने  जनहित संघर्ष समिति की बैठक के माध्यम से कहा है कि  अभी कुछ दिन पूर्व नगर निगम कार्यालय मे बैठक के माध्यम से महापौर एवं जल संस्थान  महाप्रबंधक जी नगर आयुक्त के द्वारा जनहित को देखते हुए जलकर पर संशोधित   करने का आदेश जल कल विभाग के अधिकारियों को दिया गया है  लेकिन विभाग के अधिकारी अभी भी विभाग के द्वारा जारी किए गए सन 2014 से 2020 तक के  बिल जनता के बीच मे लेकर पहुंचा रहे हैं ! जिसके कारण जनता में  संशय की स्थिति बनी हुई है और विभाग  के ही कुछ लोग इसका लाभ उठा रहे हैं  l
जनहित संघर्ष समिति उत्तर प्रदेश मांग करते हुए कहा है कि जब तक नया संशोधित बिल तैयार ना हो जाए तब तक महापौर  एवं महाजल प्रबंधक जी तत्काल विभाग के द्वारा पहले के द्वारा जारी किए गए  जलकर बिल को  शीघ्र रोके
 बैठक में मुख्य रुप से सर्व श्री शलभ पांडे रवि शुक्ला कुलदीप चौरसिया सुशील जैन अभिलाष केसरवानी रश्मि जायसवाल पीयूष मारवाड़ी आयुष श्रीवास्तव  संतोष अग्रहरि उपस्थित रहे।


13 वें दिन विद्युत कर्मियों का धरना प्रदर्शन

निजीकरण के विरुद्ध मुख्य अभियंता, (वितरण) प्रयागराज के प्रांगण में  विद्युत कर्मियों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया
रिपोर्ट बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। लगातार तेरह वे दिन भी केन्द्रीय नेतृत्व के आह्वान पर विद्युत कर्मचारी मोर्चा संगठन  उत्तर प्रदेश प्रयागराज की इकाई द्वारा वर्क टू रूल का अनुपालन करते हुए  मुख्य अभियंता, (वितरण) प्रयागराज, के प्रांगण में पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के पृथकीकरण एवं निजीकरण के विरोध में  संगठन के प्रांतीय महामंत्री पी एन मिश्रा के नेतृत्व एवं जनपद अध्यक्ष अनुपम राय चौधरी की अध्यक्षता में भोजनावकाश में भोजन का त्याग करके विरोध प्रदर्शन किया गया। सभा का संचालन  विनय चौरसिया, द्वारा किया गया। सभा को अखिलेश शर्मा, कार्यवाहक क्षेत्रीय अध्यक्ष, अभय नाथ राय, क्षेत्रीय सचिव, बी. के. पांडेय, क्षेत्रीय प्रमुख सचिव, अभिषेक दास, मोनिका श्रीवास्तव, नें संबोधित किया गया, साथ ही प्रांतीय महामंत्री पी एन मिश्रा ने बताया कि पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के पृथकीकरन एवं निजीकरण की कार्यवाही प्रबंधन द्वारा स्थगित करने के संबंध में संगठन के केन्द्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश अवस्थी द्वारा हुई वार्ता के सापेक्ष, संगठन द्वारा निर्णय लिया गया कि निजीकरण के विरुद्ध अनवरत भोजनावकाश में विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम को अग्रिम कार्यवाही तक बंद रहेगा सभा में  हेमंत त्रिपाठी, संजय पांडेय,एस एम ए रिजवी, अनीत यादव, अनुपम श्रीवास्तव, सलीम अहमद , ओम प्रकाश, रवीन्द्र सिंह,  सुनील सिंह , आशीष सिंह, विजय शर्मा,अतुल कुमार, सुधीर नारायण यादव, सज्जन यादव, हितेश भटनागर, सुरेंद्र यादव, सोनू, प्रमोद श्रीवास्तव, अर्चना कुशवाहा, शालनी, दशरथ कुमार, सन्नी पटेल, चन्द्रशेखर,  शहबाज अहमद, सूदर्शन यादव, इरफान गनी खान, अखिलेश कुमार, निर्मला, मधु आदि सहित संगठन के सदस्य उपस्थित रहे!              


चोरों ने मचाया तांडव, नगदी और जेवर चुरायें

अतुल त्यागी (मंडल प्रभारी)
प्रवीण कुमार (रिपोर्टर पिलखुआ)
हापुड़। बेखौफ हुए चोर कैंटीन व्यापारी के घर में मचाया तांडव 5 लाख रुपये के करीब के जेवरात और नगदी चुरा कर हुए फरार।


मामला जनपद हापुड़ के थाना पिलखुवा क्षेत्र के मोहल्ला होली चौक खेड़ा गांव का है जहां कैंटीन व्यापारी का परिवार घर में सोया हुआ था तभी बैखोफ चोर घर में घुस गए और नशीला पदार्थ सुंघा कर सेफ की तिजोरी में रखे सोने चांदी के करीब 5 लाख की कीमत के जेवरात ₹10 हजार के करीब नगदी चुरा कर चोर हुए फरार घर में सो रही बुजुर्ग महिला सुशीला 55 वर्षीय के कानों के कुंडल भी निकाल कर ले उड़े चोर परिवार के लोग जब सो कर उठे तो घर का सारा सामान कमरे के अंदर फैला हुआ मिला देखकर परिवार के होश उड़ गए जब परिवार के लोगों ने इधर उधर देखा तो छत के ऊपर कुछ सामान पड़ा हुआ मिला इसकी सूचना पीड़ित परिवार ने 112 नंबर पुलिस को दी सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुटी वहीं दूसरी तरफ जगमोहन के घर में भी चोरों ने पॉकेट पर्स और मोबाइल फोन चुरा कर फरार हो गए बाइक का भी चुराने का प्रयास किया लेकिन चोर कामयाब नहीं हुए फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है पीड़ित परिवार ने पिलखुवा कोतवाली में तहरीर दी है।


6 महीने बाद हुआ दिवस का आयोजन

6 महीने बाद हुआ सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन, अधिकारियों ने सुनी जनता की समस्याएँ।


कोरोना संक्रमण काल के काल करीब छह माह बाद मंगलवार को तहसील संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने लोनी तहसील में जनता की समस्या सुनी। दोपहर करीब सवा बारह बजे तक जिलाधिकारी ने 22 समस्या सुनीं। जबकि तीन का मौके पर ही निस्तारण कराया गया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल जिला वन अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एन. के.गुप्ता, उप जिलाधिकारी खालिद अंजुम, पुलिस विभाग व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी भी मौजूद रहे।
दूसरी तरफ मोदीनगर तहसील में अपर जिलाधिकारी प्रशासन संतोष कुमार वैश्य की अध्यक्षता में तहसील संपूर्ण समाधान दिवस आयोजित किया गया। संपूर्ण समाधान दिवस में प्रचार प्रसार के बावजूद अनेक लोग समस्याओं का समाधान कराने पहुंचे हुए थे। बता दें कि जनता की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने के उदेश्य से उत्तर प्रदेश सरकार का महत्वपूर्ण कार्यक्रम संपूर्ण समाधान दिवस मंगलवार को जनपद की तीन तहसीलों में किया गया।             


जिम्मेदारी और इमानदारी से निभाएं कर्तव्य

पुलिसकर्मी ईमानदारी और ज़िम्मेदारी से करें काम– एडीजी सब्बरवाल।


मेरठ। जोन के पुलिस अपर महानिदेशक राजीव सब्बरवाल ने मंगलवार को पुलिस लाइन का निरीक्षण किया और अधीनस्थ अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान एडीजी ने कंट्रोल रूम, कार्यालय, पुलिस कर्मियों के रहन-सहन की व्यवस्था, खेल मैदान के अलावा साफ-सफाई की व्यवस्था देखी। दोपहर बाद एडीजी अधीनस्थ अधिकारियों की पुलिस लाइन में ही बैठक लेंगे। जिसमें अपराधों की रोकथाम, कोविड-19, जाम के अलावा अन्य मुद्दों पर बातचीत होगी।
एडीजी राजीव सब्बरवाल ने मंगलवार की सुबह पुलिस लाइन का निरीक्षण किया जहां सशस्त्र जवानों ने एडीजी को सलामी दी, वहीं उनके आने से पूर्व सभी जरूरी कार्य निपटा लिए गए थे। एडीजी ने अधीनस्थ अधिकारियों के साथ पुलिसकर्मियों को कोविड-19 को लेकर सावधानी बरतने के आदेश दिए और कहा कि पुलिसकर्मी अपने कार्य को पूरी ईमानदारी और जिम्मेदारी के साथ करें। इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
आपको बता दें कि अभी दो दिन पहले ही एडीजी ने मुरादनगर थाने का भी निरीक्षण किया था। करीब ढाई घंटे के निरीक्षण के दौरान जहां उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी की अपराधों की रोकथाम को लेकर पीठ थपथपाई थी, वहीं अधीनस्थ अधिकारियों को कड़े दिशा-निर्देश दिए थे। हालांकि इस दौरान पांच दरोगाओं से पिस्टल खुलवा कर और बंद करवा कर देखी गई थी, जिसमें से तीन दरोगा पिस्टल कोक करने में असफल रहे थे।               


गाजियाबादः वायरस के 278 नए संक्रमित

सोमवार को गाज़ियाबाद में मिले 278 नए संक्रमित, यहाँ देखें अपडेटेड कंटेनमेंट ज़ोन की लिस्ट।


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। सोमवार को ग़ाज़ियाबाद में 278 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आने बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।ज़िले में एक्टिव कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2126 है। रिपोर्ट के अनुसार ज़िले में अब तक कोरोना के 11064 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।अब तक गाजियाबाद में 8865 कोरोना संक्रमित मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।                   


कोरोनाः हॉस्पिटलों में बेडो के लिए मारामारी

गाज़ियाबाद में कोरोना संक्रमितों की बढ़ी परेशानी, अस्पतालों में शुरू हुई बिस्तरों के लिए मारामारी।


गाज़ियाबाद। पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमितों की संख्या की बाढ़ सी आ गई है। जिसकारण न तो सरकारी अस्पतालों में और ना ही प्राइवेट अस्पतालों में मरीजों को जगह मिल पा रही है। प्रशासन की ओर से संतोष मेडिकल को कोविड अस्पताल के रूप में परिवर्तित किया गया है। पिछले कुछ दिनों से अस्पताल के सारे बेड्स फुल हो चुके हैं।
सोमवार को कोरोना संक्रमण के लक्षण लिए 19 मरीज संतोष अस्पताल पहुंचे थे लेकिन किसी को भी एडमिट नहीं किया गया। कारण बताया गया कि अस्पताल में बेड्स नहीं है। जिस कारण संक्रमित होने के लक्षण लिए लोग इधर-उधर भटकते रहे। यही हाल जिला एमएमजी अस्पताल का भी है। वहां भी कई दिनों से मरीजों को भर्ती नहीं कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमण का लक्षण के साथ जाने वाले लोगों को किसी और अस्पताल में जाने के लिए कहा जा रहा है।
दरअसल गाज़ियाबाद में सितंबर के मध्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या अचानक बढ़ने लगी। हर दिन सैंकड़ों की संख्या में लोग लक्षण के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं लेकिन उन्हें जगह नहीं मिल पा रही है। कौशांबी स्थित एक नामी अस्पताल में भी अब बेड्स उपलब्ध नहीं है। वसुंधरा के एक निवासी को कोरोना के शुरुआती लक्षण आने के बाद उन्होंने कौशांबी के एक अस्पताल में दिखाया तो अस्पताल की ओर से बताया गया कि अभी बेड नहीं है। पांच दिनों तक घर में ही आईसोलेशन में रहिए। पांच दिन बाद फिर से जांच होगी। तब तक अगर बेड उपलब्ध हो जाता है तो भर्ती कराया जाएगा।
इस समय कोरोना से गंभीर रूप से प्रभावित लोगों की संख्या में तेजी से बढ़ौतरी हो रही है। गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन और प्लाज्मा से ही बचाया जा सकता है। लेकिन सरकारी अस्पताल एमएमजी में प्लाज्मा की कोई व्यवस्था नहीं है। प्लाज्मा के लिए लोगों को दर-दर भटकना पड़ रहा है। दिल्ली सरकार ने व्यवस्था की है कि वहां के अस्पतालों में पहले दिल्ली के रहने वालों को प्लाज्मा दिया जाएगा। ऐसे में गाजियाबाद से दिल्ली इलाज के लिए जाने वालों को वहां भी प्लाज्मा नहीं मिल रहा है।                 


लापता का शव बरामद, आरोपी अरेस्ट

लापता हुई महिला का शव बरामद, पुलिस ने हत्यारोपी पति को किया गिरफ़्तार।


बार-बार होता था पति-पत्नी का आपस में झगड़ा, पति ने गला दबाकर ली अपनी पत्नी की जान


अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। गत् 31 अगस्त को रेशमा खातून नामक महिला अचानक कहीं लापता हो गई थी। जिसके संबंध में रेशमा खातून की गुमशुदगी थाना भोजपुर में दर्ज कराई गई थी। जिसके उपरांत रेशमा का कोई सुराग ना मिलने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने इस मामले में संज्ञान लिया था। जिसके अनुपालन में एसपी ग्रामीण नीरज कुमार जादौन के नेतृत्व में कई टीमों का गठन किया गया था। जिसी क्रम में पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए विवेचना से संकलित साक्ष और मुखबिर की सूचना पर सद्दाम हुसैन पुत्र अफसर हुसैन निवासी थाना भोजपुर को गिरफ़्तार कर लिया हैं।
कड़ाई से पूछताछ करने पर सद्दाम हुसैन ने बताया कि उसकी शादी को 8 वर्ष हो गए हैं, तभी से उसका और उसकी पत्नी रेशमा खातून का आपस में झगड़ा होता आ रहा था। तंग आकर झगड़े को समाप्त करने के लिए सद्दाम हुसैन ने अपनी पत्नी को मौत के घाट उतारने की योजना बनाई और फिर योजना के अनुसार अभियुक्त सद्दाम हुसैन अपनी पत्नी को घर से बाहर सामान खरीदने के बहाने ले गया।
गौरतलब है कि रास्ते में ग्राम देहरा के जंगल की नहर की पटरी के पास सुनसान जगह पर सद्दाम हुसैन पेशाब करने के बहाने रुका और उसने आस-पास में अपनी नज़र मारी, जैसे ही सद्दाम हुसैन को मौका मिला तो सद्दाम ने अपनी पत्नी रेशमा खातून का अपने हाथों से गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। सद्दाम हुसैन नेम अपनी पत्नी रेशमा खातून के शव को वही झाड़ी में छिपा दिया था।
थाना भोजपुर प्रभारी निरीक्षक धर्मेद्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्त गण को ग्राम फरीदनगर गेट के पास से गिरफ़्तार किया गया हैं। पुलिस ने इसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करके इसको जेल भेज दिया हैं।                 


5 शातिर चोर पकड़े, सैंटरो कार बरामद

पुलिस ने पकड़े पांच शातिर चोर, सैंट्रो कार बरामद।


फाईज़ अली सैफी


गाज़ियाबाद। एसएसपी कलानिधि नैथानी एवम् एसपी सिटी अभिषेक वर्मा के आदेश अनुसार वाहन चोरों के विरुद्ध सिटी थानाक्षेत्रों में चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत थाना कोतवाली नगर पुलिस ने चेकिंग के दौरान दिल्ली गेट के जीटी रोड से पांच शातिर चोर को उस समय गिरफ़्तार कर लिया, जब वह थानाक्षेत्र में सक्रिय थे। पुलिस को इनके पास से चोरी की एक सेंट्रो कार बरामद हुई हैं।
पुलिस को पकड़े गए अभियुक्तों ने अपना नाम मनन अरोड़ा पुत्र अनिल अरोड़ा, दूसरे ने गुलशन पुत्र कल्लू राम, तीसरे ने रवि कुमार पुत्र विनोद कुमार, चौथे ने मनोज कुमार पुत्र मोहनलाल और पांचवें ने विकास कुमार पुत्र विनोद कुमार निवासी थाना रूप नगर दिल्ली बताया हैं।
थाना कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए अभियुक्त शातिर किस्म के अपराधी हैं, जिनका एक गिरोह हैं और वह दिल्ली एनसीआर में पहले तो रेकी किया करते हैं और फिर जैसे ही उन्हें मौका मिलता हैं तो वह एकांत में खड़े दुपहिया वाहनों के ताले तोड़कर उन्हें चोरी कर लिया करते हैं।
इतना ही नहीं, अभियुक्त गण चोरी किए गए वाहनों की नंबर प्लेट बदलकर उनकी फर्जी आरसी तैयार कर चोरी के वाहनों को जालसाजी से बेच भी दिया करते हैं। पुलिस ने इनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके इनको जेल भेज दिया हैं।                   


अतिक्रमणकारियों पर चली रेलवे की जेसीबी

अवैध अतिक्रमणकारियों पर चला रेलवे का जेसीबी।


हर्रैया। गोरखपुर-गोण्ड़ा रेल लाइन पर गौर रेलवे स्टेशन से चकचई ओवरब्रिज तक रेलवे की जमीन पर दशको से लोगो ने कब्जा जमा रखा था। अतिक्रमणकारी भवन बनाकर दुकान चलाने के साथ-साथ निवास भी कर रहे थे। रेल विभाग द्वारा पीक्यूआरएस मशीन खड़ी करने के लिए अतिरिक्त डबल लाइन बिछाने का प्रस्ताव होने के साथ ही अतिक्रमणकारियों को जमीन खाली कराने का नोटिस दिया गया लेकिन बार-बार नोटिस के बावजूद कुछ ही लोगो ने भवन खाली किया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को सहायक सुरक्षा आयुक्त आरपीएफ गोरखपुर श्रेवांश चितवाड़े एवं थानाध्यक्ष गौर अनिल कुमार दूबे के नेतृत्व में भारी पुलिस बल पहुँच गया। तत्पश्चात एईएन बिबेकनन्दन एवं आईडब्लू बस्ती नरेन्द्र सिंह चन्देल क¢ नेतृत्व में जसीबी द्वारा रेलवे की जमीन में बनी दुकानों को ढहाने का काम शुरू हुआ जो देर शाम खबर लिखे जाने तक चल रहा था। श्री नन्दन ने बताया कि रेलवे की जमीन से अतिक्रमण हटाया गया है।                 


लोगों को बचाना पहली प्राथमिकता होगी

कोविड-19 के संक्रमण से जिले के लोगों को सुरक्षित बचाना सबसे पहली प्राथमिकता होगी –जिलाधिकारी दिव्या मित्तल।


संतकबीर नगर। जिलाधिकारी श्रीमती दिव्या मित्तल ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण से जिले के लोगों को सुरक्षित बचाना उनकी सबसे पहली प्राथमिकता होगी। इसके साथ ही लोगों को न्याय दिलाना तथा विकास कार्यक्रमों को तेजी से आगे बढ़ाने का कार्य किया जायेगा। वे कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों को सम्बोधित कर रही थीं। रविवार की देर शाम कोषागार में कार्यभार ग्रहण करने के बाद सोमवार को अधिकारियों की पहली परिचयात्मक बैठक को सम्बोधित करते हुये उन्होंने कहा कि अधिकारी का हर स्तर पर सहयोग किया जायेगा। अधिकारी खुलकर अपनी समस्या उनके सामने रखें, उसका पूरी तरह निदान किया जायेगा।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिये मास्क लगाना तथा दो गज की दूरी बनाये रखना अनिवार्य है। हमें लोगों को इसके प्रति जागरूक करना होगा। मास्क लगाकर तथा दो गज की दूरी बनाये रखकर हम अपने परिवार तथा समाज को अधिक से अधिक सुरक्षित रख पायेंगे। उन्होंने कहा कि जिले के नागरिकों को कोविड-19 से बचाव के लिये एवं इलाज के लिये बेहतर सुविधा उपलब्ध कराना हमारी जिम्मेदारी है, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नहीं होगी।
जिलाधिकारी नें सभी अधिकारियों का परिचय प्राप्त किया। उन्होंने निर्देश दिया कि शासन के निर्देशानुसार सभी अधिकारी समय से अपने कार्यालय में बैठें तथा लोगों की समस्याओं को सुने एवं उनका निराकरण करें। बिना उनसे अनुमति लिये कोई भी अधिकारी मुख्यालय नहीं छोड़ेगा। 15 सितम्बर से तहसील दिवस शुरू हो रहा है, सभी अधिकारी इसमें उपस्थित रहें। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह, अपर जिलाधिकारी संजय कुमार पाण्डेय, डी.एफ.ओ डा. टी.रंगाराजू, सी.डी.ओ. अतुल मिश्रा, सभी उप जिलाधिकारीगण, तहसीलदारगण, विकास विभाग के जिलास्तरीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।
जिलाधिकारी नें पत्रकारों से वार्ता के दौरान के बताया कि वे 2013 बैच की आई.ए.एस. अधिकारी हैं। उन्होनें दिल्ली आई.आई.टी. से इन्जीनियरिंग किया है तथा एम.बी.ए. भी किया है। लंदन में नौकरी करने के बाद 2013 में आई.ए.एस. बनीं। उन्होंने सीतापुर में ट्रेनिंग ली। मेरठ में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट रहीं। गोंडा में सी.डी.ओ. रहीं। संत कबीर नगर आने से पहले वे बरेली विकास प्रधिकरण में उपाध्यक्ष थीं। उन्होंने महान संत कबीर के महापरिनिर्वाण स्थली संत कबीर नगर में अपनी तैनाती को परम सौभाग्य बताया तथा उन्होंने आश्वस्त किया कि वे कबीर चौरा के विकास के लिये भरपूर प्रयास करेंगी।
उन्होंने प्रेस प्रतिनिधियों का स्वागत किया। उन्होने कहा कि जिले में नये-नये तरीके से कार्य करने के लिये वे प्रयत्न करेंगी। वर्तमान समय में कोविड-19 से लोगों को बचाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रवासी कामगारों तथा स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध कराकर उनके जीवन को सुखी बनाया जायेगा। विभिन्न विवादों में लोगों को न्याय दिलाने के लिये वे सतत प्रयत्नशील रहेंगी। इसमें सभी प्रेस प्रतिनिधियों के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने प्रेस प्रतिनिधियों से अपील किया कि वे नियमित रूप से मास्क लगायें तथा दो गज की दूरी बनाये रखें तथा अपने समाचार पत्र एवं संचार माध्यमों से लोगों को जागरूक करें।
उन्होंने बताया कि उन्होंने रविवार की शाम को ही कोविड-19 आपदा नियंत्रण केन्द्र एवं कण्ट्रोल रूम की व्यवस्था देखा है। आज सुबह भी उन्होंने जिला अस्पताल स्थित एल-2 कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया है। प्रशासन द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी नियमित रूप से प्रेस प्रतिनिधियों को मिलती रहे इसके लिये वे प्रयास करती रहेंगी।                 


महिलाओं को 1000 दिन के पोषण का ज्ञान

गर्भवती व धात्री महिलाओं को दिया 1000 दिनों के पोषण की जानकारी।


संतकबीरनगर। राष्‍ट्रीय पोषण माह के दौरान सोमवार को जिले के विभिन्‍न क्षेत्रों में कोविड–19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने गर्भवती व धात्री महिलाओं के घरों में जाकर 1000 दिनों के पोषण की जानकारी दी। 1000 दिनों का पोषण भ्रूण के गर्भ में आने से लेकर उनसे दो वर्ष की आयु के पूर्ण करने तक होता है।
पोषण माह की गतिविधियों के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पोषण सखी, सुपरवाइजर तथा पोषण से जुड़े अन्‍य अधिकारी जिले की गर्भवती तथा धात्री महिलाओं के घर पहुंचे। वहां जाकर महिलाओं को यह बताया गया कि वह किस तरह से गर्भकाल में आहार लें ताकि बच्‍चों का पोषण किसी प्रकार से प्रभावित न हो। डीपीओ विजयश्री बताती हैं कि गर्भकाल से लेकर 2 साल की उम्र तक बच्‍चों को उचित पोषण की आवश्‍यकता होती है। कारण यह है कि इसी दौरान बच्‍चे का सम्‍पूर्ण विकास होता है। इसलिए उनके पोषण पर ध्‍यान देने की आवश्‍यकता होती है। आंगनबाड़ी केन्‍द्र बड़गो की आंगनबाडी कार्यकर्ता सुमित्रा ने गर्भवती सरिता व अन्‍य लोगों के घर जाकर उनको पोषण के बारे में जानकारी दी तथा उनको 1000 दिनों के पोषण के साथ ही बढ़ते हुए शिशुओं के विकास में पोषण के महत्‍व के बारे में बताया। पोषण सखी, जिला पोषण विशेषज्ञ इस दौरान तकनीकी सहयोग प्रदान करते रहे। सुपरवाइजर बन्‍दना सिंह ने बताया कि गौसपुर, बेलपोखरी, महुआर तथा अन्‍य क्षेत्रों में उन्‍होने निरीक्षण किया।
1000 दिनों का इस प्रकार होता है विभाजन।
एक शिशु के विकास के 1000 दिनों का विभाजन शिशु के जन्‍म से दो साल तक के लिए होता है। इसमें 270 दिन यानी 9 महीने तक गर्भावस्‍था के दौरान पोषण तथा दो साल यानी 730 दिनों के लिए विकास की विभिन्‍न प्रक्रियाओं के दौरान पोषण का होता है।
विभिन्‍न स्‍तरों पर 1000 दिन इस प्रकार दें पोषण।
जिला संयुक्‍त चिकित्‍सालय संतकबीरनगर के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनील कुमार बताते हैं कि बच्‍चे के विकास के 1000 दिनों के पोषण को विभाजित किया गया है। माता अपनी गर्भावस्था में आयरन व फोलिक एसिड से भरपूर भोजन ले जो कि गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास व बढ़त के लिए जरूरी है। माँ का दूध 6 माह तक बच्चे की सभी पोषक तत्वों की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। अतः 6 माह तक शिशु को केवल स्तनपान कराना चाहिए। 6 माह से 2 साल तक मां के दूध के अलावा  फल, फलियाँ व प्रोटीनयुक्त पदार्थ  जैसे अण्‍डा इत्‍यादि  बच्चों को दिया जाना चाहिए जो कि उनके सम्पूर्ण विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं।
रखें यह सावधानियां।
गर्भावस्था की पहचान होने पर अतिशीघ्र निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर पंजीकरण करना, नियमित जांच कराना, पौष्टिक व संतुलित आहार का सेवन करना, स्तनपान के संबध में उचित जानकारी प्राप्त करना, चिकित्सक द्वारा दिए गए परामर्शों का पालन करना सुनिश्चित करना, जन्म के 1 घंटे के भीतर बच्चे को स्तनपान कराएं। बच्‍चों को 6 माह तक केवल स्तनपान कराना चाहिए। 6 माह के बाद ऊपरी आहार की शुरुआत करना चाहिए। नियमित स्वास्थ्य जांच कराना चाहिए। शिशु व बच्चे का नियमित व समय से टीकाकरण करवाना चाहिए।                 


पेंटागन की वार्षिक रिपोर्ट, चीन बड़ा खतरा

नई दिल्ली/ बीजिंग। भारत-चीन सीमा दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में चीनी सेना के लिए तनाव के सबसे गर्म केंद्र के रूप में शामिल हो गई है। विवाद के इन क्षेत्रों ने बीजिंग की महत्वाकांक्षाओं और सैन्य क्षमता पर दुनियाभर के लिए बढ़ते खतरे का कारण बना है, जैसा कि चीन में सैन्य घटनाक्रमों पर पेंटागन की नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है। चीन में दुनिया में सबसे बड़ी जमीन बल, नौसेना, तट रक्षक और समुद्री रक्षक है, साथ ही इसके पास भारत-प्रशांत क्षेत्र में सबसे बड़ी वायु सेना है।


कई अर्थों में, लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) के साथ पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की आक्रामकता रणनीतिक समझदारी नहीं है। चेयरमैन शी जिनपिंग और चीनी राष्ट्र को कई बिंदुओं पर घर्षण का सामना करना पड़ रहा है, तो यह भारतीय सीमा को उस सूची में क्यों जोड़ेगा? यूं जियांग और एडम नी, चीन नीकन न्यूजलेटर के संपादकों ने आकलन किया, "न तो चीन और न ही भारत अपनी सीमा पर एक निरंतर पंक्ति चाहता है। भारत का इस वक्त कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित है।  वर्तमान में देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 47 लाख तक पहुंच गई है, भारत अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर आ गया है। इसकी अर्थव्यवस्था एक बड़े पैमाने पर हिट ले रही है (इसवित्त वर्ष में 11.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान है)। दूसरी ओर चीन अमेरिका के साथ हांगकांग और झिंजियांग के साथ अपनी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय परेशानियों की बढ़ती सूची में उलझा हुआ है।         


यूपीः बैठक कर अधिकारियों को दिए निर्देश

टीम 11 की बैठक में सीएम ने निर्देश दिये।


बृजेश केसरवानी


लखनऊ। सुभे केे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा कोविड-19 संक्रमण को लेकर एक बैठक का आयोजन किया। जिसमें उन्होंने कोविड नियंत्रण के लिए एक टीम का गठन किया, जो नियंत्रण को प्रभावी ढंग से लागू कर सके। साथ-साथ प्रदेश में निर्माण विकास के कार्यों को निर्धारित समय के अनुसार पूरा किया जाए।


1. काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए मुख्यमंत्री।
2. काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए सर्विलाॅन्स टीम्स की संख्या में वृद्धि की जाए।
3. कोविड-19 के दृष्टिगत अस्पतालों एवं चिकित्सा संस्थानों में सभी आवश्यक दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहें।
4. यह सुनिश्चित किया जाए कि अस्पतालों, मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में आॅक्सीजन की कमी न होने पाए।
5. जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी तथा मेरठ में सभी मेडिकल काॅलेज तथा अस्पताल पूरी गुणवत्ता एवं क्षमता से कार्य करें।
6. प्रदेश में दवाओं एवं आॅक्सीजन की उपलब्धता व आपूर्ति के सम्बन्ध में ड्रग कंट्रोलर द्वारा प्रतिदिन मुख्यमंत्री कार्यालय को आख्या उपलब्ध करायी जाए।
7. कोविड अस्पतालों में चिकित्सकों एवं पैरामेडिक्स की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करें
8. स्वास्थ्य विभाग के अधीन कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि की जाए।
9. के0जी0एम0यू0, एस0जी0पी0जी0आई0 तथा आर0एम0एल0आई0एम0एस0 द्वारा 1,000 आई0सी0यू0 बेड्स की व्यवस्था की जाए।
10. कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के सम्बन्ध में लगातार जागरूकता अभियान संचालित किया जाए।
11. सभी स्थानीय निकायों में पब्लिक एड्रेस सिस्टम स्थापित करते हुए इसके माध्यम से लोगों को कोविड-19 के सम्बन्ध में जागरूक किया जाए।
12. आत्मनिर्भर भारत पैकेज का प्रभावी क्रियान्वयन कराया जाए।
13. ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय तथा पंचायत भवन का निर्माण तेजी से कराया जाए।
14. साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत खाद के लिए गड्ढे खोदकर कम्पोस्ट तैयार करने के निर्देश।                  


ग्रामीण क्षेत्र में कराया फांगिंंग, जागरूकता

सेमरी गांव में स्वास्थ्य टीम ने कराया फांगिंग, बांटे पर्चे।


सिद्धार्थनगर। खुनियांव क्षेत्र के सेमरी गांव में एक किशोर में चिकुनगुनिया, स्क्रबटाइफस एवं डेंगू के लक्षण एक साथ मिलने से स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने सेमरी गांव में फागिंग कराते हुए ग्रामीणों में जागरूकता के पर्चे बांटे। इसके साथ ही सभी को मच्छरों से बचाव करने के निर्देश दिए गए हैं।
दरअसल, अगस्त से अक्टूबर माह के बीच मच्छरों का प्रकोप बढ़ जाने से डेंगू व मलेरिया का खतरा बढ़ जाता है। इस बारे में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। खुनियांव क्षेत्र के सेमरी गांव में स्वास्थ्य टीम ने फांगिंग कराते हुए ग्रामीणों के बीच पर्चे बांटे। इस गांव में फागिंग की प्रक्रिया बराबर कराई जा रही है। साथ ही आशा कार्यकर्ता व स्वास्थ्य विभाग की अन्य टीम टीमें बराबर लोगों को मच्छरों से बचाव के लिए जागरूक कर रही हैं। इस गांव में 17 वर्षीय किशोर में अगस्त माह में एक साथ डेंगू, चिकुनगुनिया, स्क्रबटाइफस के लक्षण मिले थे, अभी मरीजों की श्रेणी का निर्धारण न होने के चलते उन्हें एईएस में रखा गया है। जिला मलेरिया अधिकारी एके मिश्रा ने बताया कि मच्छरों के काटने से डेंगू व मलेरिया का खतरा बढ़ जाता है। किशोर में एक साथ डेंगू, मलेरिया व स्क्रबटाइफस के लक्षण मिले थे। इसे इंसेफेलाइटिस ट्रीटमेंट सेंटर (ईटीसी) बांसी में रखकर उपचार कराया गया। किशोर पूरी तरह से स्वस्थ है। विभाग- डेंगू मलेरिया से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। समुदाय के लोग यह ध्यान रखें कि घरों के छत पर, अगल-बगल, बाथ टब, फ्रिज व कूलर जैसी जगहों पर गंदा पानी न ठहरे। गंदा पानी में लार्वा छोड़ देने से बीमारी फैलनी शुरू हो जाती है।              


बैक्टीरियोफेज करेगा 'कोरोना' का खात्मा

गंगाजल में मौजूद बैक्टीरियोफेज करेगा। कोरोना वायरस का खात्मा होगा ह्यूमन ट्रायल ये बड़ी बातें आई सामने।


नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस महामारी तेजी से फैल रही है। अबतक 80 हजार से ज्यादा कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। और संक्रमितों का आंकड़ा पचास लाख के करीब पहुंच गया है। देश में पिछले 24 घंटों में 83,809 नए मामले सामने आए हैं। इससे पहले 11 सितंबर को रिकॉर्ड 97,570 संक्रमण के मामले दर्ज हुए थे. वहीं 24 घंटे में 1054 लोगों की जान चली गई है। देश में दो सितंबर से लगातार हर दिन एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है। अच्छी खबर ये है कि 24 घंटे में 79,292 मरीज ठीक भी हुए हैं।


वाराणसी में काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस के रिसर्च में यह दावा किया गया है कि गंगाजल में मौजूद बैक्टीरियोफॉज कोरोना वायरस को हरा सकता है। गंगाजल से कोरोना के इलाज के ह्यूमन ट्रायल की तैयारी के बीच इस रिसर्च को इंटरनेशनल जर्नल ऑफ माइक्रोबायोलॉजी के आगामी अंक में जगह मिली है। बीएचयू के न्यूरोलॉजी विभाग के एचओडी प्रो. रामेश्वर नाथ चौरसिया, न्यूरोलॉजिस्ट प्रो. वीएन मिश्रा की अगुवाई में डॉक्टरों की टीम ने 490 लोगों पर सर्वे किया। प्रो. वीएन मिश्रा ने बताया कि टीम ने शुरुआती सर्वे में पाया कि नियमित गंगा स्नान और गंगाजल का किसी न किसी रूप में सेवन करने वालों पर कोरोना संक्रमण का तनिक भी असर नहीं है। गंगा के 50 मीटर के दायरे में रहने वाले नियमित गंगा स्नान और गंगाजल का सेवन करने वाले 273 लोगों पर सर्वे किया गया। इसमें 30 से 90 आयुवर्ग के शामिल थे। इसमें से किसी को कोरोना नहीं हुआ। इस सर्वे ने हमारी रिसर्च को बल दिया।
वहीं 50 मीटर के दायरे में रहने वाले 217 लोगों को भी शामिल किया गया जो गंगाजल का किसी रूप में इस्तेमाल नहीं करते थे। इसमें से 20 लोगों को कोरोना हुआ और उसमें से दो की मौत भी हो गई।


बैक्टीरियोफॉज से तैयार किया स्प्रे
प्रो. मिश्र ने बताया कि गोमुख बुलंदशहर कानपुर प्रयागराज वाराणसी सहित 17 स्थानों से बैक्टीरियोफॉज के सैंपल लिए गए। इसमें पाया गया कि जहां गंगा पूरी तरह स्वच्छ हैं। उसमें दूसरे बैक्टीरिया को मारने की क्षमता है। हमारी टीम ने एक स्प्रे तैयार किया है। और इससे कोरोना का मुकाबला किया जा सकता है। हमारी टीम ने बीएचयू की एथिकल कमेटी से क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति मांगी है। हम लोग 198 लोगों पर इसका क्लीनिकल ट्रायल करेंगे। यह शुद्ध गंगाजल है ।तो इसके किसी साइड इफेक्ट का भी कोई प्रश्न नहीं है। टीम में एडवोकेट अरुण गुप्ता, डॉ. अभिषेक पाठक डॉ. वरुण कुमार सिंह, डॉ. आनंद कुमार डॉ. रजनीश चतुर्वेदी, शोध छात्रा निधि शामिल रहे।


स्वीकार हो गया है। शोध
दो सितंबर को ही यह शोध इंटरनेशनल जर्नल ऑफ माइक्रोबायोलॉजी में स्वीकार हो गया है। उम्मीद है।जल्द ही प्रकाशन भी हो। जाएगा। इसी बीच आइएमएस को स्प्रे से उपचार के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद 198 कोरोना मरीजों पर क्लिनिकल ट्रायल के लिए योजना बनाई गई है। प्रो. मिश्र ने बताया कि अगर सफलता मिलती है। तो मात्र 10 रुपये में ही स्प्रे के रूप में कोरोना की दवा मिल सकती है।           


वर्मा के सवाल पर नायडू ने दिया जवाब

काग्रेस पार्टी ने आपका डिमोशन कर दिया। सत्र के दौरान सांसद छाया वर्मा के सवाल पर सभापति वेंकैया नायडू ने दिया मजेदार जवाब।


नई दिल्‍ली। संसद के दोनों सदनों में सत्‍ता पक्ष और विपक्ष के बीच तलवारें खिंची रहती हैं। मगर बीच-बीच में कुछ ऐसे वाकये होते हैं। जो सांसदों के चेहरों पर मुस्‍कान बिखेर जाते हैं। कोरोना वायरस से प्रभावित इस साल के मॉनसून सत्र में भी ऐसा ही वाकया सामने आया है। मंगलवार को सुबह में राज्‍यसभा की कार्यवाही चल रही थी। इसी दौरान छत्‍तीसगढ़ से कांग्रेस की सांसद छाया वर्मा ने सभापति एम वेंकैया नायडू से कहा क‍ि वह राज्‍यसभा की सदस्‍य हैं। मगर लोकसभा में बैठी हैं। अपनी हाजिरजवाबी और वन लाइनर्स के लिए मशहूर नायडू ने तपाक से कहा। ‘आपका डिमोशन कर दिया गया है।राज्‍यसभा में सुबह करीब सवा नौ बजे बीजेपी सांसद डॉ विकास महात्‍मे अपनी बात रख रहे थे। इसके बाद सभापति ने छाया वर्मा का नाम पुकारा। फिर पूछा- छाया जी कहां। पीछे से आवाज आई  श्रीमता छाया वर्मा लोकसभा गैलरी से बोल रही हूं। गैलरी नहीं। लोकसभा से बोल रही हूं। हूं राज्‍यसभा की सदस्‍य। इतना बोलते ही सदन में ठहाके लगे। कांग्रेस सांसद को हाथ उठाकर दिखाना पड़ा कि वे कहां बैठी हैं। छाया ने मनरेगा को लेकर अपनी बात रखी। जब उन्‍होंने अपनी बात खत्‍म की तो नायडू ने कहा। सदस्‍य कहीं भी बैठें ।मैंने अनुमति दी है। मगर आपका डिमोशन यानी लोअर हाउस में भेजने का निर्णय गुलाम नबी आजाद जी और आनंद शर्मा जी ने और (जयराम) रमेश जी ने मिलकर किया है। मैं जिम्‍मेदार नहीं हूं ।उसके लिए। एक बार फिर सांसद हंस पड़े।


कांग्रेस सांसद ने अपनी बारी आने पर कहा। पिछले दिनों लॉकडाउन की वजह से मजदूरों पर बहुत बड़ी विपदा आई। मनरेगा का काम केवल 100 दिन चलता है। आपकी अनुमति से मैं चाहती हूं। कि मनरेगा का काम 200 दिन चले और समय पर उन्‍हें मजदूरी मिले और कार्यमूलक योजना हो। संसद की कार्यवाही में कोरोना संक्रमण का खतरा कम करने के लिए कई बदलाव किए गए हैं। लोकसभा के इतिहास में पहली बार सांसदों को अपनी सीटों पर बैठकर बोलने की अनुमति दी गई। यह भी इतिहास में पहली बार है।जब निचले सदन की कार्यवाही के दौरान कई लोकसभा सदस्य राज्य सभा में बैठ रहे हैं। संसद के उच्‍च सदन की कार्यवाही के दौरान राज्यसभा सदस्यों को लोकसभा में बैठने का मौका मिलता है।           


आपातकालीन कॉल से मिलेगी सुविधा

रायपुर में कोरोना संक्रमित होम आइसोलेशन के लिए। इस नंबर पर करें कॉल और पाएं पूरी जानकारी।


रायपुर। कोविड 19 के मरीजों को आपातकालीन सेवाओं के लिए जिला प्रशासन रायपुर द्वारा होम। आइसोलेशन एम्बुलेंस व्यवस्था और आपातकालीन सहायता के लिए विशेष टेलीफोन नम्बर जारी किए गए हैं। जिला प्रशासन द्वारा आपातकालीन सेवाओं के लिए कलेक्टर कार्यालय स्थित। आपातकालीन सहायता केन्द्र के टेलीफोन नम्बर- 0771-2445785, होम आइसोलेशन सहायता हेतु 75661-00283 और दक्ष कमांड सेन्टर (आपातकालीन सहायता केन्द्र) 0771-4320202 पर सम्पर्क किया जा सकता है। इसी तरह होम आइसोलेशन वाले मरीजों को आपात स्थिति में अस्पताल पहुंचाने एम्बुलेंस व्यवस्था के लिए सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक ए.ओ.लारी, उप संचालक के मोबाईल नम्बर 94063-46840 और डी.के.सिंह उप संचालक मत्स्य पालन के मोबाइल नम्बर। 88397-78979, शाम 6 बजे से प्रातः 6 बजे तक हरिकृष्ण जोशी, परियोजना अधिकारी के मोबाइल नम्बर 95255-43148 एवं एस। जोसेफ, सहायक परियोजना अधिकारी 98261-23957 पर सम्पर्क किया जा सकता है।                 


मंदिर के पुजारियों को मिलेंगे ₹1 हजार

ममता बनर्जी का चुनावी लॉलीपॉप मंदिर के पुजारियों को हर महीने मिलेंगे 1 हजार रूपये।


कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही ममता बनर्जी सरकार ने चुनावी पत्ते फेंटने शुरू कर दिये हैं। अब राज्य की ममता बनर्जी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा एलान करते हुए। बताया कि सरकार ने फैसला लिया है। कि अब हर महीने मंदिरों में पूजा करने वाले पंडितों को सरकार एक हजार रुपए देगी। प्रदेश सरकार की इस योजना से राज्य के लगभग आठ हजार पंडितों को फायदा मिलेगा। सरकार जैसे वक्‍फ बोर्ड के सभी इमामों को हर महीने वजीफा देती है। उसी तरह पंडितों को भी हर महीने हजार रूपये की सहायता राशि देगी।


इसके अलावा जिस पंडित के पास घर नहीं है। उन्हें बंगाल आवास योजना में शामिल किया जाएगा। गौरतलब है। कि प्रदेश के पुरोहितों ने सरकार से जमीन की मांग की थी। सरकार ने उनकी वो मांग भी मान ली है। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने एक प्रेस कांफ्रेस में विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि विपक्ष जान बूझकर सरकार को बदनाम करने में लगा है। उन्‍होंने दुर्गा पूजा को लेकर भी सुझाव दिए और इसमें हरसंभव मदद की बात कही।           


आंगनवाड़ी में दूध बंटेगा, अंडे खिलाएंगे

सीएम शिवराज ने कहा- कुपोषण दूर करने आंगनबाड़ी के बच्चों को अंडा नहीं दूध बांटा जाएगा।


भोपाल। मध्यप्रदेश में 17 सितंबर यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर आंगनबाड़ी के बच्चों को दूध बांटा जाएगा। अब बच्चों को अंडा नहीं खिलाया जाएगा। दूध पिलाने से बच्चों का कुपोषण दूर होगा। सीएम शिवराज चौहान ने अपने बयान में यह बातें कही है।               


मुंगेली जिले में 1 हफ्ते का लॉकडाउन लगा

छत्तीसगढ़ के इस जिले में लगाया। गया एक हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन कलेक्टर ने जारी किया आदेश।


मुंगेली। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते मुंगेली जिले के नगरीय निकाय क्षेत्रों में 1 हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन किया गया है। लॉकडाउन 17 से लगाया जाएगा। जो 23 सितंबर तक रहेगा। कलेक्टर ने आज इसका आदेश जारी किया। सरकारी व निजी कार्यालयों को बंद करने के आदेश दिए हैं। कर्मचारियों को घर से काम करने कहा गया है। इस दौरान व्यावसायिक प्रतिष्ठान बन्द रहेंगे। मेडिकल खाद्य व अन्य जरूरी सेवाओ को सशर्त छूट दी गई है। बता दें कि जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 781 हो गई है। वहीं इलाज के बाद 319 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं।अभी जिले में 462 एक्टिव केस है।               


राज्यों में ऑक्सीजन की कमी का संकट

देश में बेलगाम हुआ कोरोना वायरस। राज्यों में ऑक्सीजन की कमी का संकट बढ़ा केंद्र सरकार को जारी करना पड़ा ये आदेश।


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की तादाद बढ़ने के साथ ही ऑक्सीजन की कमी का संकट भी बढ़ता जा रहा है। कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी का आलम यह है कि राजस्थान और महाराष्ट्र सरकार ने दूसरे राज्यों को ऑक्सीजन सप्लाई पर रोक लगा दी। वहीं गुजरात सरकार ने अपने लिए 50 फीसदी ऑक्सीजन रिजर्व रखने का आदेश दिया है। महाराष्ट्र सरकार के फैसले के बाद ऑक्सीजन की कमी की रिपोर्ट मध्य प्रदेश। कर्नाटक सहित कई अन्य राज्यों से मिली हैं। कई राज्यों में कमी की वजह से ऑक्सीजन वाले सिलेंडर के दाम बढ़ गए हैं। असल में कई राज्य ऑक्सीजन सप्लाई के लिए दूसरे राज्य में स्थित कंपनियों पर निर्भर हैं। दूसरे राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई पर रोक से उपजे संकट के बीच केंद्र सरकार को इसे लेकर एक आदेश जारी करना पड़ा है। अंग्रेजी न्यूज पेपर की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को पत्र लिखकर ऑक्सीजन की सप्लाई पर रोक नहीं लगाने को कहा है। ऑक्सीजन की सप्लाई पर रोक लगाने के महाराष्ट्र सरकार के फैसले के बाद केंद्र को यह आदेश जारी करना पड़ा। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से ऑक्सीजन की आपूर्ति पर रोकने नहीं लगाने की अपील की है। वास्तव में  ? महाराष्ट्र में भी ऑक्सीजन की कमी की रिपोर्ट है। इसलिए सीएम उद्धव ठाकरे दूसरे राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई पर रोक की बात कर रहे हैं। कुछ ही दिन पहले महाराष्ट्र सरकार की कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे और डिप्टी सीएम अजीत पवार ने स्वीकार किया था। कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी महसूस की जा रही है। पुणे में एक प्राइवेट अस्पताल के निदेशक का कहना है।कि उनके यहां ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी हो रही है। रोजाना 25 जंबो सिलेंडर की आवश्यकता होती है। लेकिन सप्लाई सुनिश्चित नहीं हो पा रही है। महाराष्ट्र सरकार के ऑक्सीजन सप्लाई पर रोक लगाने के बाद से मध्य प्रदेश के जबलपुर और शिवपुरी सहित पूरे महाकौशल में ऑक्सीजन का संकट पैदा हो गया है। जबलपुर में कोरोना केस बढ़ने से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ गई है। जिला प्रशासन छत्तीसगढ़ से ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने की कवायद में जुटा हुआ है। अकेले जबलपुर में 1200 ऑक्सीजन सिलेंडर की प्रतिदिन की खपत है। जबलपुर के कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ के भिलाई से ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू हो चुकी है। बताया जा रहा है। कि एमपी के देवास छिंदवाड़ा, दामोह में भी ऑक्सीजन का संकट दिख रहा है।


ऑक्सीजन सप्लाई पर लगाई रोक।


राजस्थान सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दूसरे राज्यों में। ऑक्सीजन की सप्लाई पर रोक लगा दी है। राजस्थान के भिवाड़ी अलवर और नीमराणा में ऑक्सीजन का बड़े पैमाने पर उत्पादन होता है। इन इलाकों से उत्तर प्रदेश गुजरात और हिमाचल प्रदेश जैसे जगहों पर ऑक्सीजन जाती है। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते राजस्थान सरकार ने रोक लगाने की बात कही है. राजस्थान सरकार ने ऑक्सीजन सिलेंडर के इंडस्ट्रियल इस्तेमाल पर भी रोक लगा रखी है।


गुजरात सरकार ने दूसरे राज्यों में ऑक्सीजन सप्लाई पर रोक तो नहीं लगाई है।लेकिन उसने इस फैसले को दूसरे तरीके से लागू किया है।गुजरात ने राज्य में 50 फीसदी ऑक्सीजन रिजर्व रखने को कहा है।कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए गुजरात में उत्पादित ऑक्सीजन के स्टॉक में से प्रतिदिन 350 टन रिजर्व रखने का आदेश दिया गया है। गुजरात में कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख के आंकड़े को पार गई है। गुजरात से राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में ऑक्सीजन सप्लाई होती है।गुजरात में प्राइवेट कंपनियां रोजाना 750 टन ऑक्सीजन का उत्पादन करती हैं। कोरोना मरीजों के बढ़ने की वजह से गुजरात के कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की रोजाना डिमांड 200 टन से बढ़कर 300 टन हो गई है।गुजरात के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल कहते हैं कि ऑक्सीजन उत्पादन करने वाली कंपनियों को आदेश दिया है कि राज्य में 50 फीसदी ऑक्सीजन रिजर्व रखा जाए।


ऑक्सीजन की कमी से अब्दुल्ला चिंतित।


नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला भी जम्मू के कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर चिंता जाहिर कर चुके हैं। फारूक अब्दुल्ला ने सोमवार को कहा।कि ऑक्सीजन की कमी की समस्या को दूर करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। लोकसभा में शून्यकाल के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के जवाब के दौरान अब्दुल्ला ने कहा कि स्थिति विशेष रूप से पिछले एक सप्ताह के दौरान।         


मूंछ ऊंची रखने पर युवक की हत्या की

श्रीगंगानगर। प्रदेश में बढ़ते अपराध और पुलिस का अपराधियों में डर चला गया है। इसी का नतीजा है कि अपराधी बेखौफ कई तरह की घटना को अजांम दे रहे है। इसी तरह का एक मामला जिले के हिंदुमलकोट पुलिसथाना का सामने आया है। जिसमें स्थानीय युवक को मान सम्मान का प्रतीक मूंछ को रखना भारी पड़ गया। इसी के चलते युवक को दंबगो ने गोली मार कर हत्या कर दी।             


तीन पुजारियों की हत्या में 5 लोग गिरफ्तार

कर्नाटक में तीन पुजारियों की हत्या के मामले में पांच लोगों को किया गया गिरफ्तार


कर्नाटक। कर्नाटक के मांड्या में मंदिर के तीन पुजारियों की हत्या के मामले में सोमवार तड़के एनकाउंटर के बाद पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मांड्या के एसपी परशुराम के. ने बताया कि इस मामले में शामिल नौ लोगों में से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया, जबकि चार अभी फरार हैं। आठ आरोपी मांड्या और रामनगर जिले से हैं जबकि एक आंध्र प्रदेश के चित्तूर का रहने वाला है। मांड्या के अर्केश्वर मंदिर में 10 सितंबर की रात इन नौ आरोपियों ने तीन पुजारी आनंद, गणेश और प्रकाश की निर्मम हत्या कर दी और मंदिर से नकदी ले कर फरार हो गए। पुलिस को सूचना मिली कि कुछ लोग मांड्या जिले के मद्दुर तालुक में एक बस स्टैंड पर घूम रहे हैं जिनकी गतिविधियां संदिग्ध हैं। जब पुलिस ने उन्हें घेर कर आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, तो उन्होंने पुलिसकर्मियों पर तेजधार वाले हथियारों से हमला कर भागने की कोशिश की और एक इंस्पेक्टर को घायल कर दिया। आत्मरक्षा में पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए गोली चलाई। इसमें तीन आरोपियों के पैर में गोली लग गई। पुलिस इनके अन्य अपराधों में शामिल होने की जांच कर रही है। संदेह है कि इन्होंने शहर के अन्य मंदिर में भी डाका डाला है।


जया ने किया रवि किशन- कंगना पर हमला

जया बच्चन का रवि किशन पर हमला, कहा- जिस थाली में खाते हैं। उसी में छेद करते हैं।


नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद पिछले तीन महीनों से चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच समाजवादी पार्टी की सदस्य जया बच्चन ने मंगलवार को राज्यसभा में फिल्म इण्डस्ट्री को बदनाम करने का मुद्दा उठाया। जया बच्चन ने सरकार से फिल्म उद्योग के सदस्यों को लगातार कोसे जाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।                     


ड्रग्स का कारोबारी गिरफ्तार, मुंबई लायें

गोवा में गिरफ्तार ड्रग का कारोबारी मुंबई लाया गया।


मंबई। गोवा में गिरफ्तार ड्रग्स के एक कारोबारी को ट्रांजिट रिमांड पर मुंबई लाया गया। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने इस ड्रग पेडलर की गिरफ्तारी की थी। एक अधिकारी ने मंगलवार को ये जानकारी दी।                     


यमुना नदी में 6 लोग हुए लापता, मौत

 पानीपत में हंसती-खेलती जिंदगियों ने जान गवांई
पानीपत। हरियाणा प्रदेश के पानीपत जिले के समालखा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले गांव जलमाना में यमुना नदी में 6 लोग लापता हो गए। जिनमें से तीन लोगों को ढूढ़ निकाला गया है लेकिन अफसोस वह अब इस दुनिया नहीं रहे हैं।बाकी के तीन लोगों का पता लगाया जा रहा है।गोताखोरों की एक टीम यमुना नदी में तलाश अभियान चला रही है।इधर मौके पर पुलिस के कई बड़े आलाधिकारी भी मौजूद हैं।


बतादेंकि, आजकल नाले, नहरें और नदियां उफान पर हैं।तेज बहाव में लिप्त हैं।ऐसे में इनके पास जाकर लापरवाही दिखाना खतरे से भरा हुआ हो सकता है। बरहाल, इस खबर को लेकर विस्तृत जानकारी अभीतक नहीं मिल पाई है इसलिए इस खबर से जुड़े अपडेट मिलने पर यह खबर अपडेट होती जाएगी।              


प्याज की बढ़ी कीमतें, हरकत में सरकार

प्याज की कीमतें आसमान छूने लगीं, हरकत में आई सरकार, एक्सपोर्ट पर लगाई रोक।


कविता गर्ग


नई दिल्ली। प्याज की कीमतों ने आसमान छूना शुरू कर दिया है। इसको देखते ही सरकार चौकन्नी हो गई है। अब सरकार ने तत्काल प्रभाव से प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।
दरअसल, सरकार प्याज की बढ़ती कीमतों को देखकर तुरंत एक्शन में आ गई। सरकार ने इसलिए देश में प्याज की उपलब्धता को बढ़ाने और घरेलू बाजार में इसकी लगातार बढ़ती कीमत को नियंत्रित करने के लिए तुरंत प्याज के निर्यात पर बैन लगाने का फैसला लिया है। विदेश व्यापार महानिदेशालय ने जानकारी देते हुए बताया कि ‘प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाता है।’
दरअसल, इस बार महाराष्ट्र समेत दक्षिण भारत के राज्यों में भारी बारिश के चलते प्याज की फसल को काफी नुकसान हुआ है। इसके चलते घरेलू बाजार में प्याज की कीमतें भी आसमान छूने लगी हैं। थोक मंडियों में भी प्याज की कीमत बढ़ रही है। गौरतलब है कि भारत ने अप्रैल से जून के बीच लगभग 20 करोड़ डॉलर के प्याज का निर्यात किया है।                           


दुनिया में संक्रमितों की संख्या-2.91 करोड़

दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2.91 करोड़ के पार।


वाशिंगटन। दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 2 करोड़ 91 लाख के पार पहुंच गई है। जबकि 927,000 से अधिक लोग इस बीमारी से जान गंवा चुके हैं। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी। यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम्स साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में खुलासा किया।कि मंगलवार सुबह तक कुल मामलों की संख्या 29,182,198 रही और मरने वालों की संख्या बढ़कर 927,015 हो गई।               


भारतः संक्रमितो का आंकड़ा 59 लाख पार

भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 49 लाख पार


24 घंटे में 1054 मरीजों की मौत।


हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस महामारी तेजी से फैल रही है।अबतक 80 हजार से ज्यादा कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है और संक्रमितों का आंकड़ा पचास लाख के करीब पहुंच गया है।देश में पिछले 24 घंटों में 83,809 नए मामले सामने आए हैं।इससे पहले 11 सितंबर को रिकॉर्ड 97,570 संक्रमण के मामले दर्ज हुए थे। वहीं 24 घंटे में 1054 लोगों की जान चली गई है। देश में दो सितंबर से लगातार हर दिन एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है।अच्छी खबर ये है कि 24 घंटे में 79,292 मरीज ठीक भी हुए हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 49 लाख 30 हजार हो गई है।इनमें से 80,776 लोगों की मौत हो चुकी है।एक्टिव केस की संख्या 9 लाख 90 हजार हो गई और 38 लाख 59 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब चार गुना अधिक है।
5 करोड़ 83 लाख से ज्यादा सैंपल टेस्ट
आईसीएमआर के मुताबिक, 14 सितंबर तक कोरोना वायरस के कुल 5 करोड़ 83 लाख सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 11 लाख सैंपल की टेस्टिंग कल की गई. पॉजिटिविटी रेट 7 प्रतिशत से कम है। कोरोना वायरस के 54% मामले 18 साल से 44 साल की उम्र के लोगों को हैं लेकिन कोरोना वायरस से होने वाली 51% मौतें 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में हुईं हैं।
मृत्यु दर में गिरावट
राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। मृत्यु दर गिरकर 1.63% हो गई। इसके अलावा एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर भी घटकर 20% हो गई है। इसके साथ ही रिकवरी रेट यानी ठीक होने की दर 78% हो गई है। भारत में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है।
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं महाराष्ट्र में दो लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं।एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है।कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है।मौत के मामले में अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत का नंबर है।                  


सीमा झगड़े पर चारों खाने चित किया ड्रैगन

सीमा पर चारों खाने चित हुआ ड्रैगन,अब चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की कुर्सी खतरे में।


नई दिल्ली। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की रातों की नींद उड़ी हुई है। कहने को तो जिनपिंग चीन के सर्वशक्तिशाली, सर्वमान्य नेता हैं लेकिन अंदर ही अंदर उन्हें एक डर खाए जा रहा है।चालाक और शातिर जिनपिंग ने 2012 में सत्ता हासिल करने के बाद कैसे अपनी ताकत बढ़ाई दुनिया जानती है। लेकिन जिनपिंग की तानाशाही अब उनपर भारी पड़ रही है।
शी जिनपिंग का काउंटडाउन शुरू।
ब्रिटिश अखबार एक्सप्रेस का दावा है कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ सकती है।कम्युनिस्ट पार्टी के दबाव की वजह से जिनपिंग की कुर्सी खतरे में है। दरअसल कम्युनिस्ट पार्टी का आरोप जिनपिंग कोरोना को सही तरीके से संभाल नहीं पाए। ऐसे में जिनपिंग को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।
आपको बता दें, जिनपिंग के इशारों पर ही चीन ने कोरोना का सच पूरी दुनिया से छिपाया, पिछले साल सितम्बर से ही कोरोना फैलना शुरू हो गया था। लेकिन जिनपिंग ने इस सच को दुनिया से छिपाया और पूरी दुनिया को कोरोना के मुंह में झोंक दिया।
दुनिया को डराने वाला खुद क्यों डरा हुआ है।
चीन में बिना जिनपिंग की मर्ज़ी के पत्ता भी नहीं हिल सकता।लेकिन सत्ता का यही केंद्रीकरण अब जिनपिंग की सत्ता हिलाने वाला है। चीनी जनता हो या चीनी कम्युनिस्ट पार्टी सब जिनपिंग की डिक्टेटरशिप से आजिज़ आ चुके हैं।
आतंक एक्सपोर्ट करने वाला क्यों खुद आतंकित है।
जिनपिंग को भी इस सच्चाई का एहसास है और यही वजह है कि जिनपिंग डरे हुए हैं.आतंकित हैं क्योंकि सत्ता से चिपके रहने के लिए जिस जिनपिंग ने संविधान में बदलाव करवा लिया और आजीवन राष्ट्रपति बने रहने का प्रावधान करा लिया वो उसी सत्ता से बेदखल होने के डर से विचलित हैं।
क्या जिनपिंग को है बगावत का डर।
खुद कम्युनिस्ट पार्टी में जिनपिंग के खिलाफ बगावत की चिंगारी सुलग रही है। 2022 में होने वाले नेता के चुनाव में जिनपिंग को डर है कि पार्टी से उन्हें कितना समर्थन मिलेगा। जिनपिंग को लेकर जनता में जिस तरह का सेंटीमेंट है वो कम्युनिस्ट पार्टी का रवैया तय करेगा।क्योंकि भले ही जनता सीधे राष्ट्रपति के चुनाव में हिस्सा नहीं लेगी लेकिन उसका मूड काफी हद तक पार्टी का रुख तय करेगा और जनता का मौजूदा मूड जिनपिंग के कत्तई खिलाफ है।
13 करोड़ से ज़्यादा लोग बेरोज़गार हो चुके हैं। बेरोज़गारी की दर 12 फीसदी से ज़्यादा है।1990 के बाद चीन ने ऐसी बेरोज़गारी नहीं देखी।कोरोना को लेकर जनता में भारी नाराज़गी है। उसकी बानगी वुहान के आसपास विरोध प्रदर्शनों में दिखी. इसलिए शी जिनपिंग को डर है कि उनकी कुर्सी कभी भी खिसक सकती है।               


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...