शनिवार, 5 जून 2021

महामारी के लिए चीन को जिम्मेदार बताया, दबाव

बीजिंग/ मास्को। कोरोना महामारी के लिए जहां एक तरफ अमेरिका सहित अधिकतर देश चीन को जिम्मेदार बताते हुए वायरस की उत्पत्ति की जांच के लिए दबाव बना रहे हैं, तो दूसरी तरफ रूसी राष्ट्रपति कन्नी काटते हुए भी बचाव कर गए। उन्होंने कहा है कि संकट का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए। उन्होंने इस मुद्दे पर अधिक बोलने से बचते हुए कहा कि उनके पास इस मामले में कुछ दिलचस्प कहने के लिए नहीं है।

रूसी राष्ट्रपति ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया, एसोसिएटेड प्रेस और रॉयटर्स सहित प्रमुख अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसियों के वरिष्ठ संपादकों के साथ ऑनलाइन बातचीत के दौरान कहा कि इस विषय के बारे में बहुत कुछ कहा गया है और उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि संकट का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। वह कोविड महामारी के कारण पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे। 

गाजियाबाद: 4 अस्पतालों को टीकाकरण की अनुमति

अश्वनी उपाध्याय             
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के चलते वैक्सीनेशन की गति को बढाने के लिए अब निजी अस्पतालों को फिर से टीकाकरण अनुमति दी जा रही है। फिलहाल जिले में केवल चार अस्पतालों को इसके लिए मंजूरी दी गई है। इसके अलावा महिला स्पेशल और नियर होम वैक्सीन सेंटर बनाए जा रहे हैं। जहां रोजाना लगभग 1 हजार लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। जिला प्रशासन ने अब घरेलू सहायिका, खोखा-पटरी वाले, रिक्शा वाले, मजदूर, दिव्यांग और बुजुर्गों आदि को भी वैक्सीन लगाने के लिए दो स्पेशल बूथ बनाने के निर्देश दिए गए हैं। 
महिला स्पेशल बूथ पर 18 से वर्ष से अधिक आयु वाली महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। 
लेकिन उन्हें स्लॉट लेना जरूरी होगा। जिले में दो महिला स्पेशल बूथ बनाए जाएंगे। 8 से 44 साल की उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए अभिभावकों, कर्मचारियों व शिक्षकों के लिए अलग-अलग बूथ लगाए जा जाएंगे। इसके अलावा विभिन्न आरडब्ल्यूए के सहयोग से घरेलू सहायिकाओं के लिए भी स्पेशल बूथ लगाए जा जाएंगे। इन बूथों पर ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन के बाद मेड को टीका लगाया जाएगा। इसके लिए आरडब्ल्यूए से सोसाइटी में आने वाली मेड की लिस्ट मांगी जाएगी और लिस्ट के आधार पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। बुजुर्गों और दिव्यांगों के लिए नियर होम वैक्सीनेशन बूथ बनाए जाएंगें।
सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि नियर होम बूथ पर ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा होगी। इन बूथों पर बुजुर्ग और दिव्यांग टीकाकरण करवा सकेंगे। सीएमओ ने कहा कि फिलहाल जिले में संचालित 10 बूथों को नियर होम बूथ में तबदील कर दिया गया है। इनमें लोनी, मुरादनगर में 2-2 बूथ और भोजपुर, डासना में 3-3 बूथ हैं। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज अग्रवाल ने बताया कि महिला स्पेशल बूथ सोमवार से शुरु किए जाएंगे। इनमें एक बूथ टीएचए में और एक बूथ सिटी क्षेत्र में बनाया जाएगा। इन बूथों पर केवल महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा और प्रीरजिस्ट्रेशन जरूरी होगा।

पेड़ लगाकर पर्यावरण रक्षित करने का संदेश दिया

अतुल त्यागी          
हापुड़। जिलाधिकारी अनुज सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कलेक्ट्रेट हापुड़ के प्रांगण में अशोक का पेड़ लगाकर पर्यावरण रक्षित करने का संदेश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि पृथ्वी हमारी सबसे बड़ी धरोहर है, उसका संरक्षण करना जरूरी है। पौधारोपण के अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि इस प्रांगण में गुलमोहर और पलाश के पौधे भी रोपित किए जाएं। जिससे यह प्रांगण हरा भरा बना रहे। उन्होंने कहा कि पौधारोपण कर आने वाली पीढ़ियों को पर्यावरण के महत्व से अवगत कराएं नहीं तो वसुंधरा कहीं जाने वाली पृथ्वी एक दिन बंजर होकर रह जाएगी।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह ने भी अशोक का पौधा रोपण कर यह संदेश दिया कि स्वच्छ पर्यावरण हमारे लिए सबसे बड़ा उपहार है। पेड़-पौधों को लगातार काटे जाने से वातावरण दूषित होता जा रहा है। इसी क्रम में अपर जिलाधिकारी जयनाथ यादव के द्वारा भी बरगद का पेड़ लगाया और कहा कि हम पर्यावरण के प्रति सजग बने। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रकृति की सुरक्षा के लिए उसका संरक्षण जरूरी है। इसी के साथ- साथ उप जिलाधिकारी विशाल यादव के द्वारा भी अशोक का पौधा वृक्षारोपण कर इस कार्यक्रम में अपना सहयोग देते हुए वातावरण को स्वच्छ रखने का संदेश दिया।

पुलिस अधीक्षक का निर्देश, पौधारोपण किया गया

कौशाम्बी। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पुलिस महकमे द्वारा बड़े पैमाने पर पौधारोपण कर धरती को हरा-भरा करने का प्रयास किया गया है। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पूरे पुलिस विभाग में पौधारोपण किया गया है। विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून के अवसर पर पुलिस ऑफिस प्रांगण में स्थित नंदन पार्क के साथ साथ पुलिस ऑफिस पुलिस लाइन व समस्त थानों व पुलिस चौकियों पर वृक्षारोपण पुलिस अधीक्षक के निर्देशन पर कराया गया। पर्यावरण दिवस के अवसर पर धरती को हरी-भरी करने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक व अपर पुलिस अधीक्षक के द्वारा वृक्षारोपण किया गया है। इस मौके पर वृक्षारोपण के लाभ के बारे में पुलिस अधीक्षक ने लोगों को बताया और अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने का उन्होंने लोगों को सुझाव दिया। इस अवसर पर तमाम पुलिस कर्मी मौजूद रहे।

उज्ज्वल केशरवानी 

सोने-चांदी की कीमत में ब्रेक लगता हुआ नजर आया

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। पिछले 2 महीने से लगातार तेजी का रुख दिखा रहे सोने और चांदी की कीमत में शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान ब्रेक लगता हुआ नजर आया। इस कारोबारी सप्ताह के दौरान सोना गिरकर 48,578 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर आ गया। जबकि सप्ताह की शुरुआत में सोमवार को सोने की कीमत प्रति 10 ग्राम 48,654 रुपये थी। सोने के साथ ही चांदी की कीमत में भी गिरावट दर्ज की गई है। पिछले सप्ताह के कारोबार के दौरान चांदी में तेजी भी आई, लेकिन आखिरी दो दिनों के दौरान हुई गिरावट ने इसकी कीमत में प्रति किलोग्राम कुल 333 रुपये की कमी करा दी। 
पिछले सप्ताह चांदी का बंद भाव 70,500 रुपये प्रति किलो था जो शुक्रवार को कमजोरी दिखाते हुए 70,167 रुपये प्रति किलो के भाव पर पहुंच गया। भारतीय बाजार में सोने की कीमत में आई इस कमी की एक बड़ी वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत में गिरावट को माना जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में पिछले सप्ताह सोने का बंद भाव 1,904 डॉलर प्रति औंस था, जो अब गिरकर 1,891 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर आ गया है। जानकारों का कहना है कि इस सप्ताह के आखिरी तीन दिनों के दौरान अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में आई मजबूती की वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत में नरमी आई है।  
अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत घटने का असर भारतीय बाजार पर भी पड़ा है। इस नरमी के बावजूद जानकार आने वाले दिनों में सोने की कीमत में एक बार फिर तेजी आने की उम्मीद कर रहे हैं। माना जा रहा है कि चीन के बैंकों द्वारा सोने की खरीद शुरू करने के बाद एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत में तेजी का दौर शुरू हो जाएगा, जिसके कारण सोना का वैश्विक मूल्य प्रति औंस 2,000 डॉलर के स्तर तक भी पहुंच सकता है। ऐसा होने पर भारतीय बाजार में भी सोने की कीमत में तेजी आने की संभावना बनेगी। 
पिछले 2 महीने से सोने और चांदी की कीमत में लगातार तेजी का रुख बना हुआ था। अप्रैल और मई के दौरान सोने की कीमत में प्रति 10 ग्राम 4,842 रुपये की और चांदी की कीमत में प्रति किलोग्राम 8,488 रुपये की तेजी दर्ज की गई। 
सिर्फ मई में ही सोने की कीमत में 2,241 रुपये की तेजी दर्ज की गई, वहीं चांदी की कीमत में भी मई के महीने में 3,550 रुपये की मजबूती आई। इसी तरह अप्रैल में भी सोने की कीमत में प्रति 10 ग्राम 2,601 रुपये और चांदी की कीमत में प्रति किलोग्राम 4,938 रुपये की मजबूती आई थी। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चरम के दौरान सोना पिछले साल अगस्त में 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। हालांकि बाद के दिनों में जैसे जैसे कोरोना के संक्रमण में कमी आई, वैसे वैसे सोने के दाम में भी कमी आती गई। कीमत में हुई इस गिरावट के कारण एक समय सोना अपने रिकॉर्ड लेवल से करीब 12,000 रुपये तक सस्ता हो गया था लेकिन उसके बाद सोने की कीमत में एक बार फिर तेजी का रुख बना, जो पिछले कारोबारी सप्ताह तक जारी था।  
इस कारोबारी सप्ताह में सोने की कीमत में मामूली कमी जरूर आई है लेकिन आने वाले दिनों में इसमें तेजी आने की संभावना जताई जा रही है। सर्राफा बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि मामूली गिरावट के बावजूद सोना इस साल के अंत तक प्रति 10 ग्राम 57,000 रुपये के स्तर तक जा सकता है, वहीं चांदी की कीमत में भी मौजूदा स्तर से करीब 12,000 रुपये प्रति किलोग्राम तक की बढ़ोतरी का अनुमान लगाया जा रहा है। 

डीएम समेत 8 आईएएस अफसरों के तबादले किए

हरिओम उपाध्याय         
लखनऊ। शासन ने शनिवार को प्रयागराज, कौशाम्बी और बहराइच जिलों के जिलाधिकारी समेत आठ आईएएस अफसरों के तबादले किए है। प्रयागराज के जिलाधिकारी रहे भानु चंद्र गोस्वामी को हटा दिया हैं। अब उन्हें मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के पद पर नयी तैनाती दी गई है। उनके स्थान पर संयुक्त प्रबंध निदेशक जल निगम व विशेष सचिव नगर विकास संजय खत्री प्रयागराज के नए जिलाधिकारी बनाये गए हैं। 
कौशाम्बी जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह को संयुक्त प्रबंध निदेशक जल निगम व विशेष सचिव नगर विकास बनाया गया है। उनकी जगह पर ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के सीईओ सुजीत कुमार कौशाम्बी के नये डीएम  जिलाधिकारी होंगे। बहराइच के जिला अधिकारी शंभू कुमार को हटाकर माध्यमिक शिक्षा विभाग में विशेष सचिव के पद पर तैनात किया है। उनके स्थान पर विशेष सचिव संस्कृति दिनेश चंद्रा को बहराइच का डीएम बनाया गया है। लखनऊ के मुख्य विकास अधिकारी प्रभास कुमार को प्रतापगढ़ का मुख्य विकास अधिकारी बनाया गया है। प्रतापगढ़ के मुख्य विकास अधिकारी अश्वनी पांडे लखनऊ के मुख्य विकास अधिकारी बनाए गए हैं।

तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करना चाहिए: कांग्रेस

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। कांग्रेस ने तीनों कृषि कानूनों से जुड़े अध्यादेश जारी किए जाने के एक साल पूरा होने के मौके पर शनिवार को कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार को इन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करना चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह आरोप भी लगाया कि इन कानूनों के जरिए सरकार देश के किसानों को ‘बंधुआ मजदूर’ बनाना चाहती है। सुरजेवाला ने एक बयान में कहा, ”मोदी सरकार तीन काले कृषि अध्यादेश आज ही के दिन 5 जून, 2020 को लेकर आई थी। मोदी जी ने कहा था कि महामारी की आपदा के समय वे इन काले कानून से अन्नदाता के लिए अवसर लिख रहे हैं। सही मायने में उन्होंने 25 लाख करोड़ सालाना के कृषि उत्पादों के व्यापार को अपने मुट्ठीभर पूंजीपति दोस्तों के लिए ‘अवसर’ लिखा और 62 करोड़ किसानों के हिस्से में उन्होंने ‘अवसाद’ लिख दिया।”

उन्होंने दावा किया, ”मोदी सरकार अनुबंध पर खेती के अनैतिक प्रावधानों के माध्यम से अन्नदाता भाइयों को चंद पूंजीपतियों का ‘बंधुआ मज़दूर’ बनाना चाहती है।” उनके मुताबिक, ”मोदी सरकार ने सत्ता में आते ही 2014 में अध्यादेश के माध्यम से किसानों की जमीन हड़पने की कोशिश की। साल 2015 में उच्चतम न्यायालय में शपथपत्र दे दिया कि किसानों को लागत के अलावा 50 प्रतिशत मुनाफा कभी भी समर्थन मूल्य के तौर पर नहीं दिया जा सकता। फिर 2016 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लेकर आए, जिससे चंद बीमा कंपनियों ने 26,000 करोड़ रुपये का मुनाफा कमवाया।” उन्होंने आरोप लगाया, ”5 जून, 2020 को लाए गए तीन काले कानूनों के माध्यम से किसानों की आजीविका पर फिर से डाका डालना चाहती है।” सुरजेवाला ने कहा, ”काले कानूनों की बरसी पर मोदी सरकार को चाहिए कि वो अपने निर्णय को वापस ले और इन कानूनों को फौरन खारिज करे।

जज पर चप्पलें फेंकने के अपराध में 18 माह की सजा

राजकोट। गुजरात के राजकोट जिले में चाय बेचने वाले एक व्यक्ति को यहां मजिस्ट्रेट अदालत ने जज पर चप्पलें फेंकने के अपराध में 18 महीने की सजा सुनाई। आरोपी व्यक्ति ने उसके एक मामले में सुनवाई लंबित पड़े होने से नाराज होकर 2012 में हाई कोर्ट के एक जज पर चप्पलें फेंकी थी। मिर्जापुर ग्रामीण अदालत के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट वी-ए-धधल ने गुरुवार को आरोपी भवानीदास बावाजी को आईपीसी की धारा 353 (एक सरकारी कर्मचारी को उसके कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने के लिए हमला) के तहत दोषी ठहराया है। पुलिस ने बताया कि बावाजी ने दावा किया था कि वह उसके मामले की सुनवाई लंबित होने से नाराज था। इसलिए उसने हताश होकर जज पर चप्पलें फेंक दी।
यह देखते हुए कि जज पर चप्पल फेंकने का मामला निदंनीय है, मजिस्ट्रेट ने बावाजी को प्रोबेशन के तहत राहत देने से इंकार कर दिया। इस प्रावधान के तहत दोषी के अच्छे आचरण को देखते हुए उसे रिहा कर दिया जाता है। मजिस्ट्रेट ने राजकोट के रहने वाले बावाजी को 18 महीने कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उसकी आर्थिक स्थिति को देखते हुए उस पर कोई जुर्माना नहीं लगाया है।
इस मामले के मुताबिक, आरोपी ने 11 अप्रैल 2012 को सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट के जज केएस झावेरी पर अपनी चप्पलें फेंक दी थी। लेकिन वे उन्हें लगी नहीं थी। जब जज ने कारण पूछा, तो बावाजी ने कहा था कि उन्होंने हताशा में ऐसा किया था। क्योंकि उनका मामला लंबे समय से सुनवाई के लिए नहीं आया था। इसके बाद बावाजी को सोला पुलिस थाने के हवाले कर दिया गया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 186 और 353 के तहत मामला दर्ज कर लिया था।
पुलिस की जांच में पता चला था कि बावाजी भयवदार में सड़क किनारे चाय की दुकान चलाते थे। 
जब भयवदार नगर पालिका ने उन्हें स्टाल हटाने के लिए कहा, तो बावाजी गोंडल जिला कोर्ट से नगर निकाय के खिलाफ मोहलत लेने का आदेश मिलने में सफल रहे। इसके बाद नगर पालिका ने हाई कोर्ट में अपील दायर की।
सुनवाई में जाने के लिए नहीं उठा पा रहा था खर्च
बावाजी ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि उस अपील के आधार पर नगर पालिका ने उनकी चाय की दुकान हटा दी, इससे वह बेरोजगार हो गए। आरोपी ने बताया कि कमाई का दूसरा जरिए न होने के कारण उसने अपना मानसिक संतुलन खो दिया था, क्योंकि उसे सुनवाई में भाग लेने के लिए अहमदाबाद जाने के लिए उधार लेना पड़ा था। इसके कारण उसे दूसरों से उधार पैसे मांगने पड़ते थे।

जियो: नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। जियो के प्लान आज भी अन्य टेलीकॉम कंपनियों के मुकाबले सस्ते हैं। आप चाहें 84 दिन वाले प्लान से तुलना करें या फिर किसी मासिक प्लान से, जियो के प्लान आपको सस्ते ही नजर आएंगे। जियो के पास दो तरह के प्री-पेड प्लान हैं। जिनमें एक स्मार्टफोन के लिए है और दूसरा जियो फोन (फीचर फोन) के लिए है। जियो फोन के प्लान स्मार्टफोन के प्लान के मुकाबले काफी सस्ते हैं। 
जियो फोन के लिए सबसे सस्ते  प्लान की कीमत 39 रुपये है। जियो फोन के इस प्लान में आपको सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा मिलती है। इसके अलावा इस प्लान 1400 एमबी इंटरनेट भी मिलता है। जियो फोन के 39 रुपये वाले प्लान की वैधता 14 दिन की है यानी हर रोज आपको 100 एमबी इंटरनेट मिलेगा। डाटा खत्म होने के बाद 64kbps की स्पीड से इंटरनेट मिलेगा। इस प्लान में भी आपको स्मार्टफोन वाले प्लान की तरह जियो के सभी एप्स का सब्सक्रिप्शन मिलेगा।
जियो फोन के लिए 69  रुपये का भी एक प्लान है जिसमें 14 दिनों की वैधता मिलती है। इस प्लान में 500एमबी डाटा मिलता है। साथ ही सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ जियो के सभी एप्स का सब्सक्रिप्शन भी मिलता है। जियो फोन के लिए 28 दिनों वाले प्लान की कीमत 75 रुपये है। इसमें भी आपको 500एमबी डाटा + 200एमबी एक्स्ट्रा डाटा मिलता है। यदि आप अधिक डाटा चाहते हैं तो आप 155 रुपये वाला रिचार्ज करा सकते हैं। इस प्लान में 28 दिनों की वैधता मिलेगी और रोज 1 जीबी डाटा मिलेगा। इस प्लान में भी सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ जियो एप्स के सब्सक्रिप्शन मिलेंगे।

ब्लैक फंगस से लड़ने के लिए 'धूप' का उपचार बताया

संदीप मिश्र                  
बरेली। कोविड की दूसरी लहर का प्रभाव धीरे-धीरे कम हो रहा है। वहीं अब ब्लैक फंगस से निपटने के लिए शासन-प्रशासन ने कमर कस ली है। चिकित्सक ब्लैक फंगस से लड़ने के लिए धूप का उपचार बताया है।चिकित्सकों का कहना है कि ब्लैक फंगस गंदगी, नमी और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण पैदा होता है। ऐसे में धूप ही दवा का काम करेगी और ब्लैक फंगस उसके सामने दम तोड़ता नजर आएगा। शरीर को धूप से तपाने पर विटामिन डी, आक्सीजन और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। 300 बेड कोविड अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. बागीश वैश्य के अनुसार ब्लैक फंगस कोरोना पॉजिटिव और निगेटिव दोनों मरीजों में हो सकता है।
स्टेरायड का अधिक प्रयोग शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम करता है। जिससे मरीज के उच्च रक्त चाप, मधुमेह व लाइलाज बीमारी कैंसर आदि से पीड़ित होने और लंबे समय तक आक्सीजन मास्क लगाने की वजह से नमी का दबाव बढ़ता है और ब्लैक फंगस होने का खतरा ज्यादा रहता है। धूप शरीर पर प्रभाव छोड़ने वाले अनेक संक्रमणों को निष्क्रिय कर देती है। सूर्योदय में व दिन की कड़ाके की धूप दोनों ही शरीर के लिए लाभदायक हैं। धूप में एंटी कैंसर तत्व भी पाए जाते हैं। सूर्य की रोशनी से शरीर में श्वेत रक्त कणिकाओं का निमार्ण होता है। शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है, साथ ही नसें सिकुड़ने नहीं देती है और नसों में खून का प्रवाह भी निरंतर बना रहता है। धूप से जठराग्नि सक्रिय रहकर भोजन के धातु तत्व पुष्ट करके पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है।

कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में हैं: शिवराज

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में है। प्रदेश में कल 81 हजार टेस्ट हुए थे।जिनमें केवल 718 पॉजीटिव प्रकरण आए हैं। पॉजिटिविटी रेट अब घटकर 0.8 प्रतिशत हो गया है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चौहान स्मार्ट सिटी पार्क में वृक्षारोपण के उपरांत मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पाँच जिले ऐसे हैं। जिनमें कल कोरोना का एक भी प्रकरण नहीं आया। हमें आशा है कि प्रदेश के कई जिले अगले कुछ दिनों में पूरी तरह कोरोना मुक्त हो जायेंगे। 

उन्होंने कहा कि अभी इंदौर, भोपाल और जबलपुर में कोरोना के प्रकरणों की कुछसंख्या हैं, अभी लगातार सावधानी रखी जा रही है। अगर पाँच प्रतिशत से कम पॉजिटिविटी दर होती है तो कोरोना संक्रमण नियंत्रण में माना जाता है। हम 0.8 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट पर पहुँच चुके। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चौहान ने कहा कि अभी भी जनता का सहयोग आवश्यक है। ग्राम, वार्ड, नगर और जिलों की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियाँ अनलॉक की प्रक्रिया में पूरी सतर्कता बरत रही हैं। हमें कोविड अनुकूल व्यवहार अर्थात मास्क लगाना, दूरी बनाए रखना, बार-बार हाथ साफ करना आदि को अपनी आदत में शामिल करना होगा। दुकानदारों को भी दूरी बनाये रखने, दुकानों पर भीड़ नहीं लगने देने जैसी सावधानियों को अपनाना होगा।


प्रकृति के साथ सद्भाव में रहना भारतीय लोकाचार

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि प्रकृति के साथ सद्भाव में रहना भारतीय लोकाचार के केंद्र में रहा है।विश्व पर्यावरण दिवस प्रतिवर्ष 5 जून को मनाया जाता है।

कोविंद ने ट्वीट किया, "प्रकृति के साथ सद्भाव में रहना और जैव विविधता की रक्षा करना भारतीय लोकाचार और संस्कृति के केंद्र में रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस पर, जब मानवता कोविड-19 के खिलाफ लड़ रही है, हम एक स्थायी भविष्य के लिए वैश्विक समुदाय के साथ काम करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हैं।"

लीज बढ़ाने से मना किया, वापिस रूस भेजी पनडुब्बी

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। रूस से 10 साल की लीज पर ली गई पनडुब्बी आईएनएस चक्र शुक्रवार को वापस चली गई। दरअसल, भारत ने ​लीज अवधि को आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया है। आईएनएस चक्र भारतीय नौसेना के पास इकलौती ऐसी पनडुब्बी थी, जो परमाणु हमला करने की क्षमता से लैस थी। अब भारत को चार साल बगैर परमाणु पनडुब्बी के गुजारने पड़ेंगे, क्योंकि रूस से 2025 में 10 साल के लिए परमाणु क्षमता से लैस दूसरी पनडुब्बी मिलेगी।

भारत ने 2012 में लगभग 1 बिलियन डॉलर की लागत से परमाणु हमला करने में सक्षम पनडुब्बी आईएनएस चक्र को 10 वर्षों की अवधि के लिए पट्टे पर लिया गया था। अकुला-2 श्रेणी की आईएनएस चक्र को 04 अप्रैल, 2012 को भारतीय नौसेना में शामिल करके विशाखापत्तनम में तैनात किया गया था। इस पनडुब्बी की दस साल की लीज जनवरी, 2022 में समाप्त होने वाली है लेकिन पट्टे की समाप्ति से लगभग दस महीने पहले उसे रूस को लौटा दिया गया है। 8,140 टन की पनडुब्बी वर्तमान में रूस के व्लादिवोस्तोक के रास्ते में है। पनडुब्बी को एक भारतीय दल संचालित कर रहा है। उसके साथ एक रूसी और भारतीय युद्धपोत भी जा रहा है।

भारत के पास इस समय दो परमाणु संचालित पनडुब्बियां थीं, जिसमें से आईएनएस चक्र को लीज खत्म होने से पहले ही रूसी शिपयार्ड में वापस भेज दिया गया है। दरअसल भारत ने पट्टे की अवधि 10 साल से आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। अब भारतीय नौसेना के पास स्वदेश निर्मित परमाणु चालित पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत बची है, जो बैलिस्टिक मिसाइलों से लैस है। लीज खत्म होने से पहले पनडुब्बी आईएनएस चक्र की वापसी उसके 'अविश्वसनीय पावरप्लांट और रखरखाव के मुद्दों' की वजह से आवश्यक हो गई थी। इसका उपयोग भारतीय नौसेना ने उन्नत परमाणु पनडुब्बियों पर कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के लिए किया था। इसी का नतीजा था कि नौसेना के अधिकारियों को भारत में निर्मित बैलिस्टिक मिसाइल पनडुब्बियों, आईएनएस अरिहंत और आईएनएस अरिघाट पर कार्य करने की दक्षता हासिल हुई। ​

भारत ने 2019 में रूस से अकुला श्रेणी की तीसरी परमाणु संचालित हमला पनडुब्बी आईएनएस चक्र-III को पट्टे पर देने के लिए 3.3 बिलियन डॉलर के सौदे पर हस्ताक्षर किए थे। इस समझौते के तहत रूस से 2025 तक पनडुब्बी चक्र-II की जगह चक्र-III भारतीय नौसेना को सौंप दिए जाने की संभावना है। रूस से 3.3 बिलियन डॉलर के सौदे में भारतीय संचार और सेंसर सिस्टम के साथ पनडुब्बी का नवीनीकरण, स्पेयर पार्ट सपोर्ट और इसके संचालन के लिए तकनीकी बुनियादी ढांचे का प्रशिक्षण शामिल है। हालांकि अंतरराष्ट्रीय संधियों के कारण नई पनडुब्बी लंबी दूरी की परमाणु मिसाइलों से लैस नहीं होगी।

भारतीय नौसेना को इस समय पनडुब्बियों की कमी का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि उसने पिछले 15 वर्षों में तीन पनडुब्बियों को सेवा से हटा दिया है। भारतीय नौएना ने आईएनएस वेला को जून 2010 में, आईएनएस वागली को दिसम्बर, 2010 में और आईएनएस सिंधुरक्षक को जून, 2017 में डिकमीशन कर दिया गया था। हिन्द महासागर में चीन का मुकाबला करने के लिए भारत को स्वदेशी प्रोजेक्ट-75आई के तहत छह स्टील्थ पनडुब्बियों का निर्माण करने की मंजूरी 04 जून को ही मिली है। विदेशी सहयोग से घरेलू निर्माण के लिए 14 साल से लंबित 43 हजार करोड़ रुपये की इस परियोजना की पनडुब्बियों को नौसेना के बेड़े में शामिल होने में लगभग एक दशक लगेगा।

100 फुट लंबे काले झंडे के साथ बंदी का विरोध

श्रीराम मौर्य   
रूद्रपुर। बाजार को अनलॉक करने की मांग को लेकर रूद्रपुर के व्यपारियो द्वारा 100 फिट का काल झंडा लेकर बाजार में रैली निकाल कर सरकार से बाजार खोलने की मांग की। इस दौरान व्यपारियो ने सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी भी की। बाजार को ऑन लॉक करने की मांग को लेकर प्रांतीय व्यापार मंडल द्वारा आज 100 फिट का ब्लेक कपड़ा घूम कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान व्यपारियो ने सरकार के खिलाफ जम कर नारे बाज़ी करते हुए सरकार से अतिशीघ्र बाजार खोलने के आदेश जारी करने की मांग की है। 
प्रदर्शन के दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जुनेजा ने बताया कि व्यपारी इस कोरोना कर्फ्यू में पीस रहा है। उसके सामने भुखमरी जैसे हालात खड़े होने लगे है। एक तो दुकान का किराया ऊपर से बैंक का ऋण ओर घर का खर्चा तीनो ही बात व्यपारी को डरा रही है। उन्होंने बताया कि व्यपार मंडल द्वारा पिछले कई दिनों से प्रदर्शन किया जा रहा है। यहा तक कि कल मुख्यमंत्री से प्रशासन द्वारा भेंट भी नही करने दी। उन्होंने कहा कि आज उनके द्वारा 100 फिट के काले झंडे के साथ विरोध प्रदर्शन किया गया है। अगर सरकार अपने फैसले पर विचार नही करती तो उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। 

जान बचाकर भागे एसडीएम, दो पुलिस क्षेत्राधिकारी

प्रशांत कुमार   

गाजीपुर। करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के बनइपुर निवासी पिकअप चालक रामधनी राम 45 की गुरुवार की रात लोहे के रॉड से पीट-पीट कर हत्या के विरोध में शनिवार की सुबह ग्रामीणों ने जमकर बवाल काटा। ढोढाडीह रेलवे स्टेशन के सामने चक्का जाम करने के साथ ही जमकर पत्थरबाजी की। मुहम्मदाबाद एसडीएम राजेश गुप्ता, सीओ राजीव द्विवेदी, कासिमाबाद सीओ विजय आनंद शाही ने किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई। वहीं आधा दर्जन पुलिस गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस की दो जीप सहित आधा दर्जन बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिया। पत्रकारों को भी लक्ष्य कर पत्थरबाजी करते हुए उनकी बाइकों को भी तोड़ दिया। मौके डीएम.एसपी को बुलाने की मांग कर रहे हैं। अभी भी तनाव बना हुआ है।

हत्यारोपितों को बचाने का आरोप

मामले में रामधनी की पत्नी गुदनी ने बनइपुर के चार लोग जयराम राजभर, हरेराम राजभर, आशु राजभर, अमित राजभर सहित दो अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। ग्रामीणों का आरोप है कि सभी आरोपितों को पुलिस बचा रही है। पुलिस के सामने से यह सभी फरार हो गए। इतना ही नहीं इससे पहले भी यह सभी लूट जैसे संगीन घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने ढोढाडीह रेलवे स्टेशन के सामने जाम कर दिया। एसओ रामनेवास ने समझाने का प्रयास किया लेकिन डीएम.एसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर ग्रामीण अड़े रहे। देखते ही देखते मौके पर सैकड़ों लोग जमा हो गए। तब तक मुहम्मदाबाद एसडीएम, सीओ, कासिमाबाद सीओ सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। यह देख ग्रामीणों ने ताबड़तोड़ पत्थराव शुरू कर दिए।

26 विभागों को 4,32,2960 पौधे रोपण का लक्ष्य

तारकेश्वर मिश्रा   
अमेठी। जनपद में आगामी वृहद वृक्षारोपण कराने की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी  अरुण कुमार की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी बी0के0 पांडे ने बताया कि शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में आगामी जुलाई माह में वृहद वृक्षारोपण कराया जाना है जिसको लेकर संबंधित विभागों को लक्ष्य आवंटित कर दिया गया है वर्तमान में स्थल चयन तथा गड्ढे खुदाई का कार्य चल रहा है। जिनमें से कुछ विभागों का गढ्डे खुदाई का कार्य पूर्ण भी हो गया है।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत पौधों की उपलब्धता तथा स्थल का चयन करते हुए गड्ढे खुदाई का कार्य ससमय पूर्ण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने बताया कि शासन द्वारा इस वर्ष जनपद में 26 विभागों को 4322960 पौधे रोपित करने का लक्ष्य आवंटित किया गया है, जिसमें वन विभाग को 2300000, पर्यावरण विभाग को 261240, ग्राम्य विकास को 1052760, राजस्व विभाग को 119880, पंचायती राज विभाग को 119880, आवास विकास को 4320, औद्योगिक विकास को 4200, उद्योग विभाग को 5400, नगर विकास विभाग को 14760, लोक निर्माण विभाग को 8400, सिंचाई विभाग को 8400, कृषि विभाग को 201600, रेलवे विभाग को 22800, रक्षा विभाग को 6000, पशुपालन विभाग को 7080, सहकारिता विभाग को 4800, विद्युत विभाग को 5760, बेसिक शिक्षा विभाग को 2400, माध्यमिक शिक्षा विभाग को 2400, प्राविधिक शिक्षा विभाग को 4200, उच्च शिक्षा विभाग को 15840, श्रम विभाग को 840, स्वास्थ्य विभाग को 12000, परिवहन विभाग को 840, उद्यान विभाग को 132840 तथा पुलिस विभाग को 4320 का लक्ष्य दिया गया है
इसके साथ ही जनपद में जिलाधिकारी द्वारा रेलवे विभाग को शून्य लक्ष्य देते हुए कृषि विभाग तथा बेसिक शिक्षा विभाग को आवंटित किया गया है जिससे कृषि विभाग द्वारा 201600 के स्थान पर 218800 तथा बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 2400 के स्थान पर 8000 पौधे रोपित किए जाएंगे। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागों को वृहद वृक्षारोपण हेतु सभी तैयारियां ससमय पूर्ण कर वृक्षारोपण कार्यक्रम को सफल बनाने के निर्देश दिए।
उन्होंने वृक्षारोपण को लेकर प्रभागीय वनाधिकारी को संबंधित विभागों  द्वारा पौधों की उठान/ढुलाई हेतु नर्सरी का आवंटन करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) सुधीर रुंगटा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दुबे, प्रभागीय वनाधिकारी बी0के0 पांडे, अधिशासी अभियंता लोनिवि राकेश चौधरी, जिला कृषि अधिकारी अखिलेश पांडे, डीपीआरओ श्रेया मिश्रा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

औद्योगिक क्षेत्र की फैक्ट्री में लगी भीषण आग

कानपुर के औद्येागिक क्षेत्र की 01 फैक्ट्री में भीषण आग, मौके पर फायर ब्रिगेड की दस गाड़ियांं
विवेक पंडित 
कानपुर। पूरब के मैनचेस्टर के रूप में विख्यात कानपुर का हादसों तथा दुर्घटनाओं से पीछा नहीं छूट रहा है। कोरोना वायरस के कहर में भी यहां के औद्येागिक क्षेत्र में हादसे जारी है। रायपुर स्थित प्लास्टिक फैक्ट्री में गुरुवार देर रात शार्ट सर्किट से आग लग गई। फैक्ट्री में सिलिंडर विस्फोट होने के कारण आग और भी विकराल हो गई। जिले से छह व नगर से दो दमकल गाडिय़ां आग बुझाने में लगी हैं। सुबह 11 बजे के करीब आग पर काबू पाया जा सका। वहीं प्राथमिक स्तर पर आग से करोड़ों के नुकसान की संभावना जताई गई है। रायपुर में स्थित गणेश इकोस्फेयर प्रा. लि. फैक्ट्री में गुरुवार रात 3:30 बजे शार्ट सर्किट से आग लग गई। फैक्ट्री के अंदर आक्सीजन सिलिंडर फटने से आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग पर नियंत्रण के लिए माती फायर स्टेशन से तीन, रसूलाबाद, मैथा, सिकंदरा से एक एक गाड़ी को मौके पर भेजा गया है, लेकिन इसके बाद भी आग पर काबू न होते देख कानपुर से भी दो गाडिय़ों को बुलाना पड़ा।
दमकल कर्मियों की कड़ी मशक्कत से करीब आठ घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका, लेकिन तब तक फैक्ट्री के दो प्लांट पूरी तरह से नष्ट हो गए। इसके साथ ही दीवारें व बीम तक फट कर नीचे गिर गई। स्थानीय लोगों ने बताया कि फैक्ट्री में प्लास्टिक बोतल को गलाकर उससे धागा बनाया जाता था। प्राथमिक स्तर की जांच में आग से करोड़ों रुपये नुकसान का आकलन किया गया है। मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि प्लास्टिक फैक्ट्री होने के कारण आग तेजी से फैल गई। नियंत्रण के लिए नगर व देहात से आठ गाडिय़ां आग बुझाने में लगी रहीं। वहीं फैक्ट्री के अंदर ही पानी मिलने से भी काफी राहत मिली। उन्होंने बताया कि जांच के बाद ही वास्तविक स्थिति का आकलन किया जा सकेगा।

डिप्टी एसपी ने धर्मांतरण कर शादी रचाई, धोखा

संदीप मिश्र   

लखनऊ। भारतीय पुलिस सेवा से जबरन सेवानिवृत हुये अमिताभ ठाकुर तथा सामाजिक कार्यकर्ता उनकी पत्नी नूतन ठाकुर ने पूर्व में रायबरेली में तैनात रहे डिप्टी एसपी विनीत सिंह पर इस्लाम कबूल कर धोखा देकर दूसरी शादी करने सहित तमाम गंभीर आरोपों की जाँच की मांग की है। पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी सहित अन्य अफसरों को इस संबंध में भेजी अपनी शिकायत में उन्हने कहा कि उत्तर प्रदेश से बाहर की एक महिला पत्रकार ने उन्हें बताया कि विनीत सिंह ने उनसे अपनी पहली पत्नी तथा बच्चों की बात छिपाते हुए लगभग 03 वर्ष पूर्व शादी की। वे कई स्थानों पर पति-पत्नी के रूप में रहे और उन्हें हाल में ही उनकी पहली शादी की जानकारी मिली। 

महिला पत्रकार के अनुसार विनीत सिंह ने मात्र शादी के लिए इस्लाम कबूल किया और निकाह किया। जब सब जानने के बाद महिला ने तलाक देने को कहा तो डिप्टी एसपी ने अपने रसूख का हवाला देते हुए साफ मना कर दिया। अमिताभ तथा नूतन ने कहा कि उक्त महिला पत्रकार ने उनसे न्याय की मदद मांगी है। उन्होंने डीजीपी से अविलंब इन तथ्यों की जाँच कराते हुए नियमानुसार यथोचित विधिक तथा प्रशासनिक कार्यवाही का अनुरोध किया है।

किसानों ने भाजपा नेता के निवास का घेराव किया

अमित शर्मा   

जालंधर। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर विभिन्न किसान संगठन शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता मनोरंजन कालिया के घर के बाहर तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाने के लिए पहुंचे।

इस दौरान पुलिस ने शास्त्री मार्केट से मनोरंजन कालिया के घर की तरफ जाने वाले रास्ते को अवरोधक लगा कर बंद कर दिया था। जिसके चलते किसानों और पुलिस में खींचतान चल रही है।उल्लेखनीय है कि संयुक्त किसान मोर्चे ने पांच जून को सुबह भाजपा नेताओं के घरों के सामने कृषि कानूनों की कापियों को जलाने का आह्वान किया था। मोर्चें के आह्वान पर लोकतांत्रिक किसान सभा, देहाती मजूदर सभा, भारतीय किसान यूनियन और कामगार किसान यूनियन के नेताओं ने भाजपा नेता मनोरंजन कालिया के घर के बाहर कापियां जलाने की कोशिश की।

सख्ती: गंग नहर में स्नान पर प्रतिबंध, पुलिस मुस्तैद

अश्वनी उपाध्याय   

गाज़ियाबाद। मुरादनगर थानाक्षेत्र की गंगनहर पर पुलिस-प्रशासन मुस्तैद नज़र आ रहा हैं। पुलिस गंगनहर से गुजरने वाले वाहन चालकों की चेकिंग कर रही हैं और उनसे कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करा रही हैं। इतना ही नहीं, पुलिस विशेष तौर पर गंगनहर पर शराब का सेवन करने वाले नशेड़ियों के विरुद्ध भी कार्रवाई कर रही हैं, साथ ही पुलिस कि नज़र गंगनहर में स्नान करने वाले लोगों पर भी बनी हुई हैं। 

बता दें कि पुलिस ने गंगनहर पर प्रतिबंध लगाया हुआ हैं, कोई भी व्यक्ति गंगनहर पर आकर स्नान नहीं करेगा, यदि स्नान करता पाया गया तो पुलिस उसके विरुद्ध कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेगी। गौरतलब है कि गंगनहर पर चेकिंग कर रहे उपनिरीक्षक तिरेंद्र कुमार ने बताया कि थाना प्रभारी अमित कुमार ने उन्हें साफ तौर पर स्पष्ट किया हुआ है कि कोई भी व्यक्ति गंगनहर पर शराब का सेवन करता पाया गया या फिर गंगनहर में स्नान करता पाया गया तो उसके विरुद्ध कारवाई की जाए। इसी दौरान उपनिरीक्षक तिरेंद्र कुमार, वरिष्ठ सिपाही अशोक कुमार, सिपाही नरेंद्र उपाध्याय और सिपाही देवेंद्र बालियान भी मौजूद रहे हैं।

अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से युवक की मौत

रवि चौहान  
गाजियाबाद। जनपद के लोनी क्षेत्र में श्री साईं हॉस्पिटल में वार्ड बॉय का काम करने वाले राहुल पांचाल की हॉस्पिटल प्रबंधक की लापरवाही से मौत हुई। राहुल पांचाल के मामा का कहना है कि राहुल पांचाल से हॉस्पिटल के अंदर चपरासी का कार्य भी कराया जाता था। कभी-कभी हॉस्पिटल के अंदर झाड़ू लगाने का भी कार्य भी राहुल से ही कराया जाता था। घर की दयनीय स्थिति नाजुक होने के कारण राहुल पांचाल अस्पताल के अंदर सभी कार्य करने में मजबूर था। ऐसे में आज सुबह 8 बजकर  30 मिनट पर हॉस्पिटल के प्रबंधक ने हॉस्पिटल की छत पर लगे बोर्ड को हटाने के लिए कहा बोर्ड हटाते समय वह 11,हज़ार की  विद्युत लाइन की चपेट में आकर झुलस गया।  
गंभीर हालत में अस्पताल प्रबंधन ही उसे परिजनों को बिना बताए ही दिल्ली जीटीबी अस्पताल ले गए उसके बाद युवक को फिर हेडगेवार अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने राहुल को मृत घोषित कर दिया। जानकारी में आया है कि राहुल ही अपने परिवार का सहारा था  उसके पिता की पहले ही मौत हो गई थी। राहुल की मौत के बाद परिवार में मातम का माहौल छाया हुआ है। इस घटना के बाद से अस्पताल प्रबंधन फरार है राहुल के परिजन अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि अस्पताल के प्रबंधक ने 2 घंटे बाद राहुल की सूचना परिजनों को दी।

पशु गर्भधारण अवस्था की मात्र 10 रुपये में जांच

राणा ओबरॉय   
चंडीगढ़। हरियाणा में वैज्ञानिकों ने पशुओं के गर्भ की जांच के लिए किट तैयार कर दी है। इस किट के जरिये अब पता लगाया जा सकता है कि पशु के गर्भ में बच्चा है या नहीं है। वहीं इस प्रक्रिया और किट के लिए ज्यादा खर्च करने की भी आवश्यकता नहीं होगी, इसके लिए महज 10 रुपये का ही खर्च आएगा। हिसार स्थित केन्द्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान (सीआइआरबी) द्वारा विकसित इस किट को केंद्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तौमर ने वर्चुअल कार्यक्रम में लॉच किया। आपको बता दें कि अभी तक पशुओं में प्रेग्नेंसी जांचने की कोई भी किट नहीं थी। अब इस किट के द्वारा 20 दिन के गर्भ का आसानी से पता चल जाता है। इसकी जांच करने के लिए केवल पशु के थोडे़ से मूत्र की जरूरत होगी और गर्भ जांच कर सकता है।
यह किट पशुपालकों के लिए हितकारी साबित होगी, अभी तक पशुपालक पशु के 3-4 महिने के गर्भवती होने पर ही इसका पता कर पाते थे जोकि पशु पालकों के लिए बहुत ही नुकसानदायी रहता है। अब 20 दिन के गर्भ का पता करने के बाद पशुपालत अपने अगर पशु गर्भ से नहीं है तो उसका समय पर इलाज करवा सकेगा। कृषि मंत्री ने सीआइआरबी के निदेशक, टेस्ट किट की खोज करने वाले डॉ. अशोक बल्हारा और उनकी टीम की सराहना की है। किट तैयार करने वाली टीम के सदस्य डॉ. अशोक बल्हारा, डॉ. सुशील फुलिया, डॉ. राकेश शर्मा, डॉ. सुमन व डॉ. अशोक मोहंती हैं।

आपको बता दें कि पशुपालकों को पशुपालन में बांझ से हो रहे नुकसान को कम करने के लिए केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने गर्भ जांच किट बनाने का निर्णय लिया। जो कि 2-3 साल के प्रयास ओर मेहनत के बाद विज्ञानियों ने इसमें सफलता प्राप्त की जो कि किसानों के लिए बहुत ही लाभदायी होगी। आपको बता दें कि पशुपालकों को पशुपालन में बांझ से हो रहे नुकसान को कम करने के लिए केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने गर्भ जांच किट बनाने का निर्णय लिया। जो कि 2-3 साल के प्रयास ओर मेहनत के बाद विज्ञानियों ने इसमें सफलता प्राप्त की जो कि किसानों के लिए बहुत ही लाभदायी होगी।

एथेनॉल को पेट्रोल में मिलाने से किसानों को फायदा

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को किसानों विशेषकर गन्ना किसानों को इथेनॉल के भी उत्पादन की सलाह देते हुए कहा कि गन्ने से निकाले गए एथेनॉल को पेट्रोल में मिलाने से किसानों को फायदा होगा। उन्होंने इस दौरान "भारत में 2020-2025 के दौरान एथेनॉल सम्मिश्रण से संबंधित रोडमैप के बारे में विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट" जारी की और पुणे में तीन स्थानों पर ई-100 के वितरण स्टेशनों की एक पायलट परियोजना का भी शुभारंभ किया।  
प्रधानमंत्री शनिवार को पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस मंत्रालय और पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। इस वर्ष के आयोजन का विषय 'बेहतर पर्यावरण के लिए जैव ईंधन को बढ़ावा देना' है। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नरेन्द्र सिंह तोमर, नितिन गडकरी, प्रकाश जावड़ेकर और पीयूष गोयल भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री ने इस बीच एथेनॉल मिश्रित पेट्रोल और संपीड़ित बायोगैस कार्यक्रमों के तहत किसानों के अनुभव जानने के लिए पुणे (महाराष्ट्र), हरदोई (उत्तर प्रदेश) और खेड़ा (गुजरात) के किसानों से बातचीत की। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि अब एथेनॉल, 21वीं सदी के भारत की बड़ी प्राथमिकताओं से जुड़ गया है। 
एथेनॉल पर फोकस से पर्यावरण के साथ ही एक बेहतर प्रभाव किसानों के जीवन पर भी पड़ रहा है। आज हमने पेट्रोल में 20 प्रतिशत एथेनॉल ब्लेंडिंग के लक्ष्य को 2025 तक पूरा करने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के भारत को, 21वीं सदी की आधुनिक सोच, आधुनिक नीतियों से ही ऊर्जा मिलेगी। इसी सोच के साथ हमारी सरकार हर क्षेत्र में निरंतर नीतिगत निर्णय ले रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वन सन, वन वर्ल्ड, वन ग्रिड के विजन को साकार करने वाला अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन हो, या फिर आपदा प्रतिरोधी बुनियादी ढांचे के लिए गठबंधन की पहल हो, भारत एक बड़े वैश्विक विजन के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि क्लाइमेट चेंज की वजह से जो चुनौतियां सामने आ रही हैं, भारत उनके प्रति जागरुक भी है और सक्रियता से काम भी कर रहा है। 
उन्होंने कहा कि 6-7 साल में नवीकरणीय ऊर्जा की हमारी क्षमता में 250 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी हुई है। स्थापित रिन्यूएबल एनर्जी क्षमता के मामले में भारत आज दुनिया के टॉप-5 देशों में है। इसमें भी सौर ऊर्जा की क्षमता को बीते 6 साल में लगभग 15 गुणा बढ़ाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पेट्रोल में इथेनॉल मिश्रण 2014 में 1-1.5 प्रतिशत से बढ़कर 8.5 प्रतिशत हो गया, एथेनॉल की खरीद 38 करोड़ लीटर से बढ़कर 320 करोड़ लीटर हुई है। भारत अब जलवायु परिवर्तन के प्रस्ताव का प्रस्तावक है। 
भारत जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक पर शीर्ष 10 देशों में शामिल है। विश्व पर्यावरण दिवस के मद्देनजर केंद्र सरकार तेल कंपनियों को 1 अप्रैल 2023 से इथेनॉल मिश्रित पेट्रोल को 20 प्रतिशत तक इथेनॉल के साथ बेचने का निर्देश देते हुए ई-20 अधिसूचना जारी कर रही है। यह वर्ष 2025 से पहले इथेनॉल उत्पादक राज्यों और आसपास के क्षेत्रों में इथेनॉल की खपत बढ़ाने में भी मदद करेगा। उल्लेखनीय है कि सरकार ने महंगे तेल आयात पर भारत की निर्भरता को कम करने के लिए अब अप्रैल 2023 तक पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल सम्मिश्रण का लक्ष्य रखा है। 

नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए मौका दिया

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। सरकार ने शनिवार को ट्विटर को नोटिस जारी कर उसे तत्काल नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए ‘एक आखिरी मौका’ दिया है। सरकार की ओर से आगाह किया गया है कि यदि ट्विटर इन नियमों का अनुपालन करने में विफल रहती है, तो वह आईटी कानून के तहत दायित्व से छूट को गंवा देगी। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (मेइटी) ने कहा कि ट्विटर द्वारा इन नियमों के अनुपालन से इनकार से पता चलता है कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट में प्रतिबद्धता की कमी है और वह भारत के लोगों को अपने मंच पर सुरक्षित अनुभव प्रदान करने का प्रयास नहीं करना चाहती।सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा, ”भारत में करीब एक दशक से अधिक से परिचालन के बावजूद यह विश्वास करना मुश्किल है कि ट्विटर ने एक ऐसा तंत्र विकसित करने से इनकार कर दिया है। 

जिससे भारत के लोगों को उसके मंच पर अपने मुद्दों के समयबद्ध और पारदर्शी तरीके से उचित प्रक्रिया के जरिये हल में मदद मिलती।” मंत्रालय ने कहा कि ये नियम हालांकि 26 मई, 2021 से प्रभावी हैं, लेकिन सद्भावना के तहत टि्वटर इंक को एक आखिरी नोटिस के जरिये नियमों के अनुपालन का अवसर दिया जाता है। उसे तत्काल नियमों का अनुपालन करना है। यदि वह इसमें विफल रहती है, तो उसे दायित्व से जो छूट मिली है। वह वापस ले ली जाएगी। साथ ही उसे आईटी कानून और अन्य दंडात्मक प्रावधानों के तहत कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा। नोटिस में हालांकि यह नहीं बताया गया है कि ट्विटर को इन नियमों का अनुपालन कब तक करना है।

24 घंटे में 1 लाख 20 हजार 529 नए मामलें मिलें

अंकाशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। देश में पिछले दिन के मुकाबले कोरोना के नए मामलों में थोड़ी कमी दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के एक लाख 20 हजार, 529 नए मामले सामने आए हैं। जबकि इस बीमारी से 3 हजार, 380 लोगों की मौत हो गई। पिछले 24 घंटों में 1 लाख,97 हजार, 894 मरीज स्वस्थ हुए है। राहत भरी बात यह है कि देश में कोरोना के नए मामले आने की दर यानी पॉजिटिविटी रेट में कमी आई है। 
पिछले 12 दिनों से लगातार पॉजिटिविटी दर 10 प्रतिशत से नीचे है। पिछले 24 घटे में पॉजिटिविटी दर 5.78 प्रतिशत रही है। शनिवार की सुबह केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में अबतक कोरोना के कुल 2 करोड़ ,86 लाख,94 हजार,879 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, इस बीमारी से अबतक 3 लाख ,44 हजार ,082 लोगों की मौत हो चुकी है। एक्टिव मरीज की संख्या 15 लाख,55 हजार,248 है। वहीं, राहत भरी खबर है कि कोरोना से अबतक 2 करोड़,67 लाख,95 हजार,549 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।
कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है, जो राहत की बात है। 
रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। पिछले 24 घंटे में देश का रिकवरी रेट बढ़कर 93.38 प्रतिशत हो गया है। आईसीएमआर के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 20 लाख से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं। 04 जून को 20 लाख,84 हजार,421 टेस्ट किए गए। देश में अबतक कुल 36 करोड़,11 लाख,74, हजार 142 टेस्ट किए जा चुके हैं। 

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया

अंकाशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। ट्विटर ने शनिवार को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के निजी अकाउंट से सत्यापन वाला ब्लू टिक हटा दिया। उपराष्ट्रपति सचिवालय के अधिकारियों ने बताया कि ट्विटर पर नायडू का निजी अकाउंट लंबे समय से निष्क्रिय था और ट्विटर अलगोरिद्म ने ब्लू टिक हटा दिया। उन्होंने बताया कि ट्विटर सत्यापन पहचान को बहाल करने की प्रक्रिया में है।
उपराष्ट्रपति के इस निजी अकाउंट से पिछले साल 23 जुलाई को आखिरी बार पोस्ट की गयी थी। उपराष्ट्रपति ट्वीट करने के लिए आधिकारिक अकाउंट का इस्तेमाल करते हैं। ये खबर आते ही ट्विटर पर  ट्रेंड होने लगा है। सोशल मीडिया पर काफी लोग ट्विटर के इस कदम का विरोध करने लगे। रेस के मैदान का विजेता कोरोना के सामने घुटने टेकने को तैयार नहीं, मिल्खा सिंह की हालत स्थिर सरकार ने दिया ट्विटर को आखिरी मौका, आईटी नियमों के अनुपालन में विफल रही तो इसके बाद ट्विटर ने अपनी गलती स्वीकार की और उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू के ट्विटर अकाउंट को दोबारा वेरिफाइड कर दिया। 
सरकार के कड़े रूख के बाद ट्विटर ने अपना फैसला वापस ले लिया। सरकार की ओर से साफ तौर पर कहा गया था कि उपराष्ट्रपति देश का दूसरा सबसे बड़ा संवैधानिक पद है। संविधानिक पद पर बैठे व्यक्ति किसी पार्टी का हिस्सा नहीं होते। इसलिए सरकार ट्विटर की इस हरकत को संवैधानिक अनादर की नजर से देखती है।

लॉकडाउन को 14 जून तक बढ़ाने का फैसला किया

चेन्नई। तमिलनाडु में कोविड-19 महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन को एक सप्ताह और सात से 14 जून तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया गया है। तमिलनाडु सरकार ने लॉकडाउन को कुछ और ढील के साथ एक सप्ताह के लिए बढ़ाने की शनिवार को घोषणा की। तमिलनाडु के कई जिलों में कोरोना के मामले कम हो रहे हैं लेकिन कई क्षेत्रों में स्थिति अभी भी गंभीर है। राज्य में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण 10 मई को लॉकडाउन लगाया गया था जिसके बाद से इसे हर हफ्ते बढ़ाया जा रहा है। 
मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने यहां जारी बयान में कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने और लोगों के अनमोल जीवन को बचाने के लिए जिले-वार स्थिति की समीक्षा के बाद स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ इस पर चर्चा के आधार पर लॉकडाउन को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। तमिलनाडु के चेन्नई, उत्तरी और दक्षिणी जिलों में कोरोना के मामले कम हुये हैं इसलिए इन क्षेत्रों में लॉकडाउन में अधिक ढील दी गई है। राज्य के 11 जिलों -कोयंबटूर, नीलगिरि, तिरुप्पुर, इरोड, सेलम, करुर, नमक्कल, तंजावुर, तिरुवरुर, नागपट्टिनम, मयिलादुथुरई- में कोरोना के अधिक मामलों को देखते हुये लॉकडाउन में कम छूट दी गई है। 
राज्य में लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। लेकिन सार्वजिनक एवं निजी परिवहन सेवाएं, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मॉल, पर्यटक स्थल, थियेटर, सैलून और स्पा बंद रहेंगे।

लॉकडाउन में ओर छूट देने की घोषणा की: दिल्ली

अकांशु उपाध्याय                    

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को लॉकडाउन में ओर छूट देने की घोषणा करते हुए कहा कि सात जून से दिल्ली मेट्रो 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेगी तथा बाजार और मॉल सम-विषम आधार पर खुलेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के स्वरूप का पता लगाने के लिए एलएनजेपी अस्पताल तथा यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस) में दो जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाएं बनाएगी। केजरीवाल ने एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली में सोमवार सुबह पांच बजे तक लगे लॉकडाउन की अवधि और बढ़ायी जाएगी लेकिन कई तरह की छूट भी दी जाएंगी। 

उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी कार्यालयों को 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी। बाजार और मॉल सुबह 10 बजे से रात आठ बजे तक सम-विषम आधार पर खोले जा सकते हैं।केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार यह ध्यान में रखते हुए कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रही है कि इसके चरम पर पहुंचने पर रोज 37,000 मामले आ सकते हैं और साथ ही बिस्तरों, आईसीयू तथा दवाओं की व्यवस्था भी कर रही है। उन्होंने बताया कि बच्चों के लिए आवश्यक बिस्तरों की संख्या, आईसीयू सुविधाओं तथा अन्य उपकरणों पर फैसला लेने के लिए एक बाल चिकित्सा कार्य बल गठित किया गया है। 

कोरोना वायरस की तीसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने की आशंका जतायी जा रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में 450 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडार करने की व्यवस्था की जा रही है। 25 ऑक्सीजन टैंकर खरीद रहे हैं और 64 छोटे ऑक्सीजन संयंत्र लगा रहे हैं। विशेषज्ञों और डॉक्टरों का एक दल उपयोगी दवाएं बताएगा तथा कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं का भंडार रखा जाएगा।

चीन-भारत मुद्दों के समाधान के लिए रास्ता निकालेंगे

मास्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि चीन और भारत अपने बीच के मुद्दों के समाधान के लिए रास्ता निकाल लेंगे और गैर-क्षेत्रीय शक्तियों को इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। पुतिन ने शुक्रवार को सेंट पीटर्सबर्ग इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम (एसपीआईईएफ) में अंतरर्राष्ट्रीय समाचार एजेंसियों के प्रमुखों के साथ बैठक के दौरान कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग बहुत जिम्मेदार लोग हैं और एक-दूसरे से व्यक्तिगत रूप से बहुत सम्मान के साथ व्यवहार करते हैं। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वे सामने आने वाली समस्याओं और मुद्दों को हल करने के उपाय हमेशा खोज लेंगे। मुख्य बात यह है कि गैर-क्षेत्रीय शक्तियां इसमें हस्तक्षेप नहीं करें।” पूर्वी लद्दाख में सीमा संबंधित मौजूदा गतिरोध को समाप्त करने के लिए भारत और चीन के बीच अब तक कोर कमांडर-स्तर की बातचीत के 10 से अधिक दौर हो चुके हैं।


ब्रेक द चैन: लागू प्रतिबंधों में 7 जून से ढील दी जाएंगीं

कविता गर्ग           
मुंबई। कोरोना महामारी पर नियंत्रण के परिप्रेक्ष्य में महाराष्ट्र में ‘ब्रेक द चैन’ के तहत लागू प्रतिबंधों में सात जून से ढील दी जाएगी। महाराष्ट्र राज्य आपदा प्रबंधन, राहत एवं पुनर्वास के प्रमुख सचिव असीम गुप्ता ने शुक्रवार की देर रात इस आशय की अधिसूचना जारी की। अधिसूचना के मुताबिक राज्य के जिलों को कोविड संक्रमण दर के मानदंड और ऑक्सीजन बेड के उपयोग के आधार पर पांच चरणों में बांटा गया है।
पहले चरण में पांच प्रतिशत से कम संक्रमण दर और 25 प्रतिशत से कम ऑक्सीजन एम्बुलेंस का उपयोग करने वाले जिले आएंगे। ऐसे जिलों में सभी गतिविधियां सुचारू रूप से जारी रहेगी। दूसरे चरण में पांच प्रतिशत की संक्रमण दर और 25 से 40 प्रतिशत के बीच ऑक्सीजन बेड उपयोग वाले इन जिलों में निर्माण, कृषि सेवाओं सहित सभी गतिविधियां शुरू की जा सकेंगी। रेस्टोरेंट, मॉल, सिनेमाघर, जिम, सैलून और स्पा अपनी 50 फीसदी क्षमता से शुरू होंगे।
तीसरे चरण में पांच से 10 फीसदी संक्रमण दर और 40 फीसदी से ज्यादा ऑक्सीजन बेड के इस्तेमाल वाले जिलों में आवश्यक सेवाओं के साथ अन्य दुकानें शाम चार बजे तक खुली रहेंगी। शनिवार और रविवार को केवल आवश्यक सेवाएं ही जारी रहेंगी। चौथे चरण में 10 से 20 प्रतिशत की संक्रमण दर और 60 प्रतिशत से अधिक ऑक्सीजन बेड के उपयोग वाले जिले आएंगे। इन जिलों में आकस्मिक सेवाएं शाम चार बजे तक जारी रहेंगी, बाकी सभी गतिबंधियां प्रतिबंधित रहेंगी।
सामाजिक आयोजनों पर प्रतिबंध यथावत रहेगा। इसी प्रकार पांचवे चरण में 20 प्रतिशत से अधिक संक्रमण दर और 75 प्रतिशत से अधिक ऑक्सीजन बेड वाले जिलों में सोमवार से शुक्रवार शाम चार बजे तक आवश्यक दुकानें खुली रहेंगी। शनिवार और रविवार को चिकित्सा सेवाओं को छोड़कर सभी गतिविधियां बंद रहेंगी। अधिसूचना के मुताबिक मराठवाड़ा क्षेत्र में हिंगोली, जालना, नांदेड़ और लातूर जिले पहले और औरंगाबाद जिला दूसरे तथा बीड, उस्मानाबाद और परभणी जिले तीसरे चरण में शामिल रहेंगे।

गेंदबाज सील्स को 17 सदस्यीय प्रारंभिक टीम में चुना

ग्रोस आइलेट। त्रिनिदाद और टोबैगो के युवा तेज गेंदबाज जेडन सील्स को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गुरूवार से शुरू हो रही दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिये वेस्टइंडीज की 17 सदस्यीय प्रारंभिक टीम में चुना गया है। अंतिम 13 सदस्यीय टीम का चयन सोमवार को किया जायेगा। चयन समिति ने यह भी बताया कि तेज गेंदबाज चेमार होल्डर चोट के कारण चयन के लिये उपलब्ध नहीं हैं। क्रिकेट वेस्टइंडीज ने एक विज्ञप्ति में कहा ,‘‘तेज गेंदबाज चेमार होल्डर चोट के कारण नहीं खेल सकेंगे। उन्नीस वर्ष के तेज गेंदबाज जेडन सील्स को पहली बार टेस्ट श्रृंखला के लिये प्रारंभिक टीम में जगह मिली है।’’ सील्स ने अभी तक सिर्फ दस पेशेवर मैच , एक प्रथम श्रेणी मैच, तीन लिस्ट ए मैच और छह टी20 मैच खेले हैं। दो टेस्ट 10 से 14 जून और 18 से 22 जून तक खेले जायेंगे।

विश्व: 37.08 लाख से अधिक लोगों की मौंत, संक्रमण

वाशिंगटन डीसी। विश्वभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप जारी है और अब तक इससे 17.24 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि 37.08 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17 करोड़ 24 लाख 56 हजार 062 हो गयी है। जबकि 37 लाख आठ हजार 626 लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है। विश्व में महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस की रफ्तार थोड़ी धीमी पड़ी है। हालांकि यहां संक्रमितों की संख्या तीन करोड़ 33 लाख 42 हजार 991 हो गयी है और करीब 5.97 लाख लोगों की इस संक्रमण से मौत हो गयी है। दुनिया में कोरोना संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे स्थान पर और मृतकों के मामले में तीसरे स्थान पर है। पिछले 24 घंटों में 1,13,769 नए मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर दो करोड़ 86 लाख 94 हजार 879 हो गया।

इस दौरान एक लाख 97 हजार 894 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसे मिलाकर देश में अब तक दो करोड़ 67 लाख 95 हजार 549 लोग इस महामारी को मात दे चुके हैं। सक्रिय मामले 80 हजार 745 कम होकर 15 लाख 55 हजार 248 रह गये हैं। इस दौरान 3380 मरीज अपनी जान गंवा बैठे और इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर तीन लाख 44 हजार 082 हो गयी है। ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है।इस देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और अभी तक इससे 1.68 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 4.70 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील कोरोना से मौतों के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है। संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है जहां कोरोना वायरस से अब तक 57.62 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं जबकि करीब 1.10 लाख मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावितों के मामले में तुर्की रूस से आगे निकल गया है और यहां कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 52.76 लाख से ज्यादा हो गयी है और 47,976 मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 50.49 लाख से अधिक हो गई है और इसके संक्रमण से 1.20 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस प्रभावितों की कुल संख्या 45.21 लाख से अधिक हो गयी है और 1.28 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों के मामले में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है। इटली में कोरोना प्रभावितों की संख्या 42.27 लाख से अधिक हो गयी है और 1.26 लाख से अधिक लाेगों की जान जा चुकी है। कोरोना से प्रभावित होने के मामले में अर्जेंटीना ने जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है। अर्जेंटीना में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 39.15 लाख से अधिक हो गयी है तथा मृतकों की संख्या 80,411 है। जर्मनी में वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 37.04 लाख से अधिक हो गई है और 89,152 लोगों की मौत हो चुकी है।

स्पेन में इस महामारी से 36.97 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 80,195 लोगों की मौत हो चुकी है। कोलंबिया में कोरोना वायरस से 35.18 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 90,890 लोगों ने जान गंवाई है। इस बीच ईरान ने पोलैंड को पीछे छोड़ते हुए आगे निकल गया है। ईरान में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 29.54 लाख से ज्यादा हो गयी है तथा मृतकों का आंकड़ा 80,813 पहुंच गया है। पोलैंड में कोरोना से 28.74 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और इस महामारी से 74,101 लोग जान गंवा चुके हैं। मैक्सिको में कोरोना से 24.29 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यह देश मृतकों के मामले विश्व में चौथे स्थान पर है। जहां अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 2.28 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। यूक्रेन में संक्रमितों की संख्या 22.70 लाख से अधिक है और 53,117 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं।

पेरू में संक्रमितों की संख्या 19.68 लाख के पार पहुंच गयी है। जबकि करीब 1.85 लाख से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इंडोनेशिया में भी कोरोना संक्रमण के मामले 18.43 लाख के पार पहुंच गये हैं जबकि 51,296 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से अब तक 16.86 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यहां इस महामारी से 17,940 लोगों की मौत हो चुकी है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से 16.86 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुये हैं और 56,832 लोगों की मौत हो चुकी है। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 16.63 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं और यहां इस महामारी से 30,142 लोग जान गंवा चुके हैं। पड़ोसी देश पाकिस्तान में अब तक कोरोना से 9.28 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 21,105 मरीजों की मौत हो चुकी है। अन्य पड़ोसी देश बंगलादेश में भी कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है। जहां 8.07 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 12,758 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दुनिया के अन्य देशों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण से स्थिति खराब है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-294 (साल-02)
2. रविवार, जून 06, 2021
3. शक-1984, ज्येठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:50, सूर्यास्त 07:11।
5. न्‍यूनतम तापमान -16 डी.सै., अधिकतम-37+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

आईटीओ से लाल किले तक ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वें जन्मदिन पर शुक्रवार को सामाजिक संगठनों ने राष्ट्रीय राजधानी में आईटीओ से ...