मंगलवार, 6 अगस्त 2019

स्कूल बस टकराई,डेढ़ दर्जन छात्र घायल

विक्रम सिंह यादव
मेरठ । सरधना क्षेत्र में मेरठ करनाल हाइवे पर एक पब्लिक स्कूल की बस ट्रक से टकरा गई। हादसे में दर्जनभर बच्‍चे घायल हो गए। बस के ब्रेक फेल होने के कारण यह हादसा हुआ। घायल बच्‍चों को नर्सिंग होम भर्ती कराया गया। हादसे की सूचना मिलने पर बच्‍चों के परिजन भी नर्सिंग होम पहुंच गए।मेरठ करनाल हाइवे पर कदम पब्लिक स्कूल की बस भूनी चौराहे के निकट खड़े ट्रक से टकरा गई। हादसे में दर्जनभर बच्चे घायल हो गए। बताया जा रहा है कि बस के ब्रेक फेल होने के बावजूद भी चालक बस चलाता रहा, जिसकी वजह से हादसा हुआ। हादसे में बस में सवार दर्जनभर बच्चों को चोट आई, जिन्‍हें उपचार के लिए सरधना के ईश्वर नर्सिंग होम ले जाया गया। उपचार के बाद सभी बच्चों को उनके घरों को भेज दिया गया। हादसे की सूचना पर बच्चों के परिजनों में हड़कंप मच गया और परिजन नर्सिंग होम पहुंच गए। बस में सरधना के बपारसी व बागपत के सिरोरा गांव के बच्चे सवार थे।बता दें कि कुछ दिन पहले भी कदम पब्लिक स्कूल की बस दुघर्टनाग्रस्त हो गयी थी। उस हादसे में भी डेढ़ दर्जन बच्चे घायल हुए थे। बस में सवार बच्चों ने बताया कि बस के ब्रेक काफी देर पहले फेल हो गए थे। इसी वजह से बस गोटका इंटर कॉलेज के पास भी किसी दूसरी बस से टकराते-टकराते बच गयी थी। उस हादसे से भी बस का ड्राइवर नहीं माना और बस को इसी तरह चलाता रहा। घटना की जानकारी के बाद स्कूल के प्रबंधक संजीव चौधरी भी नर्सिंग होम पहुंचे और घायल बच्चों का हाल जाना।


जम्मू-कश्मीर के निर्माण का युग शुरू

अब राष्ट्रभक्त मुसलमानों को भी खुश होना चाहिए। 
जम्मू कश्मीर का अब तेजी से विकास होगा। आजादी का ख्वाब छोड़ दें नेता
पूरा देश जानना चाहता था कि 6 अगस्त की सुबह जम्मू कश्मीर के हालात कैसे हैं? इसे जानने की ललक को ध्यान में रखते हुए ही अधिकांश न्यूज चैनलों ने अपने संवाददाता नियुक्त कर दिए। सरकार ने भले ही यहां इंटरनेट सेवाएं बंद कर रखी हों, लेकिन सैटेलाइट के जरिए चैनलों पर लाइव प्रसारण हो रहा है। यदि कहीं कोई गड़बड़ी की आशंका होती तो सरकार कभी भी जम्मू कश्मीर से लाइव प्रसारण की इजाजत नहीं देती। यह माना कि अभी जम्मू कश्मीर खासकर कश्मीर घाटी में कफ्र्यू जैसे हालात हैं, लेकिन सरकार को भी कोई बड़ी गड़बड़ी की आशंका नहीं है। सवाल उठता है कि गड़बड़ी हो भी क्यों? केन्द्र सरकार ने अनुच्छेद  370 में बदलाव जम्मू कश्मीर की बेहतरी के लिए किया है। जिस तरह से कुछ स्वार्थी नेताओं ने अनुच्छेद 370 में राष्ट्रपति और विधानसभा के जरिए बदलाव किए उसी प्रकार अब केन्द्र सरकार ने राष्ट्रपति और संसद के माध्यम से बदलावों को बदल दिया। अब हर प्रावधनों के अंतर्गत कश्मीर के लोगों को भूखमारी ही मिली। अब्दुल्ला और मुफ्ती के खानदानों ने मजे किए। स्वयं के बच्चों को तो विदेश में पढ़ाया और कश्मीर के आम युवा के हाथ में बंदूक और पत्थर दे दिए। अब जम्मू कश्मीर के मुसलमानों का नहीं है, बल्कि देश के आम मुसलमानों का है। अनुच्छेद 370 के प्रावधानों की वजह से देशभर में साम्प्रदायिक तनाव हुए हैं। अब समय आ गया है, जब राष्ट्र भक्त मुसलमान सड़कों पर आकर खुशी मनाएं। 370 के प्रावधानों से देश के आम मुसलमान को क्या फायदा हो रहा था? उल्टे इन प्रावधानों की वजह से जम्मू कश्मीर पूरे देश से कटा हुआ था। अजमेर में रहने वाले मुसलमान भी धरती के स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में निवास कर सकते हैं। देश का कोई राष्ट्रभक्त मुसलमान नहीं चाहेगा कि जम्मू कश्मीर भारत से अलग हो जाए। केन्द्र सरकार ने 370 को बदल कर जम्मू कश्मीर को भारत में बनाए रखने की कवायद की है। अब तक अब्दुल्ला, मुफ्ती के परिवार और कांग्रेस 370 को लेकर डराते रहे। ऐसा माहौल बनाया गया कि 370 को बदलने पर विचार भी किया गया तो देश में आग लग जाएगी। लेकिन पूरा देश देख रहा है कि पांच अगस्त से ही देश में जश्न का माहौल है। अब इस जश्र में मुसलमानों को भी शामिल होना चाहिए। जो नेता अब कश्मीर की आजादी का ख्वाब देख रहे थे, उन्हें ताजा घटनाक्रम से सबक लेना चाहिए। दरअसल कांग्रेस के 55 वर्षों के शासन में केन्द्र में कमजोर सरकारें रहीं। तुष्टिकरण की वजह से केन्द्र की सरकार अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवारों के सामने झुकती रहीं। लेकिन अब केन्द्र में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में मजबूत सरकार है। इसमें कोई दो राय नहीं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमितशाह ने बोल्ड फैसला किया है। 
एस.पी.मित्तल


पाक ने कहा,हम जंग के लिए तैयार

पीओके पर भारत के बयान के बाद पाकिस्तान ने कहा-हम जंग के लिए तैयार हैं। 
अमितशाह के बयान से बौखलाया पाकिस्तान।
नई दिल्ली। 6 अगस्त को लोकसभा में केन्द्र गृहमंत्री अमितशाह ने साफ कहा कि अनुच्छेद 370 में बदलाव का प्रभाव पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर भी पड़ेगा। शाह जब लोकसभा में प्रस्ताव पेश कर रहे थे, तब कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सवाल उठाया कि क्या इस बदलाव का असर पीओके पर भी पड़ेगा? शाह ने तुरंत कहा कि जब मैं जम्मू कश्मीर में 370 के प्रावधानों का उल्लेख कर रहा हूँ।तब पीओके और अक्साई चिन का क्षेत्र भी शामिल है। यानि जो बदलाव हमारे जम्मू कश्मीर में होंगे वो ही बदलाव पीओके में भी होंगे हम पीओके को भारत का अभिन्न मानते हैं। भारत की इस दो टूक बात से पाकिस्तान बूरी तरह बौखला गया। अमितशाह के बयान के बाद पाकिस्तान के मंत्री फव्वाद हुसैन ने कहा कि ताजा हालातों में पाकिस्तान जंग के लिए तैयार है। फव्वाद हुसैन का बयान कितना मायने रखता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा, लेकिन इतना जरूर है कि भारत ने अब पाक के कब्जे वाले कश्मीर को भी अपना घोषित कर दिया है। इसमें कोई दो राय नहीं कि भारत सरकार का यह निर्णय अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि अब तक सरकारें हमारे कश्मीर में ही उलझी हुई थी। लेकिन अब जब अनुच्छेद 370 में बदलाव कर हमारे कश्मीर की समस्या का समाधान एक झटके में कर दिया है, तब भारत की ओर से पाक के कब्जे वाले कश्मीर का मुद्दा उठा दिया है। जो पाकिस्तान कल तक हमारे कश्मीर को आजाद करवाने के लिए आतंकी घटनाएं करवा रहा था, आज उसी पाकिस्तान को अपने कब्जे वाले कश्मीर को बचाने के लिए जंग की आवश्यकता हो रही है। जहां तक भारत का सवाल है तो भारत ने 370 का ऑपरेशन शुरू करने से पहले ही पीओके पर गोले बरसा दिए थे। पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम के सात सदस्यों को भारत की सीमा में मार गिराया था। इससे पाकिस्तान को भी पता है कि इस बार भारत की तैयार पूरी है। 
एस.पी.मित्तल


उप-जिलाधिकारी ने अपनाया नया नियम

उत्तर प्रदेश सरकार का यह कैसा नियम सीधा बिल्डर से पीड़ितों को दिला दी आर्थिक दंड की राशि


सचिन विसौरिया


गाजियाबाद।भारत सिटी के द्वारा एकत्रित किए गए गंदे पानी में डूबने के कारण हुई 3 बच्चों की मौत के 1 महीने बाद जागे प्रशासन ने बिल्डर के द्वारा परिजनों  को ₹5 लाख की धनराशि दिलाई। उत्तर प्रदेश में पहली बार ऐसा देखा जा रहा है कि प्राइवेट बिल्डर की गलती को छुपाने के लिए सरकारी अधिकारी उसके साथ मिलकर पीड़ित को मदद दिलाने का काम कर रहे हैं। जबकि जानकारी करने पर क्षेत्रीय पटवारी ने बताया कि उपजिलाधिकारी द्वारा भारत सिटी बिल्डर पर जांच के दौरान मानकों में कमी को पाकर ₹5 लाख का आर्थिक जुर्माना लगाया था। जो पीड़ित को दिया गया है। जबकि नियमों के अनुसार अगर बिल्डर सोमपाल सिंह पर किसी प्रकार का जुर्माना लगाया गया है।तो वह डायरेक्ट पीड़ित को कैसे दिया जा सकता है? क्या नियमों की अवहेलना कर यह सारा कार्य किया गया है। स्थानीय विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा पीड़ित परिवार को भारत सिटी में एक-एक, फ्लैट व 20 - 20 लाख रुपए का मुआवजा मिलना चाहिए। बिल्डर्स सोमपाल सिंह पर 302 का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। जिससे भविष्य में क्षेत्र में और कोई बिल्डर इस तरह की लापरवाही कर मासूमों की जान से खेलने का प्रयास ना करें। मानकों को ताक पर रखकर अधिकारियों ने आपसी समझौता कर बिल्डर को परमिशन दी गई । इस पूरे मामले की जांच कर, भारत सिटी के बिल्डर व संबंधित अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जानी चाहिए। उपजिलाधिकारी प्रशांत तिवारी की इस कार्रवाई से यह बात तो स्पष्ट कि उन्होंने 3 बच्चों की जान की कीमत केवल ₹5 लाख लगाकर पीड़ितों पक्ष को दबाने का प्रयास किया।वहीं भारतीय किसान यूनियन(अ) के प्रदेश अध्यक्ष सचिन शर्मा कहा,यह कैसा न्याय किया गया है? उन्होंने ना तो बिल्डर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है, ना जल प्रबंधन का कोई उपाय किया है। कल जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर सोमपाल सिंह की गिरफ्तारी और सख्‍त कानूनी कार्यवाई की मांग करेंगे।


एंटीकरप्शन:क्लर्क को रिश्वत लेते पकड़ा


एंटी करप्शन की टीम ने बीएसए के सीनियर क्लर्क को रिश्वत लेते पकड़ा


कानपुर। सोमवार को एंटी करप्शन कानपुर की टीम ने बीएसए कार्यालय के वरिष्ठ सहायक को 20 हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ दबोच लिया। थाने में मुकदमा दर्ज कराने के साथ एंटी करप्शन टीम आरोपित को अपने साथ ले गई।


बीएसए कार्यालय में वरिष्ठ सहायक के पद पर जसीम अहमद फारुकी निवासी भोगनीपुर की तैनाती है। वह यहां कई वर्षों से तैनात हैं। बीएसए कार्यालय के प्रथम तल पर उसका कक्ष है। राजपुर के मथुरा जूनियर हाईस्कूल के प्रबंधक रतापुर सिकंदरा निवासी रामकृष्ण काफी समय से वेतन लेखाधिकारी से हस्ताक्षर प्रमाणित कराने के लिए कार्यालय के चक्कर लगा रहे थे।प्राथमिक व जूनियर विद्यालयों की मान्यता का काम देख रहे जसीम अहमद फारुकी से वह मिले तो उन्होंने 20 हजार रुपये की मांग की। रुपये न देने पर हस्ताक्षर प्रमाणित नहीं हुए तो रामकृष्ण ने एंटी करप्शन कानपुर से संपर्क किया। एंटी करप्शन टीम ने प्रारंभिक जांच की तो शिकायत सही मिली। इस पर जाल बिछाया गया।एंटी करप्शन के निरीक्षक शंभूनाथ तिवारी ने दरोगा ओमकार सिंह,  कांस्टेबल मधु यादव, अभिषेक त्रिपाठी, रामपाल व आशीष की टीम के साथ रामकृष्ण को केमिकल लगे 20 हजार रुपये देकर भेजा। रामकृष्ण ने बीएसए कार्यालय की प्रथम तल पर अपने कक्ष में मौजूद वरिष्ठ सहायक जसीम को रुपये दिए तो उसने ले लिए।


द.एशिया मे सबसे बड़ा हॉस्पिटैलिटी इवेंट

सफी मोहम्मद शफी


ग्रेटर नोएडा। इंडिया इंटरनेशनल हॉस्पिटैलिटी एक्सपो का दूसरा संस्करण दक्षिण एशिया में अब तक का सबसे बड़ा हॉस्पिटैलिटी इवेंट होगा। इसमें व्यापार चर्चाओं सम्मेलनों गैस्टॉनोमिक डेमोंसट्रेशन मास्टर क्लासेस अवॉर्ड्स नाइट आदि मुख्य रूप से शामिल होंगे। 4 दिन चलने वाला यह इवेंट ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर स्थित इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में 7 अगस्त से 10 अगस्त तक आयोजित किया जाएगा। इस बारे में इंडिया एक्सपो सेंटर एंड बोर्ड के चेयरमैन राकेश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि आईएफसीए अध्यक्ष शेफ मनजीत गिल आईसीएफ के अध्यक्ष शेफ देवेंद्र कुमार एफडीसीआई के अध्यक्ष सुनील सेठी फेयर प्रेसिडेंट हरी दादू और आईआईआईडी की दिल्ली शाखा के चेयरमैन हेमंत सूद की उपस्थिति में दिल्ली-एनसीआर में इस अनोखे इवेंट की घोषणा की। इस चार दिवसीय इवेंट में 28000 वर्ग मीटर के एग्जीबिशन स्पेस में फैला सबसे बड़ा एक्सपोजिशन होगा । इसमें 20,000 से ज्यादा व्यवसायिक आगंतुकों के शामिल होने की संभावना है। इससे आईएचआई 19 दक्षिण एशिया में सबसे बड़ा हॉस्पिटैलिटी एक्सपोजिशन बन गया है। इसने वियतनाम इंडोनेशिया पेरूअल सल्वाडोर,इक्वाडोर जैसे क्षेत्रों के उत्पादों और सेवाओं को प्रदर्शित करने वाले 650 प्रदर्शकों तक पहुंच बनाई है। उन्होंने बताया कि आईचाई 2019 दुनिया भर के कुख्यात वक्ताओं की उपस्थिति के साथ सबसे बड़े प्लेटफार्म में से एक बन गया है। पूर्वोत्तर में एमएसएमआई कंपनियों के मालिक मेक इन इंडिया पहल के तहत अपने कार्य को प्रदर्शित कर रहे हैं। वक्ताओं के तौर पर प्रमुख हॉस्पिटैलिटी पेशेवरों के साथ यह एक शानदार कॉन्फ्रेंस प्रोग्राम भी है क्योंकि भारत और विदेश से विश्वविख्यात शेफ़ द्वारा मास्टर क्लास प्रख्यात इतालवी वाइन परिचारक द्वारा वाइन परिचारक प्रशिक्षण हॉस्पिटैलिटी केंद्रित फैशन शो एवं फूड सेफ्टी पर एस एस एस ए आई एफएसएसएआई कॉन्क्लेज के साथ आईएचआई एक ऐसे बेहद प्रतिष्ठित हॉस्पिटैलिटी प्लेटफॉर्म की पेशकश करता है। जो इस के प्रतिभागियों के लिए प्रेरक एवं ज्ञानवर्धक सत्रों और विशेष नेटवर्किंग अवसरों से रूबरू कराता है।उन्होंने बताया कि यह 4 दिवसीय  इवेंट 45000 वर्ग किलोमीटर पर एक्सपोर्ट स्पेस में फैला सबसे बड़ा एक्सपोजिशन होगा । इसमें कॉन्फ्रेंस गैस्टॉनोमिक डेमोंसट्रेशन और हॉस्पिटैलिटी पेशेवरों के साथ-साथ हॉस्पिटैलिटी छात्रों दोनों के लिए भव्य स्पेस ने इसे दक्षिण पूर्व एशिया में अब तक का सबसे बड़ा हॉस्पिटलिटी एक्सपोजिशन बना दिया है। यह हॉस्पिटैलिटी रिटेल  फूड प्रोसेसिंग हाउसकीपिंग आर्किटेक्ट और डिजाइन प्रेमियों के लिए सबसे बड़ा खरीदारी केंद्र है। आईएचाई ने 650 दर्शकों तक अपनी पहुंच बढ़ाई है और यह वैश्विक स्पेशलिस्ट हॉस्पिटैलिटी उद्योग के श्रेष्ठ अनुभव को प्रदर्शित कर रहा है। और इसके दूसरे संस्करण में 25000 आगंतुकों के आने की संभावना है। इसका विजन हॉस्पिटैलिटी उद्योग को आर्थिक विकास के लिए उत्प्रेरक बनाना है।


5 किलो गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार

लखनऊ ।नाका थाना क्षेत्र में बैग में भरे भारी मात्रा में अवैध गांजा की तस्करी करने आये एक तस्कर को स्थानीय थाने की पुलिस ने मुखविर की सूचना पर गिरफ्तार कर लिया है तस्कर के पास से पुलिस को भारी मात्रा में लगभग पांच किलो अवैध गांजा वरामद हुआ है। पुलिस ने तस्कर को एनडीपीएस की धाराओं में कार्यवाही कर जेल भेज दिया है।
नाका थाना प्रभारी सुजीत कुमार दुबे ने जानकारी देते हुये बताया कि मंगलवार सुबह मुखविर से मिली सूचना पर ऐशबाग रेलवे स्टेशन के आगे मोड़ पर स्कुटी पर बैठा अपनी पीठ पर पिट्ठु बैग के साथ एक युवक को पकड़ा गया है जिसके बैग में लगभग पांच किलो अवैध माधक गांजा बरामद हुआ है। जिसकी तस्करी करने युवक क्षेत्र में आया था । बरामद गांजा की अंतरराष्ट्रीय मार्केट में पांच लाख रुपये कीमत है। पकड़े गए युवक ने पुलिस की पुछताछ में अपना परिचय रवि पांडेय पुत्र राजेश्वर पांडेय निवासी सेक्टर- डी, एलडीए कालोनी थाना कृष्णा नगर बताया है। पकड़े गए तस्कर ने पुलिस की कड़ी पुछताछ में बताया कि वह छत्तीसगढ़ से बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र है और बिहार प्रान्त से गांजा लाकर लखनऊ में सप्पलाई करता है। पकड़े गए तस्कर को एनडीपीएस एक्ट में कार्यवाही कर जेल भेज दिया गया है।


98 शिकायत,निस्तारण एक का भी नही

अरविंद सिंह राजावत


इटावा- चकरनगर। पूर्व निर्धारित कार्यक्रमानुसार तहसील दिवस का कार्यक्रम तहसील सभागार में उपजिलाधिकारी इंद्रजीत सिंह की अध्यक्षता में विधिवत संपन्न हुआ। जिसमें 98 प्रार्थना पत्र पोर्टल पर दर्ज कराए गए। जिनमें निस्तारण एक का भी नहीं हो सका।
जानकारी के अनुसार चकरनगर तहसील सभागार में पूर्व नियोजित कार्यक्रमानुसार तहसील दिवस का कार्यक्रम इंद्रजीत सिंह (आईएएस)उप जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। इस अवसर पर पुलिस क्षेत्राधिकारी चंद्रपाल सिंह ने भी कंधे से कंधा मिलाकर कार्यक्रम को गति प्रदान की। इस मौके पर करीब 98 प्रार्थना पत्र पोर्टल पर दर्ज किए गए। जिसमें निस्तारण एक का भी संभव नहीं हो सका। गढाकास्दा थाना भरेह से गाटा संख्या 117 का जमीनी विवाद से संबंधित प्रार्थना पत्र महिला के द्वारा दिया गया ।जिस पर विशेष संज्ञान लेते हुए पीठासीन अधिकारी ने त्वरित निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को आदेशित किया। इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी चकरनगर प्रमोद कुमार सिंह ने भी मौके पर उपस्थित रहकर डाइस पर कई प्रार्थना पत्रों पर गंभीर संज्ञान लिया और संबंधित पंचायत मंत्री आदि को संबंधित की जांच हेतु हिदायती आदेश देते हुए कहा कि किसी भी प्रार्थना पत्र पर कोई भी कोताही न बरती जाए ।प्रार्थना पत्रों पर स्थलीय निरीक्षण करते हुए मानक के अनुसार रिपोर्ट तथ्यपरक हो यदि कोई भी प्रार्थना पत्र दाता दोबारा से फिर आता है तो संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर समस्त थानों की पुलिस अधिकारी, तहसील के अधिकारी व कर्मचारी, खंड विकास कार्यालय से संबंधित कर्मचारी और अधिकारी भी मौके पर उपस्थित रहे।


रेलवे के भ्रष्टाचार की जांच होनी चाहिए

उत्तर मध्य रेलवे जोन में चीफ मेट्रन'मेट्रन' नर्सिंग सिस्टर की वीयरता सूची में व्याप्त भ्रष्टाचार


प्रयागराज । उत्तर मध्य रेलवे जोन के रेल प्रबंधक मण्डल झाँसी, आगरा, प्रयागराज और कानपुर आदि रेलवे मण्डल चिकित्सालयो में कार्यरत चीफ मेट्रन,मेट्रन नर्सिंग सिस्टर स्टाफ की वरीयता पदौन्नति सूची में पिछले दस वर्षों से भृष्ठाचार किया जा रहा है।
सूत्रों के अनुसार मुख्य केंद्र कार्मिक विभाग अधिकारी एव ओएस लम्बी रकम लेकर स्टाफ की पदौन्नति एव वरीयता को पिछले दस वर्षों से रेल कर्मचारियों को हानि पहुंचाई गयी है।इन कर्मचारियों ने स्वयं के माध्यम से एव यूनियन के माध्यम से डिवीजन एव मुख्यालय अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिया। लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नही की गयी।इसको रेलवे समाचार ने गम्भीरता से संज्ञान में लिया।उदहारण अनुसार श्रीमति सुबोध शुक्ला' रशिमसिंह'निशि प्रभा आदि का मामला काफी गम्भीर है। इसकी सतर्कता विभाग द्वारा जांच करवाएं जाने की आवाश्यकता है।


करंट से कई कांवड़िया झुलसे,दो की मौत

सोनभद्र (चोपन)। चोपन बैरियर स्थित महादेव सेवा समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा सोन नदी से जल भरकर के गोठानी शिव मंदिर तक कलश यात्रा का कार्यक्रम 5 अगस्त 2019 को रखा गया था। इसी कारण कांवरियों द्वारा सोन नदी से जल भरकर गोठानी मंदिर की तरफ रवाना हुए थे कि रास्ते में ही महलपुर तिराहा के पास कावरियों के साथ चल रहे टेलर में अचानक ही 11000 वोल्ट का बिजली का तार टच हो गया। जिस कारण मौके पर मौजूद सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष कांवरियों को जोरदार करंट का झटका लग गया। जिससे कि मौके पर अफरा तफरी मच गया। जिसमे करीब 2 दर्जन से अधिक महिलाएं, लड़किया और लड़के झुलस गए। जिन्हें स्थानीय लोगों के द्वारा तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन पहुंचाया गया।जिसमे आशा पत्नी रामचंद्र उम्र 40 वर्ष, संध्या पाण्डेय पुत्री सुरेंद्र पाण्डेय उम्र 18 वर्ष, निकिता पुत्री जगदीश उम्र 16 वर्ष, संगीता पत्नी हवलदार उम्र 26 वर्ष, काजल केसरी पुत्री जीतेंद्र केसरी उम्र 17 वर्ष ,मुन्नी देवी पत्नी सत्यनारायण उम्र 45 वर्ष, सरस्वती पुत्री कैलाश साहनी उम्र 15 वर्ष ,गीता पत्नी महेंद्र उम्र 45 वर्ष, महेंद्र केसरी पुत्र बाबूलाल उम्र 40 वर्ष, महक पुत्री उमेश उम्र 15 वर्ष ,रूपाली पुत्री राजेंद्र उम्र 15 वर्ष, अशोक कुमार पुत्र सोहनलाल उम्र 25 वर्ष ,दिव्यांश पुत्र प्रमोद उम्र 12 वर्ष, रीना पुत्री रामदुलार उम्र 15 वर्ष, पूजा पुत्री रमेश उम्र 16 वर्ष ,राजकुमारी पुत्री सोमेश्वर उम्र 14 वर्ष, मोहित गुप्ता पुत्र हरि नारायण उम्र 23 वर्ष का इलाज जारी था तथा रोजी पुत्री अज्ञात उम्र 12 वर्ष, राधिका पुत्री राजेश कनौजिया उम्र 14 वर्ष ,निशा पुत्री मयंक उम्र 17 वर्ष, रंजना पुत्री छबीला, नेहा पुत्री नरेश उम्र 15 वर्ष का प्राथमिकी इलाज के बाद कांवरियों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया वही खबर लिखे जाने तक जहां पर जानकारी हुई कि 2 कांवरियों की मौत हो चुकी है और लगभग दर्जनों अभी भी घायल है।


भालुओ का आतंक,ट्रेनिंग कैंप में दहशत

कांकेर । भालुओ के आतंक से पुलिस ट्रेंनिग कैम्प में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है।जिसके चलते पुलिस की ट्रेनिंग भी प्रभावित हुई है।वही आज भालुओ ने शौच जाने के लिए निकले एक जवान पर हमला कर दिया है।तथा घायल जवान को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।इसके अलावा जवानों को ट्रेनिग कैम्प से आवश्यक घूमने पर भी प्रतिबंध लगा दी है। जानकारी के मुताबिक उत्तर बस्तर जिले में स्थित जंगलवार ट्रेनिंग सेंटर में भालुओ ने डेरा जमा लिया है। ट्रेनिग कैम्प में भालुओ की आवाजाही के चलते जवान भी दहशत में है। बता दे कि प्रदेश के पुलिस महकमे में पदस्थ जवानों को मुठभेड़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए के जंगलवार ट्रेनिग दी जाती है। जिसके तहत जंगलो से घिरे इस ट्रेनिग सेंटर में जवानों की अलग -अलग टोलियो को जंगलो में भेज जाता है।यही नही बम डिफ्यूज करने की विधि भी जवानों को सिखाई जाती है।मगर कैम्प में भालुओ की आमद ने सब चौपट कर दी है।


मुठभेड़ में शामिल छह नक्सली गिरफ्तार

दन्तेवाड़ा । दक्षिण बस्तर पुलिस को आज बड़ी कामयाबी मिली है।पुलिस ने जंगल मे घेरा बन्दी कर 6 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।जिनसे पुलिस अब पूछताछ कर रही है।इसके साथ ही यह भी कयाश लगाए जा रहे है। पकड़े गए नक्सलियों से पुलिस को और भी अहम जानकारियां मिल सकेंगी।दरअसल आज डीआरजी और सीआरपीएफ जवानों के एक टीम मारडूम के जंगलों में सर्चिंग के लिए निकली थी।इसी दौरान पुलिस ने घेराबंदी कर जंगल से भाग रहे इन 6 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।वही पुलिस का दावा है कि ये सभी नक्सली हाल ही के दिनों में चिकपाल में हुए पुलिस नक्सली मुठभेड़ में शामिल थे।बता दे कि बस्तर में इन दिनों भारी बारिश के बीच भी पुलिस ने नक्सल विरोधी अभियान को तेज कर दिया है।जिससे नक्सली अब बैकफुट पर आ गये है।उसी का परिणाम है कि आज जंगल से 6 नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई है।


भाजपा में शामिल होंगे विधायक:हरियाणा

राणा ओबराय
टेकचंद शर्मा सहित दो और विधायक आज होंगे भाजपा में शामिल
चण्डीगढ़ । हरियाणा के ये तीन विधायक आज होंगे भाजपा में शामिल.हरियाणा में बीजेपी को लगातार मजबूती मिलती दिख रही है। आज तीन विधायक बीजेपी में शामिल होने वाले हैं। इनमें पृथला से बसपा विधायक टेकचंद शर्मा, समालखा से आजाद विधायक रविंदर मछरौली और फरीदाबाद NIT से इनेलो विधायक नगेंद्र भडाना आज दोपहर बाद भाजपा में शामिल होंगे।


जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक संसद में पेश

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक लोकसभा में पेश


नई दिल्ली । गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक को मंगलवार को लोकसभा में पेश किया। विधेयक पर चर्चा शुरू होते ही सदन में हंगामा शुरू हो गया। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नियम तोड़ने का आरोप लगाया। रंजन ने सरकार से यह स्पष्ट करने के लिए कहा कि संयुक्त राष्ट्र कश्मीर मसले की निगरानी कर सकता है कि नहीं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि शिमला समझौता, लाहौर घोषणापत्र में इसे कश्मीर को द्विपक्षीय मसला माना गया है। कांग्रेस नेता ने इसे सरकार का रुख स्पष्ट करने की मांग की। इस मामले पर गृहमंत्री की उनसे तीखी बहस हुई। गृहमंत्री ने कहा कि पीओके के लिए जान भी दे देंगे।


अलग-अलग सड़क हादसों में 16 की मौत

लामबगड़ में बस के ऊपर गिरा बोल्डर, सात की मौत


टिहरी-गढ़वाल ।आज का दिन उत्तराखंड के लिए हादसों का दिन के रूप में रहा। बदरीनाथ हाइवे पर यात्रियों की बस के ऊपर लामबगढ़ के पास प्रात: 9 बजे एक भारी-भरकम बोल्डर गिरने से बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिसमें 7 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। अभी तक 5 लोगों को बस से बाहर निकाला जा चुका है 8 लोग बस के अंदर फंसे हुए हैं।


इससे पहले सुबह-सुबह लमगांव टिहरी गढ़वाल में स्कूल बस बच्चों को स्कूल ले जाते समय दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जिससे 9 बच्चों की मौत हो गई थी।स्थानीय पुलिस प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम घटनास्थल लामबगड़ के पास रेस्क्यू में लगी हुई है। यह हादसा बदरीनाथ हाइवे पर लामबगड़ के पास तब हुआ, जब बस बद्रीनाथ से लौट रही थी। इसी दौरान लामबगड़ में पहाड़ी से एक विशालकाय बोल्डर आ गिरा और सीधा बस की छत पर गिरा, जिससे बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। मौके पर 7 यात्रियों की मौत हो गई और बाकी घायलों के लिए बचाव एवं राहत कार्य स्थानीय प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम द्वारा जारी है।


पीएम आवास योजना में बढ़ रहा भ्रष्टाचार

हितग्रहियों के खाते से राशि निकाल गायब हुआ आवास मित्र
मनोज कुमार
लखनपुर । वैसे तो एक आम व्यक्ति की मूलभूत जरूरतों में रोटी,कपड़ा और मकान प्रमुखता से गिने जाते हैं ।परंतु निचले तपके के लोगो के लिए आवास के संबंध में शासन द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री आवास योजना सुदूर ग्रामीण अंचलों में नाकाफी साबित हो रही है। जहां लोगों को इस योजना का पूर्ण लाभ नही मिल पा रहा है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री टी एस सिंहदेव एवं छेत्रिय विधायक डॉ प्रीतम राम के छेत्र जनपद लखनपुर अंतर्गत सुदूर ग्रामीण अंचल ग्राम तुंगा में आवास हितग्राहियों के प्रधानमंत्री आवास के राशि के गबन का मामला सामने आया है ।जहां आवास बनाने के नाम पर भोले भाले ग्रामीणों के खाते से बिना बताए राशि का गबन किया।आवास योजना की खुले आम धज्जियां उड़ाई गयी हैं।ग्राम के ही बोधो राम पिता ठेपा राम,अमरेश आत्मज बलि राम,मंगल आत्मज ठुररू सहित कई सारे ग्रामीणों ने सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि ग्राम में जबरदस्ती शासकीय कार्यवाही का भय दिखा,आवास का कार्य प्रारंभ तो कराया गया। परंतु घटिया निर्माण के बीच एक समय बाद हितग्राहियों के खाते मांगकर आवास के नाम पर खाते की राशि निकालकर गबन किया गया हैै। जहां इस बात की जानकारी हितग्राहियों को भी नही है ।आवास की राशि निकालकर आवास मित्र के द्वारा कार्य अधूरा छोड़ दिया गया जिसके बाद आवास मित्र राशि निकाल आज एक साल से ग्राम में नजर नही आया।ग्रामवासियों ने बताया कि आवास निर्माण के बीच न तो किसी अधिकारी ने इसकी सुध ली और न तो आवास मित्र के अलावा कोई कर्मचारी ही देखने आया।जैसे तैसे किये गए इस निर्माण कार्य में न तो गुणवत्ता का ध्यान रखा गया और न हितग्रहियों के हितों के बारे में सोंच गया।आज इन आवासों के हालत को देखकर ऐसा प्रतीत होता है। जैसे की केवल शासकीय खाना पूर्ति करने के लिए इन आवासों को अधूरा खड़ा कर दिया गया हैै। जो केवल हवा महल की भांति नजर आते हैं।इन आवासों में न तो छत सही से बनी हुई है और न ही दीवारें।इन आवासों का हाल अब केवल एक खंडहर के अलावा कुछ नजर नही आता।ग्रामवासियों ने बताया कि आवास निर्माण से पूर्व उन्हें आवास मित्र के द्वारा यह धमकी भी दी गयी कि अगर आवास समय सीमा में पूर्ण नही कराया गया तो उनके खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराया जाकर उन्हें न्यायालय के चक्कर काटने होंगेे। जिससे भय के चक्कर मे जल्द से जल्द आवास निर्माण कराते जाने लोगो ने शासन के माध्यम से आवास बनवाना ही उचित समझा बावजूद इसके आज इन आवासों की हालत बद से बदतर दिखाई देती है।इन आवास हितग्रहियों को भय दिखा इनके आवास के खातों से राशि का गबन किया गया जहां आज तक इन हितग्रहियों का आवास अधूरा है जिसके बाद आवास हितग्राही अपने अपने आवास पूर्ण कराने शासन से गुहार लगाने मजबूर हैं।लखनपुर छेत्रन्तर्गत कई सारे ऐसे ग्राम है जहां आवास के नाम पर केवल मजाक किया गया है और लोग आज आंसू बहाने मजबूर हैं। अब एक बड़ा सवाल है कि आखिर कब तक अधिकारियों कर्मचारियों की शासकीय योजनाओं के प्रति उदासीनता का परिणाम भोले भाले ग्रामीणों को भुगतना होगा, कब तक ऐसे ही शासकीय योजनाओं के नाम पर ग्रामीण ठगे जाते रहेंगे।बावजूद इसके अब आवास मित्र के द्वारा राशि गबन करने के बाद आवास मित्र को कार्य से पृथक कर दिया गया है जिसके बाद अब लोगो के आवास धरे के धरे रह गए हैं और लोग अपने अपने आवास पूर्ण होने की बाट जोह रहे हैं।एक ओर जहां लोगो को आवास के संबंध में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है तो वही अधिकारियों कर्मचारियों को इन सभी बातों से कोई सरोकार नही है जिसके बाद ये अधिकारी कर्मचारी अपनी ही दुनिया मे मशरूफ नजर आते हैं।ग्रामीणों को हो रही दिक्कतों से शासन के इन अधिकारी कर्मचारियों का दूर दूर तक कोई वास्ता नही है जिसके बाद लोगों के पास अब लकीर पीटने अलावा कुछ नही बचता।अधिकारियों के अलावा छेत्र के विधायक भी कभी इस छेत्र में योजनाओं की सुध लेते नजर नही आये ताकि लोग उनसे अपने सुख दुख का हाल बता सके।फिलहाल बरसात के इस मौसम में इन आवासों के पूर्ण नही होने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


थाना प्रभारी ने पेश की मिसाल:पुलिस

बुलन्दशहर। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर द्वारा भारी वर्षा में आमजन की मदद कर दिया मानवता का परिचय, कि '' पुलिस हमेशा आपके साथ है''आज काला आम, अंसारी रोड़ स्थित शर्मा इण्टर कॉलेज के सामने एक नीम का पेड भारी वर्षा होने के कारण गिर गया। जिसके नीचे खड़ी तीन ई-रिक्शा दब गयी तथा उनके चालक भी दब गये। सूचना मिलने पर तत्काल प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर श्रीमती अरूणा राय पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंची और स्वयं सरकारी गाड़ी से उतरकर अपने हमराहियों एवं राहगीरों के सहयोग से ई-रिक्शा चालको को पेड़ के नीचे से सकुशल निकाला गया। क्षतिग्रस्त हालत में तीनों ई-रिक्शा को भी निकाला गया, पेड़ को सड़क से हटवाया गया। जिससे मार्ग बाधित न हो। उसी समय प्रभारी निरीक्षक को दूसरी सूचना प्राप्त हुई कि साठा रोड़ भूतेश्वर मन्दिर की तरफ एक गाड़ी को किसी अज्ञात वाहन द्वारा टक्कर मार दी गयी है। इस सूचना पर भी तत्काल प्रभारी निरीक्षक पुलिस फोर्स को साथ लेकर मौके पर पहुंची।देखा कि एक गाड़ी क्षतिग्रस्त हालत में सड़क के बीच में खड़ी है जिससे मार्ग बाधित हो रहा था। प्रभारी निरीक्षक द्वारा स्वयं बारिश में ही गाड़ी से उतरकर अपने सहायक कर्मियों के सहयोग से सड़क के बीच खड़ी गाड़ी को धकेलकर सड़क किनारे किया गया। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर श्रीमती अरूणा राय के इस सराहनीय कार्य की प्रत्यक्षदर्शियों एवं जनमानस द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की जा रही है।


'प्रकाश उत्सव यात्रा' का भव्य स्वागत

शामली,झिंझाना। करनाल रोड स्थित बाबा बुड्ढा साहिब गुरुद्वारे पर सिख समुदाय ने "प्रकाशोत्सव यात्रा " के पंच प्यादों का जोरदार स्वागत किया ।
उत्तराखंड के हल्दौर से चलकर करनाल  जाने वाली प्रकाश उत्सव यात्रा के पंच प्यादों का स्थानीय गुरुद्वारे पर भव्य रूप से स्वागत किया गया। अनुयायियों ने सरोपे और फूल मालाओ से ग्रंथियों का जोरदार स्वागत किया ,और बाबा गुरु नानक देव का गुणगान किया । लगभग आधा घंटा तक चले स्वागत समारोह के बाद यह यात्रा करनाल की ओर रवाना हो गई । गुरुद्वारे में बडे लंगर का आयोजन भी किया गया ।
गौरतलब हो कि गुरु नानक देव जी के 550 वें प्रकाश दिवस को समर्पित "प्रकाशोत्सव यात्रा"  की शुरुआत बिजनौर जिले के गुरु नानक साहिब  हलदौर से 4 अगस्त 2019 को हुई थी । जो आज सोमवार को करनाल हाईवे पर गाड़ी वाला चौक के समीप स्थित गुरुद्वारे पर पहुंची । जहां पर पहले से ही भारी संख्या में मौजूद सिख समुदाय के लोगों ने "प्रकाशोत्सव यात्रा" का सरोपे डालकर तथा फूल  मालाओं से स्वागत किया । यह यात्रा हरियाणा - पंजाब के रास्ते 16 अगस्त 2019 को कर्नाटक के नानक झीरा साहिब बिंदर पहुंच कर सम्पन्न होगी।


अंतरराज्‍यीय ठगों को किया गिरफ्तार:रायपुर

रायपुर। छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल के नाम का उपयोग कर बीएससी नर्सिंग में प्रवेश दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के 2 शातिर आरोपियों को पुलिस ने बिहार के नवादा से गिरफ्तार कर लिया है।


मिली जानकारी के मुताबिक 16 जून को व्यापमं द्वारा बीएससी नर्सिंग प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसमें आरोपी हेमसागर सूना खुद को व्यापमं का डाटा इंट्री ऑपरेटर बताते हुए बीएससी नर्सिंग में प्रवेश दिलाने के नाम पर मोटी रकम लेने के बात की थी। जिसका एक ऑडियो आईबीसी 24 को मिला था जिसको व्यापमं के सलाहकार डॉ प्रदीप चौबे को सौंपा गया था।व्यापमं ने इसकी रिपोर्ट राखी थाने में दर्ज कराई थी। जांच के बाद पुलिस ने उन मोबाइल नंबरों की जांच की तो बिहार में उपयोग होना बताया गया। जिसके बाद पुलिस की एक टीम बिहार के नवादा रवाना होकर वहां से दोनों आरोपियों सीजन कुमार और संदीप उर्फ सोनू को गिरफ्तार कर रायपुर लाई है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 2 लैपटॉप, 2प्रिंटर और 4 नग मोबाइल जब्त किए हैं।गौरतलब है कि आरोपी संदीप उर्फ सोनू पूर्व में भी इसी तरह की धोखाधड़ी के आरोप में नवादा बिहार में जेल जा चुका है। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।


मूसलाधार बारिश: बस्ती में भरा पानी

मूसलाधार बारिश के कारण बस्ती में पानी घुसने से जनजीवन प्रभावित


कमल


कोरबा। शहर में आज सुबह से झमाझम हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से निचली बस्तियों में पानी घुसने से लोगों का जीना मुहाल हो गया है।कोरबा क्षेत्र के राममंदिर व बेलाकछार के मध्य निर्मित पुल के ऊपर तेज बहाव से पानी बस्ती में घुस गया है।और घर के भीतर व बाहर पानी ही पानी दिखाई पड़ रहा है।इसके अलावा अन्य निचली बस्तियों में भी पानी घुस गया है।और झमाझम बारिश की वजह से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है।मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि लगातार फिलहाल आधार बारिश होगी यदि इसी तरह बारिश होती रही तो लोगों की मुश्किलें और भी बढ़ सकती है।सुबह से हो रही मूसलाधार बारिश से लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।यहां तक कि पिछली बस्तियों के कई घर क्षतिग्रस्त भी हो गए हैं।हालांकि बांगो डैम को भरने में अभी काफी वक्त लगेगा।और बताया जाता है कि बांगो डैम के केचमेंट इलाके में पर्याप्त बारिश नहीं हो रही है जिसके चलते बांगो डैम में पानी तेजी से नहीं भर रहा है।तथा मौजूदा स्थिति में बांगो डैम में मात्र 50 फ़ीसदी ही पानी है।और अभी बांगो डैम को लबालब होने में लगभग लंबा वक्त लग सकता है।हालांकि केचमेंट इलाके में यदि 1 सप्ताह तक लगातार बारिश होगी तो डैम जल्दी ही भर जाएगा।जो विभाग के लिए अच्छी खबर रहेगी।केचमेंट इलाके में बारिश नहीं होने से डैम का जलस्तर नहीं भर रहा है।जो जल संसाधन विभाग के लिए बुरी खबर है।ज्ञात हो कि लंबे समय से ढंग की बारिश नहीं होनेे के कारण खेत सूखने लगे थे।लेकिन अब इस बारिश से खेती किसानी के काम में तेजी आएगा।क्योंकि किसानों के चेहरे खिल उठे हैं।हालांकि यह बारिश कोरबा जिले में ही झमाझम हो रही है।जबकि पड़ोसी जिले जांजगीर-चांपा में अच्छे से बारिश के आसार नही बन पाए है।


कोयले के अवैध कारोबार पर कप्तान सख्‍त

पुलिस के संरक्षण में चल रहा कबाड़ का गोरखधंधा,कटघोरा में फिर पकड़ाया ट्रक में लदा लाखों का कबाड़


कमलकांत सहाय


कोरबा,कटघोरा ।एक ओर जिला पुलिस कप्तान द्वारा कबाड़ व कोयले के अवैध कारोबार पर सख्ती से रोक लगाने के निर्देश सभी थाना-चौंकी प्रभारियों को दिए गए है।इसके विपरीत पुलिस प्रशासन के नाक के नीचे उनके ही वर्दीधारियों के संरक्षण में उक्त गोरखधंधा अप्रत्यक्ष रूप से पूरे शबाब पर संचालित हो रहा है।कटघोरा थाना क्षेत्र में भी पुलिस के साये में कबाड़ का धंधा जमकर फलफूल रहा है।बीते 5 अगस्त की रात लगभग 9 बजे आदतन कबाड़ी एवं जिलाबदर कटघोरा निवासी विजय गर्ग उर्फ बंटी के आवास सह गोदाम से कबाड़ लोड कर खड़े ट्रक को मुखबीर की सूचना पर पुलिस ने पकड़ा।इस संबंध पर मिली जानकारी के अनुसार बीते 5 अगस्त की रात लगभग 9 बजे कटघोरा थाना क्षेत्र के कारखाना मोहल्ला वार्ड क्रमांक-15 में आदतन कबाड़ी विजय गर्ग उर्फ बंटी के गोदाम से भारी मात्रा में कबाड़ दसचकिया ट्रक क्रमांक CG-07 C 7590 में लोड कर रात के अंधेरे में अपने गंतव्य की ओर रवाना होने के लिए खड़ी थी।मामले की भनक स्थानीय मीडिया कर्मियों को लगी और उन्होंने इसकी सूचना कटघोरा पुलिस को दी।सूचना पश्चात मौके पर पहुँची पुलिस ने लोड ट्रक के ट्राला से तिरपाल हटाकर देखा तो उसमें लाखों का कबाड़ लोड मिला।पुलिस द्वारा वाहन समेत कबाड़ जब्त कर आगे की कार्यवाही की जा रही है।एक माह के अंतराल में दूसरी बार कबाड़ का पकड़ा जाना कटघोरा क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है जहाँ नगरवासियों द्वारा पुलिस की मिलीभगत को लेकर भी जमकर कयास लगाया जा रहा है।


बीते 4 जुलाई को पकड़ाए कबाड़ मामले में पुलिस ने की थी खानापूर्ति कार्यवाही
यहां पर यह बताना लाजिमी ना होगा कि गत 4 जुलाई की देर रात लगभग 12 बजे कारखाना एरिया के विजय गर्ग कबाड़ी के गोदाम से कबाड़ लोड कर एक 12 चक्का ट्रक क्रमांक CG O4 JC 4953 बिलासपुर मार्ग पर रवाना हुआ था।जहां पूर्व में भी मामले की भनक स्थानीय मीडिया कर्मियों को लगने पर ट्रक का पीछा किया।लेकिन चालक कबाड़ लोड ट्रक बांकीमोंगरा रोड पर घुमाकर दौड़ाते हुए लखनपुर स्थित पेट्रोल पंप के पास ले जाकर और वाहन खड़ी कर मौके से फरार हो गया था।सूचना पर पुलिस पहुँची तथा कबाड़ लोड ट्रक जब्त कर महज सुनियोजित रूप से खानापूर्ति स्वरूप कार्यवाही करते हुए चालक को आरोपी बनाया गया था।वहीं आदतन कबाड़ संचालक एवं जिलाबदर विजय गर्ग को क्लीन चिट दे दिया गया था।जबकि पूर्व में पकड़ाए गए कबाड़ मामले में विजय गर्ग का ही नाम सामने आया था।
ज्ञात हो कि विजय गर्ग उर्फ बंटी जो कबाड़ के काले कारोबार में लंबे समय से लिप्त है।उसके खिलाफ कटघोरा थाना में कई मामले भी दर्ज है और वर्तमान में दस्तावेजी तौर पर वह जिलाबदर है।दूसरी ओर अप्रत्यक्ष तौर पर क्षेत्र में ही सक्रिय रहकर और कटघोरा पुलिस के विशेष छत्रछाया में कबाड़ का कारोबार संचालित करते आ रहा है।अभी के मामले में भी पुलिस मुख्य आरोपी को बचाने के फिराक में नजर आ रही है।


मूकबधिर बच्‍ची:नाबालिगों ने किया गैंगरेप

मेरठ । उत्तर प्रदेश के मेरठ के कंकरखेड़ा क्षेत्र में हुई यह घटना समाज को शर्मसार कर देने वाली है। सगे भाई और पड़ोस में रहने वाले तीन किशोरों ने रविवार को सात साल की मूकबधिर बच्ची से गैंगरेप किया। मुंह दबाकर उसे जान से मारने की कोशिश की। बच्ची की हालत बिगड़ने पर आरोपी उसे छोड़कर भाग निकले। पुलिस ने चारों किशोरों को गिरफ्तार करते हुए उनके विरुद्ध गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।
पुलिस के अनुसार, घटना रविवार रात करीब नौ बजे की है। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र स्थित श्रद्धापुरी डबल स्टोरी में रहने वाले मजदूरों के परिवार के बच्चे खेल रहे थे। इस दौरान चार किशोर सात वर्षीय मूकबधिर बच्ची को एक खाली पड़े मकान में ले गए। आरोप है कि चारों किशोरों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। बच्ची ने शोर मचाया तो आरोपियों ने उसका मुंह बंद कर दिया। इससे वह अर्द्धबेहोशी हालत में हो गई। हालत बिगड़ते देख आरोपी उसे छोड़कर भाग निकले। पीड़ित बच्ची घर पहुंची। चूंकि वह बोल नहीं सकती, इसलिए उसने इशारे से बुआ को घटना की जानकारी दी। परिजनों ने इशारे से आरोपियों के बारे में पूछा तो बच्ची उन्हें पड़ोस वाले घर में ले गई।
परिजनों ने तीन किशोरों को पकड़ा तो उन्होंने बच्ची के भाई को भी शामिल होना बताया। बच्ची ने खुद इशारा करके अपने सगे भाई के शामिल होने की तस्दीक की। परिजनों ने चारों किशोरों को कंकरखेड़ा थाना पुलिस के हवाले कर दिया।इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्र ने बताया कि चारों किशोरों के विरुद्ध रेप का मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपी भाई की उम्र 12 साल है, जबकि अन्य तीन आरोपी 13-14 साल के हैं।


पर्यावरण संरक्षण में भागीदार बने:डीएम

कृष्णकांत राठौर


बूंदी। 'जल शक्ति अभियान के तहत जल एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए आयोजित गतिविधियों की श्रृंखला में सोमवार को हिण्डोली कस्बे के पाल बाग पर जिला स्तरीय वन महोत्सव का आयोजन किया गया। इसमें जिला प्रमुख सोनिया गुर्जर एवं जिला कलेक्टर रुक्मणि रियार ने स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर पौधारोपण किया। 
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में जिला कलेक्टर ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए अधिक से अधिक संख्या में पौधारोपण जरूरी है। उन्होंने कहा कि आम जन भी इस अभियान में सहभागी बने और अपने मोहल्ले एवं आसपास पौधारोपण करें। साथ ही अपने परिवार व रिश्तेदारों को भी वर्षा ऋतु में एक पौधा लगाने का संकल्प लेने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि हम सब को पर्यावरण संरक्षण के प्रति गंभीर होना होगा और अधिक से अधिक संख्या में पौधारोपण करना होगा, ताकि सूखे की समस्या को दूर किया जा सके।कार्यक्रम में जिला प्रमुख सोनिया गुर्जर ने भी जल एवं पर्यावरण संरक्षण में पौधारोपण की महत्ता पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में हिण्डोली प्रधान ममता गुर्जर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार, डीएफओ सतीश जैन, उपखण्ड अधिकारी मुकेश कुमार चौधरी,  तहसीलदार भावना सिंह , रेंजर विष्णु कुमार गुप्ता आदि मौजूद रहे।जिला कलेक्टर रुक्मणि रियार ने गुढाबांध का अवलोकन किया। उन्होंने बांध की भराव क्षमता व वर्तमान जल स्तर के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बांध के गेट एवं पाल का अवलोकन किया और बरसात के दौरान  आवश्यक रख रखाव के संबंध में निर्देश दिए। इस दौरान  उपखण्ड अधिकारी मुकेश कुमार चौधरी, तहसीलदार भावना साथ रहे।


पीएम आवास में बेपनाह भ्रष्टाचार

पीलीभीत । यूपी मे भ्रष्टाचार चरम पर है प्रधानमंत्री आवास के नाम पर हो रही है जमकर उगाही पूरनपुर नगर पालिका के वार्ड नम्बर 17और वार्ड नम्बर 4 मे गरीबो से आवास के नाम पर चालीस हजार से लेकर पचास हजार रुपये तक की अवैध बसूली हो रही है । देश मे गरीबों और जरूरतमंदो के लिये मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की कुछ लोगो के लिये दुधारू गाय की तरह बन गयी है। इस योजना के क्रियानव्यन में जुटे कुछ लोग पूरनपुर नगर पालिका मे बसे गरीबों को आवास देने के नाम पर खूव लूट खसोट और रिश्वतखोरी में लगे हुए है।पूरनपुर नगर पालिका के कुछ वार्डो मे दलाल गरीब बेसहारा लोगो से आवास दिलाने के नाम पर हजारो रूपये की रिश्वत ले रहे है। रूपये न देने पर आवास न आने की धमकी दे रहे है।


 


भीषण आग में 6 की मौत 11 घायल:दिल्ली


नई दिल्ली। दिल्ली के ओखला के जाकिर नगर में सोमवार देर रात भीषण आग लगने से छह लोगों की मौत हो गई और अन्य 10 घायल हुए हैं। घटना की जानकारी मिलने पर दमकल की पांच गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंची और आग पर काबू पाया।


जानकारी मिली है कि घटना में 11 लोगों जख्मी हो गए है, जिन्हें इलाज के लिए पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि आग लगने के कारणाें का अभी पता नहीं चल सका है। मामले में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है।अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार देर रात दो बजकर 32 मिनट पर हमें ओखला में चार मंजिला इमारत में आग लगने की जानकारी मिली। दमकल गाड़ियों को तुरन्त मौके पर भेज दिया गया था।


राम-जन्मभूमि:सहमति बनाने में रहे असफल

राम मंदिर मामले पर सुनवाई शुरू


नई दिल्ली । चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस बोबडे, जस्टिस चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नज़ीर कोर्ट में पहुंचे। निर्मोही अखाड़े की तरफ से सुशील कुमार जैन ने अपनी बात रखनी शुरू की।मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है। इस संवैधानिक पीठ में जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर भी शामिल हैं।
मध्यस्थता में नहीं बनी थी बात
अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि 6 अगस्त से सुनवाई होगी। साथ ही कोर्ट ने कहा कि मध्यस्थता कमेटी कामयाब नहीं हो पाई। मंदिर विवाद पर हिंदू और मुस्लिम पक्षों के बीच आम सहमति बनाने के लिए अयोध्या मध्यस्थता पैनल को 31 जुलाई तक का समय दिया गया था।
बीते गुरुवार यानी 1अगस्त को मध्यस्थता समिति ने सुप्रीम कोर्ट में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी थी और फिर शीर्ष कोर्ट ने बताया कि मध्यस्थता समिति के जरिये मामले का कोई हल नहीं निकाला जा सका है।मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने बंद कमरे में कहा, “विवाद को लेकर मध्यस्थता के लिए बनाई गई समिति किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाई है। इसलिए इस मामले पर 6 अगस्त से प्रतिदिन सुनवाई शुरू की जाएगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही कहा था कि अगर आपसी सहमति से कोई हल नहीं निकलता है तो मामले की रोजाना सुनवाई होगी।
इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 8 मार्च को पूर्व जज जस्टिस एफएम कलीफुल्ला की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की समिति गठित की थी। कोर्ट ने कहा था कि समिति आपसी समझौते से सर्वमान्य हल निकालने की कोशिश करे।इस समिति में आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पांचू शामिल थे। समिति ने बंद कमरे में संबंधित पक्षों से बात की लेकिन हिंदू पक्षकार गोपाल सिंह विशारद ने सुप्रीम कोर्ट के सामने निराशा व्यक्त करते हुए लगातार सुनवाई की गुहार लगाई। 155 दिन के विचार विमर्श के बाद मध्यस्थता समिति ने रिपोर्ट पेश की और कहा कि वह सहमति बनाने में सफल नहीं रही है।


बाढ:बरसात ने जनजीवन किया अस्त-व्यस्त

बड़ोदरा । एनडीआरएफ और वायुसेना राहत व बचाव कार्य में जुटी हैं।इस बीच सोमवार को वायुसेना ने मंगरोल शहर के लाहुरा और कोसाडी गांवों में बाढ़ में फंसे 13 लोगों को सुरक्षित बचा लिया। वायुसेना के हेलिकॉप्टर्स के जरिए इन लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया।


गुजरात में पिछले कुछ दिन से मॉनसून सक्रिय है। दक्षिण गुजरात और उत्तर गुजरात में भी जमकर बारिश हो रही है।अगले पांच दिन के लिए भी मौसम विभाग ने राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। जिससे हालात और भी बिगड़ने की आशंका जताई जा रही है। वडोदरा में भारी बारिश के कारण जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।कई जगहों पर जलजमाव की स्थिति है।इससे पहले भारी बारिश से वडोदरा में बाढ़ के हालात बन गए थे।पूरा शहर तालाब में तब्दील हो गया था।भारी बारिश और खराब मौसम की वजह से हवाई और रेलवे सेवा भी बाधित हो गई।अहमदाबाद में भी भारी बारिश के बाद जलभराव होने से लंबा जाम लगा। नाडिया में तेज बारिश से अंडरपास पानी में डूबने से यातायात ठप हो गया था।


बरसात ने खोली नगर पालिका की पोल

सुदर्शन प्रसाद 


गाजियाबाद,मुरादनगर। नगरपालिका क्षेत्र के नामी मोहल्ला गांधीकॉलोनी में बारिश का पानी घरों में घुस गया।सङकों पर जैसे बाढ ही आ गया हो। मोहल्ले के लोग घरों में अपने सामान को बचाते फिर रहे हैं इसी तरीके से ब्रह्मपुरी मोहल्ले में घरों में एक 1 फीट पानी घुस गया है।शंकर विहार में इससे भी बदतर हालात हैं। अन्य सभी मोहल्ले का यही हाल हो रखा है ।यह नगरपालिका का कर्तव्य हीनता दिखाता है । नगर पालिका के चेयरमैन एवं अधिकारी गण हमेशा दावे करते रहते हैं कि यहां पर पानी की निकासी की पूरी सुचारू व्यवस्था की हुई है ।लेकिन न तो सीवर की सफाई है ना ही पानी निकलने की कोई व्यवस्था दिखाई दे रही है। चारों तरफ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है जैसे कहीं से बाढ़ मुरादनगर नगरपालिका क्षेत्र में आ गया हो। मुरादनगर नगरपालिका के सारे दावे फुस्स हो गए हैं । प्रदेश सरकार से इनाम प्राप्त करने वाले मुरादनगर नगरपालिका का चेहरा बेनकाब हो गया है।मुरादनगर नगरपालिका क्षेत्र के लोगों में नगरपालिका के प्रति बहुत ही ज्यादा आक्रोश है।


अलर्ट:एजेंसियों ने जारी की एडवाइजरी

 धारा 370 के बाद टारगेट पर आई दिल्ली


नई दिल्ली। इंटेलिजेंस और सिक्यॉरिटी एजेंसियों ने दिल्ली में पुलिस को हाई अलर्ट कर दिया है। सोमवार को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद सिक्यॉरिटी अडवाइजरी जारी की गई। हालांकि, स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों को लेकर दिल्ली पुलिस पहले से ही अतिरिक्त चौकसी बरत रही थी। मगर, इस फैसले के बाद सुरक्षा के तगड़े बंदोबस्त किए गए हैं। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर दिल्ली पुलिसकर्मियों की छुट्टियां अगले आदेश तक रद्द कर दी गई हैं।
दिल्ली मेट्रो को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। एडवाइजरी सोमवार सुबह दिल्ली मेट्रो की तरफ से जारी की गई। इसमें कहा गया है कि पूरे दिल्ली-एनसीआर में चलने वाले मेट्रो नेटवर्क को रेड अलर्ट पर रखा गया है, ताकि किसी भी तरह की अनहोनी से बचा जा सके। मेट्रो में सफर करने वालों को अतिरिक्त चेकिंग से गुजरना होगा। यह अलर्ट खुफिया इनपुट के बाद किया गया है। सुरक्षा में अतिरिक्त बल, सिक्यॉरिटी गैजेट का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुरुग्राम के 200 से भी ज्यादा स्टेशनों से करीब 30 लाख यात्री रोज सफर करते हैं। इसके अलावा दिल्ली के सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। एयरपोर्ट को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है।
सिक्यॉरिटी इमरजेंसी को लेकर सोमवार शाम दिल्ली पुलिस हेडक्वॉर्टर में सभी बड़े अफसरों की हाई लेवल मीटिंग हुई। इसमें आतंकी खतरे को लेकर विशेष चौकसी, संदिग्धों पर पैनी निगरानी और सुरक्षा के सभी जरूरी कदम उठाए जाने को लेकर चर्चा हुई। खासकर सोशल मीडिया पर अफवाह और भड़काऊ मेसेज को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश हैं। आशंका है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा के फिदायीन हमलावर दिल्ली या एनसीआर में सुरक्षित ठिकाना बनाकर बड़ा हमला कर सकते हैं। पुलिस को मिले खुफिया इनपुट्स के मुताबिक आतंकियों के टॉप टारगेट पर दिल्ली है। कश्मीर के हालिया घटनाक्रम के बाद गड़बड़ी की आशंका ज्यादा है। लुटियन जोन, नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक पर घेरे बंदी बढ़ा दी गई है। लाल किला के आसपास भी पैरामिलिट्री फोर्स का सुरक्षा घेरा तैयार किया गया है। दिल्ली पुलिस के अडिशनल पीआरओ अनिल मित्तल ने बताया कि धारा 370 हटाए जाने के बाद पहले से और भी ज्यादा सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।


अटका धन वापस मिलेगा: धनु

राशिफल


1-मेष (Aries)-आज का दिन अच्छा रहेगा। आय में वृद्धि होगी। अपरिचित व्यक्ति पर अधिक भरोसा ना करे।अटका हुआ धन वापिस मिलेगा ।अपने बच्चों के भविष्य बारे सोचे।बुज्र्गॉ की सेवा करके अच्छा फल प्राप्त करें।अच्छी-खासी सेहत के लिये रोजाना व्यायाम जरुरी है।मेहनत करोगे तो सफलता अवश्य मिलेगी।


2-वृषराशि(tauras)- परिवार के साथ समय अच्छा गुजरेंगा।बच्चो के भविष्य बारे उचित सोचे।आज आपका कोई नजदीकी रिश्तेदार आपकी मदद करेगें।यात्रा का योग नहीँ बन रहा हैं।लड़ाई झगड़े से बचने की कोशिश करे।हमेशा सादा जीवन उच्च विचार अपनाये परिवार को विश्वास में रखने के लिये सावधानी बरतनी चाहिए।
3 -मिथुन राशि (gemini)-आपके विचार स्करातमकहो।नकारात्मक ना सोचे।आज गरीबों की मदद करके परमार्थ कमाइए।धार्मिक कार्यों मे रूचि बढाये।ब्च्चॉ के भविष्य पर गौर करें और उनकी पढाई पर विशेष ध्यान दें।आज यात्रा का योग सुभ होगा।मन में शान्ति के लिये मन्दिर में अवश्य जाये।सच्चाई का मार्ग अपनाए।


4-कर्क राशि ( cancer)-आज अचानक धनलाभ का योग है।कोई पुराना मित्र आपके कारोबार मे आपकी मदद करेगा।आपकी पुत्री के लिये अच्छा रिश्ता आएगा।माता पिता की सेवा करना आपका धर्म है इसे पूरी तरह से निभाए।आज कारोबार में धन लाभ होगा।
5सिंह राशि(leo)- आज कुछ ऐसा होगा जिससे आपको सफलता प्राप्त होगी।धनलाभ का योग है।अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।अपनो से बिना बात पर नाराजगी ठीक नहीं।।बुजुर्गो की सेवा करना आपका कर्तव्य है।दायित्व निभाए।
6कन्या राशि( virgo)-आज का दिन भाग्यशाली होगा।मनचाहा कार्य सफल होगा।अटका हुआ धन मिलने के योग हैं।अपने माता पिता की सेवा करना अपका फर्ज है।आपके पुत्र को सरकारी नौकरी मिलने का योग है।सुबह की सैर अवश्य करें।नियमितताअपनाए।


7-तुला राशि (libra)- किसी अनजान व्यक्ति से दुरी बनाएँ रखना उचित होगा।धनलाभ की प्राप्ति होगी।अपने व्यवसाय की सफलता के राज अपने निजी व्यक्ति को ही बताए।अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।रोजाना कसरत या व्यायाम करना जरुरी है।
8वृश्चिक राशि(scorpion)-आपका व्यवहार अन्य लोगों के लिये आदर्श साबित होगा।दूर स्थान की यात्रा लाभदायक सिद्ध होगी।आज पुराने मित्रों से मुलाकत अच्छी-खासी लाभकारी होगी।गरीब रिश्तेदारों की मदद अवश्य करें।
9धनु राशि(Sagittarius)- अधूरे कार्य पूरे करे।रिश्तेदारों से अच्छा व्यवहार करे कोशिश करें कि आप उन्हें नाराज ना करे।आज यात्रा टालना आपके लिए हितकारी होगा।धन लाभ का योग है। अचानक अटका हुआ धन वापस मिलेगा।
10मकर राशि(capricon)-आपका व्यवहार सबके साथ मीठा और सौहार्दपूर्ण होना चाहिये।रेगुलर स्वास्थ्य की जांच अति आवश्यक है डाक्टर की सलाह की पालना अवश्य करें।मेहनत करोगे तो सफलता अवश्य मिलेगी।सबको साथ लेकर चलने की आदत बनाये।
11कुम्भ राशि(Aquarius)-सबसे मीठा और अच्छा व्यवहार करे।धनलाभ का योग है।नया कार्य शुरू करने से पहले विचार विमर्श करे।परिवार के साथ अच्छा विजेट का प्रोग्राम बनाये।सादा जीवन उच्च विचार अपनाये अनुभवी व्यक्तियों की सलाह अनुसार कार्य करे।सेहत के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।
12-मीन राशि ( pisces)-अपने माता-पिता की सेवा करना अपका दायित्व है।अपने ब्च्चॉ के भविष्य बारे कदम उठायें।परिवार के बुजर्ग की अनुमति अनुसार कार्य करे।आपकी बेटी के लिये अच्छा वर योग है विवाह की तैयारियाँ शीघ्र करे।धनलाभ का योग है।माता पिता की सैर अवश्य करें ।


मोबाइल फोन के दुष्प्रभाव (विविध)

मोबाइल फ़ोन का विकिरण मानव स्वास्थ और वातावर्ण पर गहरा प्रभाव डालता है। संसार के अधिकतर लोग मोबाइल फ़ोन का उपयोग करते हैं, इसलिये मोबाइल फ़ोन का विकिरण,चर्चा का विष्य बन गया है। कुछ लोगो का मानना है कि मोबाइल फ़ोन जो विद्युत चुम्बकीय विकिरण का प्रयोग करता है, इसके कारण मानव जीव के स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचता है। 31मई 2011 मे विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मोबाइल फ़ोन को लंबे समय तक इसतेमाल करने से हानीकारक हो सकता है। वैज्ञानिको ने मोबाइल फ़ोन विकिरण को "मनुष्य के लिए संभवतः कासीनजन " नामक वर्गीकृत किया है। मोबाइल फ़ोन और कॉफी, दोनो संभवतः कासीनजन पदार्थो के साथ, वर्ग 2 बी मे श्रेणीकरण किया गया है। कुछ नये अध्ययनो से यह सूची मिली है की मोबाइल फोन के प्रयोग और मस्तिष्क और लार ग्रंथि के ट्यूमर के बीच संबंध पाया गया है। लेनार्त हार्देल और उस्के सहयोगियों के 2009मेटा विश्र्लेषण जो ग्यारह छात्र पे किया गया था, उसके अनुसार जो लोग मोबाइल फ़ोन को दस वर्ष से अधिक प्रयोग करेगा तो मस्तिष्क ट्यूमर का खतरा दोगुना हो जाता है।मोर्निगं साईद रिकवरी पुनर्वास केन्द्र के अनुसार अमेरिका मे लोग सोलाह घंटे की अवधि के दौरान 144 मिनट मोबाइल फ़ोन पर बिताते है। एक अनुमान के द्वारा मोबाइल फ़ोन का छ्ह बिलियन अनुमोदन दुनिया भर में किया गया है, जिस्से सेल फोन समाज में संचार के मौलिक साधन में से एक बन गया है। संघीय संचार आयोग (एफसीसी) के अनुसार मोबाइल फ़ोन के उप्योगकर्ताओं को न्यूनतम २० सेंटीमीटर की दूरी अपने हैंडसेट से रखना ज़रूरी है उस्से विकिरण का प्रभाव कम होता है।स्वास्थ्य के उपर पढ्ने वाले महत्वपूर्ण प्रभाव निम्न्लिखित या निचे दिया गया है।मोबाइल फ़ोन नकारात्मक भावनाओ को प्रभावित करता है: जब दो लोग एक दूसरे से बात करते है तब अगर एक व्यक्ति फ़ोन क उपयोग करता हो तो उस्से दूसरे व्यक्ति के नकारात्मक भावनाए उत्पन्न होती है। दो अनुसंधानो के अनुसार मोबाइल फ़ोन की उपस्थिति के कारण मनुष्य के रिश्तों में तनाव क स्तर बढता है। मोबाइल फ़ोन के उच्च आवृति के कारण स्तर तनाव पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने लगा है। लगातार फ़ोन बजने से, अलर्ट आने से, अनुस्मारक आने से फ़ोन के उपयोगकर्ता पर तनाव पड़ता है। एक अनुसन्धान के अनुसार उच्च मोबाइल फ़ोन क इस्तेमाल क संबंध सोने मे गड़बड़ी, तनाव, अवासाद के लक्षण दोनो पुरुष और महिला मे पाया जाता है। कुल मिलाकर, अत्यधिक मोबाइल फ़ोन के उपयोग से युवा पीढ़ी के मानसिक स्वास्थ्य पर खतरा हो सकता है।प्रतिरक्षा प्रणली में बीमारियो क खतरा बढ़ जाता है ! अपने मोबाइल फ़ोन को लगातार छूने से रोगाणु फ़ोन पर लगते ही रहते है। आप एक दिन के उपयोग के बाद अपने मोबाइल फ़ोन पर देख सकते है की जो चिकने, तेल अवशेषों दिखाई पढ़ते है उसकी तुलना उन कीटाणुओं की बिमारियो के जैसी है जो शौचालय की सीट पर पाई जाती है। एक अनुसन्धान से यह पता चला है की 92प्रतिशत मोबाइल फ़ोन पर कीटाणू जमा होते हैं । 82 प्रतिशत कीटाणू हमारे हातो में रहते है - इस्से मलीय पदार्थ एक फ़ोन से दूसरे फ़ोन में, एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित किया जा सकता है।मोबाइल फोन के बानाने मे कई हानिकाराक द्रव्यो का प्रायोग किया जाता है। मोबाइल फोन के बानाने मे प्रयोग किय गए द्राव्य है कैदमियाम, लिथियम, तांबा, सीसा, जस्ता और पारा, जो विषात्क माने जाते है। इन हानिकाराक पदार्थओ के घुलने से और मिट्टी के आंदर रीसने से मिट्टी प्रादुषित हो जाता है, इसके अलावा भूमी जल को भी जहरीला बाना देता है। सिर्फ मोबाइल फोनों के दंपिंग हि नही उनके उत्पादन से भि पर्यावरण पर कई नाकारात्मक प्रभाव होते है। नए मोबाइल फोनों के उत्पादन जलवायु परिवर्तन और ग्रीन हौस प्राभाव के लिए भी कराक होते है। मोबाइल फोनों के रिसैकिलिंग से लगभग नब्बे प्रतिषत तक ग्रिन हौस गैसेस को बाचाया जा सकता है।इसके अलावा मोबाइल फोन के प्रयोग से शरीर के कई अंगो मेइन दर्द का उत्त्पन्न हो सकता है। ई मैल एवं संदेशओं के उत्तर तीव्र गति से देने के कारण जोदों मे दर्द और सूजन का मेहसूस होता है। पीठ मे दर्द भी मोबाइल के अत्यंत प्रयोग के कारण ही होता है।मोबाइल को अधिक समय तक घूरने पर भी हमारे द्रुष्टि पर गलत प्रभाव होता है। उनके अधिकतर प्रयोग से आँखों पर तनाव बड जाता है। मोबाइल के स्क्रिन कंप्यूटर से कई गुना छोटे होते है और उन्हे देख्ने के लिये भेंगना पदता है, इस से आँखों मे तनाव और भि आधिक हो जाता है। आगे जाके इसी कारण से नेत्र संबंधित समस्यों लोगों मै उपस्तित होते है। मोबाइल का अत्यंन्त उप्योग से हमरे शरीर के मुद्रा मै भि परिवर्तण आ सकता है जिस से भि पीठ एवं गर्दन पर नाकारात्मक प्रभव पाये जा सकते है। हम यह भि देख सकते है कि मोटर दुर्गतनओं के प्रमुख कारण है मोबाइल फोन को घाडी चलाने के वक्थ उप्योग करना। कई देशों मे घाडी चलाते वक्थ फोने का उप्योग करना नियम विरुध माना जाता है।


बुध ग्रह का संक्षिप्त विवरण

बुध,सौरमंडल के आठ ग्रहों में सबसे छोटा और सूर्य से निकटतम है। इसका परिक्रमण काल लगभग 88 दिन है। पृथ्वी से देखने पर, यह अपनी कक्षा के ईर्दगिर्द 116 दिवसो में घूमता नजर आता है जो कि ग्रहों में सबसे तेज है।गर्मी बनाए रखने के लिहाज से इसका वायुमण्डल चूँकि करीब-करीब नगण्य है, बुध का भूपटल सभी ग्रहों की तुलना में तापमान का सर्वाधिक उतार-चढाव महसूस करता है, जो कि 100 K (−173 °C; −280 °F) रात्रि से लेकर भूमध्य रेखीय क्षेत्रों में दिन के समय 700 K (427 °C; 800 °F) तक है। वहीं ध्रुवों के तापमान स्थायी रूप से 180 K (−93 °C; −136 °F) के नीचे है। बुध के अक्ष का झुकाव सौरमंडल के अन्य किसी भी ग्रह से सबसे कम है (एक डीग्री का करीब 1⁄30), परंतु कक्षीय विकेन्द्रता सर्वाधिक है। बुध ग्रह अपसौर पर उपसौर की तुलना में सूर्य से करीब 1.5 गुना ज्यादा दूर होता है। बुध की धरती क्रेटरों से अटी पडी है तथा बिलकुल हमारे चन्द्रमा जैसी नजर आती है, जो इंगित करता है कि यह भूवैज्ञानिक रूप से अरबो वर्षों तक मृतप्राय रहा है।


कक्षीय विशेषताएँ
युग J2000
उपसौर
69,816,900 कि.मी
0.466 697 एयू
अपसौर
46,001,200 कि.मी
0.307 499 एयू
अर्ध मुख्य अक्ष
57,909,100 कि.मी
0.387 098 एयू
विकेन्द्रता
0.205 630[3]
परिक्रमण काल
87.969 1 d
(0.240 846 a)
0.5 मर्क्युरी सौर दिवस
संयुति काल
115.88 d
औसत परिक्रमण गति
47.87 km/s
औसत अनियमितता
174.796°
झुकाव
7.005° to इक्लिप्टिक
3.38° to सौर विषुवत रेखा
6.34° to सदा एक सा समतल 
आरोही ताख का रेखांश
48.331°
उपमन्द कोणांक
29.124°
उपग्रह
कोई नहीं
भौतिक विशेषताएँ
माध्य त्रिज्या
2,439.7 ± 1.0 कि.मी
0.3829 पृथ्वी
सपाटता
0
तल-क्षेत्रफल
7.48×107 कि.मी2
0.147 पृथ्वी
आयतन
6.083×1010 कि.मी3
0.056 पृथ्वी
द्रव्यमान
3.3022×1023 कि.ग्राg
0.055 पृथ्वी
माध्य घनत्व
5.427 ग्रा/सें.मी3
विषुवतीय सतह गुरुत्वाकर्षण
3.7 मी/से2
0.38 g
पलायन वेग
4.25 कि.मी/सें
नाक्षत्र घूर्णन 
काल
58.646 दिवस
1407.5 घंटा
विषुवतीय घूर्णन वेग
10.892 किमी/घंटा (3.026 मी/से)
कोणीय व्यास
4.5" – 13"
वायु-मंडल
सतह पर दाब
नाममात्र
संघटन
42% आण्विक ऑक्सीजन
29.0% सोडियम
22.0% हाईड्रोजन
6.0% हीलियम
0.5% पोटैशियम
आर्गन, नाइट्रोजन, कार्बन डाईआक्साइड, वाष्प, ज़ेनान, क्रिप्टान एवं नियॉन के नाममात्र
बुध को पृथ्वी जैसे अन्य ग्रहों के समान मौसमों का कोई भी अनुभव नहीं है। यह जकड़ा हुआ है इसलिए इसके घूर्णन की राह सौरमंडल में अद्वितीय है। किसी स्थिर खड़े सितारे के सापेक्ष देखने पर, यह हर दो कक्षीय प्रदक्षिणा के दरम्यान अपनी धूरी के ईर्दगिर्द ठीक तीन बार घूम लेता है। सूर्य की ओर से, किसी ऐसे फ्रेम ऑफ रिफरेंस में जो कक्षीय गति से घूमता है, देखने पर यह हरेक दो बुध वर्षों में मात्र एक बार घूमता नजर आता है। इस कारण बुध ग्रह पर कोई पर्यवेक्षक एक दिवस हरेक दो वर्षों का देखेगा।


बुध की कक्षा चुंकि पृथ्वी की कक्षा (शुक्र के भी) के भीतर स्थित है, यह पृथ्वी के आसमान में सुबह में या शाम को दिखाई दे सकता है, परंतु अर्धरात्रि को नहीं। पृथ्वी के सापेक्ष अपनी कक्षा पर सफर करते हुए यह शुक्र और हमारे चन्द्रमा की तरह कलाओं के सभी रुपों का प्रदर्शन करता है। हालांकि बुध ग्रह बहुत उज्जवल वस्तु जैसा दिख सकता है जब इसे पृथ्वी से देख जाए, सूर्य से इसकी निकटता शुक्र की तुलना में इसे देखना और अधिक कठिन बनाता है


शिव अवतार दुर्वासा एवं हनुमान

शिव जी के दुर्वासा अवतार की कथा
 नंदीश्वर जी कहते हैं, महामुनि अब तुम शंभू के एक दूसरे चरित को जिसमें शंकर जी धर्म के लिए दुर्वासा होकर प्रकट हुए थे।
 प्रेम पूर्वक सुनो।अनुसूया के पति ब्रह्मावेता तपस्वी अत्रि ने ब्रह्मा जी के दिशानिर्देश अनुसार पति-पत्नी रिघकूल पर्वत पर जाकर पुत्र कामना से घोर तप करने लगे। उनके तप से प्रसन्न होकर ब्रह्मा, विष्णु और महेश्वर तीनों उनके आश्रम पर गए। उन्होंने कहा कि हम तीनों संसार के ईश्वर है हमारे अंश से तुम्हारे 3 पुत्र होंगे। जो तीनों लोकों में विख्यात तथा माता-पिता का यश बढ़ाने वाले होंगे। यह कहकर वे चले गए। ब्रह्माजी के अंश से चंद्रमा हुए जो देवताओं के समुंद्र में डाले जाने पर समुद्र से प्रकट हुए थे। विष्णु के अंश से श्रेष्ठ सन्यास पद्धति को प्रचलित करने वाले दत्त पुत्र उत्पन्न हुए और रुद्र के अंश से मुनिवर दुर्वासा ने जन्म लिया । दुर्वासा ने महाराज अंबरीष की परीक्षा की थी।जब सुदर्शन चक्र ने उनका पीछा किया तब शिवजी के आदेश से अंबरीश के द्वारा प्रार्थना करने पर चक्र शांत हुआ। उन्हें भगवान राम की परीक्षा की, काल ने मुनि का वेश धारण करके श्री राम के साथ यह शर्त की थी कि मेरे साथ बात करते समय श्री राम के पास कोई ना आएगा, उसका निर्वासन कर दिया जाएगा । दुर्वासा जी ने हटकर के लक्ष्मण को भेजा तब श्री राम ने तुरंत लक्ष्मण का त्याग कर दिया। उन्होंने भगवान श्री कृष्ण की परीक्षा की और उनको रुकमणी सहित रथ मे जोता । इस प्रकार दुर्वासा मुनि ने अनेक विचित्र-विचित्र चरित्र किया है ।अब इसके बाद हनुमान जी का चरित्र सुनो हनुमत रूप से शिव जी ने बड़ी उत्तम भलाई की है। इसी रूप से महेश्वर ने भगवान राम का परम हित किया था। वह सारा चरित्र सब प्रकार के सुखों को दाता है। उसे तुम प्रेम पूर्वक सुनो। एक समय की बात है जब अत्यंत अद्भुत लीला करने वाले गुणसाली भगवान शंभू को विष्णु के मोहिनी रूप का दर्शन प्राप्त हुआ ।तब वे कामदेव के बाण से आहत हुए की तरह क्षुब्ध हुए, उस समय उन परमेश्वर ने राम कार्य की सिद्धि के लिए अपना वीर्यपात किया। तब सप्त ऋषि यों ने उस वीर्य को पत्रपटिका में स्थापित कर लिया। क्योंकि शिव जी ने ही राम कार्य के लिए आदर पूर्वक उनके मन में प्रेरणा की थी। तत्पश्चात उन्होंने शंभू के उस वीर्य को राम कार्य की सिद्धि के लिए गौतम कन्या अंजनी के कान के रास्ते स्थापित कर दिया। तब समय आने पर उसे शंभू महान बलवाना शरीर धारण करके उत्पन्न हुए । उनका नाम हनुमान रखा गया महाबली हनुमान जी थे। उसी समय उदय होते सूर्य को छोटा सा फल समझकर तुरंत ही निकल गए ।जब देवताओं ने उनकी प्रार्थना की तब उन्होंने उसे महान कर दिया ।सब देवो ने उन्हें शिव का अवतार माना और वरदान दिया हनुमान अत्यंत हर्षित होकर अपनी माता के पास गए और उन्होंने यह सारा वृत्तांत आदर पूर्वक सुनाया। फिर माता की आज्ञा से धीर-वीर हनुमान ने सूर्य के निकट जाकर उनसे अनायास ही सारी विधा सीख ली ।तदनंतर वे श्रेष्ठ हनुमान सूर्य की आज्ञा से सूर्य अंश से उत्पन्न हुए सुग्रीव के पास चले गए ।इसके लिए उन्हें अपनी माता से भी आज्ञा मिल चुकी थी। नंदीश्वर ने भगवान राम का संपूर्ण चरित्र वर्णन करके इस प्रकार कपि श्रेष्ठ हनुमान ने श्रीराम का कार्य पूरा किया ।नाना प्रकार की लीला की असुरों का मान-मर्दन किया। भूतल पर राम भक्ति की स्थापना की और स्वयं भक्तगण होकर सीताराम को सुख प्रदान किया। वे रूद्र अवतार ऐश्वर्या साली हनुमान लक्ष्मण के प्राण दाता, संपूर्ण देवताओं के गवहारी और भक्तों का उद्धार करने वाले हैं। वे सदा तीनो लोक में रहते हैं। रामदूत नाम से विख्यात है। दैत्यों के सघांरक और भक्तवत्सल है।


अधिकृत प्रकाशन विवरण

1.अंक-04(साल-01)
2.रविवार,7 अगस्‍त 2019
3.शक-1941,श्रावन शुक्‍लपक्ष सप्‍तमी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:45,सूर्यास्त 7:08
5.न्‍यूनतम तापमान 26 डी.सै.,अधिकतम-30 डी.सै. ,बरसात की सभांवना रहेगी!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार लोनी गाजियाबाद 201102


8. स्वामी प्रकाशक मुद्रक संपादक राधेश्याम के द्वारा प्रकाशित।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी गाजियाबाद 201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


5 मिनट के अंदर गोल करके कैडिज को जीत दिलाईं

मैड्रिड। कैडिज ने सेल्टा विगो को 2-1 से हराकर स्पेनिश फुटबॉल लीग ला लिगा में हार का क्रम तोड़कर वर्तमान सत्र में अपनी पहली जीत दर्ज की। एंथन...