गुरुवार, 15 सितंबर 2022

हिंदी बोलने से 'कंपकंपी' छूट जाती है: वित्तमंत्री 

हिंदी बोलने से 'कंपकंपी' छूट जाती है: वित्तमंत्री 

अकांशु उपाध्याय/कविता गर्ग 

नई दिल्ली/मुंबई। केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को कहा कि हिंदी बोलने से उन्हें “कंपकंपी” छूट जाती है और वह झिझक के साथ भाषा बोलती हैं। हिंदी विवेक पत्रिका द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में सीतारमण ने एक पूर्व वक्ता की घोषणा का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनका (सीतारमण का) संबोधन हिंदी में होगा। जिन परिस्थितियों के कारण यह स्थिति बनी उनका जिक्र करते हुए सीतारमण ने कहा, “हिंदी में लोगों को संबोधित करने से मुझे कंपकंपी होती है।” सीतारमण ने कहा कि वह तमिलनाडु में पैदा हुईं और हिंदी के खिलाफ आंदोलन के बीच कॉलेज में पढ़ीं तथा हिंदी के खिलाफ हिंसक विरोध भी देखा।

केंद्रीय कैबिनेट मंत्री ने दावा किया कि हिंदी या संस्कृत को दूसरी भाषा के रूप में चुनने वाले छात्रों, यहां तक कि मेधा सूची में आने वाले छात्रों को भी राज्य सरकार द्वारा उनकी पसंद की भाषा के कारण छात्रवृत्ति नहीं मिली। सीतारमण ने कहा कि वयस्क होने के बाद एक व्यक्ति के लिए एक नई भाषा सीखना मुश्किल है, लेकिन वह अपने पति की मातृभाषा तेलुगु सीख सकीं, लेकिन पिछली घटनाओं के कारण हिंदी नहीं सीख पाईं। उन्होंने स्वीकार किया , “मैं बेहद संकोच के साथ हिंदी बोलती हूं।” उन्होंने माना कि इससे वह जिस प्रवाह से बोल सकती थीं वह प्रभावित होता है। वित्त मंत्री ने हालांकि हिंदी में ही अपना भाषण दिया जो 35 मिनट से अधिक समय तक चला। सीतारमण ने कहा कि भारत पहले ही दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थान हासिल कर सकता था, लेकिन समाजवाद के आयातित दर्शन के चलते ऐसा नहीं हो सका जो केंद्रीकृत योजना पर निर्भर था।

उन्होंने 1991 की तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए आर्थिक सुधारों को “आधे-अधूरे सुधार” करार दिया, जहां अर्थव्यवस्था सही तरीके से नहीं बल्कि आईएमएफ द्वारा लगाई गई सख्ती के अनुसार खोली गई थी। उन्होंने का, ‘‘जब तक भाजपा के अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रधानमंत्री पद ग्रहण नहीं किया तब तक कोई प्रगति नहीं हुई और बुनियादी ढांचे के निर्माण, सड़कों और मोबाइल टेलीफोन पर उनके द्वारा दिये गये ध्यान ने हमें बहुत मदद की।’’

अभिनेता मल्होत्रा ने वर्कआउट वीडियो शेयर किया

अभिनेता मल्होत्रा ने वर्कआउट वीडियो शेयर किया 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा ने सोशल मीडिया पर अपना वर्कआउट वीडियो शेयर किया है। सिद्धार्थ मल्होत्रा इन दिनों अपनी आने वाली फिल्‍म 'योद्धा' को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। सिद्धार्थ फिल्म की शूटिंग के लिए मनाली पहुंचे हैं। इसी बीच सिद्धार्थ ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में सिद्धार्थ आसमान के नीचे, पेड़ों से घिरी सड़क पर साइकिल चलाते हुए नजर आ रहे हैं। वीडियो में सिद्धार्थ ग्रे कलर की जींस के साथ ब्लैक जैकेट में काफी डैशिंग लग रहे हैं। इस वीडियो को पोस्ट करते हुए सिद्धार्थ मल्होत्रा ने कैप्शन में लिखा, "क्योंकि एकमात्र खराब कसरत वही है, जो नहीं हुई।" सिद्धार्थ के इस वीडियो को फैंस काफी पसंद कर रहे हैं।

सभी पिछड़े राज्यों को विशेष स्टेट का दर्जा देंगे: सीएम 

सभी पिछड़े राज्यों को विशेष स्टेट का दर्जा देंगे: सीएम 

अकांशु उपाध्याय/अविनाश श्रीवास्तव 

नई दिल्ली/पटना। वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर अभी से ही सक्रिय हो चुके बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछड़े राज्यों को विशेष दर्जा देने के मुद्दे पर बात करते हुए कहा है कि केंद्र की सत्ता में आने पर देश के सभी पिछड़े राज्यों को विशेष स्टेट का दर्जा दिया जाएगा। बृहस्पतिवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया कर्मियों के साथ बातचीत करते हुए आपराधिक घटनाओं के अलावा देश के कई अन्य मुद्दों को लेकर भी चर्चा की। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने देश के पिछड़े राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर बात करते हुए कहा है कि केंद्र की सत्ता में आने के बाद सभी पिछड़े राज्यों को विशेष स्टेट का दर्जा दिया जाएगा।

इसमें ऐसा कोई कारण नहीं है कि ऐसा नहीं किया जा सकता है। सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि मैं विशेष राज्य के दर्जे की मांग हमेशा से करता रहा हूं और सरकार की तरफ से आगे भी करता रहूंगा। मैंने हर बैठक में यह बात कही है। उन्होंने कहा है कि यदि हमें सरकार बनाने का मौका मिला तो निश्चित तौर पर बिहार के अलावा देश के अन्य पिछड़े राज्यों को भी विशेष स्टेट का दर्जा दिया जाएगा।

शिखर बैठक में भाग लेने के लिए रवाना हुए 'पीएम'

शिखर बैठक में भाग लेने के लिए रवाना हुए 'पीएम'

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सदस्य देशों की शिखर बैठक में भाग लेने के लिए उज़्बेकिस्तान के समरकंद रवाना हो गए हैं। उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति के निमंत्रण पर पीएम मोदी एससीओ के राष्ट्राध्यक्षों की परिषद की बैठक में भाग लेने के लिए 15-16 सितंबर को समरकंद में होंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि शंघाई सहयोग संगठन के राष्ट्राध्यक्षों की परिषद की 22वीं बैठक में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समरकंद, उज्बेकिस्तान के लिए रवाना हुए।शंघाई शिखर सम्मेलन (एससीओ) में भाग लेने के लिए समरकंद रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने बृहस्पतिवार को बयान भी जारी किया था। जिसमें पीएम ने कहा कि वह समूह के अंदर मौजूदा मुद्दों, विस्तार और सहयोग को आगे बढ़ाने के बारे में विचारों के आदान-प्रदान को लेकर उत्सुक हैं।

प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और ईरानी नेता इब्राहिम रईसी सहित अन्य नेताओं के साथ एससीओ के वार्षिक शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री मोदी उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति शावकत मिर्जियोयेव के निमंत्रण पर वहां का दौरा कर रहे हैं। उज्बेकिस्तान एससीओ का मौजूदा अध्यक्ष है।

इन नेताओं से कर सकते हैं मुलाकात...
एससीओ समिट में पीएम मोदी रूस के राष्ट्र्पति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। इसके अलावा पीएम मोदी उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक और ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के साथ भी द्विपक्षीय बैठक करेंगे। पीएम मोदी की चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ किसी द्विपक्षीय बैठक या मुलाकात और पाकिस्तानी पीएम से मिलने पर अभी तक विदेश मंत्रालय ने कुछ नहीं कहा है।

पहली से 5वीं तक के लिए निशुल्क 'जलपान' योजना 

पहली से 5वीं तक के लिए निशुल्क 'जलपान' योजना 

विमलेश यादव 

मदुरै। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने बृहस्पतिवार को मदुरै में सरकारी प्राथमिक विद्यालयों के विद्यार्थियों (पहली से पांचवीं तक) के लिए निशुल्क जलपान योजना शुरू की। इस मौके पर उन्होंने खाना परोसा तथा बच्चों के साथ भोजन किया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए स्टालिन ने कहा कि यह योजना गरीब लोगों के जीवन में लाभकारी बदलाव लाएगी। उन्होंने इसे इतिहास में जगह बनाने वाली पहल करार दिया। 

अमेरिका और यूरोप में इस तरह की पहल का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि कई अध्ययनों का निष्कर्ष यह है कि इस तरह के जलपान कार्यक्रमों से सीखने के कौशल में सुधार हुआ और विद्यालय में विद्यार्थियों की उपस्थिति भी बढ़ी। उन्होंने कहा कि प्रतिष्ठित नेताओं, पेरियार ईवी रामासामी, सी एन अन्नादुरई और एम करुणानिधि का दृष्टिकोण था कि शिक्षा हासिल करने की राह में गरीबी और जाति समेत कोई भी बाधा नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे नेताओं की राह पर चलते हुए जब वह उनके सपनों को पूरा कर रहे हैं तो उन्हें असीम आनंद का अनुभव हो रहा है।

स्टालिन ने कहा कि वर्ष 1900 की शुरुआत में जब चेन्नई में कर्नल ऑल्कॉट विद्यालय स्थापित किया गया, तो समाज सुधारक पंडिथार अयोथी थसर ने विद्यार्थियों को दोपहर का भोजन उपलब्ध कराने की शुरूआत की थी। स्टालिन ने कहा कि पहली बार वर्ष 1922 में चेन्नई कॉर्पोरेशन स्कूल में जस्टिस पार्टी के दिग्गज नेता और महापौर पिट्टी थेगरयार ने मध्याह्न भोजन योजना शुरू की थी। थेरगयार द्रविड़ आंदोलन के अग्रदूत थे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-342, (वर्ष-05)

2. शुक्रवार, सितंबर 16, 2022

3. शक-1944, आश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 05:51, सूर्यास्त: 06:45। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...