शनिवार, 6 मई 2023

जनसामान्य की समस्याओं को सुना, निर्देश दिए 

जनसामान्य की समस्याओं को सुना, निर्देश दिए 


पुलिस कार्यालय में एसपी ने सुनी जनसुनवाई

कौशाम्बी। पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा प्रतिदिन की भांति पुलिस कार्यालय में जनतादर्शन में जनसुनवाई कर जनसामान्य की समस्याओं को सुना गया तथा सम्बन्धित को आवश्यक निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा पुलिस कार्यालय में जनसुनवाई की गई।

इस दौरान पुलिस कार्यालय में आने वाले फरियादियों जनसामान्य की समस्याओं को गंभीरता पूर्वक सुना गया तथा उनकी समस्याओं के समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के लिए सम्बन्धित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। जिसमें पुलिस अधीक्षक द्वारा प्राप्त शिकायतों के सम्बन्ध में मौके पर जाकर शिकायतों की तत्काल, निष्पक्ष जांच कर विधिक निस्तारण सुनिश्चित करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया तथा शिकायतकर्ता से समय-समय पर जनसामान्य की समस्याओं के निस्तारण के संबंध में फीडबैक लिये जाने सम्बन्धी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थानों को सचेत किया गया कि जनसुनवाई महिला हेल्पडेस्क को और अधिक प्रभावशाली बनाएं। ताकि पीड़ित/शिकायतकर्ता को अनावश्यक रुप से अपने थाने से इतनी दूर पुलिस कार्यालय आने की आवश्यकता न हो, साथ ही सभी प्रभारी निरीक्षक थानाध्यक्ष को यह भी निर्देश दिए गए कि जिस समस्या का समाधान थाना स्तर से हो सकता है। उनका समाधान थाना स्तर पर ही समयबद्ध, गुणवत्तापूर्ण निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर कराना सुनिश्चित करें।

राजकुमार 

डीएम ने गेम्स-2022 मशाल रैली को रवाना किया 

डीएम ने गेम्स-2022 मशाल रैली को रवाना किया 


डीएम ने खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 मशाल रैली को किया रवाना

जनपद में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं, कई खिलाडियों ने पदक जीतकर किया जनपद, प्रदेश एवं देश का नाम रौशन: डीएम

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने डायट मैदान से खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 मशाल रैली को रवाना किया। यह मशाल रैली डायट मैदान से प्रारम्भ होकर मंझनपुर चैराहा से ओसा होते हुए स्पोटर्स स्टेडियम, टेवा तक निकाली गई। मशाल रैली के माध्यम से खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 का प्रचार-प्रसार कर आमजन को जागरूक किया गया। मशाल रैली कार्यक्रम का समापन स्पोटर्स स्टेडियम, टेवा में किया गया, जिसमें विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर आमजन को खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 के प्रति जागरूक किया।

जिलाधिकारी ने कहा कि शासन द्वारा खेलों को बढावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गये है तथा युवाओं को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने जनपद के युवाओं से खेल-कूद प्रतियोगिताओं में बढ-चढकर प्रतिभाग करने का आवाह्न करते हुए कहा कि जनपद में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है। जनपद के कई खिलाडियों ने खेल प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए पदक जीतकर  जनपद, प्रदेश एवं देश का नाम रौशन किया है।

मुख्य विकास अधिकारी डाॅ. रवि किशोर त्रिवेदी ने समापन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा खेलों को अधिक से अधिक बढावा देने का कार्य किया जा रहा है, जिसके परिणामस्वरूप प्रत्येक स्तर पर यथा-विद्यालय, विश्वविद्यालय, जनपद स्तर एवं मण्डल स्तर आदि स्तरों पर खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खेल से स्वास्थ्य भी ठीक रहता है तथा बहुत से युवा खेल में अपना कैरियर बनाते है। उन्होंने बच्चों से कहा कि खेल के मैदान में जरूर जायें तथा जो बच्चें अच्छा खेल रहे है, वे खेल में अपना कैरियर भी बना सकतें है। इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश सिंह एवं जिला क्रीडाधिकारी रूस्तम खान(सेवानिवृत्त) सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहें।

बतादें कि मुख्यमंत्री द्वारा 05 मई 2023 को लखनऊ में खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 के एंथम, लोगो, जर्सी एवं शुभंकर का अनावरण तथा मशाल को प्रज्जवलित किया गया। उत्तर प्रदेश खेलों इण्डिया-यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 की मेजबानी कर रहा है। यह प्रतियोगिता प्रदेश के 04 शहरों-नोयडा,वाराणसी, लखनऊ एवं गोरखपुर में आयोजित की जा रही है। इस प्रतियोगिता में 200 विश्वविद्यालयों के छात्र-छात्राएं प्रतिभाग करेंगे।

सुशील केसरवानी 

अभियान: सुरक्षा बलों ने 1 आतंकी को मार गिराया

अभियान: सुरक्षा बलों ने 1 आतंकी को मार गिराया

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर/राजौरी। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के घने जंगली क्षेत्र में जारी अभियान के दौरान सुरक्षा बलों ने शनिवार को एक आतंकवादी को मार गिराया, जबकि अन्य आतंकवादी के घायल होने की संभावना है। सेना ने यह जानकारी दी। इस बीच, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती जिलों-राजौरी और पुंछ में सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया। राजौरी में जारी अभियान के दौरान शुक्रवार को आतंकवादियों द्वारा किए गए विस्फोट में सेना के पांच जवान शहीद हो गए और मेजर रैंक के एक अधिकारी घायल हो गये थे।

इस घटना के एक दिन बाद सेना ने ‘ऑपरेशन त्रिनेत्र’ शुरू किया। जम्मू में सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, ‘‘राजौरी सेक्टर के कांडी वन में जारी सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के संयुक्त अभियान में सुबह करीब सात बजे आतंकवादियों की घेराबंदी की गई।’’ उन्होंने बताया, ‘‘इसके बाद हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी को ढेर कर दिया गया और एक आतंकवादी संभवत: घायल हुआ है।’’ प्रवक्ता ने कहा कि मारे गए आतंकवादी के पास से एके-56 राइफल, चार मैगजीन, 56 गोलियां, नौ एमएम का एक पिस्तौल, उसके तीन मैगजीन और तीन ग्रेनेड बरामद किए गए।

उन्होंने कहा कि आतंकवादी की पहचान नहीं हो पाई है और फिलहाल यह भी पता नहीं चल सका है कि वह किस संगठन से जुड़ा था। प्रवक्ता ने बताया कि अभियान जारी है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े संगठन ‘पीपुल्स एंटी फासिस्ट फ्रंट’ (पीएएफएफ) ने शुक्रवार के हमले की जिम्मेदारी ली है। अधिकारियों ने कहा कि मारे गए आतंकवादी के शव को घटनास्थल से हटा दिया गया और उसका पोस्टमॉर्टम भी किया गया।

राजौरी और पुंछ जिलों में आतंकवादियों द्वारा अक्टूबर 2021 से लेकर अब तक किए गए आठ हमलों में 26 सैनिकों सहित कुल 35 लोगों की जान गई है। राजनाथ ने राजौरी जिले के कांडी वन क्षेत्र में शुक्रवार को सेना के आतंकवाद-विरोधी अभियान के दौरान आतंकवादियों द्वारा किए गए विस्फोट में पांच जवानों के शहीद होने के एक दिन बाद इलाके का दौरा किया।

अधिकारियों ने बताया कि राजनाथ कुछ देर जम्मू में रुके और फिर सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे व जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ राजौरी में ‘एस ऑफ स्पेड्स डिवीजन’ मुख्यालय पहुंचे। इस दौरान, उन्होंने आतंकवादियों के खिलाफ अभियान में शामिल सैनिकों से संवाद भी किया।

भ्रष्टाचारियों की पार्टी बन गई है भाजपा: सीएम 

भ्रष्टाचारियों की पार्टी बन गई है भाजपा: सीएम 

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को कहा कि भाजपा भ्रष्टाचारियों की पार्टी बन गई है। बघेल शनिवार को उत्तरी छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर के लिए रवाना होने से पहले रायपुर में स्वामी विवेकानंद विमानतल पर संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

जब बघेल से पूछा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उनके ‘बजरंगबली की जय’ बोलने से कांग्रेस को दिक़्क़त होती है, तो इसपर उन्होंने कहा 'किसी को भी 'बजरंगबली की जय' बोलने में कोई समस्या नहीं है।' बघेल ने कहा, “उनके (भाजपा) शासन के दौरान (छत्तीसगढ़ में) क्या उन्होंने कभी रामायण मंडलियों का आयोजन किया? क्या उन्होंने कौशल्या माता मंदिर का जीर्णोद्धार कराया?

शिवरीनारायण में भगवान राम की मूर्ति की स्थापना किसने की।” मुख्यमंत्री ने कहा, ” प्रधानमंत्री मोदी "40 फ़ीसदी कमीशन" के बारे में नहीं बोल रहे हैं। बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अडाणी के मुद्दे पर बात नहीं की है।

उन्होंने कहा, “एक उत्तर-पूर्वी राज्य (मणिपुर) जल रहा है, 12 में से 8 जिलों के लिए शूट-ऑन-साइट आदेश जारी किया गया है। उनकी डबल इंजन की सरकार है। मोदी जी इसके बारे में क्यों नहीं बोलते? ख़ुद के बारे बतायें, अपनी पार्टी के बारे में बताएं, भ्रष्ट लोगों की पार्टी बन गई है भारतीय जानता पार्टी।” 

7 मई को होने वाली परीक्षा नीट-यूजी स्थगित 

7 मई को होने वाली परीक्षा नीट-यूजी स्थगित 

इकबाल अंसारी 

इंफाल। मणिपुर में कानून-व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए सात मई को होने वाली मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी को स्थगित कर दिया गया है। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने शनिवार को यह घोषणा की। एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जिन उम्मीदवारों का परीक्षा केंद्र मणिपुर में है, उनके लिए नयी तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी।

इससे पहले दिन में, केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री राजकुमार रंजन सिंह ने एनटीए को मणिपुर में मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित करने के लिए पत्र लिखा था। मणिपुर में बहुसंख्यक मेइती समुदाय द्वारा उसे अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा दिए जाने की मांग के विरोध में ‘ऑल ट्राइबल स्टूडेंट यूनियन मणिपुर’ (एटीएसयूएम) की ओर से बुधवार को आयोजित ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के दौरान चुराचांदपुर जिले के तोरबंग क्षेत्र में हिंसा भड़क गई थी।

सिद्धरमैया को कड़ी टक्कर देने का फैसला: भाजपा 

सिद्धरमैया को कड़ी टक्कर देने का फैसला: भाजपा 

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु/मैसूर। कर्नाटक के मैसूर जिले के वरुणा निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा ने कांग्रेस के कद्दावर नेता सिद्धरमैया को उनके गृह क्षेत्र में कड़ी टक्कर देने का फैसला किया है। राज्य विधानसभा के लिए 10 मई को होने वाले चुनाव में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया के खिलाफ आवास मंत्री वी सोमन्ना को मैदान में उतारा है।

सिद्धरमैया अपना अंतिम चुनाव लड़ रहे हैं और 2018 के चुनाव में वरुणा निर्वाचन क्षेत्र में उनके पुत्र यतिंद्र सिद्धरमैया ने जीत दर्ज की थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने मैसूर जिले के चामुंडेश्वरी के साथ ही बागलकोट जिले के बादामी से चुनाव लड़ा था। वह चामुंडेश्वरी से पांच बार विधायक रहे, लेकिन वहां दो बार हार गए।

सिद्धरमैया चामुंडेश्वरी में जद (एस) के उम्मीदवार जी टी देवेगौड़ा से हार गए थे, लेकिन बादामी से भाजपा के बी श्रीरामुलु के खिलाफ 1,696 मतों के अंतर से जीत गए थे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ दिन पहले एक रैली में कहा, ‘‘हमने वरुणा से सोमन्ना को अपना उम्मीदवार बनाया है। आप (लोग) उन्हें विधायक बनाकर विधानसभा भेजिए। मैं आपको बता रहा हूं कि भाजपा उन्हें एक बड़ी शख्सियत बनाएगी।’’

संघ परिवार ने अपनी सारी ऊर्जा 72 वर्षीय सोमन्ना के पीछे लगा दी है, जो बेंगलुरु के गोविंदराज नगर से विधायक रह चुके हैं, जहां से उन्हें पहली बार बाहर भेजा गया है। पांच बार के विधायक सोमन्ना के अनुसार, वह इस बार चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं थे और सेवानिवृत्त होना चाहते थे, लेकिन भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें वरुणा और कामराजनगर क्षेत्रों से लड़ने के लिए कहा और वह उन्हें मना नहीं कर सके।

सोमन्ना ने कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री ने मुझे वरुणा से चुनाव लड़ने के लिए कहा तो मैं और क्या कह सकता था। मैं इसके लिए तैयार हो गया।’’ आठ बार के विधायक 75 वर्षीय सिद्धरमैया अपनी चुनावी संभावनाओं को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री के रूप में मैंने कई अच्छे कार्यक्रम दिए हैं। मैंने यहां लोगों के लिए बहुत काम किया है। यह मेरा आखिरी चुनाव है और इसके बाद मैं सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने जा रहा हूं।’’ यहां चुनावी मुकाबला इतना कड़ा है कि कई मतदाताओं ने कहा, ''हमने इससे पहले ऐसा चुनावी मुकाबला नहीं देखा।''

पक्के खालों का निर्माण कराने हेतु 462 करोड़ मंजूर 

पक्के खालों का निर्माण कराने हेतु 462 करोड़ मंजूर 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्‍थान सरकार ने गंगानगर एवं हनुमानगढ़ जिलों में पक्के खालों का निर्माण कराने के लिए 462 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। एक बयान में इसकी जानकारी दी गयी है। राज्‍य सरकार के बयान के अनुसार इसके तहत इन दोनों जिलों में एक लाख 32 हजार हेक्टेयर कमांड क्षेत्र में कार्य होंगे ज‍िन पर तीन साल में 462 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसके अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इन कार्यों के लिए वित्तीय मंजूरी दी है।

उक्त स्वीकृति के तहत वित्तीय वर्ष 2023-24 में 112 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इससे जलधाराएं एवं भूमिगत नालियों का कार्य शीघ्र हो सकेगा। इससे पानी की बचत होगी और खेतों को अधिक पानी मिलेगा। गहलोत द्वारा वर्ष 2023-24 के बजट में भाखड़ा सिंचाई परियोजना के मरम्मत कार्य को लेकर घोषणा की गई थी। एक अन्य फैसले के तहत राज्‍य में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए पांच नए छात्रावास खोलने की मंजूरी दी गई है।

इसके तहत दौसा के बहरावंडा में सावित्री बाई फुले अनुसूचित जाति बालिका छात्रावास, बीकानेर के दामोलाई, जोधपुर के ओसियां, जैसलमेर के फलसूंड, टोंक के उनियारा में डॉ. भीमराव अम्बेडकर अनुसूचित जाति बालक छात्रावास खुलेंगे। मुख्यमंत्री ने सभी छात्रावासों के संचालन के लिए छात्रावास अधीक्षक ग्रेड-2 के पांच पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है। प्रत्येक छात्रावास में 50 विद्यार्थियों की आवास क्षमता होगी। वहीं, जोधपुर में सुमेर पब्लिक लाईब्रेरी के नवीन भवन का निर्माण को मंजूरी दी गई है। इसमें 7.96 करोड़ रुपए की लागत आएगी। यह भवन आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। 

8 मई को हवा का कम दबाव बनने के आसार

8 मई को हवा का कम दबाव बनने के आसार

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर सोमवार (आठ मई) को हवा का कम दबाव बनने के आसार है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग ने बताया कि दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी और उसके आस-पास इलाकों में शनिवार को स्थानीय समयानुसार करीब साढ़े आठ बजे मध्यम क्षोभमंडल स्तर पर चक्रवातीय परिसंचरण बना।

इसके अलावा, आठ मई की सुबह को कुछ क्षेत्रों के ऊपर भी हवा का कम दबाव बनने का अनुमान जताया गया है और नौ मई के बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व के आसपास हवा का दबाव केंद्रित हो सकता है। आईएमडी ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के मध्य की ओर लगभग उत्तर की ओर बढ़ते हुए चक्रवाती तूफान में तीव्र होने के आसार हैं। इस बीच, मौसम अधिकारियों ने छोटे जहाजों, नावों, मछुआरों को अंडमान तट और बंगाल की मध्य खाड़ी सहित बंगाल की दक्षिण-पूर्व खाड़ी क्षेत्रों में सात मई से नौ मई तक समुद्र में नहीं उतरने की सलाह दी है।

उन्होंने बताया कि दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी और अंडमान के समुद्री क्षेत्रों में चक्रवातीय तूफान के अनुमान के कारण इस क्षेत्र में हवाओं की रफ्तार 40-50 किमी से बढ़कर 60 किमी तक पहुंच सकती है। इसके अलावा, अंडमान और निकोबार द्वीप तथा अंडमान के उत्तरी क्षेत्रों में आठ, नौ और 10 मई को चक्रवातीय हवाओं की रफ्तार 50-60 किमी से बढ़कर 70 किमी प्रति घंटा हो सकती है।

इसके अलावा, 10 मई को शुरुआत में 60-70 किमी तेज रफ्तार से हवाएं चलेंगी और उसके बाद यह बढ़कर 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं। मौसम विभाग ने बताया कि आठ से 12 मई के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप पर तूफानी हवाएं चलने और भारी बारिश होने का अनुमान जताया गया है। विभाग ने इस दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर पर्यटको को तथा नावों को समुद्र में न उतरने की सलाह दी है। 

कांग्रेस पर हिंदू आस्था का 'मजाक उड़ाने' का आरोप

कांग्रेस पर हिंदू आस्था का 'मजाक उड़ाने' का आरोप

संदीप मिश्र/इकबाल अंसारी 

लखनऊ/बेंगलुरु/कोप्पा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि बजरंग दल पर प्रतिबंध का प्रस्ताव कर उसने हिंदू आस्था का 'मजाक उड़ाने' का प्रयास किया है और बहुसंख्यक समुदाय इसे बर्दाश्त नहीं करेगा।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जो लोग ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ (एक भारत, महान भारत) को पसंद नहीं करते हैं, वे ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ (पीएफआई) जैसे ‘राष्ट्र-विरोधी’ संगठनों का समर्थन कर रहे हैं। आदित्यनाथ ने कर्नाटक के चिक्कमगलुरु जिले में यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश में राम की भूमि से हनुमान (कर्नाटक) की भूमि पर आए हैं। आदित्यनाथ गोरखनाथ मठ के प्रमुख भी हैं।

उन्होंने कहा कि दोनों राज्यों के बीच जुड़ाव इस तथ्य को रेखांकित करता है कि वे अभिन्न रूप से एक हैं और ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की अवधारणा को मूर्त रूप देते हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता ने कहा, “बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का मतलब है कि कांग्रेस हिंदू आस्था का मजाक बनाने की कोशिश कर रही है। हिंदू समुदाय इसे बर्दाश्त नहीं करेगा और इसे स्वीकार नहीं करेगा।” 

प्रचार: आज जनसभा को संबोधित करेंगी गांधी

प्रचार: आज जनसभा को संबोधित करेंगी गांधी

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए रविवार को यहां पहुंचेंगी। पार्टी ने यह जानकारी दी। कांग्रेस नेता मंजूनाथ भंडारी ने कहा कि प्रियंका मुल्की के कोलनाड मैदान में एक जनसभा को संबोधित करेंगी।

उन्होंने कहा कि इस जनसभा में मैंगलुरु उत्तर, मूडबिद्री और काउप निर्वाचन क्षेत्रों से लगभग 50 हजार लोग हिस्सा लेंगे। इस बीच, मैंगलुरु उत्तर से जनता दल (सेक्युलर) के उम्मीदवार मोहिउद्दीन बावा ने कहा कि कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी नेता एच डी कुमारस्वामी रविवार को कृष्णापुरा में पार्टी के एक सम्मेलन को संबोधित करेंगे। बावा ने कहा कि जद (एस) के नेता सी एम इब्राहिम और बी एम फारूक भी इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। 

सिब्बल ने पीएम की ‘चुप्पी’ पर सवाल उठाए 

सिब्बल ने पीएम की ‘चुप्पी’ पर सवाल उठाए 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राज्यसभा सदस्य कपिल सिब्बल ने भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘चुप्पी’ पर शनिवार को सवाल उठाए। सिब्बल ने पूछा कि क्या आरोपी उत्तर प्रदेश में चुनावों के लिहाज से इतना महत्वपूर्ण है कि जांच पूरी होने तक उसे पद से नहीं हटाया जा सकता है।

सिब्बल ने दिल्ली पुलिस द्वारा बृजभूषण के खिलाफ दर्ज मामलों में सात महिला पहलवानों के बयान दर्ज किए जाने के एक दिन बाद केंद्र सरकार पर निशाना साधा। दिल्ली पुलिस ने 28 अप्रैल को डब्ल्यूएफआई प्रमुख पर महिला पहलवानों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों के संबंध में दो प्राथमिकी दर्ज की थीं। वरिष्ठ अधिवक्ता सिब्बल उच्चतम न्यायालय में पहलवानों की तरफ से पेश हुये हैं ।

उन्होंने शनिवार को ट्वीट किया, “बृजभूषण; दो पहलवान पुलिस के पास : आरोप : श्वास परीक्षण के बहाने छुआ...मेरा सवाल : क्या वे (बृजभूषण) उत्तर प्रदेश में चुनावों के लिए इतने अहम हैं कि इन्हें जांच पूरी होने तक कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद से नहीं हटाया जा सकता।” पूर्व केंद्रीय मंत्री सिब्बल ने कहा, “आपके ‘बेटी बचाओ’ नारे का क्या हुआ? प्रधानमंत्री और गृह मंत्री चुप क्यों हैं?”

साक्षी मलिक और विनेश फोगाट सहित कई पहलवान यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे बृजभूषण शरण सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दे रहे हैं।

तेल रिफाइनरी को गुजरात ले जाना चाहिए: ठाकरे 

तेल रिफाइनरी को गुजरात ले जाना चाहिए: ठाकरे 

कविता गर्ग 

मुंबई/रत्नागिरी। शिवसेना (यूबीटी) के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा कि तटीय रत्नागिरी जिले के बारसू में प्रस्तावित तेल रिफाइनरी को गुजरात ले जाया जाना चाहिए और पड़ोसी राज्य से अच्छी निवेश परियोजनाएं महाराष्ट्र लाई जानी चाहिए। बारसू में ग्रामीणों से बातचीत में ठाकरे ने कहा कि सरकार को कोई भी परियोजना शुरू करने से पहले स्थानीय लोगों से बातचीत करनी चाहिए।

स्थानीय लोगों का एक वर्ग इस आधार पर रिफाइनरी का विरोध कर रहा है कि यह तटीय कोंकण क्षेत्र की संवेदनशील जैव विविधता पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगा और उनकी आजीविका को भी प्रभावित करेगा। ठाकरे ने कहा, “वेदांता-फॉक्सकॉन और टाटा-एयरबस परियोजनाएं जा चुकी हैं। इस परियोजना को गुजरात ले जाएं और अच्छी परियोजनाएं महाराष्ट्र में वापस लाएं।”

उन्होंने कहा कि जब वह मुख्यमंत्री थे तो समृद्धि राजमार्ग के निर्माण के दौरान इसी तरह के विरोध प्रदर्शन हुए थे। उन्होंने कहा, “लेकिन हमने प्रदर्शनकारियों से बात की। हमने विकास को बाधित किए बिना रास्ता निकाला।” ठाकरे ने इससे पहले बारसू-सोलगांव क्षेत्र में एक रैली आयोजित करने की योजना बनाई थी, लेकिन उन्हें अनुमति नहीं मिली थी। अधिकारियों ने कहा कि रिफाइनरी परियोजना के समर्थकों ने उसी समय आसपास के इलाकों में एक रैली भी आयोजित की है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-205, (वर्ष-06)

2. रविवार, मई 7, 2023

3. शक-1944, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 19 डी.सै., अधिकतम- 24+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा अखिलेश पांडेय  ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस...