रविवार, 18 अप्रैल 2021

ड्रैगन के साथ जंग की तैयारी तेज की: ऑस्ट्रेलिया

बीजिंग/ कैनबरा/ ताइपे। ऑस्‍ट्रेलिया की सेना ने अगले 5 साल में चीन के ताइवान पर हमला करने के खतरे को देखते हुए ड्रैगन के साथ जंग की तैयारी तेज कर दी है। सूत्रों के मुताबिक, ऑस्‍ट्रेलिया की सेना चीन के साथ जंग के लिए रणनीति बना रही है। सेना के अधिकारी उस स्थिति के लिए खुद को तैयार कर रहे है। जिसके तहत युद्ध होने की स्थिति में कोलिन्‍स श्रेणी के सबमरीन और सुपर हार्नेट फाइटर जेट को अमेरिकी सेना और अन्‍य साथी देशों की मदद के लिए ताइवान स्‍ट्रेट में भेजा जा सके। 

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक लगातार बढ़ते तनाव के बीच ऑस्‍ट्रेलिया और अन्‍य क्‍वॉड देशों-जापान, भारत और अमेरिका के ऊपर दबाव बढ़ रहा है कि वे चीनी ड्रैगन की सेना पर लगाम कसें। हाल के दिनों में चीनी सेना पूरे इलाके में बहुत आक्रामक हो गई है। उसने हॉन्‍ग कॉन्‍ग में लोकतंत्र समर्थकों और उइगरों को कुचल दिया है। अब यह डर सता रहा है कि चीन ताइवान पर अपनी सैन्‍य ताकत का प्रयोग कर सकता है ताकि राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के शासन काल में ताइवान का चीन के साथ एकीकरण किया जा सके। चीन ने इस सप्‍ताह ही अपने 25 फाइटर विमानों के बेड़े को ताइवान के इलाके में भेजा था। ऑस्‍ट्रेलिया के कूटनीतिक सूत्रों ने कहा, ‘कई घटनाक्रम हो रहे हैं और स्थितियों के लिए योजना बन रही है।’ उन्‍होंने इसका उद्देश्‍य यह दिखाना है कि हम प्रतिबद्धता में कोई कमी नहीं है। ताइवान और अमेरिका के बीच गहराते रक्षा संबंधों से चिढ़े चीन ने साउथ चाइना सी में अपने सैन्य अभियानों की तादाद को बढ़ा दिया है। लगभग हर दिन चीन के लड़ाकू विमान जानबूझकर ताइवानी वायुसीमा में घुसपैठ करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसा पहली बार हुआ है। 

जब ड्रैगन का मुखपत्र कहे जाने वाले ग्लोबल टाइम्स ने बताया है कि आखिर चीनी लड़ाकू विमान ताइवानी एयरस्पेस में बार-बार घुसपैठ क्यों करते हैं। ग्लोबल टाइम्स के चीफ एडिटर हू शीजिन ने बताया कि चीन का सैन्य अभियान दरअसल अमेरिकी विदेश विभाग और ताइवान के बीच संबंधों की गाइडलाइन का उल्लंघन के जवाब में किया जा रहा है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ताइवान और अमेरिका के बीच गहराते संबंधों को देखते हुए इलाके में सैन्य दबाव को और बढ़ाएगी। अगर ताइवान हमारे जहाजों पर फायरिंग करता है तो इसे पूर्ण युद्ध माना जाएगा और पूरा का पूरा ताइवाान स्ट्रेट हमारा होगा। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी गृह युद्ध के खत्म होने के सात दशक बाद भी ताइवान को अपनी जमीन का हिस्सा बताता है। यह बात अलग है कि ताइवान पर आजतक चीन का प्रत्यक्ष रूप से कभी शासन नहीं रहा है। चीनी सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारी कई बार ताइवान के ऊपर हमला करने की धमकी दे चुके हैं। पिछले साल के अंत में चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने यहां तक कहा था कि ताइवान की स्वतंत्रता का अर्थ ही जंग का ऐलान होगा।

ऑक्सीजन की सप्लाई में कमी, 12 मरीजों की मौत

भोपाल। मध्यप्रदेश के शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई का प्रेशर कम होने से 12 कोविड मरीजों की मौत हो गई, सभी आईसीयू में भर्ती थे। घटना रात 12 बजे की है। ऑक्सीजन कम होते ही मरीज तड़पने लगे। इसके बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया। ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था के लिए अफरा तफरी मच गई। मेडिकल प्रबंधन ऑक्सीजन की सप्लाई का प्रेशर बनाने के लिए सिलेंडरों की व्यवस्था में जुट गया। ऑक्सीजन की कमी वाले 12 मरीजों से पहले मेडिकल कॉलेज में ही कोरोना के 10 और मरीजों की मौत हो गई थी। इस तरह कुल 22 मरीजों की जान गई।ऑक्सीजन की कमी के बाद कई मरीजों को ऑक्सीजन मास्क हाथ से दबाना पड़ा। मरीजों को लग रहा था कि शायद सही तरह से दबाने से ऑक्सीजन आ जाए। मामले में पहले मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. मिलिंद शिरालकर ने 6 मौतों की पुष्टि की। इसके थोड़ी देर बाद ही अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा ने 12 मौतें होने की जानकारी दी। घटना के बाद मरीजों ने दिन में कमिश्नर राजीव शर्मा के दौरे पर भी सवाल उठाया। वे कोविड-19 सेंटर का निरीक्षण करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने साफ-सफाई और बाकी व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद करने की बात कही थी। निरीक्षण के दौरान उनके साथ मेडिकल के डीन के अलावा कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह, अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा समेत कई अधिकारी और चिकित्सक मौजूद थे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘अब शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से मौतों की बेहद दुखद खबर? भोपाल , इंदौर , उज्जैन , सागर , जबलपुर , खंडवा , खरगोन में ऑक्सीजन की कमी से मौतें होने के बाद भी सरकार नहीं जागी? आखिर कब तक प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से यूं ही मौतें होती रहेगी? उन्होंने कहा कि शिवराज आप कब तक ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर झूठे आंकड़े परोसकर, झूठ बोलते रहेंगे, जनता रूपी भगवान रोज दम तोड़ रही है? प्रदेश भर की यही स्थिति है। अधिकांश जगह ऑक्सीजन का भीषण संकट है? रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी यही स्थिति है। सिर्फ सरकार के बयानों और आंकड़ो में ही ऑक्सीजन और रेमउेसिविर उपलब्ध है। लेकिन यह अस्पतालों से गायब है? सरकार कागजी बैठकों से निकलकर मैदानी स्थिति सम्भाले, स्थिति बेहद विकट है। इससे पहले 15 अप्रैल को जबलपुर में लिक्विड प्लांट में आई खराबी के कारण ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 5 मरीजों की मौत हो गई थी। सभी वेंटिलेटर पर थे। वहीं 4 की हालत गंभीर हो गई थी। यहां के मेडिसिटी अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से वेंटिलेटर पर 82 वर्षीय महिला की तड़प-तड़प कर जान चली गई थी। वहीं 4 की मौत सुख-सागर मेडिकल कॉलेज में हुई थी। एमपी में 11,269 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 6,497 लोग रिकवर हुए और 66 की मौत हो गई। अब तक यहां 3.95 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3.27 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। 4,491 मरीजों की जान चली गई। 63,889 मरीजों का इलाज चल रहा है।

कोरोना से मौतों का आकड़ा प्रतिदिन 120 तक पहुंचा

रविशंकर गुप्ता         

लखनऊ। कोरोना संक्रमण काल में रोजाना यूपी में 27 हजार के करीब कोरोना पॉजिटिव केस मिलने शुरू हुए हैं और मौतों का आकड़ा प्रतिदिन 100 से लेकर 120 तक पहुंच चुका है। ऐसे में अगर आप यहां बीमार हुए तो आपको भगवान के सिवा अब कोई बचाने वाला नहीं है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते आकड़ों के आगे सरकार जहां बेबस है। वहीं सिस्टम परेशान है, हालात ये हैं, कि अस्पतालो में जरूरतमंदों को इलाज नहीं मिल पा रहा है। सरकारी अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। जो निजी अस्पतालो में इलाज मिल भी जा रहा है। उनके रेट इतने हाई है कि आम आदमी का इलाज करने से पहले ही दम निकल जाये। दूसरी ओर जैसे-जैसे संक्रमण का दायरा बढ़ता जा रहा है। वैसे-वैसे अब डॉक्टर भी भयभीत होने होने लगे हैं। लखनऊ में सभी सरकारी अस्पतालो से लेकर निजी अस्पतालों तक डॉक्टर व अन्य स्टाफ करीब 400 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं।

मुकाबला: बेंगलुरु ने कोलकाता को 38 रनों से हराया

चेन्नई। रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के 204 रनों के स्कोर की पीछा करने में कोलकाता नाकामयाब रही। 20-20 ओवरों के इस मुकाबले में बेंगलुरु ने कोलकाता को 38 रनों से हराकर मैच अपने नाम कर लिया। रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में रविवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 204 रन बनाये। रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के लिए ग्लेन मैक्सवेल ने 78 जबकि एबी डिविलियर्स ने नाबाद 76 रन बनाये।बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। बेंगलुरु की शुरुआत खराब रही। विराट पारी के दूसरे ही ओवर में स्पिनर वरुण चक्रवर्ती का शिकार बन गए। विराट ने छह गेंदों में पांच रन बनाये। वरुण ने इसी ओवर की आखिरी गेंद पर रजत पाटीदार को बोल्ड कर दिया। दो विकेट मात्र नौ रन पर गिर जाने के बावजूद मैक्सवेल ने आते ही मोर्चा संभाला और बॉउंड्री लगानी शुरू कर दी।

सड़क हादसे में 1 ही परिवार के 3 लोगों की मौत

आदर्श श्रीवास्तव        

लखीमपुर खीरी। लखीमपुर-सिकंदराबाद मार्ग पर थाना फरधान क्षेत्र में रविवार को कार ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में लखीमपुर शहर से वोट डालने जा रहे मां-बेटी सहित एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गयी। इससे परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने तीनों शव पोस्टमार्टम को भेजा है। लखीमपुर शहर के मोहल्ला शिवकालोनी निवासी कुलदीप अवस्थी थाना नीमगांव के गांव अपगावा के मूल निवासी हैं। 19 अप्रैल को मतदान है। इसलिए रविवार को वोट डालने के लिए उनकी पत्नी पारुल अवस्थी (45) अपनी पुत्री पीहू (3) और भतीजे दुर्गेश अवस्थी उर्फ अंकुर (23) के साथ गांव जा रही थी। बाइक दुर्गेश चला रहा था। वह हेलमेट पहने था। जबकि पारुल अवस्थी तीन साल की पुत्री को गोद मे लेकर बैठी थी।

कोरोना की दूसरी लहर, इस्तीफा दें मोदी सरकार

बैरकपुर। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोविड-19 की दूसरी लहर को संभाल नहीं पाने के कारण इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री संक्रमण के मामलों की संख्या रोकने के लिए योजना बनाने में विफल रहे। ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले पांच-छह महीने में मेडिकल ऑक्सीजन और टीकों की आपूर्ति के संभावित संकट पर ध्यान देने के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने आरोप लगाया कि अपने देश में टीकों की कमी के बावजूद प्रधानमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी छवि चमकाने के लिए दूसरे देशों को टीकों का निर्यात किया।

50 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने छोड़ी एनडीए की परीक्षा

संदीप मिश्र          

बरेली। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रविवार को राष्ट्रीय रक्षा अकादमी एवं नौसेना अकादमी की परीक्षा संपन्न कराई गई। कोरोना संक्रमण फैलने समेत अन्य कारणों से करीब 50 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। वैसे 12227 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी लेकिन परीक्षा देने के लिए पहली पाली सुबह 10 बजे वाली में 6140 परीक्षार्थी और दूसरी पाली दोपहर 2 बजे वाली में 6123 परीक्षार्थी उपस्थित रहे। कोविड नियमों का पालन कराने के साथ परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे और जैमर भी लगाए गए थे। शहर के 28 सेंटरों पर परीक्षा दो पालियों में संपन्न कराई गई। परीक्षा केंद्रों पर तलाशी लेने के बाद परीक्षार्थियों को कमरे में जाने दिया गया। लाकडाउन में परीक्षार्थियों और उनके अभिभावकों को परीक्षा सेंटर स्थल तक आने-जाने की छूट दी गई थी।

कोठी में महिला ने जबरन घुसने की कोशिश की

राणा ओबराय       
चंडीगढ। हरियाणा मेें चीफ सेक्रेटरी के पद पर तैनात विजय वर्धन से जुड़ा मामला सामने आया है। शनिवार को उनकी कोठी में एक महिला ने जबरन घुसने की कोशिश की। लेकिन मुस्तैदी दिखाते हुए सुरक्षाकर्मियों ने उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। जब महिला ने घर में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की तो सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की। इसके बाद महिला हंगामा करने लगी और सुरक्षाकर्मी को धक्का देकर मेन गेट से अंदर घुस गई। इसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने उसे कोठी के बाहर निकाला। बावजूद इसके महिला नहीं रुकी और उसने कोठी की दीवार फांद कर अंदर घुसने की कोशिश की। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची सेक्टर 26 थाना पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि वह हरियाणा के झज्जर की रहने वाली है लेकिन वह कोठी में क्यों घुसने की कोशिश कर रही थी,इसके बारे में उससे पूछताछ जारी है। बहरहाल पुलिस ने चीफ सेक्रेटरी विजय वर्धन की कोठी की सुरक्षा में तैनात हरियाणा पुलिस के कांस्टेबल पंकज कुमार की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

जिलें में व्हाट्स एप हेल्पलाइन सर्विस आरंभ की

अश्वनी उपाध्याय         

गाजियाबाद। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के जिला चैप्टर ने आज एक व्हाट्स एप हेल्पलाइन सर्विस आरंभ कर दी है। अब जिलें के निवासी 9999081239 नंबर पर व्हाट्स एप के माध्यम से कोविड संक्रमण से संबन्धित जानकारी ले सकेंगे। यह सेवा 9 बजे प्रातः से रात्रि 9:00 बजे तक कार्य करेगी। आईएमए के मीडिया प्रभारी डॉ. नवनीत वर्मा ने बताया कि मरीजों द्वारा भेजे गए संदेशों पर कार्यवाही करते हुए आईएमए के एक्सपर्ट उत्तर देंगे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा बृहस्पतिवार एवं रविवार सप्ताह में 2 दिन 3:00 से 4:00 से 1 घंटे के लिए जूम प्लेटफार्म पर आईएमए के दो विशेषज्ञ 1 घंटे के लिए उपलब्ध रहेंगे एवं जनसाधारण के सभी सवालों का जवाब देंगे। उन्होने बताया कि हम कोशिश कर रहे हैं कि प्राइवेट अस्पताल में जो भी कोविड सेवाएं दे रहे हैं। उनकी बेड स्थिति से आपको दिन में है। एक बार जरूर अवगत कराया जाए। अगर कहीं रेमदेसीविर इंजेक्शन की कमी हो रही है। उसके लिए प्रशासन से बात करके उपलब्धता के लिए कार्यवाही की जाएगी। ऑक्सीजन अगर कहीं खत्म हो रही है। उस पर भी कार्यवाही की जाएगी।  

श्रेय उपायुक्त राजेश को जाएगा, नियंत्रण किया

राणा ओबराय             
दादरी। हरियाणा में कोरोना के कारण हाहाकार मची हुई है। सभी जिलों में दिन प्रतिदिन केस बढ़ते जा रहे हैं।
इसके विपरीत चरखी दादरी एक ऐसा जिला है। जहां पर कोरोना केसों में कमी आयी है। इसका श्रेय सिर्फ और सिर्फ दादरी के उपायुक्त राजेश जोगपाल को जाता है। जब कोरोना बाबत भारतीय न्यूज/राष्ट्रीय ख़ोज के सम्पादक राणा ओबराय ने दादरी डीसी राजेश जोगपाल से बात की तो उन्होंने बताया कि मैने जिले में सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन को सख्ती से लागू किया हुआ है। जोगपाल ने बताया कि मैने जिले में कोरोना कर्फ्यू को सख्ती से लागू करवाने के लिए 2 अधिकारियों की ड्यूटी लगाई हुई है। उनका काम कोरोना नियमो को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्ती करना व जुर्माना वसूलना है। उन्होंने बताया इसलिए मेरे जिले में कोरोना केसों में कमी आई है। उन्होंने बताया कि जिले में आज तक 150477 लोगो के सेम्पल लिए गए। आज की ताजा स्तिथि के बारे में उन्होंने बताया कि 70289 लोगो को वैक्सीन लगवाई गयी हैं। इस समय जिले में 236 कोरोना एक्टिव केस है। जिनमें से सिर्फ 36 कोरोना रोगी हॉस्पिटल में उपचाराधीन है। इस रिपोर्ट से हमारा यह मानना है कि यदि सभी जिलों में प्रशासन दादरी डीसी राजेश जोगपाल की तरह सख्त रवैये अपनाए तो कोरोना को मात दी सकती है।

पुलिस उपनिरीक्षक ने चलाया वाहन जांच अभियान

कौशांबी। मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के समदा चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस उपनिरीक्षक लालचंद यादव के नेतृत्व में वाहन जांच अभियान चलाया गया है। इस दौरान उपनिरीक्षक ने बिना मास्क और बिना हेलमेट के दुपहिया वाहन चालकों के खिलाफ सघन चेकिंग की वाहनों के अभिलेखों को चेक किया गया। बिना मास्क बिना हेलमेट के निकल रहे लोगों के उपनिरीक्षक ने चालान काटे और जुर्माना वसूला यातायात पुलिस के इस अभियान से वाहन चालकों में हड़कंप मचा रहा।
बबलू मिश्रा 

हापुड़: अज्ञात महिला का शव मिलने से मचा हड़कंप

अतुल त्यागी       
हापुड़। सिंभावली थाना क्षेत्र के अंतर्गत अनूपशहर गंग नहर में गांव रजापुर झाल पर 35 वर्षीय अज्ञात महिला का शव मिलने से हड़कंप मचा। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को निकलवा कर कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम को भेज कर अग्रिम कार्यवाही करते हुए शिनाख्त का प्रयास शुरू कर दिया है। वहीं थाना प्रभारी राहुल चौधरी का कहना है कि शव कई दिन पुराना प्रतीत होता है और गंग नहर में पीछे से बहकर आया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है और शिनाख्त का प्रयास जारी है।

संभल: वायरस की चपेट में आएं 7 पुलिसकर्मी

हरिओम उपाध्याय    
संभल। कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप का असर संभल जिले के हयातनगर थाने पर पड़ा है। जिसे सात पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने के बाद 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया। संभल के पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने रविवार को बताया कि जिले के हयातनगर थाने के सात पुलिसकर्मियों की कोरोना वायरस संक्रमित होने की रिपोर्ट आई है। इसलिए संबंधित दिशानिर्देशों के अनुसार थाने को 48 घंटे के लिए बंद कर दियाउन्होंने बताया कि अभी कई पुलिसकर्मियों की जांच रिपोर्ट नहीं आई है। चक्रेश मिश्रा के अनुसार हयातनगर थाने के बंद रहने के दौरान उसका कामकाज सराय तरीन पुलिस चौकी से संचालित किया जाएगा। गया है।

चुनाव से पहले लोगों की जान बचाइएं: आप पार्टी

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते हुए उनसे ”चुनाव प्रबंधन छोड़ कर कोरोना प्रबंधन शुरू करने को कहा। आप नेता ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि जिस तेज गति से देश में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। उतनी ही तेज रफ्तार से भाजपा की चुनावी रैलियां भी बढ़ रही हैं।
आप विधायक ने कहा  देश में कोरोना वायरस संक्रमण से बिगड़ते हालात देखते हुए मैं चाहता हूं कि प्रधानमंत्री मोदी चुनाव प्रबंधन छोड़ कर कोरोना प्रबंधन शुरू करें। उन्होंने कहा चुनाव आएंगे और जाएंगे। कृपया करके पहले लोगों की जिंदगियां बचाइए।

यूपीपीएससी: चेयरमैन ने श्रीनेत के नाम पर मुहर लगाईं

हरिओम उपाध्याय        
लखनऊ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) के नए चेयरमैन के रूप में संजय श्रीनेत के नाम पर मुहर लगाई है। श्रीनेत 1993 बैच के आईआरएस अधिकारी हैं और इससे पूर्व वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) में नार्दन रीजन के स्पेशल डायरेक्टर के रूप में कार्यरत थे। इस दौरान उन्होंने 4000 करोड़ से अधिक की संपत्तियों को जब्त किया है, 100 करोड़ से ज्यादा कर चोरी और तस्करी के मामलों को पकड़ा है।संजय श्रीनेत की छवि दक्ष, निष्पक्ष, ईमानदार और कर्मठ अधिकारी के रूप में रही है, साथ-साथ उनकी कार्य को समयबद्ध सीमा में, वस्तुपरक दृष्टिकोण से करने का संस्थागत प्रयास करने की छवि है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष पद पर उनके चयन की संस्तुति राज्यपाल से की थी। संजय श्रीनेत ने अपनी शुरूआती पढ़ाई लखनऊ के काल्विन तालुकेदार कॉलेज से की है। इसके बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय और जेएनयू से पढ़ाई की है। उन्होंने प्रतिष्ठित नेशनल डिफेंस कॉलेज (एनडीसी) से एमफिल किया है। इसके बाद उनका चयन आईआरएस में हो गया। वह 2005 से 2009 तक प्रथम सचिव भारतीय उच्चायोग लंदन में कार्यरत थे। 2009 से 2014 तक डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस राजस्थान के प्रभारी रहे और 2015 से 2020 तक ईडी के नॉर्दन रीजन के विशेष निदेशक थे।

महामारी से मुकाबला, टीकाकरण को बढ़ाना महत्वपूर्ण

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने देश में कोविड-19 के हालात पर प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी को पत्र लिखा और इस बात पर जोर दिया है कि महामारी से मुकाबले के लिए टीकाकरण को बढ़ाना महत्वपूर्ण होगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि केवल कुल संख्या को नहीं देखना चाहिए बल्कि कितने प्रतिशत आबादी को टीका लग चुका है। इसे देखा जाना चाहिए।मनमोहन सिंह ने अपने पत्र में लिखा कि कोविड-19 के खिलाफ हमारी लड़ाई में टीकाकरण बढ़ाने के प्रयास अहम होने चाहिए। हमें यह देखने में दिलचस्पी नहीं रखनी चाहिए कि कितने लोगों को टीका लग चुका है। बल्कि आबादी के कितने प्रतिशत का टीकाकरण हो चुका है, यह महत्वपूर्ण है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में अभी केवल आबादी के छोटे से हिस्से का ही टीकाकरण हुआ है। उन्होंने विश्वास जताया कि सही नीति के साथ हम इस दिशा में बेहतर तरीके से और बहुत तेजी से बढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमें महामारी से लड़ने के लिए बहुत सी चीजें करनी होंगी, लेकिन इस प्रयास का बड़ा हिस्सा टीकाकरण कार्यक्रम को मजबूत करना होना चाहिए।
मनमोहन सिंह ने अपने पत्र में अनेक सुझाव दिये। उन्होंने कहा कि वह सकारात्मक सहयोग की भावना से ये सुझाव दे रहे हैं। जिनमें वह हमेशा से भरोसा करते आये हैं। एक दिन पहले ही कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए जरूरी प्रयासों पर चर्चा हुई थी।

ग्रामीण डाक सेवक के 1421 पदों पर भर्ती निकलीं

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। भारतीय डाक विभाग में सरकारी नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए सुनहरा मौका है। इंडिया पोस्ट केरल सर्किल में ग्रामीण डाक सेवक के कुल 1421 पदों पर भर्ती निकली है। इस भर्ती प्रक्रिया का हिस्सा बनने के लिए योग्य व इच्छुक उम्मीदवार विभाग की आधिकारिक वेबसाइट appost.in पर विजिट कर आवेदन कर सकते हैं। इंडिया पोस्ट भर्ती 2021 में इन पदों के लिए आवेदन प्रक्रिया को फिर से खोल दिया गया है। उम्मीदवार 21 अप्रैल 2021 तक आवेदन कर सकते हैं।
आपको बता दें कि इसके पहले आवेदन प्रक्रिया को 8 मार्च से शुरू किया गया था। जिसमें आवेदन की अंतिम तिथि 7 अप्रैल निर्धारित की गई थी। लेकिन उम्मीदवारों के लिए 15 अप्रैल को एक बार फिर आवेदन प्रक्रिया खोल दी गई है। इन पदों के लिए 10वीं पास अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अभ्यर्थियों को सलाह है कि पूरा भर्ती नोटिफिकेशन पढ़ने के बाद ही ऑनलाइन आवेदन करें।

रेमडेसिवर का उत्पादन दोगुना किया जाएंगा: मनसुख

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर से इस समय पूरा भारत जूझ रहा है। वहीं इसके टीके और दवा की पर्याप्त सप्लाई भी बहस का मुद्दा बनी हुई है। इस बीच केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा, कि अगले 15 दिनों में एंटी वायरल दवा रेमडेसिवर का उत्पादन दोगुना कर दिया जाएगा। बता दें कि एंटी वायरल दवा रेमडेसिवर को लेकर कई राज्यों से कमी की खबर आ रही है।
मांडविया ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो संदेश में कहा “भारत सरकार देश में रेमेडिसविर इंजेक्शन के उत्पादन को बढ़ाने और कम कीमत पर उपलब्ध कराने के सभी प्रयास कर रही है। वर्तमान में, रेमेडिसवीर की प्रतिदिन 150,000 शीशियों का उत्पादन प्रति दिन किया जा रहा है और, अगले 15 दिनों में, उत्पादन को दोगुना करके 300,000 शीशियां प्रत्येक दिन किया जाएगा ”।
इधर, देश में रोजाना कोविड-19 के रिकॉर्ड नए मामले सामने आने के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में वेंटिलेटर्स, ऑक्सीजन और दवाइयों की उपलब्धता की समीक्षा की और टीकों का उत्पादन बढ़ाने के लिए अधिकारियों को सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों में मौजूद सभी क्षमताओं का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले साल एकजुट होकर कोविड-19 महामारी को परास्त कर दिया था और इस बार भी वह हरा सकता है लेकिन इसके लिए उन्हीं सिद्धांतों को तेजी से और आपसी सहयोग के साथ अपनाना होगा। प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कोविड-19 की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की जिसमें केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे।
प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी एक बयान में कहा गया कि इस बैठक में दवाइयां, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर्स और टीकाकरण के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा हुई। बैठक में प्रधानमंत्री ने जांच, संपर्क का पता लगाने और फिर उपचार की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया तथा कहा कि इनका कोई विकल्प नहीं है। बयान के मुताबिक मोदी ने कहा, ”जल्दी जांच कराना और फिर संपर्क का पता लगाना इससे होने वाली मृत्यु में कमी लाने की कुंजी है। उन्होंने लोगों की चिंताओं के प्रति स्थानीय प्रशासन को संवेदनशीलता के साथ काम करने और आगे बढ़कर सक्रियता दिखाने पर जोर दिया।

13 रुपये के रिचार्ज प्लान में ग्राहकों को 2 जीबी डेटा

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। टेलिकॉम कंपनियों के बीच सस्ते प्लान को लेकर टक्कर जारी है। ऐसे में हम किफायती और ज़्यादा बेनिफिट वाला प्लान तलाश करते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो सरकारी टेलिकॉम कंपनी बीएसएनल की तो इसके द्वारा आपको 15 रुपये से भी कम का प्लान मिल जाएगा। बीएसएनल का सबसे किफायती रिचार्ज प्लान 13 रुपये का है और इसमें मिलने वाले बेनिफिट्स से आपका काम आसान हो जाएगा। आइए जानते हैं। किन फायदे के साथ आता ये प्लान
बीएसएनल के 13 रुपये के रिचार्ज प्लान में ग्राहकों को 2 जीबी डेटा मुहैया कराया जाएगा। ऐसे में अगर आपको इमरजेंसी में कोई ऐसा प्लान चाहिए। जिसकी कीमत ज़्यादा न हो तो आपके लिए ये प्लान बेस्ट साबित हो सकता है।
बीएसएनल के 13 रुपये के रिचार्ज प्लान में ग्राहकों को 2 जीबी इंटरनेट डेटा का फायदा दिया जाएगा। हालांकि, ध्यान देने वाली बात ये है कि कंपनी के इस रिचार्ज पैक की वैलिडिटी सिर्फ 1 दिन की है। इसका मतलब ये हुआ है कि इस 13 रुपये के रिचार्ज में आप सिर्फ 1 दिन के लिए ही 2 जीबी इंटरनेट डेटा का फायदा पा सकते हैं। आजकल वर्क फ्रॉम होम के चलते अगर आपका कभी डेटा एकदम से खत्म हो जाता है तो आप फटाफट 13 रुपये का रिचार्ज करके 2 जीबी तक के इंटरनेट को इस्तेमाल कर सकते हैं।
बीएसएनल ने हाल ही में 249 रुपये और 298 रुपये का प्रीपेड प्लान पेश किया है। बीएसएनल यूज़र्स को 249 रुपये के प्लान में किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड वॉयस कॉल की सुविधा देता है।
ये रोजाना 1 जीबी तक अनलिमिटेड डेटा भी देता है, जिसके बाद इसकी स्पीड घटकर 40 केबीपीएस रह जाती है। डेली 100 फ्री एसएमएस भी प्लान में इंक्लुड हैं। इस प्लान की वैलिडिटी 60 दिनों की है। 298 रुपये का प्रीपेड प्लान भी यही लाभ देता है। हालांकि, यह  सब्सक्रिप्शन के साथ आता है और इसकी वैलिडिटि 56 दिनों की है।

महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई करेगा दिल्ली एचसी

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली हाईकोर्ट कल यानि 19 अप्रैल से केवल उन अति महत्वपूर्ण मामलों की ही सुनवाई करेगा। जो इस साल दायर किए गए हैं। मार्च 2020 से लेकर 31 दिसंबर 2020 तक दाखिल मामलों की सुनवाई स्थगित करने का आदेश दिया गया है।
दिल्ली हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार मनोज जैन के हस्ताक्षर से आज जारी आदेश में कहा गया है कि लंबित मामलों की तुरंत सुनवाई के लिए वेबलिंक के जरिये कोर्ट से आग्रह किया जा सकता है। कोरोना के मामले कम होने पर हाईकोर्ट और निचली अदालतों में 15 मार्च से फिजिकल सुनवाई शुरू हो गई थी। लेकिन अप्रैल के पहले सप्ताह में संक्रमण में बढ़ोतरी के बाद हाईकोर्ट और निचली अदालतों में पिछले 9 अप्रैल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सुनवाई का आदेश दिया गया था।
हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल समेत पांच जज कोरोना संक्रमित हो गए हैं। दिल्ली हाईकोर्ट परिसर में कोर्ट के अधिकारियों और कर्मचारियों के रैपिड एंटिजन टेस्ट और आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए कैंप लगाये जायेंगे। यह कैंप 19 अप्रैल, 23 अप्रैल, 26 अप्रैल, 28 अप्रैल, 10 मई, 12 मई, 15 मई, 17 मई, 19 मई, 31 मई को लगेंगे।

आंदोलन खत्म हो जाएंगा तो कोरोना खत्म: टिकैत

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। टिकैत ने कहा, कि आंदोलन अगर खत्म हो जाये तो क्या देश से कोरोना खत्म हो जाएगा। वे हमारे गांव है। जहां पांच-पांच महीन से हम वहां रह रहे हैं। जैसे पूरा देश रहेगा। उन्हीं गाइडलाइंस से हम रह लेंगे। आंदोलन का इससे क्या लेना देना है। रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए टिकैत ने कहा आंदोलन अगर खत्म हो जाये तो क्या देश से कोरोना खत्म हो जाएगा। वे हमारे गांव है। जहां पांच-पांच महीन से हम वहां रह रहे हैं। जैसे पूरा देश रहेगा उन्हीं गाइडलाइंस से हम रह लेंगे  आंदोलन का इससे क्या लेना देना है। बता दें हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों से कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर ‘मानवता के आधार’ पर आंदोलन वापस लेने की अपील की थी. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘किसानों को अपना आंदोलन मानवता के आधार पर वापस ले लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्थिति में सुधार होने के बाद वे अपना प्रदर्शन जारी रख सकते हैं। मुख्यमंत्री ने जिला उपायुक्तों को भी निर्देश दिया कि वे प्रदर्शनकारी किसानों से संपर्क करें और उन्हें इसके लिए मनाया जाए।
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए प्रदेशों में धारा 144 लगा दी गई है। लोग एक जगह पर जमा न हो जिससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके मगर दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानून को लेकर धरना देकर प्रदर्शन जारी है। कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से कई दौर की बातचीत के बाद भी किसानों की मांग और सरकार में कोई सर्वमान्य हल नहीं निकल सका है। किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। जबकि सरकार बनाए गए कानूनों को उनके हित का मानती है।

बंगाल को जीतने की जंग के दौरान थोड़ा-सा वक्त

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज करते हुए ‘‘पश्चिम बंगाल को जीतने की अहम जंग के दौरान थोड़ा-सा वक्त निकाल कर’’ देश में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात की समीक्षा करने के लिए उनका आभार व्यक्त चिदंबरम ने ‘दीदी-ओ-दीदी’ टिप्पणी के लिए प्रधानमंत्री की आलोचना भी की और प्रश्न किया कि क्या प्रधानमंत्री को इस लहजे में किसी मुख्यमंत्री का जिक्र करना चाहिए। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, ‘‘ पश्चिम बंगाल को जीतने की जरूरी जंग और उसे भाजपा के साम्राज्य में मिलाने के दौरान कोरोना वायरस के लिए थोड़ा-सा वक्त निकालने का शुक्रिया। कांग्रेस नेता का यह बयान ऐसे वक्त में आया है। जब प्रधानमंत्री ने शनिवार को संक्रमण के हालात की समीक्षा के लिए सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक की थी। देश में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और पिछले चार दिन से प्रतिदिन दो लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं।
बनर्जी पर प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि क्या प्रधानमंत्री को इस लहजे में किसी मुख्यमंत्री का जिक्र करना चाहिए? उन्होंने कहा कि मैं जवाहर लाल नेहरू या मोरार जी देसाई या अटल बिहारी वाजपेयी को इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते सोच भी नहीं सकता।

देश में लॉकडाउन लगाने की स्थिति नहीं: गृहमंत्री

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा है दी है और ऐसा पहली बार है। जब भारत में एक दिन में 2.60 लाख से अधिक कोरोना के केस सामने आए हैं। कोरोना की बढ़ती इस भयावह रफ्तार को देखते हुए एक बार फिर से देश में लॉकडाउन की आहट सुनाई देने लगी है। फिलहाल, देश की करीब 57 फीसदी आबादी पाबंदियों की जद में है। मगर जिस तरह से कोरोना बेलगाम हो चुका है। ऐसे में सरकार के पास एकमात्र विकल्प लॉकडाउन बचता है। हालांकि, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने स्पष्ट कर दिया है कि देश में जल्दबाजी में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा और फिलहाल ऐसी स्थिति भी नहीं दिख रही है।
दरअसल, इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए एक इंटरव्यू में अमित शाह से जह पूछा गया कि पिछले साल की तरह, कोरोना को नियंत्रित करने के लिए क्या लॉकडाउन ही विकल्प है? शाह ने कहा- हम कई स्टेकहोल्डर्स के साथ चर्चा कर रहे हैं। शुरू में लॉकडाउन का उद्देश्य अलग था। हम बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर और उपचार की रेखा तैयार करना चाहते थे। तब हमारे पास कोई दवा या टीका नहीं था। अब स्थिति अलग है। फिर भी, हम मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा कर रहे हैं। आम सहमति जो भी हो, हम उसी के अनुसार आगे बढ़ेंगे। मगर जलदबाज़ी में लॉकडाउन करने जैसी स्थिति नहीं दिख रही।
एक अन्य सवाल में शाह से पूछ गया कि- इससे पहले कोरोना की पहली लहर के दौरान कई पहल हुईं।आपातकाल वाली चीजें अब क्यों नहीं है? इसपर वह बोले- यह सच नहीं है। मुख्यमंत्रियों के साथ दो बैठकें हुईं और मैं भी मौजूद था। अभी, राज्य के राज्यपालों के साथ एक बैठक हुई थी। सरकारों के समर्थन के लिए सामाजिक क्षेत्र में शेयरहोल्डर्स को आगे बढ़ाने के लिए हमारी बैठक हुई है। टीकाकरण के मोर्चे पर वैज्ञानिकों के साथ बात हुई है और चिकित्सा प्रोटोकॉल में सुधार के लिए एक बैठक हुई है। इससे लड़ने की तैयारी पूरी तरह से की जा रही है। इस समय संक्रमण की गति इतनी अधिक है कि यह लड़ाई थोड़ी मुश्किल है। लेकिन मुझे भरोसा है कि इस पर हमारी जीत होगी।
इंटरव्यू में गृहमंत्री से पूछा गया कि- कोरोना के नए वैरिएंट को अधिक भयानक बताया जा रहा है। क्या आप इसके बारे में चिंतित हैं? उन्होंने कहा कि- हर कोई चिंतित है। मुझे भी इसकी चिंता है। हमारे वैज्ञानिक इससे लड़ने के लिए काम कर रहे हैं। मुझे भरोसा है कि हम जीतेंगे। मुझे लगता है कि उछाल मुख्य रूप से वायरस के नए म्यूटेंट के कारण है। कई देशों में उछाल देखा जा रहा है। वैज्ञानिक इसका अध्ययन कर रहे हैं और इस पर एक निष्कर्ष समय से पहले होगा।

कांग्रेस नेता-जिला पंचायत उपाध्यक्ष रोहिणी का निधन

रायगढ़। जिले के आदिवासी कांग्रेस नेता व जिला पंचायत उपाध्यक्ष रोहिणी राठिया का निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित हुए थे। उनको इलाज के लिए एक निजी चिकित्सालय में कुछ दिन पहले ही भर्ती किया गया था और आज सुबह उनकी मौत हो गई। जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष रोहिणी की मौत पर कांग्रेस में शोक का माहौल है। आदिवासी नेता होनें के साथ-साथ अपनी सक्रियता से घरघोड़ा ब्लाक सहित आसपास इलाके में वे काफी लोकप्रिय थे, और इसी सक्रियता की वजह से उन्होंने जिला पंचायत उपाध्यक्ष के पद पर काबिज होकर अपनी कुशल राजनीति का परिचय दिया था, उनकी मौत के बाद घरघोड़ा ब्लाक के बाकारूमा में भी शोक की लहर फैल गई है।
एक जानकारी के अनुसार निजी चिकित्सालय में उन्हें आक्सीजन बेड पर रखा गया था और लगातार इलाज के बाद भी उनकी तबियत में कोई सुधार नही आ रहा था। आज सुबह उनके निधन की खबर मिलते ही जिला कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने गहरा शोक प्रकट करते हुए उनके पार्थिव शरीर को गृह ग्राम बाकारूमा भेजने की पहल की है।

अनियंत्रित होकर खाई में गिरीं कार, 5 लोगों की मौत

पंकज कपूर     
देहरादून। उत्तराखंड शहर में एक दर्दनाक हादसा हो गया। जहां बदरीनाथ हाईवे पर पाखी गांव के समीप एक कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। इस हादसें कार सवार 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।
मिली जानकारी के अनुुसार, घटना घटना शनिवार को देर रात चमोली में बदरीनाथ हाईवे पर पाखी गांव की है। आपकों बता दें कि कार सवार पांच लोग एक शादी समारोह से भीमतला गांव से लौट रहे थे। रविवार को सुबह घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच में जुटी।
खाई सेे शवों को निकालने के लिए रेस्क्यू किया। दुर्घटना के कारणों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।
भीमतला गांव के विनोद नैथवाल ने बताया कि शनिवार को सुबह जोशीमठ से भीमतला गांव में बरात पहुंची। दिनभर शादी समारोह के बाद बरात शाम को करीब सात बजे जोशीमठ के लिए लौटी।
बरात के सभी वाहन तो जोशीमठ पहुंच गए, लेकिन यह कार नहीं पहुंची। जिसे लोग रातभर ढूंढने में लगे रहे। पुलिस को भी रात को ही सूचना दी गई। रविवार को सुबह घटना स्थल का पता चल पाया।
उन्होंने बताया कि दुर्घटना वाले स्थान पर एनएच का पुल बन रहा हैै। दोनों तरफ से सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं हैं। जिससे यहां दुर्घटना की हर समय आशंका बनी हुई है।

स्मार्टफोन खरीदने का मिला सुनहरा मौका, छूट

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। अगर आप स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं और किसी अच्छे ऑफर के इंतजार में हैं तो मौका आ गया है। पर रेडमी के इस बजट फोन को छूट और ऑफर के साथ उपलब्ध कराया गया है। आईसीआईसीआई बैंक कार्ड के साथ, डिस्काउंट के साथ लिया जा सकता है। रेडमी के इस फोन में 48 मेगापिक्सल प्राइमरी सेंसर वाला क्वाड कैमरा सेटअप और 6.53 इंच डिस्प्ले जैसी खूबियां दी गई हैं।  के 4 जीबी रैम व 64 जीबी स्टोरेज वेरियंट की कीमत 10,999 रुपये, 4 जीबी रैम व 128 जीबी स्टोरेज वेरियंट की कीमत 12,999 रुपये है। वहीं 6 जीबी रैम व 128 जीबी स्टोरेज वेरियंट 13,999 रुपये में बेचा जा रहा है। लेकिन  से अभी फोन को आईसीआईसीआई बैंक डेबिट व क्रेडिट कार्ड के जरिए खरीदने पर फ्लैट 500 रुपये की छूट मिलेगी। इसके अलावा ऐक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड के साथ शॉपिंग करने पर भी 5 प्रतिशत अनलिमिटेड कैशबैक मिलेगा। फोन को नो-कॉस्ट ईएमआई पर भी खरीदा जा सकता है। रेडमी नोट 9 स्मार्टफोन में 6.53 इंच फुल एचडी+ डिस्प्ले दी गई है। स्मार्टफोन में 4 जीबी रैम व 6 जीबी रैम के साथ 64 जीबी व 128 जीबी स्टोरेज का विकल्प मिलता है। स्टोरेज को माइक्रोएसडी कार्ड के जरिए बढ़ाया जा सकता है। स्मार्टफोन में मीडियाटेक हीलियो G85 प्रोसेसर दिया गया है।
रेडमी नोट 9 में 48 मेगापिक्सल प्राइमरी रियर कैमरे के साथ अल्ट्रा-वाइड, मैक्रो, डेप्थ सेंसर दिए गए हैं। फोन में सेल्फी के लिए 13 मेगापिक्सल फ्रंट सेंसर मौजूद है। स्मार्टफोन को पावर देने के लिए 5020mAh बैटरी दी गई है। फोन ऐंड्रॉयड 10 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है। कनेक्टिविटी के लिए फोन में 4G, 3G, वाई-फाई, ब्लूटूथ, जीपीएस, ए-जीपीएस जैसे फीचर्स दिए गए हैं।

कोरोना के कारण साहित्यकार डॉ. कोहली का निधन

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। प्रख्यात साहित्यकार डॉ. नरेंद्र कोहली का निधन हो गया। पिछले कुछ दिनों से वे बीमार थे। गंभीर रूप से कोरोना से पीड़ित थे।
कोरोना से संक्रमित होने के कारण दिल्ली के सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने पौराणिक कहानी के आधार पर अभ्युदय, युद्ध, वासुदेव, अहल्या जैसी प्रसिद्ध पुस्तकें लिखीं। अपने पाठकों के बीच ‘आधुनिक तुलसी’ के रूप में लोकप्रिय कोहली को हिंदी साहित्य में ‘महाकाव्यात्मक उपन्यास’ विधा को प्रारंभ करने का श्रेय जाता है। देश के पौराणिक एवं ऐतिहासिक चरित्रों पर उनके लेखन को दुनिया भर में सराहना मिली है। उन्हें पद्म भूषण पुरस्कार मिला था। उनके निधन पर साहित्य जगत में शोक की लहर है।

पांच चरणों में 180 सीटों पर मतदान हुआ: गृहमंत्री

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को जोर देकर कहा कि पश्चिम बंगाल में पांच चरणों में जिन 180 सीटों पर मतदान हुआ है। उनमें से 122 से अधिक सीटें भाजपा जीतेगी। पूर्व बर्द्धमान जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने दावा किया कि मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी नंदीग्राम में भाजपा उम्मीदवार से हार जाएंगी और उसके बाद उन्हें यहां से जाना होगा। उन्होंने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल में पांच चरण के चुनाव के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हतोत्साहित हैं क्योंकि भाजपा 122 से अधिक सीटों पर उनसे आगे है। शाह ने कहा, ‘‘शुभेंदु अधिकारी (भाजपा उम्मीदवार) नंदीग्राम से चुनाव जीतेंगे। गृह मंत्री ने आगे कहा कि बनर्जी को उनके कद के मुताबिक बड़ी हार के साथ विदा किया जाना चाहिए। शाह ने दावा किया कि देश के नागरिकों को प्रदत्त लाभ अवैध प्रवासी ले रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आपके और मेरे जैसे लोग तो दीदी के लिए लिए दोयम दर्जे के नागरिक हैं जो उनके वोट बैंक के लिहाज से कोई मायने नहीं रखते हैं।

पीएम ने महामारी से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की और कोरोना से बचाव के एहतियाती उपायों तथा 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों के टीकाकरण की जरूरत पर बल दिया। प्रधानमंत्री ने रविवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया और कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित उपचार के लिए टेस्टिंग, बेड, दवाइयाँ, वैक्सिीन, तथा स्वास्थ्यकर्मियों की जरूरत आदि की जानकारी ली। उन्होंने जनता को हर संभव सहायता त्वरित रूप से उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये। चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने इस बात पर विशेष रूप से जोर दिया कि दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी का पालन सभी लोगों द्वारा किया जाये। प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन अभियान के महत्त्व पर बल देते हुए कहा की प्रशासन 45 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोगों को इस हेतु जागरूक करें। उन्होंने प्रशासन को भी पूरी संवेदनशीलता से वाराणसी के लोगों की संभव सहायता करने के लिए कहा।
मोदी ने देश के सभी डॉक्टरों, सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस संकट की घडी में भी वह अपने कर्त्तव्य का निष्ठापूर्ण पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पिछले साल के अनुभवों से सीखते हुए सतर्क रहकर आगे बढ़ना है। उन्होंने बताया कि वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से भी निरंतर फीडबैक ले रहे हैं।
वाराणसी में पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में सहायता मिली है। इसके साथ वाराणसी में बेड्स, आईसीयू और ऑक्सिजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है। मरीजों की बढ़ी हुई संख्या से उत्पन्न दबाव को देखते हुए हर स्तर पर प्रयास बढाने की जरुरत पर भी प्रधनमंत्री ने विशेष बल दिया।   उन्होंने कहा कि जिस तरह वाराणसी प्रशासन ने तेजी के साथ ‘काशी कोविड रिस्पोन्स सेन्टर’ स्थापित किया है, वैसी ही तेजी हर कार्य में लायी जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने ‘टेस्ट, ट्रेक और ट्रीट’ पर जोर देते हुए कहा कि पहली लहर की तरह ही वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी। उन्होंने संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने वाले लोगों और जांच रिपोर्ट को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने पर भी बल दिया।

बंगाल: राहुल ने प्रचार की सभी चुनावी रैलियां रद्द की

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पश्चिम बंगाल में होने वाली अपनी सभी चुनावी रैलियां रविवार को रद्द कर दीं। उन्होंने सभी अन्य नेताओं को बड़ी जन सभाएं करने के परिणामों के बारे में सोचने की सलाह दी। गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘कोविड-19 हालात के मद्देनजर, मैं पश्चिम बंगाल में अपनी सभी रैलियां स्थगित कर रहा हूं। मैं सभी नेताओं को सलाह देना चाहता हूं कि वे मौजूदा परिस्थितियों में बड़ी जनरैलियां आयोजित करने के परिणामों के बारे में गहराई से विचार करें।’’

देश में कोरोना वायरस से बढ़ते मामलों के बीच रैलियां करने के लिए कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की आलोचना करती रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदम्बरम ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महामारी से निपटने के बजाए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रचार करके स्तब्ध करने वाली संवेदनहीनता का परिचय दे रहे हैं।चिदंबरम ने कहा कि प्रधानमंत्री को दिल्ली में रहकर अपना काम करना चाहिए और मुख्यमंत्रियों के साथ समन्वय बनाकर कोरोना वायरस से निपटना चाहिए।

प्रधानमंत्री आठ चरणीय पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए राज्य में जनरैलियों को संबोधित कर रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,61,500 नए मामले सामने आने के साथ कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 1,47,88,109 पर पहुंच गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक उपचाराधीन मामले 18 लाख के पार पहुंच गए हैं। मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, 1,501 संक्रमितों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,77,150 पर पहुंच गई।

बढ़ते मामलों के कारण जेईई-मेन्स को किया स्थगित

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने रविवार को बताया कि 27 से 30 अप्रैल के बीच होने वाली इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन्स को कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण स्थगित कर दिया गया है। निशंक ने ट्वीट किया, ‘‘कोविड-19 संबंधी मौजूदा हालात के मद्देनजर, मैंने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के महानिदेशक को जेईई (मेन्स)- अप्रैल सत्र स्थगित करने की सलाह दी है।  उन्होंने कहा,  मैं यह दोहराना चाहता हूं कि हमारे छात्रों की सुरक्षा और उनका अकादमिक करियर बचाना मेरी और शिक्षा मंत्रालय की प्राथमिकता है। एनटीए के आधिकारिक आदेश में कहा गया है। कोविड-19 संबंधी मौजूदा हालात और परीक्षार्थियों एवं परीक्षा संबंधी पदाधिकारियों की सुरक्षा एवं कुशलता को ध्यान में रखते हुए जेईई-(मेन्स) अप्रैल सत्र को स्थगित करने का फैसला किया गया है। आदेश में कहा गया, संशोधित तारीखों की घोषणा बाद में और परीक्षा से कम से कम 15 दिन पहले की जाएगी।गौरतलब है कि इस वर्ष से छात्रों की सुविधा के लिये यह प्रवेश परीक्षा साल में चार बार आयोजित की जायेगी और छात्रों को अपना स्कोर बेहतर करने का एक मौका मिल सकेगा। इसके तहत पहला सत्र फरवरी में आयोजित किया गया था और मार्च में दूसरा सत्र। अगला सत्र अप्रैल एवं मई में आयोजित होना था। पहले सत्र में 6.2 लाख उम्मीदवार उपस्थित हुए थे। जबकि परीक्षा के दूसरे सत्र मे 5.5 लाख छात्र बैठे थे।
इस सप्ताह में सीबीएसई ने 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया था जबकि 12वीं कक्षा की परीक्षा को स्थगित कर दिया था। इसी प्रकार से सीआईएससीई बोर्ड एवं कई राज्यों के बोर्ड ने या तो परीक्षा रद्द कर दी या स्थगित कर दिया। गौरतलब है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के रविवार के आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोविड-19 संक्रमण के एक दिन में 2,61,500 मामले दर्ज किये गए और कुल मामला 1,47,88,109 हो गसा। देश में सक्रिय मामलों की संख्सर 18 लाख को पार कर गई है।

देश में कोरोना के 2,61,500 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,61,500 नए मामले सामने आने के साथ कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 1,47,88,109 पर पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक उपचाराधीन मामले 18 लाख के पार पहुंच गए हैं। मंत्रालय द्वार सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक 1,501 संक्रमितों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,77,150 पर पहुंच गई। संक्रमण के मामलों में लगातार 39वें दिन वृद्धि हुई है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 18,01,316 हो गई है। जो संक्रमण के कुल मामलों का 12.18 प्रतिशत है। जबकि, संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 86.62 प्रतिशत रह गई है। आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,28,09,643 हो गई है और मृत्यु दर गिरकर 1.20 प्रतिशत हो गई है। भारत में कोविड-19 के मामले पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख की संख्या पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे।
वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ से अधिक हो गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, 17 अप्रैल तक 26,65,38,416 नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से 15,66,394 नमूनों की जांच शनिवार को की गई।

या देवी सर्वभू‍तेषु 'कालरात्रि' रूपेण संस्थिता: नवरात्रि

माँ दुर्गा की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। दुर्गा पूजा के सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है। इस दिन साधक का मन 'सहस्रार' चक्र में स्थित रहता है। इसके लिए ब्रह्मांड की समस्त सिद्धियों का द्वार खुलने लगता है। देवी कालात्रि को व्यापक रूप से माता देवी - काली, महाकाली, भद्रकाली, भैरवी, मृित्यू, रुद्रानी, चामुंडा, चंडी और दुर्गा के कई विनाशकारी रूपों में से एक माना जाता है। रौद्री और धुमोरना देवी कालात्री के अन्य कम प्रसिद्ध नामों में हैं। माना जाता है कि देवी के इस रूप में सभी राक्षस,भूत, प्रेत, पिसाच और नकारात्मक ऊर्जाओं का नाश होता है। जो उनके आगमन से पलायन करते हैं |यह ध्यान रखना जरूरी है कि नाम, काली और कालरात्रि का उपयोग एक दूसरे के परिपूरक है। हालांकि, इन दो देवीओं को कुछ लोगों द्वारा अलग-अलग सत्ताओं के रूप में माना गया है। डेविड किन्स्ले के मुताबिक, काली का उल्लेख हिंदू धर्म में लगभग 600 ईसा के आसपास एक अलग देवी के रूप में किया गया है। कालानुक्रमिक रूप से, कालरात्रि महाभारत में वर्णित, 600 ईसा पूर्व - 300 ईसा के बीच वर्णित है। जो कि वर्त्तमान काली का ही वर्णन है। सिल्प प्रकाश में संदर्भित एक प्राचीन तांत्रिक पाठ, सौधिकागम, देवी कालरात्रि का वर्णन रात्रि के नियंत्रा रूप में किया गया है। सहस्रार चक्र में स्थित साधक का मन पूर्णतः माँ कालरात्रि के स्वरूप में अवस्थित रहता है। उनके साक्षात्कार से मिलने वाले पुण्य (सिद्धियों और निधियों विशेष रूप से ज्ञान, शक्ति और धन) का वह भागी हो जाता है। उसके समस्त पापों-विघ्नों का नाश हो जाता है और अक्षय पुण्य-लोकों की प्राप्ति होती है।

वर्णन

इनके शरीर का रंग घने अंधकार की तरह एकदम काला है। सिर के बाल बिखरे हुए हैं। गले में विद्युत की तरह चमकने वाली माला है। इनके तीन नेत्र हैं। ये तीनों नेत्र ब्रह्मांड के सदृश गोल हैं। इनसे विद्युत के समान चमकीली किरणें निःसृत होती रहती हैं।

कालरात्रि का रक्तपान

माँ की नासिका के श्वास-प्रश्वास से अग्नि की भयंकर ज्वालाएँ निकलती रहती हैं। इनका वाहन गर्दभ (गदहा) है। ये ऊपर उठे हुए दाहिने हाथ की वरमुद्रा से सभी को वर प्रदान करती हैं। दाहिनी तरफ का नीचे वाला हाथ अभयमुद्रा में है। बाईं तरफ के ऊपर वाले हाथ में लोहे का काँटा तथा नीचे वाले हाथ में खड्ग (कटार) है।

महिमा

माँ कालरात्रि का स्वरूप देखने में अत्यंत भयानक है।लेकिन ये सदैव शुभ फल ही देने वाली हैं। इसी कारण इनका एक नाम 'शुभंकारी' भी है। अतः इनसे भक्तों को किसी प्रकार भी भयभीत अथवा आतंकित होने की आवश्यकता नहीं है। माँ कालरात्रि दुष्टों का विनाश करने वाली हैं। दानव, दैत्य, राक्षस, भूत, प्रेत आदि इनके स्मरण मात्र से ही भयभीत होकर भाग जाते हैं। ये ग्रह-बाधाओं को भी दूर करने वाली हैं। इनके उपासकों को अग्नि-भय, जल-भय, जंतु-भय, शत्रु-भय, रात्रि-भय आदि कभी नहीं होते। इनकी कृपा से वह सर्वथा भय-मुक्त हो जाता है।

माँ कालरात्रि के स्वरूप-विग्रह को अपने हृदय में अवस्थित करके मनुष्य को एकनिष्ठ भाव से उपासना करनी चाहिए। यम, नियम, संयम का उसे पूर्ण पालन करना चाहिए। मन, वचन, काया की पवित्रता रखनी चाहिए। वे शुभंकारी देवी हैं। उनकी उपासना से होने वाले शुभों की गणना नहीं की जा सकती। हमें निरंतर उनका स्मरण, ध्यान और पूजा करना चाहिए।

नवरात्रि दिवस

नवरात्रि की सप्तमी के दिन माँ कालरात्रि की आराधना का विधान है। इनकी पूजा-अर्चना करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है व दुश्मनों का नाश होता है, तेज बढ़ता है। प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में सातवें दिन इसका जाप करना चाहिए।

मंत्र

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कालरात्रि रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और कालरात्रि के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे पाप से मुक्ति प्रदान कर।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण   
1. अंक-245 (साल-02)
2. सोमवार, अप्रैल 19, 2021
3. शक-1984,चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि- सप्तमी, विक्रमी सवंत-2078। छटा रोजा, सहरी 04:33, इफ्तार 06:49। 06 रमजान, हिजरी 1442।
4. सूर्योदय प्रातः 06:20, सूर्यास्त 06:50।
5. न्‍यूनतम तापमान -14 डी.सै., अधिकतम-38+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...