बुधवार, 1 मई 2024

पंजाब किंग्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला

पंजाब किंग्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला 

इकबाल अंसारी 
चेन्नई। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) और पंजाब किंग्स (PBKS) के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। यह मैच चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में हो रहा है, जिसमें पंजाब किंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। रेग्युलर कप्तान शिखर धवन अब तक फिट नहीं हुए हैं। ऐसे में उनकी जगह पंजाब टीम की कप्तानी सैम करन ही संभाल रहे हैं। उन्होंने प्लेइंग-11 में कोई बदलाव नहीं किया। 

चेन्नई टीम के दो खिलाड़ी बीमार, शार्दुल को मौका 

जबकि, चेन्नई टीम के कप्तान ऋतुराज गायकवाड़ ने अपनी प्लेइंग-11 में दो बदलाव किए हैं। मथीशा पथिराना और तुषार देशपांडे की थोड़ी तबीयत खराब है। ऐसे में उन्हें आराम दिया गया। जबकि शार्दुल ठाकुर की प्लेइंग-11 में वापसी हुई है‌। महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई ने अब तक 9 में से 5 मुकाबले जीते हैं। इसी के साथ गायकवाड़ की कप्तानी वाली यह सीएसके टीम पॉइंट्स टेबल में चौथे नंबर पर है। दूसरी ओर पंजाब किंग्स ने 9 में से 3 मैच जीते हैं और वो 9वें नंबर पर है। 
पंजाब-चेन्नई के बीच बराबरी की टक्कर चेन्नई और पंजाब के बीच हमेशा ही तगड़ा मुकाबला रहा है। दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 28 मैच खेले गए, जिसमें से चेन्नई ने 15 जीते, जबकि 13 में पंजाब को सफलता मिली है‌।यदि चेन्नई के मैदान पर रिकॉर्ड देखें तो यहां भी बराबर की टक्कर नजर आती है। यहां 7 मैच हुए, जिसमें से चेन्नई ने 4 और पंजाब ने 3 मुकाबले जीते। 

चेन्नई Vs पंजाब हेड-टु-हेड कुल मैच: 28 
चेन्नई जीता: 15 
पंजाब जीता: 13 

चेन्नई में पंजाब के खिलाफ हेड-टु-हेड कुल मैच: 7 
चेन्नई जीता: 4 
पंजाब जीता: 3 

ये हो सकती है पंजाब-चेन्नई की प्लेइंग-11 चेन्नई सुपर किंग्स: ऋतुराज गायकवाड़ (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, डेरेल मिचेल, मोईन अली, शिवम दुबे, रवींद्र जडेजा, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दीपक चाहर, तुषार देशपांडे, मुस्ताफिजुर रहमान और मथीशा पथिराना।

पंजाब किंग्स: जॉनी बेयरस्टो, सैम करन (कप्तान), रिले रोसो, जितेश शर्मा (विकेटकीपर), शशांक सिंह, आशुतोष शर्मा, हरप्रीत बरार, हर्षल पटेल, कगिसो रबाडा, राहुल चाहर, अर्शदीप सिंह।

हेल्थ के लिए फायदेमंद है 'हिमालयन लहसुन'

हेल्थ के लिए फायदेमंद है 'हिमालयन लहसुन' 

सरस्वती उपाध्याय 
जमीन के अंदर उगने वाले लहसुन की कली को खाने के फायदे से शायद ही कोई अनजान होगा। आयुर्वेद के बाद अब एलोपैथिक ट्रीटमेंट में भी लहसुन को अपने डाइट प्लान में शामिल करने की सलाह दी जाती है। इसलिए लहसुन को लेकर किसी के भी मन में कोई शक नहीं होता। आजकल एक नए किस्म के हिमालयन लहसुन की जमकर चर्चा हो रही है। हेल्थ और न्यूट्रिशन एक्सपर्ट अब डाइट में हिमालयन लहसुन को शामिल करने की सलाह देते हैं। आइए, जानते हैं कि हिमालयन लहसुन क्या है, इसको खाने से हेल्थ को क्या फायदे मिलते हैं और हिमालयन लहसुन खाने का तरीका क्या है ?

हिमालयन लहसुन और उसके फायदे

हिमालयन लहसुन को ‘हिमालयी सिंगल क्लोव लहसुन’ के नाम से भी जाना जाता है। यह हिमालय के इलाके में पाया जाता है। बेहद पौष्टिक हिमालयन लहसुन आपकी कुकिंग को शानदार बनाने के अलावा सेहत को भी ढेर सारा फायदा पहुंचाता है। हिमालयन लहसुन इंसानों के लिए काफी जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है. इसमें विटामिन सी और बी, मैंगनीज, सेलेनियम और एलिसिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट शामिल हैं।

क्या होता है हिमालयन लहसुन ?

हिमालयन लहसुन को कश्मीरी लहसुन, जम्मू लहसुन, और पोथी लहसुन के नाम से भी जाना जाता है। इसे साल में सिर्फ़ एक बार काटा जाता है। इस लहसुन की खास बात यह है कि इसे ऊंचाई वाले इलाकों में ही उगाया जाता है। यह लहसुन कठोर होता है और रंग में सुनहरे भूरे रंग का होता है।

इम्युनिटी बूस्टर

हिमालयन लहसुन में पाए जाने वाले कंपाउंड्स जैसे एलिसिन में एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण होते हैं। ये इंफेक्शन से बचाते हैं और इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करते हैं।

दिल को सेहतमंद बनाने में मददगार

स्टडीज से पता चलता है कि हिमालयन लहसुन ब्लड प्रेशर को कम करके और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बैलेंस करके दिल को सेहतमंद बनाए रखने में मदद कर सकता है। डाइट में हिमालयन लहसुन को शामिल करना आपके हृदय रोग के खतरे को कम करता है।

एंटी इंफ्लेमेट्री और एंटीऑक्सीडेंट गुण

हिमालयन लहसुन में भरपूर मात्रा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और सल्फर कंपाउंड्स शरीर में सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही पुरानी बीमारियों के खतरे को भी कम करता है।

डाइजेशन सिस्टम में सुधार

हिमालयन लहसुन डाइजेशन के लिए बेहद जरूरी एंजाइमों को एक्टिव करने और आंत की सेहत को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। यह आंत में सूजन और अपच या बदहजमी जैसी पेट से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने में मदद करता है।

शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालना

माना जाता है कि हिमालयन लहसुन लीवर समेत शरीर के कई अंगों से टॉक्सिक चीजों को खत्म करने में मदद करता है। अपने डाइट में हिमालयन लहसुन को शामिल करने से लिवर हेल्दी रखने में मदद मिलती है। साथ ही ऐसा कहा जाता है कि हिमालयन लहसुन का सेवन आपकी बॉडी में कैंसर सेल्स के बनने और उसको बढ़ने से रोकने में भी मदद कर सकता है।

'अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस' कार्यक्रम का आयोजन

'अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस' कार्यक्रम का आयोजन 

कौशाम्बी। जन शिक्षण संस्थान कौशांबी मुख्यालय मंझनपुर पर अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 1 मई 2024 को अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर आए हुए मजदूर विशाल साहू ने सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलन करके कार्यक्रम को प्रारंभ किया। संस्थान के निदेशक राजकुमार पांडे ने मजदूर विशाल साहू को माला पहना कर स्वागत किया एवं आए हुए प्रतिभागियों का स्वागत एवं अभिवादन किया। 
कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस के बारे में विस्तृत जानकारी दी तथा मजदूर दिवस मई दिवस के रूप में भी जाना जाता है‌। मई दिवस मजदूर और श्रमिक वर्गों का एक उत्सव है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक आंदोलन द्वारा बढ़ावा दिया जाता है। संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी संजय सिंह ने बताया कि श्रमिक दिवस पूरे विश्व में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। आए हुए सभी प्रतिभागियों एवं अनुदेशकों का धन्यवाद किया‌। मैं मजदूर हूं, मजबूर नहीं। श्रम करो, शर्म नहीं। इसी क्रम में संस्थान की सहायक कार्यक्रम अधिकारी विजेंद्र मिश्रा राजू शुक्ला सतीश चंद्र अनुदेशिका करिश्मा चौधरी रूपा देवी ममता एवं 30 प्रतिभागियों ने कार्यक्रम में भाग लिया।
सुबोध केशरवानी

विज्ञान एवं वैदिक गणित योजना बैठक का शुभारंभ

विज्ञान एवं वैदिक गणित योजना बैठक का शुभारंभ 

रानी रेवती देवी में क्षेत्रीय विज्ञान एवं वैदिक गणित योजना बैठक का शुभारंभ

हमें विद्यार्थियों में वैज्ञानिक प्रतिभा विकसित करने का अवसर प्रदान करना है- हेमचंद्र जी

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। विद्या भारती से संबद्ध काशी प्रांत के रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज राजापुर प्रयागराज में दो दिवसीय क्षेत्रीय विज्ञान एवं वैदिक गणित योजना बैठक का शुभारंभ विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं क्षेत्रीय विज्ञान प्रमुख बांके बिहारी पांडे के संयोजन तथा क्षेत्रीय संगठन मंत्री हेमचंद्र जी के मार्गदर्शन से हुआ।
विद्यालय के मीडिया प्रभारी एवं संगीताचार्य मनोज गुप्ता ने बताया कि उक्त बैठक में सत्र 2023 -24 के विज्ञान/ वैदिक गणित के परिणाम की समीक्षा, सत्र 2024- 25 के विज्ञान/ वैदिक गणित के पाठ्यक्रम पर चर्चा, विज्ञान सप्ताह एवं वैदिक गणित में होने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा तथा विज्ञान प्रयोगशाला एवं गणित प्रयोगशाला तथा ए.टी.एल. पर चर्चा के लिए यह बैठक आयोजित की गई है। जिसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश के सभी प्रांतीय समितियां के विज्ञान एवं वैदिक गणित के प्रांत प्रमुख, सह प्रमुख तथा क्षेत्रीय प्रमुख सहित 30 प्रतिभागी उपस्थित रहे। बैठक में आए हुए सभी प्रतिभागियों एवं अतिथियों का स्वागत प्रधानाचार्य बांके बिहारी पांडे ने तिलक लगाकर एवं अंगवस्त्रम प्रदान करके किया। अपने उद्बोधन में क्षेत्रीय संगठन मंत्री हेमचंद्र ने बताया कि हमें विद्यार्थियों में वैज्ञानिक प्रतिभा विकसित करने का अवसर प्रदान करना है, "विज्ञान का समाज के विकास के साथ संबंध" इस विषय को बच्चों के ध्यान में लाने तथा उन्हें यह अनुभव करने के लिए की वे कल के वैज्ञानिक हैं तथा बच्चों में उनके द्वारा तैयार किए जाने वाले प्रदर्शों के माध्यम से रचनात्मक अन्वेषण एवं संश्लेषण की क्षमता को विकसित करना है और बच्चों में चुनौतियों का हल ढूंढने की प्रवृत्ति का विकास करना विशेष रूप से ग्रामीण विकास की दृष्टि से तथा दैनिक जीवन के विकास में विज्ञान एवं तकनीकी के प्रयोग की दृष्टि से सर्वसाधारण समाज में विज्ञान एवं वैज्ञानिक सोच को लोकप्रिय करना तथा बच्चों को भारत के गौरवशाली संस्कृति का ज्ञान करवाने के उद्देश्य से यह बैठक आयोजित की गई है।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से प्रांतीय संगठन मंत्री डॉ राम मनोहर, प्रदेश निरीक्षक शेषधर द्विवेदी, विजय उपाध्याय, सुमंत पांडे, क्षेत्रीय वैदिक गणित प्रमुख संतोष कुमार सिंह, सह प्रमुख श्याम मनोहर शुक्ला, नीरज शुक्ला, अवधेश मिश्रा, बलवंत सिंह, हरिकिशुन गिरी, अनुज कुमार सिंह सहित सभी प्रतिभागी उपस्थित रहे।

शुगर: ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड खाने चाहिए

शुगर: ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड खाने चाहिए 

सरस्वती उपाध्याय 
आजकल लोग शरीर का पहले से ज्यादा ध्यान रखने लगे हैं। खाने की हर चीज पर उनकी नजर होती है कि कहीं इसमें मीठा ज्यादा ना हो। अत्यधिक मीठा खाने से शुगर की बीमारी हो सकती है। इसके बावजूद डायबिटीज महामारी की तरह फैलती जा रही है। इसका सबसे बड़ा कारण इंसुलिन हॉर्मोन में गड़बड़ी आना है।
डायबिटीज के साथ मोटापा और फैटी लिवर की समस्या भी आ जाती है। डॉक्टर कहते हैं कि डायबिटिक डाइट में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड खाने चाहिए। मगर एक सब्जी ऐसी भी है जो जादू की छड़ी का काम करती है। यह ना सिर्फ डायबिटीज के लक्षण कम करती है बल्कि लिवर का फैट कम करने में भी मदद करती है।

बार-बार नहीं आएगा पेशाब

डायबिटीज के कुछ लक्षण अधिकतर मरीजों में दिखाए देते हैं। जिनमें बार-बार पेशाब आना सबसे प्रमुख है। इसे कम करने के लिए कमल ककड़ी खानी चाहिए। यह लो जीआई वेजिटेबल है जिसमें फाइबर भी है। कुछ शोध बताते हैं कि फाइबर लेने से अतिरिक्त शुगर को बाहर निकालने में मदद मिलती है।
लिवर का फैट काटने वाली सब्जी
फैटी लिवर में भी कमल ककड़ी फायदेमंद होती है। NCBI पर मौजदू शोध बताता है कि शराब के बिना बनने वाली फैटी लिवर बीमारी में इसे खाने से फायदा मिलता है। हाई पॉलीफेनोलिक कंपाउंड होने की वजह से यह लिवर की चर्बी घटाने में मदद करती है।

कमजोरी-थकान दूर करने का उपाय

कमल ककड़ी एक प्रोटीन फूड भी है। इसे खाने से मसल्स और ताकत बढ़ाई जा सकती है। जो लोग कमजोरी व थकान से जूझ रहे हैं, वो इसे खाकर शरीर को तगड़ा बना सकते हैं। बच्चों को भी इसका सेवन जरूर करवाना चाहिए।

कमजोर हड्डियों को मिलेगी ताकत

बच्चों के विकास के लिए हड्डियों का मजबूत होना जरूरी है। कमल की जड़ में कैल्शियम की भरमार है। इसमें कॉपर, फॉस्फोरस, जिंक भी होता है, जो हड्डियों को भारी बनाने में कैल्शियम की मदद करते हैं। महिलाओं की डाइट में भी इसे शामिल करना चाहिए।

जल्दी-जल्दी बनेगा खून

महिलाओं को एनीमिया का खतरा ज्यादा रहता है। उन्हें कमल ककड़ी खानी चाहिए, यह आयरन से भरी होती है। इसमें फोलेट भी होता है, जो रेड ब्लड सेल्स बढ़ाते हैं। इसे खाने से इम्यूनिटी भी बढ़ती है और नसें खून से सराबोर हो जाएंगी।

एससी ने 'हिंदू विवाह' को लेकर फैसला सुनाया

एससी ने 'हिंदू विवाह' को लेकर फैसला सुनाया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शादी को लेकर अहम फैसला सुनाया है। अपने इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हिंदू विवाह एक संस्कार है और यह सॉन्ग-डांस, वाइनिंग-डायनिंग का आयोजन नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यदि अपेक्षित सेरेमनी नहीं की गई है तो हिंदू विवाह अमान्य है और पंजीकरण इस तरह के विवाह को वैध नहीं बताता है। सुप्रीम कोर्ट ने एक फैसले में हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के तहत हिंदू विवाह की कानूनी आवश्यकताओं और पवित्रता को स्पष्ट किया है।
अदालत ने इस बात पर जोर दिया कि हिंदू विवाह को वैध होने के लिए, इसे सप्तपदी जैसे उचित संस्कार और समारोहों के साथ किया जाना चाहिए और विवादों के मामले में इन समारोह का प्रमाण भी मिलता है। जस्टिस बी. नागरत्ना ने अपने फैसले में कहा, हिंदू विवाह एक संस्कार है, जिसे भारतीय समाज में एक महान मूल्य की संस्था के रूप में दर्जा दिया जाना चाहिए। इस वजह से हम युवा पुरुषों और महिलाओं से आग्रह करते हैं कि वो विवाह की संस्था में प्रवेश करने से पहले इसके बारे में गहराई से सोचें और भारतीय समाज में उक्त संस्था कितनी पवित्र है, इस पर विचार करें।
उन्होंने कहा, विवाह ‘गीत और नृत्य’ और ‘शराब पीने और खाने’ का आयोजन नहीं है या अनुचित दबाव द्वारा दहेज और उपहारों की मांग करने और आदान-प्रदान करने का अवसर नहीं है। जिसके बाद किसी मामले में आपराधिक कार्यवाही की शुरुआत हो सकती है। विवाह कोई व्यावसायिक लेन-देन नहीं है। यह भारतीय समाज का ऐसा महत्वपूर्ण आयोजन है, जो एक पुरुष और एक महिला के बीच संबंध स्थापित करने के लिए मनाया जाता है, जो भविष्य में एक विकसित होते परिवार के लिए पति और पत्नी का दर्जा प्राप्त करते हैं।

'गूगल' ने पूरी पाइथन टीम को नौकरी से निकाला

'गूगल' ने पूरी पाइथन टीम को नौकरी से निकाला

अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी। दुनिया की दिग्गज कंपनी गूगल में कॉस्ट कटिंग के बहाने पूरी टीम को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बीते कुछ महीनों से लगातार जॉब कट की खबरें आ रही हैं। कॉस्ट कटिंग के नाम पर अब गूगल ने एक और बड़ा फैसला लिया है। गूगल ने इस मामले पर बात करते हुए टेक क्रंच को बताया कि छंटनी का नया दौर कंपनी की ऑर्गनाइजेशनल रिस्ट्रक्चरिंग का हिस्सा है।
गूगल ने आगे कहा कि कंपनी ने पाइथन से निकाले गए कर्मचारियों को दूसरी टीमों में शामिल होने का ऑफर भी दिया है। गूगल ने यह भी कहा है कि वह निकाली गई टीम को मुआवजा देने के बारे में सोच रहा है। गूगल ने आगे कहा कि उसे उम्मीद है कि गूगल और निकाली गई टीम के बीच कोई समस्या नहीं होगी। गूगल के अनुसार अगर आंतरिक रूप से चीजें काम नहीं करती हैं, तो हो सकता है कि नौकरी की संभावनाओं पर भी ध्यान दिया जाएगा। इस साल गूगल में छंटनी के बारे में हमें कई बार सुनने को मिल है। उम्मीद की जा रही है कि कंपनी अगले लेऑफ से पहले एम्प्लॉयीज को झटका देने की बजाय चीजों प्लान करेगी।
रिपोर्ट के अनुसार, गूगल ने अपनी पूरी पाइथन टीम को नौकरी से निकाल दिया है। बताया जा रहा है कि कंपनी यूनाइटेड स्टेट्स के बाहर सस्ते एम्प्लॉयीज को काम पर रख कर पाइथन के बिजनेस को रन के बारे में सोच रही है।इस हफ्ते की शुरुआत में आई एक रिपोर्ट के अनुसार गूगल जर्मनी के म्यूनिख में एक नई टीम को सेट करने जा रहा है।
इसकी कॉस्ट गूगल के लोकल टैलेंट्स की सैलेरी से काफी कम होगी। पायथन टीम इंजीनियरों का एक ग्रुप है, जो अलग-अलग प्रोडक्टस में यूज की जाने वाली प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की डिमांड और इशूज को संभालते हुए उन्हें स्टेबल रखता है। रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया है कि इन बदलावों से गूगल की कितनी बचत होगी। हालांकि, ऐसा लग रहा है कि कंपनी अपने इस फैसले से खुश है।

भारत: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव आया

भारत: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव आया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में आये बदलाव के आधार पर बुधवार को देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव आया है। जहां कुछ राज्यों में इसके दाम बढ़े हैं, वहीं कुछ में कम हुए हैं। अगर राज्य स्तर पर बात करें तो आज बिहार में पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम हुई हैं। यहां पेट्रोल के दाम 12 पैसे घटकर 107.00 रुपये प्रति लीटर और डीजल 17 पैसे कम होकर 93.72 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है।इसके अलावा छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, पंजाब, तामिलनाडु और उत्तराखंड में भी आज पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ है। वहीं, दूसरी ओर आंध्रप्रदेश, असम, गोवा , गुजरात, हरियाणा, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, तेलंगाना, त्रिपुरा और यूपी में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं।
वहीं, चारों महानगरों की बात करें तो राजधानी दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 94.76 रुपये और डीजल की कीमत 87.66 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 104.19 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 92.13 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है। वहीं कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 103.93 रुपये प्रति लीटर और डीजल 90.74 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है। चेन्नई में पेट्रोल की कीमत 100.73 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 92.32 रुपये प्रति लीटर बनी हुई है जबकि बेंगलुरु में पेट्रोल 99.82 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.92 रुपये प्रति लीटर है।
अन्य शहरों की बात करें तो नोएडा में पेट्रोल 94.81 रुपये प्रति लीटर और डीजल 87.94 रुपये प्रति लीटर, गुरुग्राम में पेट्रोल 95.18 रुपये प्रति लीटर और डीजल 88.03 रुपये प्रति लीटर, चंडीगढ़: पेट्रोल 94.22 रुपये प्रति लीटर और डीजल 82.38 रुपये प्रति लीटर, हैदराबाद: पेट्रोल 107.39 रुपये प्रति लीटर और डीजल 95.63 रुपये प्रति लीटर, जयपुर: पेट्रोल 104.86 रुपये प्रति लीटर और डीजल 90.34 रुपये प्रति लीटर, पटना: पेट्रोल 105.16 रुपये प्रति लीटर और डीजल 92.03 रुपये प्रति लीटर, लखनऊ: पेट्रोल 94.63 रुपये प्रति लीटर और डीजल 87.74 रुपये प्रति लीटर पर है।

रूस का हमला, इमारत हैरी पॉटर कैसल तबाह

रूस का हमला, इमारत हैरी पॉटर कैसल तबाह 

अखिलेश पांडेय 
मॉस्को। यूक्रेन और रूस के बीच स्थित काला सागर के ओडेसा बंदरगाह पर रूस की ओर से हमला किया गया है। इस खबर की पुष्टि यूक्रेन के अधिकारियों द्वारा की गई है। यूक्रेन के एक अधिकारी ने इसको लेकर बताया कि रूस की ओर से समुंद्र के किनारे एक के बाद एक कई धमाके हुए। इस हमले में ओडेसा की मशहूर इमारत हैरी पॉटर कैसल भी तबाह हो गया। इस दौरान कई शैक्षणिक संस्थान पर भी हमला हुआ। हमले की वजह से कैसल से आग की लपटें बाहर तक देखने को मिल रही थी। उस बिल्डिंग में मौजूद सामान भी पूरी तरह से बर्बाद हो गया है।
इस हमले में हैरी पॉटर कैसल के अलावा इलाके में स्थित 20 से अधिक मकानों को भी नुकसान पहुंचा। जिसके बाद वहां रह रहे लोगों के लिए स्थिति और गंभीर हो गई है। वहीं इस हमले में प्रयोग हुए युद्ध मैटेरियल की बात करें तो ये सभी अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लघंन करते हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार घायलों में दो बच्चे और गर्भवती महिला भी है। जो मानवता को शर्मसार करने वाला है। वहीं रूस के अधिकारियों ने ये भी दावा किया है कि यूक्रेन द्वारा क्रीमिया में किए गए बड़े मिसाइल अटैक और ड्रोन हमले को रोकने में सफलता मिली। जबकि एक रूसी ब्लॉगर्स ने यह भी दावा किया कि हमले होने वाले इलाकों में मुख्य रूप से हवाई क्षेत्र शामिल थे।

गिरफ्तार नेता चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे, खारिज

गिरफ्तार नेता चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे, खारिज 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने गिरफ्तार नेताओं को डिजिटल तरीके से चुनाव प्रचार करने की अनुमति देने संबंधी एक याचिका बुधवार को खारिज कर दी और कहा कि यह अर्जी ‘बहुत ही दुस्साहसिक’ एवं कानून के मौलिक सिद्धांतों के विरुद्ध है। 
कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश मनमोहन और न्यायमूर्ति मनमीत पी. एस. अरोड़ा की पीठ ने कहा कि अदालतें नीतिगत निर्णय नहीं लेती हैं और ऐसे मुद्दों पर निर्णय लेना संसद का काम है। पीठ ने कहा, ‘‘हम ऐसे किसी भी व्यक्ति को चुनाव प्रचार करने की अनुमति नहीं दे सकते, जो हिरासत में है। अन्यथा, सभी बलात्कारी, हत्यारे चुनाव से महज पहले राजनीतिक दल बनाने लगेंगे।’’ 
उच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ता को जुर्माना लगाने की चेतावनी दी, लेकिन बाद में ऐसा न करने को आग्रह उस वक्त स्वीकार कर लिया, जब उसके वकील ने कहा कि याचिकाकर्ता एक छात्र है। अदालत विधि छात्र अमरजीत गुप्ता की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। गुप्ता निर्वाचन आयोग द्वारा आदर्श आचार संहिता की घोषणा किये जाने के बाद नेताओं, खासकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, की गिरफ्तारी के समय को लेकर आहत हैं। 
पीठ ने कहा, ‘‘ठीक है, हम जुर्माना नहीं लगायेंगे, लेकिन आप उन्हें (याचिकाकर्ता को) शक्तियों के विभाजन के बारे में बताइए।’’ सुनवाई के दौरान पीठ ने कहा, ‘‘आप बहुत ही दुस्साहसी बन रहे हैं। यह बहुत ही दुस्साहसपूर्ण है। यह याचिका कानून के मौलिक सिद्धांतों के विरुद्ध है। आप हमें कानून के विरुद्ध काम करने को कह रहे हैं। हम कानून नहीं बनाते हैं, हम नीतिगत निर्णय नहीं लेते हैं।’’ 
पीठ ने कहा, ‘‘हम राजनीति से दूर रहना चाहते हैं और आज ज्यादा से ज्यादा लोग हमें राजनीति में धकेल रहे हैं। आप हमें राजनीति में अधिक खींच रहे हैं। एक व्यक्ति आता है और कहता है कि उसे (केजरीवाल की ओर प्रत्यक्ष इशारा करते हुए) जेल से बाहर कीजिए, एक व्यक्ति कहता है कि उसे जेल में रखिए। आरोपी कानूनी उपचार का रास्ता अपना रहा है। 
अदालतें न्यायिक मस्तिष्क लगाकर आदेश जारी कर रही हैं।’’ उच्च न्यायालय ने कहा कि इस याचिका में प्रचार पाने की बात शामिल है। जब याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि आदर्श आचार संहिता के लागू हो जाने के बाद किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता, तब न्यायालय ने कहा, ‘‘यदि एक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहा है और हत्या कर देता है, तो इसका क्या यह मतलब है कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण उसे गिरफ्तार नहीं किया जाएगा।’’
पीठ ने कहा, "आप क्या कर रहे हैं? कृपया समझें। हत्या और बलात्कार में शामिल लोग चुनाव से पहले राजनीतिक दल बनाना शुरू कर देंगे। इसमें हस्तक्षेप करना हमारा काम नहीं है। हम कानून नहीं बना सकते।"

बारिश की वजह से हाईवे का हिस्सा ध्वस्त, 19 मरे

बारिश की वजह से हाईवे का हिस्सा ध्वस्त, 19 मरे

सुनील श्रीवास्तव 
बीजिंग। अपनी हरकतों को लेकर विश्व भर के अन्य देशों को समय-समय पर परेशान करके रखने वाले ड्रैगन (चीन) के ऊपर जल-जले की मार पड़ गई है। भारी बारिश की वजह से हाईवे का हिस्सा ढहकर पानी में बह गया है। इस हादसे में 19 लोगों की मौत हो गई है। मौके पर पहुंची राहत टीमें मलबे में दबे लोगों को रेस्क्यू कर उन्हें इमरजेंसी सेवाएं देने में जुटी हुई है। चीन के गुआनडोंग प्रांत में आई भारी बारिश और तूफान की चपेट में आकर हाईवे का एक बड़ा हिस्सा ढह गया है। हाईवे के ध्वस्त हो जाने से हाईवे पर गाड़ियों में सवार होकर आवागमन कर रहे 19 लोगों की मौत हो गई है। चीन के स्टेट मीडिया के मुताबिक मंगलवार की देर रात आई भारी बारिश और तूफान की वजह से हाईवे का हिस्सा ढहने के कारण 18 से अधिक गाड़ियां हाईवे के मलबे के नीचे दब गई है। मलबे में दबी गाड़ियों के भीतर तकरीबन 50 लोग सवार थे, जिनमें से 19 लोगों की मौत हो गई है और बाकी बचे 30 लोगों को रेस्क्यू करते हुए उन्हें इमरजेंसी सेवाएं दी जा रही है।

एक साथ 10 राज्यों के 30 स्थानों पर छापेमारी

एक साथ 10 राज्यों के 30 स्थानों पर छापेमारी 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा ऐप आधारित धोखाधड़ी करने वाली निवेश योजना से संबंधित मामले को लेकर देश के 10 राज्यों के 30 स्थानों पर एक साथ की गई छापामार कार्यवाही से इस धोखाधड़ी से जुड़े लोगों में हड़कंप मच गया है। अभी तक ली गई तलाशी में मोबाइल फोन, कंप्यूटर, सिम कार्ड और एटीएम आदि जप्त किए गए हैं। बुधवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई की ओर से उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक और तमिलनाडु समेत देश के 10 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के 30 स्थान पर एक साथ छापामार कार्यवाही की गई है। पूरे योजनाबद्ध तरीके से केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा की गई यह छापामार कार्यवाही ऐप आधारित धोखाधड़ी वाली निवेश योजना से संबंधित मामले को लेकर अंजाम दी गई है। ताबड़तोड़ छापामार कार्यवाही कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा अभी तक विभिन्न स्थानों पर ली गई तलाशी में मोबाइल फोन, कंप्यूटर हार्ड ड्राइव, सिम कार्ड, एटीएम एवं डेबिट कार्ड, ईमेल खाता तथा विभिन्न दस्तावेजों सहित अनेक महत्वपूर्ण डिजिटल सबूत जप्त किए गए हैं। देश भर के 10 राज्यों के 30 ठिकानों पर की गई इस कार्यवाही से धोखाधड़ी वाली निवेश योजना से जुड़े लोगों में अब हड़कंप मचा हुआ है।

लकड़ी निर्माण कंपनी में विस्फोट, 5 लोगों की मौत

लकड़ी निर्माण कंपनी में विस्फोट, 5 लोगों की मौत 

अखिलेश पांडेय 
हनोई। वियतनाम के दक्षिणी प्रांत डोंग नाई में एक लकड़ी निर्माण कंपनी में बुधवार सुबह हुए एक विस्फोट में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई। एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, यह घटना प्रांत के विन्ह कुउ जिले में स्थानीय समयानुसार सुबह 08:30 बजे हुई। इसमें पांच लोगों की मौत हो गयी और 10 से अधिक लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें एक ही हालत गंभीर है। फिलहाल, विस्फोट का कारण संभवतः बॉयलर की खराबी बताया जा रहा है। मामले की जांच जारी है।

राष्ट्रपति की यात्रा चुनावी माहौल बनाने की कवायद

राष्ट्रपति की यात्रा चुनावी माहौल बनाने की कवायद 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। शिवसेना उद्धव के नेता संजय राउत ने कहा है कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को चुनाव में माहौल बनाने के लिए अयोध्या भेजा गया है, क्योंकि जिस समय प्रभु श्री राम जी की अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा हो रही थी, उस समय उन्हें वहां पर नहीं बुलाया गया था। बुधवार को शिवसेना उद्धव के नेता संजय राउत ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की बुधवार को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में श्री राम मंदिर में रामलला के दर्शन को चुनावी माहौल बनाने की कवायद बताया है। शिवसेना उद्धव के नेता संजय राउत ने कहा है कि लोकसभा चुनाव 2024 की प्रक्रिया चल रही है, इसीलिए महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को अयोध्या में श्री रामलला के दर्शन की यात्रा पर भेजा गया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि जिस समय अयोध्या के नवनिर्मित मंदिर में प्रभु श्री राम जी की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा हो रही थी, उस समय राष्ट्रपति को वहां पर नहीं बुलाया गया था। उस समय महामहिम राष्ट्रपति को बड़े धार्मिक कार्यक्रम से दूर रखा गया था। लेकिन अब लोकसभा चुनाव का तीसरा चरण चल रहा है, इसलिए चुनावी माहौल बनाने के लिए राष्ट्रपति को अयोध्या भेजा गया है।

पेड़ से टकराई अनियंत्रित गाड़ी, 3 की मौत, 7 घायल

पेड़ से टकराई अनियंत्रित गाड़ी, 3 की मौत, 7 घायल 

संदीप मिश्र 
पीलीभीत। शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे लोगों की गाड़ी अनियंत्रित होने के बाद सड़क किनारे खड़े पेड़ से टकरा गई। इस हादसे में तीन महिलाओं की मौत हो गई है। गंभीर रूप से घायल हुए सात अन्य लोगों को ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुधवार को पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के घनारा घाट के नजदीक हुए हादसे में उत्तराखंड के शक्ति फार्म इलाके में रहने वाले कुछ लोग गाड़ी में सवार होकर शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे।  10 लोगों को लेकर सड़क पर फर्राटा भरते हुए दौड़ रही कार जब पीलीभीत के पास घनारा घाट रोड पर पहुंची तो अचानक ड्राइवर गाड़ी के ऊपर से अपना नियंत्रण खो बैठा। परिणाम स्वरुप अनियंत्रित हुई गाड़ी सड़क किनारे खड़े पेड़ से टकरा गई। हादसा होते ही मौके पर बुरी तरह से चीख पुकार मच गई। कार में फंसे लोगों की चीख पुकार को सुनकर मौके की तरफ दौड़े लोगों ने पुलिस को हादसे से अवगत कराते हुए गाड़ी में फंसे लोगों को बाहर निकलना शुरू कर दिया। इसी बीच भी मौके पर पहुंच गई और उसने स्थानीय लोगों की सहायता से गाड़ी से निकाले गए लोगों को अस्पताल भिजवाया। जहां चिकित्सकों ने तीन महिलाओं को मृत घोषित कर दिया है। बाकी बचे सात लोगों का अस्पताल में ट्रीटमेंट चल रहा है। पुलिस ने तीनों महिलाओं के शो कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। हादसे की जानकारी मिलते ही एसडीएम पूरनपुर, नायब तहसीलदार और पुलिस उपाधीक्षक प्रतीक दहिया ने मौके पर पहुंचकर घायलों का हाल-चाल जाना और उन्हें अस्पताल भिजवाया।

कृष्णा को 'नेवी' का नया वाइस चीफ बनाया

कृष्णा को 'नेवी' का नया वाइस चीफ बनाया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। एडमिरल दिनेश कुमार त्रिपाठी के स्थान पर वॉइस एडमिरल कृष्णा स्वामी नाथन को नेवी का नया वाइस चीफ बनाया गया है। जिस समय उन्हें यह पदभार सौंपा गया तो इस दौरान नेवी द्वारा उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया है। बुधवार को वॉइस एडमिरल कृष्णा स्वामी नाथन को नेवल स्टाफ का नया वाइस चीफ बनाया गया है। वाइस चीफ बने वाइस एडमिरल स्वामी नाथन एडमिरल दिनेश कुमार त्रिपाठी के स्थान पर अब यह नई जिम्मेदारी संभालेंगे।  बुधवार को राजधानी दिल्ली के साउथ ब्लॉक में आयोजित किए सेरेमनी के दौरान जब वॉइस एडमिरल कृष्णा स्वामी नाथन को वाइस चीफ का पदभार सौपा गया तो इस दौरान उन्हें नेवी द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया है। इससे पहले वाइस चीफ नियुक्त किए गए वाइस एडमिरल कृष्णा स्वामी नाथन ने नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचकर शहीदों को नमन किया है।

कमर्शियल एलपीजी गैस-सिलेंडर के दामों में कटौती

कमर्शियल एलपीजी गैस-सिलेंडर के दामों में कटौती 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। 1 मई से महंगाई के मोर्चे पर बड़ी राहत मिली है। क्योंकि, एलपीजी सिलेंडर के दामों में कटौती हुई है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दामों में संशोधन किया है। 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल एलपीजी गैस-सिलेंडर की कीमत बुधवार से 19 रुपये कम हो गई है। यह सिलेंडर दिल्ली में 1,745.50 रुपये में मिल रहा है।
एलपीजी के दामों में कटौती के बाद दिल्ली में 19 किलोग्राम के कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमत 1,764.50 रुपये से घटकर 1,745.50 रुपये हो गई है। मुंबई में नई कीमत 1,698.50 रुपये तय की गई। चेन्नई में कीमत 1,911 रुपये है, जबकि कोलकाता में 20 रुपये की कटौती के बाद यह कीमत 1,859 रुपये है। गैस सिलेंडर की कीमतों में यह कटौती ग्लोबल ऑयल प्राइस में हालिया गिरावट के कारण आई है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-194, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बृहस्पतिवार, मई 02, 2024

3. शक-1945, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 33 डी.सै., अधिकतम- 17+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...