सोमवार, 9 दिसंबर 2019

हार ने विपक्ष को सबक सिखाया: मोदी

बोकारो! झारखंड में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के तमाम बड़े नेता चुनावी दौरा कर रहे हैं! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड में मोर्चा संभाले हुए हैं! आज यानी सोमवार को बरही के बाद बोकारो में एक जनसभा को संबोधित करते हुए न सिर्फ रघुवर सरकार के पांच वर्षों की उपलब्धियां गिनाईं, बल्कि कांग्रेस और जेमएम को भी घेरा!


इस दौरान उन्होंने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये संयोग ही है कि आज जब मैं दुबारा बीजेपी की सरकार बनाने की अनुरोध करने आया हूं तो सामने एक गठबंधन झारखंड को लूटने की मशक्कत कर रहा है और देश के अन्य राज्य ने बड़ा फैसला दिया है! उन्होंने कहा कि कर्नाटक में उपचुनाव के नतीजे आए हैं! आज कर्नाटक में जो नतीजे आए हैं , उससे कर्नाटक की सरकार का भविष्य तय होने वाला था! उन्होंने कहा कि कर्नाटक के चुनाव से तीन बड़े संदेश निकले हैं! पहला ये कि देश की जनता स्थिर और स्थायी सरकार चाहती है! दूसरा कांग्रेस और उसके साथी जो पिछले दरवाजे से सत्ता पाने के लिए जनादेश को धोखा देते हैं, जनता का अपमान करते हैं, जनता चुप रहती है लेकिन पहला मौका मिलते ही न सिर्फ उन्हें सबक सिखाती है बल्कि उनका सुपड़ा साफ करती है!


तीसरा संदेश ये है कि देश में स्थिर सरकार और विकास के लिए जनता का भरोसा सिर्फ और सिर्फ बीजेपी पर ही है! ऐसे तीन मजबूत संदेश आज कर्नाटक के महत्वपूर्ण उपचुनाव से निकले हैं! साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके साथियों के गठबंधन से झारखंड को भी सावधान रहने की जरूरत है! ये सुधरने वाले नहीं है! कांग्रेस और उसके साथी झारखंड में छल-कपट करना चाहते हैं! वो झारखंड को फिर अस्थिरता की ओर धकेलना चाहते हैं! पीएम मोदी ने कहा है कि दशकों से ये क्षेत्र प्राकृतिक संपदा के लिए मशहूर है! यहां के प्राकृतिक संसाधनों ने देश के विकास में बड़ी भूमिका निभाई है! लेकिन यहां से जो संपदा निकलती थी, उसका उपयोग यहां के भी विकास पर हो, इसकी सुध कांग्रेस और जेएमएम की सरकार ने कभी नहीं ली!


अनियंत्रित बस पलटी, 40 लोग घायल

बस अनियंत्रित होकर पलटी हादसे में 40 लोग घायल
सुमित शर्मा 
मुरादाबाद :शादी के बाद दिल्ली स्थित ससुराल से वापस हरदोई स्थित मायके जा रही नवविवाहिता सहित 40 लोगों से भरी प्राइवेट बस सोमवार सुबह मूंढापांडे के गणेश घाट के पास अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में बस में सवार नवविवाहिता सहित 40 लोगों को चोट आई। 


इनमें से आठ लोगों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि बस चालक को नींज की झपकी आने के कारण हादसा हो गया। हालांकि पुलिस अभी इस संबंध में जांच कर रही है। हरदोई के शाहबाद निवासी शफीक अहमद की भांजी उजमा की 5 दिसंबर को दिल्ली के शाहदरा निवासी आफताब आलम के साथ धूमधाम के साथ शादी हुई थी। आठ दिसंबर को उजमा के मायके वाले उसे लेने के लिए दिल्ली गए। सुबह तड़के प्राइवेट बस से सभी लोग उजमा को लेकर हरदोई के लिए रवाना हुए। 


बस में उजमा समेत 40 लोग सवार थे। प्राइवेट बस मूंढापांडे थाना क्षेत्र के गणेश घाट के पास पहुंची ही थी कि तेज रफ्तार होने के कारण सड़क किनारे खाई में पलट गई। बस में सवार लोगों की चीख-पुकार सुनकर राहगीर रुके और पुलिस को सूचना दी। मूंढापांडे थाना प्रभारी शक्ति सिंह फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। हादसे मर जख्मी लोगो को मूंढापांडे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।


85 लाख का केला खा गया ये शख्स

न्यूयॉर्क! अमेरिका के एक आर्ट शो में प्रदर्शित किया गया एक केला टेप के जरिए दीवार से चिपकाकर रखा गया था! 85 लाख रुपए की कीमत वाले इस केले को एक शख्स खा गया! अब सोशल मीडिया पर वह केला खाने वाला वीडियो वायरल हो रहा है! यह केला इटली के आर्टिस्ट मौरिजिओ केटलन की कलाकारी का नमूना था जिसे उन्होंने फ्रांस के एक आदमी के हाथों 85 लाख रुपए से ज्यादा में बेचा था! बाद में इस केले को आर्ट शो में जगह दी गई! अमेरिकन आर्टिस्ट डेविड डटुना ने इस केले को दीवार से निकालकर खा लिया! डेविड डटुना ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें वह दीवार के पास जाकर केला निकालकर खाते दिख रहे हैं! वह कहते हैं 'आर्ट परफार्मेंस, भूखा आर्टिस्ट, शुक्रिया बहुत अच्छा लगा!' हालांकि उनके इस काम पर कोई विवाद नहीं हुआ, 15 मिनट के अंदर वहां दूसरा केला लगा दिया गया!


कोहली की डाई देख हैरान हुए दर्शक

'सुपरमैन' कोहली को देख हैरान हुए दर्शक,सोशल मीडिया पर हो रही है चर्चा


हैदराबाद! कप्तान विराट कोहली का कैच लपकने का सुपरमैन अंदाज़ पूरे सोशल मीडिया पर छाया हुआ है उन्होने दूसरे टी-20 मैच में ऐसा कैच पकड़ा कि हर जगह उसकी चर्चा हो रही है! लेंडल सिमंस की तूफानी पारी के दम पर वेस्टइंडीज ने रविवार को ग्रीनफील्ड अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में भारत को आठ विकटों से हरा दिया! इस जीत के बाद विंडीज ने तीन मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है!


हैदराबाद में खेले गए पहले टी-20 मैच में भारत ने जीत दर्ज कर बढ़त ले ली थी! अब मुंबई में खेला जाने वाला आखिरी मैच निर्णायक बन गया है! पहले बल्लेबाजी करने वाली भारत ने युवा शिवम दुबे (54) के पहले अंतर्राष्ट्रीय अर्धशतक के दम पर 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 170 रन बनाए! विंडीज ने सिमंस की अगुआई में अपने बल्लेबाजों के संयुक्त प्रदर्शन के बूते 171 रनों के लक्ष्य को 18.3 ओवरों में हासिल कर लिया!


सिमंस को हालांकि वॉशिंगटन सुंदर ने कैच छोड़कर जीवनदान दिया! इस जीवनदान का सिमंस ने पूरा फायदा उठाया और 45 गेंदों पर नाबाद 67 रनों की पारी खेली! उनकी पारी में चार चौके और इतने ही छक्के शामिल रहे. सिमंस के अलावा सलामी बल्लेबाज एविन लुइस को भी जीवनदान मिला! लुइस का कैच विकेटकीपर ऋषभ पंत ने छोड़ा। यह दोनों कैच एक ही ओवर में भुवनेश्वर की गेंद पर छूटे! लुइस ने 35 गेंदों में तीन चौके और तीन छक्के लगा 40 रन बनाए। आउट होने से पहले उन्होंने सिमंस के साथ पहले विकेट के लिए 73 रनों की साझेदारी की!


कोहली ने पकड़ा बेहतरीन कैच: टीम इंडिया बेशक इस मैच में हार गई हो लेकिन टीम के कप्तान कोहली की बात हर जगह हो रही है! उन्होंने मैच में एक शानदार कैच पकड़कर बता दिया कि वह दुनिया के सबसे फिट प्लेयर क्यों हैं!


हाईवे पर चलती कार बनी आग का गोला

नेशनल हाईवे सर्विस रोड फ्लाईओवर पर, लग्जरी कार बनी आग का गोला


सर्विस रोड पर चलती कार बनी आग का गोला,


हापुड़! भयंकर आग कार में सवार सभी लोग ने बचाई कूदकर अपनी जान, हापुड़ के कोतवाली पिलखुवा के नेशनल हाईवे फ्लाईओवर के ऊपर हापुड़ से गाजियाबाद की तरफ जा रही लग्जरी कार में अचानक आग लग गई! देखते देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया, चलती कार बनी आग का गोला, मालिक के सामने ही गाड़ी जलकर हुई राख! कार में सवार थे कई लोग कूदकर बड़ी मुश्किलों से बचाई अपनी जान! सूचना देने पर मौके पर पहुंची चौकी इंचार्ज कॉलेज गेट हरि सिंह आग ब्रिगेड की गाड़ी ने पाया आग पर काबू! लेकिन जब तक गाड़ी हो चुकी थी जलकर पूरी तरह राख।


सरकार पर 'किसान विरोधी' होने का आरोप

कलेक्ट्रेट में गरजे लोकदल कार्यकर्ता, प्रदेश सरकार पर लगाया किसान विरोधी होने का आरोप


एसएल कश्यप
सहारनपुर। प्रदेश सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय लोकदल से जुडे़ अनेक कार्यकर्ता कलक्ट्रेट पहुंचे और उन्होंने डीएम कार्यालय के बाहर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राव कैसर सलीम ने कहा कि प्रदेश में बलात्कार जैसी घटनाओं की बाढ़ आ चुकी है। प्रदेश सरकार कुंभकर्णी नीदं सोया हुआ है। कहा कि जब से प्रदेश में भाजपा की सरकारी आयी है, तभी से गन्ना मूल्य नहीं बढ़ाया गया है। उर्वरकों की कीमतें आसमान छू रही हैं। किसानों का बकाया भुगतान नहीं हो रहा है। उन्होंने गन्ने का भाव 450 रूपये प्रति कुंतल की मांग की। इस दौरान प्रदेश महासचिव चैधरी धीर सिंह, कुशलपाल, राव शहजाद, अराफात, अर्जुन सिंह, धनवीर सिंह, सागर चैधरी, महावीर सिंह, प्रीतम सिंह सैनी, जय भगवान, रामपाल, राजबीर सिंह, विक्रम सिंह आदि मौजूद रहे।


मछली-मंडी में फूड डिपार्टमेंट का छापा

घंटाघर मछली-मंडी के अंदर फ़ूड डिपार्टमेंट का छापा


हैदर अली 


गाजियाबाद! फ़ूड डिपार्टमेंट गाजियाबाद को मिल रही लगातार शिकायत के आधार पर फ़ूड डिपार्टमेंट के चीफ एनएनझा द्वारा व उनकी टीम घंटाघर स्थित मछली-मंडी में औचक निरीक्षण करने के लिए पहुंचे! जहां पर तीन दुकानों को बिना लाइसेंस के पाया गया! जिसमें फिरोज चिकन, शाहनवाज चिकन, कयूम चिकन नाम की दुकानों पर मानकों के अनुरूप कार्य नही हो रहा था और बिना लाइसेंस के यह लोग चिकन को बेच रहे थे! जिनकी शिकायत लगातार फूड डिपार्टमेंट को मिल रही थी! आज कार्रवाई की गई, जिसमें 80 किलो चिकन डिस्ट्रॉय किया गया और दुकानों को सीज करने के बाद हिदायत दी गई कि अगर दुकान दोबारा खुली दिखाई दी तो उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी! इसी क्रम में और दुकानों को भी चेक किया गया और उनकी भी जांच की गई!


पात्र लाभार्थी को मिले पेंशन योजना लाभ

गौतमबुध नगर! सरकार की विभिन्न पेंशन योजनाओं का पात्र लाभार्थियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से डीएम बीएन सिंह के निर्देश पर लगाया गया शिविर!


उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश के क्रम मे सभी पात्र व्यक्तियों को पेंशन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिलाधिकारी बी. एन. सिंह के निर्देशन मे जनपद गौतबुद्दनगर के ग्राम ऐच्छर में एकीकृत पेंशन शिविर का आयोजन किया गया। शिविर आयोजन से पूर्व शिविर की तिथि, स्थान, एवं उद्देश्यों एवं दिव्यांग पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन, निराश्रित महिला पेशन (विधवा पेशंन) एवं मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना,राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना, दिव्यांग जनो हेतु सहायक उपकरण योजना एवं विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्ति योजनाओं की जानकारी का व्यापक प्रचार प्रसार जनसामान्य मे निरन्तर किया गया। अगला पेशंन शिविर दिनांक 11 दिसंबर को  ग्राम लड़पुरा मे आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेन्द्र बहादुर सिंह के द्वारा दी गयीं। जिला सूचना अधिकारी गौतम बुद्ध नगर


यूपी कैबिनेट मीटिंग में 33 प्रस्ताव पास

लखनऊ! मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में यूपी कैबिनेट की अहम बैठक हुई। इस बैठक में योगी सरकार ने 33 प्रस्तावों को मंजूरी दी है। कैबिनेट बैठक के बाद सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने पास हुए, 33 महत्वपूर्ण प्रस्तावों के बारे में जानकारी दी। इस दौरान प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक भी मौजूद रहे।
महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश में 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट औ पॉस्को के मामलों को 74 नए कोर्ट बनाए जाएंगे।इनमें से 144 नई अदलातें केवल रेप मामले की सुनवाई करेंगी जबकि 74 अदालतें पॉस्को एक्ट वाले केसों को सुनेगी।
योगी कैबिनेट की इस अहम बैठक में बलिया लिंक एक्सप्रेस-वे, डीपीआर और प्रदेश में फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाने समेत 33 बड़ फैसलों को मंजूरी दी गई। यूपी के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि प्रदेश में 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट और पॉक्सो के मामलों को लेकर 74 नए कोर्ट बनाए जाएंगे।
मीटिंग के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक बताया कि प्रदेश में 42389 पोस्को और 25749 बलात्कार के मामले अभी पेंडिंग है। जिसके चलते यूपी सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है। ब्रजेश पाठक ने बताया कि इसके जजों की भर्ती जल्द शुरू की जाएगी। इसके अलावा हर कोर्ट का खर्च 75 लाख रुपये आएगा।
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना को बलिया से जोड़ने के लिए बलिया लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना विकास व डीपीआर के संबंध में प्रस्ताव पास हुआ है। पर्यावरण संरक्षण के तहत 29 पेड़ों की प्रजातियों को काटने के लिए पहले लेनी होगी मंजूरी। एक पेड़ काटने के लिए 10 पेड़ लगाने होंगे। एक्स्ट्रा न्यूट्रल अल्कोहल (ईएनए) पर 5 प्रतिशत वैट लगाने का प्रस्ताव पास। राज्य सरकार लगाएगी टैक्स।
नगरीय परिवहन प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए पीपीपी मोड में ग्रास कॉस्ट कांट्रैक्ट मॉडल पर लखनऊ, मेरठ, प्रयागराज, आगरा, गाजियाबाद, कानपुर, वाराणसी, मुरादाबाद, अलीगढ़, झांसी, बरेली, गोरखपुर, शाहजहांपुर तथा मथुरा-वृंदावन में वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों के संचालन संबंधी प्रस्ताव पास किया गया है। इस योजना के लिए केंद्र सरकार मदद देगी। अयोध्या, गोरखपुर व फिरोजाबाद नगर निगम सीमा के विस्तार पर मुहर लगी। 16 नई नगर पंचायतें बनाई जाएंगी। कई नगर पंचायत व नगर पालिका परिषद का होगा विस्तार। जेवर एयरपोर्ट के विकासकर्ता के चयन पर कैबिनेट ने लगाई मुहर। ज्यूरिक एयरपोर्ट से 406 रुपए प्रति यात्री के तहत प्रस्ताव पास। लखनऊ हाईकोर्ट के ट्रांजिट गेस्ट हाउस के उच्चीकरण का प्रस्ताव पास।
जैव विविधता को लेकर वृक्षों को लेकर नई गाइड लाइन तैयार, आम के देशी, तुकमी, कलमी, नीम, महुवा समेत 29 पेडों को अब नहीं काट सकेंगे, 10 पेड़ लगाएंगे तो सिर्फ एक ही पेड़ काट सकेंगे। अब 50 करोड़ के ऊपर के भवन निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी विभाग डीपीआर बनाएगा, डीपीआर बनने के बाद ही बिडिंग टेंडर होगा। सीएसटी, वैट की तरह ही सीजीएसटी से 10% का प्रोत्साहन मिलेगा। एल्कोहल के ईएनए पर अब 5% वैट लगेगा।


कर्नाटक उपचुनाव में बीजेपी की बड़ी जीत

बेंगलुरु! कर्नाटक में सत्तारूढ़ बीजेपी को 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में शानदार सफलता मिली है और पार्टी ने कुल 12 सीटों पर जीत दर्ज की है! इसी के साथ येदियुरप्पा सरकार को पूर्ण बहुमत मिल गया है! चुनाव परिणाम विपक्षी दल कांग्रेस और जेडीएस के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है!


पहले के चुनाव में इन 15 सीटों में से 12 सीटों पर कांग्रेस जीती थी! इस चुनाव में पार्टी केवल दो सीट पर जीत दर्ज कर सकी है! पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के नेतृत्व वाली जेडीएस खाता खोलने में नाकामयाब रही! पूर्व में हुए चुनाव में उसके पास तीन सीटें थीं!


सिद्धारमैया ने दिया इस्तीफा:चुनाव परिणाम में पार्टी को झटका लगने के बाद सिद्धारमैया ने नेता विपक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है! उन्होंने कहा कि हम जनता के फैसले को स्वीकार करते हैं! मैं अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष को भेज रहा हूं!


पीएम मोदी का बयान:चुनाव नतीजों के बीच झारखंड के बरही में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसने पिछले दरवाजे से कर्नाटक में जनादेश चुराया था लेकिन अब जनता ने पार्टी को सबक सीखा दिया है! मोदी ने कहा कि कुछ लोग कहते थे कि दक्षिण भारत में बीजेपी का प्रभाव सीमित है! कर्नाटक के उन लोगों को उपचुनाव में लोकतांत्रिक तरीके से सजा दी है! मोदी ने कहा, ''कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने कर्नाटक में जनादेश का उल्लंघन किया और उसकी पीठ में छुरा भोंका! इन पार्टियों को अब हार का मुंह देखना होगा' उन्होंने कहा, ''कर्नाटक का परिणाम याद रखना बहुत जरूरी है क्योंकि उठापटक की राजनीति करने वाले नेताओं के लिए यह बहुत कड़ा संदेश है!''


दिल्ली:अपहरण, रेप कर गोली मारी

नई दिल्ली! देश में अपहरण, बलात्कार और हत्या का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है, शनिवार के दिन देश की राजधानी दिल्ली के रोहणी इलाके से एक लड़की का अपहरण करके दरिन्दों ने उसके साथ रेप किया और फिर उसकी गोली मारकर हत्या करने का संगीन मामला सामने आया है। लड़की का शव दिल्ली से दूर हरियाणा के धारूएड़ा में मिला है।


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लड़की को चार गोलियां मारी गयी हैं। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है लेकिन अब तक किसी प्रकार का कोई सुराग नहीं मिला है। रविवार को लड़की के शव का चिकित्सकों के बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। बता दें कि डबवाली के पास संगरिया मंडी निवासी एक आढ़ती; अपनी 22 वर्षीय बेटी का इलाज कराने के लिए पिछले कुछ समय से दिल्ली के रोहिणी इलाके में रह रहे थे।युवती पिछले कुछ समय से डिप्रेशन का शिकार थी और दिल्ली में उसका इलाज चल रहा था। शुक्रवार शाम को साढ़े चार बजे के करीब युवती अपने घर के पास ही पार्क में घूमने की बात कहकर गयी थी लेकिन देर रात तक वापस नहीं लौटी। रात को साढ़े ग्यारह बजे तक उसका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ आ रहा था। परिजनों की पौने बारह बजे के करीब सिर्फ दो सैकेंड के लिए युवती से बात हुई और फिर मोबाइल स्विच ऑफ आने लगा। परिजनों ने युवती के व्हाट्सएप्प पर भी मैसेज किया, लेकिन कोई जवाब नहीं आया। शनिवार सुबह साढ़े पांच बजे उसके नंबर से अपने पिता के नंबर पर व्हाट्सएप्प मैसेज आया कि वो जा रही है। इसके बाद युवती से कोई सम्पर्क नहीं हो पाया।


शनिवार की सुबह साढ़े आठ बजे के करीब उन्हें धारूएड़ा थाने से लड़की का शव मिलने की सूचना मिली। मौके पर पहुंचने पर उन्हें पता लगा कि उनकी लड़की का शव तड़के साढ़े तीन व चार बजे के बीच मिला है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि, ऐसे में किसी आरोपी ने ही लड़की के मोबाइल नंबर से उसके पिता को व्हाट्सएप्प मैसेज किया हो।


बलिदान दिवस: कीर्तन दरबार का आयोजन

ऋषिकेश! गुरु तेग बहादुर माता गुजरी और गुरु गोविंद सिंह के साहबजादो की शहादत के अवसर पर निर्मल आश्रम ऋषिकेश में कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। जिसमें रागी जत्थों ने संगत को निहाल किया।


सोमवार को निर्मल आश्रम में कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ आश्रम के महंत संत जोत सिंह महाराज ने शहीदों को नमन करते हुए दीप प्रज्वलित करके किया। मौके पर उन्होंने कहा कि धर्म की रक्षा के लिए गुरु गोविंद सिंह के साहबजादो ने अपना जीवन बलिदान कर दिया। उनको याद करना ही सच्ची श्रद्धांजलि देना है। कार्यक्रम में दिल्ली से दलजीत सिंह और उनके साथियों ने संगतो को निहाल किया। जिसके बाद आश्रम में गुरु का अटूट लंगर सारा दिन चलता रहा। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद खाकर पुण्य प्राप्त किया। मौके पर निर्मल पंचायती अखाड़ा के महंत ज्ञान देव महंत जसविंदर सिंह सूरज गुलाटी अनिल सिंगर भूषण जैन मनजीत सिंह कुलदीप सिंह करमजीत सिंह गुरदीप सिंह गुरविंदर सिंह देवेंद्र सिंह दीपा सहित सैकड़ों श्रद्धालु उपस्थित रहे।


हम दो, हमारे पांच होने चाहिए: भराला

लखनऊ! अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले योगी सरकार के मंत्री सुनील भराला ने हिंदू परिवारों को तीन बच्चे पैदा करने की सलाह दी है! भराला का कहना है कि आज समाज में केवल दो बच्चे पैदा करने की मांग उठ रही है! हालांकि अभी ऐसा कोई कानून हीं है लेकिन अधिकांश हिंदू परिवार एक ही बच्चे तक सीमित हो गए हैं!


भराला ने आगे कहा कि व्यक्तिगत तौर पर मेरा मानना है कि हम पांच का विचार अपनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि हर परिवार में तीन बच्चे होने चाहिए और उनमें से एक लड़की हो! भराला का कहना है कि दादी-चाची के रिश्तों का क्या होगा! भाजपा नेता भराला ने कहा कि विशेष समुदाय को दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने पर किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिलना चाहिए! जनसंख्या पर कानून बहुत जरूरी हो गया है!


उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष पंडि़त सुनील भराला ने इससे पहले किसानों को वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए हवन कराने की सलाह दी थी! तीन नवंबर को उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सुनील भराला ने किसानों को वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए हवन कराने की सलाह दी थी! भराला ने कहा कि सरकार परंपरा के तहत यज्ञ करवाकर भगवान इंद्र देव को मनाए! इंद्र भगवान बरसात कराएंगे और सबकुछ ठीक कर देंगे!


घटिया निर्माण सामग्री,विधायक का आरोप

राणा ओबराय

जींद नगरपालिका अधिकारीयो ने एमएलए के आदेश को कर दिया बेअसर, विधायक मिड्डा ने पार्क निर्माण में घटिया सामग्री के प्रयोग का लगाया आरोप
जींद! जींद के स्थानीय विधायक डॉक्टर कृष्ण मिड्ढा ने जींद शहर के सफीदों रोड पर चल रहे अटल पार्क के निर्माण कार्य पर औचक निरीक्षण किया जिसमें विधायक ने अनेक खामियां पकड़ी और जिस तरह से घटिया सामग्री का प्रयोग निर्माण कार्य में किया जा रहा था। वह एक जांच का विषय बन गया है। विधायक ने तुरंत प्रभाव से जींद के उपायुक्त डॉ आदित्य दहिया से संपर्क किया और सैंपल भरे जाने के आदेश किए। उपायुक्त ने तुरंत प्रभाव से संज्ञान लेते हुए सड़क भवन एवं निर्माण विभाग के आला अधिकारियों को सैंपल भरे जाने के लिए भेज दिया। लेकिन नगर परिषद विभाग से उपायुक्त महोदय के निर्देश के बाद भी कोई कर्मचारी और अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। विधायक और अधिकारियों ने नगर परिषद के अधिकारियों का करीब 2 घंटे इंतजार किया लेकिन एक भी कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा मीडिया से रूबरू होते हुए विधायक ने कहा कि लगभग 5:50 करोड़ की लागत से यह निर्माण कार्य जारी है और यह क्षेत्र की मुख्य मांग थी लेकिन जिस तरह से घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है इसमें नगर परिषद जींद के अधिकारियों और ठेकेदार के बीच भ्रष्टाचार की बू आ रही है। जिसकी शिकायत वह यूएलबी डायरेक्टर से भी करेंगे।


जेवर हवाई अड्डे पर कैबिनेट की मुहर

उत्तर प्रदेश जेवर हवाईअड्डे का निर्माण करेगा ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल कैबिनेट की लगी मुहर 


लखनऊ! उत्तर प्रदेश मंत्रिमण्डल ने जेवर हवाईअड्डे के निर्माण का जिम्मा ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को सौंपने के निर्णय पर सोमवार को मुहर लगा दी। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मंत्रिमण्डल की बैठक के बाद  बताया कि जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड हवाईअड्डे के निर्माण की निविदा में सबसे उपयुक्त पेशकश रखने वाली कम्पनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को चुना गया था। कैबिनेट ने सोमवार को इस पर मुहर लगा दी है। 


उन्होंने बताया कि हवाईअड्डा निर्माण के लिये चार निविदाएं आयी थीं। उसके भारांक औसत (वेटेड एवरेज) के आधार पर ज्यूरिख हवाईअड्डा इंटरनेशनल को चुना गया है। वह सरकार को प्रति यात्री सबसे ज्यादा 406 रुपये देगा, जो सबसे ज्यादा है। सिंह ने बताया कि अनुमान है कि जेवर एयरपोर्ट का निर्माण कार्य अगले साल फरवरी तक शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह देश में अपनी तरह की पहली परियोजना है जिसमें 'टेंडर स्पेसिफिकेशन फ्रीबिड' के दौरान संशोधन के बाद तकनीकी दक्षता या वित्तीय निविदा प्रक्रिया में एक भी संशोधन की जरूरत नहीं पड़ी। नीति आयोग समेत हर जगह इसकी प्रशंसा हो रही है कि उत्तर प्रदेश में ने जो आदर्श बनाये हैं, उन्हें निविदा की बुकरूल के तौर पर सहेजा जाए।


सहकारी बैंक, बैंकिंग-अधिनियम दायरे में

एक आधिकारिक सूत्र ने संभावित बदलावों पर कहा, 'आरबीआई और वित्त मंत्रालय के बीच चर्चा काफी आगे बढ़ चुकी है। इस आशय के बदलाव वाले विधेयक को संसद के मौजूदा सत्र में ही पेश किया जा सकता है। इतना साफ है कि दोहरा नियमन खत्म हो जाएगा।'
शहरी सहकारी बैंकों का नोडल प्रभार कृषि मंत्रालय के पास है। इस संबंध में राज्य सरकारों की तरफ से भी सूचनाएं आने की संभावना है। आर गांधी समिति ने 2015 की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि 20,000 करोड़ रुपये से अधिक कारोबार वाले सहकारी बैंकों को वाणिज्यिक बैंक बना दिया जाए। इस सुझाव पर फिर से गौर किया जा रहा है। यहां तक कि इस स्तर से नीचे के सहकारी बैंकों को भी बैंकिंग अधिनियम के दायरे में लाया जा सकता है। मसलन, संकट में फंसे पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी (पीएमसी) बैंक का कारोबारी आकार 12,000 करोड़ रुपये ही था। एक अन्य सूत्र कहते हैं, 'भले ही 20,000 करोड़ रुपये की सीमा रखने पर चर्चा चल रही है लेकिन ऐसी कोई वजह नहीं है कि इसे नीचे नहीं लाया जा सकता।'


गांधी समिति ने यह भी कहा था कि सहकारी बैंकों का वाणिज्यिक बैंक में रूपांतरण 'कानूनी तौर पर सही होना' जरूरी नहीं है। इसके अलावा यूसीबी के अनियंत्रित विस्तार पर लगाम रखने के लिए शाखाओं की संख्या, परिचालन क्षेत्र एवं कारोबार पर सजग नजर रखनी होगी। बड़े यूसीबी अमूमन एक से अधिक राज्यों में मौजूद हैं और एक निश्चित सीमा से ऊपर होने पर उन्हें अधिसूचित वाणिज्यिक बैंक बनाने के सिवाय कोई चारा नहीं रह जाएगा।


बड़े शहरी सहकारी बैंक को लघु वित्त बैंक (एसएफबी) बनाने का विचार पहले ही छोड़ दिया गया है। दरअसल एसएफबी पर लाइसेंस शर्तों के तहत कई पाबंदियां होती हैं जो बांटे जाने वाले कर्ज के आकार और व्यवसाय की प्रकृति से जुड़ी होती हैं।


आरबीआई ने अपनी हालिया मौद्रिक नीति समीक्षा में यूसीबी के भविष्य को लेकर कुछ संकेत दिए। उसने कहा कि बड़ी जमाओं के बारे में जानकारी मुहैया कराने को लेकर नए दिशानिर्देश बनाए जा रहे हैं। बड़े यूसीबी पर बैंकिंग नियमन अधिनियम लागू होने के बाद बेसल-3 मानकों का पालन करना वाणिज्यिक बैंकों की ही तरह जरूरी हो जाएगा। फिलहाल शहरी सहकारी बैंक बेसल-1 मानक का ही अनुसरण करते हैं जो पुराना हो चुका है। हालांकि उन्हें बेसल-3 के अनुसरण के लिए समय दिया जाएगा। अभी तक केवल एक बार ऐसा हुआ है जब किसी यूसीबी को वाणिज्यिक बैंक बनाया गया था। यह वाकया 1996 में डीसीबी बैंक के साथ हुआ था और वह भी जबरन नहीं हुआ था। जहां तक छोटे यूसीबी का सवाल है तो वे पहले की तरह सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार के नियमन में ही बने रहेंगे। इससे अपने पूंजी ढांचे को देखते हुए उनके पास वृद्धि के सीमित अवसर ही रहेंगे। ऐसे में इससे इनकार नहीं किया जा सकता है कि आगे चलकर कोई एसएफबी या वाणिज्यिक बैंक उनका अधिग्रहण कर लें।


वाराणसी में लूट के बाद मारी गोली

ए जावेद


वाराणसी। वाराणसी में अपराधियों की ख़ामोशी और नए एसएसपी के आगमन के बाद दुरुस्त पुलिसिंग को एक बार फिर अपराधियों ने चुनौती दे डाली है। कोतवाली थाना क्षेत्र और आदमपुर थाना क्षेत्र के लगभग बॉर्डर और दो पुलिस चौकियो के बीच चंद कदमो की दुरी पर आज सुबह तीन बदमाशो ने एक व्यवसाई को गोली मार कर लूट की घटना को दुस्साहसिक तरीके से अंजाम दिया है।


घटना के सम्बन्ध में प्राप्त समाचारों के अनुसार आज अहले सुबह कतुआपुरा निवासी ओमप्रकाश जायसवाल जो विशेश्वरगंज मंडी में घी-तेल के कमीशन एजेंट के तौर पर काम करते हैं। सुबह वह अपने घर से बाहर निकले थे। मच्छोदरी कूड़ाखाना के पास तीन बदमाशों ने उनकी जेब में मौजूद पैसा छीनने का प्रयास किया तो उन्होंने इसका विरोध किया। इस पर बदमाशों ने उन्हें गोली मारकर 50 हजार रुपये छीन लिए और भाग निकले। वहीं सुबह के वक्त गोली मारकर लूट की सूचना पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी, एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह और सीओ कोतवाली बृजनंदन राय भी घटनास्थल पर पहुंच गए। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के अनुसार तमंचे से निकली गोली ओमप्रकाश की बाईं बांह को आरपार करते हुए पीठ में लगी है। एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल कर बदमाशों को चिन्हित करने का प्रयास किया जा रहा है।घटना के बाद एक्शन में आई पुलिस ने आस पास के सीसीटीवी फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है। समाचार लिखे जाने तक बदमाशो की शिनाख्त नही हो सकती है।


बताया जाता है कि घायल व्यवसाई ओम प्रकाश जायसवाल पास ही बिशेश्वरगंज मंडी में घी तेल के कमीशन एजेंट के रूप में कार्य करते है। आज सुबह वह कुछ काम से अपने आवास से मछोदरी होते हुवे जा रहे थे, तभी घात लगाए बदमाशो ने घटना को अंजाम दे डाला। घटना गायघाट पुलिस चौकी से मात्र 20 कदमो के दुरी पर हुई थी। घटना की सुचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस सुरग्गाशी में लगी है। वही दूसरी तरफ लूट का समाचार मिलते ही पुरे शहर में वाहन चेकिंग का अभियान शुरू कर दिया गया मगर कोई सफलता पुलिस के हाथ नही लगी है। पुलिस घटनास्थल और आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। मामले में पुराने अपराधियों की गतिविधिया भी खंगाली जा रही है। लबेरोड़ इस दुस्साहसिक घटना के बाद क्षेत्र में दहशत का माहोल फ़ैल गया। यहाँ एक बार फिर हम आपको आम जनता की गतिविधियों पर ध्यान केन्द्रित करवा दे कि घटना के समय आसपास काफी लोग रहे होंगे, मगर किसी ने भी साहस थोडा भी नहीं दिखाया और घटना करने के बाद बदमाश आराम से मौके से फरार हो गए। आम तौर पर बिजली पानी की समस्या के लिए सडको पर आने वाली और बवाल काटने वाली जनता सुरक्षा के इन मुद्दों पर अपराध होते हुवे खामोश देखती रहती है।


बहरहाल, पुलिस प्रकरण में अपनी तफ्तीश में जुटी हुई है। कैमरों को खंगाला जा रहा है। क्राइम ब्रांच से लेकर आदमपुर और कोतवाली पुलिस और क्षेत्राधिकारी कोतवाली के साथ साथ खुद एसपी (सिटी) दिनेश सिंह घटना के जल्द खुलासे के लिए मेहनत मशक्कत कर रहे है। एक एक छोटी छोटी गतिविधियों का बारीकी से पुलिस अध्यन कर रही है। पुलिस जल्द ही घटना के खुलासे का दावा कर रही है।


'बीयर पीना' दूध से ज्यादा फायदेमंद

शराब या बियर पीना सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। शायद इसी वजह से हमें बचपन से ही दूध पीने के फायदों के बारे में बताया जाता है। वहीं, दूसरी ओर पेटा (पीपल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल) ने दूध पीने से ज्यादा बियर पीना फायदेमंद बताया है। शारीरिक और मानसिक विकास के लिए दूध के फायदे हमें बचपन से ही बताए जा रहे हैं। इसके फायदों को देखते हुए तो कुछ परिवारों में रोजाना लोगों को एक से दो ग्लास दूध पीने के लिए दिया जाता है।


पेटा के अनुसार बियर पीना दूध से ज्यादा फायदेमंद है! बियर न सिर्फ हड्डियों को मजबूत बनाता है, बल्कि इसे पीने से उम्र भी बढ़ती है। पेटा ने लोगों को दूध न पीने की सलाह दी है।इतना ही नहीं, पेटा ने दूध पीने के कई नुकसान भी उजागर किए हैं। इसमें बताया गया है कि दूध मोटापा, डायबिटीज और कैंसर जैसी घातक बीमारियों का कारण भी बनता है।


पेटा ने यह दावा हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की एक रिपोर्ट के आधार पर किया है। इस बयान को शाकाहारी होने के फायदों से जोड़कर भी देखा जा रहा है। हालांकि इस दावे के बाद एक बड़ी बहस छिड़ गई है। बियर को एक एल्कोहल बेवरेज माना जाता है। इसे बनाने में जिन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है उसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। बियर बनाने में जौ, गेहूं, मक्का और चावल का इस्तेमाल होता है। इतना ही नहीं, बियर में मौजूद 90 प्रतिशत पानी के अलावा फाइबर, कैल्शियम, आयरन समेत शरीर को फायदा पहुंचाने वाले कई पोषक तत्व होते हैं।


बियर इंसान के हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करती है। शरीर की मांसपेशियों के विकास के लिए भी इसे काफी फायदेमंद बताया जाता है। जबकि दूध पीने से कई तरह के हृदय रोग, मोटोपा, डायबिटीज और कैंसर की बीमारियों उत्पन्न होती हैं। पेटा की तरफ से जारी बयान में यह भी बताया गया कि बियर दूध से ज्यादा फायदेमंद हो सकती है, लेकिन फिर भी वो एल्कोहो युक्त प्रोडक्ट है। जरूरत से ज्यादा बियर पीना भी सेहत के लिए खतरनाक है। इस खबर की पुष्टि खबरीलाल नहीं करता।


'फाँसी के फंदे' तैयार करने का निर्देश

10 फांसी के फंदे तैयार करने के जो निर्देश प्राप्त हुए क्या


रवि ठाकुर


पटना! बिहार की बक्सर जेल को इस सप्ताह के अंत तक फांसी के दस फंदे तैयार रखने का निर्देश दिया गया है, जिससे यह कयास लगाया जा रहा है कि ये दिल्ली के बहुचर्चित निर्भया मामले के दोषियों के लिए हो सकते हैं। बिहार की बक्सर जेल, राज्य की एकमात्र ऐसी जेल है जिसे फांसी के फंदा बनाने में महारत हासिल है। इस आशय का निर्देश पिछले सप्ताह प्राप्त हुआ था, हालांकि जेल प्रशासन को यह नहीं पता है कि फांसी के इन फंदों के लिए मांग कहां से और किस उद्देश्य से की गई है। बक्सर जेल अधीक्षक विजय कुमार अरोड़ा ने बताया कि हमें पिछले सप्ताह जेल निदेशालय से 14 दिसंबर तक 10 फांसी का फंदा तैयार करने के निर्देश मिले थे। हमें नहीं पता कि ये कहां इस्तेमाल होने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संसद हमले के मामले में अफजल गुरु को मौत की सजा देने के लिए इस जेल में तैयार किए गए फांसी के फंदे का इस्तेमाल किया गया था। 2016-17 में हमें पटियाला जेल से आदेश मिले थे, हालांकि हम यह नहीं जानते कि किस उद्देश्य के लिए वे फंदे तैयार कराए गए थे।
अरोड़ा ने कहा कि बक्सर जेल में लंबे समय से फांसी के फंदे बनाए जाते हैं और एक फांसी का फंदा 7200 कच्चे धागों से बनता है। उसे तैयार करने में दो से तीन दिन लग जाते हैं जिस पर पांच-छह कैदी काम करते हैं तथा इसकी लट तैयार करने में मोटर चालित मशीन का भी थोड़ा उपयोग किया जाता है। उन्होंने बताया कि पिछली बार जब यहां से फांसी के फंदे की आपूर्ति की गई थी, तो एक की कीमत 1725 रुपए रही थी, पर इस बार 10 फांसी के फंदे तैयार करने के जो निर्देश प्राप्त हुए हैं, उसमें पीतल के बुश जो कि गर्दन में फंसती है, की कीमत में हुए इजाफा के कारण फांसी के फंदे की कीमत में थोड़ी बढोतरी हो सकती है।
यह कयास लगाया जा रहा है कि 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में एक चलती बस में एक युवती से बलात्कार के चार दोषियों को इस महीने के अंत में फांसी दी जा सकती है। संयोग से, निर्भया मामले के दोषियों में से एक अक्षय ठाकुर बिहार के औरंगाबाद जिले का निवासी है। हैदराबाद में एक महिला के बलात्कार और उसकी हत्या के चार आरोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मौत के बाद निर्भया मामले के दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दिए जाने की मांग ने और जोर पकड़ लिया है।


पुलिस छापेमारी में सेक्स रैकेट का खुलासा

औरंगाबाद! शहर के राजेश नगर और यशवंत नगर क्षेत्र में क्राइम ब्रांच की टीम ने छापेमार कर सेक्स रैकेट का खुलासा किया है। इस दौरान पुलिस ने 4 युवतियों सहित 8 लोगों को संदिग्ध अवस्था में रंगेहाथों पकड़ा है। छापेमार कार्रवाई के दौरान पुलिस ने मौके से शराब की 480 बोतलें भी बारामद की है। हालांकि पुलिस ने प्रारंभिक पूछताछ के बाद सभी को छोड़ दिया था।


मिली जानकारी के अनुसार शहर के राजेश नगर और यशवंत नगर के होटलों में सेक्स रैकेट चलाए जाने की सूचना पुलिस को लंबे समय से मिल रही थी। क्राइम ब्रांच की टीम को शनिवार को भी ऐसी ही सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने दो अलग—अलग होटलों में दबिश देकर 4 युवतियों सहित 8 लोगों को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि मौके पर पकड़ाई अधिकतर युवतियों ने बताया कि वे घर से कोचिंग जाने के बहाने निकली थी। 18 वर्षीय छात्रा अपने बैग के साथ पकड़ी गई जो कोचिंग के लिए घर से निकली थी। एक अन्य छात्रा भी कोचिंग के लिए निकली थी जिसके हाथ में किताब और डायरी थी।


बताया गया कि इन होटलों में पहले भी छापेमारी कर पुलिस ने सेक्स रैकेट का खुलासा किया था। यहां पिछले बार एक जोड़े को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बाद में यहां से बरामद युवती की मौत हो गई थी। युवती के आत्महत्या करने का मामला सामने आया था, जबकि कई लोगों ने परिजनों द्वारा उसे मार देने की बात कही थी।


केवल 1 घंटे में 10 हजार कमा सकते हैं

नई दिल्ली। आज की जिंदगी में सर्वाइव करने के लिए हर कोई पैसे कमाना चाहता है। ऐसे में हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आप केवल 1 घंटे भी 10 हजार तक पैसे कमा सकते हैं। दरअसल, डाटा माइनिंग, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और क्लाउड सिक्योरिटी की मांग सबसे तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में हर जगह आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (Artificial intelligence) की जरूरत है। कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को इस स्किल्स की ट्रेनिंग देना चाहती हैं। इसके लिए 50,000 रुपए से लेकर 7 लाख रुपए तक दिए जाएंगे। जानें इसके लिए आपको करना क्या होगा।


बता दें, लर्निंग एंड डेवलपमेंट प्रोग्राम (Learning and Development Program) के तहत कंपनियां ऐसे टीचर्स को छोटी अवधि के लिए हायर करती हैं। इसमें खासतौर पर वो लोग होते हैं, जिन्होंने पहले इस क्षेत्र में काम कर लिया या फिर इसी थ्योरी के बारे में उन्हें पूरी जानकारी है। इस तरह के स्किल्स को सीखने के लिए 30-60 घंटों की जरूरत होती है। इसमें थ्योरी और प्रैक्टिकल की ट्रेनिंग दी जाती है। आईटी, ई-कॉमर्स, बैंकिंग, एफएमसीजी और ई-लर्निंग के सेक्टर की कंपनियां इस तरह के लोगों की हायरिंग करती हैं।


मिस यूनिवर्स 2019 का खिताब 'टुंज़ी' ने जीता

अटलांटा। अमेरिका के अटलांटा में आयोजित हुई मिस यूनिवर्स 2019 (Miss Universe 2019) प्रतियोगिता का खिताब दक्षिण अफ्रीका की ज़ोज़िबिनी टुन्ज़ी (Zozibini Tunzi) ने जीत लिया है। प्यूर्टो रिको की मैडिसन एंडरसन फर्स्ट रनर-अप जबकि मेक्सिको की सोफिया अरागॉन सेकेंड रनर-अप रहीं। गौरतलब है कि मिस यूनिवर्स 2019 प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहीं 26 वर्षीय वर्तिका सिंह टॉप 10 में भी जगह नहीं बना सकी थीं।मिस यूनिवर्स 2019 ज़ोज़िबिनी टुन्ज़ी दक्षिण अफ्रीका के सोलो की रहने वाली हैं और महिला अधिकार कार्यकर्ता हैं। 26 वर्षीय टुन्ज़ी के पास पब्लिक रिलेशन्स व इमेज मैनेजमेंट की बैचलर डिग्री है और उन्होंने पब्लिक रिलेशन्स में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री भी पूरी की है। टुन्ज़ी ने ओगिल्वी केप टाउन के जनसंपर्क विभाग में इंटर्नशिप भी किया है।मिस यूनिवर्स 2019 प्रतियोगिता के आखिरी राउंड में तीनों प्रतिभागियों से पूछा गया था, 'वह कौनसी सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है जो आज की तारीख में हमें युवा लड़कियों को सिखानी चाहिए?' इसपर विजेता ज़ोज़िबिनी टुन्ज़ी ने कहा, 'सबसे महत्वपूर्ण चीज़ जो लड़कियों को सिखानी चाहिए वह है नेतृत्व करना, समाज में अपनी जगह बनाने से ज़्यादा ज़रूरी कुछ भी नहीं हैं।'


उड़ने वाली कार लॉन्च, कीमत 4.3 करोड़

फ्लोरिडा। कुछ लोगों को यह मजाक लग रहा होगा लेकिन टेक्नोलॉजी (Technology) ने इतनी बढ़त कर ली है कि अब दुनिया में उड़ने वाली कार भी लॉन्च हो चुकी है। इस कार की स्पीड (Speed) भी हैरान कर देने वाली है। कार की सबसे बड़ी खासियत ये है की इससे उन शहरों में फायदा होगा जहां ट्रैफिक की दिक्कत रहती है। ये कार उड़ने के साथ चल भी सकती है। इस कार को फ्लोरिडा (Florida) में लॉन्च किया गया है। इसका नाम पर्सनल एयर लैंडिंग व्हीकल रखा गया है। जानें गाड़ी की कामत और इसकी खासियत के बारे में,


इस गाड़ी को चलाने के लिए गैसोलीन की जरूरत पड़ती है और हवा में इसकी सबसे तेज गति 200 मील प्रति घंटा है। वहीं, सड़क पर इसकी गति 100 मील प्रति घंटा है। हॉलैंड में बनी इस गाड़ी का तेजी से उत्पादन किया जा रहा है। इस गाड़ी को खरीदने के लिए पहले ही 70 लोगों ने बुकिंग कर दी है। इसकी कीमत लगभग 4.3 करोड़ रुपए रखी गई है। इस गाड़ी की पहली डिलीवरी 2021 तक किए जाने की संभावना है। मियामी 2020 एंड बियॉन्ड नामक कार्यक्रम में पाल-वी को प्रदर्शित किया गया।


इसमें 230 हॉर्सपावर के चार सिलेंडर इंजन लगाए गए हैं। यह गाड़ी तीन सीट वाली कार से दो सीट वाले गायरोकॉप्टर में सिर्फ 10 मिनट में बदल जाती है। गाड़ी आठ सेकेंड के अंदर शून्य से 60 मील प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है। इस उड़ने वाली गाड़ी में दो लोगों के बैठने की जगह है और इसमें 230 हॉर्सपावर के चार सिलेंडर इंजन दिए गए हैं। इस कार को कॉर्बन फाइबर, टाइटेनियम और एल्युमिनियम से बनाया गया है और इसका वजन 680 किलोग्राम है। इस कार को कॉर्बन फाइबर, टाइटेनियम और एल्युमिनियम से बनाया गया है।


शाहिदा महाराष्ट्र महिला सेल की अध्यक्ष

मुंबई! भारतीय मानव समाज सेवक संस्थान के द्वारा समाज सेविका कुमारी शेरबानो शाहिदा दरबार को महाराष्ट्र महिला सेल( इंडिया वर्किंग मैनेजमेंट) का अध्यक्ष नियुक्त किया है! शेर बानो शाहिदा को सभी ने बधाई दी, उनकी लंबी उम्र की कामना की गई! ऊंच-नीच को त्याग कर, सबका साथ, सहयोग, सहायता के साथ-साथ राजधर्म का पालन करने की अपेक्षा की गई है! जनता की मूल समस्याओं का विरोध करना, जनविकास ही हमारी प्राथमिकता है!
शिक्षा-स्वच्छता, योजनाओं का प्रचार-प्रसार समाज और एवं सुरक्षा के साथ, महिलाओं को स्वावलंबी बनाने हेतु स्वरोजगार एवं परीक्षण का कार्य संस्था का मूल उद्देश्य्य है!


औद्योगिक इमारत निर्माण में रखे ध्यान

औद्योगिक इमारतों के निर्माण के लिए उपयुक्त स्थान का चुनाव करते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना आवश्यक हैं : विद्युत्शक्ति और जल सस्ता और पर्याप्त मात्रा में मिल सके। आवश्यक मात्रा और संतोषजनक रूप में श्रम सुलभ हो। कच्चे माल और आवश्यक उपकरण को उचित व्यय और सुविधाजनक रीति से प्राप्त करने तथा प्रस्तुत माल को बाहर भेजने के लिए समुद्र या नौसंवहन योग्य नदी, रेल लाइन और पक्की सड़क हो। व्यवसायजन्य रद्दी सामानों के उचित विक्रय की सुविधा हो। भूमि भवननिर्माण योग्य हो और पड़ोस ऐसा हो जिससे भविष्य में उद्योग का कम खर्च से सुविधाजनक एवं संतोषजनक रूप से विस्तार संभव हो सके। युद्धकालीन बमबारी जैसे जोखिमों से बचने के लिए यथासंभव जनाकीर्ण एंव सामरिक महत्व के क्षेत्रों को नहीं चुनना चाहिए।


स्थान की आवश्यकता पर सावधानी से विचार करना चाहिए। विभिन्न एककों की रचना बड़ी सतर्कता से करनी चाहिए जिससे दैनिक कार्यसंचालन में शक्ति का अपव्यय न हो और न स्थान, सामग्री, श्रम या धन की बरबादी हो। आयोजन सरल होना चाहिए जिससे कम से कम खर्च में प्रतिष्ठान में कार्य करनेवालों की कार्यक्षमता अधिक से अधिक बढ़ाई जा सके और उन्हें अधिकतम सुख सुविधा प्राप्त हो सके। जलवायु की स्थिति, वायुप्रवाह की दिशा, वर्षा की मात्रा आदि पर भी उचित ध्यान देना आवश्यक है। इमारतें एकमंजिली हों या कई मंजिलों की, यह उद्योगविशेष की अपनी आवश्यकताओं, भूमि के आपेक्षिक मूल्य, भूमि की स्थिति तथा क्षेत्रफल आदि पर निर्भर है। कई मंजिलोंवाली इमारतों में अग्नि के नियंत्रण के लिए स्वचालित व्यवस्था होनी चाहिए जिससे बीमे का खर्च कम हो। अग्निकांड और संकट के समय निकल भागने का भी उचित प्रबंध आवश्यक है। लिफ़्ट और स्वचालित सोपानों की व्यवस्था भी हो सके तो अच्छा है।


यह ध्यान रखना आवश्यक है कि प्रत्येक विभाग का विस्तार समय आने पर उचित रीति और कम व्यय से किया जा सके और इससे उत्पादन में कोई ह्रास न हो। प्रतिष्ठान के विस्तार के अनुरूप जलपान एवं भोजनगृह, विश्रामकक्ष, शौचालय, बहुमूल्य वस्तुओं को रखने के लिए सुरक्षित स्थान, चिकित्सालय एवं क्रीड़ांगण आदि कल्याणकारी सुविधाएँ भी नितांत अपेक्षित हैं। वास्तु को प्रभावशाली बनाने के लिए भवन के आकार प्रकार, बनावट, सौष्ठव और सम्यक् अनुपात का ध्यान रखना चाहिए। कर्मचारियों की मनोदशा और मानसिक वृत्तियों पर रंगों के आयोजन का बड़ा प्रभाव पड़ता है, जिससे अंतत: उत्पादन के परिमाण और अच्छाई दोनों प्रभावित होते हैं। प्रतिष्ठान की भीतरी दीवालों की रँगाई हल्के रंगों से या सफेद होनी चाहिए। इमारतों में रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए जिससे निरंतर एकरूप प्रकाश मिल सके, किंतु चकाचौंध न उत्पन्न हो। प्राकृतिक प्रकाश का अधिकतम लाभ उठाना चाहिए। रात के समय कृत्रिम प्रकाश के रूप में बिखरकर आया बिजली का श्वेत प्रकाश अपेक्षित होता है। प्राय: विद्युन्नलिकाएँ (फ़्लुओरेसेंट ट्यूब लाइट) सर्वाधिक सुविधाजनक होती हैं। इसके लिए प्राकृतिक और कृत्रिम दोनों प्रकार की व्यवस्थाएँ की जा सकती हैं। तंबाकू, औषध और वस्त्रोद्योग जैसे प्रतिष्ठानों में, जहाँ ताप एवं आर्द्रता का नियंत्रण और धूलिकणों का दूर रखना बहुत आवश्यक होता है, वायु अनुकूलन की भी व्यवस्था करनी पड़ती है। औद्योगिक इमारतों का निर्माण अग्निसह होना चाहिए।


कुछ देशों में कारखानों की वृद्धि इतनी अधिक हुई है कि शहरों में उनका बनाना असंभव हो गया है। इसलिए बड़े कारखाने शहर से दूर बनाए जाते हैं और पास में ही कार्यकर्ताओं के लिए गृह, पाठशाला, उद्यान, अस्पताल, बाजार, सिनेमा आदि सभी विशेष रूप से बनाए जाते हैं। इस प्रकार प्रत्येक कारखाना एक छोटा सा नगर ही हो जाता है!


काली-सफेद मिर्च में औषधीय गुण

इसके दानों में 5 से 9 प्रतिशत तक पिपेरीन (Piperine), पिपेरिडीन (Piperidin) और चैविसीन (Chavicine) नामक ऐल्केलायडों के अतिरिक्त एक सुगंधित तैल 1 से 2.6 प्रति शत तक, 6 से 14 प्रति शत हरे रंग का तेज सुगंधित गंधाशेष, 30 प्रति शत स्टार्च इत्यादि पाए जाते हैं।


काली मिर्च सुगंधित, उत्तेजक और स्फूर्तिदायक वस्तु है। आयुर्वेद और यूनानी चिकित्साशास्त्रों में इसका उपयोग कफ, वात, श्वास, अग्निमांद्य उन्निद्र इत्यादि रोगों में बताया गया है। भूख बढ़ाने और ज्वर की शांति के लिए दक्षिण में तो इसका विशेष प्रकार का 'रसम' भोजन के साथ पिया जाता है। भारतीय भोजन में मसाले के रूप में इसका न्यूनाधिक उपयोग सर्वत्र होता है। पाश्चात्य देशों में इसका विशिष्ट उपयोग विविध प्रकार के मांसों की डिब्बाबंदी में, खाद्य पदार्थो के परिरक्षण के लिए और मसाले के रूप में भी किया जाता है।सफेद मिर्च, काली मिर्च की एक विशेष किस्म है जिसकी कटाई फसल पकने से पहले ही हो जाती है। सफेद और काली मिर्च दोनों एक ही पौधे के फल हैं; बस अपने रंग की वजह से उनका इस्तेमाल अलग हो जाता है। सफेद मिर्च का प्रयोग आमतौर हल्के रंग के व्यंजनों जैसे कि सूप, सलाद, ठंडाई, बेक्ड रेसिपी इत्यादि में किया जाता है!


वजन घटाने में लाभकारी अखरोट

अखरोट (Walnut) वजन घटाने का बेहतरीन स्रोत है। यह शरीर में थर्मोजेनिक प्रभाव पैदा करता है, जिससे हृदय की धमनियों में जमा हुआ वसा घुलनशील अवस्था (Soluble state) में आकर धीरे-धीरे खत्म होने लगता है। इस तरह से आपके हृदय (Heart) को शरीर में रक्त संचार के लिए अधि‍क मेहनत नहीं करनी पड़ती। प्राकृतिक मिनरल्स (Natural mineral) से भरपूर अखरोट में जिंक, कॉपर, फास्फोरस, आयरन और कैल्शि‍यम जैसे तत्व भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो आपके शरीर के आंतरिक अंगों को पोषि‍त कर उन्हें बेहतर तरीके से कार्य करने के लिए प्रेरित करते हैं।


अखरोट की 100 ग्राम मात्रा में लगभग 600 कैलोरी होती है। जिसे खाने से शरीर को अत्यधि‍क एनर्जी (Energy) मिलती है। जैसा कि हमने कहा है कि अखरोट वजन घटाने (Weight loss) के लिए भी बेहतरीन है, क्योंकि इसकी थोड़ी मात्रा भी आपको विटामिन एफ, सी, विटामिन बी9, बी2 और विटामिन ए मिलता है। इन सभी विटामिन और मिरनल्स के अलावा अखरोट फैटी एसिड, ओमेगा 3 और ओमेगा 6 का भी एक बेहतरीन स्रोत माना जाता है, जो आपके मस्तिष्क के अंगों के लिए बहुत फायदेमंद है और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद करते हैं।


यही नहीं, अखरोट पैंक्रियाज ग्रंथि (Pancreatic gland) में भी होने वाले कैंसर से बचाता है और महिलाओं में स्तन कैंसर (Breast Cancer) की संभावना को कम करता है। इसके अलावा यह रक्त को जमने से रोकता है और टाइप 2 डाइबिटीज से भी आपको बचाता है। रोजाना कम कम मात्रा में अखरोट को खाएं, इससे सेहत हमेशा अच्छी रहेगी। अखरोट एक अच्छा ऑप्शन माना जाता है क्योंकि इसको खाने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव मिलेगा।


विधेयक हिंदू-मुस्लिमों का अदृश्य विभाजन

मुंबई! लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक (कैब) पेश किए जाने के मद्देनजर शिवसेना ने सवाल उठाए कि क्या हिंदू अवैध शरणार्थियों की 'चुनिंदा स्वीकृति' देश में धार्मिक युद्ध छेड़ने का काम नहीं करेगी और उसने केंद्र पर विधेयक को लेकर हिंदुओं तथा मुस्लिमों का 'अदृश्य विभाजन' करने का आरोप लगाया! उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने यह भी कहा कि विधेयक की आड़ में 'वोट बैंक की राजनीति' करना देश के हित में नहीं है! पार्टी के मुखपत्र 'सामना' में एक संपादकीय में शिवसेना ने विधेयक के समय पर सवाल उठाते हुए कहा, 'भारत में अभी दिक्कतों की कमी नहीं है लेकिन फिर भी हम कैब जैसी नयी परेशानियों को बुलावा दे रहे हैं! ऐसा लगता है कि केंद्र ने विधेयक को लेकर हिंदुओं और मुस्लिमों का अदृश्य विभाजन किया है!'


साथ ही शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कुछ पड़ोसी देशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अपील की !शिवसेना ने सवाल किया, 'यह सच है कि हिंदुओं के लिए हिंदुस्तान के अलावा कोई दूसरा देश नहीं है, लेकिन अवैध शरणार्थियों में से केवल हिंदुओं को स्वीकार करके देश में एक गृह युद्ध नहीं छिड़ जाएगा?' उसने कहा, 'अगर कोई नागरिकता (संशोधन) विधेयक की आड़ में वोट बैंक की राजनीति करने की कोशिश करता है तो यह देश के हित में नहीं है.' संपादकीय में कहा गया है, 'पाकिस्तान की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अन्य पड़ोसी देशों को भी कड़ा सबक सिखाना चाहिए जो हिंदू, सिख, ईसाई, पारसी और जैन समुदायों पर अत्याचार करते हैं! शिवसेना ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहले ही दिखाया है कि कुछ चीजें ''मुमकिन” हैं! उसने जम्मू कश्मीर में कश्मीरी पंडितों का 'पुनर्वास न किए जाने' का लेकर भी भाजपा पर तीखा हमला किया!पार्टी ने कहा, ''यह स्पष्ट नहीं है कि वे (पंडित) अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद भी जम्मू कश्मीर जाएंगे या नहीं! क्या केंद्र जम्मू कश्मीर में पड़ोसी देशों के अवैध शरणार्थियों को फिर से बसाएगा! क्योंकि अब वह आधिकारिक रूप से देश के शेष हिस्से से जुड़ा हुआ है?'


हंगामे के बीच संसद में 'विधेयक' पारित

नयी दिल्ली। देश का चिर प्रतिक्षित नागरिक संशोधन बिल आज संसद में लाया गया है। बिल को प्रस्तुत किया जाये या नहीं, इस पर वोटिंग हो रही है। गृहमंत्री अमित शाह ने इस बिल को सदन में लाया। इस दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष में तीखी बहस भी हुई। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता बिल को पेश किया. इसपर अधीर रंजन चौधरी ने विरोध जताया जिसपर अमित शाह ने जवाब दिया. अमित शाह ने अधीर रंजन को जवाब देते हुए कहा कि ये बिल कहीं पर भी इस देश के अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं है।


लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने पेश किया नागरिकता संशोधन विधेयक, कहा- यह बिल 0.001% भी देश के अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं है! बिल पेश होते ही लोकसभा में हंगामा, कांग्रेस ने विरोध किया! अमित शाह ने कहा कि बिल पर चर्चा हो सकती है लेकिन इसके मेरिट पर चर्चा नहीं हो सकती! अमित शाह ने कहा- मैं सारे सवालों के जवाब दूंगा, वॉक आउट कर जाना!


क्या है उस बिल में जानिये:संशोधन बिल इसके तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है! इस विधेयक में छह दशक पुराने नागरिकता कानून में संशोधन की बात है और इसके बाद इस पर चर्चा होगी और इसे पारित कराया जाएगाा! इस विधेयक के कारण पूर्वोत्तर के राज्यों में व्यापक प्रदर्शन हो रहे हैं और काफी संख्या में लोग तथा संगठन विधेयक का विरोध कर रहे हैं! उनका कहना है कि इससे असम समझौता 1985 के प्रावधान निरस्त हो जाएंगे जिसमें बिना धार्मिक भेदभाव के अवैध शरणार्थियों को वापस भेजे जाने की अंतिम तिथि 24 मार्च 1971 तय है! प्रभावशाली पूर्वोत्तर छात्र संगठन (नेसो) ने क्षेत्र में दस दिसम्बर को 11 घंटे के बंद का आह्वान किया हैै! नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के कारण 31 दिसम्बर 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी नहीं माना जाएगा बल्कि उन्हें भारतीय नागरिकता दी जाएगी! यह विधेयक 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा का चुनावी वादा था! भाजपा नीत राजग सरकार ने अपने पूर्ववर्ती कार्यकाल में इस विधेयक को लोकसभा में पेश किया था और वहां पारित करा लिया था! लेकिन पूर्वोत्तर राज्यों में प्रदर्शन की आशंका से उसने इसे राज्यसभा में पेश नहीं किया! पिछली लोकसभा के भंग होने के बाद विधेयक की मियाद भी खत्म हो गयी!


'चंद्रयान-3' के लिए मांगे 75 करोड़

नई दिल्ली। चंद्रयान-2 के बाद अब इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) चंद्रयान-3 मिशन की तैयारी में जुट गया है। इस मिशन के लिए इसरो ने केंद्र सरकार से 75 करोड़ रुपए मांगे हैं। यह राशि इसरो ने पहले से अवंटित बजट के अलावा मांगी गई है। वित्त मंत्रालय ने बताया कि इसरो ने चंद्रयान-3 अभियान शुरु करने के लिए 75 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बजट मांगा है। मौजूदा वित्तीय वर्ष के पूरक बजट के प्रावधानों के तहत इस बजट की मांग की गई है। इसमें से 60 करोड़ रुपए मशीनरी, उपकरण और दूसरे खर्चों के लिए और बाकी 15 करोड़ रेवेन्यू खर्च के अंतर्गत मांगे गए हैं। सूत्रों ने बताया है कि इसरो को आश्वासन दिया गया है कि उसे पैसे दिए जाएंगे, लेकिन प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है।
इसरो ने 2019-2020 के दौरान कुल 666 करोड़ रुपए का बजट मांगा है, जिसमें से 11 फीसदी से ज्यादा सिर्फ चंद्रयान-3 के लिए मांगा गया है। 666 करोड़ में से 8.6 करोड़ रुपये 2022 के प्रस्तावित ह्यूमन स्पेसफ्लाइट प्रोग्राम, 12 करोड़ स्मॉल सैटलाइट लॉन्च वीइकल और 120 करोड़ लॉन्चपैड के डिवेलपमेंट के लिए मांगे गए हैं। सबसे ज्यादा डिमांड यूआर राव सैटलाइट सेंटर और सतीश धवन स्पेस सेंटर के लिए की गई है। दोनों के लिए 516 करोड़ रुपये मांगे गए हैं। बता दें कि इससे पहले इसरो चंद्रयान और चंद्रयान-2 मिशन पर काम कर चुका है। चंद्रयान में जहां सिर्फ एक ऑर्बिटर चांद तक भेजा गया था, वहीं चंद्रयान-2 में ऑर्बिटर के साथ लैंडर और रोवर भी भेजे गए थे। इसरो का मिशन लैंडर को चांद की सतह पर लैंड कराना था लेकिन क्रैश लैंडिंग के कारण उस मिशन का यह हिस्सा सफल नहीं हो सका था। हालांकि, ऑर्बिटर चांद की कक्षा में चक्कर काट रहा है और अपना काम सही से कर रहा है।


नजरबंदी से फूटा कांग्रेसियों का गुस्सा

मनीष मिश्रा 


बांदा! कांग्रेसियों को नजर बन्द कर भेजा गया जेल ,यूपी के बांदा जनपद में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे को देखते हुए, कांग्रेसियों के द्वारा मुख्यमंत्री से मिलने का प्रयास किया गया था लेकिन जनपद की पुलिस फोर्स के द्वारा समस्त कांग्रेसियों को कार्यालय में ही नजरबंद कर दिया गया! इसके बाद सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को बंदी रक्षक गाड़ी में जेल भेज दिया गया! बताया जा रहा है कि कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफिले को काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करने का कार्यक्रम तय किया गया था! इसी को लेकर पुलिस प्रशासन ने उन्हें नजरबंद कर जेल भेज दिया है!


मामला बांदा जनपद के स्टेशन रोड स्थित कांग्रेस कार्यालय का है जहां आज कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्य नाथ से मिलने जाने का कार्यक्रम था! जिसको लेकर सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा जोर शोर से तैयारी की जा रही थी! जब पूरे मामले की जानकारी पुलिस प्रशासन को लगी तभी पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर सभी कांग्रेसियों को नजरबंद कर लिया और नजर बंद करने के साथ-साथ बंदी रक्षक गाड़ी में उन्हें जेल भेजने का भी काम कर दिया! मामले की जानकारी देते हुए महिला मोर्चा की कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने बताया कि हम लोग आज अपने कार्यालय से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने जा रहे थे! तभी पुलिस के लोगों के द्वारा हम लोगों को कार्यालय में ही नजरबंद कर लिया गया और हमारे कई साथियों को गाड़ी के जरिए जेल भेज दिया गया है! हमारा उद्देश्य अपने प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलकर उत्तर-प्रदेश में होने वाली समस्याओं के विषय में अवगत कराना था! उनके साथ किसी भी प्रकार की अभद्रता का कोई कार्यक्रम नही था! हम तो केवल अपने मुख्यमंत्री योगी से मिलने जा रहे थे! हमें ना तो मुख्यमंत्री को गाली देनी थी ना ही गोली मारनी थी। और ना ही उनका बलात्कार करना था! हमें तो केवल उन्नाव में हुए जघन्य घटना के विषय में उनको जानकारी देनी थी और यह बताना था कि मुख्यमंत्री जी हमें तो लगता है कि आपको प्रदेश की बेटियों से ज्यादा गायों की सुरक्षा प्यारी है! इसलिए आप उन्नाव जैसे कांड को छोड़कर आप यहां जनपद में अपने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने आए हैं! इन सब से ऐसा प्रतीत होता है कि इस सरकार में वाकई में जंगलराज कायम हो चुका है! जिसके चलते आज प्रदेश की बहू बेटियों की आबरू सुरक्षित नहीं है।


तीन मोबाइल कंपनियों के 3 प्लान लॉन्च

नई दिल्ली! एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया ने अनलिमिटेड कॉलिंग फ्री करने के बाद अब तीन नए प्रीपेड प्लान लॉन्च कर दिए हैं। इन प्लान्स मे 56 दिन तक की वैलिडिटी के साथ कम से कम 1जीबी डेटा ऑफर किया जा रहा है। लॉन्च किए गए तीन प्लान 219 रुपये, 399 रुपये और 449 रुपये के हैं। टेलिकॉम टॉक की रिपोर्ट के अनुसार लॉन्च किया गया 219 रुपये वाला प्लान 169 रुपये वाला ही है, जो ये दोनों कंपनियां टैरिफ रिवाइज होने से पहले ऑफर कर रही थीं। हालांकि, अब यह 50 रुपये महंगा हो गया है। वहीं, दोनों कंपनियां 399 रुपये और 449 रुपये के नए प्लान भी लेकर आई हैं। इन प्लान्स में 56 दिन की वैलिडिटी मिलती है।


219 रुपये वाले प्लान में यूजर्स को रोज 1जीबी डेटा दिया जा रहा है। प्लान में बिना किसी FUP लिमिट के अनलिमिटेड कॉलिंग दी जा रही है। प्लान को सब्सक्राइब कराने वाले यूजर्स को रोज 100 फ्री एसएमएस भी दिया जा रहा है। प्लान में मिलने वाले अन्य बेनिफिट्स की बात करें तो इसमें एयरटेल फ्री हेलो ट्यून्स, विंक म्यूजिक का अनलिमिटेड ऐक्सेस और एयरटेल एक्सट्रीम ऐप का सब्सक्रिप्शन भी मिल रहा है। वहीं, वोडाफोन यूजर्स को इस प्लान में वोडाफोन प्ले ऐप का फ्री सब्सक्रिप्शन भी दिया जा रहा है।
399 रुपये वाले प्लान की बात करें को इसमें 56 दिन की वैलिडिटी के साथ रोज 1.5जीबी डेटा दिया जा रहा है। प्लान अनलिमिटेड कॉलिंग और डेली 100 फ्री एसएमएस के साथ आता है।
लॉन्च किया गया तीसरा प्लान 449 रुपये का है। दोनों कंपनियां इसमें यूजर्स को रोज 2जीबी डेटा ऑफर कर रही हैं। प्लान में देशभर में किसी भी नेटवर्क पर करने के लिए अनलिमिटेड फ्री कॉलिंग भी मिलती है। हालांकि, डेली मिलने वाले फ्री एसएमएस के मामले में दोनों कंपनियों में थोड़ा अंतर है। इस प्लान को सब्सक्राइब कराने वाले एयरटेल यूजर्स को प्लान में डेली 90 एसएमएस और वोडाफोन यूजर्स को रोज 100 एसएमएस मिलता है।
वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल और जियो के 444 रुपये और 399 रुपये वाले प्लान में फर्क
तीनों कंपनियां 339 रुपये का प्लान ऑफर कर रही हैं और इनमें यूजर्स को रोज 1.5जीबी डेटा दिया जा रहा है। प्लान में 56 दिन की वैलिडिटी और डेली 100 फ्री एसएमएस भी मिलता है। कॉलिंग की बात करें एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया यूजर्स को जहां अनलिमिटेड कॉलिंग मिलती हैं, वहीं, जियो यूजर्स को केवल जियो नेटवर्क के लिए ही फ्रई कॉलिंग मिलती है। दूसरे नेटवर्क्स पर कॉलिंग के लिए जियो यूजर्स को इस प्लान में 2000 IUC मिनट मिलते हैं।
444 रुपये वाले प्लान की बात करें तो इसमें भी जियो यूजर्स को दूसरे नेटवर्क्स पर कॉल करने के लिए 2000 मिनट ऑफर किया जा रहा है। इसके साथ ही रिवाइज किए गए 444 रुपये वाले जियो के ऑल-इन-वन प्लान में कंपनी वही सारे बेनिफिट दे रही है जो एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया अपने यूजर्स को ऑफर रही हैंं!


'हिंसा में विश्वास' रखने वालों की सरकार

तिरुवंतपुरम! केरल दौरे पर गए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि पूरे देश में महिलाओं के खिलाफ हिंसा और अत्याचार के मामले बढ़े हैं और ये सब इसलिए हो रहा है क्योंकि एक ऐसा व्यक्ति देश चला रहा है जो कि हिंसा में विश्वास करता है और पूरी ताकत अपने पास रखता है।


कांग्रेस नेता ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़ता जा रहा है। हर दिन देश में महिलाओं से बलात्कार, छेड़छाड़ और उत्पीड़न की खबरें सामने आती हैं, यह कानून के नदारद होने की स्थिति है।
अल्पसंख्यकों पर किया जा रहा है अत्याचार


उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों पर अत्याचार किया जा रहा है। उनके खिलाफ घृणा फैलाई जा रही है। दलितों के खिलाफ हिंसा हो रही है, उन्हें परेशान किया जा रहा है। आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार हो रहा है, उनकी जमीनें छीनी जा रही हैं।


प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना


वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी यूपी  की कानून-व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला है। शनिवार को प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दें। यह हम सबकी नाकामी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं, लेकिन यह उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून-व्यवस्था को भी दिखाता है।


मूर्तियां नहीं स्कूल बनवाए सरकार:राजन

नई दिल्ली! रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना की है! रघुराम राजन ने कहा है कि भारत को राष्ट्रीय और धार्मिक नायकों की बड़ी-बड़ी प्रतिमाएं बनाने के बजाए ज्यादा से ज्यादा आधुनिक स्कूल और विश्वविद्यालय बनवाने चाहिए! उन्होंने कहा है कि हिन्दू राष्ट्रवाद न सिर्फ सामाजिक तनाव को बढ़ाता है, बल्कि ये भारत को आर्थिक विकास के रास्ते से भी डिगा देता है!


मूर्तियां नहीं स्कूल-विश्वविद्यालय बनाए भारत


नरेंद्र मोदी सरकार की सामाजिक-राजनीतिक एजेंडे पर टिप्पणी करते हुए पूर्व आरबीआई गवर्नर ने कहा, “राष्ट्रीय या धार्मिक नायकों को विशाल प्रतिमाएं बनाने के बजाय भारत को ज्यादा से ज्यादा स्कूल और विश्वविद्यालय बनाने चाहिए, जहां पर यहां के बच्चों का मानसिक विकास होगा, वे ज्यादा सहिष्णु और एक दूसरे के प्रति सम्मान जताने वाले बनेंगे! इससे ये बच्चे भविष्य की कॉम्पीटिशन भरी दुनिया में अपनी जगह बनाने में कामयाब होंगे!”


तनाव पैदा करता है हिन्दू राष्ट्रवाद


रघुराम राजन ने लिखा है कि बहुसंख्यकवाद इस वक्त पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है और भारत भी इसका अपवाद नहीं है! उन्होंने लिखा, “सत्ता में जो होते हैं उनकी एक प्रवृति होती है कि वे ज्यादा से ज्यादा नियंत्रण चाहते हैं, मौजूदा सरकार भी अपवाद नहीं है, खासकर तब जब इस सरकार के सोशल और पॉलिटिकल एजेंडा का फोकस दिखता है…” राजन आगे लिखते हैं, “हिन्दू राष्ट्रवाद न सिर्फ सामाजिक तनाव पैदा करेगा, जो किसी भी तरह से भारत के हित में नहीं है, बल्कि ये भारत के आर्थिक विकास पर भी असर डालता है, जिससे कि सामाजिक तनाव और भी बढ़ता है!”


रघुराम राजन ने सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग के लिए भी नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की है! उन्होंने कहा है कि सरकार अपने ही अधिकारियों को कमजोर कर रही है, क्योंकि उन्हें भविष्य की सरकारों द्वारा भी ऐसी ही कार्रवाई का डर सताएगा! राजन ने लिखा है कि प्रोफेशनलिज्म का मतलब ये है कि जांच करने वाली और टैक्स एजेंसियों को किसी के पीछे पड़ने की इजाजत नहीं देनी चाहिए! इसके अलावा जांच एजेंसियों को ये सावधानी बरतनी चाहिए कि वे सभी बिजनेस को ही कहीं झूठ और अपराधिक न घोषित कर दें! उन्होंने कहा कि ये संदेश नहीं जाना चाहिए कि इनका राजनीतिक बदले की भावना से इस्तेमाल किया जा रहा है!


 


नागरिकता विधेयक पर संसद में घमासान

नई दिल्ली! केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पेश करने जा रहे हैं। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल इस बिल में मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता नहीं दिए जाने के प्रावधान का जबर्दस्त विरोध कर रहे हैं। इस बिल में छह दशक पुराने नागरिकता कानून में संशोधन के जरिए पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार सिर्फ गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को ही भारतीय नागरिकता देने का प्रस्ताव है। दोपहर में बिल पेश होने के बाद आज ही चर्चा भी होगी। सरकार इस विधेयक को आज ही पारित करवाना चाहेगी।


जोरदार विरोध करेगी कांग्रेसकांग्रेस संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का पुरजोर विरोध करेगी क्योंकि यह विधेयक देश के संविधान और पार्टी के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के खिलाफ है। लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने रविवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के 10 जनपथ आवास पर कांग्रेस संसदीय रणनीतिक समूह की बैठक के बाद यह बयान दिया। चौधरी के अलावा राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में मुख्य सचेतक कोडिकुन्नील सुरेश और सचेतक गौरव गोगोई सहित अन्य ने बैठक में हिस्सा लिया।


चौधरी ने संवाददाताओं से कहा, 'हम संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध करेंगे क्योंकि यह हमारे संविधान, धर्मनिरपेक्ष मूल्यों और संस्कृति के विरूद्ध है।' सुरेश ने कहा, 'हम इस विधेयक का पूरी ताकत से विरोध करेंगे क्योंकि यह संविधान विरोधी और धर्मनिरपेक्षता विरोधी है।' उन्होंने कहा कि बैठक में निर्णय किया गया कि पार्टी बलात्कार के मामले और उन्नाव में महिला को जलाने की घटना को भी संसद में उठाएगी। पार्टी देश के विभिन्न हिस्से में महिलाओं पर हमले के मुद्दे को भी उठाएगी। केंद्रीय मंत्री अमित शाह सोमवार को लोकसभा में विधेयक पेश करेंगे।


संशोधन लाएगी सीपीएम
उधर, मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पेश किए जाने पर पार्टी इसमें दो संशोधन लाएगी क्योंकि वह विधेयक के मौजूदा स्वरूप का विरोध करती है। येचुरी ने रविवार को कहा कि पार्टी दो संशोधन ला कर उन सभी शर्तों को हटाने की मांग करेगी, जो धर्म को नागरिकता प्रदान करने का आधार बनाते हैं। उन्होंने कहा, 'हम धर्म के आधार पर, वह भी तीन देशों के लोगों को नागरिकता देने वाले नागरिकता (संशोधन) विधेयक का पुरजोर विरोध करते हैं।' उन्होंने कहा कि भारत समान रूप से सभी धर्मों का घर है और सभी धर्मों के लोगों के साथ अवश्य ही समान व्यवहार होना चाहिए।


मुस्लिमों को भी मिले नागरिकता: अकाली दल
दूसरी तरफ पंजाब में शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पेश करने के एनडीए सरकार के फैसले की सराहना की। पार्टी ने चंडीगढ़ में कहा कि लंबे समय से लंबित उनकी मांग मान ली गई है। हालांकि पार्टी ने कहा कि विधेयक में सताए गए हर व्यक्ति को शामिल किया जाना चाहिए चाहे उसका धर्म कुछ भी हो। पार्टी ने कहा कि देश के धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक ढांचे के साथ ही मानवीय सिद्धांतों को ध्यान में रखते हुए, मुस्लिमों को उनके धर्म के आधार पर विधेयक से बाहर नहीं रखा जाना चाहिए था।


पूर्वोत्तर के राज्यों में विरोध प्रदर्शन
इस विधेयक के कारण पूर्वोत्तर के राज्यों में व्यापक प्रदर्शन हो रहे हैं और काफी संख्या में लोग तथा संगठन विधेयक का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि इससे असम समझौता 1985 के प्रावधान निरस्त हो जाएंगे जिसमें बिना धार्मिक भेदभाव के अवैध शरणार्थियों को वापस भेजे जाने की अंतिम तिथि 24 मार्च 1971 तय है। प्रभावशाली पूर्वोत्तर छात्र संगठन (नेसो) ने क्षेत्र में 10 दिसम्बर को 11 घंटे के बंद का आह्वान किया है।


नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी नहीं माना जाएगा बल्कि उन्हें भारतीय नागरिकता दी जाएगी। यह विधेयक 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी का चुनावी वादा था।


बीजेपी नीत एनडीए सरकार ने अपने पूर्ववर्ती कार्यकाल में इस विधेयक को लोकसभा में पेश किया था और वहां पारित करा लिया था, लेकिन पूर्वोत्तर राज्यों में प्रदर्शन की आशंका से उसने इसे राज्यसभा में पेश नहीं किया। पिछली लोकसभा के भंग होने के बाद विधेयक की मियाद भी खत्म हो गई।


असम के सीएम की युवाओं से अपील
असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और वरिष्ठ मंत्री हिमंत बिश्व शर्मा ने रविवार को दावा किया कि राज्य हित के विरोधी बल आंदोलनों के माध्यम से 'विभिन्न समुदायों के बीच कलह' पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं और युवाओं से इन आंदोलनों में शामिल होने की बजाए विकास के लिए कड़ी मशक्कत करने की अपील की। सोनोवाल ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, 'राज्य की युवा पीढ़ी को कड़ी मेहनत, समर्पण, ईमानदारी एवं निष्ठा से असम को वैश्विक मंच पर लाने का प्रयास करना चाहिए तथा उन्हें अपने जीवन का बहुमूल्य समय आंदोलनों एवं प्रदर्शनों में बर्बाद नहीं करना चाहिए।' इसी कार्यक्रम में, बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं मंत्री हिमंत बिश्व शर्मा ने लोगों से उन बलों को सफल नहीं होने देने की अपील की जो विभिन्न समुदायों के बीच कलह पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि राज्य को पिछले 40-50 वर्षों में आंदोलनों से कुछ नहीं मिला है।


बीजेपी का अपने लोकसभा सांसदों को व्हिप
लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पेश करने को देखते हुए सत्तारूढ़ बीजेपी ने अपने सभी लोकसभा सदस्यों को व्हिप जारी किया कि 9 दिसम्बर से तीन दिनों तक सदन में मौजूद रहें। एक सूत्र ने बताया कि व्हिप में बीजेपी के सभी सांसदों से सदन में मौजूद रहने के लिए कहा गया है। विधेयक के लोकसभा में आसानी से पारित होने की संभावना है क्योंकि 545 सदस्यीय सदन में बीजेपी के 303 सांसद हैं।


यूपी में 16 नई नगर पंचायत, 4 का विस्तार

डॉ अशद निजामी की रिपोर्ट


लखनऊ। राज्य सरकार धार्मिक नगरी अयोध्या का सीमा विस्तार करने जा रही है। अयोध्या के आसपास के 41 गांवों को नगर निगम सीमा में शामिल किया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में  सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल सकती है। इसके साथ ही प्रदेश के 20 जिलों में 16 नई नगर पंचायतें बनाने और चार का सीमा विस्तार करने संबंधी प्रस्ताव को भी मंजूरी मिल सकती है।
प्रदेश कैबिनेट की अमूमन मंगलवार को होने वाली बैठक इस बार सोमवार को हो रही है। कैबिनेट की बैठक में सबसे महत्वपूर्ण प्रस्ताव अयोध्या सीमा विस्तार का बताया जा रहा है। अयोध्या का सीमा विस्तार करना चाहती है, जिससे यहां आने वालों को बेहतर सुविधाएं दी जा सकें। इसके साथ ही बहराइच, सिद्धार्थनगर, बदायूं व कानपुर देहात समेत 20 जिलों में चार नगर पंचायतों का सीमा विस्तार किया जाएगा और 16 नई बनाई जाएगी।
नोएडा व ग्रेटर नोएडा के लिए बनेगी पटरी दुकानदार नीति
इसके साथ ही नोएडा व ग्रेटर नोएडा में फुटपाथ पर कारोबार करने वाले दुकानदारों के लिए बनी नियमावली में संशोधन किए जाने संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी मिल सकती है। नियमावली को संशोधित करते हुए इसमें फुटपाथ कारोबारियों के यूनियन के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा, जिससे उनके हित के बारे में बेहतर फैसला किया जा सके। प्रदेश में बड़े उद्योगों की स्थापना को बढ़ावा देने के लिए मेगा परियोजनाओं को रिफंड देने संबंधी प्रसताव को भी मंजूरी के लिए रखा जा सकता है। इसके अलावा पर्यटन और संस्कृति विभाग के कुछ महत्वपूर्ण प्रस्तावों को भी कैबिनेट मंजूरी के लिए रखा जा सकता है।


चीतल का शिकार करने वालों मे एक पकड़ा

रायपुर। वन विभाग के गठित टीम द्वारा रात्रि गश्त के दौरान सात दिसम्बर को मध्य रात्रि बारनवापारा तथा देवपुर परिक्षेत्र के अंतर्गत चीतल मारने वाले आरोपियों में से एक आरोपी को मौके पर ही पकड़ लिया गया। इसमें तीन अन्य सहयोगी आरोपी फरार है, जिसमें से एक वन विकास निगम का कर्मचारी जावेद फारूकी भी संलिप्त है।


फरार अपराधियों की तलाश की जा रही है। मौके पर पकड़े गए आरोपी नरेन्द्र पटेल को न्यायालय में प्रस्तुत कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।सहायक प्रधान मुख्य वन संरक्षक अरूण पांण्डेय ने बताया कि सात दिसम्बर की रात्रि एक वाहन कार क्रमांक-सी.जी.-06 जी.पी. 8910 संदिग्ध अवस्था में हरदी बीट के समीप बार से पकरीद मार्ग में देखा गया।


रात्रि गश्त के दल द्वारा इसका परीक्षण करने पर दो मृत चीतल को कार की डिक्की में मारकर रखे पाया गया है। इसके अलावा एक नर चीतल घटना स्थल पर मृत पाया गया। इसे जब्त कर वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। रात्रि गश्त के दल में बारनवापारा तथा देवपुर वन परिक्षेत्रों के अधिकारी एवं कर्मचारियों आर.एस. मिश्रा, कृषाणु चन्द्राकर, पी.के. सिन्हा, मो. माबिया खान और सालिक राम डड़सेना के द्वारा आरोपीयों को पकड़ने में सहयोग रहा है।


सिपाही ने कमांडर को गोली मार, की खुदकुशी

रायपुर! छत्तीसगढ़ पुलिस की चौथी बटालियन के सिपाही विक्रमराम बाडेने ने कंपनी कमांडर मेलाराम कुर्रे को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया है। वहीं, कमांडर को गोली मारने के बार सिपाही ने खुद को भी गोली मारकर खुदकुशी कर ली है।


रायपुर माना की चौथी बटालियन की डी कंपनी की तैनाती झारखंड चुनाव में की गई थी, झारखंड चुनाव ड्यूटी के दौरान एक जवान ने कंपनी कमांडर को गोली मारी, फिर खुदको भी गोली मारकर खुदकुशी कर ली। खबर लिखे जाने तक किस कारण से यह घटना हुई है इसकी पुख्ता जानकारी नही मिल पाई है । फिलहाल इस घटना की जांच चल रही है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


दिसंबर 10, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-126 (साल-01)
2. मंगलवार, दिसंबर 10, 2019
3. शक-1941, मार्गशीर्ष- शुक्लपक्ष, तिथि- चतुर्दशी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:53,सूर्यास्त 05:45
5. न्‍यूनतम तापमान -9 डी.सै.,अधिकतम-21+ डी.सै., कोहरा छाया रहने की संभावना ।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...