रविवार, 16 फ़रवरी 2020

गृहमंत्री ने पदक से किया सम्मानित

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस के 73 वें स्थापना दिवस समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को पदक से सम्मानित किया। 2 नवंबर 2019 को दिल्ली के तीस हजारी कांड में वकीलों से हुई खूनी जंग को बेहद सधे हुए तरीके से हैंडल करने वाले आईपीएस हरेंद्र कुमार सिंह को उसका इनाम रविवार को मिला। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के हाथों से सम्मान हासिल करने वाले आईपीएस अधिकारी हरेंद्र कुमार सिंह वर्तमान समय में दिल्ली रेलवे पुलिस में उपायुक्त के पद पर तैनात हैं। तीस हजारी कांड के वक्त हरेंद्र कुमार सिंह उत्तरी जिले के एडिशनल डीसीपी थे। इस अवसर पर सन 2019 के पुलिस वीरता पदक से इंस्पेक्टर राहुल, रविंद्र कुमार त्यागी, सहायक उप निरीक्षक राजेंद्र कुमार और गुरमीत सिंह को सम्मानित किया गया। दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा के संयुक्त पुलिस आयुक्त डॉ. ओ. पी. मिश्रा, सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) दिनेश तिवारी, सब इंस्पेक्टर पुष्पा जग्गी को भी इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री ने पदक से सम्मानित किया। इस अवसर पर राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पुलिस पदक पाने वालों में एडिशनल पुलिस कमिश्नर डॉ. अजीत कुमार सिंगला, एडिशनल पुलिस कमिश्नर राजकुमार सिंह, डीसीपी गीता रानी वर्मा, रिटायर्ड एसीपी मोहम्मद इकबाल, एसीपी अतुल कुमार वर्मा, इंस्पेक्टर जयश्री गोसाईं, सब इंस्पेक्टर आशी कुमारी, महेश सिंह, सहायक उप-निरीक्षक सतेंद्र सिंह, राजदीप सिंह, हवलदार वीरेंद्र सिंह, प्रेमचंद, जग निवासन, पूनम वर्मा को सम्मानित किया गया। डीसीपी रेलवे हरेंद्र कुमार सिंह के साथ-साथ राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पुलिस पदक से डीसीपी मोहम्मद अख्तर, एसीपी मीना नायडू, हरीश चंद्र, मोहन सिंह सहित इंस्पेक्टर महेश कुमार, महेंद्र सिंह, अरुण कुमार सिंह, चंदा सहजवानी, सब-इंस्पेक्टर किरन सेठी, एएसआई भैरों सिंह, विजयन जी, वेदपाल सिंह को भी सम्मानित किया गया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस अवसर पर सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) लक्ष्मी नायक को उत्कृष्ट प्रशिक्षण के लिए गृह मंत्री सेवा पुलिस पदक से सम्मानित किया। इस अवसर पर तीन थानों को साल का सबसे बेहतर थाना घोषित होने पर ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। पहला स्थान सदर बाजार, दूसरा स्थान कालका जी और तीसरा स्थान फर्श बाजार थाने को मिला। इन थानों का चयन कार्य कुशलता और रख-रखाव के आधार पर किया गया था। संबंधित थानों के एसएचओ ने अपनी-अपनी ट्रॉफी केंद्रीय गृह मंत्री से प्राप्त कीं। केंद्रीय गृहमंत्री ने इस अवसर पर विशेष पुलिस आयुक्त नुजहत हसन, एडिशनल पुलिस कमिश्नर शीते को भी पदक देकर सम्मानित किया। दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के डीसीपी और जवाहर लाल नेहरू विवि में हुए फसाद की जांच में जुटे जॉय टिर्की को केंद्रीय गृह मंत्री ने राष्ट्रपति सराहनीय पुलिस सेवा पदक से सम्मानित किया।


उड़ीसा में पेपरलैस बजट किया पास

भुनेश्वर। आजकल पर्यावरण को बचाने के लिए काफी प्रयास और कोशिश हो रही हैं लेकिन उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक ने इस दिशा में बड़ा उदाहरण पेश किया है।
उड़ीसा सरकार ने पेपरलेस बजट पेश कर नई नजीर पेश की है। सरकार ने फैसला लिया है कि आने वाले समय में भी पूरी तरह से पेपरलेस बजट पेश किया जाएगा। इसके अलावा कागज की बर्बादी बचाने के लिए राज्य सरकार ने कर्मचारियों के वेतन और पेंशन के दस्तावेज को भी एक पन्ने में समेटना शुरू कर दिया है। अब ये सब दस्तावेज ऑनलाइन तैयार किए जा रहे हैं ताकि पेपर की बर्बादी न होने पाए।
सरकार ने पेपरलेस बजट पेश कर कई क्विंटल कागज की खपत और बर्बादी होने से बचा लिया। अब सरकार ने पर्यावरण को बचाने व पेड़ों को संरक्षित करने की दिशा में कदम उठाते हुए सरकार ने सभी विभागों और निदेशालयों में ओडिशा सचिवालय वर्कफ्लो ऑटोमेशन सिस्टम लागू किया है। इसके जरिये सूचनाओं और आंकड़ों को सीमित कागजी कार्रवाई में सुरक्षित रखा जाता है।


प्रदर्शनकारियों से नहीं मिले गृहमंत्री

नई दिल्ली। शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात नहीं हो पाई है। रविवार सुबह प्रदर्शकारियों ने अमित शाह से मिलने के लिए मार्च निकाला था, लेकिन पुलिस से बातचीत के बाद प्रदर्शनकारी लौट गए। हालांकि इलाके में भारी सुरक्षाबल तैनात है। एडिशनल DCP कुमार ज्ञानेश ने कहा कि स्थिति सामान्य और नियंत्रण में है। कुछ प्रदर्शकारी बैरिकेड्स तक आए थे।उनसे जब अमित शाह से मिलने अपॉइंटमेंट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने ये बात स्वीकार की और बातचीत के बाद वे वापस चले गए। इससे पहले डीसीपी साउथ ईस्ट आरपी मीणा ने कहा, शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों ने हमें बताया कि वे गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के लिए मार्च निकालना चाहते हैं।लेकिन हमने इसके लिए मना कर दिया क्योंकि उनके पास अपॉइंटमेंट नहीं था।


ओडिशा सरकार ने दीया होली का तोहफा

भुवनेश्वर। ओडिशा का नवीन पटनायकर सरकार ने राज्य कर्मियों को होली से पहले बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने कर्मचारियों का महंगाई भत्ते (डीए) में बढ़ोत्तरी को मंजूरी दे दी है। राज्य सरकार ने महंगाई भत्ते में 5 फीसदी की बढ़ोत्तरी की है। बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता 1 जनवरी 2020 से प्रभावी होगा। इस वृद्धि के साथ राज्य सरकार के कर्मचारियों का कुल डीए बढ़कर 14 प्रतिशत हो गया है। इससे करीब साढ़े तीन लाख सरकारी कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। वहीं डेढ़ लाख पेंशनधारकों को भी इसका लाभ मिलेगा। इसके अलावा सरकार ने 7वें वेतन आयोग के तहत 10 फीसदी एरियर को भी मंजूरी दी है। कर्मचारियों को यह एरियर साल 2017 में ओडिशा रिवाइज्ड स्केल्स ऑफ पे रुल्स (ORSP) के तहत दिया जाएगा। इसके अलावा कैबिनेट ने पिछले दो वित्त वर्ष के दौरान पेंशनधारकों को 100 फीसदी बकाया राशि जारी की है। बता दें कि मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में यह जानकारी दी गई है। इससे पहले बीते महीने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते (डीए) में पांच फीसदी की बढ़ोत्तरी का एलान किया खा। बढ़ा हुआ डीए 1 जुलाई 2019 से मान्य किया गया है। कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए यह महंगाई भत्ता एक जुलाई 2019 से लंबित था। वहीं केंद्रीय कर्मचारी भी मोदी सरकार से महंगाई भत्ते में बढ़ोत्तरी पर मुहर लगने का इंतजार कर रहे हैं। डीए में चार फीसदी की बढ़ोत्तरी हो सकती है। महंगाई भत्ते मौजूदा समय में 17 फीसदी है अगर इसमें चार फीसदी की बढ़ोत्तरी होती है तो यह 21 फीसदी हो जाएगा। वहीं मोदी कैबिनेट लंबे समय से कर्मचारियों द्वारा की जा रही न्यूनतम वेतन में बढ़ोत्तरी की मांग पर भी हामी भर सकती है। कर्मचारी न्यूनतम वेतन को 18,000 रुपए से बढ़ाकर 26,000 रुपए करने की मांग कर रहे हैं।


भेदभाव से अलग, मूल्यों पर किया कार्य

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पवित्र शिवाचार्य की परंपरा बहुत ही समृद्ध है। इसने जातिभेद से ऊपर उठकर, भारत के मूल्यों के लिए विपरीत परिस्थितियों में काम किया है। मुख्यमंत्री ने रविवार को काशी स्थित जंगमबाड़ी मठ में जगद्गुरु विश्वाराध्य गुरुकुल के शताब्दी समारोह को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “शिवाचार्य की परंपरा ने जातिभेद से ऊपर उठकर, भारत के मूल्यों के लिए विपरीत परिस्थितियों में काम किया है।” योगी बोले, “आपने 2014 के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत के गौरव को लहराते हुए और भारत की आस्था को सम्मान पाते हुए देखा है। इस गुरुकुल की समृद्ध परंपरा के साथ प्रधानमंत्री का सान्निध्य प्राप्त होना भारत की आस्था को एक नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।” उन्होंने कहा, “8वीं शताब्दी में रचे गए ‘श्री सिद्धांत शिखामणि’ जैसे पवित्र ग्रंथ का विभिन्न भाषाओं में अनुवाद और उसके मोबाइल एप का लोकार्पण प्रधानमंत्री मोदी के कर कमलों से होने जा रहा है। इस अवसर पर इस पवित्र परंपरा से जुड़े सभी जगद्गुरुओं, संन्यासियों, संतगणों तथा भक्तों को हृदय से बधाई देता हूं।” योगी ने कहा कि जीव, जगत, ईश्वर, बंधन और मोक्ष का साक्षी यह ग्रंथ सचमुच पूरे जगत के प्रत्येक मनुष्य को उसके अभीष्ट लक्ष्य तक पहुंचाने में अत्यंत सहायक है।


पूर्व अध्यक्ष बनाएंगे हरियाणा में तीसरा मोर्चा

राणा ओबराय

पूर्व सांसद एवं पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर बनाएंगे हरियाणा में तीसरा मोर्चा

करनाल। हरियाणा की राजनीति में पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर ने नए मंच के माध्यम से वापसी करने का करनाल से आज ऐलान कर दिया। उनके जन्मदिन पर समर्थकों द्वारा आयोजित स्वाभिमान दिवस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए अशोक तंवर ने कांग्रेस और बीजेपी दोनों को आड़े हाथों लेते हुए दिल्ली विधानसभा के नतीजों की तर्ज पर टीना (देयर इज नॉ ऑल्टरनेट) फैक्टर पर काम करने की राज्य में नया विकल्प खड़ा करने की घोषणा की। डॉ. भीमराव अंबेडकर, सर छोटू राम, राव तुलाराम, शहीद ए आजम भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, शहीद ऊधम सिंह आदि महापुरुषों के विचारों पर आदर्श एवं स्वाभिमानी व्यवस्था को कायम करने के लिए राज्य स्तर पर काम होगा। स्वाभिमान दिवस कार्यक्रम में बीएसपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश भारती, नरेश सारण, पूर्व सांसद प्रमोद कुरील, वृंदावन से आचार्य देवकी नन्दन, सन्त मंगला नन्द चांग, सन्त व्यास जी सहित राज्य भर से सन्त रविदास सभा, महर्षि वाल्मीकि सभा, कबीर महासभा, अम्बेडकर महासभाओं व राष्ट्रीय स्तर के अनेक सन्त समाज, राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने डॉ. अशोक तंवर को आगामी संघर्ष के लिए स्वाभिमान के साथ आगे बढ़ने का आशीर्वाद दिया।
अशोक तंवर ने बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के कथन ‘स्वाभिमानी लोग ही संघर्ष की भाषा समझते है’ और उसी तरह मान्यवर कांशीराम जी ने भी कहा कि ‘स्वाभिमानी लोग ही संघर्ष की भाषा समझते हैं’ से अपना संबोधन आरम्भ करते हुए कहा कि आज उसी स्वाभिमान का सहारा लेकर वे नई लड़ाई के लिए तैयार है। आपका साथ मिला तो 11-12 साल के हरियाणा में सक्रिय चुनावी राजनीति तथा कांग्रेस में 25-26 वर्ष के सांगठनिक अनुभव के आधार पर विश्वास दिलाता हूं कि आने वाला समय स्वाभिमानियों और संघर्षशीलों का होगा। तमिलनाडु, यूपी, बिहार, उड़ीसा आदि राज्यों का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि दशकों से कांग्रेस की वापसी इन राज्यों में नहीं हुई। इसी तरह हरियाणा में भी यही मॉडल आरम्भ हो चुका है और कांग्रेस की सरकार में माल कमाने वालों घोटालेबाजों को बस अपने आप को बचाने की चिंता है। हरियाणा, राजस्थान, एमपी और महाराष्ट्र के भाजपा और कांग्रेस के घोटालेबाज अब मिलकर सरकार चला रहे है। इसलिए नया विकल्प कांग्रेस और भाजपा मुक्त आपसी भाईचारे की व्यवस्था कायम करने का संकल्प लेना चाहिए और आने वाले दिनों में यही विकल्प विपक्ष का काम करेगा।
उन्होंने कार्यक्रम में पहुंचे अपने साथियों से आगामी तीन महीनों में नए संगठन की रणनीति तैयार करने का आह्वान किया। उन्होंने संग़ठन से जुड़ने के लिए नम्बर 8059904333 जारी करते हुए कहा कि इस नम्बर पर मिस कॉल कर आप संग़ठन से जुड़ सकते है। हरियाणा के हर गांव-शहर में स्वाभिमान के साथ जीना पसन्द करने वाले लोग रहते है। राजनीति को सौदेबाजी, किसान-मजदूर के विश्वास के साथ छल, घोटालों का बाजार करने वालों के खिलाफ नया विकल्प अच्छा नेतृत्व देगा। लाल व नीले रंग के गुब्बारों से सजे मंच से बोलते हुए अशोक तंवर ने बीजेपी को सीएए-एनआरसी के मुद्दे पर आड़े हाथों लेते हुए देश की सवा सौ करोड़ आबादी को नोटबन्दी की तर्ज पर लाइन में खड़ा करने का तुगलकी फरमान है। इस काम पर साढ़े चार लाख करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। जबकि आज बैंक आठ लाख करोड़ के एनपीए की वजह से डूबने की कगार पर है। वही किसान को फसल का भाव नही मिलता, सरकार का घाटा बढ़ रहा है। उन्होंने बीजेपी पर जाति-धर्म के नाम पर बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली में आपकी नफरत की रोटी सेंकने की योजना भी धरी रह गयी। देश मे नफरत का आज ऐसा माहौल खड़ा हो गया दिल्ली के गार्गी कॉलेज में जय श्री राम का नारा लगाते हुए बेटियों को छेड़ने का काम हुआ। उन्होंने बांग्लादेश की लड़ाई में अपने पिता दिलबाग सिंह के अनुभवों का जिक्र करते हुए बताया देश को मुद्दों से भटकाने के लिए युद्ध उन्माद पैदा किया जा रहा है। जबकि सैनिक की पीड़ा और उनका दर्द आरएसएस महसूस नही कर सकता। उन्होंने कांग्रेस के आरक्षण बचाने व अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में संशोधन का विरोध करने को ड्रामा बताते हुए कहा कि अगर प्रमोशन में आरक्षण की चिंता पहले होती तो हरियाणा में बैकलॉग नही खड़ा होता। अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधनियम ढंग से लागू किया गया होता तो गोहाना, मिर्चपुर, भगाना जैसी घटनाएं नहीं होती। उन्होंने कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता से मिले अनुभव का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस राजे-रजवाड़ो और सामंतों की पार्टी है जब तक माल कमाना जारी रहा तो पार्टी मजबूत और जब माल कमाना बन्द हुआ तो पार्टी कमजोर हुई। कांग्रेस में रहकर बीजेपी के खिलाफ संघर्ष करने वालों के साथ ज्यादती हुई तो उन्होंने स्वाभिमान के पथ पर चलते हुए पार्टी छोड़ने में देर नही की। कांग्रेस को जल्लादों ने गरीब का बूचड़खाना बना दिया। आज स्वाभिमान दिवस कार्यक्रम के चलते दलितों के सड़क पर उतरने का नाटक करने वाली पार्टी को यह नही भूलना चाहिए सुप्रीम कोर्ट में जिस अपील पर हाल का निर्णय आया है उस अपील को कांग्रेस के।मुख्यमंत्री हरीश रावत की सरकार ने दाखिल किया था। उन्होंने सन्त रविदास की वाणी में कहा गया है कि ‘ हर फूल से अच्छा पराग लाकर शहद का निर्माण करती है। उसी तरह आने वाले समय में अच्छे लोगों को जोड़ना और आपसी भाईचारे के साथ एक आदर्श व्यवस्था स्थापित करने का काम करना है। गुटबाजी और अनुशासनहीनता कांग्रेस के डीएनए में है और वो पाताल तक कांग्रेस को देख कर आए है इसलिए सन्तों की वाणी के अनुसार एक छत्ते के रूप में एकजुट होकर काम करेंगे।
कार्यक्रम में डॉ. अशोक तंवर के जन्मदिन पर समर्थकों द्वारा 44 किलो का केक काटा गया और झज्जर से आए समर्थकों ने मशहूर 44 किलो बर्फी भेंट की। इसी तरह राज्य भर के विभिन्न जिलों से आए विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने फूलमालाओं, लड्डुओं, पगड़ी, हुक्का व ढोल-बाजे से अशोक तंवर का अभिनन्दन किया। स्वाभिमान दिवस कार्यक्रम में पहुंचने से पहले डा. अशोक तंवर को करनाल के मेन बाजार से जुलूस की शक्ल में आयोजन स्थल तक लाया गया। स्वाभिमान दिवस कार्यक्रम में उमड़ी भीड़ के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग से सेक्टर 12 तक दिन भर जाम की स्थिति बनी रही। आयोजन में उमड़ी भीड़ से आयोजकों के चेहरे पर प्रसन्नता नजर आई। आयोजन स्थल पर पहुंचने पर डॉ. अशोक तंवर का गुलाब के फूलों की वर्षा कर स्वागत हुआ।


खट्टर के आयोजन से बड़ी लोकप्रियता

राणा ओबराय

मुख्यमंत्री खट्टर ने दक्षिण हरियाणा के विकास के लिए करी अनेको घोषणा, रैली के सफल आयोजन से मंत्री ओमप्रकाश यादव की बढ़ी लोकप्रियता

चंडीगढ़- महेंद्रगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश की सडक़ों के सुदृढ़ीकरण की दिशा में स्थाई समाधान सुनिश्चित करते हुए अब 6 करम या इससे अधिक चौड़ाई की सडक़ों का निर्माण लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सडक़ें) के माध्यम से करवाया जाएगा। साथ ही 6 करम से नीचे की सडक़ें जो गांव को गांव से व गांव को मंडी से जोड़ती हैं, उनका निर्माण हर विधानसभा क्षेत्र में प्रति साल 50 किलोमीटर प्रति विधानसभा क्षेत्र में मार्केटिंग बोर्ड की ओर से होगा। मुख्यमंत्री ने यह घोषणा आज महेंद्रगढ़ जिला के गांव दौंगड़ा अहीर में आयोजित प्रगति रैली में की। रैली में पहुंचने पर स्थानीय नेताओं द्वारा मुख्यमंत्री का पगड़ी बांधकर अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री ने जनसभा स्थल से ही महेंद्रगढ़ जिला के लिए 63.86 करोड़ रूपए की विकास योजनाओं व परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास किया। उन्होंने जिला के चारों विधानसभा क्षेत्रों के ग्रामीण विकास के लिए दस-दस करोड़ रूपए की राशि देने की भी घोषणा की। जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि उन्हें खुशी है कि आज वे दौंगड़ा अहीर गांव की भूमि से अपनी दूसरी पारी में लोगों से सीधा जुड़ रहे हैं। उन्होंने उपस्थित जनसमूह को विश्वास दिलाया कि प्रदेश की जनभावनाओं के अनुरूप वे निरंतर जनसेवा को समर्पित होकर विकास कार्य करवाने में अपनी भूमिका निभाते रहेंगे। सडक़ निर्माण से संबंधित रखी गई मांगों पर मुख्यमंत्री ने मंच से घोषणा की कि सडक़ तंत्र की मजबूतीकरण की दिशा में स्थाई कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि 6 करम की सडक़ों का निर्माण कार्य जहां प्रदेश भर में लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया जाएगा वहीं 5 करम तक की सडक़ों का निर्माण हर साल प्रति विधानसभा क्षेत्र 50 किलोमीटर तक तथा 3 व 4 करम के रास्तों को खडंजे(टाइलों)से बनाया जाएगा जोकि हर साल हर विधानसभा क्षेत्र में 25 किलोमीटर तक की मार्केटिंग बोर्ड से बनाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि सडक़ों का जुड़ाव विकास का प्रतीक है और प्रदेश में बेहतर आवागमन सुविधा के लिए वे आज ये घोषणा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य का महेंद्रगढ़ जिला 2014 से पहले तक पूर्व सरकारों के कार्यकाल में अनदेखा रहा है, लेकिन जब से उन्होंने साल 2014 में हरियाणा के सेवक के रूप में जिम्मेवारी ली है उसके उपरान्त किसानों की खुशहाली के लिए सबसे पहले कदम उठाए और बेहतर ढंग से सिंचाई प्रणाली को सुदृढ़ किया गया। उन्होंने बताया कि नहरों व माइनर के माध्यम से अंतिम छोर तक पानी पहुंचाने के लिए प्रयास किए गए हैं। इस जिला में नहरी पानी का और अधिक योजनाबद्ध तरीके से पहुंचाने के लिए उन्होंने भिवानी-महेंद्रगढ़ के सांसद चै. धर्मवीर सिंह व नांगल चैधरी से विधायक डा.अभय सिंह यादव सहित पांच सदस्यीय कमेटी द्वारा पूरी रूपरेखा तैयार कर रिपोर्ट देने को कहा ताकि उनके सुझावों के अनुरूप धरातल पर कार्य करते हुए सिंचाई का स्थाई समाधान निकाला जा सके।
जनसभा में उमड़े जनसमूह का अभिवादन स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से लागू की जा रही महत्वाकांक्षी योजनाओं का पूरा लाभ उठाया जाए। आयुष्मान भारत योजना, मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि जैसी अनेक योजनाएं जरूरतमंद लोगों के लिए वरदान हैं, ऐसे में अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को इन योजनाओं से जुडना चाहिए। उन्होंने महेंद्रगढ़ जिला द्वारा मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर सबसे अधिक पंजीकरण कराने पर जिला के किसानों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इलाके की खुशहाली में सरकार के साथ ही किसानों का सहयोग बेहद जरूरी है। उन्होंने हरियाणा सरकार की विकासात्मक गतिविधियों के बारे में बताया कि जनसेवा के साथ सरकार की ओर से योजनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है। हर घर में जल पहुंचाने का लक्ष्य सामने रखते हुए सरकार आगे बढ़ रही है। मुख्यमंत्री का कार्यक्रम में पहुंचने पर विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री ने पूर्व विधायक राधेश्याम शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक मानवता के आदर्श-श्रीराम का विमोचन भी किया। जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने दूसरी पारी की शुरूआत में दौंगड़ा अहीर में जनसभा रखकर इस इलाके का सम्मान किया है। यहां के लोगों के दिल साफ है। ये वीरों का इलाका है। मुख्यमंत्री के सामने जो भी मांगें रखते हैं वे हमेशा उसे पूरा करते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में जिले में अभूतपूर्व विकास हुए हैं। माधोगढ़ के किला को पर्यटक क्षेत्र के तौर पर विकसित किया जा रहा है। खुडाना में आईएमटी की स्थापना का शिलान्यास हो चुका है।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव ने कहा कि यह इस इलाके के लिए गर्व की बात है कि दूसरी सरकार में पहला बड़ा कार्यक्रम इस जिले में हुआ है। मुख्यमंत्री का इस जिले से विशेष लगाव है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीति व नीयत साफ है। यहीं कारण है कि पिछले पांच साल में हर जगह समान विकास हुआ है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल का दौंगड़ा अहीर में आयोजित प्रगति रैली में आने पर स्वागत करते हुए अटेली के विधायक सीताराम यादव ने कहा कि पिछले पांच साल में मुख्यमंत्री ने प्रदेश का समान विकास करवाया है। आने वाले पांच साल में यह इलाका विकास की नई ऊंचाइयों को छूएगा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों की भलाई के लिए काम किया है। यहां उमड़ी यह भीड़ मुख्यमंत्री की लोकप्रियता को साबित करती है। उन्होंने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि दक्षिणी हरियाणा की यह जनता निरंतर विकास में सहभागी बने।नांगल चैधरी के विधायक डा. अभय सिंह यादव ने कहा कि पिछले पांच साल में जो भी मांगें मुख्यमंत्री के सामने रखी गई हैं उन सबको पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि महेंद्रगढ़ जिला को विकास की मुख्य धारा से जोडने का काम मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अंतिम छोर पर पानी पहुंचाकर असंभव को संभव कर दिखाया है। इस जिले में सरकार ने ढांचागत सुविधाएं मुहैया करवाने का काम किया है। जिले में राष्टड्ढ्रीय राजमार्गों के निर्माण का काम चल रहा है। लोजिस्टिक हब जैसी परियोजनाएं तैयार होते ही यहां पर उद्योगों का विकास होगा।


 


14 हजार किमी तक चली मादा भेड़िया

साथी की तलाश,14 हजार किमी तक चली मादा भेड़िया


कैलिफोर्निया। साथी को लेकर इंसान ही नहीं जानवर भी काफी संवेदनशील होते हैं। यूं तो भेड़िए अपना साथी ढूंढने के लिए मीलों पैदल सफर करते हैं लेकिन एक मादा भेड़िया (Female Wolf) ने अपने साथी की तलाश में पैदल 14 हजार किलोमीटर की दूरी तय की। हालांकि दुखद है कि इस दौरान मादा भेड़िया की मौत हो गई। इस मादा भेड़िया को वैज्ञानिकों ने OR-54 नाम दिया था और काफा समय से इस पर नजर बनाए हुए थे।


वैज्ञानिक उसके गले में लगे ट्रांसमिटर कॉलर (Transmitter caller) से उसे ट्रैक कर रहे थे। वैज्ञानिक इस बात की जांच कर रहे हैं कि इस मादा भेड़िया की मौत क्‍यों हुई। क्‍या मौत उसके इतने चलने के कारण कोई बीमारी से हुई है या फिर वो अपने साथी के वियोग में कमजोर हो गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, इस वुल्फ ने साथी की खोज में परिवार को छोड़ कैलिफोर्निया राज्य की सीमा को पार किया। अक्टूबर 2017 से जीपीएस-रेडियो कॉलर से ट्रैक हो रही यह मादा 2018 से एक दिन में औसतन 21 किलोमीटर की दूरी तय कर रही थी।lबीते दो वर्षों में OR-54 पहाड़ों और जंगलों में भटक गई थी। वह कभी-कभी खाने के लिए पशुओं को भी मार रही थी।


इस मादा भेड़िये ने जनवरी 2018 के बाद करीब 9 देशों से गुजरी थी और वापस दो बार कैलिफोर्निया आई थी। यह मादा भेड़िया कुछ समय के लिए नेवादा में भी रुकी थी। वैज्ञानिकों की मानें तो एक भेड़िया औसत तौर पर अपने साथी को खोजने के लिए 50 से 100 मील की यात्रा करता है और कुछ सैकड़ों मील तक की यात्रा करते हैं, लेकिन इतना चल पाना असंभव है। यंग वुल्फ का घर छोड़ना बेहद आम बात है। जब वुल्फ, डेढ़ से दो साल के हो जाते हैं तो वह साथी की खोज में निकल पड़ते हैं और अपना खुद का इलाका बनाते हैं। यहां तक OR-54 के पिता OR-7 ने भी ऑरेगन में बसने से पहले कई वर्षों तक साथी के लिए कैलिफोर्निया में समय बिताया था। कैलिफॉर्निया का ‘फिश और वाइल्ड लाइफ डिपार्टमेंट’ उसकी मौत की वजह का पता लगाने में जुट गया है साथ ही, उन्होंने इस मामले में सूचना देने वाले को करीब 1 लाख 80 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।


शाहीनबाग में बड़ी संख्या में आए प्रदर्शनकारी

नई दिल्ली। शाहीनबाग में रविवार को बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी इकट्ठे हुए। दोपहर दो बजे वे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिलने उनके आवास की ओर कूच करने वाले थे, लेकिन पुलिस प्रशासन से इजाजत न मिलने पर उन्होंने मार्च नहीं निकाला। शाहीनबाग में अर्धसैनिक बल और क्यूआरटी टीम तैनात है। इजाजत नहीं मिलने पर शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों ने कानून हाथ में न लेने और शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते रहने का का फैसला लिया। प्रस्तावित मार्च के मद्देनजर स्वयंसेवियों ने भीड़ को काबू में रखने के कलए अपनी तरफ से पूरी तैयारी की थी। उन्होंने रस्सियों और वहां रखी बैरिकेडों का भी सहारा लिया था। शाहीनबाग की तरफ से पुलिस प्रशासन से बात करने के लिए ‘दबंग दादियों’ को चुना गया और इसकी जानकारी वहां मौजूद महिलाओं ने ऐलान करके दिया। उन्होंने कहा, “हमारी तरफ से दादियां जाएंगी, जिनमें सरवरी दादी और बिल्किस दादी शामिल हैं। कुछ और बुजुर्ग लोग भी जाएंगे।” इजाजत न मिलने पर सरवरी दादी ने कहा, “हमें इजाजत नहीं मिली तो कोई बात नहीं, हम यहीं शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करेंगे, ये देश का सवाल है, संविधान बचाने की लड़ाई है।” इससे पहले, शाहीनबाग में मौजूद लोगों ने एक मानव श्रंखला बनाई और दूसरी ओर खड़े डीसीपी आर.पी. मीणा और एडिशनल डीसीपी कुमार ज्ञानेश से दादियों की मुलाकात कराई गई। दादियों ने जब मार्च निकालने की इजाजत के बारे में पूछा और वहां मौजूद वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा, “हमने आपकी चिट्ठी आगे बढ़ा दी है, जब हमें इजाजत के बाबत जानकारी मिल मिल जाएगी तो आपको बता देंगे।” एडिशनल डीसीपी कुमार ज्ञानेश ने मीडिया से कहा, “हमने एप्लिकेशन आगे बढ़ा दिया है, अभी वह प्रोसेस में है। जब इजाजत मिलेगी तो इन लोगों को सुरक्षा के साथ ले जाएंगे।” आखिरकार इजाजत नहीं मिली। तब प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण तरीके से शाीनबाग में अपनी जगह जाकर बैठ गए।


घाटी में बर्फबारी के कारण कई सड़कें बंद

श्रीनगर। उत्तर कश्मीर में कुपवाड़ा के माचिल और केरन शहरों के अलावा बांदीपोरा के गुरेज में बर्फ जमा होने से सड़कों पर फिसलन बढ़ गयी है जिसके कारण पूरा क्षेत्र प्रभावित हुआ है। नियंत्रण रेखा के पास वाले गांवों के अलावा दर्जनाें अन्य गांवों में कई फीट बर्फ जमा होने तथा रविवार को हिमस्खलन की चेतावनी के कारण कई सड़क मार्ग अवरूद्ध रहे। जिला मुख्यालय कुपवाड़ा से कारनाह की ओर जाने वाली सड़कें कई सप्ताह तक बंद रहने के बाद शनिवार को दाेबारा खाेल दी गयी। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार कुपवाड़ा-केरन और कुपवाड़ा-माचिल सड़कें बंद रहीं। सड़कों के दोनों ओर से बर्फ हटाने का काम शुरू हो चुका है। इसी बीच, बांदीपोरा से गुरेज की ओर जाने वाली सड़क पर भी बर्फ जमी हुई है और यह कई जगह से बंद है। गुरेज शहर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से तीन ओर से घिरा हुआ है। इसके अलावा कश्मीर घाटी में सुबह कोहरे के बाद धूप खिलने के साथ ही मौसम खुशनुमा हो गया। घाटी में अगले 72 घंटों के दौरान मौसम शुष्क रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के प्रवक्ता के मुताबिक 19 फरवरी को ताजा पश्चिमी विक्षोभों के मद्देनजर घाटी के अलग-अलग हिस्सों में 22 फरवरी से वर्षा अथवा बर्फबारी हो सकती है।


महामारी से लड़ने आए 'रोबोट और ड्रोन'

चुआनजीओ। चीन में अब ड्रोन और रोबोट जैसे हाईटेक उत्पादों को नोवल कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए तैनात किया जा रहा है। पूर्वी चीन के शानडोंग प्रांत के क्विंदाओ स्थित एक प्रौद्योगिकी कंपनी ने क्विंदाओ और पड़ोसी रिझाओ शहर के छह अस्पतालों में 30 किटाणुनाशक रोबोट्स दिए हैं। ऐसी संभावना है कि इस तरह के रोबोट्स का प्रांत के 20 और अस्पतालों में प्रयोग किया जाएगा। एक मीटर लंबा और दो व्हीलों पर चलने वाले रोबोट का आकार रेफ्रीजरेटर जैसा है और यह खुद ब खुद अलग-थलग किए गए वार्डो में जाता है और किटाणुनाशक का छिड़काव करता है। रोबोट के निर्माता और क्विंदाओ वेबुल इंटेलिजेंट टेक्नोलॉजी कोर्पोरेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी फांग के ने कहा, “रोबोट को खासकर के छिड़काव करने वाले संयंत्र की तरह डिजाइन किया गया है और यह अलग-थलग किए गए वार्डो के प्रत्येक कोनों में घुसकर किटाणुनाशक का छिड़काव कर सकता है।” क्विंदाओ विश्वविद्यालय में हुंगडाओ परिसर के सर्जरी विभाग के निदेशक लू यून ने इस कदम की सराहना की है। पहली बार 31 जनवरी को रोबोट का प्रशिक्षण यहीं किया गया था। उन्होंने कहा, “इंटेलिजेंट रोबोटिक प्रोडक्ट्स कुछ मामलों में प्रभावी तरीके से डॉक्टरों और नर्सो का स्थान ले सकते हैं, जिससे उनके संक्रमित होने की आशंका कम हो जाती है।” वहीं यहां के हुआंगडाओ जिले में इस महामारी से लड़ने के लिए ड्रोनों का भी प्रयोग किया जा रहा है। यहां ड्रोनो का प्रयोग आवासीय जगहों पर किटाणुनाशक का छिड़काव करने के लिए किया जाता है।


बस-स्कूटी की टक्कर, 13 लोगों की मौत

बिलासपुर। भरनी रोड पर रविवार को एक बस और स्कूटी दुपहिया वाहन की आमने-सामने भिड़ंत में दुपहिया सवार दो लोगो की घटनास्थल पर ही मौत हो गई वही एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार परसदा बस्ती निवासी सुरेश कैवर्त पिता चैतू, रामायण कैवर्त पिता भगउ कैवर्त और सतानंद कैवर्त पिता मुनीम तीनो अपनी दुपहिया वाहन में कोटा गए थे और वापस लौटते समय सीआरपीएफ गेट के पास बिलासपुर की तरफ से आ रही बस ने सामने से दुपहिया से जोरदार भिड़ंत हो गयी। टक्कर इतनी भयानक थी कि मौके पर ही सुरेश कैवर्त एवं रामायण कैवर्त की मौत हो गई जबकि उनका साथी सतानंद गंभीर रूप से घायल हो जिस। घटना के बाद बस का ड्राइवर गाड़ी छोड़कर फरार हो गया।दुर्घटना की सूचना किसी ने डायल 112 को दी 112 ने घायल सतानंद को अस्पताल में भर्ती कराया।


जहाज में सवार 355 में वायरस की पुष्टि

टोक्यो। जापान के योकोहामा तट के पास खड़े किये गये जहाज पर नॉवेल कोरोना वायरस के संक्रमण के 70 नये मामले सामने आने के साथ ही जहाज पर इस संक्रमण से ग्रस्त लोगों की संख्या बढ़कर 355 हो गयी है। जापान के स्वास्थ्य मंत्री कत्सुनोबो कातो ने रविवार को बताया कि जहाज पर सवार लोगों में से कुल 355 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है। संक्रमण के 70 नये मामलों में 38 में बुखार और कफ जैसे कोई लक्षण नहीं हैं।मंत्रालय ने ‘डायमंड प्रिंसेज’ जहाज पर 1219 लोगों की जांच की है। इस जहाज पर 3700 से अधिक यात्री और चालक दल के सदस्य सवार हैं। इस जहाज पर हांगकांग से आये 80 वर्षीय बुजुर्ग यात्री में इस वायरस का संक्रमण पाये जाने के बाद इसे योकोहामा तट के पास दो सप्ताह के लिए अलग रखा गया है। यह अवधि बुधवार को समाप्त हो जायेगी लेकिन यात्रियों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं होने पर ही उन्हें बुधवार को जहाज से उतरने की अनुमति दी जायेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि उसने अब तक 70 वर्ष और उससे अधिक आयु के यात्रियों की जांच पर ध्यान केंद्रित किया है और रविवार से वह इससे छोटी उम्र के यात्रियों की जांच करेंगे। इस जहाज पर यूनान के दो यात्री भी सवार हैं। यूनान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि इन यात्रियों को अगले सप्ताह स्वदेश लाया जायेगा।


किसानों ने खेतों के अवशेष में लगाई आग

भटगांव- बिलाइगढ़। पवनी मेन रोड के किनारे भांचा ढाबा के पास 30 से 40 एकड़ खेतों में परावत/धान के अवशेष में किसानों ने आग लगा दी है। अपने सहूलियत को देखते हुए प्रत्येक वर्ष किसान अपने खेतों में धान के अवशेषों को आग के हवाले कर देते है, शायद किसानों को मालूम नहीं कि जलाने से खेत की उर्वरक शक्ति नष्ट हो जाती है, धीरे धीरे खेत बंजर की ओर चला जाता है। वहीं इस आग से पर्यावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड, कार्बन मोनो ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाता है जिससे छोटे छोटे जीव जंतु भी नष्ट हो जाते हैं तथा इस आग से चारों तरफ धुंआ फैलने से पर्यावरण तो नुकसान हो रहा है। साथ ही जीव जंतुओं के लिए भी यह खतरनाक साबित हो रहा है। आसपास के लोगों को काफी परेशानी हो रही है। मौके पर लोगों ने और पत्रकारों ने मोबाइल पर बिलाईगढ़ तहसीलदार, इस डी एम व अन्य अधिकारियों को जानकारी देने का प्रयास करते रहे। उल्लेखनीय है कि राज्य में पर्यावरण संरक्षण मंडल की ओर से खेत के परावत/धान के अवशेष को जलाने पर रोक लगाया गया है और कहीं कहीं पर किसानों को 2000 रुपए तक अर्थदंड भी लगा है। कानूनी कार्रवाई भी तय है।


भारतः चीन को चिकित्स सामग्री की आपूर्ति

नई दिल्ली। चीन में नोवल कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए, भारत वहां चिकित्सा सामग्रियों की एक खेप भेजेगा। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने रविवार को ट्विटर पर यह जानकारी दी। चीन में भारतीय दूतावास के आधिकारिक ट्विटर खाते से पोस्ट किए गए वीडियो में राजदूत ने इस महामारी से लड़ने के खिलाफ चीनी लोगों और सरकार के प्रति एकजुटता दर्शाई। उन्होंने वीडियो में कहा, “महामारी से निपटने के मद्देनजर उठाए गए ठोस कदम के तहत, भारत तत्काल सहायता के रूप में चिकित्सा सामग्रियों की एक खेप भेजेगा और मुश्किल घड़ी से निकलने में चीन की मदद करेगा। यह एक मजबूत उपाय है, जो चीनी लोगों के साथ भारत और यहां के लोगों की एकजुटता, दोस्ती और सद्भावना को प्रदर्शित करेगा।” मिस्री ने यह भी कहा कि भारत संकट की इस घड़ी में चीन के लोगों का समर्थन करने के लिए अपने सामथ्र्य के हिसाब से मदद करेगा। राजदूत ने ट्वीट कर कहा, “वुहान शहर और हुबई प्रांत के लोग इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। उनका भारतीय लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान है। बहादुरी और प्रभावी उपाय के साथ हम संकट की इस घड़ी से निकलने में कामयाब होंगे।” भारत में इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए भारत सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, “मौजूदा समय में, भारत भी इस महामारी के फैलने के खतरे से जूझ रहा है। हमारा देश हमारे लोगों की स्वास्थ्य व सलामती के लिए काफी कड़ी मेहनत कर रहा है।” विदेश मंत्रालय ने भी मिस्री के ट्वीट को रिट्वीट करके इस खबर की पुष्टि की।


जहरीली शराब पीने से '13 लोगों की मौत'

रांची। झारखंड के गिरिडीह जिले में जहरीली शराब पीने से 13 लोगों की मौत हो गई। इस घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है। बताया जा रहा है जहरीली शराब पीने से पांच लोग गंभीर हैं, जिनका इलाज अस्पताल में जारी है। घटना संज्ञान में आते ही जिलाधिकारी राहुल सिन्हा ने जांच के आदेश दिए हैं। बता दें कि जहरीली शराब पीने से मौत का मामला गिरिडीह जिले के दो अलग-अलग इलाके से सामने आया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जिले के सरिया प्रखंड के फकिराफरी गांव में सात लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हुई वहीं देवरी प्रखंड के गादिकला गांव के रहने वाले छह लोगों मौत भी इसी वजह से हुई है। पांच लोग स्थिति गंभीर बताई जा रही हैं।


बैंक गारंटी गंवा सकती हैं, दूरसंचार कंपनियांं

नई दिल्ली। सरकार, टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स (टीएसपी) के ‘तत्काल’ स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क व लाइसेंस शुल्क के भुगतान में विफल रहने पर उनके बैंक गारंटी को भुनाने की कार्रवाई कर सकती है। सरकार यह कदम सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीते साल 24 अक्टूबर को स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क व लाइसेंस शुल्क को लेकर दिए गए आदेश के अनुपालन के मद्देनजर उठा सकती है। विभिन्न दूरसंचार सर्किल को लिखे पत्र में दूरसंचार विभाग (डीओटी) की जोनल दूरसंचार इकाइयों ने टीएसपी के साथ संचार में बैंक गारंटी के भुनाने का मुद्दा स्पष्ट रूप से नहीं उठाया है, लेकिन उन्होंने ‘बिना आगे किसी नोटिस के लाइसेंसिंग के तहत आवश्यक कार्रवाई’ का उल्लेख किया है, जो दो कार्रवाई की तरफ संकेत देता है- या तो बैंक गारंटी को भुनाना या लाइसेंस को रद्द करना। गुजरात दूरसंचार क्षेत्र के अंतर्गत सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को लिखे गए पत्र में डीओटी ऑफिस ऑफ द कंट्रोलर ऑफ अकाउंट्स ने कहा है कि 24 अक्टूबर, 2019 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुपालन में लाइसेंस शुल्क और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क के भुगतान के संबंध में आप को लाइसेंस शुल्क व स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क (एसयूसी) के साथ ब्याज, जुर्माना के भुगतान का निर्देश दिया जाता है। इसके साथ गुजरात टेलिकॉम सर्किल के लिए (अगर लागू हो) तो ब्याज व जुर्माना देने का निर्देश दिया जाता है। अगर बकाए का भुगतान तत्काल नहीं किया जाता है तो लाइसेंस एग्रीमेंट के प्रावधानों के तहत जरूरी कार्रवाई की जाएगी, ऐसा बिना किसी नोटिस के किया जाएगा। इसे ‘मोस्ट अर्जेट’ मानकर कार्रवाई की जा सकती है। इसी तरह के पत्र डीओटी के राजस्थान के साथ-साथ कोलकाता टेलीकॉम सर्किल द्वारा टीएसपी को अपने संबंधित सर्कल के तहत जारी किए हैं। बीते शुक्रवार सुप्रीम कोर्ट ने डीओटी को जमकर फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा 24 अक्टूबर को दिए गए आदेश के बावजूद डीओटी के एवरेज ग्रास रेवेन्यू (एजीआर) बकाए को एयरटेल सर्विस प्रोवाइडर से वसूलने में नाकाम रहने पर किया। इसके बाद डीओटी ने बकाया वसूलने के लिए कार्रवाई की। एयरटेल पर 35,500 करोड़ रुपये का ऋण है। एयरटेल ने कहा कि वह 20 फरवरी तक 10,000 करोड़ रुपये का भुगतान करेगी और बाकी का 17 मार्च को अगली सुनवाई से पहले पहले भुगतान करेगी। वोडाफोन आइडिया ने शनिवार को कहा कि वह अपने 53,000 करोड़ रुपये के बकाए का भुगतान करेगी और वह राशि का आकलन भी कर रही है।


मजाक: तीनों को किया कार्य-मुक्त

रायपुर। जंगल सफारी में शेरों का गाड़ी के पीछे भागने का वीडियो वायरल हो गया और इस बात की खबर लगते ही वन विभाग भी हरकत में आ गया। तत्काल मामले की जांच की गई तो हैरान कर देने वाला सच सामने आया। इस वीडियो को बनाने में जंगल सफारी के ही दो गाइड नवीन पुरैना और नरेंद्र सिन्हा के साथ ओमप्रकाश भारती ड्राइवर भी शामिल था। दरअसल गाड़ी के पीछे लटके हुड को शेर ने जबड़े में जकड़ लिया था।शेर की पकड़ से हुड छूटते ही ड्राइवर ने गाड़ी भगाई तो शेर उसके पीछे भागने लगा। ये देख गाइड ने उसे शूट कर लिया और फिर उसे वायरल भी कर दिया। जांच में सच सामने आने पर तीनों को कार्यमुक्त कर दिया गया है। तीनों को ही रोजी रोटी देने वाले अपने विभाग का मज़ाक बनाना महंगा पड़ गया।


बरसाई गोली सास, साला, पत्नी की मौत

मोगा। पंजाब पुलिस के हेड कांस्टेबल ने पत्नी-सास, साले और साले की पत्नी पर गोलियां बरसा दी। इस गोलीकांड में  साल की 10 साल की बेटी घायल हो गई, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। हेड कांस्टेबल कुलविंदर सिंह ने इस हत्याकांड को अंजाम देने बाद थाने पहुंच कर आत्मसमर्पण कर दिया।  इस हत्याकांड के पीछे ससुराल में खोला सुअर फार्म बताया जा रहा है।


जानकारी के अनुसार मोगा जिला के जलालपुर में रविवार सुबह पंजाब पुलिस के हैडकॉस्टेबल कुलविंदर सिंह ने AK-47 से गोलियां बरसा डाली। इस वारदात में उसकी पत्नी , सास, साला व पत्नी की मौत हो गई। कुलविंदर सिंह ने कुछ समय पहले एक सुअर फार्म खोला था और वह ससुराल की जमीन पर था । ससुराल वाले अपनी जमीन वापस मांग रहे थे। शनिवार की रात को वह पत्नी के साथ ससुराल आया हुआ था। रात को उसका जमीन को लेकर बहस हो गई और ससुराल वालों ने पुलिस में शिकायत कर दी। रात को पुलिस उसे पकड़ कर ले गई। सुबह उसे जब पुलिस ने रिहा किया तो वह सीधा ससुराल पहुंचा और वहां पर उसने सभी की हत्या कर दी। इसके बाद उसने थाना में आत्मसमर्पण कर दिया।


29 देशों तक पहुंचा कोरोना वायरस

नई दिल्ली। चीन के वुहान शहर में पैदा हुआ कोरोनावायरस अब दुनिया के 29 शहरों में पहुंच चुका है। गुजरते समय के साथ ये वायरस और भी विकराल रूप लेता जा रहा है। खासकर चीन में लगातार लोगों की मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। बीते बुधवार को ही कोरोनावायरस से संक्रमित 242 लोगों की मौत हो गई। ये आंकड़ा मंगलवार की तुलना में दोगुना है। साथ ही कोरोनावायरस फैलने के बाद से एक दिन में होने वाली मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा है।



सारा अली ने पहने दुल्हन के कपड़े

भारती साहू


मुंबई। सारा अली खान एक तरफ अपनी फिल्मों से तो दूसरी तरफ अपने वीडियो से जमकर धमाल मचा रही हैं उनका फिर से एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है सारा अली खान इस वीडियो में दुल्हन के गेटअप में स्टेज पर रैंप वॉक कर रही हैं इस दौरान नागिन धुन भी बज रहा है सारा अली खान के रैंप वॉक को देखने आए लोगों ने इस दौरान खूब ताली बजाई सारा अली खान के फैन पेज से इंस्टाग्राम पर इस वीडियो को शेयर किया गया है इस वीडियो पर फैन्स जमकर रिएक्शन दे रहे हैं


सारा अली खान सोशल मीडिया पर खासी एक्टिव रहती हैं. उनकी तस्वीरें और वीडियो खूब वायरल होते हैं. बीते दिनों उन्होंने मालदीव में छुट्टियां मनाते उनकी कई तस्वीरें वायरल हुई थीं  हाल ही में उनकी फिल्म  ‘लव आज कल’ रिलीज हुई है. यह फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आ रही है. उनकी फिल्म ने दो दिन में करीब 20 करोड़ रुपये की कमाई भी कर ली है


वर्कफ्रंट की बात करें तो सारा अली खान की ‘लव आज कल ‘ के बाद ‘कुली नंबर वन’ रिलीज होगी और उसके बाद वह अक्षय कुमार और धनुष के साथ ‘अतरंगी रे’ में नजर आएंगी. यही नहीं, कार्तिक आर्यन का भी स्ट्रॉन्ग लाइनअप है कार्तिक आर्यन इसके बाद ‘भूलभुलैया 2’ और टीसीरीज की अगली एक्शन फिल्म में भी नजर आएंगे. इस तरह दोनों ही सितारों के फैन्स के लिए धमाकेदार फिल्में जल्द ही देखने को मिलेंगी।



कृष्ण के उपदेश में है जीवन सार

श्रीमद्भागवत गीता में जीवन का सार छिपा हुआ है। जिसने श्रीमद्भागवत गीता के उपदेशों को जीवन में उतार लिया समझो उसने जीवन का सफल बना लिया। महाभारत के युद्ध में जब अर्जुन दुविधा में फंस गए तब कुरूक्षेत्र में भगवान कृष्ण ने अर्जुन गीता का उपदेश सुनाया। गीता में जीवन का सार छिपा हुआ है। गीता व्यक्ति को अच्छे बुरे का भेद बताती है। जीवन की सफलता का मंत्र गीता के उपदेशों में छिपा है. मान्यता है कि गीता का पाठ करने से भगवान कृष्ण का आर्शीवाद प्राप्त होता है। भगवान कृष्ण अपने भक्तों पर कभी कष्ट नहीं आने देते हैं। गीता का सार व्यक्ति को महानता की ओर ले जाता है। आइए जानते हैं श्रीमद्भागवत गीता से आज का सक्सेस मंत्र…


कुछ साथ नहीं जाता है, सब यहीं रह जाता है


भगवान श्रीकृष्ण अर्जुन से कहते हैं कि व्यक्ति का जब जन्म होता है तो उसके हाथ खाली होते हैं,जब व्यक्ति मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तब भी व्यक्ति खाली हाथ ही जाता है। यानि इस दुनिया में सब मोह है। कुछ भी व्यक्ति के साथ नहीं जाता है, जो कुछ उसने अर्जित किया है। वह सब यहीं रह जाता है। लेकिन इस सत्य को व्यक्ति जानकर भी अंजान बन जाता है। लेकिन ऐसा नहीं होता है। मृत्यु ही सत्य है। जो पूरी जिंदगी मोह और तृष्णा में गुजार देते हैं। इनके पीछे भागते भागते अपने रिश्तेनाते, मित्र यहां तक की परिवार तक छूट जाता है। ऐसी तृष्णा किसी काम की नहीं होती है।


व्यक्ति को जीवन में संतोष का भाव रखना चाहिए। अधिक लालच के कारण वह अपना सुख चैन गवां देता है और अंत में उसे कुछ भी हासिल नहीं होता है। जैसा आया था वैसा ही चला जाता है। यही जीवन है और यही जीवन का सत्य भी है। जो आज तुम्हारा है, कल और किसी का था, परसों किसी और का होगा। तुम इसे अपना समझ कर मग्न हो रहे हो। बस यही प्रसन्नता तुम्हारे दु:खों का कारण है।


अमेरिकी दूतावास को निशाना बना दागा रॉकेट

बगदाद। इराक की राजधानी बगदाद में एक बार फ‍िर अमेरिकी दूतावास को निशाना बनाते हुए कई रॉकेट दागे गए। अमेरिकी सैन्य सूत्र ने कहा कि इस हमले का मकसद अमेरिकी संपत्ति को क्षति पहुंचाना था। हालांकि, अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं हो सकता है कि इसे हमले कितने लोग हताहत हुए हैं।


अक्टूबर, 2019 के बाद से यह 19वां हमला


एएफपी के संवाददाताओं ने ग्रीन ज़ोन के पास एयरक्राफ्ट सर्किलिंग के पास कई विस्फोटों को सुना, जहां अमेरिकी मिशन स्थित है। अक्टूबर, 2019 के बाद से यह 19वां हमला था। इसके पूर्व अमेरिकी दूतावास हमला किया गया था, जहां 5,200 अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाया गया। पिछले महीने में  उत्तरी इराक में हुए ऐसे ही एक हमले में अमेरिकी कॉन्ट्रेक्टर की मौत हो गई थी। इसके बाद अमेरिका की कार्रवाई में 25 लड़ाके मारे गए थे, जो ईरान के नजदीकी माने जाते हैं।


ईरान के टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी को ड्रोन हमले में मार गिराया


गौरतलब है कि ईरान और अमेरिका के बीच तनाव उस वक्त बहुत बढ़ गया, जब शुक्रवार को अमेरिका ने बगदाद में ईरान के टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी को ड्रोन हमले में मार गिराया था। सुलेमानी को वहां हवाईअड्डे से बाहर निकलते समय निशाना बना गया था। इस हमले में ईरान के हशद अल-शाबी अर्द्धसैनिक बल के उप प्रमुख और कुछ अन्य ईरान समर्थित स्थानीय मिलिशिया भी मारे गए थे। 62 वर्षीय जनरल सुलेमानी को ईरान के शीर्ष धार्मिक नेता अयातुल्लाह खामेनेयी के बाद ईरान का सबसे ताकतवर शख्सियत माना जाता था। उनके मारे जाने के बाद अमेरिका और ईरान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। कुछ विशेषज्ञों ने तीसरे विश्‍व युद्ध की आशंका जताई थी।


सास का जन्मदिन मनाने पहुंचे 'बच्चन'

मनीष शर्मा


भोपाल। दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन अपने परिवार समेत चार्टर प्लेन से शनिवार को भोपाल पहुंचे। वह अपनी सास इंदिरा भादुड़ी का 90वां जन्मदिन मानने यहां आए थे।


दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन अपने परिवार समेत चार्टर प्लेन से शनिवार को भोपाल पहुंचे। वह अपनी सास इंदिरा भादुड़ी का 90वां जन्मदिन मानने यहां आए थे। बच्चन परिवार कुछ घंटे यहां रुका और उसके बाद सभी वापस मुंबई लौट गए। सूत्रों के अनुसार, बच्चन परिवार शनिवार सुबह चार्टर प्लेन से भोपाल हवाईअड्डे पहुंचा।दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ उनकी पत्नी जया, बेटा अभिषेक, बहू ऐश्वर्य राय बच्चन, बेटी श्वेता नंदा बच्चन और पोती आराध्या भी थे। अमिताभ बच्चन की सास इंदिरा भादुड़ी का शनिवार को 90वां जन्मदिन था। वह श्यामला हिल्स क्षेत्र स्थित अंसल अपार्टमेंट में रहती हैं।कार्यक्रम में शामिल होने के बाद बच्चन परिवार वापस मुंबई लौट गया।


बच्चन परिवार के भोपाल आने की सूचना बहुत कम लोगों को थी, फिर भी कई प्रशंसक हवाईअड्डे पर उनकी एक छलक पाने के लिए पहुंच गए। वहीं इंदिरा भादुड़ी के आवास की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई थी। बता दें कि अमिताभ बच्चन जल्द ही चार फिल्मों के जरिए बॉलीवुड में धमाल मचाने वाले हैं।बिगबी की इस लिस्ट में शामिल है ‘चेहरे’, ‘ब्रह्मास्त्र’, ‘झुंड’ और ‘गुलाबो-सिताबो’।फिल्म ‘चेहरे’ में अमिताभ बच्चन इमरान हाशमी के साथ मुख्य किरदार निभाएंगे, ‘ब्रह्मास्त्र’ में बिगबी आलिया भट्ट और रणबीर कपूर के साथ नजर आएंगे।वहीं गुलाबो-सिताबो में बिगबी बॉलीवुड के दमदार एक्टर आयुष्मान खुराना के साथ दिखाई देंगे।इसके अलावा बिगबी कौन बनेगा करोड़पति का 11वां सीजन भी होस्ट कर रहे थे, जो अब खत्म हो चुका है।


कॉफी को हेल्दी बनाती है दालचीनी

आज के लाइफस्टाइल में कॉफी पीना एक आम बात हो गई है। सर्दियों में तो कॉफी की बात ही कुछ और होती है लेकिन अगर चाय की तरह कॉफी भी अलग-अलग टेस्ट में पीने को मिले तो मजा आ जाता है। कुछ लोगों को बिना शुगर की कॉफी पीना पसंद होता है तो कुछ लोग ब्लैक कॉफी पीते हैं। कुछ लोगों को ज्यादा दूध वाली कॉफी पीना पसंद है तो कुछ को क्रीम वाली।
दरअसल लोग अपनी पसंद के हिसाब से कॉफी पीते हैं। आपको बता दें कि कॉफी को भी हेल्दी बनाया जा सकता है। वैसे तो कॉफी में कुछ भी मिला देना आपके हेल्थ को नुकसान पहुंचा सकता है लेकिन सर्दियों के मौसम में एक चीज आपकी कॉफी को काफी हेल्दी बना सकती है और वो है दालचीनी।
आइए आपको बताते हैं कैसे। दालचीनी सर्दियों में इस्तेमाल होने वाली एक ऐसी चीज है, जो काफी हेल्दी होती है. अगर इसे कॉफी में मिला दिया जाए तो यह आपके हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद है। इतना ही नहीं ये आपकी कॉफी को फ्लेवर देने और हेल्दी बनाने का काम करती है।
ब्लड शुगर लेवल रहता है कंट्रोल
कॉफी में दालचीनी मिलाकर पीने से शरीर में ब्लड शुगर लेवल सही बना रहता है। दालचीनी का स्वाद मीठा होता है। ऐसे में आपको कॉफी में ज्यादा शुगर लेने की जरूरत नहीं पड़ती। दालचीनी वाली कॉफी के सेवन के तुरंत बाद शरीर में इंसुलिन लेवल बैलेंस हो जाता है।
वजन घटाता है
दालचीनी भूख को शांत करती है। कॉफी में दालचीनी मिलाकर पीने से पेट भरा हुआ महसूस होता है और भूख भी शांत होती है। अनचाही भूख को शांत करने से आप बाहर का खाना खाने से बचते हैं।
सर्दी और बुखार में फायदेमंद
दालचीनी में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आपकी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने का काम करते हैं। इसके साथ ही दालचीनी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो फ्लू के कारण दर्द और असहजता को दूर करने में मदद करते हैं।
दिल के लिए हेल्दी दालचीनी दिल संबंधित रोगों और समस्याओं के खतरे को कम करता है। अगर आप सामान्य मात्रा में दालचीनी और कॉफी का सेवन करेंगे तो आपका दिल कई रोगों से दूर रहेगा।
एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर
कॉफी में पोलीफेनोल्स जैसे एंटीऑक्सीडेंट बहुत अधिक मात्रा में होते हैं, जो मुक्त कणों को रोकने व नष्ट करने के लिए जाने जाते हैं। ये कण हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाने और एजिंग के लिए जिम्मेदार होते हैं। कॉफी में दालचीनी मिलाकर पीने से आपकी कॉफी में एंटी-ऑक्सीडेंट का लेवल बहुत ज्यादा हो जाता है और इससे आपकी त्वचा साफ व दमकती हुई नजर आती है।


बदलते मौसम में रखे स्क्रीन का ख्याल

सर्दियों का मौसम अब अलविदा कह चुका है। बदलते मौसम में हम अक्सर स्किन का बहुत ज्यादा ध्यान रखते हैं। लोशन, सन प्रोटेक्शन क्रीम क्या कुछ अप्लाई नहीं करते, स्किन को डेमेज होने से बचाने के लिए। पर हमेशा की तरह इस बार भी बदलते मौसम में किसी चीज को इग्नोर कर रहे होंगे या भूल गए होंगे तो वो हैं पैर। मौसम चाहे कोई भी हो, पैर हमेशा ही गंदगी का शिकार होते हैं। अक्सर धूल-मिट्टी, पानी लगने के कारण पैरों पर गंदगी की परत जम जाती है, जो सिर्फ पानी और साबुन से साफ नहीं होती है।
दरअसल, जितनी देखभाल की जरूरत चेहरे की त्वचा को होती है उतनी ही केयरिंग की जरूरत हमारे पैरों को भी होती है। इसलिए आज हम आपको पैरों की देखभाल करने के कुछ खास टिप्स बताने जा रहे हैं, जिन्हें फॉलो करके आप अपने पैरों को खूबसूरत बना सकते हैं।
मसाज है जरूरी
रोजाना नहाते समय 2 मिनट का वक्त पैरों के लिए भी निकालें। नहाते समय पैरों की प्युबिक स्टोन से सफाई करें। नहाने के बाद पैरों को मॉश्चराइज करते हुए हल्के हाथों से मसाज करें। रोजाना सुबह 5 मिनट की मसाज करने से पैर जवां दिखने के साथ-साथ टेंशन को भी रिलीज करने में मदद कर सकते हैं।
घर पर बनाएं खास पेस्ट
घर पर पैरों की देखभाल करने के लिए एक कटोरी में पानी, ग्लिसरीन, पपीता, शहद और नींबू का रस एक समान मात्रा में मिला लें। अब इसका पेस्ट बनाकर पैरों पर लगाएं। सप्ताह में 1 से 2 बार इस पेस्ट को लगाने से पैरों की स्किन नर्म और मुलायम बनेगी। अगर, आपके पैरों की चमक किसी वजह से खो गई है तो आप इसी पेस्ट को रोजाना लगा सकते हैं और खोई हुई चमक को वापस ला सकते हैं।
रात को करें यह खास काम
अक्सर लोगों को इस बात की शिकायत रहती है कि उन्हें घर पर किसी भी ब्यूटी ट्रीटमेंट को अपनाने का वक्त नहीं मिलता है। ऐसे लोग रात में अपने पैरों को अच्छे से धोकर पोंछ ले। इसके बाद पेट्रोलियम जेली से मसाज करके सोएं। अगर, संभव हो तो रात को मसाज करने के बाद सूती कपड़े के मोजो को पहनिए। ऐसा करने से पैर के पंजों को आराम मिलेगा।


पहाड़ी से टकराई बस 9 लोगों की मौत

उड्डपी। कर्नाटक के उडुपी में एक बस दुर्घटना में नौ लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गए हैं। ये बस पहाड़ी इलाके से गुजर रही थी तभी ड्राइवर अपना नियंत्रण खो बैठा। बस एक तीखे मोड़ पर पहाड़ से टकरा गई, जिससे ये हादसा हुआ। ये बस मैसुरू से आ रही थी। बताया जा रहा है कि हादसा शनिवार शाम करीब 6.30 बजे हुआ। हादसे में बस भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। बस में फंसे घायलों को स्थानीय लोगों ने निकालकर नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


बाप-बेटे की जोड़ी दिखेगी स्क्रीन पर

मुंबई। बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर अनिल कपूर और उनके बेटे हर्षवर्धन कपूर पहली बार बड़े पर्दे पर साथ नज़र आने वाले हैं। दोनों ने बतौर प्रोड्यूसर और एक्टर अभिनव बिंद्रा की बायोपिक के लिए शूटिंग शुरू कर दी है। बता दें कि अभिनव 11 अगस्त 2008 में बीजिंग ओलंपिक खेलों की व्यक्तिगत स्पर्धा में स्‍वर्ण पदक जीतकर व्‍यक्तिगत स्‍वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। सूत्रों के मुताबिक तीन साल के लंबे इंतजार के बाद अनिल कपूर ने इस फिल्म की अनाउंसमेंट की है, इसमें हर्षवर्धन शूटर का किरदार निभाएंगे। वहीं, अनिल को फिल्म में अभिनव के पिता का रोल निभाते देखा जाएगा। अनिल कपूर ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है,'शुरुआत।' इस फोटो में वो बेटे हर्षवर्धन, अभिनव बिंद्रा के साथ नज़र आ रहे हैं।
इस फिल्म की कहानी अभिनव बिंद्रा की ऑटोबायोग्राफी 'ए शॉट एट हिस्ट्री: माई ऑब्सेसिव जर्नी टू ओलंपिक गोल्ड एंड बियॉन्ड' से ली गई है।


जामिया मामले में गृहमंत्री ने झूठ बोला

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी कैंपस में भड़की हिंसा के दौरान यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में जो वीडियो जारी हुआ था उसके सामने आने के बाद सियासी बयानबाजी भी तेज हो गई है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी वीडियो ट्वीट करते हुए इसकी निंदा की है। उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह और दिल्ली पुलिस पर सवाल उठाए हैं। प्रियंका गांधी मे अपने ट्वीट में लिखा,'देखिए कैसे दिल्ली पुलिस छात्रों को अंधाधुंध पीट रही है। एक लड़का किताब दिखा रहा है, लेकिन पुलिसवाला लाठियां चलाए जा रहा है। गृह मंत्री और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने झूठ बोला कि उन्होंने लाइब्रेरी में घुसकर किसी को नहीं पीटा।'साथ ही उन्होंने कहा कि इस वीडियो को देखने के बाद जामिया में हुई हिंसा को लेकर अगर किसी पर एक्शन नहीं लिया जाता तो सरकर की नीयत पूरी तरह से देश के सामने आ जाएगी। उधर, जामिया यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में लाठीचार्ज पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि वे इसकी जांच कर रही है। वीडियो सामने आने के बाद स्पेशल कमिश्नर (क्राइम) प्रवीर रंजन ने कहा कि हमने जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी (लाइब्रेरी) के ताजा वीडियो को संज्ञान में लिया है, जो अभी वायरल हो रहा है। हम इसकी जांच करेंगे।


सीएए, 370 पर नहीं हटाएंगे कदमः मोदी

वाराणसी। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मचे सियासी बवाल और शाहीन बाग सहित देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने साफ किया है कि वह इस फैसले पर पूरी तरह कायम रहेंगे। दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दूसरे दौरे पर 1200 करोड़ रुपये की सौगात देने के बाद पीएम ने कहा कि ये फैसले (सीएए, आर्टिकल 370) जरूरी थे, फिर भी तमाम दबावों के बावजूद हमने ये फैसले लिए। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हम इन फैसलों पर आगे भी कायम रहेंगे। सीएए का जिक्र करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, 'महाकाल के आशीर्वाद से हम वे फैसले लेने में सक्षम हुए, जो लंबे समय से रुके हुए थे। आर्टिकल 370 हो या सीएए हो, हमने तमाम दबावों के बाद भी ऐसे फैसले लिए। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि महाकाल के आशीर्वाद से लिए गए इन फैसलों पर आगे भी कायम रहेंगे।'


राम मंदिर का जिक्र करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, 'राम मंदिर का विषय दशकों से अदालतों में उलझा हुआ था। अब मंदिर निर्माण का रास्ता हो चुका है। सरकार ने ट्रस्ट के निर्माण की घोषणा की है,जो मंदिर निर्माण का कार्य देखेगा। अयोध्या में राम मंदिर से जुड़ा एक और बड़ा फैसला किया गया है। 67 एकड़ अदिग्रहीत जमीन भी ट्रस्ट को ही ट्रांसफर कर दी जाएगी। जल्द ही अयोध्या में भव्य और दिव्य राम मंदिर तैयार होगा।'वाराणसी पहुंचे नरेंद्र मोदी शैव समुदाय से जुड़े जंगमवाड़ी मठ पहुंचे। इसके बाद उन्होंने चंदौली के पड़ाव में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। पीएम मोदी ने वाराणसी में लगभग 1200 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने काशी से महाकालेश्वर और ओंकारेश्वर को जोड़ने वाली काशी-महाकाल एक्सप्रेस को भी झंडी दिखाई।


17 मई को आईपीएल का फाइनल मुकाबला

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी टी-20 लीग के 13वें सीजन के शेड्यूल का ऐलान हो गया है। इस साल होने वाले आईपीएल में कुछ बदलाव भी किए गए हैं। इसमें ख़ास बात ये है कि आईपीएल में वीकेंड पर सिर्फ तीन मैच ही खेले जाएंगे इसमें शनिवार को सिर्फ एक ही मुकाबला खेला जाएगा जबकि रविवार को ही दो मुकाबले खेले जाएंगे। इसके चलते 44 दिन तक चलने वाला टूर्नामेंट इस बार 50 दिनों तक खेला जाएगा। आईपीएल 2020 का आगाज पूर्व चैंपियन मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 29 मार्च को वानखेड़े में खेला जाएगा। लीग स्टेज के सभी मैच 17 मई को समाप्त हो जाएंगे।


गौरतलब है कि आईपीएल से ठीक पहले टीम इंडिया साउथ अफ्रीका के साथ वनडे सीरीज खेलेगी जो 18 मार्च को समाप्त होगी। इसके ठीक 11वें दिन 29 मार्च को आईपीएल का पहला मुकाबला और 17 मई को फ़ाइनल मुकाबला खेला जाएगा। हलांकि अभी तक आईपीएल की गवर्निंग बॉडी ने अधिकारिक रूप से शेड्यूल का ऐलान नहीं किया है लेकिन ईएसपीएस क्रिकइन्फो ने फ्रेंचईसी को भेजे गये शेड्यूल के माध्यम से आईपीएल 2020 के कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार कर दी है।


बोरवेल में गिरी बच्ची को बचाने पर सम्मान

फतेहपुर। पुलिस लाइन फतेहपुर सभागार में श्रीमान पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत वर्मा द्वारा मीटिंग की गई। जनपद के समस्त थाना प्रभारी/शाखा प्रभारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी आयोजित की गयी । श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा थाना खखरेरू क्षेत्र के गांव नसीरपुर में 01 वर्षीय मासूम बच्ची के बोरवेल में गिर जाने सूचना पर  तत्परतापूर्वक कार्यवाही करते हुए बच्ची को सुरक्षित व सकुशल बाहर निकलवाने पर प्रभारी निरीक्षक खखरेरू श्री अनूप सिंह के कार्य की सराहना करते हुए। पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। मासिक अपराध गोष्ठी में महोदय द्वारा निम्नलिखित निर्देश दिये गये।
 
(1). समस्त  थाना प्रभारियों नकबजनी, लूट, चोरी आदि की घटनाओं को रोकने व शीघ्र अनावरण करने के लिए निर्देशित किया गया।
(2). शिकायतकर्ताओं की शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर करने हेतु निर्देशित किया गया ।


(3). एण्टी रोमियो स्कवाइड को सक्रिय कर स्कूल/कालेज/कोचिंग सेन्टरों के एवं बाजार के आने जाने वाले स्थलों पर भ्रमण करने हेतु निर्देशित किया गया । 
(4). अवैध शराब की बिक्री एवं निष्कर्षण के विरुद्ध कार्यवाही करने के  लिए निर्देशित किया गया।
(5). महिला संबंधी अपराधों को रोकने व लंबित विवेचनाओं के शीघ्र निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया।
(6). लंबित विवेचनाओं के शीघ्र निस्तारण एवं थाने पर आने वाले फरियादियों तथा आगंतुकों के साथ मानवीय व्यवहार करने हेतु निर्देशित किया गया
(7)- सभी थाना प्रभारियों को अपने थाना क्षेत्रों में यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। गोष्ठी में अपर पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुमार ,क्षेत्राधिकारी जाफरगंज श्री अभिषेक तिवारी , क्षेत्राधिकारी खागा श्री अंशुमान मिश्रा , प्रतिसार निरीक्षक, वाचक पुलिस अधीक्षक, अपराध शाखा प्रभारी, प्रधान लिपिक , शाखा प्रभारी, एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे ।


गृहमंत्री से मिल सकता है प्रदर्शनकारी दल

नई दिल्ली। शाहीन बाग़ में धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों का एक दल आज शाम गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात कर सकता है।  सूत्रों के मुताबिक प्रदर्शन में शामिल कुछ महिलाएं गृहमंत्री से मुलाकात करेंगी।  दिल्ली पुलिस के मुताबिक, शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोगों से शनिवार शाम पुलिस की मीटिंग हुई है।  पुलिस का कहना है कि गृहमंत्री अमित शाह ने शाहीन बाग के लोगों को ओपन इनविटेशन दिया है।  उन्होंने कहा है कि अगर शाहीन बाग के लोग उनसे मिलना चाहते हैं तो तीन दिन के भीतर आ सकते हैं।


पुलिस का कहना है कि सुरक्षा कारणों के चलते बड़ी संख्या में लोग गृहमंत्री से नहीं मिल सकते।  इसलिए प्रदर्शनकारियों से उनके डेलिगेशन की लिस्ट मांगी गई है।  हालांकि पुलिस का साफ कहना है अब तक उन्हें डेलिगेशन की लिस्ट नहीं मिली है।  पुलिस ने कहा कि अगर ये अमित शाह से मिलने जाना चाहते हैं तो सिर्फ एक डेलिगेशन ही जा सकता है।  तमाम भीड़ मार्च करके जाने की कोशिश करेगी तो उन्हें नहीं जाने दिया जाएगा।  आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ पिछले करीब 2 महीने से शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन पर बीते 10 फरवरी को  सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी टिप्पणी की थी।  कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि सार्वजनिक जगह पर अनंत काल के लिए विरोध नहीं किया जा सकता है।


योगीः यूपी 200 यूनिट बिजली फ्री देगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने लोगो को एक बहुत बड़ी राहत दी सरकार प्रदेश में बिजली चोरी को रोकने के लिए एक नया तरीका अपनाने जा रही है। घरेलू विद्युत और कृषि संयंत्र को चलाने के लिए अब प्रदेश सरकार उत्तर प्रदेश के किसानों को 200 यूनिट तक बिजली फ्री देने का विचार कर रही है। उत्तर प्रदेश सरकार बड़े पैमाने घरेलू विद्युत कनेक्शन फ्री में देने का विचार कर रही है जिसके कारण बिजली चोरी में भारी कमी आएगी। इस संदर्भ में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने किसानों की आय दोगुनी करने और उन्हें डायरेक्ट रूप से सहायता देने के लिए कैबिनेट में उत्तर प्रदेश के किसानों को 200 यूनिट बिजली देने का प्रस्ताव रखा था ।अब कैबिनेट में प्रस्ताव पास होने के बाद प्रदेश के किसानों को 200 यूनिट बिजली फ्री दी जाएगी।


तेज रफ्तार ट्रक ने चार को रौंदा,मौत

लातेहार। तेज रफ्तार ट्रक ने चार साइकिल सवारों को रौंदा डाला। जिससे घटनास्थल पर ही चारों की मौत हो गई। यह घटना नेतरहाट थाना क्षेत्र के टुटवा मोड़ के पास की है। हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर गाड़ी लेकर फरार हो गया। आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस पहुंची।


शिविर से लौट रहे थे सभी
हादसे के बारे में बताया जा रहा है कि नेतरहाट में आयोजित आदिवासी लोक पेंटिंग प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए चारों गए हुए थे। वहां से चारों दो साइकिल पर सवार होकर लौट रहे थे।  इस दौरान ही रास्ते में तेज रफ्तार ट्रक ने रौंद दिया। 


चोरमुंडा के रहने वाले थे सभी
मृतकों के बारे में बताया जा रहा है कि सभी एक ही गांव चोरमुंडा के रहने वाले थे। मृतकों में बेंजामिन, निर्मल टोप्पो, मरयानुस आईद और नवीन टोप्पो शामिल है। पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमॉर्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। वही, गांव में चारों की मौत से गम का माहौल बना हुआ है। चारों के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।


मनीष कुमार


 


नीतीश के पांच मंत्रियों को कहा कुत्ता

पटना। बिहार में राजनीति का स्तर लगातार गिरते जा रहा है। राजद ने कहा है कि सीएम नीतीश ने 5 पालतू कुत्ते पाल रखे हैं. वहीं पांचों कुत्ते समय समय पर भौंकते रहते हैं। राजद ने ट्वीट कर कहा है कि वो पांचों कौन है वो बिहार के पत्रकार जानते हैं। शनिवार को जेडीयू ने खुलासा किया था कि तेजस्वी यादव जिस हाईटेक वॉल्वो रथ पर सवार होकर बेरोजगारी यात्रा निकालने वाले हैं वह किसी बीपीएल मंगल पाल के नाम पर रजिस्टर्ड है। नीतीश सरकार में सूचना मंत्री नीरज कुमार ने इसका खुलासा करते हुए कहा था कि लालू परिवार ने एक बार फिर से किसी को चूना लगाया है।


उसपर राजद नेताओं ने कड़ी आपत्ति जताई थी। जेडीयू नेता को पालतू कुत्ता कहे जाने पर सफाई देते हुए राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि राजनीति में भाषा की मर्यादा होनी चाहिए लेकिन जेडीयू ने भाषाई मर्यादा को तार तार किया है। जेडीयू के नेताओं ने पहले हमारे नेताओं पर गंभीर टिप्पणी की है और गिद्ध बताया था। अगर जेडीयू के नेता हमारे नेताओं को गिद्ध बताएंगे तो हम लोग जेडीयू नेताओं को गाय थोड़े ही कहेंगे। उन्होंने कहा कि जेडीयू के नेता गलत आरोप लगाने से बाज आएं वर्ना हमलोग भी चुप नहीं बैठने वाले हैं।


पीएम के काफिले के आगे कूदा युवक

वाराणसी। 1200 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र में हैं। इस दौरान बीएचयू से पड़ाव ;चंदौली स्थित पंडित दीनदयाल स्मृति स्थल के लिए जैसे ही पीएम मोदी रवाना का काफिला रवाना हुआ तो अचानक उसके आगे एक युवक कूद गया। उसने काफिले को काला झंडा भी दिखाया। साथ चल रहे कमांडो ने उसे घेरा फिर पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया।


इस युवक नाम अजय यादव है और यह सपा नेता का बेटा बताया जा रहा है। इससे पहले जंगमवाड़ी मठ में संजीवनी समाधि स्थल की पूजा की। इसके बाद जगद्गुरु विश्वाराध्य गुरुकुल के जन्मशती समारोह के समापन कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी ने सिद्धांत शिखामणि ग्रंथ के 19 भाषाओं में अनुवाद और उसके मोबाइल एप का विमोचन किया।


देश सरकार से नहीं संस्कार से बनता है पीएम मोदी
जंगमबाड़ी में वीरशैव मठ में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश सरकार से नहीं संस्कार से बनता है। उन्होंने कहा कि नागरिक के संस्कार से ही देश श्रेष्ठ बनता है। हमारे संस्कार ही भारत की दशा और दिशा तय करेगी। उन्होंने कहा कि भक्ति से मुक्ति का पाठ पढ़ाने के लिए वीरशैव धर्म की सराहना की।


बिगबॉस 13 के विजेता बने सिद्धार्थ

मुंबई। टीवी के जाने माने एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला, पॉपुलर रिएलिटी शो बिग बॉस 13 के विजेता बन चुके हैं। 20 हफ्ते के लम्बे सफर को तय करके सिद्धार्थ शुक्ला टीवी के सबसे बड़े टीवी रियलिटी शो के विनर बने। उन्होंने आसिम रियाज और शहनाज गिल को इस शो के आखिरी पड़ाव में मात दी। इस खबर को सुनने के बाद सिद्धार्थ के फैंस की खुशी का ठिकाना नहीं है। आइए आपको बताते हैं सिद्धार्थ शुक्ला के बारे में कुछ ऐसी बातें, जो आपको चौंका देंगी। सिद्धार्थ शुक्ला का जन्म 12 दिसंबर 1987 को मुंबई में हुआ था। उनके पिता अशोक शुक्ला रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में बतौर सिविल इंजीनियर काम करते थे। उनकी मां ऋतु शुक्ला होम मेकर हैं। सिद्धार्थ की दो बड़ी बहनें हैं।सिद्धार्थ ने मुंबई के सेंट जेवियर हाई स्कूल से पढ़ाई की थी। वे स्पोर्ट्स में दिलचस्पी रखते थे और उन्होंने टेनिस और फुटबॉल में अपने स्कूल का प्रतिनिधित्व भी किया था। सिद्धार्थ ने रचना संसद डिजाइन ऑफ इंटीरियर डिजाइन से पढ़ाई की थी।


वे इंटीरियर डिजाइनर बनने के लिए तैयार थे। सिद्धार्थ कॉलेज में साथ-साथ मॉडलिंग भी करते थे। बाद में उन्हें एहसास हुआ कि मॉडलिंग में उन्हें ज्यादा पैसे कमाने को मिलते हैं। तब उन्होंने अपना करियर प्लान बदल लिया। साल 2004 में उन्होंने ग्लैडरैग्स मैनहंट कांटेस्ट को जीता था। इसके अलावा उन्होंने साल 2015 में बेस्ट मॉडल ऑफ द वर्ल्ड का खिताब जीता था। ये कम्पटीशन टर्की में हुआ था। सिद्धार्थ एशिया के पहले आदमी थे, जिन्होंने ये खिताब जीता था। वे शायद भारत के इकलौते मॉडल हैं, जिन्होंने ग्रेट वॉल ऑफ चाइना पर शूट किया है। सिद्धार्थ बॉलीवुड में जाना चाहते थे, लेकिन उन्होंने सबसे पहले टीवी इंडस्ट्री को चुना। उन्होंने सीरियल बाबुल का अंगना छूटे ना से साल 2008 में अपना टीवी डेब्यू किया था। इसके बाद उन्होंने जाने पहचाने से अजनबी और लव यू जिंदगी जैसे सीरियलों में काम किया। हालांकि उन्हें सीरियल बालिका वधु में शिव का किरदार निभाकर फेम हासिल किया।


साल 2014 में सिद्धार्थ शुक्ला ने धर्मा प्रोडक्शन की वरुण धवन और आलिया भट्ट स्टारर फिल्म हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया में काम किया था। इस फिल्म में वे आलिया भट्ट के होने वाले पति बने थे। इस फिल्म में अपने काम के लिए उन्हें बेस्ट ब्रेकथ्रू सपोर्टिंग परफॉरमेंस (मेल) का स्टारडस्ट अवार्ड मिला था। सिद्धार्थ ने टीवी सीरियलों के अलावा रिएलिटी शोज में भी हिस्सा लिया था। उन्होंने झलक दिखला जा और खतरों के खिलाड़ी में भाग लिया था। खतरों के खिलाड़ी को सिद्धार्थ ने जीता भी था।


सिद्धार्थ शुक्ला का नाम एक्ट्रेस दृष्टि धामी, तनीषा मुखर्जी और रश्मि देसाई के साथ जोड़ा जा चुका है। एक समय था जब सिद्धार्थ के अफेयर्स के चर्चे इंडस्ट्री में गर्म रहते थे। माना जाता है कि वे बालिका वधु एक्ट्रेस स्मिता बंसल को भी डेट कर चुके हैं। बिग बॉस के घर में उनका नाम शहनाज गिल के साथ जोड़ा गया। सिद्धार्थ के नाम कई विवाद रहे है। सीरियल दिल से दिल तक में सिद्धार्थ शुक्ला ने काम किया था और उस समय खबर आई थी कि उनके नखरों से शो के लोग परेशान हैं। इतना ही नहीं सिद्धार्थ और रश्मि के बीच झगड़े की खबरें भी खूब उड़ी थीं। बाद में सिद्धार्थ ने इस सीरियल को छोड़ दिया था। साल 2014 में सिद्धार्थ मुश्किल में भी फंस गए थे।


25 आईपीएस 10 हजार जवान, अभेद सुरक्षा

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे ताकतवर इंसान कहे जाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24-25 फरवरी को भारत के दौरे पर रहेंगे। ट्रंप 24 फरवरी को सबसे पहले गुजरात के अहमदाबाद आएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का भव्य कार्यक्रम प्रस्तावित है। इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप के दौरे की सुरक्षा व्यवस्था की तैयारी लगभग पूरी हो गई है। ट्रंप के लिए अभेद सुरक्षा व्यवस्था बनाई गई है। दरअसल, शनिवार को सुरक्षा एजेंसियों की टीम ने अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम का जायजा लिया। साथ ही गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के वर्किंग प्रेसिडेंट धनराज नथवाणी और BCCI के सेक्रेटरी जय शाह भी शनिवार को मोटेरा स्टेडियम पहुंचे। उनके साथ गुजरात पुलिस के शीर्ष अधिकारी भी मौजूद थे।


इसके अलावा अहमदाबाद के डीसीपी विजय पटेल ने बताया है कि सुरक्षा के लिए यहां 10 हजार पुलिसकर्मी लगाए जाएंगे। सुरक्षा में 25 IPS अधिकारी, 65 एसीपी, 22 पुलिस इंस्पेक्टर और 800 सब-इंस्पेक्टर समेत 10000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। इतना ही नहीं हवाई सुरक्षा में करीब विमानों का काफिला भी रहेगा। काफिले में अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक जेट एयरफोर्स वन के अलावा छह और विमान होंगे। बताया जा रहा है कि इसमें अलग-अलग हेलीकॉप्टर, कार और कार्गो भी होंगे। जब किसी भी देश में ट्रंप का काफिला चलता है तो स्थानीय सुरक्षाकर्मियों के अलावा उनके अपने सुरक्षाकर्मी होते हैं, जो सैकड़ों की संख्या में होते हैं। अंदरूनी सुरक्षा घेरा पूरी तरह अमेरिकी प्रेसीडेंट की सुरक्षा टीम संभालती है।
 अंदरूनी सुरक्षा में आमतौर पर 14 वाहन होते हैं। सबसे आगे और अगल बगल नौ मोटर बाइक सवार चल रहे होते हैं, जो आधुनिक उपकरणों से लैस होते हैं। किसी भी तरह के संकट से निपटने में सक्षम होते हैं। आगे का रास्ता क्लियर करने का काम उन्हीं का होता है।


तीसरी बार दिल्ली सीएम का राजतिलक

आकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। अरविंद केजरीवाल के साथ मनीष सिसोदिया, सतेंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र पाल गौतम ने मंत्री पद की शपथ ली। इस शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के रोहिणी से विधायक विजेंद्र गुप्ता भी पहुंचे।


सीएम केजरीवाल ने मंच से पढ़ी ये कविता…जब भारत मां का हर बच्चा अच्छी शिक्षा पाएगा। जब भारत के हर बंदे को अच्छा इलाज मिल पाएगा। जब सुरक्षा और सम्मान महिलाओं में आत्म सम्मान जगाएगा। जब किसान का पसीना उसके घर में भी खुशहाली लाएगा। जब हर भारत वासी जीवन की मूलभूत सुविधा पाएगा। जब धर्म जाति से उठकर हर भारतवासी भारत को आगे बढ़ाएगा तब ही अमर तिरंगाआसमान में शान से लहराएगा।


पीएम का आशीर्वाद चाहता हूं: तीसरी बार दिल्ली की कमान संभालने के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव में विरोधियों ने हमारे बारे में जो कुछ बोला, हमने उन्हें माफ कर दिया। मैंने हर दल के लोगों के लिए काम किया है। दिल्ली के दो करोड़ लोग मेरा परिवार हैं। सबके साथ मिलकर दिल्ली को खूबसूरत बनाना है। सभी पार्टियों के साथ मिलकर काम करना है। दिल्लीवालों आपने इस चुनाव के अंदर एक नई राजनीति को जन्म दिया है। स्कूल, चौबीस घंटे बिजली, अच्छी सड़कों, महिलाओं की सुरक्षा, भ्रष्ट्रचार मुक्त, 21वीं सदी के भारत, मुफ्त बिजली, स्वास्थ्य की राजनीति को जन्म दिया है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद चाहता हूं। केजरीवाल ने अपना संबोधन भारत माता की जय, वंदे मातरम के साथ अपने संबोधन की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि ये मेरी नहीं, दिल्लीवालों की जीत है। वोट देने वाले, नहीं देने वाले दोनों का मुख्यमंत्री हूं। मैं दिल्लीवालों के जिंदगी में खुशहाली लाने की कोशिश करूंगा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


फरवरी 17, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-191 (साल-01)
2. सोमवार, फरवरी 17, 2020
3. शक-1941,फाल्गुन - कृष्ण पक्ष, तिथि- नवमी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 07:00,सूर्यास्त 06:06
5. न्‍यूनतम तापमान 14+ डी.सै.,अधिकतम-25+ डी.सै., हल्की बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...