गुरुवार, 17 अक्तूबर 2019

ड्रोन ने उड़ाये प्रशासन के 'तोते'

इंदौर। संयोगितागंज थाना क्षेत्र के रिहायशी इलाके में बुधवार को ड्रोन गिरने से हड़कंप मच गया। दूरदर्शन के टॉवर के संपर्क में आने के कारण उसकी फ्रिक्वेंसी रुक गई और बैटरी में विस्फोट हो गया। ड्रोन में लगे कैमरे और बैटरी देख पुलिस सकते में आ गई। पुलिस ने आतंकी घटना समझ आतंक निरोधी दस्ता (एटीएस), साइबर, क्राइम ब्रांच व बम निरोधक दस्ता (बीडीएस) को जांच में लगा दिया। चार घंटे बाद स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारी थाने पहुंचे और वास्तविकता बताई। घटना श्यामचरण शुक्ल नगर स्थित कब्रिस्तान की है। सुबह करीब 10.30 बजे बच्चे पतंग उड़ा रहे थे। तभी एक ड्रोन उड़ता हुआ आया और बिजली के खंभे से टकराकर देवराम एकले के घर की छत पर गिर गया। आठ साल का तन्मय दौड़ता हुआ दादा राजेश वानखेड़े के पास पहुंचा और घटना बताई।
राजेश ने दोस्त राजेश बादशाह को बुलाया और कंट्रोल रूम कॉल किया। कुछ देर बाद पुलिस वहां पहुंच गई। रहवासियों ने ड्रोन का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। ड्रोन में लगा कैमरा, बैटरी, वायरिंग और उसकी तकनीकी देख अफसरों ने उसे डीआरपी में भेज दिया और जांच शुरू कर दी। करीब एक घंटा चली जांच के बाद एसपी ने कहा कि यह किसी छात्र द्वारा बनाया गया 'प्रोजेक्ट' लग रहा है। उसमें लगे कैमरे में ऑपरेटर की फोटो मिल गई है। अलग-अलग टीमें गठित कर ऑपरेटर की तलाश की जा रही है।
सिमी की साजिश समझ बैठी खुफिया एजेंसी:-
अफसरों ने कैमरे में देखा टूलेन-16 लिखा हुआ था। उन्हें लगा जहां ड्रोन मिला वहां आजाद नगर जैसा संवेदनशील क्षेत्र सटा हुआ है। सिमी की साजिश समझ टीमें आजाद नगर रवाना कर दीं। फुटेज से खुलासा हुआ कि दो लोग एक कार में ड्रोन लेकर आए थे। टीम फुटेज लेकर नेहरू स्टेडियम पहुंच गई। टीआई ने दो गेट से प्रवेश रोक दिया और उस स्थान पर छानबीन शुरू की जहां से ड्रोन ऑपरेट किया गया था। करीब तीन बजे स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारी थाने पहुंचे और कहा यह ड्रोन उनका है। उन्होंने एमनेक्स इन्फोटेक्नॉलोजी कंपनी को जीआईएस सर्वे का ठेका दिया था। ऑपरेटर रवि और अंगद नेहरू स्टेडियम से ड्रोन द्वारा सर्वे कर रहे थे। अचानक वह दूरदर्शन के टॉवर के संपर्क में आ गया और उसकी फ्रिक्वेंसी रुक गई। रिसिवर फेल हो गया और ड्रोन भटक गया। उसकी बैटरी फट गई और वह गिर पड़ा। घटना के बाद अफसर पीटीसी व रेसीडेंसी इलाके में ड्रोन ढूंढते रहे।
ऐसा है ड्रोन
5 फीट लंबाई है
5 लाख है कीमत
चिंगारी निकली और खंभे से टकराकर गिर पड़ा:-
प्रत्यक्षदर्शी तन्मय के मुताबिक मैं पतंग उड़ा रहा था। तभी ड्रोन उड़ता हुआ आया और उसमें से चिंगारी निकली। उसके एंटिना में ब्लास्ट हो गया। वह बिजली के खंबे से टकराकर एक घर की छत पर गिर गया। उसकी पंखुड़ी थर्माकोल की बनी हुई थी। उसमें लगी बैटरियां फट चुकी थीं।
अगस्त में ही ले ली थी अनुमति:-
इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट लि. के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर डीआर लोधी ने बताया कि एक कंपनी को शहर का जीआई सर्वे का काम सौंपा है। उसी कंपनी ने बुधवार सुबह ड्रोन उड़ाया था। कंपनी प्रतिनिधियों ने हमें सूचना दी तो पुलिस को बताया गया कि यह ड्रोन स्मार्ट सिटी कंपनी के काम में इस्तेमाल किया जा रहा था। स्मार्ट सिटी कंपनी की सीईओ अदिति गर्ग ने बताया कि कंपनी ने ड्रोन उड़ाने की अनुमति अगस्त में ही पुलिस से ले ली थी।


दुनिया की सबसे खूबसूरत 'लड़की'

एंटरटेनमेंट डेस्क। यूं तो खूबसूरती का कोई सटीक पैमाना नहीं होता, हर व्यक्ति के लिए यह अलग-अलग हो सकता है, लेकिन फिर भी विज्ञान ने इसका पैमाना तय किया है और इसके मुताबिक एक लड़की है जो दुनिया में सबसे खूबसूरत हैं। इस लड़की का नाम बेला हदीद है।'गोल्डेन रेशियो ऑफ ब्यूटी फी स्टैंडर्स' के अनुसार धरती की सबसे खूबसूरत महिला का निर्धारण करने वाले वैज्ञानिकों ने विक्टोरिया के सीक्रेट मॉडल के चेहरे का चयन किया है, जो इस पैमाने पर करीब-करीब सटीक बैठता है। गोल्डन रेशियो के मुताबिक बेली का चेहरा 94.35 प्रतिशत सही है।आज हम आपको बेला हदीद की उन तस्वीरों को दिखाने जा रहे हैं जिसकी बहुत चर्चा होती है। इसमें कोई शक नहीं कि बेला बला की खूबसूरत हैं और उनकी फोटोज देखने के बाद उनसे नजर ही नहीं हटती है।इंटरनेट पर आजकल बेला की फोटोज छाई हुई हैं। हर वेबसाइट पर इनकी खूबसूरती के चर्चे हैं। फेसबुक से लेकर ट्विटर तक लोग इनकी फोटोज शेयर कर रहे हैं।बेला 23 साल की हैं और दुनियाभर में उन्होंने अपनी फैन्स फॉलोइंग बनाई है। इंस्टाग्राम पर बेला को 26.03 मिलियन लोग फॉलो करते हैं।



आवास के लिए दर-दर भटकती महिला

शिवाकांत अवस्थी
रायबरेली। महराजगंज तहसील क्षेत्र के पूरे कछवाह मजरे नेरथुवा गांव में विगत 15 दिन पूर्व हुई रुक रुक कर भारी बारिश में कच्चा मकान गिर जाने से एक वृद्ध महिला आवास के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है जबकि, कच्चा मकान गिरने की सूचना पर पहुंचे हल्का लेखपाल झब्बू राम ने जांच कर अपनी रिपोर्ट खंड विकास अधिकारी तहसील के अधिकारियों को सौंप दी है। लेकिन अभी तक पीड़ित महिला को आवास नहीं मिला। जिसके चलते पीड़ित महिला को आवास की दरकार है।
आपको बता दें कि, तहसील क्षेत्र के पूरे कछवाह मजरे नेरथुवा गांव निवासिनी अनुसुइया देवी पत्नी स्वर्गीय कन्हैया बक्स सिंह उम्र 65 वर्ष अपने पैत्रक गांव में कच्चे मकान में विगत कई वर्षों से रह रही थी। लेकिन इंद्र देवता के कहर से लगभग 15 दिन हुई रुक-रुक कर बारिश में अनुसुइया देवी का कच्चा मकान गिरकर खंडहर में तब्दील हो गया और अनसुइया देवी आवास विहीन हो गई। मकान गिरने की सूचना तत्काल प्रधान पति उमेश प्रताप सिंह ने तहसील प्रशासन को दी। मामले को संज्ञान में लेते हुए तहसील प्रशासन ने हल्का लेखपाल झब्बू राम को मौका मुआयना कर जांच रिपोर्ट देने की बात कही थी। उच्चाधिकारियों की बात को संज्ञान में लेते हुए हल्का लेखपाल छपु राम ने घटनास्थल पर पहुंच कर मौका मुआयना किया और अपनी रिपोर्ट तहसील प्रशासन व खंड विकास अधिकारी को सौंप दी।


मोदी पर उछाला कागज और पूछा

नई दिल्ली। पीएम मोदी इन दिनों हरियाणा में दोबारा बीजेपी की सरकार बनाने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं। इसी क्रम में पीएम मोदी हरियाणा में चुनावी रैली में बोल रहे थे तभी अचानक से एक व्यक्ति ने पीएम मोदी की तरफ कुछ कागज फेंका और नारा लगाते हुए पूछा कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ। इसके बाद रैली में करीब पांच मिनट काफी हलचल हो गई और वहां पर अफरातफरी का माहौल बना रहा। आनन-फानन में मौके पर पहुंची पुलिस ने इस व्यक्ति को अपनी गिरफ्त में ले लिया।रैली में सादी वर्दी में मौजूद पुलिसकर्मियों ने व्यक्ति को मीडिया ब्लॉक में घुसने नहीं दिया और वहां से उसे ले गए। हालांकि इस दौरान कुछ लोग वहां पर खड़े रहे हैं और जानने की कोशिशों में लगे रहे कि आखिर पूरा मामला क्या है।


बता दें कि प्रधानमंत्री ने अपना भाषण दे रहे थे तभी इस व्यक्ति ने चिल्लाते हुए कहा, 'कहां है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ? उधर पकड़े गए व्यक्ति का नाम अशोक कुमार बताया जा रहा है।


उधर इस व्यक्ति ने जो पत्र पीएम मोदी की तरफ फेंका था उसमें उसने लिखा है कि यमुनानगर में आठवीं कक्षा में पढऩे वाली एक छात्रा के साथ 26 अगस्त को उसके शिक्षक ने कथित तौर पर यौन उत्पीडऩ किया। इसके बाद पुलिस से इस मामले की शिकायत की गई लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। इतना ही नहीं कार्रवाई करने के बजाय छात्रा के माता-पिता पर ही प्राथमिकी दर्ज कर दी। हालांकि पुलिस इस मामले की जांच की बात कह रही है।


शराब पीकर वाहन चलाने पर होगी जब्त

लखनऊ। पुलिस सिर्फ चालान काटने का लक्ष्य न बनाए। सबसे ज्यादा घातक शराब पीकर गाड़ी चलाना है। यदि कोई व्यक्ति शराब पीकर वाहन चलाए तो उसके लाइसेंस के साथ वाहन भी जब्त कर लें। पुलिस का लक्ष्य होना चाहिए कि वाहन चालकों को जागरूक करें, जिससे प्रदेश में सड़क हादसों में हो रही मौतों को कम किया जा सके। ये मौतें तक कम होंगी जब शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों की संख्या शून्य पर पहुंच जाय। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कही। वह सड़क सुरक्षा सप्ताह के शुभारंभ अवसर पर अपने सरकारी आवास पर कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने बाइक रैली को हरी झंडी भी दिखाई।


उन्होंने कहा आमजन को जागरूक करने के लिए यह कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। यह किसी एक विभाग के कार्यक्रम द्वारा चलाने से सफल नहीं हो सकता है। इसमें इससे जुड़े सभी विभागों का समन्वय होना चाहिए। इसके साथ ही आमजन की सहभागिता भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि हम स्वयं की सुरक्षा के लिए यातायात के नियमों का पालन करें।


मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग से यातायात के नियमों को पाठ्यक्रम में शामिल करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि यदि पाठ्यक्रम में इसे शामिल किया जाएगा तो इससे बच्चे खुद जागरूक हो जाएंगे। इससे यातायात के प्रति लोगों को जागरूक करने में काफी सहायता मिलेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि परिवहन और पुलिस स्कूल-कॉलेजों में गोष्ठी कर बच्चों और अभिभावकों को यातायात के नियमों के बारे में विस्तार से जानकारी दें। स्वास्थ्य विभाग भी अपना दायित्व निभाए। किसी दुर्घटना के बाद रिस्पांस टाइम काफी कम हो, इससे हम जनहानि कम कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं, लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि यह आयोजन विस्तार से होना चाहिए, जिससे हर घर तक जागरूकता का दीप जल सके और जन हानियों में कमी आये। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि प्रति वर्ष ड्राइविंग लाइसेंस रिनीवल होना चाहिए। हम एक तरफ जागरूकता कार्यक्रम करें, वहीं जो लोग नियमों का पालन नहीं करते हैं उनके खिलाफ सख्ती भी दिखाएं।


40 लाख की अवैध शराब बरामद

श्रवण मिश्रा
थाना मिलएरिया और एसटीएफ लखनऊ की संयुक्त टीम द्वारा लगभग 40 लाख रुपये मूल्य की अवैध शराब बरामद की गयी, एक व्यक्ति गिरफ्तार



रायबरेली। पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने प्रेस वार्ता में बताया कि पुलिस द्वारा अवैध शराब और मादक पदार्थों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत मुखबिर की सूचना पर दिनांक 14-10-2019 को समय करीब 20:45 बजे थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली और एसटीएफ लखनऊ की संयुक्त पुलिस टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए रायबरेली सुल्तानपुर मार्ग आईटीआई रेलवे क्रॉसिंग के पास से ट्रक नंबर HR 55 E 3824 को रोककर तलाशी ली गयी तो ट्रक के अंदर धान की भूसी में छिपाकर रखे हुए 1160 पेटी अवैध शराब 180ml की 55680 बोतलों में कुल मात्रा लगभग 10,022 लीटर (बाजार मूल्य लगभग 40 लाख रुपये) बरामद हुये।
 
इस मामले में थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली पर मु.अ.सं.511/19 धारा-60/61 आबकारी अधिनियम तथा धारा-420/467/468/470/471 भादवि वादी करुणेश कुमार पांडेय उ.नि. एसटीएफ बनाम 1- सुरेंदर सिंह पुत्र रामचंदर सिंह निवासी ग्राम लखन-मजरा रोहतक हरियाणा 2-वेदपाल सिंह पुत्र धान सिंह निवासी कलवान फसीदों जिंद हरियाणा पंजीकृत करते हुए एक अभियुक्त सुरेंदर सिंह पुत्र रामचंदर सिंह निवासी ग्राम लखन-मजरा रोहतक हरियाणा को गिरफ्तार करते हुए उपरोक्त ट्रक व अवैध शराब को सीज कर लिया गया।
गिरफ्तार अभियुक्त:- सुरेंदर सिंह पुत्र रामचंदर सिंह निवासी लखन मजरा रोहतक हरियाणा। बरामदगी:-1160 पेटी अवैध शराब मय ट्रक नंबर HR 55 E 3824. गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम:- SHO राजकुमार पांडेय थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली, का0 अनिल कुमार थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली, का0 शादाब सिद्दीकी थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली, का0 सूरज कुमार थाना मिलएरिया जनपद रायबरेली, उ.नि. करुणेश कुमार पांडेय एसटीएफ लखनऊ, का0 कुलदीप एसटीएफ लखनऊ, का0 मुकेश प्रजापति एसटीएफ लखनऊ, का0 राजेश पाल एसटीएफ लखनऊ, का0 दिलीप यादव एसटीएफ लखनऊ, चालक त्रिदेव मिश्र एसटीएफ लखनऊ।इस मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक शशिशेखर सिंह रहे मौजूद।


जूतों की नोक से मारने वाला गिरफ्तार

बेंगलुरु। बेंलगुरू की एक निजी फर्म के मालिक को अपने कर्मचारियों के साथ मारपीट करने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया गया। इस मारपीट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया। वायरल हो रहे वीडियो में फर्म का मालिक सलीम खान अपने कर्मचारी के साथ मारपीट करते हुए दिखाई दे रहा है। सलीम खान अपने नुकीले जूते से उसे बार-बार गार्ड के चेहरे पर मार रहा है। वहीं फर्श पर पड़ा हुआ गार्ड अपनी बेगुनाही की गुहार लगा रहा है।


वीडियो में सलीम खान गार्ड को मारते हुए कहता है, 'तुम्हे यह करने के लिए किसने कहा था?' इसके जवाब में मार खाता हुआ गार्ड सिसकते हुए कहता है, 'नहीं, सर. मैं जिंदगी में फिर कभी नहीं करुंगा।


इसके बाद सलीम खान गार्ड को उठाता है और उसे धक्का देकर जमीन पर गिरा देता है। गार्ड चीखता हुआ नीचे गिर जाता है। इसी दौरान एक दूसरा व्यक्ति जो वीडियो में दिखाई नहीं देता सलीम खान को शांत रहने के लिए कहता है। एक दूसरे वीडियो में सलीम खान दूसरे गार्ड की गर्दन और चेहरे को दबाते हुए दिखाई देता। मार खाता हुआ गार्ड कहता है, 'मेरे को इतना मालूम नहीं है। सलीम खान गार्ड को मारने के लिए जैसे ही अपना पैर उठाता डर से कांपता हुआ गार्ड कहता है, 'मुझे मारो, लेकिन मैं कुछ नहीं जानता सर।


बता दें, सलीम खान की फर्म 'बैंगलोर सुरक्षा बल' शहर के HSR इलाके में स्थित है। गार्ड और सलीम खान सभी असम से हैं. वीडियो के वायरल होने के बाद बेंगलुरु पुलिस ने मामला दर्ज किया और सलीम खान को उसके चार साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अब उन गार्डों का पता लगाने की कोशिश कर रही है, जो मारपीट के बाद लापता हो गए थे। जांच के बारे में बताते हुए पुलिस उपायुक्त ईशा पंत ने कहा, 'इस वीडियो के आधार पर हमने बेंगलुरु के HSR पुलिस स्टेशन में धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। 6 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल मारपीट के कारण का अभी पता नहीं चला है।


पैदल मार्च कर पुलिस ने लिया जायजा

सीओ फुगाना के नेतृत्व में थानां तितावी प्रभारी डी के त्यागी ने क्षेत्र में किया पैदल गस्त


तस्लीम बेनकाब


मुजफ्फरनगर। उच्चअधिकारियों के निर्देशन में वह पुलिस क्षेत्राधिकारी फुगाना के नेतृत्व में थाना प्रभारी तितावी डी के त्यागी ने पुलिस फोर्स को साथ लेकर कस्बा बघरा व आस-पास के गांव में पैदल मार्च की किया,
इसके तहत शांति व्यवस्था बनाए रखना तथा त्योहारों के मद्देनजर शांति का संदेश देना मुख्य आधार रहा है


 उल्लेखनीय है कि आगामी दिनों में कई त्योहार आने वाले हैं जिनके मद्देनजर पुलिस काफी सतर्कता बरत रही है तथा पुलिस पूरी तरह एक्टिव मोड पर है उसी के मद्देनजर आज थाना प्रभारी डी के त्यागी ने सी ओ फुगाना के नेतृत्व में शांति मार्च निकाला तथा पुलिस के साथ स्वंम पैदल गस्त की।


15 साल पुराने खूनी खेल का पर्दाफाश

तिरुअनंतपुरम। केरल में एक ही परिवार के कई लोगों की 17 साल की अवधि में हत्‍या (Murder) का मामला सामने आया था। अब मल्‍टीपल मर्डर केस (Multiple Murder Case) की मुख्‍य आरोपी (Main Accused) शिकायतकर्ता पर मामला वापस लेने का दबाव डाल रही है। हत्‍याकांड में पीड़ित रॉय थॉमस के भाई रोजो जोसेफ ने बताया कि रॉय की पूर्व पत्‍नी और मामले में मुख्‍य आरोपी जॉली जोसेफ शक के आधार पर उसके खिलाफ की गई शिकायत वापस लेने पर जोर दे रही है। हाल में जॉली और एमएस मैथ्‍यू को रॉय की हत्‍या करने के शक में गिरफ्तार कर लिया गया है।


मामले की जांच खत्‍म होने के थी करीब, जॉली ने रख दी शर्त
अमेरिका (US) से हाल में केरल (Kerala) लौटे रोजो ने जॉली के खिलाफ अवैध तरीके से उसके पिता की संपत्ति कब्‍जाने के लिए फर्जी दस्‍तावेजों (Forged Documents) का इस्‍तेमाल करने का सिविल केस (Civil Case) दर्ज कराया थाा। यह संपत्ति जॉली के ससुर (Father-in-Law) और रोजो के पिता टॉम थॉमस पुन्‍नमत्‍तम के नाम पर है। रोजो ने बताया कि जब मामले की जांच खत्‍म होने के करीब थी तब जॉली ने इसे सही मुकाम तक पहुंचाने के लिए एक शर्त रखी। उसने कहा कि बाकी शिकायतें वापस लेने पर ही वह मदद करेगी। मैं इस पर सहमत नहीं हुआ। मैं संपत्ति विवाद से जुड़े मामले (Property Dispute Case) को बिलकुल अलग मामले के तौर पर ले रहा हूं।


केरल पुलिस ने नौ घंटे तक रोजो जोसेफ का बयान दर्ज किया
रोजो ने कहा कि जब उन्‍हें कुछ अन्‍य लोगों की मौत को लेकर जॉली के विरोधाभासी बयानों (Contradictory Statements) पर संदेह हुआ तो उन्‍होंने एक अलग शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मंगलवार को करीब नौ घंटे तक रोजो का बयान (Statement) दर्ज किया। रोजो का बयान पूरा नहीं होने के कारण बुधवार को भी दर्ज किया जाएगाा। बयान दर्ज कराने के लिए रोजो अपनी बहन रेंजी थॉमस के साथ थाने पहुंचे थे। रोजो ने बताया कि हमने पुलिस को कोई नया दस्‍तावेज नहीं दिया है। मामले की जांच पहले से मौजूद तथ्‍यों पर की गई है। जांच के दौरान हमारे ज्‍यादातर संदेह यकीन में बदले हैं। हमने इतनी बड़ी साजिश की कल्‍पना नहीं की थी।


नौ साल के अंतराल में की गई माता-पिता और भाई की हत्‍या
रोजो ने कहा कि मामले की जांच सही दिशा में जा रही है। हत्‍याकांड में रोजो की मां अन्‍नम्‍मा का 2002 और पिता टॉम का 2008 में मर्डर किया गया थाा। इसके बाद 2011 में रोजो के भाई की हत्‍या कर दी गई थी। रोजो ने कहा कि मृतकों और उनके परिजनों को न्‍याय मिलना चाहिए। इनके अलावा रॉय और रोजो के चाचा मैथ्‍यु की फरवरी 2014, चचेरे भाई शाजू जकारिया की पत्‍नी सिली शाजू की जनवरी 2016 और उनकी दो साल की बेटी अल्‍पाइन शाजू की हत्‍या मई 2014 में की गई। पुलिस इन सभी मामलों की जांच कर रही है। ये सभी हत्‍याएं 17 साल की अवधि में खाने में जहर मिलाकर (Poison-laden food) देकर की गईंं।


सड़क की दुर्दशा में नहीं हो रहा सुधार

राजस्थान राज्य के झुंझुनूं जिले के सिंघाना कस्बे में चिडावा बाईपास सडक का ये आलम आम जन और आम जीवन के लिए दुखदायक और खतरनाक 
जयपुर। राजस्थान राज्य के झुंझुनूं जिले के सिंघाना कस्बे के नारनौल बाईपास बस स्टैंड से चिडावा जाने वाले बाईपास रोड का आलम आम जन और आम जीवन के लिए दुखदाई और खतरनाक हैै। ऐसा आमजन चर्चा में सुना जा रहा है। नारनौल बाईपास बस स्टैंड के चिडावा स्टैंड से चिडावा जाने वाले रोड पर चिडावा स्टैंड से वन विभाग के आफिस के पहले तक सडक के दोनों ओर कई जगह कीचड, पानी भरा होनै और वाहन खडा होनै के द्वारा आमजन और आम जीवन के दुखी होने की चर्चा सुनाई देती रहती है। उपर वर्णित मार्ग पर कई शैक्षणिक संस्थान कोचिंग संस्थान व्यापारिक प्रतिष्ठानों से आमजन ने दया की मार्मिक अपील करते हुए समाज के प्रति लगाव रखने और उक्त आलम में सुधार की अपील की है। यानि सडक के बगल से कीचड पानी अतिक्रमण पक्का और  कच्चा सडक किनारे वाहनों का नाजायज और अनधिकृत अतिक्रमण हटवाने की अपील आम जन ने प्रशासन और संबंधित लोग़ों से दया की याचना करते हुए की है। नियमानुसार सबका सम्मान करते हुए गंभीरतापूर्वक दयापूर्वक।


राजेश कुमार शर्मा


प्लास्टिक स्टीकर लगे फलों पर बैन

रायपुर। खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ द्वारा प्रदेश के सभी फल विक्रेताओं को स्टीकर लगे हुए फल नहीं बेचने की अपील की है। साथ ही आम जनता से भी स्टीकर लगे हुए फ ल नहीं खरीदने की अपील की है। कोई भी खाद्य कारोबारी असुरक्षित खाद्य का संग्रह, वितरण और विक्रय करते पाया जाएगा तो उनके विरूद्ध खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2006 की धारा 59 की तहत कारावास एवं जुर्माने कार्रवाई की जाएगी।


नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ से प्राप्त जानकारी के अनुसार बाजार में बिकने वाले सेब, आम, संतरा, अमरूद, केला, सीताफ ल, नाशपाती आदि फ लों में स्टीकर चिपके होते हैं। अधिकांश व्यापारी फ ल के ऊपर स्टीकर का इस्तेमाल प्रीमियम दिखाने या कई बार फ लों के खराब हिस्सों की खामियां छुपाने के लिए करते हैं। फ लों पर जो स्टीकर चिपके होते है उन पर व्यापारी की ब्राण्ड के नाम, ओके टेस्टेड, बेस्ट क्वालिटी या फ ल का नाम लिखा होता है। फल विक्रेता फलों में स्टीकरों का इस्तेमाल उत्पाद को प्रीमियम दर्जे का दिखाने के लिए करते है। फलों के ऊपर लगे स्टीकर में कैमिकल होता है और कैमिकल की वजह से फल दूषित हो जाता है। स्टीकर के गोंद में खतरनाक कैमिकल होते है, जो मानव के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत खाद्य कारोबारी असुरक्षित खाद्य का संग्रह, वितरण, विक्रय नहीं करेगा। कोई भी व्यक्ति सड़ी-गली फलों एवं सब्जियों का विक्रय नहीं करेगा। फ ल एवं सब्जियों में मोम, खनिज तेल, रंगों का आलेपन भी नहीं करेगा और फ लों को कार्बाइट के रूप में सामान्य रूप से ज्ञात एसीटिलिन गैस का प्रयोग करके कृत्रिम रूप से पका कर विक्रय नहीं करेगा।


तुर्की सीमा पर हमारे सैनिक नहीं:ट्रंप

ट्रंप ने इटली के राष्ट्रपति सर्गेइ मत्तारेली से मुलाकात के इतर कहा, मैं सीरिया- तुर्की की सीमा पर स्थिति को अमेरिका के लिये रणनीतिक रूप से शानदार मान रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक वहां नहीं हैं। हमारे सैनिक पूरी तरह सुरक्षित हैं।


 वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया में अपनी कार्रवाइयों का बचाव करते उन्हें  रणनीतिक रूप से शानदार  करार दिया। उन्होंने तुर्की के हमलों में कुर्द सहयोगियों का साथ छोड़ने पर कहा कि ''कुर्द फरिश्ते नहीं हैं।'' ट्रंप तुर्की को उत्तरी सीरिया पर हमलों का मौका देने के लिए तीखी आलोचना का सामना कर रहे हैं, हालांकि उन्होंने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान इन चिंताओं को खारिज कर दिया। उन्होंने यह बात ऐसे समय में कही जब उपराष्ट्रपति माइक पेंस और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन को हमले रोकने के लिये मनाने की खातिर तुर्की जाने की तैयारी कर रहे हैं।ट्रंप ने इटली के राष्ट्रपति सर्गेइ मत्तारेली से मुलाकात के इतर कहा,  मैं सीरिया- तुर्की की सीमा पर स्थिति को अमेरिका के लिये रणनीतिक रूप से शानदार मान रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक वहां नहीं हैं। हमारे सैनिक पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि तुर्की सीरिया में गया। अगर तुर्की सीरिया में जाता है तो यह तुर्की और सीरिया के बीच का मामला है। यह तुर्की और अमेरिका के बीच का मामला नहीं है, जैसा कि कुछ मूर्ख लोग मानते हैं। उन्होंने कहा कि कुर्द अब काफी सुरक्षित हैं, वे जानते हैं कि कैसे लड़ा जाता है और जैसा कि मैंने कहा कि वे फरिश्ते नहीं हैं। अगर आप गौर से देखेंगे तो वे फरिश्ते नहीं हैं। 


गौरतलब है कि अमेरिका ने सीरिया में आईएस के खिलाफ लड़ाई में सहयोग देने वाले कुर्दों का साथ छोड़ दिया था, जिसके बाद अमेरिकी सैनिक कुर्द इलाकों से वापस आ गए थे। अमेरिकी सैनिकों के वापस लौटने के बाद तुर्की ने पिछले सप्ताह वहां हमले शुरू कर दिये थे।


राजधानी में आतंकी अटैक की धमकी

नई दिल्ली। दीवाली पर आतंकी हमले का अलर्ट, बड़ी वारदात को अंजाम देने आज दिल्ली में जुटेंगे आतंकी 
दीवाली पर आतंकी हमले का अलर्ट, बड़ी वारदात को अंजाम देने आज दिल्ली में जुटेंगे आतंकी
एक व्यक्ति ने आंतंकियों की बातचीत सुनी है। जिसके बाद एनआईए ने अलर्ट जारी किया है। डिजाइनर कार में देखे गए थे आतंकी। पांचो आतंकियो का हुलिया एनआईए ने साधा भी किया है।


 दीवाली के पर्व पर आतंकवादी दिल्ली में बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। खबरों के अनुसार कश्मीर से दिल्ली आ सकते हैं आतंकी। आज ही आतंकियों के दिल्ली में जुटने की भी खबर है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एक व्यक्ति ने आतंकियों की बातचीत सुनी है। जिसके बाद एनआईए ने अलर्ट जारी किया है। डिजाइनर कार में देखे गए थे आतंकी। पांचों आतंकियो का हुलिया एनआईए ने साझा करते हुए अलर्ट भी जारी किया है।


दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 312

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में गुरुवार को एक बार फिर प्रदूषण के चलते हवा की गुणवत्ता बहुत खराब स्थिति में पहुंच गई। दिल्ली ओवरआल एयर क्वालिटी इंडेक्स 312 स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में पीएम-10 का स्तर 301 और पीएम 2.5 का स्तर 339 पर आज पहुंच गया, एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनसार यह लेवल बेहद खराब की श्रेणी में आता है। वहीं दिल्ली के ग्रीन एरिया माने जाने वाले दिल्ली यूनिवर्सिटी में भी वायु की गुणवत्ता भी बेहद खराब रही. डीयू में पीएम -10 का स्तर 217 और पीएम 2.5 का लेवल 322 रहा. जो कि 'बेहद खराब' की श्रेणी में है।


गाजियाबाद जिला प्रशासन की उदारता

गाजियाबाद। थाना साहिबाबाद की चौकी तुलसी निकेतन क्षेत्र के गगन विहार मे बिजली विभाग के लाइनमैनो त्रिलोकी विकास राजीव अशोक कपिल जीतू द्वारा अधिशासी अभियंता राजीव आर्य द्वारा पत्रकार पंकज तोमर पर समाचार प्रकाशित करने के बदले स्वरूप अपने उपस्थिति में करवाया गया। जानलेवा हमला जिसमें गंभीर रूप से घायल हुए पत्रकार पंकज तोमर को एमएमजी हॉस्पिटल में कराया गया। भर्ती चिकित्सकों ने बताया कि अभी पीड़ित का इलाज चल रहा है। सिर में गहरी चोट है इलाज के दौरान स्वास्थ्य परीक्षण कर देखा जाएगा। यदि वह चलने लायक है तो उसको घर भेज दिया जाएगा। वरना भर्ती करने की मरीज की स्थिति पर निर्भर करता है।


 


बेहतर दृष्टिकोण पर विचार करें:कुंभ

राशिफल


मेष-आज आपके फोकस में कुछ कमी हो सकती है, अपने मूड स्विंग नियंत्रण में रखें। आपमें रचनात्मक ऊर्जा की अधिकता रहेगी। इसे उचित दिशा में अवश्य लगाएं। आज किसी भी प्रकार का रचनात्मक कार्य करें जो आपको पसंद हो जैसे की लेखन, चित्रकारी, डांस, कुकिंग इत्यादि। इससे आपके मन में संतोष की भावना बढ़ेगी और स्वास्थ्य लाभ भी होगा। आपके काम में भी फोकस बढ़ेगा और काम की गुणवत्ता में भी सुधार होगा। आज किसी प्रकार से दान ज़रूर करें।


वृष-आज का दिन थकान और तनाव से भरा रह सकता है। आपका मिजाज भी थोड़ा उखड़ा या चिड़चिड़ा रह सकता है। ऐसे में अपने आप को आराम देने की सोचें या कुछ अनावश्यक कामों को थोड़ा टालने का विचार रहें। काम का बोझ अधिक रहेगा और आस पास के लोगों से अनबन होने के आसार हैं। यदि नया मकान या प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो उसके कागज़ अच्छी तरह से जांच लें।


मिथुन-आज का दिन आपके लिए कुछ लोगों से मुलाकात का रहेगा। आपको अपनी बात समझाने और लोगों को उस पर सहमत करने के लिए प्रयास करना पड़ सकता है। यदि कोई मित्र रूठा हुआ है तो उसे मनाएंगे। आपकी सलाह सबके लिए लाभकारी रहेगी। आपकी संवेदनशीलता आपके लिए और दूसरों के लिए भी एक वरदान है क्योंकि इसकी मदद से आप दूसरों का समझ कर उन्हें अच्छे प्रकार से गाइड कर सकते हैं और आपकी सलाह से प्रसन्नता मिलती है।


कर्क-अपनी किसी भी बात पर अड़ियल न हों, दूसरों के नज़रिए से भी बात समझने का प्रयास करें। परिस्थिति में बदलाव हो रहा है, इसके साथ अपने आप को भी बदलने का प्रयास करें नहीं तो आपके अड़ियल स्वभाव के कारण आप अपना नुकसान कर सकते हैं। रिश्तों में भी दूसरों का नजरिया देखने का प्रयास करें तभी कोई मसला हल होगा। आपके आइडियाज बुत सराहनीय हैं किन्तु उन्हें थोड़ा प्रैक्टिकल बनाने की भी आवश्यकता है। प्रेमी या प्रेमिका से आज किसी बात पर झगड़ा हो सकता है। अपनी बातों या विचारों में अड़ियल न हों।


सिंह-आज आप जो भी काम करें, उसमें अपने परिणाम का पूरा ध्यान रखें। आपके प्रयास थोड़ी सी लापरवाही के कारण व्यर्थ जा सकते हैं। पुराने निवेश से धन लाभ के योग हैं। मेहनत फल देगी और उन्नति का मार्ग प्रशस्त करेगी। अपने जीवन को दूसरों के लिए आदर्श बनाएं। किन्तु इस प्रक्रिया में अपने महत्त्व को कम न होने दें। दूसरों की सहायता करना अच्छी बात है किन्तु अपना नुकसान करके किसी और की सहायता न करें। इससे किसी का भला नहीं होगा। मदद उसकी करें जो उसके योग्य हो।


कन्या-आज कुछ लोगों से आपका विवाद या कहासुनी हो सकती है। बात करते समय पूरा संयम बरतें। सही समय पर आपके पास आपकी ज़रुरत के संसाधन प्राप्त हो जाते हैं। आप जो पान चाहते हैं उसके लिए बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और कमी हो सकती है। इस विचार को छोड़कर यदि मेहनत करेंगे तो सफलता जल्द ही प्राप्त होगी। अपने विचारों को कमी की बजाय सम्पन्नता पर फोकस रखें।


तुला-आज आपका मूड कुछ बदला हुआ सा रह सकता है। किसी काम में मन नहीं लगेगा, आपको एकांत में रहना भी अच्छा लग सकता है। ऐसा किसी काम में मनचाहा परिणाम ना मिलने से हो सकता है। आपमें भरपूर योग्यता होते हुए भी आप अपना कौशल पूरी तरह से इस्तेमाल नहीं कर पा रहे जिससे मन में असंतोष की भावना होती है।


वृश्चिक-आज आपको किसी बात को लेकर थोड़ा तनाव रह सकता है। ये परिस्थिति प्रोफेशनल और पर्सनल दोनों तरह से हो सकती है। लेकिन आज आप अपनी परेशानियों को किसी से शेयर ना करें। शांत रह कर सही समय का इंतजार करेंगे तो हर मुश्किल पर विजय पा लेंगे। भविष्य को लेकर परेशान न हों, समय के साथ सब कुछ सुलझ जाएगा। आपमें आज ऊर्जा की कमी नहीं है। इसे उचित दिशा में लगाएं। अपनी सेहत का पूरा ख़याल रखें।


धनु-आज का दिन आपके लिए कुछ बीती बातों पर फिर से विचार करने का है। आपको सही-गलत का ज्ञान हो सकता है। पुराने रुके हुए सौदे आपको लाभ दे सकते हैं। नए रिश्तों का आरम्भ होने के आसार हैं। किसी नए रोमांटिक रिश्ते का आगाज़ होगा जिसके चलते मन में ख़ुशी बनी रहेगी। काम काज को लेकर थोड़ा फोकस बढ़ाने कि आवश्यकता है। अपने धैर्य और कुशलता का प्रयोग करें, यदि कोई काम नहीं चल रहा तो उसे नए नज़रिये से देखने कि ज़रुरत है।


मकर-आज आपके लिए दिन काफी मिलाजुला सा रहने वाला है। अपने लिए कुछ नया सोचने का समय है। आपको किसी खास व्यक्ति द्वारा कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिल सकती है। आप आज धन के मामले में थोड़ा सावधान रहें। अगर किसी निवेश में आपको लाभ नजर आ रहा है, तो भी सावधानी से ही पैसा लगाएं, आज कुछ नुकसान होने के संकेत कार्ड्स दे रहे हैं।


कुम्भ-आज जीवन को किसी अलग नजरिए से देखने की आवश्यकता है। आपको कोई अनचाहा बदलाव होता दिखाई देगा लेकिन किसी भी परिस्थिति का विरोध करने से पहले आप अपने लिए उसमें क्या बेहतर हो सकता है, इस पर खुलकर विचार करें। अगर आप चीजों को गंभीरता और ठंडे दिमाग से सोचेंगे तो आपको अनचाहे बदलावों में अपना हित नजर आएगा।


मीन-यदि कोई परिस्थिति आपके अनुकूल नहीं जा रही तो उसके लिए परेशान होने की बजाय उसे कैसे सुधार सकते हैं, इस बात पर ध्यान दें। यदि किसी के लिए मन में कड़वाहट हो तो उसे माफ़ ज़रूर करें। इससे आपकी सेहत बेहतर होगी और आपके कर्म अच्छे होंगे। व्यर्थ चिंता न करें। परिस्थिति जल्द ही अनुकूल ही जाएगी। परिस्थिति के प्रति अनासक्ति का भाव रखें, इससे आपको लाभ होगा। नकारात्मक सोच से बचें और नकारात्मक सोच रखने वाले व्यक्तियों से भी दूर रहें। किसी भी स्थिति में निर्णय लेने से पहले थोड़ा इंतज़ार करलें तो अच्छा रहेगा।


जलीय जंतु केकड़ा

केकड़ा आर्थ्रोपोडा संघ का एक जन्तु है। इसका शरीर गोलाकार तथा चपटा होता है। सिरोवक्ष (सिफेलोथोरेक्स) तथा उदर में बँटा रहता है। इसका उदर बहुत छोटा होता है। इसके सिरोवक्ष के अधर वाले भाग में पाँच जोड़े चलन पाद मिलते हैं। सिर पर एक जोड़ा सवृन्त संयुक्त नेत्र मिलता है। इसमें श्वसन गिल्स द्वारा होता है।


लक्षण:-
चित्र:सामान्य केकड़ा अंगूठाकार


यह जलीय जंतु होता है जो जल प्रणाली की तलछटी में रहता है।
इसका शरीर सिफैलोथोरेक्स (Cephalothorex) और उदर में विभाजित रहता है तथा उदर बहुत छोटा होता है।
सिफैलोथोरेक्स की चौड़ाई लंबाई से ज्यादा होती है।
इसके सिर पर एक जोड़ा ऐंटेन्यूल्स (Antennules), एक जोड़ा श्रृंगिका (Antenna) और एक जोड़ी संवृंत संयुक्त नेत्र (Compound eye) होते हैं।
इसके वक्षीय उपांगों (Appendages) में प्रथम जोड़ा मैक्जिलीपीड्स कीलेट (Chelates) और 4 जोड़े प्रचलन पाद (Walking-legs) होते हैं।
इसके उदर में प्लियोपोड्स (Pleopods) अल्प विकसित यूरोपपोड्स (Uropods) नहीं पाए जाते हैं।
इसमें श्वसन क्लोम द्वारा होता है।
यह एक लिंगी होता है। जीवन वृत्त में जूइया (Zoea) नामक लार्वा अवस्था होती है जिसके कायंतरण से वयस्क का विकास होता है।


इडली बनाने की आसान विधि

इडली (IPA:ɪdliː), एक दक्षिण भारतीय व्यंजन है। यह श्वेत रंग की मुलायम और गुदगुदी, २-३ इंच के व्यास की होती है। यह चावल और उड़द की धुली दाल भिगो कर पीसे हुए, खमीर उठा कर बने हुए घोल से भाप में तैयार की जाती है। खमीर उठने के कारण बड़े स्टार्च अणु छोटे अणुओं में टूट जाते हैं, व पाचन क्रिया को सरल बनाते हैं।


प्रायः उपाहार में परोसी जाने वाली इडली को जोड़े में नारियल की चटनी और सांभर के संग परोसा जाता है। इडली को विश्व के सर्वोच्च दस स्वास्थय वर्धक व्यंजनों में माना गया है।


पाक विधि:-इडली के घोल को किण्वन के उपरांत सांचों में बने गड्ढों में डाल कर उच्च दबाव या भाप में पकाया जाता है।दाल चावल की इडली बनाने के लिये, दाल चावल को भिगो कर पीस कर मिश्रण तैयार करना होगा और उस मिश्रण को फरमैन्ट भी करना होगा, इडली अच्छी तरह से स्पंजी तभी बनेगी जब मिश्रण अच्छी तरह से फरमैन्ट हुआ होगा, इसलिये सबसे पहले मिश्रण तैयार करना होगा। अगर रविवार को इडली बनाना चाहते हैं, तब गरम प्रदेश में रहने वालों को शनिवार की सुवह ही दाल भिगो देनी चाहिये होगी, लेकिन ठंडे प्रदेश में रहने वालों को शुक्रवार की सुवह ही दाल भिगो देनी पड़ेगी, क्यों कि ठंड में फरमैन्टेशन देर से होता है।


आवश्यक सामग्री
चावल - 3 कप
उरद की धुली दाल - 1 कप
बेकिंग सोडा - 1/2 छोटी चम्मच
नमक - स्वादानुसार
तेल - इडली स्टैन्ड को चिकना करने के लिये
विधि:-उरद की दाल और चावल को साफ कीजिये, धोइये और अलग अलग 4 घंटे या रात भर के लिये पानी में भिगो दीजिये। उरद दाल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और कम पानी का प्रयोग करते हुये एक दम बारीक पीस लीजिये, चावल से भी अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और कम पानी का प्रयोग करते हुये थोड़ा सा मोटा पीसिये, दोनौं को मिलाइये तथा इतना गाढ़ा घोल तैयार कीजिये कि चमचे से गिराने पर एक दम धार के रूप में नही गिरना चाहिये।


मिश्रण को किण्वित (फरमैन्ट) करने के लिये स्वादानुसार नमक ओर बेकिंग सोडा डालकर, ढककर गरम जगह पर 12-14 घंटे के लिये रख दीजिये, फरमेन्ट किया हुआ मिश्रण पहले की अपेक्षा दोगुना हो जाता है। इडली बनाने के लिये मिश्रण तैयार है।


इडली बनाइये:-मिश्रण को चमचे से चलाइये, यदि बहुत अधिक गाढ़ा लग रहा है तो थोड़ा पानी मिला लीजिये। यदि आपके पास इडली बनाने का परम्परिक बर्तन है तो बहुत ही अच्छा है। नहीं तो आप इडली मेकर और प्रेशर कुकर मैं भी इडली बना सकते हैं। मैं भी इडली प्रेशर कुकर में ही बनाती हूं।


प्रेशर कुकर में 2 छोटे गिलास पानी (500 ग्राम पानी) डालकर गरम करने के लिये गैस पर रखिये। इडली स्टैन्ड निकालिये साफ कीजिये, इडली के खानों में तेल लगाकर चिकना कीजिये। चमचे से इडली स्टैन्ड के खानों में बराबर बराबर मिश्रण भरिये, सारे खाने भर कर इन्हैं इडली स्टैन्ड में लगा लीजिये। इडली पकने के लिये स्टैन्ड को कुकर में रखिये। कुकर का ढक्कन बन्द कर दीजिये, ढक्कन के ऊपर सीटी मत लगाइये।


तेज गैस फ्लेम पर 9-10 मिनिट तक इडली पकने दीजिये. गैस बन्द कर दीजिये इडलियां पक गयीं हैं। प्रेशर कुकर खोलिये, इडली स्टैन्ड निकालिये, खांचे अलग कीजिये, ठंडा कीजिये और चाकू की सहायता से इडली निकाल कर प्लेट में लगाइये। लीजिये इडलियां तैयार हैं,गरमा गरम इडली गरमा गरम सांबर और नारियल की चटनी और मूंगफली की चटनी के साथ परोसिये।


उल्टा लटकने वाला स्तनधारी पक्षी

चमगादड़ आकाश में उड़ने वाला एक स्तनधारी प्राणी है, जो अपनी १००० से भी अधिक प्रजातियों के साथ स्तनधारियों के दूसरे सबसे बडे़ कुल का निर्माण करता है। ये पूर्ण रूप से निशाचर होते हैं और पेड़ों की डाली अथवा अँधेरी गुफाओं के अन्दर उल्टा लटके रहते हैं। इनको दो समूहों मे विभाजित किया जाता है, पहला समूह फलभक्षी बडे़ चमगादड़ का होता है, जो देख कर और सूंघ कर अपना भोजन ढूंढते हैं जबकि दूसरा समूह् कीटभक्षी छोटे चमगादड़ का होता है, जो प्रतिध्वनि द्वारा स्थिति निर्धारण विधि के द्वारा अपना भोजन तलाशते हैं। यह एकमात्र ऐसा स्तनधारी है जो उड़ सकता है तथा रात में भी उड़ सकता है। इसके अग्रबाहु पंख मे परिवर्तित हो गये हैं जो देखने में झिल्ली (पेटाजियम) के समान लगते हैं। त्वचा की यह झिल्ली गरदन से लेकर हाथ की अँगुलियों तथा शरीर के पार्श्वभाग से होती हुई पूँछ तक चली जाती है एवं पंख का निर्माण करती है। पिछली टाँगें पतली, छोटी और नखयुक्त होती हैं। इसके शरीर पर बाल कम ही होते हैं। सिर के दोनों ओर बड़े-बड़े कर्णपल्लव पाये जाते हैं। चमगादड़ के पंखो का आकार २.९ सेण्टीमीटर से लेकर १५०० सेण्टीमीटर तक तथा इनका वजन २ ग्राम से १२०० ग्राम तक होता है।


चमगादड़ उलटे लटकते हैं क्यों कि उल्टे लटके रहने से वे बड़ी आसानी से उड़ान भर सकते हैं। पक्षियों की तरह वे ज़मीन से उड़ान नहीं भर पाते, क्योंकि उनके पंख भरपूर उठान नहीं देते और उनके पिछले पैर इतने छोटे और अविकसित होते हैं कि वो दौड़ कर गति नहीं पकड़ पाते। चमगादड़ आमतौर पर अंधेरी गुफाओं में दिनभर आराम करते हैं, सोते हैं और रात को ही निकलते हैं। ये सोते हुए गिर क्यों नहीं जाते इसका कारण ये है कि चमगादड़ के पैरों की नसें इस तरह व्यवस्थित हैं, कि उनका वज़न ही उनके पंजों को मज़बूती के साथ पकड़ने में मदद करता है।


गुड़हल में है कहीं औषधीय गुण

गुड़हल की पत्तियाँ प्रत्यावर्ती, सरल, अंडाकार या भालाकार होती हैं और अक्सर इनके किनारे दंतीय होते हैं। फूल आकार में बड़े, आकर्षक, तुरही के आकार के होते हैं। प्रत्येक पुष्प में पाँच या इससे अधिक पंखुड़ियाँ होती हैं। इन पंखुडियों का रंग सफेद से लेकर गुलाबी, लाल, पीला या बैंगनी भी हो सकता है और इनकी चौडाई ४-५ सेमी तक होती है। इसका फल सूखा और पंचकोणीय होता है जिसकी हर फाँक में बीज होते हैं। फल के परिपक्व होने पर यह अपने आप फूटता है और बीज बाहर आ जाते हैं।


औषधीय उपयोग:-भारतीय पारंपरिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद के अनुसार सफेद गुड़हल की जड़ों को पीस कर कई दवाएँ बनाई जाती हैं। मेक्सिको में गुड़हल के सूखे फूलों को उबालकर बनाया गया पेय एगुआ डे जमाईका अपने रंग और तीखे स्वाद के लिये काफी लोकप्रिय है। अगर इसमें चीनी मिला दी जाय तो यह क्रैनबेरी के रस की तरह लगता है। डायटिंग करने वाले या गुर्दे की समस्याओं से पीडित व्यक्ति अक्सर इसे बर्फ के साथ पर बिना चीनी मिलाए पीते हैं, क्योंकि इसमें प्राकृतिक मूत्रवर्धक गुण होते हैं। ताइवान के चुंग शान मेडिकल यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि गुड़हल के फूल का अर्क दिल के लिए उतना ही फायदेमंद है जितना रेड वाइन और चाय। इस फूल में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने में मददगार होते हैं। विज्ञानियों के मुताबिक चूहों पर किए गए अध्ययन में पाया गया कि गुड़हल (हीबीस्कूस्) का अर्क कोलेस्ट्राल को कम करने में सहायक है। इसलिए यह इनसानों पर भी कारगर होगा।


पुष्प:-जवा एक पूर्ण एवं नियमित पुष्प का उदाहरण है। पुष्प के चारो भाग पुटचक्र, दलचक्र, पुमंग तथा जायांग इसमें पाएँ जाते हैं। पुटचक्र संख्या में पाँच तथा युक्तनिदल होते हैं। पुटचक्र के नीचे स्थित निपत्रों के चक्र को अनुबाह्यदल कहते हैं। दलचक्र पाँच एवं पृथकदल होते हैं परन्तु ये आधारतल पर कुछ दूर तक जुड़ा हुए होते हैं।. दलपत्रों की संख्या पाँच होती है। दलपत्रों का व्यास 4 से लेकर 15 सेंटीमीटर तक होता है। विभिन्न प्रजातियों के दलपत्र विभिन्न रंगों के एवं आकर्षक होते हैं। पुमंग अनेक एवं एकसंलाग होते हैं। तंतु संयुक्त होकर एक नली बनाते हैं परंतु परागशय अलग होते हैं। परागशय का आकार वृक्क के समान होता है। जायांग पाँच एवं प्रत्येक अंडप के अंतिम भाग में एक वर्तिकाग्र होते हैं।


महर्षि वशिष्ठ का राष्ट्रवाद उपदेश

गतांक से...
 मेरे प्यारे मुझे स्मरण आता रहता है जब भी आप पृथ्वी मंडल पर महात्मा कपिल और भी नाना प्रकार के ऐसे विद्यालय थे। जहां परमाणु विद्या पर अन्वेषण होता रहता था और मुनिवरो देखो मंगल मंडल में मृचिक नामक एक वैज्ञानिक था जो अपने में धनुर्विद्या में परायण थे। महात्मा कपिल मुनि आश्रम से जय और विजय दोनों ब्रह्मचारी को लेकर मंगल मंडल में अपने यंत्रों के द्वारा पहुंचे। क्योंकि यंत्रों में विद्यमान होकर लोको में गमन किया जा सकता है। मंगल मंडल में जाकर 6 माह तक उन्होंने वहां की शस्त्र विद्या का अध्ययन किया। कपिल प्रभु हमने इस विद्या को जान लिया है वैसे यंत्रों का निर्माण करना जानते थे। जिन्हें वायुमंडल में त्यागने से ही सर्वत्र वायुमंडल शून्यगति को प्राप्त हो जाता था और प्राणी मात्र भी शून्यता को प्राप्त हो जाता था। बेटा मुझे उस विज्ञान में नहीं जाना है। विज्ञान तो अपनी स्थली में बड़ा अनूठा बन कर रहा है। परंतु मैं केवल इतना उच्चारण कर रहा हूं कि संभवे ब्राह्मणा: वर्तम: देवात्मम्' महात्मा कपिल और ब्रहमचारियों की इस प्रकार की वार्ता आरंभ होती है। वह भी लोक लोकातंरो में भ्रमण करते रहते थे मेरे प्यारे जय और विजय ने उन्हें प्राप्त कर दिया और यह कहा है व्रहे वर्तम् राजन, हे राजन अब तुम क्या करना चाहते हो। राजा ने कहा मैं अश्वमेघ यज्ञ करना चाहता हूं। महात्मा कपिल ने आज्ञा दी। उन्होंने अपने सब ब्रह्मचारी जनों के साथ आकर अयोध्या में अश्वमेघ यज्ञ किया। कहते हैं राजा को अश्व और प्रजा को मेघ कहते हैं। प्रजा को इसलिए अश्वमेघ यज्ञ बनता है। क्योंकि यज्ञ का अभिप्राय है अपने आंतरिक जगत की त्रुटियों को त्यागना और सूता को ग्रहण करना। जिससे मानव का जीवन पवित्र बन जाए। मेरे प्यारे, मै विज्ञान के युग में नहीं ले जा रहा हूं विचार केवल यह प्रकट करना है कि हम अपने में अपनेपन को जानने का प्रयास करें। महर्षि वशिष्ठ मुनि महाराज ने भगवान राम को उनके पूर्वजों की कथा का वर्णन किया । उन्हें भी यह प्रश्न बना रहा कि प्रभु यह इसका प्रतिशोध नहीं है कि राजा सगर ने यह शिक्षा दी। कपिल ने यह किया और वह हो गया। हे प्रभु मेरा तो बना हुआ है राष्ट्रवाद क्या है वशिष्ठ वशिष्ठ कहलाते थे अपने में उन्होंने वरिष्ठता का ज्ञान था। उन्होंने कहा हे राम, राष्ट्रवाद उसे कहते हैं जहां धर्म और मानवता की रक्षा होती है। वह राष्ट्र कहलाता है जंहा मेरी पुत्रियों को पूजनीय दृष्टि से दृष्टिपात किया जाता है और राष्ट्र के एक छोर से दूसरे छोर में मेरी पुत्री चली जाए। कोई भी उसको कूदृष्टिपान करने वाला राष्ट्र में नहीं होना चाहिए। वशिष्ठ ने जब यह कहा तो राम बड़े प्रसन्न हुए। आप मुझे बाल्यकाल में भी है शिक्षा देते रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा तो शिक्षा है चाहे बाल अवस्था में प्राप्त हो या युवावस्था में प्राप्त हो। परंतु शिक्षा अपनी स्थली में शिक्षा बनी रहती है। महात्मा वशिष्ठ ने कहा तुम यदि अपने राष्ट्र को ऐसा बनाना चाहते हो तो प्रियतम ऊंचा बनता है। जब प्रत्येक मानव के अव्यव पवित्र बन जाते हैं।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


हिंदी दैनिक


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 18, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-75 (साल-01)
2. शुक्रवार,18 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,कृष्णपक्ष,तिथि- पंचमी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:18,सूर्यास्त 06:00
5. न्‍यूनतम तापमान -20 डी.सै.,अधिकतम-31+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)



दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...