शनिवार, 1 अगस्त 2020

एसओजी टीम ने शातिर चोर किए गिरफ्तार

अतुल त्याागी, रिंकू सैनी


थाना बाबूगढ़ एवं एसओजी टीम द्वारा तीन शातिर चोरों को किया गया गिरफ्तार


हापुड़। पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेशानुसार चलाये गए चेकिंग अभियान के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक हापुड व क्षेत्राधिकारी हापुड नगर व थानाध्यक्ष महोदय के निकट पर्यवेक्षण मे थाना बाबूगढ पुलिस के संयुक्त टीम द्वारा रात्रि चेंकिग के दौरान किठौर मार्ग से तीन शातिर अपराधी जफर याव पुत्र नईम जसौरा थाना मुण्डाली जनपद मेरठ, परवेज पुत्र शौकीन  ग्राम जसौरा जिला मेरठ, सलमान उर्फ इसरार खलीफा ग्राम जसौरा थाना  मेरठ को थाना हापुड देहात से लूटी गयी  (हिरो न0-UP37N-1034)थाना किठौर से चोरी की गयी ( UP16BW-6579) व थाना क्षेत्र से लूटे गये व चोरी किये गये 79000 रूपये व तीन अदद तमंचे, 5 जिन्दा कारतूस  व 315 बोर के साथ गिरफ्तार किया गया है।जिन्हें पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया जिसके सम्बन्ध में थाना  पर क्रमश 291/20 धारा-411.120बी,34 भादवि), मु0अ0स0-292/20 धारा-3/25 शस्त्र अधि0,मु0अ0स0-293/20 धारा-3/25 शस्त्र अधि0,मु0अ0स0-294/20 धारा-3/25 शस्त्र पंजीकृत किया गया है।
चेकिंग के दौरान पुलिस को चकमा देकर तीन अपराधी वसीम मोहम्मद,नदीम और मनशाद मेरठ निवासी भागने में सफल रहे,जिनकी तलाश की जा रही हैं। पुलिस अधीक्षक महोदय ने पूरे टीम को बधाई दिया और कहाँ की पुलिस अपने कर्तव्यों का पालन कर रही है और शहर को अपराधी मुक्त करने का पूरा प्रयास कर रही है। इस चेकिंग टीम में महाराज सिंह, धर्मेंद्र सिंह,आशीष कुमार राजीव कुमार,नरेश कुमार,संजय यादव,अमरेंद्र,अंकुर,आदेश बालियान,अनुज कुमार,सचिन,हरेंद्र,सोनू,अवनीश,अनुज राठी समेत अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे।           


वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़, 12 अरेस्ट

अतुल त्यागी, रिंकू सैनी


गढमुक्तेश्वर पुलिस द्वारा अंतर्राज्यीय वाहन चोरी करने वाले गिरोह को किया गया गिरफ्तार


हापुड़। थाना गढमुक्तेश्वर पुलिस द्वारा वाहनों की चोरी की घटनाओं की रोकथाम हेतु अधीक्षक महोदय द्वारा मेरठ रोड़ स्थित नहर पुल पर वाहन चैकिंग अभियान चलाया गया।जिसमे चेकिंग के दौराने मुखविर खास से सूचना प्राप्त हुयी जिसमें एक फर्जी नंबर की ब्रेजा गाड़ी को रोका गया और पूछताछ किया गया जिसमे गाड़ी का नंबर फर्जी पाया गया। पुलिस के गिरफ्त में आये संगठित गिरोह के समीरन चन्द्रदेव पुत्र नारायण चन्द्रदेव निवासी बारोन भन्डन परगना बाथन थाना कलियागंज जिला उत्तरी दिनाजपुर (पश्चिम बंगाल) ने अन्य तीन गाड़ियों और अपने 6 सदस्यों के नाम और पता बताया जिसे पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए 06 सहअभियुक्तों को गिरफ्तार किया और कब्जे से अन्य 03 कार क्रमशः एक ब्रेजा, एक बैलोने और एक वर्ना कार को बरामद किया और अभियुक्त के विरुद्ध मु0अ0सं0 337/20 धारा420/414/482/485 भादवि पंजीकृत कर समीरन चन्द्र देव,मनोज पुत्र रोहतास,अरविन्द गिरी ,आशिम पुत्र उम्मेद ,मनीष पुत्र ईश्वर ,शमीम उर्फ सोनू पुत्र रहीमुद्दीन,खिलाफत उर्फ सूफी को जेल भेज दिया।
पुलिस पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया की उत्तर प्रदेश राज्य व अन्य राज्यों से मंहगी लग्जरी कारों को चोरी कर उन पर फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर अन्य राज्यों में बेच देते है। गिरोह के प्रत्येक सदस्यों को कार्य सौपा गया है कोई नंबर बदलता कोई चोरी करता तो कोई अन्य राज्य में सप्लाई करता था।
बरामद की गयी वाहनों का असली नंबरUP32LF2724, DL12CR1841, HR51BS7284, DL9CAA9299 है।इनके पास से अन्य चीजे जैसे फर्जी चाभी हथौड़ा जैसे अवजार भी मिले हैं। पुलिस अधीक्षक महोदय ने पूरे टीम को बधाई दिया और कहाँ की पुलिस अपने कर्तव्यों का पालन कर रही है और शहर को अपराधी मुक्त करने का पूरा प्रयास कर रही है उन्होंने आमजन से अनुरोध किया की वह पुलिस को उनके कार्य में सहयोग करें। इस चेकिंग टीम में निरीक्षक श्री मुकेश कुमार, उ0नि0 श्री प्रीतम सिंह,श्री कुशलपाल, श्री अमित कुमार, श्री संजय कुमार,श्री अजीत सिंह,श्री दल सिंह, विक्रान्त               अनुज,राकेश,इमरान,हिमांशु,सुनील,योगेश,दीपक कुमार समेत अन्य पुलिस शामिल थे।           


बाढ़ से यूपी के 300 गांव प्रभावित हुए

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। उत्तराखंड, नेपाल तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत कई जिलों में पिछले एक सप्ताह से हो रही बारिश के चलते उत्तर प्रदेश के तीन सौ से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित है। आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत और बचाव कार्यो में राष्ट्रीय एवं राज्य आपदा मोचन बलों(एनडीआरएफ) तथा पीएसी की टीमें तैनात की गयी है।


घाघरा, शारदा,राप्ती, सरयू, गंडक नदिया कई क्षेत्रों में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। राज्य के 12 जिलों के तीन सौ से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित है। उत्तर प्रदेश में शारदा और सरयू नदी उफान पर है और शारदा पलियाकंला तथा लखीमपुर खीरी में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। इसी तरह सरयू भी बाराबंकी, अयोध्या और बलिया में खतने के निशान से ऊपर है। क्वानो नदी भी बस्ती और संतकबीरनगर में खमरे के निशान के पास है और इनके बढ़ने का सिससिला जारी है।

सूत्रों ने बताया कि घाघरा, शारदा और राप्ती नदी के बढ़ते जल स्तर से बहराइच, बाराबंकी तथा सीतापुर के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। गोंड़ा में घाघरा जबकि बाराबंकी में सरयू नदी खतरे के निशान से एक मीटर ऊपर बह रही है। नेपाल से छोड़े गये पानी से बहराइच में बाढ़ का पानी तटवर्ती 75 गावों में घुस गया है। सीतापुर के रामपुर, मथुरा, रेऊआ तथा बेहटा के करीब 60 से अधिक गांव प्रभावित है।


बाराबंकी से मिली रिपोर्ट के अनुसार नेपाल से बरसाती पानी छोड़े जाने से उफनायी सरयू नदी के लाल निशान पार कर लेेने से बाराबंकी जिले की तीन तहसीलों के सैकड़ों गांव जलमग्न हो गये है। सरयू नदी का जलस्तर खतरे के निशान से करीब एक मीटर ऊपर बह रही है। बाढ़ के पानी से रामनगर,सिरौलीगौसपुर और फतेहपुर तहसील क्षेत्र के लगभग 100 गांवों में भर गया है। घरों में कई फिट तक पानी भरने से लगभग 50 हजार आबादी को संकट पैदा हो गया है । लोग घर छोड़कर तटबंध पर शरण ले रहे हैं। इस बीच बाढ़ के पानी की चपेट में आने से सिरौली के पास के एक पुल का संपर्क मार्ग बह गया। इससे कई गांवों का आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया है। जिला अधिकारी डॉक्टर आदर्श सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन ने बाढ़ में फंसे लोगों और उनके पशुओं को सुरक्षित निकाल सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिया गया है जबकि ग्रामीण नाव ना मिलने का आरोप लगा रहे हैं और बाढ़ के पानी से अपनी जान बचाने के लिए मकान की छतों पर डेरा डाले हुए हैं।


ऐसे लोगों का गांव से बाहर निकल पाना मुश्किल हो रहा है। मकान गिरने की आशंका के चलते कई परिवार गहरे पानी के बीच जान को जोखिम में डालकर तटबंध पर पहुंच रहे हैं। नदी का जलस्तर बढ़ने की सूचना पर एसडीएम सिरौलीगौसपुर प्रतिपाल सिंह राजस्व कर्मियों के साथ बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंचे और मदद पहुंचाने का आश्वासन दिया। उधर एडीएम ने बाढ़ चौकियों पर तैनात राजस्व कर्मियों को सतर्क किया है।उन्हें किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। सूत्रों ने बताया कि एल्गिन ब्रिज पर बने कंट्रोल रूम के मुताबिक नदी का पानी खतरे के निशान से एक मीटर ऊपर पहुंच गया है। इस वर्ष यह सबसे ज्यादा जलस्तर है। इस बीच नेपाल से शुक्रवार दोपहर फिर साढ़े तीन लाख क्यूसेक पानी नदी में छोड़ा गया है। गुरुवार को करीब सात लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। शुक्रवार को फिर पानी छोड़ जाने से सरयू के और उफनाने की आशंका है।


नदी का जलस्तर बढ़ने के साथ ही पानी कोरियनपुरवा, तपेसिपाह, दुर्गापुर, लहड़रा समेत आधा दर्जन गांवों में पानी भर गया है। इन गांवों लोग सुरक्षित स्थानों की ओर जा रहे हैं। तेज बारिश और गंडक नदी से पानी छोड़े जाने की वजह से गोरखपुर से होकर बहने वाली नदियां फिर उफना गईं हैं। राप्ती नदी भी खतरे का निशान पार गई है। यह नदी 81 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। इसी का नतीजा है कि 12 और गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया। अभी तक 68 गांव बाढ़ से प्रभावित थे। अब संख्या बढ़कर 80 हो गई है। 19 गांव ऐसे हैं, जो बाढ़ के पानी से पूरी तरह घिर चुके हैं। नदियों के उफनाने से बंधों पर जबरदस्त दबाव बना है। कटान और बाढ़ का खतरा है। इससे प्रशासनिक अफसर चिंतित है। कमिश्नर जयंत नार्लिकार शुक्रवार को खुद बंधों का निरीक्षण करने निकले। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सहजनवां के साथ कई बंधों का निरीक्षण भी किया।


गोरखपुर सदर, सहजनवां, कैंपियरगंज, बांसगांव, गोला और खजनी तहसील में बाढ़ का पानी ज्यादा तबाही मचा रहा है। सैकड़ों एकड़ फसल जलमग्न हो गई है। किसानों का कहना है कि अब धान की फसल मिल पानी संभव नहीं है। इसका बड़ा असर धान की पैदावार पर भी पड़ेगा। दूसरी तरफ बहरामपुर गांव में पानी और भर गया है। ट्रांसपोर्ट नगर के आसपास भी कुछ क्षेत्रों में राप्ती नदी का पानी पहुंचा है। राजघाट स्थित श्मशान घाट पूरी तरह से डूब चुका है। बस्ती से मिली रिपोर्ट के अनुसार सरयू नदी खतरे के निशान से 50 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है नदी का रुख प्रति घंटे दो सेंटीमीटर बढ़ाव की ओर है। बाढ़ और कटान से जिले के 20 से अधिक गांव प्रभावित हो गए हैं।


परंपरागत ढंग से मनाया गया ईद-उल-जुहा


  • जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने ईद के अवसर पर मुस्लिम समुदाय के नागरिकों को दी हार्दिक बधाई। 

  • जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के द्वारा कानून व्यवस्था को लेकर जनपद में आज किया गया सघन दौरा, अपने अधीनस्थ अधिकारियों को कानून व्यवस्था को लेकर दिए गए आवश्यक दिशा निर्देश।

  • जिला प्रशासन के द्वारा ईद के त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारी के गए थे तैनात।


अश्वनी उपाध्याय

ग़ाज़ियाबाद। संपूर्ण जनपद गाजियाबाद में ईद का त्यौहार परंपरागत एवं आपसी सौहार्द के साथ संपन्न हुआ। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय ने इस अवसर पर जनपद के सभी मुस्लिम समुदाय के नागरिकों को ईद के मौके पर हार्दिक बधाई दी है। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय एवं एसएसपी कलानिधि नैथानी के द्वारा शनिवार कानून व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर दौरा भी किया, जिसके अंतर्गत दोनों अधिकारियों के द्वारा डासना मसूरी कैला भट्टा मुरादनगर मोदीनगर तथा अन्य स्थानों पर सघन स्थल निरीक्षण करते हुए जिला प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारियों को कानून व्यवस्था तथा शांति व्यवस्था के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए गए।

ज्ञात हो कि ईद के त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी के द्वारा धर्म गुरुओं के साथ बैठक में की गई थी और सभी को आपसी सौहार्द के साथ ईद का त्यौहार मनाने का आह्वान किया गया था। सभी नागरिकों के द्वारा आज जनपद में शांतिपूर्वक एवं सौहार्द के साथ ईद का त्यौहार आयोजित किया गया है जिसके लिए जिलाधिकारी ने सभी नागरिकों को धन्यवाद दिया है।

जिला प्रशासन के द्वारा ईद के त्यौहार को जनपद में आपसी सौहार्द एवं शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न कराने के उद्देश्य से मजिस्ट्रेट एवं पुलिस के अधिकारी विभिन्न स्थानों पर तैनात किए गए थे।             

घोटाले में 6 अधिकारियों को सस्पेंड किया

राणा ओबराय
रजिस्ट्री घोटाले में सीएम मनोहर ने बड़ी कार्रवाई करते हुए राजस्व विभाग के 6 अधिकारियों को किया सस्पेंड
चण्डीगढ़। गलत रजिस्ट्री करने के कारण हरियाणा में तहसीलदारों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है। हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला द्वारा गुडग़ांव रेंज के छह तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड करने की सिफारिश को मुख्यमंत्री ने स्वीकृति दी। इसके साथ ही उनको चार्जशीट कर मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर ली गई है। डिप्टी सीएम ने कड़े शब्दों में कहा है कि भ्रष्ट अधिकारी को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा चाहे वह कितना ही बड़ा क्यों ना हो। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जमीनों की गलत रजिस्ट्रियों के आरोप में तुरंत प्रभाव से राजस्व विभाग के छ: अधिकारियों को सस्पेंड किया है। इन अधिकारियों के खिलाफ हरियाणा नगरीय क्षेत्र विकास तथा विनियमन अधिनियम, 1975 का उल्लंघन कर विलेखों (डीड) का पंजीकरण करने के मामले में यह कार्रवाई अमल में लाई गई है। गुरुग्राम जिला के सोहना के तहसीलदार बंसी लाल और नायब तहसीलदार दलबीर सिंह दुग्गल, बादशाहपुर के नायब तहसीलदार हरि कृष्ण, वजीराबाद के नायब तहसीलदार जय प्रकाश, गुरुग्राम के नायब तहसीलदार देश राज कांबोज, मानेसर के नायब तहसीलदार जगदीश को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड और हरियाणा सिविल सेवा (दण्ड तथा अपील) नियम, 2016 के नियम 7 के तहत चार्जशीट किया गया है। कादीपुर के नायब तहसीलदार (सेवानिवृत्त) ओम प्रकाश को हरियाणा सिविल सेवा (पेंशन) नियम, 2016 के नियम 12 (2) (बी) के तहत चार्जशीट किया गया है । एक सरकारी प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि कानूनी प्रावधानों का उल्लंघन कर दस्तावेजों का पंजीकरण करने के लिए इन अधिकारियों के खिलाफ 1975 के अधिनियम संख्या 8 की धारा 10 के तहत एफआईआर भी दर्ज की जाएगी। गुरुग्राम मण्डल के आयुक्त को उन पटवारियों, जिन्होंने गलत इरादे के साथ खसरा गिरदावरी में भूमि की प्रविष्टियों को ‘कृषि भूमि’ से गैर मुमकिन, गैर मुमकिन पहाड़, गैर मुमकिन फार्महाउस आदि’ में बदल दिया ताकि 1975 के अधिनियम संख्या 8 की धारा 7-ए का उल्लंघन करते हुए विलेखों के पंजीकरण को आसान बनाया जा सके, के बारे में एक विस्तृत जाँच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए भी निर्देश दिया गया है। बता दें कि कल ही डिप्टी सीएम ने गुरुग्राम में पत्रकार वार्ता में कहा था कि राजस्व विभाग के दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों को न केवल सस्पेंड किया जाएगा बल्कि उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई जाएगी। इसी कड़ी में आज गुडग़ांव रेंज के कमिश्नर की रिपोर्ट के आधार पर डिप्टी सीएम ने तुरंत छह अधिकारियों को सस्पेंड करने के आदेश दे दिए हैं। इन अधिकारियों के खिलाफ हरियाणा नगरीय क्षेत्र विकास तथा विनियमन अधिनियम, 1975 का उल्लंघन कर विलेखों (डीड) का पंजीकरण करने के मामले में यह कार्रवाई की गई है। प्रवक्ता ने बताया कि 1975 के अधिनियम संख्या 8 की धारा 7-ए के दुरुपयोग को रोकने के लिए नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग और शहरी स्थानीय निकाय विभागों को उनके द्वारा जारी एनओसी के संबंध में एक आंतरिक जाँच करने और जाँच रिपोर्ट दो सप्ताह के भीतर राजस्व विभाग को प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि पंजीकरण रोकने की इस अवधि का उपयोग नगर एवं ग्राम आयोजना, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, एचएसआईआईडीसी, शहरी संपदा, पुलिस, वन विभागों और मुकदमेबाजी मामलों को वेब-हेलरिस ऐपलिकेशन के साथ इंटरफेस करके एक प्रौद्योगिकी आधारित चैक स्थापित करने के लिए किया जाए, ताकि कानून का उल्लंघन करके इस तरह के पंजीकरण को रोका जा सके। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने शहरी स्थानीय निकाय और नगर एवं ग्राम आयोजना विभागों को 15 दिनों के भीतर अपनी जांच करने और राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है, ताकि कानूनी प्रावधानों के उल्लंघन में किए गए पंजीकरण के संबंध में इन विभागों के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जा सके।            


लापरवाही बरतने पर 37 पुलिसकर्मी बर्खास्त

नई दिल्ली। उत्तर पश्चिम दिल्ली की डीसीपी विजयंता आर्य ने शनिवार को ईद-उल-अजहा के मौके पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में 37 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया और उन्हें जिला पुलिस लाइन भेज दिया। पुलिसकर्मियों को त्योहार के दौरान विभिन्न जगहों पर ड्यूटी के लिए जाना था, लेकिन कम से कम 37 पुलिसकर्मी नदारद पाए गए। इस मामले को वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सामने रखा गया जिसके बाद कार्रवाई की गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “पुलिसकर्मियों ने लापरवाह रवैया दिखाया और एक महत्वपूर्ण त्योहार के दिन सुबह 5 के आसपास ड्यूटी पर पहुंचना था, लेकिन अपनी ड्यूटी से नदारद रहे। इसलिए, उनमें से 37 को निलंबित कर दिया गया और तत्काल प्रभाव से लाइन में भेज दिया गया।”


महामारी के बीच सुचारु रूप से त्योहार को मनाने के संबंध में दिल्ली पुलिस मुस्लिम समुदाय के सदस्यों के साथ थाना-स्तर पर बैठकों का आयोजन करती रही है। सुरक्षा सावधानियों के बीच त्योहार सुचारु रूप से मनाया जाना सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में सभी जिलों में अधिकारियों द्वारा व्यवस्था की गई है।              


क्रेन के नीचे दबकर 10 लोगों की मौत

विशाखापट्टनम। आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में हिंदुस्तान शिपयार्ड में क्रेन हादसा में 10 मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में एक घायल हुआ है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डीसीपी सुरेश बाबू ने मामले की पुष्टि की। हादसे का विडियो भी सामने आया है। विडियो में दिख रहा है कि शिपयार्ड में लगा क्रेन अचानक नीचे गिर जाता है। क्रेन के नीचे दबने से लोगों की मौत हो गई।


वहीं मंत्री अवंति श्रीनिवास ने घटना की जानकारी लेते हुए अधिकारियों को कारगर कदम उठाने के आदेश दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारी क्रेन के पास कुल 18 मजदूर काम कर रहे थे। इस बीच अचानक क्रेन टूटकर नीचे गिर गया। क्रेन की चपेट में आने से घटनास्थल पर 10 मजदूरों की मौत हो गई। एक घायल मजदूर को अस्पताल में भर्ती किया गया है। हादसे के वक्त क्रेन से लोडिंग का ट्रायल किया जा रहा था। क्रेन के चपेट में आए अन्य मजदूरों को मलबे से बाहर निकालने का काम जारी है।                


गोद लिए गांव की दुर्दशा, ग्रामीण परेशान

सांसद की गोद में खेल रहे गांव की दुर्दशा से ग्रामीण परेशान


कौशाम्बी। सांसद विनोद सोनकर के गोद में शमशाबाद गांव खेल रहा है, लेकिन फिर भी इस गांव के ग्रामीण परेशान हैं। गांव में जल निकासी की व्यवस्था न होने से पूरा गांव नरक में तब्दील हो गया है। विकास के मामले में सांसद ने शमशाबाद गांव को कई वर्षों पूर्व गोद लिया था, लेकिन सांसद के गोद लेने के बाद भी शमशाबाद गांव का विकास नहीं हो सका। वही केंद्र कि मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार विकास का ढिंढोरा पीट रही है। 


लेकिन केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार के कार्यकाल में भी शमशाबाद गांव का विकास नहीं हो सका है। पहली बारिश में ही पूरे गांव की गली और सड़कें कीचड़ और गंदगी जलभराव से बजबजा रही हैं। ग्रामीणों को गांव से निकलने में तमाम दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है, लेकिन गोद लिए गांव की दुर्दशा सुधारने की ओर सांसद विनोद सोनकर ने भी प्रयास नहीं किया है। इस गांव को गोद लेने के बाद सांसद विकास की ओर भूल गए हैं।


कई वर्षों बाद भी सांसद कौशाम्बी विनोद सोनकर की गोद मे ही यह गांव खेल रहा है। सिराथू तहसील क्षेत्र का ग्रामसभा शमशाबाद अभी तक विकास की जवानी नही देख सका है।गांव की रोड का बहुत बुरा हाल है सड़के एक दम टूट चुकी है ग्रामीणों ने कहा कि इस गांव की गली रोड की दुर्दशा के मामले को जिम्मेदार थोड़ा सा भी संज्ञान में लें आने - जाने में समस्त ग्रामवासी को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


राजकुमार 


राष्ट्रीय पक्षी का हत्यारा गिरोह फिर सक्रिय

राष्ट्रीय पक्षी मोर को मारने वाले गिरोह फिर सक्रिय


पिपरी क्षेत्र में सिर विहीन मिले मोर के दो शव


कौशाम्बी। राष्ट्रीय पक्षी मोर को मारने वाले गैंग के सदस्य फिर सक्रिय दिखाई पड़ रहे हैं। गिरोह के सदस्यों का जमावड़ा पहले सैनी कोतवाली क्षेत्र में होता था। फिर जब पुलिस ने सैनी क्षेत्र में गिरोह के सदस्यों पर कड़ी कार्यवाही किया तो गिरोह के सदस्यों ने सैनी छोड़कर कोखराज थाना क्षेत्र में अपना डेरा जमाया और इस क्षेत्र में मोर की हत्याएं होने लगी।कोखराज की पुलिस ने भी गिरोह के सदस्यों पर कठोर कार्यवाही की तो गिरोह ने दूसरे क्षेत्र में डेरा जमा लिया लेकिन इन दिनों  राष्ट्रीय पक्षी मोर की हत्या करने वाले गिरोह के सदस्य पिपरी थाना क्षेत्र में घूम रहे हैं। आज दो मोर की हत्या कर उन्हें जंगल में फेंक दिया गया है।


जानकारी के मुताबिक पिपरी थाना क्षेत्र के ग्राम कसेन्दा के साठिया जंगल के पीएचसी में दो मोर मरे पाए गए हैं। गिरोह के सदस्यों ने दोनों मोर के सिर काटकर उनको जंगल मे फेक दिया है।वन विभाग को ग्रामीणों ने जानकारी दे दी है लेकिन सूचना देने के बाद भी विभाग का कोई भी अधिकारी मौके पर नही पहुचा है।


राजकुमार 


लद्दाख में एक हजार चीनी सैनिक तैनात

लद्दाख। लिपुलेख एक बार फिर से सुर्खियों में है और इस बार वहां नेपाल नहीं बल्कि चीन केंद्र है। लद्दाख में चीन दावा कर रहा है कि उसने वहां से अपनी सेना हटा ली है लेकिन लिपुलेख में चीन के एक हजार सैनिक तैनात होने की खबर सामने आई है। चीन ने लिपुलेख में एलएसी के पार एक हजार सैनिक तैनात किए हैं।


लिपुलेख एक ऐसी जगह है, जो भारत, नेपाल और चीन की सीमाओं को मिलाता है। ऐसी खबरें आ रही हैं कि चीन ने एक बटालियन यानि कि एक हजार से ज्यादा जवान लिपुलेख के पास तैनात कर दिए हैं और इसके जवाब में भारत ने भी एक हजार जवान अपनी सीमा पर तैनात कर दिए हैं।
भारत और चीन के बीच पिछले तीन महीनों से लद्दाख की वास्तविक रेखा नियंत्रण पर तनाव चल रहा है। अभी भी वहां पर चीनी सेना के तैनात होने की पुष्टि की जाती है। 15 जून को चीनी सेना की तरफ से हमला किया गया था, ऐसा पिछले 45 सालों में पहली बार हुआ था।
इस हिंसा में भारत के 20 जवान शहीद हो गए और चीन के 40 जवान मारे जाने की खबर थी। उसके बाद कमांडर स्तर पर चीनी और भारतीय सेनाओं के बीच कई बार वार्तालाप हुई, जिसमें दोनों देशों की ओर से सेना को हटाने की सहमति बनी। चीन ने दावा भी किया कि उसने सीमा से अपने सैनिकों को हटा दिया है लेकिन भारतीय विदेश मंत्रालय और भारतीय सेना ने इस बात का खंडन किया।


लद्दाख के बाद अब चीन लिपुलेख में अपनी सेना तैनात कर रहा है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पीएलए के सैनिक लिपुलेख में एलएसी पर तैनात दिखाई दिए हैं। लिपुलेख में भारत ने मानसरोवर जाने के लिए रास्ता बनाया था और नेपाल ने लिपुलेख के भारत की ओर से बनाई गई 80 किमी की सड़क का विरोध किया था। इसके बाद नेपाल ने अपना नया राजनैतिक नक्शा जारी किया, जिसमें कालापानी, लिपुलेख को अपना हिस्सा बताया और भारत की ओर से इस पर कड़ा विरोध जताया गया था। हालांकि भारत, चीन के साथ-साथ नेपाल की सीमा पर अपनी सेना की तैनाती बढ़ा रहा है।              


बकरीदः मस्जिदों पर पुलिस का पहरा

बलरामपुर। उतरौला में कोरोना संक्रमण को देखते हुए बकरीद पर लॉकडाउन की बंदिशें रही उतरौला के ईदगाहों व मस्जिदों में सामूहिक नमाज की मनाही के चलते घरों पर ही नमाज पढ़ी गयी। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।


उतरौला नगर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पीएसी तैनात की गई है। आपात स्थिति से निपटने के लिए पुलिस व ड्रोन भी नजर बनाए रखेगी। ड्रोन कैमरे से भी निगरानी रखी जाएगी। पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने ने शुक्रवार रात अफसरों को जिम्मेदारी सौंपते हुए सतर्क रहने के निर्देश दिए। पुलिस ने शुक्रवार रात नगर के मुख्य बाजार में फ्लैगमार्च भी किया, जिससे त्योहार पर शांति व्यवस्था बनी रहे।


रिपोर्टर :- दीपक गुप्ता


उपचार के दौरान अमर सिंह का निधन

नई दिल्ली। राज्यसभा सांसद अमर सिंह का निधन हो गया है। बता दें कि अमर सिंह का पिछले 6 महीने से सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। अमर सिंह का हाल के दिनों में किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था। समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह कई दिनों से बीमार चल रहे थे। बताया जा रहा है कि पिछले डेढ़ महीने से अमर सिंह आईसीयू में भर्ती थे। राज्यसभा सांसद अमर सिंह के निधन पर राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी दुख व्यक्त किया है। उत्तर प्रदेश की राजनीति में अमर सिंह का विशेष महत्व रहा है।


दिवंगत सपा के पूर्व नेता अमर सिंह ने हाल के दिनों में वीडियो जारी करके ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर बयान भी दिया था। अमर सिंह ने कहा था कि सिंधिया ने अपने आत्मसम्मान के लिए कांग्रेस छोड़कर अपनी दादी विजयाराजे और पिता माधवराव के मार्ग का अनुसरण किया है। इससे पहले अमर सिंह ने वीडियो जारी कर अमिताभ बच्चन से माफी मांगी थी।


अपने अंतिम ट्वीट में दिवंगत अमर सिंह ने स्वतंत्रता सैनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक को श्रद्धांजलि दी थी और देश के लिए उनके योगदान को याद किया था। अमिर सिंह की मृत्यु का समाचार आने से लगभग 2 घंटे पहले ही उनके एकाउंट से लोकमान्य बालगंगाधर तिलक के बारे में ट्वीट किया था।                 


जेल उड़ाने की धमकी देने वाला गिरफ्तार

गुरुग्राम। पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है, जिसने जेल उड़ाने की धमकी दी थी। यह युवक डिप्टी जेलर धर्मवीर चौटाला का बेटा रवि चौटाला है। धर्मवीर चौटाला को जेल में मोबाइल फोन और मादक पदार्थों की आपूर्ति के संदेह में गिरफ्तार किया जा चुका है।


आपको बता दें की कुछ दिनों पहले पुलिस ने भोंडसी जेल के डिप्टी जेलर धर्मवीर चौटाला को गिरफ्तार किया था। उसका एक सहयोगी भी गिरफ्तार किया गया था। पुलिस को इनपुट मिला था कि चौटाला जेल में मोबाइल फोन और मादक पदार्थों की अवैध आपूर्ति करते हैं। इसके बाद पुलिस ने चौटाला के घर से लगभग एक दर्जन मोबाइल, सिम कार्ड ओर 210 ग्राम चरस बरामद की थी।


जेल विभाग ने उन्हें निलंबित कर दिया था। इस घटनाक्रम के बाद हाल ही में धर्मवीर चौटाला के बेटे रवि चौटाला का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वह जेल उड़ाने की धमकी देता हुआ सुना जा सकता है।


इस पर पुलिस हरकत में आ गई। गुरुग्राम की सीआईए ने सिरसा में दबिश देकर रवि चौटाला को गिरफ्तार कर लिया है। रवि पर भादसं की धारा 121 लगाई गई है, जिसका मतलब भारत सरकार के विरुद्ध युद्ध करना या ऐसा युद्ध करने का प्रयत्न करनाया ऐसा युद्ध करने का दुष्प्रेरण करना होता है।


रवि को धारा 124ए के अंतर्गत भी निरुद्ध किया गया है, जिसके अनुसार देशद्रोह है। इसमें कोई भी इंसान सरकार-विरोधी सामग्री लिखता या बोलता है या फिर ऐसी सामग्री का समर्थन करता है या राष्ट्रीय चिन्हों का अपमान करने के साथ संविधान को नीचा दिखाने की कोशिश करता है। इसके अतिरिक्त उस पर धारा 189, 506 और 507 भी लगाई गई है।               


यूनिवर्सिटी ने 5 अगस्त तक समय बढ़ाया

लखनऊ। यूनिवर्सिटी ने शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए एमबीए कार्यक्रमों के लिए प्रवेश को उत्तर प्रदेश में एडमिशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को एक फिर आगे बढ़ा दिया है। यूनिवर्सिटी और उसके काॅलेजों में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 31 जुलाई को समाप्त हो रही थी लेकिन अब 2020 के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख अगस्त 05, 2020 तक बढ़ा दी गई है।


कुलसचिव डॉ विनोद कुमार सिंह के मुताबिक कोरोना के चलते  आवेदन तिथि आगे बढ़ाई गई है। शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए एमबीए कार्यक्रमों के लिए प्रवेश उत्तर प्रदेश राज्य प्रवेश परीक्षा के माध्यम से किया जा रहा है।छात्र  में दाखिले के लिए गस्त 05, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय के एमबीए कार्यक्रम के लिए आवेदन करने में इच्छुक सभी उम्मीदवारों को एचटीटीपी अपसी. एनआईसी पर ऑनलाइन फॉर्म भरना चाहिए। अगस्त 05, 2020 तक/नवीनतम आवेदन कर सकते हैं।


हैदराबाद में 3 मस्जिदें शहीद, लामबंदी

मुसलमानों से मिलकर मुख्यमंत्री मुद्दे को फ़ौरन सुलझाएं: मौलाना वली रहमानी


वीरेंद्र सिंह


नई दिल्ली। हैदराबाद की तीन मस्जिदें तेलंगाना सरकार द्वारा शहीद (demolition) किये जाने के बाद मुसलमानों के ज़ोरदार विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर एक प्रशासनिक अधिकारी ने मस्जिद के पुनर्निर्माण का वादा किया जिसे ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने अपर्याप्त बताया। बोर्ड का मानना है कि मुख्यमंत्री के आदेश के बिना यह मस्जिदें शहीद नहीं की जा सकती इसलिए उन्हें चाहिए कि इस मामले में स्पष्टीकरण दें|


ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना मुहम्मद वली रहमानी (maulana wali rehmani) ने इस बारे में एक प्रेस बयान में कहा कि मुख्यमंत्री इस तथ्य से अवगत होंगे कि मस्जिदों को बेचा या स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है। ये मस्जिदें सरकारी अधिकारियों की तरह नहीं हैं, जिन्हें मुख्यमंत्री कहीं भी ट्रांसफर कर देते हैं ।


मौलाना रहमानी ने कहा कि मस्जिद को कानूनी और शरई दर्जा प्राप्त है और इसके लिए केंद्रीय वक्फ अधिनियम है और शरई तौर पर जो जगह मस्जिद के लिए इस्तेमाल होती है वह हमेशा मस्जिद ही रहती है| उन्होंने कहा कि जो तीन मस्जिदें शहीद हुई हैं, उन्हें उसी स्थान पर बनाया जाना चाहिए और उन्हें मस्जिद के उपयोग में ही रखा जाय । मौलाना रहमानी साहब ने आश्चर्य व्यक्त किया कि मुख्यमंत्री मस्जिद के संबंध में हैदराबाद के लोगों के प्रतिनिधिमंडल से मिलने का समय नहीं दे रहे हैं, जो एक लोकतांत्रिक देश में एक बहुत ही गलत और अलोकतांत्रिक कदम है। यह सुनिश्चित करना उनकी जिम्मेदारी है कि वह मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की हैदराबाद यूनिट और शहर के लोगों से मिलें और इस मुद्दे को सही दिशा में हल करें। यह मुद्दा केवल हैदराबाद का ही नहीं, बल्कि पूरे देश के मुसलमानों का है और धार्मिक संस्कारों के संरक्षण का है जिसकी गारंटी स्पष्ट रूप भारत के संविधान ने दे रखी है|              


गाजियाबादः मंदिर कैंप में 11 संक्रमित मिले

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। सिविल डिफेंस द्वारा नेहरू नगर सेकेंड के शिव मंदिर (सी,ई, एफ़ ब्लॉक) में लगे एंटीजन टेस्ट कैम्प में आज 11 संक्रमितों की पहचान हुई है।  चीफ वार्डन ललित जयसवाल के सौजन्य से लगे इस कैम्प में कुल 103 लोगों ने जांच कराई।


कैम्प में आए डॉक्टरों की टीम को डिप्टी चीफ वार्डन अनिल अग्रवाल, सहायक उप नियंत्रक दिनेश कुमार व डिवीजनल वार्डन राजेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में सिविल डिफेंस के वार्डन अपना सहयोग दे रहें है। कैम्पों में प्रातः 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक आने वालों के टैस्ट निःशुल्क किये जा रहे है।डिवीजनल वार्डन राजेन्द्र शर्मा ने कैम्प में आए सभी लोगों से अपील की  कि आगे भी सभी लोग कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने व परिवार तथा आसपास के लोगों को भी इस महामारी से सचेत करते रहें।


इस अवसर पर सिविल डिफेंस की ओर से स्टाफ ऑफिसर सुनील गर्ग, पोस्ट वार्डन नरेन्द्र कुमार, डिप्टी पोस्ट वार्डन विनय जिंदल, सैक्टर वार्डन दीपक अग्रवाल, नितिन वर्मा, अंकित गर्ग, कपिल शर्मा , श्याम कुमार व सकुल अग्रवाल तथा एम एम जी अस्पताल के लैब टेक्नीशियन रमन दीप कुमार, राजीव शर्मा, भुवनेश अत्रि का सहयोग मिला।             


बंद मकान में चोरों ने किया हाथ साफ

उत्तरी दिल्ली। भलस्वा डेरी थाना एरिया के मुकुंदपुर में बीती रात गहने और बच्चों की फीस के लिए रखे रहे पैसे चोर चुरा ले गए। चुराए गए गहने और कैश की कीमत करीब ढाई लाख रुपए हैं। दरअसल मुकुंदपुर में रहने वाले गुलाम सरवर व हलील अहमद दोनों भाई लोकडाउन के दौरान अपने गृह राज्य झारखण्ड चले गए थे ।


दोनों का बेकरी का काम था लेकिन लोकडाउन के बाद ये अभी तक लौट नहीं पाए हैं। दोनों भाई घर के फर्स्ट फ्लोर व ग्राउंड फ्लोर पर अलग-अलग रहते थे। दोनो फ्लोर पर चोरों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया। सुबह लोगों ने ताले टूटे हुए दिखाई दिए तो इनके नजदीकी रिश्तेदार को सूचना दी।


इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। इन दोनों भाइयों ने फोन पर जो बताया उसके आधार पर दो से ढाई लाख रुपए की चोरी हुई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।


चाकू से गोदकर, लूट को अंजाम दिया

पूर्वी दिल्ली। राजधानी दिल्ली में अपराधियों के हौसले बुलंद है जिस तरह लोग डाउन अनलॉक किया जा रहा है। वैसे वैसे ही अपराधी भी अपने पैर पसार रहे हैं। ताजा मामला गीता कॉलोनी इलाके का है।चांदनी चौक के व्यापारी के यहां काम करने वाले एक युवक पर अज्ञात बदमाशों ने चाकू से हमला कर दिया। काम करने वाले युवक से चाकू गोदकर करीब 6 लाख की लूट की वारदात को अंजाम दिया।


वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। जिस वक्त आरोपियों ने इस वारदात को अंजाम दिया उस वक्त विकास स्कूटी से चांदनी चौक से गीता कॉलोनी आ रहा था उसी दौरान बदमाशों ने उस पर हमला कर लूट की वारदात को अंजाम दिया। गंभीर हालत में विकास को पटपड़गंज के मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।मामले की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुटी है साथ ही आसपास के सीसीटीवी कैमरे को भी खंगाल रही है।


पोर्टल पर चढ़ेगी, संक्रमण से हुईं मौतें

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग आखिरकार राज्य स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल पर कोरोना से हुई मौतों को भी दर्ज करने की तैयारियां कर रहा है। अप्रैल 15 को योगी सरकार ने घोषणा की थी कि अस्पताल में मरने वाले हर संक्रमित की मौत की गहन जांच के बाद ही उसे पोर्टल पर चढ़ाया जाए।  तब से लेकर अब तक गाज़ियाबाद जिला स्वास्थ्य विभाग ने राज्य सरकार के पोर्टल पर कोरोना संक्रमितों की मृत्यु से संबन्धित कोई भी डाटा अपलोड नहीं किया था। हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने राज्य सरकार के पोर्टल पर कोरोना से संबन्धित हर मौत का विवरण डालना शुरू कर दिया है। सभी मौतों की डिटेल अपलोड हो जाने के बाद राज्य सरकार के विशेषज्ञ मौत के कारणों का पता लगाकर पोर्टल पर दर्ज करेंगे।


सीएमओ ने किया टिप्पणी करने से इनकार


अखबार के मुताबिक गाज़ियाबाद के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ एन के गुप्ता ने पोर्टल पर कोरोना संक्रमितों की डिटेल अपलोड न करने की बात तो मानी लेकिन देरी के कारणों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। सीएमओ का कहना था कि डाटा अपलोड करने के काम में तेज़ी लाई जा रही है और शीघ्र ही सारी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध होगी।


64 पर अटकी है स्वास्थ्य विभाग की सुई


आपको बता दें कि 31 जुलाई तक गाज़ियाबाद में कुल 4,937 कोरोना संक्रमितों की पहचान हो चुकी है।  राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार जिले में अब तक कोरोना संक्रमण के चलते 64 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। इस हिसाब से कोरोना संबन्धित मृत्यु दर 1.29% बैठती है जोकि उत्तर प्रदेश की कुल घोषित मृत्यु दर (1.90%) से थोड़ी कम है। गाज़ियाबाद में कोरोना संक्रमण से पहली मौत 30 अप्रैल को एक 62 वर्षीय महिला की हुई थी। इस महिला का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। आधिकारिक रूप से कोरोना संक्रमित इस महिला की मृत्यु दिल का दौरा पड़ने से हुई थी। मई महीने में 4 कोरोना संक्रमितों की मृत्यु हुई थी जबकि जून में यह संख्या अचानक से बढ़कर 51 हो गई।  सरकारी आंकड़ों में जुलाई महीने में कोरोना संक्रमण से केवल 9 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मचारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पोर्टल पर सारी डिटेल अपलोड करने के बाद भी कोरोना से मरने वालों की संख्या में 4-5 लोगों का ही अंतर आएगा।  इसका कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि बहुत से मामलों में पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आती है।         


गरीबों का हक डकार रहे है भ्रष्टाचारी

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। कोरोना महामारी के बाद योगी आदित्यनाथ सरकार के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के गरीब नागरिकों के लिए अनेक योजनाएँ चलाई जा रही हैं। ऐसी ही एक योजना के तहत सरकारी राशन की दुकानों के माध्यम से बेहद सस्ते दामों पर अन्न उपलब्ध कराया जा रहा है। लेकिन गाज़ियाबाद की खोड़ा कॉलोनी के कुछ राशन डीलर गरीबों के हक का राशन डकार रहे हैं।  दुर्भाग्य की बात है कि राशन के इस काले कारोबार में सत्तारूढ़ दल के कुछ लोग भी तथाकथित रूप से जुड़े हुए हैं।मुफ्त राशन की हो रही है हेराफेरी


क्षेत्र के लोगों का कहना है कि भाजपा के सुशासन के दावों की पोल खोलने के लिए खोड़ा में घोटाले बाज राशन डीलरों ने प्रवासी मजदूरों के लिए आया मुफ्त राशन को बड़े ही शातिराना तरीके से डकार कर लाखों के वारे न्यारे कर लिए और गरीब जनता को भूखे दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर कर दिया।  इन डीलरों ने अपने परिचित और अन्य लोगों के मोबाइल पर ओटीपी भेजकर पूरे कारनामे को अंजाम दिया। लेकिन बाद में सैकड़ों की तादाद में लोग सामने आए।



स्थानीय लोगों के अनुसार राशन डीलरो ने उनके मोबाइल पर ओटीपी भेजा था। लेकिन उन्हें नहीं पता था कि यह ओटीपी फ्री राशन के लिए आया है। उन्होंने किसी परिचित के कहने पर यह ओटीपी बता दिया, लेकिन बाद में पता चला की यह सब कुछ प्रवासियों का फ्री राशन डकारने के लिए किया जा रहा है। बता दें कि खोड़ा में आवंटित राशन के कोटे भाजपा नेताओं को मिले है। जिसके बाद राशन की दुकानों में लगातार घोटाले हो रहे है। लेकिन जिला पूर्ति विभाग सब कुछ जानते हुए भी कार्यवाही करने से बच रहा है।          


अयोध्याः चप्पे-चप्पे पर प्रशासनिक चौकसी

अयोध्या। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के 5 अगस्त को प्रस्तावित शिलान्यास की वजह से सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।  जिला प्रशासन और पुलिस मिलकर चप्पे-चप्पे पर नज़र रखे हुए है। इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय कैबिनेट के अनेक मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अनेक राज्यों के मुख्यमंत्री और साधुसंत भाग लेंगे।  



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से श्रीरामजन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर तीन अगस्त से पाबंदी लगा दी गई है। पहचान पत्र  के अभाव में  किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।  सभी बैरियरों पर सुरक्षा घेरा बेहद सख्त है लेकिन प्रशासनिक व पुलिस अफसरों की ओर से तैयार किए गए सुरक्षा व्यवस्था के अनुसार यह प्रतिबंध श्रावणी पूर्णिमा पर्व तक ही नहीं वरन आगे भी चार व पांच अगस्त को लागू रहेगा। स्थानीय पुलिस सूत्रों के अनुसार तीन अगस्त के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम के दृष्टिगत अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। यही वजह है कि अभी से सभी बैरियर, मोर्चों व बार्डर चौकियों पर पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। बाहरी वाहनों व रोडवेज बसों की भी चेकिंग की जा रही है। यात्रियों के परिचय पत्र भी देखे जा रहे हैं। सख्ती का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि अयोध्या सिटी सर्किल में भी प्रवेश करने वालों की जांच अभी से हो रही है। आधार कार्ड जैसे सरकारी पहचान पत्र व दस्तावेज देखे जा रहे हैं। संदग्धिों की तलाश में होटल, धर्मशाला जैसे सार्वजनिक स्थलों पर भी गोपनीय जांच जारी है। बाहर से आकर जिले में रुके यात्रियों की मंशा को सुरक्षा एजेंसी भांपने की कोशिश कर रही हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार बरती जा रही सख्ती सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट व कोविड- 19 से बचाव के दृष्टिगत हैं।           मनोज सिंह ठाकुर 


दिल्लीः 1 हद तक संक्रमण पर नियंत्रण

नई दिल्ली। देश में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। कोरोना संक्रमण से अबतक 16 लाख 95 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। जिसमें से 10 लाख 94 हजार संक्रमित ठीक भी हुए हैं। वहीं दिल्ली में कोरोना संक्रमण पर काफी हद तक नियंत्रण पाने की कोशिश में सफलता मिली है। हाल ही में दिल्ली में किए गए सीरोलॉजिकल सर्वे में मध्य जिले में 28% आबादी कोरोनावायरस से प्रभावित पाई गई थी, जो शहर भर में सबसे अधिक थी।             


यूपी में अनलॉक-3 की गाइडलाइन जारी

लखनऊ। गृह मंत्रालय के बाद अब यूपी सरकार द्वारा भी अनलॉक-3 के लिए गाइडलाइन्स जारी कर दिया है। यह गाइलाइन्स लगभग केंद्र द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन्स से मिलती है। राज्य में पहले की तरह अगस्त के पूरे महीने शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहेगा। उत्तर प्रदेश में जिम एक अगस्त की जगह 5 अगस्त से ही खुलेंगे।


अगस्त महीने में लॉकडाउन शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक हर हफ्ते रहेगी। अनलॉक 3 की गाइडलाइन्स के तहत स्कूल, कॉलेज और सभी कोचिंग संस्थान 31 अगस्त  तक बंद रहेंगे। केंद्र और यूपी सरकार के दिशा-निर्देश लगभग मिलते-जुलते हैं। केंद्र गाइलाइन्स में जानकारी दी गई थी कि शैक्षणिक संस्थानों को न खोलने का निर्णय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ व्यापक परामर्श के बाद लिया गया।           


पूछताछ के लिए ले गई पुलिस, अपहरण दर्ज

लखनऊ/ गाजियाबाद। मानसरोवर पार्क इलाके से अंडे की रेहड़ी लगाने वाले युवक को कुछ लोगों ने अगवा कर लिया। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अपहरण का मामला दर्ज कर लिया। लेकिन छानबीन में पता चला कि युवक का अपहरण नहीं हुआ था बल्कि गाजियाबाद की विजय नगर थाना पुलिस उसे पूछताछ के लिए ले गई थी। 


जिला पुलिस उपायुक्त अमित शर्मा ने बताया कि अकसर दिल्ली व यूपी पुलिस एक दूसरे के इलाके में दबिश देती है। जांच में पता चला कि युवक को पुलिस पूछताछ के लिए ले गई थी। उसके बाद अब स्थानीय पुलिस एफआईआर रद्द करने के लिए रिपोर्ट लगाएगी। पीड़ित युवक की पहचान फैजल (25) के रूप में हुई। वह रामनगर में अंडे की रेहड़ी लगाता है। बुधवार शाम स्कार्पियो सवार दो तीन लोग उसकी रेहड़ी के पास आए और उसे जबरदस्ती कार में बिठाकर ले गये। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। छानबीन करने के बाद मानसरोवर पार्क थाना पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया।           


स्वदेशी वैक्सीन का इंसानों पर ट्रायल

कानपुर। देश में निर्मित कोरोना वायरस की स्वदेशी वैक्सीन का इंसानों पर पहले चरण का ट्रॉयल शहर में सफल रहा है। आर्य नगर स्थित निजी अस्पताल में 22 वॉलंटियर्स पर वैक्सीन का ट्रॉयल किया गया। टीका लगाने के बाद उन्हें तीन घंटे तक अस्पताल में रोका गया। उनमें किसी तरह के साइड इफेक्ट सामने नहीं आए। अब दो हफ्ते बाद यानी 14 अगस्त को उनकी एंटीबॉडी का सैंपल लेकर वैक्सीन का प्रभाव देखा जाएगा।


आर्य नगर स्थित प्रखर हॉस्पिटल के प्रो. जेएस कुशवाहा जो ट्रॉयल के चीफ गाइड भी हैं ने बताया कि देशभर में 350 वॉलंटियर्स पर वैक्सीन का ह्यूमन ट्रॉयल कर प्रभाव देखा जाएगा। कानपुर को 33 वैक्सीन मिली हैं। शहर से 52 वॉलंटियर्स की स्क्रीनिंग के बाद उनके सैंपल जांच के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) की लैब भेजा था। वहां से की वॉलंटियर्स की स्क्रीङ्क्षनग रिपोर्ट आने पर शुक्रवार को वैक्सीन लगाई गई। डॉ. कुशवाहा ने 12 वॉलंटियर्स को खुद ही वैक्सीन लगाई। उनके अलावा पूर्व महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा प्रो. वीएन त्रिपाठी, डॉ. शरद मित्तल, डॉ. वीएस शर्मा एवं डॉ. अनित सिंह ने भी वॉलंटियर्स को वैक्सीन लगाई।           


आगराः कोरोना संक्रमण में आई तेजी

आगरा। जनपद में त्योहार से पहले अचानक कोरोना मरीज तेजी से बढ़ने लगे हैं। शुक्रवार को 39 नए मरीज मिलने से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1804 पर पहुंच गया है। बीते 48 घंटे में 74 नए मरीज बढ़े हैं। इससे एक बार फिर प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।  डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि जिले में अब तक 99 मरीजों की मौत हुई है। 262 मरीजों का उपचार चल रहा है। 50,759 लोगों के सैम्पल टेस्ट हो चुके हैं। शुक्रवार को 2,056 टेस्ट हुए। इनके अलावा 20 मरीज और डिस्चार्ज भी हुए। अब तक कुल 1,443 मरीज ठीक हो चुके हैं।


विधायक की पत्नी और दो बेटे संक्रमित


शहर की दक्षिण सीट से भाजपा विधायक योगेंद्र उपाध्याय की पत्नी और दो बेटे संक्रमित हो गए हैं। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सीएमओ की सलाह पर विधायक ने खुद को लखनऊ के सरकारी आवास में क्वारंटीन कर लिया है। शनिवार को उनका सैंपल लिया जाएगा।             


नियमों के उल्लंघन पर किया बदलाव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में वाहन चलाने वालों के लिए यह खबर जरूरी है। प्रदेश सरकार ने यातायात नियमों के उल्लंघन पर वसूले जाने वाले जुर्माने में बदलाव किया है। मोटर वाहन अधिनियम के नवीनतम संशोधन के साथ ये नियम लागू किए गए हैं। नए नियमों के अनुसार, गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करते हुए पहली बार पकड़े जाने पर 1,000 रुपए जुर्माना लगेगा। दूसरी बार में यह फाइन 10,000 रुपए हो जाएगा। इसी तरह बिना हेलमेट के गाड़ी चलाने पर 500 रुपए फाइन लगेगा। पार्किंग नियमों का उल्लंघन करने पर पहली बार में 500 रुपए और दूसरी बार में 1500 जुर्माना लगेगा।           


देश में 5,25,689 नमूनों की जांच हुई

नई दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस कोविड-19 के 5,25,689 नमूनों की जांच की गई है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक 31 जुलाई को कोरोना वायरस के संक्रमण का पता लगाने के लिए देशभर में 5,25,689 नमूनों की जांच की गयी और इसके साथ ही अब तक जांच किये गये नमूनों की कुल संख्या 1,93,58,659 हो गयी है।


देश में कोरोना परीक्षण लैब की संख्या बढ़कर 1,339 हो गयी है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 57,117 नये मामले सामने आये हैं जिससे अब तक संक्रमण का शिकार हुए व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 16,95,988 हो गयी है। देश भर में फिलहाल संक्रमण के 5,65,103 सक्रिय मामले हैं।             

हिमाचल कैबिनेट में विभागों का बंटवारा

पंकज कपूर


शिमला। हिमाचल प्रदेश में कैबिनेट विस्तार के बाद शुक्रवार देर रात को मंत्रियों के विभाग में बड़े पैमाने पर फेरबदल किया गया है। शिक्षा से लेकर वन मंत्री के विभाग बदले गए हैं। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज से यह महकमा लेकर उन्हें अब अर्बन डेवलेपमेंट विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही उनके पास विधि विभाग पहले से ही मौजूद है। ऐसे में यह कह सकते हैं कि यह विभाग छीनकर शिक्षा मंत्री का ‘ट्रांसफर’ कर दिया गया है।


सोशल मीडिया पर चर्चा


वहीं, सोशल मीडिया पर उनके विभाग बदलने पर चर्चा चल पड़ी है कि हाल ही में शिक्षा विभाग में तबादलों के लिए सरकार की ओर से जो सॉफ्वेयर बनाया गया उसका सफल ट्रायल हुआ है, क्योंकि पहला ‘सफल तबादला’ शिक्षा मंत्री का ही हुआ है। बता दें कि अब शिक्षा विभाग का जिम्मा पूर्व वनमंत्री गोबिंद सिंह ठाकुर को सौंपा गया है।


ऑनलाइन ट्रांसफर के लिए सॉफ्टवेयर


हिमाचल के सरकारी स्कूल-कॉलेजों में नियुक्त 80 हजार से ज्यादा शिक्षकों के ऑनलाइन तबादले करने के लिए नेशनल इन्फॉरमेटिक सेंटर (एनआईसी) सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है। हाल ही में इसका ट्रायल कैबिनेट मीटिंग में किया गया था। हरियाणा और पंजाब में इसी तरह ट्रांसफर की जाती है और अब हिमाचल में इसी तरह की तबादला नीति पर काम किया गया है। शैक्षणिक सत्र 2020-21 से सरकार शिक्षकों के अब ऑनलाइन तबादले करेगी। सॉफ्टवेयर विभिन्न मानकों के आधार पर नंबर देकर शिक्षकों के तबादले करेगा। बता दें कि शिक्षकों के तबादले को लेकर नई नीति बनाने पर पिछले दो साल से काम चल रहा है।


24 राज्यों में मिलेगी पोर्टेबिलिटी की सुविधा

कविता गर्ग


नई दिल्ली। केंद्र सरकार की वन नेशन वन राशनकार्ड योजना में आज 4 और नए राज्य शामिल हो गए है। केंद्रीय खाद्य मंत्री रालविलास पासवान का कहना है कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना वन नेशन वन राशन कार्ड में आज मणिपुर, नागालैंड, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड जुड़ गये हैं और अब कुल 24 राज्यों के बीच राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा उपलब्ध हो गई है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आने वाले इन 24 राज्यों के 65 करोड़ से ज्यादा लाभार्थियों को अब वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत इन राज्यों में कहीं भी निवास करते हुए वहीं अपने हिस्से का अनाज प्राप्त करने की सुविधा होगी। जिससे दूसरे राज्यों में काम करने वाले लाभान्वित होंगे।


क्या है राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी-जिस तरह मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (MNP) करते हैं, वैसे ही अब राशन कार्ड को भी पोर्ट कराया जा सकेगा। मोबाइल पोर्ट में आपका नंबर नहीं बदलता है और आप देशभर में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी तरह, राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी में आपका राशन कार्ड नहीं बदलेगा। मतलब ये कि एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते हैं तो अपने राशन कार्ड का इस्तेमाल करके दूसरे राज्य से भी सरकारी राशन खरीद सकते हैं।


मान लीजिए कि राम कुमार बिहार के निवासी हैं और उसका राशन कार्ड भी बिहार का है। लेकिन इस योजना के तहत अब अपने राशन कार्ड के जरिए उत्तर प्रदेश, दिल्ली में भी उचित मूल्य पर सरकारी राशन खरीद सकते हैं। मतलब साफ है कि किसी भी तरह की सीमा या नियमों का बंधन नहीं होगा। वह देश के किसी भी राज्य में राशन खरीद सकता है। अहम बात ये है कि इसके लिए किसी नए राशन कार्ड की जरूरत नहीं होगी। मतलब ये कि आपके पुराने राशन कार्ड ही इसके लिए मान्य होंगे।


31 मार्च 2021 तक पूरे देश में 81 करोड़ लाभार्थियों को इसका फायदा मिलेगा- रामविलास पासवान का कहना है कि 31 मार्च 2021 तक देश के सभी राज्यों को वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से जोड़ दिया जाएगा. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आने वाले सभी 81 करोड़ लाभार्थियों को इसका लाभ मिल सकेगा।


आक्रोशः लापता अधिवक्ता का शव मिला




















प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है। क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर है। बुलंदशहर में श्री धर्मेन्द्र चौधरी जी का 8 दिन पहले अपहरण हुआ था। कल उनकी लाश मिली। कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर। हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं। पता नहीं सरकार कब तक सोएगी?’


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अधिवक्ता का शव जलाकर मार्बल गोदाम में दबाया गया था। बीते आठ दिनों से वकील के घर आने का इंतजार कर रहे परिजनों ने अपहरण के बाद हत्या का आरोप लगाया। पुलिस ने बताया है कि अधिवक्ता के शरीर पर धारदार हथियार के निशान मिले हैं। बुलंदशहर के खुर्जा कोतवाली नगर में तनाव को देखते हुए पीएसी के साथ जिले में भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है।            


















लखनऊ में कोरोना संक्रमण ने तोड़ा रिकॉर्ड

प्रशांत कुमार


लखनऊ। महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण तेजी से इस समय फैल रहा हैं।। सूबे में बढ़ते संक्रमण से सरकार के साथ जनता भी परेशान है। शुक्रवार शाम को जारी आंकड़ा और भी भयभीत करने वाला है। प्रदेश में आज 4453 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। यह अब तक एक दिन में मिले रोगियों की सबसे बड़ी संख्या है। इसी तरह से लखनऊ में भी 562 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। लखनऊ प्रदेश में शीर्ष पर है। सर्वाधिक एक्टिव केस होने साथ रोज संख्या में बढ़ोतरी सभी को भयभीत कर रही है। बीते 24 घंटे में सर्वाधिक 1.15 लाख नमूनों की जांच भी की गई। इससे पहले बीते गुरुवार को ही सबसे ज्यादा 3765 मरीज मिले थे। जुलाई में कोरोना के कुल 63,018 मरीज मिले हैं, जबकि मार्च से जून तक केवल 23,070 रोगी मिले थे। प्रदेश में अब तक कुल 23,25,428 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है।                


पिता की रोड से पीट-पीटकर हत्या की

विकास पाल


कानपुर। कानपुर शहर में प्लास्टिक कोरोबारी की उसके अपने ही बेटे ने लोहे की रॉड से पीट-पीट कर हत्या कर दी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कारोबारी नशे में धुत बेटे को डांट रहे थे, इसी दौरान पीछे से आए बेटे ने पिता को लोहे की रॉड से पीटना शुरू कर दिया, और मरणासन्न हालत में छोड़कर भाग गया। परिजन बुजुर्ग को हैलट अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉटर्म के लिए भेज दिया है।


बता दें कि सीसामऊ थाना क्षेत्र स्थित गांधी नगर में रहने वाले धर्मेश विश्वकर्मा की पनकी फैकटरी एरिया में प्लास्टिक का कारखाना है। परिवार में पत्नी विमला और तीन बेटे ऋषि, रवि और रजत है। धर्मेश विश्वकर्मा का बड़ा बेटा ऋषि अपने परिवार के साथ काकादेव स्थित फ्लैट में रहता है। मंझला बेटा रवि पत्नी मेनका और बच्चो के साथ पिता के साथ ग्राउंड फ्लोर में रहता था। सबसे छोटा बेटा रजत पिता के साथ रहता है। धर्मेश विश्वकर्मा के बड़े बेटे ने बताया कि पिता शुक्रवार शाम को किसी काम से जा रहे थे। जब वो दूसरे मंजिल से नीचे उतरे तो रवि के कमरे में चले गए। उन्होने देखा कि रवि नशे में धुत पड़ा हुआ है। रवि की हालत देखकर वो उसे डांटने लगे, पापा जब मुड़कर चलने लगे तो रवि ने पीछे से लोहे की रॉड से हमला कर दिया। इसके बाद रवि मौके से भाग निकला, घर पर मौजूद रवि के बच्चे चीखने चिल्लाने लगे। सभी लोग गंभीर हालत में पापा को अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।  


मामले में परिजनों ने बताया कि रवि की संगत गलत थी, वो दिनभर दोस्तों के साथ घूमता था। पिता के काम में हाथ नहीं बंटाता था, उसकी आर्थिक स्थिति न बिगड़े इसलिए पिता उसकी मदद करते थे। इसके बाद भी रवि की हरकतें सुधरने का नाम नहीं ले रही थीं। नशे की टेबलेट खाकर उसका मानसिक संतुलन बिगड़ गया था। इस मामले में सीसामऊ सीओ त्रिपुरारी पांडेय के मुताबिक धर्मेश विश्वकर्मा का मंझला बेटा रवि नशे का आदी था। रवि नशे की दवाईयों का सेवन करता था, आए दिन पिता से पैसे मांगता और झगड़ा करता था। इसी क्रम में उसने पिता पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। जिससे उनकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस इस केस में मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई कर रही है।             


मां-बेटे ने एक साथ दसवीं कक्षा पास की










पारिवारिक कारणों से अधूरा रह गया था सपना, अब जाकर किया पूरा













मुंबई। इंसान कुछ करने की ठान ले तो कुछ भी मुश्किल नहीं होता। ये बात साबित कर दिखाई हैं महाराष्ट्र की एक महिला ने। बारामती के रहने वाली एक महिला ने अपने बेटे के साथ दसवीं की परीक्षा में पास की। बारामती की रहने वाली बेबी गुरव ने घर का काम और कंपनी में सिलाई का काम करते हुए ये सफलता हासिल की है। बेबी बारामती के टेक्सटाइल पार्क में पायनियर कैलिकोज़ कंपनी में सिलाई का काम करती हैं। पारिवारिक कारणों से 10वीं पास करने का उनका सपना अधूरा रह गया था। तब घर की परिस्थ‍ितियों के कारण वो अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाई थीं। कई बार उन्होंने पढ़ाई पूरी करने की सोची, मगर हालात खराब होने के कारण ये मुमकिन नहीं हो पा रहा था। जब उनका लड़का सदानंद दसवीं कक्षा (10th class) में पढ़ रहा था, तब उनके मन में पढ़ाई की इच्छा एक बार फिर जागी। इसमें उनके पति प्रदीप ने उन्हें काफी प्रोत्साहि‍त किया। पति का प्रोत्साहन और बेटे का साथ पाकर उन्होंने दोबारा किताबें उठाईं और पढ़ाई शुरू कर दी। अपने काम से वक्त निकालकर वो दिन में खाली वक्त पर पढ़ाई करने लगीं।

बेबी गुरव ने मैट्रिक की परीक्षा देने का फैसला किया और सभी जिम्मेदारियों को निभाते हुए पढ़ाई (Study) शुरू की। घर का काम संभालते हुए और कंपनी में सिलाई का काम करते हुए बेबी को जितना भी खाली वक्त मिला, वो तैयारी में लगी रहीं। जब परीक्षा का वक्त आया तो उन्होंने बेटे के साथ अपनी तैयारी और तेज कर दी। इस तरह उन्होंने अपने बेटे के साथ दसवीं की परीक्षा दी। जब दसवीं का रिजल्ट सामने आया तो मां और बेटा दोनों ही अच्छे अंकों से उत्तीर्ण हुए। बेबी ने बताया कि मेरे बेटे सदानंद ने मुझे कठिन गणित, अंग्रेजी और विज्ञान समझाया। खाना बनाते समय बेटे ने लगातार पढ़ाई में मदद की। बेबी के पति प्रदीप गुरव ने कहा कि वो अपनी पत्नी पर बहुत गर्व महसूस कर रहे हैं। किस तरह घर में काम करके और कंपनी में समय पर जाने की मजबूरी भी बेबी को नहीं हरा पाई। उन्हें इतने काम के चलते पढ़ाई में दिक्कत होती थी, लेकिन जब भी टाइम मिलता तो बस स्टॉप या लंच ब्रेक में अपनी किताब लेकर बैठ जाती थी।            

 








बदमाशों से मुठभेड़ में पुलिसकर्मी घायल

रिपोर्ट-- रोहित मिश्र

रायबरेली। योगीराज में उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बदमाशो व पुलिस की मुठभेड़ की खबरे सामने आ रही है वही रायबरेली जिले में भी देर रात बदमाशो व पुलिस की मुठभेड़ हो गई जिसमें एक बदमाश के पैर में गोली लगी है वही एसओजी टीम का एक सिपाही भी गंभीर रूप से घायल हो गया है। घायलो को सीएचसी से  जिला अस्पताल रेफर कर दिया गयक है जहां उनका इलाज चल रहा है।वही बदमाश के साथी को भी पुलिस ने नाकेबंदी कर गिरफ्तार कर लिया है।

कहा की है घटना और क्या है पूरा मामला

दरअसल मुखबिर की सूचना पर रायबरेली जिले के लालगंज कोतवाली क्षेत्र में  देर रात फतेहपुर रोड पर पुलिस और बाइक सवार बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में बदमाश सोनू यादव के दोनों पैरों में 3 गोलियां लगी जबकि इस मुठभेड़ में एसओजी के सिपाही सुरेश वर्मा भी गोली लगने से घायल हो गए।वही भाग रहे बदमाश के दूसरे साथी को भी पुलिस ने नाकेबंदी कर गिरफतार कर लिया है। जानकारी के अनुसार  घायल बदमाश के दोनों पैरों पर तीन गोलियां लगी हैं। इलाज के लिए लालगंज सीएचसी लाया गयाजहाँ हालत गंभीर होने के कारण चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया है। वही इस मुठभेड़ में एसओजी के सिपाही सुरेश वर्मा के दाहिने बांह में गोली छूकर निकल गई है। मुठभेड़ में घायल बदमाश सोनू यादव भदोखर थाना क्षेत्र के  पूरे मेहरबान बेहटा खुर्द गाँव का रहने वाला है और उस पर कई आपराधिक मामले दर्ज है।

एसपी स्वप्निल ममगाई ने क्या कहा?

वही इस पूरे मामले में जिला अस्पताल पहुँचे पुलिस अधीक्षक की माने तो अचानक पुलिस टीम व बदमाशो में मुठभेड़ हो गई जिसमें बाइक सवार बदमाश भागने लगा और पुलिस टीम पर फ़ायरींग शुरू कर दी जिसमे बचाव के लिए पुलिस टीम की तरफ से भी फायरिंग की गई जिसमें एक बदमाश के पैर पर गोली लगी है वही एसओजी टीम का एक सिपाही भी घायल हुआ है जिनका इलाज चल रहा है।               

गाजीपुर से 42 संक्रमित हुए लापता

प्रशांत कुमार


गाजीपुर। जनपद में कोरोना से संक्रमित 42 मरीज लापता हैं। प्रशासन उनकी तलाश में जुटा है। कई टीमों को खोजने में लगाया गया है। इन 42 मरीजों ने कोविड-19 सैंपल जांच के दौरान फार्म पर अपनी गलत जानकारियों को दर्ज किया था। इसके कारण रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन उन तक नहीं पहुंच सका है। उनके द्वारा दिया गया मोबाइल नंबर भी गलत है या स्विच आफ बता रहा है। अब सीसीटीवी फुटेज और अन्य विवरण के आधार पर इन संक्रमितों की तलाश हो रही है।गाजीपुर में लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच मरीजों की संख्या 1100 के पार पहुंच चुकी है। यहां  553 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।एक्टिव केस 554 हैं। अब तक 10 मरीजों की मौत हो चुकी है। प्रशासन की लगातार कोशिशों के बाद भी 42 संक्रमितों का कोई अता पता नहीं चल रहा है। गलत नाम पता और मोबाइल नंबर के चलते उनकी पहचान नहीं हो पा रही है। उनके हुलिये के आधार पर चिकित्सक, पुलिस, प्रधान और लेखपाल मिलकर तलाश कर रहे हैं।


कोराेना के नोडल डाक्टर और एसीएमओ डॉ. केके वर्मा ने बताया कोविड-19 सैंपलिंग के दौरान फार्म भी भराया जाता है। पहले कम मरीज होने के दौरान जांच के बाद मरीजों को रेलवे जोनल ट्रेनिंग सेंटर के अलग-अलग रूम में क्वारंटीन करते थे। अब मरीज बढ़ने पर जांच के बाद लोगों को रिपोर्ट आने तक होम क्वारंटीन का आप्प्शन दिया जाता है। गंभीर मरीजों को भर्ती कर लेते हैं और ट्रू नाट में जांच के बाद रिपोर्ट के अनुसार इलाज भी शुरू कर देते हैं। जो 42 मरीज नहीं मिल रहे हैं वह उन्होंने जांच के दौरान फार्म में गलत जानकारियां भरी हैं। उनका नाम, पता और मोबाइल नंबर सब गलत है। हम उनकी तलाश में जुटे हैं और जल्द ही सभी को अस्तपाल में भर्ती कराया जाएगा। ऐसे मरीज अगर होम आइसोलेशन चाहते हैं तो उसका फार्म भरकर सुविधाएं ले सकते है।               


पाकिस्तान से प्रधानमंत्री को भेजी राखी

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। तीन अगस्त को देशभर में रक्षाबंधन का त्यौहार धूमधाम से मनाया जाएगा। इस पवित्र रक्षा बंधन के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी को पाकिस्तान से उनकी बहन कमर मोहसिन शेख ने राखी भेजी है।
पाकिस्तान के कराची की रहने वाली कमर मोहसिन पिछले 25 साल से मोदी को राखी बांधती आ रही हैं लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण वह ऐसा नहीं कर पाएंगी। जिसके चलते उन्होंने अपने भाई को राखी भेजी है। राखी के साथ कमर मोहसिन शेख ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए एक कवितानुमा पत्र भी भेजा है, जिसमें वो लिखती हैं कि कोरोना के दौरान वो सबसे पहले अपने भाई की सलामती की दुआ मांगती हैं। हमें बुरा नहीं मानना चाहिए। अगर संभव होता तो वह मुझे जरूर बुलाते। मैंने कुरियर से राखी के साथ एक खत भी भेजा है। मैं उनकी लंबी उम्र की दुआ करती हूं।
कमर मोहसिन ने कहा कि मोदी जी इस तरह ही काम करते रहें और मैं अल्लाह से उनके अच्छे और स्वस्थ जीवन की प्रार्थना करती हूं। कमर ने बताया कि उनकी दो और बहनें भी पीएम मोदी को राखी बांधना चाहती थी। उन्होंने कहाकि उनका पूरा परिवार प्रधानमंत्री मोदी से बेहद प्यार करता है। कमर मोहसिन शेख की ये राखी पूरे देश मे चर्चा का विषय बनी हुई है।              


2 विमान टकराए , 7 लोगों की मौत

अलास्का। केनाई (Kenai) प्रायद्वीप से गुजरते हुए हवा में दो विमान टकरा गए। भीषण विमान हादसे में एक स्टेट रिपब्लिकन रिप्रेजेन्टेटिव की मौत हो गई। इसके अलावा प्लेन में सवार 7 लोग भी मारे गए। न्यूज़ एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह हादसा शुक्रवार को सोलडोटना (Soldotna) एयरपोर्ट के पास हुआ। संघीय उड्डयन प्रशासन (FAA) के बयान के अनुसार, एयरपोर्ट से लगभग दो मील उत्तर-पूर्व में दुर्घटनाग्रस्त हुए विमानों में से एक सिंगल इंजन डी हैविलैंड DHC-2 बीवर था। दूसरे विमान के मॉडल की पहचान नहीं हो पाई थी। विमान में सवार 7 लोग भी मारे गए थे। जिनमें से 6 लोगों की मौत घटना-स्थल पर ही हो गयी, जबकि एक शख्स की मौत अस्पताल ले जाते वक़्त रास्ते में हुई।


एफएए और राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड (NTSB) के सदस्य दुर्घटना की जांच कर रहे हैं। एनटीएसबी अलास्का के प्रमुख क्लिंट जॉनसन के अनुसार, ‘मलबा स्टलरिंग हाइवे के पास गिरा है, जिसे सुरक्षा कारणों से बंद कर दिया गया है। दो विमानों में कितने लोग सवार थे और उन में से कितने घायल हुए, इसकी जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।


हालांकि बाद की जांच में सामने आया कि एक प्लेन में जहां स्टेट रिपब्लिकन रिप्रेजेन्टेटिव गैरी नोप अकेले थे, वहीं दूसरे प्लेन में 4 टूरिस्ट, 1 टूरिस्ट गाइड और पायलट थे। अलास्का हाउस के प्रतिनिधि गैरी नोप की मौत की पुष्टि उनके कई सहयोगी विधायकों ने भी की है। नोप की पत्नी हेलेन ने कहा कि वह शुक्रवार सुबह अपना विमान उड़ा रहे थे। 67 साल के नोप एक प्रमाणित उड़ान प्रशिक्षक और रजिस्टर्ड पायलट थे।


छत्तीसगढ़ में 9192 वायरस से संक्रमित

रायपुर । छत्तीसगढ़ में कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है, रोजाना प्रदेश के अलग-अलग जिलों से नए संक्रमितों की पुष्टि हो रही है। वहीं, मौत के आंकड़ों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। इसी बीच स्वास्थ्य विभाग ने अपडेटेड मेडिकल बुलेटिन जारी कर प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर जानकारी दी है। जारी बुलेटिन के अनुसार छत्तीसगढ़ में आज कुल 336 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं, आज 309 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है और 3 कोरोना संक्रमित की मौत हो गई।


आज मिले कुल 336 नए मरीजों के साथ प्रदेश में अब प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 9192 हो गई है। इनमें से 6230 संक्रमित इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और 2908 लोगों का डॉक्टरों की निगरानी में उपचार जारी है। जबकि प्रदेश में 54 लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो चुकी है।


जिलेवार मरीजों की संख्या
रायपुर-184
कोंडागांव-23
दुर्ग-19
राजनांदगांव-31
महासमुंद-9
कोरबा-6
बलरामपुर-4
बस्तर-4
बलौदाबाजार-4
बिलासपुर-7
जांजगीर-2
दंतेवाड़ा-1
जशपुर-1
सूरजपुर-1
सरगुजा-1
गरियाबंद-1
कांकेर-1
बालोद-2              
कोरिया-2


31 अगस्त तक सभी कार्यक्रम रद्द किए


यूपी में लॉकडाउन के साथ-साथ धारा 144 लागू…31 अगस्त तक के सभी प्रोग्राम हुए रद्द




विजय भाटी


गौतम बुद्ध नगर। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर आपराधिक दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत लागू प्रतिबंधों को 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया है। जिला पुलिस ने बताया कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में इस अवधि में राजनीतिक, सामाजिक, खेल संबंधी या धार्मिक सम्मेलन करने और विरोध प्रदर्शन के तहत रैलियां निकालने की मनाही होगी।





अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (कानून एवं व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने कहा, ‘गौतम बुद्ध नगर में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत प्रतिबंध 31 अगस्त तक लागू रहेंगे। बता दें कि यूपी में फिलहाल साप्ताहिक लॉकडाउन चल रहा है। 5 दिनों तक दुकानों के खुलने व बंद होने को लेकर सीमाएं तय की गई हैं। वहीं शनिवार और रविवार के दौरान पूरे यूपी में पूर्ण लॉकडाउन लगाई जा रही है।


बता दें कि इस दौरान सिर्फ आवश्यक वस्तुओं को लेने जाने वालों को ही सिर्फ छूट दी जाएगी। इस दौरान मेडिकल सेवाओं के लिए आप इमरजेंसाी के रूप में मेडिकल सेवा का लाभ ले सकते हैं। बता दें कि बीते दिनों दिल्ली-नोएडा-गाजियाबाद की सीमाओं को बंद करने के बाद सीमा पर काफी हलचल दिखाई दी थी।



36,511 की मौत, 16,95,989 संक्रमित

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन के साथ मामले बढ़ते जा रहे हैं। देश में संक्रमितों की संख्या अब साढ़े 16 लाख के पार पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 16 लाख 95 हजार 989 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 36,511 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 10 लाख 94 हजार 374 लोग ठीक भी हुए हैं। पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 57 हजार 117 नए मामले सामने आए और 764 मौतें हुईं।


दुनिया में तीसरा सबसे प्रभावित देश
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है। अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है। लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है। भारत से अधिक मामले अमेरिका (4,705,847), ब्राजील (2,666,298) में हैं। देश में कोरोना मामले बढ़ने की रफ्तार भी दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है।


एक्टिव केस के मामले में टॉप-5 राज्य
आंकड़ों के मुताबिक, देश में इस वक्त 5 लाख 65 हजार 103 कोरोना के एक्टिव केस हैं। सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। महाराष्ट्र में 93 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का चौथा स्थान है। यानी कि भारत ऐसा चौथा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है।


दुनिया में कहां कितने केस, कितनी मौतें
अमेरिका अभी भी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में सबसे ऊपर है। यहां संक्रमण के मामले 50 लाख की ओर बढ़ रहे हैं। देश में अबतक 47 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण के शिकार हो चुके हैं, जबकि एक लाख 56 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। अमेरिका में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 70 हजार नए केस आए, जबकि 1,462 लोगों की मौत हुई है। वहीं ब्राजील में भी कोरोना का कहर बरकरार है। ब्राजील में पिछले 24 घंटों में 52 नए मामले और 1,191 लोगों की मौत हुई।


राष्ट्रपति-पीएम ने ईद की शुभकामना दी

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देशभर में आज यानी शनिवार को वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संकट के बीच  ईद-उल-अजहा मनाई जा रही है। बकरीद के पर्व पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश के कई दिग्गज हस्तियों ने मुबारकबाद दी है। राष्ट्रपति कोविंद ने जहां अपने संदेश में इस त्यौहार का महत्व समझाते हुए सभी से कोविड-19 की रोकथाम के लिए गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की। वहीं प्रधानमंत्री ने दुआ मांगी कि भाईचारे और दया की भावना और बढ़े। कोरोना वायरस के मद्देनजर दिल्ली की जामा मस्जिद समेत अन्य मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पढ़ी गई। कई जगह लोगों से अपील की गई थी कि वे अपने घर पर नमाज पढ़ें।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर मुबारकबाद दी। राष्ट्रपति ने तीन भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी के साथ-साथ उर्दू में भी ट्वीट किया। राष्ट्रपति ने कहा, "ईद मुबारक। ईद-उल-अजहा का त्यौहार आपसी भाईचारे और त्याग की भावना का प्रतीक है तथा लोगों को सभी के हितों के लिए काम करने की प्रेरणा देता है। आइए इस मुबारक मौके पर हम अपनी खुशियों को जरूरतमंद लोगों से साझा करें और कोविड-19 की रोकथाम के लिए सभी दिशानिर्देशों का पालन करें।"वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि ईद मुबारक, ई-उल-अजहा पर बधाई। यह दिन हमें एक न्यायपूर्ण, सामंजस्यपूर्ण और समावेशी समाज बनाने के लिए प्रेरित करता है। इससे प्रेरणा लेकर भाईचारे और करुणा की भावना को आगे बढ़ाया जा सकता है।               


कुछ चीजें सस्ती तो कुछ चीजें होगी मेहंगी

रोनक डे


नई दिल्ली। एक अगस्त से देश में कई बदलाव आ रहे हैं। कुछ चीजें सस्ती हो रही हैं, कुछ महंगी हो रही हैं। बैंकिंग, फाइनेंस से लेकर ई-कॉमर्स कंपनियों तक के नियमों में बदलाव देखने को मिल सकता है। इसके अलावा देश में एक अगस्त से अनलॉक-3 की गाइडलाइंस भी लागू हो रही हैं। हम आपको बताते हैं कि देश में अलग-अलग मुद्दों पर क्या बदलाव हो रहा है।


बैंक लेन-देन के नियमों बदलाव
एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, कोटक महिंद्रा बैंक, आरबीएल बैंक एक अगस्त से ट्रांजेक्शन के नियमों में कुछ बदलाव करेंगे। इनमें से कुछ बैंक कैश निकालने और जमा करने पर फीस वसूलेंगे तो कई मिनिमम बैलेंस की लिमिट बढ़ाने की तैयारी में हैं। मेट्रो और शहरी इलाकों में रहने वाले बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के सेविंग बैंक अकाउंट होल्डर्स को अब अपने अकाउंट में ज्‍यादा मिनिमम बैलेंस रखना होगा। बैंक ने इन इलाकों में इसे बढ़ाकर 2000 रुपये कर दिया है। अब तक 1500 रुपये रखने पड़ते थे। खाते में इससे कम बैलेंस होने पर मेट्रो और शहरी इलाकों में 75 रुपये की पेनल्‍टी लगेगी। अर्धशहरी इलाकों की शाखाओं में पेनल्टी 50 रुपये और ग्रामीण शाखाओं में 20 रुपये रखी गई है।


एक्सिस बैंक के ग्राहकों को प्रति ईसीएस ट्रांजेक्‍शन पर 25 रुपये देने होंगे, पहले यह मुफ्त था। इसने एक सीमा से ज्‍यादा लॉकर के एक्‍सेस पर भी चार्ज लगाने शुरू किए हैं। बैंक प्रति बंडल 100 रुपये की कैश हैंडलिंग फीस भी वसूलेगा। कोटक महिंद्रा बैंक के सेविंग्स और कॉरपोरेट सैलरी अकाउंट होल्‍डरों को हर महीने पांच मुफ्त ट्रांजेक्‍शन के बाद हर कैश विदड्रॉल पर 20 रुपये डेबिट कार्ड-एटीएम चार्ज देना होगा।


कार खरीदना होगा आसान
भारतीय बीमा विनियामक विकास प्राधिकरण (IRDAI) ‘मोटर थर्ड पार्टी’ और ‘ओन डैमेज इंश्योरेंस’ एक अगस्त से इंश्योरेंस से जुड़े नियम में बदलाव करने जा रही है। IRDAI के निर्देशों के मुताबिक नए नियम लागू होने के बाद नई कार खरीदने वालों को 3 और 5 साल का कवर लेना अनिवार्य नहीं होगा। IRDAI ने इन वाहनों पर से पैकेज कवर को वापस लेने का निर्णय लिया है।


इंश्योरेंस पॉलिसी में बदलाव का सीधा असर गाड़ियों के दामों पर पड़ेगा। नए नियमों के लागू होने के बाद अब वाहन खरीदना पहले के मुकाबले सस्ता हो जाएगा। IRDAI का कहना है कि लॉन्ग टर्म पैकेज पॉलिसी की वजह से नई गाड़ी खरीदना लोगों के लिए मंहगा साबित होता है।


ई-कॉमर्स कंपनियों को प्रॉडक्ट के कंट्री ऑफ ओरिजिन की जानकारी देनी होगी
केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने उपभोक्ता संरक्षण कानून के तहत ई-कॉमर्स व्यापार की निगरानी के लिए नए नियमों को अधिसूचित किया है। नए नियमों में ग्राहकों की शिकायत को एक महीने के भीतर निपटाने से लेकर इन प्लेटफॉर्म पर बेचे जा रहे सामानों के बारे में सभी जानकारी दिए जाने तक का प्रावधान किया गया है। अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर बेचे जा रहे सामानों के बारे में पूरी जानकारी देना अनिवार्य बना दिया गया है।


नए नियमों के तहत विक्रेताओं के लिए ये जानकारी देना अनिवार्य बनाया गया है कि उनका बेचा जा रहा सामान या उत्पाद किस देश में बनाया गया है या किस देश से मंगाया गया है। इसके अलावा अगर सामान की कोई एक्सपायरी तिथि है तो उसकी जानकारी देना भी अनिवार्य हो गया है। सामान के रिफंड, एक्सचेंज, वारंटी और गांरटी, डिलीवरी और शिपमेंट, शिकायत निवारण तंत्र, भुगतान के तरीके, भुगतान के तरीकों की सुरक्षा, शुल्क वापसी संबंधित विकल्प और अन्य के बारे में सूचना देना भी अनिवार्य बना दिया गया है।


पीएम किसान योजना की किस्त
सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाने का काम किया जा रहा है। इस स्कीम के तहत हर साल 3 किश्त में किसानों को 6000 रुपए की आर्थिक सहायता दी जा रही है। इस स्कीम के पात्र लाभार्थी को अबतक 2000-2000 रुपये की किस्त भेजी जा चुकी है। इस स्कीम के तहत साल 2020 की पहली किस्त अप्रैल माह में किसानों के खातों में जमा कराई गई। अब 1 अगस्त से इस योजना के तहत सरकार दूसरी किस्त भेजनी शुरू करेगी। आने वाले दिनों में सरकार इसे लेकर कोई बड़ा ऐलान कर सकती है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना को 24 फरवरी 2019 को शुरू किया था।


अनलॉक-3 के लिए गाइडलाइन जारी
एक अगस्त से अनलॉक-3 शुरू हो रहा है। गाइडलाइन के मुताबिक, अब नाइट कर्फ्यू लागू नहीं होगा। स्कूल, कॉलेज, सार्वजनिक कार्यक्रम पहले की तरह ही बंद रहेंगे। कोरोना वायरस के कारण 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद से सरकार ने पहली बार योग संस्थानों और जिम को पांच अगस्त से खुलने की अनुमति दी है जिसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय अलग से मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करेगा।


गाइडलाइन्स के मुताबिक, कंटेनमेंट जोन (जहां अधिक हैं कोरोना के मामले) को छोड़कर बाकी जगहों पर सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल को खोला जा सकता है। हालांकि गृह मंत्रालय ने कहा कि इन गतिविधियों को शुरू करने की तारीखें स्थिति का आकलन करने के बाद अलग से तय की जाएंगी।


पाकिस्तानी गोलीबारी में 1 जवान शहीद

पुंछ। पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के कस्बा कर्नी सेक्टर और बालाकोट सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। बालाकोट में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की गोलीबारी में एक भारतीय जवान शहीद हो गया।


पाकिस्तान ने पुंछ जिले के कस्बा कर्नी सेक्टर में मोर्टार के साथ गोलाबारी करके युद्धविराम का उल्लंघन किया है। इस पर भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। वहीं बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की गोलीबारी में एक भारतीय जवान शहीद हो गया। पाकिस्तान ने बालाकोट में करीब आधी रात में फायरिंग की जिसमें भारतीय जवान शहीद हो गया। वहीं भारतीय सेना के जवानों ने भी पाकिस्तान की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया।


इससे पहले बुधवार को उरी में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की गोलीबारी में भारतीय सेना के एक कुली (पोर्टर) की मौत हो गई थी। उरी सेक्टर के लाचीपोरा में बुधवार को सीमापार से हुई गोलीबारी में सेना के पोर्टर की मौत हो गई थी। जबकि इससे पहले पाकिस्तान की और से सीजफायर उल्लंघन किए जाने पर सोमवार को भारतीय सेना ने जबरदस्त कार्रवाई की जिसमें पाक सेना का जवान मारा गया गया था वहीं 8 अन्य पाक जवान घायल हो गए थे।


भारत के खिलाफ बयानबाजी पर गिरे ओली

अनिल मिश्रा


काठमांडू। नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली पर इस्तीफे के बढ़ते दबाव के बीच देश में सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा है कि शर्मा ने हाल में ”कूटनीति” के स्थापित मानकों के विपरीत “चिढ़ाने” वाले भारत विरोधी बयान देकर तीन गलतियां की हैं। पिछले महीने, प्रधानमंत्री ओली ने आरोप लगाया था कि भारत उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के साथ मिलकर उन्हें सत्ता से बाहर करने की साजिश कर रहा है। उनका यह बयान नेपाल द्वारा एक नया नक्शा मंजूर करने के लिए एक विधेयक पारित करने के बाद आया, जिसमें नेपाल और भारत के बीच विवाद के केंद्र रहे इलाके – लिपुलेख दर्रा, कालापानी और लिंपियाधुरा को नेपाल के क्षेत्र के तौर पर दिखाया गया था। 


ओली ने उसके बाद इस महीने यह दावा करके एक नया विवाद उत्पन्न कर दिया कि ”असली अयोध्या भारत में नहीं, बल्कि नेपाल में है और भगवान राम का जन्म दक्षिण नेपाल के थोरी में हुआ था।” ओली की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (सीपीएन) के प्रवक्ता एवं सेंट्रल सेक्रेटैरिएट के सदस्य नारायणकाजी श्रेष्ठ ने प्रधानमंत्री ओली के बयानों को ”कूटनीति” के स्थापित मानकों के विपरीत करार दिया। उन्होंने कहा, ”प्रधनमंत्री ओली ने भारत के खिलाफ चिढ़ाने वाले बयान देकर एक बहुत बड़ी गलती की, ऐसे समय में जब सीमा मुद्दे को (दक्षिणी पड़ोसी के साथ) बातचीत के जरिए सुलझाने की जरूरत है।”


प्रवक्ता ने ‘हिमालयन टीवी’ के साथ एक साक्षात्कार में कहा, ”प्रधानमंत्री ओली द्वारा भारत के राष्ट्रीय चिह्न का उल्लेख करते हुए चिढ़ाने वाले बयान देकर कालापानी और लिपुलेख की विवादित भूमि पर दावा करना एक गलती थी।” उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ओली ने भारत के संबंध में तीन गलतियां की, हालांकि सरकार द्वारा एक नया नक्शा जारी करके कालापानी और अन्य क्षेत्रों पर किया गया दावा सराहनीय था।               


इजराइली तकनीक से 30 सेकंड में जांच

अनिल मिश्रा


नई दिल्ली। कोरोना वायरस की जांच में और तेजी लाने के लिए भारत और इजराइल साथ मिलकर एक खास तरह की रैपिड टेस्टिंग किट विकसित करने पर काम कर रहे हैं। राम मनोहर लोहिया अस्पताल (आरएमएल) में एक ट्रायल किया जा रहा है, अगर यह ट्रायल सफल रहा है तो महज 30 सेकेंड में कोरोना की रिपोर्ट हासिल की जा सकती है। दरअसल, इजराइल के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित 30 सेकंड में कोरोना वायरस यानी कोविड-19 का पता लगाने वाले चार तकनीकों का मूल्यांकन दिल्ली के डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में किया जा रहा है।


इस नई तकनीक के ट्रायल में करीब 10,000 लोगों का दो बार टेस्ट किया जाएगा; एक बार गोल्ड स्टैंडर्ड मॉलिक्युलर आरटी-पीसीआर टेस्ट और फिर चार इजराइली तकनीकों का उपयोग करके ये जांचा जाएगा कि क्या ये नवाचार सही से काम करेंगे। स्वैब सैंपल संग्रह विधि के विपरीत इस टेस्ट में लोगों को एक श्वासनली जैसे उपकरण के सामने झटका देना या बोलना होगा जो टेस्ट के लिए नमूना एकत्र करेगा।


शोधकर्ताओं का मानना है कि अगर यह ट्रायल सफल होता है तो न सिर्फ लोगों को महज तीस सेकेंड में कोरोना का रिजल्ट मिल जाएगा, बल्कि ये प्रौद्योगिकियां व्यवसायों के भी सुरक्षित मार्ग प्रशस्त कर सकती हैं और लोग वैक्सीन विकसित होने तक कोरोना वायरस के साथ जीने में सक्षम भी हो सकेंगे। बता दें आरएमएल अस्पताल में इसका ट्रायल शुरू हो चुका है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले कुछ दिनों में इसके नतीजे आ सकते हैं। 


इजराइल और भारत चार अलग-अलग तरह की तकनीकों के लिए परीक्षण कर रहे हैं, जिसमें लगभग 30 सेकंड में कोविड-19 का पता लगाने की क्षमता है। इसमें एक श्वास विश्लेषक और आवाज परीक्षण (वॉयस टेस्ट) शामिल हैं। एक इजराइली बयान में यह जानकारी दी गई है।  इनमें से दो टेस्ट लार नमूनों की जांच के बाद मिनटों में परिणाम देंगे। तीसरे तरीके में किसी के आवाज से ही बताया जा सकता है कि वह कोरोना संक्रमित है या नहीं। चौथे तरीके में सांस नमूने के रेडियो वेव से संक्रमण का पता लगाया जा सकेगा।


इजराइली विज्ञप्ति के अनुसार, भारत में इजराइली राजदूत रोन माल्का ने शुक्रवार को डा.राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल में बनाये गए विशेष परीक्षण स्थल का दौरा किया, जहां उन्होंने पिछले तीन दिन से तीव्र कोविड-19 जांच के लिए किये जा रहे परीक्षणों को देखा।


इजराइल के रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान और विकास निदेशालय, भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद और प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार, भारत के सहयोग और इजराइल एवं भारत के विदेश मंत्रालयों के समन्वय से संयुक्त रूप से तीव्र जांच विकसित की जा रही है। माल्का के साथ प्रो. के विजयराघवन भी थे, जो प्रधानमंत्री के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार हैं। बयान में कहा गया है, ‘आरएमएल अस्पताल परीक्षण स्थलों में से एक है, जिसने चार अलग-अलग प्रकार की तकनीकों का परीक्षण शुरू किया है, जिसमें कोरोना वायरस का पता लगाने की क्षमता 30 सेकंड से कम है।’ बता दें कि भारत की आबादी के लिहाज से कोरोना टेस्ट भी एक बड़ी समस्या है। अगर यह प्रयोग सफल होता है तो कोरोना की जांच सुलभ हो जाएगी और कोरोना के साथ लोगों का जीना भी आसान हो जाएगा।


मनीष तिवारी ने पार्टी से पूछे 4 सवाल

जयपुर। कांग्रेस में वरिष्ठ और युवा नेताओं के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट में झगड़े के बीच पार्टी में यूपीए सरकार को लेकर आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरु हो गया है। इस सिलसिले में पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने भी पार्टी से कई सवाल पूछे हैं। मनीष तिवारी ने ट्वीट कर चार सवाल पूछे हैं। पहला क्या 2014 के चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के लिए यूपीए जिम्मेदार थी। दूसरा, क्या यूपीए के अंदर ही साजिश रची गई थी। तीसरा, 2019 की हार की भी समीक्षा होनी चाहिए। चौथा सवाल यह कि पिछले छह साल में यूपीए पर किसी तरह का आरोप नहीं लगाया गया।


पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यूपीए सरकार ने सूचना का अधिकार, खाद्य सुरक्षा कानून और शिक्षा का अधिकार कानून बनाए। ऐसे में अगर मूल्यांकन करना है, तो इसका भी होना चाहिए कि यूपीए के ऊपर जो गलत लांछन लगे, उस राजनीतिक षडयंत्र में कौन-कौन लोग शामिल थे। तत्कालीन सीएजी विनोद राय की क्या मंशा थी। उन्होंने कहा कि यह मूल्यांकन करना चाहिए कि 2014 में इतनी उपलब्धियों के बाद हम क्यों हार गए। इसके बाद 2019 में क्यों हारे।


मनीष तिवारी ने कहा कि यह कहना है कि यूपीए ने बर्बाद कर दिया, यह गलत है। उन्होंने कहा कि जब आप दस साल सरकार में रहते हैं, तो लोगों का मन आपसे भर जाता है। भाजपा भी दस साल बाहर रही थी। मनीष तिवारी ने कहा कि अगर कोई अपनी ही सरकार को दोषी ठहराना शुरु कर दे, तो वह निशाना डॉ मनमोहन सिंह पर साध रहा है। उन्होंने कहा कि यूपीए- दो में कुछ नहीं हुआ। जो भी हुआ वह यूपीए एक में हैं। ऐसे में 2009 से 2020 तक अभी तक निचली अदालत से भी किसी को दोषी करार नहीं दिया गया है।दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता ने गुरुवार को पार्टी के राज्यसभा सांसदों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की थी। बैठक में मौजूदा राजनीतिक हालात पर भी चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक कपिल सिब्बल ने हार पर मंथन करने की जरुरत पर जोर दिया। पर इस मामले में युवा सांसदों की राय अलग थी।गुजरात के प्रभारी और राज्यसभा सांसद राजीव सातव ने कहा कि हमें यह भी आत्मनिरीक्षण करना चाहिए कि हम 44 पर कैसे आ गए। जबकि 2009 में कांग्रेस के पास दो सौ से अधिक सांसद थे। कपिल सिब्बल की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि जो यूपीए में मंत्री रहे हैं, उन्हें देखना चाहिए कि वह कहां असफल रहे।


17 वर्षीय लड़के ने सबको किया हैरान

मनोज सिंह ठाकुर


फ्लोरिडा। बिल गेट्स, इलॉन मस्क, कान्ये वेस्ट, बराक ओबामा और जो बाइडेन जैसी हस्तियों के ट्विटर अकाउंट्स पर हुए अटैक ने पूरी दुनिया को हैरानी में डाल दिया था। इसके पीछे दिमाग था फ्लोरिडा के एक 17 साल के लड़के का जिसे अब जेल में डाल दिया गया है। इस लड़के के ऊपर 30 आरोप लगाए गए हैं। ये ट्विटर अटैक बिटकॉइन स्कैम को प्रमोट करने के लिए किया गया था। इस मामले में FBI (फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन) और डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस ने पूरे देश में छानबीन की थी जिसके बाद लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया।


एक दिन में कमाए 1 लाख डॉलर
फ्लोरिडा के टैंपा के रहने वाले इस लड़के पर खिलाफ संस्थागत फर्जीवाड़ा, कम्यूनिकेशन फ्रॉड, पहचान चुराने और हैकिंग जैसे आरोप लगे गए हैं। हिल्सबरो स्टेट अटर्नी ऐंड्रू वॉरन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी है। उन्होंने इस लड़के को इस हमले का मास्टरमांड बताया है। स्टेट अटर्नी ने बताया कि उसने बिटकॉइन से एक लाख डॉलर एक दिन में कमा लिए।


मदद के आरोप में दो और लोग गिरफ्तार
वॉरन ने यह भी कहा कि भले ही यह अपराध मशहूर लोगों के नाम पर किया गया हो लेकिन उसका मकसद आम लोगों से चोरी करना था। बाद में डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस ने ब्रिटेन के 19 साल के जॉन शेपर्ड और ओरलैंडो के नीमा फजेली को इस काम में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वहीं, पूरी जांच और कार्रवाई तेजी से करने के लिए ट्विटर ने अथॉरिटीज की तारीफ की है।


ऐसे किया था स्कैम
इस साइबर हमले के बारे में क्रिप्टोकरंसीज में होने वाले ट्रांसफर को मॉनिटर करने वाली साइट Blockchain.com ने बताया था कि करीब 12.58 बिटकॉइन स्कैमर्स की ओर से बताए गए ईमेल अड्रेसेज पर भेजे गए और इनकी वैल्यू 116,000 डॉलर ( करीब 87.2 लाख रुपये) होती है। लगभग हर ट्वीट में स्कैमर्स ने लिखा कि अकाउंट होल्डर अपने फॉलोअर्स को बिटकॉइन दे रहे हैं और इसके लिए उन्हें बताए गए अड्रैस पर बिटकॉइन भेजने होंगे। कई ट्वीट्स में यूजर्स को दिए गए लिंक पर क्लिक करने को भी कहा गया।             


हादसा: मृत्य डेड बॉडी को देखकर भयभीत हुए लोग

बृजेश केसरवानी प्रयागराज। ग्राम बख्शी मोड़ा अपने साले प्रकाश की लड़की की शादी में उपस्थित हुए थे। बताया जा रहा है, पिछले एक महीना से इसी ग्र...