शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

गृहमंत्री की सुरक्षा सलाहकार से बैठक

नई दिल्‍ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और गृह मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। यह बैठक गृह मंत्रालय में हो रही है। बैठक में आईबी चीफ अरविंद कुमार और अर्धसैनिक बलों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद हैं। जानकारी के मुताबिक, बैठक में सुरक्षा पर चर्चा हो रही है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को ISIS के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया। तीनों आतंकियों की गिरफ्तारी एनकाउंटर के बाद वजीराबाद से की हुई। इनके पास से हथियार बरामद किए गए। गिरफ्तार हुए तीनों आतंकी तमिलनाडु के रहने वाले हैं। आतंकी पहले भी आपराधिक वारदात को अंजाम दे चुके हैं। गिरफ्तार तीनों आतंकियों ने साल 2014 में एक हिंदू नेता की हत्या की थी। हिंदूवादी नेता की हत्या की बाद 6 लोग तमिलनाडु से फरार चल रहे थे। देश के नामी संस्थानों में एक दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार शाम को हिंसा हुई। नकाबपोश हमलावरों ने हॉस्टल में जाकर हमला किया। इस हमला में कई छात्र जख्मी हो गए। जेएनयू में हुई इस हिंसा को लेकर पक्ष और विपक्ष के नेताओं ने निंदा की हालांकि, घटना के 4 दिन बाद भी हमला करने वाले नकाबपोशों की अभी तक पहचान नहीं हो सकी है।


डंपिंग ग्राउंड से मिले दो अज्ञात शव, सनसनी


अतुल त्यागी जिला प्रभारी
रिंकू सैनी रिपोर्टर,प्रवीण कुमार रिपोर्टर
हापुड़। अज्ञात शवों के लिए सिंभावली क्षेत्र बना डंपिंग जोन अज्ञात शवों के मिलने का सिलसिला। हापुड़ अज्ञात शवों के लिए सिंभावली क्षेत्र बना डंपिंग जोन अज्ञात शवों के मिलने का सिलसिला जारी 3 दिन में युवक और युवती का अज्ञात शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी ।


हापुड़ सिंभावली थाना क्षेत्र के अंतर्गत अनूप शहर मध्य गंग नहर में हरोड़ा गांव के सामने नग्न अवस्था में एक 35 वर्षीय युवती का गोली लगा अज्ञात शव मिलने से क्षेत्र में फैली सनसनी। विदित रहे कि 3 दिन पूर्व भी इसी नहर में रजापुर गांव के समीप एक युवक का अज्ञात शव मिला था।जिसमें स्थानीय पुलिस उसकी शिनाख्त के अभी तक भी प्रयास में ही जुटी हुई थी। वही दूसरा युवती का अज्ञात शव मिलने से क्षेत्र में दहशत का माहौल है घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर शिनाख्त का प्रयास शुरू कर दिया है।
बाईट-sp संजीव सुमन।


छात्रों के ग्रुपों में आमने-सामने मार पिटाई

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार रिपोर्टर, रिंकू सैनी रिपोर्टर


हापुड़। कई दिन पहले छात्रों में हुई थी मार-पिटाई, जिसका सोशल मीडिया पर खूब हो रहा था वीडियो वायरल। थाना सिंभावली इंचार्ज ने 5 छात्रों को गिरफ्तार कर न्यायालय में किया पेश। आपको बता दें मामला जनपद हापुड़ के थाना सिंभावली क्षेत्र का है जहां बीच सड़क पर छात्रों का गुठ एकत्रित होकर आपस में लाठी-डंडे बरसा रहा था जिसमें कई छात्र घायल भी हो गए थे सोशल मीडिया पर खूब हो रहा था वीडियो वायरल। जिसे थाना सिंभावली पुलिस ने संज्ञान में लेकर 9 लोगों के विरुद्ध चिन्हित करते हुए कार्रवाई की थी तथा 5 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया आज पांचों छात्रों को थाना सिंभावली पुलिस इंचार्ज ने न्यायालय में पेश किया थाना सिंभावली इंचार्ज ने बताया अभी बाकी छात्रों की तलाश की जा रही है गिरफ्तार करते हुए उन्हें भी न्यायालय में पेश किया जाएगा।


दिव्यांगजन-सशक्तिकरण, पुरस्कार योजना

कौशाम्बी। जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी शैलेश राय ने बताया है कि, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा संचालित दिव्यांगजन शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अन्तर्गत दम्पत्ति में युवक के दिव्यांग होने पर 15,000 रु तथा केवल युवती के दिव्यांग होने पर 20,000 रु एवं दोनों के दिव्यांग होने पर 35,000 की धनराशि निर्धारित है। पात्रता की शर्तें शादी के समय युवक की उम्र 21 से कम तथा 45 वर्ष से अधिक न हो एवं युवती की उम्र 18 से कम तथा 45 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए। अलावा इसके दम्पत्ति आयकर दाता न हो। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा प्रदत्त प्रमाण पत्र के अनुसार दिव्यांगता 40 प्रतिशत या उससे अधिक होनी चाहिए, एवं ऐसे दिव्यांग दम्पत्ति पात्र होंगे जिनका विवाह गत वित्तीय वर्ष एवं वर्तमान वित्तीय वर्ष में हुआ हो। दिव्यांग शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अन्तर्गत इच्छुक दिव्यांग दम्पत्ति वर्तमान वर्ष एवं गत वित्तीय वर्ष में सम्पन्न शादी विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार हेतु ऑनलाइन पर आवेदन कर सकते हैं। यह भी बता दें कि, ऑनलाइन फार्म भरते समय आवेदक दम्पत्ति को दिव्यांगता प्रदर्शित करने वाला संयुक्त नवीनतम फोटो विवाह पंजीकरण, प्रमाण पत्र आय व जाति प्रमाण पत्र युवक एवं युवती का आयु प्रमाण पत्र जिसमें जन्मतिथि का अंकन हो, सक्षम अधिकारी से निर्गत दिव्यांगता प्रमाण पत्र राष्ट्रीयकृत बैंक में संचालित संयुक्त खाता अधिवास का प्रमाण पत्र एवं युवक व युवती के आधार कार्ड की छायाप्रति आदि। अभिलेखों के साथ आवेदन पत्र ऑनलाइन उपरोक्त वेबसाइट पर करना अनिवार्य है। साथ ही ऑनलाइन सबमिट आवेदन पत्र की प्रिन्ट प्रति व वांछित प्रपत्रों की हार्डकापी जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण कार्यालय विकास भवन मंझनपुर कौशाम्बी में प्राप्त करायें।


धर्मेंद्र की मौत का मामला कोतवाली में फंसा

मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के मंझनपुर कस्बे का मामला


कौशाम्बी। मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के नेता नगर मोहल्ले में एक युवक की घर के भीतर दूसरी मंजिल में लाश मिली है सूचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया है। घटना के पीछे कई सवाल छूट गये है जिनका जवाब पुलिस के साथ परिजनो के पास भी नही है। वही मृतक युवक के अन्य भाई इस मामले में युवक की आत्म हत्या की बात कह रहे है। लेकिन मौके पर आत्म हत्या के साक्ष्य नही मिल सके है। 


 घटनाक्रम के मुताबिक मंझनपुर कस्बे के नेता नगर निवासी धर्मेन्द्र कुमार पुत्र माता प्रसाद वर्मा ने पहले मंझनपुर चौराहे पर जूते चप्पल की दुकान खोल रखी थी और इसी दुकान के नाम पर बैंक से 10 लाख रूपये का कर्ज भी ले रखा था चार भाईयो में सबसे छोटा धर्मेन्द्र की अभी शादी नही हो सकी है। जिससे वह अन्य भाईयो के साथ ही घर में रहता है। बैंक से लोन लेने के बाद धर्मेन्द्र ने अपनी दुकान अजरौली गांव में ट्रासफर कर दी। शुक्रवार को दिन में साढे 11 बजे जब धर्मेन्द्र के घर जब पुलिस पहुची तो कस्बे के लोग कारण जानने को बेताब हुए तो मालूम हुआ की धर्मेन्द्र की मौत हो चुकी है। 


किसी के चेहरे में नही था गमगमः पूरे घर में भाई पिता भाभी समेत किसी के चेहरे पर मौत का गम नही था किसी के आखो से आसू नही बह रहा था। परिवारी सदस्यो के चेहरो को देखकर धर्मेन्द्र की आत्म हत्या की कहानी में सवाल खडे हो रहे है। 


कमरे के एक किनारे खडा था स्टूलः जिस कमरे में धर्मेन्द्र की मौत की बात की जा रही है उस कमरे में एक किनारे पर एक स्टूल था जो सीधा खडा हुआ था वहॉ पर अन्य कोई ऐसे संसाधन नही थे जिस पर चढ कर आत्म हत्या किया जा सके। यदि स्टूल में चढकर आत्म हत्या की बात परिजन कर रहे है तो वह सम्भव नही है स्टूल गिरा नही था और वह चुल्ले के सीध में नही था।


कौशाम्बी। धर्मेन्द्र की मौत के बाद मौके पर पहुचे लोगो ने देखा कि जिस कमरे में धर्मेन्द्र सोता है उसके बगल और ऊपरी मंजिल में पूरा परिवार रहता है धर्मेन्द्र के कमरे का दरवाजा अन्दर से नही बन्द था हल्के से धक्का देते ही वह खुल गया है। 


रात 3 बजे घर में हुआ है हो हल्लाः धर्मेन्द्र की मौत को परिजन एक तरफ आत्म हत्या करार दे रहे है दूसरी तरफ परिजनो का कहना है कि धर्मेन्द्र के आत्म हत्या करने की जानकारी उन्हे शुक्रवार को 11 बजे दिन में हुयी है लेकिन आस पास के लोगो की बातो को माने तो रात 3 बजे धर्मेन्द्र के घर में तेजी तेजी से हो हल्ला हो रहा था। आखिर हो हल्ला का कारण क्या था परिजन इसे छिपाने का प्रयास क्यों कर रहे है हो हल्ला के पीछे कौन सी गोपनीयता छिपी है। हो हल्ला को सुनकर रात में पडोसी भी परेशान हो उठे थे। 


पहले से घर में मौजूद बाहरी व्यक्ति कौन


कौशाम्बी। धर्मेन्द्र की मौत के समय घर में तीन दिन से कुछ बाहरी व्यक्ति मौजूद थे इनमें फतेहपुर जनपद के भी रहने वाले लोग मौजूद है आखिर तीन दिनो से घर में बाहरी लोगो के टिकने का क्या मकसद है यह भी एक जॉच का विषय है और इन गम्भीर मामलो में पुलिस आलाधिकारियो ने जॉच करायी तो जॉच परिणाम चौकाने वाले हो सकते है।


बाजार में जुआ खेलते चार किए गिरफ्तार

जितेंद्र मेहरा


सहारनपुर। एसएसपी दिनेश कुमार पी के निर्देशन में अपराधियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत कोतवाली सदर बाजार प्रभारी के नेतृत्व में गठित टीम ने चार लोगों को जुआ खेलते हुए गिरफ्तार किया। पुलिस द्वारा पकडे़ गये आरोपियों में रियासत, विपिन, राजकुमार व शाकिब को हकीकतनगर स्थित पानी की टंकी के पास से गिरफ्तार किया गया। जुआ अधिनियम में चारों आरोपियों को जेल भेजा गया है। आरोपियों के पास से ताश पत्ते व करीब पांच हजार रूपये की नगदी बरामद हुई।


शिवानी को नगरायुक्त ने किया सम्मानित

एसएल कश्यप


सहारनपुर। स्वच्छता सर्वेक्षण टीम द्वारा अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर घोषित देश की पहली स्वच्छता हीरो शिवानी शर्मा को नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह ने आज स्वच्छता हीरो का प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उम्मीद जतायी कि नगर के अन्य युवा भी शिवानी से प्रेरणा लेकर सहारनपुर को स्वच्छ बनाने के अभियान में आगे आयेंगे। शिवानी, स्वच्छता सर्वेक्षण टीम द्वारा अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर घोषित की जाने वाली पहली स्वच्छता हीरो है। शिवानी ने नगर निगम द्वारा‘ग्रीन ड्रीम फाउण्डेशन’के सहयोग से शहर में चलाये जा रहे पेंट माई सिटी अभियान में न केवल बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है बल्कि दूसरी छात्राओं को भी इसके लिए प्रेरित किया है। शिवानी ने बताया कि वे स्कूल आते-जाते दीवारों पर पेंटिंग बनते हुए देखती थी तो उसका मन होता था कि मैं भी इसमें भागेदारी करते हुए पेंटिंग बनाऊं। शिवानी ने बताया कि एक कार्यक्रम के दौरान उसनेपेंट माई सिटी अभियान चला रहे आशीष सचदेवा से संपर्क किया और अभियान में शामिल हो गयी। शिवानी ने पर्यावरण व स्वच्छता संबंधी शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बनायी गयी अनेक पेंटिंग्स में सक्रिय भूमिका निभायी है। आशीष सचदेवा ने बताया कि उन्होंने शिवानी की पेंटिग्स उसकी भूमिका को स्वच्छता सर्वेक्षण की साइट पर अपलोड किया था। जिस पर टीम ने देशभर में स्वच्छता हीरो के रुप में शिवानी का चयन करते हुए उसे स्वच्छता हीरो घोषित किया। शिवानी ने बताया कि उसे बचपन से ही पेंटिंग्स का शौक रहा है। आज नगर निगम में नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह ने शिवानी और उसके माता-पिता का स्वागत करते हुए कहा कि शिवानी काकिसी बडे़ समारोह में भी सम्मान व अभिनंदन किया जायेगा। शिवानी मल्हीपुर रोड निवासी ज्योतिषाचार्य जोगेन्द्र नाथ की छोटी पुत्री और बारहवीं की छात्रा है। शिवानी ने कहा कि शहर की स्वच्छता हमारा अभियान है। प्रत्येक नागरिक का दायित्व है कि इस अभियान में अपनी सक्रिय हिस्सेदारी निभाए। शिवानी की इस उपलब्धि पर मंडलायुक्त संजय कुमार, मेयर संजीव वालिया व सहायक नगरायुक्त संजय कुमार ने भी बधाई दी है।


अभियान के अंतर्गत बैठक का आयोजन

जितेंद्र मेहरा


सहारनपुर। जिला कांग्रेस कार्यालय पर शुक्रवार को पिछड़े-अति पिछड़े एकीकरण अभियान के अंतर्गत एक बैठक का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि पूर्व सांसद राजाराम पाल का पदाधिकारियो ने जोरदार स्वागत किया। बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व सांसद राजा रामपाल ने कार्यकर्ताओ को अभियान के तहत विस्तार से जानकारी दी और उनके सुझावों को सुना। इस दौरान बैठक में जिला अध्यक्ष मुजफ्फर तोमर,नगर अध्यक्ष वरुण शर्मा,देहात विधायक मसुद अख्तर, पूर्व विधायक शशि वालिया, सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।


शाकुंभरी देवी से लौट रही 'बस पलटी'

एसएल कश्यप


सहारनपुर। शाकम्भरी रोड स्थित सैंट थाॅमस एकेडमी के पास देवी के दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं से भरी टाटा मैजिक और बस की टक्कर हो गई। टक्कर के बाद टाटा मैजिक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खाई में गिरने के बाद पलट गई। हादसे में सवार नौ लोग घायल हो गए। जिसमें बच्चे भी सवार थे। हादसे के बाद चीख-पुकार मच गई। काफी देर बाद घायलों में से कुछ लोगों ने दूसरे घायलों को बाहर निकाला और 108 नंबर पर कॉल की। इसके बाद 108 एंबुलेंस घटनास्थल पर पहुंची और घायलों को सीएचसी पहुंचाया। बताया जाता है कि खेड़ा मुगल निवासी सतीश का परिवार शाकंभरी देवी में भंडारे का आयोजन करने के उपरांत छोटे हाथी में सवार होकर वापस अपने गांव लौट रहा था।


गैस सिलेंडर में लगी आग से मची अफरा-तफरी

तारिक सिद्दकी। 


रामपुर मनिहारान। कस्बे के मोहल्ला सराय में एक मकान में खाना बनाने के लिए चूल्हा जलाते समय गैस सिलेंडर में लगी आग से अफरातफरी मच गयी। चीख पुकार सुनकर घटना स्थल पर पहुँच मौहल्ले वालों ने आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन कामयाबी नही मिल सकी। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे गैस एजेंसी के कर्मचारियों ने घर के सदस्यों व बच्चों को घर से बाहर निकाल कर किसी तरह आग पर काबू पाया लेकिन तब तक घर का सारा सामान जल कर राख हो चुका था।इस आग में 2 मासूम बच्चों के बाल झुलस गए।सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। मौहल्लेवासियो ने गरीब दलित व्यक्ति को आर्थिक सहायता दिलाए जाने की माँग की है।
शुक्रवार को लगभग 12 बजे मौहल्ला सराय निवासी प्रेम पुत्र केवल की पुत्रवधु ने गैस के चूल्हे पर खाना बनाने के लिए जैसे ही माचिस की तीली जलाई तो गैस सिलेंडर ने अचानक आग पकड़ ली और चन्द मिनटों में ही आग ने विकराल रूप धारण करते हुए मकान के पूरे हिस्से को अपनी चपेट में ले लिया।घर में रखे सारे सामान में आग लग गयी।घर के सदस्यों ने आग का विकराल रूप देख कर चीखना चिल्लाना शुरू कर दिया।शोर सुनकर वार्ड सभासद राजेश मेनवाल व भीम आर्मी के नगर अध्यक्ष सुंदरलाल मौहल्लेवासियों के साथ मौके पर पहुंचे और घर के सदस्यों को घर से बाहर निकाला।तब तक तीन वर्षीय आशु व डेढ़ वर्षीय राघव के बाल आग से झुलस गए थे।मौके पर पहुंचे गैस एजेंसी के कर्मचारियों ने मौहल्ले वासियों के साथ मिल कर काफी देर बाद किसी तरह आग पर काबू पाया लेकिन तब तक घर का सारा सामान जल कर राख हो चुका था। 
सूचना पर कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर उमेश रोरिया पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे और मामले की जानकारी ली।प्रेम की पत्नी श्रीमती रौशनी देवी ने बताया कि उन्होंने आज ही एजेंसी से सिलेंडर मंगवाया था।उन्होंने बताया कि गैस सिलेंडर लीक था जिसने आग पकड़ ली और ये हादसा हो गया।सूचना पर तहसील कार्यालय से लेखपाल मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। सभासद राजेश मेनवाल ने गरीब दलित के लिए मुआवजे की मांग करते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद की जानी चाहिए।उन्होंने बताया कि पीड़ित के घर में कोई भी सामान नही बचा सब कुछ् जल कर राख हो गया।वहीं पीड़ित परिवार के सदस्यों ने बताया कि इस हादसे में उनका सब कुछ जल गया है न उनके पास खाने को कुछ बचा है और न ही उनके पास सर्दी से बचाव के लिए कोई कपड़ा बचा है। मौके पर पहुँचे चेयरपर्सन प्रतिनिधि विवेककान्त सिंह ने कहा कि वे पीड़ित परिवार की यथासम्भव सहायता करेंगे। इस दौरान रामकुमार, नोरंग सिंह, प्रीतम सिंह, पूर्व सभासद अहसान मलिक, एडवोकेट तय्यब मंसूरी, श्रवण गुप्ता, कबूल सिंह, श्याम सिंह, डॉ सुखबीर सिंह, सुलेमान, अब्दुल कलाम राय, निसार,नेमपाल आदि मौजूद रहे।


जूमे को सीएए के चलते पुलिस प्रशासन रहा सतर्क

तारिक सिद्दकी। 


रामपुर मनिहारान। नागरिक संशोधन विधयेक के विरोध के मद्देनजर पुलिस प्रशासन पूरी तरह सतर्क रहा। मुख्य मस्जिदों के पास पुलिस बल तैनात किया गया और कोतवाली प्रभारी स्वयं नगर भ्रमण करते रहे। नागरिक संशोधन विधयेक को लेकर रामपुर मनिहारान में किसी तरह का कोई हंगामा नही हुआ लेकिन पुलिस प्रशासन पूरी तरह चाक चैबन्द रहा।जुमा की नमाज के मद्देनजर मुख्य मस्जिदों के आस पास सुरक्षा व सतर्कता की दृष्टि से पुलिस बल तैनात किया गया।कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर उमेश रोडिया स्वयं नगर में भृमण करते रहे।सभी मस्जिदों में शान्तिपूर्वक जुमा की नमाज सम्पन्न होने तक पुलिस प्रशासन अलर्ट रहा। कोतवाली प्रभारी उमेश रोडिया ने कहा कि रामपुर मनिहारान की जनता शांतिप्रिय और समझदार है।लेकिन पुलिस इस बात को लेकर भी सतर्क है कि कोई बाहरी व्यक्ति यहाँ का माहौल बिगाड़ने की कोशिश न कर सके।उन्होंने कहा कि पुलिस अच्छे और सच्चे लोगों को पूरा सम्मान करती है लेकिन असामाजिक तत्वों पर भी कड़ी निगाह रखनी पड़ती है।उन्होंने कहा कि सुरक्षा और शांति की दृष्टि से पुलिस बल अपनी जिम्मेदारी का पालन कर रहा है और यह सामान्य बात है।इंस्पेक्टर उमेश रोरिया ने नगर की जनता से इसी प्रकार शांति व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग देने की अपील की है। इस दौरान एस आई सुरेश कुमार,एस आई महेंद्र सिंह,एस आई पवनदीप शर्मा, एचसीपी साहब सिंह, अरुण खोखर आदि पुलिस बल मौजूद रहा।


50 की वजह 500 में खुलेगा बचत खाता

अरविंद सिसौदिया


नानौता। डाक विभाग में खाता खुलवाना अब महंगा हो गया है। क्योंकि सरकार ने गत माह (दिसंबर) से डाकघर बचत बैंक के नियमों में बदलाव किया है। बचत खाता खुलवाने के लिए अब ग्र्राहकों को पहले की अपेक्षा 10 गुना अधिक राशि चुकानी पडेगी। पहले जहां खाता 50 रूपए में खुलता था वहीं अब इसके लिए 500 रूपए देने होंगे। 
नानौता पोस्ट आॅफिस के डाक सहायक विनित गोयल ने बताया कि अब बचत खातें में न्यूनतम बैलेंस भी 500 रूपए रखना होगा। ऐस न करने पर सालाना एक सौं रूपए शुल्क चुकाना होगा। इससे पूर्व खाते में न्यूनतम बैलेंस 50 रूपए रखना होता था। पीपीएफ अकाउंट के माध्यम से उपभोक्ताओं को जमा राशि पर ऋण लेने पर कम ब्याज दर चुकाना होगा। पहले जहां 6 प्रतिशत की दर से ब्याज चुकाना पडता था। अब यदि उपभोक्ता 36 महीने के अंदर राशि चुका देता है तो मात्र एक प्रतिशत ही ब्याज देना होगा। इसके अलावा अब एक साल के बाद और 5 साल के पहले उपभोक्ता ऋण ले सकते है। 
सुकन्या समृद्वि योजना खाता 250 रूपए में खुलेगा - 
डाक विभाग अधिकारियों के अनुसार सुकन्या समृद्वि योजना में भी बदलाव किया गया है। इस योजना के तहत पहले एक हजार रूपए में खाता खुलता था। अब उपभोक्ता मात्र 250 रूपए में खाता खुलवा सकता है। इसमें किसी कारणवश बच्ची की मौत या उसके अभिभावक की मौत होने के बाद खाता बंद करने की सुविधा भी मिलेगी। तो वहीं गंभीर रूप से बीमार होने पर भी खाता बंद किया जा सकता है। उन्होनें बताया कि सावधि जमा योजना के तहत जहां एक सौ रूपए से खाता खुलता था वहीं अब एक हजार रूपए से खाता खुलेगा। इस खाता को 6 माह तक बंद नहीं किया जा सकता है। इसके अलावा आरडी भी एक सौ रूपए से कम में नहीं खुले पाएगी।


4 घंटे से ज्यादा रहेगा चंद्र ग्रहण

नई दिल्ली। वर्ष 2020 का पहला ग्रहण आज 10 जनवरी की रात को पड़ेगा। इस ग्रहण का समय चार घंटे से अधिक होगा। चंद्र ग्रहण 10 जनवरी की रात को 10:37 बजे शुरू होगा और 11 जनवरी को तड़के 02:42 तक रहेगा। हालांकि ये उपच्छाया ग्रहण होगा। ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र का कहना है कि उपच्छाया ग्रहण होने के कारण सूतक नहीं लगेंगे। इसलिए न तो मंदिर बंद होंगे और न ही कोई काम रोके जाएंगे। ज्योतिषाचार्य से जानिए क्या होता है उपच्छाया ग्रहण व ग्रहण के दौरान दान पुण्य का महत्व। ज्योतिषाचार्य के मुताबिक शास्त्रों में उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण नहीं माना जाता है, इसलिए नियमित होने वाले कार्य रोजाना की तरह किए जाएंगे। उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ऐसे समझें।जब चंद्रमा, पृथ्वी और सूर्य जब एक सीध में होते हैं और पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है तो इसे चंद्र ग्रहण माना जाता है। लेकिन इस बार चंद्रमा पृथ्वी की छाया के बाहरी किनारे से होकर गुजरेगा, यानी पृथ्वी की पूरी तरह से छाया चंद्रमा पर नहीं पड़ेगी। इस स्थिति को उपच्छाया चंद्र ग्रहण कहा जाता है।


सचिव अमित ने जेएनयू छात्रों से की अपील

नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने शुक्रवार को जवाहलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (जेएनयू) के विद्यार्थियों से आंदोलन वापस लेने की अपील की। खरे ने यहां जेएनयू के कुल‍पति प्रो. एम. जगदीश कुमार, विश्‍वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों तथा छात्र संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक की और इस दौरान छात्रों से आन्दोलन वापस लेने का अनुरोध किया। बाद में उन्‍होंने विश्‍वविद्यालय छात्र संघ की अध्‍यक्ष आइशी घोष के नेतृत्‍व में विद्यार्थियों के शिष्‍टमंडल से भी बातचीत की। विश्‍वविद्यालय के अधिकारियों ने अमित खरे को बताया कि मंत्रालय के 10 और 11 दिसंबर के चर्चा रिकॉर्ड के अनुसार लिए गए निर्णयों को लागू करने के लिए प्रशासन सभी कदम उठा रहा है। कुल‍पति ने बताया कि नौ जनवरी को जेएनयू द्वारा एक परिपत्र जारी किया गया है, जिसमें स्‍पष्‍ट किया गया है कि विद्यार्थियों से छात्रावास के लिए सेवा और उपयोगिता शुल्‍क नहीं लिए जायेगा। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) से इन शुल्‍कों को वहन करने का अनुरोध किया गया है। बाद में आइशी घोष के नेतृत्‍व में विद्यार्थियों के शिष्‍टमंडल की सचिव के साथ हुई बातचीत में भी यह जानकारी दी गई। मानव संसाधन विकास सचिव ने यूजीसी के अध्‍यक्ष डॉ. डी.पी. सिंह से भी बातचीत की। मंत्रालय ने यूजीसी से इस संबंध में आवश्‍यक धन उपलब्‍ध कराने को कहा है। इन कदमों के मद्देनजर खरे ने विद्यार्थियों से आंदोलन वापस लेने की अपील की। छात्र संगठन छात्रावास शुल्क वृद्धि के विरोध तथा कई अन्य मांगों को लेकर पिछले कुछ समय से आन्दोलन कर रहा है।


चार महिला को मौत के घाट उतार चुका, गुलजार

रुद्रप्रयाग। तीन माह और चार महिलाएं आदमखोर गुलदार की शिकार। रुद्रप्रयाग जिले भरदार पट्टी और उससे सटे धारी गाव में इन दिनों आदमखोर गुलदार ने आतंक मचाया हुआ है। भरदार क्षेत्र में आदमखोर गुलदार का कहर के आज भी रूह कांप जाती है, जिसको शिकारियों और वन विभाग ने मारने का दावा भी किया था, लेकिन अब धारी गांव में एक महिला को गुलदार ने निवाला बनाया है, महिला का अदखाया शव भी जंगल में मिला है। कल दोपहर को धारी गांव की एक महिला कल्पेश्वरी देवी धास लेने जंगल गयी थी, लेकिन दोपहर तक महिला धास लेकर वापस नही लौटी, जिसके बाद परिजनों की चिन्ता बढ़ गयी, जिसके बाद ग्रामीणो ने खोजबीन शुरू की, तो जंगल में महिला के खून से सने चप्पलें और सामान मिला। रात महिला का आदमखोर गुलदार का अदखाया शव भी वन कर्मियों और ग्रामीणों को जंगल में मिला। घटना के बाद से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। आदमखोर गुलदार का शिकार हुई महिला का नाम कल्पेश्वरी देवी पत्नी रमेश पाण्डेय है। बात दे कि हाल ही में रूद्रप्रयाग के भरदार क्षेत्र में आदमखोर गुलदार ने तीन लोगों को अपना निवाला बनाया था, जिसके बाद शिकारियों ने आदमखोर गुलदार को मार डालने का दावा किया था लेकिन आदमखोर गुलदार का शव अब तक नही मिला था लेकिन अब एक बार फिर भरदार के जंगलों से सटे हुए धारी गांव मे ये घटना हुई है।


प्रेमी युगल ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान


अतुल त्यागी जिला प्रभारी
प्रवीण कुमार रिपोर्टर
हापुड़। जनपद हापुड़ में मौत होने का सिलसिला जारी प्रेमी जोड़े ने अपने आप को ट्रेन के आगे कूदकर किया मौत के हवाले। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे गढ़ कोतवाली इंचार्ज पुलिस फोर्स के साथ।


आपको बता दें मामला  जनपद हापुड़ के गढ़मुक्तेश्वर  कोतवाली क्षेत्र का है  जहां एक सोनिया नामक युवती पुत्री तेजपाल सिंह उम्र लगभग 19 वर्ष युवक रोहित पुत्र राजवीर सिंह उम्र लगभग 23 वर्ष दोनों राजीव नगर गढ़ के रहने वाले हैं ने ट्रेन से कटकर आत्म हत्या कर ली।


एक ही साथ युवक और युवती की ट्रेन के आगे कूदकर मौत की खबर आग की तरह फैल गई और मौके पर सैकड़ों लोग कथित हो गए सूचना पाकर मौके पर पहुंचे गढ़ कोतवाली इंचार्ज नए दोनों के शवों को अपने कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया परिजनों को सूचना कर दी गई है फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
बाईट-sp संजीव सुमन हापुड़।


गांव में विकास कार्यो पर उठी उंगली

अतुल त्यागी, रिंकू सैनी रिपोर्टर


गांव के अंदर विकास कार्य पर उठी उंगलियां – ग्राम विकास कार्य के अंदर लग रहा हैं घटिया माल- होनी चाहिऐ



गांव के अंदर कार्य विकास पर उठी उंगलियां –  ग्राम विकास कार्य के अंदर लग रहा हैं घटियां माल – होनी चाहिए ऐसी ग्राम पंचायतों की पूरी जांच कर – सख्त कार्यवाही
हापुड़। जनपद हापुड़ के तहसील गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र गांव लुहारी के अंदर ग्राम पंचायत के कार्य विकास पर उठी उंगलियां- ग्राम पंचायत पहले ही चल रही थी काफी विवादों के अंदर-  उसके पश्चात भी उठी उंगलियां ग्राम विकास कार्य के अंदर लगाई जा रही हैं  पुरानी ईट- ग्राम पंचायत पर पहले ही चल रहा है काफी बड़ा मामला उसके बाद भी ग्राम पंचायत पर उठी उंगलियां-  जिसके अंदर  ग्राम विकास  के कार्य के अंदर लगाया जा रहा है घटिया माल आखिर क्यों-  क्या घटिया माल के पैसे दे रही है ग्राम पंचायत को या ग्राम पंचायत के पास पैसा ही नहीं है जो घटिया माल का इस्तेमाल कर दिखाया जा रहा है खुलेआम आखिर क्यों।


सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश का जन्मदिन मनाया

भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ शामली ने मोहल्ला बरखंडी  सरवर पीर सेंड एम डी पब्लिक स्कूल में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेश उत्तम पटेल जी का 64 वा जन्मदिन बड़ी धूम से मनाया सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के निवर्तमान जिलाध्यक्ष संजय उपाध्याय ने बताया श्री नरेश उत्तम पटेल का पैतृक गांव जहानाबाद लोहारी सराय है सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाले नरेश उत्तम पटेल छात्र जीवन से ही राजनीति से जुड़े रहे हैं उनका परिवार आज भी खेती किसानों पर ही पूरी तरह निर्भर है अपने दो भाइयों से छोटे रहे नरेश उत्तम पटेल ने कानपुर के डीएवी कॉलेज से राजनीति पारी की शुरुआत की थी सन 1989 में जनता दल से विधायक बने श्री मुलायम सिंह यादव की सरकार में वन मंत्री बने उनका जन्म 10 जनवरी 1956 मे हुआ श्री नरेश उत्तम  पटेल पिछड़ों गरीबों मजदूरों एवं किसानों के लिए संघर्षशील है हम सभी समाजवादी उनके आदेश से प्रेरणा लेकर पार्टी के संगठन को मजबूत करेंगे इस अवसर पर जिला अध्यक्ष संजय उपाध्याय उपाध्यक्ष नौशाद इदरीसी कैराना विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र पाल उपाध्यक्ष साजिद चौधरी, राजगिरी कश्यप, रईस मिर्जा जिला सचिव, रीना उपाध्याय, कुबेर दत्त शर्मा, शिवम शर्मा,  महेश उपाध्याय, राजवीर सैनी, अनिल प्रजापति, राजेश कश्यप, बिजेंदर कश्यप, सतवीर पाल, मीनाक्षी शर्मा, भूप सिंह सैनी, पायल सैनी आदि मौजूद रहे।


रिटायर्ड डिप्टी जेलर की गोली मारकर की हत्या

प्रयागराज। रिटायर्ड डिप्‍टी जेलर की नैनी में गोली मारकर हत्‍या कर दी गई। एफसीआइ मोहल्ले के समीप नव निर्मित घर में रक्‍तरंजित लाश शुक्रवार को तब मिली जब वहां मजदूर काम करने पहुंचे। मकान बनवाने को लेकर उनका पड़ोसी से गुरुवार को विवाद हुआ था। आरोप है कि उसने गोली मारकर हत्‍या कर दी। पुलिस ने शव को कब्‍जे में लेकर जांच-पड़ताल कर रही है। रिटायर्ड डिप्‍टी जेलर के पुत्र ने थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। लेकिन अभी भी हत्या के कारणों की स्पष्ट जानकारी जुटा पाने में पुलिस सफल नहीं हो पाई है। प्रथम दृश्य यही है माना जा रहा है कि पड़ोसी के द्वारा हत्या की गई है। लेकिन इसके पीछे और भी कई वजह होने से इनकार नहीं किया जा सकता है। जिसकी वजह से यह मामला और भी पेचीदा बनता जा रहा है।


नैनी में रिटायर्ड डिप्‍टी जेलर की गोली मारकर हत्‍या
 मकान को लेकर चल रहा था विवाद। शिवराम खरवार 61 पुत्र जयराम सितंबर 2019 में कौशांबी जेल से डिप्टी जेलर पद से हुये थे रिटायर।


बृजेश केसरवानी


कड़ाके की ठंड पर भारी पड़ी आस्था

प्रयागराज में माघ मेले का श्रीगणेश, कड़ाके की ठंड पर भारी पड़ी आस्था



प्रयागराज। पौष पूर्णिमा 2020 : कड़ाके की ठंड पर आस्था भारी है। जी हां, माघ मेला के पहले स्नान पर्व पौष पूर्णिमा पर आज यानी शुक्रवार को यही नजर आ रहा है। इसी स्नान पर्व के साथ संगम नगरी में एक माह का कल्पवास भी आज ही से शुरू हो गया है। यूं तो गुरुवार की आधी रात से ही स्नान का क्रम शुरू हो गया है, लेकिन सुबह से भीड़ अधिक हो गई है। देश के कोने-कोने से श्रद्धालु ट्रेनों, बसों और अपने निजी वाहनों से माघ मेला की ओर जा रहे हैं। सभी मन में आस्था और होठों पर गंगा मइया का नाम है। जबकि ठंड इतनी की पूछिए मत। शीतलहर चल रही है और आसमान पर बादल भी हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सभी कल्पवासियों को अपनी मंगलकामनाएं दी हैं। वहीं मेला प्रशासन का दावा है कि सुबह 10 बजे तक लगभग 15 लाख 50 हजार श्रद्धालुओं ने पवित्र त्रिवेणी में पुण्य की डुबकी लगाई। मेला में सुरक्षा की दृष्टि से भारी संख्या में पुलिस और पीएसी के साथ अद्र्ध सैनिक बल तैनात हैैं। मंडलायुक्त और डीएम भी कई मजिस्ट्रेटों के साथ मेला में डटे रहे।

 कई क्षेत्रों में अव्यवस्था का आलम है
फिलहाल अब भी तैयारियां पूरी नहीं हो सकी हैैं। जबकि प्रशासन ने विभागों को सभी काम पूरे करने की आखिरी तारीख 15 दिसंबर 2019 से बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया था। कई क्षेत्रों में अव्यवस्था का आलम है। झूंसी क्षेत्र में कई स्थानों पर अभी काम पूरी नहीं हो सका है। सेक्टर तीन, चार और पांच में अभी 40 फीसद से ज्यादा काम शेष हैं। सबसे ज्यादा स्थिति सेक्टर पांच की खराब है। यहां बाद में विकसित किए गए क्षेत्र में अब भी जलापूर्ति शुरू नहीं हो सकी है।


शौचालयों का निर्माण कार्य भी अभी पूरी नहीं हो सका है


इसके अलावा शौचालयों का निर्माण कार्य भी अभी पूरी नहीं हो सका है। इसके कारण श्रद्धालुओं के साथ ही कल्पवासियों को भी खुले में शौच जाना पड़ रहा है। अफसरों का कहना है कि खराब मौसम ने तैयारियों में खलल डाल दिया। इस व्यवधान के कारण ही काफी काम पीछे हो गए। दरअसल, बारिश के कारण दलदली जमीन फिर से कीचडय़ुक्त हो गई। मेलाधिकारी रजनीश कुमार मिश्र ने बताया कि ज्यादातर काम पूरा हो चुका था, लेकिन बारिश ने पानी फेर दिया।


सुविधाओं को परेशान कल्पवासी


मेला क्षेत्र में एक माह के कल्पवास के लिए अब भी कल्पवासी व संस्थाओं के संचालक सुविधाओं के लिए परेशान हैैं। गुरुवार को भी बड़ी संख्या में कल्पवासी और उनके स्वजन माघमेला प्रशासन कार्यालय पर डटे रहे। अपर मेलाधिकारी जितेंद्र पाल ने कई आवेदन निपटाए, मगर शाम तक दफ्तर में लोगों की भीड़ जुटी रही। बताते हैैं कि जमीन तो दे दी गई मगर सुविधा पर्ची में अब भी देरी हो रही है।


तिरंगा यात्रा में सभी का सहयोग आवश्यक

तिरंगा यात्रा में सभी की भागीदारी आवश्यकःपतविंदर सिंह


प्रयागराज। भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा काशी क्षेत्र. क्षेत्रीय मंत्री सरदार पतविंदर सिंह ने तिरंगी पगड़ी पहन कर नैनी क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों में भ्रमण कर आम जनमानस को नागरिक संशोधन कानून के पक्ष में तिरंगा यात्रा में सम्मिलित होने. हस्ताक्षर अभियान. बैठकों के माध्यम से सामाजिक संगठनों के साथ ही आमजन से संपर्क भी कियाl 
सरदार पतविंदर सिंह ने घर-घर हस्ताक्षर कराते हुए नागरिक संशोधन कानून (सीएए) के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए तिरंगा यात्रा में सम्मिलित होने का अनुरोध करते हुए कहा कि मैं हूं  (सीएए )समर्थक और भारत माता की जय जैसे स्लोगन लिखकर साथ चलेंl सरदार पतविंदर सिंह ने बूथ स्तर पर आम लोगों के घरों तक पहुंच कर संपर्क करते हुए नागरिक संशोधन कानून के बारे में विपक्षी पार्टियों द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम और झूठ को उजागर करते रहे  संवाद संपर्क को गति देते हुए हस्ताक्षर अभियान और मिस कॉल करने पर भी लोगों से आग्रह किया साथ ही तिरंगा यात्रा में सभी आयु वर्ग के लोगों की भागीदारी होनी चाहिएl जन जागरूकता में दीपक भाटिया, रंजीत, रोहित सिंह, रितेश, हरमन सिंह ,दलजीत कौर, विकास अरोरा, इश्तियाक अहमद आदि रहे।


बृजेश केसरवानी


पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी की अधिक संभावना

हिमाचल में अधिक बर्फबारी के आसार


अमित शर्मा


शिमला। हिमाचल प्रदेश के अंदरूनी इलाके जहां इस सप्ताह हुई भारी बर्फबारी से उबरने की कोशिश कर रहे हैं, वहीं मौसम विभाग के अधिकारियों ने अपने अनुमान में राज्य में इस सप्ताहांत और ज्यादा बारिश व बर्फबारी होने की बात कही है। मौसम विभाग ने कहा कि शिमला, कुल्लू, किन्नौर, लाहौल और स्पीति और चंबा जिलों के ऊपरी पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी की अधिक संभावना है। लाहौल और स्पीति जिले का केलांग शून्य से 17.6 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा जगह रहा। पुलिस ने यात्रियों को सलाह दी है कि वे कुफरी और मशोबरा की सड़कों पर गाड़ी न चलाएं, क्योंकि भारी बर्फबारी के बाद वे फिसलन भरे हो गए हैं। मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने यहां आईएएनएस को बताया, "12 और 13 जनवरी को कई इलाकों में बर्फबारी और बारिश होने की संभावना है।" शिमला और मनाली में न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य से 1.3 डिग्री नीचे और शून्य से 7.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। शिमला से लगभग 250 किलोमीटर दूर कल्पा में रात का तापमान शून्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। इस हफ्ते की बर्फबारी के बाद शिमला के कई इलाकों जैसे माल रोड, रिज, यूएस क्लब और जाखू हिल्स में अभी भी बर्फ देखी जा सकती है। शिमला के पास के इलाके जैसे कुफरी और नरकंडा और लोकप्रिय पर्यटन स्थल मनाली भी बर्फ की मोटी चादर में लिपटे हुए हैं। अधिकारियों ने कहा कि पूरा किन्नौर, लाहौल और स्पीति और पांगी और चंबा का भरमौर क्षेत्र अभी भी अन्य हिस्सों से कटे हुए हैं, क्योंकि सड़कें बर्फ से ढंकी हुई हैं और उन्हें फिर से खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कुल्लू और लाहौल-स्पीति जिलों ने हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है।कलात, नेहरू कुंड, कुलांग, पलचन और कुल्लू में कोठी और लाहौल-स्पीति में केलांग और दारचा के इलाकों में खतरे की स्थिति बनी हुई है।


सीएएए के समर्थन में जिला मुख्यालय पर रैली

सीधी। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर जिला अधिवक्ता संघ ने रैली निकाली। इस दौरान एक आम सभा का भी आयोजन किया गया। जिसमें नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन करते हुए कहा गया कि राष्ट्रहित में सरकार जो भी कानून बनाएगी, उसका अधिवक्ता संघ आगे भी समर्थन करता रहेगा।


कानपुर की ज्वेलरी शॉप में 18 लाख की चोरी

कानपुर के ज्वैलरी शॉप में 18 लाख की चोरी…


सीसीटीवी फुटेज में ठेले में तिजोरी ले जाते दिखे चोर…


कानपुर। बिधनू न्यूआजाद नगर चौकी क्षेत्र में देर रात चोरों ने ज्वैलरी शॉप को निशाना बनाया। चोरों ने दुकान का शटर तोड़कर नकदी व तिजोरी पार कर दी। सुबह घटना की जानकारी होते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई। इतनी बड़ी चोरी की घटना के बाद दुकानदारों ने रोष जताया। पुलिस ने पास के एक मकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे तो चार चोर ठेले पर तिजोरी लादकर ले जाते नजर आए। डीआईजीई, एसपी ग्रामीण ने फोर्स के साथ पहुंचकर पड़ताल की, वहीं फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाकर चोरों के सुराग तलाशे।शहर के लाल बंगला निवासी राजेश कुमार की सतबरी रोड स्थित यादव चौराहे के पास ज्वैलरी शॉप है। बुधवार रात करीब 9 बजे वह दुकान बंद करके घर चले गए थे। देर रात चोर शटर को बीच से तोड़कर दुकान के अंदर घुस गए। चोरों ने दुकान के शोकेश से सारे जेवरात निकालने के साथ ढाई लाख की नकदी और जेवरात रखने वाली तिजोरी ले गए। गुरुवार की सुबह करीब 5 बजे गश्त में निकली पुलिस ने शटर टूटा देखकर राजेश को सूचना दी। तुरंत दुकान पहुंचे राजेश ने दुकान से नकदी, जेवरात और तिजोरी गायब देखी तो उनके होश उड़ गए और सिर पकड़कर बैठ गए।मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्होंने बताया कि दुकान बंद करने में रात होने के कारण वह नकदी और जेवरात तिजोरी में ही रखकर चले गए थे। चोर तिजोरी में करीब 18 लाख के जेवरात और ढाई लाख की नकदी ले गए हैं। डीआईजी अनंतदेव तिवारी, एसपी ग्रामीण प्रदुम्न सिंह, सीओ घाटमपुर रवि कुमार सिंह भी फोर्स लेकर घटनास्थल पर पहुंचे और पड़ताल की। फारेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाकर आसपास लोगों से पूछताछ की।पुलिस टीम ने आसपास के लोगों से पूछताछ की और पास में लगे सीसीटीवी कैमरे भी जांचे। ज्वैलरी शॉप के पास एक मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे तो चार चोर एक ठेले पर तिजोरी को लादकर ले जाते दिखाई दिए। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश शुरू की है। वहीं क्षेत्र में इतनी बड़ी चोरी की घटना के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। रात में ठंड के कारण सड़क पर पूरी तरह सन्नाटा छा जाता है। वहीं आसपास के दुकानदारों ने पुलिस गश्त में लापरवाही की बात कहते हुए भी आक्रोश जताया है।


आखिर कब पकड़े जाएंगे गौरव के कातिल

गौरव के कातिल कब पकड़े जायेंगे ?


गौतम बुध नगर। ग्रेटर नोएडा की गौर सिटी के नाराज सैकड़ों लोगों द्वारा कल रात कैंडल मार्च निकाले जाने के बाद आज सुबह एडीएम दिवाकर सिंह गौरव के परिवारवालों से मिलने पहुंचे। परन्तु वे हत्यारों को पकड़े जाने के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा है कि अपराधियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा तथा इस मामले को सीमा विवाद में उलझाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने चेतावनी दी है कि हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी न होने पर एडीजी व एसएसपी आफिस का घेराव किया जाएगा।
मोदी की भतीजी के साथ लूट करने वाले 2 घंटे में कैसे पकड़ लिए।


गौरव चंदेल की हत्या के 4 दिन बाद भी हत्यारों की गिरफ्तारी न होने को लेकर ग्रेटर नोएडा/गौर सिटी के लोगों के साथ ही सबसे ज्यादा महिलाओं में गुस्सा देखा गया है। गुस्से से भरी एक बुजुर्ग महिला ने रोते हुए कहा कि पुलिस जिसे पकड़ना चाहती है उसे पकड़ लेती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी के साथ दिल्ली में लूट करने वाले को पुलिस ने 2 घंटे में ही पकड़ लिया था। आखिर गौरव के हत्यारे कब पकड़े जायेंगे ?


ठंड के चलते पीठ दर्द 'अस्पताल में भर्ती'

जयराम ठाकुर की पीठ में उठा दर्द आईजीएमसी में भर्ती


शिमला। जयराम ठाकुर की पीठ में गुरुवार शाम को अचानक उठा दर्द इतना तेज था कि आईजीएमसी में उनकी एमआरआई करवानी पड़ी। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री कांगड़ा दौरे से लौट ही थे कि अचानक उनको पीठ में तेज़ दर्द शुरू हो गया। पहले फैमिली डॉक्टर ने उनका चैकअप किया। उन्होंने सीएम को आईजीएमसी जाने की सलाह दी।  इसके बाद उन्हें तुरंत आईजीएमसी लाया गया, जहां  तमाम नामी डॉक्टरों का अमला मौके पर जुट गया। अस्पताल में मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर जनक के अलावा मेडिकल कालेज प्रिंसीपल डॉक्टर मुकुल और मेडिसिन स्टोर अधिकारी डॉक्टर राहुल गुप्ता खासतौर पर मौजूद रहे। डॉक्टरों ने शुरुआती जांच के बाद उनका एमआरआई करवाना सही समझा। डॉक्टरों ने बताया कि मुख्यमंत्री की एमआरआई रिपोर्ट ठीक आई है। सीएम को आराम की सलाह दी गई है। ठंड के चलते उन्हें यह पीठ दर्द हुआ है। इसके चलते मुख्यमंत्री की फीजियोथैरेपी भी की गई है।


पुलिसकर्मियों को बसों में देना होगा किराया

67 हजार पुलिस कर्मियों को झटका, छह राज्यों में रोडवेज बसों में देना होगा किराया



अमित शर्मा


चंडीगढ़़। हरियाणा राज्य परिवहन ने 67 हजार पुलिस कर्मचारियों को जोर का झटका दिया है। बता दें कि अब उन्हें भी छह राज्यों में रोडवेज बस में सफर करने पर किराया देना होगा। वहीं हरियाणा राज्य परिवहन की बसों में चंडीगढ़ दिल्ली क्षेत्र को छोड़कर बाहर दूसरे राज्यों में हरियाणा राज्य परिवहन की बसों में हरियाणा पुलिस का कर्मचारी सफर करता है तो उसे भी आम यात्री की तरह टिकट लेना पडेगा ।आदेशों के मुताबिक, हरियाणा के पुलिस कर्मी अब सिर्फ हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में ही रोडवेज बसों में मुफ्त यात्रा का लाभ उठा सकेंगे। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और राजस्थान जाने पर रोडवेज बसों में उन्हें किराया देना होगा। परिवहन निदेशक ने इस संबंध में रोडवेज के डिपो महाप्रबंधकों को पत्र जारी कर दिया है। इसमें परिवहन विभाग के प्रधान सचिव के अप्रैल 2011 में जारी पत्र को अमल में लाने के निर्देश दिए गए हैं।


वॉर्न का बैगी ग्रीन कप नीलाम करने का फैसला

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न ने एक बेहद अच्छे काम के लिए अपनी बैगी ग्रीन कैप नीलाम करने का फैसला किया। शुक्रवार को यह कैप 10 लाख, 7 हजार, 500 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (करीब 4 करोड़, 92 लाख, 8 हजार रुपये) में नीलाम हो गई। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग को बुझाने व पीडि़तों की मदद के लिए दुनिया भर से लोग धन जुटाने में लगे हैं और वॉर्न ने अपनी बैगी ग्रीन क्रिकेट कैप को नीलाम करके इससे मिलने वाली रकम को दान देने का फैसला लिया है। 
वार्न ने फॉक्स क्रिकेट से कहा, जंगलों में लगी भयावह आग ने हम सबको सभी तरह से झकझोर कर रख दिया है। इस आग की वजह से कई जिंदगियां चली गईं, घर जलकर खाक हो गए और 50 करोड़ से ज्यादा जानवर भी मारे गए। हम दैनिक आधार पर पीडि़तों की मदद करने और अपना योगदान देने के तरीके खोज रहे है और इसी वजह से मैंने अपनी प्यारी च्बैगी ग्रीन कैपज् को नीलाम करने का फैसला किया है। वार्न के इस फैसले की उनके पूर्व टीम साथी डैरेन लेहमन और जेसन गिलेस्पी ने काफी तारीफ की है।


सीरीज जीतने के लिए उतरेगी टीम इंडिया

नई दिल्ली। भारत-श्रीलंका के बीच तीन टी-20 की सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच में शुक्रवार को पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर खेला जाएगा। भारतीय टीम सीरीज में 1-0 से आगे है। पहला मैच गुवाहाटी में बारिश के कारण रद्द हुआ था। वहीं, इंदौर में खेले गए दूसरे मैच में भारत ने श्रीलंका को 7 विकेट से हराया था। पुणे में दोनों टीमें दूसरी बार आमने-सामने होंगी। इससे पहले 2016 में श्रीलंका ने भारत को यहां 5 विकेट से हराया था। वहीं, टीम इंडिया ने 2012 में इंग्लैंड को 5 विकेट से शिकस्त दी थी।भारतीय टीम के पास इस मैच को जीतकर श्रीलंका के खिलाड़ी छठी सीरीज अपने नाम करने का मौका है। इससे पहले दोनों टीमों के बीच छह सीरीज में टीम इंडिया को पांच में जीत मिली। एक सीरीज 2009 में 1-1 की बराबरी पर छूटी थी। भारत 2017 में श्रीलंका के खिलाफ आखिरी सीरीज 3-0 से जीता था। पिच और मौसम रिपोर्ट: पुणे में मैच के दौरान आसमान में बादल छाए रह सकते हैं। पिच से बल्लेबाजों को मदद मिलती है। टॉस जीतने वाली टीम पहले गेंदबाजी करना पसंद करेगी। इस मैदान पर खेले गए 2 मैच में पहले गेंदबाजी करने वाली टीम ही जीती। भारत-श्रीलंका के बीच अब तक हुए 17 टी-20 में टीम इंडिया ने 12 में जीत दर्ज की। श्रीलंका को सिर्फ 5 में जीत मिली।


आम आदमी पार्टी द्वारा विरोध प्रदर्शन

पंजाब सीएम निवास पर प्रदर्शन आम आदमी पार्टी द्वारा विरोध प्रदर्शन


अमित शर्मा


चंडीगढ़। पंजाब में विपक्षी दलों ने बिजली दरों को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार पर तीखा हमला बोला। आप पार्टी सांसद भगवंत मान के नेतृत्व में पार्टी समर्थकों ने शुक्रवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के चंडीगढ़ आवास पर विरोध प्रदर्शन किया, जबकि शिरोमणि अकाली दल के सांसद और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने उन पर हमला किया। चंडीगढ़ पुलिस ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए वाटर बूथों का इस्तेमाल किया, जो शुक्रवार को उच्च बिजली दरों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। पंजाब सीएम निवास पर प्रदर्शन यह प्रदर्शन पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के आवास के बाहर हो रहा था। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सांसद भगवंत मान इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे। दूसरी ओर, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने बिजली दरों पर ट्वीट करने के लिए पंजाब सरकार पर तीखा हमला बोला। हरसिमरत कौर ने ट्वीट किया कि कांग्रेस सरकार अपने खजाने का भुगतान करने के लिए लोगों की कमर तोड़ रही है। उन्होंने कहा कि बठिंडा के ग्रामीणों को 2.5 लाख रुपये के बिजली के बिल दिए जा रहे हैं। आप कोयला घोटाले से 4,100 करोड़ रुपये का नुकसान नहीं उठा सकते। शिरोमणि अकाली दल हर उस पंजाबी की रक्षा करेगा जिसे आप लूटने की कोशिश कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है और 200 यूनिट तक बिजली उपलब्ध करा रही है। दिल्ली विधानसभा चुनाव में AAP चुनाव में इस मुद्दे को भुनाने की कोशिश कर रही है। इस बीच, पंजाब में आम आदमी पार्टी बिजली की मदद से खुद को मजबूत करने की कोशिश कर सकती है।


कोर्ट ने बलात्कारों के मामले पर लगाई मोहर

पंजाब को 7 फास्ट ट्रैक कोर्ट, 3 स्पेशल कोर्ट और 10 फैमिली कोर्ट मिलेंगे



अमित शर्मा


चंडीगढ़। बलात्कार के मामलों और 7 फास्ट-ट्रैक अदालतों और बच्चों के खिलाफ आपराधिक मामलों में बिना किसी देरी के बलात्कार के मामलों की प्रक्रिया को तेज करने के लिए, राज्य सरकार ने पंजाब में व्यापक कानूनी सुधारों की प्रक्रिया में तेजी लाने का फैसला किया है। इसे स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह, राज्य के सभी जिलों में कानूनी प्रक्रिया की बेहतरी के लिए 10 और पारिवारिक न्यायालय स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय लिए गए। पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता के अनुसार, राज्य में महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री की प्रतिबद्धता के अनुसार ये कदम उठाए गए हैं। मंत्रिमंडल ने बलात्कार के मामलों के निपटान के लिए सात फास्ट-ट्रैक अदालतों की स्थापना को मंजूरी दी है, जिनमें से 70 पद इसके कामकाज के लिए बनाए जाएंगे। इनमें से चार कोर्ट लुधियाना और एक-एक अमृतसर, जालंधर और फिरोजपुर में स्थापित किए जाएंगे। प्रवक्ता के अनुसार, मंत्रिमंडल ने अतिरिक्त और जिला सत्र न्यायाधीशों के सात और सहायक कर्मचारियों के 63 पदों को मंजूरी दी है।
लगभग 3.57 करोड़ रुपये की वार्षिक लागत के साथ स्थापित, ये अदालतें बलात्कार के लंबित मामलों से निपटने के लिए आपराधिक कानून (संशोधन) अधिनियम, 2018 के प्रावधानों और प्रावधानों को लागू करेंगी। ये अदालत ऐसे मामलों में लंबित मामलों की संख्या को दो महीने की समय सीमा के भीतर कम करने में भूमिका निभाएंगी। वर्ष 2018 के सीआरपीसी के अनुच्छेद 173 के संशोधन के अनुसार, बलात्कार के मामलों की सुनवाई दो महीने के भीतर तय की जानी है। पोस्को मामलों के लिए विशेष अदालतें - एक अन्य निर्णय के अनुसार, कैबिनेट ने पोस्को अधिनियम के तहत दायर मुकदमों के मामलों में सालाना 2.57 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर विशेष अदालतों की स्थापना के लिए 45 रिक्तियों के निर्माण को मंजूरी दी है। वर्ष 2018 में सीआरपीसी के अनुच्छेद 173 के संशोधन के तहत बलात्कार के मामलों की सुनवाई दो महीने के भीतर पूरी करने का प्रावधान है। शीर्ष अदालत ने इच्छा व्यक्त की थी कि राज्य सरकारें बच्चों से जुड़े बलात्कार के मामलों के लिए विशेष अदालतें गठित करें, जहाँ ऐसे लंबित मामलों की संख्या 100 से अधिक हो। वर्तमान में, राज्य में बच्चों के बलात्कार के लंबित मामलों की संख्या लुधियाना में 125 और जालंधर में 125 है, दो विशेष लुधियाना और एक विशेष जालंधर अदालत की स्थापना के लिए कैबिनेट की मंजूरी को ध्यान में रखते हुए। इसके अलावा, कैबिनेट ने इन अदालतों के लिए अतिरिक्त जिला न्यायाधीशों और उप-जिला वकीलों के तीन पदों और सहायक कार्मिकों के 39 पदों (कुल 45 पदों) के निर्माण को मंजूरी दी है।अन्य जिलों में पारिवारिक न्यायालय-
इस बीच, मंत्रिमंडल ने 5.55 करोड़ रुपये की वार्षिक अनुमानित लागत पर राज्य के 10 जिलों में 10 परिवार अदालतों की स्थापना को मंजूरी दी है। कैबिनेट ने इन न्यायालयों के लिए 90 पदों के सृजन को मंजूरी दी है, जिसके प्रमुख जिला न्यायाधीश / जिला सत्र न्यायाधीश (8 सहायक स्टाफ सदस्य) हैं।
वर्तमान में, ये परिवार अदालतें पंजाब के 12 जिलों में चल रही हैं। ये नए न्यायालय फतेहगढ़ साहिब, फिरोजपुर, फाजिल्का, कपूरथला, मनसा, रूप नगर, संगरूर, श्री मुक्तसर साहिब, एसएएस नगर मोहाली और तरनतारन सहित शेष 10 जिलों में स्थापित किए जाएंगे। इन आरोपों के लागू होने से वैवाहिक मामलों के लंबित मामलों के निपटारे से बड़ी संख्या में लोगों को राहत मिलेगी।फैमिली कोर्ट मुख्य रूप से वैवाहिक मामलों, जैसे कि विवाह की समाप्ति, वैवाहिक अधिकारों की बहाली, विवाह संपत्ति, बाल हिरासत अधिकार और रखरखाव के मुद्दों से संबंधित है।


8वीं 10वीं 12वीं के लिए प्रैक्टिकल अंग्रेजी

पहली बार 8 वीं, 10 वीं और 12 वीं श्रेणियों के लिए प्रैक्टिकल अंग्रेजी विषय लिया जाएगा


अमित शर्मा


मोहाली। 2019-20 की वार्षिक परीक्षाओं में पहली बार, पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड 8 वीं, 10 वीं और 12 वीं श्रेणियों के लिए प्रैक्टिकल अंग्रेजी विषय लेगा। छात्रों को इसके लिए तैयार किया गया है। बोर्ड के उपाध्यक्ष, बलदेव सचदेवा ने व्यावहारिक जानकारी देते हुए कहा कि 8 वीं, 10 वीं और 12 वीं कक्षाओं की वार्षिक परीक्षाओं में विषय को अंग्रेजी में प्रैक्टिकल, लिसनिंग और स्पीकिंग स्किल टेस्टिंग के रूप में लिया जाएगा और प्रत्येक में 10 अंकों में आंतरिक परीक्षण किया जाएगा। 12 वीं और 10 वीं श्रेणी के लिए यह मूल्यांकन CCE है। मॉड्यूल को उसी श्रेणी में लिया जाना चाहिए जबकि 8 वीं कक्षा के लिए प्रैक्टिकल अंक CCE हैं।


370 को पार करने के बाद पंजाब में घुसपैठ

धारा 370 को पार करने के बाद पंजाब में घुसपैठ - पंजाब डीजीपी


अमित शर्मा


चंडीगढ़। पंजाब के डीजीपी ने आज चंडीगढ़ में एक संवाददाता सम्मेलन में खुलासा किया कि जम्मू और कश्मीर में धारा 370 के बाद पंजाब में घुसपैठ बढ़ गई है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान द्वारा भारत में भेजे गए ड्रोन और हथियार पाकिस्तान सीमा पर बरामद किए गए। उन्होंने इस संबंध में 3 लोगों को गिरफ्तार भी किया है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार तीनों को हरियाणा से मादक पदार्थों और हथियारों की तस्करी करके लाया गया था। दो तस्कर जमानत पर बाहर थे और वे अभी भी मादक पदार्थों की तस्करी के मामलों का सामना कर रहे हैं। पकड़े गए आरोपियों के पास से दो ड्रोन बरामद किए गए। एक ड्रोन हरियाणा के करनाल से बरामद किया गया है, जबकि एक ड्रोन अमृतसर ग्रामीण के एक गांव से बरामद किया गया है। उन्होंने कहा कि शेष तस्करों की तलाश चल रही है। ्नेकर गुप्ता ने कहा कि गिरफ्तार तस्करों में से एक सेना में तैनात था। जिनके पास एक i20 कार पर छोटी पिस्तौल, 2 वायरलेस सेट और 6 लाख नकद बरामद हुए हैं। DGP ने ड्रोन के बारे में खुलासा किया और कहा कि ड्रोन चीन के बने हैं।


25 करोड़ लोग 10 ट्रेड यूनियन से जुड़े

भारत बंद 10 ट्रेड यूनियन से जुड़े 25 करोड़ लोग शामिल, ये सेवाएं रहेंगी प्रभावित


अमित शर्मा


चंडीगढ़। केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में बुधवार को बुलाए गए श्रमिक संघों के भारत बंद का असर बैंकिंग, परिवहन समेत कई जरूरी सेवाओं पर पड़ सकता है। देश के 10 प्रमुख श्रमिक संघों के आह्वान पर करीब 25 करोड़ लोग हड़ताल में शामिल हो सकते हैं। भारत बंद को देखते हुए कई सरकारी बैंकों ने स्टॉक एक्सचेंज को पहले ही बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होने की जानकारी दी है। 
दरअसल एआईबीईए, एआईबीओए, बेफी, इनबेफ समेत कई कई बैंक कर्मचारी एसोसिएशन भी इस हड़ताल में हिस्सा लेने की इच्छुक हैं। ऐसे में जमा एवं निकासी और चेक क्लीयरेंस जैसी सेवाएं प्रभावित होने की संभावना है। हालांकि निजी बैंकों पर इसका असर नहीं पड़ेगा। इसके अलावा राज्यों में परिवहन समेत अन्य प्रमुख सेवाएं भी प्रभावित हो सकती हैं। 
10 ट्रेड यूनियन से जुड़े 25 करोड़ लोग होंगे शामिल
10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों इंटक, एटक, एचएमएस, सीटू, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, सेवा, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ और यूटीयूसी ने सोमवार को संयुक्त बयान में कहा कि देशव्यापी हड़ताल में कम से कम 25 करोड़ लोगों की भागीदारी की उम्मीद है। सरकार से श्रमिक विरोधी, जन-विरोधी और राष्ट्र-विरोधी नीतियों को वापस लेने की मांग करेंगे। बयान में कहा गया है कि श्रम मंत्रालय ने 2 जनवरी, 2020 को बैठक बुलाई थी, लेकिन वह अब तक श्रमिकों की किसी भी मांग पर आश्वासन देने में विफल रहा है। सरकार का यह रवैया श्रमिकों के प्रति अवमानना का है। इसके अलावा, बढ़ी फीस और शिक्षा के व्यावसायीकरण के खिलाफ 60 छात्र संगठन और कुछ विश्वविद्यालय के पदाधिकारी भी हड़ताल में शामिल हो सकते हैं। ट्रेड यूनियनों ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हिंसा और अन्य विश्वविद्यालय परिसरों में ऐसी घटनाओं की निंदा की है। उन्होंने जुलाई, 2015 से एक भी भारतीय श्रम सम्मेलन आयोजित नहीं होने पर नाराजगी जताई। साथ ही श्रम कानूनों की संहिता बनाने और सार्वजनिक उपक्रमों के निजीकरण का भी विरोध किया है।
बंद में शामिल केंद्र सरकार के कर्मियों को भुगतने होंगे परिणाम केंद्र सरकार ने इस बीच अपने कर्मचारियों को आगाह किया है कि भारत बंद में शामिल होने वालों को परिणाम भुगतने होंगे। कार्मिक मंत्रालय ने जारी आदेश में कहा, हड़ताल में शामिल होने वाले कर्मचारियां के वेतन में कटौती की जा सकती है। साथ ही इनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की हो सकती है। सभी विभागों को इस संदर्भ में राजनीतिक संदेश जारी कर दिया गया है। इसमें कहा गया है कि एसोसिएशन बनाने के अधिकार में हड़ताल करने के हक की गारंटी नहीं है। ऐसे में हड़ताल में शामिल होने वालों को परिणाम के लिए तैयार रहना होगा। बैंकिंग सेवाओं पर पड़ेगा असर
बैंकिंग सेक्टर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने आठ जनवरी को हड़ताल का फैसला किया है। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ के एक नेता ने बताया कि इस हड़ताल का समर्थन 10 यूनियन कर रही हैं। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ के महासचिव सीएच वेकंटचलम के अनुसार सरकार की नीतियों का विरोध करने के लिए हड़ताल की जा रही है। हड़ताल में रोजगार के नए अवसर पैदा करने, श्रम कानूनों में संशोधन पर रोक लगाने और नौकरी की सुरक्षा संबंधी मांगें रखी जाएंगी। रिजर्व बैंक के कर्मचारियों ने वर्षों से लंबित मांगों के पूरा न होने पर हड़ताल का समर्थन किया है। इस दिन बैंकिंग संबंधी सभी तरह के कामकाज ठप रहेंगे, जिससे लोगों को एटीएम में भी पैसा नहीं मिलेगा। सब्जी से लेकर के सार्वजनिक परिवहन पर पड़ेगा असर
हड़ताल की वजह से लोगों को दूध, सब्जी, दवाएं आदि भी मिलने में मुश्किल हो सकती है। वहीं सार्वजनिक परिवहन जैसे कि टैक्सी, ऑटो, बस आदि की सेवाओं पर असर पड़ सकता है, जिससे सभी तरह के रेल, सड़क और हवाई यात्रियों को परेशानी हो सकती है। इस दौरान निजी वाहनों से ही सफर किया जा सकता है। आर्थिक मुद्दों पर केंद्र को बदनाम करने की कोशिश राजनाथ
केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि कई ताकतें आर्थिक मुद्दों पर केंद्र सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं। लेकिन सरकार कारोबारियों के हितों को समझते हुए उसी दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती वैश्विक मंदी का हिस्सा है। भारत के मुकाबले विकसित देशों पर इसका ज्यादा प्रभाव पड़ा है।कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के कार्यक्रम में राजनाथ ने कहा, ‘मैंने सीलिंग के मुद्दे पर केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप पुरी से चर्चा की है। उन्होंने इस पर ध्यान देने का भरोसा दिलाया है।’ इससे पहले कैट ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर 10 लाख से अधिक कारोबारियों को सीलिंग की मार से बचाने के लिए कोई योजना लाने का आग्रह किया है।


पंजाब में हो सकती है जेएनयू जैसी वारदात

पंजाब यूनिवर्सिटी में हो सकती है  जैनयू जैसी वारदात आउटसाइडर्स पर नहीं कसी जा रही नकेल


चंडीगढ़। देश का कोई भी शिक्षण संस्थान इस समय राजनीतिक गतिविधियों से अछूता नहीं है। इन शहरों में चंडीगढ़ ने भी अपना स्थान बना लिया हैं। बीते रविवार दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी हुए दो छात्र गुटों के बीच हुए खूनी संग्राम के बाद पंजाब यूनिवर्सिटी में भी इस प्रकार की घटना होने का अंदेशा लगाया जा रहा है। पीयू में एबीवीपी और लेफ्ट समर्थक छात्र संगठनों में कई बार ठनी है। यह बात हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि पीयू में बन रहे हालात इस बात की गवाही दे रहे हैं। छात्र संगठनों की राजनीति ने इस समय छात्र हितों को छोड़ राज्य और केंद्र की राजनीति में हस्तक्षेप करना शुरू कर दिया है। इस आग में घी डालने का काम कर रहे है ऐसे तत्व जो छात्रों को भड़का रहें हैं। सुरक्षा से लेकर आउटसाइडर्स को रोकने में पीयू प्रशासन कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है। इस लापरवाही का खामियाजा पढ़ रहे दूसरे बच्चों को उठाना पड़ सकता है। जान पहचान होने की वजह से छोड़ दिए जाते हैं आउटसाइडर्स पंजाब यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में अगर चेकिंग की जाए तो बड़ी संख्या में ऐसे स्टूडेंट्स मिलेंगे, जिनका पीयू से कोई लेना देना नहीं है। उसके साथ ही इन आउटसाइडर्स को इसलिए छोड़ दिया जाता है, क्योंकि उनकी किसी न किसी के साथ जान पहचान होती है। पीयू में बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं। लेकिन जो यहां के हालात बन रहे हैं, ऐसे में बच्चों को पढ़ना नामुमकिन है। सुबह से रात तक पीयू में बाहरी लोग आते जाते हैं, ऐसे हम कैसे अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकते हैं। -पूनम, छात्रा, ह्यूमन राइट्स डिपार्टमेंट। एसएफएस, एसएफआइ, आइसा, जैसे कई लेफ्ट छात्र संगठन हैं, जिनका विरोध दर्ज कराने का तरीका बहुत ही गलत है। यह संगठन बहुत ही ज्यादा उग्र तरीके से कैंपस में प्रोटेस्ट करते हैं। जिन्हें देखकर नहीं लगता कि यह लोग स्टूडेंट्स होंगे। गौतम शर्मा, छात्र, यूबीएस डिपार्टमेंट। पीयू में आउटसाइडर्स का मुद्दा नया नहीं है। धरना-प्रदर्शन हो या कोई और एक्टिविटी उसमें आउटसाइडर्स का जमावड़ा सबसे ज्यादा होता है। कई स्टूडेंट्स ऐसे हैं, जिन्होंने कितने समय पहले ही अपनी पढ़ाई पूरी कर ली है, लेकिन वे अभी भी हॉस्टल्स में रह रहे है। -डॉली नागपाल, छात्रा, कल्चरल डिपार्टमेंट। लेफ्ट छात्र संगठन जबसे पीयू में सक्रिय हुए हैं, तब से पीयू का माहौल खराब हुआ है। आज तक पीयू में बहुत प्रदर्शन हुए हैं, लेकिन कभी ईट, पत्थर नहीं चले, इन्होंने वो भी कर दिया। ऋषिका राज, छात्रा बायोटेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट।एजुकेशनल संस्थानों को स्लीपर सेल बनाया जा रहा है। यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन का मतलब स्टूडेंट्स की भलाई के लिए काम करना होता है, जबकि पीयू में ऐसा कुछ नहीं हो रहा है। लेफ्ट हो या राइट पार्टी हम उन्हें पीयू का माहौल खराब नहीं करने देंगे। -चेतन चौधरी, पीयू छात्र काउंसिल के प्रेसिडेंट।आउटसाइडर्स को रोकने के लिए हमारे पास काफी प्लानिंग है। इस पर कार्य भी हो रहा है। -प्रो. अश्वनी कौल, चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर, पंजाब यूनिवर्सिटी।


नेशनल हाईवे पर हुए 3 हादसे

बिलासपुर हादसों से दहला चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे, हुए तीन हादसे


बिलासपुर। प्रदेश में जहां सोमवार से ही रिमझिम बारिश का दौर जारी है तो वहीं राष्ट्रीय उच्च मार्ग 205- चंडीगढ़-मनाली पर सोमवार और मंगलवार को तीन हादसे हुए। इन हादसों में कई लोग घायल हुए हैं । पहला हादसा सोमवार देर रात छ्डोल व जामली के बीच हुआ जिसमें एक कार नम्बर HP24D-3314 अनियंत्रित होकर सडक से लुढक गई। इस हादसे में तीन लोग घायल हुए हैं। जिन्हें क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर में ईलाज के लिए भर्ती करवाया गया है।
वहीं, दूसरा हादसा गंभरपुल स्थान के पास हुआ है जिसमें हरियाणा के पर्यटक जो मनाली घुमने जा रहे थे उनकी कार नम्बर एचआर20एएम-5051 अनियंत्रित होकर सड़क किनारे बनी पैरापिट पर चढ़ गई । गनीमत यह रही कि कार खाई में गिरने से बाल-बाल बच गई । तीसरा हादसा जामली और गंभरपुल के बीच हुआ है जिसमें एक पिकअप और ट्रक में आमने-सामने जोरदार टक्कर हुई है । इस हादसे में सभी लोग सुरक्षित बच गये हैं। बताया जा रहा है कि ट्रक ओवरटेक कर आ रहा था।


मुठभेड़ में मारा गया एक आतंकवादी

पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर



नई दिल्ली। जम्मू एवं कश्मीर में पुलवामा के अवंतीपुरा में मंगलवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया। आतंकी के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद भी बरामद किया गया है। हालांकि, अब तक आतंकवादी की शिनाख्त नहीं हो पाई है और सर्च अभियान अब भी जारी है। कश्मीर जोन के पुलिस ने कहा कि सुरक्षाबलों के साथ एक्सचेंज फायरिंग में एक आतंकवादी मारा गया और हथियार भी बरामद हुए हैं। बता दें, जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में आतंकवादियों के नजर आने पर सेना ने साेमवार को घेराबंदी एवं तलाश अभियान चलाया। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने आतंकवादियों के एक समूह को नाले में देखा और सेना को सूचित किया जिसके बाद उनकी तलाश के लिए घेराबंदी एवं तलाश अभियान चलाया गया। नौशेरा के दब्बड़, पोठा, खेड़ी, दराट, मंगलादेई आदि इलाकों को खंगाला गया। ये आतंकवादी कुछ दिन पहले तलाशी दस्ते पर गोलीबारी कर फरार हुए थे। गोलीबारी में दो जवान शहीद हो गए थे।आतंकियों के घुस आने की घटना के बाद गांवों में दहशत का माहौल बना हुआ है। लोग शाम ढलने के बाद घरों से नहीं निकल रहे हैं। उधर, सेना ने भी लोगों से अनुरोध किया गया है कि वे सुबह छह बजे के बाद ही घरों से निकलें और शाम पांच बजे तक घरों में लौट जाएं।


मालिकों व संचालकों पर भी लगाया जुर्माना

गंगा नदी को प्रदूषित करने वालों की अब खैर नहीं, गंदगी फैलाने वालों पर अब लगेगा भरी जुर्माना


वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गंगा नदी को प्रदूषित करने वालों की खैर नहीं है। राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) की सख्ती के बाद नगर निगम गंगा घाट पर गंदगी फैलाने वालों पर 25,000 रुपये जुर्माना लगाने की तैयारी कर रहा है। प्रशासन का मानना है कि जुर्माना लगाने से लोग गंगा नदी को प्रदूषित कम करेंगे।नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि गंगा में प्रदूषण फैलाने को लेकर बड़ी सख्ती की जा रही है। गंगा घाट पर कपड़े धोने पर 5,000 रुपये से 25,000 रुपये तक जुर्माना लगाया जा सकता है। इसके अलावा प्रतिमा विसर्जन, पूजा सामग्री विसर्जित करने पर 10,000 रुपये तक, गंगा किनारे मल-मूत्र विसर्जन पर 10-20 हजार रुपये तक जुर्माना तय किया गया है। इस प्रस्ताव पर गंगा समिति की बैठक में मुहर लग जाएगी। प्रदेश सरकार के निर्देश के बाद जिला अधिकारी (डीएम) की अध्यक्षता में गंगा समिति का गठन हुआ है, जिसके करीब पांच माह पूर्व नगर निगम ने उप-विधि बनाकर जुर्माने का स्लैब तय किया। पूर्व नगर आयुक्त आशुतोष कुमार द्विवेदी के वक्त यह कवायद हुई, लेकिन इस पर अमल अब शुरू हुआ है। अपर नगर आयुक्त अजय सिंह ने बताया कि एनजीटी के निर्देशानुसार गंगा नदी में गंदगी फैलाने वालों पर नगर निगम जुर्माना लगाने जा रहा है। इसका निर्धारण गंगा समिति की बैठक में किया जाएगा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की क्षेत्रीय अधिकारी कलिका सिंह ने बताया कि गंगा नदी में गंदगी करने वालों पर भारी जुर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है। इसके लिए नगर निगम समेत अन्य संबंधित विभागों को जुर्माने से संबंधित आवश्यक निर्देश-सुझाव दिए गए हैं। आने वाले समय में आवासीय भवनों के अलावा होटल, रेस्टोरेंट व अन्य प्रतिष्ठानों से निकलने वाला सीवेज व गंदा पानी गंगा में जाने पर इनके मालिकों व संचालकों पर भी जुर्माना लगाया जाएगा।


किसानों ने फिर 1 बार किया आंदोलन का ऐलान

आठ जनवरी को भारत बंद का आह्वान किसानों ने एक बार फिर से किया आंदोलन का ऐलान


अमित शर्मा


चंडीगढ़। कर्ज माफी व अन्य मांगों को लेकर किसानों ने एक बार फिर से आंदोलन का ऐलान किया है। आठ जनवरी को भारत बंद का आह्वान करते हुए कहा है कि इस दिन देशभर में दूध व सब्जियों की सप्लाई बंद रखी जाएगी। किसान संगठनों ने सभी किसानों से अपील की है कि वे दूध व सब्जी सहित अन्य उत्पाद बिल्कुल भी शहरों में लेकर न जाएं। किसानों का दावा है कि देशभर में 249 किसान संगठन और 80 विद्यार्थी संगठन इस बंद को समर्थन दे रहे हैं। पंजाब में जिन यूनियनों ने बंद की कॉल दी है, वे ज्यादातर मालवा और दोआबा क्षेत्र में ही सक्रिय हैं। पंजाब में किसानों के बंद का असर दिल्ली पर पड़ने की संभावना बहुत कम है। पंजाब से सब्जी इत्यादि की सप्लाई दिल्ली को नहीं के बराबर होती है, लेकिन वेरका का दूध दिल्ली जाता है। किसान संगठनों ने मानसा में एक बजे से तीन बजे तक ट्रेन रोकने का भी ऐलान किया हुआ है। भारतीय किसान यूनियन डकौंदा के डॉ. दर्शन पाल ने आरोप लगाया कि किसान कर्ज के कारण लगातार आत्महत्याएं कर रहे हैं, लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। किसानों के कर्ज पूरी तरह से माफ करने को लेकर आंदोलन खड़ा किया जाएगा। जब तक किसानों को उनकी फसल की कीमत एमएस स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के आधार पर नहीं मिलती तब तक उनकी समस्याएं खत्म नहीं होंगी।


इंदर सिंह चहल ने 1 विशेष उपस्थिति कराई दर्ज

मोहाली में विकास की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी:


आमित शर्मा


मोहाली। जिला योजना समिति, एसएएस शहर के नवनियुक्त अध्यक्ष श्री विजय शर्मा टिंकू ने आज दो कैबिनेट मंत्रियों को बुलाया। चरणजीत सिंह चन्नी श्री बलबीर सिंह सिद्धू और वर्तमान विधायक और पूर्व मंत्री। अमेरिक सिंह ढिल्लों की उपस्थिति में, उन्होंने यहां जिला प्रशासनिक परिसर सेक्टर -76 में पदभार ग्रहण किया। इस बीच, पंजाब के मुख्यमंत्री के सलाहकार, श्री महिला इंदर सिंह चहल ने एक विशेष उपस्थिति दर्ज कराई। इस अवसर पर पत्रकारों से बात करते हुए, पंजाब के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री, श्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि शर्मा कांग्रेस के एक मेहनती कार्यकर्ता हैं, जिनका पूरा परिवार लंबे समय से पार्टी से जुड़ा है। सरकार ने उन्हें एक कड़ी मेहनत के परिश्रम का मूल्य दिया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि श्री शर्मा की अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति से जिले में विकास कार्यों को सुव्यवस्थित करने और विकास कार्यों में तेजी लाने में मदद मिलेगी। इस बीच, अध्यक्ष श्री विजय शर्मा ने कहा कि पंजाब सरकार, कैप्टन अमरिंदर सिंह के कुशल नेतृत्व में, पंजाब सरकार। कस्बे के विकास कार्यों में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। पंजाब में कांग्रेस सरकार ने पिछले तीन वर्षों में जो विकास कार्य किए हैं, वे पिछले दस वर्षों में नहीं कर पाए हैं। इस अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी एस.ए.एस. नगरपालिका अध्यक्ष दीपिंदर सिंह ढिल्लों, वरिष्ठ उप महापौर ऋषभ जैन, अमरजीत सिंह सिद्धू, पूर्व विधायक संसार सिंह राव, पूर्व अध्यक्ष मोहाली बलराज सिंह गिल, कुलदीप सिंह ओहिंद, स्टेज सचिव ज़िल्लार। राकेश कुमार कालिया, स्वर्णजीत कौर अध्यक्ष महिला कांग्रेस मोहाली, कमल किशोर काली उपाध्यक्ष खरार नगर परिषद, परमदीप सिंह बेदवान, जसविंदर सिंह गोल्डी पूर्व अध्यक्ष कुराली, बलकार सिंह धनगर मोहन सिंह कोहल, प्रशांत सिंह कोहरमन , बंत सिंह कलारा, गुरविंदर पाल डिस्ट्रिक्ट चेयरमैन ओबीसी, कॉर्नेल सिंह केली एम.सी. खार, विनय कालिया एम.सी. कुराली, बलजिंदर सिंह भानुरी, प्रदीप कुमार रूधा पार्षद कुराली, भूपिंदर सिंह कुराली, राजिंदर सिंह कुराली, नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष, मोहाली राजिंदर सिंह राणा, शेखर शुक्ला अध्यक्ष ब्राह्मण सभा उपस्थित थे।


अध्यक्षता में एक बैठक की गई आयोजित

एनएच 44 पर एक्सीडेंटल डेथ्स पर अंकुश लगाने के लिए हरियाणा पुलिस की बड़ी पहल, बनाई रूपरेखा


अमित शर्मा


चंडीगढ़। हरियाणा में सड़क सुरक्षा सप्ताह के उपलक्ष्य में पुलिस महानिदेशक हरियाणा, मनोज यादव द्वारा कुंडली (सोनीपत) से शंभू बॉर्डर (अंबाला) तक राष्ट्रीय राजमार्ग-44 के 187 किलोमीटर हिस्से में रोड एक्सीडेंट में जानलेवा व अन्य हादसों को कम करने के लिए एक बड़ी पहल की शुरूआत की गई है। डीजीपी ने कहा कि एनएच-44 को सुरक्षा के दृष्टिकोण से विश्व स्तर का राजमार्ग बनाना है ताकि यह पूरे देश के लिए एक आदर्श बन सके। इससे हम अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत और सोनीपत सहित पांच जिलों से गुजरने वाले एनएच-44 पर सड़क दुर्घटना में होने वाली जानलेवा व अन्य हादसों को न्यूनतम स्तर पर लाने में सक्षम होंगे। इस उद्देश्य के साथ, आज हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन में डीजीपी हरियाणा की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के परियोजना निदेशक, हरियाणा लोक निर्माण विभाग व परिवहन विभाग के अधिकारियों सहित सड़क सुरक्षा शिक्षा संस्थान (आईआरटीई), फरीदाबाद के डॉ0 रोहित बलुजा व अन्य सड़क सुरक्षा इंजीनियरों ने भागीदारी की। बैठक में अंबाला, करनाल और रोहतक रेंज के रेंज आईजी, एनएच-44 पर पडने वाले अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत और सोनीपत जिलों के एसपी ने भी शिरक्त की। इस पहल के तहत, हरियाणा पुलिस ने आईआरटीई के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत आईआरटीई संस्थान हरियाणा से गुजरने वाले एनएच-44 के इस 187 किलोमीटर की विस्तृत सड़क सुरक्षा ऑडिट करेगा। साथ ही, सड़क इंजीनियरिंग सुधार से संबधित गति सीमा निर्धारण, रोड मार्किंग और रोड साइनेज सहित सभी कार्यों का बेहतर क्रियान्वयन तथा सड़क उपयोगकर्ताओं की सभी श्रेणियों का जागरूकता के माध्यम से ध्यान केंद्रित कर दुर्घटना की रोकथाम के लिए एक विस्तृत कार्य योजना प्रस्तुत करेगा। इस अवसर पर, आईआरटीइ के डॉ0 रोहित बलुजा ने बताया कि एनएच-44 के इस हिस्से में साल 2018 में 743 मृत्यु दर्ज हुईं, जो इसे भारत में सबसे अधिक दुर्घटना वाला राजमार्ग बनाता है। वास्तव में, एक वर्ष में इन सड़क दुर्घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या पूरे नीदरलैंड में और यहां तक कि संयुक्त अरब अमीरात में हर साल मरने वाले व्यक्तियों की संख्या से अधिक है। इन लोगों में से जिन लोगों की जान चली गई, वे पैदल यात्री, साइकिल चालक और दो पहिया वाहन चालक हैं। बैठक में लोगों की सुरक्षा, सड़क पर लोगों का व्यवहार, गल्त ओवरटेकिंग, ब्लैक स्पोट की पहचान, वैज्ञानिक निर्माण दृष्टिकोण, प्रवर्तन उपायों को तेज करना, सड़क के ठेकेदारों, सलाहकारों या रियायतकर्ताओं की एमवी (संशोधन) अधिनियम की धारा 198 ए के तहत गल्त सड़क डिजाइन के लिए जवाबदेही तय करना जैसे अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी विचार किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए, डीजीपी ने बताया कि पुलिस और अन्य एजेंसियों के सामने सबसे महत्वपूर्ण और सबसे बेहतर कार्य ट्रैफिक जागरूकता और ट्रैफिक प्रवर्तन को इस ढंग से लागू करना है जिससे सड़क दुर्घटना में मरने वाले लोगों के बहुमूल्य जीवन को बचाया जा सके। इसके लिए, पुलिस विभाग एनएचएआई और परिवहन विभाग, हरियाणा की सहायता से आईआरटीई द्वारा की जा रही सड़क सुरक्षा ऑडिट से निकलने वाली सिफारिशों को लागू करने के लिए सक्रिय रूप से काम करेगा। डीजीपी ने घोषणा करते हुए कहा कि एनएच-44 पर स्पीड रडार, ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रीडर्स और कैमरे का एक नेटवर्क स्थापित किया जाएगा, जो खतरनाक ड्राइविंग करने वालों सहित ओवरस्पीड और असुरक्षित लेन में चलने वालों पर अंकुष लगाने के लिए एक केंद्रीकृत नियंत्रण कक्ष से जुड़ा होगा। पुलिस कर्मियों के प्रशिक्षण को सड़क सुरक्षा का एक महत्वपूर्ण पहलू बताते हुए, डी जी पी यादव ने कहा कि हरियाणा पुलिस अकादमी द्वारा प्रत्येक माह 50 पुलिस कर्मियों को सड़क सुरक्षा और क्रैश जांच संबंधी प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। उन्होंने इस संबंध में आईआरटीई  संस्थान की टीम से भी सहयोग देने का आग्रह किया।रोडवेज व ट्रांसपोर्ट कंपनियों के लिए जागरूकता अभियान डीजीपी ने कहा कि हरियाणा रोडवेज, पंजाब रोडवेज, हिमाचल प्रदेश रोडवेज, चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) और 20 से अधिक परिवहन कंपनियों के सहयोग से एक योजनाबद्ध और समन्वित जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि भारी वाहन उनके लिए निर्धारित की गई बाईं साइड लेन का उपयोग करें। इसके अलावा, एनएच-44 पर सभी अवैध और अनाधिकृत कट बंद किए जाएंगे क्योंकि वे कई दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं। उन्होने चेतावनी देते हुए कहा कि लेन अनुशासन और गति सीमा के उल्लंघनकर्ताओं का भारी चालान करने के साथ-साथ कानूनी कार्रवाई भी होगी। इसके अतिरिक्त, फुट ओवर ब्रिज्स (एफओबी) या अंडर पास का निर्माण उन जगहों पर किया जाएगा जहां बड़ी संख्या में पैदल चलने वालों को राष्ट्रीय राजमार्ग विशेषकर जिला सोनीपत और पानीपत में व्यस्त बिंदुओं को पार करने की आवश्यकता होती है।


गुरु तेग बहादुर की जयंती मे सरकार ने की घोषणा

गुरु तेग बहादुर जी की 400 वीं जयंती के उपलक्ष्य में अपनी सरकार के निर्णय की घोषणा की, जो 12 अप्रैल से शुरू 


अमित शर्मा


चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को 18 अप्रैल, 2021 को नौवें सिख गुरु, श्री गुरु तेग बहादुर जी की 400 वीं जयंती के उपलक्ष्य में अपनी सरकार के निर्णय की घोषणा की, जो 12 अप्रैल से शुरू होगा। इस साल अपने आधिकारिक आवास पर यहां एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के विभाग से बाबा बकाला के ऐतिहासिक शहर में गुरु जी के 399 वें प्रकाश पर्व पर एक मेगा समारोह और श्री में उनकी 400 वीं जयंती पर समापन समारोह आयोजित करने के लिए कहा। 18 अप्रैल, 2021 को आनंदपुर साहिब कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि श्री गुरु तेग बहादुर जी की धार्मिकता, सच्चाई और विश्वास की स्वतंत्रता के मूल्य को बनाए रखने के लिए अद्वितीय और सर्वोच्च बलिदान हमेशा एक और सभी को याद किया जाएगा, और गुरु जी की शिक्षाओं को हर नुक्कड़ सभा में प्रसारित किया जाना चाहिए। विश्व। विशेष रूप से, श्री गुरु तेग बहादुर जी (1 अप्रैल, 1621-नवंबर 11, 1675) ने हिंदुओं / कश्मीरी पंडितों और गैर-मुस्लिमों को इस्लाम में धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया और 1675 में दिल्ली में तत्कालीन मुगल सम्राट के आदेश पर शहीद हो गए। मुख्यमंत्री ने मेगा आयोजनों के व्यापक संदर्भों को अंतिम रूप देने के लिए अपनी अध्यक्षता में एक कार्यकारी समिति गठित करने की भी अनुमति दी, इसके अलावा विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित किए जाने वाले कई कार्यक्रमों को समन्वित और चाक करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक संचालन समिति को मंजूरी दी। पूरे वर्ष, गुरु जी की शिक्षाओं का प्रसार करने के लिए। कैप्टन अमरिंदर ने पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को तीन शहरों - अमृतसर (गुरु जी का जन्म स्थान), बाबा बकाला (गुरु जी अपने पैतृक घर में रुके थे) के समग्र विकास के लिए एक व्यापक प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया। श्री आनंदपुर साहिब (श्री गुरु तेग बहादुर जी द्वारा स्थापित शहर), स्थानीय सांसदों और विधायकों के परामर्श से, इस ऐतिहासिक घटना के स्मरणोत्सव के लिए वित्तीय सहायता की मांग के लिए भारत सरकार को प्रस्तुत किया जाना। मुख्यमंत्री ने प्रख्यात सिख विद्वानों, इतिहासकारों और शिक्षाविदों द्वारा सेमिनार, संगोष्ठी और व्याख्यान सहित कार्यक्रमों की श्रृंखला के लिए तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने के लिए पंजाब कला परिषद के अलावा उच्च शिक्षा, स्कूल शिक्षा, खेल, सूचना और जनसंपर्क विभाग को भी कहा। लोगों और खासकर युवाओं के बीच गुरु जी के जीवन और दर्शन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालना। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सचिव पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों को भी जल्द से जल्द श्री आनंदपुर साहिब में बाबा जीवान सिंह जी (भाई जैता जी) के स्मारक को पूरा करने के लिए कहा, ताकि ऐतिहासिक अवसर पर संगत को समर्पित किया जा सके। इस बीच, ग्रामीण विकास और पंचायतों के विभाग ने बैठक को सूचित किया कि गुरु जी की कृपा से कस्बों और गांवों सहित 99 चो चारण चप प्रपोट ’स्थानों की पहचान की गई है। मुख्यमंत्री ने, हालांकि, सचिव पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के विभाग को इन स्थानों को इतिहासकारों की समिति से सावधानीपूर्वक प्रमाणित करने के लिए कहा ताकि इन पर मौजूदा बुनियादी ढांचे और बुनियादी नागरिक सुविधाओं को विकसित करने के लिए विकास अनुदान के लिए विचार किया जा सके।बैठक में भाग लेने वाले अन्य लोगों में प्रमुख रूप से पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, मुख्य सचिव करण अवतार सिंह, पंजाब कला परिषद के अध्यक्ष डॉ। सुरजीत पातर, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्थानीय सरकार संजय कुमार, सीएम के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, प्रमुख सचिव पीडब्ल्यूडी शामिल थे। विकास प्रताप, सचिव पर्यटन और सांस्कृतिक मामले, हुस्न लाल, सचिव सूचना और जनसंपर्क गुरकीरत कृपाल सिंह, सचिव उच्च शिक्षा राहुल भंडारी, निदेशक पर्यटन और सांस्कृतिक मामले एम.एस. जग्गी, अतिरिक्त सचिव जल आपूर्ति और स्वच्छता मो। इश्फाक और राज्य परिवहन आयुक्त डॉ। अमरपाल सिंह।


केवाईसी के लिए नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ग्राहको को बड़ी राहत देते हुए मास्टर केवाईसी (Know Your Customers) से जुड़े नए नियम में बदलाव किया है। इस नए नियम के तहत ग्राहकों को KYC के लिए बैंक या दूसरे संस्थानों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि अब मोबाइल वीडियो बातचीत के आधार पर ही इस प्रकिया को पूरा कर दिया जाएगा।


KYC किसी ग्राहक के बारे में पूरी जानकारी जुटाने की प्रक्रिया होती है। वित्तीय सुविधा लेने वाले सभी ग्राहकों के लिए केवाईसी कराना जरूरी है। बिना केवाईसी निवेश मुमकिन नहीं है, इसके बगैर बैंक खाता भी खोलना आसान नहीं है।इसके जरिए यह सुनिश्चित किया जाता है कि कोई बैंकिंग सेवाओं का दुरुपयोग तो नहीं कर रहा है। KYC फॉर्म ऑनलाइन भी भरे जाते हैं लेकिन दस्तावेज और फोटो के सत्यापन के लिए एक बार बैंक जाना जरूरी होता है।


RBI के इस कदम से केंद्रीय बैंक द्वारा रेगुलेट किए जाने वाले बैंकों, गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC), वॉलिट सर्विस प्रोवाइडर्स और अन्य वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों को बड़ी राहत मिलेगी।


इस नई सुविधा के तहत दूरदराज के इलाकों में मौजूद फाइनैंशल इंस्टीट्यूशन के अधिकारी पैन या आधार कार्ड और कुछ सवालों के जरिए ग्राहक की पहचान कर सकेंगे।वीडियो कॉल का विकल्प संबंधित बैंक या संस्था के डोमेन पर ही मिलेगा। ग्राहक थर्ड पार्टी जैसे- गूगल डुओ या व्हाट्सएप कॉल या अन्य किसी माध्यम से वीडियो कॉल नहीं कर सकेंगे। RBI ने आधार और अन्य ई-दस्तावेजों के जरिए E-KYC और Digital KYC की सुविधा दी है।


आधार बेस्ड वीडियो कस्टमर आइडेंटिफिकेशन प्रॉसेस के तहत वित्तीय संस्थाओं के अधिकारी पैन या आधार कार्ड पर आधारित कुछ सवाल के जरिए ग्राहक की पहचान की पुष्टि कर सकेंगे। इसके साथ ही एजेंट को जियो-कॉर्डिनेट्स के तहत इसकी पुष्टि भी करनी होगी कि ग्राहक देश में ही है।


नगर-निगम मे कॉन्ग्रेस ने फैराई पताका

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने 10 नगर निगम में कांग्रेस की जीत होने पर ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस टीम का प्रत्येक खिलाड़ी “मैन ऑफ द मैच“ है। सुशासन और विकास की रफ्तार अब बुलेट ट्रेन से भी अधिक होगी। कोरबा नगर निगम में कांग्रेस प्रत्याशी राजकिशोर प्रसाद की जीत के साथ छत्तीसगढ़ प्रदेश के सभी 10 नगर निगम में अब कांग्रेस महापौर है।


प्रमाण पत्र जारी,दफनाने से पहले जी उठी

कराची। पड़ोसी देश पाकिस्‍तान में एक अजीबों-गरीब मामला सामने आया है। इस घटना के बाद यहां के डॉक्‍टर भी हक्‍के बक्‍के रह गए। यहां जिस महिला को डॉक्‍टरों और अस्‍पताल ने मृत घोषित कर दिया और उसकी मृत्यू प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया। उसे वह कब्र में दफनाने के ठीक पहले जीवित हो उठी। दरअसल, कराची के अब्बासी शहीद अस्पताल में 50 साल राशिदा बीबी को एडमिट कराया गया था। रिपोर्टों के अनुसार, राशीदा बीबी को अस्‍पताल ने मृत घोषित करके डेथ सर्टिफिकेट भी जारी कर दिया था।


राशिदा के परिजन जब दफनाने से पहले उनके शव को नहलाने जा रहे थे तभी एक चमत्‍कार हो गया। समाचार एक्‍सप्रेस ट्रि‍ब्‍यून की रिपोर्ट के हवाले से न्‍यूज एजेंसी पीटीआइ ने यह खबर दी है। राशीदा की रिश्तेदार शबाना ने बताया कि हम राशिदा के शव को नहला रहे थे तभी रूम में मौजूद एक महिला ने उनके शरीर में हरकत महसूस की। हमने भी तत्काल उनकी नब्ज टटोली तो पाया कि वह अभी भी सांस ले रही थीं। बाद में आनन फानन में राशीदा को उसी अस्पताल में फिर से एडमिट कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि डॉक्‍टरों ने जल्‍दबाजी में उनका डेथ सर्टिफिकेट जारी कर दिया था।


एलजेपी का 43 सीटों पर चुनावी दावा

खुशबू गुप्ता


पटना। आगामी विधानसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी की तरफ से 43 सीटों पर चुनाव लड़ने का दावा किया गया है। लोक जनशक्ति पार्टी के वरिष्ठ नेता पशुपति कुमार पारस ने कहा है कि उनकी पार्टी ने कुल 119 विधानसभा सीटों पर अपनी चुनावी तैयारी पूरी कर रखी है। पारस ने कहा है की विधानसभा चुनाव में लोकसभा चुनाव के फॉर्मूले पर ही एनडीए में सीट बंटवारा होगा। विधानसभा चुनाव में जेडीयू और बीजेपी ने 17-17 जबकि एलजेपी ने 6 सीटों पर चुनाव लड़ा था। पारस के मुताबिक 243 सीटों वाली विधानसभा में सौ-सौ सीटों पर बीजेपी और जेडीयू और 43 सीटों पर एलजेपी का दावा बनता है। एलजेपी की तरफ से 14 अप्रैल को पटना के गांधी मैदान में रैली का आयोजन किया जाएगा। जिसकी तैयारी को लेकर लोजपा सांसद और दलित सेना के अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस में आज समीक्षा बैठक की। बैठक में कार्यसमिति सदस्यों के अलावे प्रकोष्ठों के अध्यक्ष और जिलाध्यक्ष भी शामिल रहे। पारस के इस बयान के बाद यह साफ हो गया है कि लोजपा विधानसभा चुनाव में भी सीट शेयरिंग के लिए लोकसभा चुनाव का फॉर्मूला अपनाना चाहती है। हालांकि सेटिंग को लेकर जेडीयू के तरफ से लगातार ज्यादा सीटों पर दावेदारी की जा रही है। फिलहाल सहयोगी दलों के दावों के बीच बीजेपी ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी है।


नीतीश ने स्वयं बदला अपना आदेश

पटना। बिहार सरकार का शिक्षा विभाग अपने पहले के आदेश से पलट गया है। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने स्पष्ट किया है कि मानव श्रृंखला निर्माण में बच्चों की भागीदारी स्वेच्छा से होगी। किसी भी प्रकार का बाध्यकारी आदेश निर्गत नहीं किया जाएगा। इसके पहले शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने ही सभी शिक्षकों छात्रों को मानव श्रृंखला में शामिल होने का आदेश दिया था। इसके बाद मानव श्रृंखला में शामिल होने को बाध्य करने पर 8 जनवरी को शिक्षक संघ की तरफ से पटना हाई कोर्ट में याचिका दाखिल किया गया है।


शिक्षा विभाग की सफाईः शिक्षा विभाग ने कहा है कि मानव श्रृंखला निर्माण का यह कार्यक्रम मुख्यत: पर्यावरण संरक्षण के मुद्दे पर लोगों को जागरुक बनाने का है। इस कार्यक्रम में हमें नई पीढ़ी को यह समझाना है कि पानी, पेड़ पौधे एवं हरियाली का दुरुपयोग नहीं करें और अधिक से अधिक पेड़ लगाएं।


नहीं होगी कोई कार्रवाईः यह कार्य मानवता के व्यापक हित में है और शिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसलिए आम लोगों से, कर्मचारियों, शिक्षकों से अपील की गई है कि वे अधिक से अधिक संख्या में श्रृंखला में भाग लें। लेकिन कोई कर्मचारी, कोई शिक्षक, छात्र-छात्रा, कोई व्यक्ति इसमें भाग लेना नहीं चाहते हैं तो उसके विरुद्ध कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी।


तेजस्वी को सीमांचल में सता रहा ओवैसी

पटना। CAA और NRC के खिलाफ आरजेडी नेता और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जिलों में जनसभा करेंगे लेकिन शुरुआत सीमांचल से करने वाले हैं। पिछले विधानसभा उपचुनाव में ओवैसी के उम्मीदवार ने किशनगंज सीट पर जीत हासिल की थी। ओवैसी के उम्मीदवार की जीत से आरजेडी को अपना वोट बैंक खिसकने का डर सता रहा है। तेजस्वी की जनसभा बीजेपी और जेडीयू पर निशाने से ज्यादा अपनी साख बचाने की कोशिश ज्यादा है। सीधे तौर पर कहे तो तेजस्वी को ओवैसी का डर सता रहा है। वहीं अब जेडीयू ने इस पर तंज कसना शुरु कर दिया है। पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने तो दावा कर दिया कि तेजस्वी यादव अगर सीएए-एनआरसी का फुलफार्म बता दें तो मैं राजनीति से सन्यांस ले लूंगा। नौवीं पास तेजस्वी को सीएए-एनआरसी के बारे में पता नहीं है और चले हैं विरोध करने। उन्होनें कहा कि अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर से  वे जीतेंगे कि नहीं ये भी कहना मुश्किल हैं सीमांचल का गढ़ क्या बचाएंगें।


इधर राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि सीमांचल राजद का गढ़ रहा है। इस वजह से तेजस्वी यादव किशनगंज से ही जनसभा को शुरुआत करने जा रहे हैं।इसमें नया क्या है।आरजेडी के अपने MY समीकरण पर पूरा भरोसा है। वहीं  पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी  ने भी तेजस्वी का बचाव करते हुए कहा कि सीएए-एनआरसी के खिलाफ सबसे ज्यादा विरोध मुस्लिम समुदाय ही कर रहा है। किशनगंज में मुसलमानों की संख्या सबसे ज्यादा है ऐसे में वहां से अपने अभियान की शुरुआत करने जा रहे है तो इसमें बेजा राजनीति करने की क्या जरुरत है।


हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा

मुंबई। मुंबई में हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का बड़ा खुलासा हुआ है। बिग बॉस कंटेस्टेंट अरहान खान की एक्स गर्लफ्रेंड 5 स्टार होटल में सेक्स रैकेट चला रही थी। मुंबई पुलिस ने इस रैकेट का खुलासा करत हुए अमृता धनोआ को गिरफ्तार कर लिया है।


मुंबई पुलिस ने फाइव स्टार होटल में रेड मारा, जिसके बाद पूरे रैकेट का खुलासा हुआ। पुलिस ने होटल से अरहान खान की एक्स गर्लफ्रेंड अमृता धनोआ को गिरफ्तार कर लिया। अमृता के अलावा मुंबई पुलिस ने एक और एक्ट्रेस श्रृचा सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। जब अमृता को रेड के बारे में पता चला, तब वो मौके से भागने की कोशिश करने लगी लेकिन पुलिस की चुस्ती से वो पकड़ी गई।


पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में फाइव स्टार होटल में रेड मारी। नकली कस्टमर बनकर पुलिस ने सेक्स रैकेट चलाने वालों माफिया से संपर्क किया। जिसके बाद होटल में रेड मारकर आरोपियों को धर दबोचा। एक्ट्रेस अमृता धनोआ और श्रृचा सिंह दोनों इस हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट में शामिल थी, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि दोनों अभिनेत्रियों को  सेक्शन 370 (3), आईपीसी 34 और सेक्शंस 4,5 के तहत गिरफ्तार किया गया है। अमृता धनोआ बिग बॉस के एक्स कंटेस्टेंट अरहान खान की एक्स गर्लफ्रेंड हैं। आपको बता दें कि अमृता ने अरहान खान पर उन्हें धोखा देने और ठगने का आरोप लगाया था, जिसके बाद वो सुर्खियों में आ गई थी।


लालू की मुश्किलें फिर बढने वाली

पटना। आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें एक बार फिर से बढ़ने वाली हैं। सीबीआई ने लालू यादव को मिले जमानत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दिया है।


जानकारी के मुताबिक देवघर कोषागार निकासी मामले में आधी सजा काटने के बाद रांची हाईकोर्ट ने लालू यादव  को बेल दे दिया था। लालू यादव को मिले बेल को लेकर सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। सीबीआई ने याचिका में कहा है कि इस मामले में लालू यादव की जमानत रद्द होनी चाहिए। आपको बता दें कि चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू यादव फिलहाल रांची के रिम्स में भर्ती हैं। लालू यादव को रांची हाईकोर्ट ने देवघर कोषागार से निकासी के मामले में आधी सजा काट लेने के आधार पर बेल दिया था, जिसको लेकर आज सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है।


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...