शनिवार, 13 मई 2023

मीनाक्षी ने 11,786 मतों के अंतर से जीत हासिल की

मीनाक्षी ने 11,786 मतों के अंतर से जीत हासिल की

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। दो बार से लगातार मुजफ्फरनगर नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पद पर भाजपा की हार का सिलसिला मीनाक्षी स्वरूप ने तोड दिया है। मीनाक्षी स्वरूप ने 11786 मतों के अंतर से धमाकेदार जीत हासिल की है।

नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर के चेयरमैन पद के लिए आज हुई मतगणना में भाजपा प्रत्याशी मीनाक्षी स्वरूप को विजयी घोषित किया गया। मीनाक्षी स्वरूप को 91942 मत मिले जबकि उनकी प्रतिद्वंदी गठबंधन प्रत्याशी लवली शर्मा को 80156 मतों से संतोष करना पडा। मीनाक्षी स्वरूप ने यह जीत 11786 मतों के अंतर से दर्ज की।

ओवैसी की पार्टी ने भी इस चुनाव में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए 11531 मत हासिल किए ओर माना जा रहा है कि मुस्लिम मतों में हुई इस टूट ने ही गठबंधन की हार का आधार तय किया। 

देश में 'भाजपा' की उल्टी गिनती शुरू: सिंह 

देश में 'भाजपा' की उल्टी गिनती शुरू: सिंह 

श्रीराम मौर्य 

शिमला। हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह ने दावा किया कि देश में अब भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो गई हैं, और 2024 में केंद्र में कांग्रेस की लोकप्रिय सरकार बनेगी। सिंह ने कर्नाटक के मतदाताओं का भी आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं के मनोबल से अब देश के अन्य राज्यों में भी कांग्रेस अपनी जीत का परचम लहराएंगी।

सिंह ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणामों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि लोगों ने भाजपा की धुव्रीकरण की राजनीति को पूरी तरह ठुकरा दी हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के बाद कर्नाटक में कांग्रेस की शानदार जीत से साबित हो गया है कि देश में भाजपा के खिलाफ हवा चल पड़ी हैं। उन्होंने कहा है कि देश मे अब भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो गई हैं, और 2024 में केंद्र में कांग्रेस की लोकप्रिय सरकार बनेगी।

कर्नाटक में कांग्रेस की शानदार जीत पर खुशी व्यक्त करते हुए प्रतिभा सिंह ने कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व मालिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित सभी नेताओं को बधाई दी हैं। 

कर्नाटक ने 'विकास की राजनीति' को चुना: गहलोत 

कर्नाटक ने 'विकास की राजनीति' को चुना: गहलोत 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के अब तक के रुझानों में कांग्रेस की निर्णायक बढ़त पर प्रतिक्रिया जताते हुए शनिवार को कहा, कि कर्नाटक ने सांप्रदायिक राजनीति को नकार कर विकास की राजनीति को चुना है।

गहलोत ने कहा कि आने वाले राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भी इसकी पुनरावृत्ति होगी। इन राज्यों में भी इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। वहीं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जयपुर स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के सामने जश्न मनाया। गहलोत ने ट्वीट किया, राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कर्नाटक में जो माहौल दिखा था, आज उसी का नतीजा कर्नाटक के चुनाव परिणाम में स्पष्ट दिख रहा है। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष  मल्लिकार्जुन खड़गे,  राहुल गांधी एवं श्रीमती प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने शानदार अभियान चलाया। उन्‍होंने लिखा, कर्नाटक ने सांप्रदायिक राजनीति को नकार कर विकास की राजनीति को चुना है।

आने वाले राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भी इसकी पुनरावृत्ति होगी। उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस शनिवार को जारी मतगणना के रुझानों के अनुसार 113 के जादुई आंकड़े को पार करते हुए राज्य में अपने दम पर सरकार बनाती और दक्षिण में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एकमात्र गढ़ कर्नाटक में सेंध लगाने की राह पर दिख रही है।

वहीं, जयपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यहां प्रदेश कांग्रेस समिति (पीसीसी) कार्यालय के सामने पटाखे फोड़े और मिठाइयां बांटी। राजस्थान में इस साल के आखिर में चुनाव होने हैं और पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि कर्नाटक में पार्टी के प्रदर्शन का राजस्थान में भी सकारात्मक असर पड़ेगा।

एक कार्यकर्ता ने पार्टी कार्यालय के सामने संवाददाताओं से कहा, कि पार्टी कर्नाटक में एक मजबूत जनादेश के साथ जीतने जा रही है। राजस्थान में, राज्य सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों के कारण माहौल पहले से ही पार्टी के पक्ष में है और हमें पूरी उम्मीद है कि पार्टी विधानसभा चुनाव में राज्य में सत्ता बरकरार रखेगी। एक अन्य कार्यकर्ता ने कहा, कर्नाटक में परिणाम पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं की मेहनत का परिणाम है और हम सभी बहुत खुश और उत्साहित हैं।

दयाल ने करीब डेढ़ लाख वोटों से बढ़त बनाई

दयाल ने करीब डेढ़ लाख वोटों से बढ़त बनाई


गाजियाबाद: बीजेपी की सुनीता दयाल ने बनाई अजेय बढ़त

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। नगर निकाय चुनाव में नगर निगम गाजियाबाद की सुनीता दयाल ने करीब डेढ़ लाख वोटों से बढ़त बना ली है। वह बसपा की उम्मीदवार निशारा खान से आगे हैं।

इसके अलावा लोनी में सपा रालोद गठबंधन प्रत्याशी रंजीता धामा, मुरादनगर में बसपा प्रत्याशी, मोदीनगर में भाजपा प्रत्याशी, खोड़ा में निर्दलीय प्रत्याशी आगे चल रही हैं। पतला नगर पंचायत में रालोद प्रत्याशी जीत चुकी हैं। अन्य पर मुकाबला जारी है।

224 मतों से विजयी हुई प्रत्याशी कुसुमलता 

224 मतों से विजयी हुई प्रत्याशी कुसुमलता 


गाजियाबाद: वार्ड-50 से कांग्रेस जीती

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। नगर निगम के वार्ड-50 नूर नगर राजनगर एक्सटेंशन से कांग्रेस प्रत्याशी कुसुमलता 224 मतों से विजयी हुई। यहां पार्टी ने भाजपा के महानगर मंत्री संजीव चौधरी की पत्नी अर्चना को टिकट दिया था, जिसका भाजपा के स्थानीय संगठन पदाधिकारियों ने बड़े स्तर पर विरोध किया था। इसका फायदा कुसुमलता को मिला।

लोनी: धामा को चेयरमैन पद की सीट मिली

लोनी: धामा को चेयरमैन पद की सीट मिली


लोनी में गठबंधन प्रत्याशी रंजीता धामा बनीं चेयरमैन

अश्वनी उपाध्याय 

लोनी। सपा-रालोद की गठबंधन प्रत्याशी रंजीता धामा को चेयरमैन पद की सीट मिली है। रंजीता धामा भाजपा प्रत्याशी को पीछे छोड़कर 18,000 वोट से जीती हैं। पिछली बार रंजीता धामा भाजपा से टिकट लेकर चुनाव लड़ी थी और लोनी चेयरमैन बनीं थी। उन्होंने बीच में भाजपा को छोड़ सपा का दामन थाम लिया था।

इस बार, मतगणना में गड़बड़ी को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा मतगणना स्थल पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। गाजियाबाद में नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायत के लिए दूसरे चरण में 11 मई को मतदान हुआ है।

भाजपा-बसपा, रालोद और निर्दलीयों ने बढ़त बनाई 

भाजपा-बसपा, रालोद और निर्दलीयों ने बढ़त बनाई 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। शामली जिले के 10 निकायों में भाजपा तीन, रालोद दो, बसपा एक और चार निर्दलीय प्रत्याशियों ने बढ़त बनाई हुई है। निकाय चुनाव में तीन नगर पालिका क्षेत्र में से शामली और कांधला में भाजपा, कैराना में निर्दलीय प्रत्याशी आगे हैं।

जबकि, सात नगर पंचायतों में थानाभवन में भाजपा, जलालाबाद में बसपा, गढ़ीपुख्ता, बनत में रालोद व एलम में निर्दलीय दूसरे चरण में आगे है। दोपहर एक बजे अधिकांश सीटों पर भाजपा आगे चल रही है।

चुनाव: अपनी छाप छोड़ने में विफल रही है 'भाजपा'

चुनाव: अपनी छाप छोड़ने में विफल रही है 'भाजपा'

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए जारी मतगणना के बीच मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इस चुनाव में अपनी छाप छोड़ने में विफल रही है। मतगणना के रुझानों के अनुसार कांग्रेस स्पष्ट बहुमत हासिल करने की दिशा में बढ़ रही है।

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध ताजा रुझानों के अनुसार, राज्य की 224 विधानसभा सीट में से कांग्रेस 130 पर, जबकि भाजपा 66 पर आगे है। जनता दल (सेक्युलर) 22 सीट पर आगे है। बोम्मई ने कहा, प्रधानमंत्री (नरेन्द्र मोदी) और पार्टी कार्यकर्ताओं सहित सभी के काफी प्रयासों के बावजूद हम अपनी छाप नहीं छोड़ पाए हैं।

उन्होंने कहा, परिणाम आने के बाद हम विस्तृत विश्लेषण करेंगे। हम इन नतीजों को गंभीरता से लेंगे और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी को पुनर्गठित करने की कोशिश करेंगे। 

गांधी ने प्रदेश की जनता का आभार जताया

गांधी ने प्रदेश की जनता का आभार जताया

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/बेंगलुरु। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत तय नजर आने के बाद शनिवार को प्रदेश की जनता का आभार जताया और कहा कि यह देश को जोड़ने वाली राजनीति की जीत है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए धुआंधार प्रचार करने वाली प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘कांग्रेस पार्टी को ऐतिहासिक जनादेश देने के लिए कर्नाटक की जनता को तहे दिल से धन्यवाद। ये आपके मुद्दों की जीत है। यह कर्नाटक की प्रगति के विचार को प्राथमिकता देने की जीत है। यह देश को जोड़ने वाली राजनीति की जीत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कर्नाटक कांग्रेस के तमाम मेहनती कार्यकर्ताओं व नेताओं को मेरी शुभकामनाएं। आप सबकी मेहनत रंग लाई। कांग्रेस पार्टी पूरी लगन के साथ कर्नाटक की जनता को दी गई गारंटी को लागू करने का काम करेगी। जय कर्नाटक, जय कांग्रेस।’’

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को जारी मतगणना में 136 सीट पर बढ़त के साथ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरती दिख रही है, जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 64 सीट पर आगे है। भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों से यह जानकारी मिली। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध अपराह्न दो बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को 10 सीट पर जीत मिल गई है, जबकि 126 सीट पर बढ़त बनाए हुए है।

वहीं, सत्तारूढ़ भाजपा को 4 सीट पर जीत मिली गई है, जबकि 60 सीट पर बढ़त बनाए हुए है। उधर, जनता दल (सेक्युलर) के खाते में एक सीट आई है और 19 पर बढ़त हासिल है, जबकि चार सीट पर अन्य को बढ़त हासिल है।

'भाजपा' की हार की पूरी जिम्मेदारी लेंगे बोम्मई 

'भाजपा' की हार की पूरी जिम्मेदारी लेंगे बोम्मई 

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु/शिग्गांव। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि वह विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार की पूरी जिम्मेदारी लेंगे और पार्टी आने वाले दिनों में एक जिम्मेदार विपक्ष के रूप में काम करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ‘बहुत संगठित’ चुनावी रणनीति उसकी जीत के प्रमुख कारणों में से एक हो सकती है। 

बोम्मई ने यहां पत्रकारों से चर्चा में कहा, ‘‘चुनाव परिणाम अंतिम चरण में हैं। मैं जनादेश को अत्यंत सम्मान के साथ स्वीकार करता हूं। मैं भाजपा की इस हार की जिम्मेदारी लेता हूं, किसी और की जिम्मेदारी नहीं है। राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में मैं जिम्मेदारी लेता हूं। इस हार का पूरा विश्लेषण करने की आवश्यकता है, क्योंकि इसके कई कारण हैं।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी हर निर्वाचन क्षेत्र में प्रदर्शन का विस्तार से विश्लेषण करेगी। 

उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी कमियों को दूर करने की कोशिश करेंगे, खुद को संगठित करेंगे और पार्टी एक बार फिर वापसी करेगी। हम एक राष्ट्रीय पार्टी हैं और अपनी गलतियों को सुधारते हुए लोकसभा चुनाव जीतने के लिए संगठनात्मक और प्रशासनिक रूप से सभी आवश्यक तैयारियां करेंगे।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का करिश्मा काम नहीं आया, मुख्यमंत्री ने कहा कि इस परिणाम के कई कारण हैं और कोई भी गहन विश्लेषण के बाद ही इसके बारे में बात कर सकता है। 

उन्होंने कहा, ‘‘नतीजे अभी भी आ रहे हैं, अभी इस बारे में बोलना सही नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस की संगठित चुनावी रणनीति उनकी जीत के प्रमुख कारणों में से एक हो सकती है। उन्हें चुनने के लिए शिग्गांव विधानसभा क्षेत्र के लोगों को धन्यवाद देते हुए बोम्मई ने कहा कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए काम जारी रखेंगे। 

प्रतिद्वंद्वी को 46,006 मतों के अंतर से पराजित किया 

प्रतिद्वंद्वी को 46,006 मतों के अंतर से पराजित किया 

इकबाल अंसारी 

मैसूर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने शनिवार को वरुणा निर्वाचन क्षेत्र में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 46,006 मतों के अंतर से पराजित कर जीत हासिल की। वह नौवीं बार विधायक चुने गए हैं।

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट के मुताबिक, सिद्धरमैया (75) को 1,19,430 वोट जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी और प्रभावशाली लिंगायत नेता वी. सोमन्ना को 73,424 वोट मिले। बहुजन समाज पार्टी का उम्मीदवार 1,075 मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहा।

पांच बार के विधायक और निवर्तमान राज्य आवास मंत्री सोमन्ना को पहली बार बेंगलुरु में उनके गोविंदराज नगर निर्वाचन क्षेत्र से स्थानांतरित कर वरुणा सीट से कांग्रेस के मजबूत नेता के सामने चुनाव मैदान में उतारा गया था। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-212, (वर्ष-06)

2. रविवार, मई 14, 2023

3. शक-1944, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 34+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...