बुधवार, 1 जून 2022

सभी एसडीएम एवं बीडीओ की उपस्थिति जांची

सभी एसडीएम एवं बीडीओ की उपस्थिति जांची 

हरिशंकर त्रिपाठी           
देवरिया। मुख्य सचिव द्वारा गत सायं वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सभी अधिकारियों को तैनाती स्थल पर रात्रि विश्राम करने व जन समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने के लिए दिए गए निदर्शो के क्रम में जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने सभी एसडीएम एवं बीडीओ की लाइव लोकेशन के माध्यम से उपस्थिति जांची।
सभी तहसीलो के उप जिलाधिकारियों का लाइव लोकेशन जिलाधिकारी द्वारा पूर्वान्ह 10 बजे लिया गया। जिसमें यह पाया गया कि सभी उप जिलाधिकारी अपने कार्यालयों में उपस्थित रहते हुए जनता की समस्याओं की सुनवाई करते हुए पाये गये।
जिलाधिकारी ने इन सभी अधिकारियों को स्पष्ट रुप से निर्देश दिया कि शासन की मंशानुरूप निर्धारित समय में अनिवार्य रुप से उपस्थित रहकर जन सामान्य की समस्याओं का सुनवाई व प्राथमिकता के साथ उसका निस्तारण सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की हिला-हवाली नही होनी चाहिए। जिलाधिकारी के इस निर्देश के ही क्रम में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार द्वारा सभी खण्ड विकास अधिकारियों का भी लाइव लोकेशन वीडियो कॉलिंग के माध्यम से लिया गया। एक मात्र भलुअनी के बीडीओ ही इस दौरान अनुपस्थित पाये गये। जिन्हे सचेत किया गया है कि वे समय से कार्यकक्ष में बैठे और जन समस्याओ, शिकायतो, विकास कार्यो का ससमय निष्पादन करें, अन्यथा की स्थिति में विभागीय कार्यवाही की संस्तुति की जाएगी।

यूपी: केसरवानी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित

यूपी: केसरवानी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित 

बृजेश केसरवानी       
प्रयागराज। भारतीय जनता पार्टी व्यवसायिक प्रकोष्ठ के संयोजक सुशांत केसरवानी की अध्यक्षता में एक बैठक चौक गंगा दास में व्यापारियों के साथ आयोजित की गई। जिसमे की उत्तर प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री ए. के शर्मा का धन्यवाद देते हुए बताया, कि आज से सरकार के द्वारा बिजली के घरेलु, व्यवसायिक और किसानी पंप सेट के बिजली बिल के बकाया पर ओटीएस स्कीम के साथ-साथ भुगतान पर किश्त की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है, जिसका लाभ आम नागरिकों को मिलेगा। 
भारतीय जनता पार्टी व्यवसायिक प्रकोष्ठ के पदाधिकारी आम नागरिकों और व्यापारियों के बिल से जुड़े विवाद का समाधान करवाकर ज्यादा से ज्यादा लोगो को ओटीएस स्कीम का लाभ दिलवा कर बकाया जमा करवाने का प्रयास करेंगे। बुधवार की बैठक में सह संयोजक प्रशांत पांडे,राजकुमार केसरवानी, सुनीता चोपड़ा,शिखा खन्ना ,सुशील जायसवाल,मुसाब खान,राजीव तिवारी,अन्नु केसरवानी,विश्वास श्रीवास्तव, उज्जवल टंडन संजीव मेहरोत्रा मौजूद रहे।

पार्किंग शुल्‍क में 5 गुना बढ़ोतरी करने की तैयारी

पार्किंग शुल्‍क में 5 गुना बढ़ोतरी करने की तैयारी

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। अब गाजियाबाद नगर निगम पार्किंग शुल्‍क में 5 गुना बढ़ोतरी करने की तैयारी कर रहा है। कुछ महीने पहले हाउस टैक्स बढ़ाने के बाद नगर निगम अब वाहन चालकों पर अतिरिक्त पार्किंग शुल्क का भी बोझ देने जा रही है। इस संबंध में पिछले दिनों ही नगर निगम ने एक टेंडर जारी कर दिया है। अब नगर निगम के सभी 34 पार्किंग स्थलों के संचालन की जिम्‍मेदारी एक ही कंपनी के हाथों में होगी। यह कंपनी अब निगम के सभी पार्किंग स्थलों पर हर घंटे के हिसाब से शुल्‍क वसूलेगी।

बता दें कि स्मार्ट पार्किंग मैनेजमेंट सिस्टम को लागू करने के नाम पर गाजियाबाद नगर निगम पार्किंग शुल्क में पांच गुना तक इजाफा का प्लान तैयार किया है। अब अगर दिल्ली से गाजियाबाद या गुरुग्राम से गाजियाबाद या फिर नोएडा से भी गाजियाबाद आते हैं तो आपको पार्किंग में वाहन खड़ी करने के लिए जेब ज्‍यादा ढ़ीली करनी पड़ेगी। निगम अब पार्किंग शुल्क एक या दो गुना नहीं बल्कि स्मार्ट पार्किंग मैनेजमेंट सिस्टम को लागू करने के नाम पर कई गुना तक बढ़ाने जा रही है। गाजियाबाद में बढ़ेंगे पार्किंग शुल्कपिछले दिनों ही निगम के अधिकारियों ने इस योजना को तैयार करने के बाद टेंडर भी जारी कर दिया है। जल्द ही पूरे शहर की पार्किंग का ठेका देकर वसूली शुरू कर दी जाएगी। वर्तमान में इन जगहों पर आठ घंटे दोपहिया वाहन पार्क करने पर 10 रुपये और चार पहिया वाहन के लिए 20 रुपये शुल्क निर्धारित है।

साड़ी के शोरूम में लगीं भीषण आग, 2 लोगों की मौंत

साड़ी के शोरूम में लगीं भीषण आग, 2 लोगों की मौंत 

नीरज जैन         

झांसी। जनपद झांसी में बुधवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। थाना कोतवाली क्षेत्र के नरिया बाजार में साड़ी के शोरूम में भीषण आग लगने से हड़कंप मच गया। भीषण अग्निकांड में 2 लोगों की मौंत हो गई। जबकि 7 लोगों को बचा लिया गया है।जानकारी के अनुसार, कोतवाली क्षेत्र के नरिया बाजार में श्री राम अग्रवाल का पूनम वस्त्र भंडार के नाम से कपड़ो का तीन मंजिला शोरूम है। शोरूम के ऊपर तीसरी मंजिल में परिवार रहता है। बुधवार तड़के जब सभी लोग सो रहे थे तभी अज्ञात कारणों से तीसरी मंजिल पर बने कमरे से धुआं निकलने लगा और धीरे-धीरे धुआं आग की लपटों में तब्दील हो गया।

धुएं और गर्मी से जागे घरवाले घबरा गए और खुद को बचाने के लिए चीख-पुकार करने लगे। आग से घर में रखे चार गैस सिलेंडर एक के बाद एक तेज धमाके के साथ फट गए। घरवालों की चीख-पुकार सुनकर पड़ोस में रहने वाले ज़ुबैर और ज़ैद ने अपनी जान जोखिम में डालकर आग में फसे लोगों को बाहर निकालना शुरू किया। इस बीच सूचना पर एसएसपी शिवहरी मीना समेत पुलिस और फायर ब्रिगेड ने पहुंचकर बचाव कार्य शुरू किया।7 लोगों को बचाया गया जबकि दो की मौत हो गई।

अवैध तरीके से बनें फार्म हाउस पर चलाया बुलडोजर

अवैध तरीके से बनें फार्म हाउस पर चलाया बुलडोजर

विजय भाटी
गौतमबुद्ध नगर। प्राधिकरण और सिंचाई विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से एक बड़ी बुलडोजर कार्रवाई को अंजाम दिया है। जिसके चलते बुधवार को नोएडा के सेक्टर 150 में स्थित एक अवैध तरीके से बनाएं गए फार्म हाउस पर बुलडोजर चलाया गया है। तिलवाड़ा के डूब क्षेत्र में मौजूद इस जमीन को कब्जा मुक्त कराया गया। इतने करोड़ की जमीन कराई गई खालीनोएडा प्राधिकरण और सिंचाई विभाग दोनों ने मिलकर करीब 50 हजार वर्ग मीटर में फैले इस फार्म हाउस पर बुलडोजर चलवाकर पूरी तरह खाली कराया जिसकी कीमत लगभग साढ़े 17 करोड़ है।
फार्म हाउस पर हुई इस कार्रवाई ने यह साबित कर दिया कि अवैध जमीन पर करोड़ो रूपए लगाकर कितना भी आलीशान फार्म हाउस क्यों न बना लिया जाए लेकिन उसे जमीनदोज होने में समय नही लगेगा। बंद करने की हिदायत देने के बावजूद भी नही रोका गया निर्माणप्राधिकरण के ओएसडी प्रसून द्विवेदी ने बताया कि यह फार्म हाउस डूब क्षेत्र में अवैध तरीके से बनाया गया था। वही प्राधिकरण द्वारा पहले भी अवैध निर्माण बंद करने की हिदायत दी जा चुकी थी लेकिन फिर भी लगातार काम चल रहा था। वहीं बुधवार को कार्रवाई करते हुए करीब 50 हजार वर्ग मीटर जमीन खाली कराई गई है। जिसकी कीमत लगभग साढ़े 17 करोड़ आंकी गई है।

प्लान में 20 फीसदी का इजाफा कर सकेंगी, कंपनियां

प्लान में 20 फीसदी का इजाफा कर सकेंगी, कंपनियां

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। टेलिकॉम कंपनियां ग्राहकों पर महंगे रिचार्ज प्लान का बोझ डाल सकती हैं। रिलायंस जियो भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया (Vi) अपने रिचार्ज प्लान में 20 से 25 फीसदी का इजाफा कर सकती हैं। मतलब, अगर टेलिकॉम कंपनियां प्री-पेड प्लान में 20 फीसदी की बढ़ोतरी करती हैं, तो 300 रुपये वाला रिजार्ज 75 रुपये बढ़कर 375 रुपये हो जाएगा। इसी तरह 500 रुपये वाला रिचार्ज प्लान 625 रुपये का हो जाएगा। इसी तरह 1000 रुपये वाले प्री-पेड प्लान 250 रुपये बढ़कर 1250 रुपये हो जाएगा।
बता दें कि टेलीकॉम कंपनियां वित्त वर्ष 2022-23 में की दूसरी तिमाही में टैरिफ प्लान में 20 फीसदी का इजाफा कर सकती हैं।
मतलब जून 2022 से टेलिकॉम कंपनियां ग्राहकों पर महंगे रिचार्ज प्लान का बोझ डाल सकती हैं। रिपोर्ट की मानें, तो अगर टैरिफ प्लान में इजाफा होता है, तो वित्त वर्ष 2022-23 में टेलिकॉम कंपनियों की आय 20-25 प्रतिशत तक बढ़ सकती है।
देश की दिग्गज टेलिकॉम कंपनियों जैसे रिलायंस जियो, एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया ने 6 माह पहले ही दिसंबर 2021 में टैरिफ प्लान की कीमतों में 20 से 25 फीसदी का इजाफा किया था। ऐसे में अगर जून में टैरिफ प्लन में इजाफा होता हैं, तो यह 6 माह में होने वाली दूसरी बढ़ोतरी होगी।
घरेलू रेटिंग एजेंसी क्रिसिल की एक रिपोर्ट में कहा गया कि टेलिकॉम इंडस्ट्री के लिए नेटवर्क और स्पेक्ट्रम में निवेश करने के लिए प्रति यूजर औसत रेवेन्यू में बढ़ोतरी करना जरूरी हो जाता है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो टेलिकॉम सर्विस की क्वॉलिटी खराब होने की संभावना है। रिपोर्ट के मुताबिक साल 2021-22 में प्रति यूजर औसत राजस्व (एआरपीयू) में पांच प्रतिशत की धीमी बढ़ोतरी हुई थी। लेकिन साल 2022-23 में 15-20 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की उम्मीद कायम है।

12वीं साइंस-कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा, बोर्ड

12वीं साइंस-कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा, बोर्ड

नरेश राघानी
जयपुर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, बुधवार को 12वीं साइंस और कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा। छात्र rajresults.nic.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकेंगे।
राजस्थान बोर्ड के 12वीं के कार्पस में 97.53 फीसदी और साइंस में 96.58 फीसदी छात्र पास हुए हैं। राजस्थान बोर्ड साइंस में करीब 2.32 लाख और कॉमर्स में करीब 27 हजार छात्र थे। बोर्ड प्रशासक एलएन मंत्री ने परीक्षा परिणाम जारी किया। छात्र अपना परीक्षा परिणाम लाइव हिंदुस्तान वेबसाइट पर भी देख सकेंगे।
परीक्षा में शामिल हुए छात्रों की सुविधा के लिए इस साल बोर्ड के नतीजे पर भी जारी किए गए हैं। छात्रों को रिजल्ट पेज पर जाकर अपने रोल नंबर की मदद से लॉग इन करना होगा और अपनी मार्कशीट डाउनलोड करनी होगी। परिणाम की घोषणा के साथ, परिणाम डाउनलोड करने का सीधा लिंक आज तक शिक्षा पृष्ठ पर लाइव हो गया है।

10 न्यायाधीश व 4 अतिरिक्त न्यायाधीशों की नियुक्ति की

10 न्यायाधीश व 4 अतिरिक्त न्यायाधीशों की नियुक्ति की 

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत के मुख्य न्यायाधीश एन. वी. रमन्ना के परामर्श पर विभिन्न उच्च न्यायालयों के लिए 10 न्यायाधीशों और 4 अतिरिक्त न्यायाधीशों की नियुक्ति की है। केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय की ओर से बुधवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी गई। बयान के मुताबिक मद्रास उच्च न्यायालय के नौ अतिरिक्त न्यायाधीशों को पदोन्नत कर न्यायाधीश पद पर नियुक्त किया गया है, जबकि एक वकील को दिल्ली उच्च न्यायालय का न्यायाधीश बनाया गया है। इसके अलावा दो न्यायिक अधिकारियों को कलकत्ता उच्च न्यायालय का अतिरिक्त न्यायाधीश और एक वकील को पदोन्नत कर दिल्ली उच्च न्यायालय का अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।
बयान के मुताबिक, मद्रास उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति गोविंदराजुलु को पदोन्नत कर उच्च न्यायालय का न्यायाधीश बनाया गया है।इसी प्रकार अन्य अतिरिक्त न्यायाधीशों – न्यायमूर्ति वीरसामी शिवागनानम, न्यायमूर्ति गणेशन इलांगोवन, न्यायमूर्ति अनंती सुब्रमण्यम, न्यायमूर्ति कन्नम्मल शनमुगा सुंदरम, न्यायमूर्ति सती कुमार सुकुमार कुरुप, न्यायमूर्ति मुरली शंकर कुप्पुरजू, न्यायमूर्ति मंजुला रामराजू नल्लिया और न्यायमूर्ति थमिलसेल्वी टी. वलयपलायम को अतिरिक्त न्यायाधीश से पदोन्नत कर मद्रास उच्च न्यायालय में ही न्यायाधीश पद पर नियुक्त किया गया है।
इसके अलावा वकील अनीश दयाल को दिल्ली उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। मद्रास उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए.ए. नक्कीरन का कार्यकाल अगले एक साल के लिए बढ़ाया गया है। वकील अमित शर्मा को दिल्ली उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के तौर पर पदोन्नत किया गया। न्यायिक अधिकारी श्रीमती शंपा दत्त (पॉल) और सिद्धार्थ रॉय चौधरी को कलकत्ता उच्च न्यायालय का अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।

पंजीकृत समस्याओं को निस्तारित करना, सुनिश्चित करें

पंजीकृत समस्याओं को निस्तारित करना, सुनिश्चित करें

पंकज कपूर
हल्द्वानी। कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में आयोजित जनता दरबार में फरियादियों द्वारा सडक, पानी, शिक्षा, बीमारी ईलाज, प्रमाण-पत्र, मुआवजा, आर्थिक सहायता, मोबाइल नेटवर्क, शौचालय, रोजगार आदि से सम्बन्धित 13 समस्यायेें एवं शिकायतें दर्ज हुई। अधिकांश समस्याओं का मौके पर निस्तारण करते हुये अवशेष समस्याओं को जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनसुनवाई मे पंजीकृत समस्याओं को निर्धारित समयावधि मेें निस्तारित करना सुनिश्चित करें, तथा कृत कार्यवाही से आवेदन कर्ता को भी अवगत करायें। उन्होने कहा कि समस्याओं के निस्तारण की मानिटरिंग भी की जायेगी।
जनता दरबार मे एएच खान ने प्रार्थना पत्र मे अवगत कराया कि वार्ड न. 59 में नालियों का निर्माण कर नालियों का गन्दा पानी को खुले स्थान पर प्रवाहित किया जा रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को क्षेत्र का मौका मुआयना करने के निर्देश दिये। सुन्दर लाल ग्राम व पोस्ट जंगलिया गॉव ने बताया कि उनके खतौनी में जमीन सम्बन्धित कागजातों में नाम सुधार अभी तक नहीं किया गया। जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी धारी को जांच कर समस्या के निस्तारण करने के निर्देश दिये। दीवान सिंह रौतेला के सेवानिवृत्ति होने के फलस्वरूप अंशदायी पेंशन योजना में जमा धनराशि के भुगतान के संबंध में अपना आवेदन प्रस्तुत किया। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
ग्राम प्रधान सुन्दरपुर उमा रैक्वाल ने बताया कि किसान सम्मान निधि का कार्यालय पहले तहसील परिसर हल्द्वानी में था जिसके बाद इस कार्यालय को भीमताल में शिफ्ट कर दिया गया है जिससे किसानो को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को वैकल्पिक व्यवस्था करने निर्देश दिये।

अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने का कोई संकेत नहीं

अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने का कोई संकेत नहीं

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि देश की विकास दर कमजोर पड़ रही है और अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने का कोई संकेत नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 के लिए विकास दर 8.7 प्रतिशत रही तो इसमें आखिरी तिमाही के दौरान विकास दर 4.1 प्रतिशत ही रही। चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘‘एनएसओ के आंकड़े सामने हैं। 
सबसे ज्यादा ध्यान देने वाले ग्राफ हर तिमाही की विकास दर से जुड़े हैं। आखिरी तिमाही में विकास दर 4.1 प्रतिशत थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ विकास दर कमजोर पड़ रही है। और अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने का संकेत नहीं है।’’ बीते मंगलवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान पिछले एक साल में सबसे धीमी गति 4.1 प्रतिशत की दर से बढ़ी। वित्त वर्ष 2021-22 में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर 8.7 प्रतिशत रही।

जाम की समस्या से निजात पाने के लिए अभियान चलाया

जाम की समस्या से निजात पाने के लिए अभियान चलाया

भानु प्रताप उपाध्याय   
मुजफ्फरनगर। खतौली में प्रशासन ने कस्बे में जाम की समस्या से निजात पाने के लिए 'अतिक्रमण हटाओ' अभियान चलाया है। इसकी निगरानी को व्यापारियों की पांच सदस्यों की कमेटी बनाई गई है। समिति बाजारों और सड़क से अतिक्रमण हटवाने की पहल करेगी।
दुकानदारों से अभियान में सहयोग की अपील
बुधवार को अतिक्रमण निगरानी समिति ने बिद्दीबाड़ा बाजार में दुकानदारों के आगे से अतिक्रमण हटवाने के लिए अनूठा उदाहरण पेश किया। 
समिति के सदस्यों ने ढोल बजवाकर दुकानों के आगे फैले अतिक्रमण को हटवाया। दुकानदारों से स्वयं अतिक्रमण हटाने और अतिक्रमण हटाओ अभियान में प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। समिति के सदस्यों की अपील पर दुकानदारों ने आगे फैले अतिक्रमण को हटा लिया और अतिक्रमण नहीं करने का भरोसा दिया।

मोटो जी82 स्मार्टफोन लॉन्च करने का प्लान

मोटो जी82 स्मार्टफोन लॉन्च करने का प्लान

अंकुर कुमार
नई दिल्ली। ऐसा लगता है कि मोटोरोला की सीरीज खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। क्योंकि, कंपनी लगभग हर हफ्ते नए फोन लॉन्च कर रही है। अब कहा जा रहा कि मोटोरोला कंपनी भारत में मोटो जी82 स्मार्टफोन लॉन्च करने का प्लान बना रहीं है। जिसे हाल ही में यूरोपीय बाजार में लॉन्च किया गया था। हालांकि, कंपनी ने अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की है कि यह मोटो फोन भारत में कब आएगा। एक टिपस्टर का दावा है कि मोटो जी82 स्मार्टफोन की घोषणा भारत में 9 जून को की जाएगी, जो कुछ ही दिन दूर है।
ऐसा माना जा रहा है कि इंडियन वैरिएंट में यूरोपीय मॉडल के समान ही स्पेसिफिकेशन्स मिलने की उम्मीद है। डिवाइस की कुछ खासियतों में 5,000mAh की बैटरी, स्नैपड्रैगन 695 SoC, 120Hz डिस्प्ले और बहुत कुछ हैं।

यूरोप में मोटो जी82 6.6-इंच AMOLED डिस्प्ले के साथ आता है। जो फुल एचडी + रिजॉल्यूशन और 120Hz को सपोर्ट करता है। मिड-रेंज सेगमेंट में भी हाई रिफ्रेश रेट डिस्प्ले के लिए सपोर्ट देखना अब आम बात है।डिवाइस में एक क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 695 चिपसेट है, जिसमें पोको X4 प्रो 5G सहित कई फोन ऑपरेटर हैं।
कैमरे की बात करें तो इसमें ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप है।इसमें f/1.8 अपर्चर वाला 50-MP का प्राइमरी सेंसर शामिल है। मेन कैमरे में ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइज़ेशन के लिए भी सपोर्ट है। इसमें f/2.2 अपर्चर वाला 8-MP का अल्ट्रा-वाइड-एंगल कैमरा और f/2.4 अपर्चर वाला 2-MP का मैक्रो सेंसर है। डिवाइस में बर्स्ट शॉट, एआर स्टिकर्स, पोर्ट्रेट मोड, नाइट विजन और बहुत कुछ जैसे कैमरा फीचर दिए गए हैं। सेल्फी के लिए फ्रंट में 16-MP का कैमरा है।
हैंडसेट में एक पंच-होल डिस्प्ले डिजाइन है और यहां तक ​​कि इसमें 3.5 मिमी हेड फोन्स जैक भी है। डिवाइस में 5,000mAh की बैटरी है जिसमें 30W फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट है। हैंडसेट को IP52 रेटिंग भी दी गई है, जिसका मतलब है कि यह वाटर रेजिस्टेंट है। यह डुअल स्पीकर्स के साथ आता है जो डॉल्बी एटमॉस को भी सपोर्ट करता है।

खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने का फैसला, इनकार

खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने का फैसला, इनकार

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने विधायक अमानतुल्लाह खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने के दिल्ली पुलिस के फैसले में इस वक्त हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया और फैसले को चुनौती देने वाली आप नेता की याचिका पर बुधवार को जांच एजेंसी से जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति सुधीर कुमार जैन ने खान द्वारा दायर याचिका पर नोटिस जारी किया और कहा कि याचिका में उठाए गए मुद्दों पर विचार करने की आवश्यकता है। याचिकाकर्ता की ओर से पेश वकील एम सुफियान सिद्दीकी ने अदालत से पुलिस को फैसले पर कार्रवाई नहीं करने का निर्देश देकर उन्हें अंतरिम राहत देने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि वे इसे प्रदर्शनी बोर्ड पर रखेंगे, उंगलियों के निशान और तस्वीरें लेंगे।
न्यायमूर्ति ने इस पर कहा, यह पहले से ही विचाराधीन है। मुझे नहीं लगता कि वे इस पर कार्रवाई करेंगे। इस पर विचार करने की आवश्यकता है। मैं न्यायिक विचार के लिए आपकी याचिका स्वीकार करता हूं। इसलिए मैं आपको तारीख दे रहा हूं।
सिद्दीकी ने दलील दी कि आप विधायक को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने का निर्णय संबंधित पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) ने बिना सोचे समझे लिया था और इस पर कोई मौखिक आदेश पारित नहीं किया गया था। उन्होंने मामले में दुर्भावना का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उन्हें सूचित करने के बजाय, निर्णय ‘‘मीडिया में प्रसारित’’ किया गया।
वकील ने कहा, इस कार्रवाई को सही ठहराने का कोई संभावित कारण नजर नहीं आता है और उनकी प्रतिष्ठा के अधिकार का उल्लंघन किया जा रहा है। सरकार की तरफ से पेश वकील ने कहा कि मामले में एक स्थिति रिपोर्ट दायर करनी होगी। अदालत ने निर्देश दिया, ‘‘एक स्थिति रिपोर्ट दायर की जाए’’ और मामले को 28 जुलाई को आगे की सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया। एक आधिकारिक दस्तावेज के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने इस साल की शुरुआत में खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित किया था।
खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने का प्रस्ताव 28 मार्च को दक्षिणपूर्व जिले के जामिया नगर पुलिस थाने ने भेजा था और 30 मार्च को इसे मंजूरी दे दी गई थी। दस्तावेज में कहा गया है कि उनके खिलाफ कुल 18 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। पुलिस के अनुसार, एक व्यक्ति जिसकी हत्या और हत्या के प्रयास सहित कई मामलों में संलिप्तता है और जो किसी क्षेत्र में शांति भंग कर सकता है, उसे ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित किया जाता है।

घटनाओं पर चुप नहीं, लगातार एक्शन चल रहा हैं

घटनाओं पर चुप नहीं, लगातार एक्शन चल रहा हैं

मनोज सिंह ठाकुर/इकबाल अंसारी   
भोपाल/श्रीनगर। कश्मीर में आतंकवादियोंं द्वारा आम नागरिकों को निशाना बनाए जाने के मामलें पर भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बुधवार को कहा कि सरकार इन घटनाओं पर चुप नहीं है और लगातार एक्शन चल रहा है। नड्डा ने यहां संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा कि इस मामले में चुप्पी नहीं साधी गई है। लगातार एक्शन चल रहा है। भारत सरकार की इन मामलों को लेकर ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में अभी तक कोई स्थानीय निकाय चुनाव नहीं करवा पाया था।
पिछले दिनों वहां शांति से चुनाव हुए। वहां शांति स्थापित होने से आतंक चाहने वाले ‘फ्रस्ट्रेशन’ में हैं। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की ओर से पिछले दिनों लंदन में भारत के बारे में दिए गए बयान के बारे में  नड्डा ने कहा कि गांधी की यहां कोई नहीं सुनता, इसलिए वे वहां जाकर बोलते हैं। ज्ञानवापी मस्जिद के मामले पर भाजपा अध्यक्ष ने बेहद संक्षिप्त उत्तर देते हुए कहा कि पार्टी संविधान और न्यायालय पर विश्वास करती है।
इसके पहले उन्होंने मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार के नेतृत्व में हुए विकास की जानकारी देते हुए विस्तार से आंकड़े भी पेश किए। इस दौरान मुख्यमंत्री चौहान, पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव समेत अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे।

मंकीपॉक्स के प्रसार को नियंत्रित किया जा सकता हैं

मंकीपॉक्स के प्रसार को नियंत्रित किया जा सकता हैं

सुनील श्रीवास्तव  
जिनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को अभी इस बात का विश्वास नहीं है कि मंकीपॉक्स के प्रसार को पूरी तरह से नियंत्रित किया जा सकता है। यह बातें, यूरोप के लिए डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक हैंस क्लूज ने कही है। उन्होंने कहा, "अभी तक हम नहीं जानते हैं कि क्या हम इसके प्रसार को पूरी तरह से नियंत्रित कर पाएंगे ? इसके लिए हमें स्पष्ट संचार, सामुदायिक कार्रवाई, संक्रामक के दौरान को आइसोलेट करना, प्रभावशाली तरीके से नए मामलों का पता लगाना और उनकी निगरानी करने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि अब तक मंकीपॉक्स के लिए उन्हीं उपायों को करने की आवश्यकता नहीं है, जो कोरोना वायरस महामारी के दौरान लागू किए गए थे।
क्योंकि, यह वायरस उसी तरह से नहीं फैलता है। उन्होंने कहा, "आने वाले महीनों में कई त्योहार और बड़ी पार्टियां आयोजित होने वाली हैं। ऐसे में इसका अधिक प्रसार हो सकता है।"

टिकैत पर स्याही फेंकने का मामला, बयान जारी किया

टिकैत पर स्याही फेंकने का मामला, बयान जारी किया

भानु प्रताप उपाध्याय
शामली। शामली में गठवाला खाप के चौधरी और भाकियू अराजनैतिक के संरक्षक राजेंद्र सिंह मलिक ने बेंगलुरु में राकेश टिकैत पर स्याही फेंकने के मामलें पर बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि यह घटना निंदनीय है‌। लेकिन सिसौली में पिछले साल तत्कालीन बुढ़ाना विधायक उमेश मलिक के साथ जो हुआ था, उसका समर्थन उचित नहीं था। राजेंद्र सिंह मलिक ने कहा कि तब भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने मंच से केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान को चेतावनी दी थी कि या तो वह इस मामले को निपटा लें, वरना अगर मुंह से जुबान भी निकालने की कोशिश की तो शहर में पैर भी नहीं रखने देंगे। यह किसी लिहाज से ठीक नहीं था।

इस घटना में भाकियू का अपराधियों को संरक्षण देना भी ठीक नहीं था। राकेश टिकैत के साथ हुई घटना के बाद सिसौली में पंचायत की गई और नरेश टिकैत ने कहा कि यह घटना उत्तर प्रदेश में होती तो अब तक सैकड़ों लोग मारे जाते।
काकड़ा महापंचायत में कहा गया कि बिजली के खंभे उखाड़ देंगे, शहर में बिजली नहीं जाने देंगे। यह लोगों को बांटने वाले बयान हैं। गांव-शहर के बीच कोई मतभेद नहीं है। शहीदी जत्था तैयार हो जाओ कहना भी गलत था। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेश टिकैत कुछ दिन से भड़काने वाले बयान देकर समाज को हिंसा की तरफ धकेलने का काम कर रहे हैं। महात्मा गांधी ने बड़ी लड़ाई अहिंसा के दम पर जीती थी। ऐसे शब्द समाज को अलगाववाद की ओर ले जाते हैं और खाप चौधरियों का काम तो समाज को सही दिशा देना है।

मामूली बढ़त के साथ कारोबार की शुरुआत हुईं

मामूली बढ़त के साथ कारोबार की शुरुआत हुईं 

कविता गर्ग 
मुंबई। शेयर बाजार में बुधवार को मामूली बढ़त के साथ कारोबार की शुरुआत हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 21.86 अंक बढ़कर 55,588.27 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 9.85 अंकों की बढ़त के साथ 16,594.40 अंक पर खुला। हरे निशान के साथ खुले शेयर बाजार में मिडकैप और स्मॉलकैप में भी बढ़त देखी गई।
बीएसई का मिडकैप 31.55 अंक बढ़कर 23,175.37 अंक पर और स्मॉलकैप 132.48 अंकों की तेजी के साथ 26,503.29 अंकों पर खुला। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते दिन 359.33 अंक टूटकर 55566.41 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 76.85 अंक फिसलकर 16584.55 अंक पर रहा था।

छात्रों के अंकों को बराबर का महत्व दिया जाएगा

छात्रों के अंकों को बराबर का महत्व दिया जाएगा 

कविता गर्ग  
पुणे। महाराष्ट्र के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने कहा है कि राज्य में अगले शैक्षणिक वर्ष से स्नातक पेशेवर और तकनीकी पाठ्यक्रमों के लिए मेधा सूची घोषित करते समय 12वीं कक्षा और सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीईटी) में छात्रों के अंकों को बराबर का महत्व दिया जाएगा। मंत्री ने पुणे में मंगलवार को पत्रकारों से कहा कि नई प्रणाली इस साल से नहीं, बल्कि अगले शैक्षणिक वर्ष 2023-24 से लागू की जाएगी। वर्तमान में, इंजीनियरिंग, कानून और अन्य पाठ्यक्रमों में दाखिले सीईटी के अंकों के आधार पर होते हैं। 
सामंत ने पुणे में विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों के अधिकारियों के साथ बैठक की।
उन्होंने कहा कि नई प्रणाली के तहत पेशेवर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए केवल सीईटी अंकों पर विचार नहीं किया जाएगा। सामंत ने कहा, मौजूदा प्रणाली को ध्यान में रखते हुए छात्र केवल सीईटी पर ध्यान केंद्रित करते हैं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ विचार-विमर्श करने के बाद 12वीं कक्षा और सीईटी में मिले अंकों को बराबर का महत्व देने का फैसला किया गया है। इससे छात्रों को 12वीं कक्षा की पढ़ाई के साथ एक अच्छा आधार बनाने में मदद मिलेगी।

बेहतर सुविधाओं के लिए आंतरिक अध्ययन करेगी, कंपनी

बेहतर सुविधाओं के लिए आंतरिक अध्ययन करेगी, कंपनी

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। विमानन कंपनी ‘इंडिगो’ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोनोजॉय दत्ता ने कहा है कि कंपनी दिव्यांग यात्रियों, खासकर परेशानी महसूस कर रहे यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए एक आंतरिक अध्ययन करेगी। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने रांची हवाईअड्डे पर गत सात मई को एक दिव्यांग बच्चे को विमान में सवार होने से रोकने के मामले में इंडिगो पर गत सप्ताह पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।
इंडिगो ने नौ मई को कहा था कि यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए, एक दिव्यांग बच्चे को सात मई को रांची-हैदराबाद उड़ान में सवार होने की अनुमति नहीं दी गई थी क्योंकि वह घबराया हुआ नजर आ रहा था। दत्ता ने ‘पीटीआई-भाषा’ को मंगलवार को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि विमानन कंपनी डीजीसीए के जुर्माना लगाने के फैसले को चुनौती नहीं देगी। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग मुझसे यह सवाल कर रहे हैं– क्या आप चुनौती देंगे? बिल्कुल नहीं।
अधिकारी ने कहा कि विमानन कंपनी डीजीसीए के सुझावों पर गौर करेगी और उन्हें लागू करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने कुछ चीजें कहीं हैं। उन्होंने कहा है कि इस प्रकार की स्थिति में हवाई अड्डे पर मौजूद चिकित्सक को बुलाया जाए और हां, हमने इसे हमारी एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) में शामिल किया है कि जब इस प्रकार की स्थिति पैदा हो, हवाई अड्डे पर मौजूद चिकित्सक से हमेशा परामर्श लिया जाए।
’’ डीजीसीए ने कहा है कि इंडिगो को संवेदनशीलता के मामले में अपने कर्मियों को प्रशिक्षित करना चाहिए। दत्ता ने कहा, ‘‘दिव्यांग यात्रियों के प्रबंधन के लिए हम पहले से ही अच्छा प्रशिक्षण देते हैं। हम इसका और व्यापक अध्ययन करेंगे तथा अपने सभी प्रशिक्षकों से बात करेंगे और देखेंगे कि हम क्या सीख सकते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि डीजीसीए ने जो कहा है, उसका अर्थ है कि आपको यात्री को शांत करने की कोशिश करनी चाहिए।
दत्ता ने कहा कि विमानन कंपनी को इस तरह की स्थितियों में खुद से पूछने की जरूरत है कि वह परेशान यात्री को शांत करने के लिए क्या कर सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए, हम अपना स्वयं का आंतरिक अध्ययन कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि विमानन कंपनी के पास लगभग 100 प्रशिक्षक हैं जो चालक दल के सदस्यों और अन्य कर्मियों को इस तरह का विशेष प्रशिक्षण देते हैं। दत्ता ने कहा, ‘‘हम उन्हें एक साथ लाएंगे और अपना स्वयं का अध्ययन करेंगे।
यह परिणाम है। हम क्या अलग कर सकते हैं? हम ग्राहकों को शांत करने के तरीकों को लेकर कैसे और संवेदनशील हो सकते हैं। हम इन सब पर विचार करेंगे।’’ डीजीसीए ने पिछले शनिवार एक बयान में कहा था, ‘‘सात मई को रांची हवाईअड्डे पर दिव्यांग बच्चे के साथ इंडिगो के कर्मचारियों का व्यवहार गलत था और इससे स्थिति बिगड़ गई थी।’’ इसमें कहा गया था कि बच्चे के साथ करुणा का व्यवहार किया जाना चाहिए था और बच्चे की घबराहट दूर कर उसे शांत किया जाना चाहिए था।
चूंकि बच्चे को विमान में सवार होने से रोक दिया गया, इसलिए उसके साथ मौजूद माता-पिता ने भी विमान में सवार नहीं होने का फैसला किया था। डीजीसीए ने कहा था कि विशेष परिस्थितियों में असाधारण प्रतिक्रिया की आवश्यकता होती है, लेकिन विमानन कंपनी के कर्मचारी ऐसा करने में विफल रहे। उसने कहा था कि भविष्य में इस तरह की स्थिति से बचने के लिए वह अपने स्वयं के नियमों पर फिर से विचार करेगा, जिसमें यात्री को विमान में सवार होने से रोके जाने का निर्णय लेने से पहले यात्री के स्वास्थ्य पर हवाई अड्डे के चिकित्सक की लिखित राय लेना विमानन कंपनी के लिए अनिवार्य किया जाएगा।

193.57 करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाएं गए

193.57 करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाएं गए

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। देशभर में राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण अभियान के अंतर्गत 193.57 करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाएं गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने बुधवार को यहां बताया कि आज सुबह सात बजे तक 193 करोड़ 57 लाख 20 हजार 807 कोविड टीके दिये जा चुके हैं। मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों में कोविड संक्रमण के 2745 नये मरीज सामने आये हैं। इनके साथ ही देश में कोरोना रोगियों की संख्या (विभिन्न अस्पतालों में उपचार करवा रहे रोगियों) 18 हजार 386 हो गयी है।
यह संक्रमित मामलों का 0.04 प्रतिशत है। दैनिक संक्रमण दर 0.60 प्रतिशत हो गयी है। मंत्रालय ने बताया कि इसी अवधि में 2236 लोग कोविड से मुक्त हुए हैं। अभी तक कुल चार करोड़ 26 लाख 17 हजार 810 कोविड से उबर चुके हैं। स्वस्थ होने की दर 98.74 प्रतिशत है। देश में पिछले 24 घंटे में 4 लाख 55 हजार 314 कोविड परीक्षण किए गये हैं। देश में कुल 85 करोड़ 8 लाख 96 हजार 606 कोविड परीक्षण किए हैं।

कलप्पा का पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा

कलप्पा का पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा

इकबाल अंसारी
बेंगलुरु। कांग्रेस के जाने-माने चेहरे और उच्चतम न्यायालय के अधिवक्ता बृजेश कलप्पा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। वह 25 वर्ष से कांग्रेस से जुड़े थे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे एक पत्र में उन्होंने कहा, हाल के दिनों में वह अपने ‘‘उत्साह में कमी’’ महसूस रहे हैं, उनका प्रदर्शन ‘‘उदासीन और निरुत्साह’’ वाला रहा है। सोनिया गांधी को 30 मई को लिखे एक पत्र में कलप्पा ने राज्य में पार्टी के शासन के दौरान मंत्री पद के समकक्ष कर्नाटक सरकार के कानूनी सलाहकार के रूप में उनकी नियुक्ति समेत उन्हें दिए गए अवसरों के लिए धन्यवाद दिया।
कलप्पा ने सोनिया को उन्हें ‘‘संरक्षण’’ देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वह 2013 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के शासन के समय से लगभग एक दशक तक हिंदी, अंग्रेजी और कन्नड़ समाचार चैनलों पर पार्टी का प्रतिनिधित्व करते रहे हैं और उन्होंने 6,497 बहसों में हिस्सा लिया है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, पार्टी नियमित रूप से उन्हें राजनीतिक काम सौंपती रही है, जिसमें उन्होंने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का भरसक प्रयास किया है।
कलप्पा ने कहा, ‘‘2014 और 2019 की पराजय के बाद पार्टी के लिए सबसे बुरे समय में भी मैंने कभी उत्साह और ऊर्जा में कमी महसूस नहीं की। लेकिन, हाल के दिनों में मैं खुद के जुनून में कमी महसूस कर रहा हूं क्योंकि मेरा अपना प्रदर्शन उदासीन और निरुत्साह वाला रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन परिस्थितियों में मेरे पास भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने और 1997 में शुरू हुए अपने जुड़ाव को समाप्त करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।’’ पार्टी के कुछ सूत्रों के अनुसार, वह राज्य में हालिया विधान परिषद और आगामी राज्यसभा चुनावों के लिए उम्मीदवार नहीं बनाए जाने से भी नाराज हो सकते हैं।

हिंदू शिक्षिका की हत्या की घटना को लेकर निशाना साधा

हिंदू शिक्षिका की हत्या की घटना को लेकर निशाना साधा

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर में एक हिंदू शिक्षिका की हत्या की घटना को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि कश्मीरी पंडित धरने पर हैं, लेकिन सरकार अपने आठ साल पूरे होने का जश्न मनाने में व्यस्त है। उन्होंने ट्वीट किया, “कश्मीर में पिछले 5 महीनों में 15 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 18 नागरिकों की हत्या कर दी गयी। कल भी एक शिक्षिका की हत्या कर दी गयी।
” राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, “18 दिनों से कश्मीरी पंडित धरने पर हैं लेकिन भाजपा सत्ता में अपने आठ साल पूरे होने का जश्न मनाने में व्यस्त है। प्रधानमंत्री जी, ये कोई फ़िल्म नहीं है बल्कि आज कश्मीर की सच्चाई है।” कश्मीर घाटी के कुलगाम जिले में एक हिंदू शिक्षिका की हत्या के विरोध में जम्मू शहर के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार को प्रदर्शन हुए।
प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन का पुतला फूंका और पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस के मुताबिक, 36 वर्षीय रजनीबाला की आतंकवादियों ने मंगलवार को गोली मारकर हत्या कर दी। वह सांबा जिले की रहने वाली थीं।

गंगाजल की पवित्रता बनाएं रखें, जानिए नियम

गंगाजल की पवित्रता बनाएं रखें, जानिए नियम

सरस्वती उपाध्याय
पूजा-पाठ, शुद्धिकरण कई शुभ कार्यों में गंगाजल का उपयोग किया जाता है। अधिकतर लोग गंगाजल को अपने घरों में भी रखते हैं। लेकिन नियमों का पालन नहीं कर पाते। जी हां, आपको बता दें कि हिंदू धर्म में गंगाजल को बहुत पवित्र माना जाता है। जन्म से लेकर मरण तक गंगाजल का बहुत महत्व है। सनातन धर्म में गंगा नदी को मां का दर्जा दिया गया है।
मान्यता है कि गंगाजी के दर्शन मात्र से मनुष्यों के पाप धुल जाते हैं, और गंगाजल के स्पर्श से स्वर्ग की प्राप्ति होती है। ऐसे में जरूरी है कि अगर घर में गंगाजल रख रहे हैं तो इसकी पवित्रता बनाए रखने के लिए इन नियमों का जरूर पालन करें...

रहे सावधान, शनि वक्री हो रहे हैं, 141 दिनों तक आपकी राशि को प्रभावित करेंगे।
अमूमन लोग गंगाजल को प्लास्टिक की बोतल में भरकर रखते हैं, जो कि गलत है। विज्ञान में प्लास्टिक बोतल को जहरीला माना जाता है। गंगाजल को हमेशा चांदी, पीतल या तांबे के बर्तन में भरकर रखना चाहिए।
घर में जिस स्थान पर गंगाजल रखा हो, वहां शुद्धि का बहुत ध्यान रखें। उस जगह हमेशा साफ-सफाई जरूर करें। गंगाजल की पवित्रता बनाए रखने के लिए पूजा घर में इसे रखने की सलाह दी जाती है। घर के ईशान कोण को देवताओं का स्थान माना जाता है। इसलिए गंगाजल को हमेशा घर की इस दिशा में रखना शुभ माना जाता है।

गंदे हाथों से जल स्पर्श न करें...
गंगाजल के प्रयोग से पहले ध्यान रखे की आपके हाथ स्वच्छ हों। गंदे हाथों से इसे न छूएं। घर में गंगाजल हो तो मास-मदिरा का सेवन न करें। गंदे हाथ से गंगाजल स्पर्श करने पर ग्रहदोष लगता है।

अंधेरे में न रखा हो, गंगाजल...
गंगाजल को घर में रखने से सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है और घर में ये ऊर्जा बनी रहती है। लेकिन इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि इसे कभी भी अंधेरे कमरे या अंधेरे कोने में न रखें।

सह-संस्थापक व महासचिव का पार्टी से इस्तीफा

सह-संस्थापक व महासचिव का पार्टी से इस्तीफा 

इकबाल अंसारी  
श्रीनगर। जम्मू में ‘अपनी पार्टी’ को करारा झटका देते हुए उसके सह-संस्थापक एवं महासचिव विक्रम मल्होत्रा ने बुधवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। मल्होत्रा ने कहा कि पार्टी के पास ‘‘भविष्य के लिए कोई सुसंगत नीति नहीं’’ है। उन्होंने दावा किया कि ‘अपनी पार्टी’ दूसरे दलों ‘‘नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी (पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) की परछाई बनकर रह गई है’’, खासकर जम्मू में उसके क्षेत्रीय दृष्टिकोण को लेकर वह उनकी छाया नजर आती है।
जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान पांच अगस्त, 2019 को समाप्त करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद मार्च 2020 में पूर्व मंत्री अल्ताफ बुखारी की अध्यक्षता में ‘अपनी पार्टी’ का गठन किया गया था। कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद विक्रम मल्होत्रा अपनी पार्टी में शामिल हुए थे। मल्होत्रा ने एक बयान में कहा, ‘‘2019 के संवैधानिक परिवर्तनों के बाद के महत्वपूर्ण समय में राष्ट्रीय हित के लिए, मैं अपनी पार्टी में शामिल हुआ था, लेकिन दो साल में पार्टी राह भटक गई है।
’’ मल्होत्रा ने कहा कि उन्होंने पार्टी अध्यक्ष बुखारी को एक विस्तृत पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा देने के कारणों को सूचीबद्ध किया है। उन्होंने कहा, ‘‘व्यक्तिगत रूप से बुखारी के साथ काम करने का अनुभव बेहद अच्छा रहा, लेकिन ‘अपनी पार्टी’ के पास भविष्य के लिए किसी भी सुसंगत नीति या कार्यक्रम का अभाव है।’’ मल्होत्रा ने जोर देकर कहा कि नए राजनीतिक माहौल में जम्मू पर ध्यान देने की जरूरत है, लेकिन अपनी पार्टी इसके लिए तैयार नहीं है।
मल्होत्रा पिछले नौ महीनों में जम्मू क्षेत्र में ‘अपनी पार्टी’ से इस्तीफा देने वाले तीसरे बड़े नेता हैं। इससे पहले 20 अप्रैल को, पार्टी की महिला शाखा की प्रदेश अध्यक्ष नम्रता शर्मा और उनकी कई महिला सहयोगियों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। पूर्व विधायक कमल अरोड़ा ने भी हाल में पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-236, (वर्ष-05)
2. बृहस्पतिवार, जून 2, 2022
3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:33, सूर्यास्त: 07:01।
5. न्‍यूनतम तापमान- 30 डी.सै., अधिकतम-42+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नगर निगम चुनाव की मतगणना के नतीजों पर अपनी खुशी जताते हुए...