गुरुवार, 16 मई 2019

त्यागी महासभा ने किया विरोध प्रदर्शन

दोषियों के विरुद्ध , त्यागी महासभा ने किया विरोध प्रदर्शन


गाजियाबाद,लोनी ! राजधानी दिल्ली के मोती नगर के बसई दारापुर गांव में बेटी पर अभद्र टिप्पणी करने का विरोध करने पर 51 वर्षीय ध्रुव त्यागी तथा उनके पुत्र 19 वर्षीय अनमोल त्यागी को मोहम्मद आलम व उनके पिता जहांगीर खान व उनकी घर के परिवार की औरतों ने मिलकर निर्मम हत्या कर दी तथा पिता को बचाने आए 19 वर्षीय पुत्र अनमोल त्यागी को चाकू से बुरी तरह घायल कर दिया जो आज आईसीयू में मौत और जिंदगी से जूझ रहा है भर्ती है और मौत से लड़ रहा है आरोपियों को शीघ्र फांसी की सजा दिलाने इस निर्मम हत्या कांड का विरोध करने और प्रशासन एवं सरकार से पीड़ित परिवार को अधिक से अधिक सहयोग दिलाने के लिए आज सरकार से मांग है गैर जमानती धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए फांसी से कम सजा हमें नहीं है मंजूर ध्रुव त्यागी के हत्यारों को फांसी दो फांसी दो ध्रुव त्यागी को न्याय दो न्याय दो ऐसे आक्रोशित नारे लगाते हुए सरकार से मांग की क्योंकि ध्रुव त्यागी एकमात्र इस परिवार के पालन-पोषण करने के मुखिया थे अब कोई सहारा नहीं बचा है हमारी मांग है त्यागी महासभा अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी के नेतृत्व में लोनी थाना बॉर्डर से लेकर डिपो तक विरोध प्रदर्शन करते हुए पैदल मार्च निकालकर अपना विरोध दर्ज कराया उसके बाद दिल्ली जंतर मंतर पर कैंडल मार्च निकालने के गये !


इस प्रदर्शन में मुख्य रूप से महेश त्यागी जी सुबोध त्यागी जी शिव कुमार वशिष्ठ जी विश्वनाथ सिंह बृजेश चौधरी राजवीर त्यागी सुनील त्यागी राम पाल त्यागी जी उदित त्यागी जी उमेश त्यागी जी ओमपाल शर्मा जी कमल त्यागी जी डॉ राहुल त्यागी जी आनंद त्यागी जी अनुज त्यागी जी सचिन त्यागी जी भाजपा युवा नेता नितिन त्यागी जी अमित त्यागी जी प्रदीप कुमार त्यागी सुनील कुमार त्यागी रचना वाले सतीश त्यागी जी मुनेश त्यागी जी नरेंद्र त्यागी जी आदि सैकड़ों की संख्या में लोग विरोध प्रकट करने पर मौजूद रहे


लोकतांत्रिक गरिमा को ठेस पहुंचा रहे राजनेता


लोकतांत्रिक मूल्यों एवं मर्यादाओं को तार तार करती राजनीति और पश्चिम बंगाल की घटनाओं पर सख्त चुनाव आयोग पर 



आजादी के बाद लोकतंत्र की स्थापना इसलिए की गई थी कि जनता का अपना राज होगा और जनता जिसे चाहेगी उसे अपना राजा बनाएगी और अपने राजा अथवा अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए उसे मताधिकार दिया गया था और राजनीति को इस को माध्यम बनाया गया था। राजनीति के तहत राजनीतिक दलों के गठन की व्यवस्था प्रजातांत्रिक व्यवस्था लागू करने के समय की गई थी और सभी जानते हैं कि राजनीति का मतलब जनता की सेवा करके उसकी जुबान बनकर उनकी अपेक्षाओं का प्रतिनिधित्व करना होता है। लोकतंत्र में निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न कराने के लिए चुनाव आयोग का गठन किया गया था। जिन लोकतांत्रिक मूल्यों एवं मर्यादाओं को मद्देनजर रखते हुए राजनीति की स्थापना आजादी मिलने के पहले की गई थी वह आजादी के बाद धीरे धीरे वोट की गंदी राजनीति के चलते समाप्त हो रही है और राजनीतिक दलों के राजनेता जनता का प्रतिनिधि बनकर सत्ता तक पहुंचने के लिए सारी अपेक्षाओं को तार-तार कर रहे हैं। गंदी राजनीति का ही फल है कि आज समाज एवं परिवार ख़़डित एवं देश विरोधी तत्वों को संरक्षण मिलने लगा है और जनता के मताधिकार पर डाका डाला जा रहा है। लोकतांत्रिक राजनीति के परिणाम स्वरूप आज चाहे जम्मू कश्मीर चाहे पश्चिम बंगाल हो देश विरोधी ताकतों के अड्डे बनते जा रहे हैं और जनप्रतिनिधि बनने के लिए हिंसा का सहारा लिया जा रहा है। इस समय हो रहे लोकसभा चुनाव जम्मू कश्मीर एवं पश्चिम बंगाल दोनों चर्चा का विषय बने हुए और दोनों स्थानों पर राजनीति के नाम हिंसा का सहारा लिया जा रहा है। इस समय हो रहे चुनाव में पश्चिम बंगाल चर्चा का विषय बना हुआ है जहां पर सत्ता तक पहुंचने के लिए लोकतांत्रिक मर्यादाओं को तार-तार किया जा रहा है। लोकतांत्रिक मर्यादाओं को कायम रखने के लिए बनाया गया चुनाव आयोग इन राजनेताओं के सामने बेबस होता जा रहा है। लोकसभा चुनाव के अंतिम दौर में पश्चिम बंगाल हो रही बदजुबानी और हिंसा चर्चा का विषय बनी हुई है। चुनाव आयोग लाख प्रयास के बावजूद इस बदजूबानी पर ताला नहीं लगा पा रहा है। चुनाव आयोग के सख्त रुख के बावजूद ममता बनर्जी जैसी राजनेता अपनी जुबान पर लगाम नहीं लगा रही हालांकि जबकि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के राजनीतिक माहौल को देखते हुए सख्त कदम उठाए हैं और निष्पक्ष शांतिपूर्ण चुनाव कराने के जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए चुनाव प्रचार को समय से 2 दिन पहले बंद करने के निर्देश दिए हैं। चुनाव आयोग द्वारा उठाए गए कदम सराहनीय स्वागत योग्य है।वैसे तो चुनाव की शुरुआत होने के बाद से ही हमेशा की तरह पश्चिम बंगाल में हिंसा मारपीट कर मतदाताओं से आतंक पैदा करने की कोशिश की जा रही है लेकिन दो दिन पहले तो सारी हद़े उस समय पार हो गई जबकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की रैली पर हमला कर दिया गया और वहाँ की पुलिस मूकदर्शक बनी रही।फलस्वरूप रैली बीच में ही स्थगित नही रूक गई बल्कि बंगाल के सुप्रसिद्ध समाज सुधारक समाजसेवी ईश्वरचन्द्र विद्यासागर की कालेज के अंदर लगी मूर्ति को भी तोड़ दिया गया।भाजपा का कहना है कि इसी कालेज के अंदर से टीएमसी कार्यकर्ताओं ने अमित शाह के रोड शो पर हमला किया था और मुर्ति को तोड़ दिया गया जबकि टीएमसी का कहना कि सबकुछ भाजपा द्वारा किया कराया गया है।इसकी शिकायत कल चुनाव आयोग से की गई थी इसके बाद आयोग ने वहाँ पर निर्धारित समय से पहले चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगाकर वहाँ के गृह सचिव एवं डीजीपी समेत कई जिम्मेदार लोगों को हटा दिया गया है। डरा धमका कर मतदाताओं को मताधिकार से वंचित करने का प्रयास करना, चुनाव जीतने के लिये हिंसा आगजनी एवं बदजूबानी करना लोकतांत्रिक संवैधानिक व्यवस्था की हत्या करने के प्रयास जैसा गंभीर अक्षम्य अपराध है!


भोलानाथ मिश्र


केदार में ध्यान लगाएंगे मोदी

केदारनाथ में बनी गुफा में ध्यान करेंगे प्रधानमंत्री मोदी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 मई को केदारनाथ पहुंचने के बाद केदारनाथ में बनी गुफा में ध्यान करेंगे। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री केदारनाथ में आने के बाद गुफा में ध्यान करने जाएंगे। इसी को देखते हुए प्रशासन, पुलिस और एसपीजी केदारनाथ में पीएम की तैयारियों में जुटी है।


ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम की ऊंचाई समुद्र तल से 11700 फीट है। जबकि मंदिर परिसर से डेढ़ किमी दूर बनी ध्यान गुफा की ऊंचाई करीब 12250 फीट है। केदारनाथ के विकास का जिम्मा संभालने के बाद प्रधानमंत्री ने ही केदारनाथ में गुफा बनाने के निर्देश दिए थे। बीते साल बनी गुफा का संचालन इस साल से विधिवत शुरू हो गया।


इस साल महाराष्ट्र के जय शाह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुफा में रुकने वाले दूसरे मेहमान होंगे। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री केदारनाथ पहुंचने के बाद सांय गुफा में मेडिटेशन करेंगे। इसके लिए तैयारियां भी की जा रही है। एसपीजी, जिलाधिकारी, एसपी ने भी बुधवार को गुफा का निरीक्षण किया।


 


लोनी में निकाली गई भव्य कलश यात्रा

लोनी में निकाली गई भव्य कलश यात्रा


रहा !लोनी विधायक प्रतिनिधि पंडित ललित शर्मा ने संगम विहार स्थित माता दुर्गा मंदिर पर विधि विधान से मूर्ति स्थापना की एवं भव्य कलश यात्रा में भाग लिया! इस दौरान सैकड़ों की तादात भगवान भक्त उपस्थित रहे!


राजनाथ की रैली में आ रही, बस पलटी

 रैली के लिए आ रही बस पलटी, सात घायल


केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह की कुल्लू में होने वाली रैली के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं से भरी निजी बस हादसे की शिकार हो गई। बस में 45 यात्री सवार थे इनमें सात लोग घायल हुए हैं। घायलों को बंजार अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन शुरु कर दी है। अन्य सभी यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं।


जिला कुल्लू के बंजार उपमंडल में नागणी के पास निजी बस पलट गई। यह हादसा उस समय हुआ जब बठाहड और आसपास के क्षेत्र के लोग कुल्लू में होने वाली राजनाथ सिंह की रैली के लिए बस में सवार हो कर आ रहे थे। नागणी के पास बस अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई। इस बस में करीब 45 लोग सवार थे, जिनमें से 7 लोग जख्मी हुए हैं जबकि बाकि सभी सुरक्षित हैं। हादसे का कारण ब्रेक फेल होना बताया जा रहा है।


हादसे की सूचना मिलती ही बंजार पुलिस (Police) मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन शुरू कर दी है। घायलों में हेमा ठाकुर बठाहड, कृष्णा देवी, बबली,उत्तम राम, प्रतिभा, काजल, नेहा शामिल है। सभी घायलों को बंजार अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती किया गया है।


 


एयरपोर्ट पर चेहरा पहचानने पर रोक

एयरपोर्ट पर चेहरा पहचानने वाली तकनीक पर सैन फ्रांसिस्को में पाबंदी


भारत सहित कई देशों के एयरपोर्ट में चेहरे की पहचान करने वाली टेक्नोलाॅजी अपनाई जा रही है। यह टेक्नोलॉजी अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को से शुरू हुई थी, लेकिन बुधवार को इस पर वहीं पाबंदी लगा दी गई। पाबंदी इसलिए लगाई गई क्योंकि इसके जरिए चेहरों की गलत पहचान हो रही थी। साथ ही सामूहिक निगरानी के लिए इसका ज्यादा दुरुपयोग हो रहा था।


पुलिस और जांच एजेंसियां इस बात को लेकर परेशान थी कि इस तकनीक के कारण लोगों की निजी जानकारियां सार्वजनिक हो रही थीं। पुलिस और जांच एजेंसियों के खिलाफ रोजाना दो से तीन मुकदमे दर्ज हो रहे थे। पिछले महीने ही गलत पहचान के कारण ऑस्मेन बेह नाम के एक युवक ने चोरी के आरोप में फंसाने पर एपल कंपनी के खिलाफ 6,900 करोड़ रुपए का मुकदमा दर्ज करवाया था।


 


लोकसभा चुनाव की मतगणना अपडेट

 लोकसभा चुनाव-2019 की मतगणना काअपडेट


दूता आप तक पहुंचाएगा 23 मई को होने वाली मतगणना की पल-पल की अपडेट


राज्य परिणाम :
आंध्र प्रदेश: 918754573562


छत्तीसगढ़: 18722387388


गोवा: 916385081940


हरियाणा: 917338956529


हिमाचल प्रदेश: 917338948290


जम्मू-कश्मीर: None


कर्नाटक: 916385082991


अंडमान व नोकोबार द्वीप समूह: 916385082249


बिहार: 13467193870


चंडीगढ़: 917448828617


दादरा और नगर हवेली: 916385082996


दमन और दीव: 18126474486


गुजरात: 917338951296


झारखंड: 919840739154


केरल: 916385081948


अरुणाचल प्रदेश: 919360907658


असम: 919360907694


लक्षद्वीप: 916385082344


मध्य प्रदेश: 13462273349


महाराष्ट्र: 917338951690


दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र: 919840688091


ओडिशा: 916385135507


पुडुचेरी: 918682903863


पंजाब: 61497591176


राजस्थान: 919360908178


तमिलनाडु: 18155052868


तेलंगाना: 918754573562


उत्तर प्रदेश: 917550059213


पश्चिम बंगाल: 917825862539


उत्तराखंड: 919840678459


नगालैंड: 919360907496


त्रिपुरा: 919360907663


सिक्किम: 919360907757


मणिपुर: 919360907915


मेघालय: 919360907930


मिजोरम: 919360907550


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...