शनिवार, 14 जनवरी 2023

यूपी: मौसम की करवट, आसमान साफ, खिली धूप

यूपी: मौसम की करवट, आसमान साफ, खिली धूप

संदीप मिश्र

लखनऊ। राजधानी लखनऊ समते यूपी के कई जिलों में मौसम की करवट ने सुबह से ही आसमान साफ रखा और धूप निकलने से लोगों ने सर्दी से राहत महसूस की। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार से एक बार फिर से घने कोहरे के आसार हैं। सोमवार से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों में शीतलहर के लिए चेतावनी भी जारी की गई है।

मौसम केंद्र के वैज्ञानिक एम दानिश के अनुसार शनिवार से एक बार फिर तापमान में दो से चार डिग्री तक की गिरावट शुरू हो रही है। साथ ही पश्चिमी हवाओं का असर भी देखने को मिलेगा। इसकी वजह से गलन का अहसास हो सकता है। शीत दिन की स्थिति भी बनेगी। ठंडी हवा और कोहरे से बचाव के लिए उपाय करने चाहिए।

इन जिलों में अलर्ट
कोहरे के अलर्ट के साथ 15 जनवरी से पश्चिमी उत्तर प्रदेश, तराई बेल्ट के जिलों और पूर्वांचल समेत 20 जिलों में घने कोहरे के साथ शीत दिन के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इनमें सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर , मुरादाबाद, रामपुर , बरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, बहराइच, श्रावस्ती, गोंडा, बलरामपुर, बस्ती, सिद्धार्थनगर, संत कबीर नगर, गोरखपुर, महाराजगंज, कुशीनगर और देवरिया शामिल हैं।

घने से अत्यधिक घने कोहरे के लिए चेतावनी जारी
इनके अलावा अन्य 30 जिलों में घने कोहरे के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। इसके तहत कोहरे के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, लखनऊ और आसपास के जिलों में शनिवार को मध्यम से घना कोहरा हो सकता है। प्रदेश के कुछ जिलों में घने से अत्यधिक घने कोहरे के लिए चेतावनी जारी की गई है। मौसम शुष्क रहेगा। अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।

चयन को निरस्त करने के मामलें में याचिका, सुनवाई 

चयन को निरस्त करने के मामलें में याचिका, सुनवाई 

पंकज कपूर 

देहरादून। हाईकोर्ट ने यूकेएसएसएससी के 900 सौ से अधिक पदों पर हुए चयन को निरस्त करने के मामलें में दायर याचिका पर सुनवाई की। न्यायमूर्ति संजय कुमार मिश्रा की एकलपीठ ने राज्य सरकार और उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को जवाब दाखिल करने के निर्देश देते हुए अगली सुनवाई के लिए 17 फरवरी की तारीख तय की गई है। जगपाल सिंह और अन्य ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि आयोग ने स्नातक उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के लिए समूह ग समेत अन्य पदों के लिए विज्ञापन जारी किया था। चार-पांच दिसंबर 2021 को परीक्षा हुई और सात अप्रैल को परिणाम घोषित किया गया।

परीक्षा में करीब डेढ़ लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी, जिसमें से 916 पदों पर अभ्यर्थियों का चयन हुआ। अभ्यर्थियों के चयन के बाद उनके सर्टिफिकेट का सत्यापन हुआ। लेकिन पेपर लीक होने के बाद मुकदमा दर्ज करते हुए सभी नियुक्तियां निरस्त कर दी गईं। अभ्यर्थियों का कहना है कि उन्होंने मेहनत करके यह परीक्षा पास की है। सरकार ने बिना किसी कारण के उन्हें नियुक्ति नहीं दी।

मंत्री व नेता गडकरी को जान से मारने की धमकी

मंत्री व नेता गडकरी को जान से मारने की धमकी

अकांशु उपाध्याय/कविता गर्ग 

नई दिल्ली/मुंबई/नागपुर। केंद्रीय परिवहन मंत्री और सीनियर बीजेपी नेता नितिन गडकरी को जान से मारने की धमकी मिली है। गडकरी के नागपुर कार्यालय में फोन कर जान से मारने की धमकी दी गई है। केंद्रीय मंत्री के नागपुर के जनसंपर्क कार्यालय के लैंडलाइन नंबर पर धमकी देने के लिए तीन बार कॉल आई है। दाऊद के नाम पर धमकी दी गई है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि 100 करोड़ की रकम मांगी गई है। रकम ना देने पर जान से मारने की धमकी दी गई है। धमकी की कॉल आते ही गडकरी के नागपुर कार्यालय की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

धमकी देने वाली कॉल आज (14 जनवरी, शनिवार) सुबह से तीन बार आ चुकी है। सूचना मिलते ही नागपुर पुलिस अलर्ट हो गई है और जांच शुरू कर दी है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के नागपुर स्थित जनसंपर्क कार्यालय के बाहर चार फोन नंबर प्रदर्शित किए हुए हैं। इन्हीं नंबरों पर सुबह से तीन बार फोन आ चुके हैं। केंद्रीय मंत्री के नागपुर कार्यालय में स्थानीय पुलिस टीम के अलावा एंटी टेररिज्म स्क्वॉड (ATS) की टीम भी पहुंच चुकी है। मामले की जांच शुरू है। 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) के मौके पर आतंकियों की ओर से ऐसी नापाक हरकतों को अंजाम देने की कोशिश की जा सकती है। ऐसे में इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया जा रहा है।

आज सुबह से नितिन गडकरी के नागपुर स्थित जनसंपर्क कार्यालय में तीन बार जान से मारने की धमकी देने वाली कॉल आ चुकी है। पहली कल सुबह 11 बजकर 29 मिनट में आई। दूसरी कॉल 11 बज कर 35 मिनट में आई। तीसरी कॉल 12 बज कर 32 मिनट में आई। नागपुर पुलिस और एटीएस की टीम मिलकर सबसे पहले यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कॉल कहां से किया गया है? दाऊद का नाम सामने आ रहा है, क्या वाकई इसमें डी कंपनी का इन्वॉल्वमेंट है, या उसके नाम से किसी और ने ये कॉल की है? कॉलर के बारे में पूरा जानकारी हासिल करने की कोशिश की जा रही है। केंद्रीय मंत्री को इस तरह से तीन बार लाइफ थ्रेटनिंग कॉल आने से लोगों में दहशत फैल गई है।

जम्मू-कश्मीर: रुक-रुक कर हो रहा हिमपात बंद

जम्मू-कश्मीर: रुक-रुक कर हो रहा हिमपात बंद

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के कुछ हिस्सों में शनिवार को धूप निकली और क्षेत्र में तीन दिन से रुक-रुक कर हो रहा हिमपात बंद हो गया। श्रीनगर और घाटी के अन्य मैदानी इलाकों में पिछले 24 घंटों के दौरान मौसम की पहली बर्फबारी हुई। श्रीनगर सहित घाटी के ज्यादातर हिस्सों में शुक्रवार देर रात तक बर्फबारी रुक गई थी। इस भीगे मौसम ने शुक्रवार को यातायात बाधित कर दिया और पूरे कश्मीर के पहाड़ी क्षेत्रों में हिमस्खलन का खतरा भी पैदा कर दिया था। अधिकारियों ने कहा कि क्षेत्र में शुक्रवार को सड़क संपर्क के साथ-साथ हवाई यातायात को बहाल कर दिया गया है और श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर फंसे वाहनों को जाने की अनुमति दी गई है

शनिवार सुबह सड़क साफ होने के बाद राजमार्ग को यातायात के लिए खोल दिया गया। श्रीनगर में मौसम विभाग ने कहा कि शनिवार को जम्मू कश्मीर में मौसम शुष्क और आम तौर पर बादल छाए रहेंगे। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 0.1 डिग्री सेल्सियस के निचले स्तर तक गिर गया। सर्दियों के दौरान स्कीयर के लिए प्रसिद्ध गुलमर्ग में रात का तापमान शून्य से 11 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान शून्य से 8.4 और लेह में शून्य से 12 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। जम्मू में 6.6, कटरा में 5.8, बटोटे में शून्य से 1.3 और बनिहाल में शून्य से 0.2 डिग्री नीचे न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने 19 जनवरी के बाद जम्मू कश्मीर में एक और पश्चिमी विक्षोभ की संभावना की भविष्यवाणी की। मौसम विभाग ने 15 से 18 जनवरी तक जम्मू-कश्मीर में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की भविष्यवाणी की थी।

विभाग ने कहा कि आने वाले दिनों में जम्मू-कश्मीर के मैदानी इलाकों में सुबह के समय कोहरे की संभावना है और दिन के तापमान में वृद्धि एवं न्यूनतम तापमान में गिरावट होगी। 

गंगासागर में पवित्र स्नान के लिए उमड़े... लाखों श्रद्धालु 

गंगासागर में पवित्र स्नान के लिए उमड़े... लाखों श्रद्धालु 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में दक्षिण 24 परगना जिले के सागर आइलैंड में मकर संक्रांति के अवसर पर गंगासागर में पवित्र स्नान करने के लिए देशभर से लाखों श्रद्धालु उमड़ रहे हैं। इस संबंध में एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि हालांकि, गंगासागर में पवित्र स्नान का समय शनिवार शाम करीब छह बजकर 50 मिनट पर शुरू होगा लेकिन हजारों श्रद्धालुओं ने हुगली नदी और बंगाल की खाड़ी के संगम में सुबह ही डुबकी लगाई तथा कपिल मुनि आश्रम में पूजा-अर्चना की।

पांच जनवरी से लेकर शुक्रवार शाम तक 31 लाख से अधिक श्रद्धालु गंगासागर मेले में पहुंच चुके हैं जिसे कुंभ मेले के बाद सबसे बड़ा धार्मिक मेला माना जाता है। झारखंड के चाईबासा के रहने वाले राम स्वरन ने कहा, गंगा (हुगली नदी) में डुबकी लगाने के बाद मेरे सारे पाप धुल गए। कुछ श्रद्धालुओं को सागर आइलैंड में गंगासागर मेले तक जाते समय गाना गाते और नाचते हुए देखा गया। सागर आइलैंड कोलकाता से करीब 100 किलोमीटर दूर स्थित है। इस बीच, तटरक्षक बल और आपदा प्रबंधन दल के कर्मियों ने तटरेखा पर चौकसी बढ़ा दी है तथा पुलिस और सिविल डिफेंस के स्वयंसेवकों को मेला मैदान में तैनात किया गया है।

गंगासागर मेले पर नजर रखने के लिए 1,000 से अधिक सीसीटीवी कैमरे और 25 ड्रोन तैनात किए गए हैं। अधिकारी ने बताया कि इस वार्षिक मेले के लिए सागर आइलैंड पर देशभर से लाखों श्रद्धालु उमड़ते हैं और दक्षिण 24 परगना जिला प्रशासन के लिए गंगासागर सुरक्षित पहुंचने के लिए मुरीगंगा नदी को पार करते लोगों की भीड़ को संभालने की चुनौती है। उन्होंने कहा, घने कोहरे के कारण सुबह करीब तीन घंटे तक सागर आइलैंड जाने वाली जहाज और बस सेवाओं को रोका गया था लेकिन अब सब कुछ सामान्य है।

कोविड-19 और निमोनिया के कारण भर्ती हुए मोदी 

कोविड-19 और निमोनिया के कारण भर्ती हुए मोदी 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी को कोविड-19 और निमोनिया के कारण लंदन के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने लंदन लुटोन हवाई अड्डे पर पहुंचने की तस्वीरों के साथ इंस्टाग्राम पोस्ट में इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वह अभी मेक्सिको सिटी से विमान से लाए जाने के दौरान बाहरी ऑक्सीजन प्रणाली की मदद ले रहे हैं। ललित मोदी ने उपचार की तस्वीरें साझा करते हुए कहा, दो सप्ताह में दो बार कोविड के साथ इनफ्लूएंजा और गंभीर निमोनिया के चलते तीन सप्ताह तक कैद रहने के बाद आखिरकार दो डॉक्टरों के साथ हवाई एम्बुलेंस के जरिए पहुंच गया हूं। उन्होंने कहा कि उड़ान सुगम रही।

उन्होंने कहा, दुर्भाग्य से अब भी चौबीस घंटे बाहरी ऑक्सीजन प्रणाली की मदद ले रहा हूं। ललित मोदी ने मेक्सिको सिटी में उनका इलाज करने वाले और वापस ब्रिटेन लाए जाने के दौरान उनके साथ आए डॉक्टरों का शुक्रिया अदा किया। वह कर चोरी, धनशोधन और प्रसारण सौदों में हेरफेर के आरोपों के बाद 2010 में भारत छोड़करस लंदन चले गए थे। वह आईपीएल के संस्थापक और तीन साल तक अध्यक्ष रहे।नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी को कोविड-19 और निमोनिया के कारण लंदन के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने लंदन लुटोन हवाई अड्डे पर पहुंचने की तस्वीरों के साथ इंस्टाग्राम पोस्ट में इसकी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि वह अभी मेक्सिको सिटी से विमान से लाए जाने के दौरान बाहरी ऑक्सीजन प्रणाली की मदद ले रहे हैं। ललित मोदी ने उपचार की तस्वीरें साझा करते हुए कहा, दो सप्ताह में दो बार कोविड के साथ इनफ्लूएंजा और गंभीर निमोनिया के चलते तीन सप्ताह तक कैद रहने के बाद आखिरकार दो डॉक्टरों के साथ हवाई एम्बुलेंस के जरिए पहुंच गया हूं। उन्होंने कहा कि उड़ान सुगम रही।

उन्होंने कहा, दुर्भाग्य से अब भी चौबीस घंटे बाहरी ऑक्सीजन प्रणाली की मदद ले रहा हूं। ललित मोदी ने मेक्सिको सिटी में उनका इलाज करने वाले और वापस ब्रिटेन लाए जाने के दौरान उनके साथ आए डॉक्टरों का शुक्रिया अदा किया। वह कर चोरी, धनशोधन और प्रसारण सौदों में हेरफेर के आरोपों के बाद 2010 में भारत छोड़करस लंदन चले गए थे। वह आईपीएल के संस्थापक और तीन साल तक अध्यक्ष रहे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-95, (वर्ष-06)

2. रविवार, जनवरी 15, 2023

3. शक-1944, पौष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 07:24, सूर्यास्त: 05:33। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 10 डी.सै., अधिकतम- 18+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय'

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय' 'भारत' देश है हमारा, संविधान पर विवाद नहीं। 'सभ्यता' सबसे पहले आई, ...