शुक्रवार, 29 जुलाई 2022

पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा शामिल किया जाएगा

पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा शामिल किया जाएगा

श्रीराम मौर्य 

शिमला। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि कांग्रेस के चुनाव घोषणा-पत्र में पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा प्रमुखता से शामिल किया जाएगा। कांग्रेस के विधायक और नेता अपने क्षेत्रों में लोगों से विचार-विमर्श कर जनता से जुड़े मुद्दों को घोषणा-पत्र में स्थान देंगे। इससे पहले पार्टी तय करेगी कि इनमें दमदार मुद्दे कौन से हैं। इन्हें घोषणा पत्र में प्रमुखता से शामिल किया जाएगा।

पार्टी का घोषणा पत्र तैयार होने के बाद इसके बारे मे विस्तार से जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों से प्रदेश के किसान- बागवान, युवाओं और महिला वर्ग परेशान है। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला में प्रेस वार्ता में प्रतिभा सिंह ने कहा कि चुनाव घोषणा-पत्र समिति की बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया है कि चुनाव घोषणा पत्र तैयार करने से पहले पार्टी के नेता अपने क्षेत्रों में लोगों की राय लेंगे कि किन मुद्दों से लोग सरकार से नाराज हैं। इन मुद्दों को पार्टी नेताओं और कांग्रेस चुनाव समिति के समक्ष रखा जाएगा।

दिग्विजय और पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई हुई 

दिग्विजय और पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई हुई 

मनोज सिंह ठाकुर 

भोपाल। कांग्रेस सांसद और वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और मध्य प्रदेश के भोपाल में शुक्रवार को पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई हुई और दिग्विजय ने एक पुलिसकर्मी का कॉलर पकड़ा। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऐसा अशोभनीय व्यवहार किसी पूर्व सीएम पर शोभा नहीं देता। पुलिस अफसर के कॉलर पकड़ रहे हैं, चिल्ला रहे हैं…ये बदतमीजी है। लोकतंत्र में जय और पराजय चलती रहती हैं। लेकिन एक पुलिस वाले का कॉलर पकड़ने का अधिकार किसने दिया? मैं इसकी निंदा करता हूँ। भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला। भोपाल जिला पंचायत में बीजेपी ने कांग्रेस समर्थित को अध्यक्ष बना दिया। बीजेपी ने क्रॉस वोटिंग कराकर ऐन वक्त पर बाजी पलट दी। इस दौरान गहमागहमी का माहौल हो गया। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भाजपा के मंत्री भूपेंद्र सिंह को रोकने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस के साथ उनकी झूमाझटकी भी हुई। पूर्व मुख्यमंत्री​​​​​ दिग्विजय सिंह ने चुनाव प्रक्रिया को लेकर कोर्ट जाने की बात कही है।

भोपाल में सुबह से ही जिला पंचायत कार्यालय के बाहर हंगामा चल रहा था, जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता मौजूद थे। दरअसल कांग्रेस के कुछ कुछ सदस्यों ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव से ठीक पहले पाला बदल लिया। इसकी भनक लगते ही पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा, आरिफ मसूद सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ जिला पंचायत कार्यालय पहुंच गए और जमकर हंगामा किया।

स्थिति उस समय और विस्फोटक हो गई जब शिवराज सरकार में मंत्री भूपेंद्र सिंह और हुजूर से विधायक रामेश्वर शर्मा चुनाव के लिए सदस्यों को लेकर जिला पंचायत कार्यालय पहुंचे, जहां दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस नेता गाड़ी के सामने खड़े हो गए और मंत्री की गाड़ी को अंदर नहीं जाने दिया। इसी बीच बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा एक महिला सदस्य को जिला पंचायत दफ्तर के अंदर ले गए और उस दौरान उन्होंने अपना मुंह ढंक कर रखा था। काफी देर तक हंगामा ऐसे ही जारी रहा और इसी हंगामे के बीच ज़िला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव पूरा किया गया। आखिरकार नतीजे सामने आने के बाद हंगामा शांत हुआ और बीजेपी ने भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर कब्ज़ा कर लिया। बीजेपी की रामकुंवर गुर्जर ने कांग्रेस की रश्मि भार्गव को हराकर भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया। रामकुंवर गुर्जर को 6 वोट मिले, वहीं रश्मि भार्गव को 4 वोट मिले।

विवाद: रमेश, खेड़ा व डिसूजा को समन जारी किया 

विवाद: रमेश, खेड़ा व डिसूजा को समन जारी किया 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। गोवा बार विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने कांग्रेस नेता जयराम रमेश, पवन खेड़ा और नेटा डिसूजा को समन जारी कर दिया है। साथ ही हाईकोर्ट ने तीनों नेताओं को सभी सोशल प्लेटफॉर्म से संबधित पोस्ट हटाने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने स्मृति ईरानी द्वारा दायर मामले पर जवाब देने के लिए भी नोटिस जारी किया है।  वहीं, कांग्रेस नेता ने ट्वीट करते हुए लिखा- हम अदालत के सामने मामले से संबंधित तत्थ पेश करने के लिए तैयार हैं। स्मृति ईरानी की चुनौती को स्वीकार भी करेंगे।
बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेताओं-जयराम रमेश, पवन खेड़ा और नेटा डिसूजा को रविवार को कानूनी नोटिस भेजकर उनकी बेटी पर लगाए आरोपों के लिए मांफी मांगने के लिए कहा था। कांग्रेस नेताओं के आरोप लगाने के एक दिन बाद ही स्मृति ईरानी ने यह कदम उठाया था। अब दिल्ली होईकोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए समन भेज दिया है।दरअसल, कांग्रेस नेताओं-जयराम रमेश, पवन खेड़ा और नेटा डिसूजा ने स्मृति ईरानी की 18 वर्षीय बेटी जोइश ईरानी पर गोवा में अवैध रूप से बार चलाने का आरोप लगाया था। जिसके बाद से मामले ने सियासी रूप ले लिया।

कांग्रेस सांसदों पर चिकन खाने का आरोप, आलोचना

कांग्रेस सांसदों पर चिकन खाने का आरोप, आलोचना

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद महुआ मोइत्रा ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस सांसदों पर चिकन खाने का आरोप लगाने को लेकर शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी की आलोचना की। राज्य सभा के 20 सदस्यों और लोकसभा से कांग्रेस के चार सदस्यों के निलंबन के खिलाफ यह प्रदर्शन किया जा रहा है।मोइत्रा ने किसी का नाम लिए बगैर भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधा। उल्लेखनीय है कि पूनावाला ने बृहस्पतिवार को यह मुद्दा उठाया था। कांग्रेस ने ईरानी की 18 वर्षीय बेटी पर गोवा में ‘‘अवैध बार’’ चलाने का आरोप लगाया था।

टीएमसी सांसद ने ट्वीट किया, ‘‘धरना दे रहे निलंबित सांसद क्या भोजन कर रहे हैं, इस पर टिप्पणी करने के लिए भाजपा ने लोगों को नियुक्त कर रखा है। सिल्ली सोल्स!…। ’’ ‘सिल्ली सोल्स’ उस कैफे का नाम है, जिसे ईरानी की बेटी का बताया जा रहा है। इससे पहले, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि विपक्षी दल के सांसदों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास चिकन खा कर गांधी का अपमान किया।

गोम्बोस को 6-2, 6-3 से हराकर शानदार शुरुआत की

गोम्बोस को 6-2, 6-3 से हराकर शानदार शुरुआत की 

मोमीन मलिक 

ब्यूनस आयर्स/मेड्रिड। शीर्ष वरीयता प्राप्त कार्लोस अल्काराज ने क्रोएशिया ओपन टेनिस टूर्नामेंट के पहले दौर में नोरबर्ट गोम्बोस को 6-2, 6-3 से हराकर शानदार शुरुआत की। स्पेन का यह 19 वर्षीय खिलाड़ी सोमवार को रैंकिंग में शीर्ष पांच में जगह बनाने वाला सदी का दूसरा सबसे युवा खिलाड़ी बना था। वर्ष 2000 के बाद केवल राफेल नडाल ही इससे कम उम्र में शीर्ष पांच में शामिल हुए थे।

क्वार्टर फाइनल में अल्काराज का सामना फैसुंडो बैगनिस से होगा। अर्जेंटीना के इस खिलाड़ी ने फ्रांस के क्वालीफायर कोरेंटिन मौटेट को 6-3, 6-1 से हराया। इस बीच फ्रेंको अगामेनोन ने चौथी वरीयता प्राप्त सेबस्टियन बेज को 3-6, 6-1, 7-5 से हराकर उलटफेर किया जबकि इटली के उनके साथी और क्वालीफायर मार्को सेचिनाटो ने आठवीं वरीयता प्राप्त मुसेट्टी को 6-4, 6-3 से पराजित किया।

राष्ट्रपति को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहे जाने पर निशाना साधा 

राष्ट्रपति को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहे जाने पर निशाना साधा 

इकबाल अंसारी 

गुवाहाटी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने राष्ट्रपति को ‘‘राष्ट्रपत्नी’’ कहे जाने को लेकर शुक्रवार को कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी पर निशाना साधते हुए कहा कि यह ‘‘आदिवासियों की गरिमा और महिलाओं के आत्मसम्मान पर हमला’’ है। चौधरी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में राष्ट्रपति के लिए ‘‘राष्ट्रपत्नी’’ शब्द का उपयोग किया था।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सरमा ने ट्वीट किया, ‘‘ कांगेस सांसद अधीर रंजन की महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी पर की गई टिप्पणी न केवल भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद का अपमान है, बल्कि महिलाओं के आत्मसम्मान तथा भारतीय राजव्यवस्था की मर्यादा पर भी हमला है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं इसकी निंदा करता हूं।’’

लोकसभा सांसद चौधरी ने बयान पर सफाई देते हुए कहा था कि ‘‘चूकवश’’ उनके मुंह से एक शब्द निकल गया, जिसे लेकर भाजपा ‘‘तिल का ताड़’’ बना रही है। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि वह राष्ट्रपति मुर्मू से मुलाकात कर माफी मांगेंगे, लेकिन ‘‘इन पाखंडियों’’ से माफी नहीं मांग सकते। अधीर की टिप्पणी को लेकर एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया है। भाजपा ने इसे कांग्रेस नेता द्वारा जानबूझकर राष्ट्रपति का किया गया अपमान करार दिया और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से इसके लिए देश व राष्ट्रपति से माफी मांगने की मांग की।

जिला पंचायत के 2 सदस्यों को अगवा करने का आरोप 

जिला पंचायत के 2 सदस्यों को अगवा करने का आरोप 

मनोज सिंह ठाकुर 

मुरैना। मध्यप्रदेश के चंबल संभाग के श्योपुर जिले से जिला पंचायत के दो सदस्यों को कांग्रेस ने पुलिस द्वारा अगवा किए जाने का आरोप लगया है। अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ होनी हैं। मतदान डेढ़ बजे से शुरू हो जाएगी। श्योपुर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष अतुल सिंह चौहान ने यहां बताया कि अपहृत दोनों जिला पंचायत के सदस्य संदीप शाक्य और गिरधारी लाल वेरवा अभी तक यहां लौटे नहीं है।

उन्होंने बताया कि कांग्रेस अभी श्योपुर में इस मामले को लेकर प्रदर्शन करने जा रही है। कांग्रेस ने इस मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के इशारे पर श्योपुर जिले के दो सदस्यों को अगवा करने के आरोप लगाया और इस संबंध में कल मुरैना पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर आरोपियों के खिलाफ कार्यवाई की मांग की और धरना प्रदर्शन भी किया। पुलिस ने बाद में सभी को गिरफ्तार कर लिया था।

बातचीत: बाइडेन-जिनपिंग ने एक-दूसरे को चेतावनी दी 

बातचीत: बाइडेन-जिनपिंग ने एक-दूसरे को चेतावनी दी 
अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और चीन के समकक्ष शी जिनपिंग ने ताइवान पर किसी भी कदम को लेकर एक-दूसरे को चेतावनी दी है। बीबीसी ने शुक्रवार को यह रिपोर्ट दी हैं। दोनों नेताओं के बीच गुरूवार को फोन पर करीब दो घंटे से अधिक समय तक हुई बातचीत में श्री बाइडेन ने कहा कि अमेरिका ताइवन की स्थिति को बदलने के लिए किसी भी एकतरफा कदम का कड़ा विरोध करेगा और कहा कि उनकी ताइवान नीति में नहीं बदली है।
वहीं, श्री जिनपिंग ने अमेरिका एक चीन के सिद्धांत का पालन करे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, “जो कोई भी आग से खेलेगा वह जल जाएगा।” इस दौरान दोनों नेताओं ने आमने सामने की बैठक की संभावना पर भी चर्चा हुई।उल्लेखनीय है कि अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे की अफवाह से इस मुद्दे पर तनाव बढ़ गया है। विदेश विभाग का कहना है कि सुश्री पेलोसी ने किसी यात्रा की घोषणा नहीं की है। लेकिन चीन ने चेतावनी दी है कि अगर वह इस तरह की यात्रा पर जाती हैं तो ‘गंभीर परिणाम’ होंगे।

निर्णय लेने में अधिक स्वतंत्रता सुनिश्चित करती हैं, नीति 

निर्णय लेने में अधिक स्वतंत्रता सुनिश्चित करती हैं, नीति 

विमलेश यादव 

चेन्नई। (यूएनआई) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा, कि नई शैक्षिक नीति बदलती परिस्थितियों में युवाओं को निर्णय लेने में अधिक स्वतंत्रता सुनिश्चित करती है। मोदी यहां अन्ना विश्वविद्यालय के 42वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस समारोह को संबोधित करने वाले श्री माेदी 70 साल के बाद दूसरे प्रधानमंत्री हैं। इससे पहले प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इस विश्विविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री ने कहा, “हम भाग्यशाली हैं कि आप लोग भारत के भविष्य के साथ-साथ अपने भविष्य का निर्माण करेंगे।आपका विकास भारत का विकास है, आपकी सीख भारत की सीख है, आपका भविष्य है भारत का भविष्य। हर अवसर का लाभ उठाएं और इसका सर्वोत्तम लाभ उठाएं।” श्री मोदी ने कहा कि एक मजबूत सरकार प्रतिबंधात्मक नहीं बल्कि उत्तरदायी होती है।

यह हर क्षेत्र में दखल नहीं देती बल्कि खुद को सीमित करके लोगों की प्रतिभा के लिए उचित स्थान बनाती है। उन्होंने कहा,“ पहले धारणा थी कि मजबूत सरकार वही है जो सब कुछ और हर किसी को नियंत्रित करती है। हमने इसे बदल दिया है। मजबूत सरकार सब कुछ और सभी को नियंत्रित नहीं करती, बल्कि यह व्यवस्था को नियंत्रित करती है। एक मजबूत सरकार प्रतिबंधात्मक नहीं बल्कि उत्तरदायी है। मजबूत सरकार हर क्षेत्र में दखलंदाजी नहीं करती है। वह खुद को सीमित करती है और लोगों की प्रतिभा के लिए जगह बनाती है। इसलिए आप सभी क्षेत्रों में सुधार देखते हैं। लोगों को अपने दम पर निर्णय लेने की स्वतंत्रता है। नयी शिक्षा नीति बदलती परिस्थितियों में युवाओं को उनके अनुसार निर्णय लेने की अधिक स्वतंत्रता सुनिश्चित करती है।”

विज्ञापनों पर कुल 3,339.49 करोड़ रुपये खर्च किए 

विज्ञापनों पर कुल 3,339.49 करोड़ रुपये खर्च किए 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकार ने वर्ष 2017 से जुलाई 2022 के बीच प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापनों पर कुल 3,339.49 करोड़ रुपये खर्च किए है। हालांकि इस दौरान सरकार ने विदेशी मीडिया में विज्ञापन पर कोई खर्च नहीं किया है। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

सरकार द्वारा वर्ष 2017 से केंद्रीय संचार ब्यूरो (सीबीसी) के माध्यम से प्रिंट ओर इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापनों पर किए गए व्यय का ब्योरा देते उन्होंने बताया कि 12 जुलाई 2022 तक प्रिंट मीडिया पर 1756.48 करोड़ रुपये और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया 1583.01 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। उनके मुताबिक सरकार ने वर्ष 2017-18 के दौरान प्रिंट मीडिया पर सबसे अधिक 636.09 करोड़ रुपये और 2018-19 के दौरान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर सबसे अधिक 514.28 करोड़ रुपये खर्च किए। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार के किसी मंत्रालय या विभाग द्वारा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के माध्यम से विदेशी मीडिया में विज्ञापन पर कोई व्यय नहीं किया गया है।’’

‘ऑपरेशन क्लीन' चलाकर 61 वाहनों को जब्त किया 

‘ऑपरेशन क्लीन' चलाकर 61 वाहनों को जब्त किया 

राणा ओबरॉय

चंडीगढ़। हरियाणा में एक पुलिस उपाधीक्षक को ट्रक से कुचलकर मार डालने की वारदात के बाद पुलिस ने नूंह जिले में ‘ऑपरेशन क्लीन’ चलाकर अवैध खनन में शामिल 61 वाहनों को जब्त किया है। राज्य सरकार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। इस अभियान में 1,593 पुलिसकर्मियों ने भाग लिया और कुल 358 वाहन जब्त किये गए। राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को कहा कि हरियाणा पुलिस ने 20 जुलाई से 25 जुलाई तक ‘ऑपरेशन क्लीन’ चलाया।

विज ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “शांतिपूर्वक तरीके से कड़ी कार्रवाई की जा रही है। जिले के 33 गांवों में जांच के दौरान अवैध खनन में शामिल 61 वाहन जब्त किये गए, दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 102 और पुलिस अधिनियम की धारा 47 के तहत 29 वाहन जब्त किये गए, मोटर वाहन अधिनियम के तहत 268 वाहनों को उठाया गया और तीन प्राथमिकी दर्ज की गई तथा 307 चालान जारी किये गए।

दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 102, पुलिस अधिकारियों को कुछ प्रकार की संपत्ति जब्त करने का अधिकार देती है। गृह मंत्री ने कहा कि अवैध खनन के लिए जब्त किये गए 61 वाहनों में से 10 डम्पर ट्रक, 27 ट्रैक्टर, आठ ट्रॉली, छह ट्रैक्टर ट्रॉली और तीन भारी ‘अर्थमूविंग’ मशीनें थीं। गौरतलब है कि पुलिस उपाधीक्षक सुरेंद्र सिंह क्षेत्र में अवैध पत्थर खनन की जांच कर रहे थे और नूंह जिले में 19 जुलाई को उन्होंने एक ट्रक को रोकने का प्रयास किया जिसने उन्हें कुचल दिया। डीएसपी की हत्या के मामले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

लालाबाई को जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित किया

लालाबाई को जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित किया  

मनोज सिंह ठाकुर 

रतलाम। जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए आज हुए चुनाव में तीन सदस्यों को वोट निरस्त किए जाने के बाद भाजपा समर्थित लालाबाई को जिला पंचायत अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है। दूसरी ओर कांग्रेस ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताते हुए इसके विरुद्ध संघर्ष करने की बात कही है। जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के लिए घोषित किए गए कार्यक्रम के अनुसार,निर्धारित समय पर जिला पंचायत का सम्मेलन प्रारंभ हुआ। चुनाव को देखते हुए जिला पंचायत परिसर में बेहद पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। जिला पंचायत के सामने के तमाम रास्तों को सील कर दिया गया था और किसी भी व्यक्ति को इसमें प्रवेश की अनुमति नहीं थी। पूरे इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। मीडीयाकर्मियों को भी निर्वाचन प्रक्रिया में प्रवेश की अनुमति नहीं थी और तमाम मीडीयाकर्मी जिला पंचायत कार्यालय के बाहर मौजूद थे।

नियमानुसार,दोपहर पौने दो बजे जिला पंचायत अध्यक्ष कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र कटारिया,सैलाना विधायक हर्षविजय गेहलोत,आलोट विधायक मनोज चावला और पारस सकलेचा के नेतृत्व में कोर्ट गेट के सामने मौजूद कांक्ष निर्वाचन के परिणाम घोषित किए जाने थे,लेकिन दो बजे तक परिणामों की घोषणा नहीं किए जाने से कांग्रेस नेताओं का आक्रोश बढने लगा। शहर कांग्रेस समर्थकों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी प्रारंभ कर दी। कांग्रेस नेताओं का आरोप था कि कांग्रेस की सुनिश्चित जीत को बिगाडने के चक्कर में प्रशासन द्वारा गडबडी की जा रही है और इसी वजह से परिणाम घोषित नहीं किए जा रहे है। कांग्रेस नेताओं की नारेबाजी को शांत करने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील पाटीदार पंहुचे,उन्होने कांग्रेस नेताओं को शांत करने का प्रयास किया। कांग्रेस नेताओं की मांग थी कि उनके निर्वाचित विधायकों को भीतर जाने दिया जाए,लेकिन प्रशासन ने उनकी मांग को ठुकरा दिया। ठीक दो बजकर नौ मिनट पर कलेक्टर नरेन्द्र सूर्यवंशी ने लाउड स्पीकर पर चुनाव परिणामों की घोषणा की। कलेक्टर की घोषणा के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष पद के निर्वाचन में कुल सौलह सदस्यों ने मतदान किया,जिनमें से तीन मत निरस्त कर दिए गए। शेष बचे तेरह मतों में से छ: कांग्र्रेस को,जबकि सात मत भाजपा प्रत्याशी को मिले। इस प्रकार भाजपा प्रत्याशी लालाबाई पति शंभूलाल को विजयी घोषित किया गया।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की जीत तय थी। जिला पंचायत सदस्यों को निर्वाचन में भाजपा समर्थित सात प्रत्याशी जीते थे,जबकि चार सदस्य जयस के और तीन सदस्य कांग्रेस के जीते थे। दो निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की थी। दोनो निर्दलीय प्रत्याशियों और जयस के चार प्रत्याशियों ने कांग्रेस को समर्थन देना तय किया था। इस प्रकार कांग्रेस प्रत्याशी रुक्मणि बाई पति रमेश मालवीय को कुल 9 मत मिलना तय था और कांग्रेस का अध्यक्ष प्रत्याशी की जीत तय थी,लेकिन प्रशासन ने कांग्रेस के तीन मतदाताओं के मत निरस्त करवा दिए। इस प्रकार भाजपा ने जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया। कलेक्टर द्वारा परिणाम की घोषणा के बाद कांग्रेस नेताओं ने लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र कटारिया ने कहा कि जिला प्रशासन भाजपा के एजेन्ट के रुप में काम कर रहा है। कांग्रेस विधायक हर्ष विजय गेहलोत और मनोज चावला ने भी इसे भाजपा की गुण्डागिर्दी करार दिया। कांग्र्रेस नेताओं ने भाजपा सरकार की इस दादागिरी के खिलाफ संघर्ष करने की बात कही है।

प्रीमियम तत्काल योजना की शुरुआत करने पर विचार 

प्रीमियम तत्काल योजना की शुरुआत करने पर विचार 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रेलवे जल्द बड़ा फैसला लेने जा रहा है। जिसका लाखों यात्रियों पर बड़ा असर पड़ेगा। भारतीय रेलवे अपने यात्रियों के लिए समय-समय पर कई फैसले लेता है। इसी कड़ी में रेलवे भविष्य में सभी ट्रेनों में प्रीमियम तत्काल योजना की शुरुआत करने पर विचार कर रहा है। दरअसल, रेलवे प्रीमियम तत्काल योजना के तहत कुछ सीटें आरक्षित रखता है। यात्रियों को इन टिकटों को बुक करने के लिए कुछ अतिरिक्त राशि देनी होती है। ऐसे में यदि यह सेवा सभी ट्रेनों में शुरू होती है तो रेलवे के लाखों यात्रियों पर असर पड़ सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार, फिलहाल करीब 80 ट्रेनों के लिए प्रीमियम तत्काल बुकिंग का विकल्प उपलब्ध है। सभी ट्रेनों में कोटा लागू करने के कदम से रेलवे को अधिक राजस्व प्राप्त करने में मदद मिलेगी। इससे किराया रियायतों की वजह से रेलवे को पड़ रहे बोझ को संतुलित करने में भी मदद मिलेगी।

इन नियमों में भी किया जा सकता है बदलाव...

साल 2020-21 में रेलवे ने तत्काल और प्रीमियम तत्काल बुकिंग से 500 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की है। .इस बीच, रेलवे वरिष्ठ नागरिकों के लिए किराया रियायतें भी बहाल कर सकता है, जिन्हें कोविड-19 महामारी के बीच 2020 में वापस ले लिया गया था । हालांकि, वरिष्ठ नागरिक सब्सिडी मानदंड में बदलाव के साथ वापस आ सकती है, जिसमें महिलाओं के लिए पात्र आयु को 58 वर्ष से बढ़ाकर 70 वर्ष और महिलाओं के लिए 60 वर्ष करना शामिल है।  इसके अलावा, सूत्रों ने बताया कि वरिष्ठ नागरिक रियायत केवल सामान्य और स्लीपर श्रेणी के गैर-एसी वर्गों के टिकटो के लिए बहाल किए जाने की संभावना है।

देशभक्त व रोजगार हासिल करने योग्य बनाना, उद्देश्य

देशभक्त व रोजगार हासिल करने योग्य बनाना, उद्देश्य

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी स्कूली शिक्षा का उद्देश्य छात्रों को अच्छा मनुष्य, देशभक्त और रोजगार हासिल करने योग्य बनाना है। ‘हैप्पीनेस’ पाठ्यक्रम के चार साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में केजरीवाल ने कहा कि जब वह सत्ता में आए थे, तब स्कूलों की स्थिति खराब थी और बोर्ड की परीक्षा के परिणाम भी अच्छे नहीं आते थे। उन्होंने कहा, ‘‘ लेकिन अब हम अच्छा कर रहे हैं।

हमने विभिन्न पाठ्यक्रम जारी किए हैं और शैक्षणिक दबाव को कम किया है। ‘हैप्पीनेस’ कक्षाओं से बच्चों का तनाव कम हुआ और इसलिए दिल्ली में छात्रों की आत्महत्या का कोई मामला भी नहीं सामने आया।’’ मुख्यमंत्री ने बताया कि वे छात्रों को ऐसा बनाना चाहते हैं, जो ‘‘नफरत’’ नहीं बल्कि देश में ‘‘प्रेम के संदेश’’ का प्रचार करें। केजरीवाल ने कहा कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी ने भी दिल्ली सरकार की ‘हैप्पीनेस’ कक्षाओं में हिस्सा लिया था और वह उससे काफी प्रभावित भी हुई थीं।

मुर्मू के निर्वाचन ने राज्य की पहचान में अध्याय जोड़ा 

मुर्मू के निर्वाचन ने राज्य की पहचान में अध्याय जोड़ा 

इकबाल अंसारी 

भुवनेश्वर। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि देश की 15वीं राष्ट्रपति के रूप में ‘‘मिट्टी की बेटी’’ द्रौपदी मुर्मू के निर्वाचन ने राज्य की गौरवशाली पहचान में एक नया अध्याय जोड़ दिया है। ओडिशा के मुख्यमंत्री बनने के बाद पिछले 22 साल में अपने हस्ताक्षर वाले पहले लेख में पटनायक ने मुर्मू के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सुखमय अनुभव को साझा किया। मुर्मू देश के शीर्ष संवैधानिक पद पर आसीन होने वाली राज्य की पहली नागरिक हैं। पटनायक के लेख को उड़िया के सभी प्रमुख समाचार पत्रों में प्रकाशित किया गया था। पटनायक ने मुर्मू के शपथ ग्रहण के दौरान बोले गए शब्दों का जिक्र करते हुए अपने लेख की शुरुआत की। उन्होंने लिखा, ‘‘ए माट रा कन्या (मैं इस मिट्टी की बेटी)… मैं द्रोपदी मुर्मू ईश्वर के नाम पर शपथ लेती हूं….।

’’ पटनायक ने लिखा, ‘‘मुर्मू का देश की राष्ट्रपति के पद की शपथ लेना, हर ओडिशावासी के लिए गर्व की बात है। इस ऐतिहासक पल का साक्षी बनना मेरे लिए गर्व की बात है।’’ पटनायक ओडिशा के उन 100 लोगों में शामिल थे, जो 25 जुलाई को मुर्मू के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह पद की शपथ लेने के बाद राष्ट्र के नाम दिए गए मुर्मू के संबोधन से बहुत प्रभावित हुए, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके निर्वाचन ने साबित कर दिया है कि देश का गरीब व्यक्ति भी सपने देख सकता है और उन्हें हासिल कर सकता है। ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) के प्रमुख पटनायक ने कहा, ‘‘ओडिशा के सभी 4.5 करोड़ लोगों के लिए यह गर्व की बात है कि सांस्कृतिक रूप से समृद्ध मयूरभंज जिले की एक महिला ने यह उपलब्धि प्राप्त की।… मुर्मू ने हर ओडिशावासी को गौरवान्वित किया है।’’ उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रपति का एक उल्लेखनीय पहलू यह है कि वह एक मां भी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘सृष्टि के सृजन की प्रतीक के रूप में मां को हमारे समाज में हमेशा एक विशेष स्थान मिला है। सभी माएं समाज और राष्ट्र के लिए शक्ति का स्रोत रही हैं।’’ पटनायक ने राज्य सरकार के ‘‘महिला समर्थक’’ और ‘‘आदिवासी समर्थक’’ प्रयासों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि राज्य में शहरी और ग्रामीण दोनों स्थानीय निकाय चुनावों में महिलाओं के लिए पहले ही 50 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया जा चुका है और विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में उनके लिए 33 प्रतिशत आरक्षण करने की दिशा में काम चल रहा है। पटनायक ने कहा कि उनके दो दशकों से अधिक के कार्यकाल के दौरान उनकी प्राथमिकता गरीबों, उपेक्षित महिलाओं और समाज के पिछड़े वर्गों, विशेषकर आदिवासी भाइयों और बहनों का उत्थान रही है।पटनायक ने कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के रूप में मुर्मू के नाम का प्रस्ताव रखा, तो मैंने तुरंत इसका स्वागत किया।’’ उन्होंने कहा कि उन्होंने ओडिशा के सभी विधायकों से मुर्मू का समर्थन करने की अपील की थी। पटनायक ने ओडिशा के लोगों से मुर्मू के दृष्टिकोण को अपनाने का आह्वान करते हुए अपने लेख को समाप्त किया।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-294, (वर्ष-05)

2. शनिवार, जुलाई 30, 2022

3.शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः05:20, सूर्यास्त: 07:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक कासहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालयहोगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीरसिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.inemail:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवलव्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...