रविवार, 24 मई 2020

रसूलपुर में 'विष्णु' की प्राचीन मूर्ति मिली

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में भगवान विष्णु की प्राचीन मूर्ति मिली है। रसूलपुर बडागव गांव में शनिवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत यहां कार्यरत मजदूरों को एक तालाब की खुदाई के दौरान भगवान विष्णु की एक प्राचीन मूर्ति मिली।


गाव में लगभग 150 मजदूर खुम्भी तालाब की खुदाई कर रहे थे। इसी दौरान एक मजदूर को मूर्ति मिली, जिसके बाद ग्राम प्रधान और खंड विकास अधिकारी को सूचित किया गया। जिले के अधिकारी मौके पर पहुंचे और प्राचीन मूर्ति को अपने कब्जे में लेने के साथ ही भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधिकारियों को सूचित किया।


जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा ने कहा, “12वीं शताब्दी की बताई जा रही मूर्ति के बारे में एएसआई के अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है।” वर्तमान में मूर्ति ट्रेजरी विभाग के पास है और एएसआई व इलाहाबाद संग्रहालय की टीमें रविवार को इसकी जांच कर सकती है।


ग्रामीणों के अनुसार, प्राप्त हुई भगवान विष्णु की मूर्ति चतुर्भुज है, जिसमें भगवान ने हाथों में शंख, गदा और चक्र धारण किया हुआ है।


बृजेश केसरवानी


बरेली में 3 और वायरस संक्रमित, जरूरत

बरेली। जिले में तीन और कोरोना संक्रमित लोगों की पुष्टि हुई है। इसमें एक फरीदपुर का और  दूसरा खेलन जागीर का है। एक अन्य मरीज की मौत हो चुकी है। 20 मई को उनकी किडनी फेल होने की वजह से मौत हो चुकी है। उनकी जांच रिपोर्ट अब आई है। यह शुकराना के रहने वाले थे।


जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. रंजन गौतम के मुताबिक मरीज की अन्य बीमारियों की वजह से मौत हुई है। इसलिए इसे कोरोना पॉजिटिव नहीं माना जाएगा। अब तक बरेली में कोरोना वायरस के 23 मामले सामने आ चुके हैं।


मृतक संख्या-3,720, संक्रमित-1,25,101



नई दिल्ली। लॉकडाउन 4 के बाद भी देश में कोरोना की रफ्तार थमी नहीं है। हर रोज देश में पहले के मुकाबले ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1,25,101 है जबकि 51,784 लोग इस जानलेवा बीमारी से ठीक हो चुके हैं। कोविड-19 ने 3,720 लोगों की जान ले ली है। पिछले 24 घंटे में एक दिन में सबसे ज्यादा 6,654 कोरोना के नए केस मिले हैं। इस दौरान 137 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे में 3,250 लोग ठीक भी हुए हैं। आइए जानते हैं राज्यवार कोरोना मरीजों की संख्या।



 








Quick Reply

स्वास्थ विभाग 30 और बेड बढ़ाएगा

प्रयागराज। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से पीड़ित लोगों की संख्या में इजाफा होने के कारण प्रयागराज स्थित कोविड-19 के एल वन अस्पताल कोटवा में स्वास्थ्य विभाग 30 और बेड बढाएगा। नोडल अधिकारी एल-वन कोटवा डा वी के मिश्रा ने बताया कि 30 और बेड बढ़ जाने से इनकी संख्या दो गुनी हो जाएगी।


उन्होने बताया कि झूंसी के कोटवा सीएचसी को कोविड़-19 के लिए एल-वन अस्पताल बनाया गया है। यहां कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार हो रहा है। डा मिश्रा ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। एक समय 30 बेडों वाले अस्पताल में 34 मरीज हो गये थे।


उसके बाद यहां बेड की संख्या बढाने की कवायद शुरू की गयी। अस्पताल में 30 बेड और बढाए जाने के साथ अन्य सुविधाएं बढाई जा रही है। बेड बढ़ाने का कार्य एक दो दिन में पूरा कर लिया जाएगा। उन्होने बताया कि पहले इसे मंडल का कोविड़ 19 का एल वन अस्पताल बनाया गया था। उस समय यहां जिले के साथ प्रतापगढ़, कौशाम्बी और फतेहपुर के संक्रमित मरीज रखे जाते थे। प्रयागराज समेत इन क्षेत्रों में अचानक मरीजों के बढ़ोत्तरी के साथ और बेड बढ़ाने की आवश्यकता पड़ी।


बृजेश केसरवानी


रुद्रपुरः 1 ही दिन में 9 संक्रमित, हड़कंप

रुद्रपुर। उधम सिंह नगर जिले में एक ही दिन में 9 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है जानकारी के मुताबिक संक्रमित मरीज जसपुर काशीपुर रुद्रपुर और पिथौरागढ़ जनपद के रहने वाले हैं सभी लोग कुछ समय पहले महाराष्ट्र से लौटे थे जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी का स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया था।  जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी के सैंपल हल्द्वानी सुशीला तिवारी भेजे गए थे आज 9 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 43 हो चूकि है। जिसमे से 5 संक्रमित मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है।


उत्तराखंडः पॉजिटिवो का आंकड़ा हुआ-298


  • देहरादून। राज्य में कोरोना पीड़ितों का आकंड़ा दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है। आज दोपहर 3 बजे तक प्रदेश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 298 पर पहुंच गई है। जिसमें केवल आज के ही दोपहर तक 53 मामले है। लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों के चलते राज्य में कई जिलों का जोन बदलने की तैयारी है। आज शाम तक इसकी घोषणा हो सकती है। सबसे अधिक कोरोना पीड़ितों के मामले नैनीताल जनपद से है। आज दोपहर 3 बजे तक नैनीताल जिले में 32 नये मामलों की पुष्टि हुई है और कल नैनीताल में 57 मामले एक दिन में सामने आये थे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज दोपहर तीन बजे जारी हैल्थ बुलेटिन के अनुसार अल्मोड़ा 5,चमोली में 3,चम्पावत में 1,देहरादून में 7,पौड़ी गढ़वाल में 1, टिहरी गढ़वाल में 3, उधम सिंह नगर में 1 मामले सामने आए है। आज दोपहर तीन बजे तक प्रदेश में 53 मामले सामने आ चुके है। उसके बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आकड़ा 298 पर जा पहुंचा है। कोरोना पीड़ितों में तीन लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 56 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके है। वर्तमान में कोरोना के 238 केस एक्टिव है।


'लॉकडाउन' ने मुश्किलों में इजाफा किया

इटावा। कोरोना संक्रमण के चलते देशव्यापी लाकडाउन ने सरकार और आम आदमी की मुश्किलों में इजाफा किया है लेकिन आपदा की इस घड़ी ने प्रकृति के सौंदर्य को बरकरार रखने के लिये नियमित अंतराल में मानव दखलदांजी पर रोक लगाने को लेकर एक नयी बहस को जन्म दे दिया है। लाकडाउन के तीसरे चरण की समाप्ति तक वायु और जल प्रदूषण में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गयी।


इस दौरान न सिर्फ नदियां पवित्र और निर्मल हाे गयी बल्कि हवा भी साफ स्वच्छ हो गयी। जल और नभ में आक्सीजन के स्तर में बढोत्तरी दर्ज की गयी वहीं पराबैगनी किरणों को धरती पर आने से रोकने वाली ओजोन पर्त में सुधार देखने को मिला। पिछले कुछ दशकों से अप्रैल के महीनें से ही पड़ने वाली गर्मी इस वर्ष मई के मध्य तक महसूस की गयी।


पर्यावरणविद संजय सक्सेना ने कहा कि बेशक दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन से आम आदमी मुसीबत में हो लेकिन इसके बावजूद प्रकृति के सुधार के लिए हर साल कम से कम 21 लॉकडाउन जरूर बनता है।


इटावा महोत्सव में आयोजित होने वाली पर्यावरण छात्र संसद के संयोजक संजय ने कहा कि कोरोना वायरस के दुनिया संकट में है लेकिन पर्यावरण को लेकर यह लॉकडाउन वरदान बनकर सामने आया। पर्यावरण की स्थिति सुधरी है प्रदूषण दूर हुआ है,हरियाली बढ़ रही है तथा तापमान पर भी अंतर पड़ रहा है।


पिछले वर्षों में तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही थी जिसके चलते लोग परेशान थे। हर बार यह उम्मीद रहती थी कि शायद इस बार पारा कम चढ़े लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा था। हर साल होने वाला पौधारोपण अभियान भी पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने में बहुत ज्यादा कामयाब नहीं हो सका।


पॉजिटिव के परिजनों की रिपोर्ट निगेटिव


मऊआइमा कोरोना पॉजिटिव के घर वालों की रिपोर्ट आई निगेटिव

 

मऊआइमा/प्रयागराज। जिले के मऊआइमा ब्लाक में ग्राम सभा घीनपुर के अंतर्गत पाए गए दो कोरोना पॉजिटिव जिनका नाम  आशीष कुमार  पुत्र  अशोक कुमार और उनकी बहन  को कोटवा  L1 हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है और उसके  घरवालों तथा बाल काटने वाले नाई को कोरोटाईन करने के लिए कालिंदीपुरम ले जाया गया था, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई और उन सब को सकुशल घर पहुंचाया गया और उन्हें कहा गया कि वह अपने घर में रहे 21 दिन तक बाहर ना निकलें  जब तक कोरोटाईन का समय पूरा ना हो जाय इस तरह अभी तक प्रशासन द्वारा  उनके लिए कोई भी खाने पीने की व्यवस्था नहीं की गई वह लोग 3 दिनों से घर में बंद है।

 

उत्तर प्रदेश । सरकार ने आइसोलेशन वॉर्ड में मोबाइल फोन बैन का आदेश वापस लिया। राज्य सरकार ने शनिवार को ऐसा आदेश दिया था।।
संदीप कुमार निवासी हंडिया , मुम्बई से आया था । सैम्पल के लिए 19 को कलिंदीनदिपुराम में कवारेन्टीन के लिए लाया गया था। 20 को सैंपल लिया गया। कल रिपोर्ट negative आ गयी थी। पूर्णतः स्वस्थ था । आज अचानक मृत्यु हो गयी, संभवतः heart attack हुआ है। post mortem के लिए भेजा जा रहा है।



बृजेश केसरवानी

कोविड-19 के उद्गम की जांच होः तिवारी

चंडीगढ़। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने आज कहा कि कोविड-19 के उद्गम की जांच होनी चाहिए और पता लगाना चाहिए कि क्या यह प्राकृतिक जीव से आयी या लैब ड्रिवन थी। तिवारी ने यह इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (आईओसी) को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि विश्व समुदाय अब तक कोविड-19 के उद्गम के लिए अंतरराष्ट्रीय जांच नहीं बिठा सकता है।


 

उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड की अध्यक्षता का इस्तेमाल विभिन्न देशों और संस्थाओं का अंतरराष्ट्रीय गठजोड़ बनाकर चीन को कोविड-19 के उद्गम की तह तक पहुंचने पर मजबूर करेगा। तिवारी ने यह भी कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन समय पर चेतावनियां और यात्रा एडवाइजरी न देने व वायरस को नाम देने के मामले में चीन की मानना भी गलत था।


उन्होंने कहा कि इसी तरह मार्च में दुनिया भर में महामारी आतंक मचा रही थी पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को 21वीं सदी के इस सबसे भयावह मानवीय संकट पर चर्चा के लिए बैठक नहीं करने दिया गया क्योंकि चीन के पास परिषद की अध्यक्षता है। उन्होंने आरोप लगाया कि चीन के इस रवैये के कारण बीमारी को लेकर महामारी के प्रति वह वैश्विक प्रतिसाद नहीं रहा जो होना चाहिए था।


तिवारी ने कहा कि इसी तरह वैश्विक आर्थिक संकट के बाद बनाई गई जी-20 भी कुछ ठोस नहीं कर पाई। तिवारी ने कहा कि वैश्विक प्रशासन के एक नये ढांचे को कोविड-19 की तबाही से निकलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि महामारी को लेकर प्रतिसाद पूरी तरह स्थानीय न भी कहें तो राष्ट्रीय, उप राष्ट्रीय रहा अर्थात हर राष्ट्र अपने लिए, हर राज्य-प्रांत अपने लिए और अंत में हर गांव व नगर अपने लिए सोचने पर मजबूर हुआ।


तिवारी ने सभी आईओसी अध्यक्षों से उन देशों से जहां वह रह रहे हैं, भारतीय एंबेसी-कंसुलेट से वहां फंसे व देश लौटने के इच्छुक लोगों की सूची प्राप्त करने को कहा। उन्होंने कहा कि इनकी वहां से निकासी में देर होगी इसलिए आईओसी अन्य भारतीय संस्थाओं से मिलकर इनकी आवश्यक मदद करे ताकि वह लोग भारत लौट सकें क्योंकि वहां कइयों के पास पैसे व जीवनावश्यक वस्तुओं की भी कमी का संकट है।


मनोज सिंह ठाकुर


47 डिग्री सेल्सियस को छूएगा 'तापमान'

नई दिल्ली। मई के आखिरी सप्ताह में आग जैसी महसूस होने वाली तेज धूप के कारण गर्मी बढ़ गई है। देश के ज्यादातर हिस्सों की तरह ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी गर्मी जमकर सितम ढा रही है। तेज धूप के कारण दोपहर की हवा गर्म होकर लू बन गई है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार आगामी 4-5 दिनों तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। इन 5 दिनों में गर्मी से राहत पाने के लिए लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं।


दिल्ली में भीषण गर्मी के कारण भारतीय मौसम विभाग ने रविवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया, जबकि शनिवार को येलो अलर्ट जारी किया गया था। मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों में और ज्यादा गर्म हवाएं चलने का अनुमान है।


47 डिग्री सेल्सियस को छू सकता है तापमान
आईएमडी के वैज्ञानिक डॉ. एन कुमार ने बताया कि,  पंजाब, हरियाणा, दक्षिणी यूपी, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और तटीय आंध्र प्रदेश में तापमान में वृद्धि जारी रहेगी। अगले 5 दिनों में, इन क्षेत्रों में हीटवेव से लेकर गंभीर हीटवेव देखने को मिलेंगे। कुछ स्थानों पर तापमान 47 डिग्री सेल्सियस को छू सकता है।


27 मई तक जारी रहेगा गर्मी का प्रकोप
दिल्ली-एनसीआर में 24 से 27 मई के बीच उबलती गर्मी जारी रहेगी। आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के हेड कुलदीप श्रीवास्तव द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी हवाओं के निचले स्तर पर चलने से 28 मई को तेज गर्मी से थोड़ी राहत मिल सकती है। उनके अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में 29 और 30 मई को तेज आंधी के साथ बारिश हो सकती है।


यूनिवर्सिटी-कॉलेज के सिलेबस में बदलाव

लखनऊ। कोरोना महामारी से पूरा देश जूझ रहा है, ऐसे में तमाम लोगों की नौकरियों पर भी खतरा मंडरा रहा है। तमाम प्राइवेट कंपनियों की हालत भी खस्ता हो रही है। पर योगी सरकार इन परिस्थितियों में प्रदेश के युवाओं के लिए रोज़गार के अवसर पैदा करने में लगी हुई है। योगी सरकार की कोशिश है कि युवाओं में ऐसी योग्यता पैदा की जाए जिससे युवा जॉब सीकर के बजाय ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनें। इसके लिए कॉलेज व यूनिवर्सिटीज़ में पढ़ाई करने वाले छात्रों के सिलेबस में बदलाव करने की योगी सरकार की योजना है।


कॉलेज और यूनिवर्सिटी के सिलेबस में होगा बदलाव
इसके लिए योगी सरकार ने कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के सिलेबस में बदलाव करने की योजना बनाई है। योगी सरकार महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों के सिलेबस में ‘स्टार्ट-अप’ को नए विषय के रूप में जोड़ना चाहती है। इससे युवाओं को स्वरोज़गार की दिशा में बढ़ने में मदद मिलेगी। युवा नौकरी खोजने के बजाय खुद का काम स्टार्ट कर पाएंगे और कई अन्य लोगों को भी नौकरी पर रखने में सक्षम हो पाएंगे।


यू यूपीस्टार्टअप हब बनाने की है तैयारी


युवाओं को बेहतर रोज़गार के साधन उपलब्ध कराने के लिए योगी सरकार प्रदेश को स्टार्ट अप हब बनाना चाहती है। इसके लिए प्रदेश में 10 हज़ार से भी ज्यादा स्टार्ट-अप इकाई स्थापित करने की सरकार की योजना है। वहीं योगी सरकार चीन से अपनी इकाई को बंद करके भारत का रुख करने वाली कई विदेशी कंपनियों से भी लगातार संपर्क कर रही है ताकि उन्हें उत्तर प्रदेश में लाया जा सके। इससे भी युवाओं के लिए रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे।


 


देश में 2 दिन मनाई जाएगी 'ईद'


  • नई दिल्ली। 23 मई को चांद नहीं देखा जा सका। इसलिए अब 24 मई को चांद देखने के बाद 25 मई दिन सोमवार को ईद मनाई जाएगी। मतलब 30 दिनों से रोजा रख रहे रोजेदारों को ईद के लिए एक दिन और इंतजार करना होगा। साथ ही 31वें दिन 24 मई को रोजा रखना होगा।


दुनिया में चांद देखने के वक्त अलग-अलग होता है इसलिए ईद मनाए जाने की तारीख भी ऊपर-नीचे होती है। देश के बाकी हिस्सों में अब 24 मई, रविवार को चांद देखने केे बाद 25 मई 2020, सोमवार को पवित्र त्योहार ईद मनाई जाएगी। रमजान के पाक माह में व्यक्ति गर्मियों में भूख-प्यास बर्दाश्त करता है, उसी प्रकार जीवन में घटने वाली सभी परिस्थितियों को बर्दाश्त करना होता है। ईद उल-फितर त्याग की भावना समझता है, यह पर्व बताता है कि इंसानियत के लिए अपनी इच्छाओं का त्याग करना चाहिए, ताकि एक बेहतर समाज को बनाया जा सके। हमेशा भाईचारे के साथ रहना चाहिए ताकि हर घर में सुख और शांति रहे।


जानें- ईद उल-फितर का मकसद


पवित्र कुरान के अनुसार, रजमान के महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह अपने बंदों को बख्शीश और इनाम देता है। बख्शीश और इनाम देता है। बख्शीश और इनाम के इस दिन को ईद-उल-फितर कहा जाता है। इस दिन लोग गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करने के लिए एक खास रकम निकालते हैं, जिसे जकात (दान) कहते हैं। इस जकात उनकी जरूरतों को पूरा किया जाता है और जिससे इस पर्व का बराबरी का मकसद पूरा हो सके।


इमाम बुखारी ने कहा ईद पर सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें


इस बीच दिल्ली स्थिति जामा मस्जिद के शाही इमाम बुखारी ने बताया कि यह भी जरूरी है कि इस कोरोना काल में हम एहितियात बरतें और सामाजिक दूरी का पूरी तरह से पालन करें। हमें ईद पर हाथ मिलाने और गले लगने से परहेज करना चाहिए। सभी लोग सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें।


अंबानी को चीन के भुगतान का आदेश

यह मामला रिलायंस कम्युनिकेशंस द्वारा ग्लोबल फाइनेंसिंग के लिए 2012 में लिए गए कर्ज पर दी गई कथित व्यक्तिगत गारंटी से संबंधित है।


लंदन। ब्रिटेन की एक अदालत ने रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी को चीन के तीन बैंकों को 21 दिन के भीतर 71.7 करोड़ डॉलर का भुगतान करने को कहा है। इन बैंकों को एक ऋण करार के तहत अंबानी से यह राशि वसूल करनी है। कोविड-19 महामारी के मद्देनजर लागू प्रक्रियाओं के अनुरूप सुनवाई करते हुए लंदन में इंग्लैंड और वेल्स हाईकोर्ट के वाणिज्यिक खंड के जस्टिस निजेल टियरे ने व्यवस्था दी कि अंबानी जिस व्यक्तिगत गारंटी को विवादित मानते हैं वह उन पर बाध्यकारी है।


जस्टिस टियरे ने आदेश में कहा कि यह घोषणा की जाती है कि बचाव पक्ष (अंबानी) पर गारंटी बाध्यकारी है. ऐसे में अंबानी को बैंकों को गारंटी के रूप में71,69,17,681.51 डॉलर चुकाने होंगे। अनिल अंबानी के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह मामला रिलायंस कम्युनिकेशंस द्वारा ग्लोबल फाइनेंसिंग के लिए 2012 में लिए गए कर्ज पर दी गई कथित व्यक्तिगत गारंटी से संबंधित है।


प्रवक्ता ने कहा, ‘स्पष्ट किया जाता है कि यह अंबानी का व्यक्तिगत ऋण नहीं है। इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना ने यह दावा कथित रूप से उस गारंटी के आधार पर किया है जिस पर अंबानी ने कभी हस्ताक्षर नहीं किए थे। साथ ही अंबानी ने लगातार कहा है कि उन्होंने अपनी ओर से किसी को यह गारंटी देने के लिए अधिकृत नहीं किया।


प्रवक्ता ने कहा कि जहां तक ब्रिटेन की अदालत के फैसले का सवाल है निकट भविष्य में भारत में इसके प्रवर्तन की कोई संभावना नहीं है। अंबानी इस मामले में कानूनी सलाह ले रहे हैं जिसके बाद वह आगे की कार्रवाई करेंगे। यह मामला चीन के इंडस्ट्रियल एंड कमिर्शियल बैंक ऑफ चाइना लि. मुंबई शाखा, चाइना डेवलपमेंट बैंक और एक्जिम बैंक ऑफ चाइना से जुड़ा है। फरवरी में इन बैंकों के समर्थन में सशर्त आदेश जारी किया गया था।


जज डेविड वाक्समैन ने सात फरवरी को इस मामले में सुनवाई करते हुए 2021 में पूरी सुनवाई तक छह सप्ताह में 10 करोड़ डॉलर के भुगतान का आदेश दिया था। इसके साथ ही जज ने कहा था कि वह अंबानी के बचाव में कही गई इस बात को नहीं मान सकते कि उनका नेटवर्थ लगभग शून्य है या उनका परिवार संकट की स्थिति में उनकी मदद नहीं करेगा।इस सप्ताह आए आदेश में पूर्व में तय अगले साल 18 मार्च को सुनवाई की तारीख को रद्द करते हुए बैंकों के पक्ष में अदालती लागत का भी आदेश दिया। इससे कुल बकाया राशि में 7,50,000 पाउंड और जुड़ गए हैं। अदालत के आदेश के अनुसार अंबानी को 71.7 करोड़ डॉलर की राशि चुकानी है. इसमें 54,98,04,650.16 डॉलर का मूलधन, 22 मई तक बकाया 5,19,23,451.49 डॉलर का ब्याज और 11,51,89,579.86 करोड़ डॉलर का डिफॉल्ट ब्याज शामिल है। भविष्य में अंतिम राशि हासिल करने का विकल्प खुला छोड़ते हुए आदेश में कहा गया, ‘गारंटी के तहत दावेदार (बैंकों) को बचाव पक्ष (अंबानी) पर बकाया अंतिम राशि आरकॉम इनसॉल्वेंसी एक्शन के परिणाम के अधीन आंकी जाएगी।.तीन चीनी बैंकों की ओर से इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड मुंबई ब्रांच ने फरवरी 2012 में लगभग 92.5 करोड़ डॉलर के पुनर्वित्तपोषण ऋण के मामले में एक व्यक्तिगत गारंटी के कथित उल्लंघन पर अंबानी के खिलाफ संक्षिप्त फैसले की मांग की थी।


अंबानी ने गारंटी का अधिकार देने की बात से इनकार कर दिया था. हालांकि, ब्रिटिश अदालत कर्ज को लेकर हुए समझौते से सहमत हुई थी।


उत्तर प्रदेशः 24 घंटे में बनाया रिकॉर्ड

कमलेश कुमार चौधरी की रिपोर्ट


लखनऊ। बीते 24 घंटों में उत्तर प्रदेश में रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित 14 लोगों की मौत हो गई। यह एक दिन में प्रदेश में कोरोना से हुई सबसे ज्यादा मौतें हैं। इससे पहले गुरुवार तक कुल 138 मौतें हुई थीं। शुक्रवार को यह आंकड़ा बढ़कर 152 पहुंच गया। वहीं इस बीच पूरे प्रदेश भर में 232 नए मरीज सामने आए हैं। इनमें अकेले जौनपुर के 43 मरीज हैं। जिसके बाद अब तक यूपी में 5735 पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें 1361 प्रवासी मजदूर जो संक्रमित हैं। शुक्रवार को 120 मरीज ठीक होकर अस्पताल से घर चले गए। अब तक कुल 3324 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। वहीं पूरे देश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 6,088 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,18,447 हो गई है। वैश्विक महामारी के कारण 148 और लोगों की मौत के बाद इससे मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 3,583 हो गई है।


सबसे ज्यादा 33 मौतें आगरा में


अब तक हुईं 152 मौतों में सबसे ज्यादा 33 जानें आगरा में गई हैं। मेरठ में 21,मुरादाबाद में 11, अलीगढ़ में 10, कानपुर नगर में 9, फिरोजाबाद में छह, नोएडा में पांच और झांसी, मथुरा, संतकबीर नगर व वाराणसी में चार-चार मौतें हुई हैं। प्रयागराज, अयोध्या, गोरखपुर में तीन-तीन मौतें हो चुकी हैं।


जौनपुर में 43 प्रवासी संक्रमित


जौनपुर में शुक्रवार को 43 प्रवासियों के संक्रमित मिलने से हड़कंप मच गया। जिसके बाद पूर्वांचल में तीन जिलों में शुक्रवार को मिले संक्रमितों की संख्या 48 हो गई। जौनपुर के केराकत, मड़ियाहूं, सिरकोनी, जलालपुर समेत कई ग्रामीण क्षेत्र में ज्यादा संक्रमित मिले हैं। इनमें से ज्यादातर संक्रमित होम क्वारंटीन थे। इसके साथ ही जौनपुर में अब तक मिले मरीजों की संख्या 91 हो गई है। इसमें से 11 मरीज ठीक हो गए हैं, जबकि दो की मौत हो चुकी है।


सामने आए 232 नए मामले


बीते 24 घंटों में जो 232 मामले सामने आए हैं उनमें जौनपुर के 43 मरीजों के अलावा आगरा में छह , मेरठ चार, कानपुर नगर दो, लखनऊ दो, नोएडा पांच, सहारनपुर आठ, फिरोजाबाद चार, ग़ाजि़याबाद छह, मुरादाबाद दो, बस्ती एक,अलीगढ़ पांच, रामपुर छह, हापुड़ दो, बहराइच दो,बिजनौर तीन,प्रयागराज छह, रायबरेली तीन, मथुरा एक, प्रतापगढ़ दो, सिद्धार्थनगर 12, गाजीपुर 14 , संतकबीरनगर छह,लखीमपुर सात, अमरोहा चार, गोंडा तीन, मुजफ्फरनगर चार, सीतापुर पांच, पीलीभीत तीन, बदायूं 17, बलरामपुर दो, जौनपुर 43, बरेली चार, श्रावस्ती एक, इटावा आठ, मैनपुरी एक, फतेहपुर चार, महाराजगंज एक, हरदोई एक, औरैया दो, बलिया एक, भदोही तीन, कानपुर देहात एक, शाहजहांपुर एक, उन्नाव छह, हाथरस एक, चित्रकूट एक और अयोध्या में छह मरीज हैं।


3324 मरीज हुए डिस्चार्ज


अब तक कुल 3324 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। शुक्रवार को 120 कोरोना संक्रमित मरीज ठीक होकर वापस चले गए हैं। इनमें आगरा 17, मेरठ 18, कानपुर नगर एक, नोएडा पांच, लखनऊ के 14,सहारनपुर के चार, फ़िरोज़ाबाद एक, गाजियाबाद एक, बाराबंकी दो, अलीगढ़ दो, रामपुर चार, बुलंदशहर नौ, हापुड़ पांच, बहराइच एक, बिजनौर दो, प्रयागराज एक, रायबरेली एक, मथुरा पांच, संभल आठ, जालौन 11, कौशाम्बी दो, अमरोहा दो, सुलतानपुर एक, गोंडा एक, बलरामपुर एक, अम्बेडकरनगर एक, बागपत चार, मैनपुरी एक, अमेठी एक, श्रावस्ती दो,कन्नौज एक और औरैया दो मरीज डिस्चार्ज वापस होकर घर चले गए हैं।


कोरोना मीटर यूपी


कुल केस- 5735
नए मरीज- 232
ठीक हुए- 3324
अब तक मौत- 152
जिले संक्रमित- 75
कोरोना मुक्त जिले- 0
संदिग्ध मरीज- 2327


बंगाल सरकार ने असमंजस को बढ़ाया

कोलकाता। 25 मई से शुरू होने वाली घरेलू उड़ान को लेकर महाराष्ट्र के बाद अब पश्चिम बंगाल की सरकार ने भी असमंजस को बढ़ा दिया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि वह केंद्र से कोलकाता और बागडोगरा हवाईअड्डों पर कुछ दिनों के लिए घरेलू उड़ान सेवाएं रोकने के लिए आग्रह करेंगी। ये उड़ान सेवाएं 25 मई से शुरू होने वाली हैं लेकिन राज्य इस समय अम्फान चक्रवात  से होने वाली क्षति के राहत कार्य में व्यस्त हैं।


ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने मुख्य सचिव से नागरिक उड्डयन मंत्रालय को 30 मई तक कोलकाता हवाई अड्डे पर और 28 मई तक बागडोगरा हवाई अड्डे पर सेवाओं को स्थगित करने का अनुरोध करने के लिए कहा है। बता दें कि महाराष्ट्र के एक अधिकारी ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार ने 19 मई के अपने लॉकडाउन  आदेश में अब तक संशोधन नहीं किया है, जिसमें केवल कुछ खास तरह की उड़ानों को ही अनुमति दी गई है।


मुंबई में सोनू सूद के प्रयासों की तारीफें

Add star  

RADHEYSHYAM UPADHYAY


<universalexpress.editor@gmail.com>
24 May 2020 at 14:20
 





मुंबई। इन दिनों देश कोरोना वायरस नाम की मुसीबत से जूझ रहा है। ऐसे मुश्किल समय में कई और तरह की चुनौतियां भी सामने आ रही हैं। वहीं इस वायरस और इसके कारण सामने आने वाली चुनौतियों से लड़ने के लिए पूरा देश एक साथ खड़ा है। बात करें बॉलीवुड की तो इन दिनों एक्टर सोनू सूद के प्रयासों की जमकर तारीफें हो रही हैं। वो कभी लॉकडाउन में गरीबों और जरूरतमंदों को खाना-राशन पहुंचाते दिख रहे हैं तो कभी प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतजाम कर रहे हैं। हाल ही में उनसे मदद पाकर प्रवासी मजदूरों ने उन्हें सोशल मीडिया के जरिए धन्यवाद कहा है। यही नहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी  ने भी उनकी तारीफें की हैं।


सोनू ने अपने से सोशल मीडिया पर जबरदस्त सुर्खियां बटोरी हैं। उन्होंने लोगों के दिल जीत लिए हैं और सोन सूद के फैन सोशल मीडिया पर उनकी तारीफें करते नहीं थक रहे हैं। इसी बीच उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए कुछ प्रवासी मजदूरों के धन्यवाद का जवाब भी दिया है।


वहीं स्मृति ईरानी ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘मुझे 2 दशकों से आपको एक प्रोफेशनल सहकर्मी के तौर पर जानने का मौका मिला सोनू सूद, एक अभिनेता के तौर पर मैं आपकी सफलता को मानती भी हूं लेकिन इस चुनौती भरे वक्त में आपने जो उदारता दिखाई है उर पर मुझे गर्व है और जरूरतमंदो की मदद करने के लिए मैं हाथ जोड़कर आपका धन्यवाद करती हूं।





4 सदस्यों को अदंर बंद कर, लगाई आग

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। कभी-कभी मनुष्य मानसिक दबाव और अन्य  यातनाओं को सहन नहीं कर पाता है। जिसके चलते वह किसी भी हद तक जा सकता है। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। थाना लोनी क्षेत्र अंतर्गत चिरोड़ी निवासी सलीम जो ठेली पर लोनी में ही फल बेचता है। फल विक्रेता सलीम के द्वारा सुबह अपनी पुत्रियां सहिरा (28), ताहिरा (25) व सहिरा की दो पुत्री आलिया (8) व अक्शा (5) को कमरे में सोते वक्त आप के हवाले कर दिया। जानकारीी के अनुसार फल विक्रेता सलीम के द्वारा घर में रखे कपड़ो को एकत्रित कर, उन कपड़ो में आग लगा दी। बाहर से कुंडी लगा कर स्वयं 112 पर कॉल की। मौके पर पुलिस ने पहुँच कर घायलों को गुरु तेग बहादुर अस्पताल दिल्ली भिजवा दिया है। आरोपी सलीम पुलिस हिरासत में है। सलीम को अपनी लड़कियों पर शक है कि ये मेरी बदनामी करा रही थी और ससुराल भी अलीगढ़ नही जा रही थी। मानसिक दबाव और सामाजिक बुराई के कारण यह जघन्य अपराध किया गया है।

डीएम ने एसपी-सीएमओ को दी हिदायत

बलरामपुर। जनपद बलरामपुर में प्रवासी मजदूरों के आगमन एवं कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए जिलाधिकारी बलरामपुर कृष्णा करुणेश व पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ घनश्याम सिंह द्वारा तैयारियों के क्रम में जयप्रकाश नारायण सर्वोदय विद्यालय सेखुईकला एवं जवाहर नवोदय विद्यालय घूघुलपुर का कोविड-19 मरीजों हेतु प्रस्तावित अस्पताल का भ्रमण कर जायजा लिया गया।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अमनदीप डुली, अपर जिलाधिकारी अरुण कुमार शुक्ल, उप जिलाधिकारी बलरामपुर सदर एवं अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित रहे।


एसएसपी ने पुलिस को दिए सख्त दिशानिर्देश

फाईज़ अली सैफी


गाज़ियाबाद। कोविड-19 (कोरोनावायरस) के दृष्टिगत जनपद के एसएसपी कलानिधि नैथानी के आदेश अनुसार जनपद के विभिन्न थानाक्षेत्रों के अंतर्राज्यीय/अंतर्जनपदीय सीमा पर लाॅकडाउन का पूर्णता पालन करने के लिए जनपद पुलिस द्वारा सघनता से चेकिंग अभियान चलाया जा रहा हैं। इतना ही नहीं, उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों और वाहनों के विरुद्ध कार्यवाही भी अमल में बराबर लाई जा रही हैं।

गौरतलब है कि इसी क्रम में आपको अवगत कराते हुए बता दें कि शाम 7 से सुबह 7 बजे तक किसी भी व्यक्ति और वाहनों आदि की आवागमन पर रोक रहेगी। जबकि, केवल आवश्यक गतिविधियों, बीमार व्यक्तियों, सुरक्षा और चिकित्साओं सेवाओं को छोड़कर सभी की आवागमन पर रोक रहेगी।
गौरतलब है कि चार पहिया वाहनों में चालक के अतिरिक्त केवल दो ही व्यक्तियों की अनुमति होगी। इतना ही नहीं, आदेश के अनुसार यदि परिवार के बच्चे है तो केवल दो ही बच्चों को ले जाने की अतिरिक्त अनुमति है। इसके अलावा सुरक्षा, स्वच्छता, स्वास्थ्य और आकस्मिक सेवा को छोड़कर मोटरसाइकिल सवार व्यक्तियों को अकेले ही मोटरसाइकिल चलने की अनुमति हैं, यदि मोटरसाइकिल सवार के पीछे यदि कोई महिला बैठी है तो उन दोनों को हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा। वहीं, तीन पहिया वाहनों में चालक के अतिरिक्त केवल दो ही व्यक्तियों के सवार रहने की अनुमति है।


आपको बता दें कि एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा समस्त क्षेत्राधिकारियों और थाना प्रभारियों समेत अन्य सभी पुलिसकर्मियों को लाॅकडाउन के नियमों का सही से पालन कराने को लेकर निर्देशित कर दिया गया हैं। इसके अलावा यदि कोई व्यक्ति या फिर वाहन पर सवार कोई व्यक्ति लाॅकडाउन के नियमों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसके विरुद्ध आवश्यक वैधानिक कार्रवाई करने को लेकर दिशा निर्देश दिए गए हैं।

विद्युत आपूर्ति ठप, जनता का बुरा हाल

फाईज़ अली सैफी


गाज़ियाबाद। जनपद के कस्बा मुरादनगर में विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते लोगों का बुरा हाल हो रहा है। आपको बता दें कि लोगों के रेफ्रिजरेटर, कूलर आदि निर्धारित वोल्टेज पर चलने वाले इलेक्ट्रॉनिक सामान कम वोल्टेज के कारण सही से चल नहीं पा रहे हैं। जिससे, विद्युत विभाग के प्रति लोगों में रोष व्याप्त हो रहा है। इतना ही नहीं, सथानीय लोगों का कहना है कि पाक रमजान का महीना चल रहा है, ऐसे में उन्हें निर्धारित विद्युत की पूर्ति न होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं, क्योंकि" उनके रेफ्रिजरेटर, कूलर व आदि इलेक्ट्रॉनिक सामान नहीं चल पा रहे हैं। हालांकि, स्थानीय लोगों का यह भी कहा कि जैसे ही रमजान महीने के बीच-बीच में तेज़ बारिश हुई है, तो उस समय बिजली ठीक से आई हैं।

आपको बताते चलें कि जनपद के कस्बा मुरादनगर में विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते लोगों का बुरा हाल इस लिए हो रहा हैं, क्योंकि उनके रेफ्रिजरेटर, कूलर व आदि इलेक्ट्रॉनिक सामान सही से नहीं चल पा रहे हैं। जिसमें, कुछ टाउंस में से एक टाउन नंबर- पांच भी है, जिसमें रहने वाले कॉलोनी वासियों का कहना है कि कम वोल्टेज के आने से उनके घरों के रेफ्रिजरेटर, कूलर आदि इलेक्ट्रॉनिक सामान ठीक से नही चल पा रहे हैं, जोकि निर्धारित विद्युत सप्लाई से चलते हैं। इतना ही नहीं, विद्युत विभाग के विरुद्ध स्थानीय लोग रोष व्याप्त कर रहे हैं। प्राप्त की गई जानकारी के मुताबिक विद्युत विभाग वर्तमान में केवल 150 वोल्टेज ही दे पा रहा है, या फिर उससे भी कम वोल्टेज दे पा रहा हैं। जिसके चलते ऐसे में लोगों के रेफ्रिजरेटर में रखा हुआ खाने-पीने का सामान बार-बार खराब हो रहा हैं।


आयुक्त ने पुलिस लाइन का निरीक्षण किया


  • परिसर के नियमित सैनिटाइजेशन व सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन कराने के निर्देश

  • विभिन्न थाना क्षेत्रों में स्थापित पुलिस चेकपोस्ट का भी किया मुआयना

  • लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश

  • लॉकडाउन का उल्लंघन व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाये

  •  

  • अकाशुं उपाध्याय


नोएडा (गौतमबुद्धनगर)। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने शनिवार को पुलिस लाइन का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने सूरजपुर ग्रेटर नोएडा स्थित पुलिस लाइन में स्थित बैरक, शौचालय, सैलून, मीटिंग हॉल, किचेन, मेस आदि की व्यवस्थाओं तथा परिसर की साफ-सफाई आदि का गहनता से निरीक्षण किया।


उन्होंने परिसर को समय-समय पर सैनेटाइज करानें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। बैरकों के निरीक्षण में उन्होंने खिड़कियों में जाली लगवानें तथा सभी बेड पर मच्छरदानी लगवाने के निर्देश दिए। इसके अलावा किचन में धुंए से बचाव हेतु चिमनी लगवाने तथा मेस में अच्छे फर्नीचर की व्यवस्था कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस लाइन में स्थित बारबर शॉप को मॉडल सैलून में तब्दील करने को कहा। इसके अतिरिक्त पुराने कण्डम सामान के डिस्पोजल के लिए समिति गठित करने के निर्देश दिए। उक्त समिति शासनादेशानुसार कण्डम समान के निस्तारण/नीलामी की कार्रवाई सुनिश्चित कराएगी।


उन्होंने कहा कि पुलिस मुख्यालय के अधिकारी नियमित रूप से पुलिस लाइन की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते रहें तथा शासन द्वारा पुलिस कर्मियों के लिए प्राविधानित एसओपी का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायें। इस अवसर पर अपर पुलिस आयुक्त श्रीपर्णा गांगुली, पुलिस मुख्यालय के अन्य अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।


पुलिस लाइन के निरीक्षण के उपरांत पुलिस आयुक्त ने थाना बिसरख, थाना फेस-2, थाना सेक्टर-58 एवं थाना सेक्टर-49 स्थित चेकपोस्ट/बैरियर्स का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्थाओं को देखा तथा ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों से कोविद-19 के सुरक्षा संबंधी उपायों से लैस होकर ड्यूटी करने, लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने, वाहनों की सघन चेकिंग तथा फेस मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये।


गाजियाबाद डीएम ने की बाजारों का जांच

अश्वनी उपाध्याय


ग़ाज़ियाबाद। जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पाण्डेय ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के दृष्टिगत लॉकडाउन-4 के लागू होने के सम्यक विचारोपरान्त दुकानों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने तथा बंद करने के दिवस निर्धारित करते हुए आदेश पारित किये थे, जिसके अनुसार दुकानदारों को अपनी दुकानों को व्यवस्थित करने, साफ-सफाई करने एवं प्रोटोकॉल के अनुसार सेनेटाइज्ड इत्यादि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु सभी दुकानों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों को 02 दिनों का समय दिया गया है। इसके क्रम में जनपद में आज दुकानें खोलने का पहला दिन था, जिसके लिए जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने बजरिया, गांधी नगर, जीटी रोड, अम्बेड़कर रोड़ इत्यादि स्थलों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में जिलाधिकारी ने पाया कि लगभग 98 प्रतिशत दुकानदार/व्यापारी जिला प्रशासन के आदेशों का अनुपालन करते हुए पाए गये। जिलाधिकारी ने अपनी उपस्थिति में बाजारों में सेनेटाईजेशन के कार्य की समीक्षा नगर स्वास्थ्य अधिकारी एवं मुख्य अग्निशमन अधिकारी के साथ की। इसके अलावा जिन दुकानदारों ने प्रशासन के आदेशों के विपरीत दुकाने खोली थीं, ऐसे 27 दुकानदारों के विरूद्ध धारा-51 आपदा एक्ट के अन्तर्गत चालान की कार्यवाही की गयी है।


इसके अलावा जिलाधिकारी ने बाजारों में प्रशासन के आदेश का पूर्णतः पालन सुनिश्चित कराने हेतु जनपद के समस्त बाजारों में विभिन्न विभागों के 34 अधिकारियों को स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात किया है, इन स्टेटिक मजिस्ट्रेट्स का दायित्व होगा कि वह खुली हुई दुकानों पर व्यवसायी द्वारा सेनेटाईजेशन, सफाई व्यवस्था एवं कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है अथवा नहीं और बाजार प्रशासन के जारी आदेश के क्रम में ही खोले जा रहे हैं, देखना होगा। इन स्टेटिक मजिस्ट्रेट की देखरेख हेतु 06 सैक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गयी है तथा जनपद को 02 जोन में विभाजित किया गया है इसके अतिरिक्त थाना क्षेत्रवार/ तहसीलवार Incident Commanders को भी बाजारों में सतर्क दृष्टि रखने हेतु ज़िम्मेदारी सौंपी गयी है। जिलाधिकारी ने उपाध्यक्ष गाजियाबाद विकास प्राधिकरण एवं नगर आयुक्त नगर निगम से विकास प्राधिकरण एवं नगर निगम क्षेत्र में संचालित मार्केट में साफ सफाई तथा सेनेटाईजेशन कराये जाने के सम्बन्ध में एक्शन प्लान मोंगा है।


जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने बताया कि यह कार्यवाही कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के उद्देश्य से करायी जा रही है, ताकि लोगों को कोविड-19 से संक्रमण से सुरक्षित/बचाया जा सके। ज्ञातव्य है कि जनपद गाजियाबाद पहला ऐसा जिला है, जिसने दुकानें खोलने से पहले 02 दिनों का दुकानदारों को समय दिया है कि वह ग्राहकों को बुलाने अथवा उनके आने से पूर्व अपनी-अपनी दुकानों में साफ-सफाई कर लें, सामान/दुकान को व्यवस्थित कर लें, दुकानों को कोरोना प्रोटोकॉल के अनुसार सेनेटाईज्ड की व्यवस्था कर लें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, ताकि दुकानों पर काम करने वाले लोग और वहाँ आने वाले ग्राहक कोरोना संक्रमण से बचा जा सके ।


डीएम ने गुरुद्वारा की सेवाओं को सराहा

गाजियाबाद। जब से देश में (कोविड-19) कॉरोना वायरस नामक महामारी की आपदा आई है दुनिया के हर कौने-कौने में, देश-विदेश प्रदेश में सिख समाज गुरु साहब की दी हुई क्षमताओं के हिसाब से सेवा करने का प्रयास कर रहा है जितनी भी बाबाजी करा लें।


इसी कड़ी में गाजियाबाद के विभिन्न गुरुद्वारे अपनी क्षमताओं के हिसाब से लगे हुए हैं गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा रेलवे रोड बजरिया, राजनगर, सेक्टर-7, राजनगर एक्सटेंशन, गुरुद्वारा कवि नगर, अर्जुन नगर, पुरानी संस्था गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा में आज (नोडल प्रभारी) राजकुमार जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय गाजियाबाद, तहसीलदार गाजियाबाद द्वारा अपनी टीम के साथ गुरुद्वारा सिंह सभा में चल रही लंगर की सेवा को देखने के लिए पहुंचे। उन्होंने देखा कि किस तरीके से टीम सेवा में लगी हुई है किस तरीके से मशीन पर रोटी बन रही हैं (सफाई की व्यवस्था, सैनिटाइजर की व्यवस्था, सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था आदि का निरीक्षण किया।


गुरु साहब की रहमत और आशीर्वाद से तीनों अधिकारी खुश होकर हिम्मत एवं हौंसला अफजाई कर कहकर आगे सेवा करने की हिम्मत देकर गए। इस मौके पर गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा के (महामंत्री) एसपी सिंह ओबराय, वीर खालसा दल के (अध्यक्ष) कुलविंदर सिंह ओबरॉय, सरदार सुबह सिंह गुरुद्वारे भोरा साहिब, प्रदीप चौहान और प्रधान सेवक के रूप में इंदरजीत सिंह टीटू आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।


जमीनी विवाद में चले हथियार, 18 घायल

संदीप मिश्रा


लालगंज(रायबरेली)। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पूरेराना मजरे उतरागौरी गांव में दो पक्षों के मध्य जमीनी विवाद को लेकर जमकर लाठी डंडे व कुल्हाड़ी चली। मारपीट में दोनो पक्षों से 18 लोगो को चोटे आई हैं। एक पक्ष से माया देवी पत्नी लाला पासी ने मैकूलाल, बिंद्रा,पवन,बुद्दा तथा धर्मचंद्र पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली पुलिस को शिकायती पत्र दिया है। जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।


मारपीट के दौरान एक पक्ष से राम अवतार,जहरा देवी,संजय, कृष्णकुमार,फूलदुलारी,भोले व सोनी गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं दूसरे पक्ष से अनिल,अस्मिता,बुद्दा,सावित्री,महराना,पवन,बिंद्रा व धर्मेंद्र आदि को चोटे आई हैं। सूचना पर रात में ही पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालगंज पहुंचाया जहां सभी को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। 


रास्ते के विवाद में पिटाई, मुकदमा दर्ज


लालगंज(रायबरेली)। विकास खंड के ग्वाल्हामऊ मजरे बहरामपुर गांव में रास्ते के एक विवाद को लेकर वर्ष 2013 में समझौता करा दिया गया था। इसी मामले में पिछले कुछ दिनों से विवाद चल रहा था। गुरूवार को कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंची थी और दोनो पक्षों के मध्य समझौता करा दिया था। पुलिस के लौटने के बाद विपक्षी उग्र हो गए। महेश पाल का आरोप है कि शुक्रवार की सुबह प्रतिपक्षी शैलेंद्र सिंह, भूपेंद्र सिंह, मनबोध व सूरजपाल ने रास्ते में घेरकर उसे लाठी डंडो से मारपीटा है। रमेश पाल उसे बचाने दौड़ा तो उसकी भी पिटाई की गई। पुलिस ने दोनो का चिकित्सीय परीक्षण कराने के साथ ही आरोपितों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।


ईद के मद्देनजर डीएम ने की पीस बैठक

रायबरेली। जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना के निर्देश पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम अभिलाष व अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानन्द राय ने बचत भवन के सभागार में पीस कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते कहा कि इस माह के पवित्र त्योहार ईद को शान्तिपूर्ण एवं सौहार्द के साथ मनाये जाने के साथ ही कोविड-19 के दृष्टिगत सभी धार्मिक स्थल पूर्ण तरह से बन्द रहेंगे ईद की नमाज सभी अपने घरों में अदा करें किसी को भी ईदगाह व मस्जिदों पर नमाज पढ़ने की अनुमति नही है। उन्होंने कहा कि पवित्र त्योहार ईद को अपने घरेां में शान्ति एवं सौहार्द पूर्ण ढंग से मनाया जाये ईद की नमाज ईदगाह व मस्जिद आदि जगहों पर पूर्ण रूप के साथ प्रतिबन्धित है।


धार्मिक स्थलों पर कतई भीड़ इकठ्ठा ना किया जाये। ज्यादा से ज्यादा लोग सोशल डिस्टेसिंग के साथ कार्य किया जाए तथा लाॅकडाउन का पालन भी करें। अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानन्द से भी समस्त धर्म गुरूओ व सामाजिक व व्यापार बन्धुओं से कहा कि शासन के निर्देशों का पालन करना हम सब का दायित्व है। उन्होंने कहा कि इस पार्क महीने रमजान के वक्त ज्यादा से ज्यादा लोगों एक दुसरे व गरीब व्यक्तियों की मद्द करें। इस मौके पर कई धर्म गुरूओं ने भी अपने विचार व्यक्त किये।


इनसेट-


खीरों डलमऊ में ईद त्योहार को लेकर बैठक, उलंघन पर बक्सा नही जाएगा-एसएचओ


डलमऊ/खीरों/रायबरेली। शनिवार को कोतवाली डलमऊ व थाना परिसर खीरों में ईद के त्यौहार को लेकर एक बैठक की गई। बैठक में डलमऊ कोतवाली प्रभारी श्री राम ने बताया की पूरे देश मे कोरोना वायरस की बजह से लॉक डाउन चल रहा है सभी लोग अपने घरों में ही ईद का त्यौहार अपने घर पर ही मनाए। इस मौके पर चेयरमैन मैन ब्रजेश दत्त गौड़ जुबी बाबू मुराई बाग चौकी इंचार्ज असलम खान मौजूद रहे।


वही खीरों एसओ मणि शंकर ने आये सभी लोगो से शांति के साथ लॉक डाउन का पालन करते हुए घरो में शांति के साथ त्योहार बनाने की अपील करते साफ सफाई को लेकर अवगत करवाने की बात कही। उक्त अवसर सेमरी चौकी इंचार्ज प्रवीण कुमार गौतम एआई शिवनंदन मिश्र आरक्षी राजकुमार सिंह सहित बड़ी संख्या मे लोग मौजूद रहे।


दहेज के लिए महिला को जिंदा जलाया

ऊंचाहार(रायबरेली)।ऊंचाहार कोतवाली के गांव छिपिया मे दस दिन पूर्व दहेज के लिए जिंदा जलाई गई विवाहिता की मौत हो गई।जिसके शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा है।कोतवाली निरीक्षक ने मृतका के पिता की तहरीर पर दमाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।बताते चले कि ऊंचाहार कोतवाली के गांव कोटराबहादुरगंज निवासिनी पिंकी 35वर्श पुत्री रामआधार की षादी ढाई वर्श पूर्व कोतवाली के ही गांव छिपिया निवासी संतलाल उर्फ संतराम पुत्र रामदीन के साथ ढाई वर्श पूर्व हुई थी।जिसके बाद दहेज के लिए विवाहिता को प्रताड़ित करने लगा।जिसमे बात विवाद होने पर दिनांक 9मई सन् 2020 को गांव छिपिया मे ही पिंकी को आग लगाकर जिंदा फूंकने का प्रयाष किया।


जिसकी हालत गंभीर होने पिंकी को जिला से लखनऊ रेफर कर दिया गया।जिसमे पैसो के अभाव मे विवाहिता को मयके वालो ने अपने घर गंाव कोटराबहादुरगंज ले आए।जहां पर षनिवार के दिन पिंकी की मौत हो गई।जिसकी सूचना पुलिस को हुई।कोतवाली निरीक्षक ने बताया कि मृतका का षव कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया गया है।मृतका के पिता रामआधार निवासी गांव कोटराबहादुरगंज की तहरीर पर गांव छिपिया निवासी दमाद संतलाल उर्फ संतराम पुत्र रामदीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।जिसमे आरोपित के गिरफ्तारी के लिए छानबीन जारी है।


हत्या कर सातवें पति ने किया सुसाइड

बालाघाट। देश में जारी कोरोना वायरस के कहर के बीच मध्य प्रदेश के बालाघाट (Balaghat) से एक बड़ा ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां स्थित स्थित ग्राम मरारीटोला में लोकराम चौधरी ने अपनी पत्नी नाबाई चौधरी की हत्या (Murder) कर स्वयं फांसी लगाकर आत्महत्या(Suicide) कर ली। मिली जानकारी के अनुसार दोनों के बीच झगड़ा शराब पीने के बाद हुआ। बताया जा रहा है कि दंपति की दस साल पहले शादी हुई थी। पत्नी की यह सातवीं और पति लोकराम की यह दूसरी शादी थी। पुलिस को घटना की जानकारी मृतक के बेटे ने दी है।


पति-पत्नी साथ बैठकर पीते थे शराब


रिपोर्ट्स के अनुसार नशे में दोनो के बीच कोई विवाद हुआ। जिसके बाद पति ने पत्नी की गला घोट हत्या कर खुद भी अपने ही गमछे से फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। मृत दम्पत्ति बिरसा में अलग घर में निवास करता था। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है। बेटे ने बताया कि उसके पिता की यह दूसरी शादी थी, जबकि मृतिका की यह सातवीं शादी थी। दोनों दस साल से साथ थे। बताया जाता है कि पति, पत्नी दोनो ही शराब पीते थे। प्रथमदृष्टया घटना का कारण पारिवारिक विवाद लग रहा है। दोनों के शव परीक्षण में शराब पीने की जानकारी मिली है। उन्होंने बताया कि मृतक का घर अंदर से बंद था।


पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है


मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह घर से बदबू आने के बाद पड़ोसियों ने इसकी सूचना बाकीकुड़ा निवासी पुत्र को दी। जिसके बाद जब पुत्र रामकिशोर चौधरी घर पहुंचा और दरवाजा खोलकर देखा तो उसकी सौतेली मां 55 वर्षीय नाबाई चौधरी का शव घर के पहले कमरे में पड़ा था। जिसकी मौत हो गई, जबकि घर के तीसरे कमरे में पिता लोकराम चौधरी का शव फांसी पर लटका था। उक्त घटना की गंभीरता को देखते हुए बालाघाट मुख्यालय से एफएसएल टीम को घटनास्थल पर बुलाया गया। जिसके बाद पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है।


फरीदाबाद पर भारी शनि, 22 नए संक्रमित

फरीदाबाद। शनिवार का दिन फरीदाबाद पर भारी साबित हुआ है। रविवार की सुबह तक आ रही रिपोर्ट के अनुसार बीती रात से लेकर रविवार के  तडक़े तक 22 नए पॉजीटिव केस सामने आ गए हैं।  जिससे स्वास्थ्य विभाग खासा परेशान है। इन सभी केसों को मिलाकर रविवार की सुबह 207 कोरोना पॉजीटिव केस हो गए हैं। 
शनिवार की सुबह जहां दस नए कोरोना पॉजीटिव केस आए थे, वहीं शाम होते-होते 10 और नए केस बढ़ गए, जोकि रविवार की तडक़े बढक़र 12 हो गए। इस तरह से अब तक कुल 22 केसों की बढ़ोतरी के साथ इनकी संख्या 207 हो गई है।  कुल मिलाकर शनिवार को पॉजीटिव केसों की संख्या 20 हो गई थी। आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 नियम के तहत किसी भी पॉजीटिव केस की पहचान उजागर नहीं की जाती है। मीडिया को केवल लोकेशन ही बताई जाती है। इसलिए आपसे निवेदन है कि किसी भी पॉजीटिव के संदर्भ में जानकारी ना मांगे। 
शनिवार को आए इन सभी केसों को मिलाकर 207 नए पॉजीटिव केस हो गए हैं। शनिवार की देर रात व रविवार की तडक़े  जो नए केस आए हैं, उनमें सैक्टर 23 से 36 वर्षीय महिला है। यह महिला गर्भवती थी, जिसका हाल ही में बच्चा हुआ है, फिलहाल उनकी स्थिति स्थिर बनी हुई है। उन्हें होम आईसोलेट कर दिया गया है। इनके परिवार के अन्य चार लोगों को भी घर में रहकर नियमों की पालना करने के निर्देश दिए गए हैं। 67 वर्षीय एक बुजुर्ग हैं, जोकि ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले के रहने वाले हैं। पंद्रह दिन पहले वह सब्जी मंडी गए थे, उसके कुछ दिन बाद ही बुखार से पीडि़त हो गए थे, वह भी पॉजीटिव हो गए हैं। इनके संपर्क में पांच लोग आए थे, मगर टेस्ट करवाने पर वह सभी निगेटिव पाए गए। लंदन से आई एक 52 वर्षीय महिला भी पॉजीटिव पाई गई हैं, यह पंचकूला की रहने वाली हैं। जैसे ही वह दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरीं तो उन्हें सीधे सूरजकुंड स्थित होटल में आईसोलेट कर दिया गया था, उनकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। जवाहर कालोनी की रहने वाले 58 वर्षीय महिला भी पॉजीटिव पाई गई हैं, उनके पति भी कोरोना से पीडि़त हैं, उनके संपर्क में आने के बाद वह भी इसकी चपेट में आ गई। डबुआ कालोनी में रहने वाली 23 वर्षीय युवती अपने भाई के चलते कोरोना पीडि़त हो गईं। उन्हें भी कोविड सेंटर में भर्ती कर दिया गया है। ई डबुआ कालोनी के रहने वाले 61 वर्षीय व्यक्ति को भी पॉजीटिव करार दिया गया है, इनकी वजह से उनकी 19 साल की बेटी भी चपेट में आई है।  सैक्टर 7 निवासी एक व्यक्ति व उनकी बेटी भी इस बीमारी से ग्रस्त पाए गए हैं। इस परिवार के तीन सदस्य पहले से ही कोरोना पेशेंट हैं। यानि कि एक ही परिवार के पांच लोग इस बीमारी से पीडि़त हो गए हैं। एक युवती 18 वर्षीय आटोपिन झुगगी निवासी है, उसे भी कोविड सेंटर में भर्ती करवाया गया है। इस इलाके से पहले भी कई लोगों को पॉजीटिव पाया गया है। बहादुरपुर फरीदाबाद से एक 35 वर्षीय महिला भी पॉजीटिव पाई गई हैं, उन्हें यह बीमारी अपने पति से मिली है, जोकि इस समय दिल्ली के अस्पताल में उपचार करवा रहे हैं। एक 30 वर्षीय युवक भी पॉजीटिव पाया गया है, मगर उसका पूरा पता विभाग के पास नहीं है, जिसे ढंूढने की कोशिश की जा रही है। पंरतु पॉजीटिव केसों की सूची में उसकी लोकेशन नहीं दर्शाई गई है।  इनके अलावा शनिवार की सुबह दस केस आए थे।  इनमें 25 साल की युवती एनआईटी स्थित नंबर 2 जी. ब्लाक से है। उसे घर पर ही रहकर ईलाज करने की सलाह दी गई है। 2 जी ब्लाक के इस परिवार के 6 और लोगों को क्वारंटाईन किया गया है। इन सभी को सख्ती से सभी नियमों का पालन करने की हिदायत दी गई है। 
 सैक्टर 7 से एक ही परिवार से तीन लोग आ रहे हैं। इनमें 65 वर्ष के बुजुर्ग, 58 वर्षीय महिला एवं 17 साल का युवक है। बताया गया है कि इनकी केस हिस्ट्री पहले से ही कोरोना परिवार से संबंधित है। सैक्टर 7 स्थित एक ही परिवार के अब पांच लोग इस बीमारी से पीडि़त हो गए हैं।  बल्लभगढ़ की भगत सिंह कालोनी के डी ब्लाक में रहने वाले 46 वर्षीय व्यक्ति भी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। यह एक निजी पैकेजिंग कंपनी में काम करते हैं। बल्लभगढ़ की भगतसिंह कालोनी नजदीक वोहरा पब्लिक स्कूल के पास भी एक केस आया है। 39 वर्षीय व्यक्ति पॉजीटिव पाया गया है, जिसकी टे्रवल हिस्ट्री बिहार से संबंधित है। बल्लभगढ़ सब्जी मंडी के आढती को भी पॉजीटिव पाया गया है, जोकि ऊंचा गांव साहूपुरा रोड के रहने वाले हैं। इनकी उम्र 57 वर्ष बताई गई है। सैक्टर 55 से एक 43 वर्षीय व्यक्ति का भी पॉजीटिव केस सामने आया है । सैक्टर 3 की 36 गज यार्ड कालोनी से भी एक 39 वर्षीय व्यक्ति का केस पॉजीटिव आया है। वह दिल्ली तुगलकाबाद की कंटनेर कंपनी में कार्यरत हैं। इसी तरह से सैक्टर 16 से एक युवती भी पॉजीटिव पाई गई है। शनिवार को एक ही दिन में अभी तक 10 नए केस आने से सनसनी मच गई है। इन सभी केसों को मिलाकर कुल कोरोना पॉजीटिव की संख्या 195 पर पहुंच गई थी। शनिवार को रात होते -होते केसों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो गई, जोकि रविवार की सुबह तक 12 नए केसों के साथ 207 पर पहुंच गई है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी सूची में अधिकांश तौर पर  पॉजीटिव केसों की जानकारी को गोपनीय रखा जाता। वहीं स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि 115 लोग इस बीमारी से ठीक भी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसलिए विभाग की सलाह है कि इस बीमारी को छुपाएं नहीं, बल्कि उसका मुकाबला करें। इससे ठीक होने की दर बढ़ रही है।


फर्रुखाबाद में बड़ा संक्रमण, 7 ठीक हुए

फर्रुखाबाद।   शनिवार को मिले 2 नए कोरोना मरीज। अब मरीजों की संख्या हुई 24 जिसमें से 7 मरीज सही हुए।गंगापार तक पहुंचा कोरोना, शनिवार देर शाम दो कोरोना पॉजिटिव मरीज और सामने आए हैं, जिसके बाद फर्रुखाबाद में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है, जो दो नए मरीज शनिवार को सामने आए हैं, वो ब्लॉक राजेपुर के हैं । शनिवार को मिले 2 नए मरीज भी प्रवासी मजदूर हैं । इसके साथ ही एक अच्छी खबर भी शनिवार को सामने आई है, सूत्रों की मानें तो फर्रुखाबाद में मिले 7 मरीजों ने कोरोना को हराकर जंग जीत ली है, 7 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, वो ठीक हो गए हैं।


ब्यूरो रिपोर्ट संजीव कुमार प्रजापति


सहरी के वक्त गिरा घर का बारजा, बचेंं

सहरी के वक्त घर का बारजा गिरा बाल बाल बचे परिवार के लोग घटना सुबह तीन बजकर पैतीस मिनट की

मामला पुरानी बाजार भरवारी का है

कौशाम्बी। भरवारी नगर पालिका परिषद अंतरगत पुरानी बाजार भरवारी निवासी जावेद अपने परिवार माँ, पत्नी, बहन व पुत्री के साथ आज सुबह तीन बजकर पैतीस मिनट पर सहरी करके जैसे घर से बाहर निकले की अचानक उनके घर का बारजा नीचे गिर गया जिससे एक बार तो समझ भी न सके कि क्या हो गया। जैसे ही ऊपर देखा कि उन्ही के घर का बारजा गिरा है वह सभी लोग हैरान रह गए वही लोगो ने जब बारजा गिरने की आवाज सुनी तो सब लोग घर से बाहर निकल आये। सभी लोग खुदा को दुआ देते रहे कि यदि पलभर का फासला का फर्क था। वरना ईद के त्योहार से पहले कमसे कम तीन चार मौत होने से कोई रोक नही सकता था। यह तो अल्लाह का करम था जो सभीलोग बाल बाल बच गए। वही जावेद का पूरा परिवार गमजदा व दहशत में है। वही समाजवादी के नेता गुलाम हुसैन का कहना है कि अल्लाह ताला का रहम है कि एक बड़ी घटना घटने से बच गई। वरना कल ईद का त्योहार गम में बदल जाता।

 

रिपोर्ट राजू सक्सेना

तापघात या लू से बचने के उपाय

तापघात या लू क्या है, जानिए बचाव के उपचार : क्या लू लगने से मृत्यु हो सकती है ?

 

लू क्या है? लू क्यों व किस प्रकार लगती है?

१) उत्तरी भारत में गर्मियों में उत्तर-पूर्व तथा पश्चिम से पूरब दिशा में चलने वाली प्रचण्ड उष्ण तथा शुष्क हवाओं को लू कहतें हैं। इस तरह की हवा मई तथा जून में चलती हैं। लू के समय तापमान ४५° सेंटिग्रेड से तक जा सकता है। गर्मियों के इस मौसम में लू चलना आम बात है। "लू" लगना गर्मी के मौसम की बीमारी है। 

२) "लू" लगने का प्रमुख कारण शरीर में नमक और पानी की कमी होना है। पसीने की "शक्ल" में नमक और पानी का बड़ा हिस्सा शरीर से निकलकर खून की गर्मी को बढ़ा देता है।

लू के लक्षण व प्रभाव

1 हमारे शरीर का तापमान हमेशा 37° डिग्री सेल्सियस होता है, इस तापमान पर ही हमारे शरीर के सभी अंग सही तरीके से काम कर पाते है ।

 

2 पसीने के रूप में पानी बाहर निकालकर शरीर 37° सेल्सियस टेम्प्रेचर मेंटेन रखता है, लगातार पसीना निकलते वक्त भी पानी पीते रहना अत्यंत जरुरी और आवश्यक है ।

 

3 पानी शरीर में इसके अलावा भी बहुत कार्य करता है, जिससे शरीर में पानी की कमी होने पर शरीर पसीने के रूप में पानी बाहर निकालना टालता है । (बंद कर देता है )

 

4 जब बाहर का टेम्प्रेचर 45° डिग्री के पार हो जाता है और शरीर की कूलिंग व्यवस्था ठप्प हो जाती है, तब शरीर का तापमान 37° डिग्री से ऊपर पहुँचने लगता है ।

 

5 शरीर का तापमान जब 42° सेल्सियस तक पहुँच जाता है तब रक्त गरम होने लगता है और रक्त में उपस्थित प्रोटीन पकने लगता है ।

 

6  स्नायु कड़क होने लगते हैं इस दौरान सांस लेने के लिए जरुरी स्नायु भी काम करना बंद कर देते हैं ।

 

7 शरीर का पानी कम हो जाने से रक्त गाढ़ा होने लगता है, ब्लडप्रेशर low हो जाता है, महत्वपूर्ण अंग (विशेषतः ब्रेन) तक ब्लड सप्लाई रुक जाती है ।

 

8 व्यक्ति कोमा में चला जाता है और उसके शरीर के एक-एक अंग कुछ ही क्षणों में काम करना बंद कर देते हैं, और उसकी मृत्यु भी हो सकती है ।

 

बचाव के उपचार

गर्मी के दिनों में ऐसे अनर्थ टालने के लिए लगातार थोड़ा-2 पानी पीते रहना चाहिए और हमारे शरीर का तापमान 37° मेन्टेन किस तरह रह पायेगा इस ओर  ध्यान देना चाहिए । ब्लड प्रेसर पर नजर रखे दिन में तापमान ज्यादा ही रहता है अत 12 से 3 बजे के बीच घर, कमरे या ऑफिस के अंदर रहने का प्रयास करें ।

सुबह घर से निराहार ना निकले और निराहार भी ना रहे 

ठंडे पानी से प्रतिदिन स्नान करना चाहिए। 

गर्मी के दिनों में बार-बार पानी पीते रहना चाहिए ताकि शरीर में जलीयांश की कमी नहीं होने पाए। 

पानी में नींबू व नमक मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीते रहने से लू नहीं लगती। 

गर्मी के दौरान नरम, मुलायम, सूती कपड़े पहनना चाहिए जिससे हवा और कपड़े शरीर के पसीने को सोखते रहते हैं। 

गर्मी में ठंडाई का सेवन नियमित करना चाहिए। 

मौसमी फलों का सेवन भी लाभदायक रहता है जैसे, खरबूजा, तरबूज, अंगूर इत्यादि। गर्मी के दिनों में प्याज का सेवन भी अधिक करना चाहिए एवं बाहर जाते समय प्याज को जेब में रखा जा सकता है।

लू लग जाने पर उपचार

 लू लगने पर तत्काल योग्य डॉक्टर को दिखाना चाहिए। डॉक्टर को दिखाने के पूर्व कुछ प्राथमिक उपचार करने पर भी लू के रोगी को राहत महसूस होने लगती है। 

बुखार तेज होने पर रोगी को ठंडी खुली हवा में आराम करवाना चाहिए। 104 डिग्री से अधिक बुखार होने पर बर्फ की पट्टी सिर पर रखना चाहिए। 

रोगी को तुरंत प्याज का रस शहद में मिलाकर देना चाहिए। 

 प्यास बुझाने के लिए नींबू के रस में मिट्टी के घड़े अथवा सुराही के पानी का सेवन करवाना चाहिए। 

बर्फ का पानी नहीं पिलाना चाहिए, क्योंकि इससे लाभ के बजाए हानि हो सकती है।

रोगी के शरीर को दिन में चार-पाँच बार गीले तौलिए से पोंछना चाहिए। 

 चाय-कॉफी आदि गर्म पेय का सेवन अत्यंत कम कर देना चाहिए।कैरी का पना विशेष लाभदायक होता है। 

 कच्चे आम को गरम राख पर मंद आँच वाले अंगारे में भुनकर, ठंडा होने पर उसका गूदा निकालकर उसमें पानी मिलाकर मसलना चाहिए। इसमें जीरा, धनिया, शकर, नमक, कालीमिर्च डालकर पना बनाना चाहिए। पने को लू के रोगी को थोड़ी-थोड़ी देर में दिया जाना चाहिए। 

 जौ का आटा व पिसा प्याज मिलाकर शरीर पर लेप करें तो लू से तुरंत राहत मिलती है।

लू पीड़ित को तरल ठंडे पदार्थ दें। उसे संतरे या अंगूर का रस दें। ठंडा-ठंडा तरबूज भी उसे खिलाएं। शरीर में ठंडक आने लगेगी। चने व जौ के सत्तू शरीर में ठंडक देते हैं तथा शरीर को लू के असर से बचाते हैं। लू लगने पर प्याज के रस की कनपटियों और छाती पर मालिश करने से लाभ होता है। वैसे लू से बचने के लिए भोजन में नित्य प्याज शामिल करें। 

पकी हुई इमली के गूदे को हाथ और पैरों के तलवों पर मलने से लू का असर मिटता है। वैसे इमली को भिगोकर इसका पानी पीने से गर्मी में लू नहीं लगती। कच्ची कैरी, प्याज, टमाटर व खीरा ककड़ी का मिक्स सलाद खाने से तन पर लू नहीं लगती। शरीर में ठंडक भी बनी रहती है।लू से बचने के लिए शहतूत और मिश्री का सेवन भी फायदेमंद है। हरड र्पीसकर समान मात्रा में गुड़ मिलाकर मटर के दाने के बराबर गोलियां बना लें। नित्य प्रात: गर्मी के मौसम में नाश्ते के बाद दो गोली खाकर पानी पियें। इससे गर्मी के मौसम में होने वाले विकार नहीं होंगे। आंवले का शरबत या मुरब्बा का इन दिनों जरूर सेवन करें। इससे गर्मी के रोग शरीर पर हावी नहीं होते। 

घड़े के एक गिलास ठंडे-ठंडे पानी में एक नीबू निचोड़ें और स्वादानुसार पिसा काला नमक, भूना पिसा जीरा, सेंधा नमक, काली मिर्च पाउडर व दो छोटे चम्मच तुलसी का रस, चीनी पाउडर घोलकर पीने से लू का प्रभाव शीघ्र कम हो जाता है।

अगर लू पीड़ित को सांस लेने में तकलीफ सा रही हो तो उसे कृत्रिम श्वास दें। लू पीड़ित के गुर्दों पर भी ध्यान दें। वे ठीक से कार्य कर रहे हैं या नहीं, इसके अतिरिक्त इस बात पर भी ध्यान दें कि वह मूत्र त्याग रहा है या नहीं? क्योंकि मूत्र के माध्यम से ही शरीर के विषाक्त पदार्थों का निष्कासन होता है। 

उसके तन पर यदि पसीना आने लगे तो सूखे कपड़े से तुरंत साफ कर, ठंडे पानी का कपड़ा बदन पर फेर दें। 

उसके तलवों पर मेहंदी के पानी का लेप करें तथा आंखों में ठंडा-ठंडा गुलाब जल डालें

लू या तापमान कि अधिकता पता करने के लिए प्रयोग करें

हीट वेव कोई मजाक नही है । एक बिना प्रयोग की हुई मोमबत्ती को कमरे से बाहर या खुले मे रखें, यदि मोमबत्ती पिघल जाती है तो ये गंभीर स्थिति है ।

डॉ राव पी सिंह

योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा

लॉक डाउन के 59 वे दिन भी राशन वितरण

पूर्व सांसद ताहिर खान का सेवा भाव  लॉक डाउन के 59  भी जारी रहा जनपद के सैकड़ों गांव में ईद सामग्री व राशन सामग्री जरूरतमंदों के बीच वितरण किया गया

 

सुल्तानपुर। सपा के वरिष्ठ नेता व सुल्तानपुर से पूर्व सांसद रहे मोहम्मद ताहिर खान के द्वारा लॉक डाउन के पहले दिन से अब तक जनपद के हजारों गांव में जरूरतमंदों के बीच राहत सामग्री का वितरण करते आ रहे हैं। इसी क्रम में पूर्व सांसद ताहिर खान इस बार ईद के मौके पर जरूरतमंदों के बीच ईद सामग्री व राशन सामग्री वितरण कर रहे हैं। पूर्व सांसद ताहिर खान का कहना है ईद का त्यौहार मुसलमानों के लिए बड़ा अफजल त्योहार माना जाता है। इसी को देखते हुए पूर्व सांसद ने कहा जो लोग अपने घर में सेवईया नहीं पका सकते और उनके पास ईद सामग्री का कोई सामान नहीं है। उन तक इस सामग्री पहुंचाने का काम पूर्व सांसद कर रहे हैं। इसमें सपरिवार उनका सहयोग करता है। पूर्व सांसद का कहना है इस जनपद का कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए कि उनका और उनके परिवार का प्रयास है आपको बताते चले कि पूर्व सांसद lockdown के पहले दिन से ही अपने दौलत का पिटारा  खोल रखा है। सुल्तानपुर जनपद या यूं कहें यूपी में सबसे ज्यादा राशन वितरण करने वाले एकमात्र ऐसे नेता हैं। जिन्हें ताहिर मोहम्मद खान कहा जाता है। जिन्होंने अब तक सैकड़ों ट्रक गला वितरण कर दिया है और उनका प्रयास है कि जब तक लॉक डाउन रहेगा, तब तक जरूरतमंदों के बीच ऐसे ही राशन वितरण का काम उनका चलता रहेगा।

यूपी पुलिस ने चलाया सघन जांच अभियान

लखनऊ। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे के दिशा निर्देश में चलाए जा रहे सुरक्षा व्यवस्था अभियान के अंतर्गत बिना मास्क को लेकर हर थाना क्षेत्रों में सघन चेकिंग अभियान में एसीपी काकोरी सैयद कासिम आब्दी वा थाना पारा प्रभारी त्रिलोकी सिंह के आदेश अनुसार आज थाना पारा के अंतर्गत चलाया गया सघन चेकिंग अभियान। कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था को लेकर  बिना मास्क के बिना हेलमेट  3 सवारी दोपहिया वाहनों के काटे गए चालान और दो बाइक की बिना हेलमेट बिना लाइसेंस बिना कागज के की गई सीज।

चौकी हंस खेड़ा उपनिरीक्षक सुभाष चंद्र यादव ने जागरूकता के साथ लोगों को जागरूक कराते हुए  लोगों को मास्क लगाकर चल चलने की हिदायत दी। चौकी हंस खेड़ा पर  प्रतिदिन उप निरीक्षक सुभाष चंद्र यादव बेसहारा निर्बल गरीबों की जरूरतमंदों की अनाज को लेकर प्रतिदिन मदद करते रहते हैं।

क्वॉरेंटाइन मजदूरों को खाने की समस्या

उन्नाव। ब्लाक असोहा ग्राम मनिकापुर मे दर्जनों की संख्या मे आऐ अन्य जनपद तथा प्रदेशों के श्रमिकों को गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में रोका गया। ग्राम प्रधान की उदासीनता के चलते श्रमिकों को कोई भी समूचित ब्यवस्था न होने के कारण श्रमिकों को कठिनाई  उठानी पड़ रही हैं ।ग्रामीणों ने अनुसार ग्राम प्रधान द्धारा अभी तक कोई भी ग्राम सभा में कैमिकल आदि तक का छिडकाव नही किया गया है। किए गए श्रमिक अपने घरो से खाने पीने का इंतजाम खुद करना पड़ रहा हैं।ग्राम प्रधान को नही है जिला प्रशासन का कोई डर श्रमिकों ने लगाई जिला प्रशासन से गुहार  लगाई हैं।


योगी को धमकी देने वाला किया गिरफ्तार

लखनऊ/दिल्ली। महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हत्या की कथित तौर पर धमकी देने वाले 25 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है।

एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को बताया कि चूनाभट्टी इलाके के निवासी कामरान खान को एटीएस की कालाचौकी इकाई ने गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि यूपी पुलिस के सोशल मीडिया हेल्प डेस्क को व्हाट्सएप रिपीट व्हाट्सएप पर संदेश मिला जिसमें बम विस्फोट में आदित्यनाथ की हत्या करने की धमकी दी गई। एटीएस महाराष्ट्र के पुलिस अधीक्षक विक्रम देशमाने ने बताया कि गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ भादंसं की धारा 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने महाराष्ट्र एटीएस को इस संबंध में सूचित किया था।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 25, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-286 (साल-01)
2. सोमवार, मई 25, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि- तीज, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:41,सूर्यास्त 07:14।


5. न्‍यूनतम तापमान 23+ डी.सै.,अधिकतम-41+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...