शनिवार, 25 जनवरी 2020

'आदित्यनाथ' को बैनामे करने चाहिए !

मांगो पर कोई भी विचार न किये जाने पर नाराज कर्मचारी देंगे नगरपालिका पर धरना: श्रवण चन्देल


अकांशु उपाध्याय 


गाजियाबाद। अधिकारी और नेताओं का स्तर दिन पर दिन गिरता जा रहा है। जहां राज्य की भाजपा सरकार जीरो टोलरेंस पर कार्य करने के दावे करती है, वही उसकी नाक के नीचे अप्रत्याशित भ्रष्टाचार का खुला खेल किया जा रहा है।  आखिर दावे करने की जरूरत क्या है? यदि आपको काम करना है तो आप काम कीजिए, दावा करके जनता के साथ धोखा मत कीजिए। भाजपा एवं प्रदेश की सरकार की इस नीति से जनता त्रस्त है यदि समय रहते इस पर नियंत्रण नहीं रखा गया, परिणाम बेहतर होंगे।


उत्तर-प्रदेश सफाई कर्मचारी संघ के लोनी नगर अध्यक्ष श्रवण चन्देल द्वारा लोनी नगर पालिका के पीड़ित कर्मचारियों की एक बैठक, न्यू विकास नगर वार्ड नं 5 में रखी गई। जिसमे पिछले 10 दिन पूर्व सेकड़ो कर्मचारियों द्वारा चन्देल के नेतृत्व में नगर-पालिका का घेराव किया गया था। जिसमे उपजिलाधिकारी द्वारा कर्मचारियों का गुस्सा शांत कराया गया था व 8 सूत्रीय ज्ञापन उपजिलाधिकारी को अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को सम्बोधित करते हुए, जिलाधिकारी व सरकार के नाम दिया गया था। जिसमे कर्मचारियों के विरुद्ध मनमानी व उत्पीड़न को दर्शाया गया था। ज्ञापन लेने के बाद औपचारिकता करते हुए श्रीमान उपजिलाधिकारी ने 8 दिन का समय मांगा की आपसे बात की जाएगी व समस्या का निस्तारण किया जाएगा। किंतु कर्मचारियों में काफी रोष है। क्योंकि समस्या के निस्तारण की बात अलग कोई बात तक संघ के व्यक्तियों से नही की गई। मानो इन मांगों को कोई आधार ही न हो। दिन रात सरकार के सपने को सच करने में लगे कर्मचारियों को अनदेखा करना कोई मामूली बात नही है। श्रवण चन्देल नगर अध्यक्ष व हिन्दू रक्षा दल प्रमुख ने बताया कि अब वो समय नही रहा जहां कर्मचारियों की आवाज को दबाया जाए। नगर पालिका के इस व्यवहार को बिल्कुल बर्दास्त नही किया जाएगा। यदि इस विषय मे एक हफ्ते के अंदर बात चीत कर समस्या का समाधान नही किया गया तो चन्देल जी द्वारा आंदोलन को बड़ा रूप देने में कोई लापरवाही नही की जाएगी। और जल्द ही एक दिवशीय धरना दिया जाएगा। मुख्य रूप से मांग इस प्रकार है
1- समान काम समान वेतन हो
2- कर्मचारियों को एक परिचय पत्र व साप्ताहिक अवकाश निर्धारित हो
3- कर्मचारियों के काटे गए PF की पूर्णजानकारी यू एन नम्बर की सूची के साथ दी जाए।
4- बिना किसी आधार के आपसी रंजिशन कर्मचारियों को न हटाया जाए।
5- कर्मचारियों से समय समय पर कुछ पैसे की डिमांड की जाती है यदि कोई ऐसी आवश्यकता है तो आधिकारिक सूचना दी जाए। आदि उचित मांगे है जो कर्मचारियों के अधिकार क्षेत्र में है। 
यदि इन मांगों पर जल्द विचार नही किया गया। तो लोनी नगर पालिका के इतिहाश में अब तक का सबसे बड़ा आंदोलन होगा। जिसकी भविष्य योजना आज की बैठक में बनाई गई।


बागियों को भी मंत्री बनाएंगे येदियुरप्पा

नई दिल्ली। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि राज्य में दौरे के दौरान भी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ चर्चा की थी। तीन-चार दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कहा कि उनके मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित विस्तार तीन-चार दिनों में किया जाएगा। विश्व आर्थिक मंच की बैठक में शिरकत करने के बाद दावोस से यहां आने पर उन्होंने दोहराया कि वह जद (एस)-कांग्रेस के अयोग्य करार दिए गए और उपचुनाव में भाजपा के टिकट पर फिर से निर्वाचित हुए विधायकों को मंत्री बनाने का अपना वादा पूरा करेंगे लेकिन, स्पष्ट कर दिया कि हारने वालों को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जाएगा। वर्तमान में राज्य के मुख्यमंत्री सहित 18 मंत्री हैं। विस्तार के बाद अधिकतम 34 नए मंत्री हो सकते हैं।


'सीएए का समर्थन' वास्तविक लोकतंत्र

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। गणतंत्र-दिवस पर सभी को संविधान की रक्षा की शपथ लेकर सीएए का समर्थन करना ही सच्चा गणतंत्र हैं। विजेन्द्र त्यागी ने लोनी विधानसभा क्षेत्र के गढ़ी जस्सी में मदर्स लेब पब्लिक स्कूल में गणतंत्र-दिवस का कार्यक्रम किया गया। जिसमें छोटे-छोटे स्कूली बच्चो द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा नेता और सहयोग द हेल्पिंग हैंड संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजेन्द्र त्यागी ने झंडा रोहण किया। इस अवसर पर स्कूल के प्रबन्धक नितिन कुमार और स्कूल के स्टाफ द्वारा पुष्प माला पहनाकर स्वागत किया कार्यक्रम में बोलते हुये विजेन्द्र त्यागी ने बताया कि संविधान निर्माता डॉ भीम राव अम्बेडकर जी के द्वारा लिखित संविधान 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में लागू किया गया ओर हम हम इस दिन पूर्ण रूप से गणतंत्र हुए अभी  लोकसभा और राज्य सभा से पारित सीएए को लेकर कुछ लोग झूठ फहलाने का कार्य कर रहे ह जो संविधान के विरुद्घ ह हमारे देश के सविधान की ख़िलापत करना राष्ट्रद्रोह है। ऐसे लोग अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के कारण आम जनमानस को बरगलाने का कार्य कर रहे है। आज के दिन हम सबको शपथ लेकर ऐसे झूठ से आम जनमानस को सचेत करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर स्कूल की प्रधानाचार्या सरोज सैनी ,गीता चोधरी,मोनिका शर्मा ,जीत सिंह राणा ,जयवीर सिंह समेत स्कूल का स्टाफ ओर अभिभावक ओर क्षेत्रवासी ओर बच्चे उपस्थित रहे।


सहभोज कार्यक्रम में जनमानस की भीड़

अविनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद। लोनी विधानसभा के रिस्तल ग्राम में गाज़ियाबाद के यशश्वी सांसद और केन्द्रीय सड़क-परिवहन राज्यमंत्री, भारत-सरकार वी के सिंह द्वारा आयोजित सहभोज कार्यक्रम में क्षेत्र के अनेको भाजपा कार्यकर्ता और क्षेत्रवासीयो के साथ आदरणीय वी के सिंह, भारती सिंह,मरणालनी सिंह एवं भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश सिंघल से शिष्टाचार भेंट करते, भाजपा नेता विजेन्द्र त्यागी ,जिला उपाध्यक्ष चोधरी चैनपाल सिंह ,पूर्व जिला मंत्री ओम प्रकाश तिवारी ,पूर्व पार्षद अमरेश चौधरी ,मंडल महामंत्री सुनील बंसल ,उपाध्यक्ष मंटू ठाकुर उपस्थित रहे।


पिटाई करके, 3 बच्चों की मां घर से निकाली

बैकुंठपुर। शराब के नशे में एक युवक अपनी पत्नी से अक्सर मारपीट करता था। शादी के 12 साल गुजरने के बाद 3 बच्चे भी हैं, इसके बाद भी उसका रवैय्या नहीं बदला। बीच-बीच में वह पत्नी को दहेज की बात को लेकर भी प्रताडि़त करता था। 6 महीने पूर्व रात में उसने शराब के नशे में पत्नी की हाथ-मुक्के व लात से पिटाई कर घर से निकाल दिया। पत्नी ने पड़ोसी के घर रात बिताई और दूसरे दिन मायके आ गई। जब मायके वाले उससे समझौते की बात करने लगे तो उसने कहा कि वह उसे नहीं रखेगा और दूसरी शादी करेगा। इसके बाद पत्नी ने थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। कोरिया जिले के बैकुंठपुर से लगे ग्राम कसरा निवासी ललिता बाई ने थाने में दर्ज कराई गई शिकायत में बताया है कि वह अपने मायके रहती हैं। करीब १२ साल पहले उसकी शादी ग्राम ढोढ़ीबहरा निवासी हरि सिंह के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही पति शराब पीकर गाली-गलौज कर मारपीट करता आ रहा था। हमारे 3 बच्चे है। उसने बताया कि पति आए दिन मारपीट कर शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडि़त कर रहा है। 15 जून 2019 को पति ने गाली-गलौज कर हाथ मुक्का, लात से मारपीट कर घर से निकाल दिया था। इस दौरान रात करीब 11 बजे पड़ोसी के घर में जाकर रात में रुकी थी और अगले दिन सुबह अपने घर गई थी। लेकिन मेरे पति ने दोबारा गाली देते जान से मारने की धमकी दी और मारने के दौड़ाया था। इसके बाद मैं भाग कर अपने मायके आ गई। दूसरी शादी करने की दी धमकी पीडि़ता ने बताया कि उसके माता-पिता को उसने जब यह बात बताई तो समझौता कराने गए थे। वहां भी फिर से झगड़ा करने लगा और बोला कि तुमको नहीं रखूंगा। मैं दूसरी शादी करूंगा। मामले में मैंने परिवार परामर्श केन्द्र में आवेदन लगाया था। परामर्श केंद्र में मेरे पति को बुलवाए, लेकिन वह नहीं आया। इस पर परामर्श केंद्र से थाना भेजने के बाद अपराध पंजीबद्ध कराया गया है। पीडि़ता की रिपोर्ट पर आरोपी पति के खिलाफ धारा 294, 323, 498-ए, 506 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।


सिद्धू मूसे वाला सवालों पर पत्रकारों से भिड़े

सिद्धू मूसे वाला थाना पहुंचा, सवालों पर पत्रकारों से भिड़े


अमित शर्मा


नई दिल्ली। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला अपने गानों के चलते विवादों में रहने लग गए हैं| कुछ लोगों को उनके गाने रास आ रहे हैं तो कुछ उन्हें सुनना पसंद नहीं कर रहे हैं।विवादों के क्रम में पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला का एक ताजा विवाद सामने आया है जिसमे वह पत्रकारों से भिड़ बैठे। दरअसल, पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला बीते शुक्रवार की शाम को लुधियाना पुलिस स्टेशन पहुंचे थे।पुलिस स्टेशन की तरफ से सिद्धू मूसे वाला को नोटिस भेजा गया था जिसके बाद वह लुधियाना पुलिस स्टेशन आकर पुलिस के समक्ष पेश हुए।वहीँ, पेशी के बाद जब पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला थाने से बाहर निकले तो कुछ पत्रकारों ने उन्हें घेर लिया और उनसे पेशी को लेकर सवाल करने लगे।जहाँ पत्रकारों के सवाल से सिद्धू मूसे वाला भड़क गए और पत्रकारों से उलझने लग गए। सिद्धू मूस वाला को पुलिस ने क्यों भेजा नोटिस? बता दें कि, पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला अपने गानों में बंदूकों का ज्यादा प्रयोग करते हैं|पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसे वाला के हर गाने में बंदूक जरुरु देखने को मिलती है।जिसके चलते माना जा रहा है कि, सिद्धू मूसे वाला गानों के जरिये हथियारों के कल्चर को प्रमोट करने में लगे हैं।सिद्धू मूसे वाला पर इन्ही आरोपों के चलते उन्हें लुधियाना पुलिस की ओर से नोटिस जारी किया गया था और पुलिस के समक्ष पेश होने को कहा गया था। पुलिस ने बताया कि, एक स्थानीय निवासी ने सिद्धू मूसे वाला के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।उनकी शिकायत थी कि पंजाबी गायक सिद्धू मूसे वाला अपने गानों में हथियारों को प्रमोट कर रहे हैं|शिकायतकर्ता ने ये मांग की थी कि उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का है ये सख्त निर्देश पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का निर्देश है कि पंजाबी गीतों के माध्यम से पंजाबी गायक किसी भी तरह से शराब और गन कल्चर को प्रमोट ना करें । 22 जुलाई 2019 को हाईकोर्ट ने ये आदेश जारी कर कहा था कि कोई भी गायक अपने गानों में गन कल्चर और शराब को ग्लोरिफाई नहीं कर सकता।


हिमाचल प्रदेश के स्थापना दिवस की दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के स्थापना दिवस पर प्रदेशवासियों को दी बधाई


अमित शर्मा


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के स्थापना दिवस के मौके पर प्रदेशवासियों को बधाई दी है। मोदी ने ट्विटर पर अपने शुभकामना संदेश में लिखा, “हिमाचल प्रदेश के सभी निवासियों को 50वें पूर्ण राज्यत्व दिवस की बहुत-बहुत बधाई। अपने गौरवशाली इतिहास, समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और नैसर्गिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध यह राज्य विकास के नित नए मानदंड स्थापित करे और देश की समृद्धि में अपना बहुमूल्य योगदान यूं ही देता रहे।” उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश 25 जनवरी 1971 को केंद्र शासित प्रदेश से पूर्ण भारत का 18वां पूर्ण राज्य बना था।


यूपी दिवस पर विकास-भवन में कार्यक्रम

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, प्रवीण कुमार रिपोर्टर, पिलखुआ रिंकू सैनी रिपोर्टर     


यूपी दिवस के अवसर पर विकास भवन में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न विभागों के द्वारा स्टालों के माध्यम से दी गयी योजनाओं की जानकारी


हापुड़। विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को दिया गया स्वीकृति पत्र 24 जनवरी, यूपी दिवस के अवसर पर विकास भवन प्रांगण में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कृषि विभाग द्वारा किसान मेला व पंचायतीराज विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, कौशल विकास, आईसीडीएस विभाग, पशु चिकित्सा, एक जनपद एक उत्पाद, उद्यान विभाग, खादी ग्रामोद्योग, इ्फ्को, रेशम, गन्ना विभाग, कृषि विभाग, जिला महिला स्वतः रोजगार विभाग, प्रोबेशन विभाग, समाज कल्याण विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा स्टाल लगाये गये व योजनाओं की जानकारी दी गयी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय विधायक हापुड़ विजय पाल आढती, मा0 विधायक गढ़मुक्तेश्वर कमल मलिक द्वारा विभिन्न स्टालों का निरीक्षण किया गया व विभागों द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली गयी और संबन्धित विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों को सरकार की योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु निर्देश दिया गया। कार्यक्रम में मा0 मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण आये हुये जनता को वीडियो एल ई डी वैन के माध्यम से दिखाया गया व मा0 मुख्यमंत्री जी के संबोधन को जनता द्वारा सुना गया। विकास भवन में आयोजित कार्यक्रम में मा0 विधायक हापुड़ व माननीय विधायक गढ़ द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाले आॅगनबाड़ी कार्यकत्री, आशा बहु, आशा संगिनी, ऐनम, को सम्मानित किया गया व प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व शहरी , मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरण, श्रम विभाग द्वारा शादी अनुदान योजना के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र वितरण, उत्कृष्ट कार्य करने वाले पीआरडी जवानों को उत्कृष्ट कार्य प्रमाण पत्र, खादी ग्रामोद्य विभाग द्वार कुम्हार योजना के तहत मशीन का वितरण, दिव्यांग पेंशन, वृद्धा पेंशन, निराश्रित महिला पेंशन के लाभार्थियों को पेंशन का स्वीकृति पत्र, स्वतः शौचालय निर्माण करने वाले ग्रामीणों को प्रशस्ति पत्र, प्रदान किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुये मुख्य अतिथि मा0 विधायक गढ़ ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार सबका साथ सबका विकास लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है, जिसका परिणाम धरातल पर दिखायी पड़ रहा है। गरीब से गरीब व्यक्ति को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल रहा है। सरकार द्वारा बेघर लोगों को आवास योजना के माध्यम से आवास दिया जा रहा है। युवाओं को स्वतः रोजगार के माध्यम से स्वावलम्बी बनाया जा रहा है। युवाओं को विभिन्न रोजगार हेतु प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सरकार द्वारा गरीबों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। सरकार द्वारा आयुष्मान भारत के माध्यम से गरीबों के लिए अच्छे से अच्छे अस्पताल में निःशुल्क इलाज का लाभ दिया जा रहा है। वर्तमान सरकार गरीबों व युवाओं के लिए समर्पित है। मा0 विधायक हापुड़ ने कहा कि जनपद के अधिकारियों द्वारा योजनाओं के क्रियान्वयन में अच्छा कार्य किया जा रहा है। जिससे कि पात्रों को योजनाओं का लाभ मिलता दिख रहा है।
मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह ने कहा कि उनकी कोशिश यही है कि सरकार की योजनाओं का लाभ पात्रों तक पहुॅचे, उन्होंने मुख्य अतिथि को आस्वासन दिया कि योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुये अधिक से अधिक लाभार्थियों को योजनाओं का लाभ दिया जायेगा।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधायक हापुड़ विजय पाल आढ़ती, विधायक गढ़ कमल मलिक, पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन, सीडीओ उदय सिंह, एडीएम जयनाथ यादव, डी डी ओ संजय कुमार, जिला कृषि अधिकारी शिव कुमार, जिला उद्यान अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी, समाज कल्याण अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी व अन्य संबन्धित अधिकारी व अन्य किसान भाई/आम जनमानस मौजूद रहे।


हिमाचल में कड़ाके की सर्दी का दौर जारी

आधे प्रदेश का माइनस में पारा, लाहौल-स्पीति सबसे ठंडा


अमित शर्मा


शिमला। हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की सर्दी का दौर जारी है। आधे प्रदेश का पारा माइनस में चला गया है। प्रचंड ठंड में लोगों का जनजीवन दुश्वार कर रखा है। सुबह-शाम लोग घरों में दुबकने को मजबूर हैं। कबायली इलाकों में तापमान के शून्य से काफी नीचे पहुंचने से पानी के प्राकृतिक स्त्रोत जम गए हैं। मैदानी क्षेत्रों में भी कम्पकम्पाती ठंड से लोग ठिठुर रहे हैं। राज्य के पांच जिलों के छह शहरों का पारा शुक्रवार को माइनस में रिकॉर्ड किया गया। इन जिलों में लाहौल-स्पीति, किन्नौर, शिमला, कुल्लू और मंडी शामिल हैं। शीतलहर से अभी निजात मिलने के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग ने आगामी 27 जनवरी से पहाड़ी क्षेत्रों में फिर से बफऱ्बारी का अनुमान जताया है। लाहौल-स्पीति जिला का मुख्यालय केलंग सबसे ठंडा रहा, जहां शुक्रवार को न्यूनतम तापमान -15 डिग्री पहुंच गया है। किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान -5.2, मनाली में -3.6, कुफरी में -1.8, भुंतर में -0.4 और सुंदरनगर में -0.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। इसके अलावा डलहौजी में 0.8, पालमपुर में 1.5, चंबा में 1.6, ऊना में 2.2, कांगड़ा व हमीरपुर में 2.8, बिलासपुर में 3, धर्मशाला में 3.6,  जुब्बड़हट्टी में 4, शिमला में 4.5, मंडी में 5 और नाहन में 8.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।  मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घण्टों के दौरान मैदानी इलाकों में मौसम  साफ रहेगा, लेकिन पहाड़ी भागों में बफऱ्बारी की सम्भावना है। 26 जनवरी को पूरे प्रदेश में मौसम शुष्क रहेगा। 27 से 30 जनवरी तक पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फ गिरने की उम्मीद है, वहीं मैदानों में 28 व 29 जनवरी को गरज के साथ बारिश हो सकती है।


कांग्रेस में शामिल हुए, इनेलो जिलाध्यक्ष

इनेलो को फिर लगा बड़ा झटका, कांग्रेस में शामिल हुए कैथल के इनेलो जिलाध्यक्ष


अमित शर्मा


नई दिल्ली। इंडियन नेशनल लोकदल को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। इनेलो के कैथल से जिलाध्यक्ष पंडित कंवरपाल करोड़ा कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। आज पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के दिल्ली आवास पर कैथल के इनेलो जिलाध्यक्ष पंडित कंवरपाल करोड़ा कांग्रेस में शामिल हुए। इस मौके पर रोहतक से पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी मौजूद रहे। वहीं बताया जा रहा है कि 8 मार्च को पुंडरी विधानसभा के करोड़ा गांव में भूपेंद्र सिंह हुड्डा और दीपेंद्र हुड्डा महारैली कर इनेलो के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को भी कांग्रेस में शामिल करेंगे।


हरियाणा में मिलेगा घरों का मालिकाना हक

हरियाणा में अब लोगों को मिलेगा घरों का मालिकाना हक, कल सीएम करेंगे वितरित


अमित शर्मा


करनाल। 26 जनवरी को गणंत्रत दिवस के दिन लाल डोरा मुक्त हो चुका करनाल जिले का गांव सिरसी ऐतिहासिक क्षणों का गवाह बनेगा। हरियाणा के मुख्य मंत्री मनोहर लाल गावं के लोगों को उनकी प्रापर्टी की टाइटल डीड (मालिकाना हक)  वितरित करेंगे। उप मुख्य मंत्री दुष्यंत चौटाला भी इस अवसर पर मौजूद होंगे। कार्यक्रम दोपहर के समय होगा।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने और तैयारियों को लेकर अतिरिक्त उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि सिरसी गांव के 357 व्यक्तियों को टाईटल डीड बांटी जानी है। उन्होंने बताया की योजना के तहत सिरसी प्रदेश का सबसे पहला लाल डोरा मुक्त गांव बना है। सर्वे ऑफ इण्डिया की टीम ने प्रशासन का सहयोग लेकर पायलेट के तौर पर , ड्रॉन से गांव की डीजिटल मैपिंग करवाई थी, जो कि सफल रही।
मैपिंग के बाद इसकी नोटिफीकेशन कर दी गई और गांव के 357 लोगो की टाइटल डीड के लिए आईडी तैयार की गई। इसी से उत्साहित होकर अब सरकार इस योजना का विस्तार करते हुए प्रदेश के अन्य जिलो के गांवों में भी डिजिटल मैपिंग का कार्य करवाएगी। एक तरह से ग्रामीणों के हक में मौजुदा सरकार की ओर से यह बड़ा व सराहनीय कदम है, जिससे ग्रामीणों की प्रापर्टी में मालिकाना हक देकर उनका भविष्य सुरक्षित बनाया गया है और वर्षों पुरानी  लाल डोरा की समस्या को समाप्त कर दिया है। करनाल की बात करें तो सिरसी के बाद दूसरे गांव दादूपुर में ड्रॉन मैपिंग का कार्य शुरू हो गया है।
गौरतलब है की लाल डोरा से मुक्त होने के बाद सिरसी गांव के लोगों को उनकी प्रापर्टी व प्लाटों का मालिकाना हक मिल गया है, जिस पर वे काबिज हंै। इस सुविधा से प्रापर्टी मालिक अपनी प्रापर्टी की खरीद फरोख्त कर सकेंगे, जिसमें किसी तरह की रूकावट नहीं होगी। जमीन पर बैंकों के माध्यम से कर्ज भी ले सकेंगे , राजस्व रिकार्ड में इंतकाल चढ़ेगा।


सीएम ने कर्मचारियों-पेंशनरों को दी सौगात

अमित शर्मा


बिलासपुर पूर्ण राज्यत्व दिवस पर सीएम जयराम ने कर्मचारियों और पेंशनरों को दी बड़ी सौगात


बिलासपुर। सीएम जयराम ठाकुर ने हिमाचल के 50वें पूर्ण राज्यत्व दिवस के मौके पर कर्मचारियों और पेंशनरों को बड़ी सौगात दी है। सीएम ने बिलासपुर के झंडूता में जनसभा को संबोधित करते हुए कर्मचारियों और पेंशनरों को 5 फीसदी डीए देने के घोषणा की है। ये डीए 1 जुलाई 2019 से देय होगा। इससे कर्मचारियों को 250 करोड़ के वित्तीय लाभ मिलेंगे। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को 5 फीसदी की दर से डीए जारी किया है। प्रदेश सरकार ने भी केंद्र की तर्ज पर अपने कर्मचारियों और पेंशनरों को 5 फीसदी डीए देने की घोषणा की है।


शराब ठेके पर सेल्समैन से मारपीट, बोतले तोड़ी

अमित शर्मा


ऊना शराब के ठेके पर सेल्समैन से मारपीट, बोतलें तोड़ी


ऊना। जिला ऊना के पुलिस थाना बगाणा के तहत बिहडू में शराब के ठेके पर शराब खरीदने पहुंचे बोलेरो में सवार कुछ युवकों ने सेल्समैन के साथ मारपीट की और युवकों ने तेश में आकर ठेके पर खूब उत्पात मचाया। ठेके के अंदर रखी शराब की बोतलें तक तोड़ दी। आरोपियों में ठेके पर रखे सेल्समैन को जान से मारने की धमकियां भी दी। इस पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार थाना बगाणा के तहत सुरेश कुमार निवासी पजांब सेल्समैन शराब ठेका बीडु ने पुलिस को शिकायत दी और बताया कि रात को करीब 9:30 बजे एक बलैरो गाडी बंगाणा नम्बर की आई। इस गाड़ी में से एक व्यक्ति ठेके पर आया और उसने शराब  का क्बाटर मांगा और गाली गलोच करने लगा कि आप शराब में पानी मिक्स करके बेचते हो। उसके साथ दो अन्य व्यक्ति भी आये थे। इन तीनों ने जान से मारने की धमकियां दी और ठेके में शराब की बोतले तोड़ दी। उधर डीएसपी अशोक वर्मा ने कहा कि पुलिस ने सभी आरोपीयों के खिलाफ धारा 451,323,506,34 आईपीसी  में केस दर्ज़ करके आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है।


नसीरुद्दीन की बेटी पर मारपीट का केस

मुंबई। बॉलीवुड के सीनियर एक्टर नसीरुद्दीन शाह की बेटी हीबा शाह पर मारपीट का केस आज मुंबई के वर्सोवा पुलिस थाने में दर्ज हुआ है। हीबा ने हॉस्पिटल में वीवीआईपी ट्रिटमेंट नहीं मिलने के कारण दो महिला कर्मियों की पिटाई कर दी थी। यह केस फेलाइन फाउंडेशन ने की है। बिल्लियों को लेकर पहुंची थी हॉस्पिटल घटना के बारे में बताया जा रहा है कि 16 जनवरी को हीबा वाइल्ड वुड पार्क में रहने वाली सहेली की दो बिल्लियों को लेकर पशुचिकित्सा क्लिनिक पहुंची हुई थी। हॉस्पिटल के कर्मियों ने कहा कि किसी कारण उनके बिल्लियों की नसबंदी नहीं की जा सकती है। जिसके कारण वह भड़क गए और दोनों महिलाकर्मी की पिटाई कर दी।


इतिहास को फिर दोहरायेगा अयोध्या

बेगूसराय। राजकीय अयोध्या शिवकुमारी आयुर्वेद महाविद्यालय सह चिकित्सालय में आयोजित शिष्योपनयन संस्कार समारोह में शुक्रवार को शामिल होकर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने अध्ययनरत छात्रों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने महाविद्यालय के पुराने इतिहास को याद दिलाते हुए कहा कि सरकार प्रतिबद्ध है कि सूबे के सभी स्वास्थ्य से संबंधित महाविद्यालयों में सरकारी तंत्रों को दुरूस्त कर उनका जीर्णोद्धार करेेगी, ताकि बिहार में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाया जा सके।


उन्होंने कहा कि बरसों से बंद इस ऐतिहासिक महाविद्यालय के जीर्णोद्धार के मौके पर मैं मौजूद हूं, तो निश्चित रूप से यहां के बदलते स्वरूप को देखकर मन हर्षित हो रहा है। कहा केंद्र एवं राज्य सरकार दोनों ही हर व्यक्ति तक स्वास्थ्य की मूलभूत आवश्यकताओं को पहुंचाने हेतु प्रतिबद्ध है। विभिन्न योजनाओं के जरिये सुदूर ग्रामीण अंचल का क्षेत्र हो या फिर शहरी क्षेत्र हर जगह स्वास्थ्य की सुविधाएं मुहैया करने के संकल्प पर हमारी सरकार काम कर रही है। आज उस दिशा में यह एक महत्वपूर्ण शुरुआत है। उन्होंने आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए कहा कि ग्रामीण तबके के लोग जिन्होंने उत्तम स्वास्थ्य के अभाव में कई जिंदगियों को बर्बाद होते देखा है, उन्हीं लोगों में आज सहजता के भाव को देखकर मन हर्षित होता है। उस सहजता के भाव का आधार यह जनकल्याणकारी योजना है। इसके माध्यम से न केवल उत्तम सुविधाएं मुहैया कराई जाती है, बल्कि उनके आर्थिक हालातों को भी ध्यान में रखा जाता है। इस मौके पर कई लोगों ने स्वास्थ्य मंत्री का सम्मान किया।



2 लाख में 12 साल की 'बेटी का सौदा'

कैमूर। कहते हैं मां-बाप की निगरानी में बेटियां खुद को सबसे ज्यादा महफूज समझती हैं। कहा ये भी जाता है कि जन्म देने वाली मां और पाल-पोसकर बड़ा करने वाला बाप अपनी बच्ची के लिए भगवान के समान होता है। लेकिन तब क्या हो जब महज चंद रुपयों की खातिर एक मां-बाप अपनी ही फूल सी बेटी का सौदा कर दे।


शर्मसार करने वाली ये घटना बिहार के कैमूर से है। जहां भभुआ के चैनपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में एक मां-बाप ने अपनी 12 साल की बेटी का सौदा कर दिया। दो लाख रुपयों के लिए मां-बाप ने अपनी नाबालिग बेटी को दलाल के हाथों बेच दिया। पुलिस को जब इस मामले की भनक लगी तब वो मौके पर पहुंची। कैमूर पुलिस ने लड़कियों की खरीद-ब्रिकी करने वाले यूपी के गिरोह के तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मौके से एक अपराधी भाग गया। पुलिस ने अपराधियों के पास से कार, दो आधार कार्ड, आईडी और अन्य चीजें बरामद की हैं। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।


पटना के जेडी कॉलेज में 'बुर्का पर रोक'

पटना। बिहार की राजधानी पटना में एक वुमेंस कॉलेज ने छात्राओं के बुर्का पहनकर आने पर रोक लगा दी है। कॉलेज ने छात्राओं के लिए एक निर्देश जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि सभी छात्राओं को शनिवार को छोड़कर हर दिन निर्धारित ड्रेस कोड में कॉलेज आना होगा। कॉलेज प्रशासन की ओर से साफ कहा गया है कि छात्राएं कॉलेज में बुर्का नहीं पहन सकती हैं। नियम के उल्लंघन पर उन्हें 250 रुपये का जुर्माना देना होगा।
मामला राजधानी के जेडी वीमेंस कॉलेज का है। कॉलेज के अंदर सर्कुलेट हो रहे नोटिस में छात्राओं को ड्रेस कोड का पालन करने को कहा जा रहा है। साथ ही कहा गया है कि अगर छात्राएं नियमों का पालन नहीं करेंगी तो उन्हें जुर्माने के तौर पर 250 रुपये देने होंगे। जीडी कॉलेज की प्राचार्य श्यामा राय का कहना है कि यह नियम छात्राओं में एकरूपता लाने के लिए लागू किया गया है। प्राचार्य ने कहा कि कॉलेज की ओर से पहले भी यह घोषणा की गई थी। नए सेशन के ओरिएंटेशन के वक्त छात्राओं को सूचित किया गया। अब उन्हें शनिवार के दिन को छोड़कर बाकी दिनों में ड्रेस कोड में आना होगा। हालांकि कॉलेज के इस आदेश पर कई छात्राओं ने आपत्ति जताई है। छात्राओं का कहना है कि बुर्का से कॉलेज में किस तरह की दिग्गत होगी? इस नियम को सिर्फ थोपा जा रहा है।


शाहीन बाग जाने की इजाजत नहीं मीली

नई दिल्ली। योगगुरू बाबा रामदेव को शाहीन बाग में जाने की इजाजत नहीं मिली है। दिल्ली पुलिस ने बाबा रामदेव को नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों के बीच शाहीन बाग जाने की परमिशन नहीं दी। बाबा रामदेव के एक सुरक्षा अधिकारी ने दिल्ली पुलिस से कहा कि योग गुरू शाहीन बाग जाना चाह रहे हैं, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा अधिकारी से कहा कि वहां के हालात क्या हैं ये सबको पता है। इसलिए उनका शाहीन बाग जाना ठीक नही है। इसके बाद रामदेव का शाहीन बाग जाने का कार्यक्रम रद्द हो गया।


योगगुरु बाबा रामदेव ने देश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), एनआरसी और जामिया-जेएनयू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा को लेकर शुक्रवार को कई बड़े बयान दिए। सीएए को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर रामदेव ने कहा कि जिस तरह से विरोध हो रहा है, ऐसा लग रहा है कि देश में अराजकता के अलावा कुछ हो ही नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि देश में मुसलमान देशभक्त भी हैं।


मुस्लिम समाज को बदनाम न करें- रामदेव
बाबा रामदेव ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी कंपनी पतंजलि के एजेंडे को सामने रखा। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए। एक सवाल के जवाब में बाबा रामदेव ने कहा, ‘’इस देश में देशभक्त मुसलमान भी है, लेकिन कुछ लोग कभी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सिर काटने की धमकी देते हैं कभी गृह मंत्री अमित शाह का। मैं मुस्लिम समाज से आग्रह करूंगा कि ऐसे लोगों के बीच जाएं और इसका विरोध करें ताकि पूरे मुस्लिम समाज को बदनाम न किया जा सके।’


विरोध-प्रदर्शन करना छोड़े जेएनयू के छात्र- रामदेव
रामदेव ने यह भी कहा, ‘’हमारे देश में कई बार ऐसे बयान दिए जाते हैं, जिन्हें बाद में पाकिस्तान की संसद में कोट किया जाता है. ऐसे बयानों से बचने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा, ‘’मैं जेएनयू के छात्रों से कहूंगा कि ये विरोध प्रदर्शन छोड़ देना चाहिए। अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें और राष्ट्रनिर्माण में सहयोग करें।’’


सीएए के पीछे विदेशी शक्तियां भी शामिल- रामदेव
रामदेव ने कहा, ‘’मैं राजनीतिक दलों से कहना चाहता हूं कि संविधान ने नरेंद्र मोदी सरकार को पूर्ण बहुमत दिया है। इसलिए राष्ट्रनिर्माण में सरकार का सहयोग करें।’ सीएए पर रावदेव ने कहा, ‘’पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह स्पष्ट कर चुके हैं। सीएए को लेकर भय पैदा किया जा रहा है. लोगों को गलत दिशा में मोड़ा जा रहा है। इसमें कुछ राजनीतिक दल और विदेशी शक्तियां शामिल हैं।’’


'हाउडी मोदी' की तर्ज पर 'केम छो ट्रंप'

गांधीनगर। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प फरवरी में भारत आ रहे हैं। ह्यूस्टन में हुए ‘हाउडी मोदी’ की तर्ज अहमदाबाद में 25 फरवरी को ‘केम छो ट्रम्प’ कार्यक्रम होगा। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रम्प का हाथ थामकर कहेंगे- केम छो। कार्यक्रम में 50 से 60 हजार लोग मौजूद रहेंगे। सूत्रों के मुताबिक, कार्यक्रम में 20 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। ज्यादातर रकम गुजरात सरकार खर्च करेगी। कार्यक्रम के लिए ट्रम्प के ओवल ऑफिस की तरफ से मंजूरी मिल गई है। शुक्रवार को गुजरात सरकार के मुख्य सचिव अनिल मुकीम ने मोटेरा स्टेडियम का जायजा लिया और अहमदाबाद महानगर पालिका कमिश्नर विजय नहेरा समेत अन्य अफसरों के साथ चर्चा की। अहमदाबाद पुलिस कमिश्नर आशीष भाटिया ने भी 150 पुलिसकर्मियों के साथ स्टेडियम की सुरक्षा की समीक्षा की। 
कार्यक्रम में भारत-अमेरिका के रिश्तों को दिखाया जाएगा
सूत्रों की मानें तो ‘केम छो ट्रम्प’ में जबर्दस्त तकनीक का इस्तेमाल देखने मिलेगा। इसमें भारत और अमेरिका के बीच आपसी संबंधों की एक संगीतमय प्रस्तुति भी होगी। कार्यक्रम की थीम अमेरिका में बसे भारतीयों द्वारा वहां प्रगति में दिया योगदान रखी गई है। इसके अलावा भारतीय इतिहास, महात्मा गांधी, सरदार पटेल और स्टेच्यू ऑफ यूनिटी की झाकियां भी पेश की जाएगी।  
दिल्ली से साथ में ही आएंगे मोदी और ट्रम्प
जिन लोगों को इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा, उसमें अमेरिका में कामयाब भारतीय मूल के बिजनेसमैन, भारत में निवेश करने वाले अमेरिकी कंपनियों के प्रतिनिधियों, भारतीय कॉर्पोरेट जगत के लीडर्स, राजनीतिक, सामाजिक और शैक्षणिक क्षेत्र से जुड़ी हस्तियां शामिल होंगी। साथ ही अमेरिका में रहने वाले भारतीय समुदाय के संस्थाओं को भी आमंत्रित किया जाएगा। 25 फरवरी की शाम को होने वाले कार्यक्रम में मोदी और ट्रम्प के साथ में ही दिल्ली से आएंगे और कार्यक्रम पूरा होने के बाद वापस तुरंत दिल्ली लौटेंगे। इसके अलावा अन्य किसी भी जगह जाने का प्रोग्राम नहीं है। 
सीएए के खिलाफ विरोध के कारण अहमदाबाद को चुना
ओवल ऑफिस की ओर से भारत सरकार से आग्रह किया गया था कि सुरक्षा के कारणों के चलते ट्रम्प दिल्ली-एनसीआर के अलावा अन्य स्थानों पर नहीं जाएंगे। लेकिन मोदी सरकार ने दिल्ली में सीएए के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के कारण इस कार्यक्रम के लिए अहमदाबाद को ही उपयुक्त माना। ताजमहल के बजाय ट्रम्प अहमदाबाद आएंगे
विदेशी नेताओं के रिवाज को देखें तो भारत यात्रा के दौरान वे ताजमहल देखने जाते हैं। लेकिन ट्रम्प आगरा नहीं जा रहे। वहीं, ट्रम्प की पत्नी मेलानिया अहमदाबाद नहीं, बल्कि वह ताजमहल देखने जाएंगी।


घुसपैठियों मुसलमानों के खिलाफ आवाज़

मुंबई। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी पर जारी बहस के बीच महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना ने पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमान घुसपैठियों के खिलाफ आवाज उठाई है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा कि देश में घुसे पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को बाहर निकलाना चाहिए। शिवसेना ने एमएनएस चीफ राज ठाकरे पर भी निशाना साधा। सामना में लिख गया, देश में घुसे पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को निकालना जरूरी है, इसमें कोई दो राय नहीं है. लेकिन इसके लिए किसी राजनीतिक दल को अपना झंडा बदलना पड़े, ये मजेदार है।


बता दें कि हाल ही में एमएनएस ने अपना झंडा बदला है। एमएनएस ने झंडे को अब भगवा रंग दिया गया है और इस झंडे में शिवाजी महाराज के शासनकाल की मुद्रा प्रिंट है। शिवसेना ने सामना में लिखा, ‘राज ठाकरे और उनकी 14 साल पुरानी पार्टी ने मराठी के मुद्दे पर पार्टी की स्थापना की। लेकिन अब उनकी पार्टी हिंदुत्ववाद की ओर जाती दिख रही है। इसे रास्ता बदलना कहना ही ठीक होगा. सामना में लिखा गया। शिवसेना ने मराठी के मुद्दे पर बहुत काम किया हुआ है। इसलिए मराठियों के बीच जाने के बावजूद उनके हाथ कुछ नहीं लगा और लगने के आसार भी नहीं हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी को जैसी चाहिए, वैसी ही ‘हिंदू बांधव, भगिनी, मातांनो…’ आवाज राज ठाकरे दे रहे हैं। यहां भी इनके हाथ कुछ लग पाएगा, इसकी उम्मीद कम ही है।”


सामना में बीजेपी और MNS दोनों पर निशाना साधा गया. सामना में लिखा गया है, ”शिवसेना ने प्रखर हिंदुत्व के मुद्दे पर देशभर में जागरूकता के साथ बड़ा कार्य किया है। मुख्य बात ये है कि शिवसेना ने हिंदुत्व का भगवा रंग कभी नहीं छोड़ा. यह रंग ऐसा ही रहेगा। इसलिए दो झंडे बनाने के बावजूद राज के झंडे को वैचारिक समर्थन मिल पाएगा, इसकी संभावना नहीं दिख रही।
शिवसेना ने लिखा, ”सत्ता के लिए शिवसेना ने रंग बदला है, ये ऐसी बात कहनेवाले लोगों के दिमागी दिवालिएपन की निशानी है। शिवसेना पर रंग बदलने का आरोप लगानेवाले पहले खुद के चेहरे पर लगे मुखौटे और चेहरे पर लगे बहुरंगी मेकअप को जांच लें।” शिवसेना ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाई। इसे रंग बदलना कैसे कहा जा सकता है? इस बारे में लोगों को आक्षेप कम लेकिन पेट दर्द ज्यादा है।”


मुस्लिम महिलाओं ने रात तक दिया धरना

संभल। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाओ का धरना प्रदर्शन पहले से ही जारी है अब उत्तर प्रदेश के संभल में भी मुस्लिम महिलाओं का धरना शुरू हो गया है। सपा सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क भी इस धरने को संबोधित करने के लिए पहुंचे। डा. बर्क ने मांग पूरी होने तक धरना जारी रहने का ऐलान किया। उन्होंने संसद के आगामी सत्र में भी सीएए का मामला जोरशोर से उठाने की बात कही। संभल के मोहल्ला हिंदूपुरा खेड़ा हुसैनी रोड पर शुक्रवार को बड़ी तादाद में मुस्लिम महिलाएं एकत्र हुईं। महिलाओं ने तिरंगा और सीएए विरोध के नारे लिखीं तख्तियां लहराते हुए धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। महिलाओं के आन्दोलन की जानकारी मिलते ही पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुँच गए। दोपहर बाद संभल के समाजवादी पार्टी सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क धरनास्थल पर पहुंचे और महिलाओं का हौंसला बढ़ाते हुए मांग पूरी होने तक डटे रहने की बात कही। डा. बर्क ने कहा कि ये महिलाएं हक के लिए घर से बाहर निकली हैं और मांग पूरी होने तक आंदोलन में डटी रहेंगी। सीएए का विरोध कर रहीं महिलाएं धरनास्थल पर देर रात तक जमी रहीं। महिलाओं ने कहा कि वह किसी जुल्म से डरने वाली नहीं हैं। आन्दोलन लगातार जारी रहेगा। पुलिस-प्रशासन महिलाओं के आन्दोलन पर लगातार निगाह बनाए हुए है।


धरनास्थल पर माहौल को देशभक्ति के रंग में रंगते हुए धरने पर बैठी महिलाओं और वहां मौजूद लोगों ने हाथों में तिरंगे लहराकर राष्ट्रगान के साथ ही सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा गीत भी गाया। इसी के साथ हिन्दुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए कहा गया कि वह सच्चे देशभक्त हैं और उन्हें किसी से देशभक्ति का सार्टीफिकेट लेने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही गणतंत्र दिवस के दिन धरनास्थल पर ही तिरंगा फहराये जाने का ऐलान किया गया।


रेल लाइन के दोहरीकरण का शुभारंभ

रजनीकांत अवस्थी
बछरावां/रायबरेली। कई दशकों से रेल लाइन के दोहरीकरण की मांग कर रहे लोगों की कल यानी 24 जनवरी 2020 को मुराद पूरी हो गई। लखनऊ से कुंदनगंज तक दोहरीकरण का शुभारंभ रेलवे के मुख्य सुरक्षा आयुक्त शैलेश कुमार पाठक ने किया।बछरावां रेलवे स्टेशन पर इस कार्य का शुभारंभ सीआरएस शैलेश कुमार पाठक द्वारा किया जाएगा। 
आपको बता दें कि, लखनऊ से कुंदनगंज तक रेल लाइन का दोहरीकरण का कार्य पूरा हो गया है अब लखनऊ से कुंदनगंज तक ट्रेनें फर्राटा भरती हुई नजर आएंगी। अभी तक यात्रियों को दोहरीकरण की सुविधा ना होने के कारण लखनऊ से महज 40 मिनट का सफर तय करने में घंटों लग जाते थे। परंतु अब रेल लाइन के दोहरीकरण हो जाने से चंद मिनटों में ही लखनऊ से बछरावां की दूरी तय हो जाएगी। रेल लाइन के दोहरीकरण के लिए दिन-रात चले इस कार्य में सैकड़ों मजदूरों इंजीनियरों व अधिकारियों को लगाया गया।
दोहरीकरण का उद्घाटन सीआरएस द्वारा किया जाएगा। बछरावां रेलवे स्टेशन को दुल्हन की तरह सजाया गया है। इस रेलवे स्टेशन पर नए ओवर ब्रिज पेयजल की बेहतर व्यवस्था, अत्याधुनिक शौचालय, टीन सेड तथा दूधिया व हाई मास्टलाइटो द्वारा सजाया गया है। वहीं हरियाली के लिए लगभग 1000 पेड़ों को लगाया गया है।


बैंक से जुड़े नंबरों पर रखे ध्यान

नई दिल्ली। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ग्राहकों को सुरक्षित बैंकिंग सुविधा के लिए कई कदम उठाती है। एसबीआई ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर ग्राहकों को चेतावनी दी है। एसबीआई ने अपने ग्राहकों को डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और एटीएम का इस्तेमाल करते समय सावधान रहने के लिए कहा है। एसबीआई बैंक ने अपने ग्राहकों को अलर्ट रहने के साथ कुछ सावधानियां बरतने की सलाह दी है।
SBI ने ट्वीट के जिरए एक बार फिर ग्राहकों को चेतावनी दी है। इसमें SBI ने कहा है कि बढ़ती फ्रॉड की घटनाओं के बीच ग्राहकों को सावधान रहने की जरूरत है। ATM कार्ड डिटेल्स और PIN के जरिए पैसे चुराने के फ्रॉड बढ़ रहे हैं. इसलिए SBI ने अपने ग्राहकों को अपना ATM कार्ड और PIN को सेफ रखने की सलाह दी है। आइए आपको बताते हैं SBI ने फ्रॉड से बचने के लिए कौन-कौन से तरीके अपनाएं हैं। लगातार बढ़ते फ्रॉड के मामलों के देखते हुए SBI सोशल मीडिया के जरिए लगातार लोगों को बैंकिंग फ्रॉड्स से बचने की जानकारी दे रहा है। SBI ने एक बार फिर से अपने 42 करोड़ खाताधारकों को अलर्ट करते हुए ट्वीट किया है। SBI ने बैंकिंग फ्रॉड के बढ़ते मामलों को देखते हुए ट्वीट के जिरए एक बार फिर ग्राहकों को चेतावनी दी है। अपने ट्वीट में एसबीआई ने कहा है कि बढ़ती फ्रॉड की घटनाओं के बीच ग्राहकों को सावधान रहने की जरूरत है। खाताधारकों को ATM कार्ड डिटेल्स और PIN के जरिए पैसे चुराने के बढ़ रहे मामलों से सावधान रहने को कहा गया है। SBI ने अपने ग्राहकों को अपना ATM कार्ड और PIN को सेफ रखने की सलाह दी है। बैंक ने खाताधारकों से अपील की है कि वो अपने बैंक अकाउंट या ऑनलाइन बैंकिंग की जानकारी को फोन में सेव न करें। बैंक अकाउंट नंबर, पासवर्ड, एटीएम कार्ड का नंबर या पिन की फोटो खींचकर किसी को फॉरवर्ड न करें। अपने एटीएम का इस्तेमाल खुद ही करें। दूसरे को अपना एटीएम या कोई भी जानकारी न दें। गलती से भी कभी किसी को अपना OTP , पिन नंबर, डेबिट या क्रेडिट कार्ड का CVV नंबर को न बताएं।


असमय बच्चों की मौते

लिमटी खरे


देश भर में अनेक स्थानों पर सरकारी अस्पतालों में अचानक ही बड़ी तादाद में बच्चों की मौतों से व्यवस्थाओं पर सवालिया निशान लग रहे हैं। सियासी दल इसके मूल में जाकर कारण खोजने के बजाए आरोप प्रत्यारोपों के जरिए अपनी रोटियां सेंकते दिख रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट को अगर सच माना जाए तो देश में उचित इलाज के अभाव, कुपोषण और दीगर कारणों से हर साल तकरीबन आठ लाख बच्चे काल के गाल मे समा जाते हैं। एक अन्य एजेंसी की रिपोर्ट यह बता रही है कि देश में तीन बच्चे हर दो मिनिट में ही दम तोड़ देते हैं। सियासतदारों को विचार करना होगा कि आखिर क्या वजह है कि बच्चों के विकास के लिए करोड़ों अरबों रूपए पानी में बहाने के बाद भी बच्चों की मौतों का सिलसिला आखिर रूक क्यों नहीं पा रहा है! मजे की बात तो यह है कि निजि अस्पतालो में बाल मृत्यु दर बहुत ही कम है।



 
देश में केंद्र और राज्य सरकारों के द्वारा नवजात सहित दस साल तक के बच्चों के लिए तरह तरह की योजनाओं की मद में खजाने का मुंह लंबे समय से खोले रखा गया है, इसके बाद भी अगर लगातार ही शिशु मृत्यु दर कम नहीं हो रही है तो निश्चित तौर पर कहीं न कहीं गफलत अवश्य ही है। जिस तरह की खबरें आ रही हैं, उनमें सरकारी अस्पतालों में ही बच्चों की मौतों की बातें ज्यादा सामने आ रही हैं। जाहिर है, सरकारी सिस्टम में कहीं न कहीं फफूंद लग चुकी है। देश के अनेक राज्यों में इस तरह की घटनाओं ने देश के लोगों को हिलाकर रख दिया है।


ज्ञातव्य है कि भारत गणराज्य के द्वारा 1992 में अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार समझौते को मानते हुए उसे न केवल अपनाया वरन उस पर हस्ताक्षर कर बच्चों के लिए अपनी प्रतिबद्धता भी उजागर की थी। जानकारों का मानना है कि बच्चे के जन्म के बाद पहले बीस दिन उसके लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। अगर वह बीस दिन तक जीवित रह गया तो उसके बाद पांच साल तक की आयु तक का होने तक उसकी बहुत ज्यादा देखरेख की जरूरत होती है।


इस मामले में अगर वर्ष 2019 की यूनिसेफ की रिपोर्ट को देखा जाए तो एक साल में ही देश में लगभग साढ़े आठ लाख बच्चे असमय ही काल कलवित हुए हैं। इस आधार पर यह कहा जाए कि इक्कीसवीं सदी में भी देश में संसाधनों का अभाव और जिम्मेदारियों से बचने की भेड़ चाल चल रही है तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए। देश में स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में ही अनेक गंभीर मानकों पर स्वास्थ्य सेवाएं फिसड्डी ही मिलती हैं।


देश में स्वास्थ्य सेवाओं में चिकित्सक और पेरामेडिकल स्टॉफ की अगर बात की जाए तो आधे से ज्यादा लोगों के पास पर्याप्त योग्यताएं ही नहीं हैं। इन्हें समय समय पर दिए जाने वाले प्रशिक्षण में भी नहीं भेजा जाता या यूं कहें कि प्रशिक्षण दिया ही नहीं जाता है तो अतिश्योक्ति नहीं होगा। देश के अनेक चिकित्सक तो ऐसे हैं जिन्होंने अपनी पहुंच के दम पर सरकारी अस्पतालों में सेवाएं देने के स्थान पर स्वास्थ्य विभाग में ही अधीक्षण (सुपरविजन) वाले पदों पर प्रभारी बनकर अपना जीवन गुजार दिया। यदि उन्हें मरीजों के इलाज के लिए कहा जाए तो निश्चित तौर पर वे बगलें ही झांकते नजर आएंगे।


देश में 2013 में कोलकता में बीसी रॉय बच्चा अस्पताल में 122 बच्चों की जान गई तो 2017 में गोरखपुर के आयुर्विज्ञान महाविद्यालय में आक्सीजन की कमी के कारण साठ से ज्यादा बच्चों ने दम तोड़ा। इस तरह की घटनाएं देश भर में घटित होती रहती हैं। ग्रामीण अंचलों में घटने वाली घटनाओं के बारे में जानकारी न मिल पाने से ये चर्चाओं में नहीं आ पाती हैं। यह एक बहुत ही संवेदनशील मामला है।


जब भी इस तरह की घटना घटती है तो सियासतदार सक्रिय हो जाते हैं। आरोप प्रत्यारोपों के दौर आरंभ होते हैं। जांच बिठाई जाती है। तृतीय या चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को बली का बकरा बनाकर उन्हें निलंबित कर दिया जाता है। देखा जाए तो जिस अस्पताल में यह घटना घटती है, उस अस्पताल के अधीक्षक को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। उस जिले में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की जाना चाहिए, पर तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही होने से यह संदेश जाता रहा है कि इस तरह की लापरवाही के बाद किसी चिकित्सक, सिविल सर्जन या विभाग प्रमुख का कुछ नहीं बिगड़ना है। ज्यादा से ज्यादा उसका तबादला कर दिया जाएगा। यही कारण है कि जिम्मेदार अधिकारी बेखौफ हो चुके हैं।


देश में हर साल न जाने कितने बच्चे इस दुनिया में आने के बाद पांच साल की आयु पूरा करने के पहले ही दुनिया को अलविदा कह जाते होंगे। अनेक प्रदेशों में जिला अस्पतालों में बच्चों के लिए गहन चिकित्सा इकाई (एसएनसीयू) की स्थापना की गई है। केंद्रीय शहरी और ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन में अरबों खरबों रूपए की इमदाद हर साल दी जाती है। इसका कोई हिसाब किताब लेने वाला नहीं है। केंद्रीय इमदाद से अस्पतालों में अधिकारियों की जमकर मौज रहती है। महंगे वाहन किराए पर लेकर, कार्यालय और घरों में इसकी राशि से वातानुकूलित यंत्र (एयर कंडीशनर) लगाने और अन्य तरह से इस राशि को जमकर खर्च किया जाता है।


केंद्र के द्वारा दी जाने वाली इमदाद के संबंध में कभी भी जिला स्तर पर जाकर केंद्रीय दलों ने वस्तु स्थिति नहीं देखी है कि उनके द्वारा दी जाने वाली राशि का क्या उपयोग हो रहा है। साल में एकाध बार पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के हिसाब से जांच दल जब आता है तो उसकी जमकर खातिरदारी की जाती है। जांच दल को सैर सपाटा करवाकर मंहगे उपहार देकर बिदा कर दिया जाता है। जबकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को चाहिए कि इसकी जांच के लिए वह एक जांच दल गठित करे जो औचक निरीक्षण कर वस्तु स्थिति की जांच करे और इसकी वीडियो ग्राफी कर, फोटो खींचकर मंत्रालय को इससे आवगत कराए, कि केंद्रीय इमदाद का उपयोग अस्पतालों में किस तरह किया जा रहा है।


मानवाधिकारों के हिसाब से स्वस्थ्य जीवन हर बच्चे का सबसे बड़ा और पहला अनिवार्य अधिकार है। मानवाधिकारों के नाम पर झंडा बुलंद करने वाले संगठनों के द्वारा भी कभी देश भर में बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर प्रदर्शन नहीं किए गए हैं। यह मामला चूंकि छोटे बच्चों से जुड़ा है और छोटे बच्चे नासमझ होते हैं, वे अपनी आवाज को कैसे बुलंद कर सकते हैं। आश्चर्य तो इस बात पर होता है कि बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़े मामले में न तो संसद में बहस होती है और न ही राज्यों की विधान सभाओं में ही इस बात को उठाया जाता है।


हालात देखकर यह कहना गलत नहीं होगा कि बच्चों के स्वास्थ्य का मसला नेताओं के भाषणों का अंग बनकर रह गया है। नेताओं के द्वारा भाषणों में तो इस बात का जिकर किया जाता है पर लोकसभा, राज्य सभा, विधान सभाओं आदि सक्षम मंच पर यह बात उठाने में चुने हुए प्रतिनिधि पीछे ही रहते दिखते हैं।


देश में हर आदमी को स्वास्थ्य सुविधाएं मिल पाएं, वह भी निशुल्क यह देखना हुक्मरानों का दायित्व है। सरकारी सिस्टम का पूरा पूरा फायदा निजि चिकित्सकों और अस्पतालों के द्वारा जमकर उठाया जाता है। निजि तौर पर होने वाली चिकित्सा में मरीजों की जेब तराशी का काम चल रहा है और हुक्मरानों को मानो इससे कोई विशेष फर्क पड़ता नहीं दिख रहा है। सियासतदार यह भूल जाते हैं कि बच्चे अगर स्वस्थ्य रहेंगे तो आने वाले दिनों में जब वे जवान होंगे तब देश का भविष्य बनेंगे। क्या देश का भविष्य इसी तरह से बिगड़ता हुआ ही देखना चाह रहे हैं देश के नीतिनिर्धारक।


दोषियों की फांसी तक मंत्री रखेंगे उपवास

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग पर एक तरफ जहां समाजसेवी अन्ना हजारे महीनों से मौत व्रत धारण किए हुए हैं वहीं अब उनसे मिलने के बाद महाराष्ट्र के केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने भी उपवास करने का ऐलान ​कर दिया है।


केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने अन्ना हजारे से मुलाकात करने के बाद ऐलान किया कि जब तक निर्भया के दोषियों को फांसी नहीं मिल जाती वह उपवास करेंगे और अन्न को हाथ नहीं लगाएंगे। अन्ना हजारे रालेगण सिद्धि में पिछले 34 दिनों से मौन व्रत पर हैं।


बता दें कि तिहाड़ जेल में बंद निर्भया के मुजरिमों को फांसी पर लटकाए जाने का डेथ वॉरंट जारी किया जा चुका है और उन्हें 1 फरवरी को फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा। चारों को फांसी पर लटकाने की नई तारीख 1 फरवरी सुबह 6 बजे तय की गई है। फांसी देने वाले जल्लाद को 30 जनवरी को बुलाया जा रहा है, ताकि इससे पहले वह इन्हें फांसी देने के ट्रायल भी कर सके। अगर इसी बीच मुकेश के अलावा अन्य तीनों (पवन, अक्षय और विनय ) में से किसी ने दया याचिका डाल दी तो यह मामला फिर कुछ दिन के लिए आगे बढ़ सकता है। ऐसे में कानूनी जानकारों का कहना है कि फिर से फांसी के लिए संभवत: एक नई तारीख दी जाएगी।


एक्ट्रेस ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी

मुंबई। सीरियल दिल तो हैप्पी है जी की एक्ट्रेस सेजल शर्मा ने शुक्रवार सुबह खुदकुशी कर ली। सेजल को सिम्मी खोसला का किरदार निभाने के लिए जाना जाता है। सेजल के खुदकुशी करने का कारण अभी तक पता नहीं चला है। हालांकि, माना जा रहा है कि उनकी निजी जिंदगी में परेशानियां चल रही थी, जिसके चलते उन्होंने ऐसा किया है। सेजल शर्मा उदयपुर की रहने वाली थीं और सीरियल दिल तो हैप्पी है जी उनका पहला टीवी शो था। इससे पहले उन्हें कई विज्ञापनों और एक वेब सीरीज में देखा जा चुका है। उन्होंने आमिर खान के साथ Vivo फोन के एक विज्ञापन में काम किया था। उनकी वेब सीरीज का नाम आजाद परिंदे था।सेजल के को-एक्टर अरु वी वर्मा ने खबर की पुष्टि करते हुए टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘हां ये सच है। मुझे इस खबर को सुनकर झटका लगा है। ये मेरे लिए मानना बहुत मुश्किल है कि सेजल इस दुनिया में नहीं है क्योंकि मैं उससे 10 दिन पहले ही मिला था और रविवार को मेरी उससे व्हाट्सएप पर बात भी हुई थी।


अरु ने आगे बताया, ‘मैं इस खबर को मान ही नहीं पा रहा हूं। मैं उससे 10 दिन पहले मिला था और वो बिल्कुल ठीक थी। हम पिछले 3-4 महीनों से नहीं मिले थे क्योंकि मैं अपने होमटाउन गया हुआ था। इसलिए हम 10 दिन पहले मिले और वो बिल्कुल ठीक दिख रही थी। उनके परिवार को आज सुबह उनकी मौत के बारे में पता चला, लेकिन मुझे लगता है कि उन्होंने कल रात खुदकुशी की थी। उनका परिवार उनके पार्थिव शरीर को उदयपुर लेकर जा रहे हैं वहीं उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।


दो हैवनों से तंग आकर किया सुसाइड

बरनाला। पंजाब के बरनाला की रहने वाली एक लड़की ने मलेशिया में 2 युवकों से परेशान हो कर लाइव वीडियो कॉलिंग पर पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। जानकारी के अनुसार मृतक मनु रानी को दोनों आरोपी पिछले लंबे समय से परेशान कर रहे थे जिसकी शिकायत पहले बरनाला पुलिस को की गई थी, लेकिन आरोप है कि पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। जिस कारण एक मासूम लड़की ने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।


इस मामले पर मृतका मनु के पिता कुलविंदर सिंह ने बताया कि उनकी बेटी मनु की उम्र 21 साल थी। उन्होंने पिछले साल ही मनु को मलेशिया भेजा था। उन्होंने बताया कि आरोपियों में से एक लड़का उनकी बेटी को अक्सर परेशान करता था जिससे तंग आकर उन्होंने कर्ज उठा कर अपनी बेटी को पिछले साल मलेशिया भेज दिया।  
लेकिन आरोपी उनकी बेटी को मलेशिया में भी परेशान करने लगा जिसकी शिकायत उन्होंने बरनाला पुलिस को दी थी लेकिन आरोप है कि कोई सुनवाई नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी अपनी मां को आरोपियों द्वारा परेशान करने पर बताया था। उन्होंने आरोपियों के नाम भी बताए हैं। कुलविंदर का खाना है की दोनों उसके बेटी की तस्वीर से छेड़छाड़ कर उसे वायरल करने की धमकी भी देते थे।


मामले पर बरनाला के एसपी गुरदीप सिंह ने बताया कि 2 आरोपियों के खिलाफ अलग अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है और आरोपी अभी फरार हैं जिनकी गिरफ्तारी जल्द ही की जाएगी।


1000 करोड़ रुपये की हेरोइन की नष्ट

नई दिल्ली। सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने यहां एक हजार करोड़ रुपए मूल्य की हेरोइन नष्ट की। शुक्रवार को जारी एक आधिकारिक वक्तव्य में यह जानकारी दी गई। वक्तव्य में कहा गया कि एक उच्च स्तरीय समिति ने 24 जनवरी को 207.109 किलोग्राम हेरोइन नष्ट की। नष्ट की गई हेरोइन विभाग ने 15 मामलों में 2004 से 2010 के बीच जब्त की थी। सीमा शुल्क अधिकारियों ने वक्तव्य में कहा, “नष्ट किए गए मादक पदार्थ का बाजार में वर्तमान मूल्य एक हजार करोड़ रुपए है।” मादक पदार्थ को पर्यावरण को बिना नुकसान सीमा शुल्क अधिकारियों ने वक्तव्य में कहा, “नष्ट किए गए मादक पदार्थ का बाजार में वर्तमान मूल्य एक हजार करोड़ रुपए है।” मादक पदार्थ को पर्यावरण को बिना नुकसान पहुंचाए नष्ट किया गया।


दिल्ली सीमा शुल्क: सीमा शुल्क निवारक आयुक्तालय ने निर्धारित समय के अनुसार दिल्ली के निलोठी में निर्दिष्ट स्थल पर 207.109 किलोग्राम हेरोइन को नष्ट कर दिया। नष्ट की गई दवाओं का अनुमानित बाजार मूल्य लगभग 1000 करोड़ रुपये है।


कोरोना ने 41 की जान ली, 926 संक्रमित

माही राणा


बीजिंग/नई दिल्ली। कोरोना वायरस से चीन में अब तक 41 लोगों की मौत हो गई। करीब 926 लोग संक्रमित हैं। इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए चीन ने अपने 15 शहरों के साढ़े चार करोड़ नागरिकों के कहीं भी आने-जाने पर रोक लगा दी है। यही नहीं चीन की दीवार के एक हिस्से को बंद कर दिया गया है। भारत और यूरोप समेत 10 देशों में कोरोना वायरस फैल चुका है। लंदन और अमेरिका के विशेषज्ञों के अनुसार प्रभावितों की संख्या चार हजार से अधिक हो सकती है। चीन में इस वायरस का सबसे ज्यादा कहर 15 लाख की आबादी वाले शिनताओ, पांच लाख की आबादी वाले चीबी, 24 लाख की आबादी वाले हुआंग्शी, 64 लाख की आबादी वाले झिंझाओ शहर में टूटा है। यहां बस, ट्रेन, नौका आदि से लेकर सभी सार्वजनिक यातायात बंद कर दिए गए हैं। करीब 1.12 करोड़ की आबादी वाला हुबई राज्य का प्रमुख शहर वुहान सबसे ज्यादा प्रभावित है। अधिकतर शहरों में खाद्य पदार्थों और फार्मेसी के अलावा सभी तरह की दुकानें, प्रतिष्ठान और कारोबार बंद हो चुके हैं। चीन के त्योहार चंद्र नववर्ष की छुट्टियों में यात्रा कर रहे लाखों लोग अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं।


शंघाई का डिज्नीलैंड पार्क भी बंद कर दिया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोरोना वायरस के मरीज ऑस्ट्रेलिया (4), नेपाल (1), थाईलैंड (5), अमेरिका (2), ताइवान (1), जापान (2), दक्षिण कोरिया (2), वियतनाम (2), सिंगापुर (3), हांगकांग (2) और मकाऊ (2) आदि 10 देशों में मिल चुके हैं। यूके, भारत सहित कई देशों में संदिग्ध मिल रहे हैं। अन्य देशों में करीब 26 मरीजों का इलाज चल रहा है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे चीन के लिए आपातकाल कहा है। फ्रांस में कोरोना वायरस के दो मामलों की पुष्टि हुई है। इनमें से एक व्यक्ति हाल ही में चीन से लौटा था।


भारत में भी कई लोगों के संक्रमित होने की आशंका है। चीन से भारत लौटे 11 लोगों को कोरोना वायरस के शक में एयरपोर्ट से ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें केरल के 7, मुंबई के 3 और हैदराबाद का एक व्यक्ति शामिल है। बेंगलुरु और हैदराबाद में भी 1-1 मामला सामने आया है। 19 हवाई अड्डों पर की कड़ी निगरानी की जा रही है। भारत में अब तक 96 विमानों से आए 20,844 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है। अकेले शुक्रवार को 4,082 लोगों की स्क्रीनिंग हुई। मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पद्मजा केसकर ने बताया कि मुंबई के तीन और पुणे के तीन लोगों को संभावित रोगी माना गया था। विस्तृत जांच के बाद दो को संदिग्ध की श्रेणी में रखा गया है।


जोरदार भूकंप में 18 की दर्दनाक मौत

तुर्की। पूर्वी तुर्की में शुक्रवार की देर रात भूकंप की चपेट में आने से 18 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। यहां के स्थानीय मीडिया के अनुसार भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.8 दर्ज की गई है। भूकंप की झटके इतनी तेज थे कि कई इमारतें पूरी तरह से ढह गईं। सुरक्षाबलों ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। इमारतों के नीचे अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका जताई गई है। तुर्की के आंतरिक मामलों के मंत्री सुलेमान सोयलू ने कहा कि भूकंप से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।


तुर्की के आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी ने बताया कि पूर्वी हिस्से में 6.8 की तीव्रता वाले तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए। यह झटके पूर्वी एलाजिग प्रांत के सिवरिस कस्बे के आस पास महसूस किए गए। स्थानीय लोगों के मुताबिक झटके इतनी तेज थे कि पूरा घर हिलने लगा था. भूकंप के डर से लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। बताया जाता है कि झटके इतनी तेज थे कि कई बड़ी इमारतें देखते ही देखते जमीन पर गिर पड़ीं। इस दौरान 14 लोगों की मौत की खबर है और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।


भूकंप की खबर मिलते ही राहत और बचाव कार्य तेज कर दिया गया है। अभी भी काफी लोग इमारतों के नीचे दबे हुए हैं। मलबे को हटाने का काम किया जा रहा है। हालांकि भूकंप के कारण काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। तुर्की सरकार ने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की है। बताया जा रहा है कि भूकंप शुक्रवार देर शाम पर आया था। भूकंप में कई इमारतों को गिर जाने के कारण कई लोग उसके नीचे दब गए। रात का समय होने के कारण राहत और बचाव टीम को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।


सेना से मुठभेड़ में फंसे तीन आतंकी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। त्राल में दो से तीन आतंकियों के फंसे होने की आशंका है। फिलहाल दोनों तरफ से फायरिंग हो रही है। पुलवामा जिले के त्राल में हरिगाम गांव में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी जारी है। खुफिया एजेंसियों को हरिगाम गांव में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने गांव को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया। घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी है। इससे पहले आतंकियों ने शुक्रवार की रात श्रीनगर के डाउनटाउन इलाके में पुलिस पोस्ट को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला किया। इसमें दो जवानों समेत तीन लोग घायल हो गए। घटना के बाद पूरे इलाके में सर्च आपरेशन चलाया गया। शुक्रवार की शाम सफाकदल इलाके के नूरबाग में आतंकियों ने पुलिस पोस्ट को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागा। ग्रेनेड सड़क पर गिरकर फटा। इस दौरान सीआरपीएफ व पुलिस का एक-एक जवान घायल हो गया। साथ ही वहां से गुजर रहा एक नागरिक भी छर्रे लगने से घायल हो गया। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेरकर सर्च आपरेशन चलाया। जगह-जगह नाके लगाकर वाहनों की चेकिंग की गई। देर रात तक आपरेशन चलता रहा।
 
पुलवामा में मारा गया जैश का पाकिस्तानी आतंकी था अबु कासिम


पुलवामा जिले में बुधवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया दहशतगर्त पाकिस्तानी था। वह जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा हुआ था। मारे गए आतंकी की शुक्रवार को शिनाख्त हो पाई। यह दहशतगर्द आतंकवाद प्रभावित दक्षिण कश्मीर में अबु सैफु ल्ला और अबु कासिम के नाम से सक्रिय था। अबु सैफुल्ला डेढ़ साल से अधिक समय से अवंतिपोरा के त्राल और ख्रीव इलाके में सक्रिय था। वह जुलाई 2013 में कुपवाड़ा जिले में मारे गए जैश प्रमुख कारी यासिर का करीबी सहयोगी था। पिछले साल वह दो आम नागरिकों अब्दुल कादिर कोहली और मंजूर अहमद के अपहरण और हत्या करने और एक दुकानदार नसीर अहमद गनी को घायल करने के मामले में आरोपी था। सैफु ल्ला एसपीओ को अपनी नौकरियां छोड़ने और गैर स्थानीय मजदूरों को घाटी छोड़ने की धमकी देने से संबंधित पोस्टर लगाने के मामले में भी वांछित था।


सबसे बड़े अय्याश ने करोड़ों रुपए हारे

न्यूयॉर्क। दुनिया के सबसे बड़े अय्याश के रूप में पहचान रखने वाले अमेरिकन पोकर प्लेयर डेन बिल्जेरियन जुए में करोड़ों रुपए हार गए हैं। हालांकि इसके बाद उन्होंने अपना बड़ा दिल दिखाया। बतादें UFC 246 के एक कार्यक्रम में कॉनर मैकग्रेगर और डोनाल्ड सेरोन की भिड़ंत में कॉनर मैकग्रेगर जीत गए। इसी भिड़ंत के लिए डेन बिल्जेरियन ने डोनाल्ड सेरोन पर बाजी लगाई हुई थी। डेन बिल्जेरियन ने डोनाल्ड सेरोन पर बाजी लगाकर अपने करोड़ों रुपए गवां दिए। हालांकि उन्होंने अपना बड़ा दिल दिखाते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से उनके शानदार प्रदर्शन के लिए डोनाल्ड सेरोन को बधाई दी। बता दें कि डेन बिल्जेरियन को इंस्टाग्राम का किंग इसलिए बोला जाता है क्योंकि उनके 28.5 मिलियन फॉलोवर्स हैं। साथ ही उनकी लाइफस्टाइल देखकर लोग हैरान हो जाते हैं।


1000 करोड़ रुपए के हेरोइन को दिल्ली आयुक्तालय ने किया नष्ट


शायद ही दुनिया में कोई ऐसा शख्स होगा जो डेन बिल्जेरियन जैसी अय्याशी भरी लाइफस्टाइल जीता होगा। उनकी इनस्टाग्राम की हर तस्वीर उनकी लाइफ स्टाइल को बयां करती है। हर वक्त युवतियों के बीच घिरे रहने वाले डेन बिल्जेरियन कई अजीबोगरीब शौक के लिए भी जाने जाते हैं। कभी वो आपको सांप और मगरमच्छों से खेलते हुए दिखाई देंगे तो कभी चार्टर्ड प्लेन में घूमते दिखाई देंगे।


एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार, डेन बिल्जेरियन की संपत्ति 150 मिलियन डॉलर लगभग 1000 करोड़ रुपए है। उनके कई बिजनेस हैं साथ ही वो पोकर के सुपरस्टार माने जाते हैं। दुनिया भर के कई बड़े पोकर इवेंट्स में डेन बिल्जेरियन हमेशा जाते हैं। माना जाता जाता है कि उनकी दौलत का सबसे बड़ा हिस्सा पोकर के जरिए ही आता है। कहा यह भी जाता है कि डेन अमेरिकन सील नेवी में भर्ती होना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। उन्होंने बाद में बिजनेस संभाला और पोकर खेलने लगे। समय के साथ उनका कारोबार बढ़ता गया और वो पोकर स्टार बन गए।


वोडाफोन ने लांच किए दो प्रीपेड प्लान

नीलमणि पाल


नई दिल्ली। वोडाफोन ने हाल में दो प्रीपेड प्लान लॉन्च किए हैं। 398 और 558 रुपये के इन प्लान में डेली डेटा, अनलिमिटेड कॉलिंग और रोज 100 एसएमएस समेत अन्य फायदे मिलते हैं। इन प्लान्स को लॉन्च करने के अलावा कंपनी ने 19 रुपये वाले अनलिमिटेड प्रीपेड प्लान को भी रिवाइज किया है। अब इस प्लान में पहले के मुकाबले ज्यादा डेटा मिल रहा है। 


वोडाफोन के 19 रुपये वाले अनलिमिटेड प्रीपेड प्लान में पहले 150 एमबी डेटा मिलता था। अब कंपनी इस प्लान के साथ 200 एमबी डेटा दे रही है। साथ ही इसमें आपको अनलिमिटेड कॉलिग की सुविधा मिलेगी। इस प्लान की वैलिडिटी 2 दिन है। इसके अलावा इस प्रीपेड प्लान से रिचार्ज करने पर आपको वोडाफोन प्ले समेत अन्य फायदे फ्री में मिलते हैं। वोडाफोन के इस प्लान में आपको 56 दिन की वैलिडिटी के साथ रोज 3जीबी डेटा, सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग और रोज 100 एसएमएस मिलेंगे। साथ ही कंपनी इस प्लान के साथ 499 रुपये की कीमत का वोडाफोन प्ले सब्सक्रिप्शन और 999 रुपये कीमत का जी5 सब्सक्रिप्शन फ्री में दे रही है। 398 रुपये वाले प्लान में देशभर में किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग, रोज 100 एसएमएस और रोज 3जीबी डेटा मिलता है। इसकी वैलिडिटी 28 दिन है। इस प्लान के साथ भी 558 रुपये वाले पैक की तरह वोडाफोन प्ले और जी5 का फ्री सब्सक्रिप्शन उपलब्ध है। वोडाफोन का 19 रुपये वाला प्लान अभी मुंबई, मध्य प्रदेश और हरियाणा सर्कल में उपलब्ध है। 558 रुपये वाला प्लान मध्य प्रदेश सर्कल और 398 रुपये वाला मुंबई और मध्य प्रदेश सर्कल में मिल रहा है।


मतदान को समझे पुनीत कार्यः उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देशवासियों से मतदान को पुनीत कर्तव्य मानते हुए देशहित में मतदान अवश्य करने की अपील की। नायडू ने ट्वीट कर कहा कि आज राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देश के सभी मतदाताओं से आग्रह करता हूं कि वे मताधिकार को पुनीत कर्तव्य मानते हुए, राष्ट्र और समाज के हित में उसका प्रयोग करें। जागरुक और सजग मतदाताओं को लोकतंत्र की बुनियाद बताते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का उत्सव मात्र नहीं बल्कि देश की प्रगति के लिए यज्ञ है। अपने मत से उसकी पवित्रता अक्षुण्ण रखें। कल (रविवार) राष्ट्र अपना गणतंत्र दिवस मनाएगा। जागरुक मतदाता हमारे लोकतांत्रिक गणराज्य की नींव हैं। उपराष्ट्रपति ने मतदान को धर्म और जाति के बजाय उम्मीदवार की योग्यता से निर्धारित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि मतदान करते समय जाति, धर्म, क्षेत्रीयता की संकीर्णता से ऊपर उठ कर उम्मीदवार के चरित्र, आचरण, विचारों, क्षमता और राष्ट्रनिष्ठा का विचार अवश्य करें। धनबल, आपराधिकता से मुक्त चुनाव प्रक्रिया की शुचिता सुनिश्चित करें।


सूरजपुर में पलटी पिकअप, 39 घायल

सूरजपुर में दर्दनाक सड़क हादसा…मजदूरों से भरी पिकअप पलटी…39 मजदूर घायल


नीलमणि पाल


 सूरजपुर। जिले में एक बड़ा सड़क हादसा हो गया है। भटगांव इलाके में मजदूरों से भरी पकअप पलट गई है। इस हादसे में गाड़ी में सवार 30 से ज्यादा मजदूर घायल हो गए हैं। घायलों को इलाजे के लिए अस्पताल लाया गया है, जहां सात लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है। गंभीर रुप से घायल लोगों को अंबिकापुर रेफर कर दिया गया है। बताया जा रहा है सभी मजदूर गुड़ फैक्ट्री में काम करने जा रहे थे। फिलहाल भटगां पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।


सूरजपुर जिले के भटगांव थाना क्षेत्र के सकलपुर इलाके में मजदूरों से भरी तेज रफ्तार पिकप वाहन अनियंत्रीत होकर पलट गई है। इस हादसे में पिकप में सवार 39 मजदूर सभी घायल हो गए हैं। घायलों को सोनगरा के अस्पताल में लाया गया है, जहां सभी का इलाज जारी है। वहीं सात गंभीर रूप से घायलों को अंबिकापुर रेफर कर दिया गया है। वहीं और भी घायलों को अंबिकापुर भेजने की तैयारी की जा रही है।


जेवर में दुनिया का बड़ा 'पांचवा एयरपोर्ट'

उमा गृतलहरी


लखनऊ। योगी सरकार ने एशिया के दूसरे सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड का गठन किया है। जिसके बाद जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को विकसित करने का कार्य तेजी से शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी है। योगी सरकार चीन को पछाड़कर एशिया का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट (जेवर) बना रही है। सरकार को उम्मीद है कि इसके पूरा होने पर यूपी की अर्थव्यवस्था को नई रफ्तार मिलेगी। रोजगार और व्यापार तो बढ़ेगा ही, साथ ही अन्य निवेशक भी उत्तर प्रदेश की ओर रूख करेंगे। योगी सरकार की माने तो जेवर ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के साथ ही औद्योगिक विकास को नए मुकाम पर पहुंचाएगा। 30 हजार करोड़ रुपए के निवेश से बन रही इस परियोजना से सरकार को एक लाख 10 हजार करोड़ रुपए से अधिक की आय होने का अनुमान है। एक लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।इस एयरपोर्ट से नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और यमुना एक्सप्रेसवे के करीब एक लाख करोड़ रुपए का निवेश आएगा। बता दें कि जेवर एयरपोर्ट के लिए 29 नवंबर 2019 को फाइनेंशियल बिड खोली गई थी। जिसे ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी ने 400.97 रुपए प्रति यात्री राजस्व भुगतान की दर पर टेंडर हासिल किया।


उत्तर प्रदेश में बनने वाला यह एयरपोर्ट दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। ग्रेटर नोएडा के जेवर में करीब 5000 हेक्टेयर में प्रस्तावित इस एयरपोर्ट पर तेजी से काम चल रहा है। प्रस्ताव के अनुसार 2022-23 में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से फ्लाइट्स का संचालन भी शुरू हो जाएगा। अभी चीन का शंघाई प्रांत का इंटरनेशनल एयरपोर्ट एशिया का दूसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट है। शंघाई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लगभग 3988 हेक्टेयर में फैला है। जबकि दुनिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट सऊदी अरब में है। दामम के किंग फहद इंटरनेशनल एयरपोर्ट 77,600 हेक्टेयर जमीन पर बना है। इसके बाद अमेरिका के डेंवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नंबर आता है, जो 13,571 हेक्टेयर जमीन पर बना है. तीसरे नंबर पर अमेरिका का ही डलास इंटरनेशनल एयरपोर्ट है जो 6,963 हेक्टेयर जमीन पर फैला हुआ है। चौथे और पांचवें नंबर पर अमेरिका के ही ओरलैंडो इंटरनेशनल एयरपोर्ट और वाशिंगटन ड्यूलेस इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं जो क्रमशः 5,383 और 4,856 हेक्टेयर जमीन पर बने हुए हैं।


गौरतलब है कि, नोएडा इंटरनेशनल जेवर एयरपोर्ट पिछले 20 वर्षों से अधर में था। वर्ष 2017 में यूपी में महज 4 एयरपोर्ट थे तथा कुल 25 गंतव्य स्थान हवाई सेवाओं से जुड़े थे। लेकिन, योगी सरकार ने एयर कनेक्टिविटी को बढ़ाते हुए वर्तमान में 6 एयरपोर्ट को क्रियाशील किया। इन एयरपोर्ट से कुल 55 गंतव्य स्थानों के लिए हवाई सेवाएं उपलब्ध हैं। जबकि प्रदेश में 11 एयपोर्ट के विकास का कार्य प्रशस्त है। यही नहीं अयोध्या और श्रावस्ती में देश-दुनिया के श्रद्धालुओं के लिए भी अलग से एयरपोर्ट बनने जा रहा है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


जनवरी 26, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-169 (साल-01)
2. रविवार, जनवरी 26, 2020
3. शक-1941, माघ - शुक्ल पक्ष, तिथि- दूज, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 07:04,सूर्यास्त 05:52
5. न्‍यूनतम तापमान 6+ डी.सै.,अधिकतम-21+ डी.सै., कोहरे की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


टीकाकरण को लेकर प्रशिक्षित करने के निर्देश जारी

पंकज कपूर          नैनीताल। डॉ. बीसी कर्नाटक ने जनपद के समस्त पशु चिकित्साधिकारियों को ब्लॉक स्तर पर अपने अधीनस्थ स्टाफ को टीकाकरण को लेकर प...