पश्चिम बंगाल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पश्चिम बंगाल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 17 जून 2024

ट्रेन ने एक्सप्रेस को मारी टक्कर, 9 की मौत

ट्रेन ने एक्सप्रेस को मारी टक्कर, 9 की मौत

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में सोमवार सुबह 8:55 बजे एक मालगाड़ी ट्रेन ने कंचनजंगा एक्सप्रेस (13174) को पीछे से टक्कर मार दी। रेलवे ने बताया कि इस हादसे में 9 लोगों की मौत और 41 पैसेंजर घायल हो गए।
हादसे के कुछ घंटे के बाद रेलवे बोर्ड की चेयरमैन और CEO जया वर्मा ने 5 लोगों की मौत और 25 लोगों के घायल होने की पुष्टि की। वहीं, ईस्टर्न रेलवे के CPRO कौशिक मित्रा ने नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर रेलवे के हवाले से बताया कि 2 लोको पायलट और एक गार्ड समेत 8 लोगों की मौत हुई है। इस बीच 15 लोगों की मौत की खबर भी आई।
न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि रेलवे के आंतरिक दस्तावेज में इस बात का खुलासा हुआ है कि ऑटोमेटिक सिग्नल खराब था, इस वजह से मालगाड़ी का ड्राइवर आगे बढ़ गया। रेड सिग्नल काम ही नहीं कर रहे थे। रानीपात्रा के स्टेशन मास्टर ने मालगाड़ी के ड्राइवर को जारी किए दस्तावेज TA 912 में उसे सभी रेड सिग्नल पार करने की मंजूरी थी।
इससे पहले रेलवे बोर्ड की चेयरमैन जया वर्मा सिन्हा के मुताबिक, मालगाड़ी के लोको पायलट ने सिग्नल ओवरशूट किया। जिसके कारण वह कंजनजंगा एक्सप्रेस से टकरा गई। इस हादसे में गार्ड का डिब्बा, जनरल डिब्बा क्षतिग्रस्त हुआ है।

सूत्रों का दावा- जब हादसा हुआ, उसके 3 घंटे पहले से सिग्नल खराब था, 6 पॉइंट्स...

1. रेलवे के एक सूत्र ने बताया कि पश्चिम बंगाल में रानीपात्रा रेलवे स्टेशन और छत्तर हाट जंक्शन के बीच ऑटोमैटिक सिग्नलिंग सिस्टम सुबह 5.50 बजे से ही खराब था। कंचनजंगा एक्सप्रेस सुबह 8:27 बजे रंगापानी स्टेशन से रवाना हुई और सुबह 5:50 बजे सिग्नलिंग सिस्टम में खराबी के कारण रानीपात्रा रेलवे स्टेशन और छत्तर हाट के बीच रुकी रही।

2. जब सिग्नलिंग सिस्टम में खराबी आती है तो स्टेशन मास्टर टीए 912 रिटन अथॉरिटी जारी करता है। यह ड्राइवर को खराबी के कारण सभी रेड सिग्नल पार करने का अधिकार देता है।रानीपात्रा के स्टेशन मास्टर ने कंचनजंगा एक्सप्रेस को टीए 912 जारी किया था। ट्रेन 10 मिनट से यहां रुकी रही। 8:42 बजे रंगापानी से निकली मालगाड़ी कंचनजंगा एक्सप्रेस से भिड़ गई।

3. सूत्रों के मुताबिक, केवल जांच से ही पता चल सकता है कि क्या मालगाड़ी को खराब सिग्नल को तेज गति से पार करने के लिए टीए 912 भी दिया गया था या यह लोको पायलट की गलती थी, जिसने डिफेक्टिव सिग्नल नॉर्म का उल्लंघन किया।

4. यदि दूसरी कंडीशन अप्लाई होती है तो रेलवे के नियम के मुताबिक, ड्राइवर को हर डिफेक्टिव सिग्नल पर एक मिनट के लिए ट्रेन को रोकना चाहिए था। इतना ही नहीं, इस दौरान ट्रेन की स्पीड भी 10 किमी प्रति घंटे की होनी चाहिए थी।

5. हादसे के बाद फिलहाल कंचनजंगा एक्सप्रेस अलुआबारी स्टेशन पर है। यहां फिटनेस टेस्ट के बाद उसे सियालदह के लिए रवाना किया जाएगा। सारे पैसेंजर्स को 12:40 बजे स्पेशल ट्रेन से सियालदह के लिए रवाना किया जा चुका है।

6. रेलवे बोर्ड की अध्यक्ष जया वर्मा सिन्हा ने बताया कि हादसे वाले रूट पर कवच सिस्टम नहीं था। इस पर जल्द ही काम शुरू किया जाएगा। अब तक 1500 किलोमीटर रेलवे ट्रैक पर कवच सिस्टम एक्टिव है। इस साल के आखिरी तक इसे 3 हजार किलोमीटर तक ले जाया जाएगा।

शुक्रवार, 14 जून 2024

कोलकाता के मॉल में लगी आग, 10 गाड़ियां पहुंचीं

कोलकाता के मॉल में लगी आग, 10 गाड़ियां पहुंचीं

मिनाक्षी लोढी
कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के एक्रोपोलिस मॉल में शुक्रवार दोपहर अचानक भीषण आग लग गई। इस दौरान आग की लपटें और घना धुआं उठता देख वहां अफरा तफरी मच गई।
वहीं, आग लगने की सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन की टीम के साथ ही फायर ब्रिगेड की लगभग 10 गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं और आग को बुझाने की कोशिश की जा रही है। जानकारी के मुताबिक, कुछ लोग मॉल के अंदर फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं।

शुक्रवार, 24 मई 2024

पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा 'चक्रवाती तूफान'

पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा 'चक्रवाती तूफान' 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र और तेज होने की संभावना है। रविवार शाम तक यह भीषण चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। यह बांग्लादेश और इससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी है। इस मॉनसून से पहले बंगाल की खाड़ी में उठने वाला यह पहला चक्रवात होगा। हिंद महासागर क्षेत्र में चक्रवात के नामकरण प्रणाली के अनुसार, इस तूफान का नाम रेमल रखा जाएगा।
भारत मौसम विभाग की वैज्ञानिक ने बताया, ’’यह प्रणाली शुक्रवार की सुबह तक मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव क्षेत्र में केंद्रित हो जाएगा। यह शनिवार की सुबह एक चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा और इसमें तेजी आयेगी। इसके बाद रविवार शाम तक यह एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और निकटवर्ती पश्चिम बंगाल तट पर पहुंचेगा।’’
आईएमडी के मुताबिक, रविवार को चक्रवात के कारण 102 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। मौसम कार्यालय ने 26-27 मई को पश्चिम बंगाल, उत्तरी ओडिशा, मिजोरम, त्रिपुरा और दक्षिण मणिपुर के तटीय जिलों में बहुत भारी वर्षा की चेतावनी दी है। समुद्र में मछली पकड़ने गए मछुआरों को तट पर लौटने तथा 27 मई तक बंगाल की खाड़ी में न जाने की सलाह दी गई है।
मौसम विभाग के अनुसार पिछले 30 वर्षों में समुद्र की सतह का तापमान सबसे अधिक दर्ज किया गया है। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डीएस पई के अनुसार, समुद्र की सतह के गर्म तापमान का मतलब अधिक नमी है, जो चक्रवातों की तीव्रता के लिए अनुकूल है। केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के पूर्व सचिव माधवन राजीवन ने कहा कि कम दबाव प्रणाली को चक्रवात में बदलने के लिए समुद्र की सतह का तापमान 27 डिग्री सेल्सियस और उससे अधिक होना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि बंगाल की खाड़ी में सतह का तापमान फिलहाल 30 डिग्री सेल्सियस है।
राजीवन ने कहा, ’’बंगाल की खाड़ी और अरब सागर इस समय बहुत गर्म हैं, इसलिए उष्णकटिबंधीय चक्रवात आसानी से बन सकता है।’’ उन्होंने कहा, लेकिन उष्णकटिबंधीय चक्रवात न केवल समुद्र द्वारा नियंत्रित होते हैं, बल्कि इसमें वायुमंडल भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । राजीवन ने कहा, “अगर ऊर्ध्वाधर हवा का झोंका बहुत बड़ा है तो चक्रवात तेज नहीं होगा। यह कमजोर हो जाएगा।“

शनिवार, 9 मार्च 2024

15 मार्च से लोगों के लिए होगी 'मेट्रो' की शुरुआत

15 मार्च से लोगों के लिए होगी 'मेट्रो' की शुरुआत

इकबाल अंसारी 

कोलकाता। पीएम नरेंद्र मोदी कोलकाता में तैयार नदी के नीचे चलने वाली देश की पहली मेट्रो को हरी झंडी दिखा चुके हैं। हालांकि, अभी यह मेट्रो सेवा आम लोगों के लिए नहीं शुरू हुई है। मगर लोगों के इंतजार की घड़ियां अब खत्म होने वाली है। ऐसा बताया जा रहा है कि अगले शुक्रवार यानी 15 मार्च से हुगली नदी के नीचे चलने वाली कोलकाता ईस्ट-वेस्ट मेट्रो की शुरुआत आम लोगों के लिए होगी, यात्री उस दिन से इस मेट्रो में सवार हो सकते हैं। अगले शुक्रवार से न्यू गरिया से रूबी और जोका-तारातला से माझेरहाट तक विस्तारित खंड पर भी मेट्रो सेवा शुरू हो जाएगी। कोलकाता मेट्रो की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, दिन की पहली मेट्रो सुबह 7 बजे हावड़ा और एस्प्लेनेड स्टेशनों से रवाना होगी।

आनंदबाजार पत्रिका के मुताबिक, मेट्रो रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) कौशिक मित्रा ने कहा, “पहली मेट्रो सुबह 7 बजे हावड़ा मैदान और एस्प्लेनेड स्टेशनों से रवाना होगी और आखिरी मेट्रो रात 9:45 बजे रवाना होगी। मेट्रो सुबह 9 बजे से रात 11 बजे तक और शाम 5 बजे से रात 8 बजे तक हर 12 मिनट में उपलब्ध होगी।” उन्होंने कहा कि यात्री हावड़ा मैदान या हावड़ा स्टेशन से शहर के किसी भी मेट्रो स्टेशन तक जा सकते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6 मार्च को लोअर गंगा मेट्रो का उद्घाटन किया था। एस्प्लेनेड मेट्रो स्टेशन से कई मेट्रो परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने स्कूली बच्चों के साथ मेट्रो का भ्रमण भी किया। हालांकि, उद्घाटन के बाद भी इस बात को लेकर उत्सुकता बनी हुई थी कि यात्री इस मेट्रो में कब सफर कर पाएंगे। आखिरकार शनिवार दोपहर कोलकाता के मेट्रो भवन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेट्रो रेल के महाप्रबंधक (जीएम) ने घोषणा की कि अगले शुक्रवार को मेट्रो के दरवाजे आम यात्रियों के लिए खोले जाएंगे।

कोलकाता मेट्रो की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, दिन की पहली मेट्रो सुबह 7 बजे हावड़ा और एस्प्लेनेड स्टेशनों से रवाना होगी। आखिरी मेट्रो रात 9:45 बजे रवाना होगी. हालांकि रविवार को मेट्रो सेवाएं बंद रहेंगी. कुल 130 मेट्रो दिन भर यात्रियों को सेवाएं देंगी। पीक आवर्स के दौरान मेट्रो सेवाएं हर 12 मिनट पर और अन्य समय में 15 मिनट पर उपलब्ध रहेंगी।

शुक्रवार, 9 फ़रवरी 2024

पिकनिक पर गए, नाव डूबने से 5 लोगों की मौत

पिकनिक पर गए, नाव डूबने से 5 लोगों की मौत

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। पिकनिक मनाने के बाद वापस लौट रहे लोगों की नाव के पलट जाने से चारों तरफ हड़कंप मच गया। आनन-फानन में शुरू किए गए रेस्क्यू अभियान के अंतर्गत 14 लोग बचा लिए गए हैं। जबकि पांच लोगों का अभी पता नहीं चल पाया है। फिलहाल सर्चिंग अभियान जारी है। पश्चिम बंगाल के हावड़ा जनपद में रहने वाले कुछ लोग पिकनिक मनाने के लिए ट्राईबेनी पार्क में गए थे। नाव में सवार होकर रूप नारायण नदी के माध्यम से पश्चिम मेदिनीपुर जिले के दासपुर के ट्राईबेनी में पहुंचा 19 लोगों का यह ग्रुप जब मौज मस्ती करने के बाद बृहस्पतिवार को तकरीबन आधी रात के बाद नाव में सवार होकर वापस लौट रहा था तो नदी के बीच में पहुंचते ही अनियंत्रित हुई नाव पानी में पलट गई। हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर बुरी तरह से अफरातफरी फैल गई। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों की सहायता से 14 लोगों को दौड़ धूप करते हुए बचा लिया। लेकिन पांच लोगों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। जिनकी तलाश में फिलहाल सर्चिंग अभियान जारी है।

मंगलवार, 30 जनवरी 2024

ड्राइवर ने 65 श्रद्धालुओं की जान बचाई

ड्राइवर ने 65 श्रद्धालुओं की जान बचाई 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। एकदम से मौत के मुहाने पर खड़े ड्राइवर ने अपने प्राण त्यागने से पहले बस में सवार 65 श्रद्धालुओं की जान को यमराज के पास जाने से बचा लिया है। सड़क पर फर्राटा भरते हुए दौड़ रही बस के ड्राइवर को हार्ट अटैक आ गया था। सभी श्रद्धालु नीलगिरी इलाके में स्थित पंचिलिंगेश्वर महादेव के दर्शन को जा रहे थे। मंगलवार को कोलकाता के रहने वाले 65 श्रद्धालु बस में सवार होकर बालेश्वर जनपद के नीलगिरी इलाके में स्थित पंचिलिंगेश्वर के दर्शन पूजन को जा रहे थे। सड़क पर फर्राटा भरते हुए दौड़ रही बस के ड्राइवर एस के अख्तर को बालेश्वर पहुंचते ही अचानक से दिल का दौरा पड़ा और उसके सीने में तेज दर्द होने लगा। ड्राइवर ने सूझबूझ दिखाते हुए अचानक से ब्रेक लगाकर सड़क पर दौड़ रही बस को किनारे पर खड़ा किया। जैसे ही बस किनारे पर खड़ी हुई वैसे ही बस का ड्राइवर बेहोश होकर अपनी सीट पर गिर गया। गाड़ी में यात्रा कर रहे श्रद्धालु बेहोश हुए ड्राइवर को तुरंत नील गिरी हॉस्पिटल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना को लेकर एक ग्रामीण ने बताया है कि जब बस अचानक रुकी तो उसे प्रतीत हुआ कि ड्राइवर टॉयलेट जाना चाहता है, लेकिन जब उसके पास जाकर देखा तो ड्राइवर बेहोश हो चुका था और वह अपनी सीट पर बेसुध हालत में पड़ा हुआ था। तुरंत एंबुलेंस बुलाकर ड्राइवर को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन ड्राइवर पहले ही दम तोड़ चुका था।

रविवार, 14 जनवरी 2024

गंगा सागर मेला क्षेत्र में सुरक्षा के इंतजाम किए

गंगा सागर मेला क्षेत्र में सुरक्षा के इंतजाम किए 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। पश्चिम बंगाल के एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा कि मकर संक्रांति पर गंगा सागर मेला क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। राज्य के ऊर्जा और खेल विभाग के मंत्री अरूप विश्वास ने कहा कि आठ से रविवार दोपहर तक 65 लाख तीर्थयात्रियों ने गंगा सागर में डुबकी लगाकर पुण्य कमाया। उन्होंने कहा कि सोमवार को मकर संक्रांति के अवसर पर यह संख्या बढ़ने की संभावना है।
उन्होंने कहा कि 14,000 पुलिसकर्मी तैनात करने के साथ 45 निगरानी टावर बनाए गए हैं और 1,100 से अधिक सीसीटीवी लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि तीर्थयात्रियों को नौकाओं आदि के माध्यम से सागर द्वीप तक पहुंचाया जा रहा है, जबकि मुरीगंगा नदी पर 300 ‘फॉग लाइट’ लगाई गई हैं।
वरिष्ठ मंत्री ने कुंभ मेले की तरह गंगा सागर मेले को भी राष्ट्रीय मेला का दर्जा देने की राज्य सरकार की मांग दोहराई। मंत्री ने कहा, ‘‘अकेले राज्य सरकार के लिए वार्षिक मेले के आयोजन का भारी खर्च वहन करना बहुत मुश्किल है। बेहतर संचार के परिणामस्वरूप श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि होने के कारण इस वर्ष मेले के दौरान 265 करोड़ रुपये से अधिक खर्च होने का अनुमान है।’’
मंत्री ने कहा कि मेले में असामाजिक गतिविधियों में लिप्त अब तक कुल 180 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि अब तक छह मरीजों को एयर एम्बुलेंस द्वारा कोलकाता के विभिन्न अस्पतालों में स्थानांतरित किया गया है। हृषिकेश पंजिका के अनुसार, मकर संक्रांति पर 'पुण्य स्नान' का शुभ मुहूर्त रविवार देर रात 12:13 बजे शुरू होगा और अगले 24 घंटों तक जारी रहेगा। अधिकांश श्रद्धालु इस समय का पालन करेंगे और पवित्र स्नान करेंगे।

गुरुवार, 7 सितंबर 2023

पत्नी को चांद पर जमीन का टुकड़ा गिफ्ट किया

पत्नी को चांद पर जमीन का टुकड़ा गिफ्ट किया

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। पश्चिम बंगाल के झारग्राम जिले के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को उसके जन्मदिन के मौके पर चंद्रमा पर जमीन का एक टुकड़ा गिफ्ट में दिया। 10,000 रुपये में एक एकड़ जमीन खरीदने का दावा करने वाले संजय महतो ने कहा कि उन्होंने अपनी पत्नी से शादी करने से पहले चांद लाने का वादा किया था। महतो ने कहा कि ऐसा उपहार खरीदने की प्रेरणा उन्हें भारत के सफल चंद्रयान-3 मिशन के बाद मिली। इससे उन्हें विश्वास हो गया कि अपनी पत्नी से किया गया वादा पूरा करने का उनका सपना साकार हो सकता है।
'रिपोर्ट' के अनुसार, महतो ने बताया, ''मैं और मेरी पत्नी के बीच लंबे समय तक प्रेम संबंध रहे और फिर पिछले अप्रैल में शादी हो गई। मैंने उससे चांद लाने का वादा किया था। मैं उस वादे पर खरा नहीं उतर सका। लेकिन अब, हमारी शादी के बाद उसके पहले जन्मदिन पर, मैंने सोचा कि क्यों न उसे चंद्रमा पर एक प्लॉट उपहार में दिया जाए।'' अपने दोस्त की मदद से उन्होंने लूना सोसाइटी इंटरनेशनल के माध्यम से जमीन खरीदी। पूरी प्रक्रिया को पूरा होने में लगभग एक साल लग गया। महतो ने कहा कि मैं उसके लिए चंद्रमा पर एक एकड़ जमीन लिया हूं। 
वहीं, जब यह पूछा गया कि उसी पैसे से वह अपनी पत्नी के लिए कुछ और चीज भी ले सकते थे, तो उन्होंने जवाब दिया कि हां, मैं ला सकता था। लेकिन चंद्रमा हम दोनों के दिलों में एक विशेष स्थान रखता है। इसलिए, एक विवाहित जोड़े के रूप में उनके पहले जन्मदिन पर, मैं इससे बेहतर कुछ नहीं सोच सका।
बता दें कि पिछले महीने ही इसरो को तब बड़ी सफलता मिली जब उसने चंद्रयान-3 को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक लैंड करवाया। चांद पर पहुंचने वाला भारत अमेरिका, चीन, सोवियत संघ के बाद चौथा देश है, जबकि चांद के दक्षिणी छोर पर लैंड करने वाला भारत दुनिया का पहला देश है। लैंडिंग के बाद चंद्रयान-3 ने चांद से इसरो कमांड सेंटर को कई अहम जानकारियां भेजी हैं। आने वाले समय में यह जानकारियां चंद्रमा की स्टडी के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होंगी।

शुक्रवार, 28 जुलाई 2023

मौज मस्ती के लिए मां ने 2 लाख में बच्चा बेचा 

मौज मस्ती के लिए मां ने 2 लाख में बच्चा बेचा    

मीनाक्षी लोढी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। राज्य के उत्तर 24 परगना जिले में रहने वाले पति-पत्नी ने नया मोबाइल फोन खरीदने के लिए अपने आठ महीने के बच्चे को बेच दिया। मोबाइल खरीदने के बाद पैसे बच गए तो दोनों ने राज्य के विभिन्न पर्यटन स्थलों की यात्रा की और हनीमून मनाया।

पड़ोसी ने जब पति-पत्नी के हाथ में नया मोबाइल फोन देखा और बच्चे को गायब पाया तो उन्होंने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस ने पड़ताल की तो पता चला कि दंपति ने बच्चे को बेच दिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दंपति के पास पहले से एक बेटी है। दोनों दीघा और मंदारमणि जैसे समुद्री तटों सहित कई जगहों पर घूमने गए थे।

पुलिस ने पति-पत्नी को पकड़ा, बच्चा बरामद

दंपति ने डेढ़ महीने पहले बच्चे को बेच दिया था। रविवार को घटना की जानकारी पुलिस को मिली। इसके बाद पुलिस एक्शन में आई। पुलिस ने पति-पत्नी को पकड़ लिया है। दोनों की पहचान जयदेव घोष और साथी के रूप में हुई है। पुलिस ने बेचे गए बच्चे को भी मुक्त करा लिया है।

2 लाख में किया था बच्चे का सौदा

दंपति की पड़ोसी लक्ष्मी कुंडू के अनुसार जयदेव और साथी ने अपने बच्चे को 2 लाख रुपए में बेचा था। इसी पैसे से दोनों ने मोबाइल फोन खरीदा और हनीमून मनाने के लिए कई जगहों पर गए। उसने यह भी आरोप लगाया कि साथी दूसरे लोगों को अपने घर लाती थी। दोनों अफीम और गांजा का नशा करते हैं। पुलिस ने बच्चा खरीदने वाली महिला प्रियंका घोष को भी गिरफ्तार किया है।

जयदेव के पिता कामई चौधरी ने बताया कि मुझे तो बेटे ने कहा था कि बच्चे को उसके मामा के घर भेज दिया है। बाद में मुझे पता चला कि बच्चे को बेच दिया गया था। मैं नहीं कह सकता कि बच्चे को क्यों और किसको बेच दिया गया था। बच्चे को बेचने के बाद मेरा बेटा और उसकी पत्नी दीघा और मंदारमणि समुद्री तटों पर गए थे। वे तारापीठ काली मंदिर भी गए थे।

शुक्रवार, 21 जुलाई 2023

सीएम ममता बनर्जी की सुरक्षा में हुईं चूक

सीएम ममता बनर्जी की सुरक्षा में हुईं चूक   

मीनाक्षी लोहड़े   

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सूरक्षा में चूक की खबर सामने आ रही है। कोलकाता पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान शेख नूर आलम के तौर पर की गई है।

ये शख्स मुख्‍यमंत्री आवास में घुसने की कोशिश कर रहा था। इतना ही नहीं आरोपी के पास से चाकू और असलहा भी बरामद किया गया है। मालूम हो कि शुक्रवार (21 जुलाई) को ममता बनर्जी कोलकाता में शहीद दिवस रैली के दौरान शक्ति प्रदर्शन करने जा रही हैं।

गिरफ्तार किए गए शख्स की पहचान शेख नूर आलम के रूप में हुई

पुलिस कमिश्नर विनीत गोयल के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए शख्स की पहचान शेख नूर आलम के रूप में की गई है।आरोपी शेख नूर आलम के पास से बंदूक और चाकू के अलावा कुछ प्रतिबंधित पदार्थ भी पाए गए हैं। इतना ही नहीं आरोपी शख्स के पास से एजेंसियों के कई आईडी कार्ड भी मिले हैं।

कमिश्नर ने बताया कि वह जिस कार से वहां पहुंचा था। उस पर पुलिस का स्टिकर था। पुलिस, एसटीएफ और विशेष शाखा स्थानीय पुलिस स्टेशन में शख्स से पूछताछ कर रही है।

कोलकाता में टीएमसी की शहीद दिवस रैली 

कोलकाता में होने वाली टीएमसी की शहीद दिवस रैली में ममता बनर्जी कई एलान कर सकती हैं। लोकसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी की रैली का फोकस सभी समुदायों पर है, जिसमें एससी-एसटी से लेकर अल्पसंख्यक तक सभी शामिल हैं। पीटीआई एजेंसी के मुताबिक, ममता ने कहा है कि वो मणिपुर का दौरा करने के संबंध में अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात कर रही हैं, जिसे लोकसभा चुनाव 2024 के लिहाज से भी अहम माना जा रहा है।

शनिवार, 15 जुलाई 2023

पश्चिम बंगाल हिंसा, 1और घायल की जान गई

पश्चिम बंगाल हिंसा, 1और घायल की जान गई   

मीनाक्षी लोहड़े  

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के भांगड़ इलाके में आठ जुलाई को पंचायत चुनाव से एक दिन पहले एक राजनीतिक संघर्ष में घायल हुए 61 वर्षीय तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यकर्ता की शनिवार को मौत हो गई। एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी। टीएमसी ने हत्या के लिए इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) पर आरोप लगाया, लेकिन विपक्षी दल ने आरोप को खारिज कर दिया है।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि सात जुलाई की रात भांगड़ में शेख मुस्लिम पर लोहे की छड़ों से हमला हुआ था, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। घटना पंचायत चुनाव शुरू होने से कुछ घंटों पहले की है, जब शेख जंगल को पार कर रहा था। अधिकारी ने कहा कि कोलकाता के एक निजी अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

भांगड़ में पार्टी गतिविधियों की बागडोर संभाल रहे कैनिंग पूर्व से टीएमसी विधायक शौकत मुल्ला ने आईएसएफ कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम पर बिना किसी उकसावे के हमला करने का आरोप लगाया। शौकत का कहना है कि आईएसएफ इलाके में आतंक का साम्राज्य स्थापित करना चाहती है। भांगड़ को आईएसएफ की दमदार पकड़ वाला इलाका माना जाता है और पार्टी का एकमात्र विधायक इसी विधानसभा क्षेत्र से है।

आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं की किसी भी तरह की हिंसा में संलिप्तता से इनकार किया है और इस तरह की घटनाओं के पीछे छिपे सच को सामने लाने के लिए एक उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच की मांग की है। सिद्दीकी ने दावा किया कि ये टीएमसी के गुंडे हैं जो अतीत में कई आईएसएफ कार्यकर्ताओं पर हमला कर चुके हैं और कई हत्याओं को अंजाम दे चुके हैं।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि मुस्लिम की मौत के बाद आठ जून को जब से पंचायत चुनाव की तारीख घोषित हुई हैं तब से अब तक 39 लोगों की चुनाव से संबंधिंत हिंसा में मौत हो चुकी है। जिन लोगों ने अब तक जान गंवाई है उनमें से ज्यादातर लोग टीएमसी से संबंधित हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बंगाल इकाई के अध्यक्ष सुकांता मजूमदार ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर चुनावी हिंसा की इस संस्कृति को रोक पाने में विफल होने का आरोप लगाया, जिसमें अब तक बहुत से लोगों की मौत हुई है।

उन्होंने कहा, ''हर मौत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है। ऐसा नहीं होना चाहिए। ऐसा क्यों है कि केवल पश्चिम बंगाल में ही पंचायत चुनाव गोलियों, बमों, हिंसा और जानमाल के नुकसान का पर्याय बन गया है? इस बीच शुक्रवार रात को दक्षिण 24 परगना जिले के कैनिंग में एक व्यक्ति की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। टीएमसी ने दावा किया कि मृतक उसकी पार्टी का समर्थक था और आरोप लगाया कि आईएसएफ इस हत्या में शामिल है। पुलिस सूत्रों ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि यह हत्या राजनीति से जुड़ी है या नहीं।

सोमवार, 10 जुलाई 2023

पुनर्मतदान पर हिंसा, 35 बम बरामद: बंगाल

पुनर्मतदान पर हिंसा, 35 बम बरामद: बंगाल  

मीनाक्षी लोधी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान जमकर हिंसा हुई। मतदान के दिन तो इस हिंसा ने विकराल रूप धारण कर लिया।  कई जगह मतपेटियों में आग लगा दी गई। चुनाव अधिकारियों के साथ भी मारपीट की खबरें सामने आईं। इसके साथ ही हिंसा में कई लोगों की मौत भी हुई, जिसके बाद राज्य चुनाव आयोग ने आज सोमवार को 697 बूथों पर पुनर्मतदान का ऐलान किया था। लेकिन असामाजिक तत्वों ने आज भी हिंसा का पूरा प्लान बना रखा था। हालांकि सुरक्षा एजेंसियों ने उनके तमाम प्लानों पर पानी फेर दिया।

इसी क्रम में सुरक्षा बलों को मुर्शिदाबाद के बेलडांगा इलाके में एक तालाब और एक खेत से देशी बम होने की सूचना मिली, जिसके बाद वहां तुरंत बम निरोधक दस्ते को भेजा गया। इस खेत और तालाब से बम निरोधक दस्ते ने 35 देशी बम बरामद किए गए। टीम ने इन्हें वहीं निष्क्रिय कर दिया। पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि इन बमों को यहां कौन लाया था।

बता दें कि पांच जून को पंचायत चुनाव के नामांकन की घोषणा के साथ ही राज्य में खूनी खेल शुरू हो गया था। चुनाव प्रचार से लेकर मतदान के दिन तक हिंसा, बमबारी और खूनी खेल जारी रहा और चुनाव के बाद भी हिंसा का तांडव चल ही रहा है। पिछले 30 दिनों में चुनावी हिंसा में अब तक लगभग 40 लोगों की मौत हो चुकी है। सैकड़ों लोग घायल भी हैं। हिंसा को काबू में करने के लिए हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग को राज्यभर में केंद्रीय अर्धसैनिक बल को तैनात करने का आदेश दिया था, लेकिन इससे भी हिंसा पर पूरी तरह से काबू नहीं पाया जा सका था।

रविवार, 9 जुलाई 2023

सीएम ममता के राज में हो रही हत्याएं: स्मृति

सीएम ममता के राज में हो रही हत्याएं: स्मृति 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव समाप्त हो चुका है। लेकिन बीते कल बंगाल में खूब हिंसा देखने को मिली थी। इसी कड़ी में अब पश्चिम बंगाल हिंसा पर भाजपा की फायर ब्रांड नेता स्मृति ईरानी ने टीएमसी को घेरा है। स्मृति ईरानी ने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या है। सीएम ममता के राज में ये हत्याएं हो रही हैं। क्या राहुल गांधी को पश्चिम बंगाल में हिंसा स्वीकार है। बता दें कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर टीएमसी और कांग्रेस गठबंधन की योजना पर काम कर रहे हैं।

बंगाल हिंसा पर भड़कीं स्मृति ईरानी

पश्चिम बंगाल चुनाव के मद्देनजर हुई हिंसा पर अब भाजपा और टीएमसी के बीच जुबानी जंग तेज हो चुकी है। भाजपा द्वारा टीएमसी पर बूथ कैप्चरिंग का भी आरोप लगाया गया है। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इसके लिए ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र का मजाक बना दिया है। सांसद अभिषेक बनर्जी के डायमंड हार्बर में टीएमसी ने बूथ पर बैलेट बॉक्स में स्टैंप लगाया। टीएमसी ने वोटिंग के बाद देर रात बूथ कैप्चर किया, जहां न कोई सीसीटीवी कैमरा था और न ही सुरक्षाकर्मी।

टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने दिया जवाब 

अमित मालवीय के ट्वीट पर टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने पलटवार करते हुए कहा है कि भाजपा द्वारा अफवाह फैलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नेत्रा जीपी मथुरापुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आता है। न कि डायमंड हार्बर के। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि दुर्भाग्य से आपका आईटी सेल प्रचार करने के लिए तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश नहीं कर सकता है। गलत सूचना फैलाने के इस अभियान को रोकना होगा।

रविवार, 2 जुलाई 2023

सीटी स्कैन कराते समय एक महिला की मौत

सीटी स्कैन कराते समय एक महिला की मौत

इकबाल अंसारी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक प्राइवेट डायग्नोस्टिक सेंटर में सीटी स्कैन कराने आई महिला की मौत के बाद हड़कंप मच गया है। आरोप है कि महिला पेट के सीटी स्कैन के लिए एक निजी डायग्नोस्टिक सेंटर में आई थी। डॉक्टर के सुझाव के अनुसार, सलेमा को सीटी स्कैन से पहले ‘नॉन-आयनिक कंट्रास्ट’ दिया गया था। हालांकि, दवा लगाने के कुछ देर बाद महिला बीमार पड़ गई और उसकी मौत हो गई।

यह घटना कोलकाता के हाजरा इलाके के एक निजी डायग्नोस्टिक सेंटर में हुई। इस घटना की जानकारी मिलते ही बालीगंज थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद कई लोग डरे हुए हैं। लेकिन ऐसा क्यों हुआ ये सवाल उठने लगा है। साउथ कोलकाता में ऐसी घटनाएं सुनकर कई लोग हैरान हैं। पुलिस को क्या मिली जानकारी पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मृत महिला का नाम सलेमा बीबी (47) है। वह सरशुना के वासुदेवपुर इलाके का रहने वाली हैं। वह पेट का सीटी स्कैन कराने के लिए हाजरा के निजी डायग्नोस्टिक सेंटर में आई थी।

‘नॉन-आयनिक कंट्रास्ट’ देने के बाद बिगड़ी महिला की तबीयत

प्राप्त जानकारी के अनुसार सलेमा को सीटी स्कैन से पहले ‘नॉन-आयनिक कंट्रास्ट’ दिया गया था. परीक्षा केंद्र के प्राधिकारी ने पुलिस को सूचित किया। हालांकि, दवा लगाने के कुछ देर बाद महिला बीमार पड़ गई। उनका रक्तचाप तेजी से गिरने लगा और इसके बाद महिला की जांच केंद्र में ही मौत हो गई।

इस घटना से उनके परिजन आक्रोशित हो गये। हालांकि, बाद में परिजन शव लेकर लौट आए, हालांकि इस बाबत अभी तक कोई पुलिस शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है। लेकिन इस घटना को लेकर मेडिकल जगत में काफी चर्चा है। डॉक्टरों का मानना ​​है कि महिला की मौत ‘एनाफिलेक्टिक शॉक’ के कारण हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि नॉन-आयनिक कंट्रास्ट देने के बाद महिला को गंभीर एलर्जी हो गई और उसी से बाकी सब घटित होता हुआ प्रतीत होता है। उस एलर्जी की वजह से महिला का खून और उसकी नसों में मौजूद प्लाज्मा बाहर आ गया। उनकी मृत्यु नसों में खून की कमी के कारण हुई।

महिला की मौत से मचा हड़कंप

कई डॉक्टरों के अनुसार, एनाफिलेक्टिक शॉक तब होता है जब शरीर में अधिकांश रक्त वाहिकाएं फैल जाती हैं। इसकी वजह से शरीर का रक्तचाप सामान्य से काफी नीचे चला जाता है। नतीजतन, शरीर के अंगों में रक्त की आपूर्ति बाधित हो जाती है और अपंग होने लगा। डॉक्टर का कहना है कि ये बेहद दुर्लभ घटना है। लेकिन जब होता है, तो डॉक्टरों को कुछ करने का मौका ही नहीं मिलता। फलतः मरीज मौत हो जाती है। कुछ दिन पहले कोलकाता में एक और इसी तरह की घटना घट चुकी है।

सोमवार, 1 मई 2023

बिजली गिरने से 1 कार्यकर्ता की मौंत, 25 घायल 

बिजली गिरने से 1 कार्यकर्ता की मौंत, 25 घायल 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले में रविवार को बारिश के दौरान बिजली गिरने से तृणमूल कांग्रेस के 40 वर्षीय एक कार्यकर्ता की मौंत हो गई तथा कम से कम 25 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि यह घटना टीएमसी की एक रैली के दौरान हुई, जिसे पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने संबोधित किया था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रविवार को आयोजन स्थल के समीप एक पेड़ पर बिजली गिरने के बाद साबिर मलिक को घायल अवस्था में एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

उन्होंने कहा, टीएमसी के कुछ कार्यकर्ताओं ने बारिश आने पर पेड़ के नीचे आश्रय ले लिया था। पेड़ पर बिजली गिरने के बाद मलिक की मौंत हो गई तथा 25 अन्य घायल हो गए। उन्होंने बताया कि घायल में से सात की हालत गंभीर होने पर उन्हें बर्दवान मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ले जाया गया। टीएमसी ने ट्वीट किया, बिजली गिरने की घटना के पीड़ितों के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं। हम मृतकों के परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हैं और उनकी मदद करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे।

हम स्थिति पर नजर रख रहे हैं और घायलों को चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने के लिए स्थानीय प्राधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। घटना के वक्त रैली को संबोधित कर रहे टीएमसी के युवा नेता दिबांग्शु भट्टाचार्य घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा, हम सभी स्तब्ध हैं। हमारे नेता अभिषेक बनर्जी ने हमें घायलों तथा मृतकों के परिवार के सदस्यों की मदद करने को कहा है। हम घायलों के इलाज का पूरा खर्च वहन करेंगे।

शनिवार, 14 जनवरी 2023

गंगासागर में पवित्र स्नान के लिए उमड़े... लाखों श्रद्धालु 

गंगासागर में पवित्र स्नान के लिए उमड़े... लाखों श्रद्धालु 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में दक्षिण 24 परगना जिले के सागर आइलैंड में मकर संक्रांति के अवसर पर गंगासागर में पवित्र स्नान करने के लिए देशभर से लाखों श्रद्धालु उमड़ रहे हैं। इस संबंध में एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि हालांकि, गंगासागर में पवित्र स्नान का समय शनिवार शाम करीब छह बजकर 50 मिनट पर शुरू होगा लेकिन हजारों श्रद्धालुओं ने हुगली नदी और बंगाल की खाड़ी के संगम में सुबह ही डुबकी लगाई तथा कपिल मुनि आश्रम में पूजा-अर्चना की।

पांच जनवरी से लेकर शुक्रवार शाम तक 31 लाख से अधिक श्रद्धालु गंगासागर मेले में पहुंच चुके हैं जिसे कुंभ मेले के बाद सबसे बड़ा धार्मिक मेला माना जाता है। झारखंड के चाईबासा के रहने वाले राम स्वरन ने कहा, गंगा (हुगली नदी) में डुबकी लगाने के बाद मेरे सारे पाप धुल गए। कुछ श्रद्धालुओं को सागर आइलैंड में गंगासागर मेले तक जाते समय गाना गाते और नाचते हुए देखा गया। सागर आइलैंड कोलकाता से करीब 100 किलोमीटर दूर स्थित है। इस बीच, तटरक्षक बल और आपदा प्रबंधन दल के कर्मियों ने तटरेखा पर चौकसी बढ़ा दी है तथा पुलिस और सिविल डिफेंस के स्वयंसेवकों को मेला मैदान में तैनात किया गया है।

गंगासागर मेले पर नजर रखने के लिए 1,000 से अधिक सीसीटीवी कैमरे और 25 ड्रोन तैनात किए गए हैं। अधिकारी ने बताया कि इस वार्षिक मेले के लिए सागर आइलैंड पर देशभर से लाखों श्रद्धालु उमड़ते हैं और दक्षिण 24 परगना जिला प्रशासन के लिए गंगासागर सुरक्षित पहुंचने के लिए मुरीगंगा नदी को पार करते लोगों की भीड़ को संभालने की चुनौती है। उन्होंने कहा, घने कोहरे के कारण सुबह करीब तीन घंटे तक सागर आइलैंड जाने वाली जहाज और बस सेवाओं को रोका गया था लेकिन अब सब कुछ सामान्य है।

गुरुवार, 12 जनवरी 2023

गैस-सिलेंडर में आग लगने से कई दुकानें जली, नष्ट 

गैस-सिलेंडर में आग लगने से कई दुकानें जली, नष्ट 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। कोलकाता में गुरुवार तड़के रसोई गैस-सिलेंडर में आग लगने से कई दुकानें जलकर नष्ट हो गईं। पुलिस और अग्निशमन विभाग के सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि शहर के फुटपाथ के किनारे स्थित दुकानों में से किसी एक में रसोई गैस सिलेंडर फट गया, जिसमें एक दुकानदार झुलस गया। उसे इलाके के बिधाननगर अस्पताल ले जाया गया। बचाव अधिकारियों ने बताया कि उनकी टीम आग लगने की सूचना मिलते ही तत्काल घटनास्थल पर छह से अधिक गाड़ियों को लेकर पहुंच गई। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

तब तक कई दुकानें जलकर खाक हो गईं। उन्होंने कहा कि अभी आग लगने के कारण का पता नहीं चल पाया है। राज्य के अग्निशमन मंत्री सुजीत बोस और कई वरिष्ठ अधिकारी आग के बारे में जानकारी लेने और बचाव कार्य का जायजा लेने पहुंच गए हैं।

गुरुवार, 1 दिसंबर 2022

कलाकारों के समूह ने मकान को एक नया रूप दिया 

कलाकारों के समूह ने मकान को एक नया रूप दिया 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। कोलकाता के कालीघाट में स्थित 120 साल पुराने, जर्जर हो चुके एडवर्डकालीन एक मकान को कलाकारों के एक समूह ने अपनी कोशिश से एक नया रूप दे दिया है। कभी यह मकान कला का अद्भुत नमूना था जिसकी अर्ध वृत्ताकार बालकनी, हरे रंग से रंगी खिड़कियां, संगमरमर जड़े फर्श, लोहे की रेलिंग और कलाकृतियां शानदार हैं। भवन निर्माताओं द्वारा इसे धराशायी करने से पहले यह मकान कलाकारों के समूह के लिए अपनी कला को नए स्वरूप में प्रदर्शित करने का माध्यम बन गया है। कलाकारों ने जर्जर हो चुके ‘जगत निवास’ की दीवारों को भित्तिचित्रों और सीढ़ियों को ‘अल्पना’ (रंगोली) से सजाया है, अंग्रेजी और बांग्ला भाषा में संदेश लिखे हैं, प्रयोग के तौर पर रोशनी की व्यव्स्था की है। ताकि इन अंधेरे कमरों का इतिहास लोगों के सामने लाया जा सके।

इमारत के एक कमरे में जापानी शैली में स्याही और कूची से चित्रकारी की गई है जो इसका संबंध द्वितीय विश्वयुद्ध के योद्धा मेजर (डॉ) बी सी दीवानजी से बताती है। दीवानजी बर्मा (मौजूदा म्यांमा) से आए थे और इस इमारत के मूल मालिक थे। वहीं एक अन्य कमरे में साड़ी से साधारण झूला बनाया गया है जो इस इमारत में लोगों के हुए जन्मों को इंगित करता है।

यह इमारत कालीघाट स्थित मशहूर काली मंदिर परिसर से काफी नजदीक है। विश्व भारती विश्वविद्यालय के शांतिनिकेतन से प्रशिक्षित 46 वर्षीय कलाकार तौफिक रियाज ‘म्यूजियम ऑफ एयर ऐंड डस्ट’ से शुरू की गई इस परियोजना से जुड़े हैं। उन्होंने से कहा, ‘‘बड़ी संख्या में कलाकार, कवि, वास्तुशास्त्री, अभिनेता, बुद्धिजीवी और आसपास रहने वाले निवासी इस घर को जर्जर ढांचे से कला के केंद्र में तब्दील करने के काम से जुड़े हैं।’’

उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में जो लोग रह रहे हैं उनमें बर्मा से करीब 60 साल पहले आए शरणार्थी भी हैं और रंगून (अब यंगून) से हृदयविदारक अवस्था में निकाले जाने की यादें उनके मनोमस्तिष्क में अब तक ताजा हैं। इन लोगों के लिए नेपाल भट्टाचार्य स्ट्रीट स्थित इस घर को छोड़ने की घड़ी नजदीक आ रही है। एक समय बंगाली फिल्मों में काम करने वाले शिवाजी दीवानजी ने कहा, ‘‘इस घर को लेकर हमारी कई यादें हैं, कितने विवाह और जन्म यहां हुए, दोस्ती और उत्सव हुए, इसे छोड़ना आसान नहीं है।

शनिवार, 24 सितंबर 2022

बंगाल में ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ स्थापित करने की योजना 

बंगाल में ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ स्थापित करने की योजना 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। कोलकाता में दुर्गा पूजा के मद्देनज़र तीन समितियां इस साल नेत्रहीन व्यक्तियों के लिए पंडाल में ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ स्थापित करने की योजना बना रही हैं, ताकि ऐसे लोगों को उत्सव की भव्यता का आनंद उठाने के लिए उन्हें स्वयंसेवकों पर निर्भर न रहना पड़े। इस योजना से नेत्रहीन व्यक्तियों को ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ की सतह को छूकर सजावट और मूर्ति के बारे में विस्तार से जानने की सुविधा मिलेगी। हाजरा पार्क दुर्गोत्सव समिति, ठाकुरपुकुर में स्टेट बैंक पार्क और चितपुर क्षेत्र में यंग बॉयज क्लब समिति पंडाल के एक तरफ ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ लगाएंगीं।

दक्षिण कोलकाता में लेक टेम्पल रोड पर एक अन्य लोकप्रिय पूजा समिति शिव मंदिर सरबजनिन की तरफ से लगातार पांचवें वर्ष ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ लगाया जाएगा। हाजरा पार्क सरबोजोनिन दुर्गोत्सव समिति के संयुक्त सचिव सायन देव चटर्जी ने कहा, ‘‘दुर्गा पूजा के दौरान प्रत्येक व्यक्ति आंनद उठाना चाहता है, इसलिए हमने दृष्टिबाधित व्यक्तियों को त्योहार में आम लोगों की तरह भाग लेने में मदद करने का निर्णय किया है।’’

शिव मंदिर सरबजनीन पूजा समिति के प्रवक्ता पार्थ घोष ने कहा, ‘‘हमने 2018 में अपने दुर्गा पूजा पंडाल में ‘ब्रेल डिस्प्ले बोर्ड’ की शुरुआत की थी। लंबे समय से नेत्रहीनों और दिव्यांग व्यक्तियों को पूजा का सामान्य लोगों की तरह आनंद उठाने और उत्सव की सराहना करने की आवश्यकता महसूस की जा रही थी।’’ घोष ने बताया कि इस साल 200 से अधिक दुर्गा पूजा समितियों ने वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग व्यक्तियों के लिए पंडाल में कईं सुविधाएं देने की पहल की है।

रविवार, 28 अगस्त 2022

सड़क हादसा, तृणमूल कांग्रेस के नेता के बेटे की मौंत 

सड़क हादसा, तृणमूल कांग्रेस के नेता के बेटे की मौंत 

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। कोलकाता के खिदिरपुर इलाके में एक सड़क हादसे में तृणमूल कांग्रेस के नेता राम प्यारे राम के बेटे की मौंत हो गई। पुलिस ने रविवार को बताया कि बाबूबाजार से गुजर रहे राम किनकर राम (38) की कार को शनिवार रात करीब आठ बजकर 40 मिनट पर सामने से आ रहे एक ट्रक ने टक्कर मार दी। एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, किनकर राम की मौके पर ही मौत हो गई और ट्रक चालक एवं खलासी फरार हो गए।

अधिकारी ने कहा, ‘‘किनकर राम को एसएसकेएम अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। ट्रक चालक और उसके खलासी को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान जारी है।’’ अधिकारी के अनुसार, बचाव दल को किनकर राम का शव कार से बाहर निकालने के लिए गैस कटर का इस्तेमाल करना पड़ा। इस बीच, एक अधिकारी ने बताया कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह (एसएमपी) ने दुर्घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

उन्होंने बताया कि खिदिरपुर बाबूबाजार क्षेत्र बंदरगाह मार्ग एसएमपी के क्षेत्राधिकार में आता है। प्रवक्ता संजय मुखर्जी ने कहा, ‘‘बंदरगाह के अध्यक्ष ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।’’ अधिकारियों ने बताया कि इस मार्ग की आखिरी बार 2018 में मरम्मत कराई गई थी।

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा अखिलेश पांडेय  ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस...