बुधवार, 12 जुलाई 2023

स्वास्थ्य के लिए शुद्ध 'जल' आवश्यक है: मिश्रा 

स्वास्थ्य के लिए शुद्ध 'जल' आवश्यक है: मिश्रा 


पानी की शुद्धता की क्वालिटी के बारे में जानकारी दे गए अफसर

कौशाम्बी। सिराथू तहसील क्षेत्र के करेंटी मजरा जमाल मउ ग्राम सभा मे जल शक्ति मिशन के बारे में ट्रेनर ब्रजेश मिश्रा ने जानकारी देते हुए कहा कि स्वास्थ्य के लिए शुद्ध जल आवश्यक है। पानी की क्वालिटी के बारे में जानकारी दी और साफ जल के बारे जानकारी देते हुए कहा कि साफ जल्द ही पीने में उपयोग करें।

कार्यक्रम के दौरान ग्राम प्रधान व ग्रामीणों की मौजूदगी रही ग्राम प्रधान रंजीत पटेल ने ग्रामीणों को पानी को बचाने के बारे में समझाया। मौके पर तमाम लोगों की मौजूदगी रही।

एक तरफ साफ पानी के बारे में अफसर उपदेश दे रहे थे दूसरी तरफ उसी ग्राम सभा में एक दबंग द्वारा हैण्ड पम्प के पास गोबर का ढेर लगा कर गन्दे पानी को रोक कर हैण्ड पम्प के अंदर गन्दे पानी के जाने से ग्रामीणों को गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। ग्राम प्रधान का कहना है कि हमने कई बार कहा लेकिन वह अपने दबंगई के बल पर लोगों को गाली गलौज भी देता है।

सवाल उठता है कि जहां पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएं वहां भी भाषण बाजी का पालन ना हो सके, तो ऐसे बकवास का क्या फायदा ?

अजीत कुशवाहा

शास्त्री की कथा में मची भगदड़, बेहोश हुए लोग

शास्त्री की कथा में मची भगदड़, बेहोश हुए लोग

विजय भाटी 

गौतमबुद्ध नगर। दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र शास्त्री की चल रही कथा में अचानक भगदड़ मच गई, जिसमें कई लोग गिरकर बेहोश हो गए। साथ ही कई लोगों के करंट लगने की सूचना मिल रही है। 

जानकारी के मुताबिक आज धीरेंद्र शास्त्री की कथा में भक्तों की भारी भीड़ जमा हो गई। ज्यादा भीड़ जमा होने से अचानक बेकाबू हो गई, जिसमें कुछ लोगों को नंगे तारों से करंट लगने की सूचना मिल रही है, तो वहीं कुछ लोग  गिरकर बेहोश हो गए।

रिश्तों का तराजू   'संपादकीय'

रिश्तों का तराजू   'संपादकीय'


मैंने निभाया है हर रिश्ते को ईमानदारी से,

यकीन मानो कुछ नहीं मिलता इस वफादारी से।

अवतरण दिवस के बाद से ही रिश्तों की डोर में बंधा आदमी कदम-कदम पर अपने-पराये की अटूट श्रृंखला की कड़ी बनकर रह जाता है।

जीवन के अग्नि पथ पर हर लम्हा समर्पण भाव लिए स्वभाव के संरक्षण में अपनी निरन्तरता बनाएं रहता है। उम्र के गुजरते लम्हे धीरे-धीर जब परिपक्वता की परिधी में पहुंच जाते हैं, स्वयं की सम्वेदना निज हित को सर्वोपरि मानते हुए दिन रात सामाजिकता के आवरण को मजबूत कर इस स्वार्थी दुनिया के रस्मों रिवाज में अहर्निश सुख सम्पदा के उन्मोचन में सुख-चैन को त्याग कर, सुखद भविष्य की चाहत में खुद‌ आहत रह कर भी 

तरक्की की राह पर अपनों को अग्रसर करने के लिए हर दर्द को सह जाता है। बदलता परिवेश जिस विशेष वातावरण का निर्माण कर‌ रहा है, उसमें तो एक निश्चित अवधि के पार होते ही जो कल तक अपने थे सपने कि बात बन जा रहे हैं।परिवर्तन की पराकाष्ठा देखिए साहब! आधुनिकता के इस अघोषित युद्ध में लोगों की मानसिकता जिस तरह प्रबुद्ध होने का एहसास करा रही है, वह भारतीय परम्परा भारतीय संस्कृति में कभी शामिल नहीं रही है।

इस देश में तो सदियों से मातृ देवो भव: पितृ देवो भव: का सारगर्भित सम्मान सर्वोपरि रहा है।

मगर, इस भौतिक वादी युग में रिश्तों की अहमियत खत्म हो गई। डंकल प्रजाति के नए रिश्तों से समाज सम्बृध हो रहा है।पुरातन काल के सम्बन्ध जो पौराणिक अनुबन्ध पर कायम थे, अब विलुप्त हो चले हैं।आधुनिकता के प्रथम चरण में ही सामाजिक सम्बन्धों की परिभाषा बदल गई। अब वह परम्परा परिवर्तित हो गई, जिसमें शान से कहा जाता, जिस जाति धर्म में जन्म लिया, बलिदान उसी में हो जाए ! 

जननी जन्म भुमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी !  खुशहाल जीवन के महकते उपवन में जिस दिन उर्वशी का आगमन हुआ, उसी दिन खुशी पर ग्रहण लग गया। रिश्ते दरकने लगा, घर परिवार खटकने लगा। उसमें भी अगर नौकरी है तो सोने में सुहागा‌। वह पथिक जो जीवन भर कठिन राहों पर अपनों के लिए नंगे पांव भटकता रहा, उसके नसीब में खुशी करीब आकर दूर चली गई, जिसके आसरे सारे ख्वाब सजाए थे, जीवन उस पर तुषारापात हो गया।

सम्बन्धों की तुरपाई जब मोहब्बत के धागे से होती है, तब जाकर अपनापन वजूद मुस्कराता है ।लेकिन आजकल तो एक नई व्यवस्था ने ऐसी आस्था को प्रतिपादित किया है, जिसके चक्रव्यूह में जो एक बार फंस गया,  वह अपना समूल नाश कर मूल को भूल जाता है। जीवन की जगमगाती ज्योति को आंधियों के हवाले करने की नवसृजित परम्परा भारतीय संस्कृति को विनाश के तरफ ले जा रही है। विघटित होते संयुक्त परिवार  एकाकी जीवन की संकल्पना का आधार बन रहे हैं। पुरातन भारतीय जीवन पद्धति अब कल की बात हो गई। घर विरान हो रहे है, अनाथ आश्रम तथा बृद्धा आश्रम आबाद हो रहे हैं। शहर से लेकर गांव तक बदल गए। हर तरफ गजब की उदासी है, हर तरफ गम जदा मंजर है। वैमनस्यता की देवी पूजी जा रही घर-घर है। 

अब रिश्तों का तोल नहीं, 

मां-बाप अनमोल नहीं। 

आने वाला कल विकल भाव लिए एकल जीवन का मार्ग प्रशस्त कर रहा है।

सबके करीब जाना, 

मेरी मजबूरी तो नहीं।

हर ज़ख्म दिखाऊं, रोऊं... 

ये जरुरी तो नहीं।

देख लिया है जीकर,

मैंने सबके लिए।

बिना मेरे ज़िन्दगी,

किसी की अधूरी तो नहीं।

जगदीश सिंह

तिरंगे पर सोयाबीन की बड़ी सुखाई, 2 गिरफ्तार 

तिरंगे पर सोयाबीन की बड़ी सुखाई, 2 गिरफ्तार 


तिरंगे को बिछाकर सोयाबीन की बड़ी सुखाई, दो पर रिपोर्ट

इकबाल अंसारी 

गाजियाबाद/लोनी। लोनी बार्डर थाना क्षेत्र की संगम विहार कॉलोनी में दो लोगों पर तिरंगा के अपमान करने पर रिपोर्ट दर्ज हुई है। पड़ोसी ने दोनों पर रिपोर्ट दर्ज कराई है। 

दोनों पर पीड़ित को धमकी देने और गाली-गलौज करने का आरोप है। संगम विहार कॉलोनी में प्रेम बाबू परिवार के साथ रहते हैं। उन्होंने पुलिस को सूचना दी कि उनके पड़ोस में रहने वाले मोहन और रमेश अपने घर में राष्ट्रीय ध्वज को जमीन पर बिछा कर सोयाबीन की बड़ी सुखा रहे हैं। 

पानी के ड्रम पर भी राष्ट्रीय ध्वज को बांध रखा था। पार्थी ने इसका विरोध किया, तो दोनों ने उनके साथ गाली-गलौज की। जान से मारने की धमकी दी। एसीपी रजनीश कुमार उपाध्याय ने बताया कि कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

शिव की पूजा में 'केतकी' का फूल चढ़ाना पाप

शिव की पूजा में 'केतकी' का फूल चढ़ाना पाप

सरस्वती उपाध्याय 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, किसी भी देव को प्रसन्न करने के लिए उन्हें उनकी पसंदीदा वस्तुएं दी जाती हैं। सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनकी प्रिय वस्तुओं को अर्पित करना प्रचलित है। लेकिन कुछ चीजें देवताओं को देने से वे जल्द ही नाराज़ हो जाते हैं। आइए पता करें...!

सावन का महीना बहुत पावन और पवित्र है। यह कहते हैं कि इस माह में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया गया एक छोटा सा काम भी बहुत जल्द काम करेगा। शिव भगवान बहुत जल्द प्रसन्न होते हैं। ऐसे में श्रद्धालु महादेव को अपनी प्रिय वस्तुएं देते हैं। लेकिन शास्त्र कहते हैं कि कुछ चीजें भूलकर भी महादेव को नहीं देनी चाहिए।

ज्योतिष शास्त्र कहता है कि भगवान शिव को एक फूल भी नहीं देना चाहिए। यह एक केतकी का फूल है। शिव पुराण में एक कथा है, जो बताती है कि पूजा में केतकी के फूल का इस्तेमाल क्यों नहीं किया जाता है ?

आइए, केतकी के फूल और भगवान शिव के बारे में जानें...!

केतकी के फूल की पौराणिक कथा...

शिव पुराण में भगवान शिव को केतकी का फूल अर्पित न करने की कथा के बारे में बताया गया है। एक बार ब्रह्मा जी और विष्णु जी के बीच विवाद हो गया कि कौन सर्वश्रेष्ठ है और इस विवाद को खत्म करने के लिए दोनों को भगवान शिव के पास जाना पड़ा। उस समय महादेव ने एक ज्योतिर्लिंग की उत्पत्ति कर उसका आदि और अंत खोजने को कहा। साथ ही, कहा कि जो खोज लेगा, वहीं श्रेष्ठ कहलाएगा।

इस तरह से आदि अंत खोजने की हुई शुरुआत

ज्योतिर्लिंग का आदि-अंत खोजने के लिए भगवान विष्णु ऊपर की ओर और ब्रह्मा जी नीचे की ओर बढ़ें। 

शिवलिंग का आदि-अंत खोजने के लिए ब्रह्मा जी और विष्णु जी ने लाख कोशिश की। लेकिन उन्हें कुछ न मिला। जब ब्रह्मा जी अंत ढूंढते-ढूंढते थक गए, तब उन्हें रास्ते में केतकी का फूल मिला।ब्रह्मा जी ने केतकी के फूल को बहलाकर शिव दी के आगे झूठ बोलने को कहा और दोनों ने महादेव के सामने जाकर झूठ बोलकर ये स्वीकार किया कि उन्हें शिवलिंग का अंत मिल गया।

भगवान शिव ने दिया केतकी को श्राप

महादेव जानते थे कि ब्रह्मदेव झूठ बोल रहे हैं और उनकी इस बात से वे क्रोधित हो गए और ब्रह्मा जी को पांचवा सिर काट दिया। वहीं, केतकी के फूल को शाप दिया कि शिल जी को पूजा में केतकी के फूल का इस्तेमाल वर्जित रहेगा।

तब से ही महादेव की पूजा में केतकी के फूल को चढ़ाना मना है। केतकी का फूल चढ़ाना पाप माना गया है। इसलिए सावन या महादेव की पूजा के समय भूलवश भी केतकी का फूल अर्पित न करें।

दिल्ली में बाढ़ का खतरा, आपात बैठक बुलाई 

दिल्ली में बाढ़ का खतरा, आपात बैठक बुलाई 

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर में यमुना नदी के पानी के उच्चतम स्तर 207.55 मीटर पर पहुंच जाने के बाद बुधवार को एक आपात बैठक बुलाई है। बढ़ते जलस्तर से शहर में बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है। दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि बैठक दिल्ली सचिवालय में होगी, जिसमें सभी संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहेंगे।

राष्ट्रीय राजधानी में यमुना नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण निचले इलाकों में रहने वाले हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

फोड़े-फुंसी व मुहांसे से छुटकारा, अपनाएं नुस्खे 

फोड़े-फुंसी व मुहांसे से छुटकारा, अपनाएं नुस्खे 

सरस्वती उपाध्याय 

बारिश के मौसम में जहां एक ओर गर्मी से राहत मिलती हैं, तो वहीं कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। इन दिनों हो रही तेज बारिश की वजह जगह-जगह से जलभराव हो रहा है, जिससे जनजीवन पर काफी असर पड़ने लगा है। इसके साथ ही बारिश की वजह से स्किन पर कई तरीके की दिक्कतें सामने आने लगती हैं, इनमें सबसे खास समस्या है, चेहरे पर फोड़े-फुंसी और मुंहासे का होना। 

बता दें, कि अगर त्वचा पर होने वाली इन मुंहासों का इलाज शुरूआत में ही नहीं किया गया तो ये बढ़ने लगते हैं और चेहरे पर दाग भी छोड़ जाते हैं। ऐसे में या तो आप इनसे छुटकारा पाने के लिए पार्लर जाकर हजारों रुपये खर्च कर सकते हैं, या फिर कुछ घरेलू नुस्खे अपना सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के फेसपैक के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके यूज से आप बेदाग चेहरा और निखरी त्वचा पा सकते हैं।  

बेसन का फेसपैक...

बेसन एक ऐसी चीज है, जो हर घर में आसानी से मिल जाता है। इसका फेसपैक तैयार करने के लिए आपको बस कटोरी में एक चम्मच बेसन डालें और उसमें थोड़ा पानी मिलाना है। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। इससे आपका चेहरा चमकने लगेगा।

हल्दी...

बता दें हल्दी में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए आधा चम्मच हल्दी में एक चम्मच शहद मिलाएं। इसे चेहरे पर 5 मिनट लगाकर रखने के बाद चेहरा धो लें। इससे आपकी त्वचा बेदाग बनी रहेगी।

मुल्तानी मिट्टी है कारगर...

बता दें, कि ये लोगों के चेहरे से अतिरिक्त तेल सोखने का काम करती है। ऐसे में डेढ़ चम्मच मुल्तानी मिट्टी में पानी या गुलाब जल डालकर पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर हफ्ते में दो बार लगाएं।

बादाम का यूज...

अगर आप चेहरे को चमकदार बनाने के लिए बादाम का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो बादाम को संतरे के साथ मिलाएं और पीस लें। आधे घंटे इसे चेहरे पर लगाने के बाद चेहरे को धो लें। ये आपके चेहरे पर मुहांसों के दागों को खत्म करने में कारगर होता है।

एक्ट्रेस श्वेता ने ब्लैक साड़ी में फोटोशूट कराया 

एक्ट्रेस श्वेता ने ब्लैक साड़ी में फोटोशूट कराया 

कविता गर्ग 

मुंबई। टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी ने एक बार फिर ब्लैक कलर की साड़ी में ग्लैमरस फोटोशूट कराया है। इन तस्वीरों में एक्ट्रेस टोन्ड फिगर फ्लॉन्ट करती दिख रही हैं। श्वेता की कातिलाना अदाएं देख फैंस दीवाने हो गए है।

श्वेता तिवारी ने इन फोटोज में काफी बेहद खूबसूरत लग रही हैं। एक्ट्रेस ने इन तस्वीरों में साड़ी के साथ हॉट डीप नेक ब्लाउज पहना हुआ है। इस लुक को कंप्लीट करने के लिए श्वेता ने स्मोकी मेकअप किया है और बालों को खुला छोड़ा हुआ है। साथ ही श्वेता कानों में इयररिंग्स पहने हुए हैं। 

तस्वीरें में श्वेता कभी कैमरे के सामने देखते हुए नजर आ रही हैं तो कभी नजरें झुकाकर पोज देते हुए दिखाईं दे रही हैं। श्वेता की ये फोटोज देखकर फैंस खुद को रोक नहीं पा रहे हैं और कमेंट की बरसात कर दी है। श्वेता तिवारी ने अदाओं के जलवे बिखेरते हुए कैमरे के सामने एक से बढ़कर पोज दिए हैं। अब एक्ट्रेस का ये लुक सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस ड्रेस में श्वेता खूबसूरत लग रही हैं। फैंस उनकी दिलकश अदाएं देख दिल हार रहे हैं। 

बता दें, श्वेता टीवी सीरियल्स की दुनिया का जाना पहचाना चेहरा हैं। कसौटी जिंदगी से पॉपुलैरिटी हासिल करने वालीं श्वेता तिवारी बिग बॉस विनर भी रह चुकी हैं। श्वेता तिवारी ने बिग बॉस सीजन 4 की चमचमाती ट्रॉफी अपने नाम की थी।

बारिश के चलते, कई राज्यों में हालात खराब

बारिश के चलते, कई राज्यों में हालात खराब

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में हो रही मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा रखा है। वहीं, इस बारिश ने लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। देश की राजधानी दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा में बारिश के चलते हालात खराब हैं। कई इलाके बाढ़ से जलमग्न हैं और लोगों को घरों से निकालकर दूसरी जगहों पर शिफ्ट किया जा रहा है। वहीं, बारिश से अब तक कई लोगों की जान भी चुकी है। 

आंकड़ों के मुताबिक, 11 जुलाई तक देश के 18 राज्यों के 188 जिले बारिश और बाढ़ की चपेट हैं और जान-माल को बुरी तरह नुकसान पहुंचा है। बता दें बारिश से संबंधित घटनाओं में 574 लोगों की मौत हुई है, जबकि 16 लोग लापता बताए गए हैं, वहीं 497 लोग घायल हैं। 8644 मवेशियों की भी बारिश के चलते मौत हो चुकी है। 8815 मकानों को नुकसान पहुंचा है, जबकि 47,225 हेक्टेयर फसल बर्बाद हो चुकी है। 

वहीं, अगर हिमाचल प्रदेश की बात करें तो यहां बारिश ने जमकर कहर बरपाया है। पहाड़ी राज्य के 12 जिले बारिश और बाढ़ से प्रभावित हैं। बता दें हिमाचल प्रदेश में बारिश के चलते अब तक कुल 95 लोगों की जान जा चुकी है वहीं 2 लोग लापता हैं, जबकि 99 लोग घायल हैं। 76 मकान पूरी तरह से नष्ट हो चुके हैं, जबकि 319 मकानों का हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। 

उधर, पंजाब और हरियाणा में कई इलाके अब भी जलमग्न हैं। बारिश संबंधी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है। एक समाचार एजेंसी के मुताबिक, मंगलवार को बारिश से संबंधित घटनाओं की वजह से छह और लोगों की मौत की खबर मिली, जिसके साथ पिछले तीन दिनों में मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर अब 15 हो गई है। बता दें पंजाब में आठ मौतें हुईं, जबकि हरियाणा में सात लोगों की जान चली गई। दोनों राज्यों में बचाव अभियान लागातार जारी है।

13 से 15 के बीच फ्रांस-यूएई की यात्रा: पीएम

13 से 15 के बीच फ्रांस-यूएई की यात्रा: पीएम

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 से 15 जुलाई के बीच फ्रांस और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की यात्रा करेंगे और फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस की परेड में बतौर विशिष्ट अतिथि भाग लेंगे। विदेश मंत्रालय के अनुसार फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री 13-14 जुलाई को तक पेरिस का दौरा करेंगे।

प्रधानमंत्री 14 जुलाई 2023 को बैस्टिल डे परेड में विशिष्ट अतिथि होंगे। परेड में भारत की तीनों सेनाओं की एक संयुक्त टुकड़ी भी भाग लेगी। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी, फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों से औपचारिक बातचीत करेंगे।

राष्ट्रपति मैक्रों प्रधानमंत्री के सम्मान में राजकीय भोज के साथ-साथ निजी रात्रिभोज की मेजबानी करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी का फ्रांस के प्रधानमंत्री के साथ-साथ वहां की सीनेट और नेशनल असेंबली के अध्यक्षों से भी मिलने का कार्यक्रम है। वह फ्रांस में भारतीय प्रवासियों, भारतीय और फ्रांसीसी कंपनियों के सीईओ और प्रमुख फ्रांसीसी हस्तियों के साथ अलग से बातचीत करेंगे।

इस वर्ष भारत-फ्रांस रणनीतिक साझीदारी की 25वीं वर्षगांठ है और प्रधानमंत्री की यह यात्रा रणनीतिक, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक, शैक्षणिक और आर्थिक सहयोग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में भविष्य के लिए साझेदारी की रूपरेखा तैयार करने का अवसर प्रदान करेगी। इसके बाद प्रधानमंत्री 15 जुलाई को आबूधाबी का दौरा करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी यूएई के राष्ट्रपति और आबू धाबी के शासक शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के साथ बातचीत करेंगे। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत-यूएई व्यापक रणनीतिक साझीदारी लगातार मजबूत हो रही है और प्रधानमंत्री की यात्रा ऊर्जा, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, खाद्य सुरक्षा, फिनटेक, रक्षा और संस्कृति जैसे विभिन्न क्षेत्रों में इसे आगे बढ़ाने के तरीकों की पहचान करने का अवसर होगी।

यह वैश्विक मुद्दों पर सहयोग पर चर्चा करने का भी अवसर होगा, विशेष रूप से यूएनएफसीसीसी के सीओपी-28 में यूएई की अध्यक्षता और भारत की जी-20 अध्यक्षता के संदर्भ में, जिसमें यूएई एक विशेष आमंत्रित सदस्य है।

आर्मी कर्मचारी के पुत्र को गोली मारी, भर्ती 

आर्मी कर्मचारी के पुत्र को गोली मारी, भर्ती 

सत्येंद्र पंवार 

मेरठ। जनपद के थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र यूपी में खुद को दरोगा बताने वाले पड़ोसी ने आर्मी कर्मचारी के 6 वर्षीय पुत्र को गोली मार दी। गंभीर रूप से घायल हुए बच्चे को आनन-फानन में उपचार के लिये हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। थाना कंकरखेडा क्षेत्र सैनिक विहार में रहने वाले आर्मी में कर्मचारी सोनी का आरोप है कि उसके पड़ोस में रहने वाला जयकरण नामक व्यक्ति खुद को यूपी पुलिस का दरोगा बताता है। बच्चों की कहासुनी को लेकर कुछ समय पहले सोनी और जयकरण के बीच कहासुनी हो गई थी।  सोनी का आरोप है कि इसी से रंजिश रखते हुए आरोपी जयकरण ने सोनी के 6 वर्षीय बेटे शिवम को अपने घर ले गया और गोली मार दी। 

सिर में गोली लगने से सोनी का बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद मासूम को उसके घर के सामने फेंक दिया गया। मासूम की चिल्लाने की आवाज सुनकर बच्चे के परिजनों में हाहाकार मच गया। गंभीर रूप से घायल हुए शिवम को आनन-फानन में मेरठ के एक प्राईवेट हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, जहां पर बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है।  बताया जा रहा है कि पीड़ित परिवार ने आरोपी जयकरण के मकान पर हगांमा किया लेकिन वह उससे पूर्व ही मकान पर ताला लगाकर फरार हो गया। 

पीड़ित परिवार ने थाने पहुंचकर आरोपी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मिली तहरीर के बाद तलाश शुरू कर दी है।

गहरी खाई में गिरी बस, 1 की मौत, 18 घायल

गहरी खाई में गिरी बस, 1 की मौत, 18 घायल

कविता गर्ग 

नासिक। महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) की एक बस के बुधवार की सुबह कलवान तालुका में वाणी के पास सप्तश्रृंगी घाट पर गहरी खाई में गिरने से एक महिला की मौत हो गई और अन्य 18 यात्री घायल हो गए। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार दुर्घटना के समय बस सप्तश्रृंगी घाट से खामगांव की ओर जा रही थी. तभी बस घाट के गणपति मंच से सीधे घाटी में गिर गई। घटना की जानकारी मिलते ही सप्तश्रृंगी देवी ट्रस्ट, पुलिस प्रशासन, ग्रामीण और आपदा प्रबंधन मौके पर पहुंचे गये। घायलों को वाणी के एक ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

उन्होंने बताया कि दुर्घटना में एक महिला की मौत हो गई और राज्य परिवहन निगम ने मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

श्रद्धा जैसा हत्याकांड, टुकड़ों में मिली लाश

श्रद्धा जैसा हत्याकांड, टुकड़ों में मिली लाश

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राजधानी के लोग अभी श्रद्धा हत्याकांड को भूले भी नहीं थे कि दिल्ली में एक बार फिर से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। इस बार भी एक महिला की टुकड़ों में लाश मिली है। 

गौरतलब है कि बीते दिनों दिल्ली में श्रद्धा की कई टुकड़ों में काटकर उसके प्रेमी आफताब ने हत्या कर दी थी। यह चर्चित कांड पूरे देश में सुर्खियों में बना हुआ था। अभी दिल्ली के लोग इस घटना को भूले भी नहीं थे कि आज सुबह शाहदरा इलाके की गीता कॉलोनी के फ्लाई ओवर के पास एक महिला की लाश मिली।  दिल्ली पुलिस के अनुसार सुबह फ्लाईओवर के पास जब मानव अवशेष पड़े होने की जानकारी मिली तो पुलिस टीम ने मौके पर जाकर मानव अंगों को एक जगह जमा किया तो पता चला है कि यह किसी महिला की लाश के टुकड़े हैं। 

दिल्ली पुलिस ने महिला की शिनाख्त कराने की कोशिश की लेकिन उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने यह मानकर इस मामले की जांच शुरू कर दी है कि इस महिला की शरीर के टुकड़े कहीं और किए गए हैं और इस को यहां लाकर के फेंका गया है।

अमरनाथ: तीर्थ यात्रियों का 10वां जत्था रवाना 

अमरनाथ: तीर्थ यात्रियों का 10वां जत्था रवाना 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। अमरनाथ मंदिर के लिए 7,800 से अधिक तीर्थयात्रियों का 10वां जत्था बुधवार को जम्मू के आधार शिविर से रवाना हुआ। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यात्रियों को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अमरनाथ मंदिर के लिए रवाना किया गया है।

बता दें कि रामबन में जम्मू-श्रीनगर हाइवे के एक हिस्से के बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण जम्मू आधार शिविर से तीन दिन तक यात्रा निलंबित रहने के बाद मंगलवार दोपहर फिर शुरू हुई थी। 

अधिकारियों ने बताया कि एक जुलाई से अब तक कुल 1,37,353 तीर्थयात्री दक्षिण कश्मीर के हिमालयी क्षेत्र में स्थित अमरनाथ मंदिर के दर्शन कर चुके हैं।

31 अगस्त तक चलेगी अमरनाथ यात्रा

हिमालयी क्षेत्र में स्थित 3888 मीटर ऊंचे गुफा मंदिर की 62 दिन चलने वाली वार्षिक तीर्थयात्रा एक जुलाई को शुरू हुई थी और यह 31 अगस्त तक चलेगी। अधिकारियों ने बताया कि बुधवार तड़के सवा 3 बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 339 वाहनों के काफिले में 7805 तीर्थयात्री जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से घाटी के लिए रवाना हुए। उन्होंने बताया कि 4,677 तीर्थयात्री 207 वाहनों से पहलगाम के लिए जबकि 3,128 तीर्थयात्रियों को लेकर 132 वाहनों का काफिला बालटाल आधार शिविर के लिए रवाना हुआ। 

उन्होंने बताया कि 30 जून से अब तक जम्मू आधार शिविर से 56,303 तीर्थयात्री घाटी के लिए रवाना हो चुके हैं।

देश के कई हिस्सों में बारिश से तबाही

असम की सुनीता देवी ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा, ‘हमें खुशी है कि हमारी प्रार्थनाएं भगवान शिव ने सुनीं, और अपने दर पर हमें बुलाया।’ सुनीता जम्मू में पिछले सात दिनों से फंसे 23 लोगों के एक समूह का हिस्सा थीं। 

शनिवार और रविवार को हुई लगातार बारिश से हाइवे को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा था। खासकर रामबन जिले में पड़ने वाला हिस्सा बेहद बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से जम्मू-कश्मीर, पंजाब और हिमाचल प्रदेश समेत देश के कई इलाकों में भारी बरसात की वजह से नदियां उफान पर हैं और इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंचा है।

ब्रिज के नीचे फंसे पिल्ले को बचाया: डिपार्टमेंट 

ब्रिज के नीचे फंसे पिल्ले को बचाया: डिपार्टमेंट 

राणा ओबरॉय/अमित शर्मा 

चंडीगढ़। इन दिनों देश के कई राज्यों में हो रही मूसलाधार बारिश से हाहाकार मचा हुआ है। बारिश ने हर जगह भारी तबाही मचा रखी है। 

बारिश के चलते जगह-जगह पर जलभराव की स्थिति देखने को मिल रही है। कहीं सड़कें तालाब में तब्दील हो चुकी हैं, तो कहीं बारिश के पानी में वाहन डूबते नजर आ रहे हैं। ऐसे हालात से निपटने के लिए प्रशासन ने लोगों को अपने घरों में रहने की हिदायत दी है। ऐसे में इंसानों और बेजुबानों की मदद के लिए रेस्क्यू टीमें जी जान से जुटी हुई हैं। 

वहीं, इसी बीच सोशल मीडिया पर रेस्क्यू का एक वीडियो सामने आ रहा है, जिसमें फायर डिपार्टमेंट की टीमें खुद की जान जोखिम में डालकर बेजुबानों की जान बचाती हुई दिखाई दे रही हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। ये वीडियो चंडीगढ़ का बताया जा रहा है, जहां खुड्डा लाहौरा ब्रिज के नीचे फंसे एक पिल्ले को फायर डिपार्टमेंट की टीम बचाती नजर आ रही है। 

वीडियो में आप देख सकते हैं कि सबसे पहले एक फायरमैन सीढ़ी के सहारे तेज बहाव वाले पानी के बीच उतरता है और पानी में फंसे पिल्ले को गोद में उठाकर सीढ़ी के सहारे पुल पर वापस लौट आता है। 

बता दें, कि इस रेस्क्यू वीडियो को आईपीएस अफसर श्रुति ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है। वहीं, इस वीडियो पर लोगों के अलग-अलग तरह के रिएक्शन भी आ रहे हैं।

कैंसर व दुर्लभ बीमारियों की दवा सस्ती, लाभ 

कैंसर व दुर्लभ बीमारियों की दवा सस्ती, लाभ 

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने बुधवार को कहा कि कैंसर और दुर्लभ बीमारियों के इलाज में काम आने दवाओं के सस्ता होने से आम लाेगों को लाभ मिलेगा।

मांडविया ने एक ट्वीट में कहा कि दवाओं पर वस्तु एवं सेवाकर घटाने से गरीब और मध्यम वर्ग को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा, कैंसर से संबंधित दवाओं, दुर्लभ बीमारियों की दवाओं और विशेष चिकित्सा उद्देश्यों के लिए खाद्य उत्पादों की जीएसटी दर शून्य करने के लिए प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण का हार्दिक आभार।

स्वास्थ्य भारत में सेवा है। इस निर्णय से देश के गरीब एवं मध्यम वर्ग को लाभ होगा।” कल जीएसटी की बैठक में कल चिकित्सा संबंधी चार वस्तुओं पर जीएसटी में कमी की गयी और कैंसर में उपयोगी तीन दवाओं को जीएसटी मुक्त किया गया।

पीड़ित ने एसपी को लिखा पत्र, गुहार लगाई 

पीड़ित ने एसपी को लिखा पत्र, गुहार लगाई 

अतुल त्यागी 

पिलखुवा। न्यायालय से गैर जमानती वारंट होने के बावजूद भी एक आरोपित खुलेआम घूम रहा है, उक्त मामले में पीड़ित ने हापुड़ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। 

एसपी को दिए एक पत्र में मोहल्ला पुरा के विकास चौहान ने कहा है कि उसके द्वारा जमीन खरीद के मामले में एक मुकदमा 10 मई को थाना पिलखुवा में दर्ज कराया गया था। जिसका हस्तांतरण क्राइम ब्रांच को कर दिया गया। इसकी विवेचना ब्रांच के प्रभारी निरीक्षक कर रहे हैं। आरोप है कि वह लगातार आरोपित के संपर्क में है और ठीक जांच नहीं कर रहे हैं।

जिससे आरोपितों को अनुचित लाभ मिल रहा हैं। उनका कहना है, जब उनके द्वारा इसकी शिकायत एसपी अभिषेक वर्मा से की गई, तब एसपी के कहने पर पिलखुवा पुलिस द्वारा मुकदमे में नाम दर्ज अपराधी को पकड़ा गया था, लेकिन जांच अधिकारी ने थाने पहुंचकर आरोपित को छोड़ दिया।

आरोप है कि आरोपित के गैर जमानती वारंट हो चुके है और इलाहाबाद उच्च न्यायालय से भी इनकी बेल व जिला न्यायालय से भी अंतरिम जमानत खारिज हो चुकी है।

'शामली' पांचवीं बार गन्ना उत्पादन में अव्वल

'शामली' पांचवीं बार गन्ना उत्पादन में अव्वल 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। शामली जनपद लगातार पांचवीं बार गन्ना उत्पादन में पूरे सूबे में अव्वल रहा है। शामली में प्रति हेक्टेयर 1025.12 क्विंटल गन्ने का पैदावार कर प्रथम स्थान पाने का गौरव प्राप्त किया है। मुजफ्फरनगर ने प्रति हेक्टेयर 948.84 क्विंटल गन्ना उत्पादन कर दूसरे एवं मेरठ प्रति हेक्टेयर 914.96 क्विंटल गन्ना पैदावार कर तीसरे स्थान पर रहा।

बता दें कि शामली की औसत उपज वर्ष 2018-19 में 962.12 क्विंटल प्रति हेक्टेयर हुआ करता था। 

वर्ष 2019-20 में 990.64 क्विंटल, वर्ष 2020-21 में 1004.28 क्विंटल, वर्ष 2021-22 में 1014.16 क्विंटल एवं वर्तमान वर्ष 2022-23 में 1025.12 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उत्पादकता प्राप्त कर शामली प्रथम स्थान पर रहा।

जिला गन्नाधिकारी विजय बहादुर सिंह ने बताया कि यह सब कुछ किसानों की कठिन परिश्रम का नजीता है। 

यहां के किसान वैज्ञानिक विधि से खेती कर गन्ना उत्पादन में लगातार पांचवीं बार कीर्तिमान स्थापित किया है। क्राप कटिंग के परिणामों के आधार पर शामली ने सफलता हासिल की है।

कांवड़ ड्यूटी कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही

कांवड़ ड्यूटी कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी अरविन्द मल्लप्पा बंगारी ने कांवड डयूटी पर अनुपस्थित मिलने पर कांवड डयूटी कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही को गंभीरता से लिया है।

उन्होने अनुपस्थित 6 अधिकारियों, जिनमें राम सिंह तोमर अनुदेशक राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, वीरेंद्र सिंह गन्ना पर्यवेक्षक दी गंगा किसान सहकारी चीनी मिल मोरना, रविंद्र कुमार लेखा परीक्षक कार्यालय लेखा परीक्षा अधिकारी, हेमराज अवर अभियंता जल निगम, दीपक ध्रुव ग्राम विकास अधिकारी खतौली, मुकुल वशिष्ट ग्राम विकास अधिकारी खतौली पर कडी कार्यवाही करते हुए स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये है।

उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री एवं शासन/प्रशासन द्वारा कांवड यात्रा कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही को गम्भीरता से लिये जाने के निरन्तर कड़े निर्देश दिये जा रहे है। उक्त स्थिति खेदजनक है। कांवड़ जैसी महत्वपूर्ण ड्यूटी से अनुपस्थित रहे है। यह आपकी कार्य के प्रति लापरवाही एवं उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना है।

निर्देशित किया गया है कि उक्त के संबंध में अपना लिखित स्पष्टीकरण लौटती डाक से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, विलम्ब के लिये किसी भी प्रकार की प्रतिकूल कार्यवाही के लिये आप स्वयं उत्तरदायी होंगे।‌‌

हॉस्पिटल एंड अल्ट्रासाउंड सेंटर पर लगाई सील

हॉस्पिटल एंड अल्ट्रासाउंड सेंटर पर लगाई सील


लोनी क्षेत्र में चल रहे अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर पर चला गाजियाबाद स्वास्थ्य विभाग का हंटर

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद/लोनी। लोनी क्षेत्र के बेहटा हाजीपुर गांव में स्थित रति हॉस्पिटल एंड अल्ट्रासाउंड सेंटर पर स्वास्थ्य विभाग के उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी चरण सिंह ने लगाई सील।

उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर चरण सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि लोनी उपजिलाधिकारी और सीएमओ के निर्देशन में आज लोनी में स्थित रति अल्ट्रासाउंड सेंटर पर सील करने की कार्रवाई की गई। जिसमें मौके पर अल्ट्रासाउंड कर रहा व्यक्ति फरार हो गया। फरार हुए व्यक्ति की जांच की जाएगी, वह उस पर भी कठोर कार्रवाई की जाएगी।

सील करने के दौरान मौके पर मौजूद उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चरण सिंह, लोनी तहसीलदार हरि प्रताप सिंह व जिला समन्वयक उमेश गुप्ता रहे मौजूद।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-270, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बृहस्पतिवार, जुलाई 13, 2023

3. शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:18, सूर्यास्त: 07:11। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 18 डी.सै., अधिकतम- 32+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...