सोमवार, 16 दिसंबर 2019

पश्चिम बंगाल में नहीं होगा नया कानून लागू

नई दिल्ली। प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि मैं अपने राज्य में संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी को कभी अनुमति नहीं दूंगी। यदि आप मेरी सरकार को बर्खास्त करना चाहते हैं, तो आप कर सकते हैं। कोलकाता में रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा के बीच आरोप लगाया कि कुछ लोग भाजपा से पैसे लेकर आगजनी और तोड़फोड़ के कृत्यों को अंजाम देते हैं। ममता बनर्जी ने कहा है कि सिर्फ कुछ ट्रेनों में आग लगाई गई और केन्द्र ने बंगाल के अधिकतर हिस्सों में रेल सेवाएं रोक दी।


रैली को संबोधित करने से पहले तृणमूल सुप्रीमो ने ट्वीट करते हुए लिखा कि असंवैधानिक नागरिक संशोधन बिल और एनआरसी को लेकर कोलकाता में बड़ी रैली की जाएगी।  बता दें कि प.बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सरकार ने खासकर सोशल मीडिया पर अफवाहों और फर्जी खबरों पर रोक लगाने के लिए यह फैसला लिया गया है।


चार महीने में बन जाएगा भव्य 'मंदिर'

रांची! भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पाकुड़ में जनसभा को संबोधित करते हुए राम मंदिर निर्माण का समय भी बता दिया! अमित शाह ने कहा कि 4 महीने के अंदर अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा है! राम मंदिर की दशकों पुरानी मांग का जिक्र करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि हर कोई राम मंदिर निर्माण चाहता था, लेकिन कांग्रेस और उसके वकील कोर्ट में इसके सामने रोड़ा अटकाते रहते थे! शाह ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है, 4 माह के अंदर आसमान को छूता हुआ प्रभु राम का मंदिर अयोध्या में बनने जा रहा है!'


उन्होंने आगे कहा कि ये भूमि वीरों की भूमि है और सबसे पहले अंग्रेजों को देश छोड़ने की किसी ने चेतावनी दी तो इसी भूमि ने दी थी! उन्होंने कहा कि संथाल हूल की लड़ाई में अंग्रेजों से लड़ते-लड़ते यहां के आदिवासियों ने बलिदान दिया और अंग्रजों के दांत खट्टे करने का काम किया! साथ ही उन्होंने मीर जाफर के कृत्यों को उजागर करते हुए कहा कि उसके जैसा कोई प्रतिनिधि चुनकर न आ जाए!


23 बागियों को कांग्रेस ने बाहर किया

नई दिल्ली! नगर निगम में अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे 23 बागियों को कांग्रेस पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया। इनमें दो पार्षद व एक पूर्व पार्षद व एक पूर्व एल्डरमेन भी शामिल हैं। बागियों को अब छह साल तक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित किया गया है ।


जिन नेताओं पर कार्रवाई की गई है उनमें -पूर्व पार्षद अमृत लोढ़ा, धनवन्तीन निषाद, आशीष चन्द्राकर, सतीश देवांगन, अहमद हसन, उषा ठाकुर, संतोष राखोण्डे, बी अनिल राव, सबाना रानी, बबीता यादव, विजय लक्ष्मी, दिलीप मिश्रा, लीला कुलेश्वर साहू, पूर्व एल्डरमेन बसंत खिलाड़ी, रेखा तिवारी, रासबिहारी बारी, हमेश्वरी निषाद, हेमन्त कुमार वर्मा, हरेन्द्र नेगी, पार्षद भास्कर कुंडले, भीमा चौहान, पार्षद विभा नायक, चन्द्रशेखर साहू का नाम शामिल है।


एक्ट्रेस वीणा का किया पीछा, रोकी कार

 मुंबई! बॉलीवुड स्टार्स के क्रेजी फैन के बारे में अकसर ही देखने-सुनने को मिल जाता है! कई बार ऐसा भी होता है कि ये क्रेजी फैंस, स्टार्स के लिए परेशानी खड़ी कर देते हैं! ऐसा ही कुछ हाल ही में एक जानी-मानी बॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ हुआ इस एक्ट्रेस की कार का पीछा कुछ बाइक सवाल लड़के करने लगे वहीं इन लोगों ने इस कदर पीछा किया कि एक्ट्रेस को कार रोकनी पड़ गई! ये कोई और नहीं बल्कि एक्ट्रेस वाणी कपूर हैं! वाणी ने इसी साल मई महीने में भी ऐसा ही कुछ झेला था उन्होंने पीछा करने वाले एक फैन के खिलाफ पुलिस से शिकायत की थी! वहीं हाल ही में वायरल हो रहे इस वीडियो में वाणी ने कुछ ऐसा किया कि उनके फैंस हैरान रह गए!


दरअसल, वाणी कपूर का एक वीडियो मानव मंगलानी ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर शेयर किया है! इस वीडियो में वाणी कपूर सज-धज कर शायद किसी ईवेंट के लिए निकल रही थीं इसी दौरान वाणी की कार का पीछा कुछ बाइक सवार लड़के करने लगे! हालांकि एक्ट्रेस ने बड़ी सहजता से गाड़ी रोककर इन लड़कों के साथ सेल्फी ली इस दौरान अचानक एक लड़के ने वाणी की गाड़ी के अंदर हाथ बढ़ा दिया, वाणी वीडियो में पहले थोड़ा डरती हैं! और फिर हाथ मिला लेती हैं! वहीं सभी लड़कों ने एक-एक करके वाणी के साथ फोटो ली!


इस वीडियो पर वाणी की सहजता की तारीफ हो रही है! तो के कुछ लोग इन क्रेजी फैंस पर नाराजगी भी जाहिर कर रहे हैं! एक यूजर ने कमेंट करते हुए वाणी का चेताया कि 'ऐसा करना काफी रिस्की हो सकता है! खासकर एक फीमेल एक्टर के लिए'वहीं एक दूसरे यूजर ने लिखा- 'कैसे लोग हैं! जो भिखारियों के तरह पीछे लग जाते हैं!


बता दें कि वाणी के साथ ऐसी घटना पहले भी हुई थी. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल मई महीने में वाणी की कार का एक बाइक सवार ने काफी देर तक पीछा किया था! इस शख्स के पीछा करने पर किसी तरह वाणी के ड्राइवर ने कार की स्पीड बढ़ाकर फैन से निजात पाई लेकिन ये शख्स रोड पर खड़ा होकर कार के वापस आने का इंतजार भी करता रहा इस मामले में डरी-सहमी वाणी तुरंत पुलिस के पास पहुंची थीं उन्होंने इस क्रेजी फैन के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करवाई थी!


459 प्रत्याशियों ने नहीं दिया खर्चे का ब्योरा

रायपुर। नगरीय निकाय चुनावों में राज्य में चुनाव खर्च प्रस्तुत नहीं करने वाले 459 अभ्यर्थियों को नोटिस दिया गया है। सबसे ज्यादा बिलासपुर जिले में 109 अभ्यर्थियों को नोटिस प्रदान किये गये हैं । रायपुर जिले में 91 अभ्यर्थियों को नोटिस दिया गया हैं । राज्य केे बलरामपुर, सरगुजा, सुकमा , महासमुन्द और बेमेतरा ऐसे जिले हैं जहा के सभी अभ्यर्थियों ने अपना व्यय लेखा व्यय संपरीक्षकों को प्रस्तुत कर दिया है ।
राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर रामसिंह ने बताया कि राज्य के 151 नगर निकायों के 2840 वार्डो एवं 2 नगरीय निकायों के 3 वार्डो में उप निर्वाचन संपन्न किये जा रहे हैं । महापौर और अध्यक्ष का निर्वाचन अप्रत्यक्ष प्रणाली से होने एवं पहली बार पार्षद पद के लिए व्यय सीमा का निर्धारण किये जाने से यह कार्य काफी चुनौतीपूर्ण हो गया है। इस कार्य के लिए पहली बार व्यय संपरीक्षकों की व्यवस्था की गयी हैं जो इस चुनौतीपूर्ण कार्य को काफी मुस्तैदी से कर रहे हैं । उन्होंने बताया कि राज्य के 151 नगर निकायों के 2840 वार्डो में 10 हजार 162 उम्मीदवाद चुनाव मैदान में है और इनमें से 9 हजार 694 उम्मीदवारों ने अपने चुनाव खर्च का ब्यौरा प्रस्तुत किया हैं । शेष 459 उम्मीदवारों को नोटिस दिया गया हैं। उन्होंने बताया हैं कि राज्य के बिलासपुर जिले में 109, मुंगेली में 6, जांजगीर चांपा में 34, कोरबा में एक , रायगढ़ में 4, सूरजपूर में 12, कोरिया में 9, जशपुर में 12, बलौदाबाजार में 20, गरियाबंद में 9, धमतरी में 31, दुर्ग में 3, बालौद में 12, राजनांदगांव में 28, कबीरधाम में 32, कोण्डागांव में 22, बस्तर में 3, कांकेर में 3, दंतेवाड़ा में 16 और बीजापुर में 2 अभ्यर्थियों को व्यय लेखा प्रस्तुत नहीं करने पर नोटिस दिया गया हैं।


सीएम खट्टर ने तहसील पर मारा छापा

राणा ओबराय

मुख्यमंत्री खट्टर चले गृहमंत्री अनिल विज की राह पर, करनाल तहसील पर मारा छापा, तहसीलदार सहित कई सस्पेंड
करनाल! अनिल विज की राह पर एक्शन मोड़ में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर,मनोहर लाल खट्टर अचानक पहुँचे करनाल जिला सचिवालय के तहसील कार्यालय में औचक निरीक्षण करने, मौके पर 4 अधिकारी किए सस्पेंड तहसील में भ्रष्टाचार ओर रजिस्ट्रियों में गडबडी के चलते तहसीलदार नायाब तहसीलदार पटवारी और एक रजिस्ट्रेशन क्लर्क को किया सस्पेंड, मुख्यमंत्री ने मौके पर कई खामियां पाई सचिवालय के कर्मचारियों में हडकंम्प मच गया है।


सार्वजनिक सुविधा किओस्क का उद्घाटन

नरेन्द्र कुमार


नई दिल्ली! द्वारका सेक्टर 14, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में आयोजन से पहले, दिल्ली के पुलिस आयुक्त ने द्वारका के सेक्टर -10 मार्केट में "सार्वजनिक सुविधा कियोस्क" का उद्घाटन किया। और चार सोसाइटी में शामिल हैं।  द्वारका सब-सिटी में "बेस्ट सिक्योर सोसाइटी" से सम्मानित किया गया।
 
इस कार्यक्रम के अवसर पर दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक, के साथ, वरिष्ट पुलिस अधिकारी एस नित्यानंदम,स्पेशल आयुक्त P&L आर एस  कृष्णिया, स्पेशल आयुक्त, L&O (दक्षिण), सतीश गोलछा, स्पेशल आयुक्त, L&O (उत्तर) और शालिनी सिंह,जॉइंट आयुक्त, वेस्टर्न रेंज ने 15 दिसंबर,19 को द्वारका सब-सिटी के निवासियों के साथ बातचीत करने के लिए राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, द्वारका का दौरा किया और राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, सेक्टर- में बेस्ट सिक्योर सोसाइटी और डीडीए पॉकेट को सम्मानित किया। सुविधा कियॉस्क खोलने का उद्देश्य द्वारका के निवासियों को ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करना, जैसे शिकायत दर्ज करना, ई-एफआईआर दर्ज करना, किरायेदार सत्यापन प्रपत्र जमा करना इत्यादि। "कियोस्क" मुख्य सर्वर से जुड़ा है।  दिल्ली पुलिस की और से हर समय तकनीकी कर्मचारियों द्वारा कार्य किया जाएगा। दिल्ली आयुक्त द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के लिए एक बहु-उपयोगिता संचार वाहन को भी हरी झंडी दिखाई गई। वाहन को आगे और पीछे सीसीटीवी, आईपी कैमरों के साथ फिट किया गया है, दिल्ली पुलिस द्वारा शुरू की गई विभिन्न पहलों जैसे हिम्मत प्लस, शाक्ति, नुक्कड़ नाटक आदि का डिजिटल प्रदर्शन। वाहन में पब्लिक एड्रेस (पीए) सिस्टम, एक फोल्डेबल स्टेज, प्लेट्स का उपयोग किया जा सकता है। भीड़ की निगरानी और नियंत्रण करने के लिए, जबकि स्थापित आईपी कैमरे लाइव, घटित घटनाओं को टेलीकास्ट, रिकॉर्ड करेंगे।


इसके बाद, दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक, ने "नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी" का दौरा किया जहां द्वारका में "सुरक्षा और महिलाओं की सुरक्षा" पर बातचीत हुई, जो समाज के विभिन्न क्षेत्रों से आए, द्वारका के लोगों और दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ गणमान्य लोगों के बीच हुई।  बातचीत का मुख्य विषय द्वारका में महिलाओं की सुरक्षा और सुरक्षा को मजबूत करना था। द्वारका जिले में सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए, सभी समितियों और डीडीए पॉकेट की एक सुरक्षा ऑडिट व्यापक रूप से स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा बनाई गई थी। मीडिया, गैर सरकारी संगठन और बुद्धिजीवियों ने द्वारका में अध्यक्षता में किया था।
पी. के.भारद्वाज, (सेवानिवृत्त आईपीएस)द्वारका सब-सिटी में 402 सोसाइटी, और 52 डीडीए पॉकेट शामिल हैं, जिनमें से कुल 271 सोसाइटी, डीडीए पॉकेट्स ने इस प्रयास में भाग लिया।  स्क्रीनिंग कमेटी ने सभी सोसाइटियों, डीडीए पॉकेट को शॉर्टलिस्ट किया और दौरा किया और अपेक्षित मापदंडों का मूल्यांकन करने के बाद, बेस्ट सिक्योर सोसाइटी, डीडीए पॉकेट की सफलतापूर्वक पहचान की और आयुक्त, दिल्ली द्वारा समान रूप से सम्मानित किया गया। द्वारिका अपार्टमेंट, सेक्टर -4, द्वारका ने सर्वश्रेष्ठ प्रतिभूति सोसायटी का पुरस्कार प्राप्त किया है, बेवर्ली पार्क अपार्टमेंट, सेक्टर -22 प्रथम रनर अप रहा, जबकि मानसरोवर अपार्टमेंट, सेक्टर -5, द्वारका ने द्वितीय रनर अप का पुरस्कार हासिल किया।  डीडीए पॉकेट्स के बीच, गंगोत्री अपार्टमेंट, सेक्टर -12 ने सर्वश्रेष्ठ प्रतिभूति डीडीए पॉकेट का पुरस्कार हासिल किया, जबकि संस्कृती अपार्टमेंट प्रथम रनर अप रहा। ये सभी पहल द्वारका के निवासियों की सुरक्षा को मजबूत करने और पुलिस और जनता के बीच संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए की गई हैं।
 
द्वारका जिला जनता की सुरक्षा के लिए और इस प्रयास में कई कदम उठाने के लिए दृढ़ है;  नेबरहुड वॉच स्कीम को उप-शहर के चार सोसाइटीयो में प्रख्यापित किया गया है,जिसका आधिकारिक तौर पर उद्घाटन  दिल्ली आयुक्त द्वारा किया गया है। द्वारका जिले ने इमारतों के और यहां रहने वाले निवासियों के लिए डोर टू डोर सत्यापन, नेविगेट लेआउट भी बनाया है।  द्वारका जिले के 09 पुलिस स्टेशनों में 104 बीटों में से 74 में सत्यापन किया गया है और डेटा को डिजिटल रूप से प्राप्त किया गया है। एक डिजिटल सत्यापन ऐप "PARAKH" को प्रभावी और सुचारू सत्यापन के लिए विकसित किया गया है।


विधायक सेंगर दुष्कर्म-अपहरण का दोषी

नई दिल्ली! उत्तर प्रदेश के उन्नाव दुष्कर्म केस में दिल्ली कोर्ट ने सोमवार को विधायक कुलदीप सेंगर को दुष्कर्म और अपहरण का दोषी ठहराया। तीस हजारी कोर्ट ने 10 दिसंबर को फैसला सुरक्षित रखाथा। भाजपा से निष्कासित सेंगर और उसके साथियों ने 2017 में नाबालिग लड़की को अगवा कर सामूहिकदुष्कर्म किया था। करीब ढाई साल के घटनाक्रमों के चलते पीड़ित एम्स में भर्तीहै। उसके पिता-चाची-मौसी की मौत हो चुकी है, जबकि चाचा जेल में हैं।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोज सुनवाईहो रही थी
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर केस लखनऊ से दिल्ली कोर्ट ट्रांसफर हुआ था। इसके बाद 5 अगस्त से रोजाना बंद कमरे मेंसुनवाई हो रही थी। इस दौरान अभियोजन पक्ष के 13 गवाहों और बचाव पक्ष के 9 गवाहों से जिरह हुई। पीड़ित का बयान दर्ज करने के लिए एम्स में स्पेशल कोर्ट बनाया गया था।


अमर्यादित भाषा (आलोचना)

पूजा सिंह 


लगता है राहुल गांधी ने ठान लिया है कि वह रह-रह कर बेतुके बयान देते ही रहेंगे। चंद दिनों पहले जब उन्होंने भारत को दुष्कर्म की राजधानी कहा था तब भी उनकी आलोचना हुई थी, लेकिन उनकी सेहत पर कोई असर नहीं पड़ा। अब उन्होंने मेक इन इंडिया का हवाला देते हुए यह कह दिया कि आज जहां देखो वहीं रेप इन इंडिया नजर आता है। यह एक अभद्र टिप्पणी है। उनके जैसे नेता को ऐसी टिप्पणी शोभा नहीं देती, लेकिन शायद वह यह मान बैठे हैैं कि अमर्यादित भाषा ही उनकी राजनीति को धार देती है। हैरानी नहीं कि उनके सलाहकार भी ऐसा ही सोचते हों, क्योंकि यह पहली बार नहीं जब राहुल गांधी ने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया हो।
उनकी भाषा किस तरह बिगड़ती चली जा रही है, यह सर्जिकल स्ट्राइक के समय खून की दलाली वाले बयान से भी साबित हुआ था और फिर आम चुनाव के वक्त उनकी ओर से उछाले गए चौकीदार चोर है नारे से भी। इसकी भी अनदेखी नहीं की जा सकती कि वह प्रधानमंत्री के लिए बोलता है, देखता है जैसी शब्दावली इस्तेमाल करने में संकोच नहीं करते। वैसे तो अपने देश में ऐसे नेताओं की कमी नहीं जो राजनीतिक शिष्टाचार का परिचय देने से इन्कार करते हैैं, लेकिन इसकी उम्मीद नहीं की जाती कि यही काम राहुल गांधी भी करें और वह भी बिना किसी शर्म-संकोच। आखिर वह अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं को क्या संदेश दे रहे हैैं?
यदि राहुल गांधी अपनी राजनीति से कोई उम्मीद नहीं जगा पा रहे तो उसका एक बड़ा कारण उनके छिछले बयान भी हैैं। उन्होंने रेप इन इंडिया वाले अपने बयान के लिए माफी मांगने से इस तरह इन्कार किया, मानो कोई बहादुरी का काम कर दिखाया हो। उन्होंने माफी मांगने से इन्कार करते हुए यह आड़ ली कि एक समय नरेंद्र मोदी ने भी दिल्ली के बारे में ऐसा ही कुछ कहा था। क्या राहुल गांधी यह कहना चाह रहे हैैं कि वह मोदी का अनुसरण करना पसंद कर रहे हैैं?
सवाल यह भी है कि क्या कांग्रेस शासित राज्य और खासकर मध्य प्रदेश, राजस्थान उनकी ओर से परिभाषित किए गए रेप इन इंडिया का हिस्सा नहीं रह गए हैैं? नि:संदेह दुष्कर्म के मामले गहन चिंता का विषय हैैं, लेकिन यह कहना सस्ती राजनीति के अलावा और कुछ नहीं कि दल विशेष के कारण ऐसा हो रहा है। एक गंभीर सामाजिक समस्या पर ऐसी सतही सोच हैरान करती है। आखिर राहुल गांधी यह कैसे भूल सकते हैैं कि निर्भया कांड किसके शासनकाल में हुआ था? उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि दुष्कर्म की घटनाएं किसी राज्य विशेष तक सीमित नहीं हैैं।


हिंसक विरोध में 3 की मौत 27 घायल

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन एक्ट को लेकर असम में हिंसक प्रदर्शन जारी है। प्रदेशभर में लोग इस एक्ट के खिलाफ सड़क पर हैं और इस एक्ट का जमकर विरोध कर रहे हैं। अभी तक इस प्रदर्शन में तीन लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि 27 लोग इस प्रदर्शन में घायल हुए हैं। प्रदेश में हिंसा में मृतक व घायलों की यह जानकारी सरकार द्वारा संचालित गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की ओर से दी गई है, जहां इन लोगों का इलाज चल रहा था।


बता दें कि पूर्वोत्तर राज्यों व असम में नागरिकता संशोधन एक्ट के पास होने के बाद प्रदर्शन काफी उग्र हो गया है। इस बिल को संसद में पास करने के बाद राष्ट्रपति ने 12 दिसंबर को इसे अपनी मंजूरी दे दी थी, जिसके बाद से यह कानून बन गया था।


गौरतलब है कि इस एक्ट में हिंदू, ईसाई, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी धर्म के उन लोगों को नागरिकता दिए जाने का प्रावधान है जोकि अफगानिस्तान, पाकिस्तान या बांग्लादेश के नागरिक हैं और इनका इनके देश में धर्म के आधार पर उत्पीड़न हुआ है। बता दें कि हिंसक प्रदर्शन को नियंत्रित करने के लिए असम की राजधानी गुवाहाटी और अन्य स्थानों पर सेना और असम राइफल्स की आठ टुकड़ियां तैनात की गई हैं। रक्षा जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल पी खोंगसाई ने बताया कि बिगड़ती कानून व्यवस्था को नियंत्रण में लाने के लिए गुवाहाटी के अलावा मोरीगांव, सोनितपुर और डिब्रूगढ़ जिलों के नागरिक प्रशासन ने सेना और असम राइफल्स की मांग की है।


इस विधेयक के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के हिंसा पर उतर जाने के बाद बुधवार को सेना बुलाई गई थी, हालात काबू से बाहर होता देख नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने रविवार को होने वाली संयुक्त सीएसआईआर-यूजीसी नेट की परीक्षा को स्थगित कर दिया है।। असम सहित उत्तरपूर्वी राज्यों में प्रदर्शन से कई सैलानी वहां फंसे हुए हैं, ट्रेने रद्द हैं और फ्लाइट भी स्थगित कर दी गई हैं जिस वजह से ना ही कई वहां से आ सकता है, असम में स्कूलों और कालेजों को 22 दिसंबर तक के लिए बंद कर दिया गया है, राज्य में चल रहे प्रदर्शन को समर्थन देते हुए असम सरकार के कर्मचारियों ने 18 दिसंबर तक हड़ताल का ऐलान किया है।


जीभ जल जाए तो करें यह उपाय

कभी-कभी आप अनजाने में या फिर जल्दबाजी में गर्मागर्म चीजों को खा लेते हैं, जिसका असर बाद में जीभ पर महसूस होता है। ऐसे में आप स्वाद से वंचित हो जाते हैं, और तकलीफ होती है सो अलग। लेकिन उपाय करना तो जरूरी है, इसलिए जानिए ये 4 उपाय –
1 जीभ जल जाने पर सबसे पहला और आसान उपाय है देसी घी, जिसे जले हुए हिस्से पर लगाएं या फिर कोई ऐसी मीठी चीज बनाकर खाएं जिसमें खूब सारा घी हो, जैसे हलवा। ये दवा का काम करेगा।
2 दूसरा उपाय है शहद। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो जीभ की चोट को जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं और दर्द को कम करते हैं। इससे आराम मिलेगा।
3 तीसरा उपाय है ठंडा दही। जी हां, गर्म चीज से जले हैं, तो दही की ठंडक मलहम का काम करेगी। ठंडे दही को कुछ देर मुंह में रखें, यह आराम देगा।
4 चौथा इलाज है पेपरमिंट। यह जीभ में ठंडक का एहसास तो देगा ही आपकी तकलीफ को भी कम करेगा। चाहें तो मिंट च्युइंगम से भी काम चला सकते हैं।
5 पांचवा इलाज भी सीधा सा है। इसके लिए फ्रीजर से बर्फ लेकर जले पर लगाएं, ताकि आपको दर्द और तकलीफ ये राहत मिल सके।


गुणकारी गाजर के कई लाभ

सर्दियों का मौसम आते ही बाजारों में गाजर मिलना शुरू हो जाती है। गाजर का कई तरह से सेवन किया जाता है। कभी यह मीठे में पसंद किया जाता है तो कभी सलाद के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है।


खाने का चाहे कोई भी तरीका क्यों न हो, लेकिन गाजर सेहत के लिए बहुत लाभकारी होती है। इसके चमत्कारी फायदे कई तरह की बीमारियों से निजात दिलाने के लिए जाने जाते हैं।
गाजर सेहत के लिए वरदान से कम नहीं है, क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं, जो हमारी सेहत के लिए बहुत आवश्यक हैं। तो आइए जानते हैं गाजर से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में।
आंखों के लिए जरूरी गाजर
गाजर में भरपूर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है, जो हमारी आंखों के लिए बहुत आवश्यक है। नियमित गाजर के सेवन से आंखों से संबंधित परेशानियों को कम किया जा सकता है।
त्वचा को बनाए खूबसूरत
अगर आप भी अपनी त्वचा बेदाग पाना चाहती हैं, तो गाजर का सेवन आपकी इस चाहत को पूरा करने में काफी हद तक मदद करेगा। गाजर के सेवन से त्वचा में निखार आता है, साथ ही गाजर से पेट भी साफ रहता जिससे कील-मुंहासे जैसी समस्या नहीं होती।
खून की कमी को करे दूर
अगर किसी व्यक्ति को खून की कमी है तो उसे गाजर के सेवन के लिए कहा जाता है जिससे कि इस समस्या से निजात मिल सके। गाजर के सेवन से खून की कमी दूर होती है, साथ ही यह शरीर में स्फूर्ति भी बनाए रखती है इसलिए गाजर का नियमित सेवन बहुत फायदेमंद होता है।
कई रोगों की एक दवा गाजर
यह कई रोगों का रामबाण इलाज है। माना जाता है कि इसके सेवन से गठिया, पीलिया व इंडाइजेशन से छुटकारा पाया जा सकता है।
गाजर के सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं। गाजर खाने से पेट में गड़बड़ी और गैस की शिकायत भी दूर होती है, साथ ही यह पेट की सफाई करने का काम भी करती है।


1 साल में 9 शेरों का शिकार हुआ

नई दिल्ली। केंद्रीय वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो में लगाई गई एक आरटीआई से कुछ महत्वपूर्ण खुलासे से पता चला है कि दिश में इस साल नौ शेरों का शिकार किया गया है।
समाजसेवी रंजन तोमर की आरटीआई के जवाब में यह तथ्य सामने आए हैं। तोमर लगातार वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 की अनुसूचियों में विलुप्तप्राय होने की कगार पर खड़े जानवरों के लिए मांगी गई जानकारी में ब्यूरो ने बताया कि पिछले 11 सालों में करीब 439 शेरो को इस दौरान मार दिए जाने की जानकारी है।


वहीं राष्ट्रीय हरित न्यायालय द्वारा कड़े रुख के कारण भी सरकारों ने यथोचित कदम उठाये हैं। शायद यह ही कारण है के पिछले दस सालों में जहाँ औसतन 430 शेरों का शिकार किया अर्थात 11 वर्षों में तकरीबन 439 शेर खो दिए गए, जिनमें इस साल शिकार में मारे गये 9 शेर भी शामिल हैं। इस साल यह आंकड़ा बेहद कम हुआ है, क्योंकि इससे पहले पिछले साल तक दस साल में 430 शेरो के शिकार होने से हर साल 43 शेरों के मारे जा रहे थे। आरटीआई के जवाब में ब्यूरो द्वारा जवाब दिया गया है के इस वर्ष (अक्टूबर तक ) कुल 9 शेरो का शिकार हुआ है , हालाँकि यह कोई खुशी की बात नहीं है लेकिन पहले से कम शिकार होना जरूर एक अच्छी बात है। पर्यावरण प्रेमी जानते हैं के इस दुनिया में शेर की कितनी अहमियत है। 
असम व मध्य प्रदेश में मारे गए ज्यादा शेर 
आरटीआई के जवाब में कुछ बातें जो खुलकर सामने आई हैं उनमें पहली यह के आसाम राज्य में सबसे ज्यादा 4 शेरों का शिकार हुआ है मई से जुलाई के महीनों में घटित हुआ इस दौरान ब्यूरो एवं पुलिस द्वारा 12 शिकारियों को गिरफ्तार किया गया। दूसरे नंबर पर मध्य प्रदेश है, जहाँ 3 शेरो को जनवरी से मार्च के बीच मार दिया गया, यहाँ भी 2 शेरों के शिकार में 8 शिकारियों को पकड़ा गया, जबकि एक शिकार में किसी को भी नहीं पकड़ा जा सका, इसके आलावा तेलंगाना में एक शेर का शिकार हुआ जबकि 6 शिकारियों को गिरफ्तार किया गया एवं अंत में पश्चिम बंगाल में एक शेर को मारने के लिए 2 शिकारियों को गिरफ्तार किया गया।


नए विषय पर फिल्म चाहती है कियारा

मुंबई! करण जौहर के प्रॉडक्शन की फिल्म कलंक में कियारा आडवाणी ने स्पेशल अपीयरेंस दी थी और एक गाने में दिखाई दी थीं। अब कियारा धर्मा प्रॉडक्शन की फिल्म गुड न्यूज में दिखाई देंगी। कियारा का कहना है कि वह करण जौहर को अपना मेंटॉर मानती हैं और खुद को खुशनसीब मानती हैं कि वह करण के प्रॉडक्शन में बनने वाली एक और फिल्म शेरशाह में भी काम कर रही हैं। यह फिल्म करगिल वॉर के हीरो शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा पर बन रही है और इसमें सिद्धार्थ मल्होत्रा लीड रोल में नजर आएंगे।
करण के साथ काम करने के बारे में कियारा ने कहा, मैं खुशनसीब हूं कि मैं धर्मा प्रॉडक्शन के साथ काम कर रहा हूं। मैं इन सभी फिल्मों में काम करने को लेकर काफी उत्साहित हूं। इनमें से हर फिल्म अपने आप में खास है और मेरे दिल के काफी करीब है। मैं खुशनसीब हूं कि करण मुझ पर इतना भरोसा जताते हैं।


कियारा का मानना है कि करण कॉमिडी में काफी अच्छे हैं। उन्होंने कहा, वह कॉमिडी में काफी अच्छे हैं और मैं उनसे कहती रहती हूं कि तख्त को पूरा करने के बाद प्लीज एक कॉमिडी फिल्म बनाइये। मुझे पूरी उम्मीद है कि वह कॉमिडी फिल्म बनाएंगे और उसमें मुझे कास्ट करेंगे।
वैसे कियारा की आने वाली फिल्म गुड न्यूज का ट्रेलर रिलीज किया जा चुका है जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। इस फिल्म में कियारा के अलावा अक्षय कुमार, करीना कपूर और दिलजीत दोसांझ लीड रोल में नजर आएंगे। यह फिल्म 27 दिसंबर को रिलीज होने जा रही है।


बालाकोट एयर स्ट्राइक पर बनेगी फिल्म

बालाकोट एयर स्ट्राइक पर फिल्म बनायेंगे भंसाली


भारत के इतिहास में बालाकोट एयरस्ट्राइक की घटना और भारतीय एयरफोर्स की वीरता को हमेशा याद किया जाएगा। भारतीय एयरफोर्स ने पुलवामा में आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने का बदला पाकिस्तान के बालाकोट में चल रहे आतंकी कैंप पर हमला करके लिया था। अब इस घटना पर फिल्म भी बनने जा रही है जिसके लिए मशहूर प्रड्यूसर्स संजय लीला भंसाली के साथ भूषण कुमार, महावीर जैन और प्रज्ञा कपूर ने हाथ मिलाया है। 


बताया जा रहा है कि इस फिल्म का डायरेक्शन नैशनल अवॉर्ड जीत चुके डायरेक्टर अभिषेक कपूर करेंगे। हालांकि अभी तक यह पता नहीं चला है कि फिल्म में कौन-कौन से कलाकार काम करेंगे। फिल्म के बारे में संजय लीला भंसाली ने कहा, देश के लिए यह घटना वीरता, देशभक्ति और प्यार का प्रतीक है। यह फिल्म हमारे भारतीय सेना के वीर जवानों को श्रंद्धाजलि देने का मेरा एक प्रयास है।
भूषण कुमार ने कहा, टी-सीरीज के लिए अगले साल यह सबसे बड़ा प्रोजेक्ट होगा। यह हमारे दिल के बहुत करीब है क्योंकि इससे हमारी भावनाएं जुड़ी हुई हैं। मुझे भारतीय वायुसेना की वीरता दिखाने में गर्व होगा। विंग कमांडर अभिनंदन हमारे नैशनल हीरो हैं और बालाकोट एयरस्ट्राइक की घटना हमारे राष्ट्रीय गर्व का विषय है। 


डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने अपनी भावनाएं जाहिर करते हुए कहा, भारत के इतिहास की सबसे वीरता से भरपूर घटनाओं में से एक बालाकोट एयरस्ट्राइक पर फिल्म बनाने की जिम्मेदारी मुझे सौंपे जाने पर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मुझे याद है कि जब यह स्ट्राइक हुई थी पूरे देश की भावनाएं क्या थीं। मैं इस फिल्म की कहानी के साथ पूरा न्याय करूंगा।


गायक से अभिनेत्री बनी 'सना अमीन'

 सिंगर बनी अभिनेत्री सना अमीन शेख


मुंबई! मौनी रॉय, टीना दत्ता और जन्नत ज़ुबैर जैसी कई टेलीविजऩ हस्तियों ने बतौर वॉइस आर्टिस्ट काम किया है! लेकिन कुछ हस्तियां ऐसी होती हैं जो नए अवसरों की खोज करके अपनी प्रतिभा का उपयोग करने से नहीं चूंकती! इन्हीं में से एक हैं सना अमीन शेख!
आरजे सना अमीन शेख सोशल मीडिया पर अक्सर अपने फैंस के लिए सिंगिग करते हुए छोटे-छोटे वीडियो पोस्ट करती रहती हैं! लेकिन अब सना बतौर गायक कुछ सीरियस करना चाहती हैं! हाल ही में उन्होंने एक कवर गीत रिकॉर्ड करके गायन के लिए अपने जुनून के एक पायदान ऊपर चढ़ा दिया है!
सना का इस मामले में कहना है कि संगीत मेरे खून में मेरे परिवार के अधिकांश सदस्य शास्त्रीय संगीत से प्रशिक्षित हैंै! मेरे दादा और परदादा नाट्यशास्त्र में पेशेवर गुजराती गायक और स्टेज एक्टर थे! हालांकि मैं प्रशिक्षित नहीं हूं क्योंकि मुझे कभी मौका नहीं मिला लेकिन मैं हमेशा से ही सिंगर बनना चाहती थी!
वे कहती हैं कि मैं अक्सर अपने गाते गुनगुनाते हुए इंस्टा वीडियो पोस्ट करती रहती हूं, यह पहली बार है जब मैंने रिकॉर्डिंग स्टूडियो में अपनी आवाज रिकॉर्ड की है! आरजे होने के नाते माइक के पीछे रहना आसान था! लेकिन गायन पूरी तरह से एक अलग चीज है!


सना ने अपने गाने को रिकॉर्ड किए जाने के बारे में बताया कि ये विचार उनके दोस्त से उन्हें आया! उनका एक दोस्त शारजील अत्तरवाला ने एक हिट पंजाबी सॉन्ग्स का मैश-अप बनाने का आइडिया दिया और मैं इसके लिए तैयार हो गई! चूंकि मैं इन दिनों फ्री हूं इसलिए हमने इसे शूट किया! मैं उम्मीद कर रही हूं कि लोग मेरे इस गायन वीडियो को अपना प्यार देंगे!


विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू

भोपाल। मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का 7 दिवसीय शीतकालीन सत्र कल यानि 17 दिसंबर से शुरू हो रहा है। सत्र 23 दिसंबर तक चलेगा। बता दें कि विधानसभा सचिवालय ने पहले ही अधिसूचना जारी कर दी थी। सत्र में कुल पांच बैठकें होंगी। जिसमें शासकीय विधि विषयक एवं वित्तीय कार्य संपादित किए जाएंगे। इसस दौरान कई मुद्दों पर चर्चा भी होगी। सत्र से पहले आज शाम को ​पक्ष और विपक्ष के विधायक दलों की बैठक भी होगी।


नदवा कॉलेज में जमकर बवाल काटा

लखनऊ। नागरिक संशोधन कानून मुद्दे पर आन्दोलित दिल्ली के जामिया व अलीगढ़ के एएमयू में छात्र-छात्राओं के साथ पुलिस की बर्बरता के विरोध में लखनऊ के नदवा कॉलेज के छात्रों ने जमकर पुलिस पर ईंट पत्थर फेंके। हालांकि पुलिस ने इस पर काबू पा लिया है लेकिन कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रदेश के सात जिलों में धारा 144 लागू करके इंटरनेट की सेवा भी बंद कर दी गई है।


सूबे के हालात को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह को तलब करके अलीगढ़ और लखनऊ में हुए बवाल को लेकर डीजीपी से वार्ता की है। मुख्यमंत्री ने डीजीपी को सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद डीजीपी ने लखनऊ, अलीगढ़, सहारनपुर, बुलंदशहर, मेरठ, बरेली और कासगंज में धारा 144 लागू कर दी है। अतिरिक्त फोर्स तैनाती के साथ इन जिलों में इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी है। डीजीपी ने कहा कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई से निपटने के निर्देश दिए है। डीजीपी ने बताया कि रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात किया गया है। अभी तक कोई अप्रिय घटना की जानकारी नहीं हुई है। सुरक्षा के मद्देनजर सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि जरुरत पड़ने पर पूरे प्रदेश में यह धारा लगा दी जायेगी।


डीजीपी ने बुलाई बैठक
मुख्यमंत्री से मिलने के बाद पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। किसी भी दशा में प्रदेश का माहौल बिगड़ने नहीं दिया जायेगा।


31 तक आधार से लिंक करें पैन

नई दिल्ली। स्थायी खाता संख्या (PAN) को इस साल 31 दिसंबर तक आधार से अनिवार्य रूप से लिंक करना होगा! आयकर विभाग ने रविवार को इस बारे में सार्वजनिक सूचना जारी की है! विभाग ने कहा, बेहतर कल के लिए आयकर सेवाओं का लाभ लेने को पैन को आधार से जोड़ने का काम 31 दिसंबर, 2019 तक पूरा कर लें! सूचना में कहा गया है कि पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य है! केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने सितंबर में जारी आदेश में पैन को आधार से जोड़ने की समयसीमा बढ़ाकर 31 दिसंबर की थी! इससे पहले यह समयसीमा 30 सितंबर थी! सीबीडीटी आयकर विभाग के लिए नीति बनाता है!


एसएमएस के जरिए ऐसे आधार-पैन को लिंक करें : आयकर विभाग ने करदाताओं को ऑप्शन दिया है कि वह एसएमएस के जरिए भी आधार-पैन को लिंक कर सकते हैं! यह तरीका सबसे आसान है! इसके लिए आपको अपने फोन में UIDPN टाइप करना है! इसके बाद स्पेस देकर अपना आधार नंबर और उसके बाद पैन नंबर दर्ज करना है! उदाहरण के लिए UIDPAN <12-digit Aadhaar> <10-digit PAN> लिखकर 567678 या 56161 पर भेजना है! इसके बाद आयकर विभाग आपके दोनों नंबर को लिंक प्रोसेस में डाल देगा!


ऑनलाइन भी कर सकते हैं लिंक: सबसे पहले अगर आपका अकाउंट नहीं बना है तो पहले खुद को रजिस्टर कीजिए! इसके बाद आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट (www.incometaxindiaefiling.gov.in) पर जाएं! वेबसाइट पर 'लिंक आधार' का ऑप्शन दिखाई देगा यहां क्लिक करें! लॉगइन करने के बाद अपने अकाउंट की प्रोफाइल सेटिंग में जाएं! प्रोफाइल सेटिंग में आपको आधार कार्ड लिंक करने का ऑप्शन दिखेगा, इसे सेलेक्ट करें! यहां दिए गए सेक्शन में अपना आधार नंबर और कैप्चा कोड भरें! जानकारी भरने के बाद नीचे दिख रहे 'लिंक आधार' ऑप्शन पर क्लिक करें! इसके बाद आपका आधार लिंक हो जाएगा!


यूनिवर्सिटी में पांच तक अवकाश घोषित

नई दिल्ली! दिल्ली का जामिया इलाका अभी भी तनावग्रस्त है। हिरासत में लिए 50 छात्रों को रिहा करने के बाद छात्र व प्रदर्शनकारी धरने से हट गए हैं। घेराव खत्म हो गया है। लेकिन तनाव अब भी बना हुआ है। एहतियातन कैंपस, स्कूलों व एएमयू में 5 जनवरी तक छुट्टी घोषित कर दी गई है। इस मामले में राजनीति घुस गई है। आधी रात को कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिस व भाजपा पर छात्रों पर लाठी बरसाने का आरोप लगाया। आम आदमी पार्टी अपने विधायक अमानुल्लाह खान के कारण इस मामले में पहले से ही शामिल मानी जा रही है। असम में लगभग शांत हो चुके आंदोलन की आग को दिल्ली तक लाना और वँहा भड़काना, इस इस पर पुलिस की पहले से नजर थी। और उस इलाके में एहतियातन भारी बल पहले से ही तैनात था। अब भी पुलिस स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और जामिया के साथ-साथ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी 5 तारीख तक अवकाश घोषित कर दिया गया है। अलीगढ़ के साथ-साथ कानपुर मेरठ में भी इंटरनेट सेवाएं स्थगित कर दी गई है।


नागरिकता संशोधन बिल का असम और पूर्वोत्तर में विरोध समझ में आता है लेकिन उस आंदोलन का सीधे दिल्ली पहुंच जाना और उसमें घोषित सरकार विरोधी छात्रों का शामिल हो जाना कहीं न कहीं इस मामले के राजनीतिक होने का सबूत दे रहा है। आम आदमी पार्टी के विधायक अमानुल्लाह खान की अगुवाई भी इस मामले में राजनीति की घुसपैठ होने की चुगली कर रही है। कांग्रेस भी मौका देख कर छात्रों के साथ खड़ी हो गई है और अपने एजेंडे के तहत नागरिकता संशोधन बिल का विरोध उसने दिल्ली में भी शुरू कर दिया है। ऐसा लगता है की नागरिकता संशोधन बिल का असम में उम्मीद के मुताबिक विरोध होता ना दे अब इस आंदोलन को देश के अन्य हिस्सों में फैलाया जा रहा है। बहरहाल पुलिस स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। और एहतियाती कदम उठाकर नियंत्रण बनाए रखने की कोशिश में लगी हुई हैं।


छात्रों की रिहाई के बाद प्रदर्शन बंद

नई दिल्ली। नागरिकता (संशोधन) कानून पर रविवार को दिल्ली के जामिया इलाके में हुई हिंसा के बाद पुलिस कार्रवाई के दौरान हिरासत में लिए गए जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के 50 छात्रों को सोमवार तड़के रिहा कर दिया गया। छात्रों के रिहा होने के बाद पुलिस मुख्यालय पर धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ने अपना धरना भी खत्म कर दिया है जिसके बाद अब हालात सामान्य बताए जा रहे हैं। वहीं जामिया प्रशासन ने 5 जनवरी तक छुट्टी का ऐलान किया है जिसके चलते छात्र कैंपस खाली करके अपने घरों को लौट रहे हैं। दिल्ली पुलिस के पीआरओ एम.एस. रंधावा ने जानकारी देते हुए बताया कि 50 में से 35 छात्रों को कालकाजी पुलिस स्टेशन से, जबकि 15 छात्रों को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी पुलिस स्टेशन से रिहा किया गया है। छात्रों के धरना खत्म करने के बाद हालात के काबू होने पर दिल्ली में सभी मेट्रो स्टेशन के गेट खोल दिए गए हैं और लोगों की आवाजाही सामान्य है। रविवार शाम हिंसक प्रदर्शनको देखते हुए मेट्रो के सभी गेट बंद कर दिए गए थे ताकि प्रदर्शनकारी यहां उत्पात न मचा सकें। नागरिकता कानून पर छात्रों ने जमकर तांडव मचाया।छात्रों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ की। प्रदर्शनकारियों की जामिया मिल्लिया इस्लामिया के समीप न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में पुलिस के साथ झड़प हो गई, जिसमें प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की चार बसों और दो पुलिस वाहनों में आग लगा दी। झड़प में छात्रों, पुलिसकर्मियों और दमकलकर्मी समेत करीब 60 लोग घायल हो गए। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों के प्रदर्शन के दौरान यह बवाल हुआ। हालांकि, जामिया छात्र संघ ने बयान जारी कर नागरिकता अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा से खुद को अलग कर लिया है।


नाबालिग छात्रा से रेप, परिवार गायब

ब्यास! बाबा बकाला में प्राईवेट स्कूल में 8 वर्षीय छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के मामले में समाजिक संस्थाओं द्वारा स्कूल के बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है। उनकी मांग है कि स्कूल की मान्यता रद्द करके उस पर मामला दर्ज किया जाए। वहीं इसी मामले को लेकर ब्यास बंद रखा गया है। प्रशासन द्वारा स्थिति को देखते हुए स्कूल के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। दूसरी तरफ पीड़ित बच्ची का मैडिकल करवाने के लिए उसके घर पहुंची पुलिस को घर पर ताला लगा मिला। परिवार कहां गया, पुलिस को कोई जानकारी नहीं है। पुलिस पूरा दिन परिवार को ढूंढती रही है। उल्लेखनीय है कि प्राईवेट स्कूल में दूसरी कक्षा की छात्रा से 10 वीं के विद्यार्थी द्वारा रेप किया गया था। पीड़िता की मां ने बताया था कि उन्हें स्कूल से फोन आया था कि आपकी लड़की रो रही है, आप इसे स्कूल से ले जाएं। इसके बाद जब हम स्कूल पहुंचे तो बेटी ने बताया कि उसके साथ स्कूल के ही एक लड़के ने बदतमीडी की है।पीड़िता की मां ने तुरंत इस घटना की शिकायत पुलिस को दी। इस संबंधित थाना ब्यास की पुलिस ने पीड़िता के बयानों के आधार पर उक्त विद्यार्थी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है।


लालू के घर की लड़ाई,सड़क पर आई

पटना! लालू-राबड़ी के घर की लड़ाई सड़क पर आ गई है। बहू ऐश्वर्या राय ने अपनी सास राबड़ी देवी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। राबड़ी पर मारपीट कर घर से बेदखल करने का आरोप लगा ऐश्वर्या ने महिला थाने में केस भी दर्ज करा दिया है।अब पुलिस अपने स्तर से अनुसंधान भी शुरू कर दी है।


लेकिन जिस राबड़ी देवी ने ऐश्वर्या राय को संस्कारी और मॉल नहीं जाने वाली लड़की बतायी थी, साथ ही अपने आप को सौभाग्यशाली बताते हुए यह कहा था कि ऐश्वर्या राय जैसी बहू घर में आई । पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने खुद अपने बड़े बेटे तेजप्रताप के लिए ऐश्वर्या को चुना था और कहा था कि उन्हें खुशी है कि उन्हें अपनी पसंद की बहू मिल गई । उस वक्त उन्होंने कहा था कि उनकी बहू बेहद ही संस्कारी है। राबड़ी ने उस वक्त बडे़ दावे के साथ कहा था कि मुझे अपने बेटों के लिए संस्कारी बहू चाहिए ना कि मॉल जाने वाली। 


शादी के 5 माह बाद ही तलाक की अर्जी:12 मई 2018 को पटना में तेजप्रताप और ऐश्वर्या की शादी काफी धूम-धाम से हुई थी।शादी की चर्चा देश भर में हुई थी।लालू प्रसाद ने भी कहा था –घर में लछमिनिया बहू आई है।लेकिन शादी के महज 5 महीनों बाद हीं लालू-राबड़ी के बेटा और बहू के बीच तलाक की नौबत आ गई। तेजप्रताप ने कोर्ट में तलाक की अर्जी दे दी।


हालांकि इसके बाद भी दोनों परिवारों के बीच सुलह कराने की कोशिशें लगातार जारी थीं। दोनों परिवार के तरफ से कहा गया कि घर में सब कुछ ठीक है और परिवार के लोग इस मामले को बैठकर सुलझा लेंगे।लेकिन तेजप्रताप नहीं माने , उन्होंने साफ कह दिया कि वे तलाक लेकर रहेंगे। 


पहली बार 28 सितंबर को हुआ था लालू परिवार में ड्रामा:रविवार को जो घटना घटी उसके पहले 28 सितंबर को लालू परिवार के घर का झगड़ा सड़क पर आया था,जब बहू ऐश्वर्या ने राबड़ी पर धक्के मारकर घर से बाहर निकालने का आरोप लगाया था। राबड़ी आवास के बाहर घंटों फैमिली ड्रामा चला था। स्थिति इतनी बिगड़ी की पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा था।तब ऐश्वर्या ने उस वक्त कहा था कि ननद मीसा भारती उन्हें खाना नहीं देती और किचन में भी जाने नहीं देती!


हाईकोर्ट ने छीनी 'अब्दुल्ला' की विधायकी

प्रयागराज! समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को इलाहाबाद हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है! इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आजम खान के बेटे अब्दुला आजम का निर्वाचन रद्द कर दिया है!


आजम खान के बेटे अब्दुला आजम पर यह आरोप लगा था कि चुनाव लड़ते वक्त अब्दुला की उम्र पूरी नहीं थी और इसके लिए अब्दुला ने फर्जी दस्तावेज का इस्तेमाल किया था! अब्दुल्ला आजम के खिलाफ बसपा उम्मीदवार रहे नवाब काजिम अली ने शिकायत दर्ज की थी! इस शिकायत में आरोप लगाया गया कि चुनाव के वक्त अब्दुल्ला 25 साल के नहीं थे! अब्दुल्ला पर फर्जी दस्तावेज लगाकर चुनाव लड़ने का आरोप लगाया गया था! इसी शिकायत पर सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 27 सितम्बर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसके बाद जस्टिस एसपी केसरवानी की बेंच ने फैसला सुनाया है!


अब्दुल्ला आजम सपा सांसद आजम खान के छोटे बेटे हैं! 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला ने पहली बार चुनाव लड़ा था! अब्दुल्ला ने रामपुर क्षेत्र की स्वार विधानसभा सीट से 50 हजार से ज्यादा मतों से चुनाव जीता था!


पीएम मोदी के सिर का दर्द 'गिरिराज'

 पटना! नागरिकता संशोधन बिल पर जेडीयू ने बीजेपी को अपना समर्थन तो दे दिया, लेकिन अब NRC के मुद्दे पर दोनों पार्टियों के बीच तनातनी देखने को मिल रही है! NRC के मुद्दे पर दोनों पार्टियों के बीच 'जंग' छिड़ गई है! संसद से नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह पटना पहुंचे! इस दौरान मीडिया ने एनआरसी को लेकर गिरिराज से सवाल पूछा! जिस पर उन्होंने कहा कि पूरे देश के साथ-साथ बिहार में भी NRC लागू होगा!


गिरिराज के इस बयान पर अब बिहार सरकार के मंत्री और जेडीयू नेता श्याम रजक ने उन पर करारा प्रहार किया है! गिरिराज सिंह पर हमला बोलते हुए कहा श्याम रजक ने कहा कि 'गिरिराज सिंह अपना विभाग ठीक से देखते नहीं हैं! लगता है कि पटना पहुंचते ही गिरिराज सिंह के पेट के अंदर का कीड़ा कुलबुलाने लगता है!


श्याम रजक यहीं नहीं रूके, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा कि वो गिरिराज सिंह के कीड़े का इलाज जल्द से जल्द कराएं! उन्होंने कहा कि 'गिरिराज सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए सिरदर्द हैं और वो जल्द अपने सिर दर्द का इलाज करें! श्याम रजक ने कहा कि 'गिरिराज सिंह समझ लें कि बिहार में किसी भी कीमत पर NRC लागू नहीं होगा!


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


दिसंबर 17, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-133 (साल-01)
2. मंगलवार, दिसंबर 17, 2019
3. शक-1941, मार्गशीर्ष- कृष्ण पक्ष, तिथि- पंचमी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 07:12,सूर्यास्त 05:35
5. न्‍यूनतम तापमान -4 डी.सै.,अधिकतम-17+ डी.सै.,  शीत लहर के साथ कोहरा छाने की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...