सोमवार, 22 अगस्त 2022

राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक: सिंह 

राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक: सिंह 

हरिशंकर त्रिपाठी 

देवरिया। जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सोमवार को राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश के अनुसार राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को मतदेय स्थलों के संभाजन के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में जनपद में कुल 23,61,780 मतदाता है। संभाजन के पश्चात कुल 1583 मतदान केंद्रों में 2572 मतदेय स्थल होंगे। संभाजन के पूर्व जनपद में कुल 1593 मतदान केंद्र एवं 2733 मतदेय स्थल थे। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदेय स्थलों का संभाजन 1500 मतदाताओं के आधार पर किया गया है।

मतदेय स्थलों के संभाजन के प्रस्तावित आलेख्य के अनुसार रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल 3,20,671 मतदाता है जिनके लिए संभाजन के पश्चात कुल 202 मतदान केंद्रों पर 364 मतदेय स्थल होंगे। देवरिया सदर विधानसभा क्षेत्र में कुल 350 593 मतदाता हैं। संभाजन के पश्चात कुल 179 मतदान केंद्रों पर 370 मतदेय स्थल होंगे। पथरदेवा विधानसभा क्षेत्र में 338 272 मतदाता है यहां संभाजन के पश्चात 233 मतदान केंद्र पर 368 मतदेय स्थल होंगे। रामपुर कारखाना विधानसभा क्षेत्र में 3,55,168 मतदाता है। यहां पर संभाजन के पश्चात 259 मतदान केंद्रों पर 384 मतदेय स्थल होंगे। भाटपाररानी विधानसभा क्षेत्र में 3,37,258 मतदाता हैं, यहां 251 मतदान केंद्रों पर 388 बूथ होंगे। सलेमपुर विधानसभा क्षेत्र में 3,42,797 मतदाता हैं यहां 216 मतदान केंद्रों के सापेक्ष 349 मतदेय स्थल होंगे। इसी प्रकार बरहज विधानसभा क्षेत्र में 317021 मतदाता वर्तमान समय में है जिनके लिए 243 मतदान केंद्रों पर 349 बूथ बनाया जाना प्रस्तावित है।

मतदेय स्थलों का संभाजन करते समय मतदाताओं की सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा गया है। मतदाताओं को अधिकतम 2 किमी की दूरी के भीतर मतदान केंद्र उपलब्ध कराने के मानक का ध्यान रखा गया है। अत्यधिक पुराने व जर्जर भवन वाले मतदेय स्थलों को इसमें शामिल नहीं किया गया है। यदि भौतिक सत्यापन में किसी मतदेय स्थल के संबंधित विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के बाहर स्थित होने का मामला प्रकाश में आता है तो ऐसे पोलिंग स्टेशन को परिवर्तित कर विधानसभा क्षेत्र के अंदर ही स्थापित किया जाएगा। दिव्यांगजनों और अशक्त मतदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्येक मतदान स्थल पर रैंप की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि राजनीतिक दलों को मतदान स्थलों एवं मतदान केंद्रों के संबंध में किसी भी तरह की आपत्ति हो तो वैसे दर्ज करा सकते हैं। आगामी 2 सितंबर को जनप्रतिनिधियों एवं मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ बैठक कर शिकायत एवं सुझावों के निस्तारण के पश्चात सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी/एडीएम प्रशासन गौरव श्रीवास्तव, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सलेमपुर गुंजन द्विवेदी, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, एसडीएम भाटपाररानी संजीव उपाध्याय, एसडीएम बरहज गजेंद्र कुमार, एसडीएम रुद्रपुर ध्रुव कुमार शुक्ला, एएसडीएम महेंद्र कुमार, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी मंजूर अहमद, एएसडीएम अरुण कुमार, मीडिया प्रभारी भाजपा अंबिकेश पांडेय,जिला सचिव सपा अशोक कुमार यादव, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से जयदीप त्रिपाठी, बसपा से अशोक कुशवाहा, उपाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी, जिला मंत्री भाकपा आनंद प्रकाश चौरसिया, एनसीपी से प्रेम शंकर मणि सहित विभिन्न लोग उपस्थित थे।

विद्यापीठ की छात्राओं व स्टाफ ने वृक्षारोपण किया

विद्यापीठ की छात्राओं व स्टाफ ने वृक्षारोपण किया 


देवस्थली विद्यापीठ की छात्राओं ने गंदेवडा संगम पर किया वृक्षारोपण

छात्राओं ने वनविहार कार्यक्रम से समझा पर्यावरण परिस्थितिकि का महत्व

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली/गढीपुखता। क्षेत्र के गांव गंदेवड़ा में स्थित गंदेवड़ा  संगम पर गॉव हथछोया में स्थित देवस्थली विद्यापीठ की छात्राओं एवं अध्यापक स्टाफ ने वृक्षारोपण किया। वनविहार कार्यक्रम के माध्यम से पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी के महत्व को समझा। “पर्यावरण संरक्षण” के उद्देश्य से देवस्थली विद्यापीठ की छात्राओं ने एक दिवसीय वनविहार कार्यक्रम किया। देवस्थली विद्यापीठ के अध्यक्ष प्रेम सिंह दिलावरे ने छात्राओं को पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी संरक्षण एवं यात्राओं के महत्व से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को जीवन में कम से कम एक वृक्ष लगाकर उसका पालन पोषण करना चाहिए, तभी पृथ्वी सुरक्षित एवं रहने योग्य बचेगी। भ्रमण कार्यक्रम के लिए प्रियंका शर्मा ने कहा कि जब तक हम प्रकृति के निकट नही पहुँचेंगे, तब तक उसका महत्व भी नही समझेंगे। इसलिए छात्रों के लिए वनविहार भ्रमण कार्यक्रमों का आयोजन अत्यंत महत्वपूर्ण है।

छात्राएँ प्रातः विद्यापीठ प्रांगण में एकत्र होकर स्कूल बस से निकटवर्ती गंदेवडा संगम पहुँची। छात्राओं ने संगम पर पीपल, बरगद, नीम जैसे परम्परागत वृक्ष लगाए और वहाँ उपस्थित लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।छात्राओं ने संगम पर स्नान किया और अन्याक्षरी का आयोजन किया। बरखा, साक्षी, रजिया,मनु, मोनिका,प्रिया, तनु, दनिस्ता, काजल तोमर, सोनल, राधा तोमर, रेशु, तनु तोमर, मुस्कान, हिना, ममता, वैशाली एवं निशु शर्मा ने भ्रमण किया। इस अवसर प्रेमकुल मिशन एवं देवस्थली के अध्यक्ष प्रेमसिंह दिलावरे, नरेंद्र, ज्योति, शैली पुण्डीर एवं प्रियंका शर्मा ने यात्रा का अभिभावकत्व किया।

एक्यूआईएस के साथ संबंध रखने का आरोप, 2 अरेस्ट 

एक्यूआईएस के साथ संबंध रखने का आरोप, 2 अरेस्ट 

दिसपुर/गोवालपारा। असम के गोवालपारा जिले में मुस्लिम युवाओं को कट्टर बनाने और आतंकवादी संगठन ‘अल कायदा इन इंडियन सबकॉन्टिनेंट’ (एक्यूआईएस) के साथ संबंध रखने के आरोप में दो इमामों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक (एसपी) वी वी राकेश रेड्डी ने सोमवार को पत्रकारों से कहा कि दोनों को 20 अगस्त को हिरासत में लिया गया था और अगले दिन युवाओं को कट्टर बनाने में लगे बांग्लादेशी संगठनों के साथ संबंधों के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने दोनों के खिलाफ कड़े गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत मामला दर्ज किया है और जांच जारी है तथा जल्दी अन्य लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान मोरनोई थाना क्षेत्र की तिनकोनिया शांतिपुर मस्जिद के इमाम अब्दुस सुबहान और मटिया थाना क्षेत्र की तिलपाड़ा मस्जिद के इमाम जलालुद्दीन के रूप में हुई है।

एसपी ने बताया कि सुबहान एक्यूआईएस का सदस्य है। गिरफ्तार किए गए दोनों इमाम पिछले तीन-चार साल से युवाओं को कट्टरपंथी बनाने में कथित रूप से शामिल थे तथा वे जिहादी गतिविधियों में भी शामिल थे। रेड्डी ने कहा कि पुलिस ने यह भी पाया है कि उनके राज्य और पश्चिम बंगाल में पहले गिरफ्तार किए गए जिहादियों के साथ संबंध हैं। उन्होंने कहा, ”जलालुद्दीन ने तिलपाड़ा सुंदरपाड़ा में एक धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसे बांग्लादेश के कई वक्ताओं ने संबोधित किया था, जिनकी पहचान जिहादियों के तौर पर हुई है और उनके भाषणों में ऐसी गतिविधियों से संबंधित सामग्री थी।” रेड्डी ने कहा कि पुलिस ने दोनों के पास से बांग्लादेश में कई किताबें, पोस्टर और जिहादियों से संपर्क करने में इस्तेमाल किया जाने वाला एक मोबाइल फोन बरामद किया है। उन्हें यहां मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया और सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

प्रियंका ने बेटी के साथ अपनी 2 तस्वीरें शेयर की

प्रियंका ने बेटी के साथ अपनी 2 तस्वीरें शेयर की 

कविता गर्ग 

मुंबई। प्रियंका चोपड़ा ने बेटी मालती के साथ अपनी दो तस्वीरें शेयर की हैं, जिनमें से एक में वह मां की गोद में बैठकर पूल का तुल्फ उठाती दिख रही है। प्रियंका ने बेटी की एक और तस्वीर शेयर की है, जिसमें बिटिया के छोटे-छोटे पांव प्रियंका के फेस पर नजर आ रहे हैं। हालांकि, इन दोनों तस्वीरों में से जिस चीज ने सबका ध्यान खींचा है। वह है, प्रियंका की बेटी के हाथ में बंधा काला धागा और पैरों में नजर आ रहे काले मोती का पायल। गोल्ड और काले मोतियों से बने इस पायल में हार्ट शेप का डिजाइन बना है, जिसपर हर किसी की निगाहें थम गई हैं।

सेलेब्स का कमेंट...

प्रियंका ने लिखा, ”प्यार जैसा कोई और नहीं।'' पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए दीया मिर्जा ने लिखा, ”सच।” वहीं उनकी चचेरी बहन परिणीति चोपड़ा ने लिखा, ”मुझे उसकी याद आती है।” इसके साथ ही करीना कपूर खान ने प्रियंका के इस पोस्ट पर कमेंट करते हुए लिखा, “पीसी और उसके बच्चे को खूब बड़ा हग”। इसके साथ ही अनुष्का शर्मा, प्रीति जिंटा से लेकर दीया मिर्जा ने प्रियंका की इस तस्वीर पर डिल वाला इमोजी बनाया है।

प्रियंका की फिल्में...

प्रियंका ने साबित कर दिया है कि वह भले अपने प्रफेशनल लाइफ में हर तरफ से अस्त-व्यस्त रहती हों, लेकिन जब बात फैमिली की आती है तो वह उसमें भी कोई कमी नहीं छोड़तीं। फिलहाल प्रियंका अपने मदरहुड को भी खूब इंजॉय कर रही हैं और ये सच उनकी तस्वीरें ही बता रही हैं। वर्क फ्रंट की बात करें तो प्रियंका पिछले कुछ समय से बॉलीवुड में कमबैक को लेकर भी चर्चा में हैं। बताया गया है कि प्रियंका चोपड़ा फरहान अख्तर की अगली फिल्म ‘जी ले जरा’ में लीड रोल में नजर आएंगी, जिसमें आलिया भट्ट और कटरीना कैफ भी उनके साथ नजर आएंगी।

मशहूर फिल्म निर्माता नाडियाडवाला का निधन: मुंबई 

मशहूर फिल्म निर्माता नाडियाडवाला का निधन: मुंबई 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर फिल्म निर्माता एजी नाडियाडवाला का निधन हो गया है। उन्होंने 91 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में इलाज के दौरान कार्डियक अरेस्ट के चलते उनकी मौत हुई है। एजी नाडियाडवाला के निधन से बॉलीवुड में शोक की लहर है। अजय देवगन ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया है कि "हमारे सिनेमा के स्वर्णिम युग के दौरान...मेरे पिता वीरु देवगन और नाडियाडवाला सहयोगी थे।

गफ्फार भाई नाडियाडवाला के रूप में पहचान बनाने वाले एजी नाडियाडवाला ने वेलकम, हेराफेरी, लहू के दो रंग और झूठा सच फिल्मों को प्रोड्यूस किया था। वे साजिद नाडियाडवाला के चाचा और फिरोज नाडियाडवाला के पिता हैं। उन्होंने अभिनेत्री शीला कश्मीरी (मुनीरा) से शादी की थी। मुनीरा का 2016 में निधन हो गया था।

पालतू जानवरों को बचाने के लिए गाइडलाइंस जारी की 

पालतू जानवरों को बचाने के लिए गाइडलाइंस जारी की 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। दुनियाभर में कोरोना के बीच मंकीपॉक्स का कहर लगातार जारी है। अब तक इसके 40000 से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो चुकी है। भारत में भी इस बीमारी के कई मामले मिल चुके हैं। मंकीपॉक्स का संक्रमण इंसानों से जानवरों और जानवरों से इंसानों में फैल सकता है। संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने पर मंकीपॉक्स की चपेट में पालतू जानवर भी आ जाते हैं। ऐसे में मंकीपॉक्स का खतरा ज्यादा बढ़ गया है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (CDC) की तरफ से मंकीपॉक्स से पालतू जानवरों को बचाने के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी की गई हैं, इन पर एक नजर डाल लेते हैं।

संक्रमित व्यक्ति बरतें ये सावधानियां...
सीडीसी के मुताबिक मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्तियों को अपने पालतू जानवरों या अन्य जानवरों से दूरी बरतनी चाहिए, इससे संक्रमण फैलने का खतरा कम हो जाएगा। पालतू जानवरों के साथ घूमना-फिरना, खेलना, गले लगने या छूने से बचना चाहिए। अपने स्लीपिंग एरिया और कपड़ों से पेट्स को दूर रखना चाहिए। अपना खाना पेट एनिमल्स को नहीं खिलाना चाहिए. इससे भी संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। मंकीपॉक्स का संक्रमण होने पर लोगों को आइसोलेशन में चले जाना चाहिए और डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

पेट्स हो जाएं संक्रमित तो क्या करें?
अगर आपके पालतू जानवर में मंकीपॉक्स का कोई भी लक्षण नजर आ रहा है तो तुरंत उसे एक जगह बांध दें और वेटरनरी डॉक्टर से संपर्क करें। पेट्स के संक्रमित होने पर उसे खुला न छोड़ें और उस पर सैनिटाइजर, डिसइनफेक्टेंट, एल्कोहल, हाइड्रोजन पराक्साइड या अन्य केमिकल्स स्प्रे न करें। ऐसा करना खतरनाक हो सकता है, इसके बजाय पेट्स से दूरी बनाएं और 21 दिनों तक सावधानी के साथ देखभाल करें. लापरवाही बिल्कुल न बरतें।

ऐसे लोग बरतें विशेष सावधानी...
आठ साल से कम उम्र के बच्चों, प्रेग्नेंट महिलाओं और डर्मेटाइटिस व एक्जिमा की समस्या से जूझ रहे लोगों को मंकीपॉक्स संक्रमण से विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अगर पालतू जानवरों को इस बीमारी का संक्रमण हो जाए तो उनकी देखभाल इन लोगों को नहीं करनी चाहिए। पेट्स की देखभाल के लिए स्वस्थ लोगों को आगे आना चाहिए। संक्रमित व्यक्तियों को भी पेट्स की केयर नहीं करनी चाहिए, इसके अलावा डॉक्टर से समय-समय पर निर्देश लेते रहने चाहिए।

सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने राजमार्ग अवरुद्ध किया 

सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने राजमार्ग अवरुद्ध किया 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की एक कॉलेज छात्रा के पंजाब में मृत पाए जाने के बाद सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को सांबा जिले में जम्मू-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि सम्बा मंडल के मडकोली गांव की रहने वाली 20 वर्षीय छात्रा सांबा में ‘गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज’ से लौटते वक्त शनिवार को लापता हो गयी थी। उसका शव रविवार को लुधियाना में रहस्यमयी परिस्थितियों में मिला। उन्होंने बताया कि परिवार ने शनिवार की शाम को स्थानीय पुलिस थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करायी थी।

छात्रा का शव पाए जाने के बाद उसके कॉलेज के मित्रों समेत बड़ी संख्या में लोगों ने सांबा शहर के समीप राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया और उसकी मौत की उचित जांच कराने की मांग की। मृतक छात्रा के एक रिश्तेदार ने कहा, ‘‘उसका लापता होना और उसके बाद मौत किसी साजिश का इशारा करती है…हम न्याय चाहते हैं जो एक निष्पक्ष जांच के बाद ही मिल सकता है।’’ हालांकि, पुलिस और नागरिक प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को शांत कराया तथा उन्हें आश्वासन दिया कि मामले की सभी पहलुओं से जांच की जाएगी। इसके बाद प्रदर्शनकारी वहां से चले गए।

केंद्रीय क्षेत्रीय परिषद की बैठक की अध्यक्षता की: शाह

केंद्रीय क्षेत्रीय परिषद की बैठक की अध्यक्षता की: शाह 

मनोज सिंह ठाकुर 

भोपाल। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को भोपाल में केंद्रीय क्षेत्रीय परिषद की बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों ने ऑनलाइन माध्यम से शिरकत की। क्योंकि भारी बारिश के कारण वे मध्यप्रदेश की राजधानी नहीं पहुंच सके। भारी बरसात के बीच शाह सोमवार को करीब डेढ़ बजे भोपाल पहुंचे। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा समेत अन्य लोगों ने हवाई अड्डे पर शाह का स्वागत किया।

केंद्रीय क्षेत्रीय परिषद में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड शामिल हैं। चौहान ने इससे पहले एक बयान जारी कर कहा कि यह एक महत्वपूर्ण बैठक है, जिसमें अनुसूचित जाति/जनजाति, आदिवासी, किसान कल्याण, महिलाओं एवं बच्चों के खिलाफ अपराध, आंतरिक सुरक्षा और आतंकवाद की रोकथाम तथा उग्रवाद पर चर्चा होगी, इससे सभी चार राज्यों को फायदा होगा। एक अधिकारी ने बताया कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बैठक में शामिल होने के लिये रविवार को यहां पहुंचे।

उन्होंने बताया कि उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को इस बैठक में डिजिटल तरीके से शामिल हुये क्योंकि उनके विमान भारी बारिश के कारण भोपाल हवाई अड्डे पर नहीं उतर सके। स्थापित प्रक्रिया और प्रथा के अनुसार, क्षेत्रीय परिषद की बैठक से पहले परिषद की एक स्थायी समिति होती है जिसमें परिषद के समक्ष रखी जाने वाले मुद्दों पर गौर किया जाता है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि नरेंद्र मोदी सरकार देश में सहकारी और प्रतिस्पर्धी संघवाद को मजबूत करने और बढ़ावा देने के लिए अपनी समग्र रणनीति के तहत क्षेत्रीय परिषदों की नियमित रूप से बैठकें करती रही है। देश में पांच क्षेत्रीय परिषद हैं, जिनका गठन 1957 में राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 की धारा 15-22 के तहत किया गया था। केंद्रीय गृह मंत्री इसके अध्यक्ष होते हैं और बैठक की मेजबानी करने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री इसके उपाध्यक्ष होते हैं।

ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति चिंताजनक 

ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति चिंताजनक 

विमलेश यादव 

भुवनेश्वर। उत्तरी ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति सोमवार को चिंताजनक बन गई। सुबर्णरेखा नदी उफान पर है और इसका पानी निचले इलाकों में घुस गया। इस वजह से 100 से ज्यादा गांवों के सैकड़ों लोग फंस गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में गहरे कम दबाव का क्षेत्र बनने के बाद भारी बारिश होने के कारण और झारखंड से बाढ़ का पानी छोड़े जाने के चलते उत्तर ओडिशा की सभी नदियां उफान पर हैं। उन्होंने बताया कि बालासोर और मयूरभंज जिलों के अधिकारियों ने लोगों को संवेदनशील इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए रविवार को एक व्यापक अभियान शुरू किया, जो सोमवार को भी जारी रहा। 

अधिकारियों ने बताया कि सुबर्णरेखा नदी में रविवार शाम से जलस्तर काफी बढ़ गया जिससे कई निचले इलाकों में पानी भर गया है। अधिकारियों ने आशंका जताई है कि झारखंड में गलुदिह बैराज से और पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ की स्थिति और खराब हो सकती है। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) की रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के राजघाट पर सुबर्णरेखा का जलस्तर सुबह नौ बजे 11.90 मीटर पर था जबकि खतरे का स्तर 10.36 मीटर है। अधिकारियों के मुताबिक, बालासोर जिला प्रशासन ने सोमवार दोपहर तक कम से कम 1.2 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का फैसला किया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने एक बुलेटिन में उत्तरी ओडिशा के जिलों में मंगलवार को भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रविवार को विशेष राहत आयुक्त की शक्तियां बालासोर के कलेक्टर को दे दीं ताकि स्थानीय प्रशासन को और प्रभावी बनाया जा सके। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एक हेलीकॉप्टर भी तैनात किया गया है। इस बीच, विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने खुर्दा, पुरी, कटक, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, नयागढ़, बालासोर, भद्रक, क्योंझर और बौद्ध जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिखकर बाढ़ में फंसी महिलाओं को निशुल्क सैनेटरी नेपकिन वितरित करने को कहा है। सरकार के अनुमान के मुताबिक, ओडिशा भारी बारिश के बाद पहले से ही महानदी नदी प्रणाली में मध्यम बाढ़ के प्रभाव से जूझ रहा है, जिस कारण सात लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। करीब पांच लाख लोग अब भी 763 गांवों में फंसे हुए हैं।

गांधी को पार्टी अध्यक्ष पद स्वीकार कर लेना चाहिए 

गांधी को पार्टी अध्यक्ष पद स्वीकार कर लेना चाहिए 

नरेश राघानी 

जयपुर। कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर जारी सरगर्मियों के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि पार्टी में एकतरफा राय राहुल गांधी के अध्‍यक्ष बनने के समर्थन में है और देश भर में कांग्रेसजनों की भावनाओं को समझते हुए राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष पद स्वीकार कर लेना चाहिए। इसके साथ ही गहलोत से कहा कि अगर राहुल पार्टी के अध्यक्ष नहीं बनते हैं तो इससे कांग्रेसजन निराश होंगे। पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर जारी अटकलों के बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि राहुल गांधी को अध्यक्ष बनना चाहिए। उन्होंने कहा ,’ राहुल गांधी अध्यक्ष नहीं बनते हैं तो इससे देश में कांग्रेस में निराशा आएगी। कई लोग घर बैठ जाएंगे और हम लोगों को तकलीफ होगी। उनको (राहुल गांधी) पूरे देश के, आम कांग्रेसजनों की भावना समझते हुए यह पद स्वीकार करना चाहिए।’ गहलोत ने कहा कि पार्टी के भीतर भी एक राय राहुल गांधी को नया अध्यक्ष बनाने के पक्ष में है।

उन्होंने कहा, ‘एकतरफा राय उनके अध्यक्ष बनने के समर्थन में है तो मैं समझता हूं कि उन्‍हें इसे स्वीकार करना चाहिए।’ उन्होंने कहा,’ यह गांधी या गैर गांधी परिवार की बात नहीं है। यह तो संगठन का काम है कोई प्रधानमंत्री तो बन नहीं रहा।’ इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आगे कहा,’ बीते 32 साल में इस परिवार का कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री या मुख्यमंत्री नहीं बना तो फिर (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी जी इस परिवार से डरते क्यों हैं, (दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद) केजरीवाल को कहना पड़ता है कि 75 साल में कुछ नहीं हुआ देश में, तो सब लोग कांग्रेस पर ही हमला क्यों करते हैं ? क्योंकि कांग्रेस पार्टी और देश का डीएनए एक है, आजादी के पहले और आजादी के बाद में। कांग्रेस सभी धर्मों और वर्गों को साथ लेकर चलती है।’ गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने बीते 75 साल में देश में लोकतंत्र को जिंदा रखा है जिसकी बदौलत ही आज मोदी देश के प्रधानमंत्री व केजरीवाल दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री हैं। उन्होंने कहा,’ कांग्रेस कहीं जाने वाली नहीं है। इस प्रकार की बातें कर उन्होंने कहा कि लोगों को गुमराह किया है। 75 साल में देश में कुछ नहीं हुआ, 75 साल में कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र को जिंदा रखा इसलिए इस देश में आज प्रधानमंत्री का नाम नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री का नाम अरविंद केजरीवाल है।

अगर लोकतंत्र नहीं होता तो ये प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री कैसे बनते। यह देश को कांग्रेस की देन है।’ मुख्यमंत्री ने विश्वास जताया कि राज्‍य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी एक बार फिर जीतेगी। उन्होंने कहा, ‘2023 में होने वाला अगला चुनाव जीतेंगे फिर 2024 के चुनाव में, इस बार मोदी के लिए आसान खेल नहीं है। लगता अभी उनको है, लेकिन मेरा मानना है कि जिस प्रकार से उनकी खुद की घेराबंदी हो रही है और जिस प्रकार बिहार में नीतीश कुमार ने उनको झटका दिया है उसके बाद महंगाई व बेरोजगारी का मुद्दे को लेकर कांग्रेस द्वारा राहुल गांधी के नेतृत्व में किए गए आंदोलन से मोदी सरकार हिल चुकी है और 2024 में कुछ भी परिणाम हो सकते हैं।’

गहलोत ने कहा कि महंगाई व बेरोजगारी बड़ा मुद्दा है, और पार्टी इसको लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाए रखेगी। वहीं राजस्‍थान कांग्रेस कार्यकारिणी की विस्तारित बैठक सोमवार को यहां हुई। इसमें देश में बढ़ती महंगाई एवं बेरोजगारी के विरूद्ध अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा चार सितंबर सितंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित होने वाली ‘हल्ला बोल महारैली’ की तैयारियों पर चर्चा हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुये प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा,’ बैठक में रैली को सफल बनाने पर चर्चा हुई। इसको लेकर 25 अगस्त को जिला स्तर पर व 27 अगस्त को विधानसभावार बैठक करेंगे। रैली में राज्‍य में 50 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं को ले जाने का लक्ष्य है।’

बेरोजगार शिक्षक कैंडिडेट्स का प्रदर्शन, लाठीचार्ज 

बेरोजगार शिक्षक कैंडिडेट्स का प्रदर्शन, लाठीचार्ज 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार की राजधानी पटना में सोमवार को पुलिस ने बेरोजगार शिक्षक कैंडिडेट्स के प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज कर दिया। पटना के ADM केके सिंह ने तिरंगा लिए एक प्रदर्शनकारी पर जमकर लाठी बरसाई। इतनी लाठियां मारीं कि उसका खून बहने लगा। बाद में एक पुलिसकर्मी ने प्रदर्शनकारी से तिरंगा छीन लिया। बता दें कि CTET और BTET पास अभ्‍यर्थियों ने जोरदार प्रदर्शन किया है। पटना के ADM केके सिंह का बर्बर चेहरा भी सामने आया है। शिक्षक अभ्‍यर्थी हाथों में तिरंगा झंडा थामकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे। ADM केके सिंह उस प्रदर्शनकारी युवक से इस कदर नाराज हुए कि उनकी सरेआम पिटाई शुरू कर दी। तिरंगा थामे अभ्‍यर्थी नारे लगाता रहा और ADM केके सिंह उन्‍हें बेरहमी से पीटते रहे। इसे राष्‍ट्रध्‍वज का अपमान भी माना जा रहा है। वीडियो में उनके हिंसक रूप को देखकर हर कोई दंग रह गया।

बीजेपी प्रवक्ता शहजाद जय हिंद ने महागठबंधन सरकार पर हमला बोला है। शहजाद ने एक वीडियो शेयर किया और कहा कि देखिए, एडीएम की गुंडागर्दी, शिक्षक पदों पर नौकरी मांगने वालों पर लाठीचार्ज। एडीएम ने तिरंगे की भी परवाह नहीं की और युवक को बेरहमी से पीटा। राजद ने रोजगार का वादा किया था लेकिन लाठियां दे रहे हैं। अपराधियों के लिए फ्री रन और युवाओं के लिए लाठियां। शिक्षक अभ्यर्थियों का कहना है कि वे 2019 से बहाली का इंतजार कर रहे हैं। तीन साल होने के बावजूद सरकार सिर्फ आश्वासन दे रही है। एक शिक्षक अभ्यर्थी ने कहा कि सरकार बनने से पहले तेजस्वी यादव कहते थे कि पहली कैबिनेट की बैठक में आप लोगों की बहाली प्रक्रिया शुरू होगी। वो अभी सरकार में नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि शिक्षा मंत्री बदलने से कुछ नहीं होगा, सरकार बदलिए। अब तो तेजस्वी यादव सरकार में आए गए हैं।

मगरमच्छ के साथ खेलता नजर आया शख्स, वायरल 

मगरमच्छ के साथ खेलता नजर आया शख्स, वायरल 

रोशनी पांडेय 

अब तक आपने मगरमच्छ के शिकार के कई वीडियोज सोशल मीडिया पर देखे होंगे। इन वीडियोज में मगरमच्छ शिकार करते हुए नजर आते होंगे। लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देखकर आप के होश उड़ जाएंगे। सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो में आप एक शख्स को मगरमच्छ के साथ खेलते हुए देख सकते हैं। वाकई में इस शख्स ने जो किया है, वो हैरत में डालने वाला है। यही वजह है कि ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ है। बता दें, कि वायरल हो रहे वीडियो में आप देखेंगे कि नदी या तालाब के बीच नाव पर बैठा शख्स मगरमच्छ से ठीक वैसे ही व्यवहार कर रहा है, जैसे वो कोई कुत्ता हो। जिस तरह से इंसान कुत्तों को खाना खिलाते हैं या सहलाते हैं, ठीक उसी तरह से शख्स मगरमच्छ के साथ कर रहा है।

हैरानी की बात तो यह है कि मगरमच्छ भी इस शख्स से साथ काफी घुला मिला लगता है। मगरमच्छ बिल्कुल भी आक्रामक नहीं है और वो शख्स के इशारों को समझ कर उनका अच्छे से पालन भी कर रहा है। दोनों के बीच बेहद गहरी दोस्ती लग रही है। एक अगस्त को शेयर किए गए इस वीडियो को अभी तक 5 मिलियन बार देखा जा चुका है। वहीं, एक लाख से ज्यादा लोगों ने वीडियो को लाइक किया है। नेटिजन्स ने वीडियो पर ढेरों कमेंट्स भी किए हैं।

आप तोड़ने पर सीएम का पद देने की पेशकश की थी

आप तोड़ने पर सीएम का पद देने की पेशकश की थी 

इकबाल अंसारी 

अहमदाबाद। दो दिवसीय दौरे पर गुजरात पहुंचे दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उन्हें आम आदमी पार्टी (आप) तोड़ने पर मुख्यमंत्री का पद देने की पेशकश की थी। सिसोदिया ने कहा कि वह तब हैरान रह गए, जब एक व्यक्ति उनके पास यह संदेश लेकर आया कि उनके लिए भाजपा की ओर से दो प्रस्ताव हैं। आप नेता ने दावा किया, ‘संदेश वाहक ने कहा कि एक प्रस्ताव यह है कि सीबीआई-ईडी (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो-प्रवर्तन निदेशालय) द्वारा आपके खिलाफ दर्ज सभी बड़े मामले वापस ले लिए जाएंगे। दूसरी पेशकश यह थी कि मैं पार्टी तोड़ दूं और वे मुझे मुख्यमंत्री बनाएंगे।’

CM केजरीवाल मेरे राजनैतिक गुरु, उनसे कभी गद्दारी नहीं करूंगा- सिसोदिया

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, ‘मुझे CM कैंडिडेट बनाने के ऑफर पर BJP को मेरा संदेश… अरविंद केजरीवाल मेरे राजनैतिक गुरु हैं, उनसे कभी गद्दारी नहीं करूंगा। मैं मुख्यमंत्री बनने नहीं आया, मेरा सपना है- देश के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा मिले, तभी तो भारत न 1 देश बनेगा। पूरे देश में ये काम केवल केजरीवाल जी कर सकते हैं।’

बता दें कि केजरीवाल और सिसोदिया सोमवार को गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इस यात्रा के दौरान आप के दोनों नेता राज्य के युवाओं के साथ रोजगार और शिक्षा पर चर्चा करेंगे। उनका दौरा दिल्ली की आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा सिसोदिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर जारी विवाद के बीच हो रहा है। केजरीवाल इस महीने चौथी बार गुजरात दौरे पर हैं।

प्राथमिकी दर्ज करने से जुड़ें आदेश के अमल पर रोक 

प्राथमिकी दर्ज करने से जुड़ें आदेश के अमल पर रोक 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली एक महिला की शिकायत पर भारतीय जनता पार्टी के नेता शाहनवाज हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से जुड़ें दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश के अमल पर सोमवार को रोक लगा दी। न्यायमूर्ति यू यू ललित की पीठ ने हुसैन की याचिका पर दिल्ली सरकार समेत विभिन्न पक्षकारों को नोटिस जारी किए और उनसे जवाब मांगा। पीठ ने मामले को सुनवाई के लिए सितंबर के तीसरे सप्ताह में सूचीबद्ध करने का आदेश दिया।

उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के आदेश को चुनौती देने वाली हुसैन की याचिका 17 अगस्त को खारिज कर दी थी। निचली अदालत ने दिल्ली पुलिस को उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था। गौरतलब है कि दिल्ली की एक महिला ने 2018 में निचली अदालत का रुख करते हुए दुष्कर्म के आरोप में हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया था। एक मजिस्ट्रेट अदालत ने सात जुलाई 2018 को हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश देते हुए कहा था कि महिला की शिकायत से एक संज्ञेय अपराध का मामला बनता है। भाजपा नेता ने एक सत्र अदालत में इसे चुनौती दी थी, जिसने उनकी याचिका खारिज कर दी थी।

जंतर-मंतर पर किसानों ने पुलिस की बैरिकेडिंग गिराई

जंतर-मंतर पर किसानों ने पुलिस की बैरिकेडिंग गिराई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) द्वारा सोमवार को जंतर मंतर पर बुलायी गई ‘महापंचायत’ में भाग लेने के लिए अलग-अलग राज्यों से किसानों का जत्था दिल्ली पहुंच रहा है। सिंघु बॉर्डर से जंतर-मंतर तक पुलिस का कड़ा पहरा लगाया गया है। इस बीच जंतर-मंतर पर किसानों ने पुलिस की बैरिकेडिंग गिरा दी है। गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन करने पहुंचे किसानों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया है। उन्हें आगे बढ़ने से भी रोक दिया गया। दिल्ली पुलिस उन्हें बस में ले लेकर जा रही है। बस में सवार एक किसान ने कहा कि किसानों के खिलाफ सरकार तानाशाही बरत रही है। गाजीपुर बॉर्डर पर और भी किसान पहुंच रहे हैं।

हम किसी धरने में शामिल होने नहीं जा रहे: टिकैत
इस बीच भाकियू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि उनका धरने का कोई कार्यक्रम नहीं है। हम जब भी धरने पर आएंगे तो बताकर आएंगे। टिकैत के मुताबिक, उन्हें एक किताब के विमोचन में दिल्ली आ रहे थे। राकेश टिकैत ने कहा कि किसी पत्रकार ने मुझसे मिलने के लिए पूछा था तो मैंने कहा कि जंतर-मंतर पर मिलते हैं, पत्रकार ने समझ लिया कि हम धरना देने जा रहे हैं।

जंतर-मंतर पहुंचे किसान...
इस बीच जंतर मंतर पर किसानों का पहुंचना शुरू हो गया है। वहां अच्छी तादाद में किसान पहुंच गए हैं। जंतर-मंतर पहुंचे किसानों की तस्वीरें सामने आई हैं। किसानों की महापंचायत की वजह से जंतर-मंतर पर भारी पुलिस तैनात किया गया है। इस बीच खबर है कि जंतर मंतर पर पहुंचे किसानों ने दिल्ली पुलिस की बैरिकेडिंग हटा दी है।

एमएलएटी पर हस्ताक्षर करने के करीब, भारत-इटली 

एमएलएटी पर हस्ताक्षर करने के करीब, भारत-इटली 

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव 

नई दिल्ली/रोम। भारत और इटली अंतरदेशीय संगठित अपराध और आतंकवाद सहित आपराधिक मामलों की जांच, अभियोजन और निवारण के लिए पारस्परिक कानूनी सहायता संधि (एमएलएटी) पर हस्ताक्षर करने के और करीब पहुंच गए हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दोनों देशों के बीच पहले ही दो दौर की वार्ता हो चुकी है जिसमें सहमति रिपोर्ट पर हस्ताक्षर हो चुके हैं, जिससे नयी दिल्ली और रोम के बीच जल्द ही एमएलएटी को अंतिम रूप देने का रास्ता साफ हो गया है।

उन्होंने बताया कि रिपोर्ट पर हस्ताक्षर हाल में हुई दूसरे दौर की वार्ता के दौरान हुए। यह बैठक भारत की ओर से केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव (समन्वय एवं अंतरराष्ट्रीय सहयोग) सहेली घोष रॉय और इटली की ओर से इतालवी न्याय मंत्रालय में अंतरराष्ट्रीय मामलों और अंतरराष्ट्रीय न्यायिक सहयोग के महानिदेशक स्टीफेनो ओपिलियो के नेतृत्व में हुई। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने बताया कि वार्ता सही दिशा में चल रही है और भारत और इटली द्वारा एमएलएटी पर जल्द हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है। उल्लेखनीय है कि एमएलएटी दो या इससे अधिक देशों के बीच समझौता होता है जिसका उद्देश्य जन और आपराधिक कानूनों को लागू करने में सूचना एकत्र करना और उसका आदान-प्रदान करना होता है।

इस संधि के तहत प्राप्त होने वाली सहायता में लोगों, स्थानों और चीजों की जांच व पहचान करना, एक-दूसरे के यहां हिरासत में लिए गए लोगों का आदान-प्रदान और आपराधिक गतिविधियों को रोकना शामिल है। भारत और इटली में राजनयिक संबंधों में सुधार के बाद एमएलएटी पर वार्ता शुरू हुई। दोनों देशों के बीच फरवरी 2012 में इतालवी मरीन द्वारा केरल के तट के नजदीक दो भारतीय मछुआरों की हत्या से तनाव पैदा हो गया था। गौरतलब है कि भारत ने अबतक ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, बांग्लादेश, बेलारूस, ब्राजील, बुल्गारिया, कनाडा, कंबोडिया, मिस्र, फ्रांस, हांगकांग, ईरान, इंडोनेशिया, इजराइल, कजाखिस्तान, कुवैत, मलेशिया, मालदीव, मॉरीशस, मेक्सिको, मंगोलिया, मोरक्को, म्यांमा, ओमान, रूस, सिंगापुर, स्पेन, श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, स्विट्जरलैंड, तजाकिस्तान, थाईलैंड, तुर्की, यूक्रेन, संयुक्त अरब अमीरात, ब्रिटेन, अमेरिका और वियतनाम सहित 44 देशों के साथ इस तरह का समझौता किया है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-318, (वर्ष-05)

2. मंगलवार, अगस्त 23, 2022

3.शक-1944, भाद्रपद, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 05:51, सूर्यास्त: 06:56। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक कासहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...