बुधवार, 26 अप्रैल 2023

कौशाम्बी: कुशवाहा के समर्थन में उमड़ा जनसैलाब

कौशाम्बी: कुशवाहा के समर्थन में उमड़ा जनसैलाब


भाजपा प्रत्याशी शांति कुशवाहा के समर्थन में उमड़ा जनसैलाब

कौशाम्बी। भाजपा प्रत्याशी शांति कुशवाहा के समर्थन में उमड़े जनसैलाब ने डोर-टू-डोर लोगों से प्रत्याशी के पक्ष में समर्थन मांगा। डोर-टू-डोर काम्बिंग में वक्ताओं ने कहा, कि भाजपा की अध्यक्ष बनने पर प्रदेश और केंद्र दोनों भाजपा सरकारों के सहयोग नगर पंचायत अझुवा में विकास की बयार बहेगी। भाजपा नेता ओमप्रकाश कुशवाहा ने कहा कि भाजपा ही एकमात्र ऐसी पार्टी है, जो लोगों के विकास में विश्वास करती है।

नगर पंचायत अझुवा में भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में भाजपा नेताओं ने डोर-टू-डोर प्रत्याशी के पक्ष में समर्थन मांगा। नेताओं ने विकास के मुद्दे पर प्रत्याशी की वोट करने को कहा। वे यहीं पर नही रुके, बल्कि उन्होंने विपक्षियों की बखिया उधेड़ते हुए कहा कि उनसे सावधान रहें। इनका काम केवल लोगों को भ्रमित कर मलाई काटना है। उन्होंने शांति देवी कुशवाहा को रिकार्ड मतों से जीत दिलवाने की अपील की है।

इस दौरान ओमप्रकाश कुशवाहा, करन सिंह, मिथलेश केसरवानी,हीरालाल मौर्य, ओमप्रकाश गुप्ता, बड़ेलाल केसरवानी, फूलचन्द्र केसरवानी, कपूरचंद केसरवानी, चुन्नू केसरवानी, रमेश केसरवानी नेता, सोनू अग्रहरी, ननका स्वर्णकार  शिव प्रताप मौर्य, गुड्डू दराना, अनिल केसरवानी, शिबू अग्रहरी, सुधर टण्डन, ज्ञान शर्मा, अनवर खान जगदीश केसरवानी, प्रशांत केसरवानी, गुलाब लोधी, रामचन्द्र लोधी, जुगराज लोधी सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

अनिल कुमार 

फाउंडेशन के तत्वाधान में रक्तदान शिविर का आयोजन 

फाउंडेशन के तत्वाधान में रक्तदान शिविर का आयोजन 

गोपीचंद/भानु प्रताप उपाध्याय 

बागपत। जैन स्थानक बड़ौत में बुधवार को सारथी वेलफेयर फाउंडेशन व न्यूट्रिमा ब्लड बैंक मेरठ के संयुक्त तत्वाधान में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें लगभग 103 लोगों ने रक्तदान किया। सीएमओ बागपत डाक्टर दिनेश कुमार ने फीता काटकर रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया। फाउंडेशन की चेयर पर्सन वंदना गुप्ता ने बताया कि न्यूट्रिमा ब्लड बैंक मेरठ तथा सारथी वेलफेयर फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में लगातार पांचवा रक्तदान शिविर लगाया गया है। जिसमें रक्तदाताओं ने बढ़ चढ़कर रक्तदान किया।

उन्होंने बताया कि रक्तदान शिविर में महिलाओ ने भी बढ़ चढ़कर रक्तदान किया। उन्होंने बताया कि वह लगातार रक्तदान शिविर लगाकर जरूरतमंद लोगों के लिए रक्त मुहैया कराते हैं। इस दौरान न्यूट्रिमा ब्लड बैंक मेरठ की टीम से डा मुकेश, डा निशांत, डा दिक्षा तथा डॉक्टर अभिनव तोमर, विकास गुप्ता, मीता अरोड़ा, गीता रानी, नीतू, सविता, शिवानी, अमित जैन, ललित और सारथी वेल्फेयर फाऊंडेशन की पूरी टीम मौजूद रहीं।

24 मई को 'क्वाड लीडर्स समिट' का आयोजन होगा

24 मई को 'क्वाड लीडर्स समिट' का आयोजन होगा

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव 

नई दिल्ली/सिडनी। ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में 24 मई को 'क्वाड लीडर्स समिट' का आयोजन होगा और इस बीच ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज ने कहा है कि वह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित क्वाड के अपने सभी समकक्षों का स्वागत करने के लिए उत्सुक हैं। ऑस्ट्रेलिया पहली बार क्वाड लीडर्स समिट की मेजबानी कर रहा है। इससे पहले इस शिखर सम्मेलन का आयोजन मई 2022 में जापान की राजधानी टोक्यो में हुआ था। यह क्वाड लीडर्स का तीसरा इन-पर्सन समिट होगा।

क्वाड लीडर्स समिट में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा भी उपस्थिति रहेंगे।  अल्बानीस इस मुद्दे पर पहले ही प्रधानमंत्री मोदी, प्रधानमंत्री किशिदा और राष्ट्रपति बाइडेन के साथ बैठक कर चुके हैं।उल्लेखनीय है कि क्वाड भारत-प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता, लचीलापन और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध चार देशों की एक राजनयिक साझेदारी है। ऑस्ट्रेलिया ने एक बयान में कहा है कि ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका एक ऐसे क्षेत्र के लिए एक दृष्टिकोण साझा करते हैं जो स्वीकृत नियमों और मानदंडों द्वारा शासित होता है, जहां हम सभी सहयोग कर सकते हैं, व्यापार कर सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं।

क्वाड पार्टनर क्षेत्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा में सुधार, महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियों को आगे बढ़ाने, कनेक्टिविटी को मजबूत करने, स्वच्छ ऊर्जा नवाचार को बढ़ाने और आपूर्ति श्रृंखला में लचीलापन लाने सहित साझा क्षेत्रीय चुनौतियों का समाधान करने के लिए व्यावहारिक कार्रवाई कर रहे हैं। इस वर्ष क्वाड पार्टनर्स जी20 (भारत), जी7 (जापान), और एपेक (अमेरिका) की मेजबानी के माध्यम से इंडो-पैसिफिक में एक मजबूत नेतृत्व की भूमिका निभा रहे हैं।

सिडनी में क्वाड लीडर हमारे सहयोग को मजबूत करने और उस क्षेत्र को आकार देने के लिए, जिसमें हम सभी रहना चाहते हैं, क्वाड भागीदारों और क्षेत्रीय समूहों, प्रमुख आसियान और प्रशांत द्वीप समूह फोरम के साथ कैसे काम कर सकता है, जैसे मुद्दों पर चर्चा करेंगे। श्री अल्बनीस ने कहा, "मैं ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में पहली बार क्वाड लीडर्स शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं।"

उन्होंने कहा, “क्वाड एक खुले, स्थिर और समृद्ध भारत-प्रशांत का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है,जो संप्रभुता का सम्मान करता है और सभी के लिए सुरक्षा तथा विकास सुनिश्चित करता है। मैं क्वाड नेताओं के साथ चर्चा करने के लिए उत्सुक हूं कि कैसे हम - आसियान, प्रशांत द्वीप समूह फोरम, हिंद महासागर रिम एसोसिएशन और हमारे क्षेत्रीय भागीदारों जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रीय संस्थानों के साथ भारत-प्रशांत क्षेत्र को आकार दे सकते हैं, जिसमें हम रहना चाहते हैं।”

आदेश नहीं मानने पर स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई 

आदेश नहीं मानने पर स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई 

विजय भाटी

गौतमबुद्ध नगर। जिलाधिकारी ने दर्जनों प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की गई। इन प्राइवेट स्कूलों ने हाईकोर्ट के आदेश का पालन नहीं किया था, जिसके बाद डीएम द्वारा कार्रवाई की गई है। मिली जानकारी के अनुसार जिलाधिकारी मनीष कुमार ने स्कूलों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। यह कार्रवाई इसलिए की गई है, कि स्कूलों ने हाईकोर्ट के आदेश को नहीं माना है।

हाईकोर्ट ने आदेश दिया था, कि कोरोना काल में बच्चों की 15 प्रतिशत फीस वापस दी जाएं। जिलाधिकारी ने फीस ना वापस करने वाले 90 स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई कर एक-एक लाख रूपये का जुर्माना लगाया है।

मनोरंजन: 15 सितंबर को रिलीज होगी फिल्म 'योद्धा'

मनोरंजन: 15 सितंबर को रिलीज होगी फिल्म 'योद्धा'

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा की फिल्म 'योद्धा' 15 सितंबर को रिलीज होगी। सिद्धार्थ मल्होत्रा की फिल्म 'योद्धा' 07 जुलाई, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली थी लेकिन अब इसे आगे रिलीज किया जाएगा। सागर आमरे और पुष्कर ओझा के निर्देशन में बन रही इस फिल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा के अलावा दिशा पाटनी और राशी खन्ना भी महत्वपूर्ण भूमिका में हैं। 

फिल्म ट्रेड एक्सपर्ट तरण आदर्श ने अपने ट्विटर हैंडल पर सिद्धार्थ मल्होत्रा की फिल्म 'योद्धा' की नई रिलीज डेट को लेकर जानकारी दी है। तरण आदर्श ने ट्वीट कर बताया है कि सिद्धार्थ मल्होत्रा, दिशा पाटनी और राशी खन्ना की फिल्म 'योद्धा' अब 15 सितंबर, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। फिल्म 'योद्धा' को करण जौहर और शशांक खेतान प्रोड्यूस कर रहे हैं।

प्राथमिकी दर्ज करने से पहले जांच की जरूरत

प्राथमिकी दर्ज करने से पहले जांच की जरूरत

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने बुधवार को उच्चतम न्यायालय में कहा कि भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ सात महिला पहलवानों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों पर प्राथमिकी दर्ज करने से पहले प्रारंभिक जांच की जरूरत है।प्रधान न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पी. एस. नरसिम्हा की पीठ को दिल्ली पुलिस की ओर से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने बताया कि अगर शीर्ष अदालत को लगता है कि सीधे प्राथमिकी दर्ज की जानी है तो ऐसा किया जा सकता है। मेहता ने कहा,  हालांकि पुलिस को लगता है कि प्राथमिकी दर्ज करने से पहले कुछ पहलुओं की प्रारंभिक जांच किए जाने की जरूरत है।

प्रधान न्यायाधीश ने कहा, सॉलिसिटर आप जानते हैं, हम दूसरे पक्ष को सुने बिना और जब तक हमारे पास कुछ तथ्य न हों, कुछ नहीं करते हैं।  उन्होंने कहा कि आप जो भी बात है उसे शुक्रवार को अदालत के समक्ष रखें। मेहता ने कहा कि ऐसी धारणा कायम न होने दें कि अदालत के कहने के बावजूद प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई। पीठ ने मेहता की दलीलों का संज्ञान लिया और कहा कि दिल्ली पुलिस 28 अप्रैल को पहलवानों की याचिका पर सुनवाई के दौरान प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर अपने विचार रख सकती है। पहलवानों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि वह मामले पर कुछ अतिरिक्त सामग्री दाखिल करेंगे।

शीर्ष अदालत ने सात महिला पहलवानों की याचिका पर मंगलवार को दिल्ली पुलिस और अन्य को नोटिस जारी किया था। न्यायालय ने महिला पहलवानों द्वारा लगाये गये यौन उत्पीड़न के आरोपों को गंभीर बताते हुए कहा था कि इस पर उसे (न्यायालय को) विचार करने की जरूरत है। पहलवानों ने दावा किया कि सिंह तथा उनके करीबी सहयोगियों द्वारा कई मौकों पर यौन, भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किए जाने के बाद उन्होंने (पहलवानों ने) इस तरह के कृत्य के खिलाफ अपनी आवाज उठाने की हिम्मत जुटाई और आरोपियों के खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई की मांग करते हुए जंतर मंतर पर धरने पर बैठ गईं।

कई राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता पहलवान सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच करने वाली समिति की रिपोर्ट सार्वजनिक करने की सरकार से मांग करते हुए यहां जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। पहलवानों ने मंगलवार को कहा था कि सिंह को गिरफ्तार करने तक वे जंतर-मंतर से नहीं जाएंगे। सिंह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद भी हैं।

अतीक व अशरफ हत्याकांड में एससी पहुंची सरकार 

अतीक व अशरफ हत्याकांड में एससी पहुंची सरकार 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। पुलिस कस्टडी में अतीक अहमद व उसके भाई अशरफ की हत्या के मामलें में अब यूपी सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दाखिल कर उसका पक्ष सुने बिना कोई भी आदेश जारी न करने की अपील की है। गौरतलब है कि प्रयागराज में अतीक अहमद तथा उसके भाई अशरफ की पुलिस कस्टडी के दौरान तीन शूटर ने गोलियां बरसा कर हत्या कर दी थी।

इस मामले में यूपी सरकार ने एसआईटी का गठन करने के साथ-साथ न्यायिक आयोग भी बना दिया है। अब यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दाखिल करते हुए कहा है कि अतीक अहमद हत्याकांड में सुप्रीम कोर्ट यूपी सरकार का पक्ष सुने बिना कोई आदेश ना जारी करें। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट 28 अप्रैल को सुनवाई करेगा।

534 भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकाला: भारत 

534 भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकाला: भारत 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/खार्तुम। भारत अब तक संघर्षग्रस्त सूडान से 534 भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकाल चुका है और इसके लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन कावेरी के तहत भारतीय नौसैनिक जहाजों और भारतीय वायु सेना के विमानों के माध्यम से भारतीय नागरिकों को वहां से निकाला जा रहा है। दो सौ अठहतर भारतीयों का पहला जत्था जेद्दा के लिए रवाना हुआ, जहां आगे की यात्रा के लिए एक पारगमन सुविधा स्थापित की गई है।

आईएनएस सुमेधा पर मंगलवार शाम को 121 और 135 भारतीयों के दो अन्य जत्थों को जेद्दा के लिए रवाना किया गया था। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन को जेद्दा में हैं, जहां सूडान से भारतीय नागरिकों की सुरक्षित निकासी की निगरानी के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। सेना और अर्धसैनिक बल के बीच लड़ाई शुरू होने के समय सूडान में मौजूद 3,000 से अधिक भारतीयों को निकालने के लिए और उड़ानें भरी जाएंगी।

सूडान में दो युद्धरत गुटों ने मंगलवार को तीन दिवसीय युद्धविराम की घोषणा की थी, जिसका लाभ उठाते हुए भारत ने अपने नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन कावेरी शुरू किया है। सूडानी सशस्त्र बलों और प्रतिद्वंद्वी रैपिड सपोर्ट फोर्सेज के नेताओं ने मंगलवार से शुरू होने वाली लड़ाई को रोकने पर सहमति व्यक्त की है। आरएसएफ ने कहा कि युद्धविराम का मतलब "मानवीय गलियारों की स्थापना करना है, जिससे नागरिकों और निवासियों को आवश्यक संसाधनों, स्वास्थ्य देखभाल और सुरक्षित क्षेत्रों तक पहुंचने की इजाजत मिलती है, साथ ही राजनयिक मिशनों को खाली कर दिया जाता है।"

कठिन परिस्थितियों में नया करने का साहस 

कठिन परिस्थितियों में नया करने का साहस 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि सबसे कठिन परिस्थितियों में भी भारत में कुछ नया करने का साहस है। उन्होंने कहा कि देश 2047 तक विकसित भारत बनने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है। लेकिन, कुछ ताकतें ऐसी भी हैं, जो रास्ते से भटकाने की कोशिशें करेंगी। मोदी ने कहा कि देश ने आजादी के 75 साल पूरे किए हैं और इसने लोगों में अपनी विरासत के प्रति गर्व की भावना को बलवती किया है। उन्होंने कहा जब हम गुलामी की मानसिकता से खुद को मुक्त करके इसे जानेंगे, तो हमें हमारी विरासत पर गर्व होगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत अपनी विविधता का जश्न मनाता है।

सौराष्ट्र तमिल संगमम के समापन समारोह को डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि गुजरात और तमिलनाडु के बीच बहुत कुछ ऐसा है, जिसे जानबूझकर हमारी जानकारी से बाहर रखा गया है। उन्होंने कहा, आज हमारा लक्ष्य 2047 (भारत को विकसित देश बनाना) है। हमारे सामने गुलामी के युग और उसके बाद के सात दशकों की अवधि की चुनौतियां भी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, हमें देश को आगे लेकर जाना है। लेकिन रास्ते में तोड़ने वाली ताकतें और भटकाने वाले लोग भी मिलेंगे। भारत कठिन से कठिन हालातों में भी कुछ नया करने की ताकत रखता है।

सबसे कठिन परिस्थितियों में भी भारत में कुछ नया करने का साहस है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत एक ऐसा देश है जो अपनी विविधता को अपनी विशेषता के रूप में प्रदर्शित करता है। उन्होंने कहा, हम विविधता का जश्न मनाने वाले लोग हैं। हम विभिन्न भाषाओं और बोलियों, विभिन्न कलाओं और ज्ञान का जश्न मनाते हैं। हमारे विश्वास से लेकर आध्यात्मिकता तक हर जगह विविधता है।

'मन की बात' कार्यक्रम संवाद का महत्वपूर्ण माध्यम

'मन की बात' कार्यक्रम संवाद का महत्वपूर्ण माध्यम

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। अभिनेता आमिर खान ने बुधवार को कहा कि 'मन की बात' कार्यक्रम संवाद का एक महत्वपूर्ण माध्यम है, जिसके जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आम नागरिकों से जुड़ते हैं। अभिनेता ने 'मन की बात' कार्यक्रम के 100 एपिसोड पूरे होने के मौके पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन से इतर यह बात कही। प्रधानमंत्री के इस रेडियो कार्यक्रम की 100वीं कड़ी का प्रसारण 30 अप्रैल को किया जाएगा। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने एक दिवसीय सम्मेलन का उद्धाटन किया और केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे।

खान ने एक एजेंसी से कहा,  यह संवाद का एक बहुत ही महत्वपूर्ण माध्यम है, जिसके जरिए देश के नेता आम लोगों के साथ बातचीत करते हैं, महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करते हैं, अपने विचार रखते हैं, सुझाव देते हैं... उन्होंने कहा, इस तरह आप संचार के माध्यम से नेतृत्व करते हैं। आप अपने लोगों को बताते हैं कि आप भविष्य के बारे में क्या सोचते हैं। आप उसमें क्या समर्थन चाहते हैं। (यह एक) संचार का एक महत्वपूर्ण माध्यम है जो मन की बात के जरिए स्थापित किया जाता है। 

'सीएम' बादल के निधन पर 2 दिन का राजकीय शोक 

'सीएम' बादल के निधन पर 2 दिन का राजकीय शोक 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार सरकार ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के निधन पर बुधवार को दो दिन के राजकीय शोक की घोषणा की। पंजाब के पांच बार मुख्यमंत्री रहे बादल का मंगलवार को मोहाली के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया था। वह 95 वर्ष के थे। बिहार सरकार द्वारा जारी एक परिपत्र के अनुसार, ‘पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के निधन पर राज्य सरकार ने 26 और 27 अप्रैल को दो दिवसीय राजकीय शोक घोषित किया है।

इस दौरान पूरे राज्य में सभी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। इन दो दिन में कोई सरकारी समारोह या आधिकारिक मनोरंजन कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को बादल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा था, बादल ने अपने लंबे राजनीतिक करियर के दौरान कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का सफलतापूर्वक निर्वहन किया। वह सिद्धांतों की राजनीति करने के लिए जाने जाते थे।

उनके निधन से सामाजिक-राजनीतिक क्षेत्र में एक अपूरणीय खालीपन उत्पन्न हो गया है। कुमार ने ईश्वर से शोक संतप्त परिवार को इस दुख को सहन करने की शक्ति व साहस देने की कामना भी की। 

दिल्ली: तापमान के अधिक बढ़ने की संभावना नहीं

दिल्ली: तापमान के अधिक बढ़ने की संभावना नहीं

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली में फिर से हल्की बारिश होने और बादल छाए रहने से तापमान के अधिक बढ़ने की संभावना नहीं है। अगले छ: से सात दिन तक लू चलने के आसार भी नहीं है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, सफदरजंग वेधशाला में बुधवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम 18.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान के 37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

आईएमडी के अनुसार, ताजा पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव की वजह से 26 अप्रैल से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में और 28 अप्रैल से उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में फिर बारिश होने की संभावना है। दिल्ली में अगले छह से सात दिन में आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने के आसार हैं। अप्रैल के अंत तक अधिकतम तापमान के गिरकर कम से कम 32 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचने की संभावना है।

आईएमडी ने इस साल गर्मी के मौसम में देश के अधिकतर हिस्सों में सामान्य से अधिक तापमान रहने और अधिक लू वाले दिन दर्ज किए जाने का अनुमान लगाया है। कुछ क्षेत्रों, खासकर पूर्वी भारत में अप्रैल की शुरुआत और मध्य अप्रैल में कई मौसम प्रणालियों के कारण आंधी चलने, ओलावृष्टि के साथ ही तापमान कम रहने का अनुमान है। मौसम विज्ञान विभाग ने मंगलवार को कहा था कि देश में अगले पांच दिन में लू चलने के आसार नहीं है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन




प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-195, (वर्ष-06)

2. बृहस्पतिवार, अप्रैल 27, 2023

3. शक-1944, बैशाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...