शुक्रवार, 4 सितंबर 2020

नवंबर तक अमेरिका में आएगी 'वैक्सीन'

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने राज्य के सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा है कि अक्टूबर के अंत तक उच्च-जोखिम वाले लोगों को संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन देने के लिए तैयारी करें। बुधवार को एजेंसी की ओर से प्रकाशित दस्तावेज में यह बात सामने आई।


वैक्सीन देने के समय को राजनीतिक महत्व के रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने COVID-19 को रोकने के लिए वैक्सीन बनाने का ऐलान किया। उन्होंने अरबों डॉलर का कमिटमेंट करने के बाद लोगों से नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में खुद को जिताने की मांग की।राष्ट्रपति ट्रंप कोरोना वैक्सीन को लेकर शुरू से मुखर रहे हैं क्योंकि इस बीमारी ने अब तक 180,000 से अधिक अमेरिकियों की जान ले ली है।           


अर्थव्यवस्था को उभारना, युद्ध संकट से बचना

पेरिस। फ्रांस की सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए गुरुवार को 100 अरब यूरो (118 अरब डॉलर) की भारी-भरकम आर्थिक योजना पेश की। इसका लक्ष्य रोजगार का सृजन करना, संकट में फंसे व्यवसायों को उबारना और देश को दूसरे विश्वयुद्ध के बाद के सबसे गंभीर आर्थिक संकट से बाहर निकालना है।


पैकेज में चिकित्सा संबंधी सामानों का विनिर्माण वापस फ्रांस लाने, हाइड्रोजन ईंधन विकसित करने, संग्रहालयों व सिनेमा उद्योग की मदद करने, 21वीं सदी के लायक रोजगार के लिये युवाओं को प्रशिक्षित करने और बेरोजगारी कार्यालयों में अधिक लोगों को बहाल करने के लिए पैसे का प्रावधान किया गया है। फ्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां कास्ते ने कहा, 'यह फ्रांस के समक्ष उपस्थित संकट के आर्थिक व सामाजिक दुष्परिणामों के खिलाफ हमारे संघर्ष की रणनीति का एक महत्वपूर्ण कदम है। 'उल्लेखनीय है कि महामारी से फ्रांस में अब तक 30,600 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। यह ब्रिटेन और इटली के बाद किसी भी यूरोपीय देश में हुई सर्वाधिक मौतें हैं। फ्रांस की सरकार अर्थव्यवस्था को उबारने के लिये पहले ही हजारों अरब यूरो खर्च कर चुकी है।


कास्ते ने कहा, 'फ्रांस ने इस संकट का सामना किया और टिका रहा, लेकिन इसने देश को बहुत कमजोर कर दिया है। अब फ्रांस को बेहद अचानक उपस्थित हुई गंभीर आर्थिक मंदी से भी बाहर निकलना होगा।' फ्रांस की अर्थव्यवस्था में जून तिमाही में 13.8 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है।                


चीन अंतरराष्ट्रीय कानून से बाहर हो चुका है

नई दिल्‍ली/ बीजिंग। भारत समेत अन्य पड़ोसियों की भूमि पर नजर गड़ाने वाला भूमाफिया चीन कोरोना संक्रमण की वैश्विक लड़ाई में भी खलनायक के रूप में उभर रहा है। कोरोना वायरस को मात देने के लिए दुनियाभर के देश परस्पर सहयोग व जानकारियों का आदान-प्रदान कर रहे हैं, लेकिन चीन ने बंदरों का निर्यात रोककर अमेरिका में कोरोना वैक्सीन के निर्माण के रास्ते में अड़ंगा खड़ा कर दिया है।


चीन से गत वर्ष मंगाए 60 फीसद बंदर: अमेरिका में बंदरों की कमी के तीन प्रमुख कारण हैं। एक, कोरोना संक्रमण के कारण बंदरों की मांग में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। दूसरा, चीन ने आपूर्ति बंद कर दी है, क्योंकि वह खुद भी वैक्सीन का विकास कर रहा है। अमेरिका ने पिछले साल चीन से 60 फीसद यानी करीब 35,000 बंदर आयात किए थे। तीसरा, कोरोना संक्रमण से पहले परीक्षण के लिए बंदरों की कमी पर ध्यान नहीं दिया गया और चीन की तरफ से आपूर्ति बंद किए जाने के बाद स्थिति बदतर हो गई।               


रिकॉर्डः 3,300 अरब डॉलर पहुंचेगा घाटा

वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी सरकार का बजट घाटा रिकार्ड 3,300 अरब डॉलर पहुंच जाने का अनुमान है। कोविड-19 से निपटने के लिए जारी उपायों पर हो रहे खर्च और अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए 2,000 अरब डॉलर से अधिक के प्रोत्साहन उपायों को देखते हुए बजट घाटा रिकार्ड स्तर पर पहुंचने की आशंका है। कांग्रेस बजट कार्यालय ने यह अनुमान जताया है। घाटे में वृद्धि का मतलब है कि संघीय कर्ज अगले साल सालाना सकल घरेलू उत्पाद को पार कर जाएगा। यह स्थिति ठीक वैसी ही होगी जैसा कि दूसरे विश्व युद्ध के बाद हुई थी। उस समय संचयी कर्ज अर्थव्यवस्था के आकार से भी अधिक हो गया था। 2019 के घाटे से तीन गुना से भी अधिकः बुधवार को जारी 3,300 अरब डॉलर का अनुमान 2019 के घाटे से तीन गुना से भी अधिक है। वहीं 2008-09 में आयी नरमी के स्तर से दो गुना है। एक तरफ जहां सरकार के खर्च बढ़ रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ मंदी के कारण कर राजस्व कम हुआ है। व्यक्तिगत आयकर संग्रह पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत कम है जबकि कंपनी कर संग्रह 34 प्रतिशत कम चल रही है। अर्थव्यवस्था और लोगों के रोजगार पर पड़ी कोरोना की मारः कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अर्थव्यवस्था को बंद किया गया था। इसका असर अर्थव्यवस्था और लोगों के रोजगार पर पड़ा। रोजगार से हाथ धने वालों को राहत देने के लिए 1,200 डॉलर का सीधे भुगतान और प्रोत्साहन उपायों की घोषणा की गयी। इससे अल्पकाल में अर्थव्यवस्था को राहत मिली।               


टी-20 विश्व कप 1 साल के लिए स्थगित

सिडनी। कोविड-19 महामारी के कारण इस साल का टी-20 विश्व कप एक साल के लिए स्थगित हो गया है। लॉकडाउन और संक्रमण के खतरे को देखते हुए दर्शकों को कम ही क्रिकेट देखने को मिल रहा है। हालांकि इंग्लैंड द्वारा लगातार दो टीमों की मेजबानी करने के बाद अब क्रिकेट वापस से पटरी पर लौटने लगा है। इसी कड़ी में अब आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच टी-20 क्रिकेट का नया रोमांच देखने को मिलेगा।
टी-20 विश्व रैंकिंग में शीर्ष दो टीमों के बीच होने वाली इस श्रृंखला के काफी रोमांचक होने की उम्मीद है। आस्ट्रेलिया दुनिया की नंबर एक टीम है और इंग्लैंड के साथ उनकी प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर है। दोनों टीमों के पास दुनिया के कुछ सबसे आक्रामक बल्लेबाज और तेज गेंदबाज हैं।
अगला टी-20 विश्व कप अब अक्तूबर-नवंबर 2021 में भारत में होगा, ऐसे में आस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच ने इंग्लैंड के साथ सीरीज को लेकर कहा, ‘उम्मीद करता हूं कि यह फाइनल की झलक होगा।’ उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच प्रतिद्वंद्विता हमेशा रोमांचक होती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप किसके सामने खेल रहे हैं या कहां खेल रहे हैं। अगर आप सड़क पर भी खेल रहे हैं तो भी रोमांच होगा।             


भारत-चीन सीमा तनाव, रोक सकेगा रूस

नई दिल्ली/ बीजिंग/ मास्को। दो लोगों के बीच लड़ाई होती है, तो अक्सर बीच बचाव की कोशिश एक ऐसे तीसरे दोस्त को करनी होती है, जो दोनों का अच्छा दोस्त रहा हो। भारत-चीन तनाव के बीच में रूस भी ऐसा ही दोस्त साबित होगा, इस पर चर्चा शुरू हो गई है। भारत और चीन के बीच फ़िलहाल सीमा पर तनाव है। जून में गलवान घाटी में था।फ़िलहाल पैंगोंग त्सो के दक्षिणी तट पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच तनाव बना हुआ है।


ऐसे में कुछ भारतीय मीडिया चैनलों में रिपोर्ट है कि चीन के रक्षा मंत्री वेई फ़ेंघे ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत का समय माँगा है। राजनाथ सिंह इस समय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए मॉस्को में हैं। एससीओ में विदेश मंत्रियों की बैठक में भी भारत-चीन के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत हो सकती है, इसकी भी सुगबुगाहट तेज़ है।           


सोना-चांदी के भाव में दूसरे दिन गिरावट

सोना लगातार दूसरे दिन सस्ता, चांदी के भी भाव गिरे


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। सोने-चांदी के हाजिर भाव में लगातार दूसरे दिन भी गिरावट देखी जा रही है। देशभर के सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोना 51000 के नीचे खुला। वहीं चांदी में भी बड़ी गिरावट देखी गई। कारोबार के अंत में सोना 257 रुपये गिरकर 50927 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ, जबकि चांदी 1528 रुपये प्रति किलो लुढ़क कर 64393 रुपये पर बंद हुई।  वहीं दिल्ली सर्राफा बाजार में गुरुवार को सोना 774 रुपये टूटकर 51,755 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। बुधवार के मुकाबले गोल्ड आज 340 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता होकर 50844 रुपये पर खुला। जबकि चांदी 1559 रुपये प्रति किलो के नुकसान के साथ 64362 रुपये पर खुली।               


सिख विरोधी दंगा, सुप्रीम कोर्ट का झटका

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। 1984 सिख विरोधी दंगा मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे पूर्व कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार की उस याचिका को आज शुक्रवार खारिज कर दिया। जिसमें उन्होंने स्वास्थ्य के आधार पर अंतरिम जमानत दिए जाने का अनुरोध किया था।                 


'जन सेवा केंद्र' पर दिनदहाड़े मारपीट

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
सिंभावली क्षेत्र में बदमाशों के हौसले हुए बुलंद दिनदहाड़े गन पॉइंट पर जन सेवा केंद्र संचालक के साथ मारपीट कर गले से चेन लूटकर कर हुए फरार


गढ़मुक्तेश्वर/ हापुड़। सिंभावली थाना क्षेत्र में बदमाशों के हौसले बुलंद होने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दिनदहाड़े जन सेवा केंद्र संचालक उमेश यादव से मुरादपुर गांव के पास हथियारबंद बदमाशों ने गन पॉइंट पर लेते हुए मारपीट कर उमेश यादव के गले की चैन लूट कर हुए फरार। पीड़ित के द्वारा पुलिस को फोन करने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी पीड़ित उमेश यादव का कहना है कि गनीमत रही कि उसकी गाड़ी में ₹200000 और भी रखे हुए थे जो बच गए हैं। वही सिंभावली पुलिस मामले की जांच गहनता से कर रही है लेकिन मामला संदिग्ध प्रतीत होता है इसलिए पुलिस हर पहलू पर जांच करने में जुटी हुई है वहीं थाना प्रभारी महेंद्र कुमार त्रिपाठी का कहना है कि मामले के हर पहलू से जांच की जा रही है और घटना का जल्द ही खुलासा कर दिया जाएगा।                   


पुलिस देखती रह गई, गैंगस्टर की तैयारी

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


एसओजी ने उठाए 3 मैंच के बुकी


हापुड़ पुलिस देखती रह गई, गैंगस्टर की तैयारी


हापुड़। सट्टे के रूप में विख्यात हापुड़ नगरी में वर्तमान में चल रहे सीपीएल (क्रिकेट टूनामेंट लींग) पर जनपद में लग रहे करोड़ों रुपये के सट्टे में हापुड़ पुलिस देखती रह गई और एसओजी पुलिस दो मैंच बुकियों को उठाकर ले गई। सटोरियों पर गैंगस्टर की तैयारी की जा रही हैं। अन्य सटोरियों को पकड़ने के लिए हापुड़ पुलिस सक्रिय हो गई।


क्रिकेट सट्टे के रूप में विख्यात हापुड़ में क्रिकेट के सट्टे को लेकर सैकड़ों सटोरिये व बुकी सक्रिय हो जाते हैं। आईपीएल सट्टे से पूर्व सीपीएल मैंच में करोड़ों रुपये के सट्टा लगने की सम्भावना के चलते आज जनपद की एसओजी टीम दो मैंच बुकी कलेक्टर गंज निवासी राजीव उर्फ गंगू व श्रीनगर निवासी गगन किनारा, जीतू सटोरया को शिवपुरी में एक स्कूल के सामनै के मकान से उठाकर ले गए।जिन पर गैंगस्टर की तैयारी शुरू हो गई। हांलाकि मामला सटोरियों व पुलिस के बीच लेन देन के बीच की चर्चा का हैं।
सटोरियों के उठानें की सूचना मिलते ही हापुड़ पुलिस सक्रिय हो गई और अन्य सटोरियों व बुकी की तलाश कर रही है।           


हापुड़ः धौलाना पुलिस को मिली सफलता

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
जनपद की थाना धौलाना पुलिस को मिली सफलता


हापुड़। थाना धौलाना पुलिस को मिली बड़ी सफलता लूट और चोरी की योजना बना रहे चार शातिर अपराधियों को थाना धौलाना पुलिस ने मुठभेड़ के बाद किया गिरफ्तार। शातिर अपराधियों के कब्जे से थाना धौलाना पुलिस ने चोरी की बाइक सहित अवैध असला और घटना में प्रयुक्त टेंपो पुलिस ने किया बरामद चेकिंग के दौरान पुलिस के रोकने पर शातिर अपराधियों ने फायर कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान चारों अपराधियों को किया गिरफ्तार चार अपराधियों के कब्जे से चार तमंचे 315 बोर के दो तमंचे एक तमंचा 312 बोर का एक पोनिया तमंचा और जिंदा कारतूस पुलिस ने किए बरामद पिलखुआ सीईओ डॉ तेजवीर सिंह ने किया खुलासा थाना धौलाना पुलिस को मिली सफलता।       


मानसून सत्र में प्रश्नकाल की मांगः कॉन्ग्रेस

कांग्रेस ने संसद के मानसून सत्र में प्रश्न काल लाने की मांग की।


नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने फैसला किया है कि वो 14 सितंबर से शुरू होने वाले संसद सत्र से प्रश्न काल हटाने का मुद्दा लोकसभा अध्यक्ष और राज्य सभा के चेयरमैन के सामने उठाएगी।
राज्य सभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और लोक सभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी सभा अध्यक्षों को पत्र लिखेंगे। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने वीडियो कांफेंसिंग के जरिए एक बैठक की और संसद सत्र के दौरान उठाए जाने वाले मुद्दों पर विचार किया। संसद सत्र शुरू होने से पहले कांग्रेस पार्टी एक बार फिर इस पर विचार करेगी।
सोनिया गांधी को पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन और सुधार की मांग को लेकर लिखे गए असंतुष्टों के पत्र के बाद पार्टी नेताओं की ये बैठक काफी महत्वपूर्ण थी। हालांकि सूत्रों ने बताया कि बैठक में संसद सत्र से जुड़े मुद्दों पर ही चर्चा हुई। चिट्ठी लिखने वालों में प्रमुख गुलाम नबी आजाद ने गुरुवार की वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता की।
पार्टी प्रवक्ता रंदीप सुरजेवाला ने कहा, मुद्दा ये है कि केंद्र सरकार को कैसे जिम्मेदार ठहराया जाय, उसके झूठों को कैसे पर्दाफाश किया जाय और कैसे कल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाया जाय। प्रश्न काल समाप्त कर सरकार सवालों से बचना चाहती है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार चीन के भारत में घुसपैठ पर किसी सवाल का जवाब नहीं देना चाहती। वो भारतीय अर्थव्यवस्था की बुरी हालत पर भी कोई जवाब नहीं देना चाहती। जीडीपी 73 सालों में पहली बार माइनस 24 फीसदी पर चली गई।                 


कॉन्ग्रेसः बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को घेरा

बेरोजगारी के मुद्दे पर राहुल-प्रियंका ने सरकार को घेरा।


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रोजगार के घटते आंकड़े को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि उसकी नीतियों के कारण देश में बेरोजगारी बढ़ रही है और इस संकट को दूर करने के लिए तत्काल आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए।
राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा “मोदी सरकार,रोज़गार, बहाली, परीक्षा के परिणाम दो, देश के युवाओं की समस्या का समाधान दो।” इसके साथ ही उन्होंने सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी (सीएमाअईई) का एक आंकड़ा भी दिया है जिसमें कहा गया है कि अगस्त माह में देश में बेरोजगारी 8.4 फीसदी बढ़ी है।
प्रियंका गांधी वाड्रा ने बेरोजगारी की वजह गिनाते हुए कहा “2017 के एसएससी-सीजीएल की भर्तियों में अभी तक नियुक्ति नहीं हुई। वर्ष 2018-सीजीएल परीक्षा का रिजल्ट तक नहीं आया। वर्ष 2019 के सीजीएल की परीक्षा ही नहीं हुई। वर्ष 2020-एसएससी सीजीएल की भर्तियां निकाली ही नहीं। भर्ती निकले तो परीक्षा नहीं, परीक्षा हो तो रिजल्ट नहीं, रिजल्ट आ जाये तो नियुक्ति नहीं।
उन्होंने आगे कहा “प्राइवेट सेक्टर में छंटनी और सरकारी नौकरियों में भर्तियों पर ताला लगने से युवाओं का भविष्य बर्बाद हो रहा है लेकिन सरकार सच पर पर्दा डालने के लिए विज्ञापनों और भाषणों में झूठ परोस रही है।           


तनावः मोदी ने पुलिस को दिया योग मंत्र

पीएम मोदी ने तनाव झेलने के लिए पुलिस अफसरों को दिया योग का मंत्र।


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी के दीक्षांत समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आईपीएस प्रोबेशनर्स को संबोधित किया।
इस दौरान उन्होंने ट्रेनिंग पूरी करने वाले 28 महिलाओं सहित 131 युवा आईपीएस अफसरों को तनावपूर्ण जीवन में भी खुश रहने के टिप्स दिए। प्रधानमंत्री मोदी ने पुलिस अफसरों से कहा कि योगा और प्रणायाम ऐसे सिद्ध विकल्प हैं, जिसके जरिए आप तनावपूर्ण जीवन में भी खुश रह सकते हैं। दीक्षांत समारोह में गृहमंत्री अमित शाह ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग से हिस्सा लिया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईपीएस अफसरों से कुछ सवाल पूछने के लिए कहा तो तमिलनाडु की आईपीएस अफसर किरण श्रुति ने कार्य के दौरान तनाव की बात कही। इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि तनावपूर्ण जीवन जीने वालों को हमेशा आग्रह करता हूं कि वे योगा, प्राणायाम करें। मन से करेंगे तो इसका बहुत लाभ मिलेगा। तब आपको तनाव कभी महसूस नहीं होगा। आप हमेशा प्रसन्न रहेंगे।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिंदगी की आपाधापी में तनाव भी रहता है, वर्कलोड भी रहता है। हर किसी को रहता है। जीवन का हिस्सा तनाव है। लेकिन, ये ऐसी चीज नहीं है कि जिसको मैनेज न किया जा सके। वैज्ञानिक तरीके से अपने व्यक्तित्व को, क्षमताओं और जिम्मेदारियों की बहुत संतुलित व्यवस्था करते हैं तो आप बड़ी आसानी से चीजों को मैनेज कर सकते हैं।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आप लोगों का क्षेत्र ऐसा है, जिसमें बहुत सी अप्रत्याशित चीजें आ जाती हैं। खुद को हमेशा तैयार रखना होगा। इसके लिए नियमित ट्रेनिंग होना जरूरी है। आप जब फील्ड में काम करेंगे तो पुलिस थाने के लेवल पर उस इलाके मे कुछ ऐसे लोग होंगे, जो ऐसे विषयों पर सरलता से बाते करते होंगे। कभी 15 दिन या महीने में एक बार आप उनको बुलाकर ऐसे विषयों पर चर्चा कर सकते हैं। इन सब बातों से आप चुनौतियों के अनुरूप खुद को ढाल सकते हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, वैसे मैं लगातार आपके यहां (एकेडमी) से निकलने वाले साथियों से दिल्ली में मिलता था। मेरे निवास स्थान पर सबको बुलाता था। लेकिन कोरोना के कारण पैदा हुई परिस्थितियों के कारण ये मौका गंवाना पड़ रहा है। लेकिन पक्का विश्वास है कि कार्यकाल के दरमियान कभी न कभी आप लोगों से भेंट होगी।           


फर्जी रिपोर्ट देने वाले डॉक्टर गिरफ्तार

दिल्ली: कोरोना की फर्जी रिपोर्ट देने वाले गिरोह का भंडाफोड़, डॉक्टर समेत दो गिरफ्तार।


नई दिल्ली। दक्षिणी दिल्ली जिले की पुलिस ने कोविड-19 की फर्जी रिपोर्ट देने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए एक डॉक्टर और उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया है। दक्षिणी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त अतुल ठाकुर ने शुक्रवार को बताया कि गिरफ्तार डॉक्टर की पहचान डॉ. कुश परासर और उसके सहयोगी अमित सिंह के रूप में की गयी है।
मालवीय नगर इलाके में अपना क्लिनिक चलाने वाला डॉ. परासर जानी-मानी लेबोरेट्री की नकली रिपोर्ट तैयार करवा कर लोगों को देता था। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद डॉ. परासर ने बताया कि अब तक वह 75 से ज्यादा लोगों की रिपोर्ट तैयार कर चुका है।
पुलिस उपायुक्त ने बताया कि इस मामले में हौज खास थाने में एक शिकायत मिलने के बाद जांच में पूरा मामला सामने आया। दक्षिणी दिल्ली में नर्स उपलब्ध करवाने का व्यवसाय करने वाले एक शख्स ने डॉ. परासर से संपर्क कर अपनी दो नर्स का कोविड टेस्ट करवाने के लिए कहा। दोनों नर्सों के सैम्पल लिए गये लेकिन उसे किसी लैब में भेजने की बजाय डॉक्टर परासर ने अपने सहयोगी अमित सिंह की मदद से कोरोना की नकली निगेटिव रिपोर्ट बनवाकर उस व्यक्ति को भेज दिया।
अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट पीडीएफ फॉर्मेट की शक्ल में जाने-माने लैब के नाम से होती थी तो कोई शक भी नहीं करता था लेकिन इस बार नर्स की रिपोर्ट कंप्यूटर पर तैयार करने वाले अमित से गलती हो गयी। उसने एक नर्स के नाम में गड़बड़ी कर दी। इसके बाद वो शख्स नाम ठीक करवाने के लिए खुद ही लैब में चला गया। वहां जाकर उसे पता चला कि इस नाम का कोई मरीज उनके यहां रजिस्टर नहीं है, ना ही उनका कोई टेस्ट यहां किया गया है। इसके बाद उस शख्स ने पुलिस में शिकायत कर दी।
शिकायत मिलने पर जांच करके पुलिस ने डॉ. परासर और उसके सहयोगी अमित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में डॉ. परासर ने स्वीकार किया कि उसने सीएआर डाइग्नोस्टिक लैब, मॉडर्न डाइग्नोस्टिक एन्ड रिसर्च सेंटर, डॉ पी भसीन पैथलैब्स प्राइवेट लिमिटेड तथा प्रोग्नोसिस लेबोरेट्रीज के नाम से कोविड की फर्जी रिपोर्ट तैयार कर करीब 75 लोगों को दिए हैं। डॉक्टर कोविड जांच के लिए हर मरीज से 2400 रुपए लेता था।             


खंबे से टकराई कार, 5 लोगों की मौत

तेलंगाना: नालगोंडा में खंभे से टकराई कार, पांच की मौत।


नालगोंडा। तेलंगाना में नालगोंडा जिले के धैर्यपुरी थांडा में हैदराबाद-नागार्जुन सागर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शुक्रवार को एक कार हैदराबाद मेट्रो जलापूर्ति के खंभे से टकराने के बाद पलट गई जिससे उसमें सवार पांच लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि कार हैदराबाद से नागार्जुननगर जा रही थी। हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं एक अन्य ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। दुुर्घटना में कार पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई।                 


वाहन उद्योग के लिए प्रोत्साहन की घोषणा

वाहन उद्योग के लिए प्रोत्साहन की घोषणा जल्द: जावडे़कर।


नई दिल्ली। भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को कहा कि वाहन उद्योग के लिए सरकार जल्द ही प्रोत्साहन की घोषणा करेगी, लेकिन वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में कटौती की उद्योग की मांग पर तुरंत सहमत होना संभव नहीं है।
वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन ‘सियाम’ के 60वें वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुये श्री जावड़ेकर ने कहा “सरकार हर सुझाव पर खुले मन से विचार करने के लिए तैयार है। हम हमेशा आपसे संवाद करते रहते हैं। हम जीएसी घटाने के बारे में तत्काल सहमत नहीं हो सकते, लेकिन इसका मतलब “अंतिम न” भी नहीं है।” प्रोत्साहन पैकेज के बारे में उन्होंने कहा कि वित्त मंत्रालय प्राथमिकता के आधार पर हर तरह के उद्योग के लिए प्रोत्साहन पैकेज तैयार कर रहा है और वाहन उद्योग को भी जल्द शुभ समाचार सुनने को मिलेगा।
उन्होंने कहा कि प्रोत्साहन पैकेज में सबसे पहले दुपहिया, तिपहिया और यात्री बसों को स्थान मिलेगा तथा इसके बाद यात्री वाहनों यानी कारों, उपयोगी वाहनों और वैनों पर भी विचार संभव है। इससे पहले सियाम के अध्यक्ष राजन वढ़ेरा ने सभी श्रेणी के वाहनों के लिए जीएसटी की दर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत करने और सीएनजी बसों की खरीद पर भी इलेक्ट्रिक बसों की तरह प्रोत्साहन देने की मांग की।
जावड़ेकर ने कहा कि भारत स्टेज (बीएस)-6 ईंधन मानकों को अपनाने में वाहन उद्योग ने काफी निवेश किया है और उसके बाद कोविड-19 के कारण मांग में अचानक आई कमी के कारण अब कंपनियों के पास इतना पैसा नहीं है कि वे निकट भविष्य में नये मानकों के लिए निवेश कर सकें। इसलिए इन मानकों को टाल दिया जाना चाहिये।
जीएसटी की दरों में कटौती के बारे में जावड़ेकर ने आश्वासन दिया कि वाहन उद्योग की मांग से वह वित्त मंत्री को अवगत करा देंगे। उन्होंने कहा “आप जीएसटी में स्थायी कटौती की मांग नहीं कर रहे हैं, आप कुछ समय के लिए राहत चाहते हैं। मैं वित्त मंत्री के साथ इस पर चर्चा करुंगा। जीएसटी परिषद् को इस पर फैसला करना होगा जो सामाजिक-आर्थिक प्रभावों को ध्यान में रखकर निर्णय करता है। मुझे उम्मीद है कि सर्वसम्मति से कोई फैसला संभव होगा।”
भारी उद्योग मंत्री ने कहा कि कोविड-19 से हर व्यक्ति और हर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। सरकार के खजाने पर भी इसका असर हुआ है और उद्योगों को मदद करने की उसकी क्षमता प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि भारतीय वाहन उद्योग ने वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बनाई है और अब उसे आत्मनिर्भर भारत की ओर बढ़ते हुए निर्यात बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिये।
भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के अध्यक्ष उदय कोटक ने कहा कि सरकार को त्योहारी मौसम में मांग बढ़ाने के उपाय करने चाहिये। साथ ही कुछ राज्यों में अचानक लॉकडाउन लगा देने से कलपुर्जों की आपूर्ति प्रभावित हो रही है। राज्यों के साथ मिलकर केंद्र सरकार को कलपुर्जों की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करनी चाहिये अन्यथा मांग आने के बावजूद उस अनुपात में उत्पादन नहीं हो सकेगा। उन्होंने मध्यम अवधि में बड़े पैमाने पर और बेहतर सड़कों तथा अन्य बुनियादी ढाँचों के निर्माण की मांग की।
जावड़ेकर ने आश्वस्त किया कि मोदी सरकार ने सड़कों, सुरंगों, पुलों आदि के निर्माण पर ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को लेकर अभी जरूर चिंता है, लेकिन ग्रामीण अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार हो रहा है। इस साल अच्छे मानसून से फसलों का बंपर उत्पादन होगा। इससे न सिर्फ ट्रैक्टरों और दुपहिया वाहनों की माँग बढ़ेगी बल्कि यात्री वाहनों की माँग भी आयेगी।
देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी इंडिया के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी केनिचि आयुकावा ने कहा कि सरकार को देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का प्रयास करना चाहिये क्योंकि आर्थिक परिस्थितियों पर ही वाहन उद्योग का कारोबार निर्भर करता है।                 


बिल्लो तू आग, लॉन्च करने की वजह बताई

हनी सिंह ने लॉकडाउन में ‘बिल्लो तू आग’ को लॉन्च करने की बताई वजह।


नई दिल्ली। रैपर यो यो हनी सिंह और म्यूजीशियन सिंहस्टा एक बार फिर से साथ आए हैं और रैप स्टार हनी का कहना है कि किसी नए गीत को पेश करने के लिए लॉकडाउन बिल्कुल उपयुक्त समय था। गाने का शीर्षक ‘बिल्लो तू आग’ है, जो कि एक गैर-फिल्मी गाना है। ‘मखना’ के बाद इन दोनों कलाकारों ने इस गाने पर फिर से साथ में काम किया है।
हनी ने बताया, “यह लॉकडाउन का समय है। क्लब नहीं खुल रहे हैं और किसी पार्टी वगैरह का आयोजन नहीं किया जा रहा है। मैंने सोचा कि यह किसी गाने को रिलीज करने का सबसे बढ़िया समय है, जब लोग अपने घरों में रहकर या कार में इसे सुन सकते हैं। इसी वजह से मैंने इस गाने को चुना और कुछ इस तरह से इस पर आगे बात बनी।”
गाने पर आगे बात करते हुए हनी ने बताया, “‘बिल्लो तू आग’ को सिंहस्टा ने लिखा और प्रोड्यूस किया है। वह मेरे कलाकार हैं। मैंने साल 2017 में उन्हें साईन किया था और उन्हें इस तरह के संगीत पर काम करने के लिए प्रेरित किया जैसा कि मैं उन्हें करते हुए देखना चाहता था, तो आखिरकार वह इस गाने के साथ आए।”
हनी ने आगे बताया, “उन्होंने (सिंहस्टा) मुझे यह गाना सुनाया और कहा कि ‘मैंने इसे लिखा और इसे म्यूजिक दिया है, अगर आप भी गाने में शामिल होंगे तो काफी अच्छा रहेगा।’ मैंने देखा कि गाने में अपनी एक खासियत है और फिर मैंने इसके लिए अपना संस्करण लिखा।”                 


रेपिस्टः पूर्व यूपी मंत्री को मिली जमानत

लखनऊ: पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को मिली जमानत, देश छोड़कर नहीं जा सकेंगे।


बृजेश केसरवानी


लखनऊ। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने सामूहिक दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद उत्तर प्रदेश के पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को दो महीने की अंतरिम जमानत दे दी है। लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज में भर्ती गायत्री प्रसाद प्रजापति ने कोरोना वायरस संक्रमण का हवाला देकर जमानत की याचिका दायर की थी।                


'गोरखनाथ' मंदिर में आतंकी घुसने की सूचना

गोरखनाथ मन्दिर में आतंकी घुसने की मिली सूचना,आनन-फानन में पहुँचे अधिकारी।
गोरखनाथ मन्दिर में आतंकी घुसने की मिली सूचना, आनन-फानन में पहुँचे अधिकारी मची अफरा-तफरी।


लखनऊ। गोरखनाथ मंदिर में आतंकी घुसने की सूचना मिलने गुरुवार की देर रात हड़कंप मच गया। कंट्रोल रूम में सूचना आते ही आनन-फानन में डॉग व बम स्क्वाड के साथ एसपी सिटी डा. कौस्तुभ व सीओ गोरखनाथ मंदिर पहुंच गए। मंदिर परिसर की सघन तलाशी कराई गई। तलाशी के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली और एलर्ट बढ़ा दिया गया। कंट्रोल रूम में सूचना देने वाले युवक के बारे में छानबीन करने पर पता चला कि वह बांसगांव इलाके के बेदौली बाबू गांव का रहने वाला युवक शिवेंद्र प्रताप सिंह है।
इस संदर्भ में युवक के पिता सुनील सिंह ने बताया कि उनका बेटा मानसिक रोगी है। पिछले 10 साल से केजीएमयू लखनऊ में उसका इलाज चल रहा है। सीओ गोरखनाथ रत्‍नेश सिंह ने बताया कि घरवालों के दावे की जांच चल रही है।                           


'कोरोना' टेस्ट कराने के लिए लगाए गए कैंप

गिद्दड़बाहा। गिद्दड़बाहा हलके में अधिक हो रहे करोना पॉजिटिव मामलों के मद्देनजर जिला प्रशाशन की तरफ से शहर के अलग अलग इलाकों और वार्डों में लोगों के कोरोना टेस्ट करने के लिए कैंप लगाए जा रहे हैं। लोगों को करोना टेस्ट करवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है।


समाजसेवी संस्थाओं के कोऑर्डिनेटर अमनोल जुनेजा बबलू और पूर्व कौंसलर नरिदर कुमार भोला ने बताया कि इलाके में अधिक आ रहे करोना मरीजों को देखते हुए जिला प्रशासन तरफ से शुक्रवार को गिद्दडबाहा की कपास मंडी में स्थित सब्जी मंडी में 151 लोगों के कोरोना के सैंपल लिए गए। उन्होंने बताया कि उक्त कैंप में सिविल अस्पताल गिद्दड़बाहा के एमएलटी शिव गर्ग और मंगत सिंह की तरफ से सब्जी मंडी में लोगों के कोरोना सैंपल लिए गए। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि हमें कोरोना से डरना नहीं है बल्कि अपनी जिम्मेदारी समझते हुए इसके टैस्ट करवा कर अपनी, अपने परिवार और समाज की सेहत बचानी है।             


सैनिटाइज के बाद विद्यार्थियों ने दी परीक्षाएं

रेवाड़ी। जिले के विभिन्न महाविद्यालयों में स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आरंभ हुईं। करीब चार हजार विद्यार्थियों


ने कोरोना काल में परीक्षाएं दीं। परीक्षा केंद्र में प्रवेश के दौरान न सिर्फ विद्यार्थियों को सैनिटाइज किया गया बल्कि उनकी थर्मल स्क्रीनिग भी की गई। परीक्षा के दौरान दो घंटे तक उन्होंने मास्क भी पहने रखा। जो विद्यार्थी मास्क पहनकर नहीं आए थे उन्हें परीक्षा केंद्र में उपलब्ध कराए गए। कोरोना काल में पहली बार तीन शिफ्टों में परीक्षाएं आरंभ हुईं। सुबह के सत्र में 9 से 11 बजे तक कला संकाय, 12 से दो बजे तक विज्ञान व शाम के सत्र में 3 से 5 बजे के दौरान वाणिज्य संकाय के साथ स्नातकोत्तर की परीक्षाएं आयोजित की गईं। दूर-दराज के क्षेत्रों से आने वाले विद्यार्थी परीक्षा आरंभ होने से कई घंटे पहले ही महाविद्यालयों में पहुंचने आरंभ हो गए थे। लंबे अंतराल के बाद महाविद्यालयों में विद्यार्थियों की चहल पहल नजर आई। इस बार विद्यार्थियों को परीक्षा से पूर्व और बाद में पहले की तरह प्रश्नपत्र को लेकर चर्चा करने का अवसर नहीं मिला। विद्यार्थियों की भीड़ एकत्रित नहीं हो इसके लिए चप्पे-चप्पे पर महाविद्यालय का स्टाफ तैनात था। महाविद्यालय परिसर को सैनिटाइज करने के अलावा हर शिफ्ट में परीक्षा आरंभ होने से पहले परीक्षा कक्ष में भी सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया। जिले में 12 राजकीय तथा 4 अनुदान प्राप्त के साथ निजी महाविद्यालयों के साथ 20 महाविद्यालयों के विद्यार्थियों ने परीक्षा दी।           


कौशाम्बीः किशोरी से रेप के बाद की हत्या

कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश के कौशांबी में एक किशोरी की दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी गई. हत्या के बाद पुलिस ने आरोपी को पकड़ने की कोशिश की तो वो भागने लगा। जिसके बाद पुलिस की गोली लगने से वह घायल हो गया। फिलहाल, मामले में कार्रवाई की जा रही है। मामला मलाक मोहिद्दीपुर गांव का है।


यहां मोहिद्दीनपुर गांव में रहने वाली किशोरी सुबह खेतों की तरफ गई थी। जिसके बाद आरोप है कि पड़ोस का युवक राजेश पासी उर्फ हीरो किशोरी के पीछे-पीछे गया। वहां उसने गंगा के कछार में किशोरी के साथ रेप किया। बाद में उसने किशोरी की गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी, एएसपी समेत पुलिस गांव में पहुंची। जहां मामला जानने के बाद आरोपी की तलाश शुरू की गई।       


यूपी में मासूम के साथ फिर रेप, हत्या

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार पर लगातार बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर आरोप लगाए जा रहे हैं। राज्य में महिलाओं के प्रति अपराधों में तेजी आई है और पुलिस आरोपियों को पकड़ने में नाकाम हो रही है। ताजा मामला लखीमपुर खीरी का है जहां एक तीन साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने के बाद उसका गला दबाकर हत्या कर दी गई है। 


इस तीन साल की बच्ची का शव गन्ने के खेत में मिला है। मौके पर पहुंची पुलिस ने कहा है कि बच्ची के साथ रेप हुआ है और फिर उनकी हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि बच्ची बुधवार से गायब थी। बच्ची के सर पर चोट के निशान मिले थे                    । 


'महिला' ने अपनी भतीजी का कराया रेप

चंडीगढ़। हरियाणा के रेवाड़ी जिले के अंतर्गत आने वाले कोसली क्षेत्र के एक गांव में चाची द्वारा मासूम बच्ची से दुष्कर्म कराने का गंभीर और शर्मनाक मामला सामने आया है।


इस मामले में लड़की के परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने एक महिला सहित चार युवाओं के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और साजिश रचने की धारा के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है ।गांव की एक महिला ने अपनी ही देवरानी व गांव के चार युवाओं पर बच्ची से दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। महिला के अनुसार उसके तीन बच्चे हैं। उसकी दो नाबालिग बेटियां अपनी चाची के पास रहती हैं। दो-तीन दिन पूर्व उसकी बेटियों ने उसे बताया कि चाची का गांव के युवक के साथ गलत संबंध है, जिसे उन्होंने देख लिया था। इसके बाद चाची ने उन दोनों बहनों को डराना-धमकाना शुरू कर दिया और कहा कि यह बात किसी को नहीं बतानी है। इतना ही नहीं चाची ने दोनों बहनों को सलाह दी कि वह भी गांव के युवकों- विकास, ललित, मोहन और अमित से बात करना शुरू कर दें। 


आरोप है कि महिला की बड़ी बेटी ने कहा कि चारों युवकों ने उससे प्रेम संबंध बनाने और बातचीत करने के लिए कहा तो उसने इनकार कर दिया। इस बात से नाराज होकर उन्होंने उसे गंदी-गंदी गालियां दीं। आखिर में उसकी चाची ने छोटी बेटी को विकास के हवाले कर उसके साथ दुष्कर्म कराया।      ्        


गोदभराई और बच्चों का किया अन्नप्राशन

रुड़की। राष्ट्रीय पोषण माह के तहत हीराहेड़ी गांव में शुक्रवार को विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया, जहां गर्भवतियों की गोदभराई की गई। वहीं बच्चों का अन्नप्राशन भी कराया गया।


इसके अलावा पोषण बैठक का आयोजन किया गया। इसमें गर्भवतियों एवं धात्रियों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर बाल विकास परियोजना ग्रामीण प्रथम की सुपरवाइजर ऋचा गर्ग ने बताया कि गर्भावस्था में पौष्टिक भोजन करने से गर्भस्थ शिशु का विकास सही होगा और बच्चा स्वस्थ पैदा होगा। साथ ही गर्भवती भी स्वस्थ रहेगी। उन्होंने धात्रियों को शिशु को स्तनपान कराने से होने वाले फायदों के बारे में बताया। सुपरवाइजर ने बताया कि राष्ट्रीय पोषण माह के तहत 30 सितंबर तक विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इसमें महिलाओं को पोषण के संबंध में जानकारी दी जाएगी। कार्यक्रम में हीराहेड़ी की उप प्रधान सुदेश, गर्भवतियों, धात्रियों और आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ता उपस्थित रही (जासं)             


एससी का कुमार को बेल देने से इनकार

सिख दंगा केस में सुप्रीम कोर्ट का सज्जन कुमार को बेल देने से इनकार।


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 1984 सिख दंगे के एक मामले में कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार को जमानत देने से इनकार कर दिया। मुख्य न्यायाधीश एस. ए. बोब्डे, ए. एस बोपन्ना और वी. रामसुब्रहमण्यम की खंडपीठ ने कहा कि सज्जन कुमार को दोषी ठहराए जाने के खिलाफ अपील तभी सुनी जाएगी जब कोर्ट में फिजिकल हियरिंग यानी आमने-सामने सुनवाई होगी।
खंडपीठ ने जमानत की याचिका खारिज करते हुए कहा ये कोई छोटा मोटा केस नहीं है। शीर्ष न्यायालय ने सज्जन कुमार को अस्पताल में रहने की भी इजाजत नहीं दी। कोर्ट के मुताबिक उनका मेडिकल रिपोर्ट ऐसा नहीं है कि अस्पताल में रहने की जरूरत पड़े।
सज्जन की ओर से कोर्ट में पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह ने कोर्ट में जमानत की याचिका लगाई थी। उन्होंने कहा कि ट्रायल कोर्ट और हाई कोर्ट में गवाहों के बयान बदले हुए थे।
कोर्ट ने कहा कि जमानत नहीं दी जा सकती। दंगा पीड़ितों की ओर से पैरवी कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता एच.एस. फुल्का ने विकास सिंह की दलील का विरोध किया और कहा कि सज्जन कुमार के स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है।
इससे पहले मई के महीने में भी कोर्ट ने सज्जन कुमार की जमानत याचिका खारिज कर दी थी और ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट से उनके स्वास्थ्य की जांच करने को कहा था।           


उत्तराखंड में मृतक संख्या-300 पहुंची

उत्तराखंड- राज्य में कोरोना ने ली अब तक 300 लोगों की जान, देखिए जिला वार आंकड़े और रहिए सावधान!


उत्तराखंड में कोरोनावायरस कोविड-19 राज्य के मैदानी और पहाड़ी जिलों में लगातार बढ़ रहा है लिहाजा रोजाना।


देहरादून। कोरोनावायरस के संक्रमण के आंकड़े एक के बाद एक रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। इन सबके बीच सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात यह हैं की कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा भी दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा 300 पहुंच गया है। जबकि 22180 लोग अब तक इस संक्रमण की चपेट में आए हैं। कोरोनावायरस ने अब तक उन लोगों की जान ली है जो अन्य गंभीर बीमारियों से भी ग्रसित थे अकेले देहरादून जिले में 147 लोगों की मौत हुई है नैनीताल जिले में 54 तो हरिद्वार जिले में भी 49 लोग कोरोना के शिकार हुए हैं हालांकि राज्य में एकमात्र चमोली ऐसा जिला है जहां कोरोना के कारण अब तक कोई मौत नहीं हुई अब देखिए जिला वार आंकड़े…..
अल्मोड़ा जिले में अबतक 2 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
बागेश्वर जिले में अबतक 1 व्यक्ति की मृत्यु हुई।
चंपावत जिले में अबतक 3 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
देहरादून जिले में अबतक 147 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
हरिद्वार जिले में अबतक 49 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
नैनीताल जिले में अबतक 54 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
पौड़ी गढ़वाल में अबतक 7 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
पिथौरागढ़ में अबतक 2 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
रुद्रप्रयाग जिले में अबतक 1 व्यक्ति की मृत्यु हुई।
टिहरी गढ़वाल में अबतक 2 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
यूएसनगर नगर में अबतक 30 व्यक्तियों की मृत्यु हुई।
उत्तरकाशी में अबतक 2 व्यक्ति की मृत्यु।             


हास्टल में बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित

लो, हो गया विधायक हास्टल में बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित।


देहरादून। अपने विधायक से मिलने के लिए देहरादून के विधायक हास्टल के लिए दौड़ लगाने वाले नेताओं के लिए यह अच्छी खबर नहीं है। रेसकोर्स स्थित एमएलए हॉस्टल में भी बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस हॉस्टल में अब सिर्फ कर्मचारी और विधायक ही एंट्री कर सकेंगे। कल ही भाजपा के विधायकों ने विधायक हॉस्टल में बाहरी लोगों की आवाजी पर रोक लगाने की मांग की थी। हम आपको बता दें कि नगर निगम देहरादून के मेयर व धर्मपुर के विधायक विनोद चमोली विधायक हास्टल स्थित अपने आवास को कार्यालय के रूप में उपयोग कर रहे थे। उनके यहां लोगों का आना जाना था, चमोली खुद कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। हॉस्टल में कई विधायकों के परिजन रहते हैं। विधायकों की मांग पर राज्य संपत्ति अधिकारी ने तत्काल निवास पर बाहरी लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने का आदेश जारी किया। बाहरी लोगों के रूप में सिर्फ डॉक्टर और दूसरे जरूरी लोगों को ही प्रवेश दिए जाने के निर्देश दिए।               


हथियारों की आपूर्ति पर जताई सहमति

नेतन्याहू ने यूएई में अमेरिकी हथियारों की आपूर्ति पर जताई सहमति।


तेलअवीव। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को हथियार बेचने की अमेरिकी प्रशासन की योजना पर निजी रूप से सहमति जताई है।
प्रधानमंत्री नेतन्याहू के कार्यालय ने अगस्त में एक बयान जारी कर कहा कि इजरायल-यूएई शांति समझौते के तहत यूएई में अमेरिकी हथियारों की आपूर्ति पर इजरायल की सहमति शामिल नहीं थी। अरब देशों, जिनमें वे देश भी शामिल हैं जिन्होंने इजरायल के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, को एफ -35 और अन्य आधुनिक हथियार बेचे जाने पर प्रधानमंत्री नेतन्याहू के विरोध करने की उम्मीद थी।
न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार ने अपने सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नेतन्याहू के कार्यालय की तरफ से दिया गया सार्वजनिक बयान सही नहीं था। सूत्रों के अनुसार नेतन्याहू की पिछले सप्ताह यरुशलम में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के साथ बातचीत के बाद हथियारों के संभावित सौदे के खिलाफ उनकी शिकायतें दूर हाे गयी थी। अमेरिका यूएई को कथित तौर पर एक इलेक्ट्रॉनिक युद्धक विमान ईए -18-जी ग्रोलर बेचना चाहता है।
उल्लेखनीय है कि इजरायल और यूएई ने अमेरिका की सहभागिता से पिछले महीने एक ऐतिहासिक समझौता किया। इस समझौते के तहत अन्य पहलुओं के अलावा इजरायल को वेस्ट बैंक पर नियंत्रण करने की योजनाओं को ठंडे बस्ते में डालना होगा। दोनों देश आने वाले सप्ताह में निवेश, पर्यटन, सुरक्षा और अन्य क्षेत्रों में सहयोग के लिए कई समझौतों पर हस्ताक्षर करने की योजना बना रहे हैं। दो मुख्य फिलिस्तीनी संगठनों फतह और हमास ने इन समझौतों को अस्वीकार कर दिया है।           


जापान में 5.0 तीव्रता का आया 'भूकंप'

जापान में 5.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी की चेतावनी नहीं।


टोक्यो। जापान के फुकुई प्रांत में शुक्रवार को रिक्टर पैमाने पर 5.0 तीव्रता का भूकंप आया। हालांकि, सुनामी की कोई चेतावनी जारी नहीं की गई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) के मुताबिक, भूकंप के झटके सुबह 9.10 बजे आए। इनका केंद्र उत्तर में 36.1 डिग्री अक्षांश और136.2 डिग्री पूर्वी देशांतर पर रहा और 10 किलोमीटर की गहराई पर रहा।
फिलहाल किसी के घायल होने या कोई नुकसान होने की खबर नहीं है।             


विस्फोट में 9 महिलाओं की मौत, कई घायल

तमिलनाडु: पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, नौ महिलाओं की मौत, कई घायल।


कुड्डालोर। तमिलनाडु में कुड्डालोर जिले के कारुमबुड़ी में शुक्रवार को एक पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट से नौ महिलाओं की मौत हो गयी जबकि छह अन्य गंभीर रूप से घायल गये। सूत्रों के मुताबिक फैक्ट्री की मालकिन गंधिमति और उसकी पुत्री तथा 13 अन्य लोग दीवाली पर्व के लिए पटाखा फैक्ट्री का काम शुरू करने गये थे। इससे पहले वे सभी पूजा करने बैठे थे।
इसी दौरान वहां पिछले साल बने पटाखों के भंडार में अचानक आग लग गई जिससे वहां भयंकर विस्फोट हो गया। विस्फोट से गंधिमति और चार अन्य की मौके पर ही मौत हो गयी। मौके पर पहुंचे पुलिस और अग्निशमन दल ने अन्य लोगों को बचाया और चिदम्बरम सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चार और महिलाओं की मौत हो गयी। शेष घायलों का उपचार चल रहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आवश्यक तहकीकात कर रही है।             


इंस्टाग्राम-टिकटोक की जगह लेने की कोशिश

फेसबुक ने शुरू किया इंस्टाग्राम रील्स, टिकटॉक की जगह लेने की कोशिश।


नई दिल्ली। चीनी ऐप टिकटॉक की गैरमौजूदगी में लाखों भारतीय अपनी क्रिएटिविटी दिखाने के लिए नए मंच की तलाश में हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए फेसबुक ने अपना शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप इंस्टाग्राम रील्स भारत में शुरू कर दिया। रील्स टैब नेवीगेशन बार पर एक नया टैब होगा, जो इंस्टाग्राम में एक्सप्लोर टैब को रिप्लेस कर देगा।
रील्स के माध्यम से आप 15 सेकेंड का मल्टीक्लिप वीडियो और ऑडियो रिकार्ड तथा एडिट कर सकते हैं। साथ ही आप इसमें नए इफेक्ट्स और क्रिएटिव टूल्स के माध्यम से वैल्यू एडिशन कर सकते हैं। फोटो शेयरिंग प्लेटफार्म-इंस्टाग्राम ने इसी महीने की शुरुआत में रील्स की टेस्टिंग शुरू की थी।
फेसबुक इंडिया के निदेशक (पार्टनरशिप्स) मनीष चोपड़ा ने कहा, “भारत पहला ऐसा देश है, जहां हम रील्स शुरू कर रहे हैं। हमने यहां काफी क्रिएटिविटी देखी है। हमें आशा है कि लोग रील्ड को एन्जॉय करेंगे।” रील्स को अभी यूरोप में नहीं शुरू किया गया है।
टिकटॉक के जाने के बाद इंस्टाग्राम रील्स युवा भारतीयों का सबसे पसंदीदा ऐप बन गया था। एक शोघ के मुताबिक 18 से 29 साल के बीच के 10 में सात भारतीय इसे पसंद करते हैं और उनका कहना है कि वे वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म के तौर पर उपयोग में लाना चाहते हैं।
टिकटॉक चीनी ऐप है और इसके बैन के बाद भारतीय भारत में बने या सीधे तौर पर गैर चीनी ऐप्स यूज करना चाहते हैं। 68 फीसदी टिकटॉक कंटेंस क्रिएटर्स का कहना है कि वे आने वाले समय में भारतीय या फिर नॉन-चाइनीज वीडियो शेयरिंग ऐप उपयोग में लाएंगे।             


राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश संक्रमित

राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनियां कोरोना संक्रमित।


जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष डा. सतीश पूनियां भी वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। डा. पूनियां ने स्वयं सोशल मीडिया पर यह जानकारी देते हुए कहा “कल जोधपुर जिले के प्रवास से आने के बाद कोराना की जांच कराई यद्यपि मुझे लक्षण नहीं थे लेकिन मेरी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है और डाक्टरी सलाह पर मैंने स्वयं को घर पर ही आइसोलेट किया है।”
उन्होंने कहा कि गत दिनों उनके संपर्क में आए लोगों को भी अपना परीक्षण करवा लेना चाहिए। पूनियां के कोरोना पॉजीटिव पाये जाने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए कहा ‘‘मुझे डा. पूनियां की कोरोना रिपोर्ट पोजिटिव पाये जाने की जानकारी मिली है। मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।”
विधानसभा अध्यक्ष डा. सीपी जोशी ने भी ट्वीट कर कहा कि पूनियां के कोरोना पॉजिटिव होने का समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से प्रार्थना है कि वह शीघ्र स्वस्थ हो। केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, कैलाश चौधरी एवं अर्जुन राम मेघवाल, भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, सांसद हनुमान बेनीवाल,राजेन्द्र गहलोत, किरोड़ी लाल मीणा, रामचंद्र बोहरा सहित कई सांसद, विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने भी पूनियां के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।
इसी प्रकार पूर्व मंत्री एवं विधायक विश्वेन्द्र सिंह ,विधायक वासुदेव देवनानी, किरण माहेश्वरी, नारायण बेनीवाल सहित कई विधायकों एवं कांग्रेस नेता रामेश्वर डूडी तथा अन्य कई नेताओं ने उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। डा पूनियां बुधवार को जोधपुर जिले के दौरे पर गये थे। जिले के फलौदी में जोधपुर देहात के पूर्व जिलाध्यक्ष राधकिशन थानवी के निधन पर उनके परिजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त की।
कोरोना संक्रमित थानवी का जोधपुर एम्स में निधन हो गया था। इसके बाद वह ओसियां तहसील के मांडिया गांव जाकर किसान आंदोलन के दौरान तबीयत बिगड़ने से अपनी जान गंवाने वाले युवा किसान नेता पुखराज डोगियाल के परिजनों को भी ढांढस बंधाया था। डोगियाल की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिली थी। इस दौरान पूनियां से भाजपा के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता सहित कई लोग संपर्क में आये थे। उन्होंने जोधपुर में प्रेस वार्ता भी की थी।
उल्लेखनीय है कि इससे पहले परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र सिंह राठौड़, केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, विधायक पब्बाराम विश्नोई, हमीर सिंह, रफीक खान, राम लाल जाट, अशोक लाहोटी एवं अर्जुन लाल जीनगर आदि भी कोरोना पीड़ित पाए गए थे।             


'चुनाव' के साथ होगें राज्यों के उपचुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव के साथ होंगे विभिन्न राज्यों के उपचुनाव।


नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव के समय ही विभिन्न राज्यों की 65 सीटों के लिए उपचुनाव कराने का फैसला किया है। आयोग ने शुक्रवार को विज्ञप्ति में कहा कि विभिन्न राज्यों की विधानसभाओं की 64 सीटों और एक संसदीय सीट पर उपचुनाव बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही कराए जाएंगे।
गौरतलब है कि 29 नवंबर से पहले बिहार विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया पूरी होनी है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि शुक्रवार को इन सीटों के उपचुनाव के बारे में आयोग की बैठक हुई और उसमें विभिन्न राज्यों के मुख्य सचिव, मुख्य चुनाव अधिकारियों आदि की रिपोर्ट और सुझाव पर विचार-विमर्श किया गया तथा वहां होने वाली बारिश के अलावा कोविड-19 को भी ध्यान में रख कर यह फैसला किया गया कि बिहार विधानसभा के चुनाव के आसपास ही इन सीटों के लिए भी उपचुनाव होंगे।
आयोग ने कहा है कि आयोग उचित समय पर जल्द ही बिहार विधानसभा चुनाव और इन सीटों के उपचुनाव की घोषणा करेगा।               


आस्था के आगे कमजोर दिखा 'कोरोना'

श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में लगाई आस्था की डुबकी


प्रशांत शर्मा


डलमऊ/रायबरेली। एक तरफ जहां कोरोना कहर चरम पर है तो वहीं दूसरी ओर भाद्र पूर्णिमा के शुभ अवसर पर गंगा नदी में स्नान करने के लिए स्नान घाटों पर जबरदस्त भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में आस्था की डुबकी लगाकर मन्नते मांगी। यहां भक्तों की आस्था के आगे कोरोना का कहर बौना साबित हुआ। 


आपको बता दें कि, भाद्र मास की पूर्णिमा के शुभ अवसर पर मंगलवार को स्नान घाटों पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही, श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में स्नान करने के लिए स्नान घाटों पर 1 दिन पूर्व ही अपना डेरा डाल लिया था। मंगलवार की अर्धरात्रि से ही श्रद्धालुओं ने हर हर गंगे के जयकारों के साथ गंगा नदी में स्नान करना प्रारंभ कर दिया, प्रातकाल होते-होते स्नान घाटों पर जबरदस्त भीड़ लगी रही। उधर पुलिस प्रशासन की मुराई बाग चौराहे से लेकर स्नान घाटों के मुख्य मार्गों पर चप्पे-चप्पे पर तैनात रही। जिससे विभिन्न क्षेत्रों एवं जनपदों से आने वाले श्रद्धालुओं को जाम की समस्या से परेशान नही होना पड़ा। सुबह करीब 7:00 बजे से लेकर 10 के बीच दूरदराज से श्रद्धालुओं का आवागमन प्रारंभ हो गया।           

पंजाब की बेटी ने 'इटली' में लहराया परचम

रोम। पंजाब की बेटी ने इटली में समूह भारत निवासियों का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। दरअसल, इटली में पंजाब से आकर बसे पंजाबी परिवार की होनहार बेटी सरेना ने इटली के स्थानीय पुलिस में भर्ती होकर माँ-बाप का भी नाम रौशन किया है। जानकारी मुताबिक 49 पोस्टों के लिए 1500 के करीब कैडीडेट पहुँचे, जिनमें पहले नंबरों में पंजाबी महिला सरेना का नाम आया है। सरेना को इटली की पहली पंजाबी महिला लोकल पुलिस में भर्ती हुई होने का मान प्राप्त हुआ है। पंजाब की होनहार बेटी सरेना इटली के हरदयाल और कृष्णा की बेटी है, जिसने 2017 में कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री 100 में से 100 नंबर हासिल किये थे। पंजाब के गाँव वीर बंसियां तहसील फिलौर के साथ संबंधी  परिवार के तीन बच्चे, जिन में मलिक लड़का और सेरेना और जेसिका लड़कियाँ हैं। इन 3 बच्चों को हरदयाल ने नाम सिर्फ़ उच्च मानक विद्या पढ़ाई ही नहीं बल्कि डा. भीमराव अम्बेडकर साहब जी के मिशन प्रति भी पूरी तरह जागरूक किया है। जहाँ सरेना इटली भर में नयी मिसाल कायम कर पंजाब के लिए मान का पात्र बनी है।                  


ताइवान से छिप दोस्ती कर रहा 'पाक'

बीजिंग/ इस्लामाबाद/ ताइपे। चीन को अपना 'आयरन ब्रदर' बताने वाला पाकिस्‍तान अब पेइचिंग के दुश्‍मन ताइवान से चुपके-चुपके दोस्‍ती बढ़ाने में जुट गया है। पाकिस्‍तान ताइवान के साथ व्‍यापार बढ़ाने की फिराक में लगा है। गत दो सितंबर को मिस्र की राजधानी काहिरा में पाकिस्‍तान की व्‍यापार अधिकारी स‍िदरा हक ने स्‍थानीय ताइवानी ट्रेड सेंटर के दौरे की तस्‍वीर पोस्‍ट की थी। इसमें ट्रेड सेंटर के डायरेक्‍टर माइकल येन भी नजर आ रहे हैं।
स‍िदराह ने कहा कि उनके और माइकल के बीच पाकिस्‍तान और ताइवान व्‍यापारिक संबंधों को मजबूत बनाने और स्‍थानीय बिजनस मार्केट के बारे में सूचनाएं साझा करने पर बातचीत हुई। सिदरा हक ने उत्‍साह में आकर यह पोस्‍ट तो कर दिया लेकिन बहुत जल्‍द ही उन्‍होंने इसे डिलीट भी कर दिया। माना जा रहा है कि चीन के डर से पाकिस्‍तानी अधिकारी ने अपनी पोस्‍ट को डिलीट कर दिया।           


अकेले ड्राइविंग करने पर मास्क जरूरी नहीं

बाइक, साइकिल या कार अकेले चले जा रहे हैं तो जरूरी नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के जानिए मार्गदर्शक


नई दिल्ली। अगर आप कार, बाइक या फिर साइकिल से अकेले जा रहे हैं तो वर्क लगाने की कोई ज़रूरत नहीं है। स्पर्श लगाना तभी अनिवार्य है जब आप कई लोगों के साथ आ रहे हैं।
राज्यों में अक्सर ऐसे मामले तेजी से सामने आ रहे हैं कि बिना पूछे लगाकर बाइक, कार या साइकिल चलाने पर पुलिस वाले चेकिंग के दौरान अभिलेख काट दे रहे हैं। लोग भी इसी दहशत के चलते संकाय पहनकर निकल रहे हैं। हालांकि स्वेच्छा से संकाय पहनना खराब नहीं है लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय की ऐसी कोई अनिवार्य गाइडलाइन नहीं है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने ऐसा स्पश किया है। उनके प्रमुख समाचार पत्रों में दिए गए बयान के अनुसार अकेले व्यक्ति का केवल इसलिए संयोजन नहीं किया जा सकता है कि वह बेकार नहीं पहनेगी।           


दिमागी बुखार से दो बहनों की हुई मौत

दिमागी बुखार से एसटीएच में दो बहनों की मौत।


हल्द्वानी। कोरोना महामारी से जूझ रही उत्तराखंड में अब दिमागी फू ने दस्तक दी है। इस बीमारी को जापानी इंसेफलाटिस भी कहा जाता है। आज रात हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में दिमागी फू से पीड़ित दो सगी बहनों की मौत हो गई। दोनों बहने खटमा के रहने वाले थे। बड़ी बहन की उम्र 8 साल और छोटी की 6 साल बताई जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार खतमा के सिसैया गांव के रहने वाले सुनील कुमार की दो बेटियों करिश्मा और अर्चना में दिमागी बुखार के लक्षण दिखाई पड़े थे। उन्हें लगातार बुखार आ रहा था। स्थानीय चिकित्सकों को दिखाने के बाद भी जब दोनों बहनों का बुखार नहीं उतरा तो बच्चों को सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वार लाया गया। करिश्मा और अर्चना नाम की दोनों बहनों को 27 अगस्त को एसटीएच हल्द्वानी लाया गया था। यहां हालत गंभीर होने के कारण उन्हें आईसीयू में रखा गया।


            


सीएम ने जारी किया अपना 'हेल्पलाइन नंबर'

अगर आपको कहीं कोई सरकारी तौर पर दिक्कत आ रही है तो सीधे करें मुख्यमंत्री से शिकायत। सीएम ने जारी किया अपना यह हेल्पलाइन नंबर।


पंकज कपूर


देहरादून। कोरोना काल में सरकारी अव्यवस्थओं की बढ़ती शिकायतों कर लगाम कसने के लिए मुख्यंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बड़ी पहल की है। उन्होंने जन सुविधा के लिए एक हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया है, जिसमें अब अगर किसी को भी शिकायत है और अधिकारी लेवल पर उसकी सुनवाई नहीं हो रही है तो वह सीधे समन्धित नम्बर पर फोन करके मुख्यमंत्री से शिकायत कर सकते हैं।
मुख्यमंत्री के जनसम्पर्क अधिकारी विजय बिष्ट ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कोरोना काल में जन सुविधा के लिए हेल्प लाईन नम्बर 7895322390 जारी किया है। उन्होने कहा कि किसी भी व्यक्ति को कोविड-19 के उपचार या अन्य समस्या होती है तो वे उनसे इस हेल्प लाईन नम्बर पर सम्पर्क कर सकते हैं।
उन्होने कहा कि सरकार कोविड-19 को लेकर बेहद सजग व संजीदा है तथा मरीजों के उपचार हेतु संसाधन की कोई कमी नही है। उन्होने लोगो से अपील की है कि सरकार तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नियमों का गम्भीरता से पालन करें तथा समाजिक दूरी, मास्क सेनिटाइजर का उपयोग करें तथा कोरोना को हराने के लिए पूरी सावधानियां बरते।              


चर्बी की परेशानी से छुटकारा दिलाएगा 'सूप'

बढ़ती चर्बी की परेशानी से छुटकारा दिलाएगा ये सूप, जाने कैसे बनाएं...


रायपुर। आएं दिन हम शरीर की बढ़ती चर्बी को लेकर परेशान रहते हैं। ऐसे में कई तरह के उपाय भी करते हैं। लेकिन एक्सरसाइज के साथ इन सब्जियों को मिलाकर बनाएं गए सूप से शरीर की चर्बी बहुत आसानी से कम हो जाएगी। 
ऐसे बनाएं सूप : 1 पत्‍ता गोभी, 2 बड़े प्याज, 2 हरी मिर्च, 3 गाजर, 1 बड़ा टमाटर, 1 गुच्‍छा सेलेरी, 4 मशरूम, 5-6 लहसुन, 6 कप पानी ले लें। इसके बाद सबसे पहले सभी सब्जियों को छोटे टुकड़ों में काट लें, एक बड़े बर्तन में पानी उबालें। सभी चीजों को उसमें डाल दें और अच्छे से हिलांए। इसे उबलने दें और 15-20 मिनट के लिए पकाएं, आपका सूप तैयार है इसमें नमक धनिया पत्ती और काली मिर्च डालकर सर्व करें।             


परीक्षा के लिए 7 से भर सकेंगे फॉर्म

10 वीं 12 वीं के छात्र बोर्ड परीक्षा के लिए 7 सितंबर से भरेंगे।


रायपुर। सीबीआई ने 2021 में होने वाले बोर्ड परीक्षा के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया ।इसके अनुसार 10 वीं और 12 वीं के छात्रों को 7 सितंबर से 15 अक्टूबर तक फॉर्म भरने का सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए 1500 / और एसटी एससी वर्ग के छात्रों के लिए। 1200 छात्रों परीक्षा शुल्क निर्धारित किया गया है 12 वीं के छात्रों को प्रायोगिक परीक्षा के लिए प्रत्येक विषय देने के लिए 150 देना होगा और जो छात्र समय तिथि के अंतराल में फार्म नहीं भरेंगे उनके लिए भी विलंब शुल्क 2000 के साथ दिनांक 16 से 31 अक्टूबर तक फॉर्म भर दें। हैं।
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 2021 सत्र के लिए कोरोना संक्रमण काल ​​को देखते हुए वार्षिक परीक्षा के लिए सिलेबस को 30% तक कम कर दिया है इसी प्रकार बोर्ड परीक्षा में अब 20% ऑब्जेक्टिव के प्रश्न होंगे।                 


भारतः सेना प्रमुख नरवणे ने दिया बयान

चीन के साथ तनाव… एलएसी पर स्थिति बहुत नाजुक और गंभीर…सेना प्रमुख नरवणे ने दिया ये बड़ा बयान…देखें वीडियो।


नई दिल्ली। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनावपूर्ण हालात हैं और भारत-चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं।तनाव को देखते हुए भारतीय सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे दो दिवसीय लद्दाख दौरे पर हैं, जहां वह सभी तैयारियों की समीक्षा कर रहे हैं।आज मीडिया से बात करते हुए जनरल नरवणे ने कहा कि एलएसी पर स्थिति नाजुक और गंभीर है।               


कलेक्टर की पीएम से शिकायत पर बवाल

कलेक्टर की प्रधानमंत्री से शिकायत पर बवाल।


कलेक्टर शीलेंद्र सिंह की भाजपा सांसद वीरेंद्र कुमार खटीक द्वारा प्रधानमंत्री कार्...
छतरपुर। कलेक्टर शीलेंद्र सिंह की भाजपा सांसद वीरेंद्र कुमार खटीक  द्वारा प्रधानमंत्री कार्यालय  में की गई शिकायत का मामला गरमा गया है। दरअसल केंद्र की योजना की संबंधी बैठक में कलेक्टर के उदासीन रवैए को लेकर खटीक ने कलेक्टर की शिकायत सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय में की थी जिस पर संज्ञान लेने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्यमंत्री सचिवालय को पत्र लिखा था।
दो दिन पहले हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को सान्सद के प्रति किए गए व्यवहार को लेकर फटकार लगाई थी। इस पूरे मामले में बीजेपी के विधायक राजेश प्रजापति  ने कलेक्टर का बचाव किया है ।उनका कहना है कि यदि सांसद को कोई शिकायत थी तो सीधे मुख्यमंत्री या संगठन से करनी चाहिए थी क्योंकि मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार सत्ता में है ।सामान्य शिष्टाचार के नाते यह शिकायत मुख्यमंत्री से की जाती तो ज्यादा ठीक होता।
विधायक ने यह भी कहा कि कोरोना बैठक में खुद मुख्यमंत्री कलेक्टर के काम की तारीफ कर चुके हैं ।ऐसे में कलेक्टर गलत कैसे हो सकते हैं। इस बारे में सांसद खटीक का कहना है कि क्योंकि वे केंद्र के प्रतिनिधि हैं।इसीलिए उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री से शिकायत की। इसमें गलत क्या है। लेकिन इस पूरे मामले में छतरपुर जिले में बीजेपी के भीतर चल रही गुटबाजी को उजागर कर दिया है।             


मृतक संख्या-1096, संक्रमित-39 लाख

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 39 लाख के पार…24 घंटे में 83341 नए मामले…1096 मौतें।


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के नए मामलों में अब रोजाना ही नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। देश में पिछले 24 घंटों में 83,341 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 1,096 लोगों की जान चली गई है। देश में अब कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 40 लाख के करीब पहुंच गई है। इससे पहले देश में सर्वाधिक तीन सितंबर को 83,883 मामले सामने आए थे।
देश में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 39 लाख 36 हजार हो गई है। इनमें से 68,472 लोगों की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस की संख्या 8 लाख 31 हजार हो गई और 30 लाख 37 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब तीन गुना अधिक है।
मृत्यु दर में गिरावट
राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।मृत्यु दर गिरकर 1.74% हो गई।इसके अलावा एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर भी घटकर 21% हो गई है।इसके साथ ही रिकवरी रेट यानी ठीक होने की दर 77% हो गई है।भारत में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है.
आईसीएमआर  के मुताबिक, कोरोना वायरस के 54% मामले 18 साल से 44 साल की उम्र के लोगों को हैं लेकिन कोरोना वायरस से होने वाली 51% मौतें 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में हुईं हैं। 3 सितंबर तक कोरोना वायरस के कुल 4 करोड़ 66 लाख सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 11 लाख सैंपल की टेस्टिंग कल की गई। पॉजिटिविटी रेट 7 प्रतिशत से कम है।
एक्टिव केस के मामले में टॉप-5 राज्य
आंकड़ों के मुताबिक, देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। महाराष्ट्र में डेढ़ लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का तीसरा स्थान है।कोरोना संक्रमितों की संख्या और मौत के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है। अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है।               


'यॉर्कर' स्टार गेंदबाज आइपीएल से बाहर

मुंबई इंडियंस का ये ‘यॉर्कर’ स्टार गेंदबाज पूरे आईपीएल से बाहर, उनकी जगह टीम ने इस खिलाड़ी का चुना।


मुंबई। आईपीएल सीजन-13 की शुरुआत तो 19 सितंबर से होनी है लेकिन उससे पहले ही फ्रेंचाईजी टीमें सुर्खियां बटोरनी शुरू कर चुकी हैं, अभी हाल ही में चेन्नई सुपरकिंग्स किसी न किसी कारणवश सुर्खियों में रही, और अब मुंबई इंडियंस सुर्खियों में है और उसकी वजह है टीम के स्टार गेंदबाज यॉर्कर स्पेशलिस्ट लसिथ मलिंगा का मौजूदा सीजन के पूरे आईपीएल से बाहर हो जाना, मुंबई इंडियंस के स्टार गेंदबाजों में से एक हैं लसिथ मलिंगा, उनके इस फैसले के बाद अब मुंबई इंडियंस ने भी अपनी टीम में एक खिलाड़ी शामिल कर लिया है, और उसके नाम का भी ऐलान कर दिया है।
मुंबई इंडियंस ने जो प्रेस रिलीज जारी की है उसके मुताबिक लसिथ मलिंगा ने  निजी कारणों से इस सीजन में अनुपलब्ध होने का आग्रह किया है, और वो श्रीलंका में अपने परिवार के साथ रहना चाहते हैं, बताया जाता है कि मलिंगा के पिता बीमार हैं और उनकी सर्जरी  हो सकती है, और ऐसे समय में मलिंगा श्रीलंका में अपने पिता के साथ रहना चाहते थे, इसलिए उन्होंने पिछले महीने टीम के साथ अबु धाबी नहीं जाने का विकल्प चुना।
मलिंगा की जगह पर अब मुंबई इंडियंस ने भी ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जेम्स पेटिंसन को चुन लिया है, और वो इस हफ्ते के अंत में यूएई में मुंबई इंडियंस की टीम से जुड़ जाएंगे।
टीम के मालिक आकाश अंबानी ने पैटिंसन का स्वागत किया है और मलिंगा को अपना समर्थन दिया है, उन्होंने कहा है कि जेम्स हमारे साथ फिट होने के लिए सही खिलाड़ी हैं, और हमारे इस समय तेज गेंदबाजों के उपलब्ध विकल्पों में शामिल होंगे।
गौरतलब है कि लसिथ मलिंगा श्रीलंका के धाकड़ गेंदबाजों में से एक हैं, और उन्होंने मुंबई इंडियंस की टीम के लिए लंबे समय से गेंदबाजी की है, उनका आईपीएल से इस तरह से बाहर होना मुंबई इंडियंस की टीम के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।               


चोरियों की घटनाओं का खुलासा, 5 अरेस्ट

फिरोज अली सैफी 


गाज़ियाबाद। थाना मुरादनगर पुलिस ने मंगलवार रात्रि चेकिंग के दौरान ग्राम ढ़िधर के रजवाहा के पास से पांच शातिर थनों को गिरफ़्तार किया हैं, जोकि गैंग बनाकर चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया हैं, वहीं इनका एक साथी मौके से फरार हो गए हैं। हालांकि, पुलिस को उनके कब्ज़े और इनकी निशानदेही पर इनसे एक देशी पिस्टल, दो देशी कट्टे, एक बंदूक और कई कारतूस और एक अवैध चाकू, एक पिकअप टेंपो, चोरी की एक मोटरसाइकिल (सिटी डीलक्स), एक ट्रक अजय इंजन, एक वाटर कूलर , तीन कंप्यूटर, दो पंखे, बारह पंखुड़ी, एक इनवर्टर, दो बैटरी और एक पीडीएफआर भी बरामद हुए हैं। पुलिस को पकड़े गए अभियुक्तों ने अपना नाम वसीम उर्फ ​​सोनू पुत्र स्वर्गीय उमर सोनी, दूसरे ने शोएब उर्फ ​​काला पुत्र इलियास, तीसरे ने राहुल पुत्र ओमवीर, चौथे ने फरमान उर्फ ​​बाबा पुत्र पिनस निवासी थाना मुरादनगर और पांच ने जीवन पुत्र प्रमोद निवासी थाना फतेहपुर सीतापुर को बताया। बताए गए हैं। 


पूछताछ में पकड़े गए अभियुक्तों ने बताया कि इस गिरोह का सरगना वसीम उर्फ ​​सोनू हैं और वह हेरिटेज मेकर चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया करते हैं। गौरतलब है कि अभियुक्त गण पहले तो सुनसान जगाओ पर स्थित स्थानों को चिन्हित किया करते हैं और फिर अगले दिन उसकी रैकी किया करते हैं और बाद में रात को चोरी की घटनाओं को अंजाम दें देते हैं। इतना ही नहीं, अभियुक्त गणों ने यह भी बताया कि वह मेरठ निवासी सनी नामक व्यक्ति से अवैध असलहा लेकर आते हैं और फिर उसे बेच भी देते हैं। बता दें कि वर्तमान में अभियुक्त सनी जेल में बंद हैं। हस्तक्षेप में अभियुक्त गणों ने यह भी बताया कि थाना मुरादनगर के रावली चौकी क्षेत्र के एवीएन स्कूल और आईपीएस चौकी क्षेत्र की दुकानों और शराब के ठेकों में भी हुई चोरियों की घटनाओं को कारित कर देना का भी इकबाल किया है।


थाना मुरादनगर के प्रभारी निरीक्षक अमित कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए अभियुक्त शातिर किस्म का अपराधी हैं, जिनके खिलाफ आधा दर्जन के करीब मुकदमें जनपद के थाना मुरादनगर, सिहानी गेट और थाना शिशुपाल गौतमबुद्धनगर में भी दर्ज हैं। इसके अलावा इसमें उन्होंने यह भी बताया कि बरामद किए गए सामान की कीमत लगभग तीन लाख रुपए के लगभग की हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी बताया कि अभियुक्त गणों की गिरफ़्तारी के दौरान एक अभियुक्त प्रह्लाद घड़ी कौशांबी गाज़ियाबाद निवासी सोनू मौके से फरार हो गया था, जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करके इनको जेल भेज दिया है और उनके फरार साथी सोनू की तलाश शुरू कर दी हैं। बता दें कि अभियुक्त गणों को गिरफ्तारी करने वाली टीम में थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक अमित कुमार, उपनिरीक्षक हरेंद्र सिंह राणा, सिपाही ललित कुमार, प्रवेश, अनुज और सिपाही नीरज मौजूद थे।


'आत्माओं' से बात करने के सरल तरीके


नई दिल्ली। हम आपको बता दें कि यह बातें स‌िर्फ मान्यताओं पर आधार‌ित है ज‌िन पर लोग परंपरागत तौर पर यकीन करते आए हैं। इनका कोई वैज्ञान‌िक आधार नहीं है। यह अंधविश्वास भी हो सकता है। आत्माओं के होने या नहीं होने के बारे में सदियों से विवाद जारी है। अधिकतर उनका अस्तित्व मानते हैं और कुछ नहीं मानते। इसी तरह प्राचीन सभ्यताओं के काल से ही आत्माओं को बुला कर उनके माध्यम से अपने जीवन की समस्याओं के हल का प्रचलन रहा है।



कहते हैं कि अच्छी और बुरी दोनों तरह की आत्माएं होती हैं। अच्छी आत्मा अच्छा करती है तो बुरी आत्माओं से व्यक्ति छुटकारा पाना चाहता है। सुनते आए हैं कि कुछ लोग भूत-प्रेत से ग्रस्त रहते हैं तो किसी के घर में भूत है जो परिवार के सभी सदस्यों को परेशान करता रहता है। जिन लोगों के पास आध्यात्मिक शक्ति होती है उनके पास भूत-प्रेत फटकते तक नहीं है। 



इस विश्वास या अंधविश्वास के चलते बहुत से लोग भूत भगाने का दावा करते हैं तो कुछ लोग भूत ‍बुलाने का। इस प्रचलन के बीच पिछले कुछ वर्षों से आत्मा बुलाने के नए-नए तरीके इजाद हो गए हैं। उन तरीकों का इस्तेमाल करके कुछ लोगों ने तो मुसिबत मोल ले ली है और कुछ के दावे अनुसार उन्होंने अपनी समस्याओं का हल कर लिया है। आओ जानते हैं ऐसे ही कुछ प्रचलित तरीके के बारे में। हालांकि यहां यह दावा नहीं किया जाता है कि यह तरीके यह सही हैं।



आत्म को बुलाने की विद्या को आजकल प्लेनचिट कहा जाता है। यह आत्माओं को बुलाने का विज्ञान है। प्राचीन काल से ही यह कार्य किया जाता रहा है। कुछ आत्माएं जिन्हें शांति प्राप्त नहीं हुई है, वे प्लेनचिट के माध्यम से आपको भूत, भविष्य एवं वर्तमान तीनों कालों की जानकारी दे सकती हैं। आप उनसे अपनी परेशानी का हल प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि इसमें खतरे बहुत है।             


किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहींः खालसा

राजेंद्र कुमार
सिरसा। गुरुद्वारा श्री दसवीं पातशाही के प्रधान प्रकाश सिंह की शिकायत पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने कुलवंत सिंह, जसवंत सिंंह व जसवीर पुत्रान हरदीप सिंह और सिमरजीत कौर पत्नी जसवंत सिंह के खिलाफ विभिन्न अपराधिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है और पुलिस इस मामले में सख्त से सख्त सजा आरोपियों को दिलाए। इस मांग को लेकर श्री गुरुग्रंथ साहिब सत्कार सभा के प्रधान सुखविंद्र सिंह खालसा व शिरोमणी अकाली दल के जिलाध्यक्ष लखविंद्र सिंह गुरुवार सुबह दसवीं पातशाही गुरुद्वारा में पत्रकारों से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब सिख समाज का सम्मान है। इसकी बेअदबी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जा सकती। उक्त आरोपियों ने अपनी रंजिश के चलते श्री गुरु ग्रंंथ साहिब के पेज के पन्न फाड़े, जिससे सिख समाज की भावनाओं की हत्या हुई। इस मामले से अभी सिख माज उभरा नहीं था लेकिन एक बार पुन: ऐसे कुप्रयासों की चेतावनी देना गलत है। बीते दिवस प्रकाश सिंह लखविंद्र सिंह, शेर सिंह, राजेंद्र सिंह, कुलविंद्र सिंह, रणवीर सिंह के साथ सरदूलगढ़ की तरफ जा रहे थे कि जेसीडी के नजदीक लखविंद्र सिंह की गाड़ी खराब हो गई। इतने में कुलवंत सिंह, जसवंत व जसवीर मौके पर पहुंचे और कहने लगे कि हमने श्री गुरुग्रंथ साहिब के पेज फाड़े, क्या कार्रवाई कर ली। आगे फिर ऐसा करेंगे। इसी के साथ वे गाली गलौच पर उतारु हो गए और जान से मारने की धमकी देने लगे। इस पर उक्त सभी लोगों को पकड़ कर लखविंद्र सिंह ने सिविल लाइन थाना पुलिस व रणबीर सिंह ने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन कर पूरे मामले से अवगत करवाया। कुछ समय बाद सिविल लाइन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपियों को पकड़कर थाना ले गई, जहां कुलवंत सिंह, जसवंत सिंंह व जसवीर और सिमरजीत कौर के खिलाफ भादंसं की धारा 120बी, 153, 153ए, 295ए व 506 के तहत अभियोग दर्ज कर लिया। सुखविंद्र सिंह खालसा ने जिला पुलिस प्रशासन की पीठ थपथपाते हुए कहा कि पुलिस ने तुरंत इस मामले से कार्रवाई करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हम उनके आभार है लेकिन हमारी जिला पुलिस प्रशासन से मांग की है कि आरोपियों को किसी भी सूरत में छोड़ा न जाए। आरोपियों को फांसी की सजा दिलवाई जाए न तो कम से कम उम्र की सजा मुकर्रर अवश्य हो। तभी सिख समाज की भावनाएं शांत होगी अन्यथा सिख समाज आंदोलन करने पर मजबूर होगा। इस मौके पर दसवीं पातशाही गुरुद्वारा के प्रधान प्रकाश सिंह साहुवाला, सुरेंद्र सिंह विर्क रानियां, शेर सिंह प्रबंधक, गुरसेवक सिंह मौजूखेड़ा, सुरजीत सिंह भी मौजूद थे।             


दिल्ली में सोमवार को 131 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय               नई दिल्ली।  दिल्ली में सोमवार को 22 फरवरी के बाद से कोविड-19 के सबसे कम 131 नए मामले सामने आए तथा 16 मरीजों की...