शुक्रवार, 7 अक्तूबर 2022

फिल्म 'फोनभूत' का मोशन पोस्टर शेयर किया: कैफ

फिल्म 'फोनभूत' का मोशन पोस्टर शेयर किया: कैफ

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री कैटरीना कैफ ने अपनी आने वाली फिल्म 'फोनभूत' का मोशन पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किया है। फोनभूत में कैटरीना कैफ, सिद्धांत चतुर्वेदी और ईशान खट्टर की मुख्य भूमिका है। फोनभूत का एक नया मोशन पोस्टर रिलीज किया गया है। इस मोशन पोस्टर को कैटरीना ने अपने इंस्टाग्राम पर शेयर कर ट्रेलर के रिलीज डेट की जानकारी दी है।

फिल्म का ट्रेलर 10 अक्टूबर को रिलीज होगा। मोशन पोस्टर में फोनभूत के तीनों स्टार्स एकदम अलग लुक में नजर आ रहे हैं।फिल्म फोनभूत एक हॉरर कॉमेडी फ‍िल्‍म है, जिसे गुरमीत सिंह ने निर्देशित किया है। वहीं, रितेश सिंधवानी और फरहान अख्‍तर ने मिलकर इस फ‍िल्‍म को प्रोड्यूस किया है। यह फिल्म 04 नवंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

डीएम ने अपर मुख्य सचिव को संस्तुति-पत्र भेजा 

डीएम ने अपर मुख्य सचिव को संस्तुति-पत्र भेजा 

हरिशंकर त्रिपाठी 

देवरिया। जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने खण्ड विकास अधिकारी गौरी बाजार/प्रभारी खण्ड विकास अधिकारी रुद्रपुर विवेकानंद मिश्र के विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करने हेतु अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास उत्तर प्रदेश शासन को संस्तुति-पत्र भेजा है। जिलाधिकारी द्वारा बिना लिखित अनुमति के मुख्यालय नही छोड़े जाने ओर समस्त शासकीय अवकाश पर मुख्यालय पर बने रहने के निर्देश सभी अधिकारियों को दिए गए थे। इसके बावजूद भी इस आदेश की अवहेलना करते हुए खण्ड विकास अधिकारी श्री मिश्र बिना अनुमति 04 एवं 05 अक्टूबर को मुख्यालय से बाहर गोरखपुर में निवास करते हुए पाएं गए।

दशहरा पर्व के दृष्टिगत मूर्ति विसर्जन स्थलों पर प्रकाश वेरीकेटिंग, साफ-सफाई आदि की व्यवस्था करने हेतु संबंधित खण्ड विकास अधिकारियों को नामित किया गया था। इन सभी आदेश की अवहेलना श्री मिश्र द्वारा की गयी, जो स्वेच्छाचारिता एवं उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना का द्योतक है। विभिन्न संचालित शासकीय योजनाओं व कार्यक्रमों में भी प्रगति संतोषजनक नही पायी गयी, जो इनके कार्यो में अरुचि व लापरवाही को परिलक्षित करता है।
श्री मिश्र द्वारा बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर रहने से कानून व्यवस्था की स्थिति खराब होने, स्वेच्छारिता एवं उच्चाधिकारियों के आदेशों का अवहेलना करने, प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण तथा मनरेगा योजना में समीक्षा बैठकों में बार-बार निर्देश देने के बावजूद भी अपेक्षित प्रगति नही लाये जाने को जिलाधिकारी ने अत्यन्त गंभीरता से लेते हुए इनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करने की संस्तुति कर दी है, तथा शासन को इसके लिए पत्र भी लिखा है।

उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा समस्त अधिकारियों को उनके तैनाती स्थल पर ही रात्रि निवास करने के निर्देश दिये गये है, जिसकी अवहेलना करते हुए श्री मिश्र 22 अप्रैल को विकास खण्ड मुख्यालय पर रात्रि निवास नही करते हुए पाएं गए, जिसके लिए इन्हे विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि/परनिन्दा प्रविष्टी प्रदान की गई है।

9 को विकास कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे

9 को विकास कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी

नई दिल्ली/गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 9 अक्टूबर को गुजरात के मेहसाणा में 2890 करोड़ रुपए से अधिक के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। सरकारी सूत्रों के अनुसार माेदी एक बार फिर गुजरात के दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान नौ अक्टूबर को वह मेहसाणा में 2890 करोड़ रुपए से अधिक के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। इन विकास कार्यों के अंतर्गत 511 करोड़ रुपए के खर्च से साबरमती-जगुदण गेज कन्वर्जन (53.43 किमी) का लोकार्पण किया जाएगा जो अहमदाबाद- मेहसाणा गेज कन्वर्जन प्रोजेक्ट (68.78 किमी) का एक हिस्सा है। इसके साथ ही 336 करोड़ रुपए के खर्च से ओएनजीसी-नंदासण सरफेस फैसिलिटी का लोकार्पण किया जाएगा।

इसके अलावा जिन विकास कार्यों का लोकार्पण होगा उनमें एम.एस. पाइपलाइन प्रोजेक्ट, धरोई डैम आधारित वडनगर, खेरालू और धरोई समूह रिफॉर्म स्कीम, बेचराजी-मोढेरा-चाणस्मा रोड, ऊंझा-दसाज-उपेरा-लाडोल रोड एक्सपैन्शन का कार्य और मेहसाणा में क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र (स्पीपा) शामिल है। कुल मिलाकर, 1145.64 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण किया जाएगा। प्रधानमंत्री कई विकास कार्यों की आधारशिला भी रखने जा रहे हैं। वे 1181.34 करोड़ रुपए के खर्च से राष्ट्रीय राजमार्ग-68 के पाटण से गोझारिया तक की सड़क के फोरलेन में अपग्रेडेशन और पीएस हाईवे के कार्यों का शिलान्यास करेंगे। इसके अलावा 340 करोड़ रुपए के खर्च से मिल्क पाउडर प्लांट, 110 करोड़ रुपए के खर्च से टेट्रा पैक प्लांट और 106 करोड़ रुपए के खर्च से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के कार्यों का भी शिलान्यास किया जाएगा।

विसनगर-उमटा-सुंढिया-खेरालू रोड पर पुलों के निर्माण का भी शिलान्यास किया जाएगा। कुल मिलाकर 1747.38 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का शिलान्यास किया जाएगा। इस तरह मेहसाणा जिले को 2893.02 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की सौगात मिलने जा रही है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व में राज्य सरकार जनता को विभिन्न विकास कार्यों की सौगात दे रही है, इसी कड़ी में राज्य के मेहसाणा जिले में भी विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास होने जा रहा है। बता दें कि पीएम मोदी कुछ दिन पहले भी दो दिनों के लिए गुजरात दौरे पर आये थे। पीएम मोदी अपने दो दिवसीय दौरे को लेकर सूरत में जनसभा को संबोधित किया था। पीएम मोदी ने सूरत में 3,400 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखी थी।

अग्निवीर भर्ती देखने गया, हिंडन किनारे मिला शव

अग्निवीर भर्ती देखने गया, हिंडन किनारे मिला शव

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद/मुजफ्फरनगर। जहांगीरपुर क्षेत्र के गांव हसनपुर निवासी छात्र मुजफ्फरनगर में अग्निवीर सेना की भर्ती देखने गया था। उसके बाद उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में छात्र का शव गाजियाबाद के हिंडन नदी के किनारे पड़ा मिला। छात्र की मौत के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए कोतवाली में तहरीर दी। गांव हसनपुर निवासी सुमित कुमार पुत्र सुखबीर सिंह एनआरईसी डिग्री कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष का छात्र है। चार अक्टूबर को छात्र अग्निवीर सेना की भर्ती देखने के लिए मुजफ्फरनगर गया था। बताया जाता है कि उसके बाद छात्र भर्ती देखने के बाद ट्रेन में बैठ कर अपने घर आ रहा था।

लेकिन तीन दिन तक छात्र के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने चिंता जाहिर की। उसके बाद परिजनों ने छात्र की काफी खोजबीन की पर कहीं पता नहीं चल सका। गुरुवार को गाजियाबाद पुलिस द्वारा सूचना मिली की हिंडन नदी के निकट एक युवक का शव बरामद हुआ है। पुलिस की सूचना के बाद छात्र के परिजन गाजियाबाद पहुंचे जहां परिजनो ने शव की शिनाख्त सुमित के रूप में की। छात्र की मौत की जानकारी मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। ग्रामीणों ने बताया कि सुमित तीन बहनों में अकेला भाई था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। परिजनों ने गाजियाबाद पुलिस को छात्र की हत्या कर शव फेंके जाने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

मंत्री के सामने फूट-फूट कर रोए, दीपक हत्याकांड

मंत्री के सामने फूट-फूट कर रोए, दीपक हत्याकांड

सत्येंद्र पवार 

मेरठ। दीपक हत्याकांड का सही खुलासा व पांच मांगों को लेकर परिजन व ग्रामीण धरने पर बैठे हुए हैं। वहीं शुक्रवार को राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर और पूर्व जिला अध्यक्ष शिव कुमार राणा धरना स्थल पर पहुंचे। इस दौरान मृतक के पिता धीरेंद्र उर्फ भगतजी मंत्री के सामने अपनी मांगों को रखते हुए फूट-फूटकर रोने लगे। उन्होंने कहा कि मेरे बेटे दीपक की निर्मम हत्या की गई है।


उन्होंने कहा कि ऐसे हत्यारों को भी पुलिस बचा रही है। कहा कि जिस गड्ढे से पुलिस ने बेटे का सिर बरामद किया है, वह गड्ढा मात्र छह इंच का था।उन्होंने कहा कि सात दिनों से पुलिस आसपास के जंगलों में सिर की तलाश कर रही थी, अगर वहां सिर पहले से ही मौजूद होता तो डॉग स्क्वायड पहुंच जाते, जबकि उस जंगल में सैकड़ों जंगली कुत्ते व गीदड़ हैं। वे सिर को नोंच डालते। मृतक दीपक के पिता ने बताया कि हत्या के बाद गांव से कुछ लोग फरार हो गए थे। उन्होंने कहा कि मेरे बेटे पर लड़की का इल्जाम लगाकर हत्या को नया मोड़ दिया गया है। यह बात कहते हुए फूट-फूट कर रोने लगे। वहीं धीरेंद्र को रोता देख वहां मौजूद लोगों की आंखें भी नम हो गईं। धरने पर बैठे ग्रामीणों ने राज्यमंत्री सोमेंद्र तोमर से हत्या का सही खुलासा और दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। यही नहीं पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर व राज्यमंत्री दिनेश खटीक की कॉल डिटेल निकलवाने की भी मांग की।ग्रामीणों का कहना है कि अगर कॉल डिटेल निकाली जाए तो सही हत्यारों का पता चल सकता है। मंत्री सोमेंद्र तोमर ने दीपक हत्याकांड की जानकारी मुख्यमंत्री को देने का आश्वासन दिया है।

विश्वस्तरीय गुणवत्ता प्रणाली की दिशा में काम करें 

विश्वस्तरीय गुणवत्ता प्रणाली की दिशा में काम करें 

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता कार्य, खाद्य और सार्वजनिक वितरण तथा कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय गुणवत्ता परिषद (क्यूसीआई) से देश में सभी विभिन्न गुणवत्ता और मानक संगठनों को आपस में मिलाने का प्रयास करने को कहा जिससे वे भारत में एक विश्वस्तरीय गुणवत्ता प्रणाली के निर्माण की दिशा में मिलकर काम कर सकते हैं और गुणवत्ता को एक राष्ट्रीय मिशन बना सकते हैं। वह आज नई दिल्ली में क्यूसीआई के रजत जयंती समारोह में सभा को संबोधित कर रहे थे। ‘गुणवता से आत्मनिर्भरता’ के आदर्श वाक्य के साथ, इस कार्यक्रम ने क्यूसीआई द्वारा सेवाओं, उत्पादों और जीवन की गुणवत्ता प्रदान करने के प्रयासों की सराहना की।

श्री गोयल ने कहा, विभिन्न गुणवत्ता और मानक संगठनों को आपस में मिलाने से हमें गुणवत्ता मानकों के इस्तेमाल को बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। हमें देश के प्रत्येक नागरिक और प्रत्येक व्यवसाय के लिए राष्ट्रीय गुणवत्ता मिशन को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। इससे हम देश में कारोबारी माहौल, निवेश का माहौल बनाने में सक्षम होंगे और पूरी ताकत से 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनने में मदद मिलेगी। उन्होंने क्यूसीआई से भारत को अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता मानकों के साथ तालमेल कायम करने में मदद करने का भी आग्रह किया।

कार्यक्रम में उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्तियों में जी20 में भारत के शेरपा अमिताभ कांत, उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) के सचिव  अनुराग जैन, डीपीआईआईटी के अपर सचिव  अनिल अग्रवाल, क्यूसीआई और क्षमता निर्माण आयोग के अध्यक्ष  आदिल जैनुलभाई और क्यूसीआई के महासचिव डॉरवि पी. सिंह शामिल थे।

श्री गोयल ने जोर देकर कहा कि गुणवत्ता आने वाले समय में ब्रांड इंडिया को परिभाषित करेगी। उन्होंने देखा कि गुणवत्ता पर कभी भी लागत पर नहीं आती है, बल्कि लागत बचाई जाती है और उत्पादकता में सुधार होता है। उन्होंने राष्ट्र के नागरिकों से आग्रह किया कि वे जो कुछ भी करते हैं उसे बेहतरअधिक कुशल, अधिक किफायती, अधिक उपयोगी और अधिक मापन-योग्य तरीके से करने के लिए दृढ़ संकल्प को आत्मसात करें। श्री गोयल ने कहा, अगर 2047 तक विकसित देश बनना है तो गुणवत्ता की संस्कृति को राष्ट्र में शामिल करना होगा। गुणवत्ता का यह विचार वास्तव में इस देश को किसी भी चीज की तुलना में तेजी से बदल सकता है।

श्री पीयूष गोयल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस पर व्यक्त किए गए पंच प्रण के बारे में बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी चाहते थे कि 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने की योजना बनाने की हमारी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के क्रम में भारत अपनी मानसिकता को बदले, उपनिवेशवाद के ऐतिहासिक बोझ को दूर करे, अधिक आत्मविश्वासी, अधिक आत्मनिर्भर और साहसी बने।

सामग्री खरीदी, संभागीय सी-मार्ट की बोहनी की

सामग्री खरीदी, संभागीय सी-मार्ट की बोहनी की 

दुष्यंत टीकम

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने एक दिवसीय बस्तर जिला प्रवास पर जगदलपुर में संभागीय सी-मार्ट का शुभारंभ किया। उन्होंने सी-मार्ट में उपलब्ध हस्तशिल्प, बांसशिल्प, बेल मेटल, बस्तर कोसा से निर्मित कपड़े, हथकरघा, वन उत्पाद, महिला समूहों द्वारा निर्मित विविध उत्पादों का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने जामुन जूस, आमला आचार, आमला जूस, महुआ लड्डू, महुआ कुकीज, बस्तर काजू, जिमिकंद आचार, फॉरेस्ट हनी, टमाटर चटनी, विष्णु ब्राह्मी भृंगराज केश तेल, हवन एवं पूजन सामग्री की खरीदी की और संभागीय सी-मार्ट की बोहनी कराई। मुख्यमंत्री संग सी-मार्ट पधारे सभी जनप्रतिनिधियों ने जामुन जूस और मसाला काजू का स्वाद लिया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जगदलपुर के पुराने बस स्टैण्ड के निकट नगर निगम के काॅम्पलेक्स में संभागीय सी-मार्ट का शुभारंभ किया। लगभग एक करोड़ 55 लाख रुपए की लागत से निर्मित सी-मार्ट में विभिन्न शासकीय व अर्धशासकीय संस्थाओं, गोठानों, स्व-सहायता समूहों, कृषि उत्पादक संगठनों के माध्यम से राज्य के कृषकों, कामगारों, शिल्पकारों, बुनकर इत्यादि के द्वारा उत्पादित सामाग्री विक्रय के लिए उपलब्ध होगी।

यहां एग्री बिजनेस से संबंधित उत्पाद जैसे बीज, खाद, कृषि यंत्र, कृषि उपकरण, पम्प, सहित कृषकों के दैनिक उपयोग की सामग्री भी उपलब्ध होगी। जगदलपुर नगर निगम द्वारा 10 करोड़ 37 लाख रुपए की लागत से निर्मित काॅम्पलेक्स के प्रथम तल पर सी-मार्ट का संचालन किया जाएगा। सी-मार्ट में संभाग के सभी जिलों के वन, कृषि, हस्तशिल्प सहित अन्य उत्पाद उपलब्ध रहेंगे।

सी-मार्ट के शुभारंभ के अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, सांसद दीपक बैज, बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, संसदीय सचिव रेखचन्द जैन, हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप, चित्रकोट विधायक राजमन बेंजाम, मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद, विधायक बीजापुर विक्रम मंडावी, विधायक कोंडागांव मोहन मरकाम, महापौर  सफीरा साहू, नगर निगम सभापति कविता साहू, कमिश्नर श्याम धावड़े, पुलिस महानिरीक्षक सुंदर राज पी., मुख्य वन संरक्षक मोहम्मद शाहिद, कलेक्टर चंदन कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेंद्र मीणा, वन मंडलाधिकारी डीपी साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, भाजपा को नुक़सान 

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, भाजपा को नुक़सान 

इकबाल अंसारी

बैंगलुरू। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में शुरू की गई कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा विभिन्न राज्यों की यात्रा करते हुए कर्नाटक तक पहुंच गई है। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा इन दिनों कर्नाटक में है और अब सोनिया गांधी भी उसमें शामिल हुई हैं। बीते दिनों कर्नाटक के मांड्या जिले में सोनिया गांधी इस यात्रा में शामिल हुईं। माना जा रहा है कि कांग्रेस की कर्नाटक में जो यात्रा चल रही है, उसका मुख्य फोकस उन 60 सीटों पर है, जहां वोक्कालिगा समुदाय के लोगों की अच्छी खासी आबादी है। फिलहाल यात्रा इन्हीं इलाकों से गुजर रही है।


वोक्कालिगा वोटरों पर कांग्रेस का फोकस
मांड्या और उसके आसपास के 6 जिलों में इस समुदाय की अच्छी खासी आबादी है। वोक्कालिगा वोटरों पर कांग्रेस के अलावा जेडीएस और भाजपा भी दावेदारी जताते रहे हैं। वहीं इस बीच कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और उनके भाई को एक बार फिर से ईडी का नोटिस मिलने से माहौल गरमा गया है। गुरुवार को सुबह सोनिया और राहुल गांधी हेलिकॉप्टर से मांड्या पहुंचेय़। इस दौरान करीब दो किलोमीटर तक सोनिया गांधी खराब सेहत के बाद भी चलती दिखीं। राहुल गांधी इस बीच उनका ख्याल रखते दिखे। कुछ दूरी तक यात्रा में साथ रहने के बाद सोनिया गांधी निकल गईं और राहुल गांधी यात्रा के साथ आगे बढ़ गए।


भाजपा की दुकान बंद हो जाएगी -प्रदेश अध्यक्ष
इस पूरी यात्रा से कर्नाटक में कांग्रेस में उत्साह देखने को मिल रहा है। कांग्रेसियों को लग रहा है कि जिस तरह से लोग यात्रा में बड़े पैमाने पर पहुंच रहे हैं, उससे पार्टी की संभावना बढ़ गई है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा, ‘विजयदशमी के बाद कर्नाटक में विजय होगी। हमें गर्व है कि सोनिया गांधी यहां आईं और यात्रा में हिस्सा लिया। कर्नाटक की गलियों में यात्रा की। हम कर्नाटक में सत्ता में वापस आ रहे हैं और भाजपा की दुकान बंद हो जाएगी। बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस की यात्रा चामराजनगर, मैसूर, मांड्या, तुमकुर, चित्रदुर्ग, रायचूर और बेल्लारी से होकर निकलने वाली है।


डीके शिवकुमार के लिए भी अहम है यह इलाका
इन सभी जिलों में वोक्कालिगा समुदाय की अच्छी खासी आबादी है। यहां कुल 60 विधानसभा सीटें आती हैं, जिन पर कांग्रेस फोकस कर रही है। दरअसल लिंगायतों के बीच भाजपा की अच्छी पैठ रही है। ऐसे में वोक्कालिगा को कांग्रेस अपने पाले में लाना चाहती है। कांग्रेस की यहां कैसी तैयारी है, इसे इस बात से भी समझा जा सकता है कि प्रियंका गांधी भी यात्रा में शामिल होने वाली हैं। यह इलाका डीके शिवकुमार के लिए भी अहम हैं। उनके समर्थकों का मानना है कि यदि यहां से अच्छी जीत मिलती है तो फिर डीके शिवकुमार की सीएम पद को लेकर दावेदारी मजबूत हो जाएगी।

जेल में बंद, शांति के लिए नोबेल पुरस्कार मिला

जेल में बंद, शांति के लिए नोबेल पुरस्कार मिला

सुनील श्रीवास्तव 

स्टॉकहोम। नोबल प्राइज कमिटी ने तमाम चर्चाओं के बीच शुक्रवार को शांति के लिए दिए जाने वाले नोबल पीस प्राइज का ऐलान कर दिया है। यह पुरस्कार मानवाधिकार वकील एलेस बियालियात्स्की (Ales Bialiatski), रूसी मानवाधिकार संगठन और यूक्रेन के मानवाधिकार संगठन को दिया गया है।

 खास बात यह है कि एलेस बियालियात्स्की फिलहाल जेल में बंद हैं। नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा शुक्रवार को नार्वे नोबेल कमेटी के प्रमुख बेरिट रीज एंडर्सन ने ओस्लो में की है।

बता दें कि पिछले साल नोबेल पीस प्राइज दो पत्रकारों, रूस के दिमित्री मुरातोव और फिलीपीन्स के मारिया रेसा को दिया गया था। तब उन्हें यह पुरस्कार लोकतंत्र और शांति की अहम जरूरत, फ्रीडम ऑफ स्पीच की हिफाजत के लिए दिया गया था।

  गौरलतब है कि अमेरिका की प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन के मुताबिक नोबेल पीस प्राइज की रेस में भारत के प्रतीक सिंहा और मोहम्मद जुबैर भी शामिल थे। प्रतीक और जुबैर फैक्ट चेकिंग वेबसाइट ऑल्ट न्यूज के फाउंडर और को फाउंडर हैं।

भारत: न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ 50वें चीफ जस्टिस बनेंगे

भारत: न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ 50वें चीफ जस्टिस बनेंगे

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। देश में न्यायालयों में लंबित मामलों को तेजी से निपटाने की लगातार कोशिशें की जा रही हैं। इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। इस कैलेंडर वर्ष में अब तक विभिन्न उच्च न्यायालयों में कुल 153 जजों की नियुक्ति की गई है। सूत्रों ने आने वाले दिनों में और नियुक्तियों के संकेत दिए हैं। वहीं, चीफ जस्टिस यूयू ललित का कार्यकाल 8 नवंबर को समाप्त हो रहा है। अब इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि उनके बाद इस पद को कौन संभालेगा। आज सुबह यह खबर भी आई कि सरकार उनसे नाम भी पूछे हैं।


आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट में गुरुवार को छह अतिरिक्त जजों की नियुक्ति की गई। यह पता चला है कि सरकार जल्द ही बॉम्बे हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता को सुप्रीम कोर्ट में प्रमोशन करने पर भी विचार करने के लिए तैयार है। यदि उन्हें सुप्रीम कोर्ट में नियुक्त किया जाता है, तो सुप्रीम कोर्ट की कार्य क्षमता 30 जजों की हो जाएगी। अभी भारत के मुख्य न्यायाधीश सहित शीर्ष अदालत के लिए स्वीकृत पद 34 हैं।


सरकार अगले चीफ जस्टिस की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू करने के लिए तैयार है। संभवत: इस सप्ताह या अगले सप्ताह की शुरुआत में इसे आगे बढ़ाया जा सकता है। अभी तक जो प्रक्रिया चली आ रही है उसके मुताबिक केंद्रीय कानून मंत्री सीजेआई को अपने उत्तराधिकारी का नाम बताने के लिए एक पत्र लिखते हैं। आपको बता दें कि न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित 8 नवंबर को सीजेआई के रूप में सेवानिवृत्त हो रहे हैं।


यूयू ललित के बाद जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ भारत के चीफ जस्टिस बनने वाले सबसे वरिष्ठ जज हैं। प्रथा के अनुसार, सीजेआई अपने उत्तराधिकारी के रूप में वरिष्ठतम न्यायाधीश का नाम सरकार को बताते हैं। अगर इसी प्रक्रिया का पालन किया जाता है तो न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ 50वें सीजेआई बनेंगे।

वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने टीम ऑस्ट्रेलिया पहुंची

वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने टीम ऑस्ट्रेलिया पहुंची

अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/सिडनी। भारतीय टीम 16 अक्टूबर से होने वाले वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने के लिए ऑस्ट्रेलिया पहुंच चुकी है। रोहित शर्मा के नेतृत्व वाली टीम इंडिया ने वहां पहुंचने के बाद बिना समय गंवाए मैदान पर उतर चुकी है। टीम इंडिया इस समय पर्थ में है, जहां वह वर्ल्ड कप के लिए तैयारी करेंगे। पर्थ पहुंचने के बाद भारतीय टीम ने शुक्रवार की सुबह को प्रतिष्ठित वाका स्टेडियम में पहले ट्रेनिंग सेशन में हिस्सा लिया।

वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली भारतीय टी20 टीम और सपोर्ट स्टाफ गुरुवार को मुंबई से ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना हुए थे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने भारतीय खिलाड़ियों की एक तस्वीर शेयर की, जिसमें वे पर्थ के प्रतिष्ठित मैदान पर ट्रेनिंग शुरू करते हुए नजर आ रहे हैं।वर्ल्ड कप में हिस्सा ले रही ज्यादातर टीमें इस समय प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेल रही हैं, जबकि भारतीय टीम वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच खेलने से पहले कुछ प्रैक्टिस मैच खेलेगी। भारत 10 और 13 अक्टूबर को पर्थ में दो अभ्यास मैचों में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया इलेवन से भिड़ेगा। 

पर्थ के बाद भारतीय टीम ब्रिसबेन जाएगी, जहां वे ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ 17 और 19 अक्टूबर को दो आधिकारिक अभ्यास मैच खेलेंगे।इसके बाद भारतीय टीम मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के 23 अक्टूबर को अपने अभियान की शुरुआत करेगी। रोहित की टीम 27 अक्टूबर को सिडनी में टी20 विश्व कप क्वालीफाइंग दौर से ग्रुप ए के उपविजेता से भिड़ेगी।

94 पब्लिक हेल्थ यूनिट भवन निर्माण को मंजूरी

94 पब्लिक हेल्थ यूनिट भवन निर्माण को मंजूरी 

हरिओम उपाध्याय 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की वेल्थ के साथ-साथ अब हेल्थ को और सुधारने के लिए प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रदेश मे पहली बार ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट बनेंगी। नेशनल हेल्थ मिशन (NHM) ने स्वास्थ्य की इस बड़ी योजना को मंजूरी दी है।जल्द ही ग्रामीण व शहरी क्षेत्र मे स्वास्थ सेंटरों का निर्माण शुरू किया जाएगा। इस संबंध मे संयुक्त सचिव प्राणेश चन्द्र शुक्ल ने स्वास्थ्य विभाग की महानिदेशक डॉ. लिली सिंह को निर्देश जारी किए है।


सीएचसी के अधीन काम करेगे सेँटर।

ये केंद्र शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों मे बनाए जाएंगे, जो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत काम करेंगे। 15वें वित्त आयोग के तहत के 75 जनपदो मे 94 ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट के भवन निर्माण को मंजूरी दी है। इसके लिए फंड भी जारी कर दिया है। प्रत्येक यूनिट के लिए 48.95 लाख की राशि स्वीकृत की गई है। सभी केंद्रों पर 4601.30 लाख रुपए के बजट को मंजूरी दी है। पहली किश्त 2300.18 लाख रुपए जारी कर दिए गए है। भवनों का निर्माण उप्र आवास विकास परिषद, उप्र प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन, राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ करेंगी।ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट से गंभीर मरीजों को सीधे हायर सेंटर रेफर किया जा सकेगा। अब तक CHC-PHC से गंभीर मरीजों को जिला अस्पताल रेफर किया जाता था, जहां से जिला अस्पताल और फिर हायर सेंटर रेफर किया जाता है। इस प्रक्रिया मे अधिक समय लगता था।

डिप्टी सीएम और सूबे से हेल्थ मिनिस्टर बृजेश पाठक ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के प्रयास किए जा रहे है। बड़े व सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों मे सामान्य बीमारी से पीड़ितों का दबाव कम करने की कवायद तेज की गई है। ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट मे मरीजों को प्राथमिक स्तर का इलाज मिल सकेगा। इसमे डॉक्टर से लेकर पैरामेडिकल स्टाफ होंगे। दवा, पैथोलॉजी व दूसरी जांच की सुविधा उपलब्ध होगी। इन सेंटरों में इलाज की सुविधा पूरी तरह से मुफ्त होगी।

पुलिस जवानों ने 50 वर्षीय महिला से की दरिंदगी

पुलिस जवानों ने 50 वर्षीय महिला से की दरिंदगी

उमर सिंह

रांची। झारखंड के लोहरदगा में 50 वर्षीय महिला से दरिंदगी के आरोप में पुलिस जवानों कृष्णकांत तिवारी और अजय बाड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया है। डीआईजी अनीश गुप्ता ने कहा है कि इन्हें सेवा से बर्खास्त किया जायेगा। दोनों जवान इंडियन रिजर्व बटालियन के हैं और इनकी तैनाती लोहरदगा के सेरेंगदाग पुलिस पिकेट में थी। इधर राज्य के डीजीपी नीरज सिन्हा ने इस वारदात पर लोहरदगा के एसपी आर.रामकुमार से रिपोर्ट मांगी है।

इधर, पुलिस जवानों की हवस और दरिंदगी की शिकार 50 वर्षीय महिला जिंदगी-मौत से जूझ रही है। रांची स्थित रिम्स में उसका इलाज चल रहा है। इलाज कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक महिला की हालत गंभीर है। इधर, घटना के विरोध में स्थानीय ग्रामीणों ने सेरेंगदाग स्थित बॉक्साइट माइन्स में दो दिनों से काम बंद करा रखा है। बता दें कि गैंगरेप की यह वारदात लोहरदगा के सेरेंगदाग थाना क्षेत्र में बीते मंगलवार को हुई थी। महिला खेत में घास काटने गई थी, तब नशे में धुत दो जवानों ने उन्हें हवस का शिकार बनाया।

इतना ही नहीं, उन्होंने महिला के नाजुक अंगों पर किसी धारदार चीज से प्रहार भी किया। लहूलुहान महिला के पुत्र ने उन्हें उसी रात बेहद गंभीर हालत में इलाज के लिए लोहरदगा सदर अस्पताल में दाखिल कराया। बाद में उन्हें रांची लाकर रिम्स में भर्ती कराया गया। पीड़िता ने दोनों आरोपियों की पहचान सेरेंगदाग स्थित पुलिस पिकेट के जवानों के रूप में की थी। इस घटना को लेकर जिले के महिला थाने में केस नं 32/22, आईपीसी की धारा 376 डी, 341, 342, 323 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। डीजीपी के निर्देश पर इस मामले की जांच डीएसपी परमेश्वर प्रसाद को सौंपी गई है।

मुलायम का हाल-चाल जानने के लिए पहुंचे रक्षामंत्री

मुलायम का हाल-चाल जानने के लिए पहुंचे रक्षामंत्री

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शाम के समय गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती मुलायम सिंह यादव का हाल-चाल जानने के लिए पहुंचे हैं। इस दौरान वह परिजनों से मुलाकात करने के साथ-साथ इलाज कर रहे चिकित्सकों से भी सपा संरक्षक के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी हासिल करेंगे।

शुक्रवार की देर शाम केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराए गए समाजवादी पार्टी के संरक्षक, पूर्व रक्षा मंत्री एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का हालचाल जानने के लिए अस्पताल में पहुंचे हैं। भारी सिक्योरिटी के साथ मेदांता अस्पताल में पहुंचे केंद्रीय रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव के परिजनों से बातचीत कर उन्हें दिलासा देंगे।इस दौरान मुलायम सिंह यादव का इलाज कर रहे चिकित्सकों के दल से भी रक्षा मंत्री सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी प्राप्त करेंगे।उल्लेखनीय है कि आज सवेरे उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक भी मुलायम सिंह यादव का हाल-चाल जानने के लिए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में पहुंचे थे।

भारत में 2022 में अकाल जैसी स्थिति: भविष्यवाणी

भारत में 2022 में अकाल जैसी स्थिति: भविष्यवाणी

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। देश के लिए आने वाले तीन महीने भारी हो सकते है, क्योंकि बाबा वेंगा की भविष्यवाणी मे इस साल आने वाले समय मे अकाल जैसी स्थिति बन सकती है। बुल्गारिया की बाबा वेंगा ने कई साल पहले दुनियाभर के लिए कई भविष्यवाणियां की थी, जिनमें उन्होंने भारत को लेकर भी एक भविष्यवाणी की थी।

बाबा वेंगा के अनुसार साल 2022 में भारत मे अकाल जैसी स्थिति पैदा हो सकती है।

बता दें कि बाबा वेंगा की इस भविष्यवाणी के सही साबित होने मे इस साल अब 3 महीने से भी कम समय बचा है। बता दें कि बाबा वेंगा ने इस साल के लिए कई भविष्यवाणियां की थी, जिनमें से अब तक 2 सच हो चुकी है। बाबा वेंगा ने साल 2022 मे भुखमरी की भविष्यवाणी की थी। भविष्यवाणी के अनुसार, साल 2022 मे दुनियाभर मे तापमान मे गिरावट आएगी और इसका असर भारत पर भी नजर आएगा। तापमान मे कमी के बाद टिड्डियों का प्रकोप बढ़ जाएगा और टिड्डियों का झुंड भारत मे फसलों को भारी नुकसान पहुंचाएगा। इस वजह से देश मे अकाल जैसी स्थिति पैदा हो सकती है और भुखमरी की स्थिति आ सकती है।

साल 2022 मे अब तक 2 भविष्यवाणियां हुई सच।

द सन की रिपोर्ट के अनुसार, बाबा वेंगा ने साल 2022 के लिए कुल 6 भविष्यवाणी की थी और अब तक इनमें से 2 भविष्यवाणियां करीब सच साबित हो चुकी है। बाबा वेंगा ने ऑस्ट्रेलिया के अलावा कुछ एशियाई देशों मे बाढ़ को लेकर भविष्यवाणी की थी और ऑस्ट्रेलिया मे बारिश के बाद बाढ़ जैसी ​हालत हो चुकी है, जबकि पाकिस्तान में भी हाल ही मे बाढ़ से हालात खराब हो गए थे। इसके अलावा कई शहरों मे पानी की कमी की भविष्यवाणी भी सच साबित हो चुकी है।

ऑस्ट्रेलिया मे बाढ़ और कुछ देशों की पानी की कमी के अलावा बाबा वेंगा ने साल 2022 मे साइबेरिया से एक नया घातक वायरस सामने आने की भविष्यवाणी की थी। कोरोना वायरस के बाद लोगों मे नए वायरस को लेकर खौफ है, इसके अलावा बाबा वेंगा ने एलियन हमले, टिड्डियों के आक्रमण और वर्चुअल रिएलटी मे वृद्धि की भी भविष्यवाणी की थी।

नर्स के साथ कंपाउंडर ने किया रेप और ब्लैकमेल 

नर्स के साथ कंपाउंडर ने किया रेप और ब्लैकमेल 

अविनाश श्रीवास्तव

पटना। देश मे कड़े कानून होने के बाद भी रेप और महिलाओं के साथ अत्याचार के मामलों मे कमी नही आ रही है। आए दिन अलग-अलग राज्यों से ऐसे मामले लगातार सामने आ रहे है। ऐसा ही एक मामला बिहार की राजधानी पटना से सामने आया है, जहां निजी अस्पताल की नर्स ने कंपाउंडर पर रेप का आरोप लगाया है। इतना ही नही नर्स ने अरोपी पर अश्लील वीडियो बनाने का भी आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई कर रही है।


मिली जानकारी के अनुसार ममला थाना क्षेत्र का है, जहां नालंदा की रहने वाली 32 वर्षीय नर्स ने बताया कि वह कंकड़बाग सचिवालय कालोनी स्थित एक निजी अस्पताल में काम करती है। इसी अस्पताल मे राजेश कंपाउंडर है। अस्पताल के निदेशक ने उसे रहने के लिए परिसर में ही एक कमरा दे रखा है। अप्रैल 2021 मे राजेश एक दिन खाना बनाने के बहाने कमरे मे आया। वह शराब की बोतल भी साथ लेकर आया था। उसने नर्स को भी शराब पिलाई और उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाया। इस दौरान उसने वीडियो भी बना लिया था, जिसे दिखा कर वह नर्स को ब्लैकमेल करता था। होटल में बुलाकर उसका यौन शोषण करता था। राजेश की हरकतों से वह मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित हो रही थी। इसके बाद उसने साथ काम करने वालों को जानकारी दी और उनकी सलाह पर थाने मे प्राथमिकी कराई।


बता दे कि अप्रैल 2021 राजेश एक दिन खाना बनाने के बहाने कमरे मे आया था। आरोपित के पास शराब की बोतल भी थी। आरोप है कि कंपाउंडर राजेश ने नर्स को शराब पिलाई और खुद भी पी। इसके बाद नशे मे उसने नर्स के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाया। वारदात को अंजाम देने के दौरान उसने वीडियो भी बना लिया। राजेश वही वीडियो दिखाकर नर्स को ब्लैकमेल करने लगा। वीडियो वायरल करने की धमकी देते हुए उसने नर्स को होटल बुलाया। होटल बुलाकर उसने कई बार नर्स के साथ दुष्कर्म किया। अंत मे पीड़ित ने साथ काम करने वालों को घटना की जानकारी दी। तब जाकर एफआइआर हुई।

एनसीबी: 60 किलोग्राम मेफ्रेडोन जब्त, 6 अरेस्ट

एनसीबी: 60 किलोग्राम मेफ्रेडोन जब्त, 6 अरेस्ट

कविता गर्ग 

मुंबई। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने महाराष्ट्र-गुजरात में सक्रिय एक प्रमुख अंतर-राज्यीय ड्रग सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है। साथ ही 60 किलोग्राम उच्च ग्रेड मेफ्रेडोन जब्त किया है, और एक पूर्व पायलट सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को ये जानकारी दी। एनसीबी मुंबई के जोनल डायरेक्टर अमित घवटे ने बताया कि, आरोपियों में ड्रग सिंडिकेट का सरगना और एयर इंडिया का पूर्व पायलट भी है। घवाटे ने कहा कि गुजरात के जामनगर में नौसेना के खुफिया ब्यूरो ने कुछ लोगों की संदिग्ध गतिविधियों पर गुप्त सूचना दी थी। एनसीबी ने अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर उनकी गतिविधियों पर अतिरिक्त जानकारी एकत्र करने के लिए इनपुट का पालन किया। यह पता चला कि दवा की एक बड़ी खेप गुजरात से महाराष्ट्र में तस्करी की जा रही थी। जिसके बाद अधिकारियों ने ऑपरेशन की योजना बनाई। नशीले पदार्थों के रैकेट में शामिल सभी लोगों को पकड़ने के लिए योजना बनाई गई।

एनसीबी ने 3 अक्टूबर को जामनगर से 10 किलो मेफ्रेडोन जब्त की और 4 लोगों को पकड़ा। पकड़े गए आरोपियों की बात करें तो, जामनगर के भास्कर वी., पूर्व पायलट एस.जी. महीदा, एस.एम. चौधरी और पी.डी. मुथु, सभी की गिरफ्तारी मुंबई से हुई।
घावटे ने कहा, उनसे पूछताछ में प्रमुख ड्रग लिंकेज और अन्य तस्करों का पता चला और एनसीबी के अधिकारियों ने उन्हें मुंबई में तीन दिनों में विभिन्न स्थानों पर ट्रैक किया और किंगपिन एम.आई. अली और उसेके सहयोगी एम.एफ. चिस्टी को गुरुवार को 50 किलो मेफ्रेडोन के साथ गिरफ्तार कर लिया। एनसीबी मुंबई के प्रमुख ने कहा कि महीदा ने टेक्सास और लिथुआनिया से उड़ान प्रशिक्षण लिया था और 2016-2018 के बीच एयर इंडिया के साथ काम किया था, जबकि मुथु का 2001 में डीआरआई द्वारा 350 किलोग्राम मैंड्रैक्स तस्करी मामले में गिरफ्तारी का एक पूर्व रिकॉर्ड है, जिसमें वह वर्तमान में जमानत पर है।

घ्वाटे के अनुसार, गुजरात और महाराष्ट्र से जब्त किए गए मेफ्रेडोन समान गुणवत्ता के हैं और मुंबई पुलिस द्वारा किए गए पिछले जब्ती अभियानों से जुड़े हैं। मेफ्रेडोन एक मादक पदार्थ है, जिसे 'म्याऊ म्याऊ' या एम-कैट के रूप में भी जाना जाता है और इसे एक न्यू साइकोएक्टिव पदार्थ के रूप में वगीर्कृत किया जाता है। यह नशीला पदार्थ स्वापक औषधि और मन:प्रभावी पदार्थ अधिनियम के तहत प्रतिबंधित है। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-363, (वर्ष-05)

2. शुक्रवार, अक्टूबर 8, 2022

3. शक-1944, आश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्र्योदशी, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 06:15, सूर्यास्त: 06:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 20 डी.सै., अधिकतम-32+ डी.सै., उत्तर भारत में बरसात की संभावना है।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...