सोमवार, 29 जुलाई 2019

पोखरे से निकला मगरमच्छ:हड़कंप

रतनपुर ! महाराजगंज नौतनवां थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत चकदह खास मे बीते दिनों धूप का आनंद लेने के लिए एक मगरमच्छ दिखाई दिया! गांव में बात जंगल में आग की तरह फैल गई! लोग इकट्ठा हो गये, तमाशा देखने के लिए पहुंच गए! वह मगरमच्छ विशाल काया रूप में था, जो धूप का आनंद ले रहा था! मिली खबर के मुताबिक गांव के मंन्दिर के बगल मे दक्षिण पोखरे मे सोमवार को सुबह 9 बजे ग्रामीणों ने देखा एक मगरमच्छ ! जिसकी जानकारी ग्रामीणों ने थाना और वन विभाग के जिम्मेदार लोगो को दे दी! लेकिन सूचना देने और खबर लिखे जाने तक कोई भी जिम्मेदार मौके पर नही पहुंचा था! गांव के ग्रामीणों ने बताया की जहां मगरमच्छ निकला है वह जगह सार्वजनिक है! जहां मंन्दिर और पंचायत भवन स्थित है! यहा लोग आकर अक्सर बैठते रहते है! समय रहते अगर मगरमच्छ को यहा से भगाया नही गया तो किसी दिन कोई बडी घटना घट सकती है! जिसको लेकर आस पास के सभी ग्रामीण काफी चिन्तित और परेशान है!


सरकार ने जनपद के पूर्वी और उत्तरी छोर पर स्थित धनिया ताल में मगरमच्छ बसेरा के लिए एक खूबसूरत तालाब की रचना कराई ! जिससे यह जल जीव की व्यवस्था सुचारू हो सके ! प्रतिवर्ष बरसात के मौसम में दर्जनों स्थानों पर मगरमच्छ दिखाई देते हैं! कहीं नहर में तो कहीं गांव के छोटे-छोटे तालाबों में पहुंचकर दार्शनिक के रूप में रह जाते हैं !जबकि सरकार की व्यवस्थाएं अजीबो-गरीब है! प्रतिवर्ष वहां इनके संरक्षण के लिए लाखों रुपए खर्च किए जाते हैं!


मुस्लिम समाज ने पेश किया आदर्श

कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा कर मुस्लिमो ने पेश की सौहार्द की मिसाल.!


प्रयागराज ! सावन के दूसरे सोमवार को गंगा जमुनी की तहज़ीब कहे जाने वाला शहर प्रयागराज में अद्भुत नज़ारा देखने को मिला, शास्त्री पुल पर जुटे मुस्लिम युवा और बुजुर्गों ने आपसी भाईचारा क़याम रखने की एक नई नज़ीर पेश की जहाँ युवा मुस्लिमो ने गंगा जल लेकर काशीधाम जा रहे श्रद्धालुओं पर पुष्पवर्षा कर उनका स्वागत किया वहीं बुजुर्ग नमाज़ियों ने कांवड़ियों को फल वितरित कर उनके मंगल यात्रा की कामना करते हुऐ दुवाएं की, सांझी संस्कृति वाला शहर प्रयागराज वर्षो से गंगा जमुनी तहजीब के लिये जाना जाता रहा है जिसका उधारण आज देखने को मिला, सबने एक स्वर में भगवान भोलेनाथ का उदघोष भी किया !


इस मौके पर: हसीब अहमद, नूरूल कुरैशी, महताब खां, इस्तियाक अहमद, मो०हसीन, इम्तेयाज़ अहमद, रिंकू तिवारी, मो०खालिद आदि लोग मौजूद थे ।


रिटायर्ड कैप्टन की लाठी-डंडों से पीटकर हत्‍या

सेना के रिटायर्ड कैप्टन की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या


अमेठी ! उत्तर प्रदेश के अमेठी से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। जहां देर रात को भारतीय सेना के सेवानिवृत्त कैप्टन आमान उल्ला की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। घटना की खबर मिलते ही अमेठी पुलिस के हाथ-पांव फूल गए, आनन-फानन एसपी समेत कई अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। फिलहाल शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। वारदात के बाद से इलाके में दहशत फ़ैल गई है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेठी के कमरौली थानाक्षेत्र के गोडियन का पुरवा गांव में शनिवार देर रात को सेना के एक सेवानिवृत्त कैप्टन आमान उल्ला की लाठी-डंडों से पीट-पीट कर हत्या कर देने का मामला सामने आया है। मृतक आमान उल्ला के बेटे इब्राहिम ने बताया कि उसके माता-पिता सड़क किनारे बने मकान में रहते थे। रात को कुछ बदमाश घर आए और पिता एवं मां को रस्सी से बांध दिया।इसके बाद पिता आमान उल्ला के सिर पर लाठी-डंडो से प्रहार कर उनकी हत्या कर दी। इस हमले में आमान उल्ला की पत्नी अमीना भी बुरी तरह घायल हो गईं। फिलहाल उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम ने रविवार को बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जांच चल रही है। फिलहाल अभी हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है!


आजम खान की माफी ? (संपादकीय)


कितना मायने रखती है आजम खान की माफी। 
लोकसभा में ढाल बन कर खड़े रहे अखिलेश यादव।

नई दिल्ली ! समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान ने लोकसभा में अपने व्यवहार के लिए माफी मांग ली। हालांकि माफी मांगने से पहले आजम खान ने अपनी उपलब्धियां गिनाई। उन्होंने कहा कि मैं दो बार यूपी सरकार में संसदीय कार्य मंत्री रहा। मैं 9 बार विधायक और दो बार सांसद चुना गया, इसलिए किसी की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला कार्य नहीं कर सकता, फिर भी यदि मेरे कथन से लोकसभा के आसान की गरिमा को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगता हंू। चूंकि पहली बार माफी शब्द सुना नहीं गया, इसलिए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने दोबारा माफी मांगने के लिए कहा। आजम ने 24 जुलाई को भाजपा सांसद रमादेवी को लेकर अभद्र भाषा का उपयोग किया था, तब रमादेवी सभापति के आसन पर बैठी थीं। हालांकि रमादेवी 29 जुलाई को आजम की माफी से संतुष्ट नहीं थी, लेकिन अध्यक्ष के आदेश की पालना की। हालांकि आजम ने माफी मांग ली है, लेकिन सवाल उठता है कि जिस अंदाज में माफी मांगी, वह कितना मायने रखती हैं? ऐसा प्रतीत होता है कि विवाद को शांत करवाने के लिए अखिलेश यादव के दबाव में आजम ने माफी मांगी है। यही वजह थी कि आजम के साथ अखिलेश ढाल बन कर खड़े थे। आजम के माफी मांगने के साथ ही अखिलेश ने उन्नाव बलात्कार प्रकरण की पीडि़ता के दुर्घटना का मामला उठा दिया। अखिलेश यादव आजम के माफी मांगने के प्रकरण को जल्द समाप्त करवाने के पक्ष में थे। अखिलेश नहीं चाहते थे कि इस पर और बखेड़ा हो। 26 जुलाई को ही सभी राजनीतिक दलों की महिला सांसदों ने एक स्वर से आजम की निंदा की थी। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से विचार विमर्श के बाद ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आजम से माफी मांगने को कहा था।


यदि आजम माफी नहीं मांगते तो उन्हें बजट सत्र से निलंबित किया जा सकता था। लेकिन इस पूरे प्रकरण में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने राजनीतिक समझदारी दिखाई और आजम से माफी मंगवा दी। यदि अखिलेश का दबाव नहीं होता तो आजम कभी भी माफी नहीं मांगते। 
एस.पी.मित्तल


मौत के बाद डीसीपी का बयान:जयपुर


जयपुर के थाने में स्वयं को आग लगाने वाली रेप पीडि़ता की आखिर मौत हो गई। 
मौत के बाद डीसीपी का अजीब बयान।
अब गांधीवादी सीएम अशोक गहलोत क्या कहेंगे,राजस्थान की ऐसी पुलिस के बारे में।

जयपुर ! जिस रेप पीडि़ता ने राजस्थान के जयपुर के वैशाली नगर थाने में स्वयं को आग लगाई उस पीडि़ता की 29 जुलाई को तड़के एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई। मौत के बाद जब डीसीपी से बलात्कारी को गिरफ्तार नहीं किए जाने पर सवाल पूछा तो उनका कहना था कि जांच में कुछ निकलता तो गिरफ्तारी होती। यानि पीडि़ता के आरोप सही नहीं थे। मौत के बाद जब मरहम लगाने की जरूरत थी, तब डीसीपी स्तर का अधिकारी जख्मों पर नमक छिड़क रहा था। पुलिस के इसी रवैये से परेशान होकर 28 जुलाई को पीडि़ता ने थाने में ही आग लगा ली थी। पीडि़ता ने मजिस्ट्रेट के समक्ष भी कहा है कि एक माह पहले फतेहपुर शेखावटी निवासी रविन्द्र सिंह के विरुद्ध रेप का मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस को भी सबूत भी दिए, लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की, उल्टे उसी पर समझौते का दबाव बनाते रहे। पुलिस की इस कार्यशैली से पता चलता है कि रेप जैसे संवेदनशील मामलों में पुलिस कितनी बेरहम होती है। पीडि़ता की मौत के बाद डीसीपी ने जिस तरह बयान दिया है उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिस ने कैसे जांच की होगी। 
अब गांधीवादी सीएम क्या कहेंगे:
इस समय अशोक गहलोत राजस्थान के सीएम हैं। गहलोत की छवि गांधीवादी और बेहद संवेदनशील व्यक्ति की मानी जाती है। जयपुर प्रदेश की राजधानी है और राजधानी के वैशाली नगर थाने में यदि रेप पीडि़ता स्वयं को आग लगा कर मर जाए तो इससे ज्यादा संवेदनहीनता नहीं हो सकती। सवाल उठता है कि रेप जैसे मामलों में भी पुलिस का बेरहम चेहरा क्यों देखने को मिलता है? अब इस मामले में डीसीपी से लेकर वैशाली नगर का पूरा थाना कटघरे में खड़ा है। पीडि़ता की मौत सीएम गहलोत को दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करनी चाहिए। उस पीडि़ता की मानसिक स्थिति का अंदाजा लगाया जाए जिसने स्वयं मौत को गले लगा लिया। आमतौर पर यौन शोषण की शिकार महिलाएं इज्जत की वजह से चुप रहती है, लेकिन जब कभी कोई महिला शिकायत दर्ज करवाती है तो पुलिस पीडि़ता की हिम्मत को ही पस्त कर देती है।
क्या प्रियंका गांधी करेंगी टिप्पणी:
यूपी और अन्य किसी प्रदेश में आपराधिक घटना होने पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी तत्काल प्रभाव से टिप्पणी करती है। अब देखना है कि राजस्थान में थाने के अंदर रेप पीडि़ता द्वारा स्वयं को आग लगाने के गंभीर मामले में प्रियंका गांधी कब टिप्पणी करती हैं।एस.पी.मित्तल


सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण की मांग


राजस्थान में गरीब सवर्णों को दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने में गुजरात फार्मूला लागू हो। जय राजपूताना संघ करेगा जन जागरण। राजपूत विधायकों को लिखे पत्र



जयपुर ! जय राजपूताना संघ के संस्थापक भंवर सिंह रेटा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मांग की है कि गरीब सवर्णों को दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने में गुजरात का फार्मूला लागू किया जाए। तभी सही मायने में सामान्य वर्ग के गरीब परिवारों को लाभ मिल सकेगा। गुजरात में उन परिवार को आरक्षण दिया जा रहा है जिनकी वार्षिक आय 8 लाख रुपए से कम है। गुजरात में वो प्रावधान हटा दिए है जो पूर्व में केन्द्र सरकार ने लगाए थे। रेटा ने बताया कि यदि 5 एकड़ कृषि भूमि, ग्रामीण क्षेत्र में 200 तथा शहरी क्षेत्र में 100 वर्गगज के पट्टे का नियम लागू किया गया तो राजस्थान में एक प्रतिशत परिवार को भी लाभ नहीं मिलेगा। कृषि भूमि तो पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है, लेकिन यह भूमि उपजाऊ नहीं है। 100 वर्ग गज भूमि का शहरी क्षेत्र में पट्टा होना भी सामान्य बात है। रेटा ने मांग की है कि जिस प्रकार गुजरात में दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ दिया जा रहा है उसी प्रकार राजस्थन में भी दिया जाए। रेटा ने कहा कि दस प्रतिशत आरक्षण को लेकर प्रदेशभर में जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। लोग अपने हितों के प्रति जागरुक होंगे तभी लाभ मिल सकेगा। जरुरत होने पर जनआंदोलन भी किया जाएगा। 
राजपूत विधायकों को पत्र :
रेटा ने बताया कि राजस्थान में 21 राजपूत विधायक हैं। सभी विधायकों को दस प्रतिशत आरक्षण के संदर्भ में पत्र लिख गए हैं। आम लोगों में इन विधायकों के मोबाइल नम्बर भी सार्वजनिक किए जा रहे हैं, ताकि आम लोग भी सीधे दबाव डाल सके। विधायकों से कहा गया है कि वे विधानसभा में इस मुद्दे को उठाएं, ताकि राजस्थान में भी गुजरात का फार्मूला लागू हो सके। पहले चरण में राजपूत विधायकों को पत्र लिखे गए हैं, लेकिन अगले चरण में सभी सामान्य वर्ग के विधायकों को पत्र लिखे जाएंगे। इस मामले में और अधिक जानकारी मोबाइल नम्बर 9413933337 पर भंवर सिंह रेटा से ली जा सकती है। 
पंचायतीराज चुनाव में मिले आरक्षण:
रेटा ने सीएम गहलोत से पंचायत राज संस्थाओं के चुनावों में सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को दस प्रतिशत आरक्षण देने की मांग की है। रेटा ने कहा कि नए परिसीमन के बाद ग्राम पंचायतों की संख्या भी बढ़ रही है, ऐसे में पूर्व के आरक्षण में बदलाव किए बगैर सामान्य वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण दिया जा सकता है।
एस.पी.मित्तल


छात्रा से दुर्व्यवहार,विद्यार्थियों का हंगामा

सेंट्रल यूनिवर्सिटी में छात्रा के साथ दुव्र्यवहार। विद्यार्थियों का हंगामा। 
पुलिस ने छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया। वीसी ने जांच कमेटी बनाई। 

अजमेर ! बांदरसींदरी स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी के परिसर में विद्यार्थियों का दिन भर हंगामा होता रहा। विद्यार्थियों खास कर छात्राएं यूनिवर्सिटी परिसर में सुरक्षित माहौल की मांग कर रही हैं। 28 जुलाई की रात को 8 बजे एक छात्रा का कुछ युवकों ने मुंह दबाया और घसीटने की कोशिश की, लेकिन इस छात्रा ने हिम्मत दिखाई और दांतों से युवकों का हाथ काटा। इस छीना छपटी में छात्रा के कुर्ते के बटन भी टूट गए। छात्रा को तत्काल यूनिवर्सिटी के अस्पताल में प्राथमिक इलाज दिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस को सूचना दी गई। बांदरसींदरी के थाना अधिकारी मूलचंद वर्मा ने मौके पर पहुंच कर पीडि़त छात्रा के बयान दर्ज किए, पुलिस ने धारा 354, 377 आदि में छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर लिया है। थाना अधिकारी का कहना है कि पीडि़ता ने आरोपियों को नहीं देखा। पीडि़ता का कहना है कि कुछ युवकों ने पीछे से उसका मुंह दबाया था। इस घटना के बाद से ही यूनिवर्सिटी में रहने वाले विद्यर्थियों में गुस्सा है। विद्यार्थियों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी के परिसर में सुरक्षित माहौल नहीं है। 29 जुलाई को नाराज विद्यार्थियों ने कुलपति अरुण पुजारी को ज्ञापन भी दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुजारी ने जांच कमेटी का गठन किया है। कुलपति का कहना है कि इस मामले में दोषी व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। नाराज विद्यार्थियों ने यूनिवर्सिटी के कुछ शिक्षकों के व्यवहार को लेकर भी आपत्ति दर्ज करवाई है।
एस.पी.मित्तल


गैस लीकेज से भीषण आग रेस्टोरेंट राख

गैस लीकेज से भीषण आग, रेस्टोरेंट राख


प्रयागराज ! कर्नलगंज में एलनगंज क्रॉसिंग के पास स्थित रेस्टोरेंट में शनिवार सुबह गैस लीकेज से आग लग गई। जब तक आग पर काबू पाया जाता, रेस्टोरेंट जलकर राख हो गया। आग बुझाने में करीब 1.30 घंटे का समय लगा। 


छोटा बघाड़ा में रहने वाला संजय एलनगंज क्रॉसिंग के पास छोले-बटूरे का रेस्टोरेंट चलाता है। रोज की तरह शनिवार सुबह भी रेस्टोरेंट की साफ-सफाई में जुटा था कि इसी दौरान गैस लीकेज की वजह से सिलेंडर में आग लग गई। उसने आग बुझाने की कोशिश की लेकिन देखते ही देखते आग रेस्टोरेंट में फैल गई। शोरगुल पर आसपास के लोग भी जुट गए लेकिन तब तक आग रेस्टोरेंट में रखे चार सिलेंडरों तक पहुंच गई। सूचना पर पुलिस और फायरब्रिगेड पहुंची। करीब 1.30 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह काबू पाया जा सका। लेकिन तब तक रेस्टोरेंट में रखा सामान जलकर राख हो चुका था। घटना मेें हजारों रुपये का नुकसान हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गनीमत रही कि आग की चपेट में आने के बावजूद सिलेंडर फटे नहीं, वरना जान-माल का भी नुकसान हो सकता था।


हादसों में तीन की मौत,दो घायल

तीन अलग-अलग हादसों में तीन की मौत व दो घायल।


मृतकों में दो अलग हादसों में दो शख्स की मौत व एक अलग हादसे में एक कावड़िए की मौत व दो कावड़िए (महिलाएं) घायल।


जेपी पंडित
रेवाड़ी ! जिले के तीन अलग-अलग क्षेत्रों में हुए सड़क हादसों में जहाँ एक तेज रफ्तार ट्रक ने तीन कावड़ियों को टक्कर मार दी जिसमे एक कावड़िए की मौत हो गई व दो महिला कावड़िए घायल हो गई। वही दूसरे हादसों में नारनौल रोड पर हुए एक हादसे में व महेंद्रगढ़ रोड पर हुए अलग हादसे में दो शख्स की मौत हो गई।
(पहली घटना)
विस्तृत जानकारी के अनुसार तेज रफ्तार के एक ट्रक ने आज फिर एक कावड़िए की जिंदगी छीन ली तथा दो गंभीर रूप से घायल हो गए प्राप्त जानकारी के अनुसार धारूहेड़ा के समीप खरखड़ा गांव के पास सर्विस लाइन में पानी भरा होने के कारण कुछ कावड़िए एनएच 71 पर आ गए तथा पीछे से आ रहे एक अज्ञात वाहन ने इन कावड़ियों को टक्कर मार दी जिससे दो कावड़िए पूजा एवं उषा गंभीर रूप से घायल हो गए तथा एक कावड़िया गजेंद्र सिंह पुत्र मोहन लाल निवासी गोठड़ा की मृत्यु हो गई मोहनलाल लगभग 52 वर्ष का था तथा उसके 1 पुत्र तथा एक पुत्री है जबकि पूजा एवं उषा को गंभीर रूप से चोट आई है जिसमें उषा देवी को पांव में फ्रैक्चर है तथा दोनों मूल रूप से रेवाड़ी शहर की निवासी है। मृतक के शव का पोस्टमार्टम रेवाडी के सरकारी अस्पताल में करवाकर शव परिजनों को सौप दिया गया है। धारूहेडा थाना पुलिस मामले में कार्यवाही कर रही है।
(दूसरी घटना)
सड़के हादसे की दूसरी घटना जिले के रामपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत रेवाडी से नारनौल रोड पर राजपुरा गाँव के नजदीक घटित हुई। इस हादसे में कुंड के पास स्तिथ राजस्थान के महलावास गांव का रहने वाला राजकुमार अपने काम से जा रहा था कि राजपुरा गाँव के नजदीक किसी अज्ञात वाहन ने उसे टक्कर मार दी। जिस कारण उसे घायल अवस्था मे रेवाडी ट्रॉमा सेंटर में लाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शव का पोस्टमार्टम रेवाडी के सरकारी अस्पताल में करवाकर शव परिजनों को सौप दिया गया है। रामपुरा थाना पुलिस मामले में कार्यवाही कर रही है।
(तीसरी घटना)
तीसरा सड़क हादसा भी रेवाडी जिले के अंतर्गत डहीना चौकी के अंतर्गत रेवाडी से महेंद्रगढ़ रोड पर नांगल मूंदी के नजदीक हुआ। इस सड़क हादसे में रेवाडी जिले के गांव भटेडा के रहने वाला राजेन्द्र उर्फ राजू उम्र-46 साल को नांगल मूंदी के समीप किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी जिस कारण राजेन्द्र की मौत हो गई। मृतक के शव का पोस्टमार्टम रेवाडी के नागरिक अस्पताल में करवाकर शव परिजनों को सौप दिया गया है। ड़हीना चौकी पुलिस मामले में तफ्तीश व कार्यवाही कर रही है।


बालिकाओं को सशक्त बनाना उद्देश्य:डीएम

बालिकाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार के बालिका सुरक्षा अभियान के अंतर्गत गलगोटिया यूनिवर्सिटी में कार्यक्रम आयोजित


गौतमबुध नगर ! प्रदेश सरकार के निर्देश पर बी एन सिंह जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर के मार्ग निर्देशन में जनपद के विभिन्न स्कूल में बालिका सुरक्षा विषय पर जागरूकता अभियान -जुलाई अभियान के अंतर्गत बालिकाओं को बालिका सुरक्षा विषय पर जागरूक किया जा रहा है। उक्त अभियान के अंतर्गत महिला कल्याण विभाग, पुलिस विभाग और चाइल्ड लाइन द्वारा बालिका सुरक्षा के विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की जा रही है तथा आत्मरक्षा के संबंध में जानकारी दी जा रही है। इस संबंध में आज गलगोटिया यूनिवर्सिटी में महत्वपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन किया गया जहां पर प्रशिक्षकों द्वारा डायल 100 ,101 फायर हेल्पलाइन ,112 पैनिक बटन, 108 व 102 एंबुलेंस सेवा , 181 महिला हेल्पलाइन  ,1090 महिला पावर हेल्पलाइन , 1098 चाइल्ड हेल्पलाइन आदि से संबंधित जरूरी और आवश्यक नंबरों की जानकारी दी गई।  इसके अलावा बालिकाओं को विभिन्न कानूनों जैसे पोक्सो अधिनियम 2012,  बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 , घरेलू हिंसा अधिनियम 2005, महिलाओं का अश्लील चित्रण प्रतिषेध अधिनियम 1986, आदि के संबंध में भी जानकारी दी गई।साथ ही गुड टच बैड टच के बारे में भी बतायागया।


उक्त के अतिरिक्त बालिकाओं को बालिकाओं से संबंधित विभिन्न लाभकारी योजनाओं जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, कन्या सुमंगला योजना, सुकन्या समृद्धि योजना आदि की जानकारी दी गई। यह जानकारी जिला प्रोबेशन अधिकारी अतुल कुमार सोनी के द्वारा दी गई है।


लाख का इनामी बदमाश,मुठभेड़ में ढेर

गौतमबुद्धनगर । 1 लाख का इनामी बदमाश सचिन ठाकुर पुत्र जयप्रकाश निवासी ग्राम सराय घासी थाना सिकंदराबाद जनपद बुलंदशहर को थाना फेस-2 जनपद में पुलिस मुठभेड़ में घायल होने के उपरांत स्टार वन टीम प्रभारी उप निरीक्षक धर्मेंद्र शर्मा एवं थाना प्रभारी फेस 2 ,फरमूद पुंडीर द्वारा गिरफ्तार किया गया उपरांत स्टार वन टीम प्रभारी धर्मेंद्र शर्मा एवं थाना प्रभारी फेस 2 फरमूद पुंडीर द्वारा गिरफ्तार किया गया है । इस अपराधी के ऊपर पूर्व में करीब 12 मुकदमे लूट,डकैती एवं गैंगस्टर एक्ट के पंजीकृत हैं एवं यह एक  अंतरराज्‍यीय अपराधी है जो कि वर्तमान में जनपद गौतम बुध नगर एवं जनपद गाजियाबाद से वांछित चल रहा था । दिनांक 27/28 अप्रैल की रात्रि में महागुन बिल्डर के थाना फेज 3 अंतर्गत स्थित कॉरपोरेट ऑफिस पर डकैती की हुई घटना में यह मुख्य मास्टरमाइंड एवं तभी से वांछित चल रहा था । 9 जून को इस पर ₹ 1 लाख का इनाम घोषित किया गया था ।मुठभेड़ के उपरांत इसके पास से .32 एमएम की एक पिस्टल एवं कुछ कारतूस बरामद हुए हैं।


शिविर में किया गया प्रसाद वितरण

गाजियाबाद,साहिबाबाद । विक्रम एन्क्लेव दिल्ली वजीराबाद रोड पर शिविर में भोलो को प्रशाद वितरित करते पार्षद सरदार सिंह भाटी ।विक्रम एन्क्लेव दिल्ली वजीराबाद रोड सिकन्दर पुर कट पर पार्षद सरदार सिंह भाटी ने  गुड्डो बुआ शिविर में भोलो को प्रशाद वितरित किया ! वही शिविर के संचालिका चंद्रकांता ने बताया की 18 वर्ष से लगातार शिविर लगा रही हैं और भोले की सेवा करती आ रही हैं ।इस सेवा में अलग ही आनंद की अनुभूति होती हैं! हमे हर वर्ष सावन के इस पर्व का इंतजार रहता हैं ।


 इस मौके पर पार्षद सरदार सिंह भाटी कालीचरण पहलवान रवि भाटी चंद्रकांता उर्फ गुड्डो बुआ नन्द किशोर, साहिल ठाकुर, चिंटू, सत्यम हिमांशु नेहा कोमल खुशबू सचिन, कैलाश यादव, सोमनाथ चौहान आदि ने भोलो की सेवा की ।


पीआरवी स्टाफ ने किया कांवड़ियों का उपचार

पीआरवी 2193 के स्टाफ़ बने डॉक्टर,5 घायलों कांवड़ियों किया उपचार


कई बाईके भिड़ी,करीब आधा दर्जन भोले हुए घायल,पीआरवी स्टाफ ने उपचार कर गतंव्य की ओर किया रवाना


मुज़फ्फरनगर ! अब तक आपने यूपी 100 को लोगों के काम आते व एंबुलेंस का काम करते देखा होगा! लेकिन अब यूपी 100 के स्टाफ डॉक्टर बन गए हैं! दरअसल बाईपास पर बागोवाली-भोपा मार्ग पर भोपा पुल के पास कावड़ियों की कई बाईके आपस में भिड़ गई! तभी पास से गुजर रही मुजफ्फरनगर जनपद की पीआरवी 2193 ने घायलों को देखकर पीआरवी को रोक लिया और घायल कावड़ियों का उपचार शुरू कर दिया !पीआरवी  के स्टाफ दिनेश कुमार,नवीन कुमार तथा चालक कपिल कुमार ने पांच घायल का कांवड़ियों का उपचार करते हुए उनकी मरहम पट्टी की कथा उन्हें गंतव्य की ओर रवाना किया! घायल दो कांवड़ियों श्रीराम व रामशन्स निवासी ग्राम महामाद थाना परदा बिहार ने बताया कि यूपी 100 स्टाफ ने हमारा डॉक्टर बनकर उपचार किया! हम इसका अपने राज्य में गुणगान करेगे सच्चाई यह है कि यूपी पुलिस खासकर मुज़फ्फरनगर पुलिस अच्छा काम कर रही है!  तस्लीम बेनकाब


राक्षस पति को उतारा मौत के घाट

यूपी में पिता ने बेटियों को हवस का शिकार बनाना चाहा, मां ने पति को माैत के घाट उतारा


बिजनौर ! एक नशेड़ी पिता ने जब अपनी ही बेटियों को हवस का शिकार बनाने की कोशिश की तो मां ने पति की हरकतों से तंग आकर उसे मौत के घाट उतार दिया। 20 दिन पहले धामपुर में हुए मुख्तार अहमद हत्याकांड का पुलिस ने शनिवार को खुलासा कर दिया।एसपी के मुताबिक शराब के साथ नशीली गोली खिलाकर पत्नी ने ही मुख्तार की गला घोंटकर हत्या की थी। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही हत्या में प्रयुक्त की गई प्लास्टिक की रस्सी भी बरामद कर ली है।


एसपी संजीव त्यागी के मुताबिक धामपुर के मोहल्ला पुराना धामपुर निवासी मुख्तार अहमद की आठ जुलाई को सोते समय गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी। उसके भाई इरफान अहमद ने मुख्तार की पत्नी फिरदौस पर हत्या का शक जताते हुए पुलिस में तहरीर दी थी। इस पर पुलिस ने फिरदौस को घर से ही दबोच लिया। पूछताछ की तो उसने पति की हत्या का सारा राज उगल डाला।


गैंगरेप पीड़िता के साथ हादसा या साजिश

उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता के साथ हादसा या साजिश


लखनऊ ! यूपी के चर्चित उन्नाव गैंगरेप केस की पीड़िता की गाड़ी के साथ ट्रक की भयावह टक्कर वाकई हादसा था या फिर इसे साजिशन अंजाम दिया गया था, यूपी पुलिस हर ऐंगल से जांच कर रही है। लखनऊ रेज के एडीजी राजीव कृष्ण ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि रायबरेली की जेल में बंद पीड़िता के चाचा की ओर से तहरीर दी गई है, जिसके आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है।इधर ट्रक के ड्राइवर, मालिक और क्लीनर की सारी कॉल्स डीटेल खंगाली जा रही है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि हादसे से पहले बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर या उनके समर्थकों की ट्रक से जुड़े तीनों आरोपियों से कोई संपर्क तो नहीं हुआ था। बहरहाल, फरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर चुकी है। एडीजी लखनऊ राजीव कृष्ण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पुलिस इसकी जांच में यह पता करने की कोशिश कर रही है कि यह वाकई हादसा था या कोई साजिश।


उन्होंने कहा कि मृतकों का पोस्टमॉर्टम हो गया है जबकि घायलों का इलाज लखनऊ में चल रहा है। एडीजी ने बताया कि पीड़ितों के इलाज का खर्च पूरी तरह से सरकार उठाएगी। उन्होंने कहा कि मौके पर पहुंची फरेंसिक टीम चश्मदीदों के बयान और टायरों के निशान एकत्र करेगी। इस बीच सीबीआई टीम लखनऊ स्थित केजीएमयू पहुंची, जहां पीड़िता का इलाज चल रहा है। लड़की के साथ गैंगरेप मामले की जांच पहले से ही सीबीआई कर रही है।


चौथी पत्नी को मार,कर ली आत्महत्या

पहले चौथी पत्नी को पेट फाड़कर मारा, दूसरे दिन खुद फांसी पर लटका


वाराणसी ! लोहता इलाके में शनिवार को एक पति ने पत्नी की हत्या इसलिए कर दी थी कि क्योंकि उसने पति से खाना मांगा था। पति ने चाकू से अपनी पत्नी का बेरहमी से पेट फाड़ दिया था। इसके बाद वह मौके से फरार हो गया। हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं अब रविवार सुबह हत्यारे पति ने खुद को फांसी लगाकर जान दे दी।मृतक गुफरान की मां आबिदा खातून और बहन रेहाना खातून की तहरीर पर पुलिस ने दहेज और हत्या का मुकदमा दर्ज किया। उसके बाद पुलिस हत्यारे पति गुलजार की तलाश कर रही थी। वहीं रविवार सुबह लोहता पुलिस को सूचना मिली कि लोहता छितौनी नदी के किनारे एक युवक ने फांसी लगाई है।


सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची तो एक युवक लोहे के गेट के एंगल में गमछे के फंदे के सहारे मृत अवस्था में लटका पड़ा था। पुलिस ने लाश को नीचे उतारा। शव की शिनाख्त कोटवा डिहवा निवासी गुरफान बानो के पति गुलजार उर्फ कल्लू के रूप में हुई। पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।


भय के साये में जीने को विवश ग्रामीण

श्रावस्ती ! श्रावस्ती में सिरसिया थाना क्षेत्र के जंगल से सटे गांवों में तेंदुए का आतंक कम होने का नाम नही ले रहा है।
बीती रात एक बार फिर तेंदुए ने एक वृद्ध महिला को अपना शिकार बनाया।


घोलिया बालू गांव की रहने 65 वर्षीय उर्मिला देवी का शव सुबह घर से 100 मीटर की दूरी पर मिला वृद्धा की मौत के बाद से जहां परिवार में मातम पसरा है, वहीं गांव में भय का माहौल है। फिलहाल मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। विदित हो कि तेंदुआ बीते 13 जुलाई को विभूतिनाथ मंदिर से एक किशोरी को उठा ले गया था।जबकि 27 जुलाई को एक गौवंस को निवाला बनाया था।एक के बाद एक हो रहे तेंदुए के हमले से जंगल किनारे बसे लगभग आधा दर्जन गांवों के लोग खौफजदा हैं।


मिर्जापुर पालिका में 26 करोड़ की हेराफेरी

भाजपा शासित: नगर पालिका मिर्जापुर लगातार विवादों में घिरी हुई है!


मिर्जापुर ! नगर पालिका मिर्जापुर से 26 करोड़ रुपए के हिसाब किताब गायब होने और उस के बाद में ही चुपके से रद्दी के नाम पर फाइलें जलाए जाने तक का मामला चल ही रहा था! नगर अभियंता रामजी उपाध्याय के मामले ने सभी को चौका दिया है? नगर पालिका परिषद के विभागों में किस कदर आम आदमी को लूटा जा रहा है! और यह सब काम किस की सरपरस्ती में हो रहा है मिर्ज़ापुर नगर वासी त्राहिमाम कर रहे हैं! इस समय नगरपालिका परिषद में जलकर एवं गृह  कर के अलावा जल मूल्य के नाम पर प्रति भवन स्वामियों से 7200सौ वसूल किया जा रहा है! भ्रष्टाचार का यह खेल ऊपर से नीचे तक जारी है! हाल में राष्ट्रीय उद्यान लाल दिग्गी में भी भ्रष्टाचार का खेल खेला गया पुरानी को खरोच कर नई दीवार बना दी गई उद्यान में लगी सामग्री जर्जर अवस्था में होती चली जा रही है! हालांकि शासन के मानक के मुताबिक जो भी काम हो वह पीडब्ल्यूडी के रेट के बराबर होना चाहिए! भाजपा शासित नगर पालिका की दबंगई इसलिए जारी है की केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार है! जिलाधिकारी को दबाव बनाने के लिए उन्हें विकास विरोधी कहते हुए उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया जाता है, 11 फरवरी को सभासदों के साथ जिला मुख्यालय पर धरना दिया जाता है? नगर पालिका के कई कामों में अनियमितता और काम की रेट को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं! सूत्रों की मानें तो पूरा विवाद अधिकारियों पर धौस जमा कर गलत काम करवाने तक है! भ्रष्टाचार करने में जब कमी नजर आई तो डूडा से रामजी उपाध्याय नामक एक लुटेरे को फर्जी तौर पर नगर में उतार दिया जाता है! इंटरलॉकिंग आरआरसीसी की घटिया सड़क नाली खड़ंजा मनचाहे ठेकेदारों से ठेका देकर करवाया जा रहा है! प्रकाशन विभाग कहने के लिए प्रकाशन विभाग है वहां तो भ्रष्टाचार का प्रकाश उमड़ रहा है! जय और वीरू नामक सभासद मंत्री आवास के नाम पर भी जमकर वसूली कर रहे हैं और ठाकुर तक सारा हिसाब जा रहा है! चलिए जनता है! सिद्धांत और अनुशासन की जर्जर स्तंभ पर भारतीय राजनीति में भारतीय जनता पार्टी का उद्भव हुआ है और उसी की सरकार केंद्र और प्रदेश में है और भाजपा शासित नगर पालिका मिर्जापुर ?


पुलिस टीम को दिया गया इनाम:शामली

 


शामली पुलिस (थाना थानाभवन) को मिली बड़ी कामयाबी 


शामली ! 04 संदिग्ध विदेशियों व तीन मदरसों के संचालकों समेत कुल 07 संदिग्धों को पुलिस की तत्परता के चलते दबोच लिया गया। गंभीर सूचना पर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने स्पेशल टीम लगाकर, ख़ुद नेतृत्व करते हुए थानाभवन व जलालाबाद स्थित मदरसों पर कराई थी ताबड़तोड़ छापेमारी ! मुख्य अभियुक्त अब्दुल मजीद (रोहिंग्या) समेत  रिज़वान, फुरकान, नोमान, हफी उल्लाह, क़ारी अशरफ़ और वासिफ अमीन को पुलिस ने किया गिरफ़्तार ! चारों संदिग्ध विदेशी म्यानमार (वर्मा) के रहने वाले हैं, जो छिपकर बाँग्लादेश व कोलकाता के रास्ते भारत आए थे; और नाम बदलकर मदरसों में रह रहे थे।इनके क़ब्ज़े से फ़र्ज़ी आधार कार्ड, फ़र्ज़ी पैनकार्ड, भारतीय और विदेशी मुद्रा व बैंक खातों समेत 04 संदिग्ध मोबाइल फ़ोन हुए हैं बरामद ! मदरसा संचालकों ने नहीं दी थी पुलिस प्रशासन को कोई सूचना। नाम बदलकर छिप कर रह रहे थे सभी संदिग्ध। कभी भी हो सकता था सुरक्षा को बड़ा ख़तरा। पुलिस की मुस्तैदी से दबोचे गए सभी 07 संदिग्ध।शानदार गुड वर्क पर एस पी शामली अजय कुमार ने पुलिस टीम को दिया ₹ 25,000 का ईनाम। शामिल पुलिस टीम को मिली उच्चाधिकारियों से प्रशंसा!


भाकिसं लड़ेगा अधिकार की लड़ाई

मेरठ ! भारत एक कृषि प्रधान देश है किसान कृषि एवं कृषि पर आधारित उद्योग अपने देश की अर्थव्यवस्था का मेरुदंड है।बावजूद इसके भारत में किसान स्वयं को असहाय महसूस कर रहे हैं और अन्नदाता से बेचारा बन गया। स्वाधीनता के बाद आधुनिक विज्ञान के नाम पर कृषि ने नई-नई तकनीकों व पद्धतियों  से आज पर्यावरण परिस्थिति व जन स्वास्थ्य के लिए गंभीर संकट उत्पन्न हो गए हैं।कृषि में जैविक आदानों के स्थान पर रसायनों सेउपयोग व्यापक स्तर पर भूमि बंजर हो गई और प्रकृति में स्वसंचालित जैविक उर्वरता संवर्धन व किट नियंत्रण में सहयोगी कीट व सूक्ष्मजीव कम होते चले गए हैं। कृषि उपज के लिए मुख्यतः मिट्टी,बीज,पानी और सूर्य रोशनी की आवश्यकता होती है। सारे के सारे प्राकृतिक संसाधन है और इन सभी का उपयोग करते हुए किसान मनुष्य एवं जीवो का उपकार करता रहता है। आधुनिक खेती का हरित क्रांति (1970 के दशक) के पहले किसान ने बीज का विकास उत्पादन,वितरण,भंडारण और क्रय-विक्रय करते थे लेकिन आधुनिक खेती के नाम पर यह अधिकार किसानों से षड्यंत्र के तहत सरकारी संस्थाएं विश्वविद्यालय और अनेक राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय कंपनियों ने अपने हाथों में ले लिया।हाइब्रिड बीजों से अधिक पैदावार का भकावा देकर किसानों के साथ बीज की कीमत में अनियंत्रित बढ़ोतरी व शोषण एक सोची-समझी मानसिकता के साथ करते रहे हैं।जिसके कारण खेती घाटे का सौदा बन गई। अस्थिरता के साथ किसान खेती छोड़ने या अति गरीबी वाली जिंदगी जीने को मजबूर हुआ।


किसानों के पास सभी संस्थानों के अभाव के बाद भी,सभीनकारात्मक स्थिति के बाद भी,इतनी विशाल जनसंख्या को खाना खिलाना,मानव जीवन में उपयोग आने वाले उत्पादकों का उत्पादन करना ही अपना दायित्व समझा। यहां तक कि लागत मूल्य न मिलने के बाद भी देश को आवश्यकता से अधिक उत्पादन करता रहा। इन सब के बावजूद बीज कंपनियों ने और अधिक पैदावार के नाम पर जीएम बीजों को विकसित किया,जीएम बीजों को बनाने में जंतु के वांछित गुण का डी.एन.ए को अप्राकृतिक तरीके से प्रत्यारोपित किया गया,जैसे टमाटर को पाले से बचाने के टमाटर के बीज में बर्फीले समुद्र में पाई जाने वाली मछली में विद्दमान,उसे बर्फ की ठंडक से बचाने वाली उस जीन या वंशाणु को अनेक रसायनिक घटकों के साथ प्रत्यारोपित कर पाला रोधी टमाटर विकसित किया गया। अब हाल ही में ऐसी कीट रोधी खरपतवार नाशक विशेषताओं से युक्त सैकड़ों जीव रूपांतरित फसल प्रजातियां जैसे मक्का सरसों,बैंगन,सोयाबीन,अरंडी,चावल,गेहूं, भिंडी,तोरई आदि अनेक बीज HTBT और GM बीजों को किसानों तक पहुंचाया जा रहा है जो कि किसान व उपभोक्ताओं के लिए अभिशाप बन जाएगा।क्योंकि HTBTऔर GM बीजों के प्रसंस्करण करने पर जिन रसायनिक घटको का प्रयोग किया जाता है और उन पर छिड़काव हेतु उनसे भी अधिक ताकतवर रसायनों का उपयोग होता है।उन बीजों के उत्पादन से उस उत्पाद में भी  वही जीन स्थापित हो जाती है जिनके उपयोग से देश की 85% मानवजाति को कैंसर मुक्त में मिलेगा।आज की वर्तमान स्थिति में हाइब्रिड बीजों व रासायनिक छिड़काव के प्रभाव से दुधारू पशु के दूध भी कैंसर उत्त्पन्न करने वाले जीन विद्धमान है जिस कारण नौनिहालों को भी कैंसर का शिकार होते जा रहे हैं।जैसे नाइट्रोबेंजीन,मोनोक्रोटोफॉस,ग्लाइफोसेटआदि अनेक रसायन द्वारा बीजो को प्रसंस्करण किया जाता है जिनके कारण से कैंसर पैदा होता है जो पूर्णतः प्रतिबंधित है लेकिन कंपनियां मनमानी ढंग से खुलेआम किसानों तक पहुंचाने में सक्षम हो रही है।
अगर हम जानते हैं हमारा देश सुरक्षित है वह सुरक्षित हाथों में है तो ये सारी कंपनियां हमें कैसे चुनौती दे रही हैं? इसलिए भारतीय किसान संघ पूरे देश में भारत सरकार से किसान व मानव जाती के हितों के लिए निम्नलिखित मांगों के लिए एक दिन 9 अगस्त 2019 को समय 10:00 बजे से हर तहसील पर धरना प्रदर्शन करेगी! जिसमें आप सभी से अपेक्षा है कि इस यज्ञ में अपनी आहुति देने की कृपा करें।
1:-इन सारे घटनाक्रम की सही जांच करते हुए दोषियों को दंडित किया जाए।
2:- जिन कम्पनियों ने यह गलत बीज अनाधिकृत रूप से किसानों तक पहुंचाया उसको प्रतिबंधित किया जाए या भारत छोड़ने का निर्देश दिया जाए। क्योंकि ग्लाइफोसेट रसायन कैंसर पैदा करता है, जितने भी तकनीक इसके साथ संलग्न हैं उसे सारी तकनीकों को प्रतिबंधित किया जाए।
3:-कोई भी अगर इस रसायनो को आयात  करते हैं तो उसे आजीवन सजा का कठोर प्रावधान हो।
4:- जो GEAC इस कंपनी की निगरानी हेतु अधिकृत है वह अभी तक चुप क्यों हैं? इसलिए इसको बंद करते हुए नई संस्था का गठन किया जाए।
5:- यदि सरकार चाहती है कि किसानों की आय दोगुना हो तो सरकार को बीज किसानों का अधिकार बिल लाना पड़ेगा, बीज कानून का नाम *बीज किसानों का अधिकार* ऐसा हो।
6:-बीज बनाना,भंडारण करना,वितरण, क्रय-विक्रय किसानों के अधिकार में ही रहे ऐसा कानून का आधार वाक्य हो
7:-देशी बीज का परिष्करण,वृद्धिकरण की जाए।
8:-मौसम के विपरीत परिस्थितियों में सफल होने हेतु इन बीजों का विकास किया जाए।
 9:-हमारे देश में सभी विश्वविद्यालय शोध केंद्र,कृषि विज्ञान केंद्र,आदि को इस दिशा में कार्य करने की क्षमता विकसित की जाए।
10:-इन संस्थानों के माध्यम से किसानों को सीधे विकसित फाउंडेशन सीड को  उपलब्ध कराया जाए।
11:-बीज बनाने की प्रक्रिया का प्रशिक्षण किसानों को दिया जाए।
12:-घोषित बीजों का एम.आर.पी निश्चित किया जाए और उनकी गुणवत्ता के साथ किसानों को उपलब्ध कराया जाए।
13:-अधिकृत घोषित बीजों के बाहर कम्पनियां कोई बीज न बेंचे।
अत्यन्त महत्वपूर्ण विषय पर आँखें मूंद लेना सरकार एवं किसानों व समस्त मानव समाज के लिये एक बहुत बड़े खतरे को नजरअंदाज करने के ओर इंगित करेगा जो बिल्कुल स्वीकार्य नही है।अतः सभी भाइयो से पुनः निवेदन करते है कि अपने हक के लिये सरकार को अपनी ताकत दिखाने के लिये तहसील केंद्र 9 अगस्त 2019 समय 10 बजे अवश्य पहुचने का आग्रह करते हैं।


तेज रफ्तार हाईवा ने दो युवकों को कुचला

 बिलासपुर ! रतनपुर-बिलासपुर मुख्य मार्ग पर अभी-अभी भीषण सड़क हादसा हो गया। हादसे में दो युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हादसा इतना भीषण था कि युवकों की लाशों के लौथड़े सड़क पर बिखर गए। यहां से निकलने वाले लोगों ने अपनी आंखे बंद कर लीं। बताया गया कि रतनपुर केंदा मार्ग में स्थित ग्राम पंचायत मझवानी में तेज रफ्तार हाइवा ने दो बाइक सवार युवकों को कुचला। जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई है।दोनों बाइक सवार युवक बेलगहना चौकी अंतर्गत पडरापथरा निवासी है। क्षेत्र में सड़क पर लगातार हो रही वारदातों से ग्रामीणों में आक्रोश है।


डिस्कवरी चैनल पर दिखेंगे प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्‍ली ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चर्चित शो 'Man Vs Wild' में नजर आएंगे! यह शो डिस्कवरी चैनल पर प्रसारित किया जाएगा! शो में पीएम मोदी के साथ चर्चित होस्ट बेयर ग्रेल्स भी मौजूद रहेंगें! बेयर ग्रिल्स ने ट्विटर पर एक विडियो ट्वीट कर बताया कि 12 अगस्त को रात 9 बजे डिस्कबरी चैनल एक शो प्रसारित किया जाएगा! इस शो में पीएम मोदी पशु संरक्षण और पर्यावरण परिवर्तन को लेकर जागरूकता पर बात करेंगे! यह शो एक साथ 180 देशों में देखा जाएगा!


ट्विटर पर बेयर ग्रिल्स ने लिखा, ”180 देशों के लोगों को पीएम नरेंद्र मोदी का दूसरा पक्ष देखने को मिलेगा! उन्होंने पशु संरक्षण और पर्यावरण परिवर्तन के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए भारतीय जंगलों में जाकर जोखिम का काम किया है.”इस वीडियो में पीएम मोदी अलग अंदाज में नजर आ रहा है! शो के होस्ट के साथ वह हंसते हुए चर्चा करते नजर आ रहे हैं! पीएम शो ग्रिल्स के साथ छोटी नाव में नदी पार करते, जंगल की चढ़ाई करते दिख रहे हैं!


फर्जी वेतन निर्धारण आदेश:पूर्वोत्तर रेलवे

जबकि भंगेड़ी लेखाधिकारी ने ही दिया था फर्जी वेतन निर्धारण का आदेश


DPC तैयार, मेजर पेनाल्टी के बजाय दी जा रही पदोन्नति


पूर्वोत्तर रेलवे ! कार्यरत सहायक लेखाधिकारी को बचाने के लिए नीचे के कर्मचारियों  को बली का बकरा बनाए जाने का मामला "रेल समाचार" में प्रकाशित हुआ था। "रेल समाचार" ने लेखा विभाग में फर्जी वेतन निर्धारण  का पर्दाफाश किया था। लगातार ऐसे कारनामों को अंजाम देने वाले इस सहायक लेखाधिकारी के सिर पर विभाग प्रमुख (PFANER) का वरदहस्त होने के कारण उसके विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं हो रही थी।यह मामला महाप्रबंधक के  संज्ञान में आने का बाद उनके कठोर निर्देशों के बाद इस भांगेडी लेखाधिकारी का स्थानांतरण  लेखाधिकारी/प्रशासन के पद से किया गया था।इसके तत्काल बाद सतर्कता संगठन द्वारा सभी संबंधित फाइलें जप्त कर इस मामले की जांच की जा रही थी और समझा जा रहा था कि इस लेखाधिकारी को अवश्य ही मेजर पेनाल्टी दी जाएगी। परंतु लोगों को घोर आश्चर्य तब हुआ जब इस मामले में मात्र एक तृतीय श्रेणी के पर्यवेक्षक, जो 31जुलाई को सेवानिवृत्त हो रहा है, को मेजर पेनाल्टी चार्जशीट जारी कर दी गई। अब पता चला है कि इस लेखाधिकारी को पदोन्नति देने की प्रक्रिया जोर-शोर से चल रही है, DPC हो चुकी है, PFA का प्रयास यह है कि चार्जशीट जारी होने से पहले उसे पदोन्नति दे दी जाए।


उल्लेखनीय है कि यह भांगेडी लेखाधिकारी पूर्व में सतर्कता विभाग में काम कर चुका है, इसलिए सतर्कता विभाग द्वारा भी इसके प्रमाणित कदाचार को या तो नजरअंदाज किया जा रहा है, या फिर जानबूझकर निष्कर्ष में इसलिए देरी की जा रही है कि जिससे उसकी पदोन्नति हो जाए।"रेल समाचार" को अपने सूत्रों से कुछ अभिलेख प्राप्त हुए हैं, जिनके अवलोकन से यह भंगेड़ी लेखाधिकारी पूरी तरह से दोषी दिखाई देता है।"संलग्न नोटिंग" जिससे जाहिर है कि इसी के आधार पर गलत वेतन निर्धारण की प्रक्रिया प्रारंभ हुई थी, यह इसी लेखाधिकारी के हस्ताक्षर से अनुमोदित की गई थी। पुनः "संलग्न वेतन निर्धारण" के लिए जारी ज्ञापन, जिसके आधार पर वेतन निर्धारण  का प्राधिकार जारी किया गया था, वह भी इसी लेखाधिकारी के हस्ताक्षर से जारी हुआ है।


इसी ज्ञापन में दिए गए निर्देशों के आधार पर किए गए वेतन निर्धारण को वेट करने वाले नीचे के लेखा पर्यवेक्षक को मेजर पेनाल्टी जारी हुई है।कर्मचारियों का कहना है कि नीचे का कोई लेखा कर्मचारी एवं पर्यवेक्षक अपने अधिकारी के आदेशों की अवहेलना करने का साहस नहीं कर सकता है। उनका कहना है कि जब नीचे के कर्मचारियों के विरूद्ध ऐक्शन हो सकता है, तो इस कदाचार का मूल आधार और इसका आदेश जारी करने वाले अधिकारी को प्रशासन क्यों बचा रहा है? यह समझ के परे है। इससे कर्मचारियों में घोर आक्रोश व्याप्त है। महाप्रबंधक को चाहिए कि वह अपने PFA और PCCM जैसे विभाग प्रमुखों के कदाचारों को अविलंब संज्ञान में लेकर उचित कदम उठाएं।


उमेश शर्मा


जम्मू-कश्मीर,पश्चिम-बंगाल में भूकंप के झटके

जम्मू-कश्मीर और पश्चिम बंगाल में बीती रात भूकंप के झटके


नई दिल्ली ! जम्मू कश्मीर और पश्चिम बंगाल में बीती रात भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता कम होने की वजह से किसी भी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। यह भूकंप के झटके रात तकरीबन 12.54 बजे जम्मू कश्मीर में महसूस किए गए, ये झटके कुछ देर तक के लिए महसूस किए गए।


वहीं पश्चिम बंगाल में भूकंप के झटके रात 2.55 बजे महसूस किए गए। भूकंप के झटके के बाद लोग अपने घर से बाहर आ गए।जानकारी के अनुसार जम्मू कश्मीर में भूकंप के झटके की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.2 दर्ज की गई। वहीं पश्चिम बंगाल में इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.0 दर्ज की गई है।भूकंप का केंद्र पुरुलिया था। बता दें कि इससे पहले हिमाचल प्रदेश में भी बुधवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। यह भूकंप के झटके हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में महसूस किए गए थे। मौसम विभाग के अनुसार भूकंप देर रात 12.47 बजे महसूस किए गए।


उत्तराखंड में बारिश की संभावना:येलोअलर्ट

मुंबई में भारी बारिश की आशंका, उत्तराखंड में जारी हुआ येलो अलर्ट


नई दिल्ली ! मायानगरी मुंबई में आसमान से एक बार फिर से आफत बरस रही है तो वहीं उत्तराखंड के आसमान से आज पानी प्रलय बनकर गिर सकता है, भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक आज महाराष्ट्र के रायगढ़ ,मुम्बई और उपनगरीय जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की आशंका है, मौसम विभाग ने बताया कि पूरे महाराष्ट्र में सोमवार को व्यापक स्तर पर वर्षा हो सकती है इसलिए लोगों को सचेत रहने की जरूरत है। तो वहीं उत्तराखंड में भी आज भारी का अनुमान है, भारी बारिश के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, अल्मोढ़ा, पिथौरागढ़ और बागेश्वर में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है।


जबकि उत्तरी पंजाब, उत्तरी हरियाणा, दक्षिणी छत्तीसगढ़, दक्षिणी ओडिशा, पूर्वोत्तर राज्यों और आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय भागों में हल्की से मध्यम बारिश और झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक और दक्षिणी गुजरात के कुछ स्थानों में हल्की बारिश हो सकती है।मॉनसून ट्रफ रेखा इस समय दक्षिणी बिहार से होते भी हुए गुजर रही है। जो कि उत्तरी दिशा की ओर बढ़ जाएगी, जिसके चलते अगले 24 घंटों में पूर्वी उत्तर प्रदेश और इससे सटे बिहार के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने की संभवना है, जिससे इन इलाकों में भारी बारिश के आसार है।


भारतीय मौसम विभाग ने 29 जुलाई तक देश के कई शहरों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने कहा कि लक्षद्वीप, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तेलंगाना, मध्य प्रदेश, पूर्वी महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, पूर्वी उत्तर प्रदेश, उप-हिमालयी, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, झारखंड, बिहार, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश हो सकती है।


मध्यप्रदेश में नया मिशन शुरू:कैलाश

कैलाश विजयवर्गीय का खुला ऐलान, मध्य प्रदेश में भाजपा शुरू करेगी 'नया मिशन'


भोपाल ! कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के सियासी दांवपेच के बाद कांग्रेस-जेडीएस को अपनी सत्ता से हाथ धोना पड़ा। लेकिन भाजपा कर्नाटक के बाद अब मध्य प्रदेश में इस मिशन को लेकर आगे जाने की योजना बना रही है।


पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि कर्नाटक में कैबिनेट गठन के बाद नया मिशन लॉन्च किया जाएगा। दरअसल कैलाश विजयवर्गीय से मध्य प्रदेश के सियासी हालात को लेकर जब पूछा गया तो उन्होंने यह जवाब दिया, जिसके बाद साफ है कि कर्नाटक के बाद भाजपा का अगला लक्ष्य मध्य प्रदेश है।मध्य प्रदेश को लेकर जब कैलाश विजयवर्गीय से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कर्नाटक में कैबिनेट के गठन के बाद नए मिशन की शुरुआत की जाएगी, हम नहीं चाहते हैं कि मध्य प्रदेश की सरकार गिर जाए, लेकिन खुद कांग्रेस विधायकों को अपनी सरकार को लेकर अनिश्चितता है। मध्य प्रदेश के दिग्गज नेता का कहना है कि सूबे में कांग्रेस के विधायकों को ही अपनी सरकार पर भरोसा नहीं है। बता दें कि आज कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार का फ्लोर टेस्ट है।


कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को अपनी सरकार पर भरोसा नहीं है। उन्हें भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नेतृत्व पसंद है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में अगर सरकार गिरती है तो इसकी वजह खुद कांग्रेस के कर्म होंगे।


कर्नाटक के बाद महाराष्ट्र में सियासी उठापटक

महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी को लग सकता है बड़ा झटका, भाजपा के संपर्क में हैं 50 विधायक


मुंबई ! हाल ही में कर्नाटक में काफी सियासी उठापटक देखने को मिली थी। जिसके बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई और भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में नई सरकार का गठन किया है। कर्नाटक के बाद महाराष्ट्र में भाजपा नेता और सरकार में मंत्री गिरीश महाजन ने बड़ा दावा किया है।


गिरीश महाजन का दावा है कि कांग्रेस और एनसीपी के कम से कम 50 विधायक भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में हैं। बता दें कि महाराष्ट्र में इस वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं, इसी के चलते यहां भी सियासी उठापटक का दौर शुरू हो गया है।


गिरीश महाजन का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब एनसीपी के कई नेता पहले ही पार्टी को अलविदा कह चुके हैं। वहीं भाजपा नेता के दावे से तकरीबन एक महीने पहले एनसीपी की वरिष्ठ नेता चित्रा वाघ ने कहा था कि वह भाजपा में शामिल होना चाहती हैं और क्योंकि एनसीपी का अब कोई भविष्य नहीं है। चित्रा ने कहा था कि तमाम विधायक अनुरोध कर रहे हैं कि वह विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होना चाहते हैं। कांग्रेस लड़खड़ा रही है और अगगले कुछ हफ्तों में एनसीपी भी कमजोर हो जाएगी।वहीं इन तमाम कयासों के बीज शरद पवार ने हाल ही में कहा था कि भाजपा एनसीपी-कांग्रेस को हराने के लिए सरकारी तंत्र का दुरुपयोग क र रही है। लेकिन महाजन ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। बता दें कि रविवार को शरद पवार ने कहा था कि महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से 240 सीटों पर हमारे बीच आम सहमति बन गई है।


रेप पीड़िता एक्सीडेंट: सीबीआई जांच

उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट: सीबीआई जांच के लिए सरकार तैयार


लखनऊ ! उन्नाव गैंगरेप पीड़िता का वाहन जिस तरह से रविवार को हादसे का शिकार हुआ उसके बाद लगातार यह मामला सुर्खियों में बना हुआ है। इस हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई है और पीड़िता का वकील हादसे में घायल हो गया है।इस हादसे के बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए इस हादसे के पीछे हत्या की साजिश करार दिया है। वहीं इस पूरे मामले में यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बयान देकर मामले पर सफाई दी है।


डीजीपी ने कहा कि हम निष्पक्ष और निशुल्क जांच करेंगे। प्राथमिक जांच से पता चला है कि ओवरस्पीड ट्रक की वजह से यह एक ऐक्सीडेंट हुआ था। ट्रक ड्राइवर और मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। अगर परिवार सीबीआई जांच की मांग करता है तो हम यह केस सीबीआई को सौंप देंगे। डीजीपी ने कहा कि 'सुरक्षा में कोई लापरवाही नहीं हुई है। गाड़ी में जगह नहीं होने के वजह से सुरक्षाकर्मियों को पीड़िता ने रायबरेली साथ नहीं चलने को कहा था।'वहीं कांग्रेस की विधायक अराधना मिश्रा पीड़िता से मिलने के लिए ट्रामा सेंटर पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि मुझे प्रियंका गांधी ने पीड़िता से मिलने के लिए भेजा है। इस घटना की जांच-पड़ताल होनी चाहिए। इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए।


हिंदू-धर्म को बदनाम करने की साजिश:मोहन

आरएसएस चीफ मोहन भागवत बोले- मॉब लिंचिंग के नाम पर हिंदू धर्म के खिलाफ हो रही साजिश


मथुरा ! राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि गाय और मॉब लिंचिंग के नाम पर हिंदू धर्म को बदनाम किया गया है। उन्होंने कहा यह हिंदू धर्म को बदनाम करने की साजिश है। भागवत ने मथुरा में आरएसएस के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बयान दिया। भागवत की प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है, जब 49 विभिन्न हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला पत्र लिखा है, जिसमें मॉब लिंचिंग को खत्म करने की अपील की गई है और अपराधियों के खिलाफ अनुकरणीय कार्रवाई की मांग की।


भागवत ने कहा, 'देशभर में हिंदू धर्म और संस्कृति को बदनाम करने की गहरी साजिश रची जा रही है। कहीं मॉब लिंचिंग के नाम पर सियासत करके समाज में घृणा फैलाने का काम हो रहा है तो कहीं गाय के नाम पर। कुछ राज्यों में एक योजना के तहत धर्म परिवर्तन भी कराया जा रहा है।'टाइम्स नाउ से बात करते हुए एनसीपी नेता माजीद मेमन ने कहा कि कोई भी हिंदू धर्म की आलोचना नहीं कर रहा है, लेकिन कुछ गुंडे, जिनका धार्मिक समूहों के साथ कुछ जुड़ाव हो सकता है। उन्होंने देशभर में हो रहे इस तरह के घृणित अपराधों को समाप्त करने के लिए पर्याप्त उपाय नहीं करने के लिए सत्ता पक्ष को भी जिम्मेदार ठहराया।


पिछले साल सितंबर में, आरएसएस प्रमुख ने कहा था कि हिंदुत्व का अर्थ है समावेशिता और मुसलमानों को स्वीकार करना इसका एक हिस्सा है। हिंदू राष्ट्र पर बोलते हुए उन्होंने आगे कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि मुसलमानों के लिए कोई जगह नहीं होगी। अगर हम मुसलमानों को स्वीकार नहीं करते हैं तो यह हिंदुत्व नहीं है। हिंदुत्व भारतीयता और समावेशिता है। भागवत ने बाद में कहा कि हिंदुत्व सभी को एक साथ बांधता है। आरएसएस के हिंदुत्व की दृष्टि में किसी का विरोध करना नहीं है।


चंडीगढ़ के जेडब्‍ल्‍यू होटल में अवैध शराब

राणा ओबराय
चंडीगढ़ के नामी होटल जेडब्ल्यू मैरियट में बिना होलोग्राम के मिली शराब की बोतलें,एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने किया चालान

चंडीगढ़ ! होटल जेडब्ल्यू मैरियट में बिना होलोग्राम के मिली शराब की बोतलें एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने किया चालान बिना अप्रूवल बेची जा रही थी होटल में एक ब्रांड की शराब, चंडीगढ़ एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट ने होटल जेडब्ल्यू मैरियट में चैकिंग के दौरान करीब शराब की 34 बोतलों पर होलोग्राम न होने पर बड़ी कार्रवाई करते हुए होटल का चालान कर दिया है। बीते दिनों बॉलीवुड एक्टर राहुल बोस को 442 रुपये में दो केले दिए जाने के मामले में एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर मनदीप सिंह बराड़ ने कमेटी बनाई थी। इस पर एक्साइज टीम होटल में पहुंची थी। इस दौरान टीम ने होलोग्राम को लेकर चेकिंग की, पूछताछ में होटल के अफसरों ने इसको लेकर बहाना बनाया था। दो दिनों में डिपार्टमेंट की टीम ने पूरी जांच कर इस पर होटल की गलती मानते हुए चालान कर दिया है। अब इसकी लीगल प्रोसीडिंग के बाद जुर्माना लग सकता है। असिस्टेंट एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर आरके चौधरी ने बताया कि टीम को चेकिंग के दौरान कई बोतले में होलोग्राम नहीं मिला था। जानकारी पर इसको डिस्ट्रीब्यूटर की गलती बताई गई, लेकिन जब इसकी जांच की गई तो गलती होटल के अफसरों की निकली। इसको लेकर होटल का एक्साइज एक्ट के अनुसार चालान कर दिया है। यहां वह भी शराब की बोतल मिली है जिसका एप्रूवल नहीं लिया गया है।


बगैर अप्रूवल की मिली इस ब्रांड की शराब 


होटल में चेकिंग के दौरान रॉसम रिजर्व की सात बोतलें मिली हैं। अफसर ने बताया कि इस ब्रांड की शराब को शहर में बेचने का अप्रूवल नहीं है और न ही होटल ने इसको बेचने का कोई अप्रूवल डिपार्टमेंट से लिया है। वहीं जिन पर होलोग्राम नहीं मिला है उनमें कई शराब की बोतलें काफी महंगी हैं।


होलोग्राम न मिलने पर बनाया बहाना


होटल जेडब्ल्यू मैरियट में चेकिंग के दौरान शराब की बोतलों में होलोग्राम न मिलने पर टीम ने वहां के अफसरों से पूछताछ की इस पर उन लोगों ने इसका ठीकरा डिस्ट्रीब्यूटर्स पर फोडऩे की कोशिश की। डिपार्टमेंट के अफसर ने बताया कि इन सबको लेकर डिस्ट्रीब्यूटर्स से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि जब भी कोई बोतल या सामान होटल जाता है तो इसकी चेकिंग वहां का स्टाफ करता है। जब पूरी चेकिंग हो जाती है इसके बाद ही बिल पर साइन होते हैं। जांच के बाद पूरी गलती होटल की लगने पर एक्साइज पॉलिसी एक्ट के होलोग्राम के बगैर शराब की बोतल होने पर चालान कर दिया गया है।


कावड़ ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी को मारी गोली

गुरुग्राम में कांवड़ ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी को बदमाशों ने मारी गोली


गुरुग्राम ! दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में एक पुलिसकर्मी को बदमाशों ने गोली मार दी। बताया जा रहा है कि अतुल कटारिया चौक पर तैनात जयवीर को चार बदमाशों ने गोली मारी। ये सभी बदमाश एक इनोवा में सवार होकर आए थे और घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गए।


पुलिस के मुताबिक, कांवड़ ड्यूटी में एसपीओ जयवीर सिंह की तैनाती अतुल कटारिया चौक पर थी। रविवार तड़के बदमाशों ने उनकी पेट में गोली मारी। घायल अवस्था में जयवीर को मेडिसिटी में भर्ती करवाया गया। फिलहाल जयवीर खतरे से बाहर हैं।पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।अभी हाल में गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर ने सभी अधिकारियों के साथ एक बैठक कर कांवड़ यात्रा को सफल और सुगम बनाने का आदेश दिया था। इस मुस्तैदी में लगभग साढ़े चार हजार पुलसिकर्मी कांवड़ियों की सुरक्षा में लगाए गए हैं। कांवड़ शिविरों पर 24 घंटे पुलिस की तैनाती रखी जा रही है।


जिला प्रशासन कार्रवाई करने में असमर्थ

इकलौते लूम के सहारे चल रहा है मेरा प्यार "शालीमार"



भीलवाड़ा ! मांडल राजमार्ग पर कोठारी नदी की पुलिया के भदालीखेड़ा क्षेत्र में चल रहे शालीमार सूटिंग्स प्रा.लि के विवादित निर्माण कार्य ने प्रशासन की कार्यशैली को संदेह के दायरे में खडा कर दिया है।युद्धस्तर पर बेरोकटोक चल रहे निर्माण को रोकने के लिए जिला प्रशासन को ज्ञापन और शिकायतें मिलने पर भी कार्रवाई नहीं हुई है।


शिकायतकर्ताओं का कहना है कि उद्योग को आवंटित इस करोड़ों की जमीन पर तय शर्तों की पालना नहीं हुई और कुछ समय पहले ही इसमें बेनामी सौदेबाजी से सरकार को राजस्व की भारी क्षति पहुंचा कर भूमि को बचाने का जोड़तोड़ हुआ है।भूआवंटनकर्ता को राजस्व मंडल से मिली सशर्त छूट के मुताबिक यहां 13 जून 19 तक प्रॉडक्शन चालू करना था लेकिन यहां पर न तो बिजली कनेक्शन है नहीं उद्योग को चलाने वाले अन्य साधन-संसाधन।महज एक शेड में रखे लूम के सहारे उद्योग चलाने के नाम से संबद्ध बोर्ड को दीवार से टिका रखा है।शेड के बगल में चलने वाले निर्माण कार्य के बारे में वहां मौजूद कामगार बता रहे थे कि जल्दी ही यहां कारखाना चालू हो जाएगा।उन्होंने इस लूम को चलते भी नहीं देखा।शालीमार सूटिंग्स के अतीत को खंगालने पर कई सनसनीखेज तथ्य सामने आए हैं।उद्योग का पंजीयन करने वाले जिला उद्योग केंद्र  में पंजीयन बाद की सूचना अनुपलब्ध है।एक क्लर्क ने बताया कि जिला प्रशासन ने सूचना मांगी है।विभाग नेभी एक नोटिस 25 जुलाई को पंजीयनकर्ता को भिजवाया  है।जिसकी सूचना मिलते ही प्रशासन को सूचना भेज दी जाएगी।उद्योग चले या नहीं चले?कौन मालिक है या मालिक बदल गया।इससे  हमारा कोई मतलब नहीं।ये बता पल्ला झाड़ रहे जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक ने तहसीलदार भीलवाड़ा से पत्रांक 1967/68 दि,11-6 -19 को वस्तुस्थिति रिपोर्ट मांगी।तहसीलदार ने इस पर आरजिया पटवारी को जांच के लिए लिखा।पटवारी ने 5 जुलाई19 को मौका रिपोर्ट तहसीलदार को दे दी। परंतु तहसील से रिपोर्ट अब तक जिला उद्योग केन्द्र न पहुंच सकी।पटवारी की ये रिपोर्ट बिजली कनेक्शन की फाईल में कैसे जा लगी ?सवाल यह कि तय समय में इस भूमि पर उद्योग चलने के लिए एक नहीं अनगिनत सरकारी औपचारिकताओं की जरूरत रही होगी?फिर जिला प्रशासन उद्योग केन्द्र के भरोसे क्यों है?जीएसटी, पॉल्यूशन ,लेबर डिपार्टमेंट जैसे ढेर सरकारी विभाग हैं जहां उद्योग चलाने वाले के जूते घिस जाते हैं।शालीमार प्रा.लि.तय शर्तों के पैमाने पर खरा है तो उद्योग केन्द्र और प्रशासन इस उद्योग को नियमतः चलाने में सहयोगी क्यों नहीं बन रहा है?गलत है तो तत्काल निर्माण रोकने में क्या दिक्कत आ रही है?


इनका कहना है...?
नए निदेशक रवींद्र चौधरी का कहना है कि सब कुछ नियमों के तहत हो रहा है।बिजली कनेक्शन नहीं हो रहा है।फाईल चलाई जिसे अजमेर भेज दिया गया है। डीजी सेट की मदद से इसे चलाने की कोशिश की, पर प्रशासनिक मदद नहीं मिल रही है।


अशोक जैन


प्रशासनिक सख्ती से मचा हड़कंप:कासगंज

कासगंज ! डीएम के निर्देश पर निजी हाॅस्पिटल संचालको के यहां हुई छापामारी कार्यवाही,आशा हाॅस्पीटल के संचालक नहीं दिखा सके प्रपत्र, अल्ट्रासाउंड मशीन को किया सीज,एसडीएम और एसीएमओ की कार्रवाई से निजी हाॅस्पीटल संचालको में मचा हड़कंप।


कासगंज-पुलिस अभिरक्षा से फरार अपराधी पांच दिन बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे,23 जुलाई को गंजडुण्डवारा थाने में तैनात संतरी को चकमा देकर हुआ था फरार,एसपी ने शातिर अपराधी को प्रेसवार्ता के बाद भेजा जेल, लापरवाह संतरी के खिलाफ दिए कार्रवाई के निर्देश, चोरी की बाइक बरामद।
कासगंज-बदायूं-मैनपुरी हाइवे पर ट्रक ने बाइक सवार रौंदा, मौत,पटियाली क्षेत्र में खड़ई गांव के मोड पर हुई सड़क दुर्घटना,चिकित्सक ने किया मृत घोषित, पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजा।


कासगंज-सांसद ने लोगों को दिलाई भाजपा की सदस्यता,कासगंज, अमांपुर विस क्षेत्रों में हुए कार्यक्रम आयोजित,कार्यक्रम में पार्टी की नीतियां गिनाईं, भाजपा नेता भी रहे साथ।


कासगंज-नाली की सफाई के नाम पर फुटपाथ की झांडियां सड़कों पर,तीन दिन पहले आवास विकास कालोनी में हुई थी नालियों की सफाई,सड़क पर झांडियां पड़े होने से लोगों को आवागमन में हो रहीं दिक्कतें!
कासगंज-मोहनपुर टाउन में दुकान से 20 किग्रा तिरपाल जब्त,ईओ ने प्रतिबंधित पॉलिथीन रोकने के तहत की कार्रवाई,दुकानदार पर एक हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया।


कासगंज,अमांपुर। बीआरसी अमांपुर पर प्राथमिक विद्यालयों के समस्त प्रधानाध्यापकोंध्प्रभारी प्रधानाध्यापकों की उन्मुखीकरण बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में बीआरपी इंद्रकुमार ने सत्र 2019- 20 में प्राथमिक विद्यालयों में ग्रेडेड लर्निंग प्रोग्राम के संचालन के लिए प्रधानाध्यापकों के दायित्वों पर प्रकाश डाला। बीआरपी मंजू सोलंकी ने प्राथमिक कक्षाओं में बच्चों के भाषा गणित शिक्षण की दक्षताओं के बारे में विस्तार से बताया!


कासगंज,अमापुर। सोरों विधान सभा क्षेत्र के पूर्व विधायक रहे अमांपुर के मोहल्ला आम्बेडकर नगर निवासी सियाराम की पौत्री कु. श्वेता ने पीसीएस जे की परीक्षा उत्तीर्ण की है। श्वेता ने 584वीं रैंक हासिल की है। श्वेता के पिता विजय कुमार गाजियाबाद में इंजीनियर हैं। माता राज कुमारी घरेलू महिला है। घर में बड़ी बहन सुजाता है, भाई मानवेंद्र सिंह एमबीएसएस की तैयारी कर रहा है। 
कासगंज-मल्लाह नगर स्कूल में किसानों ने बंद किए 112 गौवंश,खेतों में विचरण करते गौवंशों को घेरकर स्कूल में लाए किसान,जानकारी पर मल्लाह नगर पहुंचे पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी,अधिकारियों ने स्कूल में बंद गौवंशों को दूसरे स्थान पर कराया शिफ्ट।,स्कूल की ओर से किसानों के खिलाफ थाना पुलिस को दी तहरीर


कासगंज-समाज सेवी संस्थाएं भी पौधारोपण करने में जुटीं,रोट्रेक्ट क्लब ने अमरपुर घाट पर सड़क किनारे लगाए पौधे,लायंस क्लब ने आवास विकास के पार्कों में किया पौधारोपण।
कासगंज-एसपी, एएसपी ने दो प्रकरणों में कराया समझौता,परिवार परामर्श केंद्र की बैठक में शामिल हुए अधिकारी,13 प्रकरणों पर हुई सुनवाई, एक पत्रावली बंद, 10 में दी अग्रिम तिथि।


कासगंज-पुलिस देख बालू से भरे ट्रैक्टर ट्राली छोड़ भागे चालक,बालू रेत से भरे पांच ट्रैक्टर ट्राली पुलिस ने कब्जे में लिए,खनन अधिकारी के साथ सोरों पुलिस को मिली सफलता।


कासगंज,सिढ़पुरा- कस्बा में आरएसएस के कार्यालय पर रविवार को अखिल भरतीय विधार्थी परिषद सिढ़पुरा इकाई की बैठक हुई। बैठक में आगामी कार्यक्रम की रूपरेखा व समान्य ज्ञान प्रतियोगिता के आयोजन के बारे में विचार विमर्श किया गया।


कर्तव्यनिष्ठ नहीं है झारखंड सरकार

"मन" में एक "विचार", जिससे "कार्य" में होगा, हद तक "सुधार"


विवेक चौबे


गढ़वा ! झारखंड सरकार वाकई में चाहती है कि गरीबी दूर हो,गांव-गांव सड़क,घर-घर बिजली,पीने व सिंचाई के लिए पानी आदि की व्यवस्था उपलब्ध हो।सरकार ने सड़क के लिए योजना दिया भी तो योजना का नाम बरक़रार रखने के लिए कार्य मात्र कराया जाता है।कार्य में अनियमितता पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता की ठीक निर्माण नहीं होने पर जर्जर की स्थिति के साथ कई समस्या उतपन्न हो जाएगी!


इन दिनों या कभी भी किसी न किसी सड़क,नहर आदि के कई योजनाओं में देखा जाता है की कहीं न कहीं,कोई न कोई गड़बड़ी निश्चित रूप से अवश्य ही है।


आखिर क्यों,एक विचारनीय तथ्य है


"मन" में एक "विचार", जिससे "कार्य" में हद तक तब होगा "सुधार"जी हाँ,इसी तथ्य पर पत्रकार के मन में एक विचार आता है की किसी सड़क के अलावे अन्य किसी योजना का शिलान्यास कोई जनप्रतिनिधि या कोई पदाधिकारी ही करते हैं।जब शिलान्यास किसी के द्वारा किया जाता है तो उस वक्त बड़े ही धूम-धाम से विधिवत भूमि का पूजन-अर्चना किया जाता है।ग्रामीण भी उस दौरान योजना से काफी प्रसन्न होते हुए शिलान्यास कर्ता के गले में पुष्प माला डालकर स्वागत करने, प्रसाद पाने व हौसले के साथ सुंदर लुभावने उनके वचन को श्रवण करने के लिए पंक्ति में या भीड़ के रूप में एकत्रित होते हैं।वहां एक सुंदर सा बनावटी पत्थर स्थापित कर बजापते सुनहरे अक्षरों में योजना का नाम व कहाँ से कहाँ तक निर्माण होना है व दिनांक अंकित हुआ करता है।वहां तक तो बिल्कुल ठीक-ठाक रहता है,किन्तु शिलापट पर उतना मात्र अंकित रहने से लोगों को उस योजना के सम्बन्ध में पूर्ण रूप से जानकारी प्राप्त नहीं हो पाती है।जब लोगों को उस योजना व विवरण की पूरी बात पता चलती है की स्टीमेट के अनुसार कार्य नहीं हो रहा तब खाए प्रसाद के दिन याद तो आता है,किन्तु वह पुष्प माला,वह स्वागत,वह ख़ुशी हर कुछ गम में यूं बदल जाता है।


जब "गम" हुआ तो लोगों में विश्वास "कम" हुआ! कार्य विवरण व प्राक्कलित राशि के अनुसार कार्य ठीक तरीके से नहीं होने पर लोगों में आक्रोश बढ़ना तो स्वभाविक है।इसलिये की वह योजना उन लोगों के लाभप्रद है।लोग फिर अनियमितता को लेकर उस कार्य के विवरण व प्राक्कलित राशि को किसी तरह ढूंढने पर भंडा-फोड़ करते हैं!तब उस योजना का नाम व शिलान्यास कर्ता  के बाद संवेदक भी बदनाम हो जाता है! क्योंकि प्राक्कलित राशि व कार्य के विवरण(स्टीमेट)के अनुसार कार्य में संवेदक के द्वारा अनियमितता बरती जाती है।


कार्य होने के पश्चात या कार्य दौरान के मध्यांतर ही उसके खिलाफ आवाज उठती है।पत्रकार बुलाओ,पत्रकार


आखिर क्यों ?तो यहाँ व इतना कुछ होने से पूर्व तब जाकर मन में एक विचार आता है, "काश" उस "शिलान्यास पट" पर प्रकालित राशि सहित कार्य के विवरण(स्टीमेट) भी सुनहरे अक्षरों में लिखा होता।जी हाँ,मैं पूर्ण रूप से दावा के साथ कहता हूँ की मात्र इतना कर देने से कार्य कुछ हद तक तो सही तरीके से ही होगा।यह "यूनिवर्सल एक्सप्रेस न्यूज़" का एक विचार व बुलंद आवाज में दावा है!


मित्रों से मुलाकात लाभकारी होगी:वृश्चिक

राशिफल


1-मेषराशि(Aries)-आज का दिन अच्छा रहेगा। आय में वृद्धि होगी। अपरिचित व्यक्ति पर अधिक भरोसा ना करे।आज आपके रूके हुए कार्य बनेगें।अटका हुआ धन मिल सकता है।आपके कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलेगी।बुजुर्गो की सेवा करके अच्छा फल प्राप्त करें।सेहत के लिए सुबह की सैर अवश्य करें।


2 -वृषराशि(tauras)- परिवार के साथ समय अच्छा गुजरेंगा।बच्चो के भविष्य बारे उचित सोचे।आज आपका कोई नजदीकी रिश्तेदार आपकी मदद करेगें।आज कुछ ऐसा होगा जिससे आपको लाभ होगा।कारोबारी यात्रा का योग बन रहा हैं।अपने ब्च्चॉ के भविष्य बारे सोच विचार करे।सबसे अच्छा व्यवहार् करे। सावधानी बरतनी चाहिए।
3 -मिथुन राशि (gemini)-आपके विचार स्करातमकहो।नकारात्मक ना सोचे।अपनी पत्नि से लड़ाई झगड़ा नही क्ररे।उस पर पुर्ण विश्वास करें।आज आपके कार्यक्षेत्र में तरक्की का योग है।आज गरीबों की मदद करके परमार्थ कमाइए।पुरानी परेशानियों से निजात पाने की कोशिश करें।आज यात्रा का योग शुभ होगा।सच्चाई का मार्ग अपनाए।


4 -कर्क राशि ( cancer)-आज अचानक धनलाभ का योग है।कोई पुराना मित्र आपके कारोबार मे आपकी मदद करेगा।आपकी पुत्री के लिये अच्छा रिश्ता आएगा।माता पिता की सेवा करना आपका धर्म है।मेहनत करोगे तो सफलता आपके कदम चूमेगी।इसे पूरी तरह से निभाए ।
5-सिंह राशि(leo)- आज कुछ ऐसा होगा जिससे आपको सफलता प्राप्त होगी।धनलाभ का योग है।अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।बुजुर्गो की सेवा करना आपका कर्तव्य है।पुरानी घरेलू समस्या का समाधान निकलेगा। दायित्व निभाए।सबसे अच्छा व्यवहार करे।


6 -कन्या राशि( virgo)-आज का दिन भाग्यशाली होगा।मनचाहा कार्य सफल होगा।अपने माता पिता की सेवा करके परमार्थ कमाइए।आपके पुत्र को सरकारी नौकरी मिलने का योग है।हो सके तो गरीबों की मदद करके परमार्थ कमाइए। नियमितता अपनाए।


7-तुला राशि (libra)- किसी अनजान व्यक्ति से दुरी बनाएँ रखना उचित होगा।अपने व्यवसाय की सफलता के राज अपने निजी व्यक्ति को ही बताईए।आज आपके कार्यक्षेत्र मे तरक्की के योग है।ईश्वर की प्रार्थना आपके जीवन में खुशियों लायेगी।धनलक्ष्मी का योग है।
अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।रोजाना कसरत या व्यायाम करना जरुरी है।
8 -वृश्चिक राशि(scorpion)-आपका व्यवहार अन्य लोगों के लिये आदर्श साबित होगा।दूर स्थान की यात्रा लाभदायक सिद्ध होगी।आज पुराने मित्रों से मुलाकत अच्छी-खासी लाभकारी होगी।गरीब रिश्तेदारों की मदद अवश्य करें।परेशानी से निजात पाने की कोशिश करे।
9 -धनु राशि(Sagittarius)- अधूरे कार्य पूरे करे।रिश्तेदारों से अच्छा व्यवहार करे कोशिश करें कि आप उन्हें नाराज ना करे।सुबह की सैर आपकी सेहत के लिये फायदेमंद साबित होगी।धनलक्ष्मी का घर में शुभ योग है।आज यात्रा टालना आपके लिए हितकारी होगा।आपकी बेटी के लिये अच्छा वर् मिलेगा।
10 -मकर राशि(capricon)-आपका व्यवहार सबके साथ मीठा और सौहार्दपूर्ण होना चाहिये।रेगुलर स्वास्थ्य की जांच अति आवश्यक है। डाक्टर की सलाह की पालना अवश्य करें।अटका धन प्राप्ति के योग हैं।सबको साथ लेकर चलने की आदत बनाये।
11 -कुम्भ राशि(Aquarius)-सबसे मीठा और अच्छा व्यवहार करे।धनलाभ का योग है।नया कार्य शुरू करने से पहले विचार विमर्श करे।अनुभवी व्यक्तियों की सलाह अनुसार कार्य करे।सेहत के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।सुबह की सैर अवश्य करें!
12-मीन राशि ( pisces)-अपने माता-पिता की सेवा करना अपका दायित्व है।अपने ब्च्चॉ के भविष्य बारे कदम उठायें।आपकी कोई पुरानी घरेलू समस्या से छुटकारा मिलने के योग है।आपकी बेटी के लिये अच्छा वर योग है विवाह की तैयारियाँ शीघ्र करे।धनलाभ का योग है।सेहत के लिए सुबह की सैर अवश्य करें ।


स्वयंभू-शिव का अभिषेक (शिवरात्रि)

इस अवसर पर भगवान शिव का अभिषेक अनेकों प्रकार से किया जाता है। जलाभिषेक, जल से और दुग्‍धाभिषेक ,दूध से। बहुत जल्दी सुबह-सुबह भगवान शिव के मंदिरों पर भक्तों, जवान और बूढ़ों का ताँता लग जाता है वे सभी पारंपरिक शिवलिंग पूजा करने के लिए आते हैं और भगवान से प्रार्थना करते हैं। भक्त सूर्योदय के समय पवित्र स्थानों पर स्नान करते हैं जैसे गंगा, या (खजुराहो के शिव सागर में) या किसी अन्य पवित्र जल स्रोत में। यह शुद्धि के अनुष्ठान हैं, जो सभी हिंदू त्योहारों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। पवित्र स्नान के बाद स्वच्छ वस्त्र पहने जाते हैं, भक्त शिवलिंग स्नान करने के लिए मंदिर में पानी का बर्तन ले जाते हैं महिलाओं और पुरुषों दोनों सूर्य, विष्णु और शिव की प्रार्थना करते हैं मंदिरों में घंटी और "शंकर जी की जय" ध्वनि गूंजती है। भक्त शिवलिंग की तीन या सात बार परिक्रमा करते हैं और फिर शिवलिंग पर पानी या दूध भी चढाते हैं।


शिव पुराण के अनुसार, महाशिवरात्रि पूजा में छह वस्तुओं को अवश्य शामिल करना चाहिए!


शिव लिंग का पानी, दूध और शहद के साथ अभिषेक। बेर या बेल के पत्ते जो आत्मा की शुद्धि का प्रतिनिधित्व करते हैं!
सिंदूर का पेस्ट स्नान के बाद शिव लिंग को लगाया जाता है। यह पुण्य का प्रतिनिधित्व करता है!
फल, जो दीर्घायु और इच्छाओं की संतुष्टि को दर्शाते हैं!
जलती धूप, धन, उपज (अनाज)!
दीपक जो ज्ञान की प्राप्ति के लिए अनुकूल है!
और पान के पत्ते जो सांसारिक सुखों के साथ संतोष अंकन करते हैं।
भगवान शिव की अन्य पारंपरिक पूजा 
मुख्य लेख: ज्योतिर्लिंग
बारह ज्योतिर्लिंग (प्रकाश के लिंग) जो पूजा के लिए भगवान शिव के पवित्र धार्मिक स्थल और केंद्र हैं। वे स्वयम्भू के रूप में जाने जाते हैं, जिसका अर्थ है "स्वयं उत्पन्न"। बारह स्‍थानों पर बारह ज्‍योर्तिलिंग स्‍थापित हैं।


1. सोमनाथ यह शिवलिंग गुजरात के काठियावाड़ में स्थापित है।


2. श्री शैल मल्लिकार्जुन मद्रास में कृष्णा नदी के किनारे पर्वत पर स्थापित है श्री शैल मल्लिकार्जुन शिवलिंग।


3. महाकाल उज्जैन के अवंति नगर में स्थापित महाकालेश्वर शिवलिंग, जहां शिवजी ने दैत्यों का नाश किया था।


4. ॐकारेश्वर मध्यप्रदेश के धार्मिक स्थल ओंकारेश्वर में नर्मदा तट पर पर्वतराज विंध्य की कठोर तपस्या से खुश होकर वरदाने देने हुए यहां प्रकट हुए थे शिवजी। जहां ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थापित हो गया।


5. नागेश्वर गुजरात के द्वारकाधाम के निकट स्थापित नागेश्वर ज्योतिर्लिंग।


6. बैजनाथ बिहार के बैद्यनाथ धाम में स्थापित शिवलिंग।


7. भीमाशंकर महाराष्ट्र की भीमा नदी के किनारे स्थापित भीमशंकर ज्योतिर्लिंग।


8. त्र्यंम्बकेश्वर नासिक (महाराष्ट्र) से 25 किलोमीटर दूर त्र्यंम्बकेश्वर में स्थापित ज्योतिर्लिंग।


9. घुमेश्वर महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में एलोरा गुफा के समीप वेसल गांव में स्थापित घुमेश्वर ज्योतिर्लिंग।


10. केदारनाथ हिमालय का दुर्गम केदारनाथ ज्योतिर्लिंग। हरिद्वार से 150 पर मिल दूरी पर स्थित है।


11. काशी विश्वनाथ बनारस के काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग।


12. रामेश्वरम्‌ त्रिचनापल्ली (मद्रास) समुद्र तट पर भगवान श्रीराम द्वारा स्थापित रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग।


मृत्युलोक से मोक्ष तक (आस्था)

एक बार पार्वती जी ने भगवान शिवशंकर से पूछा, 'ऐसा कौन-सा श्रेष्ठ तथा सरल व्रत-पूजन है, जिससे मृत्युलोक के प्राणी आपकी कृपा सहज ही प्राप्त कर लेते हैं?' उत्तर में शिवजी ने पार्वती को 'शिवरात्रि' के व्रत का विधान बताकर यह कथा सुनाई- 'एक बार चित्रभानु नामक एक शिकारी था। पशुओं की हत्या करके वह अपने कुटुम्ब को पालता था। वह एक साहूकार का ऋणी था, लेकिन उसका ऋण समय पर न चुका सका। क्रोधित साहूकार ने शिकारी को शिवमठ में बंदी बना लिया। संयोग से उस दिन शिवरात्रि थी।'


शिकारी ध्यानमग्न होकर शिव-संबंधी धार्मिक बातें सुनता रहा। चतुर्दशी को उसने शिवरात्रि व्रत की कथा भी सुनी। संध्या होते ही साहूकार ने उसे अपने पास बुलाया और ऋण चुकाने के विषय में बात की। शिकारी अगले दिन सारा ऋण लौटा देने का वचन देकर बंधन से छूट गया। अपनी दिनचर्या की भांति वह जंगल में शिकार के लिए निकला। लेकिन दिनभर बंदी गृह में रहने के कारण भूख-प्यास से व्याकुल था। शिकार करने के लिए वह एक तालाब के किनारे बेल-वृक्ष पर पड़ाव बनाने लगा। बेल वृक्ष के नीचे शिवलिंग था जो विल्वपत्रों से ढका हुआ था। शिकारी को उसका पता न चला।


पड़ाव बनाते समय उसने जो टहनियां तोड़ीं, वे संयोग से शिवलिंग पर गिरीं। इस प्रकार दिनभर भूखे-प्यासे शिकारी का व्रत भी हो गया और शिवलिंग पर बेलपत्र भी चढ़ गए। एक पहर रात्रि बीत जाने पर एक गर्भिणी मृगी तालाब पर पानी पीने पहुंची। शिकारी ने धनुष पर तीर चढ़ाकर ज्यों ही प्रत्यंचा खींची, मृगी बोली, 'मैं गर्भिणी हूं। शीघ्र ही प्रसव करूंगी। तुम एक साथ दो जीवों की हत्या करोगे, जो ठीक नहीं है। मैं बच्चे को जन्म देकर शीघ्र ही तुम्हारे समक्ष प्रस्तुत हो जाऊंगी, तब मार लेना।' शिकारी ने प्रत्यंचा ढीली कर दी और मृगी जंगली झाड़ियों में लुप्त हो गई।


कुछ ही देर बाद एक और मृगी उधर से निकली। शिकारी की प्रसन्नता का ठिकाना न रहा। समीप आने पर उसने धनुष पर बाण चढ़ाया। तब उसे देख मृगी ने विनम्रतापूर्वक निवेदन किया, 'हे पारधी! मैं थोड़ी देर पहले ऋतु से निवृत्त हुई हूं। कामातुर विरहिणी हूं। अपने प्रिय की खोज में भटक रही हूं। मैं अपने पति से मिलकर शीघ्र ही तुम्हारे पास आ जाऊंगी।' शिकारी ने उसे भी जाने दिया। दो बार शिकार को खोकर उसका माथा ठनका। वह चिंता में पड़ गया। रात्रि का आखिरी पहर बीत रहा था। तभी एक अन्य मृगी अपने बच्चों के साथ उधर से निकली। शिकारी के लिए यह स्वर्णिम अवसर था। उसने धनुष पर तीर चढ़ाने में देर नहीं लगाई। वह तीर छोड़ने ही वाला था कि मृगी बोली, 'हे पारधी!' मैं इन बच्चों को इनके पिता के हवाले करके लौट आऊंगी। इस समय मुझे शिकारी हंसा और बोला, सामने आए शिकार को छोड़ दूं, मैं ऐसा मूर्ख नहीं। इससे पहले मैं दो बार अपना शिकार खो चुका हूं। मेरे बच्चे भूख-प्यास से तड़प रहे होंगे। उत्तर में मृगी ने फिर कहा, जैसे तुम्हें अपने बच्चों की ममता सता रही है, ठीक वैसे ही मुझे भी। इसलिए सिर्फ बच्चों के नाम पर मैं थोड़ी देर के लिए जीवनदान मांग रही हूं। हे पारधी! मेरा विश्वास कर, मैं इन्हें इनके पिता के पास छोड़कर तुरंत लौटने की प्रतिज्ञा करती हूं।


मृगी का दीन स्वर सुनकर शिकारी को उस पर दया आ गई। उसने उस मृगी को भी जाने दिया। शिकार के अभाव में बेल-वृक्षपर बैठा शिकारी बेलपत्र तोड़-तोड़कर नीचे फेंकता जा रहा था। पौ फटने को हुई तो एक हृष्ट-पुष्ट मृग उसी रास्ते पर आया। शिकारी ने सोच लिया कि इसका शिकार वह अवश्य करेगा। शिकारी की तनी प्रत्यंचा देखकर मृगविनीत स्वर में बोला, हे पारधी भाई! यदि तुमने मुझसे पूर्व आने वाली तीन मृगियों तथा छोटे-छोटे बच्चों को मार डाला है, तो मुझे भी मारने में विलंब न करो, ताकि मुझे उनके वियोग में एक क्षण भी दुःख न सहना पड़े। मैं उन मृगियों का पति हूं। यदि तुमने उन्हें जीवनदान दिया है तो मुझे भी कुछ क्षण का जीवन देने की कृपा करो। मैं उनसे मिलकर तुम्हारे समक्ष उपस्थित हो जाऊंगा।


मृग की बात सुनते ही शिकारी के सामने पूरी रात का घटनाचक्र घूम गया, उसने सारी कथा मृग को सुना दी। तब मृग ने कहा, 'मेरी तीनों पत्नियां जिस प्रकार प्रतिज्ञाबद्ध होकर गई हैं, मेरी मृत्यु से अपने धर्म का पालन नहीं कर पाएंगी। अतः जैसे तुमने उन्हें विश्वासपात्र मानकर छोड़ा है, वैसे ही मुझे भी जाने दो। मैं उन सबके साथ तुम्हारे सामने शीघ्र ही उपस्थित होता हूं।' उपवास, रात्रि-जागरण तथा शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ने से शिकारी का हिंसक हृदय निर्मल हो गया था। उसमें भगवद् शक्ति का वास हो गया था। धनुष तथा बाण उसके हाथ से सहज ही छूट गया। भगवान शिव की अनुकंपा से उसका हिंसक हृदय कारुणिक भावों से भर गया। वह अपने अतीत के कर्मों को याद करके पश्चाताप की ज्वाला में जलने लगा।


थोड़ी ही देर बाद वह मृग सपरिवार शिकारी के समक्ष उपस्थित हो गया, ताकि वह उनका शिकार कर सके, किंतु जंगली पशुओं की ऐसी सत्यता, सात्विकता एवं सामूहिक प्रेमभावना देखकर शिकारी को बड़ी ग्लानि हुई। उसके नेत्रों से आंसुओं की झड़ी लग गई। उस मृग परिवार को न मारकर शिकारी ने अपने कठोर हृदय को जीव हिंसा से हटा सदा के लिए कोमल एवं दयालु बना लिया। देवलोक से समस्त देव समाज भी इस घटना को देख रहे थे। घटना की परिणति होते ही देवी-देवताओं ने पुष्प-वर्षा की। तब शिकारी तथा मृग परिवार मोक्ष को प्राप्त हुए'।


मैथुनी सृष्टि का निर्माण (शिव-महापुराण)

जब ब्रह्मा जी की रची हुई प्रजा बढ़ने से रूक गई! तब उन्होंने पुन: मैथुनी सृष्टि करने का विचार किया! इसके पहले ईश्वर से नारियों का समुदाय प्रकट नहीं हुआ था! इसलिए तब तक मैथिली सृष्टि नहीं कर सकते थे! तब उन्होंने मन में ऐसे विचार को स्थान दिया जो निश्चित रूप से उनके मनोरथ की सिद्धि में सहायक था! उन्होंने सोचा कि वृद्धि के लिए परमेश्वर से ही पूछना चाहिए! क्योंकि उनकी कृपा के बिना नहीं बढ़ सकते, ऐसा सोचकर विश्वात्मा ब्रह्मा ने तपस्या करने की तैयारी की! तब जो आदि-अनंता लोकभावनी, सुख-संपदा, सुधा-भावना, मनोहरा,निर्गुण इस ससांर शब्‍द था, सदा ईश्वर के पास रहने वाली जो उनकी परम शक्ति है! उसी से युक्त भगवान त्रिलोचन का अपने हृदय में चिंतन करते हुए! ब्रह्माजी बड़ी भारी तपस्या करने लगे! तपस्या में लगे हुए परमेष्ठी ब्रह्म पर उनके पिता महादेव जी थोड़े ही समय में संतुष्ट हो गये ! तदनंतर अपने निर्वचन से किसी अद्भुत मूर्ति में अष्ट हो भगवान महादेव आधे शरीर से नारी और आधे शरीर से ईश्वर होकर स्वयं ब्रह्मा जी के सामने प्रकट हो गए! उन सभी सब कुछ देने वाले शिव-शक्‍ति सहित समस्त उपमा के स्‍वामी, शरणागत वत्सल और सनातन शिव को दंडवत प्रणाम करके ब्रह्माजी उठे और हाथ जोड़कर महादेव जी तथा महादेव पार्वती की स्तुति करने लगे! देव महादेव आपकी जय हो ईश्वर, ईश्वर आपकी जय हो, सर्वश्रेष्ठ शिव आपकी जय हो, संपूर्ण देवताओं के स्वामी शिव शंकर आपकी जय हो! प्रकृति, रुक्मणी, कल्याणमयी उमा आपकी जय हो! प्रकृति की नायिका आपकी जय हो, प्रकृति से दूर रहने वाली देवी आपकी जय हो, प्रकृति सुंदरी आपकी जय हो! हम लोग महामाया और सफल मनोरथ वाले देव आपकी जय हो जय हो! महान लीला और कभी व्यर्थ न जाने वाले महान बल से युक्त परमेश्वर आपकी जय हो! संपूर्ण जगत् की माता उमा आपकी जय हो! संसार की सखी सहायका आपकी जय हो! आपका ऐश्वर्या तथा धाम दोनों सनातन है !आपकी सदा जय हो आपका रूप और अनुचर वर्ग भी ,आपकी बात ही सनातन है! आपने तीनरूपो द्वारा तीनों लोको का निर्माण,पालन और संहार करने वाले देवी आपकी जय हो! जगत के कारण तत्वों का प्रादुर्भाव और विस्तार आपकी कृपा दृष्टि के अधीन है! प्रलय काल में आप की उपेक्षा युक्त कटाक्ष पूर्ण दृष्टि से जो भयानक आग प्रकट होती है उसके द्वारा सारा भौतिक जगत भष्‍म हो जाता है! आपके रूप का सम्मान देवता आदि के लिए भी असंभव है! आप आत्म तत्व के सूक्ष्म ज्ञान से प्रकाशित होती है! आपने स्थूल आत्मशक्ति से चराचर जगत् को व्याप्त कर रखा है!विश्व के तत्वों का समुदाय अनेक और एक रूप में आपके ही आधार पर स्थित है! आपके श्रेष्ठ सेवकों का समूह बड़े-बड़े असुरों के मस्तक पर पांव रखता है! शरणागत की रक्षा करने में समर्थ परमेश्वरी संसार रूपी वृक्ष के उगने वाले अंकुरओं का उन्मूलन करने वाली उमा, प्रादेशिक ऐश्वर्या वीर्य और शौर्य का विस्तार करने वाले देव विमान देव ने अपने वैभव से दूसरे के वैभव को तिरस्कृत कर दिया है! पाश्चात्य रूप पुरुषार्थ के प्रयोग द्वारा परम आनंद में अमृत की प्राप्ति करने वाले परमेश्वर आपकी जय हो! विविध पुरुषार्थ के विज्ञान रूप अमृत से परिपूर्ण रूप परमेश्वरी अत्यंत भयानक रोग को दूर करने वाले वेद शिरोमणि अनादि कर्म फल एवं अज्ञान रूपी अंधकार को दूर करने वाली चंडीका रूप में सिरपुर का विनाश करने के लिए काल अग्नि समरूप महादेव त्रिपुर भैरवी आपकी जय हो तीनों गुणों से मुक्त महेश्वर आपकी जय हो!


छत्तीसगढ़ में मौसम ने बदली करवट, बारिश प्रारंभ

दुष्यंत टीकम             रायपुर। राजधानी रायपुर में मौसम ने करवट बदल ली है। शाम होते ही झमाझम बारिश शुरू हो चुकी है। बता दें कि प्रदेशभर में...