सोमवार, 11 नवंबर 2019

छत्तीसगढ़ लागू करेगा पत्रकार सुरक्षा कानून

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पत्रकार सुरक्षा के लिए शीघ्र पत्रकार सुरक्षा कानून लागू होगा। इस संबंध में न्यायमूर्ति श्री आफताब आलम सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्चतम न्यायालय की अध्यक्षता में गठित समिति ने प्रस्तावित कानून का प्रारूप तैयार कर लिया है और इस पर पत्रकारों, पत्रकार संगठनों तथा आमजनों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करने के लिए समिति 16 से 18 नवम्बर तक राज्य के विभिन्न अंचलों का दौरा करेगी।
    समिति 16 नवम्बर को रायपुर के विशिष्ठ अतिथि विश्राम गृह पहुना में दोपहर 12.30 बजे से 2 बजे तक पत्रकार एवं पत्रकार संगठनों से तथा अपरान्ह 3.30 से शाम 5 बजे तक आमजनों से चर्चा कर सुझाव लेगी। इसी प्रकार समिति 17 नवम्बर को सर्किट हाऊस जगदलपुर में पूर्वान्ह 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक पत्रकार और पत्रकार संगठनों से तथा अपरान्ह 3 से 4 बजे तक आम नागरिकों से सुझाव लेगी। समिति 18 नवम्बर को अम्बिकापुर पहंुचेगी और दोपहर 12.30 बजे से 1.30 बजे तक पत्रकार और पत्रकार संगठनों से तथा दोपहर 2.30 बजे से 3.30 बजे तक आम नागरिकों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करेगी। प्रस्तावित छत्तीसगढ़ पत्रकार सुरक्षा कानून का हिन्दी और अंग्रेजी प्रारूप जनसम्पर्क संचालनालय की वेबसाइट http://dprcg.gov.in  उपलब्ध है। किसी शंका की दशा में अंग्रेजी रूपांतरण मान्य होगा।
ज्ञातव्य है कि प्रदेश में पत्रकार निर्भीकता से स्वतंत्र लेखन कर सकें, इसके लिए राज्य सरकार ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने का निर्णय लिया है। जिसके परिपालन में मार्च 2019 में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने के लिए उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश, न्यायमूर्ति श्री आफताब आलम की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई है। समिति में न्यायमूर्ति श्रीमती अंजना प्रकाश सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्च न्यायालय, श्री राजूराम चन्द्रन वरिष्ठ अधिवक्ता उच्चतम न्यायालय, महाधिवक्ता छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय, पुलिस महानिदेशक, प्रमुख सचिव विधि विभाग, श्री रूचिर गर्ग मीडिया सलाहकार मुख्यमंत्री, श्री ललित सुरजन, प्रधान संपादक दैनिक देशबंधु और श्री प्रकाश दुबे वरिष्ठ पत्रकार नागपुर समिति के सदस्य हैं।


स्वर कोकिला लता की बिगड़ी तबीयत

मुंबई। हिन्दी सिनेमा की स्वर कोकिला लता मंगेशकर को सोमवार को ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। उन्हें वायरल इंफेक्शन हुआ था और अब उनकी तबीयत में सुधार हो रहा है। खबर के अनुसार लता मंगेशकर को वायरल इंफेक्शन हुआ था। अब वो धीरे-धीरे ठीक हो रहीं हैं। लता मंगेशकर की भतीजी के अनुसार, अगर उनकी तबीयत में सुधार दिखा तो उन्हें आज ही डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। बता दें कि लता मंगेशकर ने 28 सितंबर को अपना 90वां जन्मदिन मनाया था। उन्होंने करीब 1 हजार गानों को अपनी आवाज़ दी है और उन्हें भारत रत्न से भी सम्मानित किया जा चुका है। लता दीदी ने 36 रीजनल भाषाओं और फॉरेन लैंग्वेजेज में भी गाने गाए हैं। उन्हें दादासाहब फाल्के, तीन नेशनल अवॉर्ड्स सहित कई अवॉर्ड्स मिल चुके हैं।


आधार कार्ड करेक्शन में लगेगा तय शुल्क

नई दिल्ली। बैंक में खाता से लेकर पासपोर्ट बनवाने सहित कई काम में आधार अनिवार्य है। लेकिन आधार में नाम या जन्म तिथि गलत होने पर वह कई बार लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाता है। इसे देखते हुए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI)  ने जन्म तिथि में एक बार सुधार की सुविधा दी है लेकिन अब आपको आधार कार्ड में सुधार कराने के लिए पहले से ज्यादा चार्ज देना होगा।


अब देना होगा इतना चार्ज: यूआईडीएआई (UIDAI) के जारी सर्कुलर के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को अपने आधार कार्ड में पता, मोबाइल नंबर और बायोमेट्रिक्स में कोई बदलाव कराना है तो उसे नया शुल्क देना होगा। सर्कुलर के मुताबिक, नाम, पता, ईमेल आईडी, जेंडर, मोबाइल नंबर में बदलाव कराने पर 50 रुपये देने होंगे। पहले इसके लिए 25 रुपये चार्ज लगता था। इसमें सभी तरह के टैक्स शामिल हैं।


मोहब्बत जाहिर करिए और माफ करिए

नई दिल्ली। सलमान खान के पिता सलीम खान ने कहा कि अयोध्या में मुस्लिमों को दी जाने वाली पांच एकड़ भूमि पर स्कूल बनाया जाना चाहिए। अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सलीम खान (83) ने कहा कि भारत के मुसलमानों को मस्जिद नहीं, स्कूल की जरूरत है। अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हुए बॉलीवुड के तीन अभिनेताओं सलमान, सोहेल और अरबाज के पिता ने कहा कि पैगंबर ने इस्लाम की दो खूबियां बताई है, जिसमें प्यार और क्षमा शामिल हैं। अब जब इस कहानी (अयोध्या विवाद) का द एंड हो गया है तो मुस्लिमों को इन दो विशेषताओं पर चलकर आगे बढ़ना चाहिए।'मोहब्बत जाहिर करिए और माफ करिये।' अब इस मुद्दे को फिर से मत कुरेदिये। यहां से आगे बढ़िए। सलीम खान ने यह अपील मुस्लिम समुदाय से की है।


भारतीय समाज के परिपक्व होने की बात करते हुए सलीम खान ने आईएएनएस से कहा, “फैसला आने के बाद जिस तरीके से शांति और सौहार्द्र कायम रही यह प्रशंसनीय है। अब इसे स्वीकार कीजिए, एक पुराना विवाद खत्म हुआ। मैं तह-ए-दिल से इस फैसले का स्वागत करता हूं। मुस्लिमों को अब इसकी (अयोध्या विवाद) चर्चा नहीं करनी चाहिए। इसकी जगह उनको बुनियादी समस्याओं की चर्चा करनी चाहिए और उसे हल करने की कोशिश करनी चाहिए। मैं ऐसी चर्चा इसलिए कर रहा हूं कि हमें स्कूल और अस्पताल की जरूरत है। अयोध्या में मस्जिद के लिए मिलने वाली पांच एकड़ जगह पर कॉलेज बने तो बेहतर होगा।”


सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिमों के साथ अन्याय किया

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद पर शानिवार को कोर्ट का फैसला आ गया है। अयोध्या के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एके गांगुली ने कहा कि इस मामले में मुसलमानों के साथ गलत हुआ है। ख़बरों के मुताबिक, रिटायर्ड जज एके गांगुली ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वे इस फैसले से व्यथित हैं।


बता दें कि जस्टिस गांगुली ने कहा कि अयोध्या में आखिर मस्जिद गिराई गई थी। कोई भी कहेगा कि मुसलमानों की मस्जिद गिराई गई थी। सरकार इस मस्जिद को बचाना चाहती थी। इस मामले में अदालत में अभी भी केस चल रहा है। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान जब अस्तित्व में आया तो नमाज यहां पढ़ी जा रही थी। एक वैसी जगह जहां नमाज़ पढ़ी, जहां पर मस्जिद थी, अब इस जगह को सुप्रीम कोर्ट मंदिर के लिए देने को कह रहा है। ये सवाल मेरे दिमाग में उठ रहा है। उन्होंने कहा कि संविधान का एक छात्र होने के नाते फैसले को समझने में मुझे थोड़ी दिक्कत हो रही है।


जस्टिस गांगुली ने आगे कहा कि इस बात के भी पुरातात्विक सबूत नहीं हैं कि मस्जिद के नीचे मंदिर था। वहां पर कोई ढांचा जरूर था। लेकिन इस ढांचे के हिंदू ढांचा होने के सबूत नहीं हैं।



सागर फाउंडेशन के द्वारा दिया गया दायित्व

उत्तर प्रदेश प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश कमेटी का जोरदार स्वागत अभिनन्दन जिला मिर्जापुर नरायनपुर माल्यार्पण किया गया। 
संतोष सिंह के रिपोर्ट। 
वाराणसी। सागर फाउंडेशन सशक्त सामाजिक संगठन के द्वारा आज संगठन की जिम्मेदारी प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश उपाध्यक्ष, प्रदेश सचिव को दी गयी । संगठन के उद्देश्य को जन-जन तक पहुचाने का काम करे एवं संगठन को मजबूत करे।
राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ०विद्या सागर ने कहा कि गरीब असहाय परिवार की मदत करें। अशिक्षित बच्चों को शिक्षा एवं बीमार लोगो का इलाज कराने का प्रयास करें।
सागर फाउंडेशन के सभी पदाधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ मिलकर समाज में सामाजिक कार्य करेंगे।
सम्मान समारोह में उपस्थित पदाधिकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विद्या सागर, उपाध्यक्ष श्री सत्यम कुमार श्रीवास्तव, श्री लक्ष्मी प्रसाद शर्मा, राष्ट्रीय सचिव श्री संतोष सिंह प्रदेश अध्यक्ष श्री डॉ०अशोक सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री रमेश पाण्डेय, श्री नागेंद्र सिंह, प्रदेश सचिव श्री मोहम्मद अलाउद्दीन हाशमी मिर्ज़ापुर मण्डल प्रभारी श्री धनंजय कुमार, सचिव श्री आशीष पाण्डेय मंडल अध्यक्ष श्रीमती गीता मैडम, सचिव नीलिमा देवी वाराणसी जिला अध्यक्ष श्री सुभाष राजभर उपाध्यक्ष श्री राजमन राजभर सचिव सतीश कुमार श्री फेकू राम बैरागी राजू रामबाबू समाज सेवी बृजेश राजभर आज़ाद जी इत्यादि लोग उपस्थित हुए ।


550वे प्रकाश उत्सव में पांच दिवसीय आयोजन

गोंडपारा।  श्री गुरुनानक देव जी महाराज के 550 वें प्रकाश उत्सव के पंच दिवसीय आयोजन के चौथे दिन रविवार को सुबह 11 से 3 बजे तक श्री गुरु सिंह सभा गोंडपारा में कीर्तन दीवान सजाया गया। जहाँ पंथ के प्रसिध्द रागी जत्थे भाई मेहताब सिंह,भाई सरबजीत सिंह पटना वाले,भाई सतपाल सिंह दिल्ली वाले कीर्तन से साध संगत को निहाल किया। पश्चात हेड ग्रंथी मान सिंह बडला ने सरबत के भले के अरदास की, यहां समूह साध संगत के लिये लंगर की व्यवस्था रखी गई थी। रात को कीर्तन दीवान गुरुनानक स्कूल के शानदार पंडाल में सजाया गया जहाँ पर हजूरी रागी जत्था भाई गुरशेर सिंह , भाई मेहताब सिंह जालंधर वाले,भाई सरबजीत सिंह पटना वाले भाई सतपाल सिंह दिल्ली वाले ने साध संगत को  कीर्तन रसपान कराया। यहां समूह साध संगत के लिये लंगर रखा गया।


आज गुरुनानक स्कूल पंडाल में रात को दियों एवं झालर से बहुत ही शानदार ढंग से रोशनी की गई। पश्चात 12-11-19 मंगलवार को सुबह फूलों से आकर्षक एवं भव्य ढंग से  सजाया जावेगा उल्लेखनीय है कि सिक्खों के प्रथम गुरु श्री गुरुनानक देव जी की 550 वें प्रकाश उत्सव की तैयारियां दयालबंद गुरुद्वारा कमेटी की ओर से बहुत ही बड़े स्तर पर की गई है। गुरुनानक स्कूल परिसर में सिक्खों के प्रसिद्ध तीर्थ ननकाना साहिब के मॉडल स्वरूप शानदार पंडाल बनाया गया है। मंगलवार 12 नवम्बर को मुख्य कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा गुरुद्वारा कमेटी दयालबंद के प्रधान अमरजीत सिंह दुआ ने बताया कि समूह साध संगत से 12 नवम्बर को अपने संस्थान बंद रखने एवं ड्रेस कोड में आने हेतु निवेदन किया है। पुरुषों हेतु ड्रेस कोड कोई भी रंग के शर्ट पेंट, केशरी जेकेट केशरी पगड़ी एवं महिलाओं हेतु  कोई भी रंग का सूट केशरी जेकेट केशरी दुपट्टा निर्धरित किया गया है।


वही कल गुरुनानक स्कूल के पंडाल में मुख्य कार्यक्रम होगा जहाँ सुबह 8 बजे से दोपहर 2:30 बजे तक कीर्तन दीवान सजाया जावेगा। जहाँ पर कीर्तन उपरांत गुरु का अटूट लंगर वरताया जावेगा शाम को 6 बजे से 7:30 बजे तक बच्चों द्वारा धार्मिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाएंगे। रात का दीवान 8  बजे से 12 बजे तक सजाया जावेगा। सुबह और रात के दीवान में भाई मेहताब सिंह जालंधर वाले भाई सरबजीत सिंह पटना वाले भाई सतपाल सिंह दिल्ली वाले हजूरी रागी जत्था गुरशेर सिंह हाजरी भरेंगे। इससे पहले 7:30 बजे से 8 बजे तक आकर्षक आतिशबाजी की जावेगी। इसके साथ ही समूह साध संगत हेतु पार्किंग की व्यवस्था सरल बनाने हेतु वेले पार्किंग रखा गया है। पार्किंग गवर्नमेंट स्कूल के मैदान,गुरुगोविंद सिंह सेतु के आगे खाली प्लॉट में जगमल चौक सेण्डो आइस फेक्ट्रि के बाजू में खाली प्लॉट में की गई है।


यूपी कैबिनेट ने किए 13 प्रस्ताव पास

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा आज कैबिनेट में 13 मुद्दों पर लगाई मुहर। जनता की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए योगी आदित्यनाथ के द्वारा 13 विशेष मामलों को सूचीबद्ध कर प्रस्तावित किया। यूपी कैबिनेट की बैठक में 13 बिंदुओं पर लगी मुहर। यूपी नगर पालिका नियमावली 2019 प्रख्यापित किए जाने का प्रस्ताव पास। यूपी नगर निगम अधिनियम 172 में नगर निगम सीमा में भूमि और सम्पत्ति पर टैक्स सम्बधी प्रस्ताव पास। 765 केवी जीआईएस मेरठ,रामपुर,संभल, सिंभाउली उपकेंद्र को लेकर प्रस्ताव पास। पश्चिम यूपी के सभी जिलों को मिलेगा नए उपकेंद्रों को लाभ। सरकारी सेवक भर्ती के मापदंड को लेकर प्रस्ताव पास।अम्बेडकर विशेष रोजगार योजना की गाइड लाइन्स योजना में बदलाव सम्बन्धी प्रस्ताव पास। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर रोजगार प्रोतसाहन योजना होगा नाम स्टाम्प वेंडर भी अब ई स्टाम्प की बिक्री कर सकेंगे। मदरसा आधुनिकरण योजना के सम्बंध में प्रस्ताव पास, 7442 मदरसों को योजना में शामिल किया गया है।5211 स्नातक 15214 परास्नातक शिक्षको को मिलेगा लाभ। 14 सितम्बर 2019 को सीएम के घोषित अलीगढ़ विवि को लेकर प्रस्ताव पास। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को 2157 करोड़ राज्य सरकार ने दिया। 7000 करोड़ बैंक से लिया गया, एप्को इंफ्राटेक को 2। पैकेज,तीसरा बिल्ड कॉम, चौथा गावर को लेकर प्रस्ताव पास। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे को लेकर 3024 करोड़ के पैकेज से जुड़ा प्रस्ताव पास। कुशीनगर में इंटीग्रेटेड बुद्ध सर्किट को लेकर प्रस्ताव पास,बुद्ध प्रतिमा, हॉस्पिटल।मेडिटेशन सेंटर, तालाब, बौद्ध विहार आदि बनेगा,पर्यटन विभाग स्वयं बुद्धिस्ट सर्किट को विकसित किया जाएगा।नगर निगम गोरखपुर में कार्यालय को लेकर प्रस्ताव पास।गोरखपुर गेस्ट हाउस के सामने ही बनेगा कार्यालय। सीएम योगी ने सर्वोच्च न्यायालय के अयोध्या फैसले को लेकर सबको बधाई दी।


बकाया बिल को आसान किस्तों में जमा करें

4 किलो वाट तक के घरेलू विद्युत कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं के लिए प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना शुरू


बकाया विद्युत बिल को उपभोक्ता आसान किस्तों में करा सकते हैं जमा


सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ उठाने के लिए आगामी 31 दिसंबर तक कराना होगा रजिस्ट्रेशन


गौतमबुध नगर। जिलाधिकारी ब्रजेश नारायण सिंह समस्त जनपद वासियों को जानकारी देते हुए उनका आह्वान किया है कि प्रदेश सरकार के द्वारा 4 किलोवाट विद्युत कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं के लिए बकाए विद्युत को जमा कराने के लिए आसान किस्त योजना प्रारंभ की गई है। सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ उठाने के लिए संबंधित उपभोक्ताओं को आगामी 31 दिसंबर तक अपना पंजीकरण कराना होगा। सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का अधिकतम 4 किलो वाट के घरेलू उपभोक्ता लाभ उठा सकें इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए विद्युत विभाग के द्वारा एक आकर्षित जानकारी तैयार की गई है, जिसे डीएम बार उनके माध्यम से आम नागरिकों तक भेजा जा रहा है। 4 किलो वाट तक के घरेलू विद्युत उपभोक्ता इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ उठाने के लिए जानकारी का अवलोकन अवश्य करें और सरकार की इस योजना का अधिकतम लाभ उठाएं। राकेश चौहान जिला सूचना अधिकारी।


गाजियाबाद पुलिस कर रही जनता को जागरूक

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश में गाजियाबाद यातायात पुलिस जनता को जागरूक करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है। जिससे जनपद में यातायात नियमों के साथ साथ लोगों की जान की भी सुरक्षा हो सकेगी। पुलिस के द्वारा किए गए इस कार्य की जितनी सराहना की जाए उतनी कम है। इस कार्य के लिए जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। सड़क दुर्घटनाओं में प्रत्येक वर्ष लाखों व्यक्तियों का को जान से हाथ धोना पड़ता है। थोड़ी सी लापरवाही जान पर बन आती है। लापरवाही को रोकने के लिए ट्रैफिक मोबाइल इंदिरापुरम क्षेत्र के हेड कांस्टेबल अजीत सिंह द्वारा रेल विहार तिराहे पर बैनर लगाया गया तथा आम लोगों को यातायात नियमों के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया गया। वाहन चालकों को यातायात संबंधी पंपलेट वितरित किए गए।


यूपी में राशन वितरण में 2 किलो की कटौती

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के जनपद पीलीभीत में राशन कोटेदार की मनमानी सामने आई है। ताजा मामला जनपद पीलीभीत ब्लॉक ललौरी खेडा क्षेत्र की ग्राम पंचायत गोछ से है। ग्राम के ही निवासी राशन कार्ड धारकों ने मीडिया को बताया है कि राशन कोटेदार मंसूर अहमद अपनी मनमर्जी और दबंगई के चलते राशन कार्ड पर तो सरकार के द्वारा निर्धारित राशन चढ़ाता है। मगर हम सब को 2 किलो राशन कम दे रहा है। ग्राम वासियों के द्वारा कम राशन देने पर कोटेदार मंसूर अहमद उनसे ऊपर से कटौती होने की बात बताकर उनको टरका देता है। आज संवाददाता के सामने ग्राम वासियों का दर्द निकल कर सामने आया। जब मीडिया के द्वारा राशन कोटेदार मंसूर अहमद से उक्त प्रकरण पर जानकारी ली गई तो उसने मीडिया के सामने स्पष्ट रूप से अधिकारियों के आदेश पर तथा शर्मा जी नामक व्यक्ति जो गोदाम प्रभारी हैं। उनके कहने पर 2 किलो राशन की कटौती करने की बात कही। जब उक्त प्रकरण पर जिला पूर्ति अधिकारी पीलीभीत से मीडिया संवाददाता के द्वारा दूरभाष पर जानकारी ली गई तो उन्होंने जांच कर कार्यवाही करने को कहा है। अब सवाल यह उठता है कि पूरे जिले में सभी राशन कोटेदार कार्ड धारकों को 2 किलो राशन कम दे रहे हैं क्या अधिकारियों तक राशन कोटेदारों की यह हरकत की शिकायतें नहीं पहुंचती है फिर भी पूर्ति कार्यालय की तरफ से कोई भी कठोर कार्रवाई इन राशन कोटेदारों पर क्यों नहीं हो पा रही है।कहीं ना कहीं कुछ तो है।


ईस्टर्न पेरिफेरल पर दुर्घटना मे 6 की मौत

गौतम बुध नगर। थाना साईट-5 क्षेत्र मे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर एक मारूती इको वेन मे एक परिवार के सदस्य जो कि बल्लभगढ हरियाणा से मीठापुर गुलावठी क्षेत्र जा रहे थे, के वाहन को समय करीब 09ः00 बजे रात्रि किसी अज्ञात वाहन द्वारा पीछे से टक्कर मार कर फरार हो गया।! इस घटना मे वैन के चालक सहित 06 लोगो शमशीरा पत्नी इकरामुद्दीन आयु ६० वर्ष, यासीन पुत्र जान मोहमद्द आयु ४८ वर्ष, शुमैला पुत्री यासीन आयु १५ वर्ष, साकिर ड्राइवर पुत्र जाकिर आयु २५ वर्ष, रिहाना पुत्री यासीन आयु 18वर्ष, फरजंना पत्नी जाहिद आयु २८ वर्ष, समस्त निवासी लिसाड़ी गेट मेरठ की मृत्यु हो गयी। जिनमे तीन महिला हैं तथा 08 व्यक्ति घायल हुये है, जिनमे अधिकांश बच्चे हैं। घायलो को उपचार हेतु  गर्वमेंट इंस्टीटयूट आफ मेडिकल साइंस हास्पिटल थाना साईट-5 क्षेत्र मे भर्ती करा दिया गया है। फरार वाहन की तलाश की जा रही है!  पुलिस द्वारा विधिक कार्यवही की जा रही है । इस दुर्घटना में फरहान निहान रुबियांन घायल हुए हैं। इसके अलावा शबनम अक्सा सिदरा  व मुशर्रफ गम्भीर रूप से घायल हुए थे। जिन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। जिसमें सोमवार सुबह अक्सा की भी मौत हो गई। इस घटना से पूरे क्षेत्र में कोहराम सा मच गया है। बताया जाता है कि मरने वाले पूर्व जिला पंचायत सदस्य युवा नेता फईमुद्दीन मेवाती के परिवार से है! ईस्टर्न पेरिफेरल


शिवसेना-एनसीपी,कांग्रेस की बनेगी सरकार

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर माथापच्ची जारी है। समीकरण ये सामने आ रहे हैं कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की महाराष्ट्र में सरकार होगी। लेकिन किस फार्मूले पर ये सरकार होगी, डिप्टी सीएम एनसीपी का होगा या फिर कांग्रेस का या फिर दोनों का। इन तमाम मामलों को लेकर अभी तक कुछ भी साफ नहीं है। हालांकि जो खबरें आ रही है, उसके मुताबिक महाराष्ट्र में सरकार के लिए कांग्रेस जिस फॉर्मूले पर विचार कर रही है उसके तहत शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा, जबकि दो डिप्टी सीएम होंगे. इसके अलावा कैबिनेट में शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के 14-14 मंत्री होंगे।


शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की सरकार को लेकर चल रही चर्चा के बीच शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया हैै। इस्तीफा देने के बाद उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में नई सरकार बनने जा रही है। विरोधी विचारधारा के सवाल पर सावंत ने कहा कि जब कश्मीर में महबूबा मुफ्ती और बिहार में नीतीश कुमार के साथ सरकार बनाई गई तो वहां कौन सी विचारधारा थी।


बात करें कांग्रेस की तो कांग्रेस के एक खेमे का कहना कि पार्टी को बाहर से समर्थन करना चाहिए। जबकि एक दूसरे गुट का कहना है सरकार में शामिल होना चाहिए। जिससे राज्य में नेताओं और कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा का संचार होगा। इससे पहले कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक खत्म हो गई है और अब शाम 4 बजे महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं की बैठक में अंतिम फैसला लिया जाएगा।


वहीं एनसीपी ने सारा फैसला कांग्रेस पर छोड़ दिया है। पार्टी के नेता नवाब मलिक ने कहा है कि एनसीपी ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा है और बिना कांग्रेस को वह कोई फैसला नहीं करेगी। दरअसल एनसीपी शिवसेना की सरकार बनाने में अकेले में कोई भूमिका अदा करने का रिस्क लेना नहीं चाहती है। क्योंकि बीजेपी के पास अब यह कहने का पूरा मौका होगा कि सत्ता के लिए तीनों पार्टियां एकसाथ हो गई हैं।


सफाई कर्मचारी: बाप-बेटा सहित तीन की मौत

बाड़मेर। राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक दर्दनाक घटना सामने आई है। धोरीमन्ना थाना क्षेत्र के बाछला गांव में कुएं की सफाई करने उतरे तीन मजदूरों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हो गई। इस घटना के इलाके में सनसनी फैल गई है। स्थानीय प्रशासन भी इस घटना के बाद सकते में है। जानकारी के मुताबिक कुएं में जहरीली गैस के रिसाव के कारण यह हादसा हुआ है। बता दें कि तीनों व्यक्ति कृषि कार्य  के लिए 4 वर्षों से बंद पड़े कुएं की साफ-सफाई कर रहे थे। इस दौरान पहले एक शख्स कुएं में उतरा तो अंदर जाते ही उसका बोलना बंद हो गया। इसके बाद दूसरा व्यक्ति भी अंदर गया और वह भी बेहोश हो गया। इस तरह एक के बाद एक चारों कुएं में जहरीली गैस की वजह से बेहोश हो गए। दो शख्स ने तो मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि अन्य दो अन्य को बेहोशी की हालात में स्थानीय अस्पताल पहुंचाया गया। दोनों की गंभीर हालत देखते हुए बेहतर इलाज के लिए उन्हें सांचौर रेफर कर दिया गया, जहां एक की इलाज के दौरान मौत हो गई। मरने वालों में दो व्यक्ति एक ही परिवार से बताए जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक ये दोनों बाप-बेटे थे। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची धोरीमन्ना थाना पुलिस ने घटना की जानकारी लेने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।


दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का कहर जारी

नई दिल्ली।  दिल्ली-एनसीआर  में अभी भी प्रदूषण का कहर जारी है। दमघोंटू हवा से लोगों का सांस लेना दूभर हो गया है। आज यानि सोमवार को भी दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज की गई। सोमवार  सुबह 10.37 बजे दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 331 दर्ज किया गया। जबकि रोहिणी, बवाना और आनंद विहार में वायु गुणवत्ता सूचकांक क्रमश: 380, 375 और 373 था। कहा जा रहा है कि एनसीआर की वायु गुणवत्ता सूचकांक मंगलवार को 'बहुत खराब' रह सकता है। रविवार को राष्ट्रीय राजधानी में औसत 321 दर्ज किया गया था। इसी तरह से रविवार को ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और नोएडा में भी प्रदूषण का स्तर बहुत ज्यादा खराब था। सरकार की वायु गुणवत्ता निगरानी और पूवार्नुमान सेवा 'सफर' ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक मंगलवार को 'गंभीर' होने की आशंका है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक रविवार शाम चार बजे 321 दर्ज किया जो शनिवार के 283 से अधिक है। दिल्ली में 37 वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशनों में से अधिकतर ने वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' दर्ज की है। इस बीच दिल्ली के पर्यावरण मंत्री कैलाश गहलोत ने एक बार फिर पड़ोसी राज्यों से पराली जलाये जाने पर तत्काल रोक लगाने और किसानों को पराली प्रबंधन के लिए मशीनें आवंटित करने में तेजी लाने का एक बार फिर आग्रह किया।


नवाज की तबीयत बिगड़ी,विदेश जाने पर रोक

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) का कहना है कि विदेश जाकर इलाज करवाने में हो रही देरी के कारण उनका स्वास्थ्य खतरे में आ गया है। शरीफ  का नाम नो फ्लाई लिस्ट में शुमार है जिसकी वजह से वह विदेश यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। उन्हें इस लिस्ट से अपना नाम हटने का इंतजार है। बता दें कि जिस व्यक्ति के नाम को नो फ्लाई लिस्ट में डाला जाता है वह देश के अंदर या देश के बाहर उड़ान नहीं भर सकता है। 69 साल के (पीएमएल-एन) अध्यक्ष ने शुक्रवार को अपने डॉक्टरों की सलाह और परिवार के अनुरोध को मानते हुए इलाज के लिए ब्रिटेन जाने के लिए तैयार हो गए। वह रविवार सुबह पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस से लंदन रवाना होने वाले थे। शरीफ  कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे हैं। वर्तमान में शरीफ  की देखभाल लाहौर के नजदीक आवास पर हो रही है। जहां एक आईसीयू स्थापित किया गया है। सरकार शरीफ का नाम नो फ्लाई लिस्ट से इसलिए नहीं हटा पा रही है क्योंकि नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो के अध्यक्ष जावेद इकबाल अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए देश में मौजूद नहीं हैं। पीएमएलएन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने ट्वीट कर कहा कि डॉक्टरों ने कहा है कि शरीफ  को फौरन विदेश ले जाने की जरूरत है। उनकी यात्रा में देरी से उनकी सेहत पर खतरा बढ़ रहा है। उन्हें विदेश यात्रा के लिए तैयार करने के लिए स्टेरॉयड का हैवी डोज दिया जा रहा है। मरियम ने बताया कि डॉक्टर पूर्व प्रधानमंत्री का प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए अपनी तरफ  से पूरी कोशिश कर रहे हैं ताकि जब वह यात्रा करें तो उनकी तबीयत न बिगड़े। सरकार की प्रवक्ता फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि शरीफ का नाम नो फ्लाई लिस्ट से हटाने का फैसला एनएबी और डॉक्टरों की सिफारिशों के बाद लिया जाएगा।


संसद के द्वारा किया गया,2 मार्गों का शिलान्यास

आदर्श श्रीवास्तव


लखीमपुर खीरी, निघासन। भाजपा सांसद अजय मिश्र टेनी ने क्षेत्र के अलग अलग दो जगहों पर इंटरलॉकिंग का शिलान्यास किया।तिकुनियां क्षेत्र के गंगा नगर के छोटेगुरूद्वारा में मेन रोड़ से गुरूद्वारा तक लगभग 100 मीटर उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण विभाग द्वारा भैरमपुर में भी 290 मीटर मुन्नालाल के घर से रमाशंकर के घर तक की इंटरलॉकिंग का शिलान्यास किया।बरसात के समय में लोगों का निकलना मुश्किल था ।ग्रामीणों की मांग पर सांसद ने स्वीकृति दे दी थी। जिसका आज सांसद द्वारा शिलान्यास किया गया।जिससे क्षेत्र में खुशी का माहौल बन गया।इस कार्यक्रम में नागेन्द्र सिंह सेंगर,हरीश पाण्डेय, रतीराम लोधी,संजय गिरि,मोहित त्रिवेदी, योगेन्द्र चतुर्वेदी,वीरेन्द्रसिंह प्रधान, वीरेंद्र मिश्रा,बबलू गुप्ता,रवि मिश्रा,लक्ष्मी नरायन वर्मा,सुरेश कुमार, अशोक राठौर,छोटे लाल वर्मा, खजान आदि सैकड़ों लोग मौजूद रहे।


किस्तों में जमा करें, बिजली का बिल

लखनऊ। अगर आपका भी बकाया है बिजली का बिल तो घबराएं नहीं अब किस्तों में कर सकते हैं। बिजली विभाग का उधार अदा जानिए यूपी सरकार ने बिजली विभाग के बकायेदारों के लिए क्या नियम बनाए हैं।



विद्युत विभाग ने बड़े बकाएदारों को किस्तों में बिल जमा करने की सुविधा दी है। इसके लिए आसान किस्त योजना शुरू हो गई है। इस योजना से उपभोक्ता किस्तों में अपने बकाया बिल का भुगतान कर सकेंगे। यह योजना 30 नवंबर तक चालेगी। घरेलू चार किलोवाट तक के ग्रामीण और शहरी उपभोक्ताओं को 31 अक्तूबर 2019 तक की बकाया धनराशि के भुगतान को आसान किस्तों में सहूलियत दी जा रही है। ग्रामीण उपभोक्ताओं को 24 मासिक किस्तों और शहरी उपभोक्ताओं को 12 किस्तों में बिल जमा करने की सुविधा दी जा रही है। योजना का लाभ लेने के लिए रविवार से पंजीकरण शुरू हो गया है। इसमें 31 दिसंबर 2019 तक के बकाएदार उपभोक्ता अपना पंजीकरण करा सकते हैं। उपभोक्ताओं को मूल बकाया का पांच प्रतिशत व 1500 रुपये जमा कराकर पंजीकरण कराना होगा।


25 साल बाद कमबैक करेंगे अमोल पालेकर

मुंबई। दिग्गज एक्टर अमोल पालेकर 25 साल बाद स्टेज पर कमबैक करने वाले हैं। वो थ्रिलिंग ड्रामा हिंदी प्ले 'कुसूर' में नजर आएंगे। प्ले कुसूर को संध्या गोखले ने लिखा है। इसे संध्या गोखले ने अमोल पालेकर संग मिलकर डायरेक्ट किया है। प्ले में अमोल रिटायर एसीपी दंडवते के किरदार में नजर आएंगे। प्ले के बारे में बात करते हुए अमोल ने कहा- तेज भागने वाली कहानी हमें ट्विस्ट के जरिए भटकाती है। साथ ही हमारी उम्मीदों के विपरीत होती हैं। हमारी धारणाओं को भी बदल देती है। वहीं डीप सब्जेक्ट पर्दा के गिरने तक हमारे दिलों दिमाग में घूमता रहेगा। उन्होंने आगे कहा, "एक कलाकार के तौर पर इस उम्र में ये भूमिका मेरे लिए एक बड़ी चुनौतीपूर्ण है। क्योंकि किरदार के लिए जबरदस्त भावनात्मक और शारीरिक ऊर्जा की जरूरत है।"


कब होगा शो का प्रीमियर?


बता दें कि अमोल 24 नवंबर को 74 के साल हो जाएंगे। इसी दिन टाटा थियेटर, एनसीपीए, मुंबई में इस शो का प्रीमियर किया जाएगा। अमोल ने फिल्मी करियर की शुरुआत 1971 में मराठी फिल्म से की थी। इसके बाद वह बॉलिवुड में आए और साल 1974 में बासु चटर्जी की फिल्म 'रजनीगंधा' से दर्शकों के दिलों पर छा गए। अमोल पालेकर ने बतौर निर्देशक कई फिल्में बनाईं, जिनमें कच्ची धूप, नकाब और पहेली जैसी फिल्में शामिल हैं। पर्सनल लाइफ की बात करें तो बता दें कि अमोल पालेकर ने दो शादी की हैं। उनकी पहली पत्नी का नाम चित्रा और दूसरी पत्नी का नाम संध्या गोखले है। पालेकर की दो बेटियां हैं।


'संगी जनम-जनम के' फिल्म का मुहूर्त

राजनंदगांव। माँ भानेश्वरी फिल्म के बैनर तले बनने जा रही निर्माता भोलाशंकर महोबिया की फिल्म "संगी जनम जनम के" का राजनांदगांव के आशीर्वाद पैलेस में मुहूर्त सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि मोहन सुंदरानी, विशिष्ट अतिथि छालीवुड स्टारडम के सम्पादक अरुण बंछोर, हमर छालीवूड के सम्पादक श्रीमती केशर सोनकर एवं अभिनेत्री उपासना वैष्णव थी। कार्यक्रम का संचालन अभिनेत्री उर्वशी साहू ने किया। निर्देशक मिर्जा मकसूद बेग, फिल्म के नायक देवेंद्र साहू एवं नायिका तनु प्रधान ,ताम्रकार, रज्जू चंद्रवंशी, मनोज वर्मा, अमित साहू भी उपस्थित थे। छालीवुड में पहली बार ऐसा हुआ कि फिल्म का मुहूर्त केक काटकर किया गया। इस अवसर को फिल्म का जन्मदिन मानकर उत्सव मनाया गया। मुख्य अतिथि छालीवुड के भीष्पितामह मोहन सुंदरानी ने कलाकारों को बधाई देते हुए कहा कि फिल्म बनाना आसान नहीं है फिर भी निर्माता फिल्म बनाने आगे आ रहे हैं यह छालीवुड के लिए सौभाग्य की बात है। कलाकार मन लगाकर काम करें क्योकि यह अवसर बार बार नहीं मिलता। साथ ही उन्होंने अपनी अगली फिल्म की शूटिंग राजनांदगांव के इसी आशीर्वाद पैलेस में करने का भी ऐलान किया। फिल्म में उपासना उर्वशी की जोड़ी कॉमेडी करती नजर आएगी। उन्हें चम्पा और चमेली का रोल दिया गया है। पत्रकार केशर सोनकर अभिनेत्री तनु प्रधान की माँ की भूमिका में दिखेंगी। अभिनेता देवेंद्र साहू इस फिल्म को लेकर बहुत ही उत्साहित हैं क्योकि उनके हाथ तीन और है। निर्माता भोलाशंकर महोबिया की यह पहली फिल्म है।


अजय देवगन की 100वीं फिल्म 'तानाजी'

मुंबई। अजय देवगन की आने वाली फिल्म 'तानाजी: द अनसंग वॉरियर' उनके करियर की 100वीं फिल्म है। अजय देवगन ने साल 1991 में 'फूल और कांटे' से अपने करियर की शुरुआत की थी। अजय देवगन की इस उपलब्धि पर बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान ने उन्हें बधाई दी है। शाहरुख, अजय देवगन को अपना बहुत अच्छा दोस्त मानते हैं और उन्होंने अजय देवगन के लिए बढ़िया सा संदेश भी लिखा है। शाहरुख खान ने अजय देवगन के 100वीं मूवी का पोस्टर शेयर करते हुए लिखा, ''दोस्त अजय देवगन के आगे और 100 फिल्मों को लेकर आशान्वित हूं। एक ही साथ दो मोटरसाइकिल पर सवारी कर आप काफी लंबी दूरी तय कर चुके हैं। आगे बढ़ते रहें और तानाजी फिल्म के लिए शुभकामनाएं।''


फिल्म में अजय देवगन तानाजी के किरदार में होंगे। बता दें कि तानाजी मलुसारे छत्रपति शिवाजी के जनरल थे जो कि मराठाओं के लिए मुगलों से लड़ते हुए सिंहगढ़ के युद्ध में मारे गए थे। तानाजी कोंढाणा के किले को जीतने के दौरान मारे गए थे। इस फिल्म का निर्देशन ओम राउत कर रहे हैं। फिल्म को अजय देवगन, भूषण कुमार और कृष्ण कुमार तीनों मिलकर प्रोड्यूस कर रहे हैं। फिल्म अगले साल की शुरुआत में 10 जनवरी को रिलीज़ होगी। फिल्म 3D में भी रिलीज़ होगी। इस फिल्म में अजय देवगन के साथ सैफ अली खान भी दिखेंगे। दोनों की साथ में ये चौथी फिल्म है। इससे पहले कच्चे धागे, एलओसी और ओमकारा जैसी फिल्मों में दोनों अभिनेता साथ में दिखाई दे चुके हैं। हालांकि लंबे समय से दोनों की साथ में कोई फिल्म नहीं आई है।


सोना-चांदी के मूल्य में भारी गिरावट दर्ज

नई दिल्ली। सोना-चांदी खरीदने वालों के लिए खुशखबरी है। बीते दो साल में पहली बार ऐसा समय आया है, जब सोना-चांदी की कीमतों में भारी कमी देखने को मिली है। विदेश में इन धातुओं की कमी में भारी गिरावट के बीच दिल्ली सर्राफा बाजार में बीते पिछले सप्ताह सोने की कीमत 700 रुपए लुढ़ककर 39,270 रुपए प्रति दस ग्राम पर आ गई थी। वहीं, चांदी की कीमत 2,450 रुपए टूट कर 45,450 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई थी। हालांकि बाजार में वैवाहिक मांग होने के बावजूद वैश्विक गिरावट इनकी कीमतों पर हावी है।


बतादें कि पिछले सप्ताह सोना हाजिर 54.85 डॉलर यानी 3.62 प्रतिशत टूटकर 1,459.05 डॉलर प्रति औंसतन पर ही थी। दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा भी 51.60 डॉलर यानी 3.41 फीसदी की गिरावट के साथ 1,459.80 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। अमेरिका और चीन के बीच जारी व्यापार युद्ध में सुलह की उम्मीद से सोने पर दबाव बना हुआ है। इंटरनेशनल मार्केट में चांदी हाजिर भी 1.30 डॉलर यानी 7.20 प्रतिशत घटकर 16.76 डॉलर प्रति औंस पर आ गई।


बीते सप्ताह में सोना स्टैंडर्ड 700 रुपए यानी 1.75 फीसदी टूटकर 39,270 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा। सोना बिटुर भी कीमत में इतनी ही कमी के साथ अंतिम कारोबारी दिवस पर 39,100 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा। 8 ग्राम वाली गिन्नी भी 100 रुपए टूटकर सप्ताहांत पर 30,200 रुपए आ गई। वहीं, चांदी हाजिर 2,450 रुपए यानी 5.11 प्रतिशत लुढ़ककर 45,450 रुपए प्रति किग्रा रह गया। चांदी वायदा 2,520 रुपए की साप्ताहिक गिरावट में 43,872 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई। सिक्का लिवाली और बिकवाली भी 10-10 रुपए टूटकर क्रमश: 910 रुपए और 920 रुपए प्रति इकाई पर पहुंच गए।


14 गायों की मौत पर प्रशासन मौन क्यों

दुर्ग। सीएम भूपेश बघेल के गृह जिले दुर्ग में 14 गायों की मौत से हड़कंप मच गया है। लेकिन अभी तक सरकारी महकमा गहरी नींद में सोया हुआ है। ऐसे में सवाल खड़े होते हैं कि अगर सरकार नरवा गरुआ घुरवा और बाड़ी को ड्रीम प्रोजेक्ट मानती है और गरवा प्रोजेक्ट पर पायलट प्रोजेक्ट की तरह काम करना चाहती है तो ऐसे में सीएम के जिले में ही 14 गायों की मौत के बाद भी अधिकारी क्यों गहरी नींद में है ।
दरअसल मिली जानकारी के अनुसार पूरा मामला रिसाली क्षेत्र के दशहरा मैदान का है जहां खुले में पड़े भोजन को खाने से अचानक गायों की तबीयत खराब होने लगी और रविवार को 5 और सोमवार को सुबह 9 गायों की मौत हो गई अभी तक आंकड़ा 14 पहुंच चुका है.जानकारों का कहना है कि आंकड़ा आगे भी बढ़ सकता है ।वहीं नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी अभी तक इस मामले पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं । आपको बता दें कि नगर निगम भिलाई ने बकायदा निर्देश भी जारी किया है कि अगर कहीं सार्वजनिक जगहों पर सार्वजनिक कार्यक्रमों में 100 लोगों से अधिक के लिए खाना बनता है उसके लिए बकायदा नगर निगम भिलाई से अनुमति की जरूरत होती है ऐसे में सवाल खड़े होता है कि आखिर आयोजन कर्ताओं ने अनुमति ली थी या नहीं ।
बहरहाल जो भी हो लेकिन अब गायों की मौत के बाद गायों के शव को नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी डिस्पोज करने में जुट गए हैं और इस पर किसी भी कार्रवाई से अभी तक बच रहे हैं ।दरअसल हुआ ये की भिलाई इस्पात संयंत्र के क्षेत्र में पडऩे वाले रिसाली दशहरा मैदान में आदर्श सांस्कृतिक मंच द्वारा खाटू श्याम महाराज की भागवत कथा का आयोजन किया गया था। जिसमें भंडारे के कार्यक्रम के बाद बचा खाना खुले में फेंक दिया गया था। जिसे खाने से रविवार को 5 और सोमवार को 9 गायों की मौत हुई। आज सुबह तक कुल 14 गायों की मौत हो चुकी है।


शिवसेना सांसद, केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा

नई दिल्ली। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की पार्टी के मोदी सरकार में मंत्री अरविंद सांवत ने सोमवार को मंत्री पद से इस्तीफ दे दिया है। बता दें कि भाजपा ने रविवार को राज्यपाल से मिलकर कहा कि वह राज्य में अकेले सरकार नहीं बना सकती। इसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता दिया है। ऐसे में अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने मौका देखते हुए शिवसेना को समर्थन देने पर अपनी शर्त रख दी है। एनसीपी के नेता नवाब मलिक ने कहा है कि हमारे समर्थन के लिए उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी को पहले केंद्रीय राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से अलग होना होगा। अब सबकी नजर शिवसेना, एनसीपी व कांग्रेस पर टिकी हुई है। सरकार गठन का न्योता मिलने के बाद शिवसेना नेता एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात कर सकते हैं।


केंद्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री और शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने ट्वीट करके कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले दोनों में सीट शेयरिंग को लेकर एक फॉर्मुला तय हुआ था, दोनों की उस पर सहमति हुई थी। उस फॉर्मुले को नकार कर शिवसेना को झूठा ठहराकर महाराष्ट्र के स्वाभिमान पर कलंक लगाने की कोशिश की गई है। शिवसेना का पक्ष सच्चाई है। इतने झूठे माहौल में दिल्ली में क्यों रहें? इसीलिए मैं केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहा हूं। । अब, एक पक्ष का खंडन करना शिवसेना के लिए एक गंभीर खतरा है। भाजपा ने झूठ की खोज में महाराष्ट्र में काफी प्रगति की है। उन्होंने कहा कि शिवसेना का पक्ष सच्चाई है। इतने झूठे माहौल में दिल्ली में क्यों रहूं? और इसीलिए मैं केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहा हूं।


गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर को समाप्त हो गया है और भाजपा-शिवसेना के बीच सरकार गठन को लेकर गतिरोध जारी है। इसी बीच खरीद-फरोख्त की आशंका के मद्देनजर महाराष्ट्र कांग्रेस के 34 विधायकों को पार्टी शासित राजस्थान भेज दिया गया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- हमें कांग्रेस विधायकों को राजस्थान लाना पड़ा है, क्योंकि वहां बड़े पैमाने पर खरीद-फरोख्त का खतरा था। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों को अनुसार भाजपा के पास 105 विधायक हैं और उसका दावा है कि उसे कुछ निर्दलीय तथा छोटी पार्टियों के विधायकों का समर्थन प्राप्त है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि 288 सीटों वाली विधानसभा में क्या वह बहुमत के 145 के आंकड़े पर पहुंच सकती है या नहीं। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने 288 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में 105 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि शिवसेना को 56 सीटों पर जीत हासिल हुई। दोनों को मिलाकर 161 सीटें हैं जो जरूरी बहुमत के आंकड़े 145 से बहुत ज्यादा हैं, लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर खींतचान की वजह से अब तक सरकार का गठन नहीं हो सका। हालांकि अब बीजेपी ने साफ कर दिया है कि वह राज्य में अकेले सरकार नहीं बना सकती और शिवसेना उसका साथ नहीं दे रही।


सिग्नल फेल: ट्रेन ने मारी ट्रेन को टक्कर

हैदराबाद। सिग्नल फेल होने के कारण तेलंगाना के काचीगुडा रेलवे स्टेशन पर के प्लेटफार्म पर खड़ी कोंगु एक्सप्रेस को एक दूसरी ट्रेन ने टक्कर मार दी। इस हादसे में कई यात्री घायल हो गए हैं।


राहत और बचाव कार्य के लिए रेलवे के कई कर्मचारी दुर्घटना स्थल पर पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि यह हादसा सिग्नल फेल होने के कारण हुआ जब । इस दुर्घटना के कारण रेल ट्रैक पर यातायात प्रभावित हो गया है। रेलवे ने कई ट्रेनों के समय में बदलाव भी किया है।


खफा 'जैस-ए-मोहम्मद' कर सकता है हमला

नई दिल्ली। पिछले 10 दिनों से जहां राज्य सरकारों से कहा गया है कि वह उच्चतम न्यायालय के अयोध्या भूमि विवाद को लेकर सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम करें। वहीं डार्क वेब से पाकिस्तान में स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के संभावित आतंकी हमलों के संदेश मिल रहे हैं। कई खुफिया एजेंसियों ने सरकार को चेतावनी दी है कि जैश कई आतंकी हमलों को अंजाम दे सकता है। यह जानकारी एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। मिलिट्री इंटेलिजेंस, द रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने सरकार को संभावित आतंकी हमलों को लेकर चेताया है। 


एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह खतरे की गंभीरता को दिखाता है। उन्होंने कहा कि इनमें से प्रत्येक एजेंसी व्यक्तिगत रूप से एक ही निष्कर्ष पर पहुंची है। अयोध्या पर शीर्ष अदालत का फैसला आ चुका है जिससे पाकिस्तान के आतंकी समूहों द्वारा आतंकी हमलों की संभावना बहुत ज्यादा है। दूसरे वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आतंकी सांप्रदायिक सौहार्द को खराब करना चाहते हैं। आतंकियों के डार्क वेब में कोडेड संचार को जब अन्य एजेंसियों से मिलाया गया तो सुरक्षा एजेंसियां इस निष्कर्ष पर पहुंची कि संभावित हमलों से निपटने के लिए किस तरह की तैयारी की जाए।


आतंकी दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश को टारगेट कर सकते हैं। सुरक्षा एजेंसियों पांच अगस्त से ही हाई अलर्ट पर हैं। इस तारीख को भारतीय संसद ने जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस ले लिया था। अधिकारी ने कहा कि आतंकियों के हमले को अंजाम देने की कोशिश पहले से अलग और पक्की लग रही है।


रिपोर्ट-आदेश शर्मा


नर्सो का सरकार के विरुद्ध विरोध-प्रदर्शन

ज्ञान प्रकाश


नई दिल्ली। नियुक्ति, प्रोन्नति, वेतन विसंगतियों समेत अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार से दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में नर्सो का विरोध प्रदर्शन शुरू होगा। आगामी 15 नवंबर को 24 घंटे के लिए नर्सो की हड़ताल रहेगी। रविवार को दिल्ली नर्सेज फेडरेशन (डीएनएफ) की ओर से ये जानकारी देते हुए बताया गया कि पिछले काफी समय से विविध मांगों को लेकर सरकार तक प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। इसलिए 11 व 12 नवंबर को सभी अस्पतालों में र्नसंिग कर्मचारी काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे। वहीं 13 और 14 नवंबर को सुबह दो घंटे 9 से 11 बजे तक काम बंद कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद 15 नवंबर को हड़ताल होगी। इस प्रदर्शन के बाद भी अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो आने वाले दिनों में सभी र्नसंिग कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने को मजबूर होंगे।
अब तक की बैठकें रही बेनतीजा: महासचिव लीलाधर ने बताया कि र्नसंिग कर्मचारियों के नए पदों पर नियुक्ति छठवें वेतन की सिफारिशें लागू कराने, नसरे का कैडर सी से बी ग्रुप में करने, सभी पदों पर पूर्व नसरे को नियुक्त नहीं करने इत्यादि मांगों को लेकर लंबे समय से बातचीत चली आ रही हैए लेकिन अब तक इन पर संज्ञान नहीं लिया है। इसलिए फेडरेशन के पास विरोध प्रदर्शन का ही एकमात्र रास्ता बचा हुआ है। उन्होंने बताया कि अगर इस प्रदशर्न के बाद भी उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो बगैर नोटिस दिए सभी र्नसंिग कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। इसीलिए उन्होंने अंतिम बार संबंधित विभाग को सूचित करते हुए अपनी मांगों से अवगत कराया है। र्नसंिग कर्मचारियों के प्रदर्शन से आम मरीजों को परेशानी नहीं होगी। लेकिन 15 नवंबर को हड़ताल होने के कारण अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों को जरूर दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। फिलहाल इसे लेकर फेडरेशन की ओर से कोई जानकारी नहीं दी गई है।


राजधानी में जारी है डेंगू का प्रकोप

ज्ञान प्रकाश


नई दिल्ली। राजधानी में तमाम कवायदों के बावजूद अब डेंगू डेंजर होता नजर आ रहा है। बीते चौबीस घंटे के दौरान एक बच्ची की डेंगू से मौत होने का मामला सामने आया है। बता दें कि बीते सप्ताह रोहणी के एक अस्पताल में एक महलिा की भी डेंगू फीवर वार्ड में मौत का मामला आया था। फिलहाल प्रशासन इस मामले को संदिग्ध श्रेणी में रखा है। रविवार को आए दूसरे मामले में पूर्वी किदवई नगर के ई1 टाइफ 3 में रहने वाली इस बच्ची का इलाज मैक्स पटपडगंज में चल रहा था। इसके पहले उसे केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना (सीजीएचएस) के क्लीनिक में चल रहा था। माना जा रहा है कि राजधानी में इस मौसम में डेंगू से यह पहली मौत है। हालांकि मैक्स अस्पताल प्रशासन ने इस मामले को फिलहाल डेंगू संदिग्ध श्रेणी में रखा गया है। उनका तर्क है कि मृत्यु की वजह डेंगू फीवर था या फिर बच्ची को कोई अन्य बीमारी थी। इस विषय में कुछ जांच रिपोर्ट्स के आने का हमें इंतजार है।
सरकार ने नकारा:
हालांकि मुख्यमंत्री अरविंद के जरीवाल ने ट्वीट के जरिया दावा किया है कि अभी दिल्ली में किसी भी पीड़ित की डेंगू पोजिटिव की मृत्यु की पुष्टि नहीं हुई है। दरअसल, पीड़ित के रिश्तेदार ने इस खबर को श्री केजरीवाल को टैग कर यह जानकारी दी थी। इसके जबाव में उन्होंने इस आश्य की पुष्टि की।
डेंगू फीवर से ही हुई मौत:
मृतक बच्ची 12वीं कक्षा की छात्रा थी। उसके पिता गोपाल रक्षा मंत्रालय में कार्यरत है। वह अपने परिवार के साथ किदवई नगर में रहती थी। इस कालोनी का निर्माण हाल ही एनबीसीसी ने किया था। इसके बाद लंबे समय यहां रहने वाले कें द्रीय कर्मचारियों को फ्लैट अलाट किया है। उधर, मैक्स हास्पिटल, पटपड़गंज के अधिकारी ने कहा कि बच्ची को यहां 8 नवम्बर को भर्ती कराया गया था। उसे डेंगू फीवर था जांच में पोजिटिव पाई गई थी। उसे तेज बुखार के साथ ही प्लेटलेट्स संख्या कम हो गई थी। जो समान्य थी। उसे सां लेने में भी तकलीफ हो रही थी। अन्तिम जांच के लिए रिपरेट दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) को भेजी गई है। फिलहाल इसे संदिग्ध कैटेगरी में रखा गया है।
परिजनों ने किया हंगामा:
बालिका की मौत से क्रोधित हो कर कॉलोनी वासियों ने एनबीसीसी के अधिकारी का घेराव किया और धरना दिया।
ईस्ट किदवई नगर में निर्माण कार्य पूरा करने से पहले ही इस्टेट्स आफिस ने सरकारी कर्मचारियों की जबरन यहां शिफ्ट जार दिया। यहां जगह पानी भरा हुआ है जिसके कारण याब तक 79 से अधिक लोग डेंगू की चपेट में आ गए है और कल रात एक बालिका की मौत भी हो गयी रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष निरंजन सिह के अनुसार, कॉलोनी में कोई सुविधा नहीं है। लेने का पानी साफ नहीं है, सफाई नहीं होती, जलभराव की संभावना रहती है। आरोप है कि केंद्रीय कर्मियों के लिए यहां एक भी सीजीएचएस डिस्पेंसरी तक नही खोली गई है। कॉलोनी वासियों ने रोष जताने के कजये आज धरना दिया और एनबीसीसी के परियोजना प्रबंधक आकाश सक्सेना का घेराव किया। लोगों ने एस्टेट्स आफिस में तैंनात कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी की। इस मामले में श्री सक्सेना ने दावा किया कि स्वच्छ पानी आज से ही सामान्य कर दिया गया है। अन्य समस्याओं के लिए वे युद्धस्तर पर कार्रवाई करने का भी भरोसा दिलाया। दरअसल, यहां पर सरोजिनीनगर तो तोड़ने के लिए वहां के लोगों को अनिवार्य रूप से शिफ्ट किया गया है।


एक्सरसाइज से फ्रैक्चर का खतरा कम

अच्छी सेहत के लिए फिजिकल एक्सरसाइज के फायदे तो आपने खूब सुने होंगे। आपको बता दें कि फिजिकल ऐक्टिविटी बुजुर्गों महिलाओं में फ्रैक्चर के खतरे को भी दूर करता है। एक स्टडी में फिजिकल ऐक्टिविटी और मेनोपॉज के बाद महिलाओं में होने वाले फ्रैक्चर का संबंध देखा गया। बता दें कि यह रिसर्च अमेरीका के बफेलो स्कूल ऑफ हेल्थ में की गई है। इस स्टडी में रिसर्चर्स ने 77 हजार माहिलाओं को शामिल किया था। 14 सालों तक इनकी निगरानी की गई।


इस स्टडी में पाया गया कि जो महिलाएं फिजिकली ऐक्टिव थीं या घर के काम करती थीं, उनमें हिप फ्रैक्चर का खतरा 18 प्रतिशत तक कम था। वहीं, टोटल फ्रेक्चर का खतरा 6 प्रतिशत कम था। इस स्टडी के लीड ऑथर का कहना है कि इससे पता चलता है कि फिजिकल एक्सरसाइज के कई फायदों में से एक फ्रैक्चर का कम खतरा होना भी है।बता दें कि मेनोपॉज के बाद महिलाओं में फ्रैक्चर काफी आम समस्या है। इससे उनकी आत्मनिर्भरता कम हो जाती है, उनकी शारीरिक क्षमता सीमित हो जाती है और मृत्यु दर भी बढ़ जाता है। ऐसे में इस स्टडी के परिणामों से कई महिलाओं को काफी फायदा मिल सकता है। पब्लिक हेल्थ के लिए यह एक महत्वपूर्ण रिसर्च है।


नई तकनीक से यमुना बनेगी स्वच्छ

ज्ञानप्रकाश


नई दिल्ली। यमुना नदी की गंदगी को लेकर उठ रहे सवाल के बीच दिल्ली सरकार एक नई तकनीक पर काम करने की फुल प्रूप तैयारी की है। दरअसल, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट्स (एसटीपी) का काम अब तक सिरे नहीं चढ़ सका है। इसकी शुरुआत हालांकि तीन साल पहले ही की गई थी। लेकिन कानूनी अड़चनों और वित्तीय अड़चन के चलते इस योजना का अब तक गति नहीं मिल सकी है। ऐसे में सरकार बैक्टीरियल बायॉरेमेडिएशन तकनीक के जरिए दिल्ली से बहने वाले यमुनानदी के पानी को स्वच्छ बनाना चाहती है। नई योजना के तहत सीवेज-इटिंग माइक्रोब्स का प्रयोग किया जाएगा। यह एसटीपी योजना से कम खर्चीली और अत्यंत आसान है।
योजना तैयार, खास बातें: बाढ़ नियंतण्रविभाग द्वारा तैयार इस योजना को अंजाम दे रहे एक अधिकारी ने बताया कि गंदगी खाने वाले जीवाणुओं (सीवेज-इटिंग माइक्रोब्स) के इस्तेमाल से बड़े पैमाने पर जैविक उपचार (बायॉरेमेडिएशन) कर कुछ हद तक यमुना नदी के पानी की गुणवत्ता को सुधारा जा सकता है। इस बायॉरेमेडिएशन टेक्नीक के तहत ऐक्टिवेटेड माइक्रोब्स नदी के पानी में मौजूद प्रदूषकों जैसे तेल और ऑर्गनीक मैटर को खा लेते हैं। सीवेज के ट्रीटमेंट में ये बैक्टीरिया महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खास बात यह है कि ये बैक्टीरिया किसी प्रकार की गंध नहीं छोड़ते हैं। इस प्रक्रिया में नाले से आ रही बदबू भी घटती है।
एम्स के एक्सर्ट्स भी है शामिल: यमुना की सफाई योजना में शामिल एम्स फैकल्टी वैज्ञानिक कमेटी के सदस्य शोधार्थी डा. विवेक दीक्षित ने कहा कि ट्रीटमेंट की प्रक्रिया के दौरान भारी धातु और जहरीले रसायन जैसे प्रदूषक कम हो जाते हैं। इस तकनीक के तहत माइक्रोब्स की डोज सीवेज में मौजूद ऑर्गनिक प्रदूषकों की मौजूदगी के आधार पर निर्धारित की जाती है। ओखला बैराज, लोकनायक सेतु, मजनू का टीला, गीता घाट, वजीराबाद स्थित यमुनानदी के घाटों पर इस तकनीक का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनसीजीएम) की ओर से हाल ही में दो और पायलट प्रॉजेक्ट्स को मंजूरी दी गई है। एक एनसीआर उत्तर प्रदेश की ओर दिल्ली से निकलने वाली जगह में दूसरा हरियाणा से दिल्ली की ओर आने वाले हिस्से में होगा।
प्रदूषित अवयव छोडने वाले नालों की पहचान: सिचाई एवं बाढ नियंतण्रविभाग ने 154 नालों की पहचान की है, जिस पर आगे काम शुरू किया जाएगा। इनमें से पहले चरण में 54 स्थानों पर बायॉरेमेडिएशन तकनीक के जरिए सीधे नदी में मिल रहे गंदे पानी को रोका जा सकता है। ऐसे में प्रदूषक तत्वों को रोकने की जरूरत है। दुनिया में कई नई तकनीक मौजूद हैं। वास्तविक स्थान पर होने वाला यह ट्रीटमेंट काफी सरल होता है और इसे आसानी से संचालित किया जा सकता है। इसके लिए ड्रेन में किसी बड़े बदलाव की भी जरूरत नहीं होती है।
तकनीक है कम खर्चीली: स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य सचिव संजीव खिरवार ने कहा कि बायॉरेमेडिएशन तकनीक काफी कम खर्चीली है और इसके शुरू होने में महज 6 से 8 महीने का ही समय लगता है। निर्धारित किए गए प्रॉजेक्ट्स की लागत 7 लाख से 7 करोड़ रु पये के मध्य आने का अनुमान है। केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय के निर्देशन में यह कार्य होगा। 'इन लो-कॉस्ट प्रॉजेक्ट्स को प्राइवेट/पब्लिक कंपनियों की कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी से जुड़ी गतिविधियों के जरिए शुरू किया जाएगा।


पुनर्विचार याचिका पर अलग-अलग राय

भारत चौहान


नई दिल्ली। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करने के संकेत दिए हैं। लेकिन कई दूसरे प्रमुख मुस्लिम नेताओं एवं संगठनों का कहना है कि इस विषय पर आगे अपील की जरूरत नहीं है। इस बहुचर्चित मामले पर शीर्ष अदालत का निर्णय आने के कुछ देर बाद ही मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव एवं वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि फैसला संतोषजनक नहीं है। आगे वकीलों के साथ एवं संगठन की कार्य समिति की बैठक में विचार-विमर्श करके पुनर्विचार याचिका पर फैसला होगा। उन्होंने यह भी कहा, ''ऐसा लगता है कि पुनर्विचार याचिका की जरूरत पड़ेगी।'' पर्सनल लॉ बोर्ड के इस रुख को एआईएमआईम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पर्सनल लॉ बोर्ड के रुख का समर्थन करते हुए कहा कि अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायलय के फैसले को ''तथ्यों पर विास की जीत'' करार दिया है । हैदराबाद के सांसद ने शीर्ष अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह इस फैसले से संतुष्ट नहीं हैं । दूसरी तरफ, रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद के अहम पक्षकार रहे सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड उत्तर प्रदेश ने इस मामले में उच्चतम न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हुए शनिवार को कहा कि वह इस फैसले को चुनौती नहीं देगा। बोर्ड के अध्यक्ष जुफर फारुकी ने कहा कि वह न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हैं और बोर्ड का इस फैसले को चुनौती देने का कोई विचार नहीं है। इसी तरह, उच्चतम न्यायालय में बाबरी मस्जिद की पैरोकारी कर रहे प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-ंिहद भी पुनर्विचार याचिका दायर करने के पक्ष में नहीं है। जमीयत से जुड़े एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने 'पीटीआई-भाषा' से कहा, ''इस मामले में हमने पूरी ताकत से लड़ाई लड़ी, लेकिन फैसला उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा। देश की सबसे बड़ी अदालत ने फैसला दिया है। अब जमीयत की राय है कि इस मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करने की जरूरत नहीं है।'' पुनर्विचार याचिका पर 'ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुशावरत' के अध्यक्ष नवेद हामिद ने कहा कि पुनर्विचार याचिका दायर करने या नहीं करने का निर्णय 'सावधानी के साथ' करना चाहिए। जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने भी पुनर्विचार याचिका दायर करने के खिलाफ राय जाहिर की। उन्होंने कहा कि अयोध्या मामले को अब आगे नहीं बढाना चाहिए और उच्चतम न्यायालय के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करने की जरूरत नहीं है। देश के एक अन्य मुस्लिम संगठन जमात-ए-इस्लामींिहद के उपाध्यक्ष मोहम्मद सलीम इंजीनियर ने कहा कि पुनर्विचार याचिका पर पर्सनल लॉ बोर्ड जो भी फैसला करेगा, हम उसका समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा, ''इस फैसले से हम संतुष्ट नहीं है। हमें लगता है कि इंसाफ नहीं हुआ है। अब आगे पर्सनल लॉ बोर्ड जो भी फैसला करेगा, जमात-ए-इस्लामी उसका समर्थन करेगी।'' गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने शनिवार को सर्वसम्मति के फैसले में अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया और केन्द्र को निर्देश दिया कि नयी मस्जिद के निर्माण के लिये सुन्नी वक्फ बोर्ड को प्रमुख स्थान पर पांच एकड़ का भूखंड आवंटित किया जाए। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने इस व्यवस्था के साथ ही राजनीतिक दृष्टि से बेहद संवेदनशील 134 साल से भी अधिक पुराने इस विवाद का पटाक्षेप कर दिया।


सड़क हादसे में भाजपा नेत्री की मौत

पंकज राघव


संभल। चंदौसी में भाजपा नेत्री पूर्व एमएलसी प्रत्याशी आशा सिंह का चंदौसी-बहजोई रोड ग्राम आटा के निकट बालाजी से दर्शन कर लौटते समय सुबह 4:00 बजे चालक को नींद आने के कारण गाड़ी पेड़ में टकराने पर दुर्घटना हो गई। जिसमें एक उनके चचेरे भाई एवं एक चालक गंभीर रूप से घायल हो गए और वही मौके पर भाजपा नेत्री आशा सिंह ने दम तोड़ दिया। जिसकी सूचना पर भाजपा जिला अध्यक्ष एवं अन्य भाजपा पदाधिकारी व सदस्य भारी संख्या में मौके पर पहुंच गए एवं उनके परिवार में अचानक दुर्घटना से कोहराम मच गया। भाजपाइयों में भाजपा नेत्री की सड़क दुर्घटना में मौत होने से शोक है।


पराविद्या की दीक्षा

गतांक से...
हमारा जीवन वास्तव में पराविद्या में सुशोभित होना चाहिए। जिससे हम पराविद्या को पान करते हुए, यह जो मान और अपमान वाला समाज हमें दृष्टिपात आ रहा है। इस सागर से पार हो जाए। मेरे पुत्रों, मैं विशेष विवेचना करते हुए वेद का मंत्र क्या कह रहा है? वेद मंत्र यही तो कह रहा है कि 'परो वरुण स्त्थ्थामन यज्ञे देवत्व ब्राह्मणे संभव:; वेद का वाक्य कहता है कि हम अपने उस महान देवत्व को जानने वाले बने। जिस देवत्व को जानने के पश्चात मानव के शरीर में ऐसा कोई क्रियाकलाप नहीं रहता है। जिसमें वह न पहुंच पाए और अमृत को प्राप्त न हो जाए। बेटा वेद मंत्र यही कहता है कि हम अपने में महानता का दर्शन करते हुए, महानता की ज्योति में सदैव रत हो जाए और महान मृत्यु को प्राप्त करते हुए। इस पुरोहितपन को विचारे की यह क्या है? पुरोहित राष्ट्रवाद में भी होता है और विद्यालय में भी और जन समूह में भी। पुरोहित अपनी पराविद्या से कहलाता है। मुझे स्मरण आता रहता है कि महर्षि वशिष्ठ मुनि महाराज अपने आसन पर विद्यमान थे। महर्षि विश्वामित्र उनके समीप पहुंचे और विश्वामित्र उनके चरणों की वंदना करके अपनी स्थली पर विद्यमान हो गए। महर्षि वशिष्ठ मुनि महाराज बोले कहो विश्वामित्र कैसे आगमन हुआ है? उन्होंने कहा कि आज वेद मंत्रों में अध्ययन कर रहा था। "परा विज्ञानमत: प्रा: वर्णनं ब्रवीह कृत: देवा:" हे प्रभु मैं पुरोहित को जानना चाहता हूं। ऋषि वशिष्ठ मुनि बोले हे ऋषिवर पुरोहित तो वह कहलाता है। जो पराविद्या को जानने वाला है। मानव जो पराविद्या में निष्ठावान रहता है। उसी का नाम पुरोहित है। ऋषि ने विवेचना करते हुए कहा कि पुरोहित कौन होता है। पुरोहित वह होता है जो भू से लेकर के और अंतरिक्ष के विज्ञान को जानने वाला हो। वह जो पराविद्या को प्रदान करने वाला हो। वह पुरोहित कहलाता है। क्योंकि पराविद्या बड़ी सार्थक मानी गई है। वेद के आचार्य ने उन्हें यह प्रश्न किया कि महाराज पराविद्यावादी कौन है? उन्होंने कहा कि पराविद्या में परमपिता परमात्मा निहित रहते हैं। परंतु "पराविद्या ब्रह्मे" जो पुरोहित जन है, हम उन पुरोहितों की विद्या को पान करते हुए। संसार सागर से पार हो जाए।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


नवंबर 12, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-98 (साल-01)
2. मंगलवार, नवंबर 12, 2019
3. शक-1941, कार्तिक-शुक्ल पक्ष, तिथि- पूर्णिमा, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:33,सूर्यास्त 05:34
5. न्‍यूनतम तापमान -14 डी.सै.,अधिकतम-25+ डी.सै., छिटपुट बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित


 


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...