गुजरात लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
गुजरात लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 15 सितंबर 2021

पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे भूपेंद्र के नए मंत्री

अहमदाबाद। गुजरात में भूपेंद्र पटेल सरकार के नए मंत्री आज यानी बुधवार को दोपहर बाद पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे। भाजपा की राज्य इकाई के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता यमल व्यास ने बताया कि नए मंत्रियों के नाम अभी घोषित नहीं हुए हैं, ये मंत्री राजधानी गांधीनगर में दोपहर दो बजे के बाद शपथ लेंगे।
मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी के गत शनिवार को अचानक इस्तीफा देने के बाद सोमवार को केवल भूपेंद्र पटेल (59) ने शपथ ली थी। भारतीय जनता पार्टी की गुजरात इकाई के प्रमुख भूपेंद्र यादव नए मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले लोगों के नाम तय करने के लिए पिछले दो दिनों से गांधीनगर में लगातार बैठकें कर रहे हैं।
ऐसी अटकलें हैं कि पटेल अपने मंत्रिमंडल में कई नए चेहरों को शामिल करेंगे और कई पुराने नेताओं को युवा नेताओं के लिए जगह खाली करनी पड़ सकती है। पटेल को रविवार को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया था और सोमवार को गांधीनगर में राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने उन्हें राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई थी। पटेल को गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश की वर्तमान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का करीबी माना जाता है।
उन्हें मुख्यमंत्री बनाये जाने के पीछे यह भी एक कारण माना जा रहा है। ऐसे में जब दिसंबर 2022 में राज्य विधानसभा चुनाव होने की उम्मीद है, भाजपा ने चुनाव में जीत के लिए पटेल पर भरोसा जताया है, जो कि एक पाटीदार हैं। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने राज्य विधानसभा की 182 सीटों में से 99 सीटें जीतीं थी, जबकि कांग्रेस को 77 सीटें मिली थीं।

सोमवार, 13 सितंबर 2021

17वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेगें भूपेंद्र पटेल

इकबाल अंसारी                     
गांधीनगर। गुजरात के नवनियुक्त मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल आज दोपहर बाद दो बज कर 20 मिनट पर राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के तौर पर पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे। राजभवन में आयोजित समारोह में राज्यपाल आचार्य देवव्रत उन्हें शपथ दिलायेंगे। वह अकेले ही शपथ लेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के भी इस अवसर पर उपस्थित रहने की सम्भावना है। भूपेन्द्र पटेल ने कल शाम राजभवन जाकर राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया था। सुबह भूपेन्द्र पटेल गुजरात के उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता नितिन पटेल से की मुलाकात की।
इस मौके पर केंद्रीय निरीक्षक नरेंद्र सिंह तोमर और प्रह्लाद जोशी (दोनो केंद्रीय मंत्री) तथा पार्टी के केंद्रीय महामंत्री तरुण चुघ , प्रदेश प्रमुख सी आर पाटिल और प्रदेश प्रभारी भूपेन्द्र यादव, पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और कई पूर्व मंत्री मौजूद थे, पर पूर्व उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल की अनुपस्थिति से उनकी नाराज़गी की अटकलें भी तेज़ हो गयी हैं। सत्तारूढ़ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सी आर पाटिल ने बताया कि भूपेन्द्र पटेल अकेले ही शपथ लेंगे।

रविवार, 12 सितंबर 2021

राज्य का सीएम बहुत अनुभवी होना चाहिए: नितिन

गांधीनगर। गुजरात के निवर्तमान उपमुख्यमंत्री और नए मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदारों में से एक नितिन पटेल ने आज कहा कि उनका मानना है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री ऐसे व्यक्ति को होना चाहिए जो बहुत अनुभवी हो, जिसे पूरा राज्य पहचानता हो और जो सबको साथ लेकर चल सके। नितिन पटेल ने पत्रकारों से कहा कि वैसे मुख्यमंत्री के चयन का अधिकार केंद्रीय नेतृत्व को है और वह जो भी निर्णय करेगा वह सभी को स्वीकार्य होगा। वह मानते हैं कि चूंकि गुजरात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राज्य है और इसने उनके मुख्यमंत्रित्व काल में ख़ासी प्रगति की है और पिछले 25-26 साल से राज्य में लगातार सत्ता में है, इसलिए किसी ऐसे अनुभवी, लोकप्रिय और सबको साथ लेकर चलने वाले व्यक्ति को अब इसकी बागडोर मिलनी चाहिए जो डेढ़ साल बाद आने वाले विधान सभा चुनाव से जुड़ी बड़ी चुनौतियों का सामना करते हुए फिर से पार्टी को जीत दिलाये। यह पूछे जाने पर कि क्या वह ख़ुद को मुख्यमंत्री पद की रेस में शामिल मानते हैं, उन्होंने कहा कि मीडिया को अनुमान लगाने का अधिकार है पर फ़ैसला तो केंद्रीय नेतृत्व को ही करना है। उन्होंने कहा कि वह एक वरिष्ठ विधायक और मंत्री रहे हैं। वह मुख्यमंत्री की चयन प्रक्रिया को रेस नहीं मानते। उन्होंने कहा कि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन का अर्थ भाजपा का आलोकप्रिय होना नहीं है। हाल में हुए स्थानीय चुनावों में भाजपा ने 98 प्रतिशत सीटें जीतीं थीं जिससे स्पष्ट है कि पूरा गुजरात भगवामय अथवा कमलमय है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि रूपाणी ने ख़ुद कहा है कि उन्होंने स्वेच्छा से इस्तीफ़ा दिया है। वह इसको लेकर कोई टीका टिप्पणी नहीं करना चाहते।

नितिन पटेल ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व आज विधायक दल की बैठक के बाद नए मुख्यमंत्री की घोषणा कर सकता है। केंद्रीय निरीक्षक इस सम्बंध में विधायकों से उनकी राय भी जान रहे हैं।

शनिवार, 11 सितंबर 2021

विजय रूपानी ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा

गांधीनगर। गुजरात में आज एक बड़े और बहुत हद तक नाटकीयता भरे राजनीतिक घटनाक्रम में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अचानक अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया। यहां राजभवन में अपना इस्तीफ़ा राज्यपाल को सौपने के बाद विजय रूपाणी ने पत्रकारों कहा कि उन्होंने स्वेच्छा से त्यागपत्र दिया है। अब वह पार्टी में जो भी ज़िम्मेदारी मिलेगी उसे निभायेंगे। दो बार मुख्यमंत्री रहे विजय रूपाणी ने इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार भी प्रकट किया। ज्ञातव्य है कि अगले साल ही राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं। विजय रूपाणी के इस्तीफ़े को इससे जुड़ी सत्तारूढ़ भाजपा की चुनावी रणनीति से जोड़ कर देखा जा रहा है।

द्वितीय चरण के छात्रावास का भूमि पूजन किया

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि आज दुनिया यह मानने लगी है कि 9/11 जैसी त्रासदियों का स्थायी समाधान भारत द्वारा सिखाए गए मानवीय मूल्यों में पाया जा सकता है। उन्होंने हमलों की 20वीं बरसी पर कहा कि ‘9/11’ की तारीख को मानवता पर प्रहार के लिए याद किया जाता है और इसने हमें कई चीजें सिखाई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के अहमदाबाद में सरदारधाम भवन का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लोकार्पण किया जहां पर रोजगार के आकांक्षियों और छात्रों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने सरदार धाम – द्वितीय चरण के कन्या छात्रावास का भूमि पूजन भी किया।


रविवार, 29 अगस्त 2021

बायोटेक के नए संयंत्र से टीके की खेप रवाना की

अहमदाबाद। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने गुजरात में भरूच जिले के अंकलेश्वर स्थित भारत बायोटेक के नए संयंत्र से रविवार को कोवैक्सीन टीके की पहली वाणिज्यिक खेप रवाना की। मांडविया ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के तुरंत बाद ट्वीट किया, ‘देश को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मजबूत करने के लिए सबसे जरूरी है टीकाकरण। आज अंकलेश्वर, गुजरात स्थित भारत बायोटेक के संयंत्र से कोवैक्सीन की पहली वाणिज्यिक खेप को रवाना किया।’’ उन्होंने कहा, ‘इससे देश में टीकों की आपूर्ति में बढ़ोतरी होगी एवं हर भारतीय तक टीका पहुंचाने में मदद मिलेगी।’
सरकार ने इस महीने की शुरुआत में भारत बायोटेक के अंकलेश्वर स्थित विनिर्माण संयंत्र को कोविड-19 रोधी कोवैक्सीन टीके का उत्पादन करने की मंजूरी दी थी। भारत बायोटेक ने मई में घोषणा की थी कि उसने अंकलेश्वर स्थित अपनी सहायक कंपनी के संयंत्र में कोवैक्सीन की अतिरिक्त 20 करोड़ खुराक के उत्पादन की योजना बनाई है। हैदराबाद स्थित कंपनी ने कहा था कि वह अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली चिरोन बेहरिंग इकाई के विनिर्माण संयंत्र में कोवैक्सीन की अतिरिक्त 20 करोड़ खुराक बनाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत रविवार सुबह तक कोविड-19 टीके की 63.09 करोड़ खुराक लगाई गई हैं।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

आशीर्वाद यात्रा: लोगों का अपमान कर रहीं भाजपा

इकबाल अंसारी        

अहमदाबाद। आम आदमी पार्टी (आप) ने आज आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सिजन के अभाव में हज़ारों लोगों की मौत के बाद अब सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ‘जन-आशीर्वाद यात्रा’ शुरू कर आम लोगों का अपमान कर रही है। गुजरात में पार्टी के वरिष्ठ नेता इशुदान गढ़वी ने आज यहां पत्रकारों से कहा कि भाजपा सरकार कोरोना के दौरान लोगों को ऑक्सिजन वाले बेड तक मुहैया नहीं करा सकी, लोग इसके बिना अस्पतालों के बाहर स्ट्रेचरों पर ही मर गए। अब पार्टी यात्रा करने निकली है।

उन्होंने कहा कि यात्रा जैसे कार्यक्रम के तामझाम पर लाखों रुपए पानी में बहाने की बजाय सरकार कोरोना से मरने वालों के परिजनों को एक एक लाख रुपए की सहायता दे। इशुदान गढ़वी ने व्यंगात्मक लहजे में कहा कि क्या भाजपा सरकार महंगाई बढ़ाने, पेट्रोल डीज़ल के दाम बढ़ाने और किसानों की मुश्किलें बढ़ाने के एवज में जनता का आशीर्वाद लेना चाहती है।

ज्ञातव्य है कि गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और आप ने सभी 182 सीटों पर भाजपा के ख़िलाफ़ ताल ठोकने का एलान कर रखा है। पार्टी ने आज प्रवीण राम को आप के गुजरात युवा इकाई का अध्यक्ष और पाटीदार आरक्षण आंदोलन का एक प्रमुख चेहरा रहे निखिल सवाणी को इसका महामंत्री बनाने की भी घोषणा की।

गुरुवार, 12 अगस्त 2021

1 रिसोर्ट के निकट लगीं आग से 8 श्रमिक झुलसें

राजकोट। गुजरात में राजकोट तालुका क्षेत्र में एक रिसोर्ट के निकट कमरे में लगी आग से गुरुवार को आठ श्रमिक झुलस गए। पुलिस ने बताया कि कालावाड रोड़ पर निराली रिसोर्ट में काम करने वाले मजदूरों के कमरे में आज तड़के अचानक आग लग गयी।
स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पा लिया लेकिन आग में आठ मजदूर झुलस गए। झुलसी हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी रिसोर्ट में वेटर का काम करने वाले संविदा कर्मी थे। अग्निशमन विभाग के कर्मी ने बताया कि निराली रिसोर्ट की ओर से पास के कमरे में लगी आग की सूचना उनके कंट्रोल रूम को नहीं मिली थी।
फिर भी जैसे ही कंट्रोल रूम को पता चला दमकल कर्मी मौके पर पहुंच गए और कमरे में देखा तो आग बुझ चुकी थी और वहां का सामान जला हुआ था। पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

शनिवार, 7 अगस्त 2021

हार्दिक पटेल को गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया

गांधीनगर। गुजरात कांग्रेस में खेमेबंदी का खुलासा कांग्रेस के बड़े नेता ही कर रहे हैं। गुजरात कांग्रेस में कई गुट बन चुके हैं और खासकर ऐसा तब हुआ जब से हार्दिक पटेल को गुजरात कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। गुजरात कांग्रेस में एक गुट हार्दिक पटेल का भी विरोध कर रहा है और उसका कहना है कि ये कि हार्दिक के कारण गुजरात में कांग्रेस को बड़ा नुकसान होगा।
टाइम्स नाउ नवभारत के स्टिंग ऑपरेशन में गुजरात कांग्रेस के नेताओं ने कांग्रेस हाइकमान पर भी सवाल उठायें हैं और साथ ही कांग्रेस के एक बड़े नेता पर गंभीर आरोप भी लगाया है। आज हम आपको छिपे हुए कैमरे से गुजरात कांग्रेस का सच दिखाएंगे।इस रिपोर्ट के बाद हमारे साथ गुजरात से कांग्रेस और बीजेपी के नेता भी जुड़ेंगे, उनसे उनकी राय जानेंगे। लेकिन पहले आप ये रिपोर्ट देखिए। गुजरात कांग्रेस में विरोधियों को भी बड़ी जगह मिल जाती हैगुजरात कांग्रेस में कुछ नेताओं का मनोबल टूट रहा है। आपस में फूट है और एक दूसरे को हराने की साजिश चलती है। गुजरात में अब पहले जैसी कांग्रेस नहीं रही ।राजकुमार गुप्ता और विजय दवे से टाइम्स नाउ नवभारत के रिपोर्टर का अगला सवाल हार्दिक पटेल को लेकर था। अब सुनिये हार्दिक पर इन लोगों ने क्या कहा हार्दिक पटेल को लेकर राजकुमार गुप्ता और विजय दवे का मानना है कि उन्हें अब तक जो पता चला जबरदस्ती लाकर बिठा दिया गया। गुजरात कांग्रेस में पुराने लोग दरकिनार किये गये। गुजरात कांग्रेस में बहुत कुछ गलत हो रहा है। हालात ऐसे ही रहे तो उम्मीदवार भी नहीं मिलेंगे ।हार्दिक पटेल पर बात यहीं नहीं रुकी। बात बढ़ी तो दिल्ली तक पहुंची। राजकुमार गुप्ता और विजय दवे को लगता है कि हार्दिक पटेल के कांग्रेस में आने से फर्क नहीं पड़ेगाहार्दिक की वजह से कांग्रेस को सीट नहीं मिलेगीगुजरात कांग्रेस को दिल्ली के फैसले पर भरोसा नहीं2017 में पार्टी को हार्दिक का फायदा नहीं हुआ। 
बात आगे बड़ी तो गुजरात कांग्रेस के इन नेताओं ने कांग्रेस हाईकमान पर भी सवाल उठा दिया। इन नेताओं ने कांग्रेस के एक बड़े नेता का भी नाम लिया। गुजरात कांग्रेस के नेता राजकुमार गुप्ता और विजय दवे का दावा है अधीर रंजन चौधरी ने बंगाल में कांग्रेस का सत्यानाश किया। दोनों नेताओं के मुताबिक अधीर रंजन चौधरी बीजेपी से जुड़े हुए हैं। उन्होंने ये भी कहा कि अधीर रंजन बीजेपी के आदर्शों पर काम करते हैं। दोनों नेताओं ने सवाल उठाया कि अधीर रंजन ने बंगाल में नरेंद्र मोदी के खिलाफ क्यों नहीं बोला।
'कांग्रेस हाईकमान पर आरोप लगाने के बाद राजकुमार गप्ता और विजय दवे ने ये भी बताया कि कैसे कांग्रेस गुजरात में खत्म हो जाएगी।
गुजरात कांग्रेस के नेता राजकुमार गुप्ता और विजय दवे का मानना है कि कांग्रेस गुजरात में पूरी तरह खत्म हो जाएगीहार्दिक से ज्यादा पार्टी के फैसलों से कांग्रेस डैमेज कर रही है। साफ है, गुजरात कांग्रेस में इस वक्त जबरदस्त फूट है। हार्दिक पटेल को राज्य कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया है और अब उन्हें पूरी जिम्मेदारी दी जाने की चर्चा है और इस कारण पार्टी में गुटबंदी हो चुकी है।

गुरुवार, 22 जुलाई 2021

संतान प्राप्ति के लिए मरणासन्न के वीर्य देने की अनुमति

इकबाल अंंसारी         
अहमदाबाद। गुजरात हाई कोर्ट ने आज एक अनूठे मामले की सुनवाई करते हुए कोरोना के कारण मरणासन्न पड़े एक युवक का वीर्य उसकी पत्नी को आइवीएफ पद्धति से संतान प्राप्ति के लिए देने की अनुमति दे दी।
न्यायमूर्ति ए शास्त्री की अदालत ने मूल रूप से अहमदाबाद की रहने वाली और कनाडा की स्थायी रेज़िडेन्सी प्राप्त इस विवाहिता को कृत्रिम रूप से गर्भाधान के लिए कोरोना से गम्भीर रूप से पीड़ित उसके पति का वीर्य दिए जाने की अनुमति दे दी।इस मार्मिक मामले की याची महिला की शादी पिछले साल अक्टूबर में हुई थी। उसके पति मूल रूप से गुजरात के भरूच के रहने वाले है पर दोनो की मुलाक़ात तीन साल पहले कनाडा में ही हुई थी। दोनो प्रेम विवाह के बाद ख़ुश थे पर अचानक इस साल फरवरी में युवक के पिता हृदय की बीमारी के चलते गम्भीर हो गए। उनके इलाज के लिए युवक को गुजरात आना पड़ा और उसके प्रयास से पिता ऑपरेशन के बाद स्वस्थ हो गए पर अस्पताल आने जाने के क्रम में उसे कोरोना का संक्रमण हो गया।युवक की स्थिति बिगड़ने पर 10 मई को उसे भी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। 
अस्पताल में भी दिनो दिन उसकी स्थिति बिगड़ती गयी। उसका फेफड़ा बुरी तरह संक्रमित हो गया और अब वह मल्टिपल ऑर्गन फ़ेल्यर के कारण मरणासन्न है। उसकी पत्नी ने ऐसी स्थिति में उसके साथ अपने संतान प्राप्ति की इच्छा से अस्पताल के ज़रिए पति का वीर्य हासिल करने के लिए अदालत का दरवाज़ा खटखटाया था।

शनिवार, 17 जुलाई 2021

पीएम ने ₹1,200 करोड़ के कार्यों का उद्घाटन किया

इकबाल अंसारी                     
अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से शुक्रवार को अहमदाबाद के साइंस सिटी में जलीय व रोबोटिक गैलरी के साथ-साथ गांधीनगर के पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन और पांच सितारा होटल के साथ वडनगर के पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन सहित 1,200 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली से ही वडनगर से वाराणसी जाने वाली सुपरफास्ट ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। 
शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'पीएम मोदी ठीक हैं। कहकर अपना भाषण शुरू किया। उन्होंने कहा कि नए भारत की नई पहचान के साथ आज एक और कड़ी जुड़ रही है। 
भविष्य में जब भी मौका मिलेगा, मैं गुजरात के इन प्रोजेक्ट्स को जनता के सामने रखूंगा। उन्होंने कहा कि साबरमती नदी एक समय में क्या स्थिति थी। लेकिन आज एक तरह से इसका पूरा इकोसिस्टम ही बदल गया है। अहमदाबाद में साइंस सिटी की परियोजना मनोरंजन और रचनात्मकता को जोड़ती है। यह बच्चों को कुछ नया सिखाएगी। एक्वाटिक गैलरी एशिया के शीर्ष एक्वैरियम में से एक है।
इस मौके पर वर्चुअल माध्यम से जुड़े केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 35 साल बाद गांधीनगर स्टेशन का कायाकल्प हुआ है।  आज से दो नई ट्रेनें शुरू होने जा रही हैं। गांधीनगर में आयोजित कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि कोरोना के कारण विकास की गति धीमी हो गई थी। गुजरात के विकास को बेहतरीन से बेहतरीन बनाने के लिए प्रधानमंत्री की विकास यात्रा आगे बढ़ रही है। हमें खुशी है कि गांधीनगर अब विश्व प्रसिद्ध हो जाएगा। हम सबको मिलकर इस विकास की यात्रा को जारी रखना चाहिए।
इस मौके पर गांधीनगर में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, केंद्रीय राज्य रेल मंत्री दर्शना जरदोष और मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और नवसारी से सांसद सीआर पाटिल समेत अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। अहमदाबाद रेलवे स्टेशन से गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा भी कार्यक्रम में शामिल हुए। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी का सपना गांधीनगर में महात्मा मंदिर से कनेक्टिविटी को और अधिक सुलभ बनाना था। गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन के ऊपर एक 318 कमरों वाला पांच सितारा होटल का मोदी ने उदघाटन किया। साथ प्रधानमंत्री मोदी ने गांधीनगर और वाराणसी के बीच सप्ताह में एक बार चलने वाली सुपरफास्ट ट्रेन काे भी झंडी दिखाई। इसके अलावा गांधीनगर से वडनगर होते हुए तारंगा के पास वरेथा के लिए दिन में दो बार चलने वाली मेमू ट्रेन भी रवाना की। 
एशिया के शीर्ष एक्वेरियम में से एक है एक्वाटिक गैलरी
प्रधानमंत्री मोदी ने अहमदाबाद स्थित साइंस सिटी में एक जलीय और एक रोबोटिक गैलरी का भी उद्घाटन किया। एशिया के शीर्ष एक्वेरियम में शामिल इस एक्वाटिक गैलरी में 68 अलग-अलग टैंकों में शार्क समेत कई प्रजातियों को देख सकेगा। इसमें 28 मीटर अंडरवाटर वॉकवे टनल बनाया गया है। इस जलीय गैलरी में एक छत के नीचे 188 प्रजातियों की 11,600 से अधिक मछलियां देखी जा सकती हैं। इस गैलरी में 10 अलग-अलग क्षेत्रों से लाए गए जलीय जीवन को देखा जा सकता है। है, जैसे कि भारतीय क्षेत्र, एशियाई क्षेत्र, अफ्रीकी क्षेत्र, अमेरिकी क्षेत्र, विश्व के महासागर और अन्य। समुद्री दुनिया के रोमांचकारी अनुभव के लिए यहां 5-डी थिएटर है। रोबोकैफे में रोबो वेटर्स परोसेंगे पसंदीदा डिश
साइंस सिटी में 11,000 वर्ग मीटर के क्षेत्र में 79 प्रकार के 200 से अधिक रोबोटों के साथ एक अत्याधुनिक रोबोटिक गैलरी भी बनाई गई है। आश्चर्यजनक ट्रांसफॉर्मर रोबोट की प्रतिकृति भी प्रवेश द्वार पर प्रदर्शित है। इस गैलरी में विशेष रूप से तैयार किया गया ह्यूमनॉइड रोबोट खुशी, आश्चर्य और उत्साह जैसी कई भावनाओं को व्यक्त करता है और आगंतुकों के साथ बातचीत करता है। गैलरी के विभिन्न तलों पर, विभिन्न क्षेत्रों के रोबोट और उनकी उपयोगिताएं प्रदर्शित की जाती हैं, जैसे कि दवा, कृषि, अंतरिक्ष, रक्षा, आदि। रोबो शेफ द्वारा तैयार भोजन यहां रोबोकैफे में रोबो वेटर्स परोसेंगे। इसके अलावा 16 रोबोगाइड आगंतुकों का मार्गदर्शन करेंगे।
मनोरंजन के साथ बच्चों का ज्ञान बढ़ाएगा नेचर पार्क
प्रधानमंत्री ने आज 20 एकड़ में फैले नेचर पार्क का भी उद्घाटन किया। इस नेचर पार्क में 380 से अधिक प्रजातियां होंगी। पार्क में एक धुंध बांस सुरंग, ऑक्सीजन पार्क, शतरंज और योग स्थान, खुला जिम और बच्चों के लिए एक विशेष खेल क्षेत्र भी है। बच्चों के लिए जॉगिंग ट्रैक, वॉकिंग ट्रैक और एक दिलचस्प भूलभुलैया भी हैं। यहां वैज्ञानिक जानकारी के साथ-साथ मैमथ, टेरर बर्ड, सेबर टूथ लायन, ग्राउंडेड स्लॉथ बियर, वीड बेड़ा और हाइव फॉर्मेशन की वैज्ञानिक समझ जैसी विभिन्न मूर्तियां भी हैं।

शनिवार, 10 जुलाई 2021

कॉलेजों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षाएं शुरू

गांधीनगर। गुजरात में कोविड-19 के नये मामलों में गिरावट को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने 15 जुलाई से 12वीं कक्षा के अलावा कॉलेजों और तकनीकी संस्थानों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षाएं शुरू करने की अनुमति प्रदान करने का फैसला किया है। छात्रों के लिए कक्षाओं में उपस्थिति होना अनिवार्य नहीं होगा। लेकिन यदि छात्रों को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के लिए कहा जाता है तो इसके लिए स्कूलों और कॉलेजों के अधिकारियों को माता-पिता की सहमति लेनी होगी।

विज्ञप्ति के मुताबिक गुजरात के 8,333 उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 12 में 6.82 लाख से अधिक छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। जबकि राज्य के 2,000 से अधिक कॉलेजों और तकनीकी संस्थानों में 11 लाख से अधिक स्नातक और डिप्लोमा छात्र हैं।

गुरुवार, 8 जुलाई 2021

रथयात्रा को कई शर्तों के साथ निकालने की मंजूरी दी

अहमदाबाद। गुजरात सरकार ने अहमदाबाद के ऐतिहासिक भगवान जगन्नाथ मंदिर की सालाना रथ यात्रा को इस बार कई शर्तों के साथ निकालने की मंज़ूरी दे दी है। ओड़िशा की पुरी की रथ यात्रा का बाद देश में दूसरी सर्वाधिक इस रथ यात्रा के 143 वें वार्षिक संस्करण का पिछले साल कोरोना के चलते गुजरात हाई कोर्ट के आदेश के मद्देनज़र आयोजन नहीं हो सका था।गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने आज पत्रकारों को बताया कि 144 वीं रथ यात्रा के 12 जुलाई के आयोजन को राज्य सरकार ने शर्तों के साथ मंज़ूर दी है। क़रीब 14 किमी लम्बे यात्रा मार्ग के पूरे इलाक़े में यानी सात थाना क्षेत्रों में कर्फ़्यू रहेगा। 
इस दौरान प्रसाद वितरण नहीं होगा। अहले सुबह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हर साल की तरह मंगला आरती में भाग लेंगे।रथयात्रा में भगवान जगन्नाथ, बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के तीन रथनुमा वाहन और मंदिर महंत का वाहन समेत केवल पांच वाहन ही भाग ले सकेंगे। इस दौरान ट्रकों, भजन मंडलियों, अखाड़ाओं, हाथी आदि को भाग लेने की अनुमति नहीं होगी। रथ को खींचने वाले खलासियों के लिए पूर्ण में कम से कम टीके की एक डोज़ और अधिकतम 48 घंटे पुराना नेगेटिव कोरोना आरटी पीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा।
रथ यात्रा की शुरुआत से पहले मंदिर में सोने की झाड़ू लगाने की पहिंद विधि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल करेंगे। पूरी यात्रा कोरोना प्रोटकाल के अनुरूप होगी। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब राज्य सरकार कोरोना की तीसरी लहर को टालने के लिए पूर्व प्रबंध में लगी है, रथ यात्रा को इस तरह से आयोजित किया जा रहा है। रथ यात्रा मार्ग पर पुलिस की व्यापक व्यवस्था और तैनाती होगी।

ज्ञातव्य है कि गुजराती कैलेंडर के हिसाब से आषाढी बीज यानी आषाढ़ माह की दूसरी तिथि को निकलने वाली अहमदाबाद की रथ यात्रा में आम दिनों में लाखों श्रद्धालु शिरकत करते हैं। यात्रा पुराने शहर के जमालपुर स्थित मंदिर से अहले सुबह निकल कर सरसपुर में भगवान के मौसा के घर जाती है और दोपहर को वह थोड़ी देर विश्राम (जब वह लाखों लोगों को भोजन जैसा प्रसाद दिया जाता है) के बाद देर शाम तक वापस लौटती है।इस दौरान लाखों लोगों का हुजूम सड़क पर रहता है। यात्रा मार्ग के साम्प्रदायिक रूप से बेहद संवेदनशील होने के कारण सुरक्षा के लिए हज़ारों पुलिस कर्मियों और अर्ध सैनिक बलों की तैनाती भी की जाती है। पूर्व में रथ यात्रा के दौरान साम्प्रदायिक हिंसा की भी घटनायें होती रही हैं।

रविवार, 4 जुलाई 2021

194 मगरमच्छों को निकालकर अन्य स्थानों पर पहुंचाया

अहमदाबाद। गुजरात के नर्मदा जिला में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के पास एक झील में नौकायान करने आने वाले सैलानियों की सुरक्षा के मद्देनजर पिछले दो साल में झील से 194 मगरमच्छों को निकालकर अन्य स्थानों पर पहुंचाया गया है।
अधिकारियों ने रविवार को बताया कि केवड़िया में सरदार वल्लभ पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा के पास पंचमुली झील स्थित है जो पर्यटकों के बीच आकर्षण का बड़ा केंद्र है। लेकिन झील में काफी संख्या में मगरमच्छ हैं। जो सैलानियों के लिए खतरा बन सकते है।
केवड़िया क्षेत्र के वन अधिकारी विक्रमसिंह गभानिया ने  बताया, ”2019-20 (अक्टूबर-मार्च) में हमने 143 मगरमच्छों को यहां से दूसरी जगह पहुंचाया। 2020-21 में 51 और मगरमच्छों को गांधीनगर और गोधरा में दो बचाव केंद्रों में भेजा गया है।उन्होंने बताया कि लेकिन अब भी काफी तादाद में मगरमच्छ मौजूद हैं। उन्होंने बताया कि 2019-20 में बचाए गए 73 मगरमच्छों को सरदार सरोवर जलाशय में छोड़ा गया। झील से निकाले गये मगरमच्छों को बाद में पंचमहल जिले के गोधरा और गांधीनगर स्थित बचाव केंद्रों में भेजा गया। उन्होंने बताया, ”मगरमच्छों को पकड़ने के लिए करीब 60 जाल बिछाए गए हैं।
झील के जिस हिस्से में सीप्लेन (पानी से उड़ने व उतरने वाले जहाज) का परिचालन होता है (अहमदाबाद से केवड़िया के बीच), वह पूरी तरह सुरक्षित है।” राज्य पर्यटन विभाग के अनुसार 2019 में गुजरात राज्य वन विकास निगम लिमिटेड (जीएसएफ डीसी) ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के पास पंचमुली झील में नौकायान की शुरुआत की। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी प्राधिकरण के एक प्रवक्ता ने बताया कि क्षेत्र में नौकायान पर्यटकों के बीच आकर्षण का बड़ा केंद्र है और खासकर सप्ताहांत में यहां भारी भीड़ रहती है।

बुधवार, 30 जून 2021

अमूल दूध की कीमतों में ₹2 प्रति लीटर की बढ़ोतरी

अहमदाबाद। गुजरात सहकारी दूध विपणन संघ (जीसीएमएमएफ) ने बुधवार को कहा कि अमूल दूध की कीमतों में एक जुलाई से सभी ब्रांडों के लिए दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जाएगी। अमूल ब्रांड नाम के तहत दूध और डेयरी उत्पादों का विपणन करने वाले जीसीएमएमएफ के प्रबंध निदेशक आर एस सोढ़ी ने कहा कि लगभग एक साल और सात महीने के बाद कीमतों में बढ़ोतरी की जा रही है। 

जो उत्पादन लागत में वृद्धि के कारण जरूरी हो गई थी। उन्होंने कहा, ”अमूल दूध की कीमतों में कल से पूरे भारत में 2 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की जाएगी। नई कीमतें सभी अमूल दूध ब्रांडों जैसे सोना, ताजा, शक्ति, टी-स्पेशल, साथ ही गाय और भैंस के दूध पर भी लागू होंगी।”

मंगलवार, 29 जून 2021

गुजरात में सेल्फी लेने को अपराध घोषित किया, उद्देश्य

अहमदाबाद। गुजरात के डांग जिले में सेल्फी लेने के चक्कर में होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के उद्देश्य से सेल्फी लेने को अपराध घोषित कर दिया गया है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। दक्षिण गुजरात में स्थित डांग पर्यटकों के बीच बेहद लोकप्रिय स्थान है। विशेष रूप से मॉनसून के समय यहां के सपुतारा हिल स्टेशन और झरने को देखने बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में गिरावट के चलते लोग बारिश के मौसम में फिर से घूमने आने लगे हैं। जिले के अतिरिक्त कलेक्टर टी डी डामोर ने बताया कि अगर डांग में लोगों को सेल्फी लेते देखा गया तो उनके खिलाफ आपराधिक प्रावधानों में कार्रवाई की जाएगी।

अधिकारी ने कहा कि डांग में इस प्रकार के प्रतिबंध पिछले दो तीन सालों से थे और अब एक नई अधिसूचना जारी कर इनकी अवधि को विस्तार दे दिया गया है। डामोर ने कहा, “दुर्घटनाओं में कुछ लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल हो गए हैं। इसे रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है।” उन्होंने कहा, “खासकर युवा लोग अच्छी सेल्फी लेने के चक्कर में किसी भी हद तक चले जाते हैं और दुर्घटना हो जाती है। लोगों के खाई में गिरने और पानी में बहने की बहुत सी घटनाएं सामने आ चुकी हैं। कुछ मामलों में लोग मर भी गए हैं और बहुत से लोग घायल हुए हैं।” अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन ने विभिन्न पर्यटन स्थलों पर होर्डिंग लगा दी हैं। जिन पर सेल्फी लेने के प्रति चेतावनी दी गई है।

रविवार, 27 जून 2021

भाजपा को ‘भारतीय झगड़ा पार्टी’ करार किया: आप

सूरत। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने आज सत्तारूढ़ भाजपा को ‘भारतीय झगड़ा पार्टी’ क़रार देते हुए दावा किया कि गुजरात में अब आप का काम बोलने लगा है। मनीष सिसोदिया ने यहां पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए भाजपा पर कोरोना के कुप्रबंधन का आरोप भी लगाया।उन्होंने कहा कि भाजपा विकास की बात करती है पर उसकी रूचि इसमें नहीं है। दिल्ली में आप सरकार के विकास की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा बताए कि स्कूल, अस्पताल और रोज़गार क्या विकास के पैमाने नहीं हैं। पांच साल में अगर आप दिल्ली में इतना कुछ कर सकती है तो गुजरात में भाजपा क्यों कुछ नहीं कर रही।

उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के उचित प्रबंधन के समय भाजपा सरकार बंगाल चुनाव में लगी थी और इसमें हारने के बाद यह अब सबसे झगड़ा करने में लगी है। यह भारतीय जनता पार्टी से भारतीय झगड़ा पार्टी बन गयी है। दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के बारे में हुए विवाद से जुड़े एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि इस मामले में भाजपा अपने कार्यालय में बनाए गए रिपोर्ट के आधार पर बेवजह मुद्दा बना रही है। आप की चुनौती के 72 घंटे बीतने के बावजूद भाजपा इस मामले में सुप्रीम कोर्ट गठित ऑडिट समिति की कथित रिपोर्ट को सामने नहीं ला पायी है।

ज्ञातव्य है कि अगले साल गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव में आप ने सभी 182 सीटों पर प्रत्याशी खड़े करने की घोषणा कर रखी है। इस साल की शुरुआत में हुए स्थानीय चुनावों में भाजपा का गढ़ माने जाने वाले सूरत महानगर में आप ने अप्रत्याशित प्रदर्शन करते हुए दो दर्जन से अधिक मनपा सीटों पर क़ब्ज़ा जमाया था। इससे उत्साहित होकर पार्टी अध्यक्ष और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यहां रोड शो किया था और हाल में के बार फिर गुजरात दौरा किया था।

मनीष सिसोदिया आज सुबह यह हवाई अड्डे पर पहुंचे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया समेत अन्य पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें वहां से काफ़ी दूर ही रोक दिया और उचित तरीक़े से अपने नेता के स्वागत तक नहीं करने दिया। गोपाल इटालिया ने इसे राज्य की भाजपा सरकार की तानाशाही क़रार दिया। बाद में मनीष सिसोदिया सर्किट हाउस पहुंचे और मनपा में विरोध पक्ष आप के नेता भंडेरी समेत अन्य के साथ चर्चा की।

शुक्रवार, 18 जून 2021

नदी और झील के पानी में वायरस होने की पुष्टि हुईं

अहमदाबाद। देश में कोरोना की दूसरी लहर में गुजरात के अहमदाबाद शहर में सबसे ज्यादा मामले सामने आए। अब तक देश के कई शहरों की सीवेज लाइनों में जीवित कोरोना वायरस पाया गया है। लेकिन गुजरात में अब नदी और झील के पानी में भी कोरोना वायरस होने की पुष्टि हुई है। अहमदाबाद में साबरमती नदी, कांकरिया झील और चंडोला झील में कोरोना वायरस पाया गया है। तीनों के पानी के सैंपल लिए गए और सभी सैंपल संक्रमित पाए गए। चार महीने में 16 सैंपल लिए गए, जिसमें पांच सैंपल पॉजिटिव पाए गए। 
आईआईटी गांधीनगर सहित देश के 8 संस्थानों द्वारा किए गए एक अध्ययन में इस तरह के तथ्य उजागर हुए हैं। 
इनमें जेएनयू के स्कूल ऑफ एनवायर्नमेंटल साइंसेज के नई दिल्ली के शोधकर्ता भी शामिल हैं। असम के गुवाहाटी क्षेत्र में नदियों के एक अध्ययन में भी भरू नदी से लिए गए कोरोना के नमूने का खुलासा हुआ है। सीवेज का नमूना लेकर की गई जांच के दौरान कोरोना वायरस की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इस अध्ययन के बाद प्राकृतिक जल स्रोत की जांच के लिए अध्ययन फिर से शुरू किया गया। इन दो शहरों का चयन करके नमूने लिए गये, क्योंकि अहमदाबाद में अपशिष्ट जल उपचार संयंत्रों की संख्या सबसे अधिक है और गुवाहाटी में एक भी संयंत्र नहीं है। अहमदाबाद के लिए पानी से भरी साबरमती नदी और रिवरफ्रंट को शान माना जाता है।
लेकिन गुजरात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और पर्यावरण संरक्षण समिति द्वारा संयुक्त रूप से किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि साबरमती में गंभीर प्रदूषण है। खासकर अहमदाबाद से गुजरने के बाद गंदे प्रदूषित पानी के अलावा नदी में कुछ भी नहीं बहता। 
 साबरमती रिवरफ्रंट के बीच में लिए गए पानी के नमूनों में भी रिवरफ्रंट निर्धारित मात्रा से अधिक प्रदूषित पाया गया, जो प्रदूषित गंदे पानी से भरे हौज के समान है। रिपोर्ट के निष्कर्षों में आगे कहा गया है कि रिवरफ्रंट के बाद नदी के निचले इलाकों में नदी का अपना पानी नहीं है। रिवरफ्रंट के बाद साबरमती में दिखाई देने वाला पानी केवल नरोडा, ओढव, वटवा और नारोल उद्योगों का प्रदूषित बाहर आया कचरा मिश्रित जल और अहमदाबाद का सीवेज है। रिवरफ्रंट की वजह से भूजल बहना बंद हो गया है और अहमदाबाद को नर्मदा के पानी पर निर्भर रहना पड़ रहा है। 
साबरमती नदी में प्रदूषण की गंभीरता को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 22 फरवरी, 2017 को दायर एक रिट याचिका में एजेंसी को नदी को प्रदूषित करने वाली सभी औद्योगिक इकाइयों के साथ-साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने में विफल रहने वाले अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया गया था। नदी में गैर शोधित रासायनिक युक्त पानी डालने वाली इकाइयों को सील करने, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार प्रदूषण नियमों का पालन न करने के लिए इकाइयों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज करने और प्रदूषण को रोकने में विफल रहने के लिए लापरवाह नगरपालिका अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की गई। 
हाल ही में उपमुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि राज्य की जीवन रेखा सरदार सरोवर नर्मदा बांध में 13 मई, 2021 तक 123.38 मीटर पानी जमा किया जा चुका है। इस पानी को गर्मी के मौसम में राज्य के नागरिकों को पीने का पानी उपलब्ध कराने और किसानों और चरवाहों के समुचित उपयोग के लिए योजना बनाई गई है। नगर में नर्मदा का जल साफ करने के लिए नगर निगम ने 275 एमएलडी और 125 एमएलडी के दो वाटर फिल्टर प्लांट का निर्माण किया है। इनमें से 275 एमएलडी फिल्टर प्लांट को दो साल पहले 5.5 करोड़ रुपये की लागत से अपग्रेड किया गया था।

बुधवार, 16 जून 2021

हादसा: कार व ट्रक की टक्कर से 10 लोगों की मौंत

अहमदाबाद। गुजरात के आणंद जिले के इंद्रनाज गांव के निकट एक कार की विपरित दिशा से आ रहे एक ट्रक से बुधवार सुबह टक्कर हो गई, जिसमें 10 लोग मारे गए। तारापुर पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि हादसा आणंद जिले के तारापुर को अहमदाबाद जिले के वतमान से जोड़ने वाले राजमार्ग पर हुआ। उन्होंने कहा कि कार में एक बच्चे सहित 10 लोग सवार थे। जिसे तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी। कार में सवार सभी 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि कार से शवों को निकालने और उनकी पहचान करने की कोशिश जारी है।
एजेंसी

मंगलवार, 15 जून 2021

गुजरात: लव जिहाद एक्ट, धर्म परिवर्तन अपराध

हरिओम उपाध्याय   
गांधीनगर। अब गुजरात में भी शादी के लिए जबरन धर्म परिवर्तन कराना एक बड़ा अपराध होगा। गुजरात में आज से लव जिहाद एक्ट लागू हो गया है। इसे राज्यपाल की मंजूरी के बाद राज्य सरकार ने इसके क्रियान्वयन की अधिसूचना जारी कर दी है। इसका उल्लंघन करने पर सात साल तक की सजा और तीन लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। 
 दरअसल, गुजरात सरकार ने धर्मांतरण रोकने के लिए बजट सत्र के दौरान विधानसभा में धर्म स्वातंत्र्य (धार्मिक स्वतंत्रता) विधेयक संशोधन-2021 पारित किया था। यह संशोधन गुजरात फ्रीडम ऑफ रिलिजन एक्ट-2003 में किया गया है। इस विधेयक को राज्य के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने गुजरात विधानसभा में पेश किया था। राज्यपाल आचार्य देववर्त की मंजूरी के बाद सरकार ने आज धर्म की स्वतंत्रता सुधार अधिनियम-2021के क्रियान्वयन की अधिसूचना जारी कर दी है।  
गुजरात विधानसभा ने प्रलोभन, जबरदस्ती, गलत बयानी या किसी अन्य धोखाधड़ी के माध्यम से धर्मांतरण के मामलों में दंड और दंड का प्रावधान करने के लिए धर्म की स्वतंत्रता अधिनियम 2003 में संशोधन किया। इस प्रकार यह पूरा सुधार लव जिहाद की गतिविधि को रोकने के लिए है। इस काूनन के तहत गुजरात में पांच साल तक की सजा और दो लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है, जबकि नाबालिग के साथ अपराध करने पर सात साल तक और तीन लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। इसके साथ ही अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति की महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के लिए सात साल की सजा का प्रावधान है।
लव जिहाद के मामले में कुछ लोगों को अपराध करने में मदद करने वालों के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी| कुछ मामलों में यह एक गैर-जमानती अपराध भी बन जाएगा। एक विशेष प्रावधान यह भी किया गया है कि पुलिस उपाधीक्षक के पद से नीचे का अधिकारी इसकी जांच नहीं कर सकता है। नई धारा 4 में किसी व्यक्ति की शादी कराकर उसका धर्म परिवर्तन करने या उसकी शादी कराने में मदद करने के एकमात्र उद्देश्य के संबंध में सजा का प्रावधान है। यदि अपराध विवाह की संस्था और संगठन के लिए किया गया अपराध साबित होता है तो गैर-कानूनी धर्मांतरण एक गैर-जमानती अपराध होगा। इस कानून के तहत पीड़ित का रक्त संबंधी भी पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने के लिए अधिकृत किया गया है।
 इस संबंध में राज्य के गृह मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने कहा कि लव जिहाद के अलावा क्लीनिकल एस्टैब्लिशमेंट (रजिस्ट्रेशन एंड रेगुलेशन) बिल को भी मंजूरी मिल गई है। उल्लेखनीय है कि शादी के नाम पर धोखधड़ी कर लोगों के धर्मांतरण करने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकारें भी इस तरह का लव जिहाद विरोधी कानून बना चुकी हैं।

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...