गुरुवार, 27 जनवरी 2022

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं घरेलू उपाय

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं घरेलू उपाय     

सरस्वती उपाध्याय           अगर आप भी इस समस्या से परेशान रहते हैं तो ये कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इस समस्या से निजात पा सकते हैं। कई बार गलत खानपान, तनाव या खराब दिनचर्या की वजह से व्यक्ति को एसिडिटी की समस्या परेशान करने लगती है। एसिडिटी का सीधा संबंध पाचन तंत्र से होता है। जिसकी वजह से व्यक्ति को खट्टी डकार,पेट के ऊपरी भाग में जलन महसूस होती है।

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं ये उपाय- अजवाइन- बात जब पेट दर्द या गैस की होती है तो अजवाइन का नाम सबसे पहले याद आता है। अजवाइन का पानी पीने से एसिडिटी की समस्या से राहत मिल सकती है। इसके लिए 2-3 चम्मच अजवाइन को एक कप पानी में अच्छी तरह तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाए। इसके बाद पानी को ठंडा करके उसमें काला नमक मिलाकर छानकर पी लें।

हींग- एसिडिटी की समस्या से राहत पाने के लिए एक गिलास गर्म पानी में हींग मिलाकर पीने से गैस की समस्या से राहत मिल सकती है।

आंवला- आंवले का सेवन पचान से जुड़ी समस्या, गैस और कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए लाभकारी माना जाता है। आंवले को आप चटनी, मुरब्‍बा, अचार, जूस या चूरन के रूप में इस्तेमाल कर पाचन की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

जीरा- एसिडिटी या फिर पेट दर्द की समस्या होने पर जीरे को भूनकर पीसने के बाद उसे काले नमक के साथ पानी में मिलाकर पी लें। ऐसा करने से एसिडिटी की समस्या में राहत मिल सकती है।

अदरक- अदरक का सेवन न सिर्फ सर्दी-जुकाम बल्कि एसिडिटी की समस्या से भी राहत दिलाता है। अदरक में पाए जाने वाले तत्व पेट गैस और एसिडिटी की समस्या से राहत दिला सकते हैं।


एशियाई खेलों में 8 साल बाद क्रिकेट की वापसी हुईं
मोमीन मलिक          सिडनी/ वेलिंग्टन। एशियाई खेलों में 8 साल बाद क्रिकेट की वापसी हुई है। वहीं, पहली बार ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के एथलीट्स इन खेलों में हिस्सा लेंगे। 2022 एशियाई खेलों का आयोजन चीन के हांग्जो, झेजियांग में 10 से 25 सितंबर के बीच होना है। इन खेलों के मुकाबले 5-6-शहरों में खेले जाएंगे। इस मल्टी-स्पोर्टिंग इवेंट में कुल 61 डिसप्लिन्स के 40 खेल शामिल होंगे।

इन खेलों में तैराकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, घुड़सवारी, तलवारबाजी, फुटबॉल, हॉकी, जूडो, कबड्डी, और जैसे कई अन्य ओलंपिक खेल भी शामिल हैं। ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया (ओसीए) की मुहर लगने के बाद 2022 एशियाई खेलों में ई-स्पोर्ट्स और ब्रेकडांसिंग भी शामिल होंगे। दर्शकों का रोमांच बढ़ाने के लिए एशियाई खेल 2022 में टी-20 क्रिकेट को भी शामिल किया गया है।

'भाजपा' प्रत्याशी के पक्ष में वोट मांगते दिखें अंसारी

'भाजपा' प्रत्याशी के पक्ष में वोट मांगते दिखें अंसारी     
भानु प्रताप उपाध्याय            सहारनपुर। पिछले काफी समय से अंसारी समाज में एकता और राजनीति में भागीदारी की मांग को लेकर चल रही पंचायतों के बीच आजाद समाज पार्टी द्वारा मंसूर अंसारी को अपना प्रत्याशी बनाने के बाद भी अंसारी समाज एकजुट होता नहीं दिखाई दे रहा है। जिसका जीता जागता सबूत उर्दू एकेडमी के सदस्य रहे एम. आजाद अंसारी द्वारा भाजपा प्रत्याशी राजीव गुंबर के पक्ष में वोट मांगते देखे जा सकते है। बता दें कि एम. आजाद अंसारी भी लगातार अंसारी समाज की बैठक में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के साथ ही समाज को सम्मान दिलाने के लिए झंडा उठाए हुए थे। 
जबकि एम. आजाद अंसारी पिछले काफी समय से भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए हैं और पार्टी के पक्ष में मुस्लिम समाज को एकजुट करने के लिए कार्यरत हैं। यही कारण है कि भारतीय जनता पार्टी में उनका कद काफी बढ़ा हुआ है। एक बार फिर अपनी कार्य कुशलता को साबित करने के लिए एम. आजाद अंसारी मुस्लिम समाज के लोगों को एकजुट करते हुए भाजपा प्रत्याशी राजीव कुमार के लिए गली मोहल्लों में वोट मांगते रहे है।

अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रहें नेता
इकबाल अंसारी     
अमरोहा। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में महज गिनती के कुछ दिन बचे हुए हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां जोरों से प्रचार-प्रसार कर रही है। इसके साथ ही नेता लगातार बयानबाजी कर अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रहें हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर सपा प्रत्याशी मुखिया गुर्जर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें मौजूदा विधायकों को धमकाने के साथ पुलिस-प्रशासन को भी खुलेआम चुनौती दे रहे हैं।बता दें कि सपा ने मुखिया गुर्जर को अमरोहा के हसनपुर विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है। वायरल वीडियो में मुखिया गुर्जर कहते हैं, ‘मैंने राजनीति में वर्कशॉप खोल रखी है, मौजूदा विधायक जैसे लोगों की डेंटिंग पेंटिंग ठीक करने का मेरे पास हुनर है, क्योंकि मैं मुलायम सिंह यादव का कट्टर शिष्य हूं। मैंने भाजपा में रहते हुए भी मैंने अपने गुरु मुलायम सिंह की तस्वीर नहीं उतारी एक दिन भी। 
इनकी ऐसी की तैसी। एक कार्यक्रम था इनका, उसकी फोटो खींचकर बता रहे हैं मुझे कि ये कट्टर हिंदू है। जो विधायक है, इसने जितना भ्रष्टाचार किया है, इससे सारा हिसाब चुकता करके, इससे सारा माल लेकर तुम्हारे घरों में पहुंचा दूंगा। मुझे इस बात के लिए जाना जाता है और ये जो प्रशासन-शासन मुकदमे की बात करें, इनकी ऐसी की तैसी, 16 बार जेल काट रखी है मैंने। ये मुझ पर मुकदमा करेंगे।’वहीं, इस भड़काऊ बयानबाजी को लेकर सनपुर विधानसभा से सपा प्रत्याशी मुखिया गुर्जर पर मुकदमा दर्ज हो गया है। हसनपुर कस्बा चौकी इंचार्ज लवनीश चौधरी की तहरीर पर यह मुकदमा दर्ज हुआ है।

शराब पीने से मरने वालों की संख्या-10 पहुंचीं
संदीप मिश्र   
महराजगंज। कोतवाली क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या-10 पहुंच गई है। 15 से ज्यादा लोग बीमार हैं। इनमें से ज्यादातर जिला अस्पताल में भर्ती हैं। उधर मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला आबकारी अधिकारी समेत कई लोगों को निलंबित कर दिया गया है। डीएम और एसपी ने गांव का निरीक्षण करने के साथ हालात पर नजर रखे हुए हैं। मामले में इलाकाई पुलिस की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है। 
आईजी लक्ष्मी सिंह ने भी रायबरेली पहुंचकर पूरे प्रकरण की जांच की और लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है। घटना महराजगंज कोतवाली क्षेत्र के पहाड़पुर गांव की है, जहां मंगलवार को कुछ लोगों ने शराब पी थी। ग्रामीणों के अनुसार गांव के ही कुछ लोगों ने पहाड़पुर शराब ठेके से शराब लेकर पी और सो गए, लेकिन कुछ ही देर में उनकी हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद देर रात सभी को महराजगंज के सीएचसी ले जाया गया, जहां पहाड़पुर गांव के निवासी सरोज (40), रामसुमेर (50), सुखरानी (45), बंसी (45), पंकज सिंह पुत्र स्वर्गीय अशोक सिंह, चंद्रपाल पुत्र बलऊ, कासिम भट्ठा मजदूर थुलवासा, रामबाबू भट्ठा मजदूर केबीएफ थुलवांसा, बचई पुत्र दुजई निवासी लोधवामऊ, कल्लू पुत्र बुधई बहादुर नगर की मौत हो गई। जबकि करीब 15 लोगों की हालत गंभीर है।
जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। हालांकि प्रशासन अभी तक 6 लोगों के ही जहरीली शराब से मौत होने की बात कह रहा है। घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम भी गांव पहुंच गई है और जांच की जा रही है। मौके पर आईजी लक्ष्मी सिंह समेत जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार सहित कई आलाधिकारी पहुंचे हैं। आईजी लक्ष्मी सिंह ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। उधर मामले में जिला आबकारी अधिकारी राजेश्वर मौर्य, आबकारी इंस्पेक्टर अजय कुमार व आबकारी सिपाही धीरेंद्र श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया गया है।
कांग्रेस के प्रदेश सचिव पद से इस्तीफा: अवनीश
संदीप मिश्र          कुशीनगर। जनपद के पडरौना विधानसभा क्षेत्र के अवनीश प्रताप मिश्रा ने कांग्रेस के प्राथमिक सदस्यता एवं कांग्रेस के प्रदेश सचिव एसएम पद से दिया इस्तीफा। कुंवर आर. पी.एन सिंह और मनीष जायसवाल मंटू के कांग्रेस पार्टी को छोडते ही प्रदेश सचिव सोशल सेक्टर ने भी छोडा़।
पद कांग्रेस पार्टी का दामन मनीष जायसवाल मंटू के बेहद करीबी माने जाने वाले अवनीश प्रताप मिश्रा काॅइन ने अपने पद से इस्तीफा दिया अभी बताया की वो अपने राजनीतिक गुरु कुंवर आर .पी.एन सिंह और मनीष जयसवाल मंटू से प्रभावित होकर पार्टी का दामन छोड़ दिया इस मौके पर डि. के मौर्या ,घनश्याम मोहनलाल ,सौरभ जायसवाल, पंकज ,पुरवईया सहित तमाम कार्यकर्ताओ ने पार्टी का दामन छोड़ दिया।

स्वयंसेवकों की टीम ने वस्त्र वितरण शिविर लगाया
अश्वनी उपाध्याय            गाजियाबाद। एमएमएच कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में महाविद्यालय में गणतंत्र दिवस समारोह एवं झंडारोहण के पश्चात स्वयंसेवकों की टीम ने विजयनगर के एक स्लम एरिया में जाकर वस्त्र वितरण शिविर लगाया। जिसका उद्देश्य जरूरतमंद लोगों तक वस्त्र पहुंचाना था। कार्यक्रम अधिकारी डा गौतम बैनर्जी ने बताया कि बहुत से ऐसे लोग हैं, जो इस ठंड में बिना कपड़ों के रात गुजारने को मजबूर हैं। ऐसे में हमने लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए इस शिविर को आयोजित किया। 
कार्यक्रम अधिकारी आरती सिंह कहती हैं कि स्वयंसेवकों की टीम पिछले दो महीनों से वस्त्र एकत्रित कर रही है। वस्त्र अभियान के तहत स्वयंसेवकों ने ऐसे वस्त्र  एकत्रित किये जो अनुप्रयुक्त, पुराने कपड़े जो उपयोग मे नहीं हैं लेकिन अच्छे व नए हैं। ऐसे वस्त्रों को जरूरतमंद लोगों तक इस शिविर के द्वारा पहुंचाया गया। ज्ञातव्य है महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई पिछले चार वर्षों से वस्त्र वितरण कार्यक्रम आयोजित कर रही है। वस्त्र वितरण शिविर को सफल बनाने में कार्यक्रम अधिकारी डा अनुपमा गौड़ एवं डा संजीत प्रताप सिंह का योगदान रहा। वस्त्र वितरण में कैफ खान, ज्योति यादव, करुणा, तान्या, रूपम, राहुल, प्रिंस एवं अन्य स्वयंसेवकों ने विशेष भूमिका निभाई।
एडवोकेट मीनाक्षी के समर्थन में रीति और नीति 
गणेश साहू       
लखनऊ। खुर्जा भारतीय जनता पार्टी खुर्जा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी एडवोकेट मीनाक्षी सिंह के समर्थन में पार्टी रीति और नीति की गई। योगी सरकार द्वारा 5 वर्ष में प्रदेश में जो विकास किया गया है। विभिन्न पार्टी पुराने कार्यकर्ताओं शैलेंद्र सोलंकी, राजेंद्र राघव पत्रिका के पत्रकार के अलावा समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शेर पाल सिंह तोमर, भुवनेंद्र सिंह, बब्बू प्रधान, सुधीर शर्मा, अरनिया मोजपुर, देव ठाकुर सहित बड़ी संख्या में कॉन्ग्रेस समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता प्राप्त की। शैलेंद्र सोलंकी को जिला अध्यक्ष अनिल सिसोदिया ने व जिला प्रभारी वेदराम भाटी ने पटका पहनाकर के सदस्यता प्रदान की और इसको घर वापसी बताया। शैलेंद्र सोलंकी ने बताया कि वह पिछले 15 वर्ष से पार्टी के लिए लगातार कार्य करते रहे हैं और अभी फिर कर रहे हैं।मीनाक्षी सिंह की अभूतपूर्व विजय के लिए बूथ पर वोट इकट्ठे हो और भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में बटन दबाएं इसके लिए उनका सतत प्रयास है। कुछ महा मैं किन्हीं ना समझी के कारण से पार्टी से अलग हो गए थे।भुवनेंद्र सिंह बब्बू प्रधान ने योगी सरकार द्वारा पिछले 5 वर्ष में जो प्रदेश के विकास के लिए अद्भुत कार्य किए हैं। उनकी प्रशंसा करते हुए पार्टी की सदस्यता ग्रहण की उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास के माध्यम से विधानसभा क्षेत्र का विकास हो रहा है और केंद्र सरकार में पिछले 8 वर्ष में मोदी ने जिस प्रकार कार्य की हैं।वह उससे प्रेरित होकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं।
शेर पाल सिंह तोमर ने योगी सरकार द्वारा रोजगार के माध्यम से युवाओं को नई ऊर्जा प्रदान की है। भयमुक्त समाज के माध्यम से निर्भीक रूप से जनता व व्यापारी अपने कार्य को कर पा रहे हैं। भू माफियाओं कि गलत तरीके से अर्जित की गई। संपत्ति  बुलडोजर आम आदमी के हित में कार्य किया है। ऐसी प्रदेश के हित में सैकड़ों योजनाएं और कार्य योगी के द्वारा किए गए हैं। 
पार्टी कार्यकर्ताओं में विजय सोलंकी, सुरेश शर्मा, वीरेश शर्मा, हरजीत सिंह, टीटू राम, अवतार सिंह, कृष्ण कुमार सैनी, ओम प्रकाश सैनी, दीपक गर्ग, सचिन शर्मा, भगवानदास सिंघल, जयप्रकाश अग्रवाल, जय भगवान शर्मा, महेश चौधरी, राजेश शर्मा, सूर्या राघव, राम दिवाकर, रणवीर सिंह, ओम निधि सिंह, पारुल बंसल, शेखर शर्मा, नवीन गर्ग, वासीख राणा, प्रेम प्रकाश अरोड़ा आदि उपस्थित रहे।

प्रशासनिक अधिकारियों को दण्डित करने की मांग 

बृजेश केसरवानी             प्रयागराज। जनपद में आंदोलनरत छात्रों पर योगी सरकार की पुलिस द्वारा ढाए बर्बर दमन की कड़ी निंदा करते हुए आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने छात्रों पर हो रहे दमन पर रोक लगाने, छात्रों को रिहा करने, उन पर दर्ज मुकदमें वापस लेने और दमन करने वाले पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को दण्डित करने की मांग की है।

आइपीएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व आईजी एस. आर. दारापुरी ने प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि प्रयागराज में छात्रों पर पुलिस ने बेवजह जुल्म ढाया। पुलिस द्वारा लाज व हास्टल में घुसकर छात्रों को पीटा गया, तमाम निर्दोष छात्रों को हिरासत में लिया गया और गम्भीर धाराओं में मुकदमें दर्ज किए गए है। दरअसल छात्र रेलवे भर्ती में व्याप्त अनियमितता के खिलाफ आंदोलनरत है और प्रयागराज, पटना, आरा समेत देश में विभिन्न जगहों पर शांतिपूर्ण ढंग से अपना प्रतिवाद दर्ज करा रहे थे। छात्रों की जायज मांग पर विचार करने की जगह पटना और प्रयागराज में दमन ढाया गया।आइपीएफ इस दमन की निंदा करता है और केंद्र सरकार से रेलवे भर्ती के छात्रों की जायज मांगों पर विचार करने की मांग करता है।

शिवानंद बाबा को पद्मश्री सम्मान प्रदान किया: योग

इकबाल अंसारी             वाराणसी। जनपद के शिवानंद बाबा को योग साधना के लिए पद्मश्री सम्मान दिया गया है। उनकी उम्र 126 साल है। वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं।योग साधक बाबा शिवानंद, वैसे तो अपने जीवन के बारे में कोई चर्चा नहीं करते हैं लेकिन उनके पुराने साक्षात्कारों से कुछ जानकारी निकलकर जरूर सामने आई है। 8 अगस्त 1896 को जन्मे शिवानंद को योग और धर्म में काफी जानकारी प्राप्त है। उनकी दिनचर्चा के बारे में कहा जाता है कि बाबा शिवानंद रोज सुबह 3 बजे उठ जाते हैं। 

इसके बाद एक घंटा योग करते हैं, भगवद् गीता और मां चंडी के श्लोकों का पाठ करते हैं। बाबा शिवानंद केवल उबला हुआ भोजन करते हैं। वह कम नमक वाला खाना खाते हैं। इस उम्र में भी बाबा शिवानंद काफी स्वस्थ हैं। उनके आधार कार्ड व पासपोर्ट पर उनकी जन्मतिथि 8 अगस्त 1896 दर्ज है।

गुलमोहर ने वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन करवाया

अश्वनी उपाध्याय            गाजियाबाद। महानगर के राकेश मार्ग स्थित गुलमोहर एन्क्लेव कोरोना महामारी के प्रति सजगता दिखाने में सदैव ही अग्रणी रहा है। इसी क्रम में गुलमोहर आरडब्लूए ने सोसायटी के लोगों की सुरक्षा के लिए आरडब्लूए कार्यालय में ही वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन करवाया। जिसमें 15 वर्ष की आयु से ऊपर सभी लोगों ने कोरोना वैक्सीन लगवाई।

गुरुवार को गुलमोहर एन्क्लेव आरडब्लूए कार्यालय में कोविड टीकाकरण कैम्प का आयोजन कराया गया। आरडब्लूए पदाधिकारियों ने स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर इस कैम्प का आयोजन कराया। वैक्सीनेशन कैम्प में 15 वर्ष की आयु पूरी कर चुके युवाओं को कोवैक्सीन का टीका लगाया गया। 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को उनकी पहली डोज़ के अनुसार ही कोविशील्ड व कोवैक्सीन की डोज़ लगाई गई। इसके साथ ही 60 वर्ष की आयु पूरी कर चुके लोगों को भी उनकी दोनों टीकों के अनुसार ही कोविशील्ड व कोवैक्सीन की बूस्टर डोज़ लगाई गई। सभी लोगों को कोरोना की पहली, दूसरी व बूस्टर डोज़ स्वास्थ्य विभाग की ओर से कैम्प में शामिल हुईं डॉ आकांक्षा व एएनएम प्रतिभा के द्वारा लगाई गई।

आरडब्लूए अध्यक्ष मनवीर चौधरी ने बताया कि कोरोना महामारी को मात देने के लिए कोविड नियमों का पालन व वैक्सीन लगवाना ही सबसे उत्तम उपाय है। वहीं उपाध्यक्ष जीसी गर्ग ने कहा कि सोसायटी के सभी लोगों की सुरक्षा के लिए ही वैक्सीनेशन कैम्प का आयोजन करवाया गया है। जिससे पूरी सोसायटी में ये भयंकर बीमारी पैर ना पसार सके। मीडिया प्रभारी गौरव बंसल ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से सोसायटी में अब तक तीसारा वैक्सीनेशन कैम्प लगवाया गया है। जिससे सरकार द्वारा कोरोना महामारी की रोकथाम के प्रयास में सहयोग किया जा सके।

लोगों को 'सपा' की नीतियों से अवगत कराया, सुरेंद्र

मो. रियाज            मुरादबाद। विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी एवं राष्ट्रीय लोक दल के संयुक्त प्रत्याशी पंडित सुरेंद्र कुमार मुन्नी ग्रामीण क्षेत्रों में एक के बाद एक छोटी-छोटी बैठक कर लोगों को लोक दल और सपा की नीतियों से अवगत करा रहे हैं। अपनी सभाओं में जनता से कह रहे हैं कि यदि जीतते हैं, तो 5 साल तक क्षेत्र के विकास के साथ क्षेत्र के समस्त समस्याओं को दूर करने का प्रयास करेंगे। सुरेंद्र कुमार मुन्नी ने जनसंपर्क के दौरान मतदाताओं को यकीन दिला रहे हैं कि एक बार विधायक बना कर भेज दो फिर काम बता कर घर आराम करना काम कराने की जिम्मेदारी सुरेंद्र कुमार मुन्नी की होगी।

बता दें कि सुरेंद्र कुमार मुन्नी कोरोना के नियमों का पालन करते हुए छोटी-छोटी बैठक कर रहे हैं। इस दौरान जिस गांव में पहुंचते हैं गांव के लोग ढोल और फूल माला उसे उनका स्वागत है। गांव-गांव में राष्ट्रीय लोक दल और समाजवादी पार्टी के लिए उत्साह देखकर गदगद हो रहे हैं रालो सपा के गठबंधन प्रत्याशी।

चुनाव: केवल 3 उम्मीदवारों ने नाम वापस लिया

इकबाल अंसारी          लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में प्रथम चरण के लिए चुनाव के लिए ब्रहस्पतिवार को नाम वापस लेने का अंतिम दिन था। जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार अंतिम दिन ब्रहस्पतिवार को केवल तीन उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस लियें हैं। जिन उम्मीदवारों ने नाम वापस लिए हैं, वे इस प्रकार हैं। लोनी विधानसभा क्षेत्र से एकमात्र उम्मीदवार विपिन कुमार शर्मा ने अपना नाम वापस लिया।

मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र से किसी उम्मीदवार ने नाम वापस नहीं लिया। साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र से सच्चिदानंद और डॉ सपना बंसल ने अपना नाम वापस ले लिया। गाज़ियाबाद विधानसभा क्षेत्र से किसी उम्मीदवार ने अपना नाम वापस नहीं लिया। मोदीनगर विधानसभा क्षेत्र से किसी उम्मीदवार ने अपना नाम वापस नहीं लिया।


पत्रकार की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी अरेस्ट कियें 
गोपीचंद सैनी          सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक पत्रकार की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है। गाड़ी से साइड लगने पर आरोपियों ने पत्रकार सुधीर सैनी को इतना पीटा कि उनकी जान चली गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। घटना के बाद पुलिस ने दो आरोपियों जहांगीर और फरमान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 
सुधीर सैनी शाह टाइम्स अखबार से जुड़े थे। बताया जा रहा है कि सहारनपुर के थाला कोतवाली देहात के चिलकाना रोड पर सुधीर सैनी अपनी मोटरसाइकिल से गुजर रहे थे। इस दौरान एक कार उन्हें ओवरटेक करते हुए निकली, जिसमें दोनों गाड़ियों में साइड लगी। कार में बैठे तीन युवकों से पत्रकार की कहासुनी होने लगी। इसी दौरान युवकों ने उनको पीटना शुरू कर दिया और तब तक पीटते रहे जब तक उनकी मौत नहीं हो गई।
पत्रकार की हत्या से पुलिस अधिकारी सकते में आ गए और प्रत्यक्षदर्शियों की ओर से दी गई जानकारी के आधार पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की गई। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। सहारनपुर के एसएसपी आकाश तोमर ने ट्वीट करके बताया कि सुधीर सैनी की हत्या मामले में पुलिस ने जहांगीर और फरमान को गिरफ्तार कर लिया है।

यूपी: 15 फरवरी तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज, फैसला

यूपी: 15 फरवरी तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज, फैसला    
संंदीप मिश्र           लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में अब 15 फरवरी तक स्‍कूल-कॉलेज बंद रहेंगे। प्रदेश में कोरोना के खतरे के मद्देनज़र सरकार ने यह फैसला लिया है। इसके पहले सरकार ने 30 जनवरी तक के लिए स्‍कूल-कॉलेज बंद किए थे। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की तरफ से जारी आदेश के अनुसार सभी स्कूल-कॉलेजों को 15 फरवरी तक बंद किया गया है।हालांकि, इस दौरान ऑनलाइन कक्षाएं चलती रहेंगी। नए आदेश के अनुसार स्‍कूल-कॉलेजों की बंदी के दौरान ऑनलाइन कक्षाएं चलती रहेंगी। उत्‍तर प्रदेश में इसके पहले भी कम से कम दो बार स्‍कूलों की बंदी की मियाद बढ़ाई जा चुकी है। पहले 16 जनवरी तक स्‍कूल बंद किए गए थे। 
बाद में इसे बढ़ाकर एक बार 23 जनवरी और दूसरी बार 31 जनवरी किया गया। कोरोना के मामलों को देखते हुए अब एक बार फिर यूपी सरकार ने स्‍कूलों की बंदी की तारीख बढ़ाने का फैसला लिया है।गौरतलब है कि कोरोना के चलते यूपी के विश्‍वविद्यालयों और कॉलेजों में सेमेस्‍टर परीक्षाएं पहले ही स्‍थगित की जा चुकी हैं।

मानवाधिकारों की मौजूदा स्थिति पर चिंता: उपराष्ट्रपति  
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और अमेरिका के चार सांसदों ने भारत में मानवाधिकारों की मौजूदा स्थिति पर चिंता जताई है। अमेरिकी सीनेटर एड मार्के ने कहा, ‘एक ऐसा माहौल बना है, जहां भेदभाव और हिंसा जड़ अपनी मजबूत पकड़ बना सकती है। हाल के वर्षों में हमने ऑनलाइन नफरत भरे भाषणों और नफरती कृत्यों में वृद्धि देखी है। इनमें मस्जिदों में तोड़फोड़, गिरजाघरों को जलाना और सांप्रदायिक हिंसा भी शामिल है। 
डेमोक्रेटिक पार्टी के सीनेटर मार्के का भारत विरोधी रुख अपनाने का इतिहास रहा है, उन्होंने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाले शासन के दौरान भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु समझौते का भी विरोध किया था। मार्के ने भारतीय अमेरिकी मुस्लिम परिषद द्वारा आयोजित एक पैनल चर्चा में यह बयान दिया। भारत से डिजिटल तरीके से इस चर्चा में भाग लेते हुए पूर्व उपराष्ट्रपति अंसारी ने भी हिंदू राष्ट्रवाद की बढ़ती प्रवृत्ति पर अपनी चिंता व्यक्त की।
अंसारी ने आरोप लगाया, ‘हाल के वर्षों में हमने उन प्रवृत्तियों और प्रथाओं के उद्भव का अनुभव किया है, जो नागरिक राष्ट्रवाद के सुस्थापित सिद्धांत को लेकर विवाद खड़ा करती हैं और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की एक नई एवं काल्पनिक प्रवृति को बढ़ावा देती हैं। वह नागरिकों को उनके धर्म के आधार पर अलग करना चाहती हैं, असहिष्णुता को हवा देती हैं और अशांति एवं असुरक्षा को बढ़ावा देती हैं।
चर्चा में तीन सांसदों जिम मैकगवर्न, एंडी लेविन और जेमी रस्किन ने भी हिस्सा लिया। रस्किन ने कहा, ‘भारत में धार्मिक अधिनायकवाद और भेदभाव के मुद्दे पर बहुत सारी समस्याएं हैं। इसलिए हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि भारत हर किसी के लिए धार्मिक स्वतंत्रता, स्वतंत्रता, बहुलवाद, सहिष्णुता और असहमति का सम्मान करने की राह पर बना रहे। 
लेविन ने कहा, ‘अफसोस की बात है कि आज दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र पतन, मानवाधिकारों का हनन और धार्मिक राष्ट्रवाद को उभरते देख रहा है। 2014 के बाद से भारत लोकतंत्र सूचकांक में 27 से गिरकर 53 पर आ गया है और ‘फ्रीडम हाउस’ ने भारत को ‘स्वतंत्र’ से ‘आंशिक रूप से स्वतंत्र’ श्रेणी में डाल दिया है।
भारतीय अमेरिकी मुस्लिम परिषद द्वारा जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के ‘टॉम लैंटोस मानवाधिकार आयोग’ के सह-अध्यक्ष मैकगवर्न ने कई चेतावनी भरे संकेत सूचीबद्ध किए, जो भारत में मानवाधिकारों के ‘खतरनाक रूप से पतन’ को दर्शाते हैं। वहीं भारत सरकार और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी इन आरोपों का खंडन करती रही है।

यौन उत्पीड़न की झूठी शिकायतों पर नाराजगी: एचसी
अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने यौन उत्पीड़न की झूठी शिकायतों को लेकर नाराजगी जताई है। अदालत ने कहा है कि इस तरह की घटनाएं अपराध की गंभीरता को कमतर करती हैं और महिला सशक्तीकरण के प्रयासों में बाधा डालती हैं। न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद ने याचिकाकर्ता असिस्टेंट प्रोफेसर के खिलाफ प्राथमिकी को रद्द करते हुए कहा कि झूठे आरोपों से यौन उत्पीड़न के वास्तवित पीड़ितों द्वारा दर्ज शिकायतों की विश्वसनीयता पर सवाल उठते हैं।
दिल्ली विश्वविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 354ए (यौन उत्पीड़न) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी। न्यायमूर्ति प्रसाद ने अपने फैसले में कहा, ‘यह अदालत इस बात पर खेद व्यक्त करती है कि कैसे एक व्यक्ति के आचरण के खिलाफ नाखुशी जताने के लिए आईपीसी की धारा 354ए और धारा 506 का दुरुपयोग कर तुरंत झूठी शिकायतें दर्ज करा दी जाती हैं।
उन्होंने कहा कि झूठी शिकायतें सिर्फ यौन अपराधों की गंभीरता को कमतर करती हैं। ये शिकायतें हकीकत में यौन अपराधों का सामना करने वाली हर पीड़िता की ओर से दर्ज शिकायत को संदेह के दायरे में लाती हैं, जिससे महिला सशक्तीकरण के प्रयास बाधित होते हैं।’ याचिकाकर्ता के खिलाफ कथित अवैध निर्माण को लेकर पड़ोसी के साथ हुए विवाद के बाद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।
याचिकाकर्ता ने दावा किया कि जब उसने शिकायतकर्ता पड़ोसी के खिलाफ उसे और उसकी पत्नी को धमकाने व गाली-गलौज करने की शिकायत दर्ज कराई तो जवाब में शिकायतकर्ता ने उसके खिलाफ यौन उत्पीड़न से जुड़ी धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करा दी। अदालत ने कहा, ‘रिकॉर्ड पर मौजूद सामग्री पर गौर करने से पता चलता है कि प्राथमिकी की सामग्री ‘संदेहास्पद’ थी और इसमें ‘अपराध को लेकर कोई विवरण’ नहीं दिया गया था।
इससे प्रथम दृष्टया संकेत मिलता है कि प्राथमिकी ‘बेबुनियाद आरोपों और विरोधाभासी बयानों’ पर आधारित है।’ उच्च न्यायालय ने कहा, ‘मामले के विस्तृत अध्ययन से पता चलता है कि रद्द हुई प्राथमिकी महज एक ‘जवाबी कार्रवाई’ थी। इसे दायर करने का एकमात्र मकसद याचिकाकर्ता और उसकी पत्नी पर शिकायकर्ता व उसके परिवार के खिलाफ दर्ज शिकायत को पास लेने का दबाव बनाना था।
अदालत ने यह भी कहा कि याचिकाकर्ता ने अपने पड़ोस में हुए निर्माण को लेकर कई शिकायतें दर्ज कराई थीं और इससे स्पष्ट है कि त्वरित एफआईआर प्रतिशोध लेने की नीयत से लिखाई गई थी। अदालत ने कहा कि वह कानून का दुरुपयोग रोकने के लिए संबंधित प्राथमिकी को रद्द करती है।

पीएम मोदी ने टाटा संस के अध्यक्ष से मुलाकात की

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। टाटा संस के अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। यह मुलाकात टाटा समूह द्वारा एअर इंडिया एक्सप्रेस का आधिकारिक रूप से अधिग्रहण किए जाने से पहले हुई। बाद में चंद्रशेखरन ने एअर इंडिया के मुख्यालय का दौरा भी किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के हवाले से मोदी और चंद्रशेखरन की मुलाकात की एक तस्वीर ट्विटर पर साझा की गई और कहा गया कि, टाटा संस के अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

टाटा समूह ने पिछले साल अक्टूबर में एअर इंडिया एक्सप्रेस के साथ एअर इंडिया और एआईएसएटीएस में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए बोली लगाई थी। गौरतलब है कि टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने आठ अक्टूबर, 2021 को कर्ज में डूबी एअर इंडिया के अधिग्रहण के लिए 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी।

उत्तर कोरिया ने 2 संदिग्ध मिसाइलें समुद्र में दागीं

उत्तर कोरिया ने 2 संदिग्ध मिसाइलें समुद्र में दागीं     
सुनील श्रीवास्तव      
प्योंगयांग। उत्तर कोरिया ने इस महीने छठी बार अपने हथियारों का परीक्षण करते हुए बृहस्पतिवार को दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलें समुद्र में दागीं। दक्षिण कोरिया की सेना ने यह जानकारी दी। विशेषज्ञों का कहना है कि परीक्षण गतिविधि में उत्तर कोरिया की असामान्य रूप से तेजी उस पर और उसके परमाणु निरस्त्रीकरण कार्यक्रमों के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व वाले प्रतिबंधों को कम करने के उद्देश्य से लंबे समय से रुकी वार्ता को लेकर बाइडन प्रशासन पर दबाव बनाना है।
उत्तर कोरिया पर अमेरिका के नए सिरे से प्रतिबंध लगाने से स्थिति और बिगड़ चुकी है क्योंकि महामारी ने देश की अर्थव्यवस्था को हिला दिया है, जो पहले से ही अपने परमाणु हथियार कार्यक्रमों और अपनी ही सरकार द्वारा दशकों के कुप्रबंधन तथा अमेरिकी नेतृत्व वाले प्रतिबंधों के कारण बिगड़ी हुई थी। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि ये परमाणु हथियार संभवतः कम दूरी तक मारक क्षमता वाले थे। इन्हें पूर्वी तटीय क्षेत्र से पांच मिनट के अंतराल पर छोड़ा गया और समुद्र में गिरने से पहले मिसाइल ने जमीन से अधिकतक 20 किलोमीटर की ऊंचाई पर 190 किलोमीटर की उड़ान भरी।जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने उत्तर कोरिया के बार-बार मिसाइल परीक्षण को ‘‘बेहद खेदजनक’’ बताया है।
हालांकि उन्होंने कहा कि अब तक जापान के तटों के आसपास पोत और विमानों को नुकसान की कोई सूचना नहीं है। उत्तर कोरिया ने पिछले हफ्ते भी अमेरिका को जद में लेने वाले परमाणु विस्फोटकों और लंबी दूरी की मिसाइलों के परीक्षण को फिर से शुरू करने की परोक्ष धमकी दी थी। इस परीक्षण को देश के नेता किम जोंग उन ने 2018 में अमेरिका के साथ कूटनीतिक बातचीत की शुरुआत करते हुए निलंबित कर दिया था।
तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ किम की शिखर वार्ता 2019 में पटरी से उतर गई, जब अमेरिका ने उत्तर कोरिया के अपने परमाणु क्षमताओं पर आंशिक रोक के बदले प्रतिबंधों में बड़ी राहत की उसकी मांगों को खारिज कर दिया। बाइडन प्रशासन ने खुली बातचीत की पेशकश की है, लेकिन प्रतिबंधों में तब तक ढील देने की कोई इच्छा नहीं दिखाई, जब तक कि किम परमाणु हथियारों और मिसाइलों को छोड़ने के लिए ठोस कदम नहीं उठाते। 
उत्तर कोरिया ने साल की शुरुआत कथित हाइपरसोनिक मिसाइल के परीक्षण के साथ की।
किम के अनुसार इस परीक्षण से देश की ‘‘परमाणु युद्ध से बचाव’’ की क्षमता मजबूत होगी। उत्तर कोरिया ने इस महीने दो अलग-अलग प्रकार की कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने इससे पूर्व 11 जनवरी को देश के दूसरे हाइपरसोनिक मिसाइल परीक्षण के बाद बाइडन प्रशासन द्वारा नए प्रतिबंध लगाये जाने के मद्देनजर ‘‘कड़ी प्रतिक्रिया’’ देने की चेतावनी दी थी।
अमेरिकी वित्त विभाग ने देश के मिसाइल कार्यक्रमों के लिए उपकरण और प्रौद्योगिकी प्राप्त करने में भूमिकाओं को लेकर उत्तर कोरिया के पांच व्यक्तियों पर प्रतिबंध लगाए हैं, जबकि विदेश विभाग ने उत्तर कोरिया की हथियार गतिविधियों के व्यापक समर्थन के लिए एक अन्य उत्तर कोरियाई व्यक्ति, एक रूसी व्यक्ति और एक रूसी कंपनी के खिलाफ प्रतिबंधों का आदेश दिया।
किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप का विरोध: चीन
अखिलेश पांंडेय       
नई दिल्ली/ वाशिंगटन डीसी/ बीजिंग। चीन ने भारत और चीन के बीच बॉर्डर विवाद को लेकर किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप का विरोध किया है। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सीनियर कर्नल वू कियान ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि बॉर्डर का मसला भारत और चीन के बीच का मामला है और दोनों पक्ष किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप का विरोध करते हैं।

बता दें कि भारत सरकार का भी यही स्टैंड रहा है कि बॉर्डर मसले को दोनों देश आपस में मिलकर सुलझाएंगे।भारत चीन बॉर्डर पर तनाव को लेकर अमेरिका के बयान पर चीन वाइट हाउस पर भड़क गया है। वू ने कहा है कि कुछ अमेरिकी नेता 'जबरदस्ती' शब्द का इस्तेमाल करने के इतने शौकीन हैं कि वे भूल गए हैं कि अमेरिका 'जबरदस्ती की कूटनीति' का आविष्कारक और मास्टर खिलाड़ी है। उन्होंने आगे कहा कि चीन न ही जबरदस्ती करता है और न ही दूसरों को जबरदस्ती करने देता है। चीन अन्य देशों पर 'जबरदस्ती की कूटनीति' के लिए अमेरिका का कड़ा विरोध करता है।

उत्तर भारत के हिस्से में कड़ाके की ठंड, राहत नहीं

उत्तर भारत के हिस्से में कड़ाके की ठंड, राहत नहीं     

अकांशु उपाध्याय             नई दिल्ली। एनसीआर समेत देश के उत्तर भारत के हिस्से में पिछले महीनेभर से अधिक समय से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसके अलावा, सुबह और शाम को होने वाले घने कोहरे ने लोगों को परेशानी में ला खड़ा किया है। आने वाले दिनों में भी उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा समेत देश के कई इलाकों में अगले तीन-चार दिनों तक ठिठुरन जारी रहेगी। साथ ही, बंगाल, सिक्किम जैसे राज्यों में आज और कल बारिश हो सकती है। 

मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में आज भी ठंड रहेगी। राजधानी का न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस रह सकता है, जबकि अधिकतम तापमान के 17 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी आज तापमान 6 डिग्री तक गिर सकता है, जबकि अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहेगा। उत्तर भारत के अन्य राज्यों की बात करें तो उत्तराखंड के देहरादून में आज का न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। आसमान के साफ रहने के आसार हैं। जम्मू में आज का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री और अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रहेगा। आसमान में बादल छाए रह सकते है। IMD के अनुसार, चंडीगढ़ में आज का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस रहेगा। यहां सुबह और शाम के समय कोहरा छाया रहेगा। इसके अलावा, लेह में भी हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। यहां का न्यूनतम तापमान माइनस 14 डिग्री और अधिकतम तापमान माइनस 3 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। वहीं, मुंबई का न्यूनतम तापमान 14 डिग्री और अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। मालूम हो कि इस बार आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई में भी जबरदस्त ठंड है। यूपी की राजधानी लखनऊ की बात करें तो यहां का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस रहेगा। सुबह और शाम के समय कोहरा छाया रहेगा।      

 वहीं, हिमाचल प्रदेश के शिमला में आज का न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। आसमान में हल्के बादल छाए रह सकते हैं। उधर, मौसम विभाग के अनुसार, श्रीनगर में आज का न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई और पर्यटन स्थल गुलमर्ग में भीषण शीतलहर चल रही है। पारा शून्य से 10.4 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया।

गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 10.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो पिछली रात के शून्य से 9.2 डिग्री सेल्सियस नीचे था। अधिकारियों ने बताया कि पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 5.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो पिछली रात के शून्य से 2.8 डिग्री सेल्सियस कम था। काजीगुंड में न्यूनतम 0.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि निकटवर्ती दक्षिण कश्मीर के शहर कोकरनाग में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में पारा शून्य से 1.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।


पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई खास बदलाव नहीं     
अकांशु उपाध्याय          नई दिल्ली। तेल कंपनियों ने फ्यूल के ब्रहस्पतिवार के रेट जारी कर दिए हैं। ब्रहस्पतिवार को भी पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई खास बदलाव नहीं किया गया है। गौरतलब है कि 3 महीनें होने जा रहे हैं और पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई परिवर्तन नहीं हुआ हैं। हालांकि बिहार, राजस्थान समेत कई राज्यों में अब भी पेट्रोल 100 रुपये के ऊपर बना हुआ है। जिससे जनता परेशान है। चलिए जानते हैं ब्रहस्पतिवार को दिल्ली, यूपी बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश और पंजाब में 1 लीटर पेट्रोल-डीजल की क्या कीमत है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ब्ररहस्पतिवा को भी पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ है। 

अगर आप ब्रहस्पतिवार दिल्ली में अपनी गाड़ी में पेट्रोल या डीजल भरवाने जा रहे हैं तो आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए 95.41 रुपये चुकाने होंगे जबकि एक लीटर डीजल के लिए 86.67 रुपये देने होंगे। उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों में आज पेट्रोल-डीजल की कीमत। आगरा- पेट्रोल 94.48 रुपये प्रति लीटर और डीजल 86.49 रुपये प्रति लीटर।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-110, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, जनवरी 28, 2022
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:10, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम-19+ डी सै.।  बर्फबारी व शीतलहर के साथ मैदानी क्षेत्रों में कहीं- कहीं तेज बारिश की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, (प्रधान संपादक) राधेश्याम व शिवांशु, (सहायक संपादक) श्रीराम व सरस्वती के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम  हरिशंकर त्रिपाठी  देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में दशहरा, ईद...