शुक्रवार, 22 मई 2020

'पीएम' का तूफान प्रभावित क्षेत्र का दौरा

 कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भीषण चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ से बुरी तरह प्रभावित पश्चिम बंगाल के इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए शुक्रवार सुबह यहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचे। राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यहां हवाई अड्डे पर माेदी का स्वागत किया। पश्चिम बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में बुधवार रात को भीषण चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ ने भारी तबाही मचाई थी। तूफान के कारण राज्य में कम से कम 72 लोगों की मौत हो चुकी है। 


51,09,937 संक्रमित, 3,30,106 की मौत

न्यूयॉर्क! दुनिया में अब तक 51 लाख 9 हजार 937 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। 20 लाख 38 हजार 359 ठीक हुए हैं। मौतों का आंकड़ा 3 लाख 30 हजार 106 हो गया है। अमेरिका की बात करे तो यहां पिछले 24 घंटे में 22 हजार 140 केस सामने आए। 1561 संक्रमितों की मौत हुई। इसके साथ ही यहां संक्रमितों की संख्या 15 लाख 91 हजार 991 और मृतकों का की संख्या 94 हजार 994 हो गई। वहीं इस बीच अमेरिका के स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी ने चिंता जताई है कि सर्दियों में कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार फिर अमेरिका पर मंडरा सकता है। ऐसे में अगर अमेरिका में दोबारा कोरोना फैलता है तो इस खतरे का सामना पूरी दुनिया को करना होगा।


अमेरिका की सरकारी संस्था सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) के प्रमुख डॉक्टर रॉबर्ट रेडफील्ड ने कहा है कि जिस प्रकार से दक्षिणी गोलार्ध में कोविड 19 (Covid-19) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। उससे यही आशंका है कि यह शरद ऋतु और सर्दियों में अमेरिका में फिर चरम पर लौट सकता है। अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अमेरिका को अगले कुछ महीनों में महामारी की पहचान करने की अपनी क्षमता बढ़ानी होगी। अगर ऐसा नहीं होता है तो तब संकट पैदा हो जाएगा जब कोविड-19 और मौसमी फ्लू दोनों का खतरा एक साथ सामने आ जाएगा।


डॉ रॉबर्ट ने कहा, ‘हमने इस बात के प्रमाण देखे हैं कि ये पहले फ्लू की तरह दक्षिणी गोलार्ध में जाएगा, जैसे कि अभी ये ब्राजील में है। जब दक्षिणी गोलार्ध में इसका प्रकोप पूरा होगा तो मुझे आशंका है कि ये फिर उत्तरी गोलार्ध की ओर बढ़ेगा। डॉ रॉबर्ट ने कहा कि कोरोना वायरस ने अमेरिका को घुटनों पर ला दिया है। सच्चाई ये है कि ये किसी एक व्यक्ति का दोष नहीं है। अमेरिका कई दशकों से इस तरह के संकट के लिए तैयार नहीं था।

अगले साल जून-जुलाई तक नहीं आएगी कोरोना वैक्सीन

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के मुख्यालय पेंटागन के दस्तावेजों के मुताबिक कहा गया है कि 2021 में जून-जुलाई महीने तक कोरोना वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पाएगी। वहीं यह भी आशंका जताई गई है कि कोरोना एक बार फिर गंभीर रूप से फैल सकता है।


महाराष्ट्र सरकार को बचाने में जुटी भाजपा

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने महाराष्ट्र सरकार पर कोविड-19 महामारी से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को सत्तारूढ़ महा विकास आघाड़ी (एमवीए) की आलोचना वाले बैनर और पोस्टर लगाकर ‘महाराष्ट्र बचाओ’ आंदोलन शुरू किया। नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़णवीस के नेतृत्व में राज्य के विभिन्न हिस्सों में इसी तरह के आंदोलन किए गए। भाजपा नेताओं ने शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-कांग्रेस गठबंधन पर निशाना साधा।


प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए फडणवीस ने आरोप लगाया कि देश के कुल कोराना मरीजों में से 30 फीसदी महाराष्ट्र में हैं और देश में कोविड-19 से हुई मौतों में से 40 फीसदी महाराष्ट्र में हुईं। एमवीए इस संकट से निपटने में असफल रहा है।उन्होंने कहा, “अस्पताल भरे हुए हैं, एंबुलेंस उपलब्ध नहीं हैं, संगरोध केंद्रों में भोजन उपलब्ध नहीं है। निजी अस्पताल अत्यधिक फीस ले रहे हैं, जिस कारण आम लोग कोविड-19 उपचार का खर्च उठाने में असमर्थ हैं। लेकिन सरकार ने गंभीर हालात के बावजूद कुछ नहीं किया है।”


उन्होंने मांग की कि सरकार सभी कोविड-19 रोगियों का नि: शुल्क इलाज करे। साथ ही सभी निजी अस्पतालें को अनिवार्य रूप से ऐसे रोगियों को स्वीकार करना होगा और निजी स्वास्थ्य संस्थानों में 80 प्रतिशत बेड को जनता के लिए सरकारी दरों पर दिया जाना चाहिए।


दूसरी ओर, एमवीए नेताओं ने भाजपा के आंदोलन का विरोध किया और विपक्षी पार्टी पर इस सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा के दौरान सरकार के साथ सहयोग करने के बजाय राजनीति करने का आरोप लगाया।


मोदी को चुनौती वाली याचिका 2 हफ्ते टली

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने 2019 के आमसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई दो सप्ताह के लिए शुक्रवार को टाल दी।


मोदी के निर्वाचन के खिलाफ सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव की याचिका मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति हृषिकेश राय की खंडपीठ के समक्ष जैसे ही सुनवाई के लिए आयी, याचिकाकर्ता के वकील ने चार सप्ताह सुनवाई स्थगित करने का न्यायालय से अनुरोध किया, लेकिन न्यायालय ने चार सप्ताह के बजाय दो सप्ताह के लिए याचिका की सुनवाई टाली।


हालांकि, इस बीच मोदी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे और सत्यपाल जैन स्क्रीन पर आ चुके थे। लेकिन उनके बहस की नौबत ही नहीं आयी। इससे पहले गत 18 मई को इस मामले को सूचीबद्ध किया गया था, लेकिन अज्ञात कारणवश मुख्य न्यायाधीश के उपलब्ध न रहने के कारण उनके समक्ष सूचीबद्ध सभी मामलों की सुनवाई के लिए आज (22 मई) की तारीख मुकर्रर की गयी थी, जिनमें मोदी के निर्वाचन के खिलाफ चुनाव याचिका भी शामिल थी।


तेज बहादुर यादव ने मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनावी पर्चा भरा था लेकिन वह खारिज हो गया था। यादव ने मोदी के निर्वाचन को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी, लेकिन गत वर्ष दिसंबर में इसने यह कहते हुए याचिका खारिज कर दी थी कि याचिकाकर्ता का नामांकन पत्र खारिज हो गया था और वह उम्मीदवार नहीं रह गए थे, इसलिए उन्हें निर्वाचन को चुनौती देने का कोई अधिकार नहीं है। यादव ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है।


अब विधायकों की जनता में बढ़ेगी इज्जत

राणा ओबराय


जींद विधायक मिड्ढा ने सीएमओ विवाद में नहीं दी कोई शिकायत,स्पीकर ने कहा अब जनता में बढेगी विधायकों की इज्ज़त!
 
चण्डीगढ़! हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने शुक्रवार को अपने कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विधायकों के साथ बैठक की। यह बैठक दो सत्रों में हुई। इस दौरान विधानसभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा भी साथ रहे। बैठक में विधानसभा कमेटियों के गठन और उनकी कार्यशैली को प्रभावशाली बनाने के लिए विधायकों से सुझाव मांगें गए। इस दौरान विधायकों ने कमेटियों के गठन पर सुझाव देते हुए अपने क्षेत्र की समस्याएं भी उठाईं। वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता के सम्मुख अधिकारियों द्वारा उनके फोन नहीं उठाने का मसला उठाया। गुप्ता ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए विधायकों से लिखित शिकायत देने को कहा ने कहा कि वह ऐसे मामलों पर संज्ञान लेंगे और इन्हें विधानसभा की विशेषाधिकार समिति के सम्मुख रखा जाएगा। कमेटी दोषी अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई कर सकती है। राष्ट्रीय खोज के संपादक राणा ओबराय ने जब जींद के विधायक डॉ कृष्ण मिड्डा और सीएमओ के बीच हुए विवाद की शिकायत के बारे में पूछा तो स्पीकर ने बताया कि मेरे पास किसी भी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है। यदि कोई शिकायत आएगी तो उस पर जरूर संज्ञान लेंगे।


6088 नए संक्रमित, 148 लोगों की मौत

नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की रफ्तार भारत में तेज हो गई है! कोरोना से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन का चौथा चरण जारी है, लेकिन संक्रमण के मामले कम होने के बजाय लगातार बढ़ रही है! पिछले एक दिन में सबसे अधिक 6 हजार 88 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं!


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 6 हजार 88 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 148 लोगों की मौत हुई है!इसके बाद देशभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 लाख 18 हजार 447 हो गई है! जिसमें से 66 हजार 330 सक्रिय मामले हैं. जबकि 3 हजार 583 लोगों की मौत हो चुकी है! वही 48 हजार 534 लोग ठीक हो चुके हैं! जिन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है!


गरीब-प्रवासी मजदूरों को राशन वितरण किया

त्यागी महासभा लोनी ने किया गरीब प्रवासी मजदूर को राशन वितरण

 

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद! त्यागी महासभा के संरक्षक धर्मेंद्र त्यागी ने अपने कैंप कार्यालय पर मजदूर प्रवासी लोगों को राशन किट वितरण करते हुए कहा कोरोनावायरस से दैनिक मजदूर गरीब तबके के लोगों को सर्वाधिक आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है! रोजगार बंद होने के कारण काफी लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा है इस विकट परिस्थिति में आज त्यागी महासभा लोनी के पदाधिकारियों ने गरीब मजदूर प्रवासी लोगों को आटा दाल चीनी चावल तेल नमक मिर्च मसाले आदि राशन वितरण करते हुए सभी सामाजिक संगठन राजनीतिक दलों से अपील भी करते हैं! सभी मजदूर अगर पलायन कर गए उद्योग धंधे मजदूरों के बगैर कंस्ट्रक्शन विकास कार्य  चौपट हो जाएंगे! जिससे आर्थिक संकट और गहरा जाएगा!

  जिसका प्रभाव हर नागरिक पर पड़ेगा यह चिंता का विषय है! इसलिए हम सबको मजदूरों को पलायन करने से रोकना होगा! आज हर मजदूर गांव की तरफ दौड़ रहा है काम धंधे ना होना और भय के कारण इस कार्य में मुनेश त्यागी मास्टर नरेन्द्र त्यागी प्रदीप त्यागी सुनील त्यागी ओमपाल त्यागी आदि लोगों ने बढ़ चढ़कर योगदान दिया!

हापुड़ में युवक की हत्या कर पेड़ पर टांगा

अतुल त्यागी

लगभग में 45 वर्षीय युवक की हत्या कर शव को टांगा पेड़ पर

 

हापुड़! जनपद के हाफिजपुर थाना क्षेत्र के गांव अबदुल्लालपुर मोड़ी में शाकिर पुत्र आसकली को लगभग 43 साल की उम्र बताई जा रही है। अज्ञात व्यक्तियों ने इस व्यक्ति जंगल के अंदर मार कर पेड़ पर टांग दिया, जिसकी शादी को लगभग 20 साल हो गए थे और 5 बच्चे भी हैं सूत्रों के मुताबिक हत्या की आशंका जताई जा रही है जिसके कारण क्षेत्र के अंदर यह बात आग की तरह फैल गई परिवार वालों का रो रो कर बुरा हाल है, मोके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पी ए म के लिए भेजा। और जांच में जुटी पुलिस है!

जनता के हक की लड़ाई लड़ने की कवायद

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद! भाजपा नेता और सहयोग द हेल्पिंग हैण्ड संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजेन्द्र त्यागी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदरणीय योगी आदित्यनाथ जी केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान और क्षेत्रीय सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री आदरणीय वीके सिंह को पत्र लिखकर इस महामारी के समय  लोनी विधानसभा क्षेत्र में रह रहे सभी गरीब,असहाय और जरूरतमंद ज्यादातर राशन कार्ड धारकों राशन नही मिल पा रहा! आम लोग परेशान ह  इन सभी लोगो को जल्द से जल्द प्रधानमंत्री जन कल्याण कारी योजना के तहत राशन दिलाये जाने की मांग की है और जो भी अधिकारी या व्यक्ति प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार की छवि को धूमिल करने में शामिल है उस पर कठोर कार्रवाई करने की मांग की है!


मवेशी से वाहन टकराया तीन घायल

मवेशी के टकरा जाने से बाइक सवार एक बच्चा समेत तीन लोग घायल

सीएचसी में कराया गया भर्ती

सुनील पुरी

बिंदकी फतेहपुर! तेज रफ्तार बाइक में अचानक मवेशी टकरा जाने से बाइक सवार एक बच्चा समेत तीन लोग घायल हो गए सभी घायलों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया! जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के बिंदकी भवानीपुर मार्ग में जय गुरुदेव मंदिर के समीप तेज रफ्तार बाइक में अचानक मवेशी टकरा जाने से बाइक सवार फूलचंद उम्र 25 वर्ष निवासी फरीदपुर कोतवाली बिंदकी उसकी भाभी चित्रलेखा उम्र 30 वर्ष तथा 2 वर्षीय भतीजा आशू गंभीर घायल हो गये सभी घायलों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया दुर्घटना के बाद मौके पर भारी भीड़ लगी रही उधर मामले की जानकारी होने पर घायलों के परिजन और पड़ोसी भी मौके पर पहुंचे काफी देर चले उपचार के बाद जब तीनों की हालत में थोड़ा सुधार हुआ तो घर वापस ले गए फूलचंद ने बताया कि वह अपने भतीजे आशु के लिए दवा लेने जा रहा था तभी अचानक मवेशी आ जाने से बाइक अनियंत्रित होकर सड़क में गिर गई और वह लोग घायल हो गए

हापुड़ में शांति-समीक्षा बैठक आयोजित

अतुल त्यागी

 

स्लग - अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक ने लोगों से ईद को लेकर शान्ति समिति की बैठक हुई!

 

हापुड़! ईद की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है तो वैसे ही मुस्लिम समाज के धर्मगुरु भी आगे आकर लोगों से घर में ही रहकर ईद की नमाज पढ़ने की अपील कर रहे है आज इसी को लेकर हापुड़ सिटी कोतवाली क्षेत्र के बुलंदशहर रोड की जदीद चौकी पर मुस्लिम समाज समाज के धर्मगुरु व संभ्रांत लोगों के साथ हापुड़ के अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक ने एक शांति समिति की मीटिंग की जिसमें लोगों से ईद को लेकर सुझाव व राय मांगी हापुड़ के मुस्लिम धर्मगुरु शहर इमाम कारी आसिफ ने कहां की कोविड-19 को लेकर जिस तरह से देश में हाहाकार मचा हुआ है जिसमें अब तक हापुड़ का मुस्लिम समुदाय हापुड़ प्रशासन की दी हुई गाइड लाइनों का पालन कर रहा है जिसमें हम आगे भी यही चाहते हैं की मुस्लिम लोग ईद की नमाज अपने घरों में ही पढ़े जैसा कि हापुड़ प्रशासन ने बोला हुआ है कि मस्जिद में केवल पांच लोग ही नमाज अदा करेंगे और बाकी लोग अपने अपने घरों पर रहकर पूर्व की भांति नमाज पढ़े क्योंकि भीड़ इकट्ठा होने पर कोरोना महामारी एक दूसरे में न फैल सके और इस पर हम जल्द ही काबू पा जाए इसके बाद सभी लोग अपने घरों से बाहर निकल सकेंगे और पहले की भांति मस्जिदों में नमाज पढ़ पाएंगे अगर भीड़ खट्टा होती है तो कोरोना महामारी फैलने का खतरा बढ़ सकता है जो समाज के लिए घातक साबित होगा तो वहीं अपर जिलाधिकारी ने मुस्लिम धर्मगुरु कारी आसिम के दिए सुझाव पर उनकी तारीफ की और कहा कि लोगों को इसी तरीके से आगे आकर कोरोना की लड़ाई में साथ देना चाहिए ईद के मद्देनजर  हापुड़ जिला प्रशासन के द्वारा बिजली पानी वह साफ सफाई की भी व्यवस्था मुस्लिम एरियो में की जाएगी ईद के दौरान किसी को भी इन सभी चीजों को लेकर किसी भी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

 

बाईट - कारी आशिम (शहर इमाम व मुस्लिम धर्म गुरु)

बाईट - जयनाथ यादव (अपरजिलाधिकारी हापुड )

आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी

 लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी दी गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस के हेल्पलाइन 112 की सोशल मीडिया डेस्क के वॉट्सऐप पर धमकी भरा मैसेज भेजा गया है, जिसमें सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। मैसेज में योगी आदित्यनाथ को एक विशेष समुदाय के लिए खतरा बताया गया है। फिलहाल गोमती नगर पुलिस स्टेशन में मैसेज भेजने वाले के खिलाफ शिकायत दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।


प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई गई बसें

लखनऊ/नई दिल्ली! कोरोना वायरस महासंकट के बीच देश में प्रवासी मज़दूरों की परेशानियां बढ़ती नज़र आ रही हैं! लगातार हजारों मजदूर पैदल ही अपने घर के लिए रवाना हो रहे हैं, इस बीच उत्तर प्रदेश में योगी सरकार और कांग्रेस के बीच लगातार राजनीतिक बयानबाजी जारी है! अब बीते दिन राजस्थान सरकार ने कोटा से यूपी बॉर्डर तक भेजे गए बच्चों की बसों का किराया यूपी सरकार को सौंपा गया, जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधा है!


बसपा प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट कर राजस्थान सरकार को घेरा! मायावती ने लिखा, ‘राजस्थान की कांग्रेसी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपए और देने की जो मांग की है, वह उसकी कंगाली व अमानवीयता को प्रदर्शित करता है! दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखःद है’!


मायावती ने कांग्रेस को घेरते हुए लिखा कि कांग्रेसी राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी कुछ बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है तो दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात करके जो राजनीतिक खेल खेल कर रही है यह कितना उचित व कितना मानवीय है?


मायावती ने इसी के साथ पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान की वजह से हुई तबाही पर दुख व्यक्त किया. बसपा प्रमुख ने लिखा कि अम्फान तूफान के तांडव से खासकर पश्चिम बंगाल में जो व्यापक तबाही व बर्बादी हुई है वह अति-दुखद है!मायावती ने लिखा कि जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है, ऐसे में खासकर केन्द्र सरकार को आगे बढ़कर हर प्रकार से राज्य को वहां के हालात सामान्य बनाने में मदद करनी चाहिए!


दरअसल, देश में जब लॉकडाउन लागू किया गया था तब कोटा में पढ़ने वाले बच्चे वहां पर ही फंस गए थे! तब यूपी सरकार ने अपने प्रदेश के बच्चों को वापस बुलाने का जिम्मा उठाया था! अब दावा किया जा रहा है कि राजस्थान राज्य परिवहन निगम की बसों से छात्रों को झांसी और आगरा पहुंचाया गया था!


इसके बाद गहलोत सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार को 36,36,664 रुपये का बिल भेज दिया है! यही नहीं, राजस्थान सरकार इससे पहले ही उत्तर प्रदेश सरकार से डीजल के लिए 19 लाख रुपए ले चुकी है!


लोगों के लिए आफत बना लॉक डाउन

चंद्रकांत देवांगन


दुर्ग। लॉक डाउन की वजह से लोग पिछले दो महीने से अपने घरों में कैद हैं! ये लॉक डाउन बेबस असहाय, गरीब सहित कई लोगों के लिए आफत बन कर टूट पड़ा है! इन सबके बीच एक ऐसा वर्ग भी है, जिस पर इसकी सबसे ज्यादा मार पड़ी है, यह वर्ग समाज में सदा से ही उपेक्षित रहा है, जिसके रोजी-रोटी का जरिया दूसरों के घर मनाए जाने वाली खुशियों में नाच-गाकर, दुआएं देकर चलता है! हम बात कर रहे हैं किन्नरों की जिन्हें समाज के भीतर भिन्न-भिन्न नामों से भी पुकारा जाता है. लेकिन सरकार ने अब उन्हें एक सम्मान जनक नाम थर्ज जेंडर दे दिया है!


योगी ने स्वयं सहायता समूह की प्रशंसा की

संतकबीरनगर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को एनआईसी संतकबीरनगर के कक्ष में उपस्थित स्वंय सहायता समूह की महिलाओ को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सम्बोधन में स्वंय सहायता समूह के महिलाओ के सराहनीय कार्यो की प्रशंसा करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना में जिस तरह महिलाओ ने अपना योगदान दिया है वह अत्यन्त ही सराहनीय है। जीविका चलाने के लिए महिलाओ ने आत्मनिर्भर होते हुए माॅस्क, सेनेटाइजर सहित अन्य सामग्रियो का जो स्वतः बनाने का कार्य किया है। यह लोगो के उपयोग में तेजी से बढ़ा है। इसके लिए सभी महिलाओ को धन्यवाद ज्ञापित किये। उन्होने कहा कि आगे भी स्वंय सहायता समूह की महिलाए तैयार रहे। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाॅकडाउन-4 से पूर्व सम्बोधन में स्वदेशी सामग्रियो के उपयोग की बात हो रखा है जिसमें महिलाओ की भूमिका अहम होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद के 147 स्वंय सहायता समूह को 15 हजार की दर से 22 लाख 5 हजार धनराशि अवमुक्त किया है। महिलाओ ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट किया है। वीडियो कांन्फ्रेसिंग में 10 स्वंय सहायता समूह की महिलाए उपस्थित रही।


नगर पालिका के खिलाफ आयोग में शिकायत

सचिन विशारिया


गाजियाबाद! लोनी नगर पालिका ने अपनी दबंगई के चलते सफाई कर्मचारियों को मरने के लिए छोड़ दिया है! जी हां यह सुनने में अटपटा लगता है जहां एक और पूरा देश कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में जुटा हुआ है! वही लोनी नगर पालिका अपने कार्य क्षेत्र से बाहर जाकर मंडोला आवास विकास में लोनी नगर पालिका के कर्मचारियों को सफाई के लिए लगातार भेज रही थी! लेकिन हद तो तब हो गई जब मात्र ₹6000 सैलरी पाने वाले सफाई कर्मचारी को क्वॉरेंटाइन सेंटर के अंदर सफाई करने के लिए कहा गया! जबकि ना तो उन पर प्रॉपर किट है और ना ही उन्हें किसी प्रकार की कोई ट्रेनिंग दी गई है! क्या इन सफाई कर्मचारियों को कोरोना वायरस अपनी चपेट में नहीं लेगा? किस अधिकार के तहत नगरपालिका कर्मचारियों को मंडोला आवास विकास क्षेत्र में सफाई के लिए भेज रही है! इस बात को लेकर उत्तर प्रदेश सफाई आयोग के अध्यक्ष से सफाई कर्मियों ने की है शिकायत!


लॉक डाउन में 1954 के खिलाफ कार्रवाई

बिना मास्क घूमने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने और सार्वजनिक स्थल पर थूकने वालों पर रहेगी नजर


बिलासपुर। लॉकडाउन और धारा 144 का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई करने के लिए अब पुलिस व नगर निगम की संयुक्त टीम सड़क पर निकलेंगी. दो उड़नदस्ता टीम तैयार की गई है, जो कि बाजार और सड़कों पर लगातार नजर रखेगी. इनका काम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों, बिना मास्क सड़क पर घूमने वालों, सार्वजनिक स्थलों पर थूकने वालों पर इनकी नजर रहेगी. यह संयुक्त टीम ऐसे लोगों पर चलानी कार्रवाई करने के साथ-साथ जरूरत पड़ने पर उनके खिलाफ एफआईआर भी करेगी. एएसपी ओपी शर्मा ने बताया कि आईजी दीपांशु काबरा, एसपी प्रशांत कुमार अग्रवाल, नगर निगम कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय ने शहर की स्थिति का जायजा लिया. जिसमें यह बात सामने आयी कि बार-बार समझाइश देने के बाद भी लोग, दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे, बिना मास्क लगाए घूम रहें हैं. इन सबकों देखते हुए नगर निगम और पुलिस ने 2 संयुक उड़नदस्ता टीम तैयार की है. जिनका काम केवल इसी सब पर नजर रखना और कार्रवाई करना होगा. इस टीम में पुलिस और नगर निगम की टीम मौजूद रहेगी. उड़नदस्ता टीम में पुलिस और नगरनिगम साथ में रहेगी ,इसके अब तक की गई कार्रवाई बिना मास्क- 1906 सोशल डिस्टेंसिंग- 45 सार्वजनिक में थूकना- 1 अन्य- 2 कुल कार्रवाई- 1954!


गुजरात: 9449 संक्रमित, 619 की मौत

गांधीनगर! गुजरात में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 371 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बृहस्पतिवार (21 मई) को बढ़कर 12,910 हो गई। स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव जयंती रवि ने बताया कि इसी अवधि में 24 लोगों की मौत हो गई।


राज्य में अब तक कोरोना वायरस के कारण 773 मरीजों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि 269 व्यक्ति बीमारी से ठीक हो गए और उन्हें राज्य के विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। राज्य में स्वस्थ हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 5,488 हो गई है। राज्य में अब भी 6649 लोग इससे संक्रमित हैं।
अहमदाबाद में कोरोना वायरस के 233 नए मरीज सामने आने के साथ ही शहर में इस महामारी के मामले बढ़कर 9,449 हो गए तथा 17 मरीजों की मौत के साथ ही इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 619 हो गई है।


गुरुवार के 17 मौतें अहमदाबाद में, तीन वडोदरा में और एक-एक सूरत, आणंद, खेड़ा और महेसाणा जिले में हुई है। पिछले 24 घंटे में 269 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, जिनमें से 200 अहमदाबाद, 7 वडोदरा और 40 सूरत के हैं। इसके साथ ही अब तक स्वस्थ्य हुए संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ कर 5488 हो गई है। इस तरह अब केवल 6649 लोग ही बीमार हैं, जिनमें से 52 जीवनरक्षक प्रणाली यानी वेंटिलेटर पर हैं। 10 दिनों से केंद्र सरकार के नए नियमों के अनुरूप भी लोगों को अस्पताल से छुट्टी देकर होम क्वारंटीन मे भेजा जा रहा है। इसमें बिना लक्षण वाले ऐसे संक्रमित हैं जिन्हें लगातार तीन दिन तक बुखार नहीं आया हो। फिलहाल कुल 496730 लोग क्वारंटाइन में हैं। अब तक कुल 166151 जांच की गई है।


24 मृतकों में से 18 को को-मॉरबिडीटी यानी अन्य गंभीर बीमारियां भी थीं। नए मामलों में सर्वाधिक प्रभावित अहमदाबाद के 233 (पिछले नौ दिनों में क्रमश: 271, 262, 263, 276, 264, 261, 265, 292, 267 थे), वडोदरा के 24 (पिछले चार दिनों में 26, 18,22 तथा 21), सूरत के 34 (पिछले चार दिनों में 37, 29, 33 और 45) हैं। महेसाणा और बनासकांठा में आज क्रमश: 13 और 11 मामले सामने आए हैं। राज्य के सभी 33 जिले कोरोना प्रभावित हैं।


सर्वाधिक 9449 मामले और 619 मौतें अहमदाबाद में दर्ज की गई हैं, जहां 3330 लोगों को अस्पताल से छुट्टी भी मिली है। सूरत में 1227 मामले, 57 मौतें तथा 823 स्वस्थ हुए हैं। वडोदरा में 750 मामले, 35 मौतें और 470 स्वस्थ हुए हैं। ज्ञातव्य है कि राज्य में पहले दो मामले 19 मार्च को राजकोट और सूरत में मिले थे। पहली मौत सूरत में 22 मार्च को दर्ज हुई थी। अन्य स्थानों में आणंद में 9, भावगनर तथा गांधीनगर में आठ-आठ, पंचमहाल में छह, बनासकांठा में पांच, महेसाणा, पाटन में चार-चार, अरावल्ली, भरूच और साबरकांठा में तीन-तीन जामनगर, खेड़ा, राजकोट में दो-दो तथा महीसागर, बोटाद, कच्छ, वलसाड में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।


डिस्टेंस-फेस मास्क के साथ खुलेंगे बाजार

लॉकडाउन-4 : करीब एक माह से सील्ड पुराने शहर के कई क्षेत्रों को किया गया सीलमुक्त


एक दिन पूर्व जारी बाजार खुलने के निर्देश लागू


सप्ताह में तीन दिन सोशल डिस्टेंसिंग व फेसमास्क के साथ खुलेंगी दुकानें


मथुरा । जिला प्रशासन द्वारा लगभग शहर के पुराने शहर के काफी बड़े हिस्से को कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के मिलने की बजह से पूर्व में सील्ड किये गए कुछ क्षेत्रों को जिनमें विगत 21 दिनों से कोई भी कोरोना संक्रमित मरीज नही मिलने की दिशा में आपदा प्रबंधन अधिनियम के नियमानुसार सील्डमुक्त कर दिया गया है, अब इन क्षेत्रों में भी ऑड एविन के तहत बाजारों को खोला जा सकेगा ।


नगर मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह द्वारा आदेश जारी कर शहर के जिन सील्ड क्षेत्रों को सीलमुक्त किया गया है उनमें लाल दरवाजा क्षेत्र सहित नगला पायसा, चौबियापाड़ा, बंगाली घाट, छत्ता बाजार, होली गेट से आर्य समाज रोड तक के दोनों तरफ के क्षेत्र, होली गेट से क्वालिटी चौराहा तक दोनों तरफ के क्षेत्र और होली गेट से भरतपुर गेट तक के दोनों तरफ के क्षेत्रों को सीलमुक्त कर दिया गया है ।


सेक्स चैट के लिए नाबालिक का दबाव

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद!  बॉयज लॉकर रूम के बाद अब एक स्टडी ग्रुप में बीए की एक छात्रा को मेसेज कर सेक्स चैट का दबाव बनाने का मामला सामने आया है। छात्रा पर दबाव बनाने वाला 14 साल का है और छठी क्लास में पढ़ता है। छात्रा 21 साल की है और यूपीएससी की तैयारी कर रही है। आरोप है कि छात्रा का फोटो मॉर्फ्ड कर उसे मजबूर किया गया। जब वह मानसिक रूप से परेशान होने लगी तो परिवार को जानकारी हुई। परिवार की शिकायत पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। कविनगर थाना प्रभारी मोहम्मद असलम ने बताया कि पुलिस साइबर सेल की मदद से जांच कर रही है।
एक रिप्लाई पड़ गया भारी
जानकारी के अनुसार, कविनगर थाना क्षेत्र में रहने वाली एक लड़की (21) ऑनलाइन पढ़ाई के लिए टेलीग्राम पर एक स्टडी ग्रुप से जुड़ी है। इसमें कई विषयों के बारे में डिटेल आती है। उसने बताया कि 7 मई को उसके पास एक पर्सनल मेसेज आया। इसमें पढ़ाई से जुड़ी बातें ही थीं। इस पर उसने रिप्लाई कर दिया। कुछ देर बाद ही उसे मॉर्फ्ड फोटो भेज दिया गया।


मॉर्फ्ड फोटो भेजकर बनाया दबाव
मॉर्फ्ड फोटो भेजकर आरोपी छात्र ने उसे धमकी देकर सेक्स चैट करने का दबाव बनाया। परिवार को बताने पर फोटो वायरल करने की धमकी भी दी गई। कुछ दिन बच्ची डरी रही। उसके गुमसुम होने पर परिवार ने बात की तो सच्चाई का पता चला। आरोप है कि छात्र की तरफ से डिमांड थी कि या तो पैसे दिए जाएं या अश्लील चैट की जाए।

14 साल का है आरोपी


पुलिस के अनुसार, शुरुआती जांच में पता चला कि आरोपी की उम्र 14 साल है और वह छठी क्लास में पढ़ता है। वह भी टेलीग्राम के उस स्टडी ग्रुप में जुड़ा है। मुकदमा दर्ज करने के बाद दोनों के परिवार को बुलाया गया है। अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दी गई है। हालांकि, छात्र अबतक यह कह रहा है कि उसका फोन हैक हो गया था और उसे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

'ऑनलाइन क्लास के दौरान पैरंट्स रहें अलर्ट'
मनोचिकित्सक डॉ. संजीव त्यागी ने बताया कि बच्चों के हाथ में मोबाइल दो धारी तलवार की तरह है। उन पर नजर रखना जरूरी है। बच्चा जब ऑनलाइन क्लास के लिए मोबाइल यूज कर रहा है तो उस पर नजर रखें। पढ़ाई के लिए जगह तय करें। इसके अलावा बच्चा अकेला है तो अचानक कमरे में जाकर उसकी अंगुलियों को देखें, अगर वह आपके आते ही तेज हुई हैं तो अलर्ट होने की जरूरत है।


फतेहपुर में बड़ा संक्रमण, आवागमन बंद

सुनील पुरी


फतेहपुर! परदेश से कोरोना कैरियर बन कर लौटे प्रवासियों के कारण जिले में कोरोना ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। 18 मई को भेजी गई रिपोर्ट में गुरुवार को प्रशासन को 12 जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई। जिसमें पांच कोरोना संक्रमित और सात की रिपोर्ट निगेटिव है। इसी के साथ जिले में कोरोना केस की सख्या 29 हो गई है।


डीएम संजीव सिंह ने बताया कि गुरुवार की रिपोर्ट में पांच प्रवासी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। विजयीपुर ब्लाक के सेलरहा गांव का युवक 17 मई को गाजियाबाद से लौटा था। कोरोना के लक्षण मिलने पर युवक को क्वारंटाइन सेंटर भेजते हुए सैम्पल जांच के लिए भेजा गया था। वहीं हथगाम ब्लाक के बेहटाापर के दो युवक 16 मई को मुंबई से साथ लौटे थे। लौटने के दूसरे दिन ही एक युवक की तबियत बिगड़ने पर सीएचसी हथगाम पहुंचा था। जहां कोरोना संक्रमण के लक्षण मिलने पर उसे और उसके साथ आए युवक को क्वारंटाइन सेंटर भेजते हुए सैम्पल जांच के लिए भेजा गया था। इसी तरह भिटौरा ब्लाक के देहुली गांव में 13 मई को दो युवक गांव लौटे थे। 17 मई को एक युवक में लक्षण पाए जाने पर उसकी और उसके साथ आए युवक का सैम्पल भेजा गया था। 18 मई को भेजी गई सभी रिपोर्ट गुरुवार को सुबह प्राप्त हुई। पाजिटिव केस मिलने के बाद तीनों गांवों का गाइडलाइन के मुताबिक सील करते हुए आवागमन रोक दिया गया है। गांवों में सेनेटाइजेशन के साथ ग्रामीणों से अपील की गई है कि वह अपने घरों में रहे और संक्रमण से बचाव के उपायों का पालन करें।


ट्रक के साथ टक्कर, चार लोगों की मौत

गया! बिहार के गया जिले के टेकारी थाना क्षेत्र में ट्रक और खनन विभाग के वाहन में हुई टक्कर में चार लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में दो होमगार्ड के जवान और एक स्पेशल ऑक्जीलरी पुलिस (सैप) का जवान तथा एक चालक शामिल है।


पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि गुरुवार की देर रात पंचानपुर-गया मार्ग पर खनन विभाग के अधिकारी छापेमारी के लिए निकले थे। कोसमा पहाड़ी से गिट्टी लेकर पंचानपुर की ओर जा रही मोरम लदे ट्रक को पुलिस वाले रुकवा रहे थे। इस दौरान ट्रक की चपेट में खनन विभाग की गाड़ी आ गई और दर्दनाक हादसा हुआ। घटना के बाद चालक ट्रक को छोड़कर भाग गया।टेकारी के थाना प्रभारी ने राम लखन पंडित ने बताया कि इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई है, जिसमें दो होमगार्ड के जवान, एक सैप का जवान और एक चालक शामिल हैं। पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है तथा दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही है।


रियायत के बाद सड़कों पर निकले लोग

नई दिल्ली । केंद्र सरकार ने लॉकडाउन 4.0 में कई रियायतें दी है। जिसकी वजह से आम लोग अब सड़कों पर निकले रहे हैं। लोग अपने काम पर जा रहे हैं। अपने घर जा रहे है। इसी बीच आज सुबह से दिल्ली के नजदीक नोएडा- गाजीपुर बॉर्डर पर वाहनों की लंबी लाइन लग गई है। लोग  सड़को पर कारों को लेकर निकल आए हैं। जिसकी वजह से यह हालत हुई। बता दें यह जाम दिल्ली के कालिंदी कुंज एरिया में लगा है। यहां से बड़ी संख्या में लोग काम के लिए नोएडा- गाजियाबाद जाते हैं।


2 कोरोना संक्रमित मिलने से हड़कंप मचा

देवम मेहत्ता की रिपोर्ट


रुड़की! दो कोरोना पॉजिटिव मरीज़ सामने आने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है हरिद्वार ज़िले में अब कोरोना के मरीजों का आंकड़ा दस पहुंच गया है।


आपको बता दें रूडकी में जिस युवती में कोरोना की पुष्टि हुई है वो कुछ समय पहले ही दिल्ली से लौटी थी जिसे स्वास्थ्य विभाग की टीम ने होम कुवारन्टीन कर रखा था वहीं दूसरा युवक लंढोरा कस्बे का निवासी है जो बीती 14 मई को महाराष्ट्र से अपने घर लौटा था डॉक्टरों ने उसे भी होम कुवारन्टीन कर रखा था दोनों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आने से स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन ने मौके पर डेरा डाल लिया है! अब दोनों स्थानों को सील करने की कार्यवाही की जा रही है! उधर दोनों मामले सामने आने से स्थानीय लोगों में भी दहशत का माहौल है। अब दोनों परिवार के लोगों के सैम्पल भी जांच के लिए लैब में भेजे जाएंगे। दरअसल जब से हरिद्वार ज़िले को ग्रीन ज़ोन में सरकार द्वारा किया गया है तभी से कोरोना के मरीज़ लगातार बढ़ रहे हैं।


गोकुल में बढ़कर 58 हुई संक्रमितो की संख्या

गोकुल में एक और कोरोना पाॅजिटिव मिला, 58 हुई संक्रमितों की संख्या
  


मथुरा । गोकुल में कोरोना पाॅजिटिव मृतक एक व्यक्ति के बेटे की रिपोर्ट भी पाॅजिटिव आयी है, इसके अलावा परिवार के छह सदस्यों, एक कामवाली और ड्राइवर की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक को अपने साथ ले गई ।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 संजीव यादव के अनुसार जनपद में एक और कोरोना संक्रमित की रिपोर्ट के आने के साथ संक्रमितों की सँख्या 58 हो गई है, पूर्व में संक्रमित गोकुल निवासी व्यक्ति के परिवार में से 8 लोगों के सैंपल 18 मई को लिए गए जिनमें से उनके पुत्र की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है जबकि अन्य 7 लोगों को रिपोर्ट नेगेटिव आयी है ।


पस्त अर्थव्यवस्था को फिर बूस्टर दिया गया

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पस्त इकॉनमी को एक और बूस्टर देते हुए केंद्रीय बैंक RBI ने रेपो रेट में और कटौती का ऐलान किया है। रेपो रेट में 40 बीपीएस की कटौती कर दी गई है, जिसके बाद नया रेट 4% हो गया है। कोरोना के लॉकडाउन के बाद से यह तीसरी बार है जब आरबीआई राहतों का ऐलान कर रहा है।


रेपो रेट अब 4.4 से घटकर अब 4.0 फीसद हुआ। वहीं आरबीआई ने रिवर्स रेपो दर को घटाकर 3.35% कर दिया है। केंद्रीय बैंक ने बैंक ब्याज दरों में 0.4 फीसद की कटौती की है। आरबीआई ने कहा कि 6 बड़े प्रदेशों में औद्योगिक उत्पादन गिरा है। कोरोना की वजह से आर्थिक नुकसान हुआ है।


रेपो रेट घटाने से बैंकों को आरबीआई से कम ब्याज पर कर्ज मिल सकेंगे और इसका फायदा बैंक अपने ग्राहकों को देंगे जिसके बाद ग्राहकों की ईएमआई कम हो सकती है।


आरबीआई ने होम लोन, पर्सनल लोन, वीकल लोन की अदायगी की मासिक किस्त रोनके की अवधि अब 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दी है। मतलब कोरोना महामारी के संकट के समय लोगों को मासिक किस्त यानी ईएमआई भरने को लेकर बहरहाल चिंता करने की जरूरत नहीं है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने ईएमआई चुकाने में राहत की अवधि एक जून से बढ़ाकर 31 अगस्त तक करने का एलान किया।



  • आरबीआई गवर्नर की कुछ बड़ी बातें
    मार्च में कैपिटल गुड्स के उत्पादन में 36% गिरावट, कंज्यूमर ड्यूरेबल के उत्पादन में 33% गिरावट, औद्योगिक उत्पादन में 17% गिरावट, खरीफ की बुवाई में 44% की बढ़ोतरी, खाद्य महंगाई फिर अप्रैल में बढ़कर 8.6 फीसदी हो गई, दालों की महंगाई अगले महीनों में बढ़ सकती है, इस छमाही में महंगाई उंचाई पर बनी रहेगी, लेकिन अगली छमाही में इसमें नरमी आ सकती है


एलओसी पर 5वे दिन संघर्ष विराम का उल्लंघन

जम्मू। पाकिस्तान ने शुक्रवार को लगातार 5वें दिन नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। सेना ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में छोटे हथियारों और मोर्टार्स का पाकिस्तानी सेना की ओर से प्रयोग किया गया।


पाकिस्तानी सेना ने लगातार पांचवें दिन दो जिलों में नियंत्रण रेखा पर भारतीय चौकियों को निशाना बनाने के लिए मोर्टार दागे।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, “पाकिस्तान ने जम्मू एवं कश्मीर में 22 मई को लगभग 3.30 बजे तड़के पुंछ जिले के कृष्णाघाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास मोर्टार सहित छोटे हथियारों से गोलीबारी कर युद्धविराम का उल्लंघन किया।”


उन्होंने कहा, “भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाबी कार्रवाई कर रही है।” सेना ने कहा, “पाकिस्तान ने जम्मू के राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में सुबह लगभग 7.20 बजे फिर से अकारण गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन शुरू किया। भारतीय सेना इस पर भी करारा जवाब दे रही है।”


गौरतलब है कि अक्टूबर 2003 में दोनों देशों के बीच हुए द्विपक्षीय युद्धविराम समझौते का पाकिस्तान अक्सर उल्लंघन करता रहा है।


सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के इरादे से पाकिस्तानी सेना द्वारा अक्सर ही इस प्रकार से युद्धविराम का उल्लंघन किया जाता है। वे आतंकियों को नियंत्रण रेखा के पार भारतीय इलाके में भेजने के लिए जानबूझकर गोलीबारी कर उन्हें कवर फायर प्रदान करते हैं।


भीषण गर्मी और खतरनाक घमोरियां

गर्मी के मौसम में बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को घमौरियां बहुत ही कष्ट पहुंचाती हैं. इस मौसम में न सिर्फ कई तरह की बीमारियां पैदा होती हैं बल्कि शरीर में घमौरियों की वजह से तेज खुजली भी होती है. घमौरी से शरीर खुजलाने के कारण जलन और इचिंग भी बढ़ जाती है. इससे शरीर पर रैशेज भी हो जाते हैं. त्वचा संबंधी यह दिक्कत यूं तो बहुत बड़ी नहीं होती लेकिन सभी को परेशान कर देती है. आप चाहें तो इसे घर पर ही कुछ आसान टिप्स की मदद से ठीक कर सकते हैं. आइए आपको बताते हैं कौन से हैं वो घरेलू नुस्खे.
क्या होती है घमौरी
चिलचिलाती हुई गर्मी में जब पसीने की वजह से स्किन के पोर्स बंद हो जाते हैं, तो शरीर पर लाल रंग के छोटे-छोटे दानें निकल आते हैं. इनमें बेहद तेज खुजली होती है और जलन महसूस होती है. इन्हीं दानों को घमौरियां कहते हैं. यह अक्सर पीठ, छाती, बगल व कमर के आसपास होती है. यह कई बार अपने आप ठीक हो जाती हैं मगर कई बार इन्हें कुछ उपायों सो ठीक करना पड़ता है.
मुल्तानी मिट्टी
मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल लंबे समय से घमौरियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है. यह बंद पोर्स को खोलती है और स्किन को रिफ्रेश करती है. इसे लगाने के लिए इसको गुलाब जल के साथ मिक्स करें. फिर प्रभावित जगह पर लगा कर 20 मिनट के लिए छोड़ दें. गर्मियों में इसे रोज लगाएं और जब फर्क दिखाई पडऩे लगे तो एक दिन छोड़ कर लगाना शुरू करें. जल्द ही असर नजर आएगा.
खीरा
गर्मी की वजह से स्किन पर होने वाली खुजली को खीरा लगाकर आसानी से ठीक किया जा सकता है. यह त्वचा को तुरंत निखारता है और ठंडक पहुंचाता है. इसके लिए आधा खीरा लेकर उसे छीलें और पतले स्लाइस काट लें. इन्हें कुछ मिनटों के लिए फ्रिज में ठंडा करें और फिर उन्हें घमौरियों पर लगाएं.
बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडे में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. यह गर्मी और पसीने की वजह से शरीर पर पैदा होने वाले संक्रमण को रोकने में मदद करता है. 2 चम्मच बेकिंग सोडा को 1 कटोरी पानी में मिलाकर शरीर के प्रभावित क्षेत्र को साफ करें. रोजाना दिन में 2 बार ऐसा करने से लाभ मिलता है.
एलोवेरा जेल
एलोवेरा जेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जो गर्मी के कारण होने वाली घमौरियों से राहत दिलाते हैं. यह खुजली के साथ लाल रंगे के रैशेज को भी दूर करता है. अगर आपको घमौरियों से बचना है तो ताजा एलोवेरा जेल लगाएं. इसे कम से कम दिन में दो बार जरूर लगाएं.
बर्फ
बर्फ की ठंडक त्वचा की गर्मी और खुजली को शांत करती है. एक कॉटन के कपड़े में 2-3 आइस क्यूब लेकर उसे घमौरी वाली जगह पर लगाएं. आप चाहें तो पानी में बर्फ डालकर उसे पिघलने दें और फिर उसमें कपड़ा भिगोकर प्रभावित क्षेत्र की सिकाई कर सकते हैं. बर्फ लगाने से खुजली में राहत मिलती है.


यूपी के बरेली मंडल में रेलगाड़ियां संचालित

तेजपाल नेगी


बरेली। रेल प्रशासन द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल पर काठगोदाम, रुद्रपुर सिटी, इज्जतनगर, फर्रुखाबाद, पीलीभीत, काशीपुर, अनवरगंज, एवं हाथरस सिटी रेलवे स्टेशनों पर यात्री आरक्षण केंद्र आज से शुरू हो गए हैं। उत्तराखंड से बाहर पहली पारी में प्रातः 8.00 बजे से 12.00 बजे तक एवं दूसरी पारी में अपराहन 13.00 बजे से 17.00 बजे तक एकल खिड़की खोली जा रही हैं। जिससे यात्री 1 जून 2020 से चलने वाली ट्रेनों में अपना आरक्षण सुनिश्चित कर सकेंगे।
उत्तराखंड में लाॅकडाउन कर्फ्यू के कारण यात्री आरक्षण केंद्र को 22 मई 2020 को पहली पारी में प्रातः 8.00 बजे से 12.00 बजे तक एवं दूसरी पारी में अपराहन 13.00 बजे से 16.00 बजे तक ही एकल खिड़की खोली जाएंगी।


न्याय का देवता 'शनि', जयंती विशेष

 शनि को एक क्रूर ग्रह माना जाता है और कहा जता है कि वो अशुभ फल भी देते हैं, लेकिन ये भी माना जाता है कि असल जिंदगी में ऐसा नहीं है क्योंकि शनि न्याय करने वाले देवता हैं और वो कर्म के हिसाब से कर्मफल देने वाले दाता हैं। वे बुरे कर्म करने वाले लोगों को बुरी सजा और अच्छे कर्म करने वाले को अच्छा परिणाम देते हैं। शनि जयंती (Shani jayanti) के दिन भक्त शनि देव की पूजा करते हैं तथा उन्हें शनि पीड़ा से मुक्ति की प्रार्थना (Prayer) करते हैं। शनि जयंती सबसे सुनहरा अवसर है शनि संबंधी सरल और पवित्र टोटके (Tricks) आजमाने के लिए। यह 15 सरलतम टोटके शुभ और हानिरहित हैं …


 

यह भी पढ़ें :-  शनि जयंती विशेष : कुंडली में बैठे हैं शनि तो जरूर करें इस विधि से पूजा


 



  • पुराना जूता शनि जयंती के दिन चौराहे पर रखें।

  • शमशान घाट में लकड़ी का दान करें।

  • बहते पानी में नारियल विसर्जित करें।

  • शनि जयंती को सरसों का तेल हाथ और पैरों के नाखूनों पर लगाएं।

  • शनि जयंती के दिन बंदरों को काले चने, गुड़, केला खिलाएं।

  • शनि जयंती पर सरसों के तेल का छाया पात्र दान करें।

  • शनि जयंती से आरंभ कर चीटिंयों को 7 शनिवार काले तिल, आटा, शक्कर मिलाकर खिलाएं।

  • शनि जयंती की शाम पीपल के पेड़ के नीचे तिल या सरसों के तेल का दीपक जलाएं।

  • शनि की ढैया से ग्रस्ति व्यक्ति को हनुमान चालीसा का सुबह-शाम जप करना चाहिए।

  • आर्थिक वृद्धि के लिए आप सदैव शनिवार के दिन गेंहू पिसवाएं और गेहूं में कुछ काले चने भी मिला दें।


 


यह भी पढ़ें :- सूर्य उदय से पहले छत पर डाल दें ये, घर का हर दुख होगा दूर



  • शनि जयंती को काले रंग की चिड़िया खरीदकर उसे दोनों हाथों से आसमान में उड़ा दें। आपकी दुख-तकलीफें दूर हो जाएंगी।

  • शनि जयंती को 10 बादाम लेकर हनुमान मंदिर में जाएं। बादाम वहां रख दें और 5 बादाम घर लाकर किसी लाल वस्त्र में बांधकर धन स्थान पर रख दें।

  • शनि जयंती को काले उड़द पीसकर उसके आटे की गोलियां बनाकर मछलियों को खिलाएं।

  • शनि जयंती को आक के पौधे पर 7 लोहे की कीलें चढ़ाएं। काले घोड़े की नाल या नाव की कील से बनी लोहे की अंगूठी मध्यमा उंगली में शनि जयंती को सूर्यस्त के समय पहनें।

  • शनि जयंती के दिन लोहे का त्रिशूल महाकाल शिव, महाकाल भैरव या महाकाली मंदिर में अर्पित करें। शनि दोष के कारण विवाह में विलंब हो रहा हो, तो 250 ग्राम काली राई, नए काले कपड़े में बांधकर पीपल के पेड़ की जड़ में रख आएं और शीघ्र विवाह की प्रार्थना करें।


दिल्ली की झुग्गी बस्ती में आग, सैकड़ों खाक

 नई दिल्ली! लॉकडाउन के बीच दिल्ली के कीर्ति नगर में झुग्गियों में रहने वाले दर्जनों परिवार पर गुरुवार रात कहर बनकर टूटी! कीर्ति नगर की टिंबर मार्केट के पीछे बनी झुग्गियों में अचानक आग लग गई! रात 11 बजे शुरू हुई आग की लपटों ने एकाएक सौ से ज्यादा झुग्गियों को चपेट में ले लिया! जानकारी के मुताबिक इनमें लकड़ी के फर्नीचर का काम होता था, यही वजह है कि आग बेकाबू हो गई! प्राप्त सूचना के अनुसार किसी प्रकार की हताहत होनेे की जानकारी नहीं हुई!


कूड़े के ढेर में लगी आग, मासूम की मौत

शिमला। कोरोना संकट के बीच जिला शिमला में एक दर्दनाक हादसा पेश आया। थाना ढली के अंतर्गत डाक बंगला स्थान के पास एक नेपाली मजदूर के ढारे में आग(Fire) लग गई। आग में झुलसने से मजदूर के दो साल के बेटे की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार ये हादसा बीती रात पेश आया। संत बहादुर नाम के नेपाली मजदूर (Nepali laborer) के ढारे में आग लग गई। उसके परिवार में 6 बच्चे व व पति-पत्नी को मिलाकर कुल आठ सदस्य हैं।


 


आगजनी में अन्य सभी सदस्य तो सुरक्षित हैं लेकिन परिवार वाले बच्चे को नहीं बचा पाए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस (police) मौके पर पहुंची और बच्चे के शव को आईजीएमसी ले जाया गया। बच्चे का पोस्टमार्टम कर उसे परिजनों को सौंप दिया जाएगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


51 शहरों के लिए एयर इंडिया भरेगी उड़ान

नई दिल्ली! 51 शहरों के लिए इंडिगो एयरलाइन की बुकिंग शुरू हो गई है! एयर इंडिया ने भी ट्वीट करके कहा है कि आज दोपहर 13.30 बजे से घरेलू उड़ानों की बुकिंग शुरू हो जाएगी! अन्य किसी भी एयर लाईन की बुकिंग अभी तक शुरू नहीं हुई है! डाइरेक्टर जनरल ऑफ़ सिविल एविएशन की ओर से सभी एयर लाइंस को रूट और स्टेशन चार्ट दे दिया गया है! अब एयर लाइंस ख़ुद तय करेंगी की उन्हें किस रूट पर सेवाएं शुरू करनी है और उसके लिए बुकिंग कब से शुरू करें. कुल 8 एयरलाइंस को रूट एलॉट हुआ है जिनमें शामिल हैं- एयर इंडिया, एयर एशिया, एलायंस एयर, गो एयर, इंडिगो, स्पाइस जेट, ट्रू जेट, विस्तारा!





 

बता दें कि 25 मई को देश में घरेलू विमान सेवाएं शुरू कर दी जाएंगी यानी डॉमिस्टिक एयर ट्रैवल को खोल दिया जाएगा. इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने फाइनल एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) के तहत गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. इसमें बताया गया है कि 25 मई से घरेलू यात्रियों को किन-किन नियमों का पालन करना होगा.

 

क्या हैं नई गाइडलाइंस

 

- घरेलू यात्रा के लिए पैसेंजर्स को 2 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना जरूरी है.

- एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्क्रीनिंग करने के बाद ही अंदर एंट्री होगी.

- 14 साल से अधिक उम्र वाले पैसेंजर्स के लिए फोन में आरोग्य सेतु ऐप जरूरी है. आरोग्य सेतु में अगर ग्रीन नहीं दिखा तो एंट्री नहीं मिल पाएगी.

- यात्रियों को अपनी पर्सनल गाड़ी या आधिकृत टैक्सी सर्विस का उपयोग करना होगा.

- यात्रियों को ट्रॉली के उपयोग को कम से कम करना होगा.

- यात्रियों को बिना लाइन के बोर्डिंग पास मिलेगा.

सभी पैसेंजर्स को मास्क और ग्लव्स पहनना जरूरी होगा. जिनकी फ्लाइट के डिपार्चर में 4 घंटे का समय बाकी है उन्हें एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग में एंट्री करने दी जाएगी. इससे ज्यादा समय वालों को एयरपोर्ट बिल्डिंग में एंट्री नहीं दी जाएगी.

नॉन पीजी के 282 पदों पर वैकेंसी निकाली

नई दिल्ली! सफदरजंग हॉस्पिटल व वीएमएमसी, दिल्ली की ओर से जूनियर रेजिडेंट (नॉन-पीजी) एमबीबीएस के पदों पर 282 वैकेंसी निकाली गई हैं। ये भर्तियां कॉन्ट्रेक्ट आधार पर की जाएंगी। इच्छुक उम्मीदवार 25 मई से 31 मई के बीच अपना आवेदन पत्र ao.academic@vmmc-sjh.nic.in पर भेजकर एप्लाई कर सकते हैं।


शैक्षणिक योग्यता
– आवदेक के पास एमबीबीएस डिग्री हो और दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) में वह रजिस्टर हो।
– आवेदक ने अपना इंटर्नशिप 1 जुलाई 2016 को या उसके बाद पूरी की हो।


उन आवेदकों को स्वीकार नहीं किया जाएगा जिन्होंने किसी सरकारी अस्पताल में एक वर्षीय (नॉन पीजी) जूनियर रेजिडेंसी किया हुआ है। ऐसे में इन्हें आवेदन करने की जरूरत नहीं है।


कृषक कल्याण शुल्क में दी बड़ी राहत

मुख्यमंत्री का महत्वपूर्ण निर्णय कृषक कल्याण शुल्क में बड़ी राहत  

 

जयपुर! मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कृषक कल्याण शुल्क को लेकर खाद्य पदार्थ से जुड़े प्रदेशभर के व्यापारियों एवं उद्योगों की चिंताओं को समझते हुए उन्हें राहत देने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय किया है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि ज्वार, बाजरा, मक्का, जीरा, ईसबगोल सहित जिन कृषि जिंसों पर मंडी शुल्क पचास पैसा प्रति सैकड़ा है उन पर कृषक कल्याण शुल्क की वर्तमान दर दो रूपए प्रति सैकड़ा के स्थान पर पचास पैसा प्रति सैकड़ा प्रभारित की जाए। इसी प्रकार तिलहन-दलहन, गेहूं सहित जिन कृषि जिंसों पर मंडी शुल्क की दर एक रूपया तथा एक रूपया 60 पैसा प्रति सैंकड़ा है उन पर भी वर्तमान में प्रभारित दो रूपए प्रति सैकड़ा के स्थान पर एक रूपया प्रति सैकड़ा प्रभारित की जाए। ऊन को कृषक कल्याण शुल्क से मुक्त रखा जाएगा। 

 

श्री गहलोत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास पर खाद्य पदार्थ के कारोबार से जुड़े प्रदेशभर के व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों से चर्चा के बाद यह निर्णय किया। इससे पहले इस संबंध में उन्होंने बीते दिनों हुई वीडियो कॉफ्रेंस के दौरान मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, उद्यमियों से भी राय जानी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषक कल्याण शुल्क के कारण उद्योगों एवं व्यापारियों को हो रही तकलीफ का एहसास राज्य सरकार को है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस निर्णय से प्रदेश के खाद्य पदार्थ से जुड़े कारोबारियों एवं कृषि प्रसंस्करण उद्योगों को राहत मिलेगी। प्रतापगढ़, झालावाड़, बांसवाड़ा, जालौर, सिरोही, कोटा, बारां, भरतपुर, धौलपुर, अलवर सहित प्रदेश के अन्य सीमावर्ती जिलों में पड़ोसी राज्यों के मुकाबले दरों का अंतर कम होगा और उन्हें प्रतिस्पद्र्धात्मक रूप से व्यापार करने में आसानी होगी। व्यापार बढ़ने से राज्य सरकार का राजस्व बढ़ेगा साथ ही करापवंचन भी रूक सकेगा।  

 

श्री गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कृषि प्रसंस्करण उद्योगों एवं कृषि व्यवसाय को प्रोत्साहित किए जाने की दृष्टि से राजस्थान कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति लाई गई है। कृषि जिंसों पर प्रभारित होने वाली दरों को औचित्यपूर्ण किए जाने से कृषि प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और वे अन्य राज्यों की तुलना में प्रतिस्पद्र्धात्मक हो सकेंगे। इन उद्योगों को बढ़ावा मिलने से किसानों को भी अपनी उपज उचित दरों पर बेचने के अधिक अवसर मिल सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के इस दौर में प्रदेश के व्यापारी वर्ग ने हमारे ‘कोई भूखा न सोए‘ के संकल्प को साकार करने में पूरी मदद की है। राज्य सरकार ने मंडी व्यापारियों के हित में पूर्व में कई निर्णय किए हैं। हमारा हमेशा यह प्रयास रहा है कि प्रदेश में कारोबार को बढ़ावा मिले और ईमानदारी से व्यापार करने वाले लोगों को प्रोत्साहन मिले। चिकित्सा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि आढ़तियों की वाजिब मांगों के प्रति सरकार का नजरिया संवेदनशील है। मुख्यमंत्री कोरोना से निपटने के लिए लगातार सभी वर्गों के हित में निर्णय ले रहे हैं। यह उनके कुशल प्रबंधन का ही परिणाम है कि राजस्थान ऎसी चुनौती का मजबूती से सामना कर पा रहा है। राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ के अध्यक्ष श्री बाबूलाल गुप्ता एवं अन्य सभी प्रतिनिधियों ने संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार द्वारा जरूरतमंद वर्गों के हित में लिए गए निर्णयों पर आभार व्यक्त किया। इस दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त श्री निरंजन आर्य, कृषि विपणन विभाग के निदेशक श्री ताराचंद मीणा भी उपस्थित थे।

पानीपत में बढ़ रहा है कोरोना का कहर

पानीपत! पानीपत में एक बार फिर कोरोना का कहर देखने को मिला है।अब एक साथ चार कोरोना मरीज सामने आए हैं। इसमें एक आढ़ती के परिजन हैं जिनको कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इससे पहले आढती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी। आढ़ती का दिल्ली की ट्रैवल हिस्ट्री है।


जानकारी के मुताबिक ये कोरोना पॉजिटिव समालखा के आढ़ती के परिजन है। इसमें एक महिला और दो बच्चे शामिल है। वहीं न्यू दलबीर कोॉलोनी के एक शख्स की रिपोर्ट भी पॉजिटिव पाई गई है। यह शख्स भी दिल्ली से आया था


अन्य राज्यों में नही होगा रोडवेज का संचालन

चंडीगढ़! हरियाणा रोडवेज की बसों का संचालन प्रदेश से दूसरे राज्यों में नहीं होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री और गृहमंत्री की तरफ से आदेश जारी किये गए हैं। इसे लेकर गृहमंत्री अनिल विज और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की बातचीत हुई। जिसके बाद यह फैसला लिया गया है।


गृह मंत्री अनिल विज ने सीएम को बताया कि फिलहाल दूसरे प्रदेशों में बस चलाने से नुकसान अधिक होगा और फायदा कम। क्योंकि बाहर से बड़ी संख्या में आने वाले यात्रियों की जांच करना आसान नहीं होगा। यात्रियों की संख्या अधिक होने से दिक्कत बढ़ सकती है। इससे प्रदेश में कोरोना के केसों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ सकता है। इसलिए बसों को फिलहाल दूसरे प्रदेशों में न भेजा जाए।


गृह मंत्री के सुझाव को सीएम मनोहर लाल ने मान लिया है। गृह मंत्री ने बताया कि इस संदर्भ में सीएम ने परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा से भी बात की है और सरकार ने दूसरे प्रदेशों में बसें भेजने का निर्णय फिलहाल टाल दिया है।


मंगलवार को परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने हिमाचल, जम्मू कश्मीर, पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड आदि को पत्र लिखकर बसें चलाने के लिए एनओसी मांगी थी, ताकि रोडवेज की बसें इन प्रदेशों में भी चलाई जा सके। अब नए निर्णय के बाद बसें दूसरे प्रदेशों में नहीं जा सकेंगी।


युवक की आठवी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव

दड़ौली! हिसार के दड़ौली गांव के कोरोना पॉजिटिव युवक को लेकर डॉक्टर असमंजस की स्थिति में है। दरअसल युवक की आठवीं काेरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। ऐसे में इसे लेकर सब हैरान है। कभी नेगेटिव तो कभी पॉजिटिव रिपोर्ट आने को लेकर अब पीड़ित व्यक्ति ने भी जांच रिपोर्ट पर सवाल उठाए हैं।


आमतौर पर जब किसी की कोरोना पॉजिटिव केस की दो रिपोर्ट लगतार नेगेटिव आ जाए तो उसे नेगेटिव ही मान लिया जाता है और अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज भी कर दिया जाता है। दड़ौली गांव के पॉजिटिव युवक के साथ ऐसा नहीं है। इस युवक की शुरूआती तीन रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के बाद चौथी और पांचवी रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। मगर छठी और सातवीं रिपोर्ट के बाद अब आठवीं रिपोर्ट फिर से पॉजिटिव आई है। ऐसे में डॉक्‍टर हैरान हो गए हैं।


इससे भी हैरानी वाली बात तो ये है कि युवक में कोरोना के लक्षण नहीं है। वह स्‍वस्‍थ है। डॉक्‍टरों का कहना है कि युवक की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहद ज्‍यादा है। वह कोरोना से मुक्‍त भी नहीं हो रहा है तो वहीं बीमार भी नहीं है। ऐसे में यह केस बेहद जटिल हो गया है। एक महीने का वक्‍त बीतने काे है मगर युवक की रिपोर्ट कभी पाॅजिटिव तो कभी नेगेटिव आ रही है। युवक का इलाज अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में चल रहा है।


दड़ौली निवासी कोरोना पॉजिटिव युवक का शरीर कोरोना से लड़ रहा है। युवक के इम्यून सिस्टम के सामने कोरोना कमजोर हो रहा है। गौरतलब है कि दड़ौली निवासी 29 वर्षीय युवक गाजियाबाद से लौटा था। जिसके चलते उसने सिविल अस्पताल में कोरोना की जांच करवाई थी। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिसके बाद से वह अग्रोहा मेडिकल के आइसोलेशन वार्ड में दाखिल है।


युवक की लगातार तीन रिपोर्ट पॉजिटिव रही थी, इसके बाद उसकी चौथी रिपोर्ट नेगेटिव रही। वहीं उसकी पांचवी रिपोर्ट भी नेगेटिव रही थी, लेकिन डाक्टरों ने अग्रोहा मेडिकल में भी उसके सैंपल की जांच की थी, जिसमें उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव रही थी। इसके बाद दोबारा से उसकी जांच की गई तो छठी रिपोर्ट पॉजिटिव आई और अब सातवीं भी पॉजिटिव रिपोर्ट आने से युवक मायूस है।


उसका कहना है उसे लगा था कि उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आ जाएगी और उसे अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इससे पहले भी दड़ौली का कोरोना पॉजिटिव युवक विवादों में आ चुका है। पॉजिटिव मिलने पर आइसोलेट करने पर युवक ने फेसबुक पर लाइव आकर उपचार प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए थे। सैंपल लेने के बाद घर जाने देने की बात को लेकर युवक ने व्‍यवस्‍था को घेरा था। युवक ने कहा था कि कुछ सरकारी अस्‍पतालों में तो साबुन तक नहीं है। दूसरा उसे कोई संभाल तक नहीं रहा है तो उसके परिजनों को भी परेशान कर रखा है। यह वीडियो प्रदेशभर में वायरल हो गई थी।


युवक ने तब खुद को पूरी तरह से स्‍वस्‍थ भी बताया था। अब रिपोर्ट फिर से पॉजिटिव आने पर वह मायूस हो गया है


नुकसान के साथ, राहत-बचाव की समीक्षा

नई दिल्ली! कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल के चक्रवात एम्फन से प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति को लेकर संबंधित राज्यों और केंद्रीय एजेंसियों से जानकारी ली। समाचार एजेंसी एएनआइ ने इसकी जानकारी भारत सरकार के हवाले से दी है। राहत और बचाव कार्यों के प्रयासों की समीक्षा करते हुए उन्होंने केंद्रीय एजेंसियों के अधिकारियों को ओडिशा और पश्चिम बंगाल राज्य सरकारों के साथ संपर्क में रहने का और सभी आवश्यक सहायता शीघ्रता से प्रदान करने निर्देश दिया। 


बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात एम्फन के कारण बुधवार को हुई भारी बारिश के कारण कोलकाता एयरपोर्ट एक हिस्सा डूब गया है। गौरतलब है कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल में  एम्फन से भारी तबाही हुई है। बंगाल में इससे 12 लोगों की मौत हो गई है। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए और कुछ जगहों पर भारी बारिश की वजह से जल भराव भी हो गया। चक्रवात एम्फन बुधवार को दोपहर में करीब ढाई बजे पश्चिम बंगाल में दीघा और बांग्लादेश में हटिया द्वीप के बीच तट पर पहुंचा। इस दौरान 190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। चक्रवात के कारण तटीय क्षेत्रों में भारी तबाही हुई, बड़ी संख्या में पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए, कच्चे मकानों को भी खासा नुकसान हुआ।


समाचार पत्रों का अट्ठारह सौ करोड़ बकाया

नई दिल्ली! समाचार पत्रों के संगठन आईएनएस ने उच्चतम न्यायालय में बुधवार को कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों पर विज्ञापनों की मद में विभिन्न समाचार पत्रों की 1800 करोड़ रुपये से ज्यादा धनराशि बकाया है और निकट भविष्य में यह बकाया रकम मिलने की संभावना बहुत ही कम है!इंडियन न्यूज़पेपर सोसायटी (आईएनएस) ने मीडिया उद्योग की माली स्थिति को रेखांकित करते हुए एक हलफनामा न्यायालय में दाखिल किया है!


न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (एनबीए) ने भी एक अलग हलफनामे में इस तथ्य की ओर न्यायालय का ध्यान आकर्षित किया है!इन दोनों संगठनों ने पत्रकारों के तीन संगठन- नेशनल अलायंस ऑफ जर्नलिस्ट्स, दिल्ली यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स और बृह्नमुंबई यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स की जनहित याचिका पर जस्टिस एनवी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ द्वारा जारी किए गए नोटिस के जवाब में दाखिल हलफनामे में यह जानकारी दी.

आईएनएस से अलग एनबीए द्वारा दाखिल हलफनामे में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी और लॉकडाउन की वजह से समाचार उद्योग का कारोबार गंभीर आर्थिक संकट में आ गया है और इससे बुरी तरह प्रभावित हुआ है!एनबीए ने इस स्थिति को अप्रत्याशित बताते हुए कहा है कि समाचार उद्योग को इस आर्थिक संकट से उबारने के लिए किसी पैकेज या उपायों की सरकार ने अभी तक कोई घोषणा नहीं की है, जबकि यह चरमराने के कगार पर पहुंच गया है!


पत्रकारों के संगठनों ने अपनी याचिका में आरोप लगाया था कि 25 मार्च को देश में लॉकडाउन लागू होने का हवाला देते हुए समाचार पत्रों के प्रबंधक पत्रकारों सहित कर्मचारियों की सेवाएं खत्म कर रहे हैं, मनमाने तरीके से उनके वेतन में कटौती की जा रही है तथा कर्मचारियों को अनिश्चितकाल के लिए बगैर वेतन छुट्टी पर भेजा जा रहा है!आईएनएस ने अपने हलफनामे में कहा है कि विभिन्न उद्योगों के अनुमान के अनुसार, डीएवीपी पर विज्ञापनों का 1500 से 1800 करोड़ रुपये बकाया है. इसमें से 800 से 900 करोड़ रुपये अकेले प्रिंट मीडिया उद्योग का है.हलफनामे के अनुसार, इतनी बड़ी राशि कई महीनों से बकाया है और निकट भविष्य में इसका भुगतान होने की संभावना बहुत ही कम है.


हलफनामे में यह भी कहा गया है कि सरकारी विज्ञापनों में करीब 80 से 85 प्रतिशत की कमी हुई है और लॉकडाउन की वजह से कुछ विज्ञापनों में करीब 90 प्रतिशत की गिरावट हुई है!आईएनएस ने कहा है कि मीडिया और मनोरंजन उद्योग एफएमसीजी, ई-कॉमर्स, वित्तीय कंपनियों और ऑटोमोबाइल उद्योग जैसे दूसरे उद्योगों द्वारा विज्ञापनों पर खर्च होने वाली राशि पर ही फलता-फूलता है लेकिन लॉकडाउन की वजह से यह बुरी तरह प्रभावित हुआ है!


आईएनएस के अनुसार, विज्ञापनों में कमी की वजह से अनेक समाचार पत्र-पत्रिकाओं को अपने प्रकाशन के पन्नों की संख्या कम करनी पड़ी है और कुछ समाचार पत्रों को अपने मुद्रित संस्करण बंद करने पड़े हैं, क्योंकि इसका वितरण करने वालों ने अखबार उठाने से इनकार कर दिया है!इन संगठनों ने तीनों पत्रकार संगठनों द्वारा दाखिल जनहित याचिका खारिज करने का अनुरोध करते हुए हलफनामों में कहा है कि अनेक समाचार ब्रॉडकास्टर उसके सदस्य हैं और ये सभी निजी प्रतिष्ठान हैं! इसलिए इनके खिलाफ कोई रिट याचिका दायर नहीं की जा सकती!


लाइव लॉ के मुताबिक तर्क दिया गया है कि औद्योगिक विवाद (आईडी) अधिनियम 1947 के तहत औद्योगिक प्रतिष्ठानों की तीन श्रेणियां हैं, लेकिन याचिकाकर्ताओं ने गलत तरीके से माना है कि सभी अखबार प्रतिष्ठान 100 से अधिक श्रमिकों को रोजगार देते हैं और इस प्रकार एक श्रेणी में आते हैं!


आईएनएस ने तर्क दिया कि औद्योगिक प्रतिष्ठान जिन्हें फैक्ट्रियों अधिनियम 1948 के तहत कारखानों के रूप में परिभाषित नहीं किया गया है, जिसमें दो श्रेणियां शामिल हैं जहां 100 से कम कामगार कार्यरत हैं, वो सरकार की पूर्व अनुमति के बिना छंटनी, बंदी और वेतन कटौती लागू करने के लिए अधिनियम के अनुसार स्वतंत्र हैं!एनबीए ने तीनों पत्रकार संगठनों पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे देश के पत्रकारों का प्रतिनिधित्व करते हैं और केवल अपने हितों की रक्षा करने की कोशिश कर रहे हैं!


एनबीए ने कहा, ‘लॉकडाउन के कारण व्यवसाय की कमी, कोविड-19 के कारण व्यवसाय पर प्रभाव और वेतन व मजदूरी का निरंतर भुगतान संभावित रूप से निजी प्रतिष्ठानों को दिवालियेपन में डाल सकता है, जब तक कि सरकार द्वारा उद्योग और अर्थव्यवस्था की सुरक्षा करने के लिए उपयुक्त आर्थिक नीतियों और वित्तीय उपायों को नहीं लाया जाता है!


तीनों पत्रकार संगठनों ने अखबारों व मीडिया में नियोक्ताओं द्वारा कर्मचारियों के साथ अमानवीय और अवैध व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए दाखिल याचिका में सभी बर्खास्तगी नोटिसों को निलंबित करने, वेतन कटौती को वापस लेने, इस्तीफे प्राप्त करने से रोकने, बगैर वेतन छुट्टी पर भेजे जाने संबंधी मौखिक या लिखित रूप से दिए गए सभी नोटिस निलंबित रखने का निर्देश देने का अनुरोध सुप्रीम कोर्ट से किया है!बीते महीने कोविड-19 के संकट से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सामने आए भारी आर्थिक संकट पर जोर देते हुए न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से अनुरोध किया कि उनके लिए प्रोत्साहन पैकेज दिया जाए तथा समाचार चैनलों का 64 करोड़ रुपये से अधिक का सरकारी विज्ञापनों के बकाया का भुगतान किया जाए!


मौत के आंकड़ों से सकते में सरकार

राणा ओबरॉय


चंडीगढ़! प्रदेश में एकाएक कोरोना से मौत का आंकड़ा बढ़ने से सरकार सकते में है, क्योंकि पिछले करीब 20 दिनों में 10 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। सरकार अब डेथ ऑडिट कराएगी, ताकि पता लगाया जाए कि आखिर कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की मौत क्यों होने लगी है। गुड़गांव, फरीदाबाद और पानीपत में सबसे ज्यादा मौतें हुई है।


स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ऑडिट का जिम्मा कोविड-19 के नोडल अधिकारी डॉ ध्रुव चौधरी को सौंपा है। डॉक्टर यह जांच करेंगे कि कहीं कोरोना का कोई दूसरा वायरस तो सक्रिय नहीं है, जिससे मरीजों की मौत हो रही है।

कोरोना संक्रमण को लेकर बनाया नक्शा :

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना केसों को लेकर दिल्ली से सटे इलाकों का नक्शा तक तैयार किया है। यह नक्शा स्वास्थ्य मंत्री को दिखाया है। इसमें सामने आया कि हरियाणा में ज्यादा नए केस दिल्ली से सटे रिहायशी इलाकों में मिल रहे हैं, क्योंकि फरीदाबाद, झज्जर, गुड़गांव और सोनीपत की सब्जी मंडियों में कोरोना का संक्रमण दिल्ली से आया था।

यहां के व्यापारी हर दिन दिल्ली की आजादपुर सब्जी मंडी में जा रहे थे। नोडल अधिकारी हर दिन कोविड-19 अस्पतालों के अधिकारियों से फीडबैक लेंगे। गुड़गांव बॉर्डर से सटा कापसहेड़ा क्षेत्र कोरोना पीड़ित हो चुका है। वहां कोरोना कम्युनिटी स्प्रीड स्टेज पर जा चुका हो।

पीजीआई ने मौसी को सौंपी बच्ची की जिम्मेदारी

बहादुरगढ़! कोरोना पॉजिटिव महिला की नवजात बच्ची के देखभाल की जिम्मेदारी रोहतक पीजीआई प्रशासन ने उसकी मौसी को दे दिया है। बता दें कि बीते कुछ दिन पहले बहादुरगढ़ की कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिला ने पीजीआई रोहतक में स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया था। नवजात बच्ची की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है।


बहादुरगढ़ के कंटेनमेंट जोन से रोहतक पीजीआई में भर्ती हुई गर्भवती कोरोना पॉजिटिव महिला ने स्वस्थ बेटी को जन्म दिया था। पीजीआई ने नवजात का दूसरा कोरोना टेस्ट किया, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है।


रिपोर्ट आने के बाद पीजीआई प्रशासन ने फैसला लिया कि नवजात को उसकी मौसी को सौंप दिया जाएगा, ताकि बच्ची की देखभाल हो सके। पीजीआईएमएस के नियोनेटल विभाग ने बताया कि बहादुरगढ़ की कोरोना पॉजिटिव महिला की नवजात बेटी की लगातार दूसरी जांच रिपोर्ट निगिटिव आई है। अब अगले एक सप्ताह बच्ची की देखभाल उसकी मौसी करेगी।


नियोनेटल विभाग के हेड डॉ. जगजीत दलाल ने बताया कि बच्ची को डिस्चार्ज करने से पहले उसकी मां से पूछा गया था। इस पर उसने बहन को अपनी बेटी सौंपने की बात कही थी। क्योंकि उसके पति पहले से ही होम क्वारंटआइन में हैं। महिला की अभी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है, इसलिए उसने बेटी को संक्रमण से बचाने के लिए मौसी को देने की बात कही है।


गौरतलब है कि डॉक्टरों ने कहा कि नवजात बच्ची बिल्कुल ठीक है, वो एक सप्ताह गाय के दूध और सप्लीमेंट पर रहेगी। बच्ची को ले जाने वालों को बता दिया है कि वे हाइजिन का ध्यान रखेंगे। बच्ची को ले जाने वाली महिला का पहचान पत्र ले लिया है। इसके अलावा टीम भी बच्ची का पूरा ध्यान रखेगी।


राशि के अनुसार आपको क्या करना चाहिए

राशिफल हमें बताता है, कि आपकों राशि के अनुसार क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। इस राशिफल को 4 भागों में बांटा जाता  है, जिसमें दैनिक राशिफल, साप्ताहिक राशिफल  मासिक और वार्षिक राशिफल (Yearly Horoscope) शामिल हैं। ज्योतिष के जानकार…


मेष विवाद को बढ़ने से खुद को रोके, उत्तेजना क्रोध पर नियंत्रण रखना आपके हित में रहेगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। घर में अशांति रहेगी। कुसंगति से बचें। वस्तुएं संभालकर रखें। कोई बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है, धैर्य रखें।


वृष धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। राजकीय बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। आय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी से काम बिगड़ सकते हैं। ऐश्वर्य पर व्यय होगा। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा।


मिथुन कार्यस्थल पर सुधार होगा। योजना फलीभूत होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। मान-सम्मान मिलेगा। राजकीय बाधा दूर होगी। मतभेद समाप्त होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। कार्य में प्रगति होगी। दूसरों से अपेक्षा न करें। अज्ञात भय सताएगा। विरोधी पस्त होंगे। प्रमाद न करें।


कर्क रुका हुआ धन मिल सकता है। भाइयों व पार्टनर से सहयोग मिलेगा। व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। भाग्य अनुकूल है। समय का लाभ लें। रोजगार में वृद्धि होगी। परिवार में कोई मंगल कार्य हो सकता है। प्रसन्नता रहेगी। अपेक्षित कार्य पूर्ण होंगे।


सिंह सुख के साधनों पर अतिव्यय हो सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बोलचाल में हल्की मजाक न करें। घर-बाहर तनाव रह सकता है। कार्यकुशलता में कमी रहेगी। कोई बड़ी गलती हो सकती है। अपरिचितों पर विश्वास न करें।


कन्या लाभ के अवसर हाथ आएंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। यात्रा से लाभ होगा। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। जोखिम उठाने व जल्दबाजी करने से बचें। अतिउत्साह हानि देगा। विवाद न करें।


तुला भूले-बिसरे मित्र व संब‍ंधियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। दूसरों के काम की जवाबदारी न लें। प्रयास भरपूर करें, लाभ होगा। वरिष्ठजनों से मेल-मुलाकात होगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें।


वृश्चिक घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। मेहनत का फल मिलेगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। आय में वृद्धि होगी। कोई बड़ी समस्या का हल मिलेगा। मित्र व संबंधी सहयोग करेंगे। घर के बड़ों की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। संतान पक्ष तरक्की करेगा।


धनु शोक समाचार मिल सकता है। दौड़धूप अधिक होगी। अपेक्षाकृत कार्यों में विलंब होगा। घर-बाहर तनाव रहेगा। शांति बनाए रखें। अधिक प्रयास करने से लाभ होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। पार्टनरों से मतभेद हो सकते हैं। स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें।


मकर यात्रा मनोरंजक रहेगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। बुद्धि व ज्ञान की वृद्धि होगी। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। बड़ों की बात मानें, लाभ होगा। अच्छी खबर मिलेगी। प्रसन्नता रहेगी। वरिष्ठ जन सहयोग करेंगे। जोखिम न लें। आलस्य रहेगा।


कुंभ पुराना रोग उभर सकता है। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। विवाद को बढ़ावा न दें। संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। बुद्धि का प्रयोग लाभ में वृद्धि करेगा। दूसरों की जवाबदारी न लें।


मीन रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। नवीन वस्त्राभूषण की प्राप्ति होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। बाहरी-भीतरी मतभेद समाप्त होने से प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें। भाइयों से सहयोग मिलेगा।


जयंती पर डिजिटल भुगतान का शुभारंभ

राजीव कश्यप


अम्बिकापुर!  संचार क्रांति की स्वप्न दृष्टा स्वर्गीय राजीव गांधी के क्षेत्रीय विधायक, डॉ प्रीतम, राम जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह कार्यकारी ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष यूनुस अंसारी जनपद अध्यक्ष गंगाराम जनपद उपाध्यक्ष वीरभद्र सिंह सचिन बाबा एवं किसान मोर्चा ब्लॉक अध्यक्ष दिलीप गुप्ता के विशिष्ठ आतिथ्य व मुख्य कार्यपालन अधिकारी संजय दुबे कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा देव कुमार पैकरा के उपस्थिति में कार्यरत मनरेगा मजदूरों को बैंक सखियों के माध्यम से कार्यस्थल पर ही मजदूरी का भुगतान किया गया कूल 6 स्थानों पर क्रमशः रघुनाथपुर लमगांव करौली ककनी पटोरा ड्कई मे चल रहे राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत डबरी निर्माण तालाब गहरीकरण वह समतलीकरण आदि विभिन्न कार्यों के कुल दो लाख 12 हज़ार रुपए की मजदूरी भुगतान जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के द्वारा मजदूरों को किया गया मजदूरी भुगतान में बैंक सखी कार्यस्थल पर जा जाकर भुगतान करने की प्रक्रिया को कर रहे हैं! इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक डॉ प्रीतम राम एवं जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती मधु सिंह ने उपस्थित मजदूरों को कहा कि कोरोना महामारी से हमें डरने की जरूरत नहीं है!बल्कि इससे लड़ने की आवश्यकता है! कोरोना अब हमारे जीवन शैली में शामिल हो जाएगा और हमें इसके साथ ही बतौर एतिहात सुरक्षा एवं बचाव तथा स्वच्छता के साथ संपूर्ण सावधानी बरतते हुए इस कोरोना रूपी राक्षस को अपने गांव क्षेत्र में आने से रोकना होगा! जिसके लिए आप हम सब मिलकर ही इस संकट को आने से रोक सकते हैं। जनप्रतिनिधियों ने मनरेगा द्वारा चल रहे अन्य कार्यों का भी इस दौरान निरीक्षण किया।


अंफान तूफान ने बंगाल में मचाई तबाही

नई दिल्ली! बुधवार को पश्चिम बंगाल और ओडिशा में अम्फान तूफान ने दस्तक दी थी! 160 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाले अम्फान तूफान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई है! माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में 283 साल बाद ऐसा भयानक तूफान आया था! एक अनुमान के मुताबिक इस तूफान से राज्य में एक लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा का नुकसान हुआ है!






 





प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 23, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57547


1. अंक-283 (साल-01)
2. शनिवार, मई 23, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि- अमावस्या, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:45,सूर्यास्त 07:08।


5. न्‍यूनतम तापमान 24+ डी.सै.,अधिकतम-40+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...