रविवार, 9 अगस्त 2020

बिहार में भी 3934 नए संक्रमित मिले

पटना। बिहार स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में आज कोरोना के 3934 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद राज्य में कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 79,720 हो गई है। नए मामलों में राजधानी पटना में सबसे ज्यादा 781 नए मामले मिले हैं। बेगूसराय में 244, भोजपुर में 109, पूर्वी चंपारण में 162, गोपालगंज में 115, कटिहार में 177, नालंदा में 103, मुजफ्फरपुर में 128 नए मामले मिले हैं।


बिहार के पटना स्थित सीआरपीएफ सेक्टर मुख्यालय में 100 से ज्यादा जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनकी कुल संख्या 105 है। संक्रमित पाए गए जवानों में से 55 को मुजफ्फरपुर और कोइलवर में रखा गया है। वहीं 42 जवानों को पटना सिटी के कंगन घाट में बने कोविड केयर में रखा गया है। राज्य में अब तक 48,673 मरीज ठीक हो चुके हैं और स्वस्थ होने की दर 64.72 फीसद है। बिहार स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक  पिछले 24  घंटे में कोरोना से 2408 लोग ठीक हुए हैं जिसके बाद राज्य में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 48673 हो गई है। वहीं, पड़ोसी राज्य झारखंड में कोरोना वायरस के 1,084 नए मामले सामने आए। राज्य में अब कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 17,626 है जिसमें 9,067 सक्रिय मामले, 8,391 ​ठीक हो चुके मामले और 168 मौतें शामिल हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी है।           


हिमाचलः 62 नए संक्रमित मामले मिलें

शिमला। हिमाचल प्रदेश में रविवार को 62 कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं। चंबा में 23, मंडी में 14, कांगड़ा में 9, सोलन-हमीरपुर में 7-7 और कुल्लू में 2 मामले आए हैं। चंबा में 23 कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं। इनमें सात केस चंबा के पुखरी ब्लॉक और 16 केस समोटी ब्लॉक से हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की पत्नी मल्लिका नड्डा और उनके पिता सहित सभी 16 लोगों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है। कोरोना संक्रमित की बहन के संपर्क में आने के बाद इन सभी सैंपल लिए गए थे। सीएमओ डॉक्टर प्रकाश दड़ोच ने इसकी पुष्टि की है। अर्की, बद्दी, नालागढ़ और सोलन से सात कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं। मंडी जिले में 14 कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं।
हमीरपुर जिले में सात कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अर्चना सोनी ने बताया कि शनिवार देर रात प्राप्त रिपोर्टों में पॉजिटिव निकले ये सभी लोग पहले ही गृह संगरोध में रखे गए थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन्हें कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट किया जा रहा है। संक्रमित लोगों में भोरंज उपमंडल के गांव धनवीं का 19 वर्षीय युवक शामिल है। बड़सर के गांव रमेड़ा के 25 वर्षीय युवक की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। वह 28 जुलाई को श्रीनगर से आया था। गांव लोहारड़ा की 37 वर्षीय महिला और कांगू क्षेत्र के गांव झरेड़ी की 40 वर्षीय महिला भी संक्रमित पाई गई है। एक अगस्त को लेह से आए जलाड़ी क्षेत्र के गांव जंगलू के 53 वर्षीय व्यक्ति और गांव रक्कड़ डाकघर पुतरेल के 21 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसी दिन बद्दी से लौटा जोल सप्पड़ क्षेत्र के गांव कोहला पलसरी का 23 वर्षीय युवक भी संक्रमित पाया गया है।


कुल्लू जिले में कोरोना के दो नए मामले सामने आए हैं। नग्गर में बाहर से आए 23 वर्षीय मजदूर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह सेब सीजन के लिए कुल्लू आया हुआ था। इसके साथ निरमंड क्षेत्र में 25 वर्षीय महिला की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। महिला दो अगस्त को कुल्लू आई थी।             


पत्रकार के खिलाफ दर्ज मामला किया बंद

मुंबई। महाराष्ट्र की मुंबई पुलिस ने न्यूज चैनल एबीपी माझा के पत्रकार के खिलाफ दर्ज मामला लगभग तीन महीने बाद बंद कर दिया है। पत्रकार के खिलाफ उस खबर को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई थी, जिसमें कथित तौर पर कहा गया था कि लॉकडाउन के दौरान ट्रेन सेवाएं बहाल होंगी, जिसके कारण 14 अप्रैल को बांद्रा रेलवे स्टेशन के बाहर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ जमा हो गई थी। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, एबीपी माझा के पत्रकार राहुल कुलकर्णी (43) के खिलाफ बांद्रा स्टेशन से प्रवासी मजदूरों के लिए रवाना हो रही ट्रेन के बारे में कथित तौर पर गलत जानकारी देने के लिए मामला दर्ज किया गया था। बताया गया था कि इन मजदूरों को लगा कि बांद्रा स्टेशन से उत्तर प्रदेश और बिहार के लिए ट्रेन रवाना होने वाली है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक लगाने की घोषणा कीअमेरिका, पाक, चीन नज़र बनाए हुए हैं, इसलिए रक्षा रिपोर्ट वेबसाइट पर अपलोड नहीं की: निवर्तमान कैगभारत में कोविड-19 से लगभग 200 डॉक्टरों की मौत हुई है: आईएमएपापड़ से कोरोना ठीक होने का दावा करने वाले केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल संक्रमित पाए गएआंध्र प्रदेशः विजयवाड़ा के कोविड केयर सेंटर में आग लगने से 10 मरीज़ों की मौतविश्व आदिवासी दिवस: ये आदिवासियों के लिए ख़ुद से सवाल पूछने का समय है। पुलिस ने इसके बाद कुलकर्णी को हिरासत में लेते हुए कहा था कि उन्होंने रिपोर्ट में कहा था कि सरकार ट्रेनों की बहाली पर विचार कर रही है, जिससे लोगों में संदेह पैदा हुआ.पुलिस ने इस मामले में 21 जुलाई को बांद्रा अदालत में क्लोजर रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि कुलकर्णी की रिपोर्ट गलत नहीं थी लेकिन इसे देखने वाले लोगों ने इसे गलत संदर्भ में लिया। क्लोजर रिपोर्ट के मुताबिक, ‘जब कुलकर्णी को एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में रखा गया, तब उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी न्यूज रिपोर्ट रेलवे की प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रेन शुरू करने की योजना को लेकर आंतरिक सूचना पर आधारित थी। ’क्लोजर रिपोर्ट में कहा गया कि कुलकर्णी ने अपनी रिपोर्ट में कहीं भी बांद्रा स्टेशन का जिक्र तक नहीं किया था। रिपोर्ट में कहा गया, ‘उनकी न्यूज रिपोर्ट में रेलवे स्टेशनों का नाम शामिल नहीं था। यह बताया गया था कि प्रवासियों के लिए ट्रेनों की व्यवस्था करने पर विचार किया जा रहा है। ’क्लोजर रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि प्रवासी मजदूरों के बीच एक संदेश बहुत वायरल हुआ, जिसमें कहा गया कि ‘बांद्रा रेलवे स्टेशन जाना है जल्दी चलो, न्यूज चैनल पर भी सरकार ने गांव भेजने के लिए ट्रेन चालू कर दी है,’ लेकिन कुलकर्णी की रिपोर्ट में इसका भी जिक्र नहीं था.क्लोजर रिपोर्ट में आगे कहा गया, ‘लोगों ने विश्वास किया कि उनके गृहनगरों तक ले जाने के लिए लंबी दूरी की ये ट्रेन उपनगरीय लाइन स्टेशन से रवाना नहीं होंगी, बल्कि बांद्रा स्टेशन से चलेंगी इसलिए वे बांद्रा टर्मिनस के बाहर इकट्ठा हुए। ’रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि ऐसा कुछ भी नहीं था जिससे लगे कि कुलकर्णी ने गलत रिपोर्टिंग की, बल्कि इसे लोगों द्वारा गलत संदर्भ में लिया गया। इसके बाद पुलिस ने सिफारिश की कि मामले को बंद कर देना चाहिए और इसे ‘सी समरी’ के तौर पर वर्गीकृत किया जाना चाहिए, जिसका अर्थ होता है कि गलती से मामला दर्ज हुआ। इस मामले पर कुलकर्णी ने कहा, ‘अदालत ने पुलिस रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया है और मुझे राहत मिली है। मामला दर्ज होने के बाद मैंने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया का दरवाजा खटखटाया था। मेरे माता-पिता ने भी वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया था और पुलिस के इस व्यवहार को लेकर लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। ’उन्होंने कहा, ‘यह बहुत ही खतरनाक ट्रेंड है, जहां सरकार अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलना चाहती है जबकि इसे बचाकर रखना चाहिए.’वहीं, एबीपी मांझा के संपादक राजीव खांडेकर ने कहा, ‘सत्यमेव जयते, सत्य की जीत हुई। इसके अलावा मुंबई पुलिस ने उसी समय बांद्रा उपनगर में प्रवासी कामगारों की भीड़ जुटने के मामले में दो अन्य एफआईआर दर्ज की थी.इनमें से एक मुंबई के निवासी विनय दुबे के खिलाफ है, जिन पर आरोप है कि उन्होंने बांद्रा रेलवे स्टेशन पर मजदूरों के इकट्ठा होने के लिए सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड किया था। जबकि एक अन्य एफआईआर प्रवासी शख्स के खिलाफ दर्ज की गई थी, जिसने कथित तौर पर यह अफवाह फैलाई थी। पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट में कहा है कि इस मामले में गिरफ्तार विनय दुबे अफवाह फैलाने के लिए जिम्मेदार हैं।       


झारखंडः 13 शहरों में मृत्यु दर सर्वाधिक

रांची। प्रदेश के 13 शहरों में शामिल हो गया है, जहां, मृत्यु दर सबसे अधिक है। शनिवार को रांची में रिकॉर्ड 412 लोग पॉजिटिव पाये गये। जबकि, झारखंड में 1030 नये संक्रमित मिले। जिनमें मुख्यमंत्री सोरेन के 40 कर्मचारी भी शामिल है। इसी बीच राज्य में स्कूल खोलने की तैयारी चल रही है। इधर, शहर में बड़ा हादसा होने से बच गया, 176 यात्री वाला विमान क्रैश होने से बाल-बाल बचा।               


बंगाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में शनिवार को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया गया। इस दौरान पुलिस ने नियमों का उल्लंघन करने वालों पर लाठी चार्ज किया और राज्य के विभिन्न हिस्सों से तीन हजार से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। इस पर रोकथाम के लिए लॉकडाउन में सख्ती बढ़ा दी गयी है। इसके साथ ही लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जा रही है। शनिवार को पुलिस काफी सख्त दिखी। लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने कार्रवाई की। तीन हजार से अधिक लोग गिरफ्तार किये गये। अधिकारियों ने कहा कि शहर में लगभग एक हजार लोगों को गिरफ्तार किया गया।


पश्चिम बंगाल पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूरे पश्चिम बंगाल में लगभग 2561 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के कुछ हिस्सों में सामुदायिक स्तर पर संक्रमण के प्रसार को देखते हुए इसकी श्रृंखला तोड़ने के लिए 23 जुलाई से 31 अगस्त के बीच हर दो सप्ताह बाद सम्पूर्ण लॉकडाउन करने की घोषणा की थी।शनिवार को लागू किया गया संपूर्ण लॉकडाउन इसी निर्णय का एक हिस्सा था। अधिकारियों ने कहा कि इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी और निजी प्रतिष्ठान बंद रहे। नेताजी सुभाष चंद्र अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भी घरेलू उड़ानें बंद रहीं।


पाक का नया राजनैतिक 'चित्र' पदार्पण

इस्लामाबाद। पाकिस्तान सरकार ने पिछले दिनों पाकिस्तान का नया 'राजनीतिक नक़्शा' जारी किया है जिसका अनावरण खुद प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने किया है। राजनीतिक नक़्शे पर भारतीय प्रशासित कश्मीर को पाकिस्तान का क्षेत्र दिखाया गया है और इस पर ये लिखा है कि "इस (समस्या) का हल संयुक्त राष्ट्र की सिक्योरिटी काउंसिल की सिफ़ारिशें की रौशनी" में होना है। इस नक़्शे में गिलगित बल्टिस्तान को भी साफ़ तौर पर पाकिस्तान का हिस्सा दिखाया गया है। एक और क्षेत्र जिसके बंटवारे पर कई दशकों से विवाद चल रहा है वो सर क्रीक है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत और भारत के गुजरात राज्य के बीच बहती ये एक ऐसी खाड़ी है जो अरब सागर में गिरती है। बंटवारे के बाद से ही ये विवाद चला आ रहा है कि इस खाड़ी की कितनी सीमायें किस देश के अंदर हैं। पाकिस्तान का कहना है कि सर क्रीक की खाड़ी पूरी उसकी सीमा के अंदर स्थित है हालांकि भारत इस दावे को नहीं मानता और यही वजह है यहां से दोनों देश एक दूसरे के मछवारों की नांव पकड़ते रहते है।


पाकिस्तान के नए राजनीतिक नक़्शे में इस विवादित क्षेत्र यानी सर क्रीक को पाकिस्तान का हिस्सा दिखाया गया है।पाकिस्तान ने इस नए नक़्शे पर पूर्व रियासतों जूनागढ़ और मनावदर को भी अपना हिस्सा दिखाया है। ये क्षेत्र अब भारत के गुजरात राज्य का हिस्सा हैं और इनकी सीमाएं पाकिस्तान से नहीं मिलती। क्या जूनागढ़ पाकिस्तान का नया क्षेत्र है?
सन 1948 के बाद से ये क्षेत्र भारत के पास है और यहां हिन्दू धर्म का एक पवित्र स्थान 'सोमनाथ का मंदिर' भी स्थित है।पाकिस्तान का कहना है कि जूनागढ़ और मनावदर हमेशा से उसका हिस्सा थे क्योंकि जूनागढ़ के राजा ने भारत के बंटवारे के समय पाकिस्तान के साथ विलय किया था लेकिन भारत ने ताक़त के बूते पर इस रियासत पर अपना क़ब्ज़ा जमा लिया बात करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मुईद यूसुफ़ का कहना था कि "जूनागढ़ हमेशा से पाकिस्तान का हिस्सा था और नए नक़्शे पर पाकिस्तान ने इसको अपना हिस्सा दिखाया है, जिसका उद्देश्य अपनी पोजीशन साफ़ करना है। उनका कहना था नए नक़्शे में "पाकिस्तान ने कोई नया क्षेत्र अपने क्षेत्र में शामिल नहीं किया। इस क्षेत्र पर भारत ने गैर क़ानूनी क़ब्ज़ा जमाया था और इस पर कोई विवाद नहीं होना चाहिए,क्योंकि ये हमेशा से पाकिस्तान का हिस्सा है। उनका कहना था कि पाकिस्तान पहले भी जूनागढ़ को नक़्शे में दिखाता रहा है हालांकि बाद में किसी वजह से पाकिस्तान के नक़्शे से इसे निकाल दिया गया। इसको दोबारा नक़्शे पर लाये हैं और इसका मक़सद अपने क्षेत्र को लेकर पाकिस्तान की पोजीशन साफ़ करना है।         


दो गज की दूरी, 'मास्क' है जरूरी

बृजेश केसरवानी


 प्रयागराज। कोराना वायरस को लेकर जारी केंद्र और राज्य सरकार की गाइड लाइन के पालन में लापरवाही की शिकायतों पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर वह नियमों का कड़ाई से पालन नहीं कराएंगे तो अदालत को कार्रवाई करनी पड़ेगी। अदालत ने कहा कि ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ स्लोगन का पालन नहीं हो रहा है। लोगों ने अनलॉक का गलत मतलब निकाला और खुलेआम घूम रहे हैं। 


कोर्ट ने कहा है कि जिला प्रशासन व पुलिस की जिम्मेदारी है कि वह केंद्र सरकार के मास्क पहनने व शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियमों का कड़ाई से पालन कराए। क्वारंटीन सेंटरों की दुर्दशा व अस्पतालों में इलाज की बेहतर सुविधाओं को लेकर कायम जनहित याचिका की सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा तथा न्यायमूर्ति अजित कुमार की खंडपीठ ने कोरोना को लेकर सरकार के उपायों पर असंतोष जाहिर किया है। 


बाइक पर सिर्फ पति-पत्नी
कोर्ट ने कहा है कि पति-पत्नी के सिवाय किसी दो पहिया वाहन पर दो सवारी की अनुमति न दी जाए। बहुत जरूरी होने पर ही दोपहिया वाहनों पर दो सवारी की अनुमति दी जा सकती है। कोर्ट ने महानिबंधक को 12 घंटे में आदेश की प्रति प्रदेश के सभी जिलाधिकारी, एसएसपी व एसपी को भेजने का आदेश दिया है। 


टेस्ट रिपोर्ट में देरी पर जताई नाराजगी
कोर्ट ने कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने में हफ्तों की देरी पर नाराजगी जताई है और सीएमओ प्रयागराज से 20 जुलाई से पांच अगस्त के बीच टेस्ट की तारीख व रिपोर्ट देने की तारीख के ब्योरे के साथ हलफनामा मांगा है। अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल का कहना था कि टेस्ट रिपोर्ट आने में देरी बैकलाग के कारण हो रही थी, अब समय से जांच रिपोर्ट दी जा रही है। अदालत का कहना था कि कोरोना पर सरकारी डाटा से लगता है कि स्थिति नियंत्रण में है, किंतु संक्रमण बढ़ रहा है। अखबारों की रिपोर्ट उत्साहवर्धक नहीं है। लोग प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं। सरकारी व्यवस्था में खामी है। लोगों को समय से जांच रिपोर्ट नहीं मिल पा रही है। इन सभी मुद्दों पर सात अगस्त को सुनवाई होगी।            


पीड़ित बच्ची के घर पहुंचा प्रतिनिधिमंडल

प्रियंका गांधी का कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल पहुंचा पीड़ित बच्ची के घर, आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग,कल तक आरोपी की गिरफ्तारी नही हुई तो करेगे एसपी आफिस का घेराव


अतुल त्यागी


हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में गढ़मुक्तेश्वर कोतवाली क्षेत्र के गांव की रहने वाली 6 साल की मासूम बच्ची का अपरहण करने के बाद उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है, मासूम बच्ची का इलाज मेरठ के मेडिकल में चल रहा है और बच्चे की हालत अभी नाजुक बताई जा रही है, तो वही प्रियंका गांधी ने परिजनों से मुलाकात करने के लिए कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल गढ़मुक्तेश्वर के गांव बच्ची के परिवार के पास भेजा है, और परिवार को हर संभव मदद देने की बात भी प्रतिनिधि मंडल द्वारा कही गई है, आपको बता दें कि 4 दिन पूर्व घर के बाहर खेल रही मासूम बच्ची का अपहरण कर लिया गया था जिसके बाद पुलिस की भी एक बड़ी लापरवाही इसमें सामने आई थी, अगले दिन सुबह को बच्ची जंगल में बेहोशी की हालत में मिली थी जिस को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और हालत गंभीर देखते हुए बच्ची को मेरठ मेडिकल के लिए रेफर कर दिया गया था, जहां बच्चे का इलाज चल रहा है और उसके लिए 72 घंटे बहुत अहम बताए जा रहे हैं, जिसके चलते बच्चे की हालत नाजुक बनी हुई है, वही अब यह मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है और हापुड़ के कांग्रेस जिला अध्यक्ष मिथुन त्यागी के नेतृत्व में प्रियंका गांधी का कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल बच्ची के घर पहुंचा और हर संभव मदद का भी भरोसा दिया है, वहीं अगर हापुड़ पुलिस की बात की जाए तो इसमें पुलिस की बहुत बड़ी लापरवाही सामने आई और अभी तक बच्ची के गुनहगार अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं, हालांकि पुलिस ने टीम तो गठित कर दी है लेकिन अभी तक दरिंदे पुलिस के हाथ नहीं लग पाए हैं। वही बच्ची के घर पहुंचे कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि कल तक यदि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होती है तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा एसपी ऑफिस का घेराव किया जाएगा।


5 अंतरराज्यीय शातिर चोर किए गिरफ्तार

रिपोर्ट-अतुल त्यागी


अंतर्राज्यीय वाहन चोर गिरफ्तार


हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के थाना बाबूगढ़ क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पांच शातिर अंतर्राज्यीय वाहन चोरों को गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि थाना बाबूगढ़ क्षेत्र मैं एसपी संजीव सुमन व एएसपी सर्वेश मिश्रा व डीएसपी राजेश कुमार के नेतृत्व में थाना बाबूगढ़ पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही थी वही चेकिंग के दौरान 5 शातिर किसम के अंतरराज्यीय वाहन चोरों को गिरफ्तार किया है जिनके पास से 6 चोरी की कार 6 चोरी की मोटरसाइकिल जिनकी कीमत लगभग  35 लाख बताई जा रही है। वही शातिर अपराधी  शाहनवाज उर्फ गोलू,आकिब उर्फ  अक्की जनपद बिजनौर, बिलाल पुत्र यामीन, शाहरुख पुत्र  फरूक दीन, अवधेश कुमार पुत्र सोमवीर सिंह को गिरफ्तार करते हुए इनके पास से 3 दिन जिंदा कारतूस 315 बोर एक चाकू व ₹50000 की नकदी बरामद की गई है। वहीं इनका अपराधिक इतिहास पुलिस खंगालने में जुटी हुई है। सभी पर पहले से अलग अलग जिलों से मुकदमे दर्ज है।


शिक्षा नीति के खिलाफ किया गया प्रदर्शन

कटिहार। भारत छोड़ो आंदोलन की 78 वीं वर्षगांठ के अवसर पर एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष अमित पासवान के नेतृत्व में शनिवार को केबी झा कॉलेज में कोरोना के दौरान छात्रों की छह माह की फीस माफी, इंटर में नामांकन को तत्काल रोके जाने एवं नई शिक्षा नीति के खिलाफ सत्याग्रह करते हुए सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर फुरकान मंजर, मसूद रजा खान, विशाल, करन पासवान, साहिल अली, दीपा कुमारी, किरण कुमारी, कुसुम कुमारी, रमीज चौधरी, मिनाज, आसिफ इकबाल अख्तर एवं तनजीम जैद सहित अन्य एनएसयूआई के सदस्य मौजूद थे। वही संघ अध्यक्ष ने कहा कि यह छात्रों के हित के लिए बुनियादी लड़ाई है। उन्होंने कहा कि सरकार छात्र हित की बात करती है लेकिन धरातल पर स्थिति बद से बदतर है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के साथ सीमांचल में बाढ़ की स्थिति भयावह बनी हुई है। आवागमन पूरी तरह बाधित है। इसके बावजूद इंटर में नामांकन की तिथि निकाल दी गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल व बाढ़ को देखते हुए इंटर का नामांकन तत्काल रोकने की मांग संगठन कर रही है। इसी तरह छात्रों की छह माह की फीस रोकने की मांग भी की जा रही है। श्री पासवान ने कहा कि नई शिक्षा नीति में केंद्रीकरण व निजीकरण को बढ़ावा देने के खिलाफ सत्याग्रह किया जा रहा है। वही एनएसयूआई के प्रदेश सचिव निखिल कुमार सिंह के नेतृत्व में भी नई शिक्षा नीति के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने छात्र सत्याग्रह पर बैठे और सरकार की नीतियों की आलोचना की।         


हताश, निराश, लाचार हुए दिहाड़ी मजदूर

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के दौरान शहरों को सैनिटाइज़ करने के उद्देश्य से हर सप्ताहांत को लगने वाले मिनी लॉकडाउन से संक्रमण कम हुआ हो या नहीं, इसकी वजह से पहले से बरबाद जिले की अर्थव्यवस्था हाशिये पर आ गई है। अपना और अपने परिवार का पेट भरने के लिए मजबूर दिहाड़ी मजदूर लॉकडाउन के दौरान काम की तलाश में तो निकलते हैं लेकिन उन्हें खाली हाथ निराश होकर अपने घरों को वापस लौटना पड़ता है।


गाड़ी को पटरी पर आने में लगेंगे महीनों
कोरोना के चलते अभी तक औद्योगिक और व्यवसायिक गतिविधियां पूरी तरह से पटरी पर नहीं लौट पाई है। ऐसे में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों के सामने अभी भी दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना भी किसी चुनौती से कम नहीं है।


घंटों खड़े रहते हैं काम की तलाश में
गाजियाबाद के नासिरपुर फाटक के पास हर सुबह 250 से भी अधिक दिहाड़ी मज़दूर काम की तलाश में आते हैं। लेकिन, वीकेंड पर इन्हें कोई काम देने के लिए तैयार नहीं होता है। बहुत से उद्यमी और ठेकेदार इन्हें काम देना तो चाहते हैं लेकिन इस बात का डर भी रहता है कि अगर वह किसी भी तरह का कोई काम करवाएंगे तो कोई कानूनी कार्रवाई उनके खिलाफ ना हो जाए।


सैनिटाइजेशन के नाम पर बहाया जा रहा है पानी
शनिवार और इतवार को गाज़ियाबाद नगर निगम और जिला प्रशासन जिले भर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों और बाज़ारों को सैनिटाइज़ कराता है।  लेकिन अब सैनिटाइजेशन में इस्तेमाल होने वाले केमिकल की गुणवत्ता पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं। लोगों का कहना है कि बहुत सी जगहों पर सैनिटीजेशन के नाम पर सादा पानी बहाया जा रहा है।               


स्वतंत्रता दिवस पर नहीं होगें कार्यक्रम

गढ़वा। वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण शारीरिक दूरी के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह पूर्वक मनाने को लेकर शनिवार को अनुमंडल पदाधिकारी कमलेश्वर नारायण ने अनुमंडल कार्यालय में बैठक की। इसमें स्वतंत्रता दिवस को शारीरिक दूरी के साथ सिर्फ झंडारोहण करने, कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने तथा अनुमंडल कार्यालय परिसर में 500 पौधा लगाने का निर्णय लिया गया। कार्यालय परिसर में पौधारोपण के लिए कोई भी व्यक्ति या संस्था 12 अगस्त तक अपना प्रस्ताव अनुमंडल कार्यालय में जमा करा सकते हैं। अनुमंडल कार्यालय के इतिहास में पहली बार स्वतंत्रता दिवस को सांस्कृतिक कार्यक्रम कोरोना वायरस के कारण नहीं होगा और ना ही स्कूली बच्चे इसमें भाग लेंगे। कोरोना वारियर्सों को सम्मानित करने के लिए सूची तैयार करने के लिए 16 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। सर्वसम्मति से कमेटी का अध्यक्ष भाजपा नेता शारदा महेश प्रताप देव को व सदस्य अंचल अधिकारी अरुणिमा एक्का, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी कमल किशोर राणा, अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सुचित्रा कुमारी, पुलिस निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, अशोक जायसवाल, ब्रजेश चौबे, रामानंद पांडेय, महमूद आलम, धीरेंद्र चौबे, रजनीश कुमार मंगलम, लक्ष्मण राम, मुकेश चौबे, विभुति भूषण चौबे, ओमप्रकाश गुप्ता व हृदयानंद प्रसाद कमलापुरी को नियुक्त किया गया। बैठक में कार्यपालक दंडाधिकारी अजय कुमार तिर्की, अनुमंडलीय पुलिस पदाधिकारी अजीत कुमार, बीडीओ अमित कुमार, सीओअरुणिमा एक्का, डॉ संतोष कुमार, बीईईओ कमल किशोर राणा, पुलिस निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, रघुराज पांडेय, शारदा महेश प्रताप देव, विकास स्वदेशी, हृदयानंद प्रसाद कमलापुरी, सोनू सिंह, विभूति भूषण चौबे, अविनाश कुमार, उपेंद्र कुमार, लक्ष्मण राम, देवशंकर प्रसाद, रविद्र कुमार चौबे, मंटू पांडेय, राम किशुन राम, महमूद आलम सहित कई लोग उपस्थित थे।       


पिता की क्रूरता का वीडियो हुआ वायरल

पालूराम


आगरा। एक बेरहम पिता ने अपने बेटे को बेहद क्रूरता से पीटा। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। आगरा के जगनेर थाना इलाके की इस घटना में गुड्डू खान अपने 11 साल के बेटे को रस्सी से बाँधकर खिड़की से उल्टा लटका कर पीट रहा है।


बेरहम गुड्डू खान अपने बच्चे को लगातार पीटे जा रहा है और बच्चा चीख रहा है, बचने के लिए चिल्ला रहा है। लेकिन वो चाहकर भी कहीं नहीं भाग सकता है, क्योंकि उसे रस्सी से बाँधकर खिड़की से उल्टा लटका रखा है। गुड्डू खान की इस बेरहमी का पड़ोस में रहने वाले लोगों ने वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। घटना शुक्रवार (अगस्त 7, 2020) की बताई जा रही है। वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए पुलिस शनिवार (अगस्त 8, 2020) सुबह जगनेर थाना अंतर्गत मेवली गाँव में गुड्डू खान के घर पहुँची और उसे गिरफ्तार कर लिया।


पड़ोसियों ने खुलासा किया कि बच्चे की पिटाई इसलिए की गई थी क्योंकि उसने घर से गेहूँ चोरी करके पास की दुकान से बदले में मिठाई खरीद ली थी। उन्होंने आरोप लगाया कि गुड्डू खान ने बच्चे पर गर्म पानी भी फेंका था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (आगरा पश्चिम) रवि कुमार ने कहा, “45 वर्षीय गुड्डू खान को अपने बेटे को प्रताड़ित करने के लिए गिरफ्तार किया गया है। बच्चे को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। आगे की कार्रवाई के लिए उसका बयान दर्ज किया जाएगा।”


एएसपी ने बताया, “पूछताछ के दौरान खान ने दावा किया कि उसने शराब नहीं पी रखी थी, उसे सिर्फ अपने बेटे के व्यवहार को लेकर गुस्सा आ गया था। उस समय, उसकी पत्नी घर पर नहीं थी। वह तीन दिन पहले ही गुड्डू खान से झगड़े के बाद बहन के घर चली गई थी। उसके तीन बच्चे हैं। ये सबसे बड़ा लड़का है।” जगनेर के स्टेशन हाउस ऑफिसर कुशलपाल सिंह ने कहा, “वायरल वीडियो के आधार पर, गुड्डू खान के खिलाफ जुवेनाइल जस्टिस ऐक्ट, 2015 की धारा 15 और आईपीसी की धारा 323 के तहत नाबालिग बेटे की बेरहमी से पिटाई करने का मामला दर्ज किया गया है।”                


स्वतंत्रता दिवस पर नहीं होगें कार्यक्रम

गढ़वा। वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण शारीरिक दूरी के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह पूर्वक मनाने को लेकर शनिवार को अनुमंडल पदाधिकारी कमलेश्वर नारायण ने अनुमंडल कार्यालय में बैठक की। इसमें स्वतंत्रता दिवस को शारीरिक दूरी के साथ सिर्फ झंडारोहण करने, कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने तथा अनुमंडल कार्यालय परिसर में 500 पौधा लगाने का निर्णय लिया गया। कार्यालय परिसर में पौधारोपण के लिए कोई भी व्यक्ति या संस्था 12 अगस्त तक अपना प्रस्ताव अनुमंडल कार्यालय में जमा करा सकते हैं। अनुमंडल कार्यालय के इतिहास में पहली बार स्वतंत्रता दिवस को सांस्कृतिक कार्यक्रम कोरोना वायरस के कारण नहीं होगा और ना ही स्कूली बच्चे इसमें भाग लेंगे। कोरोना वारियर्सों को सम्मानित करने के लिए सूची तैयार करने के लिए 16 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। सर्वसम्मति से कमेटी का अध्यक्ष भाजपा नेता शारदा महेश प्रताप देव को व सदस्य अंचल अधिकारी अरुणिमा एक्का, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी कमल किशोर राणा, अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सुचित्रा कुमारी, पुलिस निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, अशोक जायसवाल, ब्रजेश चौबे, रामानंद पांडेय, महमूद आलम, धीरेंद्र चौबे, रजनीश कुमार मंगलम, लक्ष्मण राम, मुकेश चौबे, विभुति भूषण चौबे, ओमप्रकाश गुप्ता व हृदयानंद प्रसाद कमलापुरी को नियुक्त किया गया। बैठक में कार्यपालक दंडाधिकारी अजय कुमार तिर्की, अनुमंडलीय पुलिस पदाधिकारी अजीत कुमार, बीडीओ अमित कुमार, सीओअरुणिमा एक्का, डॉ संतोष कुमार, बीईईओ कमल किशोर राणा, पुलिस निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, रघुराज पांडेय, शारदा महेश प्रताप देव, विकास स्वदेशी, हृदयानंद प्रसाद कमलापुरी, सोनू सिंह, विभूति भूषण चौबे, अविनाश कुमार, उपेंद्र कुमार, लक्ष्मण राम, देवशंकर प्रसाद, रविद्र कुमार चौबे, मंटू पांडेय, राम किशुन राम, महमूद आलम सहित कई लोग उपस्थित थे।       


संस्था ने सैनिटाइजर-मास्क का वितरण किया

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। रोटरी क्लब कुछ ऐसी गिनी-चुनी संस्थानों में शामिल है जो समाज सेवा में हमेशा दूसरों से दो हाथ आगे रह कर काम करती है। बढ़ते कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए वसुंधरा रोटरी क्लब सेक्टर 16बी में स्थित दुर्गा मंदिर के बाहर आज हैंड सैनीटाइजर डिस्पेंसर और मास्क का वितरण किया।



इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर वार्ड 36 के पार्षद अरविंद चौधरी उपस्थित हुए। क्लब मेंबर ने पार्षद के हाथों लोगों को मास्क और सैनीटाइजर वितरण कराया । इस अवसर पर पार्षद अरविंद चौधरी ने कहा कि रोटरी क्लब समाज के लिए हर संकट की घड़ी में आगे आता है, लॉकडाउन के वक्त भी जरूरतमंद लोगों को क्लब मेंबर द्वारा राशन व अन्य सामान उपलब्ध कराया गया थ । आज भी समाज के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया ताकि लोग सुरक्षित रहे और स्वस्थ रहे ।


इस कार्यक्रम की अध्यक्षता क्लब के सदस्य कमल गोयल ने की।  वही इस मौके पर क्लब के अन्य सदस्य राजेंद्र कालिया, प्रिंस अग्रवाल, आशीष, प्रवीण, संजय गुप्ता और योगेश कौशिक आदि उपस्थित रहे ।             


15 हजार का इनामी गैंगस्टर गिरफ्तार

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मुरादनगर पुलिस ने 15 हजार के इनामी गैंगस्टर क़ुरबान को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।  बुलंदशहर जिले के खुर्जा थाना क्षेत्र में राधाकृष्ण मोहल्ले का रहने वाला क़ुरबान शातिर किस्म का अपराधी है और उसके विरुद्ध 3 दर्जन से भी ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। क़ुरबान मसूरी थाने में दर्ज एक मुकदमे में 9 मई 2020 से फरार चल रहा था और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने उसकी गिरफ्तारी पर 15 हजार रुपए का इनाम घोषित था।


एसएचओ मुरादनगर अमित कुमार ने बताया कि शनिवार को हमें सूचना मिली कि क़ुरबान दुहाई के आसपास घूम रहा है।  सूचना मिलने पर हमने एक विशेष टीम बनाई और आते-जाते वाहनों की सघन चैकिंग आरंभ कर दी।  वाहन चैकिंग के दौरान देर रात लगभग 12:30 बजे क़ुरबान को गिरफ्तार कर लिया गया।  गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक जितेंद्र कुमार यादव, कांस्टेबल अनुज मालिक और कांस्टेबल नीरज पवार शामिल थे। क़ुरबान को आज न्यायिक कार्यवाही के ले अदालत में पेश किया जाएगा।                  


महामंत्री द्विवेदी ने बैठक का किया संचालन

शामली। भाजपा जिला कार्यालय में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए शनिवार को बैठक हुई। बूथ समिति सत्यापन अभियान और मंडल स्तर पर बन रही ई-बुक की समीक्षा हुई। जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर ने मंडल अध्यक्षों को दस अगस्त तक बूथ कमेटियां सत्यापित कर जमा कराने के लिए कहा है।


जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर ने बताया कि प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर कोरोनाकाल में किए गए जनसेवा कार्याें पर ई-बुक तैयार की जा रही है। मंडल स्तर पर ई-बुक बननी है और 14 अगस्त को भाजपा की प्रदेश वेबसाइट पर ई-बुक अपलोड की जाएंगी। बूथ समिति के सत्यापन का कार्य शीघ्र पूरा कर लिया जाए। जिलाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के नाम से वाट्सएप के ग्रुप जिलाध्यक्ष की अनुमति के बाद ही बनेंगे। अगर कोई भी बिना जिलाध्यक्ष की अनुमति के भाजपा के नाम से वाट्सएप ग्रुप बनाता है तो उस पर कार्रवाई होगी। बैठक का संचालन जिला महामंत्री पुनीत द्विवेदी ने किया। इस दौरान जिला मंत्री ओमप्रकाश, शामली नगर अध्यक्ष मीनू संगल, संजीव मलिक, भूपेंद्र चौधरी, शक्ति सिघल, जगदीश चौहान, ऋषिपाल फौजी, छोटू सैनी, संदीप नामदेव, रोहित कुमार, सुखदेव कुमार आदि मौजूद रहे।           


प्रशासन की लापरवाही का दंश झेलती जनता

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पड़ोसी जिले गौतम बुद्धनगर आए और आधुनिकतम कोविड 19 अस्पताल का उद्घाटन कर के वापस चले गए।  जबकि गाज़ियाबाद के एमएमजी अस्पताल में 22 जुलाई को शुरू होने वाली कोविड टेस्ट लैब 9 अगस्त की सुबह तक शुरू नहीं हो पाई है। लैब शुरू न होने के कारण गाज़ियाबाद के सैकड़ों संभावित कोरोना संक्रमितों को रिपोर्ट मिलने में देरी हो रही है। सक्षम व्यक्ति तो निजी अस्पतालों में टेस्ट करा कर अपना काम चला रहे हैं लेकिन जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण आम आदमी अभी भी दूसरे जिलों की लैब पर ही निर्भर है।


टेकनीशियनों का हो रहा है इंतज़ार


जिला स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के अनुसार लैब के लिए आवश्यक सभी उपकरण तैयार हैं।  अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा स्वास्थ्य) ने खुद गाज़ियाबाद आकर लैब की तैयारियों का जायजा लिया था और इसे जल्द ही चालू करवाने का आश्वासन भी दिया था। लेकिन 9 अगस्त 2020 तक गाज़ियाबाद जिला स्वास्थ्य विभाग मशीनों को चलाने वाले टेकनीशियन और लैब कर्मचारियों का इंतज़ार कर रहा है।


उम्मीद की जा रही है कि आने वाले हफ्ते के किसी शुभ मुहूर्त में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रिपोर्ट के जरिए एमएमजी अस्पताल की लैब का उद्घाटन कर सकते हैं।


पिछले 24 घंटों में मिले 103 संक्रमित
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटों में 103 नए संक्रमितों की पहचान हुई है। इस अवधि में 96 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। जिले में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 5769 हो गई है जिनमें से 4660 ठीक हो चुके हैं जबकि सरकारी रेकॉर्ड में 64 की मृत्यु हो चुकी है।


फायरिंग के बाद गिरफ्तार हुआ अपराधी

शाहजहांपुर। मीरानपुर कटरा थाने की टॉपटेन सूची में शामिल क्षेत्र के कंकलिया धरमपुर गांव निवासी इनामी अरुण कुमार सिंह ने गांव के ही नरेंद्र सिंह के घर में घुसकर मारपीट व फायरिग की थी। नरेंद्र सिंह ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार देर रात अरुण कुमार सिंह को दो अन्य साथी कृष्ण पाल सिंह उर्फ पप्पू व सिउरा गांव निवासी महेश सिंह यादव के साथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों के पास से तीन तमंचे व कारतूस भी मिले है। अरुण पर चोरी, लूट समेत 15 मुकदमे दर्ज है। प्रभारी निरीक्षक हरपाल सिंह बालियान ने बताया कि तीनों आरोपितों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है।         


बसपा सरकार में संतो के मंदिर का निर्माण

लखनऊ । बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि अगर 2022 में यूपी में हमारी सरकार बनती है तो ब्राह्मण समाज की आस्था के प्रतीक परशुराम और सभी जातियों के महान संतों के नाम पर अस्पतालों व सुविधायुक्त ठहरने के स्थानों का निर्माण कराया जाएगा।


उन्होंने कहा कि चार बार बनीं बसपा की सरकार में सभी वर्गों के महान संतों के नाम पर अनेक जनहित योजनाएं शुरू की गई थीं जिसे बाद में आई सपा सरकार ने जातिवादी मानसिकता व द्वेष की भावना के चलते बदल दिया। उन्होंने ये भी कहा कि कोरोना के खिलाफ केंद्र व राज्य की सरकारें पूरी तरह से कामयाब नहीं रही हैं। उनके प्रयासों में कमी रही है।


संक्रमण फैलता देख, प्रशासन सतर्क

मेदिनीनगर। पलामू जिला में कोरोना संक्रमण का शिकार एक व्यक्ति की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। उसके निवास स्थान क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए बैरिकेडिग कर उसे सील कर दिया गया है। उसके परिवार के अलावा कंटेनमेंट जोन में आने वाले तमाम लोगों की कोरोना जांच की जाएगी। पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डा केएन सिंह ने बताया कि कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। परिजनों के अलावा जोन के तमाम लोगों की जांच कराई जाएगी। मालूम हो कि शुक्रवार की सुबह 46 वर्षीय संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई थी। वह शहरी क्षेत्र के हाउसिग कालोनी क्षेत्र का रहने वाला था। पांच अगस्त को ट्रू नेट के माध्यम से उसकी जांच हुई तो वह कोरोना संक्रमित पाया गया था। उसी दिन इलाज के लिए उसे कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया था। उसे सर्दी, खांसी के अलावा सांस लेने में परेशानी हो रही थी। वह हाइपर टेंशन व डायबिटीज की बीमारी से भी ग्रसित था। शुक्रवार की सुबह अचानक उसकी तबीयत ज्यादा खराब हुई तो बेहतर इलाज के उसे रांची रिम्स रेफर कर दिया गया था। हालांकि रांची जाने के दौरान रास्ते में उसकी मौत हो गई थी। इधर, कोरोना के तय नियम-कानून के तहत शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया है।         


कश्मीर घाटी में अस्थिरता फैलाने की कोशिश

नई दिल्ली। पाकिस्तान लगातार आतंकियो को ड्रोन के जरिये हथियार और अलग अलग तरीकों से पैसा भेजकर कश्मीर घाटी में अस्थिरता फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने इसकी पुष्टि की है। पिछले दिनों सांबा, हीरानगर, कठुआ, जम्मू के ख़ौर में और राजौरी व पुंछ में इस तरह की कोशिश नाकामयाब की गई है। हथियारों की कमी के चलते घुसपैठ करके आने वाले आतंकी अपने साथ ज्यादा हथियार लेकर आ रहे हैं। सुरक्षा बलों की रिपोर्ट के मुताबिक घाटी में पिछले दिनों तीन आतंकियों को नौ हथियार देकर भेजे गए।


ज्यादातर कोशिश नाकाम
डीजीपी का कहना है कि हमने हर कोशिश अभी तक नाकाम की है। इसकी वजह से आतंकियो के पास हथियारों की कमी हो गई है। पिछले दिनों कुपवाड़ा में आतंकियो को सप्लाई किये जाने वाले हथियार पकड़े गए। पंजाब से ट्रक में भरकर हथियार घाटी में भेजा जा रहा था। इसे भी पकड़ लिया गया।


पांच करोड़ रुपये आतंकियो के लिए भेजे
घाटी में बनाये गए टेरर मोनिटरिंग ग्रुप की वजह से पाकिस्तान की आतंकी फंडिंग की कोशिशें भी पकड़ में आ रही हैं। पंजाब सीमा के जरिये करीब पांच करोड़ रुपये आतंकियो को बांटने के लिए कश्मीर भेजे गए। इनमें से डेढ़ करोड़ कैश बरामद हुआ। साढ़े तीन करोड़ रुपये बांट दिए गए थे। बाकी पैसे कहाँ गए और किस माध्यम से गये टेरर मॉनिटरिंग ग्रुप इसकी जांच कर रहा है।


गिफ्ट के बहाने टिफिन में पैसा
अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान जाने वाले लोगों को वापस आने पर गिफ्ट के बहाने पैसा भेजे जाने के मामले भी पकड़ में आये हैं। टिफिन के अंदर चिपकाकर नोट भेजे जाते हैं। अधिकारियों के मुताबिक घाटी में आतंकियों पर नकेल से बेचैन पाकिस्तान हर हथकंडा अपना रहा है जिससे यहां आतंकियो का एक महत्वपूर्ण संख्या 250 – 300 के आसपास बनी रहे और उनकी हथियारों की कमी और अन्य किल्लत दूर की जा सके।


पंचायत के विभिन्न योजनाओं की जांच

सहरसा। जिला पदाधिकारी के निर्देश पर शनिवार को सलखुआ प्रखंड के सलखुआ पंचायत के विभिन्न योजनाओं की जांच शनिवार को उप समाहर्ता सौरभ राज ने किया। जांच के बाद प्रखंड कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक भी की। उप समाहर्ता ने सलखुआ पंचायत के वार्ड नं 8, 9, 10 एवं 11 का स्थनलीय निरिक्षण किया। निरीक्षण के बाद उन्होंने प्रखंड कार्यालय में बताया कि पंचायत में कार्य ठीक हुआ है। जो भी कमियां थी उसे दूर करने का निर्देश दिया गया है। इस दौरान सलखुआ प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष मिथिलेश विजय ने बताया कि योजनाओं की जांच हुई। जिसमें कार्य ठीक पाया गया। मौके पर बीडीओ प्रेम कुमार, नवपदस्थापित बीडीओ संजय कुमार, पिन्टू कुमार , पंचायत सचिव रमाशीष पासवान, रंजन यादव एवं आदि उपस्थित थे।            


अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने-चांदी में उछाल

मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। सप्ताहांत सोना तथा चांदी में ग्राहकी के बीच हाजिर भाव मजबूती लिए रहे। बीते सप्ताह में सोना 2050 रुपये तथा चांदी 5175 रुपये प्रति किलोग्राम का उछाल लिए रही। कारोबार की शुरुआत में सोमवार को सोना 55325 रुपये पर खुलने के बाद शनिवार को 57375 रुपये प्रति दस ग्राम होकर थमा। चांदी में व्यापार की शुरुआत 62700 रुपये पर हुई वहीं अंतिम दिन सौदे 67875 रुपये के स्तर हुए। कामकाज में सोना ऊंचे में 57875 नीचे में 55300 रुपये प्रति 10 ग्राम बिका। व्यापार में चांदी ऊपर में 69150 तथा नीचे 62600 रुपये प्रति किलोग्राम बिकी। विदेशी बाजार में सोना 2035 डॉलर तथा चांदी 28.30 सेंट प्रति औंस बिकी।                


गठजोड़ से दलितों-गरीबों पर बढ़ा हमला

खोरीमहुआ। भाकपा माले के जिला कमेटी सदस्य विनय संतालिया ने शनिवार को धनवार स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेसवार्ता में कहा कि स्थानीय थानेदार इन दिनों सामंतवादियों के इशारे पर धनवार में अपनी थानेदारी चला रहे हैं। इससे पुलिस और सामंत के गठजोड़ से दलितों और गरीबों पर हमला बढ़ा है। कहा कि सामंतवादियों के सगे सम्बंधी और रिस्तेदारों को न्याय मिलेगा इसकी पूरी गारंटी ले लेते हैं, लेकिन गरीबों को न्याय मिलेगा भी या नहीं, इसकी गारंटी नहीं देते हैं और न ही इनके द्वारा दिए गए आवेदन पर किसी तरह की कार्रवाई करते हैं। हाल ही में अम्बाटांड़ के रहने वाले फूलचंद सिंह, सूरजभान सिंह, प्रशांत सिंह, भागड़ सिंह, चन्दन सिंह वगैरह महावीर यादव के घर घुस गए और महिलाओं से छेड़खानी की, जिसका महावीर और उसके भाई ने विरोध किया तो लोगों ने दोनों भाइयों के साथ बेरहमी से मारपीट की। डोमायडीह में भी डायन कह एक महिला के साथ बेरहमी से मारपीट की गई। दोनों मामले में प्राथमिकी दर्ज कर न्याय की गुहार लगाई गई है, लेकिन अब तक कार्रवाई नहीं किया जाना स्पष्ट करता है कि धनवार थाना में गरीब, दलित और कमजोर पीड़ितों की बात नहीं सुनी जाती है। उन्होंने ने पुलिस अधीक्षक से धनवार थाना में लंबित सामंती दमन से संबंधित मामले पर त्वरित कार्रवाई करने की मांग की है। चेतावनी दी है कि धनवार पुलिस का यही रवैया रहा तो माले के लोग कोरोना संक्रमण के नियमों को धत्ता बता थाना घेराव करने के लिए बाध्य होंगे। मौके पर शंकर दास, भीम यादव, चंदन मोदी, पंकज यादव, सजरुल अंसारी, अयूब अंसारी, पिटू यादव, महावीर यादव आदि थे।         


प्रखंडों में डूबने से 4 लोगों की हुई मौत

मुजफ्फरपुर। जिले के औराई, बोचहां, सरैया व मुरौल प्रखंडों में डूबने से चार लोगों की मौत हो गई। वहीं, औराई में दो लोगों को डूबने से बचा लिया गया। औराई :प्रखंड अंतर्गत अमनौर पंचायत के अमनौर निवासी बिट्टू सहनी के 11 वर्षीय पुत्र रौशन कुमार की मौत बाढ़ के पानी में डूबने से शुक्रवार की रात्रि हो गई। पूर्व मुखिया पंकज पाडेय ने बताया कि वह शुक्रवार की शाम से लापता था। शनिवार सुबह 10 बजे गाव से पश्चिम भादो रोड मे पानी में उसका शव उपलाता मिला। दरोगा मदन राम ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके पर पहुंचे भाजपा मंडल अध्यक्ष संजीत सहनी ने स्वजनों को मुआवजा देने की माग की। इधर, राजखंड उत्तरी पंचायत के राजखंड कोट टोला निवासी नटवर सिंह और बुधन बैठा को ग्रामीणों ने डूबने से बचा लिया। वे चौकी लाने मन होते हुए कोट टोला पानी में तैरकर जाने के दौरान पानी अधिक होने से डूबने लगे थे। उन्हें इलाज के लिए सैदपुर ले जाया गया। बोचहा: थाना क्षेत्र के धर्मपुर गांव में घर जाने के दौरान पैर पिछलने से बागमती नदी की उपधारा में डूबने से सुरूज राय के 43 वर्षीय पुत्र वीरेंद्र राय की मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष राजेश रंजन शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। बीडीओ सह सीओ सुभद्रा कुमारी ने राजस्व कर्मचारी रंजीत कुमार के हाथों मृतक की पत्नी को चार लाख का चेक भेजा। सरैया : बनौली निवासी स्व. नगीना राम के पुत्र हीरा राम की मौत पोखर में डूबने से हो गई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया। ढोली: मुरौल प्रखंड क्षेत्र के महमदपुर लालसे गाव में बाढ़ देखने गई राजदेव राम की 40 वर्षीय पत्नी रीना देवी की मौत बाढ़ के पानी में डूबने से हो गई। सकरा पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। सीओ पवन झा ने मामले की पुष्टि की है।         


अयोध्या से गोरखपुर तक बनेगा राजमार्ग

रुदौली/अयोध्या। रामनगरी में भव्य राम मंदिर निर्माण के साथ ही श्रद्धालुओं का सफर सुगम व सुरक्षित बनाने की कवायद चल रही है। विकास की तमाम योजनाओं का खाका खींचा जा रहा है। उनमें सबसे प्रमुख रामनगरी को सिक्स लेन से जोड़ना है। राजधानी से अयोध्या होते हुए गोरखपुर तक राष्ट्रीय राजमार्ग को सिक्स लेन बनाया जाएगा। राममंदिर निर्माण की बेला में अयोध्या के विकास को सिक्स लेन रफ्तार देगा। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय से सिक्स लेन को हरी झंडी मिल गई है। लखनऊ से अयोध्या की दूरी लगभग 120 किमी और गोरखपुर की दूरी 245 किमी है। सिक्स लेन दो चरणों में बनाया जाएगा। पहले चरण में राजधानी से रामनगरी तक व दूसरे चरण में अयोध्या से गोरखपुर तक सड़क सिक्स लेन बनाई जानी है।           


लोगों ने सड़क जाम कर किया हंगामा

मुजफ्फरपुर। डीलर की मनमानी रवैये व समय से राशन नहीं देने के कारण मारवाड़ी हाई स्कूल इलाके के समीप के लोगों ने सड़क जाम कर हंगामा किया। उग्र महिलाओं ने प्रशासन विरोधी नारेबाजी की। कई महिलाओं का कहना है कि डीलर बोलता है कि मुफ्त वाला अनाज नहीं मिलेगा। जबकि हमलोगों का राशन उठाव कर बेच दिया गया है। इसके कारण इलाके की कई परिवार की महिलाओं ने सड़क जाम कर दिया। इलाके की सुमन देवी व मंजू देवी कहती है कि डीलर पर प्रशासन के आदेश का कोई असर नहीं है। गरीबों की हकमारी कर अनाज को बेच दिया जाता है। इसके कारण हमलोगों को भूखा रहना पड़ता है। जाम की सूचना पर नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर सभी को समझाकर शांत कराया। पुलिस अधिकारी द्वारा समझाने व आश्वासन देने के बाद लोगों ने जाम समाप्त किया। इसके कारण करीब एक घंटे तक इलाके में आवागमन बाधित रहा। लोगों का कहना है कि जाम की सूचना पर पुलिस पहुंची। लेकिन संबंधित विभाग के अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे।         


सड़क हादसे में बाइक सवार युवक की मौत

करनाल। सड़क हादसे में बाइक सवार एक युवक की मौत हो गई। गांव कोयर वासी अंकुश ने बताया कि वह एक प्रमुख कंपनी में काम करता है जबकि उसके साथ गांव का ही रहने वाला बंसत भी काम कर रहा था। वे दोनों अपनी डयूटी के लिए गांव से करनाल आ रहे थे। जैसे ही वे गांव सग्गा के समीप पहुंचे तो एक कार चालक ने कार को लापरवाही से चलाते हुए उन्हें टक्कर मार दी, जिसमें बसंत गंभीर रूप से घायल हो गया जबकि वह भी चोटिल हुआ। घायल अवस्था में बंसत को करनाल के सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपित कार चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया जबकि शव पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया है।           


गोपालगंज में बाढ़ के कारण फसलें बर्बाद

गोपालगंज। गंडक नदी के कहर में किसानों के अरमान पूरी तरह से ध्वस्त हो गए। गंडक नदी के उफान के बाद एक के बाद एक कई तटबंधों के टूटने के कारण पांच प्रखंड बाढ़ की चपेट में आ गए। इस बाढ़ ने जिले में व्यापक तबाही मचाई। बाढ़ के कारण जिले की करीब चार लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई। इस बीच करीब 15 हजार हेक्टेयर में धान व गन्ने की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई। प्रशासनिक स्तर पर भले ही फसल क्षति का आंकड़ा अबतक जारी नहीं किया गया हो, लेकिन पानी में डूबे खेत किसानों की बर्बादी की कहानी खुद करते नजर आ रहे हैं।                   


घाट सेतु का 13 को किया जाएगा उद्घाटन

गोपालगंज। 509 करोड़ की लागत से निर्मित बंगरा घाट सेतु का उद्घाटन 13 अगस्त को किया जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से इस सेतु का उद्घाटन करेंगे। इस सेतु के प्रारंभ होने से छपरा व मुजफ्फरपुर का सीधा संपर्क स्थापित हो जाएगा। साथ ही जिले से छपरा व मुजफ्फरपुर की दूरी भी कम हो जाएगी। तिथि निर्धारित होने के साथ ही प्रशासनिक स्तर पर इस सेतु के उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियां तेज हो गई है।


जानकारी के अनुसार सारण की एसएच 90 और मुजफ्फरपुर के एसएच 74 को जोड़ने वाली गंडक नदी पर बंगरा घाट सेतु का शिलान्यास कार्यक्रम 11 अप्रैल 2004 को बैकुंठपुर प्रखंड के राजापट्टी में आयोजित किया गया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस सेतु का विधिवत शिलान्यास किया था। सेतु के शिलान्यास के समय इसे अप्रैल 2019 तक पूर्ण करने की तिथि निर्धारित की गई। लेकिन भूमि अधिग्रहण को लेकर कुछ समस्याएं सामने आने के बाद निर्धारित समय सीमा के अंदर इसे पूर्ण नहीं किया जा सका। ऐसे में सेतु पूर्ण होने की तिथि को बढ़ाकर अक्टूबर 2019 निर्धारित किया गया। निर्धारित समय में भूमि अधिग्रहण का कार्य फंसा रहा और दोबारा इसके पूर्व होने की तिथि को बढ़ाकर अप्रैल 2020 निर्धारित किया गया। अप्रैल में कोरोना संकट के कारण इसका उद्घाटन कार्यक्रम एक बाद फिर टल गया। करीब 509 करोड़ रुपये की लागत से इस सेतु का निर्माण कार्य पूर्ण होने के साथ ही इसके उद्घाटन की तिथि 13 अगस्त निर्धारित की गई है। मुख्यमंत्री इसका उद्घाटन करेंगे।         


डीएम ने पौधा लगा शुरू किया अभियान

गोपालगंज। पृथ्वी दिवस के मौके पर कुचायकोट प्रखंड के बखरी में कार्यक्रम आयोजित कर सांसद व जिलाधिकारी ने पौधा लगाकर अभियान की रविवार को विधिवत शुरुआत की। सांसद ने प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक पौधा लगाने की अपील की। इस अभियान के दौरान पूरे जिले में चार लाख से अधिक पौधे लगाए जाएंगे। रविवार को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन ने कहा कि पौधे हमारे जीवन में काफी जरूरी हैं। ऐसे में पौधों को लगाने में प्रत्येक व्यक्ति को आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार इसके लिए जल जीवन व हरियाली का अभियान चला रही है। इस अभियान में उन्होंने आम लोगों को बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने को कहा। इस मौके पर जिलाधिकारी अरशद अजीज ने कहा कि इस अभियान के तहत पूरे जिले में चार लाख से अधिक पौधों को लगाने की योजना है। पौधों को सुरक्षित रखने के लिए उनके चारों को गैबियन लगाने का निर्देश दिया। ताकि पौधों को मवेशियों से नुकसान होने से बचाया जा सके। इस मौके पर उप विकास आयुक्त सज्जन आर के अलावा कई प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी व कई जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। उधर, जिले के सभी प्रखंडों में भी पृथ्वी दिवस के मौके पर पौधों को लगाने का अभियान चलाया गया। सभी प्रखंडों के बीडीओ व सीओ के अलावा स्थानीय मुखिया व अन्य जनप्रतिनिधियों ने पौधे लगाए।           


कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मिलेगी 'जीत'

मास्को। क्या 48 घंटे बाद दुनिया को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में बड़ी जीत मिलने जा रही है। रूस ने दावा किया है कि वो 12 अगस्त को कोरोना वायरस की वैक्सीन रजिस्टर करवाने जा रहा है। रूस के उप-स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि रूस 12 अगस्त को कोरोना वायरस के खिलाफ अपना पहला टीका रजिस्टर करवाएगा। ये वैक्सीन गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट और रूसी रक्षा मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से विकसित की गई है। रूस ने कहा कि अगले महीने से कोरोना वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू हो जाएगा क्योंकि वैक्सीन ने अपना अंतिम चरण ह्यूमन ट्रायल भी सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है। दावा तो ये भी किया जा रहा है कि रूस में बनाई जा रही कोरोना वैक्सीन जल्द बाजार में भी आ सकती है।


रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा कि उम्मीद की जा सकती है कि सितंबर के अंत तक ये वैक्सीन प्रोडक्शन स्तर पूरा कर लेगी। हालांकि कुछ समय पहले आई रिपोर्ट में इस बात का दावा किया जा रहा था कि रूस के गामालेया इंस्टीट्यूट की तैयार की जा रही वैक्सीन 10 अगस्त तक मार्केट में उपलब्ध हो जाएगी।         


चीन को अपने ही नागरिकों से खतरा

बीजिंग। चीन की शी जिनपिंग सरकार अपनी महत्वकांशाओं और विस्तारवादी नीतियों को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। फिर मुद्दा चीन के नागरिकों की निगरानी का हो या दुनिया पर धौंस जमाने का। चीन की शी जिनपिंग सरकार की कम्युनिस्ट पार्टी को लेकर अमेरिकी आयोग ने एक नया खुलासा किया है। अमेरिकी कांग्रेस आयोग के अनुसार चीनी कम्युनिस्ट पार्टी कोरोना वायरस डाटा की आड़ में अपनी आबादी की निगरानी कर रही है। इससे एक सवाल यह भी उठता है कि दुनिया की नाक में दम करने वाला चीन क्या अपने ही नागरिकों से खतरा महसूस कर रहा है। एक संयुक्त बयान में रॉबिन क्लीवलैंड और यूएस-चाइना इकोनॉमिक एंड सिक्योरिटी रिव्यू कमीशन के वाइस चेयरमैन कैरोलिन बार्थोलोम्यू ने कहा कि चीन सरकार द्वारा अपने नागरिकों के दमन के लिए अब यह हाई टैक तरीका अपनाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चीनी सरकार अत्याधुनिक निगरानी कैमरों द्वारा बीजिंग के हर कोने की निगरानी कर रही है। दरअसल उइगर मुसलमानों के मुद्दे व अल्पसंखयक समुदायों को लेकर चीन को बगावत का डर सताता रहता है इसलिए अपने नागरिकों  की हरकतों पर नजर रखने के लिए चीन मोटी रकम खर्च कर रहा है। फॉक्स न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार टेक स्टार्ट-अप्स के स्कोर के साथ दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश चीन में निगरानी एक तेजी से बढ़ता व्यवसाय बन गया है। चीन में ये सब कुछ इसलिए होता है, ताकि कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना सुरक्षित रहे। बेकसूरों का खून भले ही बह जाए, लेकिन CCP के एजेंडे को रत्तीभर भी फर्क न पड़े इसलिए वो लगातार अपने ही लोगों पर नजर रखती है। कई मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने चीन के अपने नागरिकों खासकर अल्पसंख्यक समूहों के इस दमन और दुर्व्यवहार के लिए चिंता जताई है।


बीजिंग इस निगरानी तंत्र के लिए एकीकृत संयुक्त संचालन मंच (IJOP) नामक एक प्रणाली का उपयोग करता है, जिसमें संपूर्ण आबादी को ऑडिट करने की क्षमता है। यह प्रणाली एक राज्य के स्वामित्व वाली सैन्य ठेकेदार चीन इलेक्ट्रॉनिक्स प्रौद्योगिकी निगम, IJOP द्वारा विकसित की गई है। कहा जाता है कि चीनी सैन्य सिद्धांतकारों ने यह शोध किया था कि इराक और अफगानिस्तान।


 श्रीराम 'निर्भयपुत्र'


किसानों को ₹2000 की छठी किस्त जारी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) की छठी किस्त के तहत 8.5 करोड़ से भी अधिक किसानों को 17,100 करोड़ रुपये की राशि जारी की। इसके तहत किसानों को हर साल दो-दो हजार रुपये की तीन किस्तों में कुल 6 हजार रुपये की सहायता दी जाती है। मोदी ने इसी के साथ कृषि अवसंरचना कोष के तहत एक लाख करोड़ रुपये की वित्तपोषण सुविधा का उद्घाटन किया। यह कोष फसलों की ‘कटाई के बाद फसल प्रबंधन अवसंरचना और ‘सामुदायिक कृषि परिसंपत्तियों के सृजन को बढावा देने के लिए शुरू किया जा रहा है। मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किसानों को संबोधित किया। इसमें देशभर के किसान, सहकारी समितियां और नागरिक जुड़े। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी इस कार्यक्रम में शामिल थे।


मंत्रिमंडल ने एक लाख करोड़ रुपये के ‘कृषि अवसंरचना कोष के तहत वित्तपोषण सुविधा के लिए केंद्रीय क्षेत्र योजना को मंजूरी दे दी है। यह कोष ‘कटाई बाद फसल प्रबंधन अवसंरचना और ‘सामुदायिक कृषि परिसंपत्तियों जैसे कि कोल्ड स्टोरेज, संग्रह केंद्रों, प्रसंस्करण इकाइयों के सृजन को उत्प्रेरित करेगा। सरकार का मानना है कि ये परिसंपत्तियां किसानों को अपनी उपज का अधिक मूल्य प्राप्त करने में सक्षम करेंगी। दरअसल, इन परिसंपत्तियों की बदौलत किसान अपनी उपज का भंडारण करने एवं ऊंचे मूल्यों पर बिक्री करने, बर्बादी को कम करने, और प्रसंस्करण एवं मूल्यवर्धन में वृद्धि करने में समर्थ हो सकेंगे। कई ऋणदाता संस्थानों के साथ साझेदारी में वित्तपोषण सुविधा के तहत एक लाख करोड़ रुपये मंजूर किए जाएंगे; सार्वजनिक क्षेत्र के 12 बैंकों में से 11 बैंकों ने पहले ही कृषि सहयोग और किसान कल्याण विभाग के साथ सहमति पत्रों (एमओयू) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं।


इन परियोजनाओं की व्यवहार्यता या लाभप्रदता बढ़ाने के लिए लाभार्थियों को तीन प्रतिशत ब्याज सब्सिडी और दो करोड़ रुपये तक की ऋण गारंटी दी जाएगी। योजना के लाभार्थियों में किसान, पीएसीएस, विपणन सहकारी समितियां, एफपीओ, एसएचजी, संयुक्त देयता समूह (जेएलजी), बहुउद्देशीय सहकारी समितियां, कृषि-उद्यमी, स्टार्ट-अप्स, और केंद्रीय/राज्य एजेंसी अथवा स्थानीय निकाय द्वारा प्रायोजित सार्वजनिक-निजी भागीदारी परियोजनाएं शामिल होंगी। दिसंबर, 2018 को शुरू की गई पीएम-किसान योजना के तहत 9.9 करोड़ से भी अधिक किसानों को 75,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का प्रत्यक्ष नकद लाभ प्रदान किया गया है।         


अमेरिका में 50 लाख से अधिक संक्रमित

जिनेवा। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है और इसके प्रकोप से अमेरिका में 50 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि ब्राजील में इस महामारी से मरने वालों की संख्या एक लाख के पार चली गई है, जिसके साथ ही विश्व भर में अब तक 1.96 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा करीब 7.26 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।


कोविड-19 के संक्रमितों के मामले में अमेरिका दुनिया भर में पहले, ब्राजील दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर है। वहीं इस महामारी से हुई मौतों के मामले में अमेरिका पहले, ब्राजील दूसरे, मेक्सिको तीसरे और ब्रिटेन चौथे स्थान पर है जबकि भारत मृतकों की संख्या के मामले में पांचवें स्थान पर है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना से विश्वभर में 196,375,06 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 726,781 लोगों की मृत्यु हुई है।


विश्व महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना से अब तक 4,99,8017 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं तथा 162,423 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील में अब तक 301,2412 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं जबकि 100,477 लोगों की मौत हो चुकी है।
भारत में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच पिछले 24 घंटों में 53,879 लोग स्वस्थ हुए तथा 861 की मृत्यु हुई। इसके साथ ही देश में कोरोना से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 21,53,011 तथा मृतकों का आंकड़ा 43,379 हो गया है। वहीं 1480885 लोग इस महामारी से ठीक हुए हैं।
रूस कोविड-19 संक्रमित मामलों में चौथे नंबर पर है और यहां इसके संक्रमण से अब तक 880,563 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 14,827 लोगों ने जान गंवाई है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है जिसके कारण कोरोना से संक्रमित होने के मामले में दक्षिण अफ्रीका पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। यहां इससे अब तक 553,188 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 10,210 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं मेक्सिको में कोरोना से अब तक 475,902 लोग संक्रमित हुए हैं तथा इस वायरस से मरने वालों की संख्या 52,006 हो गयी हैं।


पेरू में भी लगातार हालात खराब होते जा रहे है। यहां संक्रमितों की संख्या 463,875 हो गई तथा 20,649 लोगों की मौत हो चुकी है। कोविड-19 से संक्रमित होने के मामले चिली अब आठवें नंबर पर पहुंच गया है। यहां इससे अब तक 371,023 लोग संक्रमित हुए हैं और मृतकों की संख्या 10,011 है। वहीं कोलंबिया में इससे अब तक 376,870 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 12,540 लोगों की मृत्यु हुई है। ईरान संक्रमण के मामले में आठवें नंबर पर है। यहां अब तक इस महामारी से 324,692 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 18,264 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। वहीं स्पेन में कोरोना संक्रमितों की संख्या 314,362 है जबकि 28,503 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में संक्रमितों की संख्या 311,461 हो गई है और 46,651 लोगों की इसके कारण मौत हुई है।


सऊदी अरब में कोरोना संक्रमण से अब तक 287,262 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 3,130 लोगों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना से अब तक 283,487 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 6,068 लोगों की मौत हो चुकी है तथा बंगलादेश में 255,113 लोग कोरोना की चपेट में आए हैं जबकि 3,365 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। यूरोपीय देश इटली में इस जानलेवा विषाणु से 250,103 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 35,203 लोगों की मौत हुई है।
तुर्की में कोरोना संक्रमितों की संख्या 239,622 हो गयी है और 5,829 लोगों की मौत हो चुकी है। फ्रांस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 235,208 हैं और 30,327 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना से संक्रमित होने के मामले में अर्जेंटीना, जर्मनी से आगे निकल गया है। यहां पर अब तक 241,811 लोग इसकी चपेट में आए हैं तथा 4,523 लोगों की मौत हुई है। जर्मनी में 216,903 लोग संक्रमित हुए हैं और 9,201 लोगों की मौत हुई है।
कोरोना वायरस से बेल्जियम में 9870, कनाडा में 9024, नीदरलैंड में 6178, स्वीडन में 5763, इचडोर में 5916, इंडोनेशिया में 5658, मिस्र में 4992, चीन में 4681, इराक में 5310, बोलीविया में 3587, रोमानिया में 2659, फिलीपींस में 2209, ग्वाटेमाला में 2197, स्विट्जरलैंड में 1986, यूक्रेन में 1906, आयरलैंड में 1772, पुर्तगाल में 1750, पोलैंड 1800, पनामा 1609, किर्गिजस्तान 1459, होंडुरास 1476 और अफगानिस्तान 1312 लोगों की मौत हो चुकी है।                                 


शाह की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव

नई दिल्ली। उत्तर पूर्वी दिल्ली से सांसद एवं दिल्ली भारतीय  जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के ट्वीट को डिलीट कर दिया है। मनोज तिवारी ने रविवार को पहले ट्वीट कर कहा था कि अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है।


उन्होंने लिखा था, “ देश के यशस्वी गृह मंत्री अमित शाह जी का कोविड रिपोर्ट आया निगेटिव।” मनोज तिवारी ने बाद में इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है। अमित शाह दो अगस्त को कोरोना संक्रमित होने के बाद से उपचार के लिए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती हैं।                                        

राजनाथ ने फुसफुसाहट को किया खत्म

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा के बाद वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने रविवार को उन पर कटाक्ष करते हुए उनकी घोषणा को ‘फुसफुसाहट’ करार दिया। चिदंबरम ने एक बयान में कहा, “रक्षा मंत्री ने रविवार सुबह एक ‘धमाके’ का वादा किया, जो ‘फुसफुसाहट’ के साथ खत्म हो गया!” इससे पहले दिन में राजनाथ ने कहा, “रक्षा मंत्रालय अब आत्मनिर्भर भारत की पहल में एक बड़ा योगदान देने के लिए तैयार है। मंत्रालय ने रक्षा उपकरणों के उत्पादन में स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए 101 उपकरणों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है।” चिदंबरम ने बताया कि भारत में रक्षा उपकरणों का एकमात्र आयातक रक्षा मंत्रालय है। उन्होंने कहा, “किसी भी आयात पर रोक वास्तव में खुद पर रोक है। रक्षा मंत्री ने अपनी रविवार की ऐतिहासिक घोषणा में जो कहा वह केवल एक कार्यालयीन आदेश था।” कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि ‘इम्पोर्ट एम्बार्गो’ (आयात पर रोक) केवल ‘शब्दजाल’ है। इसका मतलब यह है कि हम 2 से 4 साल में वही उपकरण (जो हम आज आयात करते हैं) बनाने की कोशिश करेंगे और उसके बाद उनका आयात करना बंद कर देंगे!” बता दें कि 101 उपकरणों की सूची में न केवल आसान उपकरण, बल्कि आर्टिलरी गन, असॉल्ट राइफल, सोनार सिस्टम, परिवहन विमान, हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर और रडार जैसे हाई टेक हथियार और सिस्टम भी शामिल हैं।                             


पीएम ने लाखों की सुविधा को किया लांन्च

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कृषि क्षेत्र में विकास के लिए एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के तहत एक लाख करोड़ रुपये की वित्तपोषण सुविधा को लॉन्च किया है। निधि की घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मई में आत्मनिर्भर भारत आर्थिक पैकेज के अंतर्गत की थी। इस एक लाख करोड़ रुपये के फंड का इस्तेमाल ग्रामीण इलाकों में कृषि क्षेत्र से संबंधित ढांचे के विकास के लिए किया जाएगा जैसे कि प्राथमिक कृषि सहकारी समितियां, किसान उत्पादक संगठन और कृषि उद्यमी सहित कई अन्य को इससे मदद मिलेगी। फंड के जरिए किए जाने वाले कार्यों में कोल्ड स्टोरेज, वेयरहाउस, कलेक्शन सेंटर और प्रोसेसिंग यूनिट जैसी इकाइयों की स्थापना की जाएगी जिससे फसल के बुनियादी ढांचे का विकास होगा। सरकार के मुताबिक, उत्पादन के बाद फसलों के प्रबंधन से संबंधित बुनियादी ढांचे के विकास में भी इससे सहायता मिलेगी। किसानों के लिए फार्म-गेट के आसपास के क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में कोल्ड चेन और कटाई के बाद के प्रबंधन के बुनियादी ढांचे की कमी को देखते हुए इसकी घोषणा की गई है।


प्रधानमंत्री द्वारा पीएम-किसान योजना के तहत 8.55 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 17,100 करोड़ रुपये से अधिक की राशि भी भेजी जा चुकी है। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअल लॉन्च कार्यक्रम के दौरान विभिन्न राज्यों के किसानों से भी बात की।                                                                   


देश भावुक कर फाइलें गायब कर रही सरकार

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर करारे हमले जारी रखे हैं। उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट कर केंद्र की भाजपा सरकार पर फिर से तगड़ा हमला बोला।राहुल गांधी ने इस बार रक्षा मंत्रालय के चीन के भारतीय सीमा में अतिक्रमण संबंधी दस्तावेज को लेकर सरकार को घेरा। जिसे बाद में मंत्रालय की वेबसाइट से हटा लिया गया था। इसके साथ ही विजय माल्या को लेकर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने सरकार पर कटाक्ष किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा ‘जब जब देश भावुक हुआ, फ़ाइलें ग़ायब हुईं।माल्या हो या राफ़ेल, मोदी या चोक्सी। गुमशुदा लिस्ट में लेटेस्ट हैं चीनी अतिक्रमण वाले दस्तावेज़। ये संयोग नहीं, मोदी सरकार का लोकतंत्र-विरोधी प्रयोग है’। दरअसल, राहुल गांधी पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं। इससे पहले राहुल गांधी ने सरकार पर तीखा हमला करते हुए लिखा था कि, चीन का सामना करना तो दूर की बात है, भारत के प्रधानमंत्री में उनका नाम तक लेने का साहस नहीं है। इस बात से इनकार करना कि चीन हमारी मातृभूमि पर है और वेबसाइट से दस्तावेज़ हटाने से तथ्य नहीं बदलेंगे।         


विधायक की हत्या आरोपी मुठभेड़ में ढेर

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। यूपी के लखनऊ से बड़ी खबर आ रही है , बीजेपी विधायक की हत्या में शामिल बदमाश हनुमान पांडे उर्फ राकेश पांडे मुठभेड़ में ढेर हो गया।


राजधानी लखनऊ के सरोजनीनगर इलाके में यूपी एसटीएफ की टीम ने भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड के एक आरोपी कुख्यात बदमाश हनुमान पांडे उर्फ राकेश पांडेय को मुठभेड़ में मार गिराया है। पुलिस के मुताबिक एक लाख के इनामी रहे हनुमान पांडेय से यूपी एसटीएफ की लखनऊ के सरोजनीनगर में मुठभेड़ हुई। मारा गया बदमाश मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का करीबी था। पुलिस ने बताया कि राकेश पांडेय मऊ जनपद के कोपागंज का रहने वाला है। राकेश पांडेय कई संगीन वारदातों में शामिल था।


गौरतलब है कि मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद हनुमान पांडेय मुख्तार अंसारी के गैंग का बड़ा शूटर बन गया था। हनुमान पांडेय बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के गैंग डी-5 का सबसे सक्रिय सदस्य बताया जाता था। हनुमान पांडेय उर्फ राकेश पांडेय मुख्तार के साथ मऊ में ठेकेदार अजय प्रकाश सिंह समेत 2 लोगों की हत्या के मामले में भी आरोपी था।             


चरमराई व्यवस्था से अनियंत्रित कोरोना

अकांशु उपाध्याय


लखनऊ। प्रदेश में सरकार को सड़कों पर लगने वाली खाने पीने की दुकानों पर कुछ दिनों के लिए प्रतिबंध लगा देना चाहिए।इन दुकानों में कहीं भी सरकार के दिशा निर्देशों का पालन नही हो रहा है।स्थिति
यह है कि दिनोदिन कोरोना के मरींजों की संख्या बढ़ती जा रही है और चिकित्सा सेवाएं ध्वस्त होती जा रही हैं। इनदिनों यह देखने में आ रहा है कि जहाँ कहीं भी खानपान की दुकाने हैं।उनमें ज्यादा भीड़ उमड़ रही है।इनमें चाट, समोसा खस्ता, पानी के बतासे, डोसा, चाऊमीन,छोला भटूरा आदि वस्तुओं की दुकानें कोरोना विस्तार का माध्यम बन रही हैं।इनमे महिलाओं की संख्या से ज्यादा पुरुषों की संख्या है।जो एक के ऊपर एक चढ़े हुए सामान खरीदते और खाते दिख जायेंगे।जिनको देखकर पुलिस भी कुछ कार्रवाई नही करती है।पुलिस की शह पर लगती इन दुकानों के मालिकों पर सरकार और प्रशासन के आदेशों का कोई असर नही पड़ता है।बाजार बंदी के समय का भी यह सब उल्लंघन करते नजर आते हैं।
सरकार ने इस पर अंकुश नही लगाया तो कानपुर और लखनऊ जैसे शहरों की दशा दिनोदिन और बदतर होती जाएगी।क्योंकि खाने पीने की दुकानों पर बिकने वाला सामान एक तो खुला बिक रहा है,दूसरे वह मानकों पर भी खरा नही उतरता।यह सब खाद्य विभाग के लोग  जानते हुए भी कोई कार्रवाई नही करते हैं।कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण के बाद भी लोग किसी भी नियम को मानने को तैयार नही हैं।यह देखते हुए तमाम व्यापारी भी एकबार फिर से कुछ समय के लिए लॉकडाउन की मांग करने लगे हैं। ताकि दिनोदिन बढ़ते कोरोना संक्रमितों की संख्या पर कुछ नियंत्रण किया जा सके।              


104 संस्कृतिक विधालय बनाएगी सरकार

राणा ओबेरॉय


चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि शिक्षा में गुणात्मक सुधार के उद्देश्य से प्रदेश में 104 राजकीय स्कूलों को आदर्श संस्कृति स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। वर्तमान में राज्य में 22 आदर्श संस्कृति स्कूल हैं। मुख्यमंत्री आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, बल्लभगढ़ का उदघाटन करने उपरांत वहां उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने बल्लभगढ़ स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में नया भवन बनाने तथा सेक्टर-3 स्थित राजकीय स्कूल को आदर्श संस्कृति स्कूल बनाने की घोषणा भी की। इसके अतिरिक्त, मुख्यमंत्री ने बल्लभगढ़ में तीन परियोजनाओं का उदघाटन भी किया, जिसमें 6.20 करोड़ रुपए की लागत से बने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के तीन मंजिला नए भवन, गांव चंदावली में 24.94 लाख रुपये से निर्मित प्रवेश द्वार और 24.60 लाख रुपए की लागत से बनाए गये पार्क का उदघाटन शामिल है। उन्होंने पार्क में पौधारोपण भी किया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से स्कूलों में मजबूत इंस्फ्रास्ट्रक्चर विकसित कर उनमें सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। सरकार पांच बिन्दुओं पर पूरी एकाग्रता से कार्य कर रही है, जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, स्वावलंबन-रोजगार व स्वाभिमान शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सरकार स्कूलों में अच्छा स्टाफ व अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर बल दे रही है ताकि बच्चों को बेहतर शिक्षा मिल सके। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में परिवार पहचान पत्र का डाटा तैयार कर रही है। इसमें प्रदेश के सभी परिवारों की शैक्षणिक योग्यता, आमदनी तथा सभी अन्य सामाजिक मूल्यांकन शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार पर रोक लगाने तथा योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए परिवार पहचान पत्र काफी कारगर सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार वर्ष 2020 को ‘सुशासन संकल्प वर्ष’ के रूप में मना रही है। सरकार प्रदेश में हर प्रकार से भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था कायम करना चाहती है। इसके अलावा, प्रदेश में पांच से 15 वर्ष की आयु वर्ग के ऐसे बच्चों का रिकार्ड तैयार किया जाएगा, जो शिक्षा से वंचित हैं ताकि उनकी शिक्षा का प्रबंध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी पूरे विश्व के सामने एक नई चुनौती लेकर आई है। हम इस चुनौती का पूरी मुस्तैदी से सामना कर रहे हैं। धीरे-धीरे लोगों ने अपनी जीवनशैली में बदलाव लाना शुरू कर दिया। हर क्षेत्र में प्रौद्योगिकी का उपयोग बढ़ा है। बच्चे ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं और स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम बनाए जा रहे हैं। ‘किसान मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल’ पर अपनी फसल का विवरण दे रहे हैं। जमीन की ऑनलाइन रजिस्ट्री होने से पारदर्शिता आई और बिचौलिया व्यवस्था पर रोक लगी है। जमीन का सारा डाटा आनलाइन किया जा रहा है।


इस अवसर पर केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ की नीति के तहत मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त ईमानदार सरकार दी है। बिजली, शिक्षा, सडक़ें, स्ट्रीट लाइट सहित अनेक विकास कार्य तेजी से पूरे किए जा रहे हैं। लड़कियों के लिए अलग से कॉलेज खोले जा रहे हैं ताकि उन्हें शिक्षा प्राप्त करने के लिए अधिक दूर न जाने पड़े। गांवों में 24 घंटे बिजली देने का काम किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया में भारत को और मुख्यमंत्री मनोहर लाल भारत में हरियाणा को दूसरों के मुकाबले काफी आगे लाए हैं। परिवहन तथा खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने मुख्यमंत्री व अन्य विशिष्ट व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि स्कूल के लिए नये भवन का उदघाटन करके मुख्यमंत्री ने इस क्षेत्र को नई सौगात दी है। नया भवन बनने से बच्चों को काफी सहूलियत होगी। इस स्कूल में स्मार्ट क्लास रूम भी बनाया गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षित हरियाणा परियोजना के तहत बच्चों को आनॅलाइन शिक्षा उपलब्ध करवाई जा रही है। इस अवसर पर उन्होंने मुख्यमंत्री को स्मृति चिह्नï भी भेंट किया।
इस अवसर पर बडख़ल की विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा, तिगावं के विधायक श्री राजेश नागर, फरीदाबाद के विधायक  नरेन्द्र गुप्ता, पृथला के विधायक नयनपाल रावत तथा मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव अजय गौड़ के अतिरिक्त अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।           


हरियाणा में रिकवरी रेट 83.23 फ़ीसदी

राणा ओबरॉय/साहब राम


चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना की मरीजों की संख्या में आज फिर इजाफा हुआ है। आज कोरोना के नये 789 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी आकंड़ों के मुताबिक प्रदेश में 474 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 6338 है। प्रदेश में रिकवरी रेट 83.23 फीसदी है। आज गुरुग्राम में 99, फरीदाबाद में 149, सोनीपत में 0, रेवाड़ी में 69, अंबाला में 88, पानीपत में 126, हिसार में 36, पलवल में 27, झज्जर में 11, महेंद्रगढ़ में 32, भिवानी में 19, पंचकूला में 61, मेवात में 8, कुरुक्षेत्र में 33, फतेहाबाद में 9, जींद में 4, कैथल में 18 नये केस सामने आए हैं।            


सूफी गीतों में दर्द से उबरने की ताकत

नई दिल्ली। गायिका हर्षदीप कौर का कहना है कि सूफी संगीत में एक अजीब सा जादू है। इसमें एक दूर की दुनिया की बात की जाती है और इसके बोल दिलों को छू लेते हैं और सबसे जरूरी बात यह है कि इसमें दर्द से उबरने की ताकत है।हर्षदीप कौर ने हिंदी, पंजाबी, तेलुगू, तमिल, बंगाली और गुजराती जैसे कई भारतीय भाषाओं में गीत गाए हैं। दो रिएलिटी शोज में खुद को साबित करने के बाद कौर ने महज 16 साल की उम्र में ‘सजना मैं हारी’ गीत के साथ अपना डेब्यू किया। उस दौर को याद करती हुई वह कहती हैं, “स्कूल में उस वक्त रहते हुए अपने किसी फिल्मी गीत के रिलीज होने का अनुभव ही रोमांचक था। मैं बहुत खुश थी।” रिएलिटी शो में जीत हासिल करने के बाद बहुत कम ही कलाकार ऐसे होते हैं जो इंडस्ट्री में खुद को अच्छी तरह से स्थापित कर पाने में कामयाब होते हैं। ज्यादातर विजेता इंडस्ट्री में सफल नहीं हो पाते हैं इस बात को कौर भी स्वीकार करती हैं। उनका भी यही मानना है कि ऐसे शोज से तुरंत लोकप्रियता तो मिल जाती है, लेकिन असली सफर की शुरूआत इसके बाद ही होती है।


वह कहती हैं, “उस सफलता को बनाए रखना, बेहतर संगीत पर अपने काम को जारी रखना और अच्छे गाने गाना बहुत जरूरी है। रिएलिटी शो में जीतने का मतलब यह नहीं है कि आपकी मेहनत और आपका संघर्ष खत्म हो गया है। अपने रास्ते आने वाले हर मौके का फायदा उठाना ही मायने रखता है।” कौर फिलहाल फिल्मी गीतों के अलावा अपने स्वतंत्र गीत और नए गीतों को बनाने में व्यस्त हैं। वह कहती हैं, “मैं कुछ नए गानों को कम्पोज कर रही हूं और खुद को रिकॉर्ड कैसे करते हैं यह भी सीख रही हूं और हां, अपने बैंड के साथ मिलकर डिजिटल कॉन्सर्ट भी कर रही हूं।           


संपत्ति खरीद पर महिलाओं को बड़ी छूट

विकास कुमार


देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत प्रदेश की मातृशक्ति को बड़ी सौगात देने की तैयारी कर रहे हैं। महिलाओं को 50 लाख रुपये तक की संपत्ति खरीद पर उनसे सिर्फ एक रुपये स्टांप शुल्क लिया जाएगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को स्त्री शक्ति तीलू रौतेली एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पुरस्कार वितरण समारोह में इस बात के साफ संकेत दिए। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने अपने संबोधन में मुख्यमंत्री के समक्ष यह सुझाव रखा था।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य के विकास में महिलाओ की भूमिका को अनदेखा नहीं किया जा सकता। उन्होंने महिला किसानों व समूहों के लिए पांच लाख रुपये तक के ब्याजरहित ऋण योजना का जिक्र किया। कहा कि अनाथालयों में रहने वाले बच्चों के 18 साल की आयु पूर्ण करने के बाद उनके लिए सरकारी सेवाओं में पांच फीसद आरक्षण की व्यवस्था की गई है।
महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने कहा कि राज्य में महिलाओं के व्यापक हित में सरकार ने भूमि पर पति के साथ पत्नी को भी अधिकार देने की दिशा में कदम बढ़ाए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि महिलाओं को 50 लाख रुपये तक की संपत्ति की खरीद पर मात्र एक रुपये स्टांप शुल्क लिया जाए। वर्तमान में 25 लाख की संपत्ति खरीद पर रजिस्ट्री में महिलाओं को 25 फीसद तक की छूट दी जा रही है।               


संक्रमण को एसएसपी ने गंभीरता से लिया

रुद्रपुर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को रोकने के लिए ऊधमसिंह नगर जिले के एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने वीडियो कांफे्रस्ंिग के जरिए सभी क्षेत्राधिकारी व थाना अध्यक्षों के साथ मीटिंग कर रोष जताया। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने कहा कि गत 30 जून तक जिले में 234 कोरोना पॉजिटिव केस थे, जो अब 8 अगस्त तक 1456 हो गए हैं। जिस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने चिंता व्यक्त करते हुए कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उचित प्रबंध कर आवश्यक निर्देश दिए हैं। जिसके बाद ऊधमसिंह नगर जिले के एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने वीडियो कांफ्रेस्ंिग के जरिए सभी क्षेत्राधिकारियों व थानाध्यक्षों के सख्ती से कार्यवाही करने को निर्देशित किया है। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने निर्देशित किया है कि सभी थानाध्यक्ष अभियान के तहत कंटेनमेंट जोन/ होम क्वारंटीन/ सोशल डिस्टेंस व मास्क न पहनने वालों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्यवाही को अमल में लाया जाये। कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम द्वारा संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए अधिक से अधिक व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की जाये। कहा कि जनपद क्षेत्र अंतर्गत समस्त फैक्ट्री/ कंपनी प्रबंधक को संबंधित थाना इंचार्ज अवगत करा दें कि इनकी फैक्ट्रियों में जो भी श्रमिक बाहर से कार्य करने आ रहे हैं, उनका पहले कोविड टेस्ट कराया जाये, उसके बाद ही उसे काम पर रखा जाये। सिडकुल की प्रत्येक फैक्ट्रियों में कम से कम 10 प्रतिशत कर्मचारियों/श्रमिकों का टेस्ट अवश्य किया जाये। साथ ही कहा कि जनपद पर बाहरी राज्यों से आवागमन हेतु 11 बैरियर खोले गए हैं परंतु अन्य रास्तों से चोरी छुपे आवागमन की शिकायतें व सूचना आने पर संज्ञान लेते हुए ऐसे व्यक्तियों पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। वहीं कुछ व्यक्ति उत्तराखंड से रोज यूपी आवागमन करते हैं, जिनके संबंध में बताया गया कि ऐसे व्यक्ति विशेष सावधानी बरतें, यदि इनके द्वारा सावधानी न बरतते हुए अन्य राज्यों से संक्रमित होकर यहां संक्रमण फैलाया जायेगा तो इसकी जिम्मेदारी उन्हीं की होगी, जिसके बाद उक्त व्यक्ति पर कठोर आवश्यक कार्यवाही को अमल में लाया जायेगा।            


6 चरणों में शुरू होगी पढ़ाई, ड्राफ्ट जारी

मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। लॉकडाउन के चलते स्कूल-कॉलेज काफी समय से बंद हैं। इसलिए इन्हें दोबारा खोले जाने पर लगातार विचार-विमर्श चल रहा है। मगर कोरेाना काल में स्कूलों को संचालान किस तरह से हो और बच्चों को संक्रमण का खतरा न रहे ये सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है। इसी सिलसिले में एनसीईआरटी ने एक ड्राफ्ट गाइडलाइन तैयार किया है। जिसे सरकार को सौंपा गया है। इसमें कक्षाएं किस तरह से संचालित की जाए इस पर कई सुझाव दिए गए हैं।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एनसीईआरटी के ड्राफ्ट प्लान में स्कूलों को दोबारा खोलने पर बच्चों, पेरेंट्स व टीचर्स के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होगा इस बात पर फोकस किया गया है। ड्राफ्ट में कहा गया है कि स्कूल खुलने के बाद रोल नंबर के आधार पर कक्षाए संचालित की जाए। मतलब यहां ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू किया जा सकता है। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सकेगा।


खुले मैदानों में लगाएं क्लासेज:
एनसीईआरटी ने सुझाव दिया है कि अगर कक्षाएं खुले मैदानों (Open Fields) में लगाई जाएं तो इससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बेहतर तरीके से हो सकेगा। क्योंकि कक्षाओं में जगह सीमित होती है। ऐसे में बच्चों के बीच ज्यादा दूरी रखना मुमकिन नहीं हो पाएगा। इसके अलावा स्कूल पहुंचने के समय में भी गैप रखने का प्रस्ताव रखा है। प्लान के अनुसार स्कूल पहुंचने में कक्षाओं के हिसाब से 10-10 मिनट का अंतराल रखना बेहतर होगा।


कक्षाओं में लागू हो सकती हैं ये व्यवस्थाएं:
NCERT के ड्राफ्ट गाइडलाइन के मुताबिक स्कूलों को दोबारा खोलने पर कक्षाओं के संचालान में बदलाव किया जा सकता है। जिसमें हर क्लास में स्टूडेंट्स (Students) के बीच 6 फीट की दूरी जरूरी होगी। जबकि एक कमरे में 30 या 35 बच्चों से ज्यादा की अनुमति नहीं होगी। क्लासरूम के दरवाजे-खिड़कियां खुली रहेंगी और एसी नहीं चलाए जाएंगे। इसके अलावा कमरे रोजाना सैनिटाइज किए जाए। इसके अलावा मॉर्निंग असेंबली और एनुअल फंक्शन जैसा कोई आयोजन नहीं होंगे।


बच्चों के लिए जरूरी होंगी ये चीजें:
गाइडलाइन के तहत बच्चों को स्कूल में ऑड-ईवन के आधार पर बुलाया जाएगा, लेकिन उन्हें रोजाना होम असाइनमेंट देना होगा। जबकि क्लास में बच्चे सीट न बदलें, इसलिए डेस्क पर नाम लिखा होगा। स्कूल में प्रवेश से पहले छात्रों और स्टाफ की स्क्रीनिंग होगी। स्कूल के बाहर खाने-पीने के स्टॉल नहीं लगाए जाएंगे। इसके अलावा बच्चों के लिए कॉपी, पेन, पेंसिल या खाना शेयर करने की मनाही होगी।


स्कूलों को फॉलो करना पड़ेगा रूल:
गाइडलाइन के अनुसार स्कूल प्रबंधन को भी कुछ चीजों का ध्यान रखना होगा। इसके तहत उन्हें चिकित्सा, सुरक्षा या सफाई संबंधी कामों से जुड़ी सभी चीजों की जानकारी उन्हें पेरेंट्स को देनी होगी। साथ ही पेरेंट्स-टीचर्स मीटिंग नहीं होगी। अगर किसी स्कूल का हॉस्टल है तो वहां भी दो बेडों के बीच छह फीट का गैप रखना जरूरी होगा।


24 घंटे में 64,339 नए संक्रमित मिलेंं

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए मरीजों की कुल संख्या 21 लाख के पार पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के सर्वाधिक 64,399 नए मामले सामने आए हैं।


देश में कोरोना के अब तक कुल 21,53,010 पॉजिटिव मामले पाए गए हैं। जबकि अब तक ठीक हुए संक्रमित मरीजों की संख्या 14,80,884 तक पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार देशभर में कोरोना से अब तक 43,379 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे में देशभर में कोरोना से 861 लोगों की मौत हुई है। हालांकि रिकवरी रेट बढ़कर 68.78 प्रतिशत हो गया है जबकि पॉजिटिविटी रेट 8.95 प्रतिशत हुआ। संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। देश में कोरोना वायरस से संक्रमित 6,28,747 लोगों का इलाज चल रहा है। वहीं महाराष्ट्र में शनिवार को कोरोना वायरस के अब तक के सर्वाधिक 12,822 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले 5,03,084 तक पहुंच गए। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने ये जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोविड-19 से 275 मरीजों की मौत के बाद राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़कर 17,367 हो गई। हालांकि रिकॉर्ड 11,082 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई, जिससे ठीक हुए कोरोना वायरस रोगियों की संख्या 3,38,362 तक पहुंच गई। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र में अब 1,47,048 मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्य की राजधानी मुंबई में 1,304 नए मामले सामने आए और 58 मौतें हुईं। महानगर में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1,22,316 और मृतकों की संख्या बढ़कर 6,751 हो गई।


हाईकोर्ट के आदेश के बाद एसओ पर गाज

उधमसिंहनगर/रुद्रपुर। दरसल मामला बीते 28 जुलाई  का है वीडियो में साफ दिख रहा है कि तीन पुलिसकर्मी और एक एसपीओ के साथ केला खेड़ा के पास स्थित  ढाबे में एक  मुखबीर को लेकर पहुंचे थे ।जंहा पुलिस के अनुसार पुलिस ने इस ढाबे से मुखबिर की सूचना पर चरस बरामद की गई थी, यहां तक तो सब ठीक था । असल में जब पुलिस ने इस पूरे मामले में मुकदमा दर्ज किया तो वारदात स्थल को ढाबे से कुछ दूर आगे दिखाया बस यहीं पर मामला बिगड़ गया और फँस गए पुलिस के यह तेजतर्रार दरोगा जी और पुलिसकर्मी उधर बाद में जब पुलिस को एहसास हुआ कि ढाबे में सीसीटीवी लगे हुए हैं, तो दूसरे दिन 2 पुलिसकर्मी वापस मौके पर पहुंचकर ढाबे में मौजूद कर्मचारियों से जबरन सीसीटीवी फुटेज डिलीट करवा दी हालांकि ढाबा  मालिक विपिन शर्मा ने एहतियात बरतते हुए  पहले ही सीसीटीवी फुटेज पेन ड्राइव में सेव कर ली थी। ढाबे के मालिक अनिल शर्मा के अनुसार ढाबे में दाखिल हुए दरोगा और पुलिसकर्मी ने उनके छोटे भाई को ढाबे के बाहर से रात में ग्रिफ्तार कर लिया और बाद में यह दिखा दिया की ढाबे से कुछ  दूर चरस के साथ पुलिस ने गिरफ्तार किया साथ ही अनिल शर्मा का यह भी कहना है कि उनके भाई को जब पुलिसकर्मी  उठा कर ले जा रहे थे। तो पूरी घटना में लगे सीसीटीवी मैं रिकॉर्डिंग हो गयी हाई कोर्ट में पेश किए मामले मैं यह भी बताया है कि उनके भाई को बाद में पुलिसकर्मी ने जेल भेज दिया अभी तक 31 जुलाई को जमानत मिलने के बाद उनका भाई जेल से बाहर आ सका इस पूरे मामले ढाबे के मालिक ने पहले तो जिले के एसएसपी से शिकायत की और जब शिकायत का निस्तारण नहीं हुआ तो शिकायतकर्ता ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और हाईकोर्ट ने आज इस पूरे मामले में सख्त रुख अपनाते हुए पूरे मामले की जांच सीबीआई को दे दी इस पूरे मामले को देखा जाए तो एसएसपी ने इस मामले में कानून का उल्लंघन करने वाले एक थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर कर आरोपी चौकी इंचार्ज व तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है मौके पर पुलिसकर्मी एवं एसपीओ नीले रंग की टीशर्ट पहने हुए दिखाई दे रहा है उसके खिलाफ फिलहाल कोई कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं की गई ..? आपको बता दें कि जिले के पूर्व कप्तान द्वारा कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जिले में पुलिस द्वारा किए जा रहे कार्यों की मदद के लिए बड़े पैमाने पर जिले में एसपीओ (Special Police officer) तैनात किए गए  गए थे लेकिन सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए वीडियो में साफ जाहिर हो रहा है कि यह  यह पुलिस की कितनी मदद कर रहे हैं ।  बरहाल जिस तरीके से आज हाईकोर्ट ने पूरे मामले को सख्ती से संज्ञान लिया है उससे साफ जाहिर होता है कि कानून का पालन जनता सहित सभी अधिकारी व कर्मचारी  को भी करना है।कानून का उल्लंघन करने पर उन्हें भी जेल की हवा खानी पड़ सकती है।             


कौशाम्बी: जल जीवन मिशन अभियान की शुरुआत की

कौशाम्बी। समाज में जन जन को व प्रत्येक को घर को शुद्ध पेयजल लगाने हेतु नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति विभाग उत्तर प्रदेश सरकार के तत्वाधान...