मंगलवार, 12 अक्तूबर 2021

चीन ने आस्ट्रेलिया व ताइवान के साथ तनाव बढ़ाया

नई दिल्ली/ बीजिंग। अपने सभी पड़ोसियों को धमकाने में जुटे चीन के निशाने पर इस बार भारत है। हाल के हफ्तों में चीन ने जापान, आस्ट्रेलिया, ताइवान के साथ और ज्यादा तनाव बढ़ा लिया है। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने हाल ही में कहा है कि ताइवान का चीन में एकीकरण अनिवार्य है। जबकि सेनकाकु द्वीप को लेकर जापान के साथ विवाद और बढ़ता दिख रहा है। यह भी देखने में आ रहा है कि आस्ट्रेलिया के साथ चीन का ट्रेड विवाद भी दिनों दिन गहरा रहा है। लेकिन रविवार को कोर कमांडर स्तर की वार्ता में भारतीय पक्षकारों ने जिस तरह से चीनी पक्षकारों को वार्ता की मेज पर चित्त किया है। उससे वहां खलबली मची है।

जानकारों का यह भी मानना है कि आने वाले दिनों में भारत व चीन में तनाव और गंभीर हो सकता है। देश के प्रमुख रणनीतिक विश्लेषक ब्रह्मा चेलानी ने लिखा है कि समूचे हिंद-प्रशांत में हिमालय का क्षेत्र सबसे खतरनाक बन गया है। चीन की तरफ से सीमा में घुसपैठ करने के 17 महीनों बाद भारत का संयम भी कम होता जा रहा है, क्योंकि चीन बातचीत के बहाने जमीन कब्जा करने में जुटा हुआ है। चेलानी ने यह भी कहा है कि भारत ने पहली बार चीन की आक्रामकता को सही तरीके से पेश किया है।

13 से 7 नवंबर तक छुट्टी स्थगित करने के आदेश

भानु प्रताप उपाध्याय       
शामली। जनपद के सभी कस्बों के व्यापारियों को सूचित किया जाता है कि जनपद के व्यापारियों की आवश्यकताओं को देखते हुए पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयुक्त उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम दास गर्ग जिलाधिकारी माननीया जसजीत कौर से मिले और मिलकर उन्होंने मांग रखी कि जनपद के सभी कस्बों के व्यापारियों को 13 अक्टूबर से 7 नवंबर तक पडने वाली सभी साप्ताहिक छुट्टियों को स्थगित रखा जाए।  माननीया अधिकारी महोदय ने तुरंत बात को मानते हुए 13 अक्टूबर से 7 नवंबर तक सभी अभी साप्ताहिक छुट्टियां स्थगित रखने के आदेश जारी कर दिए। व्यापारी जिला अधिकारी महोदया का धन्यवाद करते हुए त्योहारी सीजन में 13 अक्टूबर से 7 नवंबर तक पडने वाली सभी साप्ताहिक छुट्टियों में व्यापार कर सकेंगे। यानी दीपावली तक पढ़ने वाली सभी छुट्टियां स्थगित रहेंगी। सभी व्यापारियों से अनुरोध है कि त्योहारी सीजन में अतिक्रमण जैसी बुराई से बचें। क्योंकि अतिक्रमण करने से आम जनमानस को आवाजाही में परेशानी होती है।

हिंसा मामले को रंग देने की कोशिश कर रहीं भाजपा

अकांशु उपाध्याय       

ई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस वोट की खातिर उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को सियासी रंग देने की कोशिश कर रही है। जबकि कांग्रेस शासित राजस्थान में दलितों पर हो रहे अत्याचारों पर वह खामोश है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा,"कुछ देर पहले हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के 28वें स्थापना दिवस पर सुना है। प्रधानमंत्री ने बड़ी गंभीरता और संवेदनशीलता के साथ पूरे विषय को रखने का काम किया। उन्होंने कहा है कि मानवाधिकार का बहुत ज्यादा हनन तब होता है जब उसे राजनीतिक रंग से देखा जाता है। राजनीतिक चश्मे से देखा जाता है। राजनीतिक नफा-नुकसान के तराजू से तौला जाता है। इस तरह का व्यवहार, लोकतंत्र के लिए भी उतना ही नुकसानदायक होता है।"

बिहार के सबसे बड़े घोटाले का खुलासा किया: अमित

अविनाश श्रीवास्तव       

पटना। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अमित खरे ने बिहार के सबसे बड़े घोटाले का खुलासा कर देश की सियासत में तूफान ला दिया था। चाइबासा के उपायुक्त के रूप में अमित खरे ने पशुपालन विभाग में वित्तीय अनियमितता का मामला पकड़ा था और एक बड़े घोटाले की आशंका व्यक्त की थी। इस समाचार को सबसे पहले प्रभात खबर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। 1985 बैच के अमित खरे चाइबासा के अलावा पटना, दरभंगा के जिलाधिकारी रहे और उन्होंने बिहार में मेडिकल और इंजीनियरिंग की परीक्षा कंबाइंड करा कर मेधा घोटाला को रोका था। 1993-94 में उन्होंने पश्चिम सिंहभूम जिले के तत्कालीन उपायुक्त रहते हुए चाईबासा कोषागार से 34 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध निकासी को उजागर किया था और इसकी प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था।

जब इस मामले की जांच शुरू हुई तो पशुओं के चारा मद में 950 करोड़ का घोटाला उजागर हुआ। सरकारी खजाने की इस चोरी में बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र और अन्य ताकतवर लोगों पर आरोप पत्र दाखिल हुआ। इस घोटाले के कारण लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा और जेल की सजा हुई। इस पूरे प्रकरण में अमित खरे की भूमिका बेहद अहम रही। इस वजह से उन्हें कुछ दिनों तक तत्कालीन शासन का कोपभाजन भी बनना पड़ा था, लेकिन वे अपने कर्तव्य पथ पर अडिग रहे। उनकी पत्नी निधि खरे फिलहाल केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय में अपर सचिव के पद पर तैनात हैं।

बदमाशों ने नसरीन पर चाकू से ताबड़तोड़ वार किया

अतुल त्यागी       
हापुड़। देहात क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव असोडा में स्थित अमन कॉलोनी में बीती रात्रि कार सवार बदमाशों ने एक मकान पर धावा बोलते हुए घर में बंदी बकरियों को चोरी कर ले जा रहे थे। उसी समय महिला नसरीन की आंखें खुल गई और उसने बकरियों को ले जाने का विरोध करते हुए बदमाशों से भिड़ गई। बदमाशों ने नसरीन पर चाकू से ताबड़तोड़ वार करते हुए गंभीर रूप से घायल कर दिया और फरार हो गए। पीड़ित परिजनों ने घायल नसरीन को अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत नाजुक देखते हुए मेरठ रेफर कर दिया गया है। अस्पताल में घायल नसरीन जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना करते हुए अग्रिम जांच शुरू कर दी है। वहीं इस घटना से ग्रामीणों में खासा रोष व्याप्त है।

'अवर गोल फॉर ऑल' का अनावरण किया: एलओसी

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) और स्थानीय आयोजन समिति (एलओसी) ने 20 जनवरी से छह फरवरी तक भारत में होने वाले 2022 महिला एशियाई कप की आधिकारिक टैगलाइन (आदर्श वाक्य) के रूप में ‘अवर गोल फॉर ऑल (सबके लिए हमारा लक्ष्य)’ का अनावरण किया।
टूर्नामेंट के शुरू होने में 100 दिनों की उलटी गिनती के अवसर पर ‘टैगलाइन’ का अनावरण किया गया था जिसमें महाद्वीप की शीर्ष 12 टीमें अगले साल नवी मुंबई, मुंबई और पुणे में प्रतिष्ठित खिताब के लिए चुनौती पेश करेंगी। एएफसी के अध्यक्ष शेख सलमान बिन इब्राहिम अल खलीफा ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा, ” ‘भारत 2022’ पूरे महाद्वीप में महिलाओं के खेल का एक और शानदार उत्सव होने का वादा करता है।
उन्होंने कहा, ” ‘अवर गोल फॉर ऑल’, एक विश्व स्तरीय स्पर्धा के साथ महिला फुटबॉल में एक उज्जवल भविष्य बनाने के लिए एशियाई फुटबॉल परिवार की एकता और सामूहिक प्रयास को प्रदर्शित करता है, जो आने वाले कई वर्षों के लिए महिलाओं के खेल में एक विरासत बनेगा।इस मौके पर अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) के अध्यक्ष और एलओसी के प्रमुख, प्रफुल्ल पटेल ने कहा, ”एएफसी महिला एशियाई कप भारत 2022 पूरे महाद्वीप में हर महिला और फुटबॉल प्रशंसकों के लिए है। यह सभी हितधारकों के एकीकृत प्रयासों के लिए एक उज्ज्वल भविष्य बनाने के लिए एकजुट है। महिला फ़ुटबॉल नये आयाम को हासिल करती रहेगी।” इस सत्र में पिछले सत्र से चार अधिक टीमें भाग लेंगी।

कोवैक्सीन को 18 वर्ष के बच्चों को लगाने की मंजूरी

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। भारतीय औषधि एवं महानियंत्रक ने मंगलवार को भारत में निर्मित कोविड टीके कोवैक्सीन को दो से 18 वर्ष के बच्चों को लगाने की मंजूरी दे दी। यह मंजूरी आपात प्रयोग के लिये दी गयी है और उम्मीद है कि इस महीने के अंत इसका इस्तेमाल आरंभ हो जायेगा।
भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन के सितंबर में बच्चों पर तीन परीक्षण पूरे हो चुके हैं। इनके बारे में विस्तृत रिपोर्ट इस महीने की शुरुआत में भारतीय औषधि एवं महानियंत्रक को सौंप दी गयी थी।
सूत्रों के अनुसार विस्तृत अध्ययन के बाद संबंधित समिति ने कोवैक्सीन का टीका दो वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को लगाने की मंजूरी देने का फैसला किया। बच्चों को यह टीका दो डोज में दिया जायेगा और इसमें 20 दिन का अंतराल होगा।

राज्यमंत्री अजय की बर्खास्तगी की मांग को दोहराया

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग दोहराते हुए मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने इस मंत्री को हटाने में एक मिनट का भी समय नहीं लगाना चाहिए।
पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह दावा भी किया कि प्रधानमंत्री की ओर से अब यह कदम नहीं उठाए जाने का मतलब साफ है कि या तो वह किसी दबाव में हैं या फिर लखीमपुर खीरी की घटना को वह अपराध नहीं मानते। खेड़ा ने संवाददाताओं से कहा, ”हमने बार बार मांग की है कि मंत्री इस्तीफा दें या उनको बर्खास्त किया जाए। लेकिन अब तक ऐसा नहीं हुआ।
उच्चतम न्यायालय ने जब सख्त टिप्पणियां कीं तो मंत्री के पुत्र को गिरफ्तार किया गया।” उन्होंने जोर देकर कहा, ”अजय मिश्रा को बर्खास्त करने में प्रधानमंत्री को एक मिनट का भी समय नहीं लगाना चाहिए। लेकिन अगर यह नहीं हो रहा है तो फिर इसका मतलब यह है कि या तो उन पर कोई दबाव है या फिर उनकी नजरों में यह (घटना) अपराध नहीं है।”
उधर, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेगा और इस घटना के तथ्यों से जुड़ा एक ज्ञापन उन्हें सौंपेगा।
गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत तीन अक्टूबर को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आशीष को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

खेल: दबाव की स्थिति से निपटने में मदद मिलेगी

आबुधाबी। दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज एडेन मार्कराम का मानना ​​है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग लेने से उन्हें आगामी टी20 विश्व कप में दबाव की स्थिति से बेहतर तरीके से निपटने में मदद मिलेगी। मार्कराम ने पंजाब किंग्स के लिए इस लीग में छह पारियां खेली जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 42 रन का रहा।
एडेन दक्षिण अफ्रीका के लिए आम तौर पर पारी का आगाज करते हैं लेकिन आईपीएल में मध्यक्रम में बल्लेबाजी कर रहे थे। उन्हें उम्मीद है कि विश्व कप में इस अनुभव से फायदा होगा। मार्कराम ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह शानदार अनुभव था। यह क्रिकेट के उच्च स्तर पर परिस्थितियों से सामंजस्य बैठाने और कुछ सीखने के मामले में अच्छा रहा। उन्होंने कहा कि आईपीएल मैचों के बाद कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों से बातचीत करने का मौका मिला, ऐसे खिलाड़ी जो टी20 क्रिकेट के दिग्गज माने जाते है।
उनसे कुछ जानकारी प्राप्त करना और उसे अपने खेल में लागू करना शानदार रहा। उन्होंने इस दौरान अंतिम ओवरों में बल्लेबाजी के अनुभव पर कहा कि टी20 क्रिकेट में, चाहे विश्व कप या घरेलू या अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला, आमतौर पर परिणाम अंतिम तीन ओवरों में ही आते है। मेरे लिए ऐसी परिस्थिति का अनुभव हासिल करना अच्छा रहा। मुझे यकीन है कि विश्व कप में मैच आखिरी ओवरों तक जायेंगे। यह उस समय उस दबाव से निपटने के बारे में है जहां दो से तीन गेंद का खेल मैच के परिणाम को बदल सकता है।

आरोपी की याचिका का निबटारा किया, टिप्पणी की

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि व्यक्ति की स्वतंत्रता ‘अहम’ है और ज़मानत की अर्ज़ी पर जितनी जल्दी मुमकिन हो सुनवाई की जानी चाहिए। शीर्ष अदालत ने कहा कि गिरफ्तारी पूर्व और गिरफ्तारी के बाद ज़मानत के लिए दायर होने वाले आवेदन के लिए कोई सीमा तय नहीं की जा सकती है लेकिन कम से कम यह आशा की जा सकती है कि ऐसी अर्ज़ियों पर जल्द से जल्द सुनवाई की जाए।
न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी और न्यायमूर्ति एएस ओका की पीठ पंजाब के पटियाला जिले में दर्ज एक मामले के सिलसिले में इस साल मार्च में हिरासत में लिए गए एक आरोपी की याचिका का निबटारा करते हुए यह टिप्पणी की। इस याचिका में शीर्ष अदालत से अनुरोध किया गया है कि ज़मानत के लिए दायर उसका आवेदन पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के समक्ष लंबित है, जिस पर शीघ्र सुनवाई की जाए।
पीठ ने उच्च न्यायालय ने अनुरोध किया कि याचिकाकर्ता की जमानत की अर्जी पर यथासंभव जल्दी विचार किया जाये। पीठ ने कहा कि सत्र अदालत ने उसकी ज़मानत अर्ज़ी खारिज कर दी थी। इसके बाद उसने सात जुलाई को ज़मानत के लिए उच्च न्यायालय में अपील दायर की थी।
याची के वकील ने पीठ से कहा कि मामले को अदालत में कई बार सूचीबद्ध किया गया लेकिन इस पर सुनवाई नहीं हो सकी। शीर्ष अदालत ने पिछले हफ्ते पारित अपने आदेश में कहा, “ हम इस समय मामले में हस्तक्षेप नहीं कर रहे हैं, लेकिन व्यक्ति की स्वतंत्रता अहम है और हम उम्मीद करते हैं कि अगर सीआरपीसी की धार 438/439 के तहत आवेदन दायर किया गया है, चाहे गिरफ्तार से पहले या गिरफ्तारी के बाद में, तो इस पर जितना जल्दी संभव हो, सुनवाई होनी चाहिए।”
आपराधिक दंड संहिता प्रक्रिया (सीआरपीसी) की धारा 438 का इस्तेमाल गिरफ्तारी की आशंका वाले व्यक्ति को ज़मानत देने के लिए किया जाता है जबकि सीआरपीसी की धारा 439 ज़मानत के संबंध में उच्च न्यायालय या सत्र अदालत की विशेष शक्तियों से संबंधित है। याचिकाकर्ता को इस साल 30 मार्च को भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत दर्ज मामले में हिरासत में लिया गया था।
 

'सीजीएस' की गैर बिजली का उपयोग करे: विद्युत

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। विद्युत मंत्रालय ने मंगलवार को राज्यों से कहा कि वे देश में कोयले की कमी के संकट के बीच अपने स्वयं के उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए केंद्रीय उत्पादन स्टेशनों (सीजीएस) की गैर आवंटित बिजली का उपयोग करें। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि विद्युत मंत्रालय के संज्ञान में लाया गया है कि कुछ राज्य अपने उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति नहीं कर रहे हैं और लोड शेडिंग कर रहे हैं। साथ ही, वे विद्युत एक्सचेंज में ऊंची कीमत पर बिजली बेच रहे हैं।
बिजली के आवंटन के दिशा-निर्देशों के अनुसार, सीजीएस से उत्पादित 15 प्रतिशत बिजली को “गैर आवंटित बिजली” के रूप में रखा जाता है, जिसे केंद्र सरकार उपभोक्ताओं की बिजली की जरूरत को पूरा करने के लिए जरूरतमंद राज्यों को आवंटित करती है।
मंत्रालय ने कहा कि उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति करने की जिम्मेदारी वितरण कंपनियों की है और उन्हें पहले अपने उपभोक्ताओं की सुविधा का ध्यान रखना चाहिए जिन्हें चौबीसों घंटे बिजली पाने का अधिकार है। बयान में कहा गया कि इस तरह, वितरण कंपनियों को विद्युत एक्सचेंज में बिजली नहीं बेचनी चाहिए और अपने स्वयं के उपभोक्ताओं को सेवाहीन नहीं छोड़ना चाहिए।

दबदबा कायम करते हुए बहरीन को 5-0 से हराया

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। भारतीय महिला फुटबॉल टीम को बुधवार को यहां अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच में खुद से बेहतर रैंकिंग वाली चीनी ताइपे टीम का सामना करना है। जो हाल के दिनों में उसकी सबसे कठिन परीक्षा होगी। भारतीय टीम ने रविवार को अपने पिछले मुकाबले में दबदबा कायम करते हुए बहरीन को 5-0 से हराया है और विश्व रैंकिंग में 40वें स्थान पर काबिज चीनी ताइपे के खिलाफ होने वाले मैच के लिए उसका आत्मविश्वास बढ़ा होगा।
यूएई और बहरीन के खिलाफ दो जीत के साथ टीम ने नये मुख्य कोच थॉमस डेनेरबी की देखरेख में अच्छी शुरुआत की है। भारतीय कोच हालांकि चीनी ताइपे की चुनौती से अवगत है जो फीफा रैंकिंग में भारत से काफी ऊपर है। मैच की पूर्व संध्या पर डेनेरबी ने कहा, ” अब तक के खेले मैचों में हमने महसूस किया है कि हमें आगे बढ़ने के लिए क्या काम करने की जरूरत है।
चीनी ताइपे के खिलाफ मैच इस दौरे पर हमारी अब तक की सबसे कठिन परीक्षा होगी। लेकिन हम इसके लिए तैयार हैं।” उन्होंने कहा, ”मुझे चीनी ताइपे से आक्रामक खेल की उम्मीद है। जिसका अर्थ है कि हमारी रक्षापंक्ति पर अधिक दबाव होगा। इसका एक मतलब यह भी है कि हमारे पास उनकी रक्षापंक्ति के खिलाफ मौका बनाने का अधिक अवसर होगा। यह एक दिलचस्प मुकाबला होगा।
मौजूदा विदेशी दौरे पर बहरीन के खिलाफ शानदार नतीजा हासिल करने वाली भारतीय टीम ने यूएई को 4-1 से हराया था जबकि ट्यूनीशिया के खिलाफ उसे 0-1 से हार का सामना करना पड़ा था। इस दौरे पर मैत्री मैचों से भारतीय टीम एएफसी एशियाई कप की तैयारी कर रही। एएफसी एशियाई कप की मेजबानी भारत जनवरी-फरवरी में करेगा।

यूके: सीएम पुष्कर की अध्यक्षता में संपन्न हुईं बैठक

पंकज कपूर      
देहरादून। उत्तराखंड राज्य कैबिनेट की बैठक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में जनहित में तमाम फैसले लिए गए। कैबिनेट में उपनल कर्मियों के मानदेय वृद्धि ,ग्राम प्रधान एवं आशा कार्यकर्ताओं समेत 29 बड़े फैसले लिए गए।
आशा कार्यकर्ताओं को हर महीने 6500 रुपये दिए जाएंगे। जिसमें पूर्व जो राशि दी जाती थी। उसमें 1000 मानदेय और 500 रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
 सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओ को भाड़े का पैसा भी दिया जाएगा।
सोमेश्वर अस्पताल के उच्चीकरण पर मंत्रिमंडल ने दी सहमति, 30 बेड से बढ़ाकर 100 बेड किया गया।
विधायक निधि से कटने वाली प्रशासनिक मद में 2 फीसदी धनराशि को घटाकर किया गया 1 फीसदी।
 उपनल कर्मचारियों के वेतन में की गई बढ़ोतरी। 10 साल से कम समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन में 2000 की बढ़ोतरी साथ ही 10 साल से अधिक समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन से 3000 की बढ़ोतरी की गई है। इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि हर साल उपनल कर्मचारियों के वेतन में थोड़ी-बहुत वृद्धि की जाती रहे।
ग्राम प्रधानों का मानदेय 1500 से बढ़ाकर 3500 किये जाने के मामले पर मंत्रिमंडल में फैसला।
 राजकीय स्कूलों, महाविद्यालय के 10वीं और 12वीं और उच्च शिक्षा की छात्राओं को तीन लाख टैबलेट वितरित किए जाने पर सहमति दे दी है।
 उच्च न्यायालय के आदेश पर न्यायालय में कुछ पदों के सृजित करने की बात पर मंत्रिमंडल में लगाई मुहर।
 खरीद सत्र 2021-22 के लिए समर्थन मूल्य पर मंत्रिमंडल ने दी सहमति।
 उत्तराखंड चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण नियमावली में किया जाएगा संशोधन।
राजकीय दून मेडिकल कॉलेज में पदों के सृजन के लिए मंत्रिमंडल ने दी सहमति।
उत्तराखंड पंचायती राज विभाग में पदों को किया गया सृजन।
वित्त विभाग के ऋण एवं नगद प्रकोष्ठ में 5 पदों के सृजन को मिली स्वीकृति।
चमोली के जोशीमठ में तोक की जमीन का म्युटेशन आईटीबीपी को होगा।
वाहनों पर बढ़ाया गया परमिट टैक्स। कमर्शियल और प्राइवेट गाड़ियों में बढ़ाया जाएगा टैक्स। इससे सरकार की आय में वृद्धि होगी। बाहर से आने वाले वाहनों पर बढ़ेगा टैक्स।
खनन विभाग के ढांचे में किया गया बदलाव, महानिदेशक होगा आईएएस अधिकरी. निदेशक होंगे विभागीय अधिकारी, और भी कई पदों पर बदलाव।
न्यायिक अधिकारी व सहायक अधिकारियों का बढ़ाया गया मानदेय।
उत्तराखंड चिकित्सा शिक्षा विभाग में कई पदों को किया गया सृजित। मेगा इंडस्ट्रियल पार्क में गलवालिया इस्पात उद्योग पर 1 कऱोड 13 लाख 97 हजार का बिजली बिल लेट शुल्क माफ। गढ़वाल मंडल विकास निगम के नौ कर्मचारियों जो अन्य विभागों में काम कर रहे थे उन्हें किया जाएगा सम्मिलित।
देहरादून और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले छात्र अगर राज्य सरकार से बांड भरते हैं कि वह अगले कुछ साल तक उत्तराखंड में ही प्रैक्टिस करेंगे तो उनकी फीस कम कर दी जाएगी।
प्रदेश के में खनन विभाग में अब महानिदेशक रहेगा , आईएएस को जिम्मेदारी दी जाएगी।
प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को अब उत्तराखंड आने के लिए ज्यादा पैसा देना होगा पहले उत्तराखंड का टैक्स उत्तरप्रदेश से कम था लेकिन अब समान रहेगा।
गढ़वाल मंडल विकास निगम के तमाम कर्मचारी जो मुख्यमंत्री आवास मुख्यमंत्री कार्यालय विधानसभा और सचिवालय में काम कर रहे थे उनको संविलियन कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने निभाया आंगनवाडी बहन से किया वादा, कोरोना काल में 33297 आंगनवाडी कर्मियों द्वारा समर्पित भाव में किये गए कर्तव्य पालन के लिए की गयी रु0 1000/- प्रति कर्मी प्रोत्साहन राशि की घोषणा, रक्षाबंधन के अवसर पर दी जाने वाली 50 1000/- प्रति कर्मी की भेंट राशि तथा 5 माह तक रु० 2000/- प्रति कर्मी (कुल रु0 10000/-) की घोषणा का क्रियान्वयन आज दिनांक 12/10/2021 को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा किया गया। जिसके अंतर्गत सभी लाभार्थियों को एक साथ धनराशि का ऑनलाइन DBT के माध्यम से अंतरण एक क्लिक पर किया गया। इस प्रकार सभी 33297 आंगनवाड़ी कर्मियों को उक्त घोषणाओं में कुल रु0 40 करोड़ की धनराशि दी जायेगी।

सामंथा ने तलाक के बाद पब्ल‍िक अपीयरेंस दिया

कविता गर्ग         
मुबंई। साउथ सिनेमा की सुपरहिट एक्ट्रेस सामंथा रुथ प्रभु ने तलाक के बाद पहला पब्ल‍िक अपीयरेंस दिया है। वे जूनियर एनआरटी के गेम शो में गेस्ट सेल‍िब्रिटी के तौर पर नजर आईं। चैनल ने शो का प्रोमो शेयर किया है। जिसमें सामंथा हॉटसीट पर बैठीं सवालों के जवाब देती नजर आ रही हैं।
नवरात्र‍ि स्पेशल एप‍िसोड में सामंथा को देख उनके फैंस काफी खुश हैं।
 वीड‍ियो में सामंथा और जूनियर एनआरटी गेम को के साथ-साथ कुछ मस्ती मजाक के मूड में भी नजर आए। बता दें' कौन बनेगा करोड़पति का तेलुगू एडाप्टेशन है।
इसके पहले दो सीजन नागार्जुन ने होस्ट किया था। नागार्जुन के बेटे नागा चैतन्य से ही सामंथा की शादी हुई थी। शो का चौथा सीजन चिरंजीवी ने होस्ट किया था और अब जेमिनी टीवी पर प्रसार‍ित इस शो को जूनियर होस्ट कर रहे हैं।
सामंथा और नागा चैतन्य ने 2 अक्टूबर को तलाक की ऑफ‍िश‍ियल अनाउंसमेंट कर दी थी। दोनों ने सोशल मीड‍िया पर पोस्ट करने अपने अलग होने की खबर दी थी।  ने लिखा- काफी सोच विचार के बाद मैंने और चैतन्य ने बतौर पति पत्नी अपने रास्ते अलग करने का फैसला किया है। हमें यकीन है कि ये दोस्ती हम दोनों के बीच हमेशा से ही एक अलग जुड़ाव बनाए रखेगी।
सामंथा और नागा चैतन्य की शादी साल 2017 के अक्टूबर में हुई थी। शादी से पहले दोनों ने कुछ समय तक एक-दूसरे को डेट किया था। दोनों कई फिल्मों और विज्ञापनों में एक साथ काम कर चुके हैं। अब चार साल बाद साउथ की यह पॉपुलर जोड़ी अलग हो गई है।

कोरोना टीकों की अतिरिक्त खुराक देने की सिफारिश

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि 60 साल से अधिक उम्र के लोग जिन्हें चीनी वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं, उन्हें कोरोना वैक्सीन की एक तीसरी खुराक भी दी जानी चाहिए। डब्ल्यूएचओ की वैक्सीन एडवाइजरी ने सोमवार को इम्यूनो कॉम्प्रोमाइज्ड यानी कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को डब्ल्यूएचओ की ओर से अधिकृत सभी कोविड-19 टीकों की एक अतिरिक्त खुराक देने की सिफारिश की। 
डब्ल्यूएचओ की रणनीतिक टीकाकरण पर विशेषज्ञों के सलाहकार समूह ने कहा कि मध्यम और गंभीर रूप से कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को एक अतिरिक्त खुराक दी जानी चाहिए। इन व्यक्ति में टीके के पर्याप्त रूप से प्रतिक्रिया करने की संभावना कम और गंभीर कोविड-19 बीमारी का जोखिम बहुत ज्यादा होता है।
वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) ने कहा कि 60 से अधिक लोग, जो चीन की सिनोवैक और सिनोफार्म वैक्सीन लगवा चुके हैं, उन्हें कोविड-19 टीके की तीसरी खुराक दी जानी चाहिए। समूह ने कहा, ‘सिनोवैक और सिनोफार्म वैक्सीन के लिए होमोलॉगस वैक्सीन की एक अतिरिक्त (तीसरी) खुराक 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी जानी चाहिए। 
SAGE ने कहा कि इस सिफारिश को लागू करते समय देशों को शुरू में ज्यादा से ज्यादा लोगों को दो खुराक देने का लक्ष्य रखना चाहिए। इसके बाद तीसरे डोज की तैयारी शुरू करनी चाहिए। सबसे पहले बुजुर्गों की इसकी खुराक देनी चाहिए।  विशेषज्ञों ने जोर देकर कहा कि वे बड़े पैमाने पर आबादी के लिए एक अतिरिक्त कथित बूस्टर खुराक की सिफारिश नहीं कर रहे हैं।

फ्लोरिडा में पुलिस ने प्रेग्नेंट टीचर को किया गिरफ्तार

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के फ्लोरिडा में पुलिस ने एक प्रेग्नेंट टीचर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी की वजह सामने आने के बाद लोग टीचर से बेहद नाराज हैं। लेडी टीचर पर आरोप है कि उसने अपने नाबालिग स्टूडेंट के साथ संबंध स्थापित किए। सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि कथित तौर पर इस संबंध के बाद वो प्रेग्नेंट भी हो गई।
‘डेली स्टार’ की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी 41 वर्षीय टीचर का नाम हेरी क्लैवी है। हेरी पर आरोप है कि उन्होंने एक 15 साल के छात्र के साथ संबंध स्थापित किए और अब वो अपने स्टूडेंट के बच्चे की मां बनने वाली हैं। फिलहाल वो 8 महीने की गर्भवती हैं। पुलिस ने टीचर को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ चल रही है। टीचर पर नाबालिग से संबंध बनाने के साथ-साथ बच्चों की सुरक्षा को अनदेखा करने और स्कूल में बंदूक लाने का भी आरोप है। वहीं, पीड़ित बच्चे ने टीचर पर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है। उसका कहना है कि टीचर ने उसका यौन शोषण नहीं किया, जो कुछ भी हुआ उसकी मर्जी से हुआ।  हालांकि, कानून में नाबालिग की सहमति मायने नहीं रखती। इसलिए टीचर को मुकदमे का सामना करना होगा।
छात्र के दोस्तों ने पुलिस को बताया है कि उन्होंने पीड़ित के फोन में टीचर और उसके अश्लील वीडियो और फोटो देखे थे। पुलिस प्रवक्ता का कहना है कि हेरी 8 महीने की प्रेग्नेंट हैं, मगर वो इसकी पुख्ता जानकारी नहीं दे सकते कि बच्चा किसका है। उधर, मियामी डेड काउंटी पब्लिक स्कूल के अधिकारियों का कहना है कि हेरी मार्च से स्कूल नहीं आ रही हैं, उन्हें स्कूल के एक दूसरे सेंटर में काम करने के लिए भेज दिया गया था। गिरफ्तारी के बाद टीचर को स्कूल से निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और अब वो डिस्ट्रिक्ट के दूसरे स्कूल में नहीं पढ़ा पाएगी।

नवरात्र: धातुओं में उतार-चढ़ाव का दौर जारी हुआ

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। नवरात्रि में कीमती धातुओं में उतार चढ़ाव का दौर जारी है। आज सोने और चांदी की कीमतों  में उछाल देखा गया। घरेलू मांग में सुधार और अंतरराष्ट्रीय बाजार में मांग सुधरने का असर कीमतों पर दिख रहा है। जिससे कीमतों में उछाल आया है।
राजस्थान के जयपुर सर्राफा कमेटी  की ओर से जारी भावों  के अनुसार सोना और चांदी  की कीमतों में बदलाव दर्ज किया गया है।
सोना  48450 रुपये प्रति 10 ग्राम, और चांदी 63450 प्रति किलोग्राम दर्ज की गई है। सोना 22KT प्रति ग्राम का रेट 4610 रुपये सोना 18 केटी प्रति ग्राम 3760 रुपये, सोना 14 केटी 3000 प्रति ग्राम रुपये दर्ज की गई है।
.

.


पुलिस व नागरिकों के बीच झड़प, 4 लोगों की मौंत

नई दिल्ली/ काठमाण्डू। भारत-नेपाल सीमा से सटे नेपाल के रूपनदेही जिले के बुटवल के मोतीपुर औद्योगिक क्षेत्र में रविवार को पुलिस व नागरिकों के बीच झड़प हो गई। घटना में गोली लगने से एक नागरिक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार लोगों की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। वहीं, हालात को काबू में करने के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है। पुलिस के मुताबिक कुछ लोग जबरदस्ती औद्योगिक गलियारे क्षेत्र का अतिक्रमण कर रहे थे, जो पुलिस के आने के बाद हिंसक हो गए। झड़प में तकरीबन तीन दर्जन हवाई फायरिंग हुई। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की। अस्थायी टेंट को तोड़ने की कोशिश के दौरान स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। स्थिति अभी भी तनावपूर्ण है। रविवार सुबह से ही सुरक्षाकर्मी अस्थायी मकान को गिरा रहे थे। नेपाल पुलिस और सशस्त्र पुलिस बल को इलाके में लामबंद कर दिया गया है और स्थानीय लोग भी जमीन पर कब्जा करने के लिए अधिक संख्या में हैं। रूपनदेही एसपी मनोज केसी ने बताया कि हालात को नियंत्रित करने के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है। पुलिस प्रत्येक हलचल पर नजर रखे हुए हैं। स्थिति को काबू में करने के लिए 300 से अधिक सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है। घटना में 51 सुरक्षा कर्मियों सहित 72 लोग घायल हुए हैं।

सदियों तक अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि दुनिया के समक्ष कई ऐसे अवसर आये, जिसमें वह भ्रमित हो गयी लेकिन भारत मानवाधिकारों के प्रति हमेशा प्रतिबद्ध और संवेदनशील रहा है।
नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) के 28वें स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, “यह आयोजन आज ऐसे समय हो रहा है, जब हमारा देश अपनी आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। हमने सदियों तक अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया। एक राष्ट्र के रूप में, एक समाज के रूप में अन्याय-अत्याचार का प्रतिरोध किया। एक ऐसे समय में जब पूरी दुनिया विश्व युद्ध की हिंसा में झुलस रही थी, भारत ने पूरे विश्व को ‘अधिकार और अहिंसा’ का मार्ग सुझाया। ये हम सभी का सौभाग्य है कि आज अमृत महोत्सव के जरिए हम महात्मा गांधी के उन मूल्यों और आदर्शों को जीने का संकल्प ले रहे हैं। हमारे बापू को देश ही नहीं बल्कि पूरा विश्व मानवाधिकारों और मानवीय मूल्यों के प्रतीक के रूप में देखता है।

कार्यकर्ताओं पर हत्या के प्रयास के आरोप में मुकदमा

सत्येंद्र पावंर            
मेरठ। मेरठ पुलिस ने समाजवादी पार्टी  के 18 कार्यकर्ताओं पर हत्या के प्रयास के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। इनमें अधिकांश छात्र हैं और 16 सपा कार्यकर्ताओं जेल भेज दिया है। इन सभी पर आरोप है कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला जलाने से रोकने पर एक पुलिसकर्मी पर हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया।
पुलिस ने आइपीसी की 307 (हत्या का प्रयास) के अलावा, निषेधाज्ञा के बावजूद दंगा और गैरकानूनी सभा सहित 15 अन्य धाराओं के तहत सपा कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज किया है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने इस मामले में जिला मजिस्ट्रेट को पत्र लिखकर कहा है कि गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ता निर्दोष युवा हैं जो केवल विरोध करने के अपने अधिकार का प्रयोग कर रहे थे।
BJP की नेशनल एग्जीक्यूटिव से बेटे और खुद को हटाए जानें पर मेनका गांधी ने दी प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा। मेरठ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभाकर चौधरी ने के मुताबिक जिन सपा कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई हुई है उन्होंने पुलिसकर्मियों पर पेट्रोल फेंका था.।एसएसपी ने कहा, ''पेट्रोल फेंके जाने से लगी आग में एक पुलिसकर्मी झुलस गया। मुकदमा 4 अक्टूबर को दर्ज किया गया था। इसी दिन सपा ने लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में प्रदर्शन किया था। 
सपा कार्यकर्ताओं ने की पुलिस वालों से लड़ाई
एसएसपी के मुताबिक विरोध प्रदर्शन के दौरान 200 सपा कार्यकर्ता कमिश्नर अधिकारी के पास मौजूद थे। लेकिन सिर्फ 18 पर मामला दर्ज किया गया है। क्योंकि उन्होंने ड्यूटी के दौरान एक पुलिसकर्मी को चोट पहुंचाई। उनकी अपनी पार्टी के कार्यकर्ता भी घायल हुए हैं। हमारे एक कांस्टेबल को चोटें आईं और उसकी यूनीफॉर्म जल गई।
एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि सपा कार्यकर्ताओं ने पुलिसकर्मियों के साथ लड़ाई शुरू कर दी, जो उन्हें यह समझाने की कोशिश कर रहे थे कि इस तरह के विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं है, क्योंकि जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू थी। वहीं समाजवादी पार्टी के मेरठ जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह  का कहना है कि कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला बदला लेने के लिए दर्ज किया गया है।
सपा जिलाध्यक्ष ने बताया बदले की कार्रवाई
पुलिस के दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने कहा, ''सरकार का विरोध करना कबसे अपराध बन गया है। हमारे कार्यकर्ताओं पर हत्या के प्रयास के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है। वह पुलिसकर्मी कहां है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि उसे चोट लगी है। आपको लगता है कि जला हुआ कोई व्यक्ति पांच दिनों में ठीक हो सकता है। बिना किसी निशान के। सरकार अन्य राजनीतिक दलों को धमकाने के लिए पुलिस और नौकरशाही का इस्तेमाल कर रही है।

पंजाब के नये प्रदेशाध्यक्ष का हो सकता है ऐलान

राणा ओबराय        
चडीगढ़। पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इससे पूर्व में पंजाब के सीएम कैप्टन ने भी इस्तीफा दे दिया था। सिद्ध का हाईकमान ने इस्तीफा स्वीकारा नहीं था। लेकिन अब बताया जा रहा है कि हाईकमान सिद्धू का इस्तीफे को स्वीकार कर सकती है। पंजाब के नये प्रदेशाध्यक्ष का ऐलान हो सकता है।
मिली जानकारी के अनुसार सिद्धू ने मतभेद के चलते सोशल मीडिया के माध्यम से इस्तीफा देने का ऐलान किया था। पार्टी संभावित उम्मीदवारों की तलाश कर रही है। हालांकि, यह अभी भी एक खुला मुद्दा है। यदि कांग्रेस वास्तव में सिद्धू को पंजाब के अध्यक्ष के रूप में हटा देती है, तो यह पिछले कुछ महीनों में राज्य की राजनीतिक घटनाओं में एक नया मोड़ होगा। तत्कालीन सीएम अमरिंदर सिंह ने सिद्धू पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

कृति की आने वाली फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ

कविता गर्ग           
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार राव और कृति सैनन की आने वाली फिल्म 'हम दो हमारे दो' का ट्रेलर रिलीज हो गया है।
राजकुमार राव और कृति सैनन की आने वाली फिल्म 'हम दो हमारे दो' का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। कृति सैनन ने सोशल मीडिया पर इस फैमिली ड्रामा फिल्म का ट्रेलर फैंस के साथ शेयर किया है। ट्रेलर के कैप्शन में उन्होंने लिखा, “हमारे ट्रेलर के साथ अब होगी यह दिवाली फैमिली वाली।

'ऑनलाइन ट्रोल्स’ को बेहर घृणित करार दिया: खेल

शारजाह। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की खिताबी दौड़ से बाहर होने के बाद ग्लेन मैक्सवेल और ऑस्ट्रेलियाई टीम के उनके साथी खिलाड़ी डेनियल क्रिस्टियन तथा उनकी गर्भवती साथी जॉर्जिया डन को ऑनलाइन दुर्व्यवहार का शिकार होना पड़ा। इस दुर्व्यवहार से गुस्साए मैक्सवेल ने ‘ऑनलाइन ट्रोल्स’ को ‘कचरा’ और ‘ बेहर घृणित’ करार दिया। जबकि क्रिस्टियन ने अनुरोध किया कि उनकी साथी को इससे बाहर रखा जाए। मैक्सवेल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ” आरसीबी के लिए शानदार सत्र रहा, दुर्भाग्य से हम उस जगह नहीं पहुंच पाये जिसके बारे में हमने सोचा था। इससे इस अद्भुत सत्र की हमारी उपलब्धि कम नहीं होती।
सोशल मीडिया पर जो ‘कचरा’  आ रहा है वह बहुत घृणा से भरा हुआ है।” इस हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, ” हम भी इंसान हैं जो हर दिन अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं। किसी को गाली देने के बजाय एक सभ्य इंसान बनने की कोशिश करें।” मैक्सवेल का यह बयान तब आया है जब आरसीबी की टीम सोमवार रात यहां एलिमिनेटर मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स से चार विकेट से हारकर इस टी20 लीग से बाहर हो गयी।
इस स्टार ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ने इस सत्र के दौरान आरसीबी को प्यार और समर्थन के लिए ‘असली प्रशंसकों’ को धन्यवाद दिया। उन्होंने लिखा, ” असली प्रशंसकों को धन्यवाद जिन्होंने खेल को अपना सब कुछ देने वाले खिलाड़ियों की प्रशंसा की और प्यार दिया। दुर्भाग्य से यहां (ऑनलाइन मंच पर) कुछ बुरे लोग हैं जो सोशल मीडिया को एक खराब जगह बना देते हैं। यह अस्वीकार्य है। कृपया उनके जैसा न बनें।

सीएम ने प्रदूषण कम करने में मदद की अपील की

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्लीवासियों से शहर में प्रदूषण कम करने में मदद की अपील की और कहा कि सप्ताह में कम से कम एक दिन निजी वाहनों का इस्तेमाल ना करें। उन्होंने कहा कि आस-पास के राज्यों के किसानों के पराली जलाना शुरू करने के कारण, दिल्ली में पिछले तीन-चार दिनों से वायु प्रदूषण बढ़ने लगा है।
केजरीवाल ने कहा, ” मैं एक महीने से वायु गुणवत्ता के आंकड़े ट्वीट कर रहा हूं। उसमें दिख रहा है कि आस-पास के राज्यों के किसानों के पराली जलाना शुरू करने के कारण दिल्ली में पिछले तीन-चार दिनों से वायु प्रदूषण बढ़ने लगा है।”
मुख्यमंत्री ने कहा कि समय आ गया है कि दिल्लीवासी प्रदूषण को कम करने की जिम्मेदारी अब अपने हाथ में लें। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि हरेक व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी निभाए और कम से कम स्थानीय स्तर पर उत्पन्न प्रदूषण घटाने के लिए 18 अक्टूबर से शुरू होने वाले ‘रेड लाइट ऑन, व्हीकल ऑफ’ अभियान सहित तीन उपायों में योगदान दें। केजरीवाल ने कहा कि विशेषज्ञों का कहना है कि लाल बत्ती पर वाहन बंद करने से 250 करोड़ रुपये बचाए जा सकते हैं और प्रदूषण 13 से 20 प्रतिशत कम किया जा सकता है।

उन्होंने लोगों से सप्ताह में कम से कम एक दिन सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करने या ‘कार पूल’ करने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि लोगों को दिल्ली सरकार की आंख तथा कान बनना चाहिए और कूड़ा जलाने जैसी प्रदूषण फैलाने की घटनाओं की जानकारी देनी चाहिए, ताकि उनसे निपटा जा सके।

यूपी: सीतापुर हाइवे के टोल पर प्रियंका को रोका

हरिओम उपाध्याय         
लखनऊ। लखनऊ से लखीमपुर खीरी में तिकुनियां कांड में मारे गए किसानों की अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए जा रही कॉंग्रेस की महासचिव एंव यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी को लखनऊ सीतापुर हाइवे के टोल पर पुलिस ने रोका लिया है।
प्रियंका गांधी के कांग्रेस कार्यकर्ताओं का काफिला मौजूद है। मौके पर भारी मात्रा में मौजूद पुलिस है। कांग्रेस का आरोप है पुलिस गाड़ियों को जबरन रोक रही है।


अक्षरों के नामों पर 51 देवियों का मंदिर बनाया गया

तिरुवनंतपुरम। केरल में मलयालम वर्णमाला के 51 अक्षरों के नामों पर आधारित 51 देवियों का मंदिर बनाया गया है। जिसे नवरात्र में प्राणप्रतिष्ठा के उपरांत जनता के दर्शन के लिए खोला जाएगा। तिरुवनंतपुरम जिले के विझिन्जम के निकट पूर्णामिकावु मंदिर के लिए इन 51 देवियों की प्रतिमाएं तमिलनाडु के तंजावुर के निकट मइलाडी गांव में उकेरा गया है। जो मूर्तिकला के प्रसिद्ध दूसरा सबसे बड़ा स्थान है।
नवरात्र की पूर्व संध्या पर इन प्रतिमाओं को तिरुवनंतपुरम लाया गया। पूर्णामिकावु मंदिर केवल पूर्णिमा के दिन खुलता है। देवी प्रतिमाओं की स्थापना एवं प्राणप्रतिष्ठा की योजना प्रमुख मंदिरों के मुख्य पुरोहितों द्वारा निर्धारित की गयी है जिनमें श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर के पुरोहित पुष्पांजलि स्वामीयार, मित्रन नंबूदरी, मल्लियूर शंकरन नंबूदरी एवं जाने माने संगीतज्ञ कैथाप्राम दामोदरन नंबूदरी शामिल हैं।
इसकी जानकारी देते हुए मंदिर के न्यासी एम. एस. भुवनचंद्रन ने भाषा कोई भी हो, वेदों के अनुसार अक्षरों में विशेष शक्ति होती है। अक्षरों की इन्हीं शक्तियों को अनुभव करके ऋग्वेद, शिव संहिता, देवी भागवत, हरिनाम कीर्तनम् एवं आदिशंकर की रचनाओं में प्रत्येक मलयालम अक्षर की देवियों की पहचान की गयी। देवियों की अंतिम पहचान निर्धारित करने से पहले दशक भर तक शोध एवं विचार मंथन किया गया।

ऐसे प्रमाण मौजूद हैं जिनमें बताया गया है कि प्राचीन काल में वैज्ञानिक एवं ऋषियों ने अक्षरों एवं शब्दों की शक्ति को पहचाना था और भावी पीढ़ी के कल्याण के लिए उसे दर्ज भी किया था। श्री भुवनचंद्रन के अनुसार पहली चुनौती यह थी कि इस पूरे ज्ञान को वैज्ञानिक रीति से कूटबद्ध किया जाये और प्रतिमाओं के स्वरूप का निर्धारण किया जाये। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों के आधुनिक शिक्षा केन्द्रों एवं सुविख्यात विश्वविद्यालयों में भी मंत्रों की शक्ति का अध्ययन एवं विश्लेषण किया गया है।

हिंसा मामले पर राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा राहुल

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेगा और इस घटना के तथ्यों से जुड़ा एक ज्ञापन उन्हें सौंपेगा। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
कांग्रेस के इस सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल शामिल होंगे।
कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि पार्टी का यह प्रतिनिधिमंडल बुधवार को सुबह 11.30 बजे राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा। हाल ही में कांग्रेस ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मिलने का समय मांगा था। कांग्रेस लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग कर रही है।
गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत तीन अक्टूबर को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आशीष को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

अदालत से मंजूरी पर आशीष को हिरासत में लिया

आदर्श श्रीवास्तव            
लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा मामले में आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को मंगलवार को अपराध शाखा कार्यालय ले जाया गया, जहां विशेष जांच दल (एसआईटी) उससे गहन पूछताछ कर रही है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अदालत से मंजूरी मिलने पर आशीष मिश्रा को पुलिस हिरासत में लिया गया।
वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी (एसपीओ) एसपी यादव ने सोमवार को बताया कि अदालत (मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी) में आशीष मिश्रा को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेजने के लिए शनिवार को अर्जी दी गई थी जिस पर सुनवाई हुई और अदालत ने 12 से 15 अक्टूबर तक उसे पुलिस हिरासत में भेजने के आदेश दिए।
उन्होंने बताया कि आशीष मिश्रा का चिकित्सकीय परीक्षण कराया जाएगा और उसे पूछताछ के नाम पर पुलिस प्रताड़ित नहीं करेगी। यादव ने यह भी बताया कि इस दौरान उसके अधिवक्‍ता मौजूद रहेंगे। उत्तर प्रदेश पुलिस के एक विशेष जांच दल (एसआईटी) ने तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के सिलसिले में आशीष मिश्रा को शनिवार को करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया और आधी रात के बाद पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में लखीमपुर जिला जेल भेज दिया गया।
एसआईटी का नेतृत्व कर रहे पुलिस उप महानिरीक्षक (मुख्यालय) उपेंद्र अग्रवाल ने शनिवार रात मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद पत्रकारों को बताया, ”मिश्रा ने पुलिस के प्रश्नों का सही उत्तर नहीं दिया और जांच में सहयोग नहीं किया। वह सही बातें नहीं बताना चाह रहे हैं, इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है।” लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

राजधानी में कई स्थानों पर छापेमारी की: एनआईए

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 2,988 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती की जांच के सिलसिले में मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में कई स्थानों पर छापेमारी की। एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली और नोएडा के पांच स्थानों पर छापे मारे जा रहे हैं।
संघीय एजेंसी ने इस महीने की शुरुआत में केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) से मामले को अपने हाथ में लिया था और स्वापक औषधि और मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम (एनडीपीएस कानून) तथा गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) की धाराओं के तहत आपराधिक शिकायत दर्ज की थी। एनआईए ने भी मामला दर्ज करने के तुरंत बाद छापेमारी की थी।
एनआईए के एक अधिकारी ने बताया था कि मामला मुंद्रा बंदरगाह पर 2,988.21 किलोग्राम मादक पदार्थ (हेरोइन) की जब्ती और खेप की खरीद और वितरण में विदेशी नागरिकों की संलिप्तता से संबंधित है। डीआरआई ने 13 सितंबर को दो कंटेनरों को कब्जे में लिया था जो अफगानिस्तान के कंधार से ईरान के बांदर अब्बास बंदरगाह से होते हुए मुंद्रा बंदरगाह पहुंचे थे।
कंटेनरों को लेकर की गई घोषणा में दावा किया गया था कि इनमें “अर्ध- प्रसंस्कृत टैल्क स्टोन” हैं। एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया था कि अच्छी तरह से जांच करने पर पता चला कि कंटेनरों में 2988 किलोग्राम हेरोइन है जिसकी कीमत 21,000 करोड़ रुपये है।

बड़े थैलों में ऊपर टैल्क स्टोन रख कर, नीचे की तहों में हेरोइन को छिपा कर रखा गया था। डीआरआई ने नशीले पदार्थ की जब्ती के सिलसिले में पांच विदेशी नागरिकों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद एनआईए ने चेन्नई, कोयंबटूर और विजयवाड़ा में आरोपियों के परिसरों की तलाशी ली थी।

खेल: आम सभा की ऑनलाइन बैठक में स्वीकृति दी

टोक्यो। राष्ट्रमंडल खेलों में 2026 से सिर्फ एथलेटिक्स और एक्वाटिक्स ही दो अनिवार्य खेल होंगे। जिससे मेजबान शहरों को कोर सूची में जगह पाने वाले खेलों में से अपनी पसंद के खेलों को शामिल करने की स्वतंत्रता मिलेगी। कोर खेलों में टी20 क्रिकेट और तीन गुणा तीन बास्केटबॉल भी शामिल है।
इस खाके को राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) की आम सभा की आनलाइन बैठक में स्वीकृति दी गई। सीजीएफ के बयान के अनुसार, ”मेजबानी के फायदों को बढ़ाने और खेलों को लागत के लिहाज से अधिक प्रभावी बनाने, नए दर्शकों को जोड़ने के लिए राष्ट्रमंडल खेल 2026-2030 रणनीतिक खाका भविष्य के मेजबानों को नई धारणाओं को लागू करने के लिए आमंत्रित करता है जिसमें सह-मेजबानी और बड़ी संख्या में प्रतिनिधित्व वाली प्रतियोगिताओं का आयोजन शामिल हैं।
बयान में कहा गया, ”अंतरराष्ट्रीय महासंघों के साथ मौजूदा सलाह मशविरे के हिस्से के तौर पर संशोधित खेल कार्यक्रम की महत्वाकांक्षा है जो मेजबानों को कोर खेलों की विस्तृत सूची से चयन करने के लिए अधिक लचीलापन देगी। ” कोर खेलों में टी20 क्रिकेट, बीच वॉलीबॉल और तीन गुणा तीन बास्केटबॉल को शामिल किया गया है जो पहले वैकल्पिक खेल थे। पंद्रह खेलों की कोर सूची में बैडमिंटन, निशानेबाजी, टेबल टेनिस, कुश्ती (फ्रीस्टाइल) और हॉकी भी शामिल है।
सीजीएफ ने कहा, ”इससे मेजबानों को पूरी तरह से नए खेलों को प्रस्तावित करने की स्वीकृति मिलेगी जो उनके देश या संस्कृति से संबंधित है। इससे सांस्कृतिक प्रदर्शन और सामुदायिक जुड़ाव में इजाफा होगा।” सीजीएफ ने सिफारिश की है कि खेलों के दौरान लगभग 15 खेलों का आयोजन होगा। इन खेलों के 2026 के मेजबान की तलाश अभी जारी है। जबकि 2022 में इन खेलों का आयोजन बर्मिंघम में होगा।
बर्मिंघम खेलों से निशानेबाजी को हटाया गया है जबकि टी20 महिला क्रिकेट को शामिल किया गया है। अन्य स्वीकृत सिफारिशों के अनुसार खाके में कहा गया है कि पैरा खेल कार्यक्रम इन खेलों का अहम हिस्सा बना रहेगा। सीजीएफ ने कहा, ”भविष्य में संभावित मेजबानों को वैकल्पिक खेल गांव पर विचार के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, खिलाड़ियों को नव निर्मित स्थान या एक ही स्थान पर रखने की जरूरत नहीं होगी।”

सीजीएफ अध्यक्ष डेम लुईस मार्टिन ने कहा कि प्रतियोगिताओं में नयापन लाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ”यह सुनिश्चित करने के लिए कि हम राष्ट्रमंडल में अपनी प्रासंगिकता और प्रतिष्ठा बनाए रखें, हमारे खेलों को अनुकूलित, विकसित और आधुनिक बनाने की आवश्यकता है।”
लुईस मार्टिन ने कहा, ”हमारा अगला कदम हमारे अंतरराष्ट्रीय महासंघ साझेदारों के साथ मिलकर काम करना है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे खेलों के भविष्य को रेखांकित करने के लिए खाके में योगदान दे सकें।

कैबिनेट से मिली उप समिति की रिपोर्ट को मंजूरी

पंकज कपूर            
देहरादून। कैबिनेट से मिली उप समिति की रिपोर्ट को मंजूरी। 10 साल सेवा वालों को 3000 और 10 साल से नीचे वालों को 2000 मानदेय में वृद्धि की गई है।
आपको बता दें की पिछले लंबे समय से उपनल कर्मी आंदोलनरत है। पिछले कैबिनेट बैठक में भी इस मुद्दे को लाया जाना था। लेकिन वित्त विभाग द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के चलते यह मामला कैबिनेट में पेश नहीं हो पाया
कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और मंत्री गणेश जोशी ने इस मुद्दे पर आपत्ति जताई थी।
जिसके बाद आज इस मसले पर फैसला हो गया है।

चुनौती देने वाली जनहित याचिका को खारिज किया

अकांशु उपाध्याय          
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुजरात काडर के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना की शहर के पुलिस आयुक्त के रूप में नियुक्ति को चुनौती देने वाली जनहित याचिका मंगलवार को खारिज कर दी। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने वकील सद्रे आलम की याचिका पर यह आदेश सुनाया।
याचिका में अस्थाना को दिल्ली पुलिस आयुक्त के रूप में नियुक्त करने के गृह मंत्रालय के 27 जुलाई के आदेश को रद्द करने और अंतर-काडर प्रतिनियुक्ति और सेवा विस्तार देने के आदेश को भी रद्द करने का अनुरोध किया गया था। याचिका में कहा गया था, (गृह मंत्रालय का) संबंधित आदेश प्रकाश सिंह मामले में भारत के उच्चतम न्यायालय द्वारा पारित निर्देशों का स्पष्ट उल्लंघन है, क्योंकि प्रतिवादी संख्या दो (अस्थाना) के पास छह महीने का न्यूनतम कार्यकाल शेष नहीं था; दिल्ली पुलिस आयुक्त की नियुक्ति के लिए यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) की कोई समिति नहीं बनायी गई थी और दो साल के न्यूनतम कार्यकाल के मानदंड को नजरअंदाज किया गया।
केंद्र ने अपने शपथपत्र में कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में कानून-व्यवस्था से जुड़ी विविध चुनौतियों के मद्देनजर अस्थाना की नियुक्ति और उनके सेवा कार्यकाल में विस्तार का निर्णय जनहित में लिया गया है। केंद्र ने अपने हलफनामे में यह भी कहा था कि दिल्ली पुलिस आयुक्त के रूप में अस्थाना की नियुक्ति में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई है और उनकी नियुक्ति सभी नियम-कायदों को ध्यान में रखकर की गई है।

पुलिस ने पाकिस्तानी आतंकवादी की गिरफ्तारी की

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। पुलिस के स्पेशल सेल ने इस दीपावली सीजन में दिल्ली को दहलाने की एक बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम करते हुए आईएसआई के आदेशों पर काम करने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी की गिरफ्तारी की है। जो कि नाम बदल कर फर्जी आईडी के सहारे लक्ष्मी नगर इलाके में टिका हुआ था। उसके पास से काफी मात्रा में अत्याधुनिक हथियार बरामद हुए हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार आतंकी की पहचान मोहम्मद अशरफ उर्फ अली के रूप में हुई है। यह आतंकवादी पाकिस्तान के पंजाब का रहने वाला है और आईएसआई के लोग इसके आका हैं। इसके पास से अत्याधुनिक हथियार, एके-47 और ग्रेनेड भी बरामद हुए हैं। गिरफ्तार किए गए आतंकी के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम, शस्त्र अधिनियम और अन्य प्रावधानों के प्रासंगिक प्रावधान लगाए गए हैं।
इस बड़ी कार्रवाई को दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की अगुवाई में अंजाम तक पहुंचाया गया है। बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस को जानकारी मिली थी ​दीपावली सीजन के दौरान पाकिस्तारी आतंकवादी राजधानी में किसी बड़ी साजिश को अंजाम दे सकते हैं। ऐसे में पुलिस हाई अलर्ट मोड पर थी। बकायदा दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश आस्थाना ने सभी जिला पुलिसकर्मियों, स्पेशल सेल एवं क्राइम ब्रांच को अलर्ट रहने के निर्देश दिए थे।
इस बीच दिल्ली पुलिस ने एक गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारकर नेपाल के रास्ते दिल्ली आये मोहम्मद अशरफ को गिरफ्तार कर लिया। स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि अशरफ पाकिस्तान के पंजाब का रहने वाला है। उसे लक्ष्मीनगर इलाके से सोमवार रात गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि मोहम्मद अशरफ के पास फर्जी आईडी थी। जिसने उसने अपना नाम अली अहमद नूरी लिखा था। यही नहीं उसने शास्त्री नगर की एक फर्जी आईडी भी बना ली थी। पुलिस ने फर्जी आईडी, बैग और दो मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं। यही नहीं आरोपी के पास से एक एके-47, मैगजीन और 60 गोलियां भी बरामद हुई हैं। एक हैंड ग्रेनेड, दो पिस्तौल और 50 कारतूस भी उसकी निशानदेही पर कालिंदी कुंज घाट से बरामद हुए हैं। तुर्कमान गेट इलाके से एक भारतीय पासपोर्ट भी उसने बरामद करवाया है।
मोहम्मद अशरफ उर्फ अली की गिरफ्तारी के बाद से इससे पूछताछ का क्रम लगातार जारी है। जो जानकारी मिली है उसके अनुसार इसके कई अन्य साथी भी दिल्ली व अन्य शहरों में छिपे हो सकते हैं। यह लोग त्योहारी सीजन में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराख में थे। पुलिस ने निश्चित रूप से दिल्ली को दहलाने की साजिश को नाकाम कर दिया है, लेकिन बड़ा सवाल अब भी यह है कि आखिर कैसे कोई पाकिस्तानी आतंकी फर्जी पहचान पत्रों के सहारे भारत में दाखिल हो रहा है। इनके स्लीपर सेल में कितने लोग हैं। जब तक इसका पता नहीं चलता तब तक यह नहीं कहा जा सकता कि ​राजधानी सहित अन्य इलाकों में आतंकी हमलों की साजिश फेल हो चुकी है।






सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-422 (साल-02)
2. बुधवार, अक्टूबर 13, 2021
3. शक-1984,सावन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त 06:13।
5. न्‍यूनतम तापमान -23 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया आदर्श श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी। अपनी बदहाली सेे लडता किसान गणतंत्र की गहरी खाई में जा पहुंचा हैं। मध-म...