शनिवार, 18 फ़रवरी 2023

कौशाम्बी: बड़ी धूमधाम से मनाया 'महाशिवरात्रि' का पर्व

कौशाम्बी: बड़ी धूमधाम से मनाया 'महाशिवरात्रि' का पर्व


पूरे जिले में धूमधाम से भक्तों ने मनाया महा शिवरात्रि का पर्व

भक्तों ने निकाली शिव बारात जगह-जगह ठंडाई भांग का किया गया आयोजन

कौशाम्बी। 'महाशिवरात्रि' का पर्व पूरे जिलें में बड़ी धूमधाम से मनाया गया है। जनपद मुख्यालय मंझनपुर सहित भरवारी सिराथू सराय अकिल मनौरी चरवा पूरा मुफ्ती अझुवा सैनी दारा नगर कड़ा धाम मूरतगंज करारी पश्चिम सरीरा कुमिहावा तिल्हापुर मोड़ विजिया चौराहा नेवादा सहित जिले के बिभिन्न कस्बा नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह से ही शिव मंदिरों में पूजा-अर्चना करने वाले भक्तों की भारी भीड़ लगी रही। हर्ष उल्लास उमंग के साथ महाशिवरात्रि का पर्व पूरे जिले में मनाया गया।

शिव मंदिरों में सुबह से ही शिव पूजा करने वाले महिला पुरूष भक्तों की भीड़ लगी रही। बेलपत्र, दूध, दही, शहद, धतूरा, आम का बौर, चना का होरा, धतूरा का फूल, मदार का फूल, बेल, भांग, गंगाजल, पुष्पमाला आदि। पूजन सामग्री से शिव भक्तों ने शिव की पूजा की है। शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों ने भगवान शिव को पूजन सामग्री अर्पित कर धूप दीप नैवेद्य यज्ञ हवन आरती मिष्ठान से विधि विधान से शिव पार्वती की पूजा अर्चना की है। पूजन के बाद शिव भक्तों ने देश के कल्याण की कामना प्रभु से की है। जिले के तमाम शिव मंदिरों में शिव भक्तो ने कीर्तन भजन का आयोजन भी किया है। तमाम शिव मंदिरों में ठंडाई भांग का भी आयोजन भक्तों ने बड़ी धूमधाम से किया है।

तमाम शिव मंदिरों में सैकड़ों भक्तों ने ठंडाई भांग का प्रसाद ग्रहण किया। महाशिवरात्रि के पर्व को लेकर पूरे जिले की पुलिस फोर्स लगातार भ्रमण करती रही और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती रही मंझनपुर मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में शिव भक्तों ने बड़े धूमधाम से डीजे की धुन के साथ शिव बारात निकाली है। सैकड़ो नगरवासी बारात में शामिल होकर नृत्य करते हुए बारात की शोभा बढ़ा रहे थे। जगह-जगह शिव बारात का स्वागत नगर वासियों ने किया है। रास्ते भर प्रसाद का वितरण शिव भक्तों द्वारा किया गया है। पूरे जिले में हर्ष उल्लास उमंग के साथ शांतिपूर्ण तरीके से महाशिवरात्रि का पर्व संपन्न हो गया है।

राकेश कुमार केशवानी 

संगठन 'हिजबुल मुजाहिदीन' के 3 सदस्य गिरफ्तार 

संगठन 'हिजबुल मुजाहिदीन' के 3 सदस्य गिरफ्तार 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों ने आतंकवादी संगठन 'हिजबुल मुजाहिदीन' के तीन सक्रिय सदस्यों (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि उन्हें हथियार और गोला-बारूद ले जा रहे राष्ट्र विरोधी तत्वों के आवाजाही की सूचना मिली थी, जिसके बाद शुक्रवार शाम दादरकूट-आलमगंज चौराहा पर एक चौकी स्थापित कर मोटरसाइकिल पर जा रहे तीन संदिग्धों को रोका गया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि उनके पास से तलाशी के दौरान एक पिस्तौल, दो मैगजीन और 13 कारतूस बरामद किये गए। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान मोहम्मद अब्बास वागे, गौहर शफी मीर और निसार रहमान शेख के रूप में हुई है। प्रवक्ता ने बताया, ‘‘ पूछताछ के दौरान उन्होंने खुलासा किया कि वे आतंकवादी वारदात में शामिल थे और आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन को सहायता प्रदान कर रहे थे।"

तीन दिनों में हुई हिंसा, 100 से अधिक लोग घायल 

तीन दिनों में हुई हिंसा, 100 से अधिक लोग घायल 

इकबाल अंसारी 

अगरतला। त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव के बाद तीन दिनों में हुई हिंसा में अब तक सौ से अधिक लोग घायल हो गए हैं। पुलिस ने शनिवार को अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। रिपोर्ट के अनुसार इस चुनावी हिंसा के लिए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विपक्षी टिपरा मोथा, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई-एम) और कांग्रेस पर विभिन्न जिलों में अपने समर्थकों पर हमला करने का आरोप लगाया।

विपक्षी नेताओं ने भी जवाब में भाजपा पर चुनावी हमले के आरोप लगाए। हिंसा के बाद पूरे राज्य के लगभग सभी जिला अस्पतालों में औसतन 08 से 10 लोगों को इलाज के लिए भर्ती किया गया है। चुनाव संबंधित हिंसा के बाद तीन दिनों में कम से कम 22 लोगों को अगरतला सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया।

चुनाव के दौरान और इसके बाद कुमारघाट, खोवाई, तेलियामुरा और अगरतला, विशालगढ़, सोनमुरा, उदयपुर और बेलोनिया के विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में सबसे अधिक हिंसा देखी गई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी किरण गिट्टे के अनुसार मतदान के दिन हिंसा की केवल पांच बड़ी घटनाएं दर्ज की गईं और पुलिस ने तुरंत मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

चुनाव अधिकारियों ने कहा कि चुनाव के बाद मेघालय और नागालैंड से केंद्रीय बलों को हटा दिया गया और इसके बाद विभिन्न राजनीतिक दलों के समर्थकों ने एक-दूसरे पर हमला किया। मतदान के दिन चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक की कार पर हमले में शामिल अपराधियों की कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

दलों को एकजुट कर गठबंधन बनाना चाहिए: सीएम 

दलों को एकजुट कर गठबंधन बनाना चाहिए: सीएम 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस को राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' से बने माहौल का लाभ उठाते हुए भाजपा विरोधी दलों को एकजुट कर गठबंधन बनाना चाहिए। जनता दल यूनाइटेड के नेता ने कहा कि यह गठबंधन जल्दी से जल्दी होना चाहिए ताकि लोकसभा में अभी 300 से ज्यादा सीटों वाली भाजपा को अगले साल होने वाले आम चुनाव में 100 से भी नीचे सीटों पर समेटा जा सके।

यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कुमार ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की ओर मुड़़ते हुए कहा '' मैं कांग्रेस में अपने साथियों से कहना चाहता हूं कि यात्रा बहुत अच्छी रही। लेकिन उन्हें यहां नहीं रुकना चाहिए।'' भाकपा माले द्वारा ''संविधान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ, देश बचाओ'' शीर्षक से आयोजित अखिल भारतीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि पिछले साल राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से उनके अलग होने के बाद से भाजपा के राज्य में विस्तार के प्रयासों में कमी आई है, ''लेकिन हमे ऐसी ही उपलब्धि राष्ट्रीय स्तर पर भी हासिल करने की जरूरत है।''

सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री का पद संभालने वाले और अब 71 वर्ष के हो चुके कुमार ने कहा कि उनकी खुद की कोई महत्वकांक्षा नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा ''अगर मेरी सलाह पर ध्यान दिया जाता है, तो इससे देश को लाभ होगा" और इसके साथ ही भाजपा के लगभग आधिपत्य की स्थिति का सामना करने वाली पार्टियों को भी फायदा पहुंचेगा।मुख्यमंत्री ने भाजपा और उसके नेताओं का नाम लिए बिना अपने अंदाज में कहा कि लोकसभा चुनाव इन लोगों से मुक्ति का एक अवसर होगा। उन्होंने कहा, ‘‘ जो नई सरकार बनेगी वो देशहित में बेहतर काम करेगी। हम सबको मिल जुलकर काम करना है। समाज में एकजुटता रखनी है। देश को और आगे ले जाना है। विपक्षी एकता जरूरी है।

...हम सिर्फ चाहते हैं कि सभी एकजुट होकर रहें। देश आगे बढ़े। जब तक हम हैं आपलोगों का पूरा सहयोग करते रहेंगे।’’ उन्होंने देश में बढ़ते सांप्रदायिक तनाव पर भी चिंता व्यक्त की, जहां "विभाजन की रक्तरंजित विरासत के बावजूद हिंदू और मुसलमान शांति से रह रहे थे। कुमार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा '' परोक्ष रूप से कटाक्ष करते हुए कहा कि जिनको आजादी की लड़ाई से कोई लेना-देना नहीं है वो नया-नया इतिहास पैदा कर रहे हैं।'' उन्होंने केंद्रीय जांच एजेंसियों के जरिये असंतोष के स्वरों को दबाने के आरोपों को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर परोक्ष रूप से निशाना भी साधा।

जदयू सुप्रीमो ने कहा '' जो कोई भी कहता है कुछ गड़बड़ है, उसके साथ क्या होता है।'' कुमार ने महागठबंधन में शामिल होने के बाद दिल्ली की यात्रा और वहां राहुल गांधी, सीताराम येचुरी और अरविंद केजरीवाल समेत विभिन्न दलों के नेताओं से बातचीत का भी उल्लेख किया। भाकपा माले के इस महाधिवेशन को नीतीश के अलावा कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तथा भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने भी संबोधित किया।

26 फरवरी को गुलाब के पौधों की अनूठी प्रदर्शनी होगी

26 फरवरी को गुलाब के पौधों की अनूठी प्रदर्शनी होगी

नरेश राघानी 

जयपुर। राजधानी जयपुर के नवनिर्मित सिटी पार्क में 26 फरवरी को गुलाब के पौधों की अनूठी प्रदर्शनी होगी। आयोजकों का कहना है कि प्रदर्शनी में 500 से अधिक अलग-अलग किस्म के गुलाब प्रदर्शित किए जाएंगे। ‘रोज शो-2023’ प्रदर्शनी का आयोजन ‘द रोज सोसाइटी ऑफ राजस्थान’ कर रही है। सोसाइटी के संरक्षक ईश्वर चंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि सोसायटी हर वर्ष शहर के सेंट्रल पार्क व यूथ हॉस्टल में ‘रोज शो’ करती है। लेकिन इस बार यह सिटी पार्क में इसका आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शो में आमजन भी उन्नत किस्म के गुलाब की कलम के साथ हिस्सा ले सकते हैं।

अच्छे गुलाबों की किस्मों को सम्मानित भी किया जाएगा। इसके अलावा पेंटिंग प्रतियोगिता सहित कई अन्य रचनात्मक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। एक बयान के अनुसार, सोसायटी के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा के साथ बैठक कर कार्यक्रम की कार्ययोजना साझा की। अरोड़ा ने बताया कि सोसायटी द्वारा 48वां ‘रोज शो’ शहर के ‘हॉट डेस्टिनेशन’ बन चुके सिटी पार्क में होगा। कार्यक्रम में गुलाब की 500 से अधिक किस्मों को प्रदर्शित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि ‘रोज शो’ के लिए सिटी पार्क और मंडल पूरी तरह तैयार है। अधिकारियों को सभी तैयारियों के लिए निर्देशित किया जा चुका है। 26 फरवरी को पार्क में राजस्थानी लोक नृत्य सहित कई आकर्षण होंगे। उन्होंने बताया कि सिटी पार्क में पूर्व में ही ‘जयपुर फ्लावर शो’ का क्षेत्र विकसित किया गया था, जो कि लोगों में खासा आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

गैरकानूनी गतिविधियों से जुड़े मामलें में छापेमारी

गैरकानूनी गतिविधियों से जुड़े मामलें में छापेमारी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की गैरकानूनी गतिविधियों से जुड़े एक मामलें में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने शनिवार को राजस्थान में सात स्थानों पर छापेमारी की। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। संघीय आतंकवाद रोधी एजेंसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि कोटा में तीन स्थानों पर तथा माधोपुर, भीलवाड़ा, बूंदी और जयपुर जिलों में एक-एक स्थान पर छापेमारी की गई। 

प्रवक्ता ने बताया कि ये छापे संदिग्धों के आवासीय और वाणिज्यिक परिसरों पर मारे गए। अधिकारी ने कहा कि छापेमारी के दौरान डिजिटल उपकरण, एक एयरगन, धारदार हथियार और दस्तावेज जब्त किए गए। प्रवक्ता ने कहा कि छापेमारी उस मामले में आगे की कार्रवाई के तहत की गई जो एनआईए ने पिछले साल 19 सितंबर को विश्वसनीय सूत्रों से यह जानकारी मिलने के बाद दर्ज किया था कि पीएफआई सदस्य सादिक सर्राफ (बारां निवासी) और मोहम्मद आसिफ (कोटा निवासी) अन्य के साथ "गैरकानूनी गतिविधियों" में लिप्त हैं। प्रवक्ता ने कहा कि मामले में आगे की जांच जारी है। 

फ्लाइट के वॉशरूम में सिगरेट पीती पकड़ी गई ऐश्वर्या 

फ्लाइट के वॉशरूम में सिगरेट पीती पकड़ी गई ऐश्वर्या 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। मुंबई से रांची आ रही इंडिगो की फ्लाइट के वॉशरूम में एक लड़की सिगरेट पीती पकड़ी गई। लड़की झारखंड के जमशेदपुर की रहने वाली है। आरोप है कि लड़की फ्लाइट के वॉशरुम में सिगरेट पी रही थी और क्रु मेंबर ने उसे स्मोकिंग करते हुए पकड़ा। लड़की का नाम ऐश्वर्या राय बताया जा रहा है। उधर आरोपी लड़की ऐश्वर्या का दावा है कि वह मुंबई में शाहरुख खान से मिलने गई थी। वहीं से वापस रांची लौट रही थी।

फिलहाल, पुलिस ने ऐश्वर्या के खिलाफ एविएशन सिक्योरिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। माचिस जैसी ज्वलनशील चीजें फ्लाइट में प्रतिबंधित है। माचिस और सिगरेट लेकर फ्लाइट में यात्रा करने वाली ऐश्वर्या ने खुद को ब्लॉगर बताया। ऐश्वर्या ने दावा किया है कि उसने शाहरुख खान की फिल्म पठान को लेकर एक ब्लॉग लिखा था। इसी सिलसिले में वह शाहरुख खान से मिलने के लिए मुंबई गई थी। हालांकि, उसकी मुलाकात शाहरुख खान से हो सकी या नहीं, इस मसले पर उसने पुलिस को कुछ नहीं बताया।

'यूट्यूब' के प्रमुख बनेंगे भारतीय-अमेरिकी मोहन 

'यूट्यूब' के प्रमुख बनेंगे भारतीय-अमेरिकी मोहन 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी/लखनऊ। सुजन वोजिस्की द्वारा यूट्यूब के सीईओ का पद छोड़े जाने के बाद भारतीय-अमेरिकी नील मोहन यूट्यूब के प्रमुख बनेंगे। मोहन ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ साइंस और स्टैनफोर्ड ग्रैजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस से एमबीए किया है। एक्सेंचर और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों में काम कर चुके मोहन 7 वर्षों से अधिक समय से यूट्यूब के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर हैं। नील मोहन ने कहा कि वह इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हैं और एक नए भविष्य की आशा कर रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, धन्यवाद, सुसान वोजिकी, वर्षों से आपके साथ काम करना अद्भुत रहा है। आपने YouTube को रचनाकारों और दर्शकों के लिए एक असाधारण घर बना दिया है। मैं इस महत्वपूर्ण मिशन को जारी रखने के लिए उत्साहित हूं। टिकटॉक और फेसबुक की रील्स जैसी शॉर्ट-फॉर्म वीडियो सेवाओं और नेटफ्लिक्स जैसी स्ट्रीमिंग सेवाओं के साथ प्रतिस्पर्धा के बीच यूट्यूब के विज्ञापन राजस्व में लगातार दूसरी तिमाही में गिरावट आई है।

बता दें कि Susan Wojcicki ने एक पत्र लिखकर अपने इस्तीफे का एलान किया। उन्होंने कहा कि वे अपने जीवन का एक नया अध्याय शुरू करने जा रही है। वे अपनी फैमिली, हेल्थ और पर्सनल प्रोजेक्ट को लेकर नया काम शुरू करेंगी।

यूट्यूब के नवनियुक्त प्रमुख नील मोहन को ट्विटर ने 2011 में नौकरी की पेशकश की थी। ट्विटर ने गूगल में कार्यरत भारतीय मूल के मोहन को अपनी प्रोडक्ट लाइन-अप में सुधार करने की पेशकश की थी। टेकक्रंच की रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल ने नील को रुकने के लिए $100 मिलियन का स्टॉक दिया था जिसके बाद वह रुक गए थे।

भारतीय मूल के नील मोहन को यूट्यूब का नया प्रमुख नियुक्त किया गया है। इससे पहले शनैल ने भारतीय मूल की लीना नायर व बाटा ने संदीप कटारिया को सीईओ नियुक्त किया था। वहीं, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, एडोबी के सीईओ शांतनु नारायण और आईबीएम के सीईओ अरविंद कृष्णा भी भारतीय मूल के हैं।

जान लीजिए कौन हैं Neal Mohan?

लखनऊ के सेंट फ्रांसिस कॉलेज में 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद नील मोहन अमेरिका चले गए जहां उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया। नील मोहन लंबे समय से सुसान वोजिकी के सहयोगी रहे, साल 2007 में DoubleClick अधिग्रहण के साथ Google में शामिल हुए।

नील मोहन को साल 2015 में YouTube में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर नियुक्त किया गया था। उन्होंने YouTube शॉर्ट्स, म्यूजिक और सब्सक्रिप्शन ऑफरिंग बनाने पर ध्यान केंद्रित किया। इससे पहले, मोहन माइक्रोसॉफ्ट के साथ काम कर चुके हैं और स्टिच फिक्स और जीनोमिक्स और बायोटेक्नोलॉजी कंपनी 23andMe के बोर्ड में रहे।

मोहन ने साल 1996 में एक्सेंचर (उस समय एंडरसन कंसल्टिंग कहलाती थी) के साथ काम शुरू किया था। बाद में वह नेटग्रैविटी नामक एक स्टार्टअप में शामिल हो गए, जिसे बाद में इंटरनेट विज्ञापन फर्म डबलक्लिक द्वारा अधिग्रहित कर लिया गया।

सेंट फ्रांसिस स्कूल से स्टैंनफोर्ड तक तय किया सफर

नील मोहन ने लखनऊ के सेंट फ्रांसिस स्कूल से कक्षा नौ से 12 तक की पढ़ाई पूरी की थी। इसके बाद इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री लेने के लिए स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी चले और वहीं बस गए। कक्षा नौ में उनकी क्लास टीचर रहीं प्रो. निशी पांडेय ने क्लास ग्रुप फोटो साझा करते हुए बताया कि बैठे बच्चों के ठीक पीछे वाली पहली पंक्ति में एकदम बाएं...नील मोहन है। वह क्लास का होनहार छात्र था।

मंदिर जा रही बस खड्ड में गिरी, 2 की मौत, 19 घायल 

मंदिर जा रही बस खड्ड में गिरी, 2 की मौत, 19 घायल 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में श्रद्धालुओं को लेकर शिव खोड़ी मंदिर जा रही बस शनिवार को सड़क से फिसल कर खड्ड में गिर गई, जिससे दो लोगों की मौंत हो गई और 19 अन्य घायल हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हादसा रानसु इलाके के तरयाथ में अपराह्न करीब साढ़े बारह बजे उस समय हुआ, जब चालक ने घुमावदार रास्ते में बस पर से अपना नियंत्रण खो दिया। 

अधिकारियों ने बताया कि बस में तीर्थयात्री सवार थे, जो महा शिवरात्रि के अवसर पर राजौरी से प्रसिद्ध शिव खोड़ी गुफा मंदिर जा रहे थे। उन्होंने बताया कि हादसे के तत्काल बाद बचाव कार्य शुरू किया गया और घायलों को नजदीकी अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने दो लोगों को मृत घोषित कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि 12 घायलों को इलाज के लिए जम्मू स्थित सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय (जीएमसी) रेफर किया गया है। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-129, (वर्ष-06)

2. रविवार, फरवरी 19, 2023

3. शक-1944, फाल्गुन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌।

4. सूर्योदय प्रातः 07:09, सूर्यास्त: 06:01। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 14 डी.सै., अधिकतम- 22+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

परंपरा: 'माह-ए-रमजान' का महीना प्रारंभ, रोजे

परंपरा: 'माह-ए-रमजान' का महीना प्रारंभ, रोजे सरस्वती उपाध्याय  इस्लामिक कैलेंडर का 9वां महीना रमजान का पाक महीना होता ह...