शनिवार, 19 मार्च 2022

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 11 नए मामलें मिलें

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 11 नए मामलें मिलें      

पंकज कपूर     

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण का प्रकोप अब तेजी के साथ घटने लगा है। राज्य में कोरोना वायरस मामलों में निरंतर कमी आ रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के कुल 11 नए मामले सामने आए है। वही, देहरादून मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक कोरोना मरीज की मौत हुई है। 

शनिवार की शाम 6 बजे उत्तराखंड स्टेट कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के कुल 11 नए मामले सामने आए है। जबकि राज्य में 20 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वही, दैनिक पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.84 फ़ीसदी पर पहुंच गई है।

किशोरी ने संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या की

किशोरी ने संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या की     

संदीप मिश्र     
बांदा। जिले के बबेरू कोतवाली अंतर्गत एक किशोरी ने घर में संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। बड़ी बहन ने देखा तो तुरंत परिजनों को आवाज लगाई। फांसी के फंदे से निकालकर बबेरू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया। जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामला क्षेत्र के पवैया गांव का है। जहां की रहने वाली शालू पुत्री रामलखन नें अपने घर की अटारी पर रस्सी के सहारे से फांसी लगा ली। 
वहीं, डॉक्टरों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिवार में कोहराम है। इस घटना का कारण परिजन कुछ भी नही बता पा रहे हैं। उधर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक के द्वारा बताया गया है कि पवैया गांव में शालू पुत्री राम लखन उम्र (16) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने व इस घटना की जांच कर विधिक कार्रवाई होगी।

शामली: हिंदू लड़की का नाम मुस्लिम परिवर्तन किया

शामली: हिंदू लड़की का नाम मुस्लिम परिवर्तन किया

भानु प्रताप उपाध्याय       
शामली। जनपद के कांधला थाना क्षेत्र की नगर पंचायत कांधला के लिपिक ने आधार कार्ड के आधार पर हिंदू लड़की का नाम मुस्लिम परिवर्तन कर सर्टिफिकेट पर अधिशासी अधिकारी और चेयरमैन के साइन करा, उसका नाम परिवर्तन का सर्टिफिकेट जारी कर दिया। जिसको लेकर और बजरंग दल के नेताओं ने कांधला थाने में पहुंचकर हंगामा किया। उनकी मांग है कि मामले की जांच की जाए और आरोपी पाए जाने पर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई हो।
जिले के कमला थाना क्षेत्र का है। जहां पर कांधला थाना क्षेत्र के कस्बा कांधला के रहने वाले एक युवक ने सरसावा की रहने वाली एक्युटी से कोर्ट मैरिज कर प्रेम विवाह किया था। जिसको वह कांधला अपने घर पर लिया था। जहां अब चुपचाप वह आधार कार्ड के आधार पर नगर पालिका से हिंदू नाम बदलकर मुस्लिम सना खान नाम रखना चाहती थी। और मात्र आधार कार्ड के आधार पर ही नगर पंचायत कांधला के लिपिक अकरम खान ने उसके सभी कागज पूर्ति करते हुए खुद उसको नाम परिवर्तन का एफिडेविट बनाकर दे दिया।
लेकिन सोचने वाली बात है कि किन आधारों पर नगर पंचायत के बाबू अकरम खान ने उसका नाम परिवर्तन का सर्टिफिकेट जारी किया। मामले की सूचना जय बजरंग दल के नेताओं को लगी। तो उन्होंने कांधला मैं पहुंच कर हंगामा किया और फिर नगर पालिका के चेयरमैन अधिशासी अधिकारी प्रभारी एसडीएम निकिता शर्मा और बाबू अकरम खान से बात की तो पता चला कि बाबू ने ही सब के सिग्नेचर करवा उसको नाम परिवर्तन का है। सर्टिफिकेट जारी किया है। जिसके बाद बजरंग दल के नेताओं ने सर्टिफिकेट में नाम परिवर्तन के अधिकार और कागजों की जानकारी लेने के हेतु कार्रवाई की मांग की है। जब कि अब अधिशासी अधिकारी और चैयरमेन अपना अपना पल्ला झाड़ रहे है। तो कैसे एक बाबु ने ये सर्टिफिकेट बनाया ये सोचने वाली बात है और किस की सह इस बाबु अकरम खान को है।

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने भारत को 6 विकेट से हराया

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने भारत को 6 विकेट से हराया   

मोमीन मलिक         

नई दिल्ली/सिडनी। भारतीय टीम को महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप में लगातार दूसरी हार का सामना करना पड़ा है। शनिवार को हुए मुकाबलें में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने भारत को 6 विकेट से हरा दिया। इस हार के साथ ही भारतीय टीम की सेमीफाइनल की राह मुश्किल हो गई है। मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का यह फैसला सही साबित हुआ और भारतीय टीम ने शुरुआती 6 ओवर में 28 रन के भीतर ही अपनी दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए‌‌। 

स्मृति मंधाना (10) और शफाली वर्मा (12) जल्द ही आउट हो गईं। यहां से कप्तान मिताली राज (68) और यास्तिका भाटिया (59) ने 130 रन की साझेदारी कर भारतीय टीम की वापसी कराई। इन दोनों खिलाड़ियों के आउट होने के हरमनप्रीत ने मोर्चा संभाला और 47 गेंद पर ताबड़तोड़ नाबाद 57 रन बनाए। वे एक छोर पर टिकी रहीं। दूसरे छोर से रिचा घोष (8) और स्नेह राणा (0) सस्ते में पवेलियन लौट गईं। हालांकि, 9वें क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरी पूजा वस्त्रकार ने रन आउट होने से पहले हरमनप्रीत का अच्छा साथ दिया। उन्होंने 28 गेंद पर 34 रन की लाजवाब पारी खेली।

ओवैसी की अगुवाई वाली पार्टी ‘बी टीम’ करार

ओवैसी की अगुवाई वाली पार्टी ‘बी टीम’ करार 

कविता गर्ग      

मुंबई। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने शनिवार को महा विकास आघाड़ी (एमवीए) के साथ एआईएमआईएम के गठबंधन के सुझाव को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि जो औरंगजेब की मजार के सामने सिर झुकाते हैं, वे महाराष्ट्र के आदर्श नहीं हो सकते हैं। उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली पार्टी को भाजपा की ‘बी टीम’ करार दिया। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के सांसद इम्तियाज जलील ने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के साथ गठबंधन का सुझाव देकर राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी है। जलील ने कहा है कि सत्तारूढ़ एमवीए तीन पहियों वाले एक ऑटो-रिक्शा से ‘आरामदायक कार’ में बदल सकता है, जो भाजपा को सत्ता में आने से रोक सकता है। राउत ने कहा कि, एआईएमआईएम का भाजपा के साथ गुप्त गठजोड़ है, जो उत्तर प्रदेश एवं पश्चिम बंगाल में साबित हो गया है।

एआईएमआईएम भाजपा की ‘बी’ टीम है और रहेगी। एमवीए त्रिदलीय गठबंधन है और यहां चौथे साझेदार की गुंजाइश नहीं है।उन्होंने कहा कि एमवीए के घटक दलों के लिये छत्रपति शिवाजी महाराज एवं छत्रपति संभाजी श्रद्धेय हैं, जबकि एआईएमआईएम 17वीं सदी के मुगल शासक औरंगजेब की मजार के आगे सिर झुकाती है, जिसने छत्रपति शिवाजी महाराज के भाग जाने से पहले उन्हें आगरा में बंधक बना कर रखा था। हिंदुत्व के विमर्श में औरंगजेब को एक कट्टरपंथी के रूप देखा जाता है, जिसने दक्कन में छत्रपति शिवाजी को कुचलने की असफल कोशिश की।राउत ने केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा सांसद रावसाहब दानवे का उनके इस दावे को लेकर मजाक उड़ाया कि एमवीए के 25 असंतुष्ट विधायक बजट सत्र का बहिष्कार करने को तैयार हैं तथा उनमें से कई भाजपा के संपर्क में हैं एवं चुनाव नजदीक आने पर वे पाला बदल लेंगे। राउत ने कहा कि, लगता है कि वह (दानवे) होली के कारण नशे में हैं । जब वह होली के बाद नशे से बाहर आयेंगे तो शायद उन्हें याद नहीं रहेगा कि उन्होंने क्या कहा था। इससे पहले, जलील ने शनिवार को एक मराठी समाचार चैनल से कहा कि एमवीए में एक और पहिया जोड़कर उसे तीन पहिया ऑटो-रिक्शा से चार पहिया ‘आरामदायक कार’ में बदला जा सकता है।उन्होंने कहा कि, शिवसेना में भाजपा को अकेले दम पर हराने की ताकत नहीं बची है। इसलिए, उसे कांग्रेस और राकांपा के सहयोग की जरूरत है। मैं एमवीए रूपी ऑटो-रिक्शा को आरामदायक कार में बदलने के लिए उसमें एक और पहिया जोड़ने का प्रस्ताव देता हूं। जलील ने कहा कि, हमने उस पार्षद को पार्टी से निष्कासित कर दिया है, जिसने औरंगाबाद नगर निगम में ‘वंदे मातरम’ को गाये जाने का विरोध किया था और अब वह राकांपा में शामिल हो गया है। जलील ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली एआईएमआईएम भाजपा की ‘बी’ टीम नहीं है, जैसा कि मुख्यधारा की पार्टियां आरोप लगाती हैं।

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के रेट जारी कियें

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के रेट जारी कियें    

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के शनिवार के रेट जारी कर दिए हैं। शनिवार को भी तेल की कीमत में कोई खास बदलाव नहीं किया गया है। 
गौरतलब है कि पिछले साल 3 नवंबर के बाद से तेल के रेट में कोई बड़ा बदलाव नहीं किया गया है। हालांकि बिहार, राजस्थान समेत कई राज्यों में अब भी पेट्रोल 100 रुपये के ऊपर बेचा जा रहा है। 

राहत: इंडियन आर्मी में विभिन्न पदों पर निकलीं भर्ती

राहत: इंडियन आर्मी में विभिन्न पदों पर निकलीं भर्ती 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। इंडियन आर्मी में दसवीं पास के लिए विभिन्न पदों पर भर्ती निकली हैं। इस रिक्रूटमेंट ड्राइव के माध्यम से कुक, टेलर, बार्बर, आदि के पद भरे जाएंगे। ये पद जबलपुर, मध्य प्रदेश  के लिए हैं। अगर आप भी इंडियन आर्मी के इन पदों के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आधिकारिक वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड करके उसे नीचे बताए गए पते पर अंतिम तारीख के पहले भेज सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के द्वारा कुल 14 पद भरे जाएंगे। इन पदों के विषय में विज्ञापन रोजगार समाचार पत्र में भी प्रकाशित हुआ है। वहां से भी डिटेल देख सकते हैं।
इन पदों के बारे में विस्तार में जानकारी पाने के लिए इस वेबसाइट पर जा सकते हैं-www.indianarmy.nic.in कैंडिडेट्स वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड करके भरें और सभी डॉक्यूमेंट्स लगाकर नीचे बताए पते पर भेज दें।
इन पदों के लिए किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से दसवीं पास कैंडिडेट अप्लाई कर सकते हैं। इसके साथ ही उनके पास संबंधित क्षेत्र की जानकारी और डिप्लोमा आदि भी होना चाहिए।
इन पदों पर सेलेक्ट होने पर कैंडिडेट्स को लेवल वन के अनुसार महीने के 18,000 रुपए सैलरी मिलेगी। केवल कुक के पद के लिए सैलरी 19,900 रुपए तय की गई है।
इन पदों के लिए आयु सीमा 18 से 25 साल रखई गई है। ये यूआर कैटेगरी के लिए है। ओबीसी और आरक्षित श्रेणी के लिए आयु सीमा 18 से 28 साल है।
कैंडिडेट्स का सेलेक्शन लिखित परीक्षा और फिजिकल फिटनेस टेस्ट के आधार पर होगा। पहले एप्लीकेशन के बेसिस पर कैंडिडेट्स को फाइनल किया जाएगा फिर चुने हुए कैंडिडेट्स आगे की प्रक्रिया के लिए आमंत्रित किए जाएंगे।
पूरे भरे हुए एप्लीकेशन फॉर्म इस पते पर भेजें - कमांडेंट, ग्रेनेडियर्स रेजिमेंटल सेंटर, जबलपुर (एमपी) पिन – 482001। रोजगार समाचार में विज्ञापन प्रकाशित होने के तीस दिन के अंदर आवेदन करना है।

अरामको के साथ बड़ी डील कर सकता है अडानी ग्रुप

अरामको के साथ बड़ी डील कर सकता है अडानी ग्रुप   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। गौतम अडानी का अडानी ग्रुप सऊदी अरब की तेल कंपनी सऊदी अरामको के साथ एक बड़ी डील कर सकता है। खबरों के मुताबिक, गौतम अडानी की कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी तेल निर्यातक सऊदी अरामको की कुछ हिस्सेदारी भी खरीद सकती है।
ब्लूमबर्ग ने इस घटनाक्रम से जुड़े करीबी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि गौतम अडानी  की कंपनी सऊदी अरामको के साथ ज्वॉइंट इंवेस्टमेंट और संभावित सहयोग को लेकर शुरुआती बातचीत के दौर में है। अडानी समूह कंपनी में सऊदी अरब के पब्लिक इंवेस्टमेंट फंड की हिस्सेदारी खरीद सकता है।
खबर के मुताबिक सऊदी अरामको की हिस्सेदारी खरीदने के लिए भले अडानी ग्रुप को अभी करोड़ों डॉलर खर्च करने होंगे। 
लेकिन आने वाले समय ये डील संपत्तियों के हस्तांतरण में या अरामको या उसकी सब्सिडियरी साबिक जैसी कंपनियों के साथ साझेदारी में बदल सकती है। ये साझेदारी रिन्यूएबल एनर्जी, क्रॉप न्यूट्रिएंट्स या केमिकल सेक्टर में हो सकती है।
इतना ही नहीं इस डील में अडानी ग्रुप PIF को इंडिया के इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में निवेश करने के लिए कह सकती है। हालांकि अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, क्योंकि बातचीत काफी शुरुआती चरण में है। इस बारे में अडानी ग्रुप, सऊदी अरामको और पीआईएफ ने किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं की है।
अडानी ग्रुप के साथ ये डील सऊदी अरामको को भारत जैसे दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते एनर्जी कंज्यूमर्स से जोड़ सकती है। सऊदी अरामको ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ 15 अरब डॉलर के निवेश को लेकर करीब 2 साल तक बातचीत की। लेकिन पिछले साल नवंबर में ये बातचीत टूट गई।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 2,075 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 2,075 नए मामलें    

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। देश में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी के नए मामलों में शनिवार को 18 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।‌ देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 2,075 नए केस सामने आए हैं और 71 लोगों की मौत हो गई। जानिए देश में कोरोना की ताजा स्थिति क्या है ?
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, कल देश में 4 हजार 722 लोग ठीक हुए, जिसके बाद अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 27 हजार 802 हो गई है। वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 16 हजार 352 हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक 4 करोड़ 24 लाख 61 हजार 926 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।
राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों  की 181 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं।‌ केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना योद्धाओं और 60 साल से ज्यादा आयु वाले अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों को 2 करोड़ से ज्यादा (2,16,60,637) एहतियाती टीके लगाए गए हैं। देश में कोविड रोधी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से शुरू हुआ और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। वहीं, कोरोना योद्धाओं के लिए टीकाकरण अभियान दो फरवरी से शुरू हुआ था।

लाइसेंस के बिना मवेशी रखने की इजाजत नहीं होगी

लाइसेंस के बिना मवेशी रखने की इजाजत नहीं होगी    

राणा ओबरॉय 
चंडीगढ़।‌ हरियाणा सरकार, शहरी क्षेत्रों में मवेशी रखने वालों के लिए छह महीने की जेल की सजा का प्रावधान करने की योजना बना रही है। नागरिक निकायों से जुड़े गांवों और छोटे कस्बों पर भी यह नियम लगेंगे। संबंधित नागरिक निकाय द्वारा जारी लाइसेंस के बिना मवेशी रखने की इजाजत नहीं होगी। विधानसभा में कांग्रेस ने इसका जमकर विरोध किया। हरियाणा नगरपालिका (संशोधन) विधेयक और हरियाणा नगर निगम (संशोधन) विधेयक को विधानसभा के बजट सत्र के दौरान पेश करते हुए हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कमल गुप्ता ने कहा कि राज्य के सभी नगर निकायों में व्यापार लाइसेंस शुल्क में एकरूपता की आवश्यकता है और यह कि कानून नगरपालिका को विनियमित करने वाली शक्तियों को समाप्त करके शहरी क्षेत्रों में व्यापार को आसान बनाएगा।
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक मंत्री ने कहा, "1911 के दौरान किए जा रहे व्यापार के तौर तरीकों की तुलना में अब की जा रही व्यावसायिक गतिविधियों में भारी परिवर्तन आया है। उस समय नगरपालिका एकमात्र नियामक प्राधिकरण थी लेकिन अब कई नियामक प्राधिकरण हैं जैसे- प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, औद्योगिक सुरक्षा और स्वास्थ्य कारखाने अधिनियम 1948 आदि। ऐसे में नगर पालिकाओं द्वारा ऐसे व्यवसायों के लिए लाइसेंस देने का कोई औचित्य नहीं है जो अन्य वैधानिक प्राधिकरणों द्वारा रेगुलेट किए जाते हैं।
कानून के अनुसार, कोई भी व्यक्ति बिना लाइसेंस के घोड़ों, मवेशियों या अन्य चौपाए जानवरों या पक्षियों का परिवहन, बिक्री के लिए या उन्हें किसी स्थान पर बिना लाइसेंस के नहीं रख सकेगा। कानून का उल्लंघन करने पर छह महीने तक की कैद या जुर्माना हो सकता है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में मवेशियों के कारण कुप्रबंधन और व्यापार लाइसेंस शुल्क के संबंध में कई शिकायतें हैं।
कांग्रेस विधायक वरुण चौधरी ने कहा कि जमीनी हकीकत को समझे बिना कई अलग-अलग चीजों को विधेयक में मिला दिया गया है। उन्होंने कहा, "जब भी कोई नगर निकाय बनाया जाता है, तो आस-पास के गांवों को भी ऐसे निकाय के लिए विशिष्ट संख्या में व्यक्तियों की। आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए नागरिक निकाय में जोड़ा जाता है। ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादातर लोग गायों सहित अन्य जानवरों को अपनी दूध की जरूरतों के पालते हैं। कई गरीब परिवार अपनी आजीविका के लिए भी इन मवेशियों पर निर्भर हैं।‌ अब अचानक सिर्फ गाय को घर में रखने के लिए छह महीने की जेल की सजा का प्रावधान किया गया है। अगर आप कहते हैं कि मवेशी प्रदूषण पैदा कर रहे हैं और अर्ध-शहरी इलाकों में इनके कारण नालियां बंद हो जाती हैं तो लाइसेंस मिलने से भला इस पर क्या फर्क पड़ेगा।  शहरी क्षेत्रों में मवेशियों पर पहले से ही प्रतिबंध है और हमें इस पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन नागरिक निकायों के अधिकार क्षेत्र में आने वाले पूरे क्षेत्र पर इस तरह का प्रतिबंध उचित नहीं है। 
कांग्रेस विधायक जगबीर मलिक ने कहा कि इस तरह के कानून से कस्बों में इंस्पेक्टर राज बढ़ सकता है और पुलिस गरीबों को अपने घरों में मवेशी रखने के लिए रिश्वत मांगेगी। हरियाणा पशुपालन और डेयरी विभाग द्वारा पशुधन की गणना राज्य में मवेशियों की संख्या में लगातार वृद्धि दर्शाती है। 2003 में यह संख्या 15.40 लाख, 2012 में 18.08 लाख और 2019 में बढ़ कर 19.32 लाख तक पहुंच गई।

कंपनी ने 800 से अधिक कर्मचारियों की छुट्टी की

कंपनी ने 800 से अधिक कर्मचारियों की छुट्टी की   

सुनील श्रीवास्तव        

लंदन। ऐसा लगता है कि विशाल गर्ग के नेतृत्व वाली बेटर डॉट कॉम ने जो ‘खराब’ ट्रेंड सेट किया था, उसका पालन अब अन्‍य कंपन‍ियां भी कर रही हैं। बेटर डॉट कॉम ने जूम कॉल पर एक झटके में अपने 900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के कुछ महीनों बाद अब एक ब्रिटिश फर्म ने भी ऐसा किया है। ब्रिटेन की शिपिंग कंपनी पीएंडओ फेरीज ने भी तीन मिनट की जूम कॉल पर 800 से अधिक कर्मचारियों की छुट्टी कर दी है। ज‍िसकी हर कोई आलोचना कर रहा है। कंपनी ने दो द‍िन पहले ही अपने कर्मचारियों को इस बड़ी घोषणा के बारे मे एक वीडियो मैसेज भेजा था। पीएंडओ फेरीज के चीफ ने अपनी जूम कॉल के दौरान कहा, ‘मुझे यह बताते हुए अफसोस हो रहा है कि आप सभी को तत्काल प्रभाव से टर्मिनेट किया जाता है। आपके नौकरी का आज अंतिम दिन है। हालांकि अधिकारी ने कहा कि कर्मचारी को मुआवजा दिया जाएगा, लेकिन इस घोषणा ने कर्मचारियों को सदमे की स्थिति में छोड़ दिया है। 

बताया जा रहा है कि कर्मचारियों को कथित तौर पर बिना किसी पूर्व सूचना के निकाल दिया गया है, लेकिन कंपनी के एक कार्यकारी ने दावा किया है कि उन्हें ईमेल, पोस्ट, कूरियर और टेक्स्ट संदेश द्वारा सूचित किया गया था। कंपनी ने कर्मचारियों को यह सूचना दी कि उसे दो साल में 20 करोड़ पाउंड का नुकसान हुआ है। उसने बयान में कहा कि उसके पास 800 से अधिक लोगों को नौकरी से निकालने का फैसला करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। कंपनी के इस फैसले की देश के राजनेताओं ने भी कड़ी आलोचना की है। 

कर्मचारियों की अमानवीय छंटनी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ब्रिटिश सांसद कार्ल टर्नर ने कहा, ‘कंपनी को दिया गया सारा पैसा वापस लिया जाना चाहिए। सरकार को कंपनी से कहना चाहिए कि वह वर्कर्स यूनियन के साथ बात करे और उनके साथ कोई डील करे। यह पहली बार नहीं है जब कर्मचारियों को बिना किसी पूर्व सूचना के जूम कॉल पर निकाल दिया गया है।  बेटर डॉट कॉम के सीईओ विशाल गर्ग को सोशल मीडिया पर जूम कॉल पर कर्मचारियों को निकालने को लेकर काफी ट्रोल किया गया और उनकी आलोचना की गई थी। गर्ग को तब एक छोटा ब्रेक भेजा गया था लेकिन जल्द ही वह अपनी स्थिति में लौट आए। उनकी वापसी ने बेटर डॉट कॉम पर बड़े पैमाने पर इस्तीफे शुरू कर दिए थे। गर्ग की वापसी से नाखुश वरिष्ठ अधिकारियों ने कंपनी छोड़ दी थी। 

बस पलटने से 5 लोगों की मौंत, 25 से अधिक घायल

बस पलटने से 5 लोगों की मौंत, 25 से अधिक घायल   

इकबाल अंसारी          
तुमकुरु। जिले के पावागड़ा तालुक के पलावल्ली कट्टे गांव के पास एक निजी बस पलट गई। जिसमें पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, 25 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। हादसे पर पावागड़ा विधायक ने दुख जताया है। पुलिस ने बताया कि चार छात्रों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि एक ने बाद में दम तोड़ दिया। मृतकों की पहचान, अमालुया (18), अजित (16), शाहनवाज (18), कल्याण (18) और अजित सूलनायकनहल्ली (17) के रूप में हुई है। हादसे में 25 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें तुमकुरु जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि बस में करीब 60 यात्री सवार थे। यात्रियों की अधिक संख्या को हादसे का कारण बताया जा रहा है।

इसपर विधायक वेंकटरमणप्पा ने कहा कि, ‘वाई एन पावागड़ा शहर जा रहे एक निजी बस चालक ने होसाकोटे गांव में नियंत्रण खो दिया। हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि 25 से अधिक लोग घायल हो गए। 

मैं सीएम बोम्मई से सरकार की ओर से मृतकों के परिवार के लिए मुआवजे के बारे में बात करूंगा। उन्होंने कहा कि, बसों की व्यवस्था की गई है और अब ग्रामीण क्षेत्रों में बसों की कमी नहीं है। कुछ दिन पहले एक ही रूट पर दो बसों के बीच हादसा हो गया था, इसलिए दोनों बसों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया था। इसी कारणवश, इस बस में ज्यादा यात्री थे। वेंकटरमणप्पा ने यह भी कहा कि, ‘टिकट का किराया कम होने के कारण लोग सरकारी बसों के बजाए, निजी बसों से यात्रा कर रहे हैं।  घटना को लेकर पावागड़ा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस ने आगे की कार्रवाई कर रही है।

आईओसीएल का रूसी तेल कंपनी के साथ अनुबंध

आईओसीएल का रूसी तेल कंपनी के साथ अनुबंध   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने 30 लाख बैरल कच्चे तेल के आयात के लिए एक रूसी तेल कंपनी के साथ एक अनुबंध किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसके लिए दोनों कंपनियों के बीच सीधी बातचीत हुई है, अभी ये सौदा अंतिम चरण में पहुंच चुका है। रूस के साथ ये सौदा अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारत के लिए वर्तमान में उपलब्ध सर्वोत्तम नियमों और शर्तों के आधार पर ही हुआ है। पश्चिमी देशों ने यूक्रेन पर मॉस्को के हमले के जवाब में रूस पर अमेरिका के तेल आयात प्रतिबंध सहित प्रतिबंध लगाए हैं, हालांकि रूसी तेल कंपनियों से कच्चा तेल खरीदने के लिए भारतीय तेल कंपनियों पर किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है। जैसे ही अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों ने रूस पर प्रतिबंध लगाए तो रूस ने भारत समेत अन्य बड़े आयातकों को रियायती दर पर तेल देने की पेशकश कर दी।
फिलहाल और अधिक भारतीय तेल कंपनियां कच्चे तेल के आयात के लिए रूसी तेल कंपनियों के साथ सौदा कर सकती है। ये सौदा ऐसे ऐसे समय में हो रहा है जब वैश्विक कच्चे तेल की कीमतें 100 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर पहुंच गई हैं। रूस के आक्रमण के बाद से दुनियाभर बाजार में तेल की कीमतों में भी इजाफा हुआ है। जिसका असर लोगों की जेब पर पड़ना भी तय माना जा रहा है। बता दें कि भारत अपनी जरूरत का 80 प्रतिशत से अधिक कच्चा तेल के आयात करता है।

चुनाव: भाजपा ने 30 उम्‍मीदवारों की सूची घोषित की

चुनाव: भाजपा ने 30 उम्‍मीदवारों की सूची घोषित की 

हरिओम उपाध्याय        

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने विधानपरिषद चुनाव के लिए 30 उम्‍मीदवारों की सूची घोषित कर दी है। सूची में गोरखपुर-महाराजगंज सीट से सीपी चंद, रायबरेली से दिनेश प्रताप सिंह और बलिया से रविशंकर सिंह पप्‍पू का नाम है। बता दें कि पहले चरण के लिए 21 मार्च तक प्रत्‍याशियों का नामांकन होना है। 

मुरादाबाद-बिजनौर सीट से सत्‍यपाल सैनी, रामपुर-बरेली से कुंवर महराज सिंह, बदायूं से बागीश पाठक, पीलीभीत-शाहजहांपुर से सुधीर गुप्‍ता, हरदोई से अशोक अग्रवाल, खीरी से अनूप गुप्‍ता, प्रतापगढ़ से हरी प्रताप सिंह, बाराबंकी से आनंद कुमार सिंह, बहराइच से प्रज्ञा त्रिपाठी, गोंडा से अवधेश सिंह मंजू, फैजाबाद से हरिओम पांडे, देवरिया से रतन पाल सिंह, आजमगढ़ मऊ से अरुण कुमार यादव, गाजीपुर से चंचल सिंह, इलाहाबाद से केपी श्रीवास्तव, बांदा हमीरपुर से जितेंद्र सिंह तोमर, झांसी जालौन ललितपुर से रमा निरंजन, इटावा फर्रुखाबाद से प्रांशु दत्त द्व‍िवेदी, आगरा फिरोजाबाद से विजय शिवहरे, मथुरा एटा मैनपुरी से ओमप्रकाश सिंह मथुरा एटा मैनपुरी से आशीष यादव आशु, अलीगढ़ से ऋषि पाल सिंह, बुलंदशहर से नरेंद्र भाटी, मेरठ गाजियाबाद से धर्मेंद्र भारद्वाज और सहारनपुर से वंदना मुदित वर्मा का नाम घोषित किया गया है। 


पूर्व जिलाध्यक्ष को 6 साल के लिए निष्कासित किया

पूर्व जिलाध्यक्ष को 6 साल के लिए निष्कासित किया   

मनोज सिंह ठाकुर    

अलीराजपुर। कांग्रेस नेता एवं मध्यप्रदेश के अलीराजपुर जिले के पूर्व जिलाध्यक्ष महेश पटेल को छ: साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष चन्द्रप्रभाष शेखर द्वारा इस मामले की जानकारी दी गयी है। 

बताया जा रहा है कि कल जोबट भगौरिया हाट बाजार में महेश पटेल और उनके गुट द्वारा झाबुआ के कांग्रेस विधायक एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और उनके बेटे प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया पर हमला किया गया था, जिसके फलस्वरूप जोबट थाने मेें महेश पटेल गुट के लोगों और उनके पुत्र के खिलाफ हत्या के प्रयास सहित अन्य धाराओं में मामला पंजीबद्ध किया गया था। संभवतरू इसी मामले को लेकर यह कार्रवाई की गयी है।

आशंका: भारत में चौथी लहर का असर नहीं दिखेगा

आशंका: भारत में चौथी लहर का असर नहीं दिखेगा     

सुनील श्रीवास्तव    
बीजिंग/नई दिल्ली। चीन में कोरोना के नए वेरिएंट के संक्रमण के बढते मरीजों की संख्या ने विश्व समुदाय को एक बार फिर से बुरी तरह चिंतित करके रख दिया है। कोरोना की शुरुआत चीन से ही हुई थी, इसके बाद जब भी चीन में कोरोना की कोई अन्य लहर आई तो उसका असर पूरे विश्व समुदाय पर दिखाई दिया है। अब चीन में एक बार फिर से कोरोना वायरस के नये वेरिएंट ओमीक्रान स्टील्थ के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। बीते 4 दिनों के भीतर चीन में कोरोना के नए वेरिएंट के एक्टिव केसों की संख्या 5280 से बढ़कर 16974 हो गई है। जिसके चलते माना जा रहा है कि यदि मामले इसी रफ्तार से आगे बढ़ते गए तो चीन, कोरोना की चौथी लहर से गुजर सकता है।
हांगकांग और चीन में लगातार बढ़ रहे मामलों के बाद चौथी लहर के आने की आशंका लगाई जा रही है। लेकिन भारत में बड़ी आबादी को टीका लग चुका है, ऐसे हालातों के बीच उम्मीद की जा रही है कि कोरोना के नए वेरिएंट की चौथी लहर का बड़ा असर भारत में देखने को नहीं मिलेगा। हां, यह बात अलग है कि देश में स्टील्थ ओमीक्रान के मामले अप्रैल से जून माह तक सामने आते रहेंगे। 
बताया जा रहा है कि कोरोना का नया ओमीक्रान स्टील्थ वेरिएंट्स बुजुर्गों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। कोरोना से बचने के लिए ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के मरीजों को ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ेगी। क्योंकि इम्यूनिटी कमजोर होने पर यह वैरीअंट तेजी के साथ फैलता है। अत्यधिक वजन वाले लोगों पर भी इस वेरिएंट का लंबा असर दिखाई देता है। इसलिए विशेषज्ञों ने कहा है कि लोग अपने वजन को नियंत्रित करें, जिन लोगों को पहली रोज ही लगी है वह दूसरी दो जरूर लगवा ले।

थाना निरीक्षक व चौकी इंचार्ज को निलंबित किया

थाना निरीक्षक व चौकी इंचार्ज को निलंबित किया    

संदीप मिश्र           
हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में दो दिन पूर्व सुमेरपुर क्षेत्र में मामा, भांजे की हत्या के मामले में पुलिस अधीक्षक ने सुमेरपुर के थाना निरीक्षक व चौकी इंचार्ज को कार्य में शिथिलता बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया है।
पुलिस अधीक्षक के के दीक्षित ने शनिवार को बताया कि 16 मार्च को कानपुर निवासी मयंक शर्मा (19) व उसके भांजे बिपुल शर्मा (17) की हत्या कर शव पत्योरा गांव के एक कुएं मे फेक दिया गया था। इस मामले में गांव के संतराम, शंकरी व फतेहपुर के चांदपुर गांव निवासी रामस्वरुप को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।मृतक मयंक की बहन प्रिया शर्मा ने आरोप लगाया था कि उसने सुमेरपुर पुलिस को घटना की जानकारी दी थी मगर कई बार थाने के चक्कर लगाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुयी।यदि कानपुर व सुमेरपुर पुलिस सक्रिय हो जाती तो दोनो युवको की जान बच सकती थी। आरोपियों ने दोनो युवकों को 12 मार्च को बुलाकर तीन दिन इधर उधर रखा और 16 मार्च को जंगल में ले जाकर उनकी हत्या की थी।

राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष ने पद से इस्तीफा दिया

राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष ने पद से इस्तीफा दिया  

संदीप मिश्र        
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के गठन के लिए हुए चुनाव में गठबंधन को मिली हार पर मचा हाहाकार कम होने के बजाय लगातार गंभीर रूप अख्तियार कर रहा है। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष ने टिकट बेचने एवं दलित मुस्लिम को साइल्डलाइन करने जैसे गंभीर आरोपों के साथ अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। प्रदेश अध्यक्ष के मुताबिक गठबंधन आंतरिक तानाशाही के चलते ऊंची दुकान फीके पकवान की तरह फ्लॉप शो साबित हुआ है।शनिवार को राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष डॉक्टर मसूद अहमद में पार्टी नेतृत्व के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह को लिखी चिट्ठी में मसूद अहमद ने कहा है कि मैं वर्ष 2015-16 में चौधरी अजित सिंह के आह्वान पर पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के मूल्यों तथा जाट मुस्लिम एकता एवं किसानों, शोषित, वंचित वर्ग के अधिकार के लिए संघर्ष हेतु रालोद में शामिल हुआ था और तन मन धन से पार्टी के लिए समर्पित होकर काम करता रहा। वर्ष 2016-17 में चौधरी अजित सिंह ने विश्वास व्यक्त करते हुए मुझे प्रदेश अध्यक्ष बनाया। जिसके उपरांत संगठन कार्यों में कड़ी मेहनत करते हुए उसे मजबूत करने के लिए मैंने अथक प्रयास किए।विधानसभा चुनाव से पहले कई बार चेतावनी देने पर भी गठबंधन की ओर से आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण को अपमानित किया गया, जिससे नाराज होकर दलित वोट गठबंधन से छिटककर बीजेपी में चला गया और गठबंधन को इसका अच्छा खासा नुकसान हुआ। उन्होंने कहा है कि सपा मुखिया अखिलेश ने अपने सुप्रीमों कल्चर को बरकरार रखने के लिये अपने गठबंधन को दरकिनार कर दिया। जिसके चलते रालोद तथा सपा के नेताओं का उपयोग प्रचार में नहीं किया गया। 
जिसकी वजह से पार्टी के लिये समर्पित रहने वाले पासी एवं वर्मा नेता नेपथ्य में चले गए और इन समाज के वोट गठबंधन से छिटक गए।जौनपुर सदर जैसी सीटों पर पर्चा भरने के आखिरी दिन तीन तीन बार टिकट बदले गए। जिसका नतीजा यह रहा कि एक-एक सीट पर सपा के तीन तीन उम्मीदवार हो गए, जिसका जनता में गलत संदेश गया। उन्होंने कहा है कि धन संकलन के चक्कर में प्रत्याशियों के नामों का ऐलान समय रहते नहीं हुआ, जिसके चलते उम्मीदवारों को बिना तैयारी के चुनाव लड़ना पड़ा।

'आप' के 10 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई

'आप' के 10 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई    

अमित शर्मा            

चंडीगढ़। पंजाब के नये मंत्रिमंडल ने शानिवार को पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने राजभवन में सादे समारोह में आम आदमी पार्टी (आप) के 10 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई। इस मौके पर मुख्यमंत्री भगवंत मान तथा उनके सभी विधायक मौजूद थे।  

नये मंत्रियों में प्रतिपक्ष नेता की जिम्मेदारी संभालने वाले श्री हरपाल सिंह चीमा (दिड़बा), डॉ. बलजीत कौर (मलेाट, पूर्व सांसद प्रो. साधू सिंह की बेटी), हरभजन सिंह ईटीओ (जंडियाला), विजय सिंगला (मानसा), लालचंद कटारूचक्क (भोआ), गुरमीत सिंह मीत हेयर (युवा चेहरा तथा दूसरी बार बरनाला से जीते), कुलदीप सिंह धालीवाल (अजनाला), ललजीत सिंह भुल्लर (पट्टी), ब्रह्म शंकर जिंपा (होशियारपुर), हरजोत सिंह बैंस (सबसे कम उम्र तथा आनंदपुर साहब) शामिल हैं। दस मंत्रियों में पांच मालवा क्षेत्र से हैं तथा चार आरक्षित सीट से हैं। चार माझा क्षेत्र और एक दोआबा क्षेत्र से है।

कपल का दावा, सीसीटीवी कैमरे ने भूत को देखा

कपल का दावा, सीसीटीवी कैमरे ने भूत को देखा  

अखिलेश पांडेय        
वाशिंगटन डीसी। अमेरिका से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, यहां कपल ने दावा किया कि उनके घर के सीसीटीवी कैमरे ने भूत को देख लिया है।
रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के मिनेसोटा में रहने वाले जोई और एमी रैडके ने दावा किया है कि उनके घर के अंदर नाईटी पहने एक महिला की आत्मा रहती है। जब से कपल ने यह दावा किया है। तब से ही वे सोशल मीडिया पर चर्चा में आ गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक कपल 2 साल पहले इस घर में शिफ्ट हुआ था। 37 साल के जोई ने बताया कि उनके मकान मालिक ने उन्हें घर में प्रवेश करते वक्त चेतावनी दी थी कि घर भूतिया है और यहां आत्मा रहती है। मगर उन्होंने इस बारे में यकीन नहीं किया था। 
लेकिन सीसीटीवी कैमरे में देखने के बाद उन्हें यकीन होने लगा। जानकारी के अनुसार, कपल ने घर में अपने पालतू जानवरों पर नजर रखने के लिए कैमरे फिट किए थे। कैमरे में एक महिला नाईटी पहन, खुले बालों के साथ एक गलियारे में खड़ी दिख रही है। रिपोर्ट के मुताबिक कपल 2 साल पहले इस घर में शिफ्ट हुआ था। 37 साल के जोई ने बताया कि उनके मकान मालिक ने उन्हें घर में प्रवेश करते वक्त चेतावनी दी थी कि घर भूतिया है और यहां आत्मा रहती है मगर उन्होंने इस बारे में यकीन नहीं किया था। लेकिन सीसीटीवी कैमरे में देखने के बाद उन्हें यकीन होने लगा। जानकारी के अनुसार कपल ने घर में अपने पालतू जानवरों पर नजर रखने के लिए कैमरे फिट किए थे। कैमरे में एक महिला नाईटी पहन, खुले बालों के साथ एक गलियारे में खड़ी दिख रही है।कपल ने कहा कि घटना के बाद उन्हें मरने के बाद की जिंदगी पर यकीन होने लगा है। 
आसपास के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार इस घर में सालों पहले महिला की उसी कमरे में मौत हुई थी जो अब जोई और एमी का बेडरूम है। जब लाश को अस्पताल के कर्मी बाहर ले जा रहे थे, तब महिला ने वैसा ही नाइट ड्रेस पहना था। जब कपल ने वीडियो में देखा तो उन्हें यकीन नहीं हुआ। जोई तुरंत ही अपने एक रिश्तेदार के घर वीडियो ले गया और उन्होंने टीवी पर लगाकर उसे देखा तो वे सभी हैरान रह गए। हालांकि अब वो सब इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहते हैं। कपल का कहना है कि वीडियो देख लेने के बाद अब उन्हें लगने लगा है जैसे कोई उन्हें घूर रहा है।

अमेरिका: खटमल से फैला खतरनाक वायरस 'हार्टलैंड'

अमेरिका: खटमल से फैला खतरनाक वायरस 'हार्टलैंड' 

अखिलेश पांडेय        
वाशिंगटन डीसी। दुनिया में अभी कोरोना का कहर थमा भी नहीं है और इसी बीच एक खतरनाक वायरस फैलने लगा है। कहा जा रहा है कि यह वायरस कोविड-19 से भी ज्यादा खतरनाक है। इस वायरस का अब तक कोई इलाज भी नहीं है।
अमेरिका में खटमल से एक खतरनाक वायरस फैल रहा है। इसकी चपेट में आने के बाद इंसान के अंग फेल हो जाते हैं। अमेरिका के जॉर्जिया में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। चिकित्सकों के अनुसार यह जानलेवा वायरस इंसानों में खटमल से फैलना शुरू हुआ है। 
इस खतरनाक वायरस का नाम हार्टलैंड है। इस वायरस का पहला मामला 2009 में सामने आया था और यह खटमल से हिरन में पाया गया था। इसके बाद 2013 में इस वायरस से इंसानों में संक्रमण का पता चला। जानकारों के अनुसार हर दो हजार में से किसी एक खटमल में ऐसे वायरस पाए जाते हैं। हार्टलैंड वायरस की चपेट में आने के बाद बुखार, सिरदर्द, जोड़ों में दर्द और भूख का ना लगना शामिल है। इसकी चपेट में आने के बाद ऑर्गन्स फेल हो जाते हैं।

सपा को झटका, बीजेपी का दामन थामेंगे सुहेलदेव

सपा को झटका, बीजेपी का दामन थामेंगे सुहेलदेव    

संदीप मिश्र          

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को मिली करारी हार के बाद एक और बड़ा झटका लगने जा रहा है। यूपी में बीजेपी की बंपर जीत के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर सपा का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थामने जा रहे है। ओम प्रकाश राजभर ने दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की है। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही राजभर एनडीए का हिस्सा बन सकते है। हालांकि राजभर की पार्टी के प्रवक्ता ने बीजेपी के साथ जाने की खबरों पर विराम लगा दिया है। दरअसल, ओमप्रकाश राजभर के बीजेपी में जाने की खबरों के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रवक्ता पीयूष मिश्रा ने खबरों को खारिज करते हुए एक ट्वीट किया है। 

उन्होंने लिखा है कि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का भारतीय जनता पार्टी के साथ जाने की खबर निराधार है, पार्टी समाजवादी पार्टी के साथ थी, है और रहेगी! वही सूत्रों का कहना है कि ओम प्रकाश राजभर की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक बाचतीच हुई। मुलाकात के दौरान दो अन्य नेता भी शामिल रहें। सूत्रों के अनुसार मुलाकात के दौरान बीजेपी चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान और संगठन महामंत्री सुनील बंसल भी मौजूद थे। बता दें कि 2024 में लोकसभा के चुनाव होने है। पूर्वांचल क्षेत्र में लोकसभा की करीब 26 सीटें ऐसी हैं, जहां राजभर समाज का अच्छा प्रभाव है। इन 26 सीटों में से 14 सीटों पर राजभर समाज निर्णायक भूमिका में होती है। 

ऐसे में बीजेपी के लिए 2024 का लोकसभा चुनाव काफी अहम हैं। खबर यह भी है कि बीजेपी के कुछ बड़े नेता बीते दिनों ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात कर चुके है। आपकों बता दें कि 2017 का विधानसभा चुनाव राजभर ने बीजेपी के साथ लड़ा था। इसके बाद राजभर ने बीजेपी से दूरियां बना ली थी हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में राजभर ने समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। चुनाव में राजभर की पार्टी ने 6 सीटों पर जी दर्ज की थी।

यूपी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 25 को होगा

यूपी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 25 को होगा    

संदीप मिश्र       

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की नवनिर्वाचित भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 25 मार्च को शाम चार बजे होगा। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शपथ ग्रहण सामारोह का आयोजन राजधानी में शहीद पथ स्थित अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में किया जाएगा। भाजपा सूत्रों के अनुसार, इससे पहले संभवत: 21 मार्च को भाजपा विधायक दल का नेता चुना जाएगा। समझा जाता है कि कार्यवाहक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भाजपा विधायक दल का नेता चुना जाएगा। भाजपा सूत्रों ने बताया कि शपथ ग्रहण से पहले, योगी आदित्यनाथ को सदन का नेता चुना जाएगा और वह लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगे। योगी ने हाल ही में संपन्न चुनावों में पार्टी को प्रचंड जीत दिलाई है। भाजपा सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के शपथ ग्रहण में शामिल होने की संभावना है। 

शपथ ग्रहण समारोह में केंद्र सरकार के कई मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, संघ और भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह में बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा सहित विपक्षी दलों के नेताओं को भी आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि समारोह की व्यापक तैयारियां पहले ही शुरू हो चुकी हैं, जिसमें योगी सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थी, जिनमें महिलाएं भी शामिल हैं, को भी आमंत्रित किया जाएगा।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक इकाना स्टेडियम में प्रस्तावित शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और मंत्रिमंडल के स्वरूप को लेकर योगी आदित्यनाथ की पार्टी नेतृत्व के साथ मन्त्रणा हो चुकी है। उत्तर प्रदेश में सरकार गठन को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास को क्रमशः पर्यवेक्षक व सह पर्यवेक्षक बनाया गया है एवं शपथ लेने वाले मंत्रियों की सूची को मुख्यमंत्री के गोरखपुर से लखनऊ पहुंचने पर अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि मंत्रालय का आकार या कौन-कौन विधायक मंत्री पद शपथ लेगा, यह अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन मंत्रिमंडल में महिलाओं और युवाओं को खास तवज्जो मिलेगी। उल्लेखनीय है कि भाजपा ने 403-सदस्यीय विधानसभा में 255 सीटें जीतीं और उसके सहयोगियों ने 18 अन्य सीटें जीतकर लगातार दूसरी बार सत्ता में वापसी का मार्ग प्रशस्त किया। उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव हुए और 10 मार्च को नतीजे घोषित किए गए।

मुसलमानों के खिलाफ नफरत पैदा कर रही फिल्म

मुसलमानों के खिलाफ नफरत पैदा कर रही फिल्म  

इकबाल अंसारी           

चेन्नई। बॉलीवुड इस फिल्म के जरिये भाजपा का उद्देश्य धार्मिक नफरत पैदा करना और धार्मिक सहिष्णुता को बिगाड़कर राजनीतिक लाभ हासिल करना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बात को कोई नहीं भूल सकता कि कश्मीर को भारत में शामिल कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पंडित समुदाय से ही थे।’’ तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी (टीएनसीसी) के प्रमुख के. एस. अलागिरि ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि निर्देशक विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ‘एकतरफा अर्द्धसत्य तथा अप्रमाणित मनगढंत’ बातों के जरिये मुसलमानों के खिलाफ नफरत पैदा कर रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि यह फिल्म कश्मीर के लोगों के साथ हुए अत्याचार और अन्याय को छुपाने के लिए बनायी गयी है तथा इसमें इस अप्रमाणित झूठे आरोपों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है कि राज्य में मुसलमानों के साथ भाई- बहनों की तरह रहने वाले कश्मीरी पंडितों को उत्पीड़ित किया गया था। अलागिरि ने यहां जारी एक बयान में कहा, ‘‘इस फिल्म के जरिये भाजपा का उद्देश्य धार्मिक नफरत पैदा करना और धार्मिक सहिष्णुता को बिगाड़कर राजनीतिक लाभ हासिल करना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बात को कोई नहीं भूल सकता कि कश्मीर को भारत में शामिल कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पंडित समुदाय से ही थे।’’

अलागिरि ने कहा कि आरएसएस और भाजपा कश्मीर में धार्मिक सौहार्द से रह रहे कश्मीरी पंडितों के पलायन के लिए जिम्मेदार थे। उन्होंने कहा कि न तो कांग्रेस और न ही जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस नेता शेख अब्दुल्ला पंडितों के पलायन के लिए दोषी थे, क्योंकि उनकी पार्टी उस वक्त सत्ता में नहीं थी। वास्तव में, तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और शेख अब्दुल्ला के बीच दोस्ती ही कश्मीर के भारत में विलय का मुख्य कारण थी। उन्होंने फिल्म की प्रशंसा करने और निदेशक को प्रोत्साहित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को आड़े हाथों लिया और कहा कि उनकी खुली प्रशंसा से भारतीय संविधान में निहित धर्मनिरपेक्ष सिद्धांत कमजोर हुए हैं। श्री अलागिरि ने कहा, ‘‘मैं विभाजनकारी राजनीति को बढ़ावा देने और धार्मिक सौहार्द को बिगाड़ने के लिए भाजपा सरकार की निंदा करता हूं।

इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च करने की तैयारी कर रही कंपनी

इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च करने की तैयारी कर रही कंपनी  

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। इलेक्ट्रिक वाहनों की बात करें तो टाटा मोटर्स पहले से ही बाजार में अग्रणी है। कंपनी, एक लागत प्रभावी इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च करने की तैयारी कर रही है। जिसकी कीमत 8 लाख रुपये की भीतर तय की जाएगी। आने वाली नई इलेक्ट्रिक कार का कोड नाम “चैलेंजर सीरीज” रखा गया है।
इलेक्ट्रिक कार खरीदने का सपना होगा पूरा, टाटा मोटर्स और एमजी मोटर लाॅन्च करेंगी किफायती इलेक्ट्रिक कारें।रिपोर्ट के अनुसार, यह टाटा मोटर्स की छोटी इलेक्ट्रिक कार होगी जो टिगोर या पंच पर आधारित होगी है। रिपोर्ट की मानें तो पंच का इलेक्ट्रिक वैरिएंट लाया जा सकता है, क्योंकि इसे टाटा मोटर्स की ‘अल्फा’ प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है, जिसे अधिक आसानी से इलेक्ट्रिक पॉवरट्रेन में बदलने के लिए तैयारी किया जा सकता है। टाटा मोटर्स की ये नई इलेक्ट्रिक कार 2024 तक भारतीय बाजार में लॉन्च कर दी जाएगी।
इलेक्ट्रिक कार खरीदने का सपना होगा पूरा, टाटा मोटर्स और एमजी मोटर लाॅन्च करेंगी किफायती इलेक्ट्रिक कारें।वर्तमान में टाटा मोटर्स, नेक्सन ईवी के लॉन्ग रेंज मॉडल की टेस्टिंग कर रही है। यह 40 केडब्ल्यूएच बैटरी पैक के साथ आएगी और इसे 30.2 केडब्ल्यूएच बैटरी पैक मॉडल के साथ बेचा जाएगा। नए नेक्सन ईवी में रियर डिस्क ब्रेक, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल और एडजस्टिबल ब्रेक रिजनरेशन के साथ आने की उम्मीद है।एमजी मोटर की बात करें तो, कंपनी पहली ही भारतीय बाजार के लिए एक किफायती इलेक्ट्रिक कार लाने का खुलासा कर चुकी है। कंपनी किफायती इलेक्ट्रिक वाहनों के बाजार में प्रवेश करना चाहती है। ईटी नाओ का कहना है कि कंपनी एक इलेक्ट्रिक हैचबैक लाने पर काम कर रही है जो की पूरी तरह एक नया उत्पाद होगा। कंपनी की भरत में एक भी हैचबैक कार नहीं है, इसलिए उम्मीद है कि अगले कार एक इलेक्ट्रिक हैचबैक होगी।
इलेक्ट्रिक कार खरीदने का सपना होगा पूरा, टाटा मोटर्स और एमजी मोटर लाॅन्च करेंगी किफायती इलेक्ट्रिक कारें।दोनों वाहन मुख्य रूप से शहर के उपयोग के लिए ही बनाए जाएंगे। इसलिए, इसकी बहुत लंबी रेंज नहीं होगी, लेकिन यह एक व्यक्ति के लिए अपने कार्यालय के आवागमन और दैनिक कार्यों को करने के लिए पर्याप्त होगी।
इलेक्ट्रिक कार खरीदने का सपना होगा पूरा, टाटा मोटर्स और एमजी मोटर लाॅन्च करेंगी किफायती इलेक्ट्रिक कारें।एमजी की यह नई इलेक्ट्रिक कार दो दरवाजों वाली एक छोटी कार हो सकती है जो भारतीय शहरों के ग्राहकों के लिए केंद्रित होगी। वर्तमान में कंपनी इस मॉडल को एमजी ई-230 के नाम से कुछ चुनिंदा बाजारों में बेच रही है। जानकारी के अनुसार, कंपनी अगले साल इस इलेक्ट्रिक कार को भारत में लॉन्च करेगी और इसे भारत से निर्यात भी किया जाएगा।

यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता, एक आक्रोश

यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता, एक आक्रोश  

अखिलेश पांडेय   
टोक्यो/नई दिल्ली। जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता, एक आक्रोश है। जो एशिया सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की नींव को कमजोर करती है। उन्होंने कहा कि मैं अपने विदेश यात्रा के दौरान यूक्रेन की स्थिति और अन्य मामलों के बारे में अपने समकक्षों के साथ विचारों का आदान-प्रदान करूंगा और उनसे कार्रवाई करने का आग्रह करूंगा।
जापानी प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा शनिवार से शुरू होने वाले दो दिवसीय भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए भारत में रहेंगे। पिछले साल पदभार संभालने के बाद से किशिदा का यह देश का पहला दौरा होगा। उन्होंने कहा कि मैं भारत और फिर कंबोडिया की यात्रा पर जा रहा हूं। उन्होंने कहा, “चूंकि यूक्रेन पर रूसी आक्रमण इस यात्रा के साथ मेल खाता है, मैं अंतरराष्ट्रीय एकता के महत्व पर जोर देना चाहता हूं और पुष्टि करता हूं कि विभिन्न मुद्दों पर एक साथ जापान और भारत काम करेंगे। जापानी पीएम ने कहा, “भारत के प्रधान मंत्री मोदी के साथ, मैं जापान, भारत, ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के नेताओं के बीच टोक्यो में आयोजित होने वाली क्वाड शिखर बैठक की सफलता की दिशा में काम करने के अपने इरादे की पुष्टि करने की योजना बना रहा हूं। 
जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता एक आक्रोश है जो एशिया सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की नींव को कमजोर करती है। उन्होंने कहा कि मैं अपने विदेश यात्रा के दौरान यूक्रेन की स्थिति और अन्य मामलों के बारे में अपने समकक्षों के साथ विचारों का आदान-प्रदान करूंगा और उनसे कार्रवाई करने का आग्रह करूंगा। किशिदा ने कहा कि 24 फरवरी को शुरू हुए यूक्रेन के आक्रमण के बाद से जापान ने दर्जनों रूसी व्यक्तियों और संगठनों पर प्रतिबंध लगाए हैं और यूक्रेनी शरणार्थियों को प्राप्त कर रहे हैं। हालाँकि, भारत चार क्वाड सदस्यों में से एकमात्र है जिसने आक्रमण की निंदा नहीं की है।
बता दें कि पीएम मोदी के निमंत्रण पर जापान के पीएम फुमियो किशिदा 14वें भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए 19-20 मार्च को नई दिल्ली की आधिकारिक यात्रा पर हैं। इन 2 नेताओं की ये पहली मुलाकात होगी। भारत और जापान अपनी ‘विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी’ के दायरे में बहुआयामी सहयोग साझा करते हैं। पता चला है कि मोदी-किशिदा वार्ता का मुख्य फोकस यूक्रेन में युद्ध की स्थिति होगी।

83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में गृहमंत्री ने भाग लिया

83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में गृहमंत्री ने भाग लिया   

इकबाल अंसारी       
श्रीनगर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में भाग लिया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू के दो दिवसीय दौरे पर हैं। सीआरपीएफ स्थापना दिवस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (19 मार्च) को जम्मू में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में भाग लिया।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में भाग लिया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू के दो दिवसीय दौरे पर हैं। सीआरपीएफ स्थापना दिवस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार (19 मार्च) को जम्मू में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 83 वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में भाग लिया। यह पहली बार है जब सीआरपीएफ राष्ट्रीय राजधानी के बाहर अपना स्थापना दिवस मना रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि के रूप में शनिवार को सीआरपीएफ के स्थापना दिवस परेड को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा 2014 में नरेंद्र मोदी के भारत के प्रधान मंत्री बनने के बाद, जम्मू-कश्मीर की स्थिति में सुधार हुआ है। जम्मू-कश्मीर में सबसे बड़ी उपलब्धि वह अपार सफलता है जो हमारे बलों ने राज्य में आतंकवाद को नियंत्रित करने में हासिल की है।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू में सीआरपीएफ के 83वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में कहा सीआरपीएफ ने लंबे समय से भारत में लोगों को सुरक्षा और सुरक्षा की भावना प्रदान करने का काम किया है। सीआरपीएफ जवानों ने देश में मुश्किल हालात में लोगों को दी राहत की सांस दी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू में में कहा कि चुनाव लोकतंत्र का त्योहार है और निष्पक्ष चुनाव एक लोकतांत्रिक देश की आत्मा है। जब भी भारत में लोकसभा या विधानसभा चुनाव होते हैं, सीआरपीएफ देश भर में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
भारत के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल ने 1950 में संसद द्वारा सीआरपीएफ अधिनियम के अधिनियमित होने के बाद सीआरपीएफ को रंग प्रस्तुत करने के बाद 19 मार्च को सीआरपीएफ स्थापना दिवस मनाया जाता है। सीआरपीएफ की स्थापना 1939 में हुई थी और तब इसे क्राउन रिप्रेजेंटेटिव्स पुलिस के नाम से जाना जाता था। 1939 में आज ही के दिन सीआरपीएफ को क्राउन रिप्रेजेंटेटिव्स पुलिस के रूप में स्थापित किया गया था।
स्वतंत्रता के तुरंत बाद इसे जीवन का एक नया पट्टा दिया गया था जब इसका नाम बदलकर 28 दिसंबर 1949 को केंद्रीय रिजर्व पुलिस के रूप में बदल दिया गया था और देश की आंतरिक सुरक्षा को सुरक्षित करने के लिए इसे अनिवार्य किया गया था।

डिजिटल माध्यम से 21 को शिखर बैठक करेंगे पीएम

डिजिटल माध्यम से 21 को शिखर बैठक करेंगे पीएम  

सुनील श्रीवास्तव      
नई दिल्ली/सिडनी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, डिजिटल माध्यम से 21 मार्च को शिखर बैठक करेंगे। आपको बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया बीते कुछ सालों से द्विपक्षीय संबंधों को विस्तार देने के लिए लगातार कोशिशें कर रहे हैं। इसी कड़ी में एक बार फिर से दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक बैठक होने जा रही है। इस बैठक में पीएम नरेन्द्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हिस्सा लेंगे।
ऑस्ट्रेलिया प्रधानमंत्री ने कहा कि हम अपने व्यापार और निवेश संबंधों को गहरा करने और हमारे पारस्परिक आर्थिक सुधार और विकास का समर्थन करने के लिए नए आर्थिक अवसरों का उपयोग करने पर चर्चा करेंगे। बताया जा रहा है कि इस बैठक के दौरान दोनों नेताओं के बीच व्यापार, महत्वपूर्ण खनिजों, माइग्रेशन और मोबिलिटी और शिक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण बातचीत होगी। माना जा रहा है कि दोनों देशों के बीच कई अहम घोषणाएं हो सकती हैं।
विविध क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के साथ नई पहल के लिए रास्ते तलाशे जायेंगे। इससे पहले शिखर सम्मेलन की घोषणा विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने एक मीडिया ब्रीफिंग में की है। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के बीच का ये शिखर सम्मेलन 4 जून 2020 को पहली बार हुए ऐतिहासिक वर्चुअल सम्मेलन का ही अगला हिस्सा है। उस दौरान भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया गया था। अरिंदम बागची ने कहा कि बैठक में दोनों देशों के संबंधों और विभिन्न कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा की जाएगी। विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, इस डिजिटल शिखर बैठक में दोनों देशों के बीच विविध क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के साथ नई पहल के लिए रास्ते तलाशे जायेंगे। 
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उनके ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष स्कॉट मॉरिसन से पिछली बार मुलाकात सितंबर 2021 में क्वाड नेताओं की शिखर बैठक से इतर वाशिंगटन में हुई थी, वहीं नवंबर 2020 में और पिछले वर्ष मालाबार नौसेना अभ्यास में ऑस्ट्रेलिया की नौसेना ने हिस्सा लिया था। इसमें जापान और अमेरिका की नौसेना ने भी हिस्सा लिया था। चूंकि शिखर सम्मेलन यूक्रेन में संकट के बीच हो रहा है, इसलिए दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच वार्ता में इसे शामिल किए जाने की उम्मीद है। बागची ने कहा कि दोनों नेता व्यापक रणनीतिक साझेदारी के तहत विभिन्न मुद्दों पर हुए डेवलपमेंट का जायजा लेंगे।

अपनी हाइट को लेकर सुर्खियों में रहती हैं लिसिना

अपनी हाइट को लेकर सुर्खियों में रहती हैं लिसिना   

सुनील श्रीवास्तव            
मास्को। रूसी मॉडल एकातेरिना लिसिना अपनी हाइट को लेकर सुर्खियों में रहती हैं। एकातेरिना 6 फीट 9 इंच लंबी हैं। अपनी हाइट की बदौलत उन्होंने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया है। हालांकि, इस हाइट ने उनकी लव लाइफ को भी प्रभावित किया है। कैसे, आइए जानते हैं खुद रूसी मॉडल एकातेरिना की जुबानी।
बता दें कि 34 साल की एकातेरिना लिसिना को 'दुनिया की सबसे लंबी टांगों वाली महिला' माना जाता है, जिस कारण उनका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हो चुका है। उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में बताया है कि उनकी 6 फीट 9 इंच की असामान्य लंबाई लव लाइफ पर असर डालती है।
पार्टनर मिलना मुश्किल हो गया। कई बार लंबी हाइट के कारण उन्हें विषम परिस्थियों से भी गुजरना पड़ता है। बकौल एकातेरिना- "रिश्ते में हाइट मायने नहीं रखती, यह बात समझनी चाहिए। 
वो कहती हैं कि लड़के की हाइट कम होने और लड़की की बहुत अधिक होना लोग सही नहीं मानते। हालांकि, वो खुद से 1 फुट छोटे हाइट के लड़के तक से डेटिंग करने को तैयार रहती हैं, लेकिन इससे छोटे लड़के से नहीं‌ एकातेरिना डेटिंग एप्स से लड़कों से मिलना पसंद करती हैं।
रूसी मॉडल एकातेरिना लिसिना फ्रोफेशनल बास्केटबॉल खिलाड़ी भी रह चुकी हैं। रिटायरमेंट के बाद वो मॉडलिंग की दुनिया में आ गईं। उनके माता-पिता भी अच्छी खासी हाइट वाले हैं। एकातेरिना के पैरेंट्स 6 फीट 2 इंच के हैं।
अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एकातेरिना तमाम फ़ोटोज़-विडीयोज शेयर करती रहती हैं, जिन्हें लाखों की संख्या में लोग लाइक करते हैं।  इंस्टाग्राम पर रूसी मॉडल के 10 लाख से अधिक फॉलोअर्स हैं। देखिए एकातेरिना के कुछ इंस्टाग्राम पोस्ट।
भारत के भले ही किसी कोने में आप रह रहे हों, जनता से रिश्ता वेबसाइट पर आपके राज्य की हर छोटी-बड़ी खबर मिलेगी। राजनीति, खेल, चुनाव, बिजनेस, सिनेमा, इस प्लैटफॉर्म पर बस एक क्लिक करते ही हमेशा पाएं ताजा खबरें। उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल समेत देश के बाकी राज्यों और शहरों की कोई जानकारी हो, हम आपको देते हैं। सियासी रण हो या बजट का मौसम, कहां चल रहा क्या सियासी दांव-पेच, आपके गांव में किसकी सरकार, हर अपडेट यहां आपको मिलेंगे। तो फिर अपने राज्य की हर हलचल के लिए जुड़े रहिए जनता से रिश्ता के साथ।

निर्दलीय विधायक के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती

निर्दलीय विधायक के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती  

पंकज कपूर    
नैनीताल। उत्तराखंड के हरिद्वार जनपद अंतर्गत खानपुर विधानसभा से नवनिर्वाचित निर्दलीय विधायक उमेश कुमार के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है।आज होली अवकाश के बाद भी मामले की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय कुमार मिश्रा और न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ में हुई। पीठ ने याचिका की पोषणीयता पर सवाल उठाते हुए याचिकाकर्ताओें को इस मामले में 23 मार्च को सुनवाई के दौरान जवाब देने को कहा है। हरिद्वार लक्सर डाबकी कलां गांव निवासी वीरेन्द्र कुमार और जनता कैबिनेट पार्टी की भावना पांडे की ओर से चुनौती दी गयी है। दायर याचिका में कहा गया है कि उमेश शर्मा ने नामांकन पत्र में तथ्यों को छुपाया है। शपथपत्र में आपराधिक मामलों का पूरा विवरण नहीं दिया है।

याचिका में कहा गया है कि उनका आपराधिक इतिहास है। उनके खिलाफ विभिन्न राज्यों में 29 मामले दर्ज हैं।
याचिकाकर्ताओं की ओर से आगे कहा गया है कि शर्मा की ओर से विधानसभा में नामांकन के दौरान फार्म 26 में पूरी जानकारी उपलब्ध नहीं करायी गयी है। तथ्यों को छिपाया गया है। याचिकाकर्ताओं की ओर से शर्मा को विधानसभा की शपथ लेने से रोकने की मांग की गयी है। इसके अलावा चुनाव आयोग से उनके खिलाफ जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत कार्यवाही करने की भी मांग की गयी है।पीठ ने याचिका की पोषणीयता पर सवाल उठाते हुए याचिकाकर्ताओं से पूछा कि जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 80 व संविधान की धारा 329 के तहत इस मामले को चुनाव याचिका के तहत क्यों नहीं चुनौती दी गयी। अब इस मामले में 23 मार्च को सुनवाई होगी।

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस बरकरार

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस बरकरार  

पंकज कपूर     
देहरादून। उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी ने नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण को लेकर तैयारियां तेज कर दी है, हालांकि नया मुख्यमंत्री कौन होगा ? इसको लेकर जहां सस्पेंस बरकरार है, वहीं नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण भव्य होगा। यह बात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहीं मदन कौशिक का कहना है कि नई मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण भव्य होगा। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत भाजपा शासित कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का साथ ही कहना है कि भाजपा हाईकमान से उनकी बातचीत हुई है‌। जैसी ही केंद्रीय पर्यवेक्षकों का समय मिलेगा, भाजपा विधायकों को विधानमंडल दल की बैठक के लिए सूचना भेज दी जाएगी। जबकि भाजपा के अधिकांश विधायक देहरादून में ही मौजूद हैं। कुमाऊं में होली के चलते कुछ विधायक क्षेत्रों में जो की देहरादून पहुंचने वाले हैं। नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण की तैयारियों को लेकर शनिवार, शाम भाजपा संगठन की भी बैठक होनी है।

लोक सेवा आयोग ने कई पदों पर निकाली भर्ती

लोक सेवा आयोग ने कई पदों पर निकाली भर्ती 

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। पीसीएस परीक्षा की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए अच्छा मौका है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने कई पदों पर भर्ती निकाली हैं। इसके लिए आयोग ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर पीसीएस परीक्षा 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है। 

उम्मीदवार 16 अप्रैल 2022 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। बताते चलें कि यूपीपीएससी पीसीएस परीक्षा 2022 के माध्यम से लगभग 250 रिक्तियां भरी जाएंगी। जिसमें उप रजिस्ट्रार, सहायक अभियोजन अधिकारी (परिवहन), जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी / एसोसिएट डीआईओएस, जिला प्रशासनिक अधिकारी, जिला लेखा परीक्षा अधिकारी (राजस्व लेखा परीक्षा) और अन्य समकक्ष प्रशासनिक पद शामिल हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-162, (वर्ष-05)
2. रविवार, मार्च 20, 2022
3. शक-1984, चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम-34+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...