गुरुवार, 25 मई 2023

विशेष महिला साहित्यकार गोष्ठी का आयोजन 

विशेष महिला साहित्यकार गोष्ठी का आयोजन 


क्रांतिवीर देश के गर्वित कीर्ति स्तंभ है: सुनीता पाठक

मनोज सिंह ठाकुर 

ग्वालियर। अखिल भारतीय साहित्य परिषद मध्य भारत प्रांत द्वारा आयोजित क्रांति तीर्थ अभियान के अंतर्गत मध्य भारतीय हिंदी साहित्य सभा ग्वालियर द्वारा क्रांति तीर्थ विशेष महिला साहित्यकार गोष्ठी का आयोजन किया गया। अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन के पश्चात व्याप्ति उमड़ेकर द्वारा मां सरस्वती की वंदना एवं परिषद गीत पलक सिकरवार द्वारा प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम का संचालन युवा साहित्यकार जान्हवी नाईक ने किया।

 कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार कुंदा जोगलेकर ने की। मुख्य अतिथि के रूप में कथाकार सुनीता पाठक एवं सभा अध्यक्ष डॉ कुमार संजीव मंचासीन रहे। कार्यक्रम की प्रस्तावना डॉ करुणा सक्सेना ने प्रस्तुत की एवं आभार सभा के सह मंत्री उपेंद्र कस्तूरे ने किया। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कुंदा जोगलेकर ने वीर सावरकर जी के जीवन के संघर्ष को वर्णित करते हुए कविता का पाठ किया। मुख्य अतिथि के रूप में आसीन सुनीता पाठक ने ज्ञात, अज्ञात एवं अल्प ज्ञात क्रांतिवीरों के संस्मरण सुनाते हुए अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। सभा अध्यक्ष डॉ कुमार संजीव ने अखिल भारतीय साहित्य परिषद मध्य भारत प्रांत द्वारा आयोजित क्रांति तीर्थ अभियान के विषय में विस्तार से बताते हुए 11 जून को शिवपुरी में आयोजित होने जा रहे क्रांतिवीर अभियान के समापन समारोह में सम्मिलित होने के लिए सभी का आह्वान किया।

क्रांति तीर्थ कार्यक्रम के अंतर्गत सभी महिला साहित्यकारों ने भारत को स्वतंत्र कराने में अपने प्राणों की आहुति देने वाले क्रांतिवीरों पर आधारित रचनाओं का पाठ किया।

"क्रांतिवीरों की तमतमाई आंखों में उतरा रक्तबिंब नीले समंदर को भी रक्तवर्णी बना देता है। आज भी... सच कितना कुछ सहा होगा मां भारती के पुजारियों ने।"


कुंदा जोगलेकर...

"अज्ञात एवं अल्प ज्ञात शहीदों का स्मरण करें, क्योंकि वे देश का गर्वित कीर्ति स्तंभ हैं। आवश्यकता इस बात की है कि भावी पीढ़ी वीर स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष और जुनून की गाथा को जाने समझे और इस तरह वे स्वतंत्रता की कीमत समझकर देश की एकता अखंडता को बनाए रखने में अपना योगदान दें।"


सुनीता पाठक...

"पृथ्वीराज चौहान जैसे वीरों की इस धरा पर नई किरणों के साथ सूर्य फिर से उगेगा।" कहानी "एक डॉक्टर का लव जिहाद"


डॉ. मंदाकिनी शर्मा...

"तुम बिन रीता लागत मेला,

तुम बिन सीमा, देश अकेला।

मैं ग्वाँरी तुम पर हूँ वारी, 

आँखन मग पोंछत दिन सारी।


मैं सैनिक की छाँह हूँ, 

मन में धारूँ धीर।

दुनिया से मुन्दकाय हूँ, 

मैं अँखियन की पीर।


डॉ. करुणा सक्सेना...

"रामनवमी मनाते मनाते, राम गुण गाते गाते, हर मां चाहती है कि उसका बेटा भी राम बने"


मंजुलता आर्य...

"मातृभूमि की सेवा से बढ़कर कोई सत्कर्म नहीं,

राष्ट्रधर्म के ऊपर आए ऐसा कोई धर्म नहीं"।


उमा उपाध्याय...

"वंदना भारती की वह गाती रही, 

क्रांति की वह मशाल जलाती रही।

लक्ष्मी बाई को रेखा का सादर नमन, 

अपने प्राणों की आहुति चढ़ाती रही"।


रेखा दिक्षित...

"सशक्तिकरण महिला का चेहरा सरोजिनी जी के रूप में जान रहे,

उनके संघर्षों के पथ से उनको राजनीति तक पहचान रहे"।


प्रतिभा दुबे...

"तपोभूमि जब हुई कारागार, 

स्वतंत्रता का अक्षुण्ण मंत्रोचार,

जीवन पुष्प ले कर में, 

किया क्रांति का जय जयकार"।


व्याप्ति उमड़ेकर...

"तीन रंग का चोला ओढ़े आए अमर जवान,

कतरा-कतरा लहू बहाया, 

वतन की खातिर लहूलुहानसी।


पलक सिकरवार...

"जहां संवेदनशीलता और सशक्तता का संगम होता है, 

वहां स्त्री का जन्म होता है"।


जान्हवी नाईक...

इस अवसर पर मोनिका जैन उपस्थित रहीं एवं युवा साहित्यकार शिवम सिसोदिया ने मां पर आधारित अपनी कविता का भी पाठ किया।

उपाध्याय समाज के लोगों का प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा 

उपाध्याय समाज के लोगों का प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। उपाध्याय चेतना मंच सेवा समिति रजि. संगठन के प्रदेश अध्यक्ष संजय उपाध्याय जिलाध्यक्ष जसबीर उपाध्याय के नेतृत्व में जिलाधिकारी शामली द्वारा माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ के नाम उपाध्याय समाज के लोगो ने जोरदार प्रर्दशन करते हुए ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में 21 जनवरी 2023 को ग्राम खेड़ी करमू जनपद शामली में गौरव उपाध्याय की हत्या हुई थी। पीड़ित परिवार का आरोप है कि गौरव उपाध्याय हत्या प्रकरण में पुलिस की घोर लापरवाही भी मुख्य कारण है।

हत्या वाले दिन सुबह भी मृतक गौरव उपाध्याय ने पुलिस शामली को सूचना दी कि दबंग व्यक्ति आज मेरी हत्या कर सकते हैं। लेकिन, पुलिस ने इस प्रकरण की हल्के में लिया। पीड़ित का ये भी आरोप है कि षडयंत्र कारियो पर पुलिस ने कोई कानूनी कार्यवाही नही की उन्हें बचाया गया। चार्जशीट में भी थाने में जिन गवाहों के जो बयान लिए, शामिल नही किया गया तथा जांच सही नही हुई। पीड़ित परिवार के साथ घटना के दिन अभद्र व्यवहार हुआ एवं थाने में बैठाया गया। परिवार के साथ अन्याय हुआ है।

परिवार के साथ फिर ऐसी घटना को अंजाम देने के घर पर प्रयास हो रहे हैं। इसी प्रकरण को लेकर समाज मे बहुत नाराजगी है। प्रदेश अध्यक्ष संजय उपाध्याय ने कहा, कि इस प्रकरण को लेकर संगठन व समाज ने 5 सूत्रीय मांग की है। 1 मृतक गौरव उपाध्याय हत्याकांड के बाद फिर परिवार को जान का खतरा सुरक्षा दी जाए। 2 षड्यंत्रकारियों पर भी कानूनी कार्यवाही की मांग, 3 पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद की मांग। 4 पीड़ित परिवार को सुरक्षा हेतु लाइसेंस मंजूर किया जाए। 5 पुलिस की घोर लापरवाही से गौरव की हत्या का मुख्य कारण यदि ये मांग पर अम्ल नही होता तो संगठन व समाज पूरे प्रदेश में आंदोलन के लिए बाध्य होगा।प्रदेश भर में समाज के लोगो पर वर्तमान भाजपा सरकार में अत्याचार, उत्पीडन, हत्याएं हो रही है, जो चिंता का विषय है।

ज्ञापन के दौरान आचार्य धर्मपाल भारद्वाज, प्रदेश सचिव श्रीमती ममतेश उपाध्याय, कॄष्णपाल उपाध्याय, प्रदेश सचिव सोनिया उपाध्याय नागवांन, योगी राजकुमार उपाध्याय, सौरभ उपाध्याय, जसबीर उपाध्याय, नगर अध्यक्ष विनोद उपाध्याय, कविता, लक्की उपाध्याय, उपाध्याय,सुशील पटवारी, सतपाल उपाध्याय, दानवीर, मांगेराम, मुकेश उपाध्याय, मीनाक्षी, निर्मला, आदि।

व्यवस्था का हाल जानने 'प्रयागराज' पहुंचे निदेशक 

व्यवस्था का हाल जानने 'प्रयागराज' पहुंचे निदेशक 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिले में बिजली आपूर्ति व्यवस्था का हाल जानने गुरुवार को पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक शंभू कुमार प्रयागराज पहुंचे। उन्होंने गंगापार डिविजन के धोसड़ा उपकेंद्र पहुंचकर ग्रामीण क्षेत्रों में हो रही बिजली आपूर्ति और राजस्व वसूली का हाल जाना। उपकेंद्र पर इंजीनियर और कर्मचारियों की उपस्थिति रजिस्टर भी खंगाला। इस अवसर पर चीफ इंजीनियर विनोद कुमार गंगवार, अधिशासी अभियंता मनोज यादव और दूसरे अधिकारी तथा कर्मचारी मौजूद रहे। प्रबंध निदेशक ने ग्रामीण क्षेत्रों में समय-समय पर लगने वाले कैंप की जानकारी के लिए ग्राम प्रधान और दूसरे गणमान्य लोगों की बैठक बुलाई। जिसमें बिजली आपूर्ति व्यवस्था और राजस्व को लेकर चर्चा की गई।

कंपनी ‘अमूल’ को दूध की खरीद बंद करने का निर्देश 

कंपनी ‘अमूल’ को दूध की खरीद बंद करने का निर्देश 

इकबाल अंसारी 

चेन्नई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह से आग्रह किया कि गुजरात आधारित डेयरी कंपनी ‘अमूल’ को तत्काल प्रभाव से तमिलनाडु में दूध की खरीद बंद करने का निर्देश दिया जाए। स्टालिन ने शाह को लिखे पत्र में तमिलनाडु ‘मिल्क शेड’ क्षेत्र में कैरा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ (अमूल) द्वारा दूध की खरीद किए जाने से उत्पन्न मुद्दों पर केंद्र सरकार का ध्यान आकृष्ट किया। 

उन्होंने कहा कि हाल में, राज्य सरकार के संज्ञान में आया है कि अमूल ने कृष्णागिरि जिले में ‘चिलिंग सेंटर’ और प्रसंस्करण संयंत्र स्थापित करने के लिए अपने बहु-राज्य सहकारी लाइसेंस का उपयोग किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके साथ ही, अमूल ने तमिलनाडु में कृष्णागिरि, धर्मपुरी, वेल्लोर, रानीपेट, तिरुपथुर, कांचीपुरम और तिरुवल्लूर जिलों में तथा आसपास स्थित एफपीओ व एसएचजी के माध्यम से दूध खरीदने की योजना बनाई है। 

स्टालिन ने लिखा, "भारत में यह एक नियम रहा है कि सहकारी समितियों को एक-दूसरे के ‘मिल्क-शेड’ क्षेत्र का उल्लंघन किए बिना फलने-फूलने दिया जाए। इस तरह एक-दूसरे की खरीद में हस्तक्षेप श्वेत क्रांति की भावना के खिलाफ है और दूध की मौजूदा कमी के परिदृश्य को देखते हुए इसके कारण उपभोक्ताओं के लिए समस्याएं बढ़ेंगी।” 

जेड4 रोडस्टर का नया संस्करण पेश किया: कंपनी 

जेड4 रोडस्टर का नया संस्करण पेश किया: कंपनी 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। वाहन कंपनी बीएमडब्ल्यू इंडिया ने देश में जेड4 रोडस्टर का नया संस्करण पेश किया है। कंपनी ने बृहस्पतिवार को बताया कि इसकी शोरूम कीमत 89.3 लाख रुपये है। यह मॉडल पूरी तरह कंपनी के मूल देश जर्मनी से आयातित है।

तीन लीटर छह सिलेंडर वाले पेट्रोल इंजन वाला यह मॉडल 0-100 किलोमीटर प्रति घंटे की गति सिर्फ 4.5 सेकंड में पकड़ लेगा। कंपनी ने बताया कि जेड4 रोडस्टर में एक्टिव पार्क असिस्टेड कंट्रोल (पीडीसी), रियर व्यू कैमरा पार्किंग सुविधा और ड्राइविंग असिस्टेंट समेत अन्य खूबियां जोड़ी गई हैं।

मणिपुर में लोगों से शांति बनाए रखने की अपील 

मणिपुर में लोगों से शांति बनाए रखने की अपील 

इकबाल अंसारी 

इंफाल/गुवाहाटी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को मणिपुर में लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और वादा किया कि समाज के सभी वर्गों के लिए न्याय सुनिश्चित किया जाएगा। शाह ने कामरूप जिले के चांगसारी क्षेत्र में स्थापित होने वाले राष्ट्रीय न्यायालयिक विज्ञान विश्वविद्यालय (एनएफएसयू) के दसवें राष्ट्रीय परिसर का शिलान्यास करते हुए कहा कि विवाद के समाधान में मदद के लिये वह पूर्वोत्तर राज्य का दौरा करेंगे।

उन्होंने कहा, “मैं जल्द ही मणिपुर जाऊंगा और वहां तीन दिन रहूंगा, लेकिन उससे पहले दोनों गुटों को आपस में अविश्वास और संदेह दूर करना चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि राज्य में शांति बहाल हो।” शाह ने कहा कि केंद्र यह सुनिश्चित करेगा कि राज्य में हुई झड़पों में पीड़ित सभी लोगों को न्याय मिले, लेकिन “लोगों को राज्य में शांति सुनिश्चित करने के लिए बातचीत करनी चाहिए।”

यहां एनएफएसयू परिसर की स्थापना का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि इससे इन पाठ्यक्रमों में उत्तीर्ण सभी छात्रों के लिए रोजगार के अवसर सुनिश्चित होंगे। उन्होंने कहा, “केंद्र छह साल से अधिक कारावास की सजा वाले अपराधों के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञों द्वारा घटनास्थल का दौरा अनिवार्य करने के लिए कानूनी बदलाव लाने की योजना बना रहा है।”

एनएफएसयू परिसर का पहला चरण 2026 तक और दूसरा 2030 तक पूरा होने की उम्मीद थी, जबकि इस साल गौहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) में अस्थायी परिसर में कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। शाह ने सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (सीएफएसएल) के साथ संयुक्त रूप से विकसित असम पुलिस के ‘सेवा सेतु’ नामक एक वेब पोर्टल की भी शुरुआत की।

यह लोगों को किसी भी पुलिस थाने में जाए बिना प्राथमिकी दर्ज करने, गुमशुदगी की शिकायत करने के साथ-साथ किरायेदार, पेइंग गेस्ट और घरेलू सहायक के सत्यापन के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरने में सक्षम करेगा।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-224, (वर्ष-06)

2. शुक्रवार, मई 26, 2023

3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 38+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

किसान गोष्ठी का निरीक्षण कर, जायजा लिया

किसान गोष्ठी का निरीक्षण कर, जायजा लिया ग्राम पंचायत बलकरनपुर एवं सकाढ़ा में आयोजित किसान गोष्ठी का सीडीओ ने किया निरीक्षण ...