शुक्रवार, 29 मई 2020

पीएम की चुप्पी को खतरनाक बताया

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चीन सीमा पर तनाव की स्थिति को लेकर सरकार की चुप्पी को खतरनाक बताया है और कहा है कि संकट से जूझ रही देश की जनता को असलियत बतायी जानी चाहिये।


राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा “संकट के इस दौर में चीन सीमा की स्थिति को लेकर सरकार की चुप्पी से अटकलबाज़ी ज़ोर पकड़ रही है और अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है। सरकार को देश की जनता को साफ-साफ बताना चाहिए कि सीमा पर हो क्या रहा है।”गौरतलब है कि लद्दाख से लेकर सिक्किम तक चीन सीमा पर इस माह की शुरुआत से तनाव की स्थिति है और दोनों ओर से सैनिकों के बीच पथराव की घटनाएं और झड़पें हुई है।


तनाव के बीच, चीन सीमा पर 'चिनूक'

नई दिल्ली। चीन के साथ पिछले कई दिनों से तनावपूर्ण माहौल के बीच भारतीय वायुसेना ने चीनी सीमा के सटे असम में मोहनबारी एयरबेस पर संचालन के लिए चिनूक भारी हेलिकॉप्टर को शामिल किया है। इस भारी भरकम हेलिकॉप्टर को हाल ही में उत्तर-पूर्व में शामिल किया गया था और इसका उपयोग निकट भविष्य में वजनी चीजों को ढोने और सैनिकों के स्थानांतरण के लिए किया जाएगा।चिनूक को सबसे पहले चंडीगढ़ एयर बेस पर पिछले साल मार्च में शामिल किया गया था और सियाचिन ग्लेशियर पर मिलिट्री कैंप समेत उत्तरी क्षेत्र में परिचालन के लिए बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया गया था।


चीन की सीमा पर सैनिकों और सामग्री की आपूर्ति के लिए चिनूक का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जा सकेगा, जहां भारतीय सेना की चार टुकड़ियों को किसी भी दुस्साहसियों से बचाव के लिए तैनात किया गया है। इस साल गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान भारतीय वायुसेना की झांकी में राफेल लड़ाकू विमान से लेकर एयरक्राफ्ट चिनूक भी शामिल किया गया था।


300 अंकों से ज्यादा लुढ़का शेयर बाजार

मुंबई। कमजोर वैश्विक संकेतों से शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार में आरंभिक कारोबार के दौरान सुस्ती छाई रही। सुस्त कारोबारी रूझानों के बीच सेंसेक्स 300 अंकों से ज्यादा लुढ़का और निफ्टी में भी 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट आई। सुबह 9.36 बजे सेंसेक्स पछले सत्र से 331.79 अंकों यानी 1.03 फीसदी की गिरावट के साथ 31868.80 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 71.70 अंकों यानी 0.76 फीसदी की कमजोरी के साथ 9418.40 पर बना हुआ था।


बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स इससे पहले पछले सत्र से 159.30 अंकों की गिरावट के साथ 32041.29 पर खुला और 31823.80 तक फिसला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र से 67.90 अंक फिसलकर 9422.20 पर खुला और 9376.90 तक गिरा।


लॉक डाउन में बढ़ रहा है अपराध

अतुल त्यागी

प्रवीण कुमार(पिलखुआ रिपोर्टर)

हापुड़। पिलखुवा में बदमाशों के हौसले हुए बुलंद हॉटस्पॉट इलाके में पहुंचकर बदमाशों ने सभासद के भाई को बनाया अपना निशाना और फिल्मी अंदाज में हो गए फरार।

 

हॉटस्पॉट इलाके में पुलिस की तैनाती भी थी लेकिन बदमाशों ने फिर भी सभासद के भाई को बनाया अपना निशाना क्या बदमाशों को बिल्कुल भी पुलिस का खौफ नहीं रहा हालांकि पुलिस मामले को संदिग्ध बता रही है। हॉट-स्पॉट क्षेत्र में भाजपा सभासद के भाई दीपक तोमर को बदमाशों ने घुसकर गोली मार दी और मौके से फरार हो गए। हॉट-स्पॉट होने के बाद पुलिस की तैनाती के बावजूद भी हथियारबंद बदमाश हथियार लेकर कैसे घुस गए बदमाशों के हमले से क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

बाइक सवार अज्ञात बदमाश गोली मारकर फिल्मी अंदाज में हुए फ़रार घायल को अस्पताल में कराया गया भर्ती। पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र की घटना सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर जांच पड़ताल में जुटी।

बाईट-Sp संजीव सुमन

बाईट-dr श्याम देव नंदिनी हॉस्पिटल

लाइन की चपेट में आकर किसान झुलसा

हाईटेंशन लाइन के करंट की चपेट में आने से किसान झुलसा

 

सुनील पूरी

बिंदकी फतेहपुर। हाईटेंशन लाइन के करंट की चपेट में आने से किसान गंभीर रूप से झुलस गया जिसको इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया हालांकि काफी देर तक इंतजार के बाद किसान की हालत में सुधार हुआ तो परिजन वापस घर ले गए।

 

जानकारी के अनुसार जाफर गंज थाना क्षेत्र के डिघरूवा गांव में किसान वीरेंद्र दीक्षित उम्र 35 वर्ष पुत्र सत्य नारायण दीक्षित गांव के समीप ट्रैक्टर की ट्राली में गोबर की खाद भर रहा था तभी अचानक ऊपर से हाईटेंशन लाइन के करंट की चपेट में आ गया और गंभीर रूप से झुलस गया किसान की झुलस ते ही हड़कंप मच गया लोगों ने गंभीर हालत में धूल से किसान को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ केंद्र बिंदकी में भर्ती कराया काफी देर चले उपचार के बाद जबकि सात की हालत में सुधार हुआ तो परिजन वापस घर ले गए।

स्वेतः संज्ञान लेकर करे मुकदमा दर्ज

 स्वतः संज्ञान लेकर करे मुक़दमा दर्ज

सुनील पुरी

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने कोरोना महामारी को देखते हुए देश में लॉकडाउन ने लोगों के साथ कई बार टीवी व समाचार पत्रों के माध्यम से शारीरिक दूरी बनाने का पाठ आम जन मानस को पढ़ाया। लेकिन उनकी बातों का असर यह रहा की आम जनता तो पालन कर रही है। बाज़ारों को खोलने मे भी सोशल डिस्टेन्स मेनटेन रखने की कवायद में लोग स्वता लगे हैं। लेकिन उनकी पार्टी के लोग ही खुलेआम अखबारों में फोटो छपने की लालसे मे उस पाठ को भूल गए।जीता जागता उद्धारण नगर निगम सदन के अन्दर नामित पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह में देखने को मिला जिसमे भाजपा सांसद केशरी देवी पटेल,महापौर अभिलाषा गुप्ता,विधायक हर्षवर्धन बाजपेयी,महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी सहित नामित पार्षद गण और अनेक भाजपा कार्यकर्ता यह भूल गए की कोरोना महामारी के कारण देश मे लॉकडाउन लगा है और एक दूसरे से एक मीटर की दूरी बना कर रहना चाहिये।विधान परिषद सदस्य बासूदेव यादव,समाजवादी पार्टी निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन,महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने संयुक्त रुप से विज्ञप्ति जारी कर सोशल डिस्टेन्स का उलंघन करने वाले भाजपा पदाधीकारीयों नगर निगम कर्मचारीयों व नामित पार्षद गणों के खिलाफ स्वता संज्ञान लेते हुए कोरोना संक्रमण फहलाने के तहत प्रशासन से मुक़दमा क़ायम कर कार्यवाही करने की मांग की है।बासूदेव यादव ने कहा की अभी हाल मे ही प्रतापगढ़ पट्टी गांव धुई गोविन्पुर में पिछड़े वर्ग (कुर्मी जाती) के घर को कुछ सामंतवादीयों द्वारा  जला दिया गया था महिलाओं और बच्चों को बेरहमी से पीटा गया।पशुओं को भी जलाया गया।हत्या कर दी गई और जब पीड़ित पक्ष का हाल जानने समाजवादी पार्टी का जाँच दल गया तो सरकार के दबाव में और हत्याहौर आगज़नी पर परदा डालने की खातिर समाजवादी पार्टी के जाँच दल मे शामिल लोगों पर सोशल डिस्टेन्सिंग के उलंघन में मुक़दमा लिखवा दिया गया।नेता द्वय ने कहा यह दोहरी मानसिक्ता अब बरदाश्त नहीं की जाएगी अगर शारीरिक दूरी का उलंघन करने और कोरोना महामारी को फैलाने वाले भाजपाईयों पर मुक़दमा दर्ज नहीं किया जाता तो समाजवादी पार्टी शासन व प्रशासन का घेराव करेगी।एक देश के अन्दर दोहरा क़ानून नहीं चलेगा।निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन व महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने आरोप लगाया की लॉकडाउन के दौरान जहाँ आम लोगों पर पुलिस लाठी चटखाती थी वहीं आए दिन अखबारों व टीवी चैनल के माध्यम से यह देखा गया है की भाजपा के नेता खुलेआम चार पहिया वाहन से घूमते रहे और राशन पानी बाँटने के दौरान भी फोटो छपवाने के चक्कर में शारीरिक दूरी रखना भूल गए।जब्कि उनके साथ तमाम मीडिया कर्मी व प्रशासनिक अमला भी लगा रहा लेकिन किसी ने भी संज्ञान नहीं लिया।अब देखना यह है की क्या प्रशासन क़दम उठाता है।


सरकार का लॉकडाउन-5 का मंथन जारी

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लॉकडाउन-4 पर गुरुवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की। उन्होंने लॉकडाउन 4.0 को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के विचार जाने। अमित शाह ने लॉकडाउन 4.0 के वर्तमान हालात पर चर्चा की। गृह मंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से 31 मई के बाद लॉकडाउन पर उनके राज्यों की क्या राय है और आगे वह क्या सोचते हैं इसपर उनके विचार जाने। बता दें कि लॉकडाउन-4 की अवधि 31 मई को खत्म हो रही है। क्या देश में लॉकडाउन 5.0 लागू होगा, फिलहाल सबकी नजर इसपर है।


हालांकि, सरकार का लॉकडाउन 5.0 पर मंथन जारी है।लॉकडाउन चार के खत्म होने के पहले ही लॉकडाउन-5 की आहट सुनाई देने लगी है। 31 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात करेंगे। सूत्रों का कहना है कि मन की बात में पीएम मोदी बहुत कुछ साफ कर सकते हैं। वैसे सूत्रों का यही कहना है कि दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन का बढ़ना लगभग तय है।


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लॉकडाउन-4 पर गुरुवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की। उन्होंने लॉकडाउन 4.0 को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के विचार जाने। अमित शाह ने लॉकडाउन 4.0 के वर्तमान हालात पर चर्चा की। गृह मंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से 31 मई के बाद लॉकडाउन पर उनके राज्यों की क्या राय है और आगे वह क्या सोचते हैं इसपर उनके विचार जाने। बता दें कि लॉकडाउन-4 की अवधि 31 मई को खत्म हो रही है। क्या देश में लॉकडाउन 5.0 लागू होगा, फिलहाल सबकी नजर इसपर है।


हालांकि, सरकार का लॉकडाउन 5.0 पर मंथन जारी है।लॉकडाउन चार के खत्म होने के पहले ही लॉकडाउन-5 की आहट सुनाई देने लगी है। 31 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात करेंगे. सूत्रों का कहना है कि मन की बात में पीएम मोदी बहुत कुछ साफ कर सकते हैं। वैसे सूत्रों का यही कहना है कि दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन का बढ़ना लगभग तय है।


रेलवे पुलिस-प्रशासन का साहसिक कार्य

अतुल त्यागी

 

हापुड़। जीआरपी पुलिस और प्रशासन की जितनी भी तारीफ की जाए शायद कम है। ट्रेन से हापुड़ स्टेशन पर पहुंचे प्रवासी मजदूरों को सकुशलता पूर्वक उनके स्थान के लिए किया रवाना। हापुड़ जीआरपी पुलिस और  प्रशासनिक  अधिकारी रहे मौजूद।

जम्मू से चलकर हाजीपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन 04352 हापुड़ स्टेशन से खुर्जा जकंशन के लिए 07:18 पर  प्रस्थान किया गया जिससे कुल 67 यात्री हापुड़ स्टेशन पर उतरे सभी को सेनेटाइजर किया गया तथा एस डी एम हापुड़, और जी आर पी, सिविल पुलिस,आरपीएफ द्वारा बसो में बैठा कर ग्नतव्य को सकुशल रवाना किया जा रहा है।

 

हापुड़ स्टेशन जीआरपी इंचार्ज मुकेश कुमार अपने अच्छे कार्यों से पहले से ही पहचाने जाते हैं अबसे पहले पिलखुवा स्टेशन पर रहे जीआरपी इंचार्ज अब हापुड़ स्टेशन पर जीआरपी इंचार्ज है अपनी पुलिस टीम के साथ बाहर से आए प्रवासी मजदूरों को से कुशलता पूर्वक पहुंचाने में मददगार साबित हो रहे हैं उनकी टीम भी भरपूर प्रयास कर रही है जीआरपी इंचार्ज मुकेश कुमार की जितनी भी तारीफ की जाए शायद कम हैं।

अदालतों में 14 तक सभी कार्य स्थागित

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली/गाजियाबाद। दिल्ली हाईकोर्ट ने अपने पूर्व आदेश जिसमें उसने 31 मई तक दिल्ली की सभी अदालतों में काम बंद रखने को कहा था, उसे बढ़ा दिया है। अब दिल्ली की सभी अदालतों में 14 जून तक सभी कार्य स्थगित रहेंगे।

दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर फिर लगा जाम
गाजियाबाद में बढ़ते कोरोना के मामलों के चलते जिला प्रशासन द्वारा सील की गई दिल्लीगाजियाबाद की सीमाओं के चलते आज फिर दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर लंबा जाम लगा है। दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर लोगों के पहचान पत्र और पास की जांच हो रही है जिसके चलते गाड़ियों की रफ्तार धीमी हो गई है और सीमा पर लंबा जाम लग गया है।

दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर भी हो रही जांच
दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर भी लोगों के 'पास' और पहचान पत्र की जांच पुलिस कर रही है। इस पर जब सवाल किया गया तो सब इंस्पेक्टर भीम सिंह ने बताया, 'अभी तक कोई नई गाइडलाइन नहीं आई है, लॉकडाउन 4.0 में जो गाइडलाइन दी गई है हम उसी का पालन कर रहे हैं।


दिल्ली रिकॉर्डः 24 घंटे में 1024 नए केस

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 1024 नए केस दर्ज अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए है। जबकि दिल्ली में कुल 1 हजार मामले पूरे होने में 41 दिन का समय लगा था। वहीं, 24 घंटे में 231 मरीज ठीक/डिस्चार्ज/माइग्रेट हुए। वहीं, डेथ ऑडिट कमेटी ने 13 कोरोना से डेथ की पुष्टि की है। गुरुवार को दिल्ली सरकार के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार अब तक दिल्ली में कोरोना के कुल मामले 16281  पहुंच गए है। वहीं, अब तक ठीक/डिस्चार्ज/माइग्रेट 7495 मरीज हो गए है। कोरोना से अब तक 316 मरीजों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। अभी दिल्ली में 8470 सक्रिय कोरोना मरीज है


'पश्चिमी विक्षोभ' के कारण मछुआरों को चेतावनी

भारत मौसम विज्ञान विभाग के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के अनुसार


दक्षिण-पश्चिम मानसून का आगे बढना


नई दिल्ली। पश्चिमी हवाओं के तेज होने और संवहनीय बादलों में वृद्धि के परिणामस्वरूप दक्षिण पश्चिम मॉनसून मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र के कुछ हिस्सों,दक्षिण बंगाल की खाड़ी के कुछ और हिस्सों, अंडमान सागर के शेष भागऔर अंडमान व  निकोबार द्वीप समूह में कुछ और आगे बढ़ा है।



  • मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) अब अक्षांश 5° उत्तर /देशांतर 72° पूर्व, अक्षांश 6° उत्तर/देशांतर 79° पूर्व, अक्षांश 8° उत्तर/देशांतर 86° पूर्व, अक्षांश 11° उत्तर/ देशांतर 90° पूर्व, अक्षांश14° उत्तर/देशांतर 93° पूर्वऔर अक्षांश 16° उत्तर/देशांतर 95° पूर्व से होकर गुजरती है।


अगले 5 दिनों के दौरान मॉनसून का और आगे बढ़ना। अगले 48 घंटों के दौरान मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र के कुछ और हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल हो रही हैं।



  • 31 मई से 4 जून, 2020 के दौरान दक्षिण-पूर्व और आसपास के पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इस कारण, 1 जून 2020 से केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल होने की प्रबल संभावना है।


पश्चिम-मध्य अरब सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र



  • पश्चिम-मध्य अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। अगले 48 घंटों के दौरान इसके कम दबाव के क्षेत्र (डिप्रेशन) के रूप में केंद्रित होने की बहुत संभावना है। अगले 3 दिनों के दौरान इसके उत्तर-पश्चिम की ओर -दक्षिण ओमान और पूर्वी यमन तट – जाने की संभावना है।


मछुआरों के लिए चेतावनी



  • मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे 29 मई, 2020 से 1 जून, 2020 के दौरान पश्चिम– मध्य अरब सागर में न जाएँ।

  • मछुआरों को यह भी सलाह दी जाती है कि वे 31 मई, 2020 से 4 जून, 2020 के दौरान दक्षिण-पूर्व और पूर्व मध्य अरब सागर में न जाएँ।


इस दौरान,


♦पश्चिमी विक्षोभ और क्षोभमंडल के निचले स्तरों में एक पूर्व-पश्चिम कम दवाब के क्षेत्र के प्रभाव से, 28/30 मई, 2020 के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और आसपास के मैदानी इलाकों में अलग-अलग स्थानों पर बिजली, ओलों व तेज हवाओं के साथ बारिश / आंधी की सम्भावना है।


इसके परिणामस्वरूप, उत्तर भारत के मैदानी इलाकों और मध्य एवं पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान अगले 3-4 दिनों के दौरान 3-4 डिग्री सेल्सियस तक कम होने की संभावना है। इसलिए आज, उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के अलग-अलग इलाकों में गर्मी ( हीट वेव) की स्थिति बनी रहेगी तथा कल से गर्मी में कमी आयेगी।


♦अगले 24 घंटों के दौरान त्रिपुरा और मिजोरम में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा तथा असम और मेघालय में भारी वर्षा। 28 से 31 मई 2020 के दौरान दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा तथा 30 से 31 मई, 2020 के दौरान केरल और लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा।


टी-20 वर्ल्ड कप पर नहीं लिया फैसला

नई दिल्ली। इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) कोई फैसला नहीं ले पाई है। आईसीसी बोर्ड की गुरुवार को टेलिकॉन्फ्रेंस के जरिए हुई बैठक में मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप पर 10 जून तक फैसला टाल दिया गया। वर्ल्ड कप कप का आयोजन 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच होना है।


ऑस्ट्रेलिया में इस साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के भविष्य को लेकर हुई बैठक में कहा गया कि सदस्य बोर्ड आने वाले दिनों में अपने-अपने देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण पर नजर रखेंगे। आईसीसी बोर्ड की बैठक में शामिल किए गए सभी एजेंडे को 10 जून तक के लिए टाल दिया गया है।


चारा लेने गई किशोरी को सर्प ने डसा

खेत में चारा लेने गई किशोरी को सर्प ने डसा रेफर

 

सुनील पुरी

 

बिंदकी फतेहपुर। खेत में चारा लेने गई किशोरी को सर्प ने डस लिया हालत बिगड़ी तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार बाद हैलट कानपुर रेफर कर दिया।

 

जानकारी के अनुसार जाफर गंज थाना क्षेत्र के अधौत पुर गांव में मन्नू प्रसाद की 13 वर्षीय पुत्री अंजू देवी घर से खेत चारा लेने गई थी तभी खेत में सर्प ने डस लिया किशोरी की हालत बिगड़ी तो परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई परिजनों ने निजी वाहन से लाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की में भर्ती कराया चिकित्सक ने हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार बाद हैलट कानपुर रिफर कर दिया जहां पर हालत नाजुक बता।

सांसद के निधन पर व्यक्त की संवेदनाएं

कोझिकोड। राज्यसभा सांसद एम. पी. वीरेंद्र कुमार का हृदयाघात के कारण गुरुवार देर रात निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ एवं सत्तारूढ़ गठबंधन के सहयोगी लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार की गिनती प्रसिद्ध समाजवादी नेताओं में की जाती थी और वह 1987 में विधानसभा के लिए तथा 1996 और 2004 में लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे। उन्होंने केरल सरकार में श्रम मंत्री के तौर पर तथा केंद्र सरकार में श्रम राज्य मंत्री और वित्त राज्यमंत्री के तौर पर अपनी सेवाएं दी थी। वह श्री ई. के. नयनार (1987-1991) के शासनकाल में कुछ दिनों के लिए वन मंत्री भी बने थे, लेकिन पार्टी में मतभेद के कारण महज पांच दिन में ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री एम. पी. वीरेन्द्र कुमार के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। कोविंद ने माइक्रो ब्लॉगिंग नेटवर्क ‘ट्विटर’ पर शुक्रवार को लिखा, “राज्य सभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री एम. पी. वीरेन्द्र कुमार के निधन के बारे में सुनकर गहरा दु:ख हुआ है। वह निष्ठावान समाजवादी नेता थे, जिन्होंने प्रभावशाली मलयालम समाचार पत्र ‘मातृभूमि’ का नेतृत्व करते हुए पत्रकारिता और साहित्य जगत को भी समृद्ध बनाया।” राष्ट्रपति ने दिवंगत सांसद के परिजनों और शुभेच्छुओं के प्रति गहरी संवेदना जतायी है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने शोक संदेश में कहा, “ राज्यसभा सांसद एम.पी. वीरेंद्र कुमार जी के निधन से दुख हुआ। उन्होंने प्रभावशाली विधायक एवं सांसद के रूप में स्वयं को स्थापित किया था। वह गरीबों और वंचितों के लिए आवाज उठाने में विश्वास करते थे। उनके परिजनों और शुभचिंतकों के प्रति मेरी गहन संवेदनाएं। ओम शांति।”


वहीं राहुल गांधी ने कहा, “लेखक, मातृभूमि समूह के प्रबंध निदेशक एवं सांसद एम. पी. वीरेंद्र कुमार जी के निधन की खबर सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ। उनके परिजनों, सहयोगियों और दोस्तों के प्रति मेरी गहन संवेदनाएं।”


लोनी में प्रवेश, जाओगे क्वॉरेंटाइन सेंटर

लोनी में प्रवेश किया तो 14 दिन के लिए जाना होगा क्वारंटाइन सेन्टर

-लोनी में सेक्टरों की संख्या आठ से 21 की गई

-बार्डरों पर कडी निगरानी रहेगी

-दिल्ली में काम करने वालों को दिल्ली में ही रहना होगा

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद/लोनी। अगर किसी ने दिल्ली से लोनी सीमा में प्रवेश किया तो उसे 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया जाऐगा। प्रशासन ने लोनी के चारों जोन में एक एक क्वारंटाइन सेन्टर बना दिया है। डीएम ने लोनी  को कोरोना से बचाने के लिए सेक्टरों की संख्या आठ से बढाकर 21 कर दी है। जबकि जोन चार ही रहेंगे। गुरुवार दोपहर डीएम अजय शंकर पांडेय ने लोनी तहसील कार्यालय ने एडीएम प्रशासन संतोष कुमार, एसडीएम खालिद अंजुम खान, तहसीलदार प्रकाश सिंह, नगर पालिका ईओ शालिनी गुप्ता, सीओ लोनी राजकुमार पांडेय एवं चारों थाने के प्रभारियों के साथ बैठक की। जिसमें लॉक डाउन का कडाई से पालन कराने एवं बाहरी व्यक्ति को लोनी में आने से रोकने के लिए सेक्टरों की संख्या आठ से बढाकर 21 कर दी गई है। अब चारों थानों की प्रत्येक चौकी क्षेत्र सेक्टर होगा। सभी जोनल मजिस्ट्रेट एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त कर दिए गए हैं। जबकि गुरुवार से चारों जोन एवं सेक्टर क्रियान्वित हो गए हैं। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि दिल्ली से किसी भी व्यक्ति को लोनी सीमा में प्रवेश की अनुमति नही दी जाऐगी। अगर लोनी का कोई व्यक्ति दिल्ली मेें काम करता है और रोजाना आवागमन करता है उसे दिल्ली अथवा लोनी में से एक स्थान पर रहना होगा, लोनी में प्रवेश की अनुमति नही होगी।अगर किसी बाहरी व्यक्ति ने लोनी सीमा में प्रवेश किया तो उसे 14दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया जाऐगा। जिसमें कोरोना के लक्षण दिखाए दिए उसे आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया जाऐगा।

डीएम ने अधीनस्थों के साथ चार जोन एवं लोनी के सील बार्डरों का निरीक्षण किया तथा सेक्टर व थाना प्रभारियों को बार्डरों पर कडी निगरानी रखने के निर्देश दिए।

-लोनी में अभी तक मिले सभी कोरोना पॉजिटिव दिल्ली से संबंधित

एसडीएम खालिद अंजुम खान ने बताया कि स्थानीय विधायक नंदकिशोर गुर्जर की भविष्यवाणी सही सिद्ध होती दिख रही है। अभी तक लोनी में करीब 20 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए है। ये सभी मामले दिल्ली से संबंधित हैं, लोनी से किसी को कोरोना नही हुआ है। एसडीएम ने कहा कि लोगोें की जांच के लिए निजी चिकित्सकों से सहयोग लिया जाऐगा। शुक्रवार को निजी चिकित्सकों के साथ बैठक कर उन्हे दिशा निर्देश दिए जाऐंगे।

-एक ही दिन में 155 वाहनोें के चालान कटे

एसडीएम खालिद अंजुम खान ने बताया कि गुरुवार से लोनी के चारों जोन एवं सभी 21 सेक्टर क्रियान्वित हो गए हैं। प्रथम दिन 155 वाहनों के चालान काटे गए हैं। जबकि 10 हजार रुपये का जुर्माना वसूला गया है।

पूर्व चेयरमैन ने 'विधायकी' का ऐलान किया

बॉर्डर थाने में मुकदमा दर्ज होने के बाद मनोज धामा ने दिखाए बगावती तेवर

मनोज धामा हर हाल में लगे 2022 का चुनाव

लेकिन बड़ा सवाल है किस पार्टी से लड़ेंगे मनोज धामा विधायकी  क्या सपा या बसपा का कर सकते हैं रुख

सचिन विशौरिया

गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी की सरकार में भाजपा नेता व पूर्व भाजपा चेयरमैन मनोज धामा के ऊपर लगातार हुए कई मुकदमों से उनके दिल को खासा आघात पहुंचा है। जिसको लेकर लोनी नगर पालिका चेयरमैन ने सोशल मीडिया पर अपने साथियों के माध्यम से यह प्रचार करना शुरू कर दिया है कि 2022 में वह हर हाल विधायक का चुनाव लड़ेंगे। अब ऐसे में बड़ा सवाल खड़ा होता है कि क्यों पार्टी के खिलाफ लड़ने का यह विचार उनके मन में आया। क्योंकि लोनी विधानसभा एक गुर्जर बहुल क्षेत्र माना जाता है। जहां से भारतीय जनता पार्टी ने लगातार गुर्जर प्रत्याशी को ही टिकट दिया है। लेकिन ऐसे में एक जाट प्रत्याशी होने के बाद पार्टी के खिलाफ किन्ही हालातों में चुनाव लड़ने की घोषणा मनोज धामा की दूसरी पार्टी में जाने की मनोदशा को दर्शाती है। ऐसे में क्या मनोज धामा सपा या बसपा से भाजपा के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। क्योंकि जिस प्रकार से लोनी की राजनीति में इस समय चूहे बिल्ली का खेल चल रहा है। उसमें विधायकी चुनाव से पहले ही हर हाल में 2022 में विधायक का चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है तो क्या ऐसा माना जाए कि मनोज धामा सपा या बसपा से 2022 का चुनाव लड़ेंगे।

वायरस के खिलाफ सुरक्षा की दीवार

 वायरस के खिलाफ सुरक्षा की दीवार 

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। विश्व में कोरोना वायरस कोविड-19 ने हा-हा कार मचा रखा है। देश में भी वायरस का संक्रमण दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। जिसने माथे की शिकन बढ़ा दी हैं। किंतु इसके विपरीत वायरस को मात देने के लिए तरह-तरह के उपाय प्रयोग किए जा रहे हैं। शासन और प्रशासन के द्वारा किए गए उपाय काफी नहीं है। प्रत्येक व्यक्ति को इस समस्या के विरुद्ध संकल्पित होकर लड़ना होगा। सबसे पहले शहरी क्षेत्रों में सामान्य कनेक्टिविटी को रोकना होगा। इस बात को समझने में हमने काफी समय लगा दिया है। किंतु अब समय गंवाने के लिए शेष नहीं है। जनपद गाजियाबाद की सीमाओं को सील करने की सख्त आवश्यकता थी, जिसकी गंभीरता को समझते हुए जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के द्वारा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली से लगी जनपद गाजियाबाद की सीमा को सील कर दिया गया है। आवागमन को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है। इससे संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है। यह एक कारगर उपाय है। इसी कारण जिला अधिकारी ने सभी मार्गों को बंद करने का निर्देश दिया है। जिसके चलते जनपद में बाहरी आवागमन पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा।

 लॉक डाउन 4.0 के अंतिम चरण में वायरस के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने का यही एकमात्र उपाय है। जनपद गाजियाबाद में अभी तक 9313 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। जिनमें से 8865 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। 454 लोग ऐसे हैं जिनकी रिपोर्ट अभी आई नहीं है। जनपद में कुल 260 वायरस पॉजिटिवो की पुष्टि की गई है। जनपद में जिलाधिकारी के निर्देश के अनुसार निर्धारित, नियम-अनुरूप, कॉलोनी-बस्तियों   की दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है। जिसका दिन और समय निर्धारित है। लोनी क्षेत्र में 20 वायरस संक्रमित मिले हैं। जिस को ध्यान में रखते हुए जिला अधिकारी के द्वारा लोनी क्षेत्र में 21 सेक्टर बनाकर निगरानी रखी जा रही है। यह भी जानना बहुत जरूरी है कि कंटेनमेंट जॉन में 250 मीटर के दायरे में सामान्य गतिविधियां पूरी तरह बंद रहेगी।

यमुना से खनन के विरोध में उतरे किसान

दीपक कुमार

शामली। यमुना नदी का सीना चीर कर चल रहे रेत खनन को लेकर किसानों को हो रही समस्या से किसान बेहद परेशान हैं। किसानों ने प्रदर्शन कर रेत खनन पर कार्यवाही की मांग की है। किसानों ने कहा है कि रेत खनन को लेकर उनकी फसल बर्बाद हो रही है। जिसको लेकर उन्हें कई मर्तबा संबंधित अधिकारियों को भी शिकायत की परंतु कोई भी कार्यवाही नहीं हो पाई है।

दरअसल आपको बता दें मामला जनपद शामली के कैराना क्षेत्र के गांव नगलाराई का है। जहां पर खादर के यमुना नदी में खनन माफियाओं द्वारा यमुना का सीना चीर कर भारी मात्रा में रेत निकाला जा रहा है। जिससे किसान व ग्रामीण बेहद परेशान है। जिसको लेकर उन्होंने के मर्तबा संबंधित अधिकारियों को भी शिकायत की परंतु कोई भी कार्यवाही नहीं हो पा रही है। यमुना में चल रहे रेत खनन को लेकर प्रशासन द्वारा परमिशन मिली हुई है। जिसको लेकर नियम अनुसार खनन करने की आज्ञा प्रशासन ने दे रखी है। परंतु सभी नियमों को ताक पर रखकर भारी मात्रा में यमुना का सीना चीर कर रेत निकाला जा रहा है। वहीं किसानों ने खनन माफियाओं पर आरोप लगाते हुए बताया कि रेत खनन के चलते उनकी फसल बर्बाद हो रही है। जिसमें वह पहले ही लॉक डाउन के चलते कर्ज में डूब कर भुखमरी की कगार पर आ रहे है। ऊपर से यमुना में चल रहे रेत खनन के कारण उनकी फसल बर्बाद हो रही है। जिसमें वह भूखमरी के कगार पर आने पर मजबूर है। इस संबंध में किसानों ने कई मर्तबा संबंधित अधिकारियों को शिकायत की परंतु कोई भी कार्यवाही नहीं हो पा रही है। किसानों ने आरोप लगाया कि यमुना नदी के अंदर से मशीन व पॉर्कलेन  जेसीबी मशीनों द्वारा भारी मात्रा में रेत निकाला जा रहा है। जिसमें 10 से 15 फुट गहरे गड्ढे कर कर रेत निकाला जा रहा है। जिसको लेकर आने वाले समय में किसानों व ग्रामीणों को बाढ़ का खतरा बना हुआ है। जिसमें यमुना नदी में पानी आने के बाद कटान शुरू हो जाएगा जिससे यमुना के किनारे लगने वाले सभी छोटे-छोटे किसानों की फसल यमुना के आगोश में समा जाएगी। लॉकडाउन के कारन पहले ही किसानों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। और ऊपर से रेत खनन माफियाओं की मनमानी के आगे उनकी कोई सुनवाई नहीं कर रही है। सिक्कों कि चमक के आगे अधिकारी भी किसानों की सुध नहीं ले रहे हैं। किसानों ने प्रदर्शन करते हुए मांग की है। कि चल रहे रेत खनन पर जल्द से जल्द कार्यवाही की जाये जिससे वह अपनी फसल व अपने आप को भुखमरी की कगार से बचा सके परंतु लाचार और मजबूर किसान खनन माफियाओं व अधिकारियों की मनमानी के आगे कुछ भी कर नहीं पा रहे हैं। किसान खून के आंसू रोने पर मजबूर है वहीं अब सवाल यह उठता है। कि जो देश को रोटी देने वाला किसान हैं। आज वही किसान कुछ खनन माफियाओं की मनमानी के आगे मजबूर-बेबस नजर आ रहा है। प्रदर्शन के दौरन दर्जनों किसान मोजूद रहे।

नमकीन के पैसे मांगने पर घातक हमला

शामली। कैराना में एक दबंग की दबंग गिरी सामने आई है एक दबंग ने एक पीड़ित रेहड़ी पर नमकीन बेचने वाले दुकानदार के साथ उसकी नमकीन खा कर उल्टा रुपए मांगने पर डंडों से पीटकर घायल कर दिया पीड़ित ने कोतवाली पहुंचकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है पुलिस ने मेडिकल परीक्षण कराने के बाद मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।दरअसल यह पूरा मामला जनपद शामली के कोतवाली कैराना के मोहल्ला अफगानान है. जहां मोहल्ला निवासी चुन्नू नाम का एक गरीब रेहड़ी पर नमकीन बेचकर अपना और अपने परिवार का पालन पोषण करता है।आरोप है कि मोहल्ले का ही एक के दबंग ने पहले तो उसकी रेहड़ी पर खड़े होकर जमकर नमकीन खाई और लुफ्त उठाया आरोप है कि आरोपी बार-बार नमकीन खाता रहा जब पीड़ित दुकानदार ने आरोपी दबंग से अपनी नमकीन के रुपयों की मांग की तो आरोपी ने डंडों से पीटकर दुकानदार को घायल कर दिया और पीड़ित ने जब दबंग के सामने रहम की दुहाई दी तो आरोपी ने डंडों से और हमला करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली पीड़ित दुकानदार ने घायल अवस्था में कैराना कोतवाली में पहुंचकर आरोपी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस नें घायल का मेडिकल परीक्षण कराने के बाद मामले की जांच पड़ताल शुरू करते हुए आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।


आगराः तीन की मौत, 7 नए संक्रमित

आगरा । आगरा में कोरोना पॉजिटिव तीन मरीजों की मौत हुई है, अब तक आगरा में 38 मौत हो चुकी हैं। वहीँ कोरोना के 7 नए मामले आए हैं। कोरोना पॉजिटिव की संख्या 882 हो गई है, मरीज ठीक होकर अपने घर भी जा चुके हैं। अब आगरा में एक्टिव केस 70 रह गए हैं। आगरा के कोरोना संक्रमित दो महिला मरीजों की तबीयत बिगडने पर सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था, वहां उनकी मौत हो गई, एक मरीज की एसएन मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हुई है। इस तरह तीन मौत से कोरोना संक्रमित 38 मरीजों की मौत हो चुकी है।


गुरुवार को कोरोना के 7 नए केस आए। इसमें 95 साल के बुजुर्ग मरीज भी हैं। हरीपर्वत क्षेत्र निवासी बुजुर्ग मरीज को कई दिनों से बुखार था, जांच में कोरोना की पुष्टि हुई है। लेडी लॉयल महिला चिकित्सालय में भर्ती 25 साल की रामबाग निवासी गर्भवती महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एसएन इमरजेंसी में भर्ती 55 साल के टेढी बगिया निवासी मरीज में कोरोना की पुष्टि हुई है। ताजगंज निवासी 60 साल के मरीज, कागारौल निवासी 22 साल के युवक, सैंया निवासी मरीज की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।


774 मरीज ठीक हो जा चुके हैं घर, 70 मरीज भर्ती
आगरा में कोरोना के केस बढकर 882 पहुंच गए हैं। इसमें से 774 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया, गुरुवार को चार मरीज डिस्चार्ज किए गए। अब आगरा में कोरोना पॉजिटिव 70 मरीज ही भर्ती हैं, इनका एसएन मेडिकल कॉलेज और हिंदुस्तान कॉलेज में इलाज चल रहा है।


दो कंटेनमेंट जोन और बढे
आगरा में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया जाता है, अभी तक 36 कंटेनमेंट जोन थे, अब इसकी संख्या बढाकर 38 कर दी गई है, अब आगरा में 38 कंटेनमेंट जोन हैं।


बाबरी विध्वंसः 4 जून को बयान दर्ज

लखनऊ। बाबरी मस्जिद विध्वंस की सुनवाई कर रही विशेष सीबीआई अदालत 4 जून को आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 313 के तहत आरोपियों के बयान दर्ज करेगी। अदालत अधिक से अधिक 32 आरोपियों के बयान दर्ज करेगी, जिसमें उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा नेता एमएम जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, साक्षी महाराज, रामविलास वेदांती और बृजभूषण शरण सिंह शामिल हैं।


आडवाणी की उपस्थिति के चलते जोशी और उमा भारती को अगले निर्देश तक छूट प्रदान कर दी गई है और इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान होने वाली कठिनाइयों का हवाला देते हुए अन्य आरोपियों ने भी गुरुवार को अपने लिए छूट की दलील दी है। अदालत के एक अधिकारी ने कहा कि यदि लॉकडाउन बढ़ाया जाता है, तो आरोपी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत के समक्ष पेश होने के लिए कहा जा सकता है। इस सुनवाई से अभियुक्तों को उनकी बेगुनाही को साबित करने का मौका मिलेगा और उनके खिलाफ अभियोजन एजेंसी सीबीआई के नेतृत्व में सबूतों में मौजूद भयावह परिस्थितियों को भी स्पष्ट करने में मदद मिलेगी। इससे पहले, विशेष न्यायाधीश एस के यादव ने अपने आदेश में दर्ज किया था कि सीबीआई ने अपने अभियोजन साक्ष्य को समाप्त कर दिया है और किसी भी अभियोजन साक्ष्य का नेतृत्व नहीं किया गया।


वास्तव में यह अभियोजन साक्ष्य 6 मार्च, 2020 को अपने आप ही पूरा हो गया और अदालत ने चंपत राय, लल्लू सिंह और प्रकाश शर्मा सहित कुछ आरोपियों को धारा 313 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज करने के लिए 24 मार्च को पेश होने के लिए कहा था, लेकिन लॉकडाउन के कारण कोर्ट बंद होने के चलते कार्यवाही नहीं हो सकी। इस बीच, जब 18 मई को अदालत को फिर से खोला गया, तो बचाव पक्ष के वकील ने उन्हें जिरह करने के लिए तीन अभियोजन पक्ष के गवाहों को बुलाने के लिए अर्जी दी। अदालत ने आवेदन को स्वीकारा और बुधवार को कार्यवाही पूरी की गई।


पाकिस्तान के मंसूबों पर फिर पानी फिरा

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जैसे ही एक और हमले की साजिश विफल रहने की रिपोर्ट के बीच भारत पर निशाना साधने के लिए पाकिस्तान की ओर से संयुक्त राष्ट्र में ‘इस्लामोफािबिया’ पर इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) राजनयिकों का अनौपचारिक समूह बनाने की कोशिश संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और मालदीव ने विफल कर दी।


पाकिस्तान के समाचारपत्र ‘डाॅन’ की रिपोर्ट के मुताबिक यूएई और मालदीव ने पाकिस्तान के इस कदम का यह कहते हुए समर्थन नहीं किया कि केवल विदेशी मंत्री ही ऐसा समूह बना सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों देशों ने पाकिस्तान के इस कदम को दक्षिण एशिया में धार्मिक सद्भाव के लिए हानिकारक बताते हुए भारत के खिलाफ किसी भी कार्रवाई का समर्थन करने से इनकार कर दिया।


तीन मरीजों के सैंपल खा गए बंदर

मेरठ। क्या बंदर कोविड-19 से संक्रमित हो सकते हैं ? यदि हो गये तो इसका इंसानों पर ​क्या और कितना प्रभाव पड़ेगा ! जी हां, आप सोच रहे होंगे कि हम यह कैसे सवाल कर रहे हैं ? दरअसल, बात यह है कि मेरठ में बंदरों ने जांच को ले जाये जा रहे तीन मरीजों के सैम्पल छीन कर खा लिये हैं। ऐसी ख़बरें मीडिया में आने के बाद हड़कंप मच गया है।
प्राप्ज जानकारी के अनुसार आज से दो—तीन दिन पूर्व मेरठ मेडिकल कालेज को लेकर एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि ऊंचे पेड़ों पर चढ़े बंदर कोरोना सैम्पल किट को चबा रहे हैं। इस संबंध में मेडिकल के प्राचार्य डॉ. एसके गर्ग से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उनके पास भी इस तरह का वीडियो आया था, जिसमें कुछ स्पष्ट नहीं हो रहा है। उन्होंने पड़ताल के लिए प्रमुख अधीक्षक डॉ. धीरज बालियान को इसे भेजा था। वहीं डॉ. धीरज बालियान का कहना है कि लैब टेक्नीशियन ने उन्हें यह जानकारी दी थी। बंदर ने स्वास्थ्य कर्मियों से सैंपल छीन ले गए थे। उन्होंने किट फाड़कर सैंपल नष्ट कर दिए थे। बाद में दोबारा मरीजों के सैंपल लिए गए।
उन्होंने बताया कि बंदर पेड़ पर चढ़ गए थे। उसके बाद क्या हुआ यह निश्चित तौर पर नही कहा जा सकता है। अलबत्ता इस तरह का वीडियो वायरल होने के बाद तरह—तरह की चर्चाएं हैं। कुछ लोगों का मानना है कि यदि बंदर कोविड—19 संक्रमित हुए तो वह इंसानों को ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। चूंकि बंदर पहले तो किसी लॉकडाउन को नही मानेंगे, दूसरा यदि वह किसी इंसान को काट लें तो रक्त के जरिये सीधे वायरस पहुंचा सकते हैं तीसरा एक बंदर यदि दूसरे बंदर तक कोरोना संक्रमण फैला दे तो स्थिति​ भयानक हो सकती हैं। अलबत्ता इस विषय में किसी बड़े अधिकारी ने कोई टिप्पणी नही की है।


तीन राज्यों में वायरस ने जड़े जमाई

नई दिल्ली। देश में महाराष्ट्र, तमिलनाडु और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है तथा अब तक इन तीनों राज्य में इससे 95199 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जो देश में अब तक इस जानलेवा विषाणु से प्रभावित हुई कुल आबादी का 57.42 प्रतिशत हैं। इन तीनों राज्यों में अब तक इस महामारी से 2443 लोगों की जान जा चुकी है।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 7466 नये मामले सामने आये हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 165799 पर पहुंच गयी है। देश में इस संक्रमण से कुल 4706 लोगों की मौत हुई है तथा 71106 लोग स्वस्थ हुए हैं।


पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धा सुमन अर्पित

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक संघ के साथ बैठक की। उन्होंने उत्तर प्रदेश में वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों के रोजगार के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर भी किए। सीएम योगी ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने की योजना बनाई है। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को सुमन अर्पित करते हुए उनके सिद्धांतों को जीवन में आत्मसात करने के लिए प्रेरिित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वायरस को लेकर काफी  सजग और सतर्क है। प्रदेश में वायरस को नियंत्रित करने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए तत्पर है।


संसद-भवन पहुंचा वायरस, किया सील

नई दिल्ली। राज्यसभा सचिवालय में डायरेक्टर लेवल पर कार्यरत एक अधिकारी की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद संसद भवन स्थित उनके द़फ्तर को सील कर दिया है। अधिकारी की पत्नी और बच्चे भी कोरोना की चपेट में बताए जाते हैं। उनका द़फ्तर संसद भवन एनेक्सी के पहले तल पर रूम नंबर 120 में है।


अधिकारी 28 मई को ऑफिस आए थे। पार्लियामेंट सिक्योरिटी सर्विस ने उनके द़फ्तर को सेनिटाइज कर सील कर दिया। पहले तल के सभी गेट, वॉशरूम आदि को सेनेटाइज किया गया है। राज्यसभा सचिवालय ने उन सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सजग रहने के लिए कहा है, जो अधिकारी के संपर्क में आ चुके हैं। संपर्क में आने वाले लोग अब एहतियातन कोविड-19 टेस्टिंग कराने की तैयारी में हैं।


दलित-पिछड़ों के शोषण के विरुद्ध आवाज

कुर्मी महासभा ने माननीय प्रधानमंत्री जी से ब्राह्मणों,ठाकुरों के पक्षकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हटाने की मांग

 

लखनऊ/ नई दिल्ली। कुर्मी महासभा के संस्थापक/केंद्रीय अध्यक्ष सौरभ गंगवार ने कहा की उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार की सरकार में दलित व पिछड़ों का शोषण हो रहा है। जबकि उत्तर प्रदेश मे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कुर्मी है,राज्यपाल कुर्मी है,उत्तर प्रदेश में 26 सत्तापक्ष के विधायक कुर्मी है, 221 विधायक ओ.बी.सी. और 76 विधायक एस.सी. हैं, सहयोगी पार्टी अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कुर्मी है फिर भी उत्तर प्रदेश में जंगलराज है ओ.बी.सी. और एस.सी. के लोगों का शोषण हो रहा है भाजपा राज में प्रशासन भी इन ठाकुरो और ब्राह्मणों का गुलाम बन कर रह गया है। उन्होंने मांग की है कि पूरे मामले की सी.बी.आई जांच हो अन्यथा ओ.बी.सी. और एस.सी. सड़कों पर उतर कर भाजपा का विरोध करने पर विवश होंगे। संस्थापक/केंद्रीय अध्यक्ष सौरभ गंगवार ने मांग की है की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ब्राह्मणो व ठाकुरों का पक्षकर दलित व पिछड़ों का शोषण करा रहे हैं। कुर्मी महासभा माननीय प्रधानमंत्री जी से ब्राह्मणों,ठाकुरों के पक्षकार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हटाने की मांग करती है।

कुर्मी महासभा के केंद्रीय महामंत्री के.पी. गंगवार ने कहा कि भाजपा शासन में दलित व पिछड़ों को गुमराह कर सिर्फ वोट की राजनीति होती रही है उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड में दलित व पिछड़ों के अधिकारों को खत्म किया जा रहा है जो सोचनीय विषय है कुर्मी महासभा मांग करती है कि यदि शीघ्र ही दलितो व पिछड़ों के अधिकारों को सुरक्षित नहीं किया गया तो भाजपा के खिलाफ उग्र आंदोलन होगा।

यूपीः 2337 के लिए सैंपल, 50 पॉजिटिव

लखनऊ। यूपी में लगातार कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे हैं। लखनऊ स्थित केजीएमयू में कल जांच के लिए 2337 सैंपल लिए गए थे। इनमें से 50 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।


इन संक्रमितों में 13 मरीज लखनऊ के, 10 मरीज कानपुर के, नौ मरीज संभल के, सात मरीज हरदोई के, छह मरीज अयोध्या के, दो मरीज कन्नौज के, एक मरीज पीलीभीत का, एक मरीज बलरामपुर का और एक मरीज मुरादाबाद का है आज 29 मई को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की पुण्य तिथि है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कालिदास मार्ग स्थित आवास पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।


भारत-चीन की मध्यस्थता को ट्रंप तैयार

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क। भारत की चीन के साथ सीमा विवाद पर मध्यस्थता की पेशकश करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस संबंध में बात की है। लेकिन चीन के साथ बने विवाद की वजह से वह अच्छे मूड में नहीं हैं। साथ ही उन्होंने एक बार फिर मध्यस्थता करने की बात दोहराया।


राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और चीन के बीच बड़ा संघर्ष चल रहा है, 1.4 बिलियन आबादी वाले 2 बड़े देश जिनकी सैन्य ताकत बेहद मजबूत है। भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी खुश नहीं है। उन्होंने आगे कहा, ‘मैं आपको बता सकता हूं कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से बात की है, लेकिन चीन के साथ अभी जो विवाद बना हुआ है, उसको लेकर वह अच्छे मूड में नहीं हैं। ’भारत और चीन में बने तनावपूर्ण माहौल में दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने के सवाल पर राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अगर वे ऐसा सोचते हैं कि मेरे मध्यस्थ होने या मध्यस्थता करने से कोई मदद मिलती है तो मैं ऐसा जरुर करूंगा। हालांकि भारत ने पहले ही ट्रंप की मध्यस्थता का सुझाव ठुकरा दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति च्रंप की पेशकश पर भारत अपनी प्रतिक्रिया दे चुका है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है। शांति से मुद्दे को सुलझाने के लिए हम चीन के संपर्क में हैं। चीन के साथ भारत के सीमा विवाद पर राष्ट्रपति ट्रंप ने 2 दिन पहले बुधवार को मध्यस्थता की पेशकश की थी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तब कहा था कि अमेरिका, भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है।


ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है अगर वो चाहें तो सीमा विवाद में अमेरिका मध्यस्थता करने को तैयार है।


इस महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं। ऐसे में भारत भी पूरी तरह से मुस्तैद है और शीर्ष स्तर पर इसको लेकर मंथन चल रहा है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस मसले पर प्रधानमंत्री कार्यालय में चर्चा की थी। पीएम ने मंगलवार को लद्दाख मामले पर पूरी रिपोर्ट ली, इसके अलावा तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास पिछले कुछ दिनों से चीन की तरफ से सैन्य गतिविधियों के बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति है। भारत के अपनी सीमा के अंदर सड़क निर्माण करने पर चीन विरोध जता रहा है. चीन की हरकतों को लेकर भारत भी अलर्ट मोड में है। दोनों देशों की सेनाओं ने हाल में सीमा पर गतिविधियां बढ़ीं हैं। माना जा रहा है कि 2017 में उपजे डोकलाम विवाद जैसी स्थिति फिर से दोनों देशों के बीच उत्पन्न हुई है।


कुएं में डूबी सगी पांच बहन, 3 की मौत

बलरामपुर। जिले के रामचंद्रपुर थाना क्षेत्र के सिलाजु गांव में कल दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। कुएं में डूबने से एक ही परिवार की तीन बेटियों की मृत्यु हो गई। इस घटना की खबर फैलते ही पूरे गांव में शोक की लहर छा गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है।


बताया गया कि कल पांच बच्चियां दोपहर में नहाने घर के पास मौजूद एक कुएं पर गई थी। इसी दौरान एक बच्ची का पैर फिसल गया और वह कुएं के भीतर गिर गई, उसे बचाने के लिए दूसरी बच्ची कुएं में कूद गई। लेकिन जब वह भी डूबने लगी तो उसे बचाने तीसरी बच्ची ने भी छलांग लगा दी। इस तरह एक के बाद एक पांचों बच्चियां एक दूसरे को बचाने कुआं में छलांग लगा दी। जैसे ही इस बात की जानकारी पड़ोसी को लगी तो वह तत्काल कुएं में कूदकर बच्चियों को बचाने की कोशिश की। लेकिन जब तक वह बच्चियों को बचा पाता तब तक तीन बच्चियों की डूबने से मौत हो गई। मृत बच्चियों के नाम संगीता (13 वर्ष), निर्मला (10 वर्ष) और पूजा (12 वर्ष) है। घटना के बाद से पूरे गांव में मातम पसर गया है।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा चार-चार लाख रूपए की सहायता राशि स्वीकृत की गई है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 30, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-291 (साल-01)
2. शनिवार, मई 30, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि- सप्तमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:39,सूर्यास्त 07:18।


5. न्‍यूनतम तापमान 21+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...