मंगलवार, 14 मार्च 2023

पार्टी के तत्वावधान में सड़को पर प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा 

पार्टी के तत्वावधान में सड़को पर प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपा 


आलू का समर्थन मूल्य 1000 रुपए प्रति कुंतल घोषित करे सरकार...अजय सोनी

आलू के समर्थन मूल्य में वृद्धि की मांग को लेकर सकिपा का सड़क पर प्रदर्शन, नारेबाजी कर सी एम को भेजा ज्ञापन

कौशाम्बी। समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में मंगलवार को जिला मुख्यालय मंझनपुर की सड़को पर प्रदर्शन किया गया और नारेबाजी कर माननीय मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया। सौंपे गए ज्ञापन में आलू के समर्थन मूल्य में वृद्धि की पार्टी की ओर से प्रदेश सरकार से मांग की गई। मंगलवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत समर्थ किसान पार्टी के तमाम कार्यकर्ता जिला मुख्यालय मंझनपुर के डायट परिसर में एकजुट हुए और बैठक की। बैठक की अध्यक्षता करते हुए पार्टी नेता अजय सोनी ने कहा, कि प्रदेश सरकार द्वारा आलू के समर्थन मूल्य में कमी करना प्रदेश सरकार का किसानो के प्रति दुर्भावना को प्रदर्शित करता है, जिसे कत्तई बर्दाश्त नही किया जाएगा। कहा कि किसानो को आलू उत्पादन में जो लागत लगती है, उससे भी कम दाम पर आलू क्रय करने के प्रदेश सरकार के निर्णय की हम भर्त्सना करते हैं। 

इसी के साथ अजय सोनी ने कहा कि एक ओर सरकार किसानो की आय दुगुनी करने की बात कहती है। वहीं, दूसरी ओर किसानो को आर्थिक रूप से कमजोर करने का प्रयास कर रही है। आगे कहा कि 650 रु प्रति कुंतल की दर से आलू बिक्री से किसानो की आय कैसे दुगुनी होगी, यह समझ से परे है जबकि एक कुंतल आलू उत्पादन में किसानो को करीब 700 रू प्रति कुंतल लागत आती है। अजय सोनी के मुताबिक 650 रु प्रति कुंतल आलू का दाम कम है, प्रदेश सरकार को चाहिए कि आलू क्रय करने का समर्थन मूल्य कम से कम 1000 रु प्रति कुंतल घोषित करे।

बैठक के बाद अजय सोनी की अगुवाई में जुलूस की शक्ल में किसानो एवं पार्टी कार्यकर्ताओं का एक जत्था जिला कलेक्ट्रेट पहुंचा और जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। सौंपे गए ज्ञापन में सरकार द्वारा किसानो से आलू क्रय करने का दाम 1000 रू प्रति कुंतल घोषित करने की मांग की गई। ज्ञापन स्वीकार करते हुए अपर जिलाधिकारी विश्राम यादव  ने ज्ञापन को प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ को भेजने का प्रदर्शनकारियो को आश्वासन दिया है। इस मौके पर प्रेमचंद्र केसरवानी, सुरजीत वर्मा, फूलचंद्र लोधी, आलोक विश्वकर्मा, रंजीत सरोज, मुन्ना पटेल, मिथुन कुमार, मनीष मौर्य, जुम्मन अली आदि लोग मौजूद रहे।

सुशील केसरवानी 

जनवरी तक कुल 1,547 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निवेश

जनवरी तक कुल 1,547 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निवेश

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को लोकसभा को बताया कि जम्मू कश्मीर में चालू वित्त वर्ष में जनवरी तक कुल 1,547 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निवेश आया है। राय ने कहा कि सरकार की अपेक्षा है कि केंद्रशासित प्रदेश में विनिर्माण, सेवा, स्वास्थ्य और फार्मास्युटिकल्स, कृषि आधारित उद्योग, पर्यटन, फिल्म और चिकित्सा जैसे अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रों में अगले पांच साल में निवेश और बढ़ेगा।

उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 में जनवरी तक केंद्रशासित प्रदेश में 1,547.87 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निवेश आया है और यह निवेश पिछले किसी भी वित्त वर्ष की तुलना में अब तक का सर्वाधिक निवेश है। मंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर सरकार को 64,058 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिल चुके हैं। 

स्वच्छ ईंधन बनने की संभावना, प्रतिक्रिया सीमित

स्वच्छ ईंधन बनने की संभावना, प्रतिक्रिया सीमित

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। हाइड्रोजन के स्वच्छ ईंधन बनने की संभावना को रसायनिक प्रतिक्रिया सीमित कर सकती है। ऐसी आशंका है कि इससे वायुमंडल के निचले हिस्से में मीथेन का जमाव हो सकता है। यह दावा एक नवीनतम अध्ययन में किया गया है। अध्ययन के मुताबिक ऐसा, हाइड्रोजन गैस के आसानी से वायुमंडल में मौजूद उन्हीं अणुओं से प्रतिक्रिया करने से हो सकता है, जो मूल रूप से संभावित मीथेन गैस को खंडित करने के लिए जिम्मेदार है। अमेरिका स्थित प्रिंसटन विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय समुद्री और वायुमंडलीय संघ द्वारा किए गए अनुसंधान के मुताबिक अगर एक सीमा के बाद हाइड्रोजन का उत्सर्जन होता है जो उससे साझा प्रतिक्रिया होगी और बहुत संभव है कि वायुमंडल में मीथेन का जमाव होगा, जिसका प्रभाव दशकों तक कायम रह सकता है।

प्रिंस्टन विश्वविद्यालय के अनुसंधान पत्र के प्रथम लेखक माटेओ बर्टग्नि ने कहा, सैद्धांतिक रूप से हाइड्रोजन भविष्य का ईंधन है। उन्होंने कहा, व्यवहार में यह कई पर्यावरण और प्रौद्योगिकी चिंताए पैदा करता है जिनका समाधान किया जाना है। वायुमंडल में मौजूद मीथेन पर हाइड्रोजन उत्सर्जन के असर पर तैयार अनुसंधान मॉडल और इसके असर को जर्नल नेचर कम्युनिकेशन में जगह दी गई है। उन्होंने बताया कि एक तय सीमा पर जीवाश्म ईंधन बदलने के बावजूद नजदीकी भविष्य में हाइड्रोजन ईंधन आधारित अर्थव्यवस्था वायुमंडल में मीथेन का स्तर बढ़ा सकती है।

अध्ययन में कहा गया कि हाइड्रोजन उत्पादन पद्धति जिसमें मीथेन इनपुट के तौर पर इस्तेमाल होता है, के बहुत अधिक नुकसान हैं। इसके साथ ही हाइड्रोजन उत्पादन में कमी और प्रबंधन को रेखांकित किया गया है। प्रिंसटन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और प्रधान जांचकर्ता एमिलकेयर पोरपोराटो ने कहा,  हमें हाइड्रोजन के इस्तेमाल से होने वाले असर को जानने की जरूरत है ताकि स्वच्छ ईंधन दिखने वाला हाइड्रोजन नयी पर्यावरण चुनौती पैदा नहीं करे।

उन्होंने कहा कि समस्या बड़ी मुश्किल से मापे जाने वाले अणु हाइड्रोक्सिल रैडिकल (ओएच) को लेकर है। ओएस को क्षोभमंडल का डिटर्जेंट भी कहा जाता है और वातावरण में मीथेन और ओजोन को खत्म करने में इसकी अहम भूमिका है। ओएच वातावरण में हाइड्रोजन गैस से प्रतिक्रिया करता है और रोजाना बनने वाले इन अणुओं की संख्या सीमित है, ऐसे में हाइड्रोजन के उत्सर्जन में वृद्धि होने का अभिप्राय है कि अधिक ओएच की जरूरत हाइड्रोजन तोड़ने के लिए होगी और मीथेन को खंडित करने के लिए कम ओएच मौजूद रहेंगे। अध्ययन में कहा गया कि लंबे समय से वातावरण में मीथेन का उच्च स्तर होने पर वायुमंडल में गर्मी बढ़ेगी। 

मोदी को 2024 में होने वाले चुनाव में नुकसान होगा 

मोदी को 2024 में होने वाले चुनाव में नुकसान होगा 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आम आदमी पार्टी से डरते हैं और उन्हें (मोदी को) 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में नुकसान होगा। केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा देश में विपक्षी नेताओं को निशाना बनाए जाने के बारे में पूछे जाने पर केजरीवाल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मोदीजी आप से डरते हैं क्योंकि हमने गुजरात (विधानसभा चुनाव) में जिस तरह का प्रदर्शन किया है और जिस तरह से लोगों ने हमारा समर्थन किया, वह जैसे शेर को उसकी मांद में चुनौती देना है...।’’

पिछले साल के गुजरात के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 182 सदस्यीय सदन में रिकॉर्ड 156 सीटें जीती थीं। आप ने पांच सीटों और करीब 13 प्रतिशत वोट शेयर के साथ राज्य में अपना खाता खोला। मध्यप्रदेश में अपना जनाधार बढ़ाने के आप के प्रयासों के बीच केजरीवाल पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं की एक रैली को संबोधित करने के लिए यहां पहुंचे। पार्टी ने हाल ही में घोषणा की है कि वह इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में मध्यप्रदेश की सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। केजरीवाल ने कहा कि आजादी के बाद से कांग्रेस ने 45 साल तक राज्य में शासन किया जबकि भाजपा करीब 30 साल तक सत्ता में रही।

उन्होंने कहा कि लोग इन दोनों दलों से तंग आ चुके हैं क्योंकि इन्होंने जनता के लिए कुछ नहीं हुआ। केजरीवाल ने कहा, ‘‘अब आम आदमी पार्टी उनके लिए एक विकल्प है।’’ अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मोदी को इस बार संसदीय चुनाव में नुकसान होगा। पिछले साल पंजाब चुनाव में भारी जीत हासिल करने वाली आप पिछले साल जुलाई-अगस्त में स्थानीय निकाय चुनावों में अपने प्रदर्शन से उत्साहित है। आप ने मध्यप्रदेश में अपने पहले ही नगरीय निकाय चुनाव में 6.3 प्रतिशत वोट शेयर हासिल करने का दावा किया है।

मध्य प्रदेश में कुल 14 नगर निगमों के लिए हुए महापौर पद के चुनाव में आप का उम्मीदवार सिंगरौली से जीता और ग्वालियर एवं रीवा में आप तीसरे स्थान पर रही। शहरी निकायों में पार्षदों के पदों के लिए आप ने लगभग 1,500 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था, जिनमें से 40 जीते थे, जबकि 135 से 140 दूसरे नंबर पर रहे। पार्टी के एक नेता ने दावा किया कि गैर दलीय आधार पर हुए पंचायत चुनावों में आप समर्थित उम्मीदवारों ने जिला पंचायत सदस्यों के 10 पदों, 23 जनपद सदस्यों, 103 सरपंचों और 250 पंचों के पदों पर जीत हासिल की।

सीबीआई को सौंपा मामला, बख्शा नहीं जाएगा: सिन्हा

सीबीआई को सौंपा मामला, बख्शा नहीं जाएगा: सिन्हा

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर सेवा चयन बोर्ड विवाद को लेकर उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को कहा कि मामला केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंप दिया गया है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। जेकेएसएसबी के नौकरी के इच्छुक उम्मीदवार एपीटीईसीएच लिमिटेड को विभिन्न परीक्षाओं के संचालन के लिए अनुबंध के कथित अनुदान का विरोध कर रहे हैं। प्रतियोगियों का कहना है कि काली सूची में डाली गई कंपनियों को उनके खिलाफ कार्रवाई किए जाने तक प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। 

सिन्हा ने यहां एक समारोह में बोलते हुएकहा, "पहले हमें शिकायतें मिली थीं और बिना किसी देरी के मामले की आंतरिक जांच की गई और बाद में मामला सीबीआई को सौंप दिया गया। उन्होंने कहा, “मैं युवा उम्मीदवारों को विश्वास दिलाता हूं कि जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। हमने पारदर्शी चयन प्रक्रिया सुनिश्चित की है।

कुछ युवाओं ने सवाल उठाए हैं और मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि निहित स्वार्थ वाले कुछ लोग भर्ती प्रक्रिया को पटरी से उतारने की कोशिश कर रहे हैं।” उन्होंने कहा, “पिछले तीन वर्षों में, 30,000 भर्तियां की गईं। हम उम्मीद कर रहे हैं कि इस साल कम से कम 12,000 भर्तियां की जाएंगी।

मीडिया से सिर्फ अपनी स्तुति कराना चाहती है 'भाजपा'

मीडिया से सिर्फ अपनी स्तुति कराना चाहती है 'भाजपा'

अकांशु उपाध्याय/संदीप मिश्र 

नई दिल्ली/लखनऊ। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जनपद संभल के पत्रकार को राज्यमंत्री के सामने समस्याओं का चिट्ठा खोलने पर जेल भेजे जाने की निंदा करते हुए कहा है कि भाजपा मीडिया कर्मियों से केवल अपनी स्तुति कराना चाहती है। उसकी कोशिश है कि कोई भी मीडिया कर्मी सरकार की अकर्मण्यता की पोल पट्टी खोलकर लोगों के सामने उजागर नहीं करें।

मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि सत्ता पक्ष से सवाल पूछना एक पत्रकार की जिम्मेदारी है। आम जनमानस से किए गए सत्ता पक्ष के वादों को याद दिलाना भी पत्रकार का कर्तव्य है। लेकिन उत्तर प्रदेश में राज्य की माध्यमिक शिक्षा मंत्री के सामने समस्याओं का सिल-सिलेवार ब्यौरा रखने और वादे की याद दिलाने पर एक पत्रकार को जेल भेज दिया गया है।

अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए मंत्री से सवाल पूछने वाले मीडिया कर्मी को जेल भेजना निंदनीय है। प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी जो लोगों को भरमाने का काम कर रही है, उसकी कोशिश है कि सरकार की कमियां लोगों के सामने उजागर नहीं हो और मीडिया कर्मी केवल उसकी स्तुति करें।

नए राज्यों के सृजन को लेकर संगठनों से अनुरोध 

नए राज्यों के सृजन को लेकर संगठनों से अनुरोध 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकार ने मंगलवार को लोकसभा को बताया कि नए राज्यों के सृजन को लेकर विभिन्न संगठनों से अनुरोध प्राप्त होते हैं। लेकिन, अभी उसके पास ऐसा कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है। लोकसभा में कुंवर पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल के प्रश्न के लिखित उत्तर में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने यह जानकारी दी।

सदस्य ने पूछा था कि क्या सरकार को बुंदेलखंड राज्य के गठन का कोई प्रस्ताव प्राप्त हुआ है और इस दिशा में क्या कदम उठाये जा रहे हैं? इस पर गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा, नए राज्यों के सृजन के संबंध में सरकार को विभिन्न मंचों/ संगठनों से प्रस्ताव/अनुरोध प्राप्त होते हैं। तथापि किसी नए राज्य के गठन के संबंध में अभी कोई भी प्रस्ताव सरकार के पास विचाराधीन नहीं है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-152, (वर्ष-06)

2. बुधवार, मार्च 15, 2023

3. शक-1944, चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2079‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 17 डी.सै., अधिकतम- 28+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...