मंगलवार, 30 जून 2020

बार-बार भूकंप का कारण पता लगाया

अरुण शर्मा


नई दिल्ली। भू-विज्ञानियों ने रोहतक में लगातार भूकंप आने का कारण पता लगा लिया है। उनका कहना है कि इंडो-ऑस्ट्रेलियन टेक्टोनिक प्लेट यूरेशियन प्लेट के टकराने और फॉल्ट लाइन के सक्रिय होने से  लगातार भूकंप आ रहे हैं। इससे दिल्‍ली-एनसीआर क्षेत्र में खतरा है। अभी इस संबंध में शोध में भू विज्ञानी अभी जुटे हुए हैं। शोध किए जा रहे हैं।  वरिष्ठ विज्ञानियों ने दावा किया है कि दिल्ली और हरियाणा के आसपास पांच फॉल्ट-रिज लाइन हैं। फिलहाल महेंद्रगढ़-देहरादून सक्रिय है। पिछले दो-तीन महीने से मथुरा फॉल्ट लाइन में भी सक्रियता के कारण ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद तक भूकंप के झटके आ चुके हैं!


छोटे धार्मिक स्थल खुलेंगे, बड़े बंद रहेंगे

जयपुर। राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में श्रद्धालुओं की सीमित संख्या वाले धार्मिक स्थल 1 जुलाई से फिर से खुलेंगे जबकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थल कोविड-19 महामारी के कारण बंद रहेंगे।






राज्य सरकार ने अन्य राज्यों से राजस्थान आने वालों के लिए 14 दिवसीय होम क्वांरटीन की अनिवार्यता को भी हटा दिया है, हालांकि उन्हें सभी नियमों का अनुपालन करना होगा और कोरोना के लक्षण नजर आने पर जांच करानी होगी। ये फैसले रविवार रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में लिए गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में केवल उन्हीं धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति होगी जहां सामान्य दिनों में प्रतिदिन 50 या इससे कम लोग आते हैं।


इन स्थलों पर एक समय में सीमित संख्या में लोग उपासना, दर्शन अथवा अन्य धार्मिक कार्यों के लिए मौजूद रह सकेंगे। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन और मास्क पहनने आदि स्वास्थ्य प्रोटोकॉल सहित भारत सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों के लिए जारी एसओपी के अनुपालन को सुनिश्चित किया जाना चाहिए।


गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन के कारण बंद हुए धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में गठित की गई कमेटियों के सुझावों के आधार पर शहरों में सभी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थलों को फिलहाल नहीं खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि जीवन की सुरक्षा राज्य सरकार के लिए सर्वोपरि है। 20 जून को राज्य में शुरू हुआ कोरोना जागरूकता अभियान अब 7 जुलाई को समाप्त होगा। यह अभियान जागरूकता फैलाने के लिए शुरू किया गया था। गहलोत ने इस अभियान को सफल बताया।






नाबालिग से 7 माह तक रेप, प्रेग्नेंट

 नाबालिग से रेप, प्रेग्‍नेंट होने पर हुआ खुलासा.

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक किशोर ने एक किशोरी के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया। 16 साल का किशोर 14 वर्ष की किशोरी को बहला-फुसलाकर उसके साथ कई महीनों तक रेप करता रहा। मामले की जानकारी परिजनों को तब हुई, जब उन्होंने पेट दर्द होने पर किशोरी का अल्ट्रासाउंड कराया। अल्ट्रासाउंड में पता चला कि किशोरी कई माह की गर्भवती है। इसके बाद परिजनों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। लड़की के परिजनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी किशोर को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, मामला काकादेव थाना क्षेत्र का है। यहां रहने वाला 16 वर्षीय किशोर 14 साल की किशोरी के घर पर आता जाता था। इसी बीच उसने बहला-फुसलाकर किशोरी के साथ शारीरिक संबंध बना लिए। वह 7 महीने तक किशोरी का यौन शोषण करता रहा। पिछले दिनों किशोरी के पेट में दर्द हुआ तो परिजनों ने उसे डॉक्टर को दिखाया। डॉक्टर की दवा खाने के बाद भी किशोरी को आराम नहीं हुआ तो डॉक्टर ने अल्ट्रासाउंड कराने की सलाह दी। इसपर परिजनों ने किशोरी का अल्ट्रासाउंड करवाया। अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट आने पर परिजनों के होश उड़ गए।

आरोपी के खिलाफ रेप और पॉक्‍सो एक्ट में मामला दर्ज..

किशोरी के गर्भवती होने की बात पता चलने के बाद नाबालिग ने बताया कि पिछले 7 महीने से घर में आने वाला किशोर उसके साथ संबंध बना रहा था। परिजनों ने काकादेव थाने में मामले की शिकायत की। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी किशोर को गिरफ्तार कर लिया है। थानाध्यक्ष कौशल किशोर दीक्षित का कहना है कि लड़की के घरवालों ने जो तहरीर दी उसके आधार पर आरोपी के खिलाफ रेप और पॉक्‍सो एक्ट नें मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी किशोर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी नाबालिग है उसे किशोर न्यायालय में पेश किया जाएगा।

वैक्सीन को मानव परीक्षण की अनुमति

भारत के पहले कोविड-19 टीके COVAXIN को डीसीजीआई की तरफ से मानव परीक्षण की मिली अनुमति

नई दिल्ली। भारत सरकार ने पहले स्वदेशी कोविड-19 वैक्सीन को मानव परीक्षण की अनुमति दे दी है. भारत बायोटेक की तरफ से  .‘कोवैक्सिन' नामक टीके का विकास किया जा रहा है। भारत बायोटेक ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (NIV) के साथ मिलकर इसे विकसित किय़ा है। कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि भारतीय औषधि महानियंत्रक (DCGI)  की तरफ से मानव परीक्षण की अनुमति मिली है।

दुनिया भर के ड्रग निर्माता कोरोनावायरस के खिलाफ एक टीका विकसित करने के प्रयास में लगे हुए हैं। वैक्सीन और जेनेरिक दवाओं के अग्रणी निर्माता, भारत को इस दौड़ में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की उम्मीद है, जिसमें कई संस्थान विभिन्न दवाओं के साथ काम कर रहे हैं। हाल ही में सरकार की तरफ से कहा गया था कि 30 ग्रुप वैक्सीन बनाने के कार्य में लगे हुए हैं।

बताते चले कि दुनिया भर में कई कंपनी इस काम में लगी हुई है। पिछले हफ्ते विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा था कि ब्रिटेन की एस्ट्राजेनेका इस वैक्सीन को बनाने के काफी करीब है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा इस वैक्सीन पर काम किया जा रहा है।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है हालांकि सरकार ने अनलॉक के दूसरे चरण यानी अनलॉक2 (Unlock2) के लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। नए दिशानिर्देशों में कंटेमेंट जोनों के बाहर और ज्यादा गतिविध‍ियों को खोलने की इजाजत दी गई है। नए दिशानिर्देश 1 जुलाई 2020 से प्रभावी होंगे। अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से खोलने की प्रक्रिया इसमें आगे बढ़ाया गया है। आज जारी किए गए नए दिशानिर्देश, राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से प्राप्त फीडबैक और संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों के साथ व्यापक विचार-विमर्श पर आधारित हैं।

डिजिटल सर्जिकल स्ट्राइक वाले पीएम







डिजिटल सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले पहले प्रधानमंत्री बने नरेन्द्र मोदी। 

भारत की चीन पर डिजिटल स्‍ट्राइक, TikTok-PUBG समेत 59 ऐप पर लगा बैन। 

भारत सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया है।  

अकांशु उपाध्याय नई दिल्ली। चीन के खिलाफ भारत सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया है. इसमें फेमस ऐप्स TikTok और PUBG भी शामिल है।  आपको बता दें कि हालही में भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद देश में चीन के खिलाफ भारी गुस्सा है लोग लगातार चीनी सामान के बहिष्कार की मांग कर रहे हैंगौरतलब है कि भारत में चीनी ऐप्स की तुलना में देशी ऐप्स को बढ़ावा मिल रहा है।  चिंगारी जैसे नए ऐप्स चीनी TikTok जैसे ऐप की जगह लेने को आ गए हैं. चीनी शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक को मात देने के लिए बनाए गए मित्रों (Mitron) ऐप ने लॉन्च के दो महीनों में ही एक नया कीर्तिमान बनाया है इसके अलावा चिंगारी ऐप भी लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। मित्रों ऐप को फिलहाल गूगल प्ले स्टोर से करीब एक करोड़ लोगों ने अपने मोबाइल फोन पर इसको डाउनलोड कर लिया है। चीनी वस्तुओं के बहिष्कार की अपील के बाद लोगों के बीच ये ऐप्स काफी लोकप्रिय हुआ है। 

वोकल फॉर लोकल पर बना ऐप

हालांकि ऐप को लेकर के शुरुआती महीनों में यह आरोप लगा था कि इसका सोर्स कोड एक पाकिस्तानी डेवलपर कंपनी से खरीदा गया है। हालांकि हमारी सहयोगी वेबसाइट zeebiz.com से बात करते हुए ऐप के सह-संस्थापक शिवांक अग्रवाल और अनीश खंडेलवाल ने इन बातों को निराधार बताया। दोनों ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्वान पर वोकल फॉर लोकल पर वो काम कर रहे है।   फिलहाल इस ऐप को लोगों की मांग के अनुरुप डेवलप किया गया है।  इसके साथ ही हम स्थानीय कानून का भी पालन कर रहे है।  प्ले स्टोर पर इस ऐप को फिलहाल 5 में से 4.5 रेटिंग मिली हुई है।

गूगल ने हटाया था प्ले स्टोर से

इस ऐप को लेकर काफी विवाद भी हो रहा था जिसे देखते हुए गूगल प्ले स्टोर ने अपने प्लेटफॉर्म से मित्रों ऐप को हटा दिया था। हालांकि इसके बाद प्राइवेसी में बदलाव करने के बाद गूगल ने प्ले स्टोर पर इसको वापस से डाल दिया था।  हालांकि अब एक और देशी ऐप भी लोगों के बीच काफी पॉपुलर होता जा रहा है। 

लोगों ने चिंगारी ऐप को अपना पसंदीदा ऐप बना लिया है। लोगों में इस ऐप को लेकर उत्सुकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि महज 15 दिनों में इस ऐप ने 1 मिलियन से ज्यादा डाउनलोड के आंकड़े को पार किया है।  इस ऐप की खासियत की बात करें तो ये एक वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है जहां यूजर्स वीडियो डाउनलोड और अपलोड कर सकते है। इसके साथ ही दोस्तों से चैट, कॉन्टेन्ट शेयरिंग और फीड के जरिए ब्राउजिंग भी की जा सकती है। इसे ऐप को भारतीय यूजर्स की जरूरतों और मांग को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। 

स्वदेशी ऐप चिंगारी को छत्तीसगढ़ के आईटी डेवलपर बिस्वात्मा नायक और सिद्धार्थ गौतम ने बनाया है  उन्होंने बताया कि इसमें ओडिशा और कर्नाटक के डिवेलपर्स ने भी उनका साथ दिया है। उन्होंने ये दावा किया है कि ये ऐप किसी भी तरह से TikTok से कम नहीं है और सुरक्षा के लिहाज से यह ऐप TikTok के सामने मजबूत नजर आ रही है। इसके अलावा यह ऐप अभी अंग्रेजी के अलावा 9 अन्य भाषाओं (हिंदी, बांग्ला, गुजराती, मराठी, कन्नड़, पंजाबी, मलयालम, तमिल और तेलगू)  में उपलब्ध है।







290 पदों ने दी प्रक्रिया की वैधता को चुनौती

इलाहाबाद हाई कोर्ट में यूपी के डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों के 290 पदों की चयन प्रक्रिया की वैधता को चुनौती


प्रयागराज। इलाहाबाद हाई कोर्ट में उत्तर प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों के 290 पदों की चयन प्रक्रिया की वैधता को चुनौती दी गई है। याचिका में उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा सेवा चयन आयोग प्रयागराज के दो मार्च 2019 को जारी विज्ञापन के तहत यूजीसी के नए रेग्युलेशन से परीक्षा कराने की मांग की गई है। कोर्ट ने राज्य सरकार व आयोग से एक सप्ताह में जानकारी मांगी है। अगली सुनवाई सात जुलाई को होगी।


यह आदेश न्यायमूर्ति जेजे मुनीर ने डॉ. हेम प्रकाश व अन्य की याचिका पर दिया है। याचिका के अनुसार डिग्री कालेजों में प्राचार्यों के 290 पदों पर नियुक्ति के लिए दो मार्च 2019 को विज्ञापन जारी किया गया। चयन परीक्षा यूजीसी के 2010 के रेग्युलेशन पर होनी थी। इसके तहत आवेदन करने वाले अभ्यर्थी का शैक्षिक प्रदर्शक सूचकांक (एपीआइ) 400 अंक और वर्कशाप, सेमिनार और प्रकाशन आदि की अर्हता निर्धारित है। आवेदन करने की अंतिम तारीख 18 जून 2019 और एपीआई सूचकांक जमा करने की अंतिम तारीख 18 जुलाई 2019 थी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने अपने रेग्युलेशन में बदलाव करते हुए 2018 का रेग्युलेशन लागू कर दिया।  


ब्रजेश केसरवानी


पेट्रोल-डीज़ल के बढ़े दाम पर किया प्रदर्शन

पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम पर सपा महिला सभा ने ईरिक्शा से किया प्रदर्शन


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी की महिला सभा ने पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम को लेकर कीडगंज से सुभाष चौराहे तक ईरिक्शा की सवारी कर विरोध दर्ज कराया। महिला सभा की निर्वतमान महानगर अध्यक्ष श्रीमती मंजू यादव ने खुद ईरिक्शा चलाते हुए सुभाष चौराहे पर केन्द्र सरकार को चेतावनी दी के पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम वापिस न लिए गए तो और उग्र रुप से महिलाएँ प्रदर्शन करने को बाध्य होंगी। निर्मला यादव ने प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जम कर नारे लगाते हुए बढ़े दाम वापिस लेने की आवाज़ बुलन्द की। कीडगंज बैहरैना,लोहिया चौराहे से ईरिक्शा से निकली महिलाओं ने रास्ते भर पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम वापिस लेने को आवाज़ बुलन्द करते हुए सुभाष चौराहे पहोँच कर जमकर केन्द्र सरकार के खिलाफ मुखर होकर भढ़ास निकाली। विरोध दर्ज कराने वालों में मंजू यादव,निर्मला यादव,उर्मिला सिंह,बिट्टी सोनकर,आकांक्षा प्रजापति,गुड्डी,कलावती,बलवन्त यादव,विजय महतो,राजेश यादव,संतोष यादव,बंटी आदि थे।


बजरंग दल के द्वारा हनुमान का आयोजन

अश्वनी उपाध्याय


 गाजियाबाद। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के द्वारा हनुमान चालीसा का आयोजन किया गया हनुमान चालीसा का आयोजन नगर_सह_संयोजक_मोहित_सैन के द्वारा किया गया जिसमें बजरंग दल के सभी कार्यकर्ता मौजूद रहे मनीष जी, दीपक जी, प्रदीप जी ,सोनू जी, लल्ला जी ,रोहित जी ,अमित जी,दीपू जी और मंदिर के पुजारी जी उपस्थित रहे।


भ्रष्ट शासन-प्रशासन से अपेक्षा मूर्खता

अकाशुं उपाध्याय


गाजियाबाद। जिलाधिकारी व संबंधित विभाग के अधिकारी कृपया संज्ञान में लेने का कष्ट करें। क्या लावारिस हुआ गाजियाबाद विकास प्राधिकरण से अप्रूव्ड कॉलोनी डीएलएफ अंकुर विहार ? प्राधिकृत क्षेत्र के विकास से प्रशासन का मुंह मोड़ना भ्रष्टाचार की ओर संकेत करता है। भ्रष्टाचार में लिप्त प्रशासनिक अधिकारी इस प्रकार से ओतप्रोत है कि उन्हें अपने निजी स्वार्थ के अलावा और कोई कार्य ना दिखता है ना सुनता है। हालांकि इस सरकार में भ्रष्ट अधिकारी के खिलाफ किसी प्रकार की कोई कार्रवाई होने की कोई भी गुंजाइश नहीं है। क्योंकि यह सरकार भ्रष्टाचार के पायदान पर खड़ी है। ऐसी सरकार से इस प्रकार की उम्मीद करना बहुत बड़ी मूर्खता ही होगी। वही प्रशासनिक अधिकारियों से भी किसी प्रकार की उम्मीद गलतफहमी और नासमझी है। क्योंकि सब के सब भ्रष्टाचार के दलदल में कंधे तक फंसे हुए हैं और उसका पूरा आनंद ले रहे हैं। ऐसी स्थिति में विकास और विकास से जुड़ी किसी भी क्रिया पर किसी कार्य की अपेक्षा करना नीति के विरुद्ध है।
2 पार्क की पैमाइश करने के लिए दिया था एक आवेदन पत्र उसका जवाब नगरपालिका ने दिया कि विकास प्राधिकरण पार्क की पैमाइश करेगा। विकास प्राधिकरण ने जवाब दिया हम नहीं कर सकते। ना नगर पालिका करेगी ना ही गाजियाबाद विकास प्राधिकरण करेगा।


सीएम योगी के नाम पांच सूत्रीय ज्ञापन

डीजल, पेट्रोल की मूल्यवृद्घि और नहर, बिजली की समस्या को लेकर किसानों का  प्रदर्शन


कौशाम्बी। समर्थ किसान पार्टी ने डीजल, पेट्रोल की मूल्यवृद्घि और नहरों में पानी आने एवं बिजली आपूर्ति में सुधार करने की मांग को लेकर आज तहसील सिराथू में प्रदर्शन किया। पार्टी नेता अजय सोनी की अगुवाई में पार्टी के तमाम कार्यकर्ताओं ने माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को संबोधित एक 5 सूत्रीय ज्ञापन सिराथू तहसीलदार राकेश कुमार सिंह को सौंपा।


सौंपे गए ज्ञापन में तत्काल डीजल, पेट्रोल की मूल्यवृद्घि वापस लेने, करारी माइनर नहर, रामगंगा माइनर नहर में टेल तक जलापूर्ति करने, शमसाबाद एवं नारा फीडर की विद्युत आपूर्ति में सुधार करने, आवारा पशुओं की समस्या से निजात दिलाने, डेयरी संचालकों से दूध विक्रेता किसानों का आर्थिक शोषण रोकने एवं दूध विक्रेता किसानों को दूध का समुचित मूल्य दिलाने जैसी मांगे शामिल थीं। किसानों का आरोप है कि सरकार और प्रशासन किसानों की अनदेखी कर रहा है और किसान परेशान है।


किसान नेता अजय सोनी ने इस अवसर पर कहा कि धान रोपाई के समय पर करारी माइनर, रामगंगा माइनर सुखी पड़ी हैं और अधिकारी ख़ामोश हैं। इसी तरह आवारा पशुओं की समस्या से किसानों को कोई निजात नहीं मिल रही है और किसान परेशान है। दूध विक्रेता किसानों का हाल तो और खराब है। डेयरी संचालक दूध का मूल्य वृद्धि नहीं कर रहे हैं और औने पौने दामों पर दूध खरीद रहे हैं। अजय सोनी ने इन मामलों पर प्रशासन द्वारा अनदेखी करने पर कहा कि जिला प्रशासन जल्द ही किसानों की समस्याओं पर गंभीर नहीं हुआ तो समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में अनशन किया जाएगा। इस अवसर पर भानू प्रताप सिंह, जय सिंह यादव, मनीष मौर्य, दिलीप तिवारी, जुम्मन अली आदि मौजूद रहे।


रामप्रसाद गुप्ता 


विभाग की लापरवाही 1 की मौत 1 गंभीर

विद्युत विभाग एसओएस की लापरवाही से एक कर्मी की मौत दूसरा गंभीर झुलसा


बिधुत बिभाग के अधिकारियों के कारनामो से आये दिन संविदा कर्मियों को दे दी जाती है मौत


अझुवा कौशाम्बी। सैनी कोतवाली क्षेत्र के वनपुरवा स्थित विद्युत उपघर में तैनात संविदा कर्मी लाल सिंह और रोशन लाल ऑपरेटर की लापरवाही का शिकार बन गए। जिसमे लाल सिंह पुत्र धर्मपाल उम्र 30 वर्ष निवासी कानेमई की मौके पर ही मौत हो गयी। जिसे मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है। वही रोशन लाल पुत्र बासदेव उम्र 50 वर्ष निवासी अमीरतापुर गंभीर घायल है। जिन्हें अझुवा के निजी अस्पताल में भर्ती कर इलाज करवाया जा रहा है!


प्राप्त जानकारी के अनुसार विद्युत विभाग में निविदा पर तैनात लाल सिंह बनपुरवा विद्युत उपघर में कई वर्षों से तैनात है। आंधी और पानी से मकरी बाग फीडर के कनवार के मजरे जोरावर पुर में नीम की डाल टूट कर लाइन पर गिर गयी थी। जिससे गांव की सप्लाई बाधित हो गयी थी। सूचना मिलने पर दोनों कर्मी शटडाउन लेकर लाइन को दुरुस्त करने पहुंचे थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार लाल सिंह बेल्ट लगाए था जबकि रोशन बिना बेल्ट के ही कार्य कर रहा था। अचानक विद्युत आपूर्ति शुरू कर दी गयी जिस पर रोशन 11हजार की सप्लाई का झटका खाकर नीचे गिर गया। जबकि लालसिंह बेल्ट लगे होने की वजह से उल्टा हो गया। जिस पर उसके शरीर का पिछला हिस्सा पैर सहित 11हजार की सप्लाई में छू गया उपस्थित लोगों ने पावर हाउस फोन कर विद्युत सप्लाई को बंद करवाया तब तक लाल सिंह की मृत्यु हो गयी।


एस डीओ प्रभात कुमार सहित अन्य विद्युत कर्मी भी मौके पर पहुंचे एसडीओ प्रभातकुमार ने बताया लापरवाह। विद्युत संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा। मृतक लाल सिंह के परिजनों को विद्युत विभाग की तरफ से 5 लाख रुपये की सहायता दिए जाने की बात कही जा रही है। विभाग का कहना है कि यदि उसके घर मे कोई व्यक्ति उसकी जगह संविदा पर नौकरी करना चाहेगा तो वो भी दिया जाएगा। घायल रोशन लाल के इलाज में जो भी खर्च आएगा ।उसे विभाग द्वारा वहन किये जाने की बात विभागीय अधिकारी कर रहे है।


एसडीएम राजेश श्रीवास्तव सिराथू सर्किल ऑफिसर रामवीरसिंह कोतवाली पुलिस  और अझुवा चौकी इंचार्ज विजय कुशवाहा के साथ मौके पर पहुंच कर लाश कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया गया है।


सन्तलाल मौर्य 


कैबिनेट मंत्रियों की बैठक, 5-G पर चर्चा

चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में सोमवार को 5G पर चर्चा हुई।


इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद रहे।
नई दिल्ली। चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में सोमवार को 5G पर चर्चा हुई। इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद रहे। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों के अनुसार, बैठक में 5G सेवाओं में उपकरणों की आपूर्ति को लेकर चर्चा हुई। गौरतलब है कि चीनी कंपनी हुवै (Huawei) भारत में 5G सेवाओं से जुड़े उपकरणों के लिए एक प्रमुख दावेदार है। भारत में हुवै को 5G ट्रायल में भाग लेने की पिछले साल अनुमति दी गई थी, लेकिन अमेरिका अन्य देशों पर दबाव डाल रहा है कि चीन की इस कंपनी को बाहर रखा जाए। भारत में 5G की नीलामी फिलहाल एक साल के लिए टाली गई है। अमेरिका में हुवै के उत्पादों पर मई 2021 तक के लिए पाबंदी लगाई गई है। सिंगापुर में 5G की दौड़ से हुवै बाहर हो चुका है। वहाँ नोकिया और एरिक्सन को मौका मिला है।


भारत में हुवै का विरोध हो रहा है क्योंकि इसके संस्थापक के पीएलए से रिश्ते बताए जाते हैं। सीमा विवाद के बाद देश में बदले माहौल में हुवै के लिए रास्ता मुश्किल होगा। वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में हुए फैसले की फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिली है। भारत में सुरक्षा कारणों से हुवै को लेकर चिंता जताई गई है। अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में सुरक्षा कारणों के मद्देनज़र हुवावेई को ट्रायल से बाहर रखा गया था।


इससे पहले, सरकार ने चीन को तगड़ा झटका देते हुए 59 चीनी एप को भारत में प्रतिबंधित कर दिया है। टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, वीचैट, शेयरइट और कैम स्केनर उन 59 चीनी एप में शामिल हैं, जिन्हें सरकार द्वारा देशभर में बैन किया गया है। आप यहां क्लिक करके बैन की गई सभी 59 चीनी ऐप्स की सूची देख सकते हैं। सरकार ने बयान में कहा गया है कि ‘उपलब्ध सूचना के अनुसार, ये ऐप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता,सुरक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरनाक हैं।


जिंदगी जैसी दिखती है वैसी होती नहीं




















इसके अलावा रानी ने अपना एक वीडियो भी इंस्टाग्राम पर शेयर किया है, इसमें वो उन्हें ट्रोल करने वाले लोगों को चिल्लर बताती हुई नजर आ रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने डिप्रेशन की बात भी कबूली थी। इसकी सबसे बड़ी वजह वो सोशल मीडिया को मानती हैं। एक्ट्रेस ने कहा था कि वो जब भी सोशल मीडिया पर आती हैं तो खुद को और ज्यादा डिप्रेश महसूस करती हैं। उन्होंने एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा,’जब भी मैं डिप्रेश महसूस करती हूं या मुझे कभी कोई तनाव महसूस होता है, तो मैं सोशल मीडिया चेक करती हूं, फिर मैं और डिप्रेश हो जाती हूं, मुझे लगता है कि सोशल मीडिया अब आपको खुश करने से ज्यादा दुखी करता है।’


बहरहाल, अगर रानी चटर्जी के वर्कफ्रंट की बात की जाए तो वो लॉकडाउन से पहले ‘खतरों के खिलाड़ी’ सीजन 11 में नजर आई थीं। इसके बाद वो वेबसीरीज ‘मस्तराम’ को लेकर काफी सुर्खियों में रही हैं।


‘मस्तराम’ में उन्होंने काफी बोल्ड अवतार में देखा गया है। इसके कारण वो खूब चर्चा में रहीं। हालांकि, उनका रोल ज्यादा बड़ा नहीं था। गौरतलब है कि रानी चाटर्जी भोजपुरी से काफी समय से दूर थीं। लेकिन, अब वो एक बार से धमाकेदार एंट्री मार चुकी हैं। हाल ही में उनकी फिल्म ‘लेडी सिंघम’ का फर्स्ट पोस्टर भी रिलीज किया गया था। इसके अलावा रानी चटर्जी की दूसरी फिल्म ‘पांचाली’ का भी फर्स्ट लुक जारी किया जा चुका है। इन दोनों ही मूवीज में एक्ट्रेस दमदार किरदार में नजर आ रही हैं। 


















अब भूटान की जमीन पर ठोका दावा

थिंपू। चीन अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। अब उसने भूटान की एक नई जमीन पर अपना दावा ठोका है। ग्लोबल इन्वायरमेंट फैसिलिटी काउंसिल की 58वीं बैठक के दौरान बीजिंग ने भूटान के सकतेंग वनजीव अभयारण्य की जमीन को विवादित बताते हुए इसकी फंडिंग का विरोध किया। हालांकि, भूटान ने चीन की इस चाल पर कड़ा विरोध जताया है। उसका कहना है कि अभयारण्य की जमीन हमेशा से उसकी थी और आगे भी रहेगी। चीन भले ही जमीन के विवादित होने का दावा कर रहा हो, लेकिन हकीकत यह है कि सकतेंग वनजीव अभयारण्य की जमीन को लेकर कभी कोई विवाद हुआ ही नहीं। दरअसल, भूटान और चीन के बीच सीमांकन नहीं हुआ है, बीजिंग इसका लाभ उठाने की फिराक में है। भूटान ने चीन की इस हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया है। उसने चीनी प्रतिनिधि को स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि साकतेंग वन्यजीव अभयारण्य भूटान का अभिन्न और संप्रभु हिस्सा है।
गौर करने वाली बात यह है कि साकतेंग अभयारण्य कभी भी ग्लोबल फंडिंग का हिस्सा नहीं रहा। पहली बार जब यह अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक परियोजना के रूप में सामने आया, तो चीन ने मौके को लपक लिया और जमीन हड़पने के लिए अपना दावा ठोक दिया। हालांकि, चीन के विरोध के बावजूद काउंसिल के अधिकांश सदस्यों द्वारा परियोजना को मंजूरी मिल गई है। काउंसिल में जहां चीन का प्रतिनिधि है, वहीं भूटान का अपना कोई प्रत्यक्ष प्रतिनिधि नहीं है। उसका नेतृत्व भारत की वरिष्ठ आइएएस अधिकारी अपर्णा सुब्रमणि ने किया, जो विश्वबैंक में बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका की प्रभारी हैं। इससे पहले दो जून को जब परियोजना-वार चर्चा हो रही थी, तब काउंसिल के चीनी प्रतिनिधि झोंगजिंग वांग ने भूटान की परियोजना पर आपत्ति जताई थी। उस वक्त अपर्णा सुब्रमणि ने कहा था कि इस दावे को चुनौती दी जा सकती है और भूटान के स्पष्टीकरण के बिना इस पर आगे बढ़ना उचित नहीं होगा। इस मुद्दे पर बैठक में चर्चा हुई और अधिकांश सदस्यों ने चीन के विरोध के बावजूद भूटान की परियोजना को मंजूरी दे दी।


व्यवस्था की समीक्षा, स्वच्छता के आदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस एवं संचारी रोगों को नियंत्रित करने के लिए ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में मिशन मोड पर स्वच्छता अभियान चलाए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी यहां मंगलवार को अपने सरकारी आवास पर अधिकारियों के साथ अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का उपचार, बचाव ही है। इसलिए कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी व सतर्कता बरतनी आवश्यक है। संचारी रोगों के साथ-साथ कोविड-19 को नियंत्रित करने में स्वच्छता की बड़ी भूमिका है। इसके दृष्टिगत उन्होंने ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में मिशन मोड पर स्वच्छता अभियान संचालित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने अनलॉक-2 व्यवस्था में विभिन्न गतिविधियों को भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देश दिए और कहा कि केंद्र सरकार के प्राविधानों का अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ अनलॉक-2 व्यवस्था को लागू किया जाए।

मुख्यमंत्री कोविड-19 महामारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से संचालित प्रचार-प्रसार के कार्य को जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए रेडियो, टीवी के साथ-साथ बैनर, पोस्टर, हैंडबिल आदि के माध्यम से जागरूकता पैदा की जाए। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल से फसल को कोई नुकसान न पहुंचे, इसके लिए कीटनाशक रसायनों के छिड़काव के व्यापक प्रबंध किए जाएं। योगी ने कहा कि खनन से अधिक से अधिक राजस्व प्राप्त करने के लिए निविदा प्रक्रिया अभी से शुरू कर दी जाए, जिससे 1 अक्टूबर, 2020 से खनन कार्य शुरू किया जा सके।


लोगों को रोकना-टोकना और समझाना होगा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जून में ही देश की 80 करोड़ जरूरतमंद जनता को दीवाली का गिफ्ट दे दिया। उन्होंने कहा कि छठ और दीवाली के त्यौहार को देखते हुए अब नवंबर तक जनता को मुफ्त राशन मिलेगा। इस पर करीब 90 हजार करोड़ का खर्च आएगा।


प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार की घोषणा की। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक यानी नवंबर महीने के आखिर तक करने का फैसला हुआ है। 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली यह योजना, जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर और नवंबर तक लागू रहेगी।प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है।”उन्होंने कहा कि अब पूरे भारत के लिए एक राशन-कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है यानि एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड। इसका सबसे बड़ा लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा, जो रोजगार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गांव छोड़कर के कहीं और जाते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “एक और बड़ी बात है जिसने दुनिया को भी हैरान किया है, आश्चर्य में डुबो दिया है। वो ये कि कोरोना से लड़ते हुए भारत में, 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को 3 महीने का राशन, यानि परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त दिया गया। एक तरह से देखें तो, अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों को, ब्रिटेन की जनसंख्या से 12 गुना अधिक लोगों को,और यूरोपियन यूनियन की आबादी से लगभग दोगुने से ज्यादा लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया है।”प्रधानमंत्री मोदी ने अन्न योजना के विस्तार के पीछे वजह बताते हुए कहा, “हमारे यहां वर्षा ऋतु के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर एग्रीकल्चर सेक्टर में ही ज्यादा काम होता है। अन्य दूसरे सेक्टरों में थोड़ी सुस्ती रहती है। जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का भी माहौल बनने लगता है। त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए।”


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीते तीन महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं। इस दौरान 9 करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने अनलॉक 2.0 के दौरान कोरोना को लेकर और अधिक सावधानी बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि विशेषकर कन्टेनमेंट जोन पर हमें बहुत ध्यान देना होगा। जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने अनलॉक शुरू होने के बाद लापरवाहियों को लेकर चिंता भी जताई।


‘जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, उन्हें रोकना, टोकना और समझाना होगा’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें रोकना, टोकना और समझाना होगा। इससे पहले हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन से कई लोगों का जीवन बचा है। उन्होंने कहा कि दुनिया के अनेक देशों की स्थिति में भारत संभली हुई स्थिति में है। लॉकडाउन ने लाखों लोगों का जीवन बचाया। 


'सुपर एनाकोंडा' ट्रेन ने बनाया नया रिकॉर्ड

नई दिल्ली। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने तीन मालगाड़ियों को जोड़कर देश में पहली बार दो किलोमीटर लंबी मालगाड़ी चलाने का रिकॉर्ड कायम कर दिया है। ‘एनाकोंडा फॉर्मेशन’ में यह ट्रेन ओडिशा के लाजकुरा और राउरकेला के बीच चलाई गई। रास्ते में जिसने भी इस ट्रेन को देखा वह इसकी लंबाई देखकर अचंभित रह गया। इसमें तीन ट्रेनों को आपस में जोड़ा गया था। पहली ट्रेन के इंजन के पीछे उसके डिब्बे थे। उनके पीछे दूसरी ट्रेन का इंजन और डिब्बे तथा उनके पीछे तीसरी ट्रेन का इंजन और डिब्बे थे। इस प्रकार इस विस्तृत ट्रेन को तीन इंजनों से शक्ति मिल रही थी।


रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसका वीडियो ट्विटर पर साझा करते हुये इस ट्रेन को “पटरी पर सुपर एनाकोंडा” की संज्ञा दी है। उन्होंने लिखा कि माल से लदे हुये 177 वैगनों वाली यह मालगाड़ी रेलवे के ज्यादा वजन की ढुलाई में बड़ी छलाँग है। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि देश में पहली बार दो किलोमीटर लंबी ट्रेन चलाई गई है। इस ट्रेन में कुल 15 हजार टन सामान की ढुलाई की गई। माल ढुलाई में लगने वाले समय की बचत के लिए यह अनोखा प्रयोग किया गया है। 


देश में संक्रमितो का आंकड़ा 5.66 लाख

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण की भयावह होती स्थिति के बीच पिछले 24 घंटों में संक्रमण के साढ़े 18 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं जिससे संक्रमितों का आंकड़ा 5.66 लाख के पार पहुंच गया है।


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना संक्रमण के 18,522 नये मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5,66,840 हो गयी है हालांकि सकारात्मक बात यह है कि पिछले दो दिन से कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों में कमी दर्ज की जा रही है। रविवार को जहां संक्रमण के 19,906 मामले दर्ज किये गये थे वहीं सोमवार को इससे थोड़े कम 19,459 मामले सामने आये तथा आज 18,522 नये मामले सामने आये हैं।

पिछले 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण से 418 लोगों की मौत हुई है जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 16,893 हो गयी है। दूसरी तरफ इस बीमारी से निजात पाने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है और इसी अवधि में 13,099 रोगी ठीक हुए है , जिन्हें मिलाकर अब तक कुल 3,34,822 मरीज रोगमुक्त हो चुके हैं। बहरहाल देश में अभी कोरोना संक्रमण के 2,15,125 सक्रिय मामले हैं। कोरोना महामारी से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में संंक्रमण के 5257 मामले दर्ज किये गये और 181 लोगों की मौत हुई। इसके साथ ही राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,69,883 और मृतकों की संख्या बढ़कर 7,610 हो गयी है। राज्य में 88,960 लोग संक्रमणमुक्त हुए हैं।


राजधानी दिल्ली में भी कोरोना महामारी ने कहर बरपा रखा है और संक्रमण तथा मौत के लगातार बढ़ते आंकड़ों के साथ अब यह देश में दूसरे स्थान पर आ गया है। पिछले 24 घंटों में 2,084 नये मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों का आंकड़ा 85,161 तक पहुंच गया। इसी अवधि में 57 मरीजों की मौत होने के बाद मृतकों की संख्या 2680 हो गयी। राजधानी में 56,235 मरीज रोगमुक्त हुए हैं , जिन्हें विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है।


प्रोडक्ट मेड-इन-चाइना, प्रमोट मेक-इन-इंडिया

नई दिल्ली। भारत-चीन गतिरोध के मद्देनजर चीनी उत्पादों के बहिष्कार की बढ़ती मांग के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ‘मेक इन इंडिया’ पर निशाना साधते हुए कहा कि 2014 के बाद चीन से आयात वास्तव में बढ़ गया है। राहुल ने यूपीए और एनडीए सरकार के कार्यकाल के दौरान चीन से आयात हुए साामनों की तुलना को दर्शाने वाला एक ग्राफिक्स साझा करते हुए ट्वीट कर लिखा, “तथ्य झूठ नहीं बोलते। भाजपा कहती है, ‘मेक इन इंडिया’। भाजपा करती है, ‘बाइ फ्रॉम से खरीदो।”‘ ग्राफिक्स ने दर्शाया कि 2008 से 2014 तक चीन से आयात 14 प्रतिशत से नीचे था, जबकि भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए शासन के दौरान चीनी आयात 18 प्रतिशत से अधिक हो गया।


ग्राफिक्स में यह भी दशार्या गया है कि 2008 में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के शासन में चीन से आयात 12 प्रतिशत था, जबकि 2012 में यह बढ़कर 14 प्रतिशत हो गया, लेकिन 2014 में फिर घटकर 13 प्रतिशत पर आ गया। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में चीन से आयात 2015 में 13 प्रतिशत से बढ़कर 14 प्रतिशत हो गया, 2016 में 16 प्रतिशत, 2017 में 17 प्रतिशत और 2018 में बढ़कर 18 प्रतिशत हो गया। 


सरकार के खिलाफ ई-रिक्शा से प्रदर्शन

पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम पर सपा महिला सभा ने ईरिक्शा से किया प्रदर्शन


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी की महिला सभा ने पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम को लेकर कीडगंज से सुभाष चौराहे तक ईरिक्शा की सवारी कर विरोध दर्ज कराया।महिला सभा की निर्वतमान महानगर अध्यक्ष श्रीमती मंजू यादव ने खुद ईरिक्शा चलाते हुए सुभाष चौराहे पर केन्द्र सरकार को चेतावनी दी के पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम वापिस न लिए गए तो और उग्र रुप से महिलाएँ प्रदर्शन करने को बाध्य होंगी।निर्मला यादव ने प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जम कर नारे लगाते हुए बढ़े दाम वापिस लेने की आवाज़ बुलन्द की।कीडगंज बैहरैना,लोहिया चौराहे से ईरिक्शा से निकली महिलाओं ने रास्ते भर पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दाम वापिस लेने को आवाज़ बुलन्द करते हुए सुभाष चौराहे पहोँच कर जमकर केन्द्र सरकार के खिलाफ मुखर होकर भढ़ास निकाली।विरोध दर्ज कराने वालों में मंजू यादव,निर्मला यादव,उर्मिला सिंह,बिट्टी सोनकर,आकांक्षा प्रजापति,गुड्डी,कलावती,बलवन्त यादव,विजय महतो,राजेश यादव,संतोष यादव,बंटी आदि थे।


अखिलेश के जन्मदिन पर विविध कार्यक्रम

सपा मुखिया अखिलेश के ४७ वें जन्म दिन पर शहर मे होंगे विविध कार्यक्रम


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ४७ वें जन्म दिन के अवसर पर दिनांक १जूलाई बुधवार को शहर भर में विविध कार्यक्रम का आयोजन रखा गया है।समाजवादी पार्टी के महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने उक्त सूचना देते हुए बताया की प्रातः ९ बजे चौक महानगर कार्यालय पर निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन व निर्वतमान महानगर महासचिव योगेश चन्द्र यादव के नेत्रित्व मे केक काट कर अखिलेश यादव के दिर्घायु की कामना की जाएगी। वहीं शहर पश्चिमी में यथांश केसरवानी के कार्यालय पर केक काटने के साथ अन्य कार्यक्रम होगा।झूंसी में दिन में १ बजे रजनीश भारतीया के नेत्रित्व में अखिलेश यादव के जन्म दिन पर भव्य आयोजन रखा गया है।महानगर अधिवक्ता सभा के निर्वतमान महानगर अध्यक्ष राकेश यादव द्बारा संगम पर ग़रीबों व असाहयों को खाद्ध सामाग्री का वितरण होगा।वहीं नैनी में समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यक सभा के प्रदेश सचिव मो०शारिक़ के नेत्रित्व मे कार्यालय पर केक काटने के उपरान्त लेप्रोसी मिशन चौराहे पर स्थित कोढ़ी आश्रम में ज़रुरतमन्दों व बच्चों को खाद्ध सामाग्री व बिस्किट, चॉकलेट,चिप्स आदि बाँट कर अखिलेश यादव के दिर्घायु की प्रार्थना की जाएगी।शहर उत्तरी में यूवा नेता रेहान अहमद और रवि यादव के नेत्रित्व में कोरोना वॉयरस से बचाव हेतू मास्क और सेनिटाईज़र का वितरण होगा।मेजा के ग्रामीण इलाक़ो व शहर के झूग्गी झोपड़ी में रह रहे ग़रीबों व असहायों को समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता नरेन्द्र सिंह द्बारा वस्त्र वितरण होगा।इसके अलावा भी कई अन्य कार्यक्रम होंगे।


श्रद्धालुओं की 'वायरस' से सुरक्षा करेंगे

सावन में काशी वि‍श्‍वनाथ मंदि‍र आने वालों की कोरोना से सुरक्षा हमारी पहली प्राथमि‍कता 


वाराणसी। सावन महीना 6 जुलाई सोमवार से शुरू हो रहा है। सावन माह में हर साल देश के कोने कोने से लाखों की संख्या में श्रद्धालु बाबा श्री काशी विश्वनाथ के दर्शन को आते हैं। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर प्रशासन ने भी इसे देखते हुए अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। देश में फैले कोरोना संकट को ध्‍यान में रखते हुए एक तरफ जहां सावन माह में कावरियों के आवागमन पर रोक लगा दी गयी है वहीं श्री काशी विश्वनाथ मंदि‍र में दर्शन को आने वाले भक्तों को कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ दर्शन करवाने की व्यवस्था भी मंदिर प्रशासन की ओर से परिसर में की जा रही है।


पांच जगहों पर लगेगी सेनिटाइजर मशीन
इस संबंध में मुख्य कार्यपालक अधिकारी गौरांग राठी ने बताया कि कोविड 19 से बचाव के साथ भक्तों को सुलभ दर्शन करवाना हमारी पहली प्राथमिकता होगी। दो से तीन जोन में भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। छह छह फिट की सोशल डिस्टेंसिंग के साथ एक बार में पांच भक्त ही मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे। परिसर में पांच जगहों पर हैंड सेनिटाइजर मशीन लगाया जाएगा। श्रद्धालु हाथों को सेनिटाइज करने के बाद ही मंदिर में आ सकेंगे।


श्रद्धालुओं के आवगमन के लिए होंगे तीन मार्ग
मुख्य कार्यपालक अधि‍कारी गौरांग राठी ने बताया कि भक्तों के आवागमन के लिए तीन मार्ग निर्धारित किये गए हैं। पांचों पंडवा गेट से प्रवेश व निकास, ढुंढिराज गणेश द्वार से प्रवेश, गेट नंबर चार से होते हुए बद्रीनाथ गेट से प्रवेश व नंदफरिया गेट से भक्तों को निकास दिया जाएगा।


फैक्ट्री में गैस रिसाव, 2 की मौत 4 गंभीर

विशाखापट्टनम। आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में एक बार फिर मंगलवार की सुबह गैस लीक की घटना हुई है। एक फार्मा कंपनी की फैक्ट्री में जहरीली गैस रिसाव से 2 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 4 लोग हालत गंभीर है, जिन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


गैस लीक घटना के बाद इलाके में अफरा-तफरी मच गई है। जिला प्रशासन ने आस-पास के गांवों को खाली करा दिया है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के सीएमओ की तरफ से बयान आया है उसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। ऐहतिहात के तौर पर फैक्ट्री को तत्काल शटडाउन करने का आदेश दिया गया है। बता दें कि इससे पहले विशाखापत्तनम के एलजी पॉलिमर्स कंपनी के एक प्लांट में 7 मई को गैस लीक होने से 11 लोगों की मौत हो गई थी। इस हादसे की स्थिति बहुत भयावह थी। गैस की चपेट में आकर लोग सड़क पर बेहोश होकर गिरने लगे थे। जिसके बाद यह दूसरी घटना है।


अस्पताल में लगी आग, 7 मरीजों की मौत





















 

  










 






अलेक्जेंड्रिया। मिस्र के एक अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में आग लगने से कोविड-19 के सात मरीजों की मौत हो गई। अलेक्जेंड्रिया के गवर्नर मेाहम्मद अल शरीफ ने बताया कि मिस्र के उत्तरी तट के पास अलेक्जेंड्रिया में एक निजी अस्पताल के कोरोना वायरस कक्ष में आग लग जाने से छह पुरुषों एवं एक महिला की मौत हो गई।





नागरिक सुरक्षा विभाग ने कहा कि यह आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी। लोक अभियोजकों ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है, लेकिन शुरुआती रिपोर्ट में संकेत मिला है कि सबसे पहले आग कक्ष के एयर कंडिशनर में लगी।


बाडरावी अस्पताल ने एक बयान में कहा, ”कुछ ही सेकंड में भयानक आग लग गई और तेजी से आग फैलने के कारण हमारा कोई कर्मी हालात पर काबू नहीं कर पाया। अभियोजकों ने बताया कि अन्य एक मरीज झुलस गया और शेष को बाहर निकाल लिया गया है।





दिल्लीः 1 बिल्डिंग में 15 लोग संक्रमित

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। देश की राष्ट्रीय राजधानी मेंं कोरोना वायरस के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं। यहां पर रोज सैकड़ों लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। चिंता की बात यह है कि कई जगहों पर एक ही बिल्डिंग में कई कोरोना के कई मरीज भी मिल रहे हैं। इससे आसपास के इलाके में दहशत फैल गई है। ताजा मामला हौज खास के अर्जुन नगर इलाके का है। यहां पर एक ही बिल्डिंग में 15 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इससे पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है। वहीं, मामला सामने आने के बाद पूरे इलाके को सील कर दिया गया है।


हौज खास के एसडीएम ने बताया कि इलाके को सील कर दिया गया है। इसके बाद इलाके को कंटेनमेंट जोन और बफर जोन में बांटा गया है। अब घर से किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। इस पूरे इलाके में खाने-पीने से लेकर रोज की जरूरत की हर चीज की डिलीवरी स्थानीय प्रशासन द्वारा की जाएगी। वहीं, एसडीएम की ओर से आदेश भी जारी किया गया है।


सब्जी बेचने वालों की होगी कोरोना जांच


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आदेश में इलाके में रेहड़ी-पटरी लगाने वाले और सब्जी वालों की कोरोना जांच करने की बात कही गई है। अब पूरे इलाके में सब्जी बेचने वाले या अन्य रेहड़ी-पटरी लगाने वालों की कोरोना जांच की जाएगी। साथ ही कहा गया है कि गलियों में घनी आबादी के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बड़ी चुनौती होगी। ऐसे में इस पूरे इलाके में खाने‌-पीने से लेकर दवाइयों तक की आपूर्ति स्थानीय प्रशासन द्वारा की जाएगी। प्रशासन ने इलाके के चारों ओर बैरिकेड लगा दिया है। किसी को भी घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है।


दिल्ली में 2084 नए मामले आए सामने


बता दें कि दिल्‍ली में अब कोरोना संक्रमण के 2084 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 85161 हो गयी है। वहीं, इस महामारी की वजह से दिल्‍ली में अब तक 2680 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इस समय दिल्ली में 26246 एक्टिव केस हैं, तो अब तक 56235 कोरोना मरीज ठीक होकर डिस्‍चार्ज हो चुके हैं। जबकि आज हुई 57 मौतों के साथ दिल्‍ली में कोरोना वायरस की बीमारी से मरने वालों को आंकड़ा 2680 पर पहुंच गया।


मुंबईः होटल ताज को उड़ाने की धमकी

मुंबई। होटल ताज को उड़ाने की धमकी दी गई है। ये धमकी फोन कॉल पर दी गई। होटल ताज के अलावा मुंबई के होटल कोलाबा और ताज लैंड्स एंड को भी ये धमकी भरा कॉल किया गया है. बताया जा रहा है कि ये कॉल बीती रात 12.30 बजे पाकिस्तान से किया गया है। धमकी के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात 12.30 बजे होटल ताज पैलेस के स्टाफ ने कॉल रिसीव किया। कॉल करने वाले शख्स ने बताया कि वह आतंकी संगठन लश्कर-ए तैयबा का सदस्य है। कॉल पर शख्स ने कहा कि होटल पर उनके लोगों द्वारा हमला किया जाएगा और उसे उड़ा दिया जाएगा जैसे कि नवंबर 2008 में हुआ था।


इसके बाद दूसरा फोन कॉल बांद्रा के होटल ताज लैंड्स एंड में किया गया। वहां भी कॉल रिसीव करने वाले स्टाफ को इसी अंदाज में धमकी दी गई। बताया जा रहा है कि दोनों जगह एक ही नंबर से कॉल किया गया, जो पाकिस्तान का था। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुंबई पुलिस ने होटल की सुरक्षा बढ़ा दी है। साइबल सेल मामले की जांच में जुट गया है। टेलीकॉम विभाग से भी मदद ली जा रही है ताकि कॉल करने वाली की लोकेशन पता लगाई जा सके।


95 मेहमान संक्रमित, दूल्हे की मौत

पटना। बिहार की राजधानी पटना में सोमवार को एक साथ 95 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए और दूल्हे की मौत हो गई है। पूरा मामला पटना से तकरीबन 50 किलोमीटर दूर पालीगंज इलाके का है, जहां पर 15 जून को एक शादी में शामिल 95 मेहमान कोरोना संक्रमित हो गए। इनमें से 80 लोगों की कोरोना रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई।


जानकारी के मुताबिक, 30 वर्षीय दूल्हा गुरुग्राम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम करता था और शादी करने के लिए 12 मई को पटना अपने गांव डीहपाली आया था। इसी दौरान उसके अंदर कोविड-19 के लक्षण पाए गए मगर परिवार वालों ने जांच कराने के बजाए उसकी शादी करवा दी।


शादी के 2 दिन बाद ही उसकी तबीयत काफी बिगड़ गई और पटना एम्स ले जाने के दौरान ही उसकी मौत हो गई। इस पूरे मामले की भनक जब जिला प्रशासन को लगी तो शादी में शरीक हुए सभी मेहमानों की कोरोना जांच कराई गई। जांच के बाद 15 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए और अन्य 80 लोगों का रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आया। हालांकि, कोविड-19 जांच में दुल्हन संक्रमित नहीं मिली और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। प्रशासन ने बताया है कि इस पूरे मामले में कोविड-19 के बचाव के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई. प्रशासन ने किसी भी विवाह समारोह में केवल 50 लोगों के शिरकत करने की इजाजत दे दी हुई है मगर इस शादी गांव के सैकड़ों लोग शामिल हुए थे।


भीलवाड़ा में 250 लोगों को बुलाना पड़ा था महंगा


इससे पहले राजस्थान के भीलवाड़ा में एक शादी समारोह में 250 लोगों को बुलाना दूल्हे के घरवालों पर भारी पड़ गया। बारात में कोरोना का संक्रमण ऐसा फैला कि शादी समारोह में हिस्सा लेने वाले 15 लोग संक्रमित हो गए। जबकि कोरोना की वजह से दूल्हे के दादा की मौत भी हो गई। दूल्हा और उसके पिता समेत सभी 15 लोगों को अस्पताल में पर भर्ती कराया गया था। राजस्थान सरकार ने बारात में गए 127 लोगों को क्वारनटीन किया है और इनके क्वारनटीन फैसिलिटी और इलाज पर होने वाले खर्च का जुर्माना दूल्हे के पिता पर लगाया है। अभी तक 6 लाख 26 हजार 600 रुपये का खर्च क्वारनटीन फैसिलिटी और कोरोना इलाज पर हुआ है।


अभियान में मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

अनंतनाग। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के वघामा इलाके में मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच शुरू हुई मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया गया है। फिलहाल पूरे इलाके को घेरकर सुरक्षाबलों और पुलिस द्वारा तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।


मालूम हो कि अनंतनाग के ही रूनीपोरा इलाके में सोमवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए थे। मारे गए आतंकियों के पास से एक एके 47 राइफल और 2 पिस्तौल बरामद की गई थी। बता दें कि सोमवार को इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर एसओजी, सेना की 19-आरआर(राष्ट्रीय राइफल्स) और सीआरपीएफ ने तलाशी अभियान शुरू किया था। इस दौरान खुद को घिरा देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम पर फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाला और कई घंटे चली मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया। बता दें कि दक्षिण कश्मीर में इस महीने 14 मुठभेड़ों में अब तक 36 आतंकियों का सफाया किया गया है।


डीजीपी दिलबाग सिंह ने सोमवार को बताया था कि अनंतनाग में हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकी और हिजबुल कमांडर मसूद मारा गया है। उन्होंने कहा था कि मसूद के मारे जाने के बाद जम्मू संभाग का डोडा जिला पूरी तरह से आतंक मुक्त हो गया है। 


ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों की हत्या

सोनीपत में ड्यूटी के दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या, रात को गश्त पर निकले थे दोनों पुलिसकर्मी



सोनीपत। हरियाणा पुलिस के दो जवानों की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है जहां घटना बुटाना गांव की पुलिस चौकी की बताई जा रही है। बता दें कि बुटाना चौकी में तैनात एसपीओ कप्तान व हवलदार रविंद्र सोमवार रात को करीब 12 बजे गश्त के लिए चौकी से निकले थे। अज्ञात बदमाशों ने दोनों पुलिस कर्मचारियों की चौकी से करीब 500 मीटर दूर बंद हरियाली सेंटर के निकट गोली मारकर हत्या कर दी।



लॉकडाउन और ऑड-ईवन सिस्टम लागू

महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन
दुकानें ऑड-ईवन सिस्टम के तहत ही खुलेंगी


मुंबई। राज्य में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए सोमवार को महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया है। रविवार को राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि संक्रमितों की बढ़ती संख्या के चलते प्रदेश से 30 जून को लॉकडाउन नहीं हटाया जाएगा। उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन में धीरे-धीरे छूट दी जाएगी। महाराष्ट्र कोविड-19 महामारी से सबसे अधिक प्रभावित राज्य है।


राज्य के मुख्य सचिव अजॉय मेहता ने लॉकडाउन बढ़ाने का आदेश जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है। संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी उपाय के तहत यह कदम उठाया जा रहा है। महामारी ऐक्ट 1897 की धारा-2 और आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत पूरे महाराष्ट्र में 31 जुलाई 2020 मध्यरात्रि तक के लिए लॉकडाउन को बढ़ाया जाता है।
मुख्य सचिव की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि स्थानीय परिस्थितियों के मुताबिक संबंधित जिला कलेक्टर, म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के कमिश्नर जरूरी प्रतिबंध लागू कर सकते हैं। इसके तहत वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लोगों के आने-जाने और गैर जरूरी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।  मेहता के आदेश में कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान अब तक जिस तरह जरूरी वस्तुओं की दुकानें (दूध, सब्जी और दवाइयां) खुल रही थीं, वो वैसे ही खुलती रहेंगी। हालांकि बाकी दुकानों को ऑड-ईवन नियम के तहत ही खोला जाएगा। महाराष्ट्र सरकार ने 31 जुलाई तक लॉकडाउन को जारी रखने का एलान करते हुए कहा कि दफ्तरों में सीमित स्टाफ के साथ कामकाज किया जाएगा।


एमपीः मंत्रिमंडल विस्तार का अंतिम दौर

ऋतुराज द्विवेदी

भोपाल। शिवराज सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार अब अंतिम दौर में है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को दिल्ली में हैं और उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा , गृहमंत्री अमित शाह  के साथ बैठकों के बाद मंत्रियों की सूची को अंतिम रूप दे दिया। अब शाम चार बजे प्रधानमंत्री के साथ शिवराज सिंह चौहान की मुलाकात है। इधर, मध्यप्रदेश में मंत्रियों के नामों पर अटकलों का दौर तेज हो गया है। मध्यप्रदेश में 30 जून को मंत्रिमंडल का विस्तार संभावित है। इससे एक दिन पहले ही उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्यप्रदेश के राज्यपाल पद का अतिरिक्त प्रभार दे दिया गया है। यह प्रभार राज्यपाल लालजी टंडन  के अस्पताल में भर्ती होने के कारण दिया गया है। संभावना है कि आनंदीबेन पटेल 30 जून को नए मंत्रियों को शपथ दिलाएंगी।

अमित शाह के साथ हुई लंबी बातचीत

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार से ही दिल्ली में हैं। वे पार्टी के आला नेताओं के साथ मैराथन बैठक बैठकें कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक नए मंत्रियों की सूची पर अंतिम मोहर लग गई है। शिवराज की गृहमंत्री अमित शाह के साथ भी लंबी चर्चा हुई, जिसमें नामों को अंतिम रूप दिया गया। चौहान सोमवार शाम को ही भोपाल पहुंच जाएंगे और  शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है।

इनसे भी हुई मुलाकात

इससे एक दिन पहले रविवार को शिवराज ने संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोश के साथ चर्चा की और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से भी मिलने गए। दोनों नेताओं के साथ मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा हुई। इसके बाद रविवार शाम को ही आठ बजे पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करने उनके बंगले पर गए। यहां दो घंटे तक दोनों में चर्चा हुई।इसी के बाद रात में गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर पहुंचे, शिवराज के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन मंत्री सुहास भगत, प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे भी पहुंचे थे। बताया जाता है कि अमित शाह के आवास पर पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी पहुंच गए थे। सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल के लिए क्षेत्र, वर्ग और सबसे अहम उपचुनाव को ध्यान में रखते हुए नामों पर मंथन हुआ।

अभी हैं सिर्फ 5 मंत्री

फिलहाल शिवराज मंत्रिमंडल में केवल 5 मंत्री हैं और कयास लगाए जा रहे हैं कि मंत्रिमंडल में करीब 25 सदस्यों को शामिल किया जाएगा।

मध्यप्रदेश में हो सकते हैं दो डिप्टी सीएम

स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र भी दिल्ली पहुंच गए हैं। शिवराज कैबिनेट में शामिल किए गए पांच मंत्रियों में से तुलसी सिलावट और नरोत्तम मिश्रा को डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा है। वहीं

इनको भी मिल सकता है मंत्री पद

भोपाल से रामेश्वर शर्मा, पूर्व मंत्री विश्वास सारंग और एससी कोटे से विष्णु खत्री, रायसेन से पूर्व मंत्री रामपाल सिंह के नाम प्रमुखता से लिए जा रहे हैं। इंदौर से उषा ठाकुर का नाम सबसे आगे है। इंदौर से ही भाजपा विधायक रमेश मेंदोला, मालिनी गौड़ पर विचार हुआ है।

राष्ट्रपति ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट

तेहरान। ईरान ने बगदाद में ड्रोन हमले में एक शीर्ष ईरानी जनरल की मौत को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और दर्जनों अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर इसके लिए इंटरपोल से मदद मांगी है। एक स्थानीय अभियोजक ने सोमवार को यह जानकारी दी। ईरान के इस कदम से ट्रंप को गिरफ्तारी का कोई खतरा नहीं है लेकिन इन आरोपों से ईरान और अमेरिका के बीच बढ़ता तनाव स्पष्ट होता है।


ईरान और विश्व की प्रमुख शक्तियों के साथ हुए परमाणु समझौते से ट्रंप के अलग हो जाने के बाद दोनों देशों के बीच का तनाव फिर बढ़ गया था। तेहरान के अभियोजक अली अलकासीमहर ने कहा कि ईरान ने तीन जनवरी को बगदाद में हुए हमले में ट्रंप और 30 से अधिक अन्य लोगों के शामिल रहने का आरोप लगाया है। उसी हमले में जनरल कासिम सोलेमानी की मौत हो गयी थी। अर्ध-सरकारी संवाद एजेंसी आईएसएन की खबर के अनुसार अलकासीमर ने ट्रंप के अलावा किसी अन्य की पहचान नहीं की। लेकिन जोर दिया कि ईरान ट्रंप का कार्यकाल खत्म होने के बाद भी अभियोजन को जारी रखेगा।


फ्रांस के लियोन में स्थित इंटरपोल ने टिप्पणी के अनुरोध पर तत्काल कोई जवाब नहीं दिया. ऐसी संभावना नहीं है कि इंटरपोल ईरान के अनुरोध को स्वीकार करेगा क्योंकि उसके दिशानिर्देश के अनुसार वह किसी "राजनीतिक प्रकृति’’ के मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकता है।


अमेरिका ने हवाई हमले में कासिम सुलेमानी को मारा था


अमेरिका और ईरान के बीच तनाव के के चलते अमेरिका ने सैन्य कार्रवाई किया था। इस दौरान अमेरिकी स्ट्राइक में ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड (IRGC) के वरिष्ठ जनरल और क़ुद्स फोर्स कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। साथ ही इराक में ईरान समर्थित पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स के कमांडर अबू मेहंदी अल मुहंदीस भी मारा गया था।


खुफिया ऑपरेशन्स का प्रभारी माना जाता था जनरल सुलेमानी


ध्यान रहे कि रिवोल्यूशनरी गार्ड ईरानी सशस्त्र सेना काही अंग है। हालांकि अमेरिका ने अप्रैल 2019 में इसे आतंकी संगठन घोषित कर दिया था। हालांकि जनरल सुलेमानी की मौत का सबब बनी अमेरिकी कार्रवाई अपने तरह की एक रेयर घटना थी जिसमें अमेरिका ने किसी मुल्क के सैन्य कमांडर को मारा हो। जनरल सुलेमानी को IRGC के विदेशों में चल रहे खुफिया ऑपरेशन्स और ईरान समर्थित गुटों के संचालन का प्रभारी माना जाता था।


रेड कॉर्नर का मतलब


यह नोटिस वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी या उनके प्रत्यर्पण को हासिल करने के लिए जारी किया जाता है। रेड कार्नर नोटिस की मदद से गिरफ्तार किए गए अपराधी को उस देश भेज दिया जाता है जहां उसने अपराध किया होता है। वहीं उस पर उस देश के कानून के हिसाब से मुकदमा चलता है और सजा दिलाई जाती है।जिस व्यक्ति के खिलाफ “इंटरपोल” ने रेड कार्नर नोटिस जारी किया है; इंटरपोल उस वांछित व्यक्ति को गिरफ्तार करने के लिए किसी सदस्य देश को मजबूर नहीं कर सकता है।


पांच चरणों में होकर गुजरती है नींद




नींद लेना हम सबका रोज का काम है, लेकिन क्या आपको ये पता है कि आपकी नींद इस दौरान कई चरणों से होकर गुजरती है। सोते समय आपका मस्तिष्क (Brain) क्या करता है आइए जानते हैं इन सवालों के जवाब।


मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। सेहतमंद रहने के लिए जितना जरूरी अच्छा भोजन है उतना ही जरूरी है अच्छी नींद लेना। नींद पूरी नहीं होने के कारण कई बार शरीर के अंग ठीक से काम नहीं करते हैं, जिसकी वजह से लोग बीमार पड़ जाते हैं। नींद की कमी के कारण आपकी मानसिक सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। स्वस्थ( Healthy) रहने के लिए पर्याप्त नींद लेना चाहिए ये बात बहुत से लोग जानते हैं, लेकिन नींद के कई चरण होते हैं और इस दौरान मस्तिष्क कई महत्वपूर्ण काम करता है। इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। आइए आज हम आपको बताते हैं कि नींद के दौरान आपके मस्तिष्क में क्या गतिविधियों होती हैं।




 


अच्छी नींद मतलब गहरी नींद में सोना


 इंसान जब गहरी नींद में सोता है तो शरीर मांसपेशियों की मरम्मत करता है। इससे हड्डियों को भी आराम मिलता और उनका हेल्दी विकास होता है। इसके साथ ही जब आप एक बेहतर नींद में सोते हैं तो आपके हार्मोन का प्रबंधन अच्छा रहता है। जो लोग अच्छी नींद लेते हैं उनकी याददाश्त बहुत अच्छी हो जाती है। ऐसे लोग अपनी यादों को क्रमबद्ध कर पाते हैं और सुबह एक्टिव नजर आते हैं। इसलिए गहरी नींद में सोना फायदेमंद माना जाता है।


नींद के पांच चरणडॉक्टरों के अनुसार नींद के 5 चरण होते हैं, जिसमें REM और गैर-REM नींद दोनों शामिल हैं, जिसे हम हर रात में चक्रित करते हैं। ये सारी गतिविधियां आपके दिमाग में होती हैं पर आप नींद में होते हैं इसलिए आपको कुछ पता नहीं चल पाता है।


पहला चरण: नींद का शुरुआती चरण
नींद का यह चरण होता है गैर-आरईएम। यह चरण तब होता है जब आप सोना शुरू करते हैं और आम तौर पर यह सिर्फ कुछ ही मिनटों तक रहता है। ये एक शुरुआती प्रोसेस होता है। इस चरण के दौरान


सांस और दिल की धड़कन धीमी हो जाती है।
मांसपेशियां शिथिल होने लगती हैं।
आप अल्फा और थीटा दिमागी तरंगों का उत्पादन करते हैं।


दूसरा चरण: यह शरुआत के बाद 25 मिनट का चरण गैर-आरईएम नींद का यह अगला चरण होता है। यह एक हल्की नींद की अवधि होती है। गहरी नींद में प्रवेश करने से पहले ये लगभग 25 मिनट तक रहता है। इसमें
दिल की धड़कन और कम हो जाती है।
कोई आई मूवमेंट नहीं होता है।
शरीर का तापमान कम हो जाता है।
दिमाग की तरंगें ऊपर और नीचे फैलती हैं, जिससे “स्लीप स्पिंडल” का निर्माण होता है।


तीसरा और चौथा चरण: गहरी नींद की शुरुआत गैर-आरईएम नींद के ये दोनों चरण सबसे गहरी नींद के चरण हैं। इन चरणों को धीमी गति, या डेल्टा नींद के रूप में भी जाना जाता है। आपका शरीर इन अंतिम नॉन-आरईएम चरणों में कई महत्वपूर्ण हेल्थ को बढ़ावा देने का कार्य करता है। इन चरणों के दौरान-
-नींद से उत्तेजना होती है।
-दिल की धड़कन और श्वास सबसे कम गति से चलती है।
-आई मूवमेंट शांत हो जाता है।
-शरीर पूरी तरह से आराम करता है।
-डेल्टा दिमागी तरंगें मौजूद हो जाती हैं।
– मांसपेशियों की मरम्मत, विकास और सेल पुनर्जनन होता है।
-प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है।


पांचवां चरण: REM नींद मतलब सपने देखने वाला चरण। इस चरण में जब आप सो जाते हैं तो तेजी से आंखों की गति का चरण लगभग 90 मिनट तक चलता है, और नींद का प्राथमिक सपना देखने का चरण शुरू होता है। आरईएम नींद पहली बार लगभग 10 मिनट तक रहती है, हर एक आरईएम चक्र के साथ बढ़ती है। आरईएम नींद का अंतिम चक्र लगभग 60 मिनट तक रहता है। इस चरण के दौरान-


-आंखों की गति तेज हो जाती है।
-श्वास और दिल की दर बढ़ जाती है।
-अंग की मांसपेशियां अस्थायी रूप से शिथिल हो जाती हैं।
-दिमाग की गतिविधि स्पष्ट रूप से बढ़ जाती है।
-सपने देखते हैं और अपनी यादों को बटोरने लगते हैं।





भारत-जापान के बीच नौसैनिक युद्धाभ्यास


भारत और जापान के बीच नौसैनिक युद्धाभ्यास कोई नई बात नहीं है लेकिन वर्तमान अभ्यास को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।


नई दिल्ली। चीन के साथ बीते डेढ़ महीने से चल रहे सीमा विवाद के बीच भारत और जापान की नौसैनाओं ने हिंदमहासागर में युद्धाभ्यास किया है। ये युद्धाभ्यास शनिवार को किया गया और दोनों सेनाओं की तरफ से इसकी घोषणा रविवार को की गई। सेनाओं की तरफ से इसे आपसी समझ को बढ़ाने वाला करार दिया गया है। युद्धाभ्यास में दोनों ही देशों के दो-दो पोतों ने हिस्सा लिया। भारत की तरफ से नेवी के ट्रेनिंग पोत आईएनएस राणा और आईएनएस कुलीश शामिल हुए तो जापान की तरफ से जेएस काशिमा और जेएस शिमायुकी शामिल हुए। हालांकि दोनों ही सेनाओं की तरफ से इसे रूटीन अभ्यास के तौर पर प्रदर्शित किया जा रहा है लेकिन इसे चीन के साथ सीमा विवाद के नजरिए से भी देखा जा रहा है।




हिंदुस्तान में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक नेशनल मैरिटाइम फाउंडेशन के महानिदेशक वाइस एनमिरल प्रदीप चौहान ने कहा है कि हम रणनीतिक संचार के लिए युद्धाभ्यास कर रहे हैं। हमारे नौसैनिक युद्धाभ्यास से ज्यादा रणनीतिक संचार को मजबूत करने लिए अभ्यास कर रहे हैं। चौहान के मुताबिक मित्र देशों के साथ नजदीकी संबंधों की जरूरत होती है। और चीन भी इस बात को जानता है कि उसकी जापान और अमेरिका के साथ पुरानी अनबन है।



आमिर की टीम के 7 लोग संक्रमित मिलें

मनोज कुमार


मुम्बई। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच बॉलीवुड भी अछूता नहीं हैं। अब आमिर खान के टीम के 7 सदस्यों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की बात सामने आई है। एबीपी न्यूज के मुताबिक आमिर खान की टीम में जो 7 लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हुए हैं, उनमें आमिर खान का एक ड्राइवर, उनके दो सुरक्षाकर्मी और एक रसोईया भी शामिल हैं।




 



आमिर खान की ओर से एबीपी न्यूज़ को जारी एक बयान में कहा गया है, “मैं आप लोगों को सूचित करना चाहता हूं कि मेरे स्टाफ के कुछ सदस्यों को कोरोना पॉजिटिव है। इसका पता चलते ही उन्हें तुरंत क्वारंटीन कर लिया गया है। बीएमसी के अधिकारियों ने प्रभावी कदम उठाते हुए उन्हें तुरंत मेडिकल फैसिलीटी में ले गये। मैं बीएमसी का शुक्रगुजार हूं कि उनकी अच्छी तरह से देखभाल की जा रही है और उन्होंने तुरंत पूरी सोसायटी का अच्छी तरह से सैनिटाइजेशन किया है। हममें से बाकी लोगों का टेस्ट किया गया है और हम सबका टेस्ट नेगेटिव आया है। फिलहाल मैं अपनी मां के टेस्ट के लिए जा रहा हूं और वो आखिरी शख्स हैं जिन्हें इस सबके बारे में पता है। दुआ करें कि मेरी मां भी नेगेटिव निकलें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जुलाई 01, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-323 (साल-01)
2. बुधवार, जुलाई-01, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि- एकादशी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:28।


5. न्‍यूनतम तापमान 27+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.। तेज हवाओं के साथ बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...