शनिवार, 23 मई 2020

चीन ने कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया

बीजिंग। कोरोना संकट से जूझ रही पूरी दुनिया के लिए चीन से अच्छी खबर आई है। अमेरिकी दवा कंपनी मोडेर्ना द्वारा कोविड-19 वैक्सीन के पहले फेज के सफल ट्रायल की घोषणा के बाद अब शुक्रवार को शोधकर्ताओं ने कहा कि चीन में विकसित एक वैक्सीन सुरक्षित लगती है और लोगों को खतरनाक कोरोना वायरस से बचा सकती है। द न्यू यॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन जर्नल लैंसेट में प्रकाशित शुरुआती चरण के परीक्षण का हवाला देते हुए कहा गया कि जिन लोगों को वैक्सीन की एक खुराक मिली उन्होंने कुछ प्रतिरक्षा कोशिकाओं (इम्यून सेल) का निर्माण किया, जिन्हें टी कोशिका (टी सेल) कहा जाता है। वैक्‍सीन की वजह से टी सेल (इम्यून सेल) दो हफ्तों में मजबूत हुए जो कोरोना संक्रमण से बचा सकते हैं। जबकि इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए शरीर में बनने वाले एंटीबॉडी वैक्सीन का डोज देने के 28 दिन बाद तैयार हुए।


कई प्रयोगशालाओं में शोधकर्ताओं द्वारा परीक्षण किया गया और इस ट्रायल में 18-60 आयु वर्ग के 108 प्रतिभागियों को शामिल किया गया। बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले 52 लाख से अधिक हो गए हैं। बोस्टन में बेथ इजराइल डीकॉन्से मेडिकल सेंटर में वैक्सीन अनुसंधान के निदेशक डॉ. डेनियल बारोच जो कि इस कार्य में शामिल नहीं थे, उन्होंने स्वीकार किया कि 'यह एक आशाजनक डेटा है' लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि यह 'शुरुआती डेटा है।' दरअसल, दुनियाभर में कई टीमें कोविड-19 के लिए वैक्सीन विकसित करने की दौड़ में शामिल हैं, मगर अब तक किसी को भी पूरी तरह से सफलता नहीं मिली है। डॉ बरोच और उनके सहयोगियों ने भी एक अध्ययन प्रकाशित किया, जिसमें कहा गया कि उनके प्रोटोटाइप वैक्सीन ने बंदरों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाया गया है। चीन की एडी-5 वैक्‍सीन को वायरस के साथ बनाया गया है, जो मानव कोशिका में जेनेटिक इंस्ट्रक्शन को ले जाता है। उसके बाद कोशिका कोरोना वायरस प्रोटीन बनाना शुरू कर देती है। इम्यून सिस्टम यानी कि प्रतिरक्षा प्रणाली प्रोटीन को पहचानना और उस पर हमला करना सीखती है!


24 घंटे में वायरस से 5245 लोगों की मौत

न्यूयॉर्क। कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में थमने का नाम नहीं ले रहा है। दुनिया के 213 देशों में पिछले 24 घंटे में 107,706 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं। इसके अलावा 5,245 लोगों की मौत हो गई है। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनियाभर में अब तक करीब 53 लाख लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से 3 लाख 39 हजार 418 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

 

बता दें कि कोरोना वायरस से 21 लाख 56 हजार 288 लोग ठीक भी हुए हैं। दुनिया के करीब 75 फीसदी कोरोना के मामले सिर्फ 12 देशों से आए हैं। इन देशों में कोरोना पीड़ितों की संख्या 40 लाख है। दुनियाभर के कुल मामलों में से करीब एक तिहाई मामले अमेरिका में सामने आए हैं और करीब एक तिहाई मौतें भी अमेरिका में हुई हैं। अमेरिका के बाद यूके में कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है, जहां 36,393 लोगों की मौतों के साथ कुल 254,195 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।

दुबई का 70 फीसदी बिजनेस 6 माह तक बंद

दुबई। चेंबर ऑफ़ कॉमर्स के एक सर्वे के अनुसार दुबई के तकरीबन 70 प्रतिशत बिज़नेस अगले छह महीने में कोरोना वायरस महामारी की वजह से बंद हो सकते हैं। गुरुवार शाम को इस सर्वे का नतीजा जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि ‘दुबई की 90 प्रतिशत से अधिक कंपनियों के मुताबिक़ 2020 की पहली तिमाही में उनकी सेल और टर्नओवर में भारी गिरावट दर्ज की गई है।’दुबई चेंबर ऑफ़ कॉमर्स के अनुसार महामारी की वजह से हुई वैश्विक आर्थिक सुस्ती का सबसे ज़्यादा असर छोटे और मझौले उद्योगों पर पड़ा है। पर्यटन क्षेत्र से जुड़ी अधिकांश कंपनियों, रियल एस्टेट की आधे से ज़्यादा कंपनियों, होटल-रेस्त्रां मालिकों समेत रिटेल उद्योंगों से जुड़े लोगों का कहना है कि उनके काम में 70 प्रतिशत की गिरावट आ चुकी है और दूसरी तिमाही के नतीजे और भी भयानक होंगे। सर्वे में शामिल हुईं 48 प्रतिशत कंपनियों ने कहा है कि उनके पास इस महामारी से पार पाने का कोई तैयार प्लान नहीं है। हालांकि इन कंपनियों ने यह भी कहा कि कोविड-19 के प्रकोप को सीमित करने के लिए उन्होंने कुछ उपाय किए हैं ताकि उनके मुलाज़िमों पर इसका कम असर पड़े। दुबई स्थित कंपनियों पर कोरोना वायरस महामारी के असर को कम करने के लिए क्या किया जा सकता है, इस बारे में दुबई चेंबर ऑफ़ कॉमर्स ने कुछ सुझाव भी दिए हैं। संस्था ने कहा है कि कंपनियों को क़ानूनी कार्यवाहियों से राहत मिलनी चाहिए, किराये में कुछ रियायत मिलनी चाहिए, उससे जुड़े सरकारी ख़र्चों में कुछ कमी की जानी चाहिए, साथ ही सरकारी फ़ीस माफ़ी के अलावा इन्हें फ़ाइनेंस मुहैया कराने की ज़रूरत है। संयुक्त अरब अमीरात में गुरुवार को कोविड-19 की वजह से चार और लोगों की मौत हुई है। स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 892 नए मामले भी सामने आए हैं जिन्हें मिलाकर अब तक संक्रमण के क़रीब 27 हज़ार मामलों की पुष्टि हो चुकी है।


भारत-चीन सेना के बीच हुई थी हाथापाई


  • लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे

  • सीमा पर लिया तैयारियों का जायजा

  • भारत-चीन की सेना के बीच हुई थी हाथापाई


लद्दाख। भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने लद्दाखका दौरा किया। भारत और चीन में बढ़ते तनाव के बीच सेना प्रमुख से यह दौरा किया। इस दौरान नरवणे के साथ सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल वाई.के. जोशी भी थे. हालांकि सेनाप्रमुख अग्रिम चौकियों पर नहीं गए, पर पूरे हालात का जायजा लिया। इसी इलाके में पिछले दिनों भारत और चीन की सेना के बीच हाथापाई हुई थी। सेना प्रमुख ने शुक्रवार को भारतीय सेना की तैयारियों का निरीक्षण भी किया। बता दें कि चीन के साथ सीमा क्षेत्र को लेकर जारी तनातनी पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को दावा किया कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) से लगे क्षेत्र के पास भारत को गश्‍त लगाने में चीन बाधा डाल रहा है। भारतीय सैनिकों की घुसपैठ के कारण दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के चीन के आरोपों को भी मजबूती से खारिज किया।

तस्कर का भी मजा, मार रहे 'नाबालिक' दम

अतुल त्यागी

 

धौलाना क्षेत्र से संपर्क सूत्रों के हवाले से खबर सट्टाबाजों की हो रही बल्ले बल्ले गांजा तस्कर भी ले रहे मजा सीक्रेट में मार रहे नाबालिक दम

 

हापुड़। थाना धौलाना क्षेत्र में सट्टा और गांजा जोरों पर चल रहा है। गांजा भर सीक्रेट में पीने का नाबालिक बच्चे का सोशल मीडिया पर वीडियो बड़ी तेजी से हो रहा है। वायरल पुलिस का नहीं खौफ।

 

थाना धौलाना क्षेत्र के मोहल्ला पेट का चबूतरा बड़ा मोहल्ला विश्वकर्मा गली बाल्मीकि गली बड़ा बाजार मैं चल रहा है सट्टे का कारोबार फोन पर ही हो रहा है। लाखों में सट्टा पुलिस का बिल्कुल भी नहीं सट्टेबाजों को खौफ संपर्क सूत्रों के हवाले से खबर।

 

वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर बड़े तेजी से एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें नाबालिक बच्चा सिगरेट में गांजा भरता हुआ अपने कुछ साथियों के साथ बैठा हुआ दिखाई दे रहा है यह पुलिस के लिए भी बड़ी चुनौती है आखिर अपराधियों के हौसले इतने बुलंद क्यों हैं क्या पुलिस का बिल्कुल भी खौफ नहीं रहा बड़ा सवाल।

छत्तीसगढ़ में मरीजों की संख्या-175

छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 40 नए केस.. एक्टिव मरीज कुल मरीजो की संख्या 175 

 

बृजेश केसरवानी

 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के अब तक के सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज मिले। प्रदेश में आज एक ही दिन में प्रदेश में 40 नये मरीज मिले हैं। सुबह और दोपहर तक कोरोना के 19 मरीज मिले थे, देर शाम उसमें 21 और नये मरीज जुड़ गये। प्रदेश में अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 110 हो गई है।

 

आज कहाँ कितने मरीज मिले देखिए

 

जिलों में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या पहुंची 110

 

राज्य में अब एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 110 हो गई है. जिसमें कांकेर 5, बिलासपुर 10, रायगढ़ 5, राजनांदगांव 11, बालोद 18, कोरिया 1, कवर्धा 7, जांजगीर 12, बलौदाबाजार 14, गरियाबंद (राजिम) 4, सरगुजा 3, सूरजपुर 1, कोरबा 13, मुंगेली 3, रायपुर 1, बेमेतरा 1, बलरामपुर 1 मरीज शामिल है।

महिला नवजात को लेकर पैदल गई थानें

अतुल त्यागी, हरेन्द्र शर्मा

 

हापुड़। थाना बाबूगढ़ इंचार्ज उत्तम सिंह राठौर अपने सराहनीय कार्यों से खुद लोगों के मन में जगह बना लेते हैं। जिसका नजारा आज उस वक्त देखने को मिला जब एक महिला नवजात बच्चे को लेकर कई थाना क्षेत्रों की पुलिस के सामने पैदल ही निकल कर थाना बाबूगढ़ के सामने पहुंच गई।

 

थाना बाबूगढ़ इंचार्ज उत्तम सिंह राठौर अपने सराहनीय कार्यों से अबसे पहले भी मीडिया की सुर्खियां बटोर चुके हैं। ऐसा ही मामला आज उस वक्त संज्ञान में आया जब एक महिला दिल्ली से गाजियाबाद होते हुए कई थाना क्षेत्रों को लांग कर अपने 12 दिन  के नवजात बच्चे को गोद में दिल्ली के अस्पताल से छुट्टी होने के बाद पैदल लेकर थाना बाबूगढ़ की तरफ जाती हुई दिखाई दी थाना बाबूगढ़ इंचार्ज उत्तम सिंह राठौर ने अपनी मानवता की मिसाल को पेश करते हुए तपती दोपहरी में सड़क पर पहुंचकर महिला से पैदल जाने के बारे में पूछताछ की।

 

 महिला ने बताया दिल्ली के अस्पताल से डिलीवरी के 12 दिन बाद अस्पताल से छुट्टी हो गई कोई वाहन नहीं मिला इसलिए पैदल ही दिल्ली से संभल अपने घर जा रहे थे इतना सुनते ही उत्तम सिंह राठौर ने महिला और उसके पति  को खाना खिला कर एयर रास्ते के लिए पानी बिस्कुट उपलब्ध कराकर बस की व्यवस्था कराने में देर नहीं लगाई और चंद मिनटों के अंदर ही महिला को रोडवेज बस की सुविधा उपलब्ध कराकर महिला को नवजात बच्चे के साथ उसके घर पहुंचाने की व्यवस्था कि।

 

 महिला और उसके पति ने थाना बाबूगढ़ इंचार्ज उत्तम सिंह राठौर का धन्यवाद दिया उन्होंने बताया कई  थानों की पुलिस  रास्ते में मिली किसी ने भी हमें सुविधा मुहैया नहीं कराई अब से पहले भी गरीबों के दिल में जगह बना चुके हैं थाना बाबूगढ़ स्पेक्टर उत्तम सिंह राठौर।

ब्रिगेड ने क्वारंटाइन सेंटर किया सैनिटाइज

सीपीएस में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर को फायर ब्रिगेड ने किया सैनिटाइज

 

लॉक डाउन के बाद से लगातार प्रवासी आ जा रहे

 

सुनील पुरी

 

बिंदकी फतेहपुर। चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल में बने क्वॉरेंटाइन  सेंटर का फायर ब्रिगेड द्वारा व्यापक रूप से सैनिटाइज किया गया क्वॉरेंटाइन सेंटर में पिछले 2 महीने से लगातार प्रवासी आ रहे हैं और कोरेंटिन होने के बाद गांव घरों को वापस चले जाते हैं। नगर के निकट फरीदपुर मोड़ स्थित चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जिसके बाद से लगातार यहां पर विभिन्न प्रांतों तथा शहरों के प्रवासी कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के लिए रखे जाते हैं। यहां पर उनको कोरेंटिन कराया जाता है, ताकि कोरोना वायरस संक्रमण की कोई शंका न रह जाए चिकित्सकों द्वारा लगातार स्वास्थ्य परीक्षण किया जाता है। थर्मल स्क्रीन की जाती है। जब प्रवासी पूरी तरह से 14 दिन स्वस्थ पाए जाते हैं। इसके बाद गांव करूं को भेज दिया जाता है। लगातार प्रवासियों के आने के कारण चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल का कोरेन सेंटर सैनिटाइज किया गया फायर ब्रिगेड ने व्यापक रूप से दवा का छिड़काव किया इस मौके पर फायर स्टेशन बिंदकी के प्रभारी ओम जी शर्मा के अलावा फायर स्टेशन के वेद प्रकाश अशोक कुमार श्याम मिश्रा राम कुमार सहित कई लोग मौजूद रहे।

नशेड़ी युवक ने 4 को पीट, किया घायल

नशेड़ी युवक ने परिवार के चार सदस्यों को पीट कर किया घायल

 

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया भर्ती

 

सुनील पुरी

बिंदकी फतेहपुर! नशेड़ी युवक ने परिवार के चार सदस्यों को पीट कर घायल कर दिया सभी घायलों को ग्रामीणों ने इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया काफी देर चले उपचार के बाद हालत में सुधार हुआ तो वापस घर गए।

 

जानकारी के अनुसार थाना कल्याणपुर क्षेत्र के गौसपुर गांव में नशेड़ी युवक इंद्रसेन ने अपनी मां सुनीता देवी उम्र 40 वर्ष बहन सीमा देवी उम्र 23 वर्ष छोटी बहन सोनी देवी उम्र 19 वर्ष तथा वृद्ध दादी सुशीला देवी उम्र 65 वर्ष को लाठी-डंडों से पीटकर घायल कर दिया। ग्रामीणों ने शोर चुना तो आवाज लगाई जिस पर आरोपी युवक मौके से भाग निकला सभी घायलों को ग्रामीण निजी वाहन से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जिंदगी पहुंचे जहां पर काफी देर चले उपचार के बाद जब सभी की हालत में थोड़ा सुधार हुआ तो उन्हें गांव ले जाया गया। युवक द्वारा नशे की हालत में अपने ही मां और परिवार के सदस्यों के साथ मारपीट करने पर ग्रामीणों में नाराजगी का माहौल रहा यदि मौके पर आरोपी वक्त मिल जाता तो ग्रामीण पिटाई कर सकते थे लेकिन मौके से आरोपी भाग निकला।

चंबल में बसपा की जीत संभव नहीं

मालवा मे बसपा का नहीं है जनाधार


उज्जैन।मालवा मे बसपा का कोई भी जनाधार नहीं है उज्जैन संभाग में आगर विधानसभा में उप चुनाव होना है । यहां पर कांग्रेस और भाजपा की टक्कर का माना जा रहा है।मालवा क्षेत्र से बसपा ने उम्मीदवार घोषित किए थे लेकिन उनकी जमानत जप्त हो गई थी। 


यह विधानसभा उपचुनाव राज्य की सियासत के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि राज्य की सत्ता पर काबिज पार्टी के पास बहुमत के लिए 116 विधायकों का होना जरूरी है और इस समय भाजपा के पास 107 ही विधायक हैं। इसलिए इस उपचुनाव में भाजपा के लिए कम से कम 9 सीटें जीतनी जरूरी है। कांग्रेस अब तक यही मानकर चल रही थी कि इन सभी 24 स्थानों पर उसका भाजपा से सीधा मुकाबला होगा और दलबदल करने वाले उम्मीदवारों को चुनाव के दौरान जनता को जवाब देना मुश्किल हो जाएगा। इस स्थिति का लाभ कांग्रेस के उम्मीदवारों को मिल सकेगा। 


बसपा ने कांग्रेस को डेढ़ साल तक सत्ता चलाने में मदद भी की थी। इसी बीच बसपा प्रमुख मायावती ने सभी 24 स्थानों पर उम्मीदवार उतारने का फैसला कर कांग्रेस की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। बसपा के चुनाव मैदान में उतरने से कांग्रेस की मुश्किल बढ़ने की वजह है। दरअसल, जिन 24 स्थानों पर चुनाव होना है, उनमें से ज्यादातर विधानसभा क्षेत्र ग्वालियर-चंबल संभाग के हैं और इस इलाके में बसपा के प्रभाव को कोई नकार नहीं सकता। यह क्षेत्र उत्तर प्रदेश की सीमा पर भी है। वहीं चंंबल संंभाग में सिंंधिया नरेंद्र सिंह तोमर, नरोत्तम मिश्रा जैसे दिग्गज नेताओं की कमी नहीं है। ऐसे में चंंबल संभाग मे बसपा की जीत आसान नहीं है ।


चेन्नई में पार्लर-सैलून की दुकानों को अनुमति

चेन्नई। तमिलनाडु सरकार रविवार से राज्य में ब्यूटी पॉर्लर और सैलून की दुकानों को फिर से खोलने के लिए अनुमति दे रहा है। कुछ दिन पहले लॉकडाउन 4 शुरू होने पर राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में पुरुषों के लिए केवल सैलून खोलने की अनुमति दी गई थी। हालांकि, ये सभी व्यवसाय चेन्नई और नियंत्रण क्षेत्रों में फिर से नहीं खुल सकते हैं। तमिलनाडु राज्य भारत में कोरोनावायरस के दूसरे सबसे अधिक मामले हैं।


हालांकि, इन दुकानों में किसी भी एयर कंडीशनिंग की अनुमति नहीं है। ये सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुले रह सकते हैं। राज्य सरकार ने कहा कि सैलून और ब्यूटी पार्लरों में सभी को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा और उनकी दुकानों को दिन में कम से कम पांच बार डिसइंफेक्ट किया जाए।


प्रयागराज में पलटी बस, 35 मजदूर घायल

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में प्रवासी मजदूरों की बस पलट गई है। हादसे में 35 मजदूर घायल हो गए हैं और तीन मजदूरों की हालत गंभीर है। बाकी घायल मजदूरों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि हादसा टायर फटने से हुआ है। बस जयपुर से वेस्ट बंगाल जा रही थी तभी प्रयागराज के नवाबगंज इलाके में यह हादसा हुआ। मौके पर ही प्राथमिक उपचार किया जा रहा है और गंभीर घायलों को अस्पताल भेजा जा रहा है।


देश में कोरोना संकट के चलते 24 मार्च से लॉकडाउन जारी है। लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों की परेशानी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। हालात से परेशान मजदूर पलायन करने को मजबूर हो गए हैं। इस भीषण पलायन के दौर में देश में अब तक कई मजदूर चलते-चलते रोड और ट्रेन एक्सीडेंट में मारे जा चुके हैं।


औरैया में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी


बता दें कि कुछ दिन पहले ही यूपी के औरेया में सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी। वहीं 35 लोग जख्मी हो गए थे. तब योगी सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये मुआवजा देने का एलान किया था। साथ ही बॉर्डर के दोनों SHO निलंबित कर दिए गए थे। लेकिन तब भी लॉकडाउन के बीच हाईवे पर इन दिनों दर्द का अंतहीन सिलसिला चल रहा है। रोजी-रोटी के संकट के बीच प्रवासी मजदूर भयानक हालातों में अपने घरों को लौट रहे हैं। मजदूरों के पलायन की चौंकाने वाली तस्वीरें हर दिन सामने आ रही हैं। अब भी इसमें कोई सुधार होता नहीं दिख रहा है।


निर्माण कार्यों को पूर्ण करने का दिया निर्देश

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि मानसून से पहले मोहद्दीपुर से जंगल कौड़िया, असुरन से मेडिकल कॉलेज रोड और कॉलेसर-जंगल कौड़िया फोरलेन बाईपास का निर्माण पूरा किया जाए। 


निर्माण के लिए जिम्मेदार संस्थाएं  लापरवाही पर स्वयं को कार्रवाई झेलने के लिए तैयार रखें। संबंधित अधिकारियों पर भी कार्रवाई होगी, इसलिए लापरवाही किसी स्तर पर न की जाए बल्कि शिफ्ट में ड्यूटी लगा कर दिन रात काम किया जाए। सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बचाव के बीच विकास कार्यो की रफ्तार भी बनाए रखनी होगी। बैठक में डीएम ने 15 जून तक निर्माण कार्य पूरा करने का सीएम को आश्वासन दिया।


सीएम शुक्रवार को अपराह्न गोरखनाथ मंदिर में जिले में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में  कमिश्नर जयंत नार्लिकर, डीआईजी राजेश डी मोदक, डीएम के विजयेंद्र पांडियन, एसएसपी डॉ सुनील गुप्ता, जीडीए उपाध्यक्ष अनुज ‌सिंह समेत लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने मोहद्दीपुर-जंगल कौड़ियां फोरलेन के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। डीएम ने बताया कि यातायात तिराहे से लेकर धर्मशाला चौराहे के बीच मौजूद शनिदेव और दुर्गा मंदिर समेत अन्य धार्मिक स्थल हटा दिए गए हैं। इसके अलावा अतिक्रमण भी हटाया जा रहा है। कुछ लोगों ने स्वयं भी अतिक्रमण हटा लिया है। इन दिनों मलबा हटाया जा रहा है। सीएम ने कहा कि फोरलेन के निमाण में तेजी लाए। मानसून से पहले दिन और रात की शिफ्ट लगा कर काम कराया जाए। सीएम योगी ने गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन और एचयूआरएल खाद कारखाने के निर्माण की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की। कहा कि तय समय में प्रोजेक्ट पूर्ण नहीं हुए तो जिम्मेदार कार्रवाई के लिए तैयार रहें। 


ज्यादा से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को जोड़े
सीएम ने कहा कि विभिन्न प्रांतों से प्रवासी मजदूर और कामगार गोरखपुर लौट रहे हैं। इन कामगारों एवं मजदूरों को जिले में चल रहे विकास के प्रोजेक्ट से जोड़े। इससे न केवल उन्हें अपने घर के निकट रोजगार मिलेगा, उनके कौशल का भी हम उचित इस्तेमाल कर पाएंगे। ऐसे मजदूरों की मैपिंग करा कर उनकी क्षमता आंकलन कर उन्हें वैसे कामों में लगाए। निर्देश दिया कि निर्माण स्थलों पर कोविड 19 के बचाव संबंधी दिशा निर्देश का अनुपालन कराया जाए। सैनेटाइजर, मास्क, हाथ धोने के लिए साबुन और पानी इंतजाम के साथ सोशल डिस्टेंसिंग भी ध्यान रखा जाए।
 
15 जून तक पूरे किए जाएंगे निर्माण कार्य
बैठक में सीएम को डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने आश्वस्त किया कि बारिश के पूर्व 15 जून तक विकास संबंधी प्रोजेक्ट पूर्ण कर लिए जाएंगे। इसके लिए शनिवार से भी सभी संबंधित को निर्माण कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए जाएंगे।


डोनाल्ड ट्रंप ने दो संस्थाओं पर लगाया बैन

न्यूयॉर्क। चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस के दुनियाभर में फैलने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन को लेकर काफी हमलावर रहे हैं। अब ट्रंप प्रशासन ने चीन की दो संस्थाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है। इनमें से एक संस्था सैन्य प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ा रही थी, तो दूसरी संस्था बीजिंग में चीन के मुस्लिमों पर हुए हमलों का समर्थन कर रही थी। दोनों को अमेरिकी प्रशासन ने प्रतिबंधित कर दिया है। 


वाणिज्य विभाग ने शुक्रवार को पश्चिमी चीन में झिंजियांग उइगुर स्वायत्त क्षेत्र में कथित मानव अधिकारों के उल्लंघन में को लेकर नौ संस्थाओं के नाम दिए थे। सूची में सात कंपनियों को शामिल किया गया है जो क्षेत्र में उच्च-प्रौद्योगिकी निगरानी में बीजिंग की सहायता करते हैं।


इसके अलावा अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने चीन, हांगकांग और केमैन आइलैंड्स में स्थित 24 चीनी वाणिज्यिक और सरकारी संस्थाओं को टारगेट किया है। इन सभी 33 संस्थाओं को ब्लैकलिस्ट में जोड़ा गया, जिन्हें राष्ट्रीय-सुरक्षा को लेकर खतरे के रूप में माना जाता है या समझा जाता है कि ये सभी अमेरिका की विदेश नीति के विपरीत गतिविधियों में लगे हुए हैं।


इससे पहले सप्ताह की शुरुआत में, व्हाइट हाउस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल के निदेशक लैरी कुडलो ने कहा था कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से विश्व की दो बड़ी इकॉनमी के बीच चल रहे तनाव से डील पर कोई असर नहीं पड़ेगा।


चीन ने भी साधा अमेरिका पर निशाना


अमेरिका और चीन के रिश्तों में कोरोना वायरस को लेकर आई तल्खी के बीच चीन ने भी अमेरिका पर निशाना साधा। चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) मामले में अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स के बयान पर चीन ने कड़ी आपत्ति जताते हुए बयान को गैर जिम्मेदाराना बताया और कहा  कि अमेरिका ने चीन और पाकिस्तान के संबंधों को खराब करने की नाकाम कोशिश की है। पाकिस्तान ने भी वेल्स के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि सीपीईसी को लेकर कोई अंदेशा नहीं होना चाहिए, उसे इस परियोजना से लाभ हुआ है।


4 मस्जिदों में जुटे 180 लोग, पुलिस ने दौड़ाया

पुलिस ने खदेड़ा चार मस्जिदों में जुटे थे लगभग 180 लोग


अंबेडकरनगर। नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा दरगाह में लॉक डाउन का उल्लंघन कर शुक्रवार को रमजान महीने की अलविदा की नमाज अदा करने के लिए जुटे सैकड़ों नमाजियों को महंगा पड़ गया।इस मामले में बसखारी पुलिस बनाए गए वीडियो के आधार पर लोगों की शिनाख्त कर मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई में जुट गई है। बता दें कि तीन चरण के लाक डाउन के दौरान ग्रीन जोन में रहने वाले जनपद में कुल अब तक 30 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जाने के कारण जनपद रेड जोन की श्रेणी में आ गया है। बावजूद इसके शुक्रवार को बसखारी थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थित नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा के दरगाह में रमजान महीने की अलविदा की नमाज अदा करने के लिए लगभग 180 लोग चार अलग अलग लोग मस्जिदों में जुट गए। लाक डाउन का उल्लंघन कर शीशा मजार,लगटखाना व 2 अन्य मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए इकट्ठा हुए लोगों की जानकारी होने पर पहुंची पुलिस को देख कर वहां भगदड़ जैसी स्थिति बन गई। फिलहाल पुलिस की सुस्ती का फायदा उठा कर सभी नमाजी भागने में सफल रहे। मौके पर पुलिस बल के साथ पहुंचे थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह व उपनिरीक्षक अभय कुमार मौर्य ने मामले की सूचना उच्चाधिकारियों को देते हुए बनाए गए वीडियो के आधार पर लोगों की शिनाख्त कर लाकडाउन उल्लंघन व महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। इस संदर्भ थाना अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि बनाए गए वीडियो के आधार पर लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले लगभग 180 लोगों को नामजद करते हुए उनके विरुद्ध संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करने की कार्रवाई की जा रही है।


तूफान-भूकंप से सुरक्षित मिट्टी से बनी इमारतें

यमन। दुनिया में कई बड़ी बड़ी बहुमंजिला इमारतें है जो सीमैंट से बनी होती है। आज के समय में मजबुती से बनाई हुई इमारत बारिश की वजह से उस की Soil Buildings नींव हिल जाती है। आज तक आपने बहुमंजिला इमारतों के बारे में सुना होगा की वो सीमेंट,मौरंग पत्थर लोहा सबको मिलाकर एक इमारत बनाते है।


लेकिन आज हम आपको ऐसी इमारतों के बारे में बताने जा रहे है जो मिट्टी से बनी हुई  है फिर भी बारिश व तूफान से उन पर कोई असर नहीं होता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हम बात कर रहे है मध्य पूर्वी देश यमन के शिबम शहर में स्थित है जो अफ्रीका औऱ यूरोप जाने वाले रास्ते के बीच में बसा हुआ है। इस जगह को रेगिस्तान का मैनहैट्टन के नाम से जानते है। क्योंकि यहां पर कई ऊची ऊची इमारतें बनी हुई है मिट्टी से।


वायरसः लाचार मजदूर, मजबूरी, पदयात्रा

नई दिल्ली। जब से पूरे देश में लॉकडाउन लगा है तब से हर कोई परेशान है ऐसे में सबसे ज्यादा मजदूर वर्ग के लोग परेशासन है ऐसे चाहे मजदूरी करने के लिए घर से बाहर गया हो या फिर घर में ही हो, ये सच्च है कि मजदूर अपने घर आ रहे सड़क हादसे का शिकार हो रहे या फिर भूख की वजह से वो मरने को तैयार है, क्यों कि बड़े बड़े दावे करने वाली सरकार या कोई नेता सिर्फ दिखावा करता है मजदूरों के नाम पर वोट मांगता है लेकिन मजदूरों के लिए कुछ नही करता है, सरकारे पांच कि.लो. चावल और एक किलों दाल दे रही है क्या आपही सोचिए लोग इतने में अपने महिनों का दिन काट लेंगे, नही न, तो फिर सरकार लोगों में क्या संदेश देने चाहती है, आज जो अपना परिवार चलाने अपने राज्य से बाहर गए, वो लॉकडाउन के बाद अपने घर लौट रहे है ऐसे वो लगातार सड़क हादसे का शिकार हो रहे है, यूपी के मिर्जापुर में थके हारे सड़क किनारे सो रहे मजदूरो को एक डंपर ने कुचल दिया जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई जब कि एक घायल है ।


जानकारी के लिए हम आपको बताते चले कि  मृतक मुंबई में काम करते थे जो लॉकडाउन में काम-धंधा ठप होने के बाद अपने घर बिहार के गोपालगंज लौट रहे रहे थे, इस दौरान उनकी निंद लगी और वो मिर्जापुर में सड़क किनारे सो गए, उस दौरान एक डंपर ने कुचल दिया जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई जबकि एक गंभीर रुप से घायल बताया जा रहा है, हादसा गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात हुआ, जानकारी के मुताबिक दुर्घटना के शिकार लोग हाइवे से तकरीबन चालीस फीट दूर सड़क किनारे इनोवा गाड़ी खड़ी कर जमीन पर सो रहे थे, डंपर चालक के मुताबिक स्टेरिंग फेल होने की वजह से वाहन पर उसका नियंत्रण नहीं रहा, जिससे ये दुर्घटना हुई, रिपोर्ट के मुताबिक सात प्रवासी कामगार किराये की इनोवा गाड़ी लेकर अपने घर वापस जा रहे थे, यह लोग 20 मई को मुंबई के अंधेरी से चले थे, देर रात लालगंज पहुचने के बाद इन्होंने थाने के थोड़ी दूर हाइवे किनारे इनोवा गाड़ी खड़ी कर दी, इसके बाद चार लोग गाड़ी के बाहर जमीन पर सो गए जबकि तीन लोग गाड़ी में सोये, इस बीच शुक्रवार तड़के तीन बजे के करीब एक खाली डंपर जमीन पर सो रहे लोगों को कुचलते हुए दीवार से जा टकरायी ।


वही जानकारी के मुताबिक घटना पर पुलिस डंपर को कब्जे में लेकर आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है, औऱ शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा कर उसे उनके साथियों के बताए पते पर शव को उनके घर के लिए गाड़ी से भेज दिया बताया जा रहा है कि एसपी के डीएम ने हर संभव मृतक के परिवार वालों के साथ है, अब देखना हैकि बिहार सरकार उनके लिए कोई कहती भी है या फिर यू ही…


डीएम के आदेश के विरुद्ध निश्चित कार्रवाई

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के द्वारा गाइडलाइन जारी कर दी गई है। जिसके निशा निर्देश के अंतर्गत कार्य किए जाएंगे,सभी को आदेश का अनुपालन करना है। यदि दिशा निर्देश का उल्लंघन किया जाता है तो निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी। यह जानकारी मनीष कुमार मिश्र पुलिस अधीक्षक नगर के द्वारा सार्वजनिक की गई है। उन्होंने कहा सभी व्यापारी भाइयों से यह आग्रह है कि वह जिलाधिकारी गाजियाबाद महोदय के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करें। केवल वह दुकानें खुलेगी जिनको शनिवार को खोलना है, एवं वह केवल साफ-सफाई एवं सैनिटाइजेशन का कार्य करेंगे।किसी सामान की बिक्री नहीं करेंगे। आज खुलने वाली दुकानें अपने सामान की बिक्री मंगलवार से कर पाएंगे क्योंकि रविवार को समस्त दुकानें बंद रहेंगी एवं यह दुकाने सोमवार को भी नहीं खुलेंगे। कल कोई भी दुकान किसी भी दशा में नहीं खुलेगी शिवाय मेडिकल एवं आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर। सोमवार को वही दुकानें खुलेगी जिनको सोमवार को खोलना है एवं वह केवल सफाई एवं सैनिटाइजेशन का कार्य करेंगी।कोई बिक्री सोमवार को वह नहीं करेंग। ऐसी दुकानों पर बिक्री बुधवार से शुरू होगी।

सभी व्यापारी भाइयों से अनुरोध है कि उपरोक्त निर्देशों का पूर्णतया पालन करें।कोई भी भ्रम या किसी प्रकार का कंफ्यूजन ना रहे।करोना संकट के इस दौर में हम सब को धैर्य और संयम के साथ कार्य करना है।धैर्य और संयम का परिचय देना है।साहस और दुस्साहस का सहारा नहीं लेना है।

 

बढ़तः उत्तराखंड में 20 नए संक्रमित मिले

देहरादून। कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर उत्तराखंड में आज भी राहत वाली खबर नहीं है। उत्तराखंड के जनपद अल्मोड़ा में 03, जनपद चम्पावत में 07, जनपद देहरादून में 02, जनपद हरिद्वार में 01, जनपद नैनीताल में 02, जनपद पिथौरागढ़ में 02 एवं जनपद उत्तरकाशी में 03 कोरोना के मामले सामने आये है। जिसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या 173 हो गयी है।


स्वास्थ्य विभाग से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार उत्तरखंड राज्य में 20 लोग कोरोना संक्रमित मिले है। जिसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या 173 हो गयी है। आपको बताते चले कि अभी तक 56 कोरोना संक्रमित लोग उत्तराखंड राज्य में ठीक हो चुके है।


पेयजल की बर्बादी, निगम की लापरवाही

कानपुर। निगम की लापरवाही के कारण सैकड़ों लीटर पानी सड़कों पर बह रहा है जिसके कारण क्षेत्रीय जनता को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है बार-बार की गई शिकायत के बाद भी जल निगम की ओर से लीकेज की मरम्मत का कोई भी कार्य नहीं किया जा रहा है ! आपको बता दें दादा नगर के वार्ड दो के अंतर्गत मिश्रीलाल चौराहे पर गंगा बैराज से आने वाली वाटर लाइन में कहीं लीकेज होने के कारण क्षेत्रीय जनता को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जनता का कहना है कि इस समस्या की शिकायत जल निगम में की गई थी जिसके बाद जल निगम के ओर से इस लीकेज की मरम्मत की गई परंतु वह लीकेज तीन दिन बाद पुनः होने लगा और इस बार पानी का लीकेज पहले से कई ज्यादा होने लगा । जिसकी सूचना पुनः जल निगम में की गई परंतु खबर लिखे जाने तक जनता कि समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ है ।

 

 आपको बता दें जल जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है मनुष्य हो या पशु-पक्षी हर किसी को जीवन जीने के लिए जल की आवश्यकता होती है यहां तक जल के बिना पेड़ पौधे व पृथ्वी पर किसी भी चीज का रहना नामुमकिन है सरकार वा कई सामाजिक संगठन भी जल बचाने को लेकर तरह-तरह का प्रचार करते हैं पर कानपुर में जल निगम के आला अधिकारी अपने आंखों में पट्टी बांधकर बैठे हैं जिनको ना तो जल के व्यर्थ बहने की चिंता है ना तो उससे उत्पन्न समस्या को जेल रही जनता की अब देखना यह है कि जनता की फरियाद से आला अधिकारियों की आंखों की पट्टी खुलती है या नहीं |

अन्य जनपदों से 1500 को वापिस लाए

मथुरा। (सूरज कश्यप/गुड्डू सिंह) अचानक मथुरा जिला प्रशासन के द्वारा मथुरा के बीएसए इंजीनियरिंग कॉलेज के अंदर पूरे आगरा मंडल के सभी जिलों से लगभग 1500 लोगों को अलग-अलग जनपदों से बसों के माध्यम से लाया गया l जिससे स्थानीय लोगों ने इतनी बड़ी संख्या में लोगों को आता देख पूरे बीएसए इंजीनियरिंग कॉलेज के आस-पास बनी हुई कॉलोनी में हड़कंप मच गया आनन-फानन में ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जनजागरूकता समिति की टीम ने बीएसए इंजीनियरिंग कॉलेज पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया और स्थिति का जायजा लेने के बाद स्थानीय नगर निगम वार्ड-45 के पार्षद वा ब्रज यातायात पर्यावरण जनजागरूकता समिति के प्रदेश महासचिव चौधरी तिलक वीर को फोन करके बुलाया गया l जिसके बाद पार्षद वा प्रदेश महासचिव तिलकबीर चौधरी ने  प्रशासन से बात करने के बाद लोगों को शांत करवाया और भविष्य में यहां पर किसी भी प्रकार की प्रशासन के द्वारा भीड़ ना इकट्ठी होने की बात कही ।जिसके बाद ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति रजि उत्तर प्रदेश की टीम ने अपने पास से पार्षद तिलक वीर चौधरी के द्वारा पानी की बोतलें फल , बिस्किट इत्यादि चीजें मंगा कर उन परदेसी लोगों में बटवाई l जो लोग लॉक डाउन के समय पूरे आगरा मंडल में फंसे हुए थे जिनको रेलगाड़ी से कोलकाता जाना था इसलिए मथुरा से चलने वाली ट्रेन के लिए मथुरा में लाया गया था l जिसके पश्चात सभी लोगों के लिए उनके स्टेशन पहुंचने तक प्रशासन के द्वारा ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति की टीम के द्वारा बसों की व्यवस्था करके उनको मथुरा जंक्शन रेलवे स्टेशन तक पहुंचाया l इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने कहा के प्रशासन की इस तरह की लापरवाही लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ है उन्होंने अचानक सुरक्षित क्षेत्र में भीड़ को गलत घुसा दिया जिससे पूरे क्षेत्र में भय का माहौल बन गया l अगर प्रशासन इस तरह का आगे भी कोई कार्य करता है तो उसका स्थानीय स्तर पर विरोध किया जाएगा l इस अवसर पर चंद्र प्रकाश अग्रवाल ,संजय सिसोदिया हेमंत अग्रवाल ,गगन अग्रवाल आदि लोग उपस्थित रहे ।


शॉर्ट सर्किट से टोयोटा शोरूम में लगी आग

पटना। सिटी के दीदारगंज थाना क्षेत्र के टोल प्लाजा के समीप बुद्धा टोयोटा शोरूम में देर रात भीषण आग लगी । आग की लपटें और धूआ काफी तेज होने के कारण बाईपास के चारों तरफ अंधेरा छा गया, सूचना मिलते ही दीदारगंज थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फायर ब्रिगेड की 3 गाड़ियां मौके पर बुलाई, फायर ब्रिगेड की टीम ने काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, आग लगने का मुख्य कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।


जानकारी के लिए हम आपको बताते चले कि पटना सिटी के दीदारगंज थाना क्षेत्र के टोल प्लाजा के समीप एक शो रुम में आचानक आग लग गई, बताया जा रहा है कि आग शर्ट शर्किट से लगी है, वही अनुमान लगाया जा रहा है कि आग लगने से लाखो का समान जल कर राख हो गया होगा, सूत्रो के अनुसार आग लगने के बाद किसी ने फोन कर शो रुम में आग लगने की घटना को बताया तब जाकर शो रुम और उसके मालिक घटना स्थल पर पहुंचे और फिर फायर बिग्रेड कि गाड़ियां को फोन किया लेकिन भगवान का शुक्र रहा कि फायर बिग्रेड की गाड़िया मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया, तब जा कर आग पर काबू पाया गया ।


वही आग पर काबू पाने के लिए वहा पर मौजूद लोगों ने भी काफी मशक्कत की फिर जाकर आग पर काबू पाया गया, वही आग लगने से लाखों का माल जल गया है जिसकी भारपाई करना अब मुश्किल होगा, क्यों कि एक तरफ जहा लॉकडाउन ने उनकी कमर तोड़ दी थी तो वही अब दूसरी ओर बिजली ने उनके शो रुम को जला दिया, जिससे उनकी लाखों की माल जल कर राख हो गया ।


 मुकेश कुमार की रिपोर्ट



संक्रमण हुआ अनियंत्रित, रिकवरी में सुधार

नई दिल्ली। दुनियाभर के देशों के साथ-साथ भारत में भी कोरोनावायरस (COVID-19) का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है। रिपोर्ट्स के अनुसार, 180 से ज्यादा देशों में फैल चुका यह वायरस अब तक सवा तीन लाख से ज्यादा जानें ले चुका है। दुनियाभर में 51 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। यह आंकड़ा हर रोज बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1,25,101 हो गई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 6,654 नए मामले सामने आए हैं और 137 लोगों की मौत हुई है।
देश में पहली बार 24 घंटों में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना के मामले सामने आए हैं। अभी तक 3,720 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 51,784 मरीज इस बीमारी को मात देने में सफल भी हुए हैं। रिकवरी रेट में लगातार सुधार हो रहा है। यह 41.39 प्रतिशत पर पहुंच गया है। बहरहाल देश के सभी राज्यों से इसके मरीज सामने आ चुके हैं, हालांकि कई राज्य ऐसे भी हैं जो इस महामारी से मुक्त हो चुके हैं।


बताते चलें कि पीएम मोदी ने 24 मार्च को कोरोना से बचाव के चलते ही देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी। जिसके बाद 14 अप्रैल को पीएम ने एक बार फिर देश की जनता को संबोधित करते हुए 19 दिनों के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाए जाने की जानकारी दी। 3 मई को यह मियाद खत्म होनी थी लेकिन इससे पहले ही गृह मंत्रालय ने दो हफ्तों के लिए लॉकडाउन को और बढ़ा दिया। 17 मई तक यह लागू था। 17 मई की देर शाम केंद्र सरकार ने इसे दो हफ्ते और बढ़ाने का फैसला किया। अब देश में लॉकडाउन 31 मई तक लागू रहेगा।


देश में कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में शुक्रवार को 2940 नए मामले सामने आए। इन नए मामलों के साथ ही राज्य में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 44,582 हो गया है। वहीं, पिछले 24 घंटे में इस वायरस के संक्रमण से राज्य में 63 लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद राज्य में मरने वालों का आंकड़ा 1,517 हो गया है। अगर बात मुंबई की करें तो यहां पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 1,751 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 27 लोगों की मौत हुई है. अब मुंबई में कुल 27,251 कोरोना संक्रमि‍त मामले हो गए हैं, जबकि 909 लोगों की मौत हुई है। वहीं, राज्य में इस बीमारी से अब तक 12,583 लोग पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं।


कुएं से निकले 9 शव, इलाके में सनसनी

तेलंगाना। वारंगल जिले के गोरेकुंता में एक कुएं से नौ लोगों के शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई हैं। इनमें से छह व्यक्ति एक ही परिवार के सदस्य थे। पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है लेकिन अभी तक मौतों के पीछे का राज़ नही खुला है।

दरअसल, बता दें कि चार लोगों के शव गुरुवार और पांच लोगों के शव शुक्रवार को एक ही कुए से मिले हैं। इस बीच राज्य के पंचायती राज्य मंत्री इराबेल्ली दयाकर राव ने इस घटना पर दुख जताया है। उन्होंने उस अस्पताल का दौरा किया, जहां शव रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में विस्तृत जांच हो और तथ्यों के हिसाब से कदम उठाए जाएं। वारंगल के पुलिस आयुक्त वी रविंद्र ने बताया कि एक ही परिवार के छह लोगों और उनके एक दोस्त तथा दो अन्य व्यक्तिों के शव कुएं से मिले हैं। पुलिस ने प्राथमिक जांच का हवाला देते हुए कहा था कि यह मामला आत्महत्या का प्रतीत होता है। उन्होंने बताया कि शवों पर चोट के कोई निशान नहीं हैं और पोस्टमार्टम के बाद ही असली वजह सामने आएगी।

अमेरिका और चीन के बीच अब 'शीत युद्ध'

नई दिल्ली। अमेरिका और चीन के बाजारों को लेकर पिछले कुछ समय से हुई तकरार के बाद मामला अब इतना बढ़ चुका है की बात अब शीत युद्ध पर आ पहुंची है, अमेरिका ने चीन को लेकर एक विजन डॉक्यूमेंट जारी किया है जिसमें चीन को लेकर अमेरिका ने उस पर कायदे और कानून पर आधारित वैश्विक व्यवस्था का दुरुपयोग कर उसे चीनी कम्युनिस्ट पार्टी  की विचारधारा और हितों के अनुकूल बनाने का आरोप लगाया है।


साथ ही अमेरिका ने उसको मिल रही चुनौतियों का सीधा जवाब देने का फैसला कर लिया है जिसकी वह घोषणा कर चुके हैं।


 

क्या है जारी हुए विज़न डॉक्यूमेंट में ?

अमेरिका ने चीन को लेकर जो वजन जारी किया है उसका नाम है 'यूनाइडेट स्टेट स्ट्रेटेजिक एप्रोच टू द पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना' इस डॉक्यूमेंट को अमेरिका के वाइट हाउस में जारी किया गया है। आपको बता दें कि वैसे तो इस डॉक्यूमेंट में कहीं पर भी शीत युद्ध की बात नहीं करी गई है नाही शीत युद्ध की कोई घोषणा या फिर उसका जिक्र नहीं किया गया है। लेकिन मकसद अमेरिका का बिल्कुल साफ है।

 

अमेरिका ने माना है कि दोनों बड़ी शक्तियां अपने हितों की उचित तरीके से रक्षा करने के लिए आमने-सामने हैं। अमेरिका ने सीसीपी से मिल रही प्रत्यक्ष चुनौतियों का जवाब देने का एलान किया है। 40 साल के बाद यह प्रमाणित हो गया है कि अमेरिका चीन के आर्थिक और राजनीतिक सुधार की उम्मीद को खत्म करने की भावना को नहीं समझ पाया।

मस्जिद में एकत्रित 8 के खिलाफ कार्रवाई

बहराइच। उत्तर प्रदेश के जनपद बहराइच में थाना हुजूरपुर अंतर्गत छौकर मस्जिद पर लॉक डाउन के दौरान नमाज पढ़ने व पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट प्रकरण में 08 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि थाना हुजूरपुर के ग्राम छोकर मस्जिद में लॉक डाउन के दौरान अलविदा  नमाज पढ़ने हेतु कुछ लोग इकट्ठा हुए थे,शांति व्यवस्था में लगे पुलिस बल द्वारा मना करने पर उनके साथ मारपीट की गई थी, प्रकरण में पुलिस अधीक्षक डॉ0 विपिन कुमार मिश्र द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण करते हुए तत्काल आरोपियों के गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए थे। घटना के संबंध में थाना हुजूरपुर में मुकदमा अपराध संख्या 179 / 20 धारा 147,149,323,504, 506, 332, 353, 336, 188 270,270, 278 आईपीसी एवं महामारी अधिनियम सहित आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं 7 CLA बनाम अति उल्ला खां पुत्र कासिम खां निवासी बहराइच थाना हुजूरपुर सहित 10 -12 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया था।उक्त के क्रम में थाना स्थानीय द्वारा आज दिनांक 23.05.2020 को 08 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है।गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम पता 1- अतिउल्लाह खां पुत्र कासिम खां 2- अरमान पुत्र नफीस खां 3- बच्छन खां पुत्र हनीफ खां निवासीगण लखवापुर बहरैचा थाना हुजूरपुर 4- जुम्मन खां पुत्र स्व0 तसरीफ खां 5- गन्ने खां पुत्र शरीफ खां 6- शहजाद पुत्र गन्ने खां।


पाक में विमान दुर्घटना, 97 लोगों की मौत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में 99 यात्रियों के साथ दुर्घटना का शिकार हुए प्लेन में कुल 97 लोगों की मौत हो गई और दो सुरक्षित बच गए। जाको राखे साइयां मार सके न कोय… कई बार इस तरह के हादसे में यही पंक्ति जिक्र में शामिल होती है। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का यह प्लेन लाहौर से कराची आ रहा था।


जिन्ना इंटरनेशनल एयरपोर्ट के करीब आवासीय इलाके में यह हादसे का शिकार हो गया। कराची में लैंडिंग से कुछ ही मिनट पहले यह हादसा हुआ। शुक्रवार दोपहर को मलिर (Malir) के मॉडल कालोनी के करीब हीशािका जिन्ना गार्डेन (Jinnah Garden) इलाके में लाहौर से आने वाली फ्लाइट PK-8303 दुर्घटना का शिकार हो गई। वहां मौजूद 11 लोग जख्मी हो गए। प्लेन क्रैश में कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं।


नेशनल कैरियर एयरबस A320 एयरक्राफ्ट में 91 पैसेंजर और 8 क्रू मेंबर थे। 7 दिसंबर 2016 के बाद पाकिस्तान में यह सबसे बड़ा प्लेन क्रैश है। 2016 में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का ATR-42 एयरक्राफ्ट चितरल (Chitral) से इस्लामाबाद आने के दौरान रास्ते में दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें सभी 48 यात्रियों की जान चली गई थी।


सिंध के स्वास्थ्य मंत्रीद अजरा पेचुहो के लिए मीडिया कोआर्डिनेटर मीरान युसुफ ने बताया कि शुक्रवार को नमाज के वक्त क्रैश हुआ और इसलिए घायलों में अधिकतर महिलाएं ही हैं। उन्होंने बताया कि सभी घायलों के हालत में सुधार है। वहीं प्लेन क्रैश में सुरक्षित बचे दो लोगों में से एक बैंक ऑफ पंजाब के जफर मसूद हैं। उन्होंने अपनी मां को फोन कर अपने सुरक्षित होने की जानकारी दी।


PIA अधिकारी के अनुसार, रडार से एयरक्राफ्ट गायब होने से कुछ ही देर पहले कैप्टन ने एयर ट्रैफिक कंट्रोल को सूचित किया था कि लैंडिंग गियर में उन्हें परेशानी हो रही हैैै। हादसे के कारणों की जांच की जा रही है। PIA चीफ एक्जीक्यूटीव एयर वाइस मार्शल अरशद मलिक (Air Vice Marshal Arshad Malik) ने कहा कि पायलट ने ट्रैफिक कंट्रोल को तकनीकी मुश्किलों के बारे में बताया था।


उन्होंने कहा, ‘दुर्घटना का वास्तविक कारण जांच के बाद सामने आएगा जो निष्पक्ष होगा और इसे मीडिया को उपलब्ध कराया जाएगा।’


विशेष केमिकल खत्म करेगा 'वायरस'

कानपुर। खतरनाक कोरोना वायरस को दस मिनट में एक विशेष केमिकल से खत्म किया जा सकता है। इसे एचबीटीयू के पेंट टेक्नोलॉजी विभाग ने तैयार किया है। अहम बात है कि इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। तैयार किए गए सिल्वर नैनो पार्टिकल हाइड्रोजनपर ऑक्साइड केमिकल के सैंपल जांच के लिए गुड़गांव की एनएबीएल लैब भेजे गए हैं। रिपोर्ट आते ही उपयोग शुरू हो जाएगा। हालांकि एचबीटीयू की लैब में इसका परीक्षण सफल रहा है। विभागाध्यक्ष प्रो. अरुण मैथानी का दावा है कि इस केमिकल से कोरोना का प्रकोप खत्म किया जा सकता।


प्रो. मैथानी के मुताबिक सेनेटाइजेशन में इस्तेमाल हो रहे सोडियम हाइपोक्लोराइड केमिकल काफी हानिकारक हैं। लोहे में पड़ने पर जंग लग रही है। व्यक्ति जब इसका प्रयोग करता है तो एलर्जी और खुजली की दिक्कत हो रही है। दीवार पर सफेद रंग के धब्बे पड़ जा रहे हैं। दावा किया कि विशेष केमिकल का असर खत्म नहीं होता है।


सब्जी से लेकर हर जगह उपयोग, दाम कम
उनका कहना है कि केमिकल का उपयोग कोरोना का प्रकोप खत्म करने के लिए कई महत्वपूर्ण जगहों पर भी किया जा सकता है। सब्जी, फल, अस्पताल, स्कूल और होटल आदि जगहों पर इसका प्रयोग कर सकते हैं। इससे मरीज समेत अन्य किसी को खतरा भी नहीं होगा। उनके मुताबिक सोडियम हाइपोक्लोराइड एक लीटर में 60 ग्राम उपयोग होता है जबकि विशेष केमिकल एक लीटर में सिर्फ 10 ग्राम उपयोग होगा। इसकी कीमत भी काफी कम है।


10 मिनट में उड़ जाता, राइनो वायरस में हुआ उपयोग
प्रो. मैथानी के मुताबिक विशेष केमिकल 10 मिनट में कोरोना के असर को खत्म करके खुद ब खुद उड़ जाता है। इसका कोई भी इफेक्ट नहीं रहता है, जबकि अन्य केमिकल का रहता है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंसन जार्जिया अमेरिका ने विशेष केमिकल का उपयोग करके राइनो, एच वन और एन वन आदि वायरस पर काबू पाया है।


किरायेदारों को किराए में छूट नहींः एससी

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को अपने महत्वपूर्ण फैसले में कहा है कि कोरोना महामारी के मद्देनजर देशभर में जारी लॉकडाउन में किरायेदारों का किराया माफ या भुगतान करने से छूट नहीं दी जा सकती है। हालांकि, न्यायालय ने कहा है कि लॉकडाउन के मद्देनजर किरायेदार को राहत के तौर पर इसे कुछ दिन के लिए टाला या किस्तों में भुगतान की इजाजत दी जा सकती है।


जस्टिस प्रतिभा एम. सिंह ने कहा है कि किरायेदार लॉकडाउन संकट जैसी ‘जबरदस्ती की स्थिति’ को लागू नहीं कर सकते क्योंकि वह दुकान खाली नहीं करना चाहते थे और परिसर पर अब भी कब्जा बनाए हुए हैं। उच्च न्यायालय ने खान मार्केट के कुछ दुकानदारों की याचिका पर यह फैसला दिया है।


किराये से छूट मांगी थी : दुकानदारों ने याचिका में कहा था कि लॉकडाउन के दौरान वे दुकान का इस्तेमाल करने में असमर्थ थे, ऐसे में उन्हें किराये का भुगतान करने से छूट दी जाए। न्यायालय ने उनकी मांग को खारिज करते हुए कहा है कि बेदखली के आदेश होने के बाद भी वह (दुकानदार) दुकान खाली नहीं करना चाहते थे। इसके साथ ही उच्च न्यायालय ने कहा है कि अब सवाल उठता है कि क्या लॉकडाउन के चलते किरायेदार किराये के भुगतान से छूट या इसे स्थगित करने की मांग करने का हकदार होगा।


न्यायालय ने कहा कि इससे देशभर में हजारों मामले सामने आएंगे। उच्च न्यायालय ने कहा है कि हालांकि, इस तरह के मामलों से निपटने के लिए कोई मापदंड निर्धारित नहीं किया जा सकता है, लेकिन फिर भी कुछ व्यापक मापदंडों को ध्यान में रखा जा सकता है ताकि इस तरह के मामलों उत्पन्न होने वाले विवादों का समाधान हो सके।


तेज गति से हो रही है वैक्सीन की खोज

लंदन।  कोरोना वायरस की वजह से फैली महामारी पर काबू पाने के लिए दुनियाभर में वैक्सीन की खोज पर काम तेजी से चल रहा है। इस बीच यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड के शोधकर्ताओं ने शुक्रवार को कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन पर शुरुआती कामयाबी की पुष्टि करते हुए कहा कि वे मानव स्तर पर टेस्टिंग के दूसरे लेवल में जा रहे हैं।


यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड के शोधकर्ता दूसरे चरण के परीक्षण के लिए 10,000 से अधिक लोगों की भर्ती शुरू करते हुए अगले स्तर पर जा रहे हैं। वैक्सीन पर परीक्षण का पहला चरण पिछले महीने शुरू हुआ था, जिसमें 55 साल से कम आयु के 1,000 स्वस्थ व्यस्कों और स्वयंसेवकों पर ट्रायल किया गया था। अब उनके इम्यून सिस्टम पर पड़ने वाले असर को देखने के लिए 70 साल से अधिक और 5 से 12 साल के बच्चों समेत 10,200 से अधिक लोगों को अध्ययन के लिए नामांकित किया जाएगा।


एक हालिया अध्ययन में पाया गया कि ChAdOx1 nCoV-19 नाम के वैक्सीन ने बंदरों के साथ छोटे से अध्ययन में कुछ आशाजनक परिणाम दिखाया है। यूनिवर्सिटी के जेनर इंस्टीट्यूट में वैक्सीनोलॉजी की प्रोफेसर सारा गिलबर्ट ने कहा, ‘COVID-19 वैक्सीन ट्रायल टीम ChAdOx1 nCoV-19 की सुरक्षा और इम्युनोजेनेसिटी और वैक्सीन प्रभावकारिता का आकलन करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने कहा कि हम 55 साल से अधिक उम्र के लोगों से पहले से ही बहुत रुचि रखते हैं, जो पहले चरण के रिसर्च में हिस्सा लेने के योग्य नहीं थे, और अब हम टीकाकरण जारी रखने के लिए वृद्ध आयु समूहों को शामिल करने में सक्षम होंगे. हम देश के कई हिस्सों के साथ-साथ अधिक अध्ययन स्थलों को भी शामिल करेंगे।


ChAdOx1 nCoV-19 एक वायरस (ChAdOx1) से बना है, जो एक सामान्य कोल्ड वायरस (एडेनोवायरस) का कमजोर संस्करण है जो कि चिंपैजी में संक्रमण का कारण बनता है, जो आनुवांशिक रूप से ऐसा रहा है कि यह मनुष्यों में दोहराने के लिए असंभव है। स्वयंसेवकों की इस नई टीम के साथ शोधकर्ता विभिन्न उम्र के लोगों में वैक्सीन के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का आकलन करेंगे ताकि यह पता लगाया जा सके कि वृद्ध लोगों या बच्चों में इम्यून सिस्टम कितनी अच्छी तरह से प्रतिक्रिया करती है।अध्ययन के तीसरे चरण में 18 साल से अधिक आयु के लोगों पर अध्ययन किया जाएगा कि यह उन पर किस तरह से काम करता है।


हित की रक्षा के लिए 'किसान न्याय योजना'

रायपुर। किसानों के हितों की रक्षा के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए राज्य के विभिन्न अंचलों के किसान प्रतिनिधि एवं कृषणगण आज मुख्यमंत्री निवास कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार जताया। किसान प्रतिनिधियों एवं किसानों ने इस मौके पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना की सराहना की और कहा कि इस योजना को शुरू कर प्रदेश सरकार ने न सिर्फ किसानों के हितों की रक्षा की है, बल्कि प्रदेश सरकार ने किसानों से किए अपने वायदे को निभाया है। किसानों ने प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की बेहतरी हेतु लिए गए फैसले और राज्य में खेती-किसानी को बेहतर बनाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। किसानों ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली छत्तीसगढ़ सरकार को सदैव सहयोग एवं अपना समर्थन का संकल्प दोहराया। इस मौके पर किसान प्रतिनिधियों एवं किसानों ने कोरोना संकट के काल में छत्तीसगढ़ की जनता की सेवा में जुटे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का साथ देने के लिए अपनी ओर से मुख्यमंत्री सहायता कोष के लिए दान राशि का चेक भेंट किया।


हरियाणा में रेल यात्रा को मिली हरी झंडी

भिवानी। ट्रेनाें में सफर करने वाले यात्रियों के लिए गुड न्यूज है। रेलवे की ओर से ट्रेनों का संचालन एक जून से आरंभ किया जा रहा है। कोरोना महामारी के चलते रेलवे ने कड़े नियमों के साथ 100 पेयर ट्रेन चलाने की बुधवार शाम घोषणा की थी। जिलावासियों के लिए इनमें से एक ट्रेन दो जून से भिवानी जंक्शन से गोरखपुर के लिए अपने पूर्व निर्धारित समय शाम साढ़े पांच बजे जाएगी। इसके बाद गोरखधाम सुपरफास्ट ट्रेन गाेरखपुर-हिसार के लिए रवाना हाेगी। बता दें कि ट्रेनों के लिए टिकट की बुकिंग भिवानी जंक्शन के रिजर्वेशन काउंटर पर केवल एक सीट पर शुरू हो चुकी है। कोरोना संक्रमण के चलते ट्रेनों के संचालन के दौरान नियमों में भी कई बदलाव किए गए हैं। सबसे बड़ा बदलाव यह है कि इनमें जनरल कोच में भी सफर करने के लिए रिजर्वेशन की जरूरत होगी। बिना कन्फर्म टिकट के यात्री जनरल कोच में भी यात्रा नहीं कर सकेंगे। सफर से पहले यात्रियों को डेढ़ घंटा पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा और इस दौरान उनकी थर्मल स्क्रीनिंग होगी। आरपीएफ निरीक्षक उषा निरंकारी ने बताया कि यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाना आदि जरूरी है।

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ट्रेनों की रिजर्वेशन शुरू
ट्रेन में बुकिंग के लिए आईआरसीटीसी की आधिकारिक वेबसाइट या मोबाइल एप से ऑनलाइन ई-टिकटिंग की सुविधा होगी। पास धारकों, वाउचर्स पर ही आरक्षण किया जाएगा तथा अन्य कार्यालय कार्यों के लिए आरक्षण काउंटर खोला जाएगा। एजेंट भी इन ट्रेनों के लिए टिकट बुक नहीं कर पाएंगे। सिर्फ रेलवे की वेबसाइट से ही टिकट की बुकिंग की जा सकेगी।

यात्रियों को जून माह से उपलब्ध हो सकेंगी ट्रेनें

^रेलवे की ओर से 200 ट्रेन चलाने की घोषणा की गई है। भिवानी जंक्शन से गोरखपुर के लिए दो जून की शाम साढ़े पांच बजे गोरखधाम सुपरफास्ट को चलाया जाएगा। भिवानी जंक्शन पर टिकटों के आरक्षण के लिए सुबह आठ बजे से दोपहर तीन बजे तक एक आरक्षण विंडाें खुली रहेगी।
-जीके गुप्ता, स्टेशन अधीक्षक, भिवानी।

कोरोनाः प्रशासन को योगी के कड़े निर्देश

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराने तथा भीड़ एकत्र न होने देने के लिए प्रभावी पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बाजारों में नियमित तौर पर फुट पेट्रोलिंग करने को कहा है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने ग्रामीण इलाकों में भी सघन पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही हाई-वे और एक्सप्रेस-वे पर 112 की पीआरवी के माध्यम से पेट्रोलिंग कराने को कहा है। मुख्यमंत्री का कहना है कि केंद्र सरकार की नवीनतम गाइड लाइंस के अनुसार लॉक डाउन अवधि में अनुमन्य गतिविधियों का दायरा बढ़ाए जाने के कारण प्रभावी पेट्रोलिंग जरूरी है।


श्रमिकों से असुरक्षित यात्रा न करने की अपील


अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि गोरखपुर में अब तक 129 ट्रेनों से 157715 कामगार एवं श्रमिक आए हैं, जबकि लखनऊ में 60 ट्रेनों के माध्यम से 75600 लोग आए हैं। इसी तरह वाराणसी में 43, आगरा में 10, कानपुर में 12, जौनपुर में 56, बरेली में 09, बलिया में 26, प्रयागराज में 32, रायबरेली में 12, प्रतापगढ़ में 30, अमेठी में 13, मऊ में 14, अयोध्या में 26, गोण्डा में 49, उन्नाव में 30, बस्ती में 33 और आजमगढ़ में 22 ट्रेनें आ चुकी हैं।


उन्होंने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 322 ट्रेनों से 448300 लोग, महाराष्ट्र से 167 ट्रेनों से 211585 लोग तथा पंजाब से 134 ट्रेनों से 152321 प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को लाया गया है। प्रदेश के अंदर भी ट्रेनें चलाई गई हैं। उन्होंने श्रमिकों से अपील की कि प्रदेश में कोई पैदल यात्रा न करे। प्रवासी श्रमिक स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में डालकर पैदल अथवा अवैध या असुरक्षित वाहनों से घर के लिए यात्रा न करें। सरकार सभी प्रवासी श्रमिकों के लिए सुरक्षित यात्रा के लिए पर्याप्त बसों व ट्रेनों की व्यवस्था कर रही है।


मुंबई में शराब की होम डिलीवरी की अनुमति

मुंबई । मुम्बई में कंटेनमेंट जोन्‍स को छोड़कर बाकी शहर में शराब की होम डिलीवरी की अनुमति दे दी है, लेकिन अभी शराब की काउंटर पर बिक्री नहीं होगी। बृहन्‍नमुंबई महानगरपालिका निगम ने शुक्रवार को अपने आदेश में कहा है कि “ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म का उपयोग शराब की दुकानों की ओर से होम डिलीवरी के लिए जा सकता है।” इससे पहले शहर में पहले शराब की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया था।बीसीएम ने केवल परमिट धारकों को शराब की डिलीवरी की इजाजत दी है।
ज्ञात रहे कि कोरोना वायरस के कारण जारी लॉकडाउन के बीच जब देश में शराब की दुकानें खोलने का निर्णय लिया गया था तो दुकानों पर सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियमों को बड़े पैमाने पर उल्‍लंघन हुआ था। कई जगह तो शराब की दुकानों पर लोगों की भारी भीड़ एकत्रित हो गई थी।


विचारधारा पर वायरस का प्रभाव नहीं

नई दिल्ली। अगर आप सोच रहे होंगे कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से जूझ रहे देश में राजनीतिक पार्टियां चुनावी गुणा-भाग में नहीं लगीं है तो आप गलत साबित हो सकते हैं क्योंकि राजनीति में जब कुछ न होता दिख रहा है तो उसे शांत जल की तरह समझना चाहिए जिसमें धाराएं एक दूसरे को अंदर ही अंदर काटती रहती हैं। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 में होने हैं, लेकिन राजनीतिक दलों ने हमेशा की तरह अपने मुद्दे तलाशने शुरू कर दिए हैं। कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को जमकर घेरा है। लेकिन इसमें उनका साथ देने के लिए राज्य के दो प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी सामने नहीं आए। दरअसल प्रियंका गांधी की उत्तर प्रदेश में अतिसक्रियता इन दोनों दलों के लिए ठीक नहीं है और इस बात को बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव 2019 के ही समय समझ लिया था।


दरअसल प्रियंका गांधी की टीम का फोकस दलित वोटरों पर भी है जो मायावती का कोर वोटर हैं। मायावती ने कांग्रेस से कितना नाराज हैं इस बात का अंदाजा उनके गुरुवार को हुए ट्वीट  से लगा सकते हैं जिसमें उन्होंने लिखा,'राजस्थान की कांग्रेसी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपए और देने की जो मांग की है वह उसकी कंगाली व अमानवीयता को प्रदर्शित करता है। दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखःद.।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 24, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-285 (साल-01)
2. रविवार, मई 24, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि- दूज, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:41,सूर्यास्त 07:10।


5. न्‍यूनतम तापमान 23+ डी.सै.,अधिकतम-41+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...