उत्तराखंड लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उत्तराखंड लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 17 जुलाई 2024

ग्लेशियर पर कब्जा, अवैध मंदिर तैयार किया

ग्लेशियर पर कब्जा, अवैध मंदिर तैयार किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। बाबा ने ग्लेशियर पर कब्जा करते हुए अवैध मंदिर तैयार कर दिया और पवित्र कुंड को स्विमिंग पूल में तब्दील करते हुए पहाड़ों पर पहुंचने वाले लोगों को किराए पर देकर अपनी गुजर बसर का माध्यम बना लिया। उत्तराखंड के बागेश्वर में तकरीबन 5000 मीटर की ऊंचाई पर बाबा ने सरकारी जमीन पर चोरी छिपे मंदिर बनवा दिया है। अनाधिकृत रूप से मंदिर का निर्माण करने वाले बाबा ने पवित्र कुंड के ऊपर भी अपना कब्जा करते हुए उसे स्विमिंग पूल का रूप दे दिया है। स्थानीय ग्रामीण महेंद्र सिंह धामी की ओर से दी गई जानकारी में बताया है कि बाबा ने देवी भगवती के सपने में आने का हवाला देते हुए गांव वालों को अवैध रूप से मंदिर बनाने में सहयोग करने के लिए राजी कर लिया। 
बाबा ने ग्रामीणों को बताया कि मां भगवती ने उन्हें देवीकुंड में मंदिर बनाकर पवित्र कुंड पर कब्जा करने का आदेश दिया है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि सरकारी जमीन पर कब्जा करते हुए अवैध रूप से मंदिर का निर्माण करने वाले बाबा ने पवित्र देवीकुंड को तीर्थ यात्रियों एवं अन्य लोगों के लिए स्विमिंग पूल में तब्दील कर दिया है। तीर्थ यात्री एवं अन्य लोग यहां पर नहाते हुए पवित्र जगह को अपवित्र कर रहे हैं। एक ग्रामीण ने कहा है कि हर 12 साल में नंदा राज यात्रा के दौरान देवी देवता देवी कुंड में आते हैं। लेकिन सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करते हुए मंदिर का निर्माण करने वाले बाबा ने लोगों को गुमराह करते हुए हमारी परंपराओं के खिलाफ यह मंदिर बना दिया है।

शुक्रवार, 5 जुलाई 2024

यूके: 4 दिनों में भारी बारिश होने के आसार

यूके: 4 दिनों में भारी बारिश होने के आसार

पंकज कपूर 
देहरादून। उत्तराखंड में बारिश से जन जीवन प्रभावित है। ऐसे में अगले चार दिन उत्तराखंड के लिए भारी हैं। मौसम विभाग ने इन चार दिनों में भारी से भारी बारिश होने के आसार हैं।
मौसम निदेशक डॉ.बिक्रम सिंह ने बताया कि 5 से 8 जुलाई तक भारी वर्षा के साथ पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन और नदियों का जलस्तर बढ़ने की आशंका है।
मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से कुमाऊं में बिजली चमकने और तेज गर्जन के साथ भारी बारिश होने का रेड अलर्ट जारी किया गया है। जबकि देहरादून, पौड़ी, टिहरी और हरिद्वार जिले में कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।
उधर उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिले में गर्जन के साथ तेज बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

रविवार, 23 जून 2024

चारधाम की यात्रा पर पहुंचे चार लोगों की मौत

चारधाम की यात्रा पर पहुंचे चार लोगों की मौत 

पंकज कपूर 
देहरादून। चार धाम यात्रा पर पहुंचने वाले तीर्थ यात्रियों की जान जाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। चार धाम की यात्रा पर पहुंचे चार लोगों की बद्रीनाथ एवं यमुनोत्री में मौत हो गई है। रविवार को उत्तराखंड में चार धाम की यात्रा पर पहुंचे चार और यात्रियों की मौत होने से अन्य श्रद्धालुओं में दहशत पसर गई है। राज्य आपदा परिचालन केंद्र के मुताबिक चार धाम की यात्रा पर पहुंचे दो यात्रियों की बद्रीनाथ तथा दो श्रद्धालुओं की यमुनोत्री धाम में जान चली गई है। चार धाम की यात्रा के दौरान जान गंवाने वाले यात्रियों की संख्या का आंकड़ा अब 157 तक पहुंच गया है। जानकारी मिल रही है कि चार धाम यात्रा के दौरान अभी तक सबसे ज्यादा 73 यात्रियों की मौत केदारनाथ में हुई है, जबकि बद्रीनाथ में 38, गंगोत्री में 13 और यमुनोत्री धाम में 29 यात्रियों ने अपनी जान गंवाई है।

शनिवार, 15 जून 2024

सीएम धामी ने 'सिंचाई हेड' का लोकार्पण किया

सीएम धामी ने 'सिंचाई हेड' का लोकार्पण किया

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को डोईवाला के कालू वाला में सोंग नदी पर बने सिंचाई हेड का लोकार्पण किया। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि 3 करोड़ 80 लाख की लागत से बने सिंचाई हेड के बनने से सैकड़ो बीघा जमीन सिंचित होगी।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आज हमें जल के संरक्षण व संवर्धन की आवश्यकता है। सीएम ने जलवायु परिवर्तन पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जिस प्रकार से प्रचंड गर्मी देखने को मिल रही है और हमारे पुराने जल स्रोत सुख रहे हैं। वह आने वाले समय के लिए गंभीर संकेत हैं।

अधिक से अधिक वृक्ष लगाए: CM

सीएम धामी ने कहा कि अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर और पानी के संरक्षण और संवर्धन से हम प्रकृति को बचा सकते हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कालू सिद्ध मंदिर में पूजा अर्चना कर पौधारोपण भी किया। इस दौरान उनके साथ वन मंत्री सुबोध उनियाल और पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज समेत डोईवाला विधायक बृजभूषण गैरोला भी मौजूद रहे।

शनिवार, 8 जून 2024

केदारनाथ धाम, श्रद्धालुओं का आंकड़ा 7 लाख पार

केदारनाथ धाम, श्रद्धालुओं का आंकड़ा 7 लाख पार 

पंकज कपूर 
रुद्रप्रयाग। विश्व प्रसिद्ध 11वें ज्योतिर्लिंग केदारनाथ धाम में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा सात लाख पार हो गया है। 10 मई को बाबा केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए थे। मात्र 28 दिनों की यात्रा के दौरान धाम में 7,10,698 श्रद्धालुओ ने पहुंचकर दर्शन किए हैं। यह अपने आप में एक नया कीर्तिमान है।
यात्रा को सुगम, सुव्यवस्थित एवं सुरक्षित ढंग से संचालित करने के लिए जिला प्रशासन एवं संबंधित विभागों द्वारा सभी आवश्यक सुविधाएं एवं व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई जा रही है। केदारनाथ धाम में दर्शन करने पहुंच रहे किसी श्रद्धालुओं स्वास्थ्य खराब या किसी कारण से घायल होने के स्थिति में त्वरित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। सोनप्रयाग से लेकर केदारनाथ धाम व यात्रा मार्ग के विभिन्न पडाव पर एमआरपी खोली गई हैं, जिससे कि संबंधित श्रद्धालु का तत्परता से उपचार किया जा सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एचसीएस मर्तोलिया ने बताया कि केदारनाथ यात्रा में शुक्रवार को ओपीडी के माध्यम से 3024 तीर्थ यात्रियों का उपचार किया गया, जिसमें 2329 पुरुष एवं 695 महिलाएं शामिल हैं। अब तक ओपीडी एवं इमरजेंसी के माध्यम से 70,406 श्रद्धालुओं का उपचार किया गया है, जिसमें 53,859 पुरुष, 16,547 महिलाएं शामिल हैं। उन्होंने यह भी बताया कि अब तक 4727 श्रद्धालुओं को ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध कराई जा चुकी है, जबकि 29504 तीर्थ यात्रियों की स्क्रीनिंग भी कराई गई है।

सोमवार, 3 जून 2024

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। मौसम विभाग ने 3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी करते हुए उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, टिहरी, नैनीताल, चम्पावत, अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़ पौड़ी तथा चमोली जनपदों में येलो अलर्ट जारी करते हुए कहीं-कहीं बहुत हल्की से हल्की वर्षा की संभावना तथा कहीं-कही गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है। मौसम विभाग ने रात्रि 9:00 बजे तक चेतावनी जारी करते हुए कहा कि गर्जन/आकाशीय बिजली चमकने के दौरान बिजली की वस्तुओं से दूर रहे उन्होंने कहा कि कहीं-कहीं बिजली गिरने से जान-माल की हानि हो सकती है। आंधी तूफान के दौरान सभी मकानों में शरण ले, पेड़ो के नीचे शरण ना ले व अपने वाहन को सुरक्षित स्थानों में रखें। आज ऊखी मठ में 14, कनालीछीना 5.5, जखोली में 6 मिली मीटर बरसात मौसम विभाग ने रिकॉर्ड की है।।

रविवार, 2 जून 2024

एक घंटे में 1800 से अधिक श्रद्धालु दर्शन करेंगे

एक घंटे में 1800 से अधिक श्रद्धालु दर्शन करेंगे 

पंकज कपूर 
देहरादून। श्रद्धालुओं की भीड़ के हिसाब से धाम में समिति द्वारा एक घंटे में 1800 से अधिक श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाएंगे। साथ ही बाबा केदार के भक्त अपने अराध्य के श्रृंगार दर्शन रात्रि 12 बजे तक कर सकेंगे। केदारनाथ यात्रा में जून में आस्था का सैलाब फिर से उमड़ने की उम्मीद है।
जिसे देखते हुए बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने अपनी कार्ययोजना तैयार कर ली है। श्रद्धालुओं की भीड़ के हिसाब से धाम में समिति द्वारा एक घंटे में 1800 से अधिक श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाएंगे। साथ ही बाबा केदार के भक्त अपने अराध्य के शृंगार दर्शन रात्रि 12 बजे तक कर सकेंगे। 10 मई को शुरू हुई केदारनाथ यात्रा में इस माह के 22 दिनों में रिकार्ड 5,88,790 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए हैं। जबकि, वर्ष 2022 में मई के 31 दिनों में धाम में 5,54,671 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए थे। वहीं, स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश और सरकार द्वारा ऑफलाइन पंजीकरण शुरू होने के बाद से आगामी सप्ताह से केदारनाथ में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ने की उम्मीद है।
बीकेटीसी ने केदारनाथ में दर्शन व्यवस्था को और प्रभावी बनाने के लिए योजना बनाई है। समिति एक दिन में 36 हजार श्रद्धालुओं को दर्शन कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है। समिति के अनुसार, श्रद्धालुओं की भीड़ के हिसाब से एक घंटे में 1800 से 2100 श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाएंगे। जून में धर्म दर्शन सुबह 4.30 बजे से शुरू कर दिए गए हैं, जो अपराह्न 3.30 बजे तक हो रहे हैं।इसके बाद आधे घंटे बाबा केदार को बाल भोग लगाया जा रहा है, जिसके तहत मंदिर को बंद किया जा रहा है।
गर्भगृह की साफ-सफाई के बाद शाम चार बजे से पुन: धर्म दर्शन कराए जा रहे हैं, जो शाम सात बजे तक हो रहे हैं। सायंकालीन आरती के साथ बाबा केदार के शृंगार दर्शन शुरू होंगे, जो रात 12 बजे तक कराएं जा रहे हैं।
रात 12 से सुबह चार बजे तक भक्तों की पूजाएं संपादित की जा रही हैं। केदारनाथ में यात्रा के सफल संचालन के लिए बीकेटीसी के 80 कर्मचारी रोटेशन के हिसाब से आठ-आठ घंटे की ड्यूटी देते हुए बाबा के भक्तों को दर्शन कराने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।
जून में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने की उम्मीद को ध्यान में रखते हुए भक्तों को एक दिन में अधिकाधिक दर्शन के लिए पूरी योजना बनाई गई है। सुबह 4.30 बजे से धर्म दर्शन शुरू कर दिए गए हैं और एक घंटे में 1800 श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जा रहे हैं। भीड़ अधिक हुई तो यह संख्या बढ़ाई जाएगी। शृंगार दर्शन का समय रात 12 बजे तक होगा।

शनिवार, 1 जून 2024

डीएम ने मतगणना कक्षों का स्थलीय निरीक्षण किया

डीएम ने मतगणना कक्षों का स्थलीय निरीक्षण किया

पंकज कपूर 
हल्द्वानी। शनिवार को यहां नैनीताल की जिलाधिकारी वंदना सिंह ने मोतीराम बाबूराम डिग्री कॉलेज में स्थापित मतगणना कक्षों का स्थलीय निरीक्षण किया और 4 जून 2024 को मतगणना दिवस की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के संबंध विभिन्न विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की।
निरीक्षण के दौरान पीडब्ल्यूडी ईई अशोक कुमार चौधरी को मतगणना कक्षों की व्यवस्थाओं को अतिशीघ्र दुरुस्त करने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कल शाम तक मतगणना कक्ष में साफ-सफाई, लाइटिंग, कूलर-पंखे, VVPAT गणना के लिए पिजन हॉल, कवरेज के लिए सीसीटीवी कैमरे आदि मूलभूत व्यवस्थाओं को निश्चित रूप से स्थापित करने के लिए निर्देशित किया।
जिलाधिकारी वंदना ने अपर जिलाधिकारी फिंचाराम चौहान को ईई पीडब्ल्यूडी के कार्यों के निरीक्षण और सत्यापन की जिम्मेदारी सौंपी।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि मतगणना कक्षों तक पार्टी एजेंटों और मतगणना कार्मिकों व अन्य अधिकारियों को एमबी पीजी कॉलेज में अपने गंतव्य तक पहुंचने में किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए पीडब्ल्यूडी ईई को साइनेज फ्लैक्सी लगाने के निर्देश दिए।
निर्बाध सीसीटीवी कवरेज के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने यूपीसीएल अधिकारी को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि मतगणना के दिन एमबी पीजी कॉलेज हल्द्वानी में बिजली कटौती न हो इसकी व्यवस्था पूर्व से ही सुनिश्चित कर लें।
जिलाधिकारी वंदना ने बैठक में उपस्थित सभी दायित्वधारियों को पूर्ण तन्मयता के साथ सौंपी गई जिम्मेदारियां का निर्वहन करने की अपील की।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी फिंचाराम चौहान, सिटी मजिस्ट्रेट एपी बाजपेई, एसपी सिटी प्रकाश चंद्र, उपजिलाधिकारी पारितोष वर्मा व राहुल शाह, उप नगर आयुक्त तुषार सैनी आदि अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

शुक्रवार, 31 मई 2024

पत्रकार यूनियन द्वारा गोष्ठी का आयोजन किया

पत्रकार यूनियन द्वारा गोष्ठी का आयोजन किया

पंकज कपूर 
हल्द्वानी। हिंदी पत्रकारिता दिवस पर बृहस्पतिवार को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन द्वारा मीडिया सेंटर में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें हल्द्वानी शहर के दर्जनों पत्रकार शामिल हुए इस दौरान श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष तारा चंद जोशी भी मौजूद रहे।
यूनियन के जिलाध्यक्ष सर्वेंद्र बिष्ट और महानगर अध्यक्ष योगेश शर्मा ने सभी पत्रकार साथियों को हिंदी पत्रकारिता दिवस की शुभकामनाएं दी। साथ ही सभी पत्रकारों ने विचार विमर्श कर पत्रकारिता को और मजबूत करने की बात कही, इस दौरान पत्रकारों के सामने आ रही समस्याओं को लेकर भी चर्चा की गई और एकजुट होकर मजबूती से सरकार और प्रशासन के समक्ष आवाज उठाने की बात कही, पत्रकारिता के इतिहास और आज के इस दौर में आ रही नई टेक्नोलॉजी और सोशल मीडिया को लेकर भी पत्रकारों ने अपडेट होने की बात कही।
इस दौरान जिला महामंत्री भूपेंद्र रावत, कोषाध्यक्ष हर्ष रावत, शेर अफगान, अंशुल डांगी, भावनाथ पंडित, समीर बिसारिया, दीप बिष्ट बाबा, नवनीत सिंह, अमित चौधरी, अंकित शाह, दीपक अधिकारी, विनोद कांडपाल, सरताज आलम, संजय प्रसाद विनोद यादव, रक्षित टंडन, वंदना आर्य, ऋषि कपूर, शरद पाण्डे, अरक़म सिद्दीकी, संजय पाठक, कुनाल अरोड़ा, श्रुति तिवारी, संजय पाठक सहित कई पत्रकार मौजूद रहे।

संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया

संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया

पंकज कपूर 
देहरादून। हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में गुरुवार को उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सूचना महानिदेशक बंशीधर तिवारी बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे।
इस अवसर पर सूचना महानिदेशक ने सभी को हिंदी पत्रकारिता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हिंदी के प्रथम समाचार पत्र उदन्त मार्तण्ड का अर्थ है उगता सूरज और सही मायनों में इस उगते सूरज ने नई राह दिखाने का कार्य किया। यह राह राजनीतिक और सामाजिक दोनों तरह से थी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में अभी जो भी माध्यम हैं, उनमें अब सामाजिक वाला हिस्सा नजर नहीं आता। ऐसे में हमें पुनः एक बार सामाजिक जागरूकता लाने की जरूरत है। आज कहीं न कहीं हम अपने मानवीय मूल्यों से भी दूर होते जा रहे हैं और यही वजह है कि व्यक्ति प्रिय होने के बजाए हम वस्तु प्रिय होते जा रहे हैं। पहले की तुलना में अब लोगों में धैर्य का अभाव भी तेजी से देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आज की पत्रकारिता और पत्रकारों के समक्ष कई चुनौतियां हैं। समाचार लिखते या कवर करते समय हमें संतुलन का बेहद ध्यान रखना चाहिए।
इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार जय सिंह रावत, अनुपम द्विवेदी व संजीव कंडवाल ने भी पत्रकारिता के बदलते स्वरूप पर अपने विचार प्रमुखता से प्रस्तुत किए। इस अवसर पर प्रेस क्लब अध्यक्ष अजय राणा ने सूचना महानिदेशक सहित अन्य अतिथियों का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से पत्रकारों को सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर प्रेस क्लब कार्यकारिणी के तमाम पदाधिकारी व सदस्य भी उपस्थित रहे।

सोमवार, 27 मई 2024

सीएम धामी ने विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की

सीएम धामी ने विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा, मानसखण्ड मदिंर माला मिशन, कैंचीधाम और पूर्णागिरी में विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा में हर साल श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि चारों धामों की धारण क्षमता के अलावा यात्रा मार्ग के अन्य स्थलों पर भी श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन करना जरूरी है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा मार्गों और राज्य के तीर्थाटन और पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थलों पर पार्किंग और मूलभूत आवश्यकताओं से संबंधित प्रस्ताव आवास विभाग को भेजे जाएं। चारधाम यात्रा के चरम सीमा वाली अवधि में हर साल के लिए विशेष प्लान बनाया जाएं। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल सेवा शुरू होने से पहले रेल मार्गों पर और कर्णप्रयाग एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों में पार्किंग एवं अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए पूरी कार्ययोजना के साथ कार्य किए जाएं।
चारधाम यात्रा सुचारू रूप से चलने पर मुख्यमंत्री ने संतोष व्यक्त किया। उन्होंने शासन और प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिये कि इसी मनोयोग के साथ चारधाम यात्रा को आगे भी सुव्यवस्थित रखना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 31 मई तक ऑफलाईन रजिस्ट्रेशन बंद रखे जाए। उन्होंने कहा कि यात्रा के अनुरूप ऑफलाईन रजिस्ट्रेशन पर आगे निर्णय लिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने गढ़वाल और कुमांऊ कमिश्नर को निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत रूट डायवर्ट प्लान पर भी कार्य किया जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कैंची धाम और पूर्णागिरी में भी श्रद्धालुओं की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कैंची धाम में मूलभूत सुविधाओं के साथ पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था रखी जाएं। कैंची धाम जाने वाले मार्गों में भी पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था की जाएं। कैंची धाम के लिए शटल बस सेवा शुरू की जाय। कैंचीधाम के लिए बाईपास भी प्रस्तावित है। पूर्णागिरी में श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानसखण्ड मंदिर माला मिशन के तहत कार्यों में तेजी लाई जाय। श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत इन्फ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी के साथ ही मूलभूत सुविधाओं पर तेजी से कार्य किये जाएं। उन्होंने कहा कि गढ़वाल और कुमांऊ की कनेक्टिविटी को और मजबूत करने और पर्यटन तथा तीर्थाटन की दृष्टि से दोनों मण्डलों को श्रद्धालुओं से जोड़ने लिए रानीखेत और चौखुटिया क्षेत्र में होम स्टे और अन्य सुविधाओं को विस्तार देने पर कार्य किया जाए।
चारधाम यात्रा को सुगम और बेहतर बनाने के लिए ‘यात्रा समाधान’ मोबाइल एप्लीकेशन का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। इस मोबाइल एप्लीकेशन का मुख्य उद्देश्य श्रद्धालुओं को सभी सुविधाएं एक ही प्लेटफार्म पर देना है। इस एप्लीकेशन के माध्यम से चारों धामों के निकटवर्ती पुलिस स्टेशन, हॉस्पिटल, पार्किंग और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से यात्रा से जुड़े सभी पक्षकार बीकेटीसी, मंदिर प्रशासन, होटल, टूर ऑपरेटर्स, ट्रांसपोर्टस आपस में जुड़ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने आईटीडीए और पर्यटन विभाग को निर्देश दिये कि इस मोबाइल एप्लीकेशन को और बेहतर बनाने के लिए कार्य किए जाए।
बैठक में मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आर.के सुधांशु, डीजीपी अभिनव कुमार, सचिव आर. मीनाक्षी सुंदरम, शैलेश बगोली, अरविन्द सिंह ह्यांकी, सचिन कुर्वे, दिलीप जावलकर, सचिव एवं गढ़वाल कमिश्नर विनय शंकर पाण्डेय, सचिव एस.एन. पाण्डेय, डॉ. आर. राजेश कुमार, विशेष सचिव डॉ. पराग मधुकर धकाते, एडीजी ए.पी. अंशुमन, अपर सचिव रणवीर सिंह चौहान, नितिन भदौरिया, उपाध्यक्ष एमडीडीए बंशीधर तिवारी, जिलाधिकारी देहरादून श्रीमती सोनिका, एसएसपी अजय सिंह वर्चुअल माध्यम से अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, कुमांऊ कमिश्नर दीपक रावत, जिलाधिकारी हरिद्वार धीराज गर्ब्याल, जिलाधिकारी नैनीताल वंदना उपस्थित थे।

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया

पंकज कपूर 
देहरादून। मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी करते हुए 3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, चंपावत, टिहरी एवं पौड़ी जनपदों में कहीं-कहीं गरजन के साथ आकाशीय बिजली गिरने और वर्षा के तीव्र दौर और जोरदार हवाएं चलने की संभावना जताई है। 
मौसम विभाग का कहना है कि कहीं-कहीं बिजली गिरने से जान माल की हानि हो सकती है तथा झौकेदार हवाएं से पेड़ों के जड़ से उखाड़ने की भी संभावना है। इस दौरान मौसम विभाग ने लोगों को सचेत रहने की भी चेतावनी दी है। इसके अलावा मौसम विभाग में कहीं-कहीं बहुत हल्की से हल्की वर्षा होने की भी संभावना जताई है।

रविवार, 26 मई 2024

'हेमकुंड साहिब' की यात्रा प्रारंभ, जत्था रवाना हुआ

'हेमकुंड साहिब' की यात्रा प्रारंभ, जत्था रवाना हुआ

पंकज कपूर 
चमोली। श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा शनिवार को प्रारंभ हो गई है। शुक्रवार को गोविंदघाट गुरुद्वारे से पंच प्यारों की अगुवाई में सिख श्रद्धालुओं का पहला जत्था कड़ी पुलिस सुरक्षा एवं बैंड बाजों की धुन और पवित्र निशान के साथ श्री हेमकुंड साहिब के लिए रवाना हुआ था। जत्थे ने रात्रि विश्राम घांघरिया स्थित गुरुद्वारे में किया।
शनिवार प्रातः यह जत्था हेमकुंड साहिबा के लिए रवाना हुआ। बोले सो निहाल, सत श्री अकाल के जयकारों के साथ आज प्रातः 9ः30 बजे श्री हेमकुंड साहिब के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिये खोल दिए गए हैं। उत्तराखंड के पांचवें धाम के नाम से विश्व विख्यात हेमकुंड साहिब की यात्रा को सुगम बनाने के लिए प्रशासन और गुरुद्वारा कमेटी की ओर से हेमकुंड साहिब में श्रद्धालुओं के लिए सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त की गई हैं। सप्त श्रृंग पर्वत मालाओं के बीच 4,632 मीटर की ऊंचाई पर स्थित सिखों के पवित्र धाम में 18 किलोमीटर की पैदल कठिन चढ़ाई को पार कर पहुंचा जाता है। विगत दिनों सेना के जवानों ने हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग से बर्फ हटाकर आवाजाही सुचारू कर दी थी। धाम में अब भी कई फीट बर्फ जमी हुई है।
श्री हेमकुंड साहिब के कपाट खुलने पर भ्यूंडार घाटी का गुरु आस्था पथ श्रद्धालुओं की आमद से गुलजार हो गया है। इस दौरान हेमकुंड साहिब की यात्रा पर आए पहले जत्थे में शामिल सिक्ख श्रद्धालुओं में भारी उत्साह नजर आया। सभी श्रद्धालु गुरु गोविंद सिंह के प्रति अगाध आस्था और विश्वास के बलबूते लोकपाल घाटी की दुरह पहाड़ियों को आराम से पार करते नजर आए। श्रद्धालुओं की आमद से अब लोकपाल घाटी में शीतकाल में पसरा सन्नाटा भी टूट गया है। भ्यूंडार घाटी में उत्सव का माहौल बना हुआ है। श्री हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने सभी संगतों से अपील की है कि गुरु आस्था पथ पर सौहार्द कायम रखें और शांत माहौल बनाते हुए गुरु धाम मत्था टेकने पहुंचें और गुरु महाराज का आशीर्वाद लें।

एसएसपी ने कोतवाली का वार्षिक निरीक्षण किया

एसएसपी ने कोतवाली का वार्षिक निरीक्षण किया

पंकज कपूर 
हरिद्वार। एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने रानीपुर कोतवाली का वार्षिक निरीक्षण किया। एसएसपी के कोतवाली पहुँचने पर अधिनस्त पुलिस कर्मचारियों ने सेरिमोनियल गार्द से पुलिस कप्तान को सलामी देकर स्वागत किया। निरीक्षण के दौरान उन्होने कोतवाली की सफाई व्यवस्था, मैन्टिनेंस व राजकीय अभिलेखों की जाँच की। इसके बाद विवेचनाओं व प्रार्थना पत्र के साथ ही कोतवाली में पड़े मुकदमों से संबंधित मामलों का भी निस्तारण करने के निर्देश कोतवाली पुलिस को दिए।
कप्तान ने महिला हेल्प डेस्क के कर्मचारियों को उत्तराखंड पुलिस एप के प्रचार-प्रसार के लिए प्रोत्साहित किया। कोतवाली के कर्मचारी बैरक, भोजनालय एवं शस्त्रागार में साफ-सफाई की व्यवस्थाओं पर खुश होते हुए सभी स्थानों पर कुड़ेदान रखने एवं डेंगू की रोकधाम के लिए कीटनाशक के छिड़काव केे लिए निर्देश भी जारी किए। अंत में एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने कोतवाली में तैनात सभी अधिकारी और कर्मचारियों से उनकी समस्याओं की जानकारी ली। इसके साथ ही, प्रभारी निरीक्षक रानीपुर को मैन पावर के सही तरीके से उपयोग करने और कर्मचारियों की सुख-सुविधाओं का ध्यान रखने के निर्देश दिए गए।
इस दौरान एसएसपी के साथ एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक अपराध पंकज गैरोला, एएसपी व सीओ सदर जितेन्द्र मेहरा आदि मौजूद रहे।

शुक्रवार, 24 मई 2024

हल्द्वानी: डीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक ली

हल्द्वानी: डीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक ली

पंकज कपूर 
हल्द्वानी। हल्द्वानी शहर में प्रस्तावित 13 चौराहों और सड़कों के चौड़ीकरण को लेकर डीएम वंदना ने वन निगम, लोनिवि, राजस्व और विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ कैंप हल्द्वानी में बैठक ली। बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम ने चौराहों के चौड़ीकरण में यूटिलिटी शिफ्टिंग के लिए एसडीएम हल्द्वानी और सिटी मजिस्ट्रेट को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। नोडल अधिकारी नामित होने से विभिन्न विभागों के बीच समन्वय रहेगा और मौके पर होने वाली समस्याओं का आसानी से निस्तारण होगा।
इसके साथ ही विभिन्न चौराहों के चौड़ीकरण में आने वाले पेड़ो के संबंध में डीएम ने सिटी मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया कि वन विभाग को पूर्व में भी जिन पेड़ो को ट्रांसप्लांट किया जा सकता है। उन्हें ट्रांसप्लांट किया जाने की संभावना पर कार्य करने के निर्देश दिए गए थे, वन विभाग के समन्वय से इसके लिए पेड़ों के ट्रांसप्लांट/रिलॉकेशन कार्य हेतु विशेषज्ञ को बुलाकर पेड़ो का चिन्हीकरण किया जाए। हमारा प्रयास होना चाहिए कि जहां तक संभव को पेड़ो को ट्रांसप्लांट/रिलॉकेटिड किया जाए। रिलॉकेशन संभव न होने पर ही पेड़ों का कटान किया जाए। विद्युत विभाग के ईई को चौराहों के चौड़ीकरण में आ रहे पेड़ो के कटान हेतु वन निगम के साथ समन्वय हेतु एक अधिकारी नियुक्त करने को कहा जिससे काम में आसानी बनी रहे।
डीएम ने लोनिवि को निर्देशित किया है कि तीनपानी से नरीमन चौराहे तक हर हाल में ब्लैक टॉप दोनो साइड 10 मीटर होना चाहिए। इसके अतिरिक्त दोनों छोर में जो जगह बचती है, वहां नाली, पार्किंग आदि की सुविधाएं विकसित की जाए। उन्होंने कहा कि प्रायः देखा जाता है विद्युत विभाग सड़क के ब्लैक टॉप के बाद लगती जगह पर पोल शिफ्ट कर देता है, जिससे लोग बची हुई जगह में अतिक्रमण कर देते है। इससे बेहतर रहेगा कि विद्युत विभाग हर हाल में अपने पालों को नाली और पार्किंग स्पेस के बाद बची हुई जगह में शिफ्ट करे जिससे भविष्य में होने वाले अतिक्रमण से बचा जा सके। इसके साथ हो जितने भी धार्मिक स्थल है, उन्हें शिफ्टिंग या ध्वस्तीकरण कार्यवाही के लिए वार्ता करके भूमि के स्वामित्व की स्थिति के अनुसार कार्य किया जाए।
बैठक में सिटी मजिस्ट्रेट एपी बाजपेई, एस डी एम हल्द्वानी परितोष वर्मा, ईई लोनिवि अशोक चौधरी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

बुधवार, 22 मई 2024

तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया: आईएमडी

तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया: आईएमडी 

पंकज कपूर 
देहरादून। उत्तराखंड में बुधवार को मौसम का मिजाज बदला हुआ है। राज्य के कई जनपदों में आंशिक बादल के साथ ही कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम वर्षा होने से गर्मी से राहत मिली। इसी क्रम में भारत मौसम विज्ञान केंद्र (IMD) ने उत्तराखंड राज्य के लिए तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी करते हुए तीन जिलों में तीन घंटे गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है वहीं अन्य जनपदों में हल्की बूंदाबांदी की संभावना जताई है।

तीन जिलों में तात्कालिक ऑरेंज अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान केंद्र ने आज बुधवार की शाम को तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी करते हुए उत्तराखंड राज्य के पौड़ी ,अल्मोड़ा और नैनीताल जिले में गर्जन के साथ हल्की से मध्यम वर्षा और कुछ स्थानों में हवाओं के साथ ओलावृष्टि की संभावना जताते हुए 3 घंटे का तात्कालिक ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
वहीं, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, बागेश्वर और चंपावत जिले में कहीं-कहीं बहुत हल्की वर्षा की संभावना जताई गई है।

इन जिलों में हुई बारिश

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार आज मंगलवार को पौड़ी,नैनीताल ,अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ सहित कई पहाड़ी इलाकों में झमाझम बारिश होने से भीषण गर्मी से राहत मिली। वहीं प्रदेश के पर्वतीय जनपदों में अभी भी आंशिक तौर पर बादल छाए हुए हैं।

डीएम की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की

डीएम की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की 

पंकज कपूर 
नैनीताल। जिलाधिकारी वंदना सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को नैनीताल राज्य अतिथि गृह सभागार में जिला योजना 2024-25 , संरचना की तैयारी के संबंध में विभागीय अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें जिला योजना के तहत सामान्य में 5592.10 लाख, एससीएसपी (अनुसूचित जातीय उप-योजना) के लिए 1347.30 लाख और टीएसपी ( जन जातीय उप योजना) के लिए 81.10 लाख और कुल 7020.50 लाख की धनराशि प्रस्तावित की गई है।
जिलाधिकारी ने जिला योजना के अंतर्गत निर्मित योजनाओं के रख रखाव हेतु धनराशि का प्राविधान करते समय मितव्यवता को ध्यान में रखने की बात कही। उन्होंने स्वरोजगार और आत्मनिर्भरता बढ़ावा देने के लिए उद्यान, मत्स्य पालन, पशुपालन आदि विभागों और आजीविका से संबंधित कार्यों के प्रस्तावों को सम्मिलित करने को कहा, जिससे केंद्र, राज्य सरकार की योजनाओं से अभिसरण और कल्सटर अप्रोच को बढ़ावा दिया जा सके। बताया कि रोजगार के ए ेसे अवसरों का सृजन करने की जरुरत है, जिससे भूमिहीन, छोटे किसानों , ग्रामीण उद्यमियों आदि को बेहतर लाभ मिल सके। उन्होंने योजनाओं के गहन परीक्षण के बाद अनावश्यक योजनाएं जिसकी उपायदेयता अब क्षेत्र के आवश्यक नहीं है, उन्हें समीक्षा के बाद हटाने के निर्देश दिए।

अंतर्विभागीय समन्वय की आवश्यकता

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जल संस्थान, लघु सिंचाई, वन- पर्यावरण आदि विभागों में मरम्मत की योजनाओं पर धन राशि आवंटित करने से पूर्व निर्माण वर्ष और मरम्मत की पुनरावृत्तियों को आवश्यक रूप से संज्ञान में लाने के निर्देश दिए। बताया कि जिला योजना के अंतर्गत स्थानीय स्तर पर किये जा रहे नवाचार कार्यक्रमों को लेना आवश्यक है। जिससे लोगों को योजना का बेहतर लाभ मिलेगा। सफल अभिनव परियोजनाएं के अंतर्गत वेलनेस सेंटर का विकास, आयुष विकास, कौशल कार्यक्रम रोजगार परक योजनाओं को प्राथमिकता देने की बात कही। बैठक मुख्य विकास अधिकारी अशोक कुमार पांडे, नगर आयुक्त विशाल मिश्रा, डी डी ओ गोपाल गिरी गोस्वामी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जे एम सोनी, जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी समेत सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

मंगलवार, 21 मई 2024

पुलिस व्यवस्था समाप्त, याचिका पर सुनवाई की

पुलिस व्यवस्था समाप्त, याचिका पर सुनवाई की

पंकज कपूर 
नैनीताल। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने राज्य में राजस्व पुलिस व्यवस्था समाप्त करने को लेकर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई की। मामले की सुनवाई के बाद मुख्य न्यायाधीश रितु बाहरी व न्यायमूर्ति राकेश थपलियाल की खंडपीठ ने जनहित याचिका को निस्तारित करते हुए राज्य सरकार को निर्देश दिए हैं। साथ ही कोर्ट ने एक साल के भीतर पूरे प्रदेश में रेगुलर पुलिस की व्यवस्था करके उसकी रिपोर्ट कोर्ट में पेश करें।
मंगलवार को सुनवाई पर राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि सरकार ने कई क्षेत्रों में रेगुलर पुलिस की व्यवस्था कर दी है और अन्य क्षेत्रों में इस व्यवस्था को लागू करने के लिए सरकार प्रयास कर रही है। साल 2004 में सुप्रीम कोर्ट ने भी नवीन चन्द्र बनाम राज्य सरकार केस में इस व्यवस्था को समाप्त करने की आवश्यकता समझी गयी थी। जिसमें कहा गया कि राजस्व पुलिस को सिविल पुलिस की भांति ट्रेनिंग नहीं दी जाती, यही नहीं राजस्व पुलिस के पास आधुनिक साधन, कम्प्यूटर, डीएनए और रक्त परीक्षण, फोरेंसिक जांच,फिंगर प्रिंट जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं होती है। इन सुविधाओं के अभाव में अपराध की समीक्षा करने में परेशानियां होती हैं।
कोर्ट ने यह भी कहा था कि राज्य में एक समान कानून व्यवस्था हो, जो नागरिकों को मिलनी चाहिए। उच्च न्यायालय ने भी इस संबंध में सरकार को साल 2018 में कई दिशा निर्देश दिए थे, लेकिन उस आदेश का पालन सरकार ने नहीं किया। जनहित याचिका में कोर्ट से अनुरोध किया है कि पूर्व में दिए आदेश का अनुपालन करवाया जाए। इस मामले में समाधान 256 कृष्णा विहार लाइन न। एक जाखन देहरादून वालों ने जनहित याचिका दायर की है।

रविवार, 19 मई 2024

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

पंकज कपूर 
देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरकार, जिला प्रशासन और गुरुद्वारा प्रबंधन ने जमीनी हालात को देखते हुए प्रतिदिन श्रद्धालुओं के पहुंचने की सीमा तय की है। कपाट खुलने के बाद प्रतिदिन 3500 श्रद्धालु ही हेमकुंड साहिब जा सकेंगे। इस बाबत गुरुद्वारा प्रबंधन ने बताया कि  हेमकुंड साहिब में अभी भी काफी बर्फ है। बर्फ पिघलने के बाद श्रद्धालुओं की संख्या पर फिर से विचार किया जाएगा। बता दें कि 22 मई को पंज पयारों की अगुवाई में राज्यपाल एवं संत समाज द्वारा ऋषिकेश से हेमकुंड साहिब यात्रा का आजाग किया जाएगा। दो दिन पहले जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने गुरुद्वारा प्रबंधन के साथ गोविंदघाट से हेमकुंड साहिब का पैदल निरीक्षण किया था। जिसके बाद प्रशासन ने श्रद्धालुओं की संख्या तय की है।

8 दिनों में 120757 तीर्थयात्री दर्शन को पहुंचें

8 दिनों में 120757 तीर्थयात्री दर्शन को पहुंचें 

पंकज कपूर 
चमोली। बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने के बाद महज आठ दिनों में रिकॉर्ड 120757 तीर्थयात्री बदरीनाथ धाम के दर्शन कर चुके है। रविवार को 28055 श्रद्धालुओं ने बदरीनाथ के दर्शन किए। यात्रा को सुगम बनाने के लिए प्रशासन तत्परता से जुटा है और श्रद्धालुओं को सभी सुविधाएं मुहैया की जा रही है। बदरीनाथ धाम की यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में भी खासा उत्साह बना हुआ है।
जिलाधिकारी हिमांशु खुराना यात्रा व्यवस्थाओं की नियमित समीक्षा कर रहे है। स्वास्थ्य टीम द्वारा बदरीनाथ धाम में अभी तक 1546 श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार किया गया है। बदलते मौसम में श्रद्धालुओं को विशेष सावधानी रखने की सलाह दी जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा यात्रा पढावों पर शुद्ध भोजन, पेयजल, शौचालय एवं अन्य यात्री सुविधाओं का भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है। चारधाम यात्रा मार्ग पर खाद्य पदार्थों की रेग्युलर जांच की जा रही है। मार्ग पर स्वच्छता एवं ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन के पर्यावरण मित्र रात दिन जुटे है। धाम में सभी तीर्थयात्रियों को अच्छे दर्शन की सभी व्यवस्थाएं की गई है।

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...