मंगलवार, 10 अगस्त 2021

आतंकियों का अफगान में प्रवेश कराना बंद: यूएसए

वाशिंगटन डीसी/ इस्लामाबाद। अमेरिका ने पाकिस्तान को स्पष्ट चेतावनी दी है कि वह अपनी सीमा से आतंकवादियों को अफगानिस्तान में प्रवेश कराना बंद करे। अमेरिका ने कहा है कि वह अफगानिस्तान की सीमा से लगे अपने क्षेत्र में आतंकवादियों के अभ्यारण्यों को भी तुरंत समाप्त कर दे। इस संबंध में अमेरिका के रक्षा मंत्री लायड आस्टिन की पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा से टेलीफोन पर वार्ता हुई। दोनों के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता जान किर्वी ने बताया कि पाक से स्पष्ट रूप से कह दिया गया है कि वह अपनी जमीन को आतंकवादियों को इस्तेमाल न करने दे। उन्होंने पाक से यह भी स्पष्ट कर दिया है कि वह अफगानिस्तान की सेना की निरंतर मदद करता रहेगा। ऐसी स्थिति में पाकिस्तान को तालिबान की सहायता देने वाली स्थितियों से बचना होगा।

रेशा उत्पाद प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया

कौशाम्बी। करारी कस्बे में मंगलवार को आजीविका और उद्यम विकास कार्यक्रम(एलईडीपी) का उदघाटन सदर विधायक लाल बहादुर ने किया। इस मौके पर पन्द्रह दिवसीय केला रेशा उत्पाद प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में समूह से जुड़ी महिलाओं को रोजगार पैदा करने के लिए प्रोत्साहित किया गया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सदर विधायक लाल बहादुर ने कहा कि केंद्र व प्रदेश की सरकार बेरोजगारो के साथ-साथ विशेषकर महिलाओं को रोजगार देने के लिए हर सम्भव मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि आजीविका मिशन ग्रामीण महिलाओं के जीवन में बड़ा सामाजिक आर्थिक परिवर्तन ला रहा है। ग्रामीण विकास मंत्रालय ग्रामीण गरीब विशेषकर स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्यों का आर्थिक और सामाजिक दर्जा सुधारने के लिए संकल्पबद्ध है। मंत्रालय इस दिशा में दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन लागू कर रहा है। जिसका उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को आत्म विश्वासी, जागरूक और आत्मनिर्भर बनाना है। एनएबीआरडी के एलडीएम अनिल कुमार शर्मा ने कहा कि दोआबा में केले की खेती बहुलता से की जाती है। 
केले के रेशे से तरह तरह की वस्तुओं का निर्माण कर अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। खादी ग्रामोद्योग अधिकारी महेंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि महिलाओं में इस कला को विकसित करने के उद्देश्य से 15 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर को आयोजन किया है। निश्चय ही प्रशिक्षण प्राप्त कर महिलाएं अपनी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करेंगी। कार्यक्रम को एलडीएम संजीव कुमार श्रीवास्तव, सहायक विकास अधिकारी गिरिजा प्रसाद ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम के प्रायोजक राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक व आयोजक सद्भावना सेवा एवं शिक्षा संस्थान रहे। कार्यक्रम का संचालन आइफा के डायरेक्टर वसमी जहीर नकवी ने किया। इस मौके पर आइफा की सीईओ तनबीर फातिमा, मो हसनैन, शकील अब्बास, रमाकांत, सावित्री देवी, संदीप कुमार, मुकेश जायसवाल, सुमित कुमार, प्रदीप साहू व राजेश कुमार उपस्थित रहे।
सियाराम सिंह 

विधायक के नेतृत्व में पौधारोपण का आयोजन किया

दुष्यंत टीकम           
रायपुर। रायपुर पश्चिम विधानसभा के ठाकुर प्यारेलाल वार्ड में आज कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के द्वारा क्षेत्रीय विधायक विकास उपाध्याय के नेतृत्व में पौधारोपण कार्यक्रम "हरितांजली" का आयोजन किया गया। वार्ड के अंतर्गत आने वाले डंगनिया क्षेत्र के शासकीय स्कूल में पौधारोपण किया गया। कोरोनाकाल में दिवंगत हुए दिव्य आत्माओं की स्मृति में चलाए जा रहे पौधारोपण  कार्यक्रम "हरितांजली" में परिजनों के द्वारा अपने प्रियजन की स्मृति में पौधा लगाकर श्रद्धान्जलि दी जा रही हैं। दिवगन्त सदस्यों के स्मृतियों में पौधा लगाने के लिए परिजनों के द्वारा बताए गए स्थान पर,उनके पसन्द का पौधा लगाकर उसे ट्री-गार्ड से सुरक्षित भी किया जा सकता हैं। 
ताकि पौधें को किसी भी प्रकार की क्षति न पहुँचे। विधायक विकास उपाध्याय ने बताया कि "हरितांजली" के इस कार्यक्रम के माध्यम से हमारी कोशिश हैं उन दिवंगतों को स्मरण करने की जिन्होनें बीते कोरोनाकाल में अपनी जान गंवाई हैं। हम उन दिवंगत आत्माओं को पौधें के रूप में जीवंत रखने का प्रयास कर रहे हैं। पौधा लगाने के बाद हमारी टीम के द्वारा पौधें के रख-रखाव की जिम्मेदारी दिवंगत परिवार के सदस्यों को ही दी जा रही हैं। ताकि अपनत्व की भावना के साथ लगातार वे पौधें की रक्षा करते रहे। आज के इस "हरितांजली" कार्यक्रम में स्व. सुभऊराम यादव,स्व. विट्ठल राव भोंसले,स्व. सोनी बाई यादव,स्व. चंद्रप्रकाश साहू,स्व. कृष्णलाल कटारिया,स्व. विष्णु कटारिया,स्व. भोजराज बिसेन,स्व. दशरथ लाल वर्मा,स्व. गोरेलाल ठाकुर जी,स्व. प. छैल कुमार शास्त्री,स्व. सुशांत कुमार अवस्थी,स्व. डॉ. मनोहर दात,स्व. विजय शर्मा,स्व. परसूति ठाकुर जी,स्व. गौरीशंकर दुबे,स्व. अशोक शर्मा,स्व. सीताराम चन्द्रवंशी,स्व. रामनारायण चंद्रवंशी जी,स्व. अश्विनी शुक्ला,स्व. ओमप्रकाश शर्मा जी,स्व. शकुंतला दीवान,स्व. सनत वर्मा,स्व. संध्या शर्मा,स्व. रेणुका नायक की स्मृति में पौधा लगाकर श्रद्धाजंलि अर्पित की गई। 

24वें दिन पेट्रोल न तो सस्ता और न ही महंगा हुआ

अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। तेल कंपनियों ने लोगों को राहत दी है। लगातार 24वें दिन पेट्रोल और डीजल न तो सस्ता हुआ है और न ही महंगा। पेट्रोल और डीजल की कीमतें अपने उच्चतम स्तर पर बरकरार हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल ऑल टाइम हाई 101.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर बिका रहा है। आखिरी बार तेल की कीमतों 17 जुलाई को इजाफा हुआ था। देश में सबसे सस्ता पेट्रोल-डीजल पोर्ट ब्लेयर में है। 1 अगस्त  के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल पर केन्द्र सरकार 32.90 रुपये और राज्य सरकार 23.50 रुपये टैक्स वसूलते हैं। वहीं, डीजल पर केन्द्र सरकार 31.80 और दिल्ली सरकार 13.14 रुपये टैक्स के रुप में वसूलते हैं। 
इसके अलावा माल भाड़ा और डीलर का कमीशन भी जुड़ता है। यही वजह है कि 41.24 रुपये का पेट्रोल दिल्ली में 101.62 रुपये का हो जाता है। 2020 में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई थी, लेकिन तब महामारी की वजह से केन्द्र सरकार एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दिया था। दरअसल विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां कीमतों की समीक्षा के बाद रोज़ाना पेट्रोल और डीजल के रेट तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम रोज़ाना सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।

भारत में 4-5 बाइक लॉन्च करने वाली है एनफील्ड

अकांशु उपाध्याय                                                   नई दिल्ली। देसी कंपनी रॉयल एनफील्ड इस साल से लेकर अगले साल तक भारत में 4-5 नई बाइक लॉन्च करने वाली है। जिनमें रॉयल एनफील्ड न्यू क्ला‎सिक 350 के साथ ही रॉयल एनफील्ड हंटर 350 का नाम सबसे पहले आ रहा है। भारत में 350 सीसी और उससे ज्यादा पावरफुल कम्यूट, एडवेंचर और टूरर बाइक सेगमेंट में जलवा बिखेर रही देसी कंपनी रॉयल एनफील्ड आने वाले समय में बाइक लवर्स को काफी सरप्राइज देने वाली है।
रॉयल एनफील्ड की नई बाइक आरई हंटर 350 को बीते दिनों टेस्टिंग के दौरान देखा गया, जिसके उसके रियर और फ्रंट लुक की झलक दिखी है। कंपनी ने कुछ समय पहले नई बाइक रॉयल एनफील्ड मेटयोर 350 के साथ ही रॉयल एनफील्ड कांटीनेंटल जीटी 650 और रॉयल एनफील्ड ‎हिमालयन को नए अवतार और फीचर्स के साथ लॉन्च किया है और अब वह इस महीने या अगले महीने भारत में अपनी बेस्ट सेलिंग बाइक क्सालिक 350 को नए अवतार में पेश करने वाली है। इस बीच आप भी जानें कि आखिरकार देसी कंपनी रॉयल एनफील्ड की इस नई बाइक हंटर 350 में क्या कुछ खास है? रॉयल एनफील्ड लंबे समय से स्क्रेंबलर स्टाइल की बाइक लॉन्च करने की फिराक में है, जिसमें उसके सिग्नेचर डिजाइन और फीचर्स की भी झलक दिखे। हंटर 350 की लीक इमेज में पता चला है कि इसमें रेट्रो स्टाइल सर्कुलर हेडलैंप, राउंड व्यू मिरर और टियर ड्रॉप फ्यूल टैंक देखने को मिलेंगे, जो ज्यादातर रॉयल एनफील्ड बाइक्स को देखने को मिलती हैं। हालांकि, हंटर में बाकी डिजाइन काफी अलग हैं और इसमें काफी अलग एग्जॉस्ट, सीट, टेललैंप, इंडिकेटर्स के साथ ही हाइट भी तुलनात्मक रूप से कम होगी। वहीं इंजन की बात करें तो माना जा रहा है कि इसमें हंटर 350 की तरह ही नई जे सीरीज का 349 cc का एयर ऑयल कूल्ड इंजन लगा होगा, जो कि 20.2 एचपी की पावर और 27 एनएम का टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम होगा।
हंटर 350 5 स्पीड गियरबॉक्स के साथ आएगी और कंपनी का कहना है कि इसमें वाइब्रेशन रिडक्शन फीचर दिखेगा। 
बाकी फीचर्स की बात करें तो इसमें ट्रिपर नैविगेशन फीचर भी देखने को मिल सकते हैं।कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि रॉयल एनफील्ड की बाकी बाइक्स के मुकाबले इसका डिजाइन काफी अलग है और यह लोगों को आकर्षित कर सकती है। माना जा रहा है कि रॉयल एनफील्ड हंटर 350 अपने लुक और डिजाइन की वजह से फीमेल बाइकर्स को अपनी ओर आकर्षित कर सकती है। कारण ये है कि इसमें सीट की हाइट अपेक्षाकृत कम होगी।

मुश्किलें कम करते हुए जमानत देकर भारी राहत दीं

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला खान को उच्चतम न्यायालय ने आज हुई सुनवाई के दौरान एक अपराधिक मामले में उनकी मुश्किलें कम करते हुए जमानत देकर भारी राहत प्रदान की है।
मंगलवार को फर्जी प्रमाण पत्र बनवाने के मामले को लेकर उच्चतम न्यायालय के सम्मुख रखी गई याचिका की सुनवाई हुई। इस अपराधिक मामले में उत्तर प्रदेश सरकार और पूर्वमंत्री आजम खान के वकीलों द्वारा पेश की गई दलीलों को सुनने के बाद उच्चतम न्यायालय ने निर्देश दिया है कि उत्तर प्रदेश में संबंधित निचली अदालत द्वारा 4 सप्ताह के भीतर मामले में पूर्व का बयान दर्ज करने के बाद उन्हें जमानत पर रिहा किया जाए। इस मामले में सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में सपा नेता आज़म खान और उनके बेटे अबुल्लाह आज़म की ज़मानत याचिका का विरोध किया। 
उत्तर प्रदेश की तरफ से वकील एसवी राजू ने कहा कि आज़म खान पर कई संगीन मामलो में एफआईआर दर्ज है। अपराधिक पृष्ठभूमि की वजह से उनको जमानत नहीं दी जानी चाहिए। आजम खां और अब्दुल्ला आजम पर आरोप है कि पहला पैन कार्ड मौजूद होने के बाद भी दूसरा पैन कार्ड बनवाया और पहले पैन कार्ड की जानकारी छिपाई। पूर्व मंत्री आजम खान और उनके पुत्र अब्दुल्ला खान की तरफ से वकील कपिल सिब्बल ने उनकी जोरदार पैरवी की।

हिस्सेदारी कम करने की दिशा में बड़ा फैसला लिया

अकांशु उपाध्याय                      
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने अपराधिक छवि वाले नेताओं पर सख्ती बरतते हुए ऐसे लोगों की राजनीति में हिस्सेदारी कम करने की दिशा में कदम बढ़ाने वाला एक बड़ा फैसला लिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सभी राजनीतिक दलों को अपने उम्मीदवारों का चयन करने के 48 घंटे के भीतर उनका आपराधिक रिकॉर्ड आम जनमानस के सामने उजागर करना होगा।
मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक याचिका की सुनवाई के दौरान दिये आदेशों के मुताबिक देश की सभी राजनीतिक पार्टियों को अब अपने सभी उम्मीदवारों की जानकारी अपनी वेबसाइट के माध्यम से बतानी होगी। इसके अलावा दो अखबारों के माध्यम से भी उम्मीदवार चुने गए लोगों के आपराधिक रिकॉर्ड प्रकाशित कराते हुए इसका ब्यौरा आम जनमानस के सामने रखना होगा। उम्मीदवार के चयन के 72 घंटे के अंदर इस आदेश की पालना रिपोर्ट चुनाव आयोग को भी सौंपनी होगी। न्यायालय ने यह आदेश जारी करने के साथ अपने फैसले में बदलाव किया है। वर्ष 2020 के फरवरी माह में सुप्रीम कोर्ट की ओर से आदेश दिया गया था कि उम्मीदवार के चयन के 48 घंटे के अंदर या फिर नामांकन दाखिल करने की तारीख से 2 हफ्ते पहले उम्मीदवारों की पूरी जानकारी देनी होगी। इसके अलावा पिछले महीने ही कोर्ट की ओर से कहा गया था कि इसकी संभावना कम है कि अपराधियों को राजनीति में आने और चुनाव लड़ने से रोकने के लिए विधानमंडल कुछ करेगा। दरअसल इस मामले को लेकर वर्ष 2020 के नवंबर माह के दौरान अधिवक्ता बृजेश सिंह ने उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर की थी। उन्होंने विधानसभा चुनाव के दौरान उन पार्टियों के खिलाफ मानहानि की अर्जी दी थी, जिन्होंने अपने उम्मीदवारों के आपराधिक रिकॉर्ड का ब्यौरा नहीं दिया था।

लक्ष्यों की पूर्ति हेतु कारगर प्रयासों की जरूरत बताईं

पंकज कपूर                    
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के वित्तीय प्रबंधन पर विशेष ध्यान देने, आय के संसाधनों को बढ़ाने, राजस्व हानि रोकने के प्रयासों के साथ ही बजट के निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति हेतु कारगर प्रयासों की जरूरत बताईं है। राज्य से गरीबी, बेरोजगारी एवं पलायन से मुक्ति के लिये संतुलित एवं समावेशी विकास पर भी ध्यान देने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये है। राज्य की वार्षिक विकास दर, औद्योगिक विकास दर, कृषि एवं सम्बद्ध विकास दर को बढ़ाने के प्रयासों पर भी उन्होंने ध्यान देने को कहा है।
सोमवार को देर रात तक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव, सचिव वित्त, वित्त के विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारियों के साथ राज्य की वित्तीय स्थिति की समीक्षा की। सचिव वित्त अमित नेगी ने व्यापक प्रस्तुतीकरण के माध्यम से राज्य की वित्तीय स्थिति आय-व्ययक आदि से सम्बन्धित विषयगत जानकारी मुख्यमंत्री के समक्ष रखी। उन्होंने बताया कि राजय का इस वर्ष का बजट 58 हजार करोड़ है।
मुख्यमंत्री ने राज्य में आय के संसाधनों तथा पूंजी निवेश को बढ़ाने के प्रयासों पर बल देते हुए कहा कि कोविड 19 के दृष्टिगत वित्तीय स्थिति पर भी इसका प्रभाव पड़ा है। बावजूद इसके बेहतर वित्तीय प्रबंधन के द्वारा हमें इस स्थिति में सुधार लाने के प्रयास करने होंगे।
मुख्यमंत्री ने आय के संसाधनों को बढ़ावा देने वाली योजनाओं के क्रियान्वयन, राज्य के 70 प्रतिशत वन भूमि से वन उपज आदि को आय के संसाधनों से जोड़ने, खनन की व्यवहारिक नीति बनाने, कर राजस्व आदि पर ध्यान देने पर बल दिया।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जिन योजनाओं के लिये केन्द्र से वित्तीय मदद मिलनी है उनके प्रस्ताव तैयार किये जाए। उन्होंने उ0प्र0 से परिवहन, ऊर्जा एवं अन्य विभागों से सम्बन्धित प्रकरणों के त्वरित निस्तारण के भी निर्देश दिये।
इस अवसर पर मुख्य सचिव डॉ एस.एस. संधु, अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, आनन्द वर्द्धन, अपर प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, विशेष सचिव पराग मधुकर धकाते, प्रभारी सचिव वी षणमुगम, अपर सचिव अरूणेन्द्र सिंह चौहान, अमिता जोशी सहित कोषागार, ऑडिट, पेंशन स्टेट जी.एस.टी. स्टाम्प रजिस्ट्रेशन, रजिस्ट्रार सोसायटी आदि विभागों के उच्चाधिकारियों मौजूद रहे।

सामने हुई भिडंत में 2 लोगों की मौंत हुईं, 3 घायल

मनोज सिंह ठाकुर                    
भोपाल। मध्यप्रदेश के भोपाल जिले के बैरसिया थाना क्षेत्र के भौंरा जोड़ पर दो मोटरसायकलों की आमने सामने हुई भिडंत में दो लोगों की मौत हो गई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।
पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि अनुसार विदिशा जिले के भूतपरासी गांव का निवासी विनोद मीणा (30) अपने परिचित मनोहर अहिरवार के साथ कल शाम को भोपाल जा रहे थे। इसी दौरान उनकी मोटरसायकल भौंरा जोड के पास बैरसिया के वार्ड नंबर-7 के निवासी सलीम बेलदार (25) के मोटरसायकल से टकरा गई, जो अपने परिचित शफीक और छोटे भाई के साथ विदिशा की तरफ जा रहे थे। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों स्वास्थ्य केंद्र बैरसिया पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने परिक्षण उपरांत विनोद मीणा और सलीम बेलदार को मृत घोषित कर दिया। हादसे में घायल हुए मनोहर अहिरवार, शफीक और एक अन्य की हालत अस्तपाल में स्थिर बताई गई।

सभा: नाराज पीएम मोदी ने सांसदों की लिस्ट मांगी

अकांशु उपाध्याय                            
नई दिल्ली। संसद की कार्यवाही से सामान्यता नदारद रहकर महत्वपूर्ण मुददों पर सरकार की किरकिरी होने की स्थिति पैदा कराने वाले भाजपा सांसदों से नाराज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे सांसदों की लिस्ट मांगी है। जो बंक मारकर संसद से नदारद रहने में माहिर हो चुके हैं।
मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजधानी में चल रहे मानसून सत्र के दौरान संसद की कार्यवाही से भाजपा सांसदों के नदारद रहने पर गहरी नाराजगी जताई है। संसद से बंक मारकर अपनी जिम्मेदारी से दूर भागने वाले भाजपा सांसदों की प्रधानमंत्री ने लिस्ट मांगी है। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि सामान्य तौर पर संसद की कार्यवाही से दूर भागने वाले भाजपा सांसदों के खिलाफ पार्टी स्तर पर अब कार्यवाही की जा सकती है? गौरतलब है कि राज्यसभा में सोमवार को पेश किए गए अधिकरण सुधार विधेयक-2021 को पारित किए जाने के दौरान भाजपा के कई सांसद अनुपस्थित रहे थे। जिसके चलते मत विभाजन के दौरान सरकार के सामने बड़ी ही विकट स्थिति उत्पन्न हो गई थी। 
शायद यही कारण है कि भाजपा संसदीय दल की बैठक में सांसदों के संसद सत्र से दूर रहने पर गहरी नाराजगी जताते हुए प्रधानमंत्री ने ऐसे सांसदों की सूची मंगवाई है जो सोमवार को राज्यसभा में पेश किए गए विधेयक के पारित होने के दौरान सदन से नदारद रहे थे। हालांकि सोमवार को राज्यसभा के पटल पर रखे गए अधिकरण सुधार विधेयक-2021 को विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच मामूली चर्चा के बाद मंजूरी दे दी गई थी। इस विधेयक में चलचित्र कानून, सीमा शुल्क कानून और व्यापार चिन्ह कानून समेत कई कानूनों में संशोधन करने का प्रस्ताव किया गया है। विपक्ष ने इस विधेयक को प्रवर समिति में भेजने का प्रस्ताव रखा और बाद में उसके ऊपर मत विभाजन कराने की मांग की। हालांकि मत विभाजन के दौरान सदन ने 44 के मुकाबले 79 मतों से विपक्ष के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया। उल्लेखनीय है कि राज्यसभा में भाजपा के वर्तमान समय में कुल 94 सांसद हैं। जिसके चलते कई बार ऐसे हालात उत्पन्न हो जाते हैं कि भाजपा सांसदों की अनुपस्थिति से सरकार की किरकिरी होने का अंदेशा बना रहता है।

शहीद हुए कौशल के परिजनों को गिरफ्तार किया

हरिओम उपाध्याय                  
आगरा। पुलवामा हमले में वीरगति को प्राप्त हुए सीआरपीएफ के जवान कौशल किशोर रावत के परिवारजनों के दुख को साझा करने के लिए गांव पहुंचे राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा है कि योगी सरकार के इशारे पर जिस तरह से आगरा पुलिस द्वारा अपनी समस्याओं की बाबत सीएम से मिलने जा रहे पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए कौशल किशोर रावत के परिजनों को गिरफ्तार किया गया है। वह देश के सामने योगी सरकार की दमनकारी नीति का जीता जागता प्रमाण है।
मंगलवार को राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने आगरा जनपद के कहरई गाँव में पहुंचकर पुलवामा में वीरगति को प्राप्त हुए सीआरपीएफ के जवान कौशल किशोर रावत की माताजी, पत्नी ममता रावत और पुत्र अभिषेक से मुलाकात कर उनके दुःख को साझा किया।
इस दौरान राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के इशारे पर जिस तरह से आगरा पुलिस द्वारा पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए कौशल किशोर रावत के परिजनों को गिरफ्तार किया गया है। वह देश के सामने सरकार की दमनकारी नीति को प्रमाणित करता है।
उन्होंने सवालिया लहजे में पूछा कि सरकार द्वारा की गई घोषणाओं को पूरा करने की माँग को लेकर मुख्यमंत्री से मिलना क्या कोई गुनाह है उत्तर प्रदेश में।
रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने कहा कि प्रशासन को सात दिन का समय दिया जाता है। शहीद के परिजनों की सभी माँगों पर सुनवाई कर उन्हें पूरा करे। राष्ट्रीय लोकदल का प्रतिनिधिमंडल लखनऊ में भी महामहिम राज्यपाल से मुलाकात कर इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से अवगत कराएगा। उन्होंने कहा है कि यह शहीदों का बड़ा ही दुर्भाग्य है कि देश के लिए हंसते हंसते अपने प्राण न्यौछावर करने वाले एक शहीद के परिवार को अपनी जायज माँगों के लिए सरकार के सामने गिडगिडाते हुए उसके दरवाजे खटखटाने पड़ रहे है। इस मामले में मुख्यमंत्री की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि वह खुद कौशल किशोर रावत के घर जाकर परिजनों से मुलाकात कर उनकी माँगों पर विचार करते।

2 लोगों को गिरफ्तार कर रैकेट का भंडाफोड़ किया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को पुंछ जिले में दो लोगों को गिरफ्तार कर हवाला रैकेट का भंडाफोड़ किया और 25.81 लाख रुपये बरामद किये।
पुलिस प्रवक्ता ने यहां बताया कि खुफिया सूचना के आधार पर पुलिस ने भारतीय सेना के साथ आज सुबह नियंत्रण रेखा के पास मेंढर क्षेत्र के कांगा भ्रूटी गांव में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे। सुरक्षा बलों ने इस दौरान 25,81,500 रुपये जब्त किये, जो आतंक के वित्तपोषण के लिए थी।
इस सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।जिनकी पहचान कांगा के मोहम्मद शकील और कांगा भ्रूटी के मोहम्मद इलियास के रूप में की गयी है। उन्होंने बताया कि संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है।

100 फुट की ऊंचाई पर 3 तिरंगे लगाएंगा विभाग

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। लोक निर्माण विभाग 15 अगस्त यानी देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस तक ईस्ट किदवई नगर, रानी बाग और ईस्ट विनोद नगर में 100 फुट की ऊंचाई पर तीन तिरंगे लगाएगा। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यह परियोजना दिल्ली सरकार के ”देशभक्ति बजट” के तहत पूरी की जा रही है।
लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों के अनुसार पहले उन्हें 15 अगस्त तक पांच स्थानों पर ध्वज स्थापित करने थे। लेकिन फिलहाल तीन तिरंगे ही लगाए जाएंगे। ईस्ट किदवई नगर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्वाचन क्षेत्र नयी दिल्ली जबकि ईस्ट विनोद नगर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के विधानसभा क्षेत्र पटपड़गंज में आता है।
रानी बाग पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन के निवार्चन क्षेत्र शकूरबस्ती में है । पीडब्ल्यूडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ”हम इसे बहुत कम समय में पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हमें यकीन है कि 15 अगस्त तक ईस्ट किदवई नगर, रानी बाग और ईस्ट विनोद नगर में 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगे लगा दिये जाएंगे। इन स्थानों पर काम भी शुरू हो चुका है।
उन्होंने कहा कि द्वारका और कालकाजी में दो और स्थानों की पहचान की गई है। लेकिन 15 अगस्त तक वहां 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगे झंडे स्थापित किये जाने की संभावना नहीं है। इस साल मार्च में, दिल्ली सरकार ने देशभक्ति पर आधारित अपने वार्षिक बजट की घोषणा की थी और इसे ‘देशभक्ति बजट’ नाम दिया था, जिसके तहत राष्ट्रीय राजधानी में 500 स्थानों पर ये तिरंगे स्थापित करने के लिए 45 करोड़ रुपये निर्धारित किए गए हैं।
एक अन्य पीडब्ल्यूडी अधिकारी ने कहा कि 15 अगस्त के बाद और स्थानों की पहचान कर अधिक 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगे लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा, “ईस्ट किदवई नगर में नवनिर्मित आवासीय परिसर के पार्क में 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगा लगाया जा रहा है। पूर्वी विनोद नगर और रानी बाग में सार्वजनिक पार्कों में झंडे लगाए जा रहे हैं। हम 500 और स्थानों पर झंडे लगाने के लिए सार्वजनिक स्थानों, पार्कों, मैदानों, स्कूल भवनों व आवासीय परिसरों का सर्वेक्षण कर रहे हैं।
अधिकारी ने कहा कहा कि कनॉट प्लेस की तर्ज पर ऊंचे ध्वजस्तंभ पर ये तिरंगे इस तरह से लगाए जाएंगे कि वे कम से कम दो-तीन किलोमीटर की दूरी से दिखाई दें। इसके लिये निविदा भी आमंत्रित की जा चुकी हैं।

इकाई ने ‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ का गठन किया

राणा ओबराय                 
लुधियाना। पंजाब में उद्योगपतियों की एक इकाई ने यहां ‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ का गठन कर भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी को 2022 में विधानसभा चुनाव में पार्टी का मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित किया है।
‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ नाम की इस नई पार्टी ने किसानों, व्यापारियों और श्रमिकों का प्रतिनिधित्व करने का दावा किया है। हरियाणा के किसान नेता चढूनी की अध्यक्षता में विभिन्न व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने मुलाकात कर नई पार्टी की शुरुआत की।
एक व्यापारिक संगठन का नेतृत्व करने वाले तरुण बावा को नवगठित पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया। वहीं चढूनी को राज्य में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किया। चढूनी इस पार्टी में शामिल तो नहीं हुए लेकिन मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर उनके नाम की घोषणा के दौरान वह मंच पर मौजूद थे।
पिछले महीने चढूनी ने ‘मिशन पंजाब’ की बात करते हुए कहा था कि पंजाब में केंद्र के कृषि क़ानूनों के विरोध में प्रदर्शन करनेवाले संगठनों को पंजाब विधानसभा का चुनाव लड़ना चाहिए क्योंकि इससे  एक मॉडल पेश होगा कि तंत्र को कैसे बदला जाता है।
यहां सभा को संबोधित करते हुए चढूनी ने कहा कि ‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ उनके ‘मिशन पंजाब-2022’ को सफल बनाने की दिशा में काम करेगी। उन्होंने कहा कि हमने पंजाब विधानसभा चुनाव-2022 में सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। उन्होंने दावा किया कि किसान, व्यापारी और श्रमिकों को कांग्रेस और भाजपा दोनों के हाथों लगातार उपेक्षा का सामना करना पड़ा है।
चढूनी ने आशा व्यक्त की कि ‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ समाज के इन उपेक्षित वर्गों के लिए काम करेंगी। उन्होंने कहा कि किसी राजनीतिक पार्टी ने अब तक एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) के मुद्दे पर न तो कोई घोषणा की है और न किसानों को आश्वासन दिया है।
किसान नेता ने दावा किया कि नई पार्टी सदन में बहुमत हासिल करेगी और किसानों, व्यापारियों और श्रमिकों के हितों वाले क़ानून लाए जाएंगे। चढूनी ने शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की सभी बैठकों से अलग रहने की घोषणा करते हुए आरोप लगाया कि इस आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त मोर्चे के कुछ नेता उनके और उनके समर्थकों के साथ भेदभाव कर रहे हैं।
हालांकि उन्होंने कहा कि वह इस संगठन के सभी फैसलों का पालन करेंगे क्योंकि वह नहीं चाहते हैं कि किसानों का आंदोलन कमजोर हो। पिछले महीने संयुक्त किसान मोर्चे ने चढूनी को यह कहने के बाद सात दिन के लिए निलंबित कर दिया था कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे पंजाब के किसान संगठनों को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में मैदान में उतरना चाहिए।

हर राज्य में पशुओं की भी गिनती की गई: भाजपा

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। भाजपा ने मंगलवार को लोकसभा में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में सबसे अधिक समय तक शासन करने वाली कांग्रेस पार्टी की सरकारों के समय हर राज्य में पशुओं की भी गिनती की गई। लेकिन पिछड़ा वर्ग की गिनती नहीं की गई क्योंकि उसे इनकी कोई चिंता ही नहीं थी। निचले सदन में ‘संविधान (127वां संशोधन) विधेयक, 2021’ पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए भाजपा की संघमित्रा मौर्य ने कहा कि देश में सबसे अधिक समय तक कांग्रेस सत्ता में रही और उनके समय हर राज्य में पशुओं की भी गिनती की गई लेकिन पिछड़े वर्ग की गिनती नहीं हुई। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, ” साल 2011 में जब जनगणना हो रही थी तब केंद्र में कांग्रेस नीत सरकार थी । हम पूछना चाहते हैं कि तब अन्य पिछड़ा वर्ग के आंकड़े क्यों प्रकाशित नहीं किये गए। ” मौर्य ने आरोप लगाया कि आरक्षण को खत्म करने की शुरूआत साल 2010 में शुरू कर दी गई थी जब कांग्रेस की सरकार थी।
भाजपा सांसद ने कहा कि अगर आपने (कांग्रेस) जनता के अधिकारों के संरक्षण की बात की होती तब जनता आपको सत्ता से बाहर नहीं करती। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के समय तमाम घोटालों के साथ अनुसूचित जातियों, पिछड़े वर्गो के हितों को नजरंदाज किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यो का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार पिछड़े वर्गो के अधिकारों के संरक्षण एवं उनके कल्याण को ध्यान में रखकर यह विधेयक लेकर आयी है।
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने मेडिकल कॉलेजों में दाखिले को लेकर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों के लिए आरक्षण को मंजूरी दी है। मौर्य ने कहा कि अब स्नातक, स्नातकोत्तर मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों को 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को 10 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा।
भाजपा सदस्य ने कहा कि 1931 में आखिरी बार जाति आधारित जनगणना हुई थी और अब तक इसी के आधार पर व्याख्या की जा रही है। आजादी के बाद सबसे अधिक समय तक सरकार में रहने वाली कांग्रेस को इसका जवाब देना चाहिए।

पीएम की तस्वीर मुद्रित करना अवश्यक व अनिवार्य

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने मंगलवार को बताया कि कोविड-19 रोधी टीका लगवाने के बाद जारी किए जाने वाले प्रमाणपत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश के साथ तस्वीर ”व्यापक जनहित” में है और यह (प्रमाणपत्र) टीकाकरण के बाद भी महामारी से बचाव के सभी नियमों का पालन करने के बारे में जागरूकता फैलाता है।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री भारती पवार ने राज्यसभा में एक लिखित जवाब में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों का प्रारूप मानकीकृत हैं और प्रमाणपत्रों संबंधी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के विकसित दिशानिर्देशों के अनुरूप है।
कांग्रेस के कुमार केतकर ने सरकार से जानना चाहा था कि क्या कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर मुद्रित करना अवश्यक और अनिवार्य है। इसके जवाब में पवार ने कहा कि महामारी के बदलते स्वरूपों के मद्देनजर कोविड संबंधी उचित व्यवहार का पालन करना इस रोग के प्रसार को रोकने के लिए एक सबसे महत्वपूर्ण उपाय के रूप में उभरा है।
उन्होंने कहा, ”टीकाकरण प्रमाणपत्रों में प्रधानमंत्री के संदेश के साथ फोटो ‍व्यापक जनहित में टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 उचित व्यवहार का पालन करने के महत्व के बारे में जागरूकता उत्पन्न करने के संदेश पर बल देता है।” पवार ने कहा कि यह सरकार की नैतिक और नीतिगत जिम्मेदारी है कि इस प्रकार के महत्वपूर्ण संदेश लोगों तक सबसे प्रभावी ढंग से प्रसारित किए जाएं। उन्होंने कहा, ”टीकाकरण के बाद भी कोविड उचित व्यवहार के महत्व के बारे में संदेश सहित टीकाकरण प्रमाणपत्रों संबंधी डब्ल्यूएचओ मानदंडों के अनुपालन में टीकाकरण प्रमाणपत्रों के प्रारूप का निर्णय इन सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।” यह पूछे जाने पर कि क्या किसी राज्य ने प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर नहीं छापी है, पवार ने कहा कि सभी राज्य कोविड टीकाकरण के लिए कोविन एप्लीकेशन का उपयोग कर रहे हैं।
हालांकि केंद्रीय मंत्री ने केतकर के उस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया जिसमें उन्होंने पूछा था कि क्या किसी सरकार ने पहले भी पोलियो, चेचक इत्यादी जैसे किन्हीं टीकों के प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर का मुद्रण आवश्यक या अनिवार्य बनाया था।
 

गरीबों को ₹400 का सिलेंडर मुहैया कराना चाहिए

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण की शुरुआत किए जाने को लेकर मंगलवार को उन पर निशाना साधा और कहा कि कोरे चुनावी प्रचार से बाज आना चाहिए और गरीबों को 400 रुपये का एलपीजी सिलेंडर मुहैया कराना चाहिए। पार्टी के प्रवक्ता मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस और खाने के उपयोग में लाए जाने वाले तेल की कीमतों में आग लगी हुई है। लेकिन सरकार स्वांग रचने में लगी हुई है।
प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के महोबा जिले से ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के दूसरे चरण की शुरुआत की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महोबा जिले में इस कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने उज्ज्वला योजना-दो के 10 लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किए। इस ऑनलाइन इस कार्यक्रम में मोदी ने उज्ज्वला योजना के पहले चरण के पांच लाभार्थियों से बातचीत भी की।
सुरजेवाला ने एक वीडियो जारी कर कहा, ”विडंबना देखिए, लोगों के घरों में महंगाई का अंधेरा परोसने वाले लोग अपनी योजनाओं का नाम उज्ज्वला रख रहे हैं। आज जब मोदी जी उत्तर प्रदेश के महोबा में उज्ज्वला- 2 की शुरुआत कर रहे हैं, तब देश को जानना चाहिए कि पहले उज्ज्वला के नाम पर क्या अंधेरा गरीबों के घर में परोसा गया है ।” उन्होंने यह भी कहा, ”आज खाना बनाने की गैस के दाम महोबा में 888 रुपये प्रति सिलेंडर है जो कांग्रेस की सरकार में 400 रुपये का हुआ करता था। नाम उसका उज्ज्वला नहीं था, मगर लोगों के घरों में गैस के सस्ते दामों की रोशनी जगमगा रही थी।”
कांग्रेस महासचिव ने दावा किया, ”उज्ज्वला गैस लेने वाले करीब आठ करोड़ परिवारों में से 3 करोड़ परिवारों ने गैस का सिलेंडर रिफ़िल ही नहीं कराया है क्योंकि वो इतनी भारी भरकम कीमत नहीं चुका सकते। ज़्यादातर लोग फिर से लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाने को मजबूर हैं । ऐसा इसलिए कि कैरोसिन की पूरी सब्सिडी भी मोदी जी ने 1 अप्रैल 2021 से समाप्त कर दी और उसके दाम दो गुना से अधिक बढ़ा दिए।
सुरजेवाला ने तंज कसते हुए कहा, ”हमने सुना था कि जंगल की आग पर आग से काबू पाया जाता है। आज मोदी जी पेट्रोल, डीज़ल खाना बनाने की गैस ,खाने का तेल सब के दामों में आग लगाकर गरीबों के पेट की आग बुझाने का स्वांग रच रहे हैं।” उन्होंने कहा, ” मोदी जी ,कोरे चुनावी प्रचार से बाज़ आइए, गरीबों को उज्ज्वला की गैस कांग्रेस की तरह फिर से 400 रु में मुहैया कराइए।

राज्यपाल ने उपराष्ट्रपति नायडू से मुलाकात की

दुष्यंत टीकम                  
रायपुर। छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके दिल्ली प्रवास पर हैं। राज्यपाल उइके ने मंगलवार को नई दिल्ली में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से मुलाकात की। इसी तरह सोमवार को राज्यपाल ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली स्थित कार्यालय में मुलाकात की थी। राज्यपाल ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री को शॉल भेंट कर उनका सम्मान किया। कोरोना काल में रचनात्मक भूमिका में राज्यपाल-2021 पुस्तिका भेंट की। राज्यपाल ने रक्षा मंत्री सिंह के साथ छत्तीसगढ़ के नक्सल समस्या पर चर्चा की। राज्यपाल ने रक्षा मंत्री सिंह को प्रतीक चिन्ह भी भेंट किया।
इसी तरह राज्यपाल अनुसुईया उइके ने राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के चेयरमेन हर्ष चौहान और सदस्य अनंत नायक से मुलाकात कर जनजातीय समाज के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। राज्यपाल ने दोनों का शॉल से सम्मान किया और प्रतीक चिन्ह भी भेंट किया।

आरक्षण को लेकर कदम उठाने की तैयारी में यूपी

हरिओम उपाध्याय                   
लखनऊ। यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार आरक्षण को लेकर बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग प्रदेश की 39 जातियों को अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की तैयारी कर रहा है। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष जसवंत सैनी ने बताया कि जल्द ही आयोग इस संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार को संस्तुति भेजेगा। जानकारी के अनुसार, इन 39 जातियों में भूर्तिया, अग्रहरि, दोसर वैश्य, जैसवार राजपूत, रूहेला, मुस्लिम शाह, मुस्लिम कायस्थ, हिन्दू कायस्थ, बर्नवाल, कमलापुरी वैश्य, कोर क्षत्रिय राजपूत, दोहर, अयोध्यावासी वैश्य, केसरवानी वैश्य, बागवान, ओमर बनिया, माहौर वैश्य, हिन्दू भाट, भट्ट, गोरिया, बोट, पंवरिया, उमरिया, नोवाना, मुस्लिम भाट ओबीसी में शामिल हो सकती हैं। 
इनके अलावा विश्नोई, खार राजपूत, पोरवाल, पुरूवार, कुन्देर खरादी, बिनौधिया वैश्य, सनमाननीय वैश्य, गुलहरे वैश्य, गधईया, राधेड़ी, पिठबज आदि जातियों के लिए सर्वे होना है।राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष जसवंत सैनी ने कहा है कि प्रत्यावेदन के आधार पर जातियों के सर्वे का कार्य लगातार चल रहा है।
24 जातियों का सर्वे हो चुका है। जबकि 15 जातियों का होना बाकी है। सर्वे इन जातियों में शिक्षा, जनसंख्या और आर्थिक आधार समेत कुल 35 बिंदुओं पर किया जाता है। सर्वे का काम पूरा होने के बाद राज्य पिछड़ा आयोग सरकार को अपनी संस्तुति दे देगा।

हलवाई स्टाइल में आलू गोभी बनाने की रेसिपी

दुष्यंत टीकम                     
रायपुर। हलवाई स्टाइल में बनाइए आलू गोभी की सब्जी और खिलाइए सब वाह वाह कहते रह जाएंगे। तो आइए जानते हैं, हलवाई स्टाइल में आलू गोभी बनाने की रेसिपी।
सामग्री :
फूलगोभी (टुकड़ों में कटा हुआ) - 1
आलू (टुकड़ों में कटा हुआ) - 1
मटर - 1 छोटी कटोरी
प्याज (टुकड़ों में कटा हुआ) - 1
लहसुन - 8-10 कलियां
अदरक - 1 छोटा टुकड़ा
हरी मिर्च - 2
टोमैटो प्यूरी - 1 छोटी कटोरी
हल्दी - 1 छोटा चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटा चम्मच
धनिया पाउडर - 1 छोटा चम्मच
गरम मसाला - 1 छोटा चम्मच
तेल - जरूरत के अनुसार
नमक - स्वादानुसार
विधि:
इसे बनाने के लिए सबसे पहले आप धीमी आंच में एक पैन में तेल गर्म करके इसमें फूलगोभी और आलू डालकर हल्का सुनहरा होने तक फ्राई कर लें।
फिर हल्का फ्राई होते ही फूलगोभी और आलू को एक प्लेट में निकालकर रख लें।
अब इसी पैन में थोड़ा और तेल डालकर गर्म करने के लिए रखें।
इसी बीच प्याज, लहसुन, अदरक और हरी मिर्च का पेस्ट तैयार करें।
फिर तेल के गर्म होते ही तैयार पेस्ट डालकर सुनहरा होने तक भूनें।
जैसे ही पेस्ट तेल छोड़ने लगे टोमैटो प्यूरी डालकर भून लें।
 इसमें हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर और नमक मिक्स करें।
फिर मसालों के भुनते ही फ्राइड गोभी-आलू और साथ में मटर डालकर कड़छी से चलाते हुए अच्छे से मिला लें।
अब सब्जी को ढककर 15 से 20 मिनट के लिए पकाएं।
फिर तय समय के बाद गरम मसाला डालें और 1 मिनट बाद आंच बंद कर दें।
 हलवाई स्टाइल आलू गोभी की सब्जी तैयार है। इसे आप रोटी के साथ सर्व करें।

वर्षा: लोगों को सावन में गर्मी के मौसम का एहसास

दुष्यंत टीकम                  
रायपुर। प्रदेश भर में बारिश थम गई है। इससे उमस में भारी बढ़ोतरी हो गई। लोगों को सावन में गर्मी के मौसम का एहसास हो रहा है। राजधानी रायपुर की बात की जाय तो यहां सोमवार को तापमान सामान्य से 5 डिग्री अधिक रहा। प्रदेश में आज कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। 
प्रदेश में अधिकतम तापमान (उमस) में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। वर्षा का क्षेत्र मुख्यत सरगुजा संभाग और उससे लगे क्षेत्र में ज्यादा संभावित है।

50 हजार रुपये के इनामी अपराधी को अरेस्ट किया

हरिओम उपाध्याय                   
लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गाजीपुर जिले के करीमुद्दीनपुर थाने पर दर्ज मामले में फरार चल रहे 50 हजार रुपये के इनामी अपराधी अनूप राय उर्फ बन्टी को आज गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ प्रवक्ता ने यहां जानकारी दी। उन्होंने बताया गाजीपुर के करीमुद्दीन इलाके में इसी साल 16 मई की रात अनूप राय ने रविन्द्र नाथ राय एवं इनके परिजनों पर पडोस में तेरही में जाते समय हत्या करने की नियत से फायरिंग किया था, लेकिन रविन्द्र नाथ राय एवं परिजनों ने घर में घुसने पर जान बच गयी थी। 
इस घटना में रविन्द्र नाथ राय के घर के कई सदस्य घायल हो गये थे। इस घटना के तीन लोगों के विरूद्ध थाना करीमुद्दीनपुर पर अभियोग पंजीकृत किया गया था।उन्होंने बताया कि घटना के बाद से सभी आरोपी फरार चल रहे थे, इनकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रूपये का पुरस्कार घोषित किया गया था। इस मामले में एसटीएफ को लगाया गया था। एसटीएफ की टीम को आज सूचना मिली कि इनामी वांछित आरोपी गाजीपुर अपने एक साथी से मिलने के लिये आया है और उसी का इन्तजार कर रहा है।
 इस सूचना पर एसटीएफ की टीम ने अपराधी अनूप राय उर्फ बन्टी को लउआडीह पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पुल के नीचे से गिरफ्तार कर उसे आगे की कार्रवाई के लिए करीमुद्दीनपुर थाने में दाखिल करा दिया।प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त अनूप राय उर्फ बन्टी ने बताया कि उसके गांव के ही रहने वाले शातिर अपराधी अमित राय उसका बचपन का मित्र है। अमित राय के साथ रहते-रहते वह भी अपराध करने लगा और 2011 में अमित राय के साथ मिलकर उसने संतोष राम का अपहरण किया था। जिसमें थाना नोनहरा पर अभियोग पंजीकृत हुआ था। इसमें अमित राय एवं वह गिरफ्तार होकर जेल चला गया। जमानत पर छूट कर आने के बाद भी अपराध करता रहा, उसके गांव के ही रहने वाले रविन्द्र नाथ राय से इन सब की राजनीतिक दुशमनी चली आ रही थी, जिसके कारण रविन्द्र नाथ राय एवं इनके घर वालों को जान से मारने की योजना इसने अमित राय एवं उसके भाई अनूप राय के साथ मिलकर हत्या की योजना बनायी लेकिन कामयाम नहीं हुए।

मीडिया व वेबसाइटों पर वाद, अप्रसन्नता जताईं

अकांशु उपाध्याय                       
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने इजराइल के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस से कथित तौर पर जासूसी कराए जाने के मामले की स्वतंत्र जांच कराने का अनुरोध करने वाले कुछ याचिकाकर्ताओं के सोशल मीडिया और वेबसाइटों पर समानांतर वाद-वाद करने पर अप्रसन्नता जताई है। न्यायालय ने इन याचिकाकर्ताओं को अनुशासित रहने को कहा है।
प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि शीर्ष अदालत वाद-विवाद की विरोधी नहीं है, लेकिन जब मामला अदालत में लंबित है तो इस पर चर्चा यहीं होनी चाहिए। केन्द्र सरकार की ओर से पेश सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ को बताया कि उन्हें याचिकाओं में उठाए गए मुद्दों के संबंध में सरकार से निर्देश लेने के लिए कुछ वक्त चाहिए। इस पर न्यायमूर्ति रमण, न्यायमूर्ति विनीत सरन एवं न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ ने पेगासस मामले की अगली सुनवाई के लिए 16अगस्त की तारीख निर्धारित की।
पेगासस मामले में याचिका दाखिल करने वाले वरिष्ठ पत्रकार एन राम और शशि कुमार की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि पेगासस से जुड़ी अदालत की कार्यवाही के बारे में राम को पिछली सुनवाई के बाद सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया था। पीठ ने कहा, ”यही तो हम कह रहे हैं। हम पक्षकारों से प्रश्न करते हैं। हम दोनों पक्षकारों से पूछताछ करते हैं। मामले पर बहस यहां होनी चाहिए, इस पर बहस सोशल मीडिया या वेबसाइट पर नहीं होनी चाहिए। पक्षकारों को तंत्र पर भरोसा होना चाहिए।
उच्चतम न्यायालय इजराइल के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस से कथित तौर पर जासूसी कराए जाने के मामले की स्वतंत्र जांच कराने के अनुरोध वाली अनेक याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है। इनमें से एक याचिका ‘एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया’ ने दाखिल की है। गौरतलब है कि पांच अगस्त को मामले की सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने कहा था कि पेगासस से जासूसी कराए जाने संबंधी आरोप ”गंभीर प्रकृति” के हैं, अगर इससे संबंधित खबरें सही हैं तो।

प्लान में मिलने वाले बेनिफिट्स में बदलाव किया

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। बीएसएनएल ग्राहकों के लिए एक बुरी खबर है। कंपनी ने अपने कुछ प्रीपेड प्लान में मिलने वाले बेनिफिट्स में बदलाव किया है। जिसके चलते अब ग्राहकों को ये थोड़े महंगे पड़ेंगे। दरअसल, इन दिनों सभी टेलीकॉम कंपनियां अपना एवरेज रेवेन्यू पर यूजर बढ़ाने में जुटी हैं। ऐसे में बीएसएनएल ने प्लान की कीमत में किसी तरह का बदलाव ना करते हुए, इनकी वैलिडिटी को घटा दिया है। तो आइए जानते हैं ये प्लान कौन-कौन से हैं।
कंपनी ने कुल 7 प्रीपेड प्लान में बदलाव किया है। इसमें 49 रुपये, 75 रुपये और 94 रुपये के स्पेशल टैरिफ वाउचर्स शामिल हैं। इसके अलावा 106 रुपये, 107 रुपये, 197 रुपये और 397 रुपये के प्लान वाउचर्स को भी बदला गया है। कंपनी ने इन सभी प्रीपेड प्लान की कीमत को पहले जैसा ही रखा, हालांकि इनकी वैलिडिटी अब कम हो गई है। कंपनी के नए बदलाव 1 अगस्त से ही लागू कर दिए गए हैं।
सबसे पहले 49 रुपये के प्लान की बात करें तो इसमें पहले 28 दिन की वैलिडिटी मिलती थी, जिसे अब घटाकर 24 दिन कर दिया गया है। इस स्पेशल टैरिफ वाउचर का इस्तेमाल वे ग्राहक कर सकते हैं जो अपने प्लान्स को एक्टिव रखना चाहते हैं। इसमें ग्राहकों से कॉलिंग के लिए 45 पैसे प्रति मिनट का चार्ज लिया जाता है। साथ ही 2GB मुफ्त डेटा और कुल 100 मुफ्त एसएमएस मिलते हैं। इसी प्रकार 75 रुपये का स्पेशल टैरिफ वाउचर पहले 60 दिन चलता था, लेकिन अब यह सिर्फ 50 दिन ही चलेगा और 94 रुपये का स्पेशल टैरिफ वाउचर पहले 90 दिनों तक चलता था, लेकिन अब सिर्फ 75 दिनों ही चलेगा। 106 रुपये और 107 रुपये के BSNL प्लान में पहले 100 दिन की वैलिडिटी मिलती थी, जिसे अब घटाकर 84 दिन कर दिया गया है। दोनों ही प्लान में 100 मुफ्त कॉलिंग मिनट, 3 जीबी फ्री डेटा और फ्री BSNL ट्यून्स का फायदा मिलता है। बीएसएनएल का 197 रुपये वाला प्रीपेड प्लान 180 दिनों की वैलिडिटी के बजाय अब 150 दिनों की वैलिडिटी देगा। इसी तरह कंपनी का 397 रुपये का प्रीपेड प्लान पहले 365 दिन चलता था, लेकिन अब सिर्फ 300 दिन ही चलेगा।

खेल: नीरज को अपने अंदाज में बधाई दे रहा हैं देश

कविता गर्ग                   
मुबंई। टोक्यो ओलंपिक में जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा इन दिनों सुर्खियों में हैं। नीरज के गोल्ड मेडल जीतने से पूरे देश को उनपर गर्व हो रहा है। नीरज को अब गोल्ड मेडल मिलने पर पूरा देश उनको अपने-अपने अंदाज में बधाई दे रहा है। पीएम से लेकर सीएम तक नेता से लेकर अभिनेता तक उन्हें अपने-अपने तरीके से बधाई देने में जुटे हुए हैं। वहीं इसी कड़ी में अब सदी के महानायक अमिताभ बच्चन भी शामिल हो गए हैं। इससे पूर्व सलमान खान से लेकर विक्की कौशल तक हर एक स्टार ने नीरज को बधाई दी है। ऐसे में अब अमिताभ बच्चन ने भी बेहद खास अंदाज में नीरज को बधाई दी है। अमिताभ बच्चन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। अमिताभ अपने अलग ही अंदाज के पोस्ट शेयर करने के लिए जाने जाते हैं। अमिताभ ने जिस तरह से अब नीरज को शुभकामनाएं दी हैं वो हर तरह छा गई हैं। अमिताभ बच्चन ने एक छोटा सा वीडियो शेयर किया है, जिसमें एक कार्टून के रूप में नीरज भाला फेकते दिख रहे हैं।
इस वीडियो को बहुत ही खूबसूरत अंदाज से पेश किया गया है। इस छोटे से वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है कि एक सीने ने, 103 करोड़ सीने चौड़े कर दिए और भारतीय ओलंपिक टीम ने विश्व भर में देश का झंडा गाड़ दिया। वहीं उनका ये पोस्ट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। फैन्स को उनका इस अंदाज में बधाई देना खूब पसंद आ रहा है। फैंस इस अमिताभ बच्चन के इस पोस्ट पर जमकर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

आयुर्वेद में सालों से किया जाता हैं 'घी' का उपयोग

घी का उपयोग आयुर्वेद में हजारों सालों से किया जाता है। दादी-नानी के घरेलू नुस्‍खों में भी घी का अलग-अलग तरीके से प्रयोग देखने को मिलता है। ऐसा ही एक नुस्‍खा हम यहां शेयर कर रहे हैं। दरअसल, आयुर्वेद में माना जाता है कि अगर आप अनिंद्रा या जोड़ों में दर्द से परेशान रहते हैं और रात भर सोने में तकलीफ रहती है तो आप इससे छुटकारा पाने के लिए देसी घी का उपयोग कर स‍कते हैं। आप घी के सेवन से अनपच की समस्‍या से लेकर शरीर में सूजन, दर्द आदि को भी ठीक कर सकते हैं। तो आइए यहां घी के एक ऐसे ही देसी नुस्‍खे के बारे में जानते हैं जिसकी मदद से आप कई समस्‍याओं को दूर कर सकते हैं। देसी घी को तलवे पर लगाना का ये है तरीका रोज रात को अगर आप पैर धोकर तलवे पर देसी घी को लगाएं तो आपको कई तरह से आराम मिल सकता है लेकिन इसके लिए आपको इसे लगाने का तरीका सीखना होगा। सबसे पहले आप एक कटोरी में थोड़ा देसी घी लें और अपनी उंगली की मदद से इसे पैरों पर लगा कर मालिश करें। इसे तब तक करें जब तक आपका पैर गर्म महसूस न हो जाए। आप दूसरे पैर पर भी इसे दोहराएं। आपको गहरी नींद आएगी।
देसी घी को तलवे पर लगाने के फायदे
 खर्राटों की समस्या दूर होती है।
रात को गहरी नींद आती है।
जो लोग बार-बार अपच की समस्या का सामना करते हैं, उनकी समस्‍या दूर होती है।
आईबीएस और पुरानी कब्ज की दिक्कत महसूस करने वाले लोग या जिनका नियमित रूप पेट साफ नहीं हो पाता है उन्‍हें पैर पर घी लगाने से आराम मिलता है।
जो लोग रोजाना एंटासिड का सेवन करते हैं, उनकी समस्‍या भी दूर होती है।
 जोड़ों का दर्द कम होता है।
 पाचन में आने वाली दिक्कत दूर होती है।
वात्त दोष कम होता है और इससे ब्‍लोटिंग की समस्‍या नहीं होती है।
 तनाव भी कम होता है और स्किन टोन भी बेहतर होता है।

वायु सेना ने 197 पदों के लिए भर्ती प्रकाशित की

अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। आप अगर 10वीं-12वीं पास हैं और भारतीय वायु सेना में शामिल होकर देश सेवा करना चाहते हैं तो आपके पास नौकरी पाने का सुनहरा मौका है। भारतीय वायु सेना ने ग्रुप सी कीवीलिएन के 197 पदों के लिए भर्ती प्रकाशित की है।
इच्छुक और योग्य उम्मीदवार जो इन पदों के लिए सभी पात्रता मापदण्डों को पूरा करते हैं और इन पदों के लिए आवेदन करने की इच्छा रखते हैं, उनसे अनुरोध है कि भारतीय वायु सेना के इन पदों पर आवेदन करने से पहले विभाग द्वारा जारी की गई अधिसूचना से सारी जानकारी ध्यान पूर्वक पढने के बाद ही अपनी योग्यता के अनुसार आवेदन करें। नोटिफिकेशन का लिंक नीचे दिया गया है।
इन पदों के लिए उम्मीदवार 06-09-2021 तक आवेदन कर सकते हैं। इन पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवार की शेक्षणिक योग्यता 10वीं-12वीं पास होना चाहिए। उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन की पूरी जानकारी जैसे आयु सीमा, आवेदन शुल्क, चयन प्रक्रिया व आधिकारिक नोटिस की जानकारी के लिए कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

गेंद स्टेडियम से बाहर तो मैच नहीं खेला जाएंगा

अकांशु उपाध्याय                          
नई दिल्ली। 2021 के बचे हुए मैच 19 सितंबर से शुरू होंगे। इससे पहले कोरोनो प्रोटोकॉल को देखते हुए बीसीसीआई ने नए नियम की घोषणा कर दी है। अगर गेंद स्टैंड या स्टेडियम से बाहर जाएगी तो उससे दोबारा मैच नहीं खेला जाएगा। उसकी जगह दूसरी गेंद इस्तेमाल की जाएगी। स्टैंड में जाने वाली गेंद को सैनिटाइज किया जाएगा और उसे लाइब्रेरी में रख दिया जाएगा। पिछली बार स्टैंड खाली थे। इस कारण उन्हें सैनिटाइज करके मुकाबले कराए गए थे।

15 अगस्त पर पुलिसों को सम्मानित किया जाएंगा

पंकज कपूर                       
देहरादून। उत्तराखंड में हर साल की तरह इस बार भी 15 अगस्त पर पुलिसकर्मियों को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित किया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस-2021 के अवसर पर सेवा के आधार पर एवं विशिष्ट कार्य के लिए डीजीपी अशोक कुमार द्वारा पुलिस अधिकारियों को मुख्यमंत्री सराहनीय सेवा पदक एवं उत्कृष्ट/सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह प्रदान किये जाने की घोषणा की गई है। 

यूपी में 12 तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया

हरिओम उपाध्याय                      
बस्ती। उत्तर प्रदेश के बस्ती मण्डल में बस्ती, सिद्वार्थनगर तथा संतकबीरनगर जिले समेत आसपास के क्षेत्रों में 12 अगस्त तक भारी बारिश का अलर्ट मौसम विभाग ने जारी कर दिया है। मौसम विभाग के सूत्रो ने मंगलवार को बताया कि आज सुबह बस्ती जिले मे भारी वर्षा हुई है। बारिश का यह सिलसिला 12 अगस्त तक जारी रहने के आसार है।आसपास के जिलों महाराजगंज,बलरामपुर मे भी वर्षा का अनुमान है। बस्ती जिले मे सरयू नदी का जलस्तर घट रहा है वर्तमान समय मे नदी का घटाव तेजी से हो रहा है दो दिन के भीतर नदी का जल स्तर खतरे के बिन्दु से 0.45 सेमी नीचे हो गया है लेकिन नदी कटान की ओर है। बाढ़ खण्ड के अधिकारी, कर्मचारी दिन रात बाढ़ वाले और कटान वाले क्षेत्रो मे निगरानी कर रहे है।

ओलंपिक के विजेता नीरज ने नतीजा हासिल किया

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने सोमवार को खुलासा किया कि टोक्यो खेलों में इतिहास रचने वाले प्रदर्शन के बाद उनका शरीर दुख रहा था। लेकिन उन्होंने जो एतिहासिक नतीजा हासिल किया। उसे देखते हुए यह दर्द सहन करने में कोई समस्या नहीं  थी।
खेल मंत्री अनुराग ठाकुर  द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में टोक्यो ओलंपिक खेलों के भारत के सात पदक जीतने वाले खिलाड़ियों और टीमों को स्वदेश पहुंचे पर आज शाम सम्मानित किया। इस मौके पर भाला फेंक का ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाले चोपड़ा ने कहा कि उन्हें पता था कि फाइनल में दूसरे प्रयास में उन्होंने भाले को 87.48 मीटर की दूरी तक फेंककर कुछ विशेष किया है। चोपड़ा ने इस दूरी के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया।
ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने कहा, ”मुझे पता था कि मैंने कुछ विशेष कर दिया है, असल में मैंने सोचा कि मैंने अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। मेरी थ्रो काफी अच्छी गई थी।” चोपड़ा का निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 88.07 मीटर है जो उन्होंने इसी साल हासिल किया था। उन्होंने कहा, ”अगले दिन मेरे शरीर ने महसूस किया कि वह प्रदर्शन इतना विशेष था, शरीर दुख रहा था लेकिन यह दर्द सहन करने में कोई समस्या नहीं थी।” चोपड़ा ने कहा, ”यह पदक पूरे देश के लिए है।” सेना के 23 साल के इस खिलाड़ी ने कहा कि देश के खिलाड़ियों के लिए उनका एकमात्र संदेश यह है कि कभी भी डरो नहीं।

उन्होंने कहा, ”मैं सिर्फ इतना कहना चाहता, विरोधी चाहे कोई भी हो, अपना सर्वश्रेष्ठ दो। आपको बस यही करने की जरूरत है और इस स्वर्ण पदक के यही मायने हैं। कभी विरोधी से मत डरो।” चोपड़ा ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले 13 साल में पहले भारतीय खिलाड़ी के अलावा ट्रैक एवं फील्ड में स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय भी बने। चोपड़ा ने खेलों से पहले अपने लंबे बाल कटवा दिए थे और जब इस बारे में उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा, ”मुझे लंबे बाल पसंद हैं लेकिन मैं गर्मी से परेशान हो रहा था, लंबे बालों से काफी पसीना आता था। इसलिए मैंने बाल कटवा दिए।
चोपड़ा के स्वर्ण पदक के अलावा भारोत्तोलक मीराबाई चानू और पहलवान रवि कुमार दहिया ने रजत पदक जीते। पुरुष हॉकी टीम, मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन, बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु और पहलवान बजरंग पुनिया ने कांस्य पदक अपने नाम किए।

समुंंद्र को वैश्विक अर्थव्यवस्था की जीवनरेखा बताया

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समुंंद्र को अंतरराष्ट्रीय व्यापार एवं वैश्विक अर्थव्यवस्था की जीवनरेखा बताते हुए आज कहा कि हमारी इस साझी धरोहर के वातावरण एवं संसाधनों की रक्षा करना हम सबके भविष्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। मोदी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में समुद्री सुरक्षा पर एक उच्च स्तरीय खुली बहस की अध्यक्षता करते हुए यह बात कही। वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर मोदी ने कहा, “समंदर हमारी साझा धरोहर है। हमारे समुद्री रास्ते इंटरनेशनल ट्रेड की लाइफलाइन है और सबसे बड़ी बात ये है कि समंदर हमारे ग्रह के भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।”
प्रधानमंत्री ने सिंधुघाटी सभ्यता में लोथल बंदरगाह से होने वाले अंतरराष्ट्रीय कारोबार और मानवता के विकास के उदारण रखते हुए विश्व समुदाय के समक्ष समुद्री सुरक्षा के पांच मूल सिद्धांत साझा किये। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को वैधानिक समुद्री कारोबार से सभी प्रकार की बाधाओं को हटाना चाहिए। क्योंकि हम सभी की समृद्धि समुद्री व्यापार की सक्रिय गति पर निर्भर है। इसमें आई अड़चनें पूरी वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए चुनौती हो सकती हैं।
मोदी ने कहा कि समुद्री विवादों का समाधान शांतिपूर्ण और अंतर्राष्ट्रीय कानून के आधार पर ही होना चाहिए। आपसी भरोसे और विश्वास के लिए यह अति आवश्यक है। इसी माध्यम से हम वैश्विक शान्ति और स्थिरता सुनिश्चित कर सकते हैं। उन्होंने हिन्द महासागर क्षेत्र में सबके लिए सुरक्षा एवं प्रगति के सागर सिद्धांत को भी साझा किया।
उन्होंने कहा कि हमें प्राकृतिक आपदाओं और शासनेत्तर ताकतों द्वारा पैदा किए गए समुद्री खतरों का मिल कर सामना करना चाहिए। इस विषय पर क्षेत्रीय सहयोग बढ़ाने के लिए भारत ने कई कदम लिए हैं। उन्होंने चौथे एवं अंतिम सिद्धांत का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें समुद्री वातावरण और समुद्री संसाधनों को संजो कर रखना होगा। जैसा कि हम जानते हैं, महासागरों का जलवायु पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इसलिए, हमें अपने समुद्री वातावरण को प्लास्टिक और तेल के रिसाव जैसे प्रदूषणों से मुक्त रखना होगा। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वर्ष 2021-22 के लिए भारत को अस्थायी सदस्य चुना गया है।
सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता हर माह बदलती है। इस बार अगस्त माह में भारत को अध्यक्षता मिली है। इस माह भारत समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षक अभियानों और आतंकवाद से मुकाबले के तीन प्रमुख क्षेत्रों में परिचर्चाओं का आयोजन कर रहा है। इसी क्रम में ‘समुद्री सुरक्षा का विस्तार- अंतरराष्ट्रीय सहयोग का मुद्दा’ शीर्षक से इस परिचर्चा में प्रधानमंत्री ने अध्यक्षता की।
ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की किसी बैठक की अध्यक्षता की है। अन्य दोनों विषयों शांतिरक्षक अभियान तथा आतंकवाद से मुकाबला, पर परिचर्चाओं में विदेश मंत्री एस जयशंकर स्वयं न्यूयॉर्क जाकर वहां बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-360 (साल-02)
2. बुधवार, जुलाई 11, 2021
3. शक-1984,सावन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:44, सूर्यास्त 07:10।
5. न्‍यूनतम तापमान -24 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...