रविवार, 28 मई 2023

चिकित्सा शिविर एवं नाइट शेल्टर कैंप की तैयारियां 

चिकित्सा शिविर एवं नाइट शेल्टर कैंप की तैयारियां 


ग्वालियर से इस बार 11 हजार यात्री बाबा बर्फानी के दर्शनों को जाएंगे 

21 जून को अचलनाथ के दरबार से लंगर की रसद सामग्री के ट्रकों के साथ निकलेगा शिवभक्तों का चल समारोह, 23-27 जून व 4 जुलाई को रवाना होंगे जत्थे

जया अग्रवाल 

ग्वालियर। श्री बाबा बर्फानी हर हर महादेव सेवा समिति ग्वालियर द्वारा प्रतिवर्ष बाबा श्री अमरनाथ की यात्रा पर देशभर से जाने वाले लाखों श्रद्धालुओं की सेवा के लिए श्री अमरनाथ यात्रा मार्ग पर विशाल लंगर के साथ निशुल्क चिकित्सा शिविर एवं नाइट शेल्टर कैंप का आयोजन किया जाता है। श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की सेवा के लिए यह क्रम इस बार भी जारी रहेगा। 

माधव मंगलम गार्डन में रविवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए श्री बाबा बर्फानी हर हर महादेव सेवा समिति ग्वालियर के संरक्षक महेंद्र भदकारिया एवं सचिव पन्नालाल गौड़ ने बताया, कि संस्था द्वारा श्री अमरनाथ यात्रा मार्ग पर बालटाल के समीप मनीग्राम बेसकैम्प पर लगाए जा रहे विशाल लंगर के साथ निशुल्क चिकित्सा शिविर एवं नाइट शेल्टर कैंप की विहंगम तैयारियां अब अपने अंतिम दौर में हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में समिति सदस्यों ने बताया, कि इस बार अमरनाथ यात्रा पर ग्वालियर से करीब 11 हजार यात्री बाबा बर्फानी के दर्शनों को जाएंगे। महेंद्र भदकारिया एवं पन्नालाल गौड़ ने बताया कि श्री बाबा बर्फानी हर हर महादेव सेवा समिति ग्वालियर की ओर से कई क्विंटल रसद सामग्री का ट्क भव्य चल समारोह के साथ रवाना किया जाएगा, जिसमें करीब 300 पुरूष व 200 के करीब महिलाएं शामिल होंगी। यह चल समारोह 21 जून को बाबा अचलनाथ दरबार से दाल बाजार, लोहिया बाजार, ऊट पुल, दोंलतगंज होते हुए महाराज बाडा होकर राम मंदिर पर समापन होगा।

शहर के धर्मप्रेमी दानदाता बालटाल पर मनीग्राम बेस कैंप पर लगाए जाने वाले लंगर के लिए रसद सामग्री में सहयोग के साथ ही व्यक्तिगत सेवा के लिए स्वयं को समर्पित कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि ग्वालियर से पहला जत्था 26 जून को 54 सदस्यीय दल के साथ राजेश सिकरवार के नेतृत्व में, 27 जून को भरत ढींगरा के नेतृत्व में 56 सदस्य व 4 जुलाई को पन्नालाल गौड़ के नेतृत्व 65 सदस्यों का जत्था रवाना होगा। जम्मू से बालटाल की दूरी 400 किलोमीटर है। जम्मू से उधमपुर के रास्ते बालटाल के लिए जम्मू कश्मीर पर्यटक स्वागत केंद्र की बसें आसानी से मिल जाती हैं। बालटाल कैंप से तीर्थयात्री एक दिन में अमरनाथ गुफा की यात्रा कर वापस कैंप लौट सकते हैं।

रविवार को सभा में जो समिति सदस्य उपस्थित रहे, उनमें संरक्षक महेंद्र भदकारिया, होतम सिंह गुर्जर, राम शरण गुप्ता, संत कुमार गुलाटी, श्याम सिंह तोमर, अध्यक्ष लोकेश शर्मा, उपाध्यक्ष श्याम लहारिया, सुनील शिवहरे, सुनील बिरला, राजेश सिकरवार, नीरज उपाध्याय, सचिव पन्नालाल गौड़, सहसचिव राहुल गुप्ता, बब्बल शिवहरे,  कोषाध्यक्ष भरत कुमार ढींगरा, भंडार प्रबंधक विकाश वाधवानी, आय व्यय निरीक्षक गजेंद्र शर्मा, कार्यालय मंत्री दिलीप यादव, सुरेश सिंह कुशवाह, एडवाइजर बब्लू शिवहरे, अभय मिश्रा, पटेल, अर्जुन अग्रवाल प्रांत महामंत्री भारत तिब्बत सहयोग मंच, मोनिका जैन प्रदेश उपाध्यक्ष अखिल भारतीय संयुक्त अधिवक्ता मंच एवं भारत तिब्बत सहयोग मंच प्रांत अध्यक्ष प्रमुख हैं। बैठक के समापन पर सचिव पन्नालाल गौड एवं महेंद भदकारिया के द्वारा सभी शिव भक्तों का आभार व्यक्त किया।

राशन सामग्री दान करने व आर्थिक सहयोग के लिए यहां करें संपर्क...

समिति के महेंद्र भदकारिया एवं पन्नालाल गौड़ ने बताया, कि जो भी धर्म-प्रेमी एवं शिव बाबा के भक्त, श्री बाबा बर्फानी हर हर महादेव सेवा समिति ग्वालियर द्वारा अमरनाथ यात्रा मार्ग पर बालटाल के समीप मनीग्राम बेसकैम्प पर लगाए जाने वाले विशाल लंगर में राशन सामग्री के रूप में, अथवा आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं, वे श्री बाबा बर्फानी हर हर महादेव सेवा समिति ग्वालियर के कार्यालय प्रथम तल कार्तिक प्लाजा जिंसी नाला नं- 1 पर अथवा अध्यक्ष लोकेश शर्मा से संपर्क कर सकते हैं। राशन सामग्री अथवा आर्थिक सहयोग के लिए मोबाइल नंबर- 9826730666, 9009479083, 9425112568 पर संपर्क किया जा सकता है।

उद्घाटन: पीएम ने देश को नई 'संसद' समर्पित की

उद्घाटन: पीएम ने देश को नई 'संसद' समर्पित की

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। आजादी के बाद रविवार (28 मई) को देश को नई 'संसद भवन' तोहफा मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे विधि-विधान से पूजन आदि के बाद देश को रविवार को नई संसद समर्पित की है। वहीं, हवन-पूजन के कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी ने सेंगोल को दंडवत प्रणाम किया और उसे स्पीकर के आसन के पास स्थापित कर दिया। पीएम मोदी ने संसद के उद्घाटन समारोह पर आयोजित कार्यक्रम के दूसरे चरण के दौरान में स्मारक डाक टिकट और 75 रुपये का सिक्का भी जारी किया है। इस सिक्के का वजन  34.65-35.35 ग्राम है। इस सिक्के को पश्चिम बंगाल के कोलकाता की टकसाल में ढाला गया है।

ये हैं खासियतें...

जानकारी दे दें कि इस सिक्के के दोनों तरफ अशोक स्तंभ, जिस पर भारत और इंडिया लिखा हुआ है। वहीं, इसके नीचे रुपये के चिह्न के साथ 75 लिखा है। सिक्के के दूसरी तरफ संसद की तस्वीर है और उसके नीचे 2023 लिखा है। ये सिक्का कोलकाता के टकसाल में ढाला गया है। सिक्के का डायमीटर 44 मिमी है। इसका वजन 34.65-35.35 ग्राम है। जानकारी के लिए बता दें कि ये सिक्का 50% सिल्वर, 40% कॉपर, 5% निकल और 5% जिंक से बना है। सिक्के के एक तरफ अशोक स्तंभ है, जिसके नीचे सत्यमेव जयते लिखा है। बाईं ओर देवनागरी में भारत और दाईं ओर अंग्रेजी में इंडिया लिखा है। जानकारी के मुताबिक, नए सिक्के में रुपए का साइन है और लायन कैपिटल के नीचे 75 रुपये लिखा है। साथ ही सिक्के की दूसरी साइड पर संसद परिसर की तस्वीर बनी हुई है और तस्वीर के ऊपर देवनागरी में संसद संकुल और नीचे अंग्रेजी में पार्लियामेंट कॉम्प्लेक्स लिखा हुआ है।

पहली बार किया संबोधन...

वहीं, पीएम मोदी ने इस मौके पर नई संसद भवन में पहली बार अपना संबोधन दिया। उन्होंने कहा, ‘देश की विकास यात्रा में कुछ पल अमर हो जाते हैं। आज 28 मई 2023 का ये दिन भी ऐसा ही शुभ अवसर है। देश आजादी के 75 वर्ष पूरा होने पर अमृत महोत्सव मना रहा है और आज सुबह ही संसद भवन परिसर में सर्व पंथ प्रार्थना हुई है। पीएम ने आगे कहा कि मैं देशवासियों को इस स्वर्णिम क्षण की बहुत बधाई देता हूं। यह सिर्फ भवन नहीं है, यह 140 करोड़ देशवासियों की आकांक्षाओं की परछाई है और ये हमारे लोकतंत्र का मंदिर है।’

राष्ट्र की प्रगति और एकता का साक्षी बनेगा 'भवन'

राष्ट्र की प्रगति और एकता का साक्षी बनेगा 'भवन'

मनोज सिंह ठाकुर 

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है, कि नया संसद भवन राष्ट्र की प्रगति और एकता का साक्षी बनेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें नए संसद भवन के गरिमामय लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होने का सौभाग्य मिला है।

आधिकारिक जानकारी में आज यहां बताया गया कि चौहान ने कहा कि देशवासी जहाँ लोकतंत्र के इस नवीन भव्य मंदिर में नये भारत का उज्ज्वल और स्वर्णिम भविष्य देख रहे हैं, वहीं कुछ लोगों की आँखों में बंधी पट्टी उन्हें सच्चाई नहीं देखने दे रही है। ऐसे लोगों से बस यही कहना है- जाकी रही भावना जैसी, प्रभु मूरत देखी तिन तैसी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नया संसद भवन, भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षण के साथ देश की एकता, अखण्डता और प्रगति का साक्षी बनेगा। इस श्रेष्ठ और अभूतपूर्व रचना के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी अभिनंदन के पात्र हैं।  चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री  मोदी ने जब 'नए भारत का नया संसद भवन' राष्ट्र को समर्पित किया औऱ राजधर्म, न्याय, निष्पक्षता, संप्रभुता, अक्षुण्णता एवं सामर्थ्य को साष्टांग दंडवत प्रमाण किया, तब वह क्षण ऐतिहासिक था।

यह पल देश के लोकतांत्रिक इतिहास का स्वर्णिम अध्याय है। आज पूरे देश का मन उत्साह और गौरव से भरा हुआ है। प्रधानमंत्री  मोदी ने नवनिर्मित संसद भवन का लोकार्पण कर नवनिर्माण के संकल्पों की ओर अग्रसर भारत को नई गति दी है। उन्होंने कहा कि यह स्वर्णिम पल इतिहास में दर्ज हो गया, जब वैदिक मंत्र उच्चारण के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने नए संसद भवन में ऐतिहासिक सेंगोल स्थापित किया।

प्रदर्शनकारी पहलवानों के खिलाफ कार्रवाई की निंदा 

प्रदर्शनकारी पहलवानों के खिलाफ कार्रवाई की निंदा 

अकांशु उपाध्याय/कविता गर्ग 

नई दिल्ली/मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की वरिष्ठ नेता सुप्रिया सुले ने रविवार को दिल्ली में प्रदर्शनकारी पहलवानों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की निंदा की। उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया को रविवार को सुरक्षा घेरा तोड़कर महिला ‘महापंचायत’ के लिए नए संसद भवन की ओर बढ़ने की कोशिश करने के बाद कानून और व्यवस्था के उल्लंघन को लेकर हिरासत में ले लिया।

देश के शीर्ष पहलवानों ने 23 अप्रैल को भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर अपना आंदोलन फिर से शुरू किया था। बृजभूषण पर एक नाबालिग सहित कई महिला पहलवानों के कथित यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है।

सुले ने ट्वीट किया, ‘‘क्या केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके (पहलवानों) साथ मारपीट करने की अनुमति दी थी ? केंद्र सरकार को स्पष्ट जवाब देना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिन खिलाड़ियों ने खेलों के माध्यम से हमारे देश का मान बढ़ाया है, वे न्याय के लिए इस तरह की लड़ाई लड़ने को मजबूर हैं।

जिन विजेताओं का सभी ने अभिनंदन किया, अब न्याय की मांग करने के कारण वे अचानक खलनायक बन गए हैं।’’ इस बीच, राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता क्लाइड क्रास्टो ने इस मुद्दे पर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी की आलोचना की। उन्होंने सवाल किया, ‘‘स्मृति ईरानी, ये हमारी महिला पहलवान हैं, आप देखें कि उनके साथ कैसा दुर्व्यवहार किया जा रहा है। आप भारत की महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं, क्या आपका कर्तव्य नहीं है कि आप उनकी रक्षा करें और उनकी समस्याओं का समाधान करें। हम आपको केवल राहुल गांधी से जुड़े मुद्दों पर ही बोलते हुए क्यों पाते हैं।’’

नौवहन उपग्रह प्रक्षेपित, उल्टी गिनती शुरू 

नौवहन उपग्रह प्रक्षेपित, उल्टी गिनती शुरू 

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने 29 मई को यहां भूस्थिर उपग्रह प्रक्षेपण यान (जीएसएलवी) के जरिए एक नौवहन उपग्रह को प्रक्षेपित किए जाने की 27.5 घंटे की उल्टी गिनती रविवार को शुरू कर दी। अंतरिक्ष एजेंसी ने दूसरी पीढ़ी की नौवहन उपग्रह श्रृंखला के प्रक्षेपण की योजना बनाई है जो नाविक (भारत की स्वदेशी नौवहन प्रणाली) सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित करेगी।

यह उपग्रह भारत और मुख्य भूमि के आसपास लगभग 1,500 किलोमीटर के क्षेत्र में तात्कालिक स्थिति और समय संबंधी सेवाएं प्रदान करेगा। इसरो के सूत्रों ने बताया कि प्रक्षेपण के लिए उल्टी गिनती रविवार को सुबह सात बजकर 12 मिनट पर शुरू हो गई।

सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लॉन्च पैड से सोमवार पूर्वाह्न 10 बजकर 42 मिनट पर 51.7 मीटर लंबा जीएसएलवी अपनी 15वीं उड़ान में 2,232 किलोग्राम वजनी एनवीएस-01 नौवहन उपग्रह को लेकर रवाना होगा। इसरो ने कहा कि प्रक्षेपण के करीब 20 मिनट बाद, रॉकेट लगभग 251 किमी की ऊंचाई पर भू-स्थिर स्थानांतरण कक्षा (जीटीओ) में उपग्रह को स्थापित करेगा। 

पुलिस ने सैकड़ों किसानों को बॉर्डर पर रोका

पुलिस ने सैकड़ों किसानों को बॉर्डर पर रोका

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों को रविवार को दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर रोक दिया। क्योंकि, वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे। नए संसद भवन के पास पहलवानों की ओर से आहूत प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए सैकड़ों की संख्या में किसान दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे।

जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवानों को नए संसद भवन के पास प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी गयी है। ये पहलवान महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के आरोप में भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

इस बीच, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया को दिल्ली पुलिस ने रविवार को सुरक्षा घेरा तोड़कर महिला ‘महापंचायत’ के लिए नए संसद भवन की ओर बढ़ने की कोशिश करने के बाद कानून और व्यवस्था के उल्लंघन के लिए हिरासत में ले लिया। शीर्ष पहलवानों ने 23 अप्रैल को भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर अपना आंदोलन फिर से शुरू किया था।

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनों का नेतृत्व करने वाले राकेश टिकैत ने भारी सुरक्षा वाले गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद कहा, अन्य सभी किसानों को पुलिस द्वारा रोक दिया गया है। अभी हम यहीं बैठेंगे और तय करेंगे कि आगे क्या करना है। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की मौजूदगी के बीच दिल्ली में प्रवेश करने के लिए बैरिकेड तोड़ने की कोशिश करने वाले किसानों और सुरक्षाकर्मियों के बीच तीखी बहस हुई।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में किसानों के प्रवेश को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर अब गाजीपुर बॉर्डर को बंद कर दिया गया है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि आनंद विहार और आसपास के अन्य इलाकों में जाने वाले मार्गों पर जाम लग गया और यातायात में आवश्यक बदलाव किया गया है। प्रदर्शनकारी पहलवानों द्वारा 'महिला सम्मान महापंचायत' के आह्वान के मद्देनजर दिल्ली की सीमाओं पर बैरिकेड और पुलिस चौकियों के साथ सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह के दिन कोई गड़बड़ी न हो। हर मार्ग पर, खासकर नयी दिल्ली क्षेत्र की ओर जाने वाले मार्गों पर भारी पुलिस बल तैनात था।

इस बीच, दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी, रणनीतिक स्थानों और इसके सीमावर्ती क्षेत्रों में व्यापक और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है और यह सुनिश्चित करेगी कि कानून व्यवस्था बनी रहे। पाठक ने कहा, नए संसद भवन के उद्घाटन में गड़बड़ी पैदा करने के किसी भी प्रयास से बहुत ही विनम्रता और दृढ़ता से निपटा जाएगा।

मैं हमारे सम्मानित एथलीटों से अनुरोध करता हूं कि आज ऐसा कुछ भी न करें।  दीपेंद्र पाठक ने यह भी कहा कि पुलिस इतने महत्वपूर्ण दिन पर किसी को भी देश विरोधी गतिविधियों में शामिल नहीं होने देगी और किसी भी स्थिति से पेशेवर तरीके से निपटेगी। पुलिस द्वारा वाहनों की जांच के साथ ही दिल्ली की सभी सीमाओं पर प्रवेश बिंदुओं पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

राहुल को मिला पासपोर्ट, आज रवाना होंगे अमेरिका

राहुल को मिला पासपोर्ट, आज रवाना होंगे अमेरिका

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को एक स्थानीय अदालत द्वारा अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) जारी किए जाने के दो दिन बाद रविवार को नया सामान्य पासपोर्ट मिल गया और अब वह सोमवार को अमेरिका रवाना होंगे।

सूत्रों ने यह जानकारी दी है। सूत्रों ने बताया कि पासपोर्ट कार्यालय ने भरोसा दिलाया था कि रविवार को पासपोर्ट मिल जाएगा और उन्हें दोपहर के समय पासपोर्ट मिल गया। दिल्ली की एक अदालत ने राहुल गांधी को 10 वर्ष के बजाय तीन वर्ष के लिए सामान्य पासपोर्ट जारी किए जाने के वास्ते गत शुक्रवार को अनापत्ति प्रमाणपत्र जारी किया था।

राहुल गांधी सोमवार शाम अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को के लिए रवाना होने वाले हैं। उनके अमेरिका के कुछ अन्य शहरों में भी कार्यक्रम हैं। आगामी चार जून को वह न्यूयॉर्क में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करेंगे। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को गुजरात के सूरत की एक अदालत द्वारा आपराधिक मानहानि के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद सांसद के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया था। इसके पश्चात राहुल ने राजनयिक यात्रा दस्तावेज लौटा दिए थे। 

संसद के नए भवन की तुलना ताबूत से की: राजद

संसद के नए भवन की तुलना ताबूत से की: राजद

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार में सत्तारुढ़ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने संसद के नए भवन की तुलना ताबूत से की है, जिसकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि इतनी शर्मनाक हरकत राजद और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ही कर सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को जब संसद के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन कर रहे थे तब राजद ने संसद के नये भवन की तस्वीर के साथ ताबूत की तस्वीर पोस्ट कर पूछा "यह क्या है ?"

राजद के इस तरह के ट्वीट की चौतरफा आलोचना हो रही है। भाजपा के राज्यसभा सदस्य और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद के ट्वीट पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राजद ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक ओर नये संसद भवन का चित्र और दूसरी ओर मृतक को रखने वाले बक्सा यानी ताबूत का चित्र डाला है। पहला चित्र भारत का भविष्य है और दूसरा चित्र राजद का भविष्य दर्शाता है।

मोदी ने कहा, कि भारत के गौरव दिवस पर इतनी शर्मनाक हरकत राजद और जदयू ही कर सकता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि नए संसद भवन की जरूरत नहीं थी तो उन्हें बताना चाहिए कि पटना में ब्रिटिश कालीन म्यूजियम के रहते हुए एक हजार करोड़ रुपए खर्च कर नया म्यूजियम क्यों बनाया गया। इसी तरह श्री कृष्ण मेमोरियल भवन के रहते हुए बापू सभागार बनवाने की क्या आवश्यकता थी लेकिन सभी को नरेंद्र मोदी से द्वेष और घृणा है इसलिए वह उनके हर कार्यों की आलोचना करते हैं।

भाजपा सांसद ने कहा कि भले ही आज विपक्ष के राजनीतिक दलों ने नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह का बहिष्कार किया है लेकिन कल जब संसद की बैठक होगी तब तो सभी को वहीं बैठना होगा। उन्होंने कहा कि यदि उनमें हिम्मत है तो वह ऐलान करें कि वह इस नए संसद भवन में कदम भी नहीं रखेंगे। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि राजद का कोई अपना स्टैंड नहीं है।

भाजपा के साथ वर्षों रहकर राज करने वाले श्री नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बना दिया है। उन्होंने कहा कि राजद के लोग ताबूत के बदले कोई और मिसाल दे सकते थे। लेकिन, वह हर चीज में कोई एंगल दे देते हैं।

जयंती: सावरकर को पुष्पांजलि अर्पित की

जयंती: सावरकर को पुष्पांजलि अर्पित की

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला, कई केंद्रीय मंत्रियों और सांसदों ने वी. डी. सावरकर को उनकी जयंती पर पुराने संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में पुष्पांजलि अर्पित की।

प्रधानमंत्री मोदी ने नए संसद भवन का उद्घाटन करने के बाद केंद्रीय कक्ष में सावरकर की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की। सावरकर को श्रद्धांजलि देने के लिए कई केंद्रीय मंत्री और सांसद भी प्रधानमंत्री के साथ केंद्रीय कक्ष पहुंचे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया,  अपने विचारों से असंख्य भारतीयों के हृदय में देशभक्ति का दीप प्रज्वलित करने वाले उत्कृष्ट राष्ट्रभक्त वीर सावरकर की जयंती पर उनके चरणों में कोटि-कोटि नमन।

वीर सावरकर की देशभक्ति, त्याग व समर्पण वंदनीय है और युगों-युगों तक देशवासियों को प्रेरणा देने का काम करता रहेगा। सावरकर का जन्म 1883 में महाराष्ट्र में हुआ था। उन्हें हिंदुत्व विचारधाराओं वाले दल और संगठन एक नायक मानते हैं। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-227, (वर्ष-06)

2. सोमवार, मई 29, 2023

3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम- 36+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट पंकज कपूर  देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरका...