शनिवार, 22 जनवरी 2022

डीएम की अध्यक्षता में धान क्रय केन्द्रो की बैठक

डीएम खत्री की अध्यक्षता में धान क्रय केन्द्रो की बैठक      
बृजेश केसरवानी         
प्रयागराज। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी श्री संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में धान क्रय केन्द्रो की समीक्षा बैठक की गई। जिलाधिकारी ने सभी धान क्रय केन्द्रों के एजेन्सियो को निर्देशित किया है कि जिनका भुगतान अभी तक बकाया है। उनका भुगतान सुनिश्चित किया जाये तथा यदि नही करते है तो नोटिस जारी करने के निर्देश दिये हैं।
उन्होंने डिप्टी आरएमओ को निर्देशित किया है कि सभी एजेन्सियो के साथ बैठक अवश्य कर ले। मण्डी समिति कोरांव को भुगतान में लापरवाही के कारण नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है। अगर एक सप्ताह के अन्दर भुगतान नही हुआ तो प्रतिकूल प्रविष्ठि दी जायेगी तथा जिनका भी धान क्रय कम हुआ है। उन्हें क्रय को और ज्यादा करने के निर्देश दिये है। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (वित्त/राजस्व), डिप्टी आरएमओ सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहें।

गाजियाबादः वोट के लिए नागरिकों का आह्वान 
अश्वनी उपाध्याय             गाजियाबाद। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार सिंह ने जनपद के सभी नागरिकों का आह्वान करते हुए उन्हें जानकारी दी है कि भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा जनपद गाजियाबाद में विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक संपन्न कराने के उद्देश्य से प्रेक्षकगणों की नियुक्ति कर दी गई है। 
जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान करते हुए कहा है कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 के संबंध में यदि किसी प्रकार की कोई भी शिकायत या आपत्ति हो तो संबंधित प्रेक्षकों को जानकारी उपलब्ध कराई जा सकती है। 

विधानसभा चुनाव में समर्थन करने की अपील: पार्टी  
गणेश साहू           कौशाम्बी। समर्थ किसान पार्टी मंझनपुर विधानसभा के प्रत्याशी राधेश्याम चौधरी ने शनिवार को मंझनपुर विधानसभा के ग्राम परौआ, सवरों, बंधुरी, म्योहर आदि गांवों का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। इस अवसर पर उन्होंने लोगों से विधानसभा चुनाव में समर्थन करने एवं चुनाव जीताने की अपील की। लोगो ने भी उन्हें समर्थन करने एवं चुनाव जीताने का भरोसा दिलाया।
इस अवसर पर लोगों से वार्ता करते हुए राधेश्याम चौधरी ने कहा कि किसानों के साथ उत्पीड़न करने वालों से चुनाव में किसान जरूर बदला लेंगे। 
जिस तरह से किसानों को छला गया है और उनके साथ अन्याय किया गया। उसे किसान भाई भूले नहीं हैं इस। इस बार किसान समर्थ किसान पार्टी के प्रत्याशियों को वोट करेगा। इस अवसर पर उनके साथ अजय सोनी, फूलचंद्र लोधी, शिव शंकर दुबे, हरिश्चंद्र चौधरी, शफीक अहमद आदि मौजूद रहे।

सुरक्षाबलों व आतंकियों की मुठभेड़, 1 आतंकी ढेर

सुरक्षाबलों व आतंकियों की मुठभेड़, 1 आतंकी ढेर      

इकबाल अंसारी            श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों एवं आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गयी। मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर हो गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जिले के किलबाल इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर कर तलाशी अभियान चलाया।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों के जवान जब इलाके में तलाशी अभियान चला रहे थे, उसी दौरान छिपे आतंकवादियों ने उनपर गोलीबारी शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की। जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी। उन्होंने बताया कि अंतिम सूचना मिलने तक गोलीबारी जारी थी।


यूके: 24 घंटे में कोरोना के 4,759 नए मामलें मिलें
पंकज कपूर          देहरादून। शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 4,759 नए मामलें मिले है। जबकि मौतों का सिलसिला जारी है। शनिवार को 7 मरीजों की मौत हुई है, तो वहीं शनिवार को 2,712 मरीज कोरोना से जंग जीतकर अपने घरों को रवाना हुए है। जिसके बाद प्रदेश में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 28,907 हो गई है।

शनिवार को सुशीला तिवारी हॉस्पिटल हल्द्वानी में 1, एम्स ऋषिकेश देहरादून में 1, श्री महंत इंद्रेश हॉस्पिटल देहरादून में 4, हिमालयन हॉस्पिटल देहरादून में 1 मरीज की मौत हुई है। कोरोना बुलेटिन के अनुसार आज देहरादून में 1802, उधम सिंह नगर में 395, हरिद्वार में 607, नैनीताल में 565, पौड़ी में 259, चंपावत में 112, अल्मोड़ा में 143, बागेश्वर में 120, पिथौरागढ़ में 176, टिहरी में 108, चमोली में 243, उत्तरकाशी में 70, रुद्रप्रयाग में 159 नए केस मिले है।

मैच: बल्लेबाज ऋषभ ने 85 रनों की पारी खेलीं

मैच: बल्लेबाज ऋषभ ने 85 रनों की पारी खेलीं    
मोमीन मलिक         नई दिल्ली/ प्रिटोरिया। साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में भारतीय टीम 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि, मैच में भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने अपने में वापसी की और 85 रनों की पारी खेली। इससे पहले टेस्ट सीरीज में पंत शॉट सेलेक्शन पर कई तरह के सवाल उठे थे। जिसे लेकर टीम मैनेमेंट ने भी उनसे बात की।
जोहानिसबर्ग में दूसरे टेस्ट मैच के दौरान गैरजिम्मेदाराना शॉट खेलने के लिये कड़ी आलोचना हुई थी। लेकिन केपटाउन में तीसरे टेस्ट में शतक और दूसरे वनडे में अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर 85 रन बनाने वाले पंत ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘हमेशा सकारात्मक बातें होती हैं कि एक खिलाड़ी के तौर पर मैं क्या कर सकता हूं। मेरे पास सभी स्ट्रोक हैं। लेकिन मैं धैर्य के साथ और परिस्थितियों के अनुसार उन्हें कैसे खेल सकता हूं। इसलिए काफी चर्चा होती है।’’ 

लिपस्टिक लगाने से पहले होंठो को करें मॉइस्चराइज
सरस्वती उपाध्याय           सर्दियों में अक्सर आपकी त्वचा रूखी हो जाती है। त्वचा के साथ-साथ रूखापन आपके होंठो पर भी नजर आने लगता है। कई बार पानी कम पीनें की वजय से रूखापन आता है तो कई बार मौसम ये समस्या लेकर के आता है। इसके अलावा कई बार हमारी त्वचा और होंठ कैमिकल वाले प्रोडक्ट्स यूज करने के कारण खराब हो जाते हैं। अपनी इस स्टोरी में हम आपको लिपस्टिक के कारण फंटने वाले होंठो का समाधान बताएंगे।
आप जो भी प्रोडक्ट अपने स्किन और होंठ पर यूज करती हैं। असका सीधा असर आपकी स्किन की हेल्थ पर पड़ता है। इसलिए लिपस्टिक खरीदते समय उसमें यूज किए गए कैमिकल के बारे में अच्छे से जान लें। अगर हो सके तो कैमिकल रहित प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करें। प्रोडक्ट्स खरीदते समय कभी भी उसकी क्वालिटी के साथ समझौता न करें।
होंठो को करें मॉइस्चराइज: किसी भी तरह की लिपस्टिक लगाने से पहले अपने होंठो को अच्छी तरह से मॉइस्चराइज कर लें। लिपस्टिक को डायरेक्ट लिप्स पर इस्तेमाल करने की गलती न करें, क्योंकि इसमें मौजूद कैमिकल आपके होंठो को ड्राय कर देते हैं और इससे आपके होंठ फटने लगते हैं।
स्क्रब करना न भूलें: सर्दियों के मौसम में अक्सर हमें होंठो के फटने की समस्या का सामना करना पड़ता है। कई बार आपके होंठो पर डेड स्किन भी आ जाती हैं। ऐसे में अगर आप मैट लिपिस्टिक की शौकीन हैं, और होंठो पर उसे अप्लाई करेंगी तो ये जगह-जगह दरारों में भरी नजर आएगी। इसलिए मैट लिपस्टिक का इस्तेमाल करने से पहले अपने होंठो को अच्छे से स्क्रब करना न भूलें।
घर आने पर अच्छे से करें साफ: अगर आप लिपस्टिक लगाकर घर से बाहर जाती हैं, तो बाहर की सारी धूल होंठो पर जम जाती है। धूल के कारण हमारे होंठ और ज्यादा फटने लगते हैं। ऐसे में जब भी आप बाहर से घर वापस आएं अपने होंठो को सही ढंग से साफ करके मॉइस्चराइज करें। इसके साथ ही लिपस्टिक के रोजाना इस्तेमाल से बचें।

541 ग्राम हैरोइन के साथ 1 तस्कर गिरफ्तार किया

541 ग्राम हैरोइन के साथ 1 तस्कर गिरफ्तार किया    

पंकज कपूर        हल्द्वानी। पुलिस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। विधानसभा चुनाव की आचार संहिता में हल्द्वानी पुलिस पूरी तरीके से एक्टिव है और अपराधिक गतिविधियों पर पुलिस अपनी नजर बनाए हुए हैं। इसी क्रम में आज मुखानी थाना पुलिस ने 541 ग्राम हैरोइन के साथ एक तस्कर गिरफ्तार किया है। पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए तस्कर मेरठ का रहने वाले हैं, जिनको हल्द्वानी पुलिस ने पकड़ कर बड़ी सफलता हासिल की है।

विधानसभा चुनाव की आचार संहिता में हल्द्वानी पुलिस पूरी तरीके से एक्टिव है और अपराधिक गतिविधियों पर पुलिस अपनी नजर बनाए हुई है। इसी क्रम में आज मुखानी थाना पुलिस ने हैरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार किए हैं. पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए तस्कर मेरठ के रहने वाले हैं। जिनको पुलिस ने हैरोइन के साथ गिरफ्तार कर लिया है, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत ₹60 लाख बताई जा रही है, डीआईजी कुमाऊं की तरफ से टीम को रु 20 हजार और एसएसपी नैनीताल की तरफ से रु10 हजार इनाम की घोषणा की गई है।

प्रयुक्त तमंचे के साथ 1 वांछित अपराधी गिरफ्तार  
संदीप मिश्र       
गोरखपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेशानुसार चलाये जा रहे अभियान के तहत अपराधियों को लगातार पकड़ा जा रहा है। इसी क्रम में मुकदमा अपराध पंजीकृत 284/21 धारा 332/353/307 आईपीसी में वांछित अपराधी दिलीप सिंह उर्फ काकू पुत्र मक्खन सिंह निवासी कठपुलिया डैम अंदर गूलरभोज को घटना में प्रयुक्त तमंचे के साथ गिरफ्तार किया गया। 
गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में उप. निरीक्षक सुनील सुतेडी चैकी प्रभारी गूलरभोज, कॉ दीपक जोशी और पुष्कर सिंह शामिल थें।

एक्ट्रेस उर्फी ने इंस्टाग्राम स्टोरी पर फोटो शेयर की

एक्ट्रेस उर्फी ने इंस्टाग्राम स्टोरी पर फोटो शेयर की     
कविता गर्ग       
मुबंई। एक्ट्रेस उर्फी जावेद हमेशा किसी ना किसी वजह से सुर्खियों में रहती हैं। वे सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा एक्टिव रहने वाली एक्ट्रेस हैं और वे अपने अजीब आउटफिट्स से अटेंशन गेन करती हैं। उर्फी अपने आउटफिट्स की वजह से काफी ट्रोल भी की जाती हैं मगर हमेशा खुद का बचाव करने से कभी पीछे नहीं हटतीं। फैंस के साथ उर्फी इंटरैक्ट करना काफी पसंद करती हैं। हाल ही में एक्ट्रेस के पास किसी फैन ने एक फनी फोटो शेयर की। जो उर्फी को भी पसंद आई और उन्होंने सोशल मीडिया पर फैंस संग शेयर किया है। की है।
जिसमें उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक मीटिंग अटेंड करते नजर आ रहे हैं। मीटिंग के दौरान उनके सामने टीवी चल रहा है। रोचक बात ये है कि टीवी की स्क्रीन पर उर्फी जावेद नजर आ रही हैं। यही फोटो उर्फी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर की है। जिसमें योगी जी अन्य सदस्यों संग बैठे नजर आ रहे हैं और वार्तालाप कर रहे हैं। फोटो शेयर करते हुए उर्फी ने कैप्शन में लिखा कि- 'योगी जी के साथ इस मीटिंग को अटेंड करना अद्भुत था। किसी ने मुझे ये भेजा और मुझे तो बहुत हंसी आ गई। टीवी पर देखा जा सकता है कि उर्फी जावेद नेवी ब्लू कलर की साड़ी में नजर आ रही हैं। वैसे तो ये एक इत्तेफाक है कि जब ये तस्वीर क्लिक की गई उसी समय उर्फी जावेद स्क्रीन पर दिखाई दे रही थीं। मगर उर्फी ने इसे बेहद फनी बना दिया। में आईं जब उन्होंने करण जौहर के शो बिग बॉस ओटीटी में शिरकत की। 
वे शो से बाहर होने वाली पहली कंटेस्टेंट रहीं। मगर एक्ट्रेस ने इस थोड़े से वक्त में ही अपने चुलबुले अंदाज से फैंस को इंप्रेस किया और पॉपुलैरिटी हासिल की। वे जिस ड्रामैटिक अंदाज में शो से रोते हुए बाहर हुईं उसने भी लोगों का ध्यान खींचा। अब एक्ट्रेस आए दिन अपने यूनीक लुक से फैंस को सरप्राइज करती रहती हैं।

'फूंक ले' सॉन्ग में निया ने धमाकेदार डांस किया: मुंबई
कविता गर्ग           
मुबंई। टीवी की जानी-मानी एक्ट्रेस निया शर्मा आजकल पोल डांसिंग सीख रही हैं। इसकी कई झलकियां एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया पर फैन्स संग शेयर भी की हैं। पोल डांस काफी मुश्किल फॉम है। देखने में यह जितना आसान लगता है, उतना ही इसमें बॉडी से ग्रिप बनाकर रखना मुश्किल होता है। निया शर्मा ने दो वीडियोज शेयर किए हैं, जिसमें पहले वीडियो में एक्ट्रेस हाथ से ग्रिप बनाते हुए पैरों को हवा में रखती हैं और गोलाई में घूमती नजर आती हैं। निया, एक ट्रेनर की मदद से ही यह पोल डांस फॉम सीख रही हैं। पिंक शॉर्ट्स और व्हाइट स्पोर्ट्स ब्रा में निया नजर आ रही हैं। इन वीडियो को शेयर करते हुए निया लिखती हैं, कौन इसे 'पोल डांसिंग' कहता है, क्योंकि यह तो मौत का फरमान है। यह डांस फॉम ऐसा है कि आप अपना खुद का डेथ वॉरंट इसमें साइन करते है।
अर्जुन बिजलानी ने लिखा कि तुम ठीक हो जाओगी। वहीं, रुबीना दिलैक ने कहा, "बाओ गर्ल। तुम शानदार होती नजर आ रही हो। इसके अलावा फैन्स को भी निया की यह मेहनत पसंद आ रही है। बोल्ड लुक्स और दिलकश अदाओं से फैन्स के दिलों को घायल करने वाली निया शर्मा इन दिनों अपने नए गाने 'फूंक ले' को लेकर भी चर्चा में हैं। निया के इस गाने को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है। इंस्टाग्राम पर 'फूंक ले' सॉन्ग पर फैन्स से लेकर सेलेब्स तक अपने रील्स वीडियो शेयर कर रहे हैं। 'फूंक ले' सॉन्ग में निया ने धमाकेदार डांस किया है। 
गाने की सक्सेस के बाद अब निया ने पोल डांस सीखना शुरू कर दिया है। भारत के भले ही किसी कोने में आप रह रहे हों, जनता से रिश्ता वेबसाइट पर आपके राज्य की हर छोटी-बड़ी खबर मिलेगी। राजनीति, खेल, चुनाव, बिजनेस, सिनेमा, इस प्लैटफॉर्म पर बस एक क्लिक करते ही हमेशा पाएं ताजा खबरें। उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल समेत देश के बाकी राज्यों और शहरों की कोई जानकारी हो, हम आपको देते हैं। सियासी रण हो या बजट का मौसम, कहां चल रहा क्या सियासी दांव-पेच, आपके गांव में किसकी सरकार, हर अपडेट यहां आपको मिलेंगे। तो फिर अपने राज्य की हर हलचल के लिए जुड़े रहिए जनता से रिश्ता के साथ। 

वैक्सीनेशन को लेकर नियम लागू करेगा ऑस्ट्रिया

वैक्सीनेशन को लेकर नियम लागू करेगा ऑस्ट्रिया    
सुनील श्रीवास्तव      
विएना। दुनियाभर में बढ़ते कोरोना केसों ने सरकारों को सख्ती करने पर मजबूर कर दिया है। अब यूरोपीय देश ऑस्ट्रिया अपने यहां वैक्सीनेशन अनिवार्य करने जा रहा है। वहां के लोअर हाउस में इसके लिए बकायदा बिल भी पास कर दिया गया है। अपर हाउस में भी बिल पास हो जाता है तो 1 फरवरी से यह कानून लागू हो जाएगा। ये बिल लागू होता है तो ऑस्ट्रिया यूरोप का पहला देश बन जाएगा, जहां वैक्सीनेशन को लेकर इतने कड़े नियम लागू होंगे। 
कोरोना संक्रमण में लगातार हो रही बढ़ोतरी का सामना कर रहे ऑस्ट्रिया में नवंबर से ही इस बिल को लेकर चर्चा चल रही है। उस समय इसे 14 साल से ऊपर के सभी लोगों पर लागू करने पर सहमति बनी थी, लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 18 साल कर दिया गया। हालांकि, अपर हाउस से बिल पास होने के बाद भी राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वैन बिल डेर के दस्तखत की जरूरत होगी। यूरोपीय देशों के आंकड़ों के हिसाब से देखें तो यह सब से कम है। यहां पिछले महीने ही चौथा लॉकडाउन खत्म हुआ है। कोरोना के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट के सामने आने के बाद यहां केस तेजी से बढ़े हैं। इसलिए सरकार अगला लॉकडाउन लगाने से बचने के लिए वैक्सीनेशन अनिवार्य करना चाहती है। हालांकि ऑस्ट्रिया के कुछ नेता सरकार के इस कदम की आलोचना भी कर रहे हैं।
 विपक्षी दल सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी की सांसद पामेला रेंडी-वाग्नेर ने इसका विरोध किया है। पेशे से डॉक्टर पामेला कहती हैं कि यह आपातकाल जैसा कदम है। यह सीधे तौर पर आम आदमी के मौलिक अधिकारों हनन है। 
इसके उलट पामेला की पार्टी के ही कई सांसद सरकार के बिल का समर्थन कर रहे हैं। बिल के मुताबिक जो भी सरकार के इस नियम का पालन नहीं करेगा उस पर 600 यूरो (680 डॉलर या 50,577 रुपए) का फाइन लगेगा। नियम 15 मार्च से लागू किया जाएगा। अगर कोई फाइन भरने से इनकार करता है तो उस पर रकम बढ़ाकर 3,600 यूरो कर दी जाएगी।

मई के अंतिम सप्ताह में होगीं सम्मेलन की बैठक

अखिलेश पांडेय        टोक्यो। जापान की राजधानी टोक्यो में आयोजित होने वाली क्वाड शिखर सम्मेलन की बैठक को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है। जापान के प्रधान मंत्री किशिदा फुमियो ने बताया कि इस बार की क्वाड सम्मेलन की बैठक ऑस्ट्रेलिया में होने वाले आम चुनाव के बाद यानी मई के अंतिम सप्ताह में होने की संभावना है। अधिकारियों ने बताया कि सभी के लिए सुविधाजनक तिथियों को अंतिम रूप दिए जाने के बाद ही जापान द्वारा औपचारिक आमंत्रण भेजे जाएंगे। क्वाड विदेश मंत्रियों और शेरपाओं की एक बैठक में भी शिखर सम्मेलन का एजेंडा तय करने की संभावना है। इस बैठक में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और भारत के नेता भाग लेंगे।

रिपोर्ट के अनुसार, इस बैठक में आर्थिक सुरक्षा सुनिश्चित करना और चीन के बढ़ते आधिपत्य का विरोध करना सुनिश्चित है। इसके अलावा इस बैठक में स्वतंत्र इंडो-पैसिफिक, कोरोना और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा होने की उम्मीद है। बता दें कि पिछला क्वाड शिखर सम्मेलन 24 सितंबर, 2021 को वाशिंगटन में आयोजित किया गया था। द क्वाड्रिलैटरल सिक्योरिटी डायलॉग की शुरुआता वर्ष 2007 में हुई थी। हालांकि इसकी शुरुआत वर्ष 2000-2005 में हो गई थी जब भारत ने दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में आई सुनामी के बाद मदद का हाथ बढ़ाया था। क्वाड में चार देश अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत शामिल हैं। मार्च में कोरोना वायरस को लेकर भी क्वाड की बैठक हुई है। इसमें पहली बार न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया और वियतनाम भी शामिल हुए थे।

सूअर की दोनों किडनियों को इंसान में ट्रांसप्लांट किया

अखिलेश पांंडेय         वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी डॉक्टरों ने फिर कमाल कर दिखाया है। उन्होंने मेडिकल इतिहास में पहली बार जेनेटिकली मॉडिफाइड सूअर की दोनों किडनी एक ब्रेन डेड व्यक्ति के शरीर में ट्रांसप्लांट की हैं। यह ऑपरेशन यूनिवर्सिटी ऑफ अलबामा में किया गया। बता दें कि इससे पहले डॉक्टरों ने सूअर का दिल इंसान में सफलतापूर्वक लगाया था।

हमारी सहयोगी वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार, 57 वर्षीय जिम पार्सन्स पिछले साल सितंबर में सड़क हादसे का शिकार हुए थे, इसके बाद उन्हें ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया था। डॉक्टरों ने जब पार्सन्स परिवार से ऑपरेशन के बारे में बात की तो वो तैयार हो गया। इसके बाद मरीज को आनुवंशिक रूप से संशोधित सुअर की दोनों किडनी लगाई गईं। बताया जा रहा है कि किडनी ने ट्रांसप्लांट के तुरंत बाद सही से काम करना शुरू कर दिया है।

रूस: कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की 
सुनील श्रीवास्तव          मास्को। रूस में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है।‌ दिन-ब-दिन वायरस के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। अस्पतालों में भर्ती होने वाली मरीजों की संख्या आए दिन बढ़ रही है। देश वायरस के चलते घातक दौर से गुजर रहा है। रुस में बीते 24 घंटों में 49,513 नए कोरोनो वायरस के मामले सामने आए हैं, जो अब तक के सबसे ज्यादा मामले हैं। इसी के साथ देशभर में कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 10,987,774 हो गई है। आपको बता दें कि ये जानकारी आधिकारिक निगरानी और प्रतिक्रिया केंद्र ने दी है।

रूस में जितनी तेजी से वायरस किलोमीटर आमने-सामने आ रहे हैं, उतनी ही तेजी से मौतों का आकड़ा भी बढ़ रहा है। देशभर में बीते 24 घंटे में 692 लोगों की मौत हुई है, जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 324,752 हो गई, जबकि एक दिन में 24,719 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं। इसी के साथ कोरोना से रिकवर होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर बढ़कर 9,975,052 हो गई। इस बीच, रूस के सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र मास्को में कोरोना के 15,987 नए मामले सामने आए, जिससे कुल संख्या बढ़कर 2,140,914 हो गई है।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव के शुक्रवार के एक बयान के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और मास्को के मेयर सर्गेई सोबयानिन ने गुरुवार को अपनी बैठक के दौरान राजधानी शहर में लाकडाउन की संभावना पर चर्चा नहीं की। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पेसकोव ने कहा कि पहले की कोरोना लहरों के दौरान लगाए गए लाकडउन के अनुभव से इस बार भी मदद मिलेगी। प्रवक्ता ने कहा कि देश के स्पुतनिक वी वैक्सीन को निकट भविष्य में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुमोदित किया जाएगा, क्योंकि यह तेजी से फैलने वाले ओमिक्रोन वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी साबित हुई है। 

वर्ष 2021 में 14 फीसदी हुईं मानक मुद्रास्फीति दर
अखिलेश पांडेय                    
कोलंबो। गंभीर मौद्रिक संकट का सामना कर रहे श्रीलंका में राष्ट्रीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मानक मुद्रास्फीति दर दिसंबर 2021 में 14 फीसदी हो गई। नवंबर में यह 11.1 फीसदी रही थी।
श्रीलंका के सांख्यिकीय कार्यालय ने शनिवार को मुद्रास्फीति बढ़ने की जानकारी दी। नवंबर में मुद्रास्फीति पहली बार दहाई के आंकड़े में पहुंची थी। यह लगातार दूसरा महीना है। 
जब मुद्रास्फीति दो अंकों में बनी हुई है। राष्ट्रीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के हिसाब से दिसंबर में खाद्य वस्तुओं की कीमतों में 6.3 फीसदी की वृद्धि हुई जबकि गैर-खाद्य वस्तुओं की कीमतें 1.3 फीसदी बढ़ीं। श्रीलंका इस समय विदेशी मुद्रा संकट से जूझ रहा है। उसका विदेशी मुद्रा भंडार लगातार घट रहा है। इससे श्रीलंका की मुद्रा का मूल्य घट रहा है और आयात भी महंगा हो रहा है। इस स्थिति में भारत ने भी अपने पड़ोसी देश श्रीलंका को 90 करोड़ डॉलर से अधिक का कर्ज देने की घोषणा की थी। इससे देश को विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ाने और खाद्य आयात में मदद मिलेगी।

शीत युद्ध अराजक-अप्रत्याशित’’ स्थिति खतरनाक
अखिलेश पांडेय          वाशिंगटन डीसी। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि दुनिया पूर्ववर्ती सोवियत संघ और अमेरिका के बीच हुए शीत युद्ध की तुलना में इस समय ‘‘कहीं अधिक अराजक और अप्रत्याशित’’ है और यह स्थिति खतरनाक है। क्योंकि संकटों से निपटने के लिए कोई ‘‘साधन’’ नहीं हैं।
गुतारेस ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शीत युद्ध उन दो विरोधी धड़ों के बीच था, जहां संघर्ष को रोकने के लिए स्पष्ट नियम एवं तंत्र थे। उन्होंने कहा, ‘‘यह कभी उतना भीषण नहीं हुआ, क्योंकि कुछ हद तक इसमें स्थितियों का अनुमान लगाया जा सकता था।’
संयुक्त राष्ट्र महासचिव के रूप में दूसरा कार्यकाल आरंभ करने वाले गुतारेस ने द ‘एसोसिएटेड प्रेस’ के साथ बृहस्पतिवार को साक्षात्कार के दौरान कहा था कि दुनिया कई मायनों में पांच साल पहले की तुलना में बदतर है, क्योंकि कोविड-19 वैश्विक महामारी, जलवायु संकट और भू-राजनीतिक तनाव ने हर जगह संघर्ष को जन्म दिया है, लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के विपरीत उन्हें नहीं लगता कि रूस यूक्रेन पर हमला करेगा।
गुतारेस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए उनका संदेश है कि यूक्रेन में ‘‘कोई सैन्य हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए।’’
उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि ऐसा नहीं होगा और मैं उम्मीद करता हूं कि यही बात सही साबित हो।’’
गुतारेस का यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका और रूस ने यूक्रेन को लेकर जारी संकट के बीच शुक्रवार को महत्वपूर्ण वार्ता कर तनाव कम करने की कोशिश की। बहरहाल, दोनों देशों के नेताओं ने कहा कि अभी वार्ता के जरिए कोई समाधान नहीं निकला है।
गुतारेस ने कहा, ‘‘मेरे लिए यह जरूरी है कि इस वार्ता से स्थिति अच्छी हो और अच्छी स्थिति यह है कि तनाव कम हो और संकट समाप्त हो। यही हमारा उद्देश्य है।’
महासचिव ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दुनिया को अमेरिका और चीन के बीच दो भागों में बांटने से प्रतिद्वंद्वी आर्थिक प्रणालियां एवं नियम विकसित होंगे, जिनकी अपनी प्रमुख मुद्रा होगी, जिनकी अपनी इंटरनेट एवं प्रौद्योगिकी प्रणाली और कृत्रिम मेधा होगी तथा ऐसा स्थिति से ‘‘हर हाल में’’ बचा जाना चाहिए।
गुतारेस ने महासभा में संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य देशों के राजनयिकों के समक्ष 2022 के लिए अपनी प्राथमिकताएं और वैश्विक परिदृश्य का आकलन पेश करने के बाद संवाददाताओं से बात की।
उन्होंने कोविड-19 से निपटने में असमानता एवं अन्याय, ‘‘गरीब विरोधी वैश्विक आर्थिक प्रणाली और मौजूदा जलवायु खतरों पर पर्याप्त कदमों का अभाव जैसी स्थितियों को सामाजिक एवं आर्थिक रूप से खतरनाक बताया।

कोरोना 'टीकाकरण' के लिए नई गाइडलाइन जारी

कोरोना 'टीकाकरण' के लिए नई गाइडलाइन जारी     

अकांशु उपाध्याय            नई दिल्ली। कोरोना संक्रमितों के टीकाकरण के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइन जारी की है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार कोविड-19 पीड़ित व्यक्तियों को उनके स्वस्थ होने के तीन माह बाद कोरोना से बचाव का टीका लगाया जाना है। 

यह गाइडलाइन स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक के लोगों को लगाए जा रहे प्रिकॉशन डोज के साथ ही सभी आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए प्रभावी होगा।

कई पदों पर भर्ती, 31 तक कर सकेंगे आवेदन
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने ड्रैगलाइन ऑपरेटर, डंपर ऑपरेटर और ग्रेडर ऑपरेटर सहित अन्य कई पदों पर भर्ती के लिए योग्य उम्मीदवारों से आवेदन मांगे हैं। सभी इच्छुक और योग्य उम्मीदवार एनसीएल  2022 के लिए 31 जनवरी 2022 तक या उससे पहले आवेदन कर सकते हैं।
आधिकारिक नोटिफिकेशन के अनुसार, इस प्रक्रिया के माध्यम से ड्रैगलाइन ऑपरेटर के 19 पद, डोजर ऑपरेटर के 16 पद, ग्रेडर ऑपरेटर के 7 पद, सरफेस माइनर ऑपरेटर के 27 पद, डंपर ऑपरेटर के 184 पद, शोवेल ऑपरेटर के 19 पद, पे लोडर ऑपरेटर के 9 पद और क्रेन ऑपरेटर के 26 पदों पर भर्ती की जाएगी।इन पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 10वीं या समकक्ष परीक्षा पास होना चाहिए। साथ ही उम्मीदवार के पास एचएमवी लाइसेंस होना चाहिए।
ड्रैगलाइन ऑपरेटर पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवार के पास डीजल मैकेनिक / मोटर मैकेनिक / फिटर ट्रेड में आईटीआई और एनसीवीटी / एससीवीटी द्वारा जारी ट्रेड सर्टिफिकेट भी होना चाहिए। विस्तृत जानकारी के लिए उम्मीदवार आधिकारिक नोटिफिकेशन चेक कर सकते हैं। सभी योग्य उम्मीदवार ड्रैगलाइन ऑपरेटर सहित अन्य पदों पर भर्ती के लिए संबंधित एरिया या यूनिट के स्टाफ ऑफिसर को रजिस्टर्ड या स्पीड पोस्ट के माध्यम से अपना आवेदन भेज सकते हैं। इसके अलावा उम्मीदवार मेल आईडी के माध्यम से अपना आवेदन और अन्य आवश्यक दस्तावेज मेल कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर चेक करें।

सोने की कीमतों में 10 ग्राम की तेजी, चांदी में उछाल

अकांशु उपाध्याय          नई दिल्ली। भारतीय सर्राफा बाजार में साप्ताहिक कीमतों में तेजी आई है। वहीं, चांदी की चमक भी बढ़ गई है। इस कारोबारी हफ्ते में सोने के भाव में 466 रुपये प्रति 10 ग्राम की तेजी दर्ज की गई है। जबकि, चांदी के भाव में 3,182 रुपये प्रति किलोग्राम का उछाल आया है। इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन यानी आईबीजीए की वेबसाइट के मुताबिक, (17-21 जनवरी के बीच) की शुरुआत में 999 शुद्धता वाला 24 कैरेट गोल्ड का रेट 48,112 था, जो शुक्रवार तक बढ़कर 48,608 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया है। वहीं, 999 शुद्धता वाली चांदी की कीमत 61,759 से बढ़कर 64,941 रुपये रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है।

बता दें कि आईबीजीए की ओर से जारी कीमतों से अलग-अलग शुध्दता के सोने के स्टैंडर्ड भाव की जानकारी मिलती है। ये सभी दाम टैक्स और मेकिंग चार्ज के पहले के हैं। आईबीजीए द्वारा जारी किए गए दरें देशभर में सर्वमान्य हैं लेकिन इसकी कीमतों में जीएसटी शामिल नहीं होती है।

26 जनवरी को मनाया जाएगा 72वां 'गणतंत्र दिवस'    

अकांशु उपाध्याय          नई दिल्ली। 72वां गणतंत्र दिवस में कुछ दिन बाकी रह गए हैं। ऐसे में इस राष्ट्रीय पर्व की तैयारी शुरू हो गई है। हर साल की तरह इस बार कोरोना महामारी के कारण राजपथ पथ पर इसके आयोजन के लेकर कई सावधानिय बरती जा रही है। हम भारतवासी हर साल पूरे जोश के साथ 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं और इस साल देश हम देशवासी अपना 72वां गणतंत्र दिवस मनायेंगे। जिसमें बस कुछ ही दिन बाकी हैं। 26 जनवरी के ही दिन भारत एक संप्रभु गणराज्य बन गया था। भारत ने अंग्रेजो से 1947 में आजादी हासिल कर ली, लेकिन 26 जनवरी 1950 तक संविधान लागू नहीं हुआ था। संविधान लागू होने के बाद भारत एक आजाद और संप्रभु गणराज्य बन गया। यह दिन हम भारतवासी बहुत धूमधाम और उत्साह के साथ, धार्मिक भेदभाव से परे होकर एक राष्ट्रीय त्यौहार के रूप में मनाते हैं। पूरे देश में इस दिन स्कूल, कॉलेज, गवर्नमेंट ऑफिस से लेकर आम जगहों पर तिरंगा फहराया जाता है। इस खास मौके पर हर साल इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक राजपथ पर भव्य परेड भी होती है। इस परेड में भारतीय सेना, वायु सेना, नौसेना आदि की विभिन्न रेजिमेंट हिस्सा लेती हैं। दरअसल, 26 जनवरी को इसलिए चुना गया क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत की पूरी तरह से आजादी की घोषणा की थी। इसके ऐतिहसिक दृष्टिकोण से देखा जाये तो 1929 को पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में इंडियन नेशनल कांग्रेस के जरिये एक सभा का आयोजन किया गया था। जिसमें आम सहमति से इस बात एलान किया गया अंग्रेजी सरकार, भारत को 26 जनवरी 1930 तक डोमिनियन स्टेटस का दर्जा दे। जिसके बाद भारत ब्रिटिश साम्राज्य के तहत एक स्वायत्त राज्य का दर्जा मिलते ही, देश अपने आपको पूरी तरह स्वतंत्र घोषित कर देगा।

भारत की आजादी के बाद, संविधान सभा की घोषणा की गई और इसने 9 दिसंबर 1947 को अपना काम शुरू कर दिया। भारत के संविधान को संविधान सभा के जरिये 2 साल 11 महीने और 18 दिनों में तैयार किया गया था और भारत का संविधान 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को सौंप दिया गया था। इसलिए हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। गौरतलब हो कि भारतीय संविधान का मसौदा डॉ. भारत रत्न बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने तैयार किया था। जिन्हें भारतीय संविधान के वास्तुकार के रूप में जाना जाता है। कई सुधारों और बदलावों के बाद कमेटी के 308 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 हाथ से लिखे कानून की दो कापियों पर हस्ताक्षर किये, जिसके दो दिनों बाद 26 जनवरी को यह देश में लागू कर दिया गया। 26 जनवरी के महत्व को बनाए रखने के लिए उसी दिन भारत को एक लोकतांत्रिक पहचान दी गई थी।

भारत को 15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी मिली, जबकि 26 जनवरी 1950 संविधान लागू होने के बाद भारत एक लोकतांत्रिक देश बन गया। संविधान के लागू होने के बाद पहले से चले आरहे अंग्रेजों का कानून (1935) को भारतीय संविधान के जरिये भारतीय शासन दस्तावेज के रूप में बदल दिया गया। इसीलिए हर साल हम भारतवासी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस 'रिपब्लिक डे' के रूप में मनाया जाता है। दा वायर” में छपे एक लेख के मुताबिक भारत 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बज कर 18 मिनट पर एक गणतंत्र राष्ट्र बना. उसके ठीक 6 मिनट बाद 10 बज कर 24 मिनट पर डॉ. राजेन्द्र प्रसाद नें भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। इस दिन पहली बार डॉ. राजेन्द्र प्रसाद राष्ट्रपति के रूप में बग्गी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से बाहर निकले थे।

इस दिन हम भारतवासी तिरंगा फहराने, राष्ट्रगान का पाठ करने करने के साथ-साथ गली चौराहों, स्कूल, कॉलेज जैसे कई जगहों पर शो और कार्यक्रमों के आयोजन किया जाता है। इसके अलावा, भारतीय सेना, नौसेना, वायु सेना, पुलिस और अर्धसैनिक बलों सहित रक्षा बल अपने कौशल, पराक्रम और शक्ति का प्रदर्शन करती है और राजपथ पर परेड में भारत की रक्षा कौशल का प्रदर्शन करते हैं। जिसका सीधा प्रसारण टेलीविजन पर किया जाता है। स्टंट करने के अलावा, एयर शो, मोटरबाइक पर स्टंट, टैंक और अन्य हथियारों को भी भारतीय जनमानस के सामने दिखाया किया जाता है। इनके साथ ही खूबसूरती से सजाई गई झांकियां हैं जो भारत के विभिन्न राज्यों की विशेषता सुंदरता और सांस्कृतिक परम्पराओं को दर्शाती हैं।

'मुसलमानों' से कहो, मदन भैया जीत रहा हैं

'मुसलमानों' से कहो, मदन भैया जीत रहा हैं        
इकबाल अंसारी    
गाजियाबाद। जब गीदड़ का समय खराब आता हैं तो वह गांव की ओर भागता है। क्योंकि वह उसके जीवन का खराब समय होता है। वह जंगल को छोड़कर घनी बसावत में चला जाता है। जहां उसके प्राणों पर संकट का भय बना रहता है, और यह बात बिल्कुल सत्य है। समय किसका, कब खराब शुरू हो जाए? यह समय के अलावा और कोई नहीं जानता है।
बात कर रहे है विधानसभा चुनाव की, यहां लोनी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी व निवर्तमान विधायक नंदकिशोर, एक बैठक में अपने साथियों को निर्देशित कर रहे हैं कि मुसलमानों में यह प्रचार करो कि मदन भैया जीत रहे हैं। विडियों का केवल इतना ही भाग संपादित किया गया है। इस बात के कहने का प्रयोजन स्पष्ट नहीं हो पाता है। किंतु इस विडियों से पहला संदेश जनता मे दर्शाता हैं कि नंदकिशोर एक सफल रणनीतीज्ञ नहीं है, गुप्त मंत्रणा और योजनाओं का सावर्जनिक होना, कमजोर दूर दृष्टिकोण का वाहक हैं। या द्वंद से पहले ही मदन के सामने घुटने टेक दिए हैं। स्वयं का प्रचार छोड़ कर विपक्ष के प्रचार करने का क्या कारण ?
यदि इसे रणनीति कहा जाता हैं तो रणनीतिकारो का इससे ज्यादा परिहास नहीं हो सकता हैं।
दूसरा संदेश भी जनता मे जरुर गया है कि रंजीता धामा के चुनाव समर मे ताल ठोकने के बाद भाजपा की कैडर वोट दो हिस्सों में बट गई हैं। भाजपा के कैडर बोर्ड के बंटवारे से कहीं नंदकिशोर गुर्जर बौखलाहट में तो नहीं आ गए हैं। लेकिन एक सामान्य व्यक्ति, सामान्य स्थिति में एक बैठक में अपने साथी-सहयोगियों को दिशा-निर्देश जारी कर रहा है और चुनावी रणनीति तैयार कर रहा हैं। ऐसी स्थिति में किसी को बौखलाहट से परिभाषित करना न्याय उचित नहीं होगा। किंतु इससे यह साफ हो गया है कि लोनी विधानसभा क्षेत्र भाजपा के खाते से खिसक गया हैं।
रही बात रालोद व सपा के संयुक्त प्रत्याशी पूर्व विधायक मदन भैया की, क्षेत्र में एक लहर हैं, जिसे किसी खास प्रचार की भी जरूरत नहीं है। जीत का सेहरा उस सिर पर सजने के लिए उतावला हैं।

भारत मुक्ति मोर्चा से गठबंधन का ऐलान: औवेसी 

संदीप मिश्र       लखनऊ। उत्तर प्रदेश में तारीखों के नजदीक आते ही सियासी गलियारो में चुनावी बयार कुछ अलग ढंग से बहने लगी है। पार्टियां सत्ता में आने के लिए बड़े से बड़ा ऐलान करने से नहीं चूक रही हैं। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी और भारत मुक्ति मोर्चा के साथ गठबंधन का ऐलान किया है। गठबंधन की घोषणा के वक्त ओवैसी ने कुछ ऐसा फॉर्मूला निकाला, जिसके बारे में शायद इससे पहले आपने कभी नहीं सुना होगा। ओवैसी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बाबू सिंह कुशवाहा और भारत मुक्ति मोर्चा के साथ गठबंधन का एलान करते हुए कहा कि, अगर गठबंधन सत्ता में आता है तो राज्य मे 2 मुख्यमंत्री होंगे। इन दो मुख्यमंत्री में से एक ओबीसी समुदाय से और दूसरा दलित समुदाय से होगा। मुस्लिम समुदाय की बात करने वाले ओवैसी ने यहां 3 डिप्टी सीएम का फॉर्मूला भी निकाल लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य में 3 डिप्टी सीएम होंगे, जो मुस्लिम समुदाय से होंगे।

इससे पहले गुर्जर के सपा का दामन थामने के बाद ओवैसी ने उनकी पुरानी तस्वीरों के बहाने अखिलेश पर करारा तंज कसा है। ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा, “एसपी एक वाशिंग मशीन है जिसमें संघी सेक्युलर बन जाते हैं। मरहूम कल्याण सिंह, हिंदू युवा वाहिनी के सुनील, स्वामी प्रसाद और अब ये। उम्मीद है के मुस्लिम एसपी नेता इनकी गुल-पोशी करेंगे और इनके ‘सामाजिक न्याय’ के लिए अपनी ‘जवानी क़ुर्बान’ करेंगे। बाक़ी बी-टीम का ठप्पा तो सिर्फ़ हम पर लगेगा। मुखिया गुर्जर कुछ दिन पहले तक यूपी में कमल के फूल की खुशबू को बिखर रहे थे, लेकिन इस बार चुनाव में दोबारा साइकिल की सवारी करेंगे।

बीते कुछ दिनों से ओवैसी लगातार गाहे-बगाहे अखिलेश को निशाने पर लेते रहे हैं। इसकी वजह है यूपी के मुसलमान यूपी में मुसलमान कुल आबादी का 20 प्रतिशत है। उत्तर प्रदेश विधानसभा की 403 सीटों में से 107 सीटें ऐसी हैं, जहां मुस्लिम मतदाता हार और जीत तय करने की ताकत रखते हैं।

18वीं विधानसभा गठन के लिए तैयारी: बसपा

संदीप मिश्र         लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के गठन के लिए बहुजन समाज पार्टी की भी जोरदार तैयारी है। पार्टी की प्रमुख उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को दूसरे चरण के 51 प्रत्याशियों की सूची जारी की। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ‘हर पोलिंग में जिताना है’ सत्ता में आना है’ नारे के साथ शनिवार को 51 बसपा प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी की। मायावती ने बसपा के राज्य मुख्यालय में सूची जारी करने के दौरान बसपा के सभी नेता तथा कार्यकर्ताओं से कोविड गाइडलाइन का पालन कर प्रचार करने की अपील भी की। बसपा प्रमुख मायावती ने दूसरे चरण की 55 में से 51 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। बचे हुए 4 उम्मीदवारों के नाम भी जल्द घोषित किए जाएंगे।

मायावती ने कहा कि हमने कार्यकर्ताओं से कहा है कि कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए चुनाव प्रचार करें। मुझे पूरी उम्मीद है कि कोरोना के विकट समय में भी कार्यकर्ता अपने उम्मीदवारों को जिताने के लिए काम करेंगे। इससे पहले 15 जनवरी को मायावती ने पहले चरण के उम्मीदवारों के नाम घोषित किए थे। हालांकि, मायावती ने ये नहीं बताया कि इस बार चुनाव में बसपा किन मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी लोग 2022 में बसपा सरकार बनाने के लिए मेहनत करें। उन्होंने कार्यकर्ताओं को नया नारा भी दिया। कहा- हर पोलिंग बूथ को जिताना है, बसपा को सत्ता में लाना है।

जदयू पार्टी ने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की 

अविनाश श्रीवास्तव            पटना। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर बिहार की सियासत से बड़ी खबर सामने आ रही है। जनता दल यूनाइटेड ने उत्तर प्रदेश में अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने शनिवार को दिल्ली में 26 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है। इसके साथ ही यह तय हो गया है कि यूपी में बिहार का एनडीए गठबंधन नहीं चल पाएगा।

इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ मैदान में जेडीयू के नेता उतरेंगे और योगी को टक्कर देने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी यूपी का दौरा करेंगे। यूपी में चुनावी रैलियों को नीतीश कुमार संबोधित करेंगे और पार्टी के उम्मीदवारों के लिए प्रचार भी करेंगे। जेडीयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि चरणवार उम्मीदवारों की सूची जारी हुई। सूची में जिन इलाकों में पहले फेज और दूसरे फेज में पार्टी चुनाव लड़ाना चाहती है वहां के उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की गई है।

बता दें कि केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और धर्मेंद्र प्रधान से गठबंधन के लिए बात की, लेकिन बात नहीं बनी। नतीजा ये रहा कि जेडीयू को अब अकेले ही चुनावी मैदान में उतरना पड़ रहा है। पार्टी ने 51 प्रत्याशियों की सूची भी तैयार कर ली है। आज 26 सीटों की पहली सूची जारी हुई है। जल्द ही दूसरी सूची भी जारी करेंगे।

चुनाव: कार्यकाल के दौरान 24 विधायकों ने बदला दल

मोहम्मद रियाज 

पणजी। गोवा में 14 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिये मतदान होना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ‘मौजूदा विधानसभा (2017-2022) के पांच साल के कार्यकाल के दौरान लगभग 24 विधायकों ने दल बदला। जो सदन में विधायकों की कुल संख्या का 60 प्रतिशत हिस्सा है। भारत में इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ। इससे जनादेश के घोर अनादर की बात बिल्कुल साफ नजर आती है और अनियंत्रित लालच नैतिक दृष्टिकोण व अनुशासन पर भारी पड़ता दिखाई देता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 24 विधायकों की सूची में विश्वजीत राणे, सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोपटे के नाम शामिल नहीं हैं, जिन्होंने 2017 में कांग्रेस विधायकों के रूप में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। वे सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए थे और उसके टिकट पर चुनाव लड़ा था। कांग्रेस के 10 विधायक 2019 में पार्टी का दामन छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे। इनमें नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर भी शामिल थे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में जाने वाले कांग्रेस के अन्य विधायकों में जेनिफर मोनसेरेट (तालिगाओ), फ्रांसिस्को सिल्वरिया (सेंट आंद्रे), फिलिप नेरी रोड्रिग्स (वेलिम), विल्फ्रेड नाजरेथ मेनिनो डी’सा (नुवेम), क्लैफसियो डायस (कनकोलिम), एंटोनियो कारानो फर्नांडीस (सेंट क्रूज़), नीलकंठ हलर्नकर (टिविम), इसिडोर फर्नांडीस (कैनकोना), अतानासियो मोनसेरेट (जिन्होंने मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद 2019 में पणजी उपचुनाव जीता था) शामिल हैं।

महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के विधायक दीपक पौस्कर (संवोर्डेम) और मनोहर अजगांवकर (पेरनेम) भी इसी अवधि के दौरान भाजपा में शामिल हो गए थे। सालिगांव से गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के विधायक जयेश सालगांवकर भी भाजपा में शामिल हो गए थे। हाल में गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री तथा पोंडा से कांग्रेस विधायक रवि नाइक सत्तारूढ़ भगवा पार्टी में शामिल हुए। एक अन्य पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता लुइजिन्हो फलेरियो (नावेलिम) ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का दामन थामा और वह 14 फरवरी के विधानसभा चुनावों में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।साल 2017 में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के टिकट पर जीतने वाले पूर्व मुख्यमंत्री चर्चिल अलेमाओ ने भी हाल में टीएमसी का रुख किया। साल 2017 के चुनावों में, कांग्रेस 40 सदस्यीय सदन में 17 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी, लेकिन सरकार नहीं बना सकी, क्योंकि 13 सीटें जीतने वाली भाजपा ने कुछ निर्दलीय विधायकों और क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन कर सरकार बना ली थी।

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर ने सरकार पर लगाएं आरोप

अविनाश श्रीवास्तव        

रांची। राज्य में नियुक्तियों को लेकर झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की हेमंत सोरेन सरकार पर खूब आरोप लगाए हैं। उन्होंने नियुक्ति नियमावलियों में बदलाव को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, कि वर्तमान जेएमएम-कांग्रेस सरकार ने राज्य में नियुक्तियों से संबंधित पूर्व में जारी किए गए विज्ञापनों, जिनके संबंध में चयन की प्रक्रिया पूरी भी कर ली गई थी, उसे रद्द कर दिया है। अब नए सिरे से नई नियमावली बनाकर विज्ञापन जारी किया गया है। जिसमें उम्र सीमा से संबंधित कट ऑफ डेट को भी बदल दिया गया है। जिसकी वजह से लाखों अभ्यर्थी परीक्षा देने से वंचित हो रहे हैं। रघुवर दास ने कहा कि हमारी सरकार के दौरान अधिक से अधिक युवा अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल करने के उद्देश्य से 2010, 2016 को कट ऑफ डेट निर्धारित किया गया था, उसी कट ऑफ डेट के आधार पर 2019 तक विज्ञापन निकाले गए थे, जिसमें कई अभ्यर्थी शामिल हुए और सफल भी हुए। लेकिन अब राज्य की हेमंत सरकार ने इसे बदलकर 2021 कर दिया है। जिससे भारी संख्या में अभ्यर्थियों चयन प्रक्रिया से बाहर हो गए हैं।

रघुवर दास ने झामुमो-कांग्रेस की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, कि नौजवानों को नौकरी देने का वादा कर सत्ता में आए, लेकिन अब नौकरियां देना तोे दूर, उन्हें चयन प्रक्रिया से ही बाहर कर दिया गया है। ताकि अपने मन मुताबिक और अपने फायदे के हिसाब से नियुक्तियां की जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य में  अब लोगों के बीच ये आम धारणा बन गई है, कि राज्य का पूरा तंत्र भ्रष्टाचार, लेनदेन और मनचाही नियुक्तियों को बेचने का काम कर रहे हैं। जबकि हमारी सरकार ने स्थानीय नीति में स्थानीय अभ्यर्थियों को प्राथमिकता देने का काम किया था। लेकिन अब राज्य सरकार ने उसे भी रद्द कर दिया है, इससे संबंधित अनेकों मामले न्यायालय में चल रहे हैं। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, कि राज्य सरकार ने सभी विज्ञापनों में ये भी स्पष्ट कर दिया है, कि सारी नियुक्तियां रमेश हांसदा के मामले में होने वाले निर्णय से प्रभावित होंगी। गौरतलब है, कि रमेश हांसदी के मामले में न्यायलय ने भी ये टिप्पणी की थी, कि राज्य के द्वारा बनाई गई नियमावली असंवैधानिक है। ऐसे में नियुक्तियों का विज्ञापन जारी कर और नियुक्तियों के लिए प्रक्रियाओं को आरंभ कर राज्य सरकार झारखंड के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है और उनकी आंखों में धूल झोंकने का कार्य कर रही है। न्यायालय द्वारा यदि नियमावली रद्द हो जाएगी, तो सारी नियुक्ति प्रक्रिया स्वतः ही निरस्त हो जाएगी। ऐसा लगता है कि राज्य सरकार की मंशा ही यही है कि नियुक्तियों के मामले को उलझा कर, लटका कर, भटका कर रखा जाए। युवा धोखे में रहे और झामुमो- कांग्रेस सरकार अपना लूटतंत्र चला कर अपना घर भरती रहे। रघुवर दास ने कहा कि मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि यदि भाजपा की सरकार राज्य में आएगी तो सभी अभ्यर्थियों को, जो समय से परीक्षा नहीं होने के कारण वंचित रहे हैं, उनको उम्र सीमा का लाभ देते हुए उनको चयन प्रक्रिया में जरूर मौका दिया जाएगा।

जनसभाओं पर लगीं रोक को 1 हफ्ते और बढ़ाया

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय चुनाव आयोग रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक को एक हफ्ते और बढ़ा दिया है। रैलियों, रोड शो और जुलूस पर इस हफ्ते पाबंदी रहेगी। टीकाकरण और संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के बाद ये फैसला किया गया है। केंद्रीय चुनाव आयोग के आदेश के मुताबिक रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक 31 जनवरी तक जारी रहेगी, लेकिन इसके साथ ही कुछ रियायत भी दी गई हैं। अब 5 लोगों की जगह 10 लोग डोर टू डोर कैंपेन में हिस्सा ले सकते हैं। कैंपेन करने के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। वहीं चुनावी सभाओं में अब 300 की जगह 500 लोग हिस्सा ले सकते हैं।

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए भौतिक रैलियों और रोड शो पर लगाया गया प्रतिबंध जारी रहना चाहिए या नहीं इसको लेकर निर्वाचन आयोग ने शनिवार को डिजिटल बैठकें कीं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि निर्वाचन आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय, विशेषज्ञों, चुनाव वाले पांच राज्यों और संबंधित राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों से परामर्श के बाद ये फैसला किया। पिछले हफ्ते केंद्रीय चुनाव आयोग ने रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक आज यानी 22 जनवरी तक के लिए आगे बढ़ा दी थी। आठ जनवरी को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर में चुनावों की तारीखों की घोषणा करते हुए निर्वाचन आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों, रोड और बाइक शो और इसी तरह के प्रचार कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी।

आयोग ने 15 जनवरी को प्रतिबंध को 22 जनवरी तक बढ़ा दिया था। साथ ही उस वक्त ‘इनडोर’ यानी हॉल में अधिकतम 300 लोगों के साथ या हॉल की क्षमता के अनुरूप 50 फीसदी लोगों के साथ बैठक करने की छूट दी थी। एक बार फिर से इस हफ्ते के बाद कोरोना के हालात की समीक्षा की जाएगी, अगर हालात सुधरते हैं तो उसके मुताबिक फैसला लिया जाएगा. देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के तीन लाख 37 हजार 704 नए केस सामने आए हैं और 488 लोगों की मौत हो गई। वहीं, अबतक कोरोना के। वेरिएंट के 10 हजार 50 मामले सामने आ चुके हैं। देश में दैनिक पॉजिटिविटी रेट अब 17.22% है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-96, (वर्ष-05)
2. रविवार, जनवरी 23, 2022
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-पंचमी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:10, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 8 डी.सै., अधिकतम-17+ डी सै.।  बर्फबारी व शीतलहर के साथ मैदानी क्षेत्रों में कहीं- कहीं तेज बारिश की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, (प्रधान संपादक) राधेश्याम व शिवांशु, (सहायक संपादक) श्रीराम व सरस्वती के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम  हरिशंकर त्रिपाठी  देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में दशहरा, ईद...