सोमवार, 6 जुलाई 2020

कष्ट में भूटान, भारत से चिढ़ रहा चीन

अब भूटान को सता, भारत से चिढ़ रहा चीन


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली/ बीजिंग/ मास्को। भारत और चीन के बीच सबकुछ अबतक ठीक भले न हुआ हो, लेकिन 15 जून के बाद हालातों को और बिगड़ने नहीं देने में रूस ने अहम रोल अदा किया है। रूस खुलकर सामने तो नहीं आया लेकिन उसकी कोशिश के बाद ही चीन ने भारत के 10 जवानों को छोड़ा था, वर्ना हालात और बिगड़ सकते थे। सहयोगी अखबार इकनॉमिक टाइम्स को इसकी जानकारी मिली है।
अब भूटान को सता, भारत से चिढ़ा रहा चीन 


दरअसल, 15 जून की रात गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई। इसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए वहीं चीन के भी कई मारे गए, जिसकी साफ जानकारी उसने अबतक नहीं दी। इस पूरे घटनाक्रम में चीन ने भारत के 10 जवानों को पकड़ लिया था। भारत के पास भी चीन के कुछ जवान थे। फिर रूस के कहने पर चीन जवान छोड़ने को राजी हुआ था। रूस ने इसलिए की थी पहल
दरअसल, रूस ने 23 जून को एक मीटिंग रखी थी। इसमें रूस-इंडिया-चीन (RIC) के विदेश मंत्रियों को हिस्सा लेना था। लेकिन 15 जून के बाद भारत ने साफ कह दिया था कि ऐसे हालातों में चीन से बातचीत नहीं हो पाएगी। इसपर रूस ने चीन से बात शुरू की। कहा कि टेंशन को कम करने के लिए उसे भारतीय जवानों को छोड़ना चाहिए। रूस चाहता था कि तीनों देशों के बीच होनेवाली RIC पटरी से न उतरे।              



क्या है 'गुलाबी बर्फ' का रहस्य

रोम। बर्फ सफेद होती है इसे देखने और इसका आनंद लेने के लिए लोग पहाड़ों का रुख करते हैं। लेकिन आज हम आपको गुलाबी बर्फ के बारे में बताने जा रहे हैं। हालांकि गुलाबी बर्फ आज भी रहस्य बनी हुई है। इसकी जांच चल रही है। यह गुलाबी बर्फ इटली में देखी जाती है। इटली के वैज्ञानिक गुलाबी बर्फ के रहस्य का पता लगाने में जुटे हैं। 


माना जाता है कि ऐसा शैवाल के कारण होता है। शैवाल कहां से आते हैं इसे लेकर भी बहस चल रही है। वहीं इटली के राष्ट्रीय अनुसंधान परिषद के बायाजियो डी मौरो ने कहा कि प्रेना ग्लेशियर के कुछ हिस्सों पर देखी गई गुलाबी बर्फ ग्रीनलैंड में पाए जाने वाले एक पौधे के कारण होती है।


उनका कहना है कि यह कोई खतरनाक शैवाल नहीं है। यह प्राकृतिक हैं जो वसंत और गर्मियों के समय में देखे जाते हैं। इसे एंकिलोनिमा नॉर्डेंसकोइल्डि के रूप में भी जाना जाता है। माना जाता है कि यह ग्रीनलैंड के डार्क जोन में मौजूद है जहां बर्फ पिघल रही है। यह बर्फ धूप में तेजी से पिघलती है। तेज धूप में उन्हें पानी और हवा मिलती है। इस दौरान सफेद बर्फ में लाल रंग जुड़ जाता है। हालांकि इन सभी बातों को लेकर बहस जारी है।                         


श्रीराम 'निर्भयपुत्र'


दुनिया से 'जैविक-युद्ध' लड़ रहा है चीन

वाशिंगटन डीसी/ बिजिंग। कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका और चीन के बीच विवाद बढ़ चुका है। जबकि दक्षिण चीन सागर को लेकर दोनों देशों में पहले से तनाव रहा है। शनिवार को अमेरिका के दो युद्धपोत ने अभ्यास किया। अब चीन की ओर से इस पर प्रतिक्रिया आई है।


अमेरिकी युद्धपोत नजदीक आए तो चीन ने दी धमकी- हमारे पास खतरनाक हथियारः कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अमेरिकी युद्धपोतों के अभ्यास पर कहा है कि चीन की सेना की मेहरबानी है कि अमेरिका ऐसा कर रहा है। बता दें कि अमेरिकी युद्धपोतों के अभ्यास के वक्त ही चीनी सेना भी दक्षिण चीन सागर में अभ्यास कर रही थी। इससे पहले चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि एक गैर क्षेत्रीय देश अपनी ताकत दिखा रहा है जो हजारों मील दूर स्थित है। वहीं, ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि दक्षिण चीन सागर पर पूरी तरह चीनी सेना का नियंत्रण है। चीनी सरकार का मुखपत्र समझे जाने वाले अखबार ने लिखा कि चीनी की सेना के पास युद्धपोत को नष्ट करने के लिए DF-21D और DF-26 जैसे काफी खतरनाक हथियार हैं। इन्हें एयरक्राफ्ट कैरियर किलर भी कहा जाता है।


अमेरिकी युद्धपोत नजदीक आए तो चीन ने दी धमकी- हमारे पास खतरनाक हथियारः चीन और अमेरिका, दोनों ही दक्षिण चीन सागर इलाके में तनाव के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराते रहे हैं।वहीं, अमेरिका में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने पर अमेरिका ने चीन पर कई गंभीर आरोप लगाए थे और यह भी कहा था कि ऐसे सबूत मिले हैं कि वायरस चीन की लैब से लीक हुआ। हालांकि, चीन इन आरोपों को झूठा बताता रहा है।


अभ्यास में यूएस नेवी का शक्ति-प्रदर्शन

बिजिंग/ वाशिंगटन डीसी। दक्षिण चीन सागर में जारी अमेरिकी युद्धाभ्‍यास में यूएस नेवी जोरदार शक्ति प्रदर्शन कर रही है। चीन की धमकी के बाद अमेरिका के 11 फाइटर जेट ने एक साथ साउथ चाइना सी के विवाद‍ित इलाके में उड़ान भरी। इस दौरान चीन केवल गीदड़भभकी देता रह गया। अमेरिका की इस आक्रामक कार्रवाई से भड़के चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने इसे शक्ति का खुला प्रदर्शन करार दिया।
दक्षिण चीन सागर में एक साथ उड़े 11 फाइटर जेट
परमाणु बम ले जाने में सक्षम अमेरिका के B-52H बमवर्षक विमान के साथ अमेरिका के 10 अन्‍य फाइटर जेट और निगरानी विमानों ने रविवार को एक साथ दक्षिण चीन सागर में उड़ान भरी। ये सभी विमान अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर निमित्‍ज से उड़ान भरे थे। यूएसएस निमित्‍ज के साथ यूएसएस रोनाल्‍ड रीगन एयरक्राफ्ट कैरियर भी युद्धाभ्‍यास में हिस्‍सा ले रहा है।               


चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'


संक्रमण के विरुद्ध दीवार, आगरा मंडल

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए एक बार फिर 'आगरा' मॉडल की तारीफ हो रही है। अब इसे मेरठ और गाजियाबाद में लागू किया जाएगा। इसके लिए आगरा के सरोजिनी नायडू मेडिकल कॉलेज (एसएनएमसी) के वरिष्ठ चिकित्सक को शासन ने बुलाया है। 


एसएन मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. टीपी सिंह को मुख्यमंत्री के निर्देश पर गाजियाबाद और मेरठ में संक्रमण के नियंत्रण की जिम्मेदारी दी गई है। वो लखनऊ में दो दिन रुककर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज, जांच, आइसोलेशन वार्ड में इंतजाम, चिकित्सकीय स्टाफ की कार्ययोजना का आकलन करेंगे। इसके बाद आगरा में अपनाई जा रही कार्ययोजना, जांच, इलाज और बचाव की रिपोर्ट बनाकर मुख्यमंत्री के सुपुर्द की जाएगी। प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को रोकने के लिए योजना बनाकर काम किया है। अब यही मॉडल गाजियाबाद-मेरठ में लागू होगा। इसके लिए मेडिसिन विभाग के सीनियर चिकित्सक को शासन के निर्देश पर वहां भेजा गया है, वो आकलन कर आगरा मॉडल की व्यवस्थाओं की संस्तुति करेंगे।               


कोरोना पर 'आस्था' पड़ी भारी, चढ़ा जल

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


कोरोना पर आस्था भारी सावन के पहले सोमवार को मंदिरों में चढ़ा जल


हापुड़। सावन के पहले सोमवार को  देवों के देव महादेव की आराधना पूरे सावन लोग तन मन से करते हैं। ऐसे में कोरोना महामारी के चलते लोगों के मन में आस्था तो है लेकिन कहीं ना कहीं कोरोना वायरस महामारी का डर भी है। इसी के चलते कहीं मंदिरों में भीड़ देखने को मिली तो कहीं मंदिरों में इक्का-दुक्का ही व्यक्ति देखने को मिला यही हाल हापुड़ जनपद में गढ़मुक्तेश्वर तहसील के बृजघाट में देखने को मिली जहां गंगा के किनारे सावन के पहले सोमवार को लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते थे तथा कांवड़ उठाते थे पूरे सावन प्रत्येक सोमवार को यह सिलसिला जारी रहता था तथा महाशिवरात्रि के पास तो यहां पर कई लाख की संख्या में लोग कांबड  उठाते थे जो गाजियाबाद, दिल्ली, बुलंदशहर, हरियाणा अन्य राज्यों तक जाते थे लेकिन आज नजारा कुछ और ही देखने को मिला जब हमारे संवाददाता बृजघाट पहुंचे तो उन्होंने देखा की गंगा किनारे कुछ ही लोग आ रहे हैं। वह भी अधिकांश वह लोग थे जिनको  किसी न किसी मजबूरी के चलते गंगाघाट आना पड़ रहा है। कोई अपने मृतक पूर्वजों की अस्थि विसर्जन करने आया है तो कोई अन्य जरूरी काम से आया ऐसे में घाट पर चंद लोग ही स्नान करते नजर आए। जब हमारी बात आरती समिति के एक पुजारी से हुई तो उन्होंने बताया कि पिछले सालों के मुकाबले इस बार ऐसा कुछ नहीं होगा ना तो यहां से कांबड  उठेंगी क्योंकि शासन द्वारा साफ निर्देशित किया गया है कि ना तो कोई शिवभक्त जल उठायेगा और ना ही कांबड  उठाई जाएंगी कोरोना वायरस महामारी  के चलते लोगों का गंगा घाट पर आना बहुत ही कम हो गया है। जिसके कारण यहां पर लोगों को अन्य को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जब हमारे   संवाददाता  द्वारा एक केवट से बात की गई तो उन्होंने बताया की गंगा घाट पर आज हम लोगों को अपना भरण-पोषण करना भारी पड़ रहा है क्योंकि श्रद्धालुओं का आवागमन कम है ऐसे में वे लोग कैसे अपना लालन पालन करें जब इस बाबत वहां बृजघाट व्यापारियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के चलते उनका  काम पूरी तरह चौपट हो गया है सावन माह में जहाँ  लाखों की भीड़ हुआ करती थी और वे लोग एक अच्छा खासा बिजनेस करते थे आज उनकी  दुकानदारी में लाले पड़े हुए हैं और दुकानों में ताले पडे हुए है  इक्का-दुक्का आदमी आता है वह भी कोई सामान नही  खरीदता है  ऐसे में यहां व्यापारियों को अत्याधिक घाटा सहन करना पड़ रहा है तथा उनके जीविका चलाना अत्यंत ही कठिन हो गया है।


हमारे संवाददाता जब जनपद हापुड़ के थाना बाबूगढ़ क्षेत्र में स्थित ग्राम छपकोली  रामेश्वर महादेव मंदिर पर पहुंचे तो वहां देखकर दंग रह गए कि वहां सैकड़ों की संख्या में लोग आए हुए थे तथा मंदिर में जलाभिषेक कर रहे थे। हमारे संवाददाता को देखकर तत्काल पुलिस प्रशासन सचेत हो गया जहां एक तरफ शासन द्वारा साफ निर्देशित किया गया था कि लोग नियमों का पालन करें लेकिन यहां पर लोगों द्वारा  नियमों का पालन करने के लिए कोई तैयार ही नहीं था ना तो लोगो ने मुंह पर मास्क  लगा रखे थे और मंदिर के अंदर मूर्ति,शिवलिंग  को भी छू रहे थे। ऐसे में यदि कोई इंफेक्शन होता है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा शासन प्रशासन या मंदिर समिति मंदिर समिति द्वारा भी वहां कोई इंतजाम नहीं था। जब हमारे संवाददाता जनपद के ही ग्राम सबली  स्थित प्राचीन शिव मंदिर पहुंचे तो वहां पर श्रद्धालु थे  तथा नियमों का समिति द्वारा पालन नही किया जा रहा था  इसी बीच अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश कुमार मिश्रा मंदिर के पास पहुंचे तथा मंदिर समिति को निर्देशित किया कि चप्पल जूते निकालने के लिए भी एक निश्चित स्थान बनाया जाए और बिना मास्क  के किसी को भी मंदिर के अंदर आने नहीं दिया जाए और उचित दूरी बनाते हुए  दर्शन कराए जाएं समिति विशेष ध्यान रखें कि व्यक्ति सामाजिक दूरी का पालन करें तथा मंदिर में जलाभिषेक के दौरान एक दूसरे से उचित दूरी पर रहे।          


मंत्रियों के नामों की घोषणा की संभावना

पेरिस। फ्रांस में नए प्रधानमंत्री ज्यां कास्ते के साथ काम करने के लिए सोमवार को करीब 20 मंत्रियों के नामों की घोषणा होने की संभावना है। फ्रांसीसी मीडिया की खबरों में कहा गया है कि कास्ते के साथ काम करने के लिए करीब 20 मंत्रियों के नामों की घोषणा की जाएगी। इस संबंध में राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रां ने कहा कि सोमवार को नए मंत्रियों की घोषणा की जा सकती है। उन्होंने रविवार को कई ट्वीट किए। वह अपने पांच साल के कार्यकाल के आखिरी दो साल के लिए नयी सरकार की टीम तैयार करने में जुटे हुए हैं। मैक्रां ने ट्वीट किया कि फ्रांस के आधुनिकीकरण और मुक्त व्यापार के वादों के के साथ 2017 में वह जिस मंच पर खड़े थे, वे अब भी उनकी राजनीति के केंद्र में हैं। लेकिन अंतरराष्ट्रीय उथल-पुथल और अनुभव किए जा रहे संकटों को देखते हुए एक नया रास्ता निकाला जाना चाहिए। उन्होंने पिछले हफ्ते एडवर्ड फिलिप को प्रधानमंत्री पद से हटा दिया था। उनके बाद ज्यां कास्ते को नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया है। कास्ते लोक सेवक रहे हैं। उन्हें इसके पहले मंत्री के पद पर काम करने का कोई अनुभव नहीं रहा है।       


मनोज सिंह ठाकुर


खट्टर ने प्रेस वार्ता कर दी जानकारी

राणा ओबराय
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रेसवार्ता में दी अहम जानकारियां
चण्डीगढ़। हाउसिंग पॉलिसी में संशोधन – मुख्यमंत्री
नगर निकायों की जमीन के अलॉटमेंट के लिए पॉलिसी बनी
कालका को नगर परिषद का दर्जा दिया गया-
पंचकूला नगर निगम से कालका को अलग किया
सोशल मीडिया के लिए बनाई गई पॉलिसी – मुख्यमंत्री, चौपाल टीवी
सभी ग्रुप के कर्मचारियों के लिए ट्रेनिंग पॉलिसी- मुख्यमंत्री
सोशल मीडिया को लेकर बनी पॉलिसी – मुख्यमंत्री


मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई बैठक जी | मानसून सत्र बुलाने समेत कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा|


* सोशल मीडिया, यूट्यूब, व् वेब चैनल के लिए विज्ञापन की पालिसी बनी, ताकि सरकारी विज्ञापन मिल सके| Acridation खोल दी गयी है। जो रजिस्टर्ड होंगे उनको मान्यता मिलेगी।


* हाउसिंग पॉलिसी में संशोधन |


* सभी ग्रुप के कर्मचारियों के लिए ट्रेनिंग पॉलिसी|


* मोबाइल पर मिलेगी सरकार के कार्यों की जानकारी|


* साइबर सिटी में लोगों को मिलेगी सुविधा| आईटी कंपनियों में काम करने वाले घर से काम कर सकेंगे |
मोबाइल पर मिलेगी सरकार के कार्यों की जानकारी – मुख्यमंत्री
साइबर सिटी में लोगों को मिलेगी सुविधा – मुख्यमंत्री
आईटी कंपनियों में काम करने वाले घर से काम कर सकेंगे – मुख्यमंत्री
मानसून सत्र बुलाने समेत कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा             


लिंग भेद और क्षमता 'संपादकीय'

"मधुकर कहिन"


गऊ भक्ति का ढोंग करने वाले भक्तों से तो सुशीला किन्नर ही निकली बेहतर
चारों पैर कटी हुई गाय लेकर पहुंची एसपी कार्यालय और कि सख्त कार्यवाही की माँग


कल बढ़लिया गांव में एक गाय के चारों पैर काट देने की घटना सामने आई थी। जिस घटना के बाद ग्राम वासियों ने आरोपी सोहन सूरता पर गिरफ्तारी की कार्यवाही करने हेतु मीडिया के समक्ष अपनी बात कही। पुलिस ने भी बात सुन कर , शिकायत दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। अब उसके बाद क्या हुआ क्या नहीं हुआ ? उसकी चर्चा बाद में करेंगे।


लेकिन आज जब भरी दोपहरी में सुशीला नामक किन्नर उस घायल अधमरी गाय को एक पिकअप वाहन में उठाकर एसपी कुंवर राष्ट्रदीप के कार्यालय पर पहुंचा। और इसे गौमाता पर अत्याचार की संज्ञा देते हुए सोहन सूरता पर सख्त कार्रवाई की मांग करने लगा। तब एक बार तो  किन्नर को देखकर मीडिया और पुलिसकर्मियों में पल दो पल के लिए हड़कंप सा मच गया। बाद में एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने गंभीरता से बात सुनी। 
 लेकिन जिस बहादुरी से उस किन्नर ने चारों पाँव कटी गाय गाड़ी में लाकर एसपी के दरवाजे पर खड़ी कर दी ... वह बहादुरी सैकड़ों गौ सेवा संगठन चलाने वालों और गौमाता के नाम पर सोशल मीडिया पर 24 घंटे बक बक करने वाले अंध भक्तों के मूँह पर करारा तमाचा था।


 अब सवाल यह है कि -❓
 आखिर कहां गए वह गौ भक्त और वह सारे संगठन ? जो गौमाता के नाम पर बड़े बड़े आंदोलनों करते हैं। कहाँ गयी भाजपा, बजरंगदल और आरएसएस की गऊ भक्त टोलियाँ ? क्या यह दावे सिर्फ राजनीतिक फायदे और हिंदुत्व का ढोंग करने मात्र तक सीमित है ? जब एक किन्नर को गौमाता के लिए इतना दर्द है तो ढोंगी गौ भक्तों का अंतर्मन क्या मर गया है ?


 नरेश राघानी


वृक्षारोपणः शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि

मानव कल्याण चैरिटेबल फाउंडेशन राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी ने कानपुर में 8 जवान शहीदों के के नाम पौधे लगाकर दी भावभीनी श्रद्धांजलि


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मानव कल्याण चैरिटेबल फाउंडेशन राष्ट्रीय धर्मेंद्र त्यागी और उनके पदाधिकारियों ने रामपार्क राजीव गार्डन 100 फुटा रोड कैंप कार्यालय विभिन्न विभिन्न इलाकों में पौधा रोपण करते हुए कानपुर में विकास दुबे दुर्दांत के द्वारा 8 पुलिसकर्मियों कि निर्मम हत्या की थी। अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी ने  उनके नाम एक एक पौधा लगाकर उनको श्रद्धांजलि देते हुए उत्तर प्रदेश  सरकार से मांग करते हैं। जिन पुलिसकर्मियों का विकास दुबे को संरक्षण प्राप्त है और जिन्होंने उनकी गिरफ्तारी की सूचना विकास दुबे तक पहुंचाई उन पर भी हत्या का मुकदमा दर्ज हो उन्हें भी सजा मिलनी चाहिए।
दुर्दांत विकास दुबे ने 8 पुलिस कर्मियों कि निर्मम हत्या करके नक्सलवाद आतंकवाद जैसी घटना को अंजाम दिया। जिससे पूरा देश हैरान है विकास दुबे को उसी की भाषा में जवाब देने की जरूरत है।
धर्मेंद्र त्यागी ने कहा विकास दुबे की स्थाई संपत्ति और साम्राज्य को बेचकर उस पैसे को शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को दिया जाए ताकि और कोई आगे इस तरह का दुर्दांत आतंक का पर्याय ना बने। हमारे देश के लचीले कानून और सभी राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण विकास दुबे इतना बड़ा दुर्दांत बना जिस आदमी ने सभी पार्टियों का संरक्षण प्राप्त करके अपनी राजनीति और दबंग का साम्राज्य और अवैध प्रॉपर्टी बनाकर अपना रुतबा कायम कर रखा था। इतना भय व्याप्त था कोई भी उसके खिलाफ बोलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था।
जिसके कारण भारतीय जनता पार्टी के दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री को भी थाने मेेंं घुसकर गोलियों से भून दिया था और उसकी हत्या कर दी थी कोई भी पुलिसकर्मी अन्य गवाही ना देने के कारण कोर्ट ने बरी कर दिया उसका हौसला बढ़ता चला गया। जिस समय पर एक दर्जा प्राप्त मंत्री को मौत के घाट उतार दिया था उसी समय पाकर गवाही और पुलिस हिम्मत जुटाकर उसको सजा दिलाते तो शायद ही आज पुलिसकर्मी बच सकते थे।


गुरु पूर्णिमा पर रक्तदान शिविर आयोजित

ग्रामीणों ने गुरू पूर्णिमा के अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया। 


रतन सिंह चौहान।
होडल पलवल। सौंध गांव में पलवल ज्योतिपुंज डोनर्स क्लब ने ग्रामीणों के साथ मिलकर रक्तदान शिविर  का आयोजन किया। जिसमें 36 गुरुभक्तों ने रक्तदान कर अपने गुरु को गुरु दक्षिणा दी। शिविर का संयोजन समाजसेवी नेपाल सिंह पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज के मुख्य संयोजक आर्यवीर लॉयन विकास मित्तल ने किया। पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज की सह संयोजक अल्पना मित्तल, रीतु अरोडा, बदन सिंह ने किया। नेपाल सिंह ने कहा कि रक्तदान को महादान की संज्ञा दी गई है जो भी व्यक्ति रक्तदान करता है, वह अपने शरीर के अंश से किसी दूसरे को नया जीवन देता है। विकास मित्तल ने सभी रक्तदाताओं का धन्यवाद देते हुए कहा कि देश भर में फैली कोरोना महामारी के इलाज में सहायक होने के अलावा कई आपातकालीन सर्जरी, सडक दुर्घटना में घायल लोगों की सर्जरी इत्यादि सभी में खून चढ़ाने की जरूरत होती है। कई बार समय पर रक्त का मिल पाना बड़ा मुश्किल हो जाता है, कोरोना के कारण देश में रक्त की कमी ना हो इसीलिए ग्रामवासियों के साथ मिलकर रक्तदान शिविर लगाया गया।             


हापुड़ सीएमओ को सम्मानित किया

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)
मुख्य चिकित्सा अधिकारी को एचडीएफसी बैंक द्वारा किया गया सम्मानित


हापुड़। जनपद हापुड़ में आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्रीमती रेखा शर्मा को एचडीएफसी बैंक के शाखा प्रबंधक द्वारा सम्मानित किया गया मुख्य चिकित्सा अधिकारी रेखा शर्मा को सम्मानित करते हुए एचडीएफसी बैंक के संजय चतुर्वेदी,ब्रांच मैनेजर रघुवेंद्र मिश्रा व शाखा उपप्रबंधक गौरव त्यागी द्वारा फेसशील्ड देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी रात दिन मेहनत कर रही हैं तथा जनपद को कोरोना से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं ऐसे में उनको भी कोरोना वायरस का खतरा बना रहता है इसलिए उनको यह फेस सीट व प्रशस्ति पत्र दिया जा रहा है क्योंकि उनके द्वारा अत्यंत सराहनीय कार्य किए जा रहे हैं।                   


पुलिस की चप्पे-चप्पे पर पैनी नजर

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)
जनपद हापुड़/सिंभावली पुलिस की चप्पे-चप्पे पर पैनी नजर अनलॉक टू में बफर जोन घोषित 


गढ़मुक्तेश्वर/सिंभावली क्षेत्र मैं कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों की रफ्तार पकड़ती संख्या को देखते हुए प्रशासन के द्वारा कस्बा बक्सर मोहम्मदपुर खुडलिया को सुरक्षा की दृष्टिगत बफर जोन घोषित करने पर अनलॉक टू में घूमने वाले दो पहिया वाहन चालकों पर बगैर मास्क लगाए हेलमेट लगाकर नहीं चलने को लेकर सिंभावली पुलिस की पैनी नजर क्षेत्र के मुख्य बाजारो चौराहों को सील करते हुए चप्पे-चप्पे पर लगी हुई है। इसी क्रम के चलते बगैर मास्क हेलमेट लगाकर चलने वाले दुपहिया वाहन चालकों पर तेज तर्रार थाना प्रभारी महेंद्र कुमार त्रिपाठी की टीम के एस आई उदयवीर सिंह ने शिकंजा कसते हुए बक्सर ओवर ब्रिज के नीचे हरोड़ा मोड़ अति व्यस्ततम चौराहों पर कुछ वाहन चालकों के चालान किए वहीं कुछ को अनलॉक टू की गाइडलाइंस के दिशा निर्देश देते हुए भविष्य में गलती न करने की शर्त पर छोड़ा। वही थाना प्रभारी महेंद्र कुमार त्रिपाठी का कहना है कि अनलॉक टू में नियमों का उल्लंघन करने वालों को किसी भी हाल में नहीं बख्शा उनके विरुद्ध कोविड-19 की धारा 188 के तहत विधिक कार्रवाई की जाएगी।              


13 जुलाई तक मंडी बंद, टोटल लॉकडाउन

किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद, खाद्य व्यापार मंडल ने की टोटल लॉकडाउन की मांग


वाराणसी। कोरोना के कारण वाराणसी में कतुआपुरा स्थित किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद कर दी गई है। वहीं व्यापारियों ने वाराणसी में एक बार फिर लॉकडाउन की अपील जिलाधिकारी से की है। व्यापारियों का मानना है कि मंडियों में पूरे पूर्वांचल से लोग आ रहे हैं। इससे संक्रमण तेजी से फैल रहा है। कतुआपुरा मंडी के व्यापारी के संक्रमित होने के बाद यहां के व्यापार मंडल ने रविवार को बैठक कर 13 जुलाई तक मंडी बंद रखने का फैसला लिया है। वाराणसी किराना व्यवसाय समिति के अध्यक्ष मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि एहतियात के तौर पर किराना मंडी बंद रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल की किराना मंडी होने के नाते यहां बनारस सहित आसपास के जिलों से व्यवसाई आते हैं। इससे संक्रमण तेजी से फैलने का डर है। हालांकि व्यापार मंडल का दावा है कि कोरोना पॉजिटिव व्यापारी पिछले 10 दिनों से मंडी नहीं आ रहे थे।


उधर, जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी को देखते हुए एक बार फिर जिले में लॉकडाउन की मांग हो रही है। काशी खाद्य व्यापार मंडल ने जिला अधिकारी को पत्र लिखकर कम से कम एक हफ्ते तक संपूर्ण बंदी की मांग की है। व्यापार मंडल के अध्यक्ष कृष्णशरण दास अग्रवाल ने कहा कि थोक मंडियों व बाजारों में कई मरीज सामने आ चुके हैं। लिहाजा संपूर्ण बंदी होनी चाहिए।


वाराणसी में तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है। रविवार को भी 27 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पिछले दस दिनों में ही करीब दो सौ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इसमें ज्यादातर शहरी इलाके के लोग हैं। रोजाना कोरोना से मौत भी हो रही है। चिंता की बात यह है कि नए संक्रमितों की कांट्रैक्ट हिस्ट्री नहीं मिल रही है। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या इस समय 627 हो गई है। इसमें 23 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलहाल 256 एक्टिव केस हैं। वाराणसी के एल-1 और एल-2 अस्पताल के बेड कोरोना मरीजों से भर चुके हैं। रविवार को नए कोरोना मरीजों के लिए डीरेका अस्पताल में इंतजाम शुरू किया गया और वहां मरीजों को शिफ्ट करना भी शुरू कर दिया गया।              


चलती बस से लड़की को फेंका, मौत

मथुरा। कोरोना वायरल के खौफ के कारण एक लड़की की जान चली गई। बस ड्राइवर और कंडक्टर ने उस पर कोरोना संक्रमित होने का संदेह जताया और मथुरा टोल प्लाजा के पास चलती बस से फेंक दिया, जहां उसकी मौत हो गई। यह लड़की पूर्वी दिल्ली के मंडालवी इलाके की रहने वाली थी।


लड़की के परिजनों का कहना है कि लड़की को दिल्ली से कोरोना वायरस का टेस्ट करवा कर भेजा गया था और उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। लड़की को पथरी के दर्द होने की वजह से कमजोरी थी जिसकी वजह से उसे चक्कर आया था और वो ठीक से चल नहीं पा रही थी। लेकिन लोगों ने उसे कोरोना वायरस संक्रमित घोषित कर बस से नीचे फेंक दिया।


इस दौरान लड़की की मां ने उसे ऊपर खींचने की पूरी कोशिश की पर बस कंडक्टर की ताकत के आगे वो कुछ ना कर सकी और उसे नीचे गिरा दिया और बच्ची के सिर में चोट आने की वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान किसी ने उनकी मदद नहीं की। वहीं मथुरा पुलिस ने इस पूरे मामले में महिला के साथ किसी भी प्रकार की मारपीट का दावा नहीं किया है। पुलिस का कहना है कि पीड़ित को एक सामान्य यात्री की तरह हटा दिया गया था, और किसी भी हाथापाई का कोई सबूत प्राप्त नहीं हुआ है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।


विधायक ने कार्य का शिलान्यास किया

विधायक जगदीश नायर ने हसनपुर में बाल्मीकि समाज के सामुदायिक केंद्र के प्रांगण में टाईल्स लगाने का शिलान्यास किया।


रतन सिंह चौहान
पलवल। विधानसभा क्षेत्र होडल के विधायक जगदीश नायर ने रविवार को हसनपुर में लगभग 20 लाख रुपये की लागत से बाल्मीकि समाज को समर्पित सामुदायिक केंद्र व उसके प्रांगण में इंटरलॉकिंग टाइल्स लगाने के कार्य का विधिवत शिलान्यास किया। इस अवसर पर हसनपुर के पूर्व चेयरमैन मनोहर, मास्टर प्यारेलाल, लाल भरतलाल, सरपंच संदीप मंगला, दीपक मंगला, चीनू, राजू पीटीआई सहित बाल्मीकी समाज के अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।
विधायक जगदीश नायर ने कहा कि इस सामुदायिक केंद्र के बनने से बाल्मीकि समाज के लोगों को निश्चित ही लाभ मिलेगा। वह इसमें अपने सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रम आसानी से कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हसनपुर में टूटी हुई नालियों की मरम्मत का कार्य भी जल्द शुरू किया जाएगा। विधायक ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में वर्तमान सरकार सबका साथ-सबका विकास की तर्ज पर प्रत्येग वर्ग के लोगों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्यों को करवाने में धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी।
विधायक की अध्यक्षता में सोमवार को प्रात: 11 बजे हसनपुर स्थित लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में विकास कार्यों के संबंध में अधिकारियों की एक बैठक का आयोजन किया जाएगा।               


362 संक्रमितो में से 263 हुए ठीक

जिला के 9298 सैंपल्स में से 8734 की रिपोर्ट नेगेटिव
- 362 में से 263 लोग ठीक होकर अस्पताल से हुए डिस्चार्जः डॉ ब्रहमदीप


रतन सिंह चौहान


पलवल। सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने कहा कि जिला में 362 में से 263 लोग ठीक होकर घर जा चुके है। जिला में सर्विलांस पर 9374 लोग आ चुके है, जिनमें से 7194 लोगों की 28 दिन की सर्विलांस अवधि पूर्ण हो चुकी है और कुल 2180 लोग अभी सर्विलांस पर हैं। जिला में 202 सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है तथा 9298 सैंपल्स में से 8734 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 
सिविल सर्जन ने बताया कि हमारे पास लगातार दूसरे प्रदेशों से काफी लोग आ रहे है। लगातार उनकी स्क्रीनिंग जारी है और हमारे नागरिक अस्पताल में दुकानदरों व गर्भवती महिलाओं व आपातकालीन में आने वाली सभी मरीजों की जांच की जा रही है। जिला के 9171 लोगों की साइक्लोजिकल काउंसलिंग की जा चुकी है। किसी को भी अपने आस-पास संदिग्ध मरीज की जानकारी मिले तो वे तुरंत हेल्पलाइन नंबर- 1950, 100, 108, 7027840481, 01275-240022 पर जानकारी दे। 
उन्होंने लोगों से आह्वïान किया है कि नागरिक कही पर भी भीड़ देखे तो जिम्मेदार नागरिक होने के नाते एक दूसरे को सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति जागरूक करें। उन्होंने लोगो से अपील की है कि कोरोना के खिलाफ जंग में स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन का साथ देंगे तो हम जल्द ही इस जंग को जीत पाएंगे। उन्होंने लोगों से कहा है कि जब तक जरुरी न हो तब तक घर से न निकले और आपस में दो गज की दूरी बनाए रखें तथा फेस मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकले। 
उन्होंने सभी दुकानदारो व नागरिकों से अपील की है कि सभी घर से मास्क पहनकर निकले और बार-बार अपने हाथों को 20 सेकंड तक साबुन से धोए व सैनिटाइज करें। उन्होंने बताया कि अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करे ताकि अपने आस-पास के संदिग्ध मरीजों की सूचना प्राप्त होती रहे। उन्होंने दुकानदारों से आह्वïान किया है कि वे अपनी दुकानो में ग्राहकों  की भीड़ ना लगाए। सभी के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना सुनिश्चित करें।               


प्राथमिकता में रखे विकास कार्यः डीएम

प्राथमिकता के आधार पर विकास कार्य किए जाए


जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा


कौशाम्‍बी। जिले मे विकास की धारा तेज करने के लिए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट के उदयन सभागार मे जिले के अधिकारियो के साथ एक आवश्यक बैठक की |


बैठक मे विकास कार्यों के प्राथमिकता पर बल दिया गया | जिलाधिकारी ने मनरेगा के द्वारा कार्ययोजना तैयार कर कार्य कराने का निर्देश दिया |मनरेगा से प्रवासी मजदूरो को कार्य भी मिलेगा और विकास की गति भी बढेगी |गांवो मे स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शौचालय का निर्माण भी कराया जाए ताकि जो लोग शौच के लिए बाहर जाते है उनको बाहर न जाना पडे | जिलाधिकारी ने विकास की गति को प्राथमिकता देने के लिए एक निश्चित दिशा मे कार्ययोजना बनाने और करने के लिए निर्देशित किया |
पुष्पेश त्रिपाठी / रमेश सिंह


कौशाम्बी में 11 की रिपोर्ट पॉजिटिव

कौशाम्बी में फिर ब्लास्ट हुआ कोरोना बम 24 घंटे में 21 मरीज संक्रमित


अझुवा में बीती देर रात ग्यारह संक्रमित मरीजों की रिपोर्ट आयी पोज़िटिव


नगर में संक्रमित मरीज़ों की संख्या हुई 20 जिसमें एक की हुई है मौत


अझुवा कौशाम्बी। देश मे निरंतर कोरोना संक्रमितों मरीजों की संख्या  बेतहासा बढ़ रही है चारो ओर भय का माहौल व्याप्त है  सरकार के पूरे प्रयास विफल जा रहे हैं चाहे वो लॉक डाउन रहा हो या अनलॉक !


कौशाम्बी जिले में भी कोरोना नामक वैष्विक महामारी ने कोहराम मचा रखा है बीती रात नगर पंचायत अझुवा में स्थित सब्जी मंडी में ही 11 मरीज शुभम केसरवानी योगेश केसरवानी अनामिका अभिषेक केसरवानी अभय केसरवानी अजय कुमार नीलम वर्षा केसरवानी प्रशांत केसरवानी प्रशांत टंडन शशांत टंडन संक्रमित पाए गए जिन्हें अझुवा पुलिस और तहसीलदार सिराथू जितेंद्र सिंह की देखरेख में एम्बुलेंस से सावधानी पूर्वक जिला अस्पताल मंझनपुर में बने कोविड अस्पताल में भर्ती करवाया गया । ये सभी संक्रमित मरीज व्यापार मंडल अध्यक्ष रमेश चंद्र अग्रहरी के बहु जो कोरोना संक्रमित है इनके परिवार से ही किसी न किसी रूप से संपर्क से ही कोरोना संक्रमण के शिकार बने हैं।अभी  भी 4 जुलाई को लिए गए 72  श्वाब सैंपल की रिपॉर्ट आनी शेष है!


संक्रमित मरीज और परिजन जांच पर उठा रहे सवाल


 11 संक्रमित मरीज में से कुछ जांच पर ही सवाल उठा रहे कि उन्हें ना तो खांसी,बुखार, सांस लेने में कोई दिक्कत नही है उनका कहना है कि फिर भी हमारी रिपोर्ट धनात्मक कैसे आ गयी जबकि जिस संक्रमित महिला से संक्रमण का दायरा बढ़ है उसका जिला अस्पताल में प्रसव हुआ था उसे नगर की ही महिला ने तेल मालिस सुबह शाम करती थी ।उसकी भी जांच हुई थी परन्तु उसके परिवार से किसी की भी रिपोर्ट धनात्मक नही आई।


अभी सस्पेंस बाकी है..।


कौशाम्बी। नगर पंचायत में मृतक होरीलाल के संपर्क में आये 6 संक्रमित व्यक्तियों से हुये संपर्क  जिसमे 4 जुलाई को 72 श्वाब सैम्पल गया था अभी उसकी रिपोर्ट आनी शेष है सभी रैंडम जांच करवाने वाले भयभीत हैं।


सन्तलाल मौर्य 


दो किलोमीटर पिछे हटें चीनी सैनिक

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच मई महीने से जारी विवाद में अब बड़ी खबर सामने आई है। 15 जून को जिस जगह पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आई थीं, अब वहां से चीनी सेना कुछ किमी. पीछे हट गई है। सेनाओं के बीच लगातार सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर मंथन चल रहा था, ऐसे में ये इस प्रक्रिया का पहला पड़ाव माना जा रहा है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर गलवान घाटी में हिंसा वाले स्थल के पास से चीनी सेना करीब एक किमी. पीछे हट गई है।


सूत्रों की मानें, तो दोनों देशों की सेना ने रिलोकेशन पर सहमति जाहिर की है और सेनाएं मौजूदा स्थान से पीछे हटी हैं। गलवान घाटी के पास अब बफर जोन बनाया गया है, ताकि किसी तरह की हिंसा की घटना फिर ना हो पाए। आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच मई के महीने से तनाव की स्थिति बनी हुई है। ईस्टर्न लद्दाख बॉर्डर पर गलवान घाटी के पास पैंगोंग लेक तक चीनी सेना और भारतीय सेना आमने-सामने हैं। जून के पहले हफ्ते में दोनों देशों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ, जहां पर सैन्य लेवल पर बात हुई। लेकिन 15 जून को इसी दौरान गलवान घाटी में झड़प हुई, जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे। चीन को भी बड़ा नुकसान हुआ, लेकिन उसने कभी इसे नहीं माना।


भारतीय सेना ने 6 जून, 22 जून और 30 जून को चीनी सेना से बात की। जिसमें मौजूदा स्थिति को वापस अप्रैल से पहले की स्थिति पर ले जाने की बात कही गई। भारत अपने मुद्दे पर अड़ा रहा, लेकिन चीन नहीं माना। बॉर्डर के पार चीन की ओर से बढ़ाई जा रही सेना की मौजूदगी के जवाब में भारत ने भी अपनी तैनाती को बढ़ा दिया। अब लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय सेना की कई टुकड़ियां तैनात हैं। पिछले शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंच गए थे। पीएम मोदी नीमू पोस्ट पर पहुंचे थे, जो लद्दाख बॉर्डर से कुछ दूर था हालांकि यहां बड़ी संख्या में सेना के जवान मौजूद हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में यहां सख्त संकेत दिया था कि अब विस्तारवाद का वक्त चला गया है और विकासवाद का वक्त आ गया है। इसी बयान के बाद चीन बौखला गया था।              


एटीएम उपयोग नियमों में किया बदलाव

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ATM से पैसे निकालने के नियमों में बदलाव कर दिया है। अगर नियम की जानकारी नहीं हो तो पैसे निकालने में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। SBI ने ट्वीट कर अपने खाताधारकों को ये जानकारी दी है। बैंक ने ATM से कैश निकालने के नियमों में बदालव करते हुए इसे पहले से और सुरक्षित बना दिया है।


एसबीआई ने एटीएम से कैश निकालने के नियम में बदलाव करते हुए नई सुविधा लागू की है। एटीएम को और सुरकक्षित बताने हुए और आपकी जमा पूंजी को सुरक्षित करने के मकसद से बैक ने ये बदलाव किया है। बैंक ने एटीएम से कैश निकलने के लिए OTP को अनिवार्य कर दिया है। बैंक ने इसके बारे में ट्वीट कर जानकारी दी और कहा कि एसबीआई की इस सुविधा को 1 जनवरी 2020 से लागू किया गया है, जिसके तहत रात 8 बजे के बाद से सुबह 8 बजे तक बिना ओटीपी के आप एटीएम से कैश नहीं निकाल सकेंगे।


बैंक ने खाताधारकों को जानकारी दी है कि एसबीआई के एटीएम से कैश निकालते समय ओटीपी की जरूरत होगी। बैंक ने खाताधारकों को फ्रॉड से बचाने के लिए एक बार फिर से इस सुविधा के बारे में जानकारी दी है। बैंक के इस नियम के मुताबिक बिना ओटीपी के आप रात 8 बजे से सुबह 8 बजे के बीच में 10 हजार रुपए से अधिक की निकासी नहीं कर सकेंगे। बैंक द्वारा आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा, जिसे दर्ज करने के बाद ही आप एटीएम से कैश निकाल सकेंगे। हालांकि ये सुविधा आपको सिर्फ तभी मिलेगी, जब आप कैश की निकासी SBI के एटीएम से करेंगे। बैंक ने कहा है कि इस सुविधा से एसबीआई डेबिट कार्ड होल्डर्स को किसी भी संभावित स्किमिंग या कार्ड क्लोनिंग से बचाया जा सकेगा।                


डोभाल की चीनी विदेश मंत्री से बातचीत

नई दिल्ली/बीजिंग। भारत और चीन में सीमा पर जारी तनाव के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने कल वीडियो कॉल पर चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ बातचीत की। सूत्रों का कहना है कि बातचीत सौहार्दपूर्ण और दूरदर्शी तरीके से हुई। एनएसए डोभाल और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के बीच क्षेत्र में शांति बनाए रखने भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचने के लिए एक साथ काम करने को लेकर बातचीत हुई।


गौरतलब  है कि लद्दाख संकट पर डोभाल पहले से ही सक्रिय हैं और चीन की हर हरकत पर उनकी नजर भी है। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जो लद्दाख जाने का अचानक प्लान बना वह डोभाल की रणनीति का हिस्सा था। डोभाल के प्लान की वजह से ही किसी को भी इसकी भनक नहीं लगी थी। दूसरी तरफ चीनी घुसपैठ की कोशिश के बाद जिस तरह भारत ने आक्रमक तरीके से उसका जवाब दिया उसे भी डोभाल की रणनीति बताया जाता है।


लद्दाख सीमा पर LAC के पास चीनी सेना ने आखिरकार अपने टेंट हटाने शुरू कर दिए हैं। दोनों सेनाओं के बीच हुई बातचीत के आधार पर चीनी सेना करीब एक-दो किमी. तक पीछे हट गई है। अब इस मामले पर चीन के विदेश मंत्रालय ने भी बयान जारी कर दिया है। चीनी विदेश मंत्रालय का कहना है कि शांति स्थापित करने के लिए अग्रिम मोर्चे पर कुछ कदम उठाए गए हैं, इनमें सैनिकों को वापस हटाने की प्रक्रिया शुरू हुई है। वहीं, दूसरी ओर चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स की ओर से भी बॉर्डर पर तनाव कम होने की बात की गई है। ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि भारत और चीन की सेनाओं ने फ्रंट बॉर्डर से बैच के आधार पर सैनिक कम करने का निर्णय लिया है। इसमें दोनों देशों के बीच 30 जून को जो बैठक हुई थी, उसके बाद ये फैसला लिया गया है।


उपराष्ट्रपति ने लॉन्च किया नया ऐप

नई दिल्ली। देशभर में चाइनीज एप्स के प्रति लोगों में जबरदस्त गुस्से के बाद अब स्वदेशी पर जोर दिया जा रहा है। इसी कड़ी में एक देशी सोशल मीडिया एप लांच किया गया है। प्रधानमंत्री के युवाओं से स्वदेशी एप बनाने की अपील करने के बाद स्वदेशी सोशल मीडिया ऐप Elyments लॉन्च हो गया है। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इस ऐप को लॉन्च किया है। दरअसल, यह ऐप काफी पहले से ही Google Play Store पर उपलब्ध था लेकिन इसे अब व्यावसायिक तौर पर लॉन्च किया गया है। इस ऐप की खास बात यह है कि इसे सुपर सोशल मीडिया ऐप के तौर पर पेश किया गया है। इस ऐप के जरिए चैटिंग के साथ-साथ ई-कॉमर्स सर्विसेज भी ली जा सकेगी।

गौरतलब है कि यह ऐप Google Play Store और Apple ऐप स्टोर दोनों पर उपलब्ध होगा। इस ऐप को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत लांच किया गया है। इसे फेसबुक के मुकाबले में स्वदेशी वर्जन माना जा रहा है। उपराष्ट्रपति ने लोगों से इस स्वदेशी एप को इस्तेमाल करने को कहा ताकि भारतीय युवाओं के तकनीक से जुड़े प्रयोग को सराहा जा सके और इस क्षेत्र में भी भारत आत्मनिर्भर बन सके।             

रेलवे ने रचा इतिहास, बना विश्व कीर्तिमान

नई दिल्ली। इंडियन रेलवे के ट्रैक पर अब सोलर पावर की बिजली से ट्रेनें दौड़ेंगीं। भारतीय रेलवे ने इसके लिए तैयारी पूरी कर ली है। दरअसल, रेलवे ने अपने पायलट प्रोजेक्ट के तहत मध्य प्रदेश के बीना में सोलर पावर प्लांट को स्थापित किया है जिससे 1.7 मेगा वाट की बिजली का उत्पादन हो सकता है और इस बिजली से ट्रेनों को दौड़ाने की तैयारी है।


रेलवे का दावा है कि दुनिया के इतिहास में यह पहली बार है जब सौर ऊर्जा का इस्तेमाल ट्रेनों को चलाने के लिए किया जाएगा। इस पावर प्लांट की खास बात यह है कि यहां से 25 हजार वोल्ट की बिजली पैदा होगी जिसे डायरेक्ट रेलवे के ओवरहेड पर ट्रांसफर किया जाएगा और इसकी मदद से ट्रेनों को दौड़ाया जाएगा।


BHEL ने की मदद


मध्य प्रदेश के बीना में रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर बीएचईएल के सहयोग से 1.7 मेगावाट क्षमता वाले सोलर पॉवर प्लांट को तैयार किया गया है। पूरी दुनिया में ऐसा पावर प्लांट नहीं लगा है, जिससे ट्रेन को चलाया जा सके। दुनिया के अन्य रेलवे नेटवर्क, सौर ऊर्जा का उपयोग मुख्य रूप से स्टेशनों, आवासीय कॉलोनियों और दफ्तरों की बिजली की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए करते हैं। भारतीय रेलवे ने कुछ डिब्बों की छत पर सौर ऊर्जा पैनल भी लगाए हैं, जिनसे ट्रेन के डिब्बों में बिजली की आपूर्ति हो रही है। लेकिन अब तक, किसी भी रेलवे नेटवर्क ने ट्रेनों को चलाने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग नहीं किया है।           


जनसंघ के संस्थापक को दी श्रद्धांजलि

नितिन शर्मा


नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी कहा कि देश की एकता व अखंडता के लिए उनका समर्पण बलिदान देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा। शाह ने ट्वीट कर कहा, ”डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के रूप में देश को एक ऐसा दूरदर्शी नेता मिला जिसने भारत की समस्याओं के मूल कारणों उसके स्थायी समाधान पर जोर दिया। उनके लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष किया।” मुखर्जी हाल ही जम्मू एवं कश्मीर से हटाए गए अनुच्छेद 370 के मुखर विरोधी थे। वे चाहते थे कि कश्मीर पूरी तरह से भारत का हिस्सा बने वहां अन्य राज्यों की तरह समान क़ानून लागू हो।


शाह ने कहा, ”कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने एवं देश की एकता अखंडता के लिए उनका समर्पण बलिदान देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा।” उन्होंने कहा कि ”सांस्कृतिक राष्ट्रवाद” पर केन्द्रित जनसंघ आज की भारतीय जनता पार्टी मुखर्जी की ही दूरदर्शिता का परिणाम है। जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष रहे मुखर्जी का जन्म आज ही के दिन वर्ष 1901 में कलकत्ता (अब कोलकाता)में हुआ था। जनसंघ का बाद में जनता पार्टी में विलय हो गया फिर पार्टी के बिखराव के बाद 1980 में भाजपा का गठन हुआ। पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने शिक्षा औद्योगिक क्षेत्र में सुधार के लिए मुखर्जी के प्रयासों को महती करार दिया कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता शोध कार्यों के भी वे बहुत बड़े पक्षधर थे।


मोदी नीतियों पर हार्वर्ड करेगा अध्ययन

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कोविड -19 की स्थिति, नोटबंदी और जीएसटी लागू करने जैसी विफलताएं भविष्य की कक्षाओं में विश्लेषण के विषय होंगे। राहुल गांधी ने कहा कि इन नीतियों पर हार्वर्ड बिजनेस स्कूल द्वारा अध्ययन किया जाएगा।


उन्होंने ट्वीट किया, “भविष्य में एचबीएस केस स्टडी इन विफलताओं पर होगी- 1.  कोविड-19, 2. नोटबंदी, 3. जीएसटी कार्यान्वयन।” बता दें कि भारत अब कोविड-19 महामारी से दुनिया में तीसरा सबसे अधिक प्रभावित देश बन गया है। 50 वर्षीय नेता ने पीएम मोदी का राष्ट्र को संबोधित करते हुए एक वीडियो भी साझा किया और इसके साथ एक ग्राफ भी साझा किया है। इसमें कोरोना वायरस मामलों की संख्या में वृद्धि और देश को दुनिया में तीसरा सबसे प्रभावित देश बनते दर्शाया गया है।              

यूपी के कई जिलों में होगी भारी बारिश

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। उत्तर प्रदेश भर में मानसून अब पूरी तरह सक्रिय हो गया है। सोमवार की सुबह से राजधानी व आस-पास के इलाकों में तेज बारिश हुई। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में अगले 24 घंटे गरज चमक के साथ कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।


आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि प्रदेश के पीलीभीत, बरेली, शाहजहांपुर, रामपुर, मुरादाबाद, हरदोई, बलरामपुर, बलिया मउ, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, ललितपुर, महोबा, झांसी, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, इलाहाबाद, सीतापुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी, कन्नौज, फर्रूखाबाद और आस-पास के क्षेत्रों में गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। इसके अलावा पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, बहराइच, सीतापुर, गोंडा, फैजाबाद, बस्ती, अम्बेडकर नगर, मउ, बलिया और आस-पास के क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।               


यूपी पुलिस को छकाया, इनाम बढ़ाया

लखनऊ। कानपुर के बिकरू गांव में एक सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार चल रहे मुख्य आरोपी विकास दुबे पर अब इनाम की राशि को बढ़ा दिया गया है। उस पर इनाम राशि को डीजीपी एचसी अवस्थी ने बढ़ाते हुए ढाई लाख कर दिया है। इसके साथ ही उसकी गिरफ्तारी के लिए सर्चिंग अभियान को और भी तेज किए जाने की योजना तैयार कर ली है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक विकास को जल्द से जल्द ढूंढ लिया जाएगा। बता दें कि कानपुर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने फरार चल रहे विकास दुबे पर इनाम की राशि बढ़ाने के लिए डीजीपी ऑफिस को लिखा था। इससे पहले उस पर 50 हजार और फिर बढ़ाकर एक लाख का इनाम कर दिया गया था।


बता दें कि विकास दुबे की गिरफ्तारी कि के लिए 40 थानों की फोर्स, एक हजार से अधिक दारोगा, क्राइम ब्रांच और एसटीएफ की टीम उसकी चप्पे-चप्पे पर तलाश कर रही है। इसके बाद भी 72 घंटे से ज्यादा समय बीत जाने के बाद उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पुलिस ने कानपुर, कानपुर देहात, उन्नाव और आस-पास के जिलों में विकास दुबे के पोस्टर चस्पा किए हैं। साथ ही राहगीरों को भी विकास की तस्वीर दिखाकर गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। सूचना देने वाले को ढाई लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा।


तीन और पुलिसकर्मी निलंबित
उधर, आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के मामले में अब कानपुर एसएसपी ने दो दरोगाओं समेत तीन पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया है। दरअसल इस मामले में यह पता चला है कि थाने के ही कुछ लोगों ने मुखबिरी की थी, जिसके बाद गैंगस्टर विकास दुबे ने अपने असलहाधारी गुर्गों के साथ घात लगाकर पुलिस टीम पर हमला किया था। इस मामले में पूरे थाने पर ही शक जताया जा रहा है। हालांकि कानपुर एसएसपी दिनेश कुमार पी ने मामले में दो दारोगा और एक सिपाही को सस्पेंड करने की वजह जांच में लापरवाही बताई है।                


भाजपा ने पाला सफेद हाथीः भूपेश

शेखर शर्मा


रायपुर। छत्तीसगढ़ में जल्द ही निगम-मंडल में अध्यक्षों व संसदीय सचिवों की नियुक्ति हो सकती है। इधर नियुक्ति को लेकर बीजेपी अभी से ही हमलावर हो गयी है। खासकर संसदीय सचिवों की नियुक्ति को लेकर….बीजेपी का आरोप है कि उनके शासनकाल में कांग्रेस संसदीय सचिवों की नियुक्ति को लेकर कोर्ट तक पहुंच गयी थी, तो फिर वो अपने शासनकाल में संसदीय सचिवों की नियुक्ति कैसे कर सकती है। भाजपा ने तो संसदीय सचिवों की नियुक्ति को सफेद हाथी तक करार दिया है।


इधर बीजेपी के हमलावर रूख पर कांग्रेस की तरफ से खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोर्चा संभाला है। उन्होंने बीजेपी के आरोपों पर वार करते हुए सवाल पूछा है कि …अगर संसदीय सचिव सफेद हाथी है तो फिर भाजपा ने अपने शासनकाल में उसे क्यों पाला था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज एक कार्यक्रम के सिलसिले में बिलासपुर पहुंचे थे। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में मरवाही चुनाव में जीत की हुंकार भरते हुए कहा कि यहां कांग्रेस का प्रत्याशी ही इस दफा जीतेगा।                   


उत्तराखंड में 325 कोविड केयर सेंटर

कोरोना सैंपल टेस्टिंग में किया पहले की तुलना में काफी सुधार। 325 कोविड केयर सेंटर भी स्थापित


पंकज कपूर


देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि, कोविड-19 को लेकर सर्विलांस, कान्टेक्ट ट्रेसिंग, सैम्पल टेस्टिंग, क्लिनिकल मैनेजमेंट और जन जागरूकता, इन पांच बातों पर विशेष जोर दिया जा रहा है। कोविंड-19 से लङाई के लिये हर प्रकार की तैयारी की गई है। स्थिति काफी कुछ नियंत्रण में होने पर भी हम पूरी तरह सतर्क हैं। राज्य में कोविड के दृष्टिगत हैल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को काफी मजबूत किया गया है। टेस्टिंग लैब, आईसीयू, वेंटिलेटर, पीपीई किट, एन 95 मास्क, आक्सीजन सपोर्ट की पर्याप्त व्यवस्था मौजूद है। नियमित सर्विलांस सुनिश्चित किया जा रहा है। घर-घर जाकर कोरोना जैसे संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों का पता लगाया जा रहा है। इसमें आशा और आंगनबाङी कार्यकत्रियों द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जा रही है। लगभग सभी जिलों में सर्विलांस का एक राउंड पूरा किया जा चुका है। कई जिलों में दूसरा तो कुछ में तीसरा राउंड चल रहा है।


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि, सेम्पल टेस्टिंग में पहले की तुलना में काफी सुधार किया गया है। कोरोना संक्रमण के शुरूआत में राज्य में एक भी टेस्टिंग लेब नहीं थी जबकि अब उत्तराखंड में 5 सरकारी और 2 प्राईवेट लेब में कोविड-19 संक्रमण के सैम्पल की जांच की जा रही है। इसके अतिरिक्त एनसीडीसी दिल्ली व पीजीआई चंडीगढ़ में भी सेम्पल टेस्टिंग के लिए भेजे जा रहे हैं। सेम्पल टेस्टिंग की सुविधा जिला स्तर पर कराने के लिए सभी जिलों को ट्रूनेट मशीनें उपलब्ध करा दी गई हैं। प्रदेश के चिकित्सालयों में फ्लू क्लिनिक के माध्यम से आ रहे समस्त श्वास व इन्फ्लूएंजा जैसे लक्षणों वाले मरीजों का कोविड-19 संक्रमण जांच के लिए सेम्पल लिए जा रहे हैं।


सेम्पल टेस्टिंग की संख्या बढाने के लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। प्रति मिलियन जनसंख्या पर 6408 सेम्पल लिए जा रहे हैं। जल्द ही इसे देश के औसत के बराबर कर लिया जाएगा। देहरादून व नैनीताल दो जिलों में प्रति मिलियन सेम्पल राष्ट्रीय औसत से अधिक हैं। देहरादून जिले का औसत तो राष्ट्रीय औसत से दोगुना है। अन्य जिलों को भी सेम्पल टेस्टिंग बढाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए जरूरी संसाधन बढाए जा रहे हैं। प्रदेश में बनाए गए डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर में हर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। वर्तमान में राज्य में 325 कोविड केयर सेंटर स्थापित हैं। इनमें कुल बेड क्षमता 22,890 है। जिनमें से 289 बेड उपयोगरत हैं। जबकि 22,601 बेड रिक्त हैं। इस प्रकार कोविड केयर सेंटर में पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता है।


राज्य में कोविड फेसिलिटी में आक्सीजन सपोर्ट बेड की संख्या 15 मई को 673 थी जो कि अब बढ़कर 1126 हो गई है। कोविड फेसिलिटी में आईसीयू बेड की संख्या 15 मई को 216 से बढाकर 247 और वेंटिलेटर की संख्या 116 से बढाकर 159 कर दी गई है। कोविड केयर सेंटर में सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। एक तरफ सैम्पल टेस्टिंग में लगातार वृद्धि हो रही है वहीं रिकवरी रेट और डबलिंग रेट भी राष्ट्रीय औसत से कहीं बेहतर है और इनमें लगातार सुधार हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि, जिस तरह से राज्य में सतर्कता बरती जा रही, उम्मीद है कि हम जल्द ही हालात पर नियंत्रण पा लेंगे। सभी जिलों में अधिकारी और कर्मचारी अपनी पूरी सजगता के साथ मिशनरी मोड में काम कर रहे हैं। उच्च स्तर से भी लगातार मानिटरिंग की जा रही है। जहां कमियां पाई जाती हैं उन्हें तत्काल दूर किया जाता है। इन लगभग चार माह में प्राप्त अनुभव से प्रशासनिक क्षमता में वृद्धि हुई है।           


दिल्ली पुलिस ने नामी बदमाश किया अरेस्ट

मुकेश राणा


नई दिल्ली। उत्तरी-बाहरी जिले के नरेला NIA थाना सीटी विनोद को एक गुप्त सूचना मिली कि सनी नाम का एक बदमाश बरवाला रोड से अपने दोस्तों से मिलने आएगा। उस सूचना पर बरवाला रोड पर एसआई राजेश, पीएसआई धरम सिंह, सीटी विनोद और सीटी सत्यवीर सहित इंस्पेक्टर अरविंद कुमार, एसएचओ / एनआईए ने श्री नीरव पटेल, एसीपी / नरेला की निगरानी में जाल बिछाया।


रात में लगभग 12:50 बजे सनी अपनी बाइक पर आया और टीम ने उसे रोक लिया। लेकिन वह रुका नहीं और भागने की कोशिश करने लगा। सीटी सत्यवीर ने उसे पकड़ने की कोशिश की, फिर भी उसने चकत्ते में मोटरसाइकिल चलाकर भागने की कोशिश की। सीटी विनोद ने तुरंत बैरिकेड को बाइक की ओर बढ़ाया और सनी अपना संतुलन खो बैठा और नीचे गिर गया। भागने के क्रम में, उन्होंने एसआई राजेश पर गोली चलाई, जिसे गोली लगने से बमुश्किल बचाया गया।


सनी ने फिर से CT सत्यवीर पर गोली चलाई लेकिन गोली लगने से वह चूक गया। खुद को बचाने के लिए, सीटी विनोद ने आरोपी सनी के पैरों पर निशाना लगाकर फायर किया, जब वह भागने की कोशिश कर रहा था और उसके निचले अंग में चोट लग गई थी। सनी नीचे गिर गया और उसने पुलिस टीम पर फायर करने के लिए अपनी बंदूक को फिर से लोड करने की कोशिश की। इस बीच पुलिस टीम की त्वरित कार्रवाई से वह खत्म हो गया। उन्हें एमवी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। उसके बैक पैक की जांच करने पर एक देसी पिस्टल और 5 जिंदा राउंड बरामद हुए। उपचार के दौरान अस्पताल में आगे 7.62 मिमी के दो जीवित कारतूस भी बरामद किए गए और खुद डॉक्टर द्वारा सौंप दिए गए।


इसलिए उसके कब्जे से एक अत्याधुनिक पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, एक देश ने 5 जिंदा राउंड, दो खाली कारतूस और एक बाइक के साथ पिस्तौल बनाई, जिसे भीम सिंह की हत्या के मामले में इस्तेमाल किया गया था। पूछताछ के दौरान उनसे हथियार और गोला-बारूद के बारे में पूछा गया। उन्होंने चौंकाने वाला बयान दिया कि वह दो और व्यक्तियों की हत्या करना चाहते थे। लक्ष्य में से एक कुतुब गढ़ का निवासी था जिसने मई में अपने चचेरे भाई को कुछ तुच्छ मुद्दे पर पीटा था।


दूसरा निशाना अपने ही गाँव मुबारक पुर का निवासी था जिसने जुए में उससे झगड़ा किया था। उसने अपने सह आरोपी मनीष के साथ एक सौदा किया था कि वह भीम सिंह की हत्या में उसकी मदद करेगा लेकिन बदले में मनीष को उपरोक्त दो की हत्या में उसकी मदद करनी होगी। चूंकि मनीष को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है इसलिए वह हत्या करने के लिए दूसरे साथी की तलाश कर रहा था।           


अलगाववादी 40 वेबसाइट की प्रतिबंधित

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने प्रतिबंधित संगठन सिख्स फॉर जस्टिस से जुड़ी 40 वेबसाइट पर प्रतिबंध लगा दिया है। ये सभी वेबसाइटें अलगाववादी गतिविधियों का समर्थन करने के एवज में प्रतिबंधित की गई है। रविवार को इसकी जानकारी गृह मंत्रालय द्वारा दी गई। सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) अमेरिका स्थित एक खालिस्तान समर्थक समूह है। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘गैर कानूनी गतिविधि (निरोधक) अधिनियम (यूएपीए), 1967 के तहत सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) एक गैरकानूनी संगठन है। उसने अपने उद्देश्य के लिए समर्थकों के पंजीकरण करने के वास्ते एक अभियान शुरू किया था। गृह मंत्रालय की सिफारिश पर इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) ने सूचना प्रौद्योगिकी कानून, 2000 के सेक्शन 69 ए के तहत एसएफजे की 40 वेबसाइट पर रोक लगाने के आदेश जारी किये।’ आपको बता दें इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) भारत में साइबर स्पेस की निगरानी करने वाली नोडल एजेंसी है।           






 





रेलवे नया टाइम टेबल बनाने में जुटा

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे अब नए सिरे से ट्रेनों की टाइम टेबल बनाने में जुटा है। क़रोना संकट खत्म होने के बाद रेलवे नई टाइमिंग जारी करेगा।






 





जानकारी के मुताबिक रेलवे अब सभी ट्रेनों के लिए नया टाइमटेबल बना रहा है। इसके तहत कई मेल और एक्सप्रेस समेत कुछ और ट्रेनों के स्टापेज की संख्या कम की जाएगी। इस बारे में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा था कि कोरोना वायरस महामारी के चलते इस योजना को लागू करने में देरी हो गई लेकिन इसे जल्द अमल में लाया जाएगा। सूत्रों की मानें तो कुछ मामलों में मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के किसी स्टेशन पर ठहराव इस आधार पर सुनिश्चित किया जाएगा कि संबंधित स्टेशनों कितने यात्री ट्रेन में उतरने वाले या सवार होने वाले हैं। रेल अधिकारियों ने बताया कि राजनीतिक वजहों से कई ट्रेनों के स्टापेज बनाए गए थे। जिनको अब कैंसिल करने का प्लान रेलवे बना रहा है। इसके लिए नई टाइम टेबल बनाने का काम चल रहा है। रेलवे ट्रेनों का कम ठहराव करेगा ताकि उनको सही समय से चलाया जा सके और सही समय पर ट्रेनें गंतव्य तक पहुंच सकें। बहुत जल्द रेलवे इस टाइमिंग को जारी करेगा।            


रेपिस्ट निकला संक्रमित, थाना किया सील

शैलेद्र पाठक


बिलासपुर। कर्नाटक से पकड़ कर लाए गए दुष्कर्म के आरोपी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरे पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। यहां तक सिविल लाइन थाना को सील कर तारबाहर थाने से कामकाज निपटाया जा रहा है। वहीं कोरोना संक्रमित आरोपी को जेल भेज दिए जाने की वजह से रिपोर्ट आने के बाद अब जेल महकमा उठाए जाने वाले कदम को लेकर पशोपेश में है।






 





जानकारी के अनुसार, सिविल लाइन थाना में दर्ज दुष्कर्म के मामले में आरोपी को पुलिस कर्नाटक के मैसूर शहर से पकड़कर लाई। लाने के बाद कराए गए जांच में आरोपी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसकी वजह से सिविल लाइन थाने के तमाम कर्मचारियों का अब कोरोना टेस्ट कराने की तैयारी की जा रही है, वहीं थाने को सील कर अब तारबाहर थाने से कामकाज निपटाया जा रहा है। इस मामले में बिलासपुर एसपी प्रशान्त अग्रवाल ने बताया कि दुष्कर्म का आरोपी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, जिसको तत्काल कोविड हॉस्पिटल शिफ्ट किया जा रहा है। एहतियात के तौर पर थाने को सील कर सैनिटाइज किया जा रहा है। थाना प्रभारी सहित सभी स्टाफ का सेम्पल लिया जा रहा है। सभी को होम क्वारेंटाइन किया गया है।


जेल महकमे की बढ़ी परेशानी


इससे भी ज्यादा चिंताजनक बात यह है कि आरोपी को लाने के बाद जेल भेज दिया गया था, जहां न जाने कितने लोग आरोपी की वजह से कोरोना संक्रमित हुए होंगे। बता दें कि कोरोना संक्रमण की वजह से बिलासपुर केंद्रीय जेल में पहले ही मुलाकातों को बंद कर दिया गया था, लेकिन कोरोना संक्रमित आरोपी के जेल में दाखिल होने से बचाव की यह तरकीब भी फेल हो चुकी है, ऐसे में जेल प्रशासन आगे क्या कदम उठाता है, इस पर लोगों की निगाहें हैं।


निर्मला सीतारमण को कहा काली नागिन

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। सियासत में उल्टे सीधे बयान हलचल पैदा करते रहते हैं। ऐसे ही एक तृणमूल कांग्रेस सांसद कल्याण बनर्जी ने विवादित टिप्पणी कर बवाल खड़ा कर दिया। सांसद ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बारे में अमर्यादित टिप्पणी कर कहाकि जिस तरह से लोग काली नागिन के डसने से मर जाते हैं, उसी तरह लोग सीतारमण की वजह से मर रहे हैं। इस पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए विरोध जताया और कहा कि यह टिप्पणी महिला विरोधी और अमर्यादित है।  पार्टी इसके लिए सांसद से माफी मांगने की मांग पर अड़ी हुई है।


दरअसल, देशभर में तेल की बढ़ती कीमतों और रेलवे के प्रस्तावित निजीकरण के खिलाफ राज्य के बांकुरा में एक रैली को संबोधित करते हुए कल्याण बनर्जी ने सीतारमण के इस्तीफे की मांग की। उन्होंने कहाकि, जिस तरह एक जहरीले सांप ‘काली नागिन’ के काटने से इंसान मर जाता है, उसी तरह निर्मला सीतारमण की वजह से देश के लोग एक के बाद एक मर रहे हैं क्योंकि उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया है। उनके इस बयान के बाद बवाल मचा हुआ है।     


शिवालयों में श्रद्धालुओं का जनसैलाब

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। सावन के पहले सोमवार के अवसर पर सभी शिव मंदिरों में भी भक्त सुबह-सुबह भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए पहुंच रहे हैं। शिवालयों के बाहर भगवान के शिव के भक्तों की भीड़ उमड़ रही है, लेकिन कोरोना के चलते माहौल वैसा नहीं है, जैसा आज के दिन मंदिरों के बाहर पूर्व वर्ष तक दिखा करता था। फिर भी सावन में भगवान शिव को मनाने के लिए उनके भक्त मंदिर पहुंच रहे हैं।


देश के शिव मंदिरों में सावन के पहले दिन विधिवत पूजा-अर्चना की गई। सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ इकट्ठा हो गई थी। भगवान शिव का श्रृंगार किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए श्रद्धालु भगवान शिव का जलाभिषेक कर रहे हैं। सुबह से ही श्रद्धालु भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए कतारबद्ध लाइन में लगे रहे। सभु मंदिरों में प्रबंधन की ओर से खास इंतजाम भी किए गए हैं। स्थानीय प्रशासन ने बैरिकेडिंग लगाई है, ताकि कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन न हो। मंदिर में सावन के पहले सोमवार को श्रद्धालु भगवान शिव की उपासना के लिए इकट्ठा हुए। मंदिर में प्रवेश से पहले श्रद्धालुओं का टेम्प्रेचर चेक किया गया। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखा गया।


वायरसः तीसरे नंबर पर पहुंचा भारत

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और दुनियाभर में सबसे ज्यादा संक्रमित केस के मामले में भारत तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। रूस को पीछे छोड़ भारत कोरोना संक्रमितों की संख्या में तीसरे पायदान पर आ गया. हालांकि अब भी अमेरिका और ब्राजील इस मामले में भारत से आगे हैं। पाकिस्तान 12वें पायदान पर है। वर्ल्डोमीटर के अनुसार भारत में इस समय 687,760 कोरोना मरीज हैं जबकि रूस में अब तक 681,251 संक्रमित केस सामने आ चुके हैं। पिछले 24 घंटे में देश में 13 हजार से ज्यादा केस दर्ज हुए हैं। इस दौरान कुल 13,856 मामले दर्ज किए गए।


जबकि रूस में अभी 681,251 केस हैं जिसमें पिछले 24 घंटे में 6,736 मामले सामने आए। तीसरे स्थान पर पहुंचे भारत से आगे अब सिर्प अमेरिका और ब्राजील रह गए हैं। हालांकि इन दोनों देशों में कोरोना संक्रमण के केस भारत में कुल संक्रमण केस की तुलना में दोगुना से कहीं ज्यादा है। कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा त्रस्त देश अमेरिका है जहां पर अब तक 29 लाख से ज्यादा यानी 2,953,014 मामले सामने आ चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 17,244 नए केस सामने आए। अमेरिका में अब तक 132,382 लोगों की मौत हो चुकी है।


अमेरिका के बाद ब्राजील का नंबर है और वहां 1,578,376 कोरोना केस सामने आ चुके हैं, जबकि इनमें से 64,365 लोगों की मौत हो चुकी है। तीसरे पायदान पर पहुंचे भारत में कुल 687,760 केस दर्ज हो चुके हैं जिसमें 19,568 लोगों की जान जा चुकी है। रूस में अभी 681,251 कोरोना केस हैं जिसमें 10,161 लोगों की मौत हो चुकी है। एक समय यूरोप में जमकर तबाही मचाने वाली यह महामारी अब वहां कम कहर बरपा रही है। यूरोप से रूस में सबसे ज्यादा महामारी फैली हुई है। रूस के बाद स्पेन (छठे), इंग्लैंड (आठवें) और इटली (10वें) शीर्ष 10 देशों में शामिल हैं।


एसएससी की प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट

नितिन सिन्हा


नई दिल्ली। कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की प्रारंभिक परीक्षा टियर-1 का रिजल्ट बुधवार को घोषित हो गया। परीक्षा में देशभर से शामिल हुए 9 लाख 78 हजार 103 परीक्षार्थियों में से 1 लाख 53 हजार 621 पास हुए हैं। यही छात्र अगले चरण की परीक्षा यानी टियर-टू के लिए लिए सफल हुए हैं।


एसएससी सीजीएल 2019 टियर 1 परीक्षा ( SSC CGL 2019 Tier 1 examination ) 3 मार्च 2020 से 9 मार्च 2020 के बीच हुई थी। जो कैंडीडेट्स सीजीएल टियर 1 परीक्षा 2019 में सफल हुए हैं, वो एसएससी सीजीएल टियर- 2 में शामिल होने के पात्र हैं। एसएससी CGL टियर- II परीक्षा को 14 से 17 अक्टूबर 2020 के बीच होने की संभावना है।


एसएससी सीजीएल ने पास हुए छात्रों की तीन लिस्ट जारी की है। असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर और असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर के लिए 8,951 छात्र पास हुए हैं। सांख्यिकी अधिकारी और सांख्यिकी अन्वेषक ग्रेड-टू के लिए 19,391 छात्र सफल हुए। तीसरी लिस्ट में शामिल 1,25,279 छात्र टियर-टू में पहले और दूसरे प्रश्न पत्र की परीक्षा देंगे।


SSC CGL 2019 Tier I Result: ऐसे कर सकेंगे चेक
एसएससी सीजीएल टियर 1 रिजल्ट 2019 की घोषणा आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट ssc.nic.in पर की गयी है। परीक्षा में शामिल छात्रों को मिले नंबर के साथ अंसर शीट 7 जुलाई को इस वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी।



  • कैंडीडेट्स सबसे पहले ऑफिशियल साईट ssc.nic.in को लॉग इन करें।

  • Result सेक्शन पर जाकर CGL टैब पर क्लिक करें।

  • “Combined Graduate Level Examination Tier-1 Result 2019” के लिंक पर क्लिक करें।

  • क्लिक करते ही SSC CGL Tier-I Result (PDF File) आपके सामने ओपन हो जाएगी।


हवा से फैल रहा है कोरोना संक्रमण

नई दिल्ली। साइंटिस्ट्स का कहना है कि कोरोनावायरस एयरबोर्न है, जो कि एक कमरे में छोटे कणों के जरिए लोगों के सांस लेने पर उन्हें संक्रमित कर सकता है। सैकड़ों साइंटिस्ट्स कहते हैं कि इस बात के प्रमाण हैं कि हवा में छोटे कणों के जरिए कोरोनावायरस लोगों को संक्रमित कर सकता है। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अब साइंटिस्ट्स द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन को कोरोनावायरस नियमों को संशोधित करने के लिए कहा जा रहा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने कहा था कि कोरोनोवायरस डिजीज मुख्य रूप से व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नाक या मुंह से निकलने वाली छोटी बूंदों के जरिए फैलता है।


रिपोर्ट के अनुसार, WHO को लिख गए एक ओपन लेटर में, जिसे रिसर्चर्स ने अगले सप्ताह एक साइंटिफिक जरनल में पब्लिश करने की योजना बनाई है, उसमें 32 देशों के 239 साइंटिस्ट्स ने छोटे कणों को दिखाते हुए सबूतों को रेखांकित किया है। उनका कहना है कि ये छोटे कण लोगों को प्रभावित कर सकते हैं। हालांकि अभी WHO ने अभी इस मामले पर अपनी कोई टिप्पणी नहीं की है। साइंटिस्ट्स का कहना है कि चाहे बड़े ड्रॉप्लेट्स हों जो छींकने के बाद हवा के जरिए जूम होते हैं, या बहुत छोटी एक्सहेल्ड ड्रॉप्लेट्स हों जो एक कमरे में घूम सकते हैं वो लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। कोरोनोवायरस हवा के माध्यम से पैदा होता है और लोगों द्वारा सांस लेने पर उन्हें संक्रमित कर सकता है। हालांकि, स्वास्थ्य एजेंसी का कहना है कि वायरस के एयरबोर्न होने के प्रमाण पुख्ता नहीं हैं।


रिपोर्ट के अनुसार, WHO के संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के तकनीकी लीडर डॉ. बेनेडेट्टा अलेनग्रांजी ने कहा कि विशेष रूप से पिछले कुछ महीनों में, हम कई बार यह कहते रहे हैं कि हम एयरबोर्न ट्रांसमिशन को संभव मानते हैं लेकिन इसके कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जुलाई 07, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-329 (साल-01)
2. मंगलवार, जुलाई-07, 2020
3. शक-1943, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि- दूज, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:27।


5. न्‍यूनतम तापमान 26+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.। बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


universalexpress.in


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)                


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...