शुक्रवार, 1 सितंबर 2023

सबसे गर्म और शुष्क अगस्त का अनुभव किया

सबसे गर्म और शुष्क अगस्त का अनुभव किया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली‌। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार देश ने इतिहास में सबसे गर्म और शुष्क अगस्त का अनुभव किया है। इस साल के अगस्त महीने में 1901 के बाद से सबसे अधिक तापमान दर्ज किया गया। विशेषज्ञों का कहना है कि यह चिंताजनक प्रवृत्ति जलवायु परिवर्तन के बढ़ते प्रभाव को उजागर करती है, जिससे मौसम संबंधी आपदाएं हो रही हैं। अगस्त 2023 में औसत अधिकतम तापमान 35.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो सामान्य से 1.2 डिग्री अधिक था। 
मौसम केंद्र में अगस्त में इससे अधिक औसत अधिकतम तापमान 2014 में देखा गया था, जब यह 36.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। बारिश नहीं होने के कारण अगस्त कम से कम 14 वर्षों में दूसरा सबसे शुष्क वर्ष बन गया। राष्ट्रीय राजधानी के बेस स्टेशन सफदरजंग में 61 प्रतिशत की वर्षा की कमी हुई, इसमें सामान्य 233.1 मिमी की तुलना में केवल 91.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई। 
जबकि, अगस्त 2022 केवल 41.6 मिमी वर्षा के साथ 14 वर्षों में सबसे शुष्क था, इस बार का अगस्त महीना उसी समय सीमा में दूसरा सबसे शुष्क वर्ष रहा।  21 अगस्त को एक दिन का उच्चतम तापमान 38.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जबकि महीने का औसत न्यूनतम तापमान 26.77 डिग्री सेल्सियस रहा। 31 अगस्त को तापमान सामान्य से ऊपर रहा, जो अधिकतम 36.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 25.9 डिग्री सेल्सियस था। आईएमडी का कहना है कि सितंबर में कुछ राहत की उम्मीद है। इस महीने पूरे देश में मानसूनी वर्षा की गतिविधि सामान्य स्तर पर लौटने की उम्मीद है। लेकिन, आईएमडी ने सितंबर के लिए भी तापमान सामान्य से ऊपर रहने का पूर्वानुमान जताया है। मौसम पूर्वानुमान एजेंसी ने बताया है कि 1 सितंबर को दिल्ली में अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा, जबकि न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।
सितंबर में दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत और पश्चिम-मध्य भारत के कुछ हिस्सों को छोड़कर देश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है। 
सितंबर के पूर्वानुमान से पता चलता है कि पूर्वोत्तर भारत, निकटवर्ती पूर्वी भारत, हिमालय की तलहटी और पूर्व-मध्य और दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के कुछ क्षेत्रों में सामान्य से अधिक वर्षा होने की संभावना है। हालांकि, देश के बाकी हिस्सों में सामान्य से कम बारिश की संभावना सबसे ज्यादा है।

'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के विचार की सराहना की

'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के विचार की सराहना की

कविता गर्ग 
मुंबई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता देवेन्द्र फडणवीस ने ‘‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’’ के विचार की शुक्रवार को सराहना करते हुए कहा कि यह देश के हित में है। 
सरकार ने ‘‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’’ की संभावनाएं तलाशने के लिए पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया है।
फडणवीस ने यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि (लोकसभा और विधानसभाओं के) एक साथ चुनाव एक अच्छी अवधारणा है। 
उन्होंने कहा, ''यह देश के हित में है।'' महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सामान्य रूप से, आप देखेंगे कि पूरे 365 दिन (भारत के) किसी न किसी हिस्से में चुनाव होते रहते हैं।
इससे व्यय में वृद्धि होती है।’’ उन्होंने कहा कि एक साथ चुनाव कराने से खर्च में कमी आएगी। फडणवीस ने कहा कि विभिन्न चुनावों के कारण सुधार भी प्रभावित होते हैं। पूर्व राष्ट्रपति कोविंद इस बात की व्यवहार्यता का पता लगाएंगे कि देश में लोकसभा और राज्य विधानसभा चुनाव एक साथ कैसे कराये जा सकते हैं। देश में 1967 तक लोकसभा और विधानसभा चुनाव एकसाथ होते थे।

नासा: हैलीकॉप्टर ने लाल ग्रह पर 56 उड़ाने पूरी की

नासा: हैलीकॉप्टर ने लाल ग्रह पर 56 उड़ाने पूरी की 

अखिलेश पांडेय 
लॉस एंजिल्स। नासा के मंगल हेलीकॉप्टर ने लाल ग्रह पर अपनी 56 उड़ानें पूरी कर ली। यह जानकारी एजेंसी ने गुरुवार को दी। नासा के अनुसार, मंगल हेलीकॉप्टर ने 25 अगस्त को अपनी 56वीं उड़ान शुरु की थी, जिसमें वह 12 मीटर की ऊंचाई तक पहुंचा और 141 सेकंड में 410 मीटर की यात्रा की।इंजेनुइटी नामक यह हेलीकॉप्टर 18 फरवरी, 2021 को मंगल ग्रह के जेजेरो क्रेटर पर पहुंचा था, जो नासा के पर्सिवरेंस रोवर से जुड़ा हुआ था।
नासा के अनुसार, हेलीकॉप्टर को 90 सेकंड तक उड़ान भरने, एक समय में लगभग 300 मीटर की दूरी तक करने और जमीन से लगभग तीन से 4.5 मीटर की दूरी तक उडने के लिए डिज़ाइन किया गया था। नासा के अनुसार, अब तक, इस हेलीकॉप्टर ने मंगल ग्रह पर 100.2 उड़ान मिनट पूरा किया है, 12.9 किलोमीटर की दूरी तय की है और 18 मीटर की ऊंचाई तक पहुंचा है।

लोनी: ट्रेन की चपेट में आने से महिला की मौत

लोनी: ट्रेन की चपेट में आने से महिला की मौत

ट्रेन की चपेट में आने से एक महिला की हुई मौत, सूचना मिलते ही लोनी रेलवे पुलिस जांच में जुटी
अश्वनी उपाध्याय 
लोनी। अभी-अभी सूत्रों से पता चला है, कि आज सुबह लगभग 10 से 11 के बीच में एक महिला जिसका नाम भावना है, जिसकी उम्र लगभग 25 से 26 वर्ष बताई जा रही है।
जो कि लोनी कोतवाली में बने होली चौक मंगल बाजार रोड सैफी कब्रिस्तान के पास रहने वाली है। भावना रक्षाबंधन पर अपने-अपने भाईयों को राखी बांधने के लिए अपने घर आई थी आज महिला की ट्रेन की चपेट में आने से मौके पर ही मृत्यु हो गई। जिसकी सूचना मिलते ही लोनी रेलवे पुलिस ने मृतक महिला को पोस्टमार्टम के लिए हॉस्पिटल भेज दिया है और पुलिस सख्ती से जांच में जुड़ गई है। वहीं जब हमारी वार्तालाप मृतक महिला के परिजनों से हुई तो उनके द्वारा यही बताया गया कि मृतक महिला की कुछ समय पहले बेटी हुई थी। जिसकी अस्पताल में ही मृत्यु हो गई थी सूत्रों द्वारा यह भी बताया जा रहा है कि मृतक महिला की दो बेटियां हुई थी और दोनों ही की अस्पताल में जन्म के दौरान मृत्यु हो गई थी। उसी की टेंशन उस महिला के दिमाग में चल रही थी, जो वह बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी। जिसका इलाज दिल्ली के मेंटल हॉस्पिटल से चल रहा था। बेटी की मौत की ही टेंशन के कारण महिला की ट्रेन की चपेट में आने से मृत्यु हो गई। जो सूत्र बताते हैं, बाकी पूरी बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगाी कि आखिर क्या मुख्य कारण रहा ट्रेन की चपेट में आने का ?

उपराष्ट्रपति ने युद्धपोत 'महेंद्रगिरी' को लॉन्‍च किया

उपराष्ट्रपति ने युद्धपोत 'महेंद्रगिरी' को लॉन्‍च किया

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ कपट ने शुक्रवार को मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (MDL) के प्रोजेक्ट-17 अल्फा के चौथे स्टील्थ फ्रिगेट (गुप्त युद्धपोत) 'महेंद्रगिरी' को लॉन्‍च किया। 
उपराष्ट्रपति धनखड़ ने इस जहाज को मुंबई के समुद्र में इस स्वदेशी हथिया को उतारा। उम्मीद है कि साल 2024 में इसका समुद्री परीक्षण किया जाए। इस पर लगे सारे हथियार भारत में ही बने हैं, इन्हें बाहर से इम्पोर्ट नहीं किया गया है।
इसे भारतीय नौसेना के ब्यूरो ऑफ नेवल डिजाइन ने ही डिजाइन किया है। यह एक लड़ाकू जहाज है, जो निलगिरी केटेगरी का आखिरी जहाज है।इसे खासतौर पर युद्ध लड़ने के लिए ही बनाया गया है। भारत की सुरक्षा के लिए निलगिरी केटेगरी के तहत बने जहाजों को काफी अहम माना जा रहा है।
इस केटेगरी का पहला जहाज सितंबर 2019 में लॉन्च हुआ था। 'महेंद्रगिरी' के लॉन्च के मौके पर उपराष्ट्रपति धनखड़ ने कहा कि मुझे यकीन है कि यह जहाज समुद्र में पूरे गर्व से तिरंगा लहराएगा‌। यह देश के समुद्री इतिहास में मील का पत्थर है।  

जहाज की खासियत...
यह जहाज चीन और पाकिस्तान की नौसेना के लिए सिरदर्द बन सकता है। इसमें लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैस हथियार हैं, जो दुश्मन को धूल चटा सकते हैं।

'महेंद्रगिरी' करीब 149 मीटर लंबा और 16 मीटर चौड़ा है। 
यह जहाज एक घंटे में 30 समुद्री मील पार कर सकता है। 
यह करीब-करीब 6600 टन का भार उठाने की क्षमता रखता है। 
इस जहाज का 75 प्रतिशत भारत में ही बना है।
दुश्मनों को कैसे ढेर करेगा 'महेंद्रगिरी'
दुश्मन के विमानों को यह लंबी दूरी से डिटेक्ट कर लेता है।
एंटी-शिप क्रूज मिसाइलों से निपटने में भी माहिर है।
यह मिसाइलों और विमान को हवा में ही मार गिराने में सक्षम है। 
इसमें एंट्री सबमरीन मिसाइल और टोरपीडो लॉन्चर भी फिट किया गया है। 
जहाज पर 2 हैलीकॉप्टर आसानी से लैंड हो सकते हैं‌।
इन्हें रखने के लिए हैंगर भी बनाए गए हैं। 
इसमें सोनार, रडार और कॉम्बेट मैनेजमेंट सिस्टम लगे हुए हैं।
चीन के लिए क्यों नासूर बन सकता है ये जहाज ?
चीन ने श्रीलंका की मजबूरी का फायदा उठाकर हंबनटोटा पोर्ट को हथिया लिया था। इसके बाद बीते साल यहां अपना जासूसी जहांज 'युआन वांग' भेजा था। उस वक्त भारत ने इस जहांज के आने पर आपत्ति भी जताई थी, लेकिन श्रीलंका कर्ज के बोझ तले दबा था. लिहाजा, चीन का जासूसी जहांज नहीं रुक पाया था।
तब यह भी कहा गया था कि चीन के इस जहाज का मुकाबला करने के लिए भारत के पास आधुनिक तकनीक से लैस जहाज नहीं है. लेकिन 'महेन्द्रगिरी' लंबी दूरी के जहाजों को भी टारगेट कर सकता है। इसके परीक्षण के बाद यह चीन और पाक के लड़ाकू जहाजों का सामना करने लिए तैयार हो जाएगा, इससे भारत को मजबूती मिलेगी।

'मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान' कार्यक्रम आयोजित

'मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान' कार्यक्रम आयोजित 

'मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान' के संग्राम में हम सब संविधान बचाने में अपनी जिम्मेदारी निभाएं:- अरशद अली
बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक के प्रदेश अध्यक्ष जनाब शाहनवाज आलम साहब के निर्देशानुसार एक सितंबर से छः सितंबर तक 'मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान' कार्यक्रम आयोजित हो रहा है। संविधान को बचाने की जिम्मेदारी हम सब भारत के लोगो की है। आईए इस संग्राम में हम सब अपनी जिम्मेदारी निभाएं।
प्रयागराज आज दिनाक 1:7:2023 को करेली गोसिया मस्जिद के सामने जुमा की नमाज के बाद अल्पसंख्यक कांग्रेस के पदाधिकारियों ने मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान का पर्चा बाटा और लोगो से संवाद करते हुए शहर अध्यक्ष अरशद अली ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष विवेक देव राव ने एक अखबार में लेख लिखकर मौजूदा संविधान की जगह नया संविधान लाने की बात की। इससे पहले भी कि सरकार के मंत्री अनंत हेगडे कह चुके है।
भाजपा सत्ता में आई ही संविधान बदलने के लिए है। मोहन भागवत भी पहले  यह कह चुका है। यानी कोई वजह नहीं की लेख में व्यक्त विचारों से मोदी सरकार की मंशा न मानी जाए। हालांकि यह कोई नया राग नहीं है। 26 नवंबर 1949 को देश में संविधान अंगीकार किया था, जिसके चार दिन बाद ही 30 नवंबर को आरएसएस ने अपने मुखपत्र ऑर्गनाइजर में लिख दिया था कि देश संविधान से नहीं मनुस्मृति से चलना चाहिए। 2002 में भी अटल बिहारी वाजपेई सरकार ने संविधान की समीक्षा के लिए आयोग का गठन कर दिया था लेकिन तब पूर्ण बहुमत न होने और जनता के विरोध भांप कर संघी सरकार पीछे हट गई थी। लेकिन 2014 में पूर्ण बहुमत से सत्ता में आने के बाद भाजपा सरकार ने दुबारा संविधान बदलने की साज़िश शुरू कर दी।
इसके लिए  राज्यसभा में भाजपा  सांसदों द्वारा संविधान की प्रस्तावना में समाजवादी और सेकुलर शब्द हटाने की मांग वाले निजी बिल भी पेश किये गाए।याद रहे ये दोनों शब्द इन्दिरा गांधी जी की सरकार ने संविधान में जोड़ा गया ।जिसे सुप्रीम कोर्ट कह चुका है कि इस संसद भी नहीं बदल सकती।
शहर अध्यक्ष अरशद अली  ने कहा कि आज अगर कमजोर तबकों और अल्पसंख्यक को बराबरी का अधिकार हासिल है तो सिर्फ इन्ही दो शब्दों के कारण। भाजपा चोरी छुपे संविधान को कमजोर करने में तो पहले से ही लगी हुई थी। मसलन उसने कांग्रेस सरकार द्वारा बनाए कानून जिसमें दलितों की जमीन कोई गैर दलित नहीं खरीद सकता को शहरों के विकास के नाम पर युपी में खत्म कर दिया है वैसे ही पूजा स्थल अधिनियम 1991 को भी खत्म करने की कोशिश सरकार कर रही है जिसमें जिसमें स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि 15 अगस्त 1947 के दिन तक पूजा स्थलों का जो चरित्र था वो  बदला नहीं जा सकता। ऐसे करके भाजपा पूरे देश में सांप्रदायिकता धूर्वीकरण करना चाहती है। संविधान को बचाने की जिम्मेदारी हम सब भारत के लोगो की है। आइये एक सितम्बर से छः सितंबर तक
 मेरा संविधान मेरा स्वाभिमान कार्यक्रम में शामिल होकर संविधान बचाने के इस संग्राम में हम सब अपनी जिम्मेदारी निभाएं।
इस मौके पर पीसीसी सदस्य फुजेल हाशमी,प्रदेश महासचिव मुनताज सिद्दीकी, जिला प्रवक्ता हसीब अहमद,पिछड़ा वर्ग के शहर अध्यक्ष मो हसीन, महफूज़ अहमद तबरेज अहमद कमाल अली, मुस्तकीन अहमद जाहिद खान मुख्तार अहमद, गुलाम वारिस, मोहित नेगी, लइक अहमद, मो कासिम, कामेश्वर सोनकर, आदि मौजूद रहे।

गूगल इंक ने एआई-पॉवर्ड मंगल सर्च को पेश किया

गूगल इंक ने एआई-पॉवर्ड मंगल सर्च को पेश किया 

गूगल ने पेश किया एआई-पॉवर्ड मंगल सर्च करने का तरीका
अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव 
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। सोशल नेटवर्क साइट गूगल पर अब सर्च करने का तरीका बदल गया है। गूगल इंक ने एआई-पॉवर्ड मंगल सर्च को पेश किया है। यह नया तरीका भारत के साथ जापान में भी उपलब्ध है। नई एआई-संचालित खोज सुविधा, जिसे एसजीई (सर्च जेनरेटिव एक्सपीरियंस) कहा जाता है, इन बाजारों में गूगल की खोज लैब्स के माध्यम से उपलब्ध होगी। यह एक नई सुविधा पेश करेगी, जिसका उद्देश्य एआई-संचालित जवाब में जानकारी ढूंढना आसान बनाना है। गूगल ने एक ब्लॉगपोस्ट में कहा, इस हफ्ते हमने अमेरिका के बाहर भारत और जापान में सर्च लैब्स लॉन्च कीं। 
अब इसके जरिए अमेरिका के समान, भारत और जापान में लोग क्वेरी टाइप करके या वॉयस इनपुट का उपयोग करके अपनी स्थानीय भाषाओं में जेनरेटिव एआई क्षमताओं का उपयोग करने में सक्षम होंगे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-319, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शनिवार, सितंबर 2, 2023

3. शक-1944, भाद्रपद, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें  संदीप मिश्र  लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि बीएएलएल...