बुधवार, 26 अगस्त 2020

'ब्रिक्स गेम-2021' का भारत में आगाज

खेलों इंडिया गेम्स 2021 के दौरान ब्रिक्स गेम्स का आयोजन करेगा भारत: रिजिजू


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है,कि अगले साल होने वाले खेलो इंडिया गेम्स के दौरान ब्रिक गेम्स 2021 का आयोजन करने की योजना है। रिजिजू ने कहा, “खेलो इंडिया गेम्स 2021 के दौरान एक ही समय पर एक ही आयोजन स्थल पर ब्रिक्स गेम्स 2021 आयोजित किया जाएगा, ताकि देश के विभिन्न हिस्सों से हमारे खिलाड़ी जो खेलो इंडिया गेम्स में भाग लेंगे, उनके पास ब्रिक्स गेम्स को करीब से देखने और इसका लाभ उठाने का शानदार अवसर होगा।                                                   


भारत के पूर्व 'राष्ट्रपति' कोमा में पहुंचे

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में, वेंटिलेटर सपोर्ट जारी।


नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में चले गए हैं। वह लगातार वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल (आर एंड आर) ने बुधवार को जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा कि वह पिछले 16 दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं,और ब्रेन सर्जरी के बाद गंभीर स्थिति में हैं।               


वैक्सीनः भारत- रूस के बीच बातचीत जारी

दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन: भारत और रूस के बीच बातचीत जारी…स्वास्थ्य मंत्रालय ने कही ये बड़ी बात


मास्को। कोरोना वायरस की देसी वैक्सीन  कोरोना वैक्सीन बनाने की दिशा में तेजी से काम तो हो ही रहा है, (रशियन वैक्सीन फॉर कॉविड 19) को लेकर भी भारत और रूस के बीच बातचीत चल रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि जहां तक स्पूतनिक वी वैक्सीन (कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी) की बात है। तो इसे लेकर भारत और रूस संपर्क में हैं। हेल्थ मिनिस्ट्री में सेक्रटरी राजेश भूषण ने बताया कि दोनों देशों के बीच शुरुआती सूचनाएं साझा भी हो चुकी हैं। इस बीच सूत्रों ने जानकारी दी है,कि रूस ने स्पूतनिक-वी वैक्सीन को बनाने और उसके तीसरे चरण के परीक्षण को भारत में करने के लिए नई दिल्ली से सहयोग मांगा है।रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 11 अगस्त को कोरोना वायरस की वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ का ऐलान किया था। इसके साथ ही कोविड-19 के लिए वैक्सीन को मंजूरी देने वाला रूस दुनिया का पहला देश बन गया। रूस ने तब कहा था कि अगस्त के आखिर तक वैक्सीन को उतार दिया जाएगा। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक रूस ने इस वैक्सीन के पहले बैच का उत्पादन भी कर लिया है। हालांकि, ‘स्पूतनिक वी’ को लेकर विशेषज्ञों ने यह कहकर चिंता जताई है कि इसे बनाने में तय प्रोटोकॉल्स का पालन नहीं किया गया है और यह असुरक्षित हो सकती है।
रूस ने भारत से कोविड-19 वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ को बनाने और भारत में उसके तीसरे चरण के परीक्षण के लिए सहयोग मांगा है। सरकारी सूत्रों ने न्यूज एजेंसी भाषा को बताया कि कोविड-19 टीके से जुड़े राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह की 22 अगस्त को हुई पिछली बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई।‘स्पूतनिक वी’ का विकास ‘गमालेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ऑफ एपिडेमोलॉजी ऐंड माइक्रोबायलॉजी’ और ‘रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ (आरडीआईएफ) ने मिलकर किया है। इस वैक्सीन के बारे में सीमित डेटा को लेकर कई तबकों ने संदेह जाहिर किया है। सरकार के एक सूत्र ने कहा, ‘रूस सरकार ने भारत सरकार से कोविड-19 के टीके ‘स्पूतनिक वी’ की मैन्यूफैक्चरिंग और यहां इसका तीसरे चरण का परीक्षण करने के लिए सहयोग मांगा है।’
सूत्र ने कहा, ‘जैव प्रौद्योगिकी विभाग और स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग से मामले को देखने को कहा गया है। रूस सरकार के अधिकारियों ने ‘स्पूतिनक वी’ के बारे में कुछ सूचना और डेटा साझा किया है, जबकि टीके के प्रभाव व सुरक्षा से जुड़े अन्य डेटा का इंतजार किया जा रहा है।’ यह पूछे जाने पर कि क्या रूस सरकार ने भारत में ‘स्पूतनिक वी’ के विनिर्माण के लिए कोई औपचारिक आग्रह किया है, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जहां तक स्पूतनिक वी टीके का सवाल है तो भारत और रूस दोनों संपर्क में हैं। कुछ शुरुआती सूचना साझा की गई है, जबकि कुछ ब्योरे का इंतजार है।’
सूत्रों के अनुसार, भारत में रूस के राजदूत निकोलय कुदाशेव ने प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के। विजय राघवन और साथ में जैव प्रौद्योगिकी व स्वास्थ्य अनुसंधान विभागों के सचिवों से इस बारे में संपर्क किया है।               


चीनी आयात को नया झटका देगा 'भारत'

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी सरकार चीनी आयात को नया झटका देने की तैयारी में है। सरकार चीनी ऐप के बाद अब चीनी खिलौनों के आयात पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। मोदी सरकार इससे चीन को करीब 2000 करोड़ की चोट देने की तैयारी में है। देश में आयातित खिलौनों में से 80 फीसदी खिलौने चीन से आते हैं जिसकी कीमत करीब 2000 करोड़ है। सरकारी सूत्रों के अनुसार चीन घटिया और खराब खिलौने भारत भेजता है। चीनी खिलौने क्वालिटी कंट्रोल में फेल हुए हैं। इसी तरह पिछले कुछ दिनों में चीनी खिलौनों की बारीकी से जांच की गई तो पता चला कि चीनी खिलौने भारतीय मापदंड में पूरी तरफ फेल हैं। वे बच्चों के लिए असुरक्षित साबित हुए हैं।


चीन से प्लास्टिक के खिलौनों का सबसे अधिक आयात होता है। खिलौनों में प्लास्टिक का इस्तेमाल बच्चों के लिए खतरनाक है। छोटे बच्चे चीनी खिलौनों को मुंह में लेते हैं तो उनसे उनको नुकसान हो सकता है। खिलौनों में जिस रंग का इस्तेमाल किया जाता है वह भी घटिया स्तर के हैं और बच्चों के लिए नुकसानदेह हैं। चीनी खिलौनों की फिनिशिंग अच्छी नहीं है जिसकी वजह से बच्चों को चोट लग सकती है। जो केमिकल इस्तेमाल होता है वह भी बच्चों के लिए खतरनाक है। इन खिलौनों पर ये नहीं लिखा होता है कि वे किस देश में बने हैं।     


नागरिकों को भारत न जाने की दी सलाह

अमेरिका ने नागरिकों को भारत न जाने की दी सलाह, भारत को इन देशों के साथ इस श्रेणी में डाला, ये रही वजह


वाशिंगटन डीसी। भारत के साथ दोस्ती के दावे करने वाले अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है। अमेरिका ने इसकी वजह भारत में कोरोना संकट, अपराध और आतंकवाद को बताया है। यही नहीं अमेरिका ने भारत की यात्रा के लिए रेटिंग चार निर्धारित की है, जिसे सबसे खराब माना जाता है। इस श्रेणी में भारत के अलावा युद्धग्रस्त सीरिया, आतंकवाद का केंद्र पाकिस्तान, ईरान, इराक और यमन शामिल हैं।
अमेरिका ने कहा है, कि भारत में कोरोना संकट है। इसके अलावा देश में अपराध और आतंकवाद में तेजी आई है, इसलिए अमेरिकी नागरिक भारत की यात्रा नहीं करें। अमेरिका ने अपने एडवाइजरी की कुछ अन्य वजहों में महिलाओं के खिलाफ अपराध और उग्रवाद को भी कारण बताया है। उधर, इंडियन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी संघ (फैथ) ने भारत सरकार से गुहार लगाई है,कि वे अमेरिका सरकार से ट्रेवेल एडवाइजरी को बदलने के लिए दबाव डालें।
'फेथ' ने कहा कि इस समय पर्यटन उद्योग कोरोना महामारी की वजह से गंभीर संकट से गुजर रहा है,और जल्द ही भारत में यह उद्योग फिर से शुरू होने जा रहा है। ऐसे में अमेरिका द्वारा जारी ट्रेवेल एडवाइजरी से पर्यटन उद्योग को खासा नुकसान हो सकता है। भारत में पर्यटन उद्योग के लिए अमेरिकी पर्यटक हर मौसम में बेहद अहम रहे हैं। यही नहीं अमेरिका से आने वाले पर्यटक अन्य देशों की तुलना में सबसे ज्यादा समय तक भारत में रहते हैं। अमेरिकी पर्यटक जहां 29 दिन तक रहता है, वहीं अन्य देशों के लोग 22 दिनों तक रहते हैं। फेथ ने कहा कि अगर अमेरिकी सरकार भारत के पक्ष में ट्रेवेल एडवाइजरी जारी करती है तो यह भारत में यात्रा को लेकर एक अच्छा माहौल पैदा करेगा। इससे कोरोना से प्रभावित पर्यटन उद्योग को बहुत राहत मिलेगी।
23 अगस्त को अमेरिका द्वारा जारी इस ट्रेवेल एडवाइजरी में भारत के अलावा पाकिस्तान, सीरिया, यमन, ईरान और इराक जैसे हिंसा प्रभावित देशों को शामिल किया गया है। इस अमेरिकी एडवाइजरी में यह भी चेतावनी दी गई है, कि कोरोना वायरस की वजह से सीमा और एयरपोर्ट को बंद किया जा सकता है। यात्रा पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। लॉकडाउन लग सकता है। अमेरिका के विदेश विभाग ने विशेष रूप से जम्मू-कश्मीर और भारत-पाकिस्तान सीमा पर नहीं जाने के लिए चेतावनी जारी की है।             


अफगानिस्तान 'प्रांत' में बाढ़ से भारी तबाही

अफगानिस्तान में बाढ़ से तबाही, 25 की मौत


काबुल। अफगानिस्तान के पूर्वी प्रान्त परवन में बारिश के बाद आई भीषण बाढ़ में 25 लोगों की मौत हो गई है,और 40 लोग घायल हुए हैं। सरकार के एक प्रवक्ता ने बुधवार को ये जानकारी दी। सरकार की प्रवक्ता वहीदा शहकर ने सिन्हुआ न्यूज एजेंसी को बताया कि बाढ़ की वजह से परवन राज्य में भारी तबाही मची है।                    


एनएसयूआई ने शुरू की भूख हड़ताल

जेईई और नीट परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई ने शुरू की भूख हड़ताल


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। जेईई मेन और नीट परीक्षा के आयोजन को लेकर विरोध बढ़ता जा रहा है। कोरोना महामारी के दौरान इन परीक्षाओं को टालने की मांग की जा रही है। इसी तर्ज पर एनएसयूआई ने बुधवार को अनिश्चितकाल सत्याग्रह शुरू कर दिया है। एनएसयूआई की मांग है, कि वर्तमान समय मे इन परीक्षाओं का होना सही नहीं है। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में ये विरोध हो रहा है, वहीं एनएसयूआई के कई अन्य कार्यकर्ता भी उनके समर्थन में दिल्ली स्थित शास्त्री भवन पर भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं।                 


नोएडा में पहली बार बनेगा 'मेट्रो स्टेशन'

नई दिल्ली। नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन 3 नए प्रस्तावित रूट पर ऐसे मेट्रो स्टेशन तैयार करने जा रहा है जो पूरे देश में अब तक नहीं बने हैं। इसके लिए मेट्रो स्टेशन के डिजाइन में बदलाव किया गया है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में शानदार 3 मंजिला कमर्शियल कॉम्प्लेक्स के साथ मेट्रो स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।दिल्ली एनसीआर में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन और नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने एक मंजिला कमर्शियल कॉन्प्लेक्स का निर्माण किया है, लेकिन ये पहली बार है कि एनएमआरसी अब 3 मंजिला कमर्शियल कॉम्प्लेक्स में मेट्रो स्टेशन का निर्माण करेगा। इसके लिए 3 नए प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन की लंबाई चौड़ाई में कोई बदलाव नहीं किया गया है, केवल उसके डिजाइन में बदला करते हुए उसकी ऊंचाई को दो मंजिल और बढ़ाने का फैसला लिया गया है।


डिजाइन में बदलाव के बाद डीपीआर को मिली मंजूरी
प्रस्तावित स्टेशन के डिजाइन में बदलाव के बाद इसकी डीपीआर को मंजूरी मिल गई है।दरअसल इस बदलाव का मुख्य कारण राजस्व में बोढ़तरी करना है। मौजूदा समय में एक्वा लाइन घाटे में चल रही है क्योंकि मेट्रो स्टेशन पर कम स्पेस होने के कारण अधिक कमर्शियल गितिविधियां नहीं हो सकती, जिसके कारण राजस्व भी जमा नहीं हो पाता। इस समस्या का हल निकालने के लिए 3 मंजिला कमर्शियल मेट्रो स्टेशन बनाने का फैसला लिया गया है।                         


बच्ची से रेप करने वाला दरिंदा गिरफ्तार

अतुल त्यागी (मंडल प्रभारी)
मुकेश सैनी (जिला प्रभारी)
बहादुरगढ़ पुलिस की पैनी नजर से नहीं बच पाएंगे
अपराधिक घटनाओं में संलिप्त एवं वांछित चल रहे अपराधी नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले दरिंदे को किया गिरफ्तार
गढ़मुक्तेश्वर/हापुड़। जनपद पुलिस के मजबूत सेनापति एसपी संजीव सुमन अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश कुमार मिश्र के निर्देश पर पुलिस क्षेत्राधिकारी गढ़मुक्तेश्वर डाक्टर पवन कुमार के नेतृत्व में अपराधिक घटनाओं में संलिप्त एवं वांछित चल रहे अपराधियों की धरपकड़ अभियान को लेकर बहादुरगढ़ थाना प्रभारी नीरज कुमार की पैनी नजर अपने क्षेत्र में लगी हुई है ड्रोन कैमरा बनकर इसी अभियान को अमलीजामा पहनाते हुए तेजतर्रार थाना प्रभारी नीरज कुमार ने मुखबिर की सूचना पर छापामार कार्यवाही करते हुए अपनी पुलिस टीम के कास्टेबल 389 देवेन्द्र सिंह कांस्टेबल 645 सुनील कुमार हेड कांस्टेबल 186सुधीर कुमार के साथ नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले दरिंदे आलोक कुमार चौहान पुत्र नेपाल सिंह चौहान को गिरफतार कर मु॰अ॰स॰232/20 धारा 376ए बी/506/504भा द वि व 5एम/6पोस्को के मुकदमा पंजीकृत कर माननीय न्यायालय में किया पेश।
वहीं थाना प्रभारी नीरज कुमार का कहना है कि अपराधी या तो क्षेत्र छोड़ जाएंगे या फिर जेल जाएंगे।                  


साजिशः संसद भवन के पास एक पकड़ा

दिल्ली दहलाने की एक और साजिश, संसद भवन के पास पकड़ा संदिग्ध व्यक्ति


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल ने राजधानी के विजय चौक के पास से एक संदिग्ध शख्स को पकड़ा है। फिरदौर नाम का ये युवक संसद भवन के आस-पास घूम रहा था। संदिग्ध गतिविधियों के चलते वहां मौजूद सीआरपीएफ जवानों ने इसे पकड़ लिया। पूछताछ करने पर उसने अपने बारे में अलग-अलग जानकारियां दीं, फिर इसके बाद इस युवक को पार्लियामेंट थाने ले जाया गया जहां इससे नए सिरे से पूछताछ चल रही है। फिलहाल इंटेलीजेंस ब्यूरो (आइबी) के अधिकारी उससे पूछताछ कर रहे हैं। वहीं अन्य एंजेंसियों को भी इसकी जानकारी दी गई है। बता दें कि इस शख्स के पास से एक चिट्ठी मिली है जो कोडवर्ड में लिखी है। इस शख्स के मिलने के बाद संसद भवन और आसपास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जानकारी के अनुसार हिरासत में लिया गया युवक कश्मीरी है। वह संदिग्ध हालात में संसद भवन के आसपास घूम रहा था, जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। पुलिस के एक अधिकारी का कहना है,कि ये है एक सामान्य प्रक्रिया है। पूछताछ के बाद ही कुछ औपचारिक तौर पर कुछ कहा जा सकता है। वहीं, उसके पास से दो पहचान पत्र मिले हैं। एक आधार कार्ड और एक ड्राइविंग लाइसेंस मिला है। दोनों में नाम अलग-अलग हैं। ड्राइविंग लाइसेंस में उसका नाम फिरदौस है, जबकि आधार कार्ड में नाम मंजूर अहमद अहंगेर है। संदिग्ध ने खुद को रथसून बीरवाह, बडगाम का रहने वाला बताया है। उसके पास से एक बैग भी मिला है। पूछताछ में पहले उसने बताया कि वो 2016 में घूमने के लिए दिल्ली आया था।             


सुप्रीम कोर्ट में मुंह बंद रखना पड़ा भारी

नई दिल्ली। किसी वजह से वकील ने जजों के कहने के बावजूद कुछ नहीं बोला। यह साफ नहीं है कि उस दौरान कोई तकनीकी खराबी आ गई थी या असावधानी जैसी कोई और वजह रही। लेकिन जजों ने एक के बाद एक तीन बार वकील से बोलने के लिए कहा।


हालांकि, इसके बावजूद जब वकील ने कुछ नहीं कहा, तो जज नाराज हो गए। जस्टिस नरीमन ने इस मामले को गंभीररता से लेते हुए वकील को चालबाजी करने के लिए लताड़ लगाई। इसके बाद वकील ने अचानक से घबराहट में बोलना शुरू किया और जजों के सामने माफी मांगी। वकील ने कहा कि उसका कोर्ट का समय जाया करने जैसा कोई इरादा नहीं था। वकील ने ध्यान भटकने के लिए एक बार फिर कोर्ट से माफी मांगी। इसके बाद जब कोर्ट ने गंभीर मुद्रा में ही आदेश पढ़ना शुरू किया, तो वकी ने फिर माफी मांगी और जजों से अपनी गलती को आदेश में शामिल न करने के लिए कहा। हालांकि, जस्टिस नरीमन ने इस पर कोई ध्यान न देते हुए फैसले में कहा, "सुनवाई के दौरान माइक चालू होने और जजों के लगातार तीन बार बोलने के लिए कहने के बावजूद वकील ने अपना मुंह नहीं खोला। उसने ऐसा जानबूझकर ऐसा नहीं किया, क्योंकि वह सीनियर एडवोकेट का इंतजार कर रहा था।


बेंच ने कहा, "उसे सीधे कोर्ट को बताना चाहिए था कि वह वरिष्ठ वकील का इंतजार कर रहा है। लेकिन उसने चालबाजी की कोशिश की। हम इसका कड़ा विरोध करते हैं। हम नहीं चाहते कि कोई वकील इस तरह से सुनवाई के तरीकों का मजाक बनाए। हालांकि, इसके बावजूद हमने वकील की बात सुनी है।" इसके बाद जब वकील ने जब जजों से माफी मांगते हुए अपील की कि वे अपने आदेश से उसकी चालबाजी से जुड़ी बात हटा दें, तो बेंच ने कहा कि वे ऐसा नहीं करेंगे। जजों ने डांट लगाते हुए कहा कि अगर वकील चाहता है, तो वे बार काउंसिल ऑफ इंडिया को लिखकर कार्रवाई के लिए कह सकते हैं। हालांकि, वकील ने इसके बाद दोबारा माफी मांगी और चुप्पी साध ली।                   


जनपद में 103 नए मरीज सामने आए

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जनपद में कोरोना संक्रमण की चपेट में 103 नए मरीज आए हैं। इन संक्रमितों में एक डेढ़ वर्ष का बच्चा व 70 साल के बुजुर्ग भी हैं। संक्रमितों में अधिकांश 30 से 45 वर्ष के हैं। पहले से संक्रमित 96 मरीजों के स्वस्थ होने पर उन्हें डिस्चार्ज किया गया है। 


अभी तक संक्रमित मरीजों की संख्या 5769  पहुंच गई है। इनमें से 4660 डिस्चार्ज हो चुके हैं। मौत का आंकड़ा 64 पर ही स्थिर है। अभी 1045 मरीज संक्रमण की चपेट में हैं और उनका इलाज अलग-अलग अस्पतालों एवं होम आइसोलेशन में इलाज चल रहा है। नए संक्रमित मरीजों में 33 ने कोविड अस्पताल में भर्ती होने की सहमति दी है, जबकि अन्य 70 ने होम आइसोलेशन की अनुमति मांगी है।             


पीड़िता ने कलक्ट्रेट पर की आत्मदाह

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मसूरी थाना क्षेत्र में सामूहिक दुष्कर्म के दो आरोपितों को गिरफ्तार नहीं करने पर एक युवती ने कलेक्ट्रेट पर आत्महत्या की कोशिश की। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने युवती को पकड़ लिया। आरोपित केस वापस नहीं लेने पर पीड़िता व उसके दिव्यांग भाई की हत्या करने की धमकी दे रहे थे। आरोप है कि कई बार शिकायत के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की।


मसूरी थाना क्षेत्र नुवासी युवती के माता-पिता नहीं हैं। वह अपने एक दिव्यांग भाई के साथ रहती है। दोनों भाई बहन मजदूरी करते हैं। अगस्त 2019 में तीन युवकों ने पीड़िता को अगवा कर लिया था । आरोपित उसे पहले गाड़ी में लेकर मेरठ और फिर दिल्ली लेकर गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता को बेहोशी की हालत दिल्ली में ले जाकर सड़क छोड़ दिया।


दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर केस को मसूरी ट्रांसफर कर दिया। पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया था। पीड़ित आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग कर रही थी। आरोपित केस वापस नहीं लेने पर पीड़िता के भाई की हत्या करने की धमकी दी थी। पीड़िता का भाई पिछले काफी समय से हत्या के डर से घर पर नहीं रह रहा था। आरोप है कि वह लगातार स्थानीय पुलिस के पास जा रही थी। लेकिन, पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की। पीड़िता पुलिस द्वारा सुनवाई नहीं करने पर मंगलवार सुबह कलेक्ट्रेट पहुंची और अपने ऊपर तेल छिड़क लिया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे किसी तरह रोका।             


जर्जर सड़कों के कारण लग रहें है जाम

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। साप्ताहिक लॉकडाउन खत्म होते ही सोमवार से शुक्रवार तक जनपद की सड़कों पर जाम लगने लगता है हालांकि मेरठ रोड पर शुक्रवार शाम को ज्यादा जाम लग जाता है। पुलिस जाम के लिए वाहनों का दबाव, जर्जर सड़कें और जलभराव को जिम्मेदार ठहरा रही है। एसपी ट्रैफिक ने जलभराव और जर्जर सड़कों की समस्या को दूर करने के लिए नगर आयुक्त को पत्र लिखा है।


जीटी रोड, मेरठ रोड और आंबेडकर रोड पर ज्यादा बुरा हाल है। शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहता है। मगर वाहनों के आवागमन पर कोई रोक नहीं रहती है। इन दो दिनों में सड़कें खाली रहती है। इससे सड़कों पर वाहनों का दबाव बढ़ जाता है। सबसे ज्यादा दबाव मेरठ रोड पर होता है। मेरठ रोड पर रैपिड रेल का काम भी चल रहा है। जिसके कारण यह रोड सिकुड़ गया है। इस पर रोड पर बड़ी संख्या में अवैध कट बने हुए हैं। साप्ताहिक लॉकडाउन होने से एक दिन पहले शुक्रवार शाम को दिल्ली में नौकरी करने वाले लोग अपने घर लौटते हैं। फिर साप्ताहिक लॉकडाउन के अगले दिन सोमवार सुबह बड़ी संख्या में लोग घर से अपनी ड्यूटी पर जाते हैं। लिहाजा सोमवार को सुबह से दोपहर तक मेरठ रोड पर जाम लग जाता है। वहीं, आंबेडकर रोड, जीटी रोड पर अनलॉक में पांचों दिन जाम की स्थिति बनी रही रहती है। जर्जर सड़क होने से लाल कुंआ पर जाम: बुलंदशहर रोड पर लाल कुंआ के पास करीब चार किलोमीटर सड़क जर्जर हालत में है। जिस कारण दिनभर वाहन धीरे-धीरे चलते हैं। रात में भी जाम की स्थिति बनी रहती है। ट्रैफिक पुलिस तैनात रहते हुए भी यहां पर जाम खत्म नहीं होता है। लाल कुंआ पर ऑटो व ई-रिक्शा की संख्या अधिक होना भी जाम लगने का बड़ा कारण हैं।           


गाजियाबाद में बिक रहा 'मिलावटी तेल'

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। तीन हजार मिलावटखोर जनता की जान से खेल रहे हैं। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि अनुभाग ने हाल ही में सर्वे के बाद जिले में मिलावटी तेल बेचने वाले तीन हजार संदिग्ध दुकानदारों को चिह्नित किया है। मिलावटी तेल से कई तरह के गंभीर रोग होने का खतरा रहता है। जिले में 18 हजार पंजीकृत और एक लाख से ज्यादा अपंजीकृत छोटी-बड़ी दुकानों से खाद्य सामग्री की बिक्री होती है। इनमें से अधिकांश दुकानों पर तेल एवं रिफाइंड ऑयल की बिक्री होती है। खोड़ा, लोनी और मोदीनगर में सबसे ज्यादा मिलावटखोर: मिलावटी तेल बनाने एवं बेचने वालों की ज्यादा संख्या खोड़ा, लोनी और मोदीनगर क्षेत्र में है। साहिबाबाद, पसौंड़ा, डासना और विजयनगर में भी बाहर से मिलावटी तेल लाकर बेचा जाता है। खाद्य सुरक्षा विभाग ने इसका सर्वे भी कराया है। सर्वे में पाया गया है कि मिलावटी तेल बेचने वालों में अपंजीकृत दुकानदार ही अधिक हैं। लालकुआं क्षेत्र में भी नकली तेल बनाकर उस पर ब्रांडेड तेल का स्टीकर लगाकर बेचने में जुटे हुए हैं। जिले में मिलावटी तेल बेचने एवं बनाने वाले तीन हजार संदिग्ध दुकानदार चिह्नित किए गए हैं। मंगलवार को छह दुकानदारों के यहां छापे मारकर तेल के सैंपल लिए गए हैं। इनमें भारत ऑयल मोदीनगर और बंसल ट्रेडर्स मोदीनगर, एस जी इडेबल गोविदपुरम, रीजेंट इंटरप्राइजेज घंटाघर और खोड़ा व लोनी से लिए गए तेल के सैंपल शामिल हैं। मस्टर्ड ऑयल, रिफाइंड सोयाबीन ऑयल और ब्लेंडेड सनफ्लॉवर ऑयल के सैंपल लिए गए हैं। दस टीमों का गठन कर दिया गया है। अभियान चलाकर संदिग्ध तीन हजार दुकानों पर बिकने वाले तेल के सैंपल लिए जाएंगे। तेल का ट्रांसफैट फ्री होना बहुत जरूरी है।           


गूगल लोकेशन से जनपद में मिली बाइक





अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। दिल्ली में गिरफ्तार हुए आईएसआईएस आतंकी मोहम्मद मुस्तकीम खान उर्फ अबू यूसुफ को सीमापार से उसके आका और आईएस हैंडलर ने स्लीपर सेल नेटवर्क के जरिए गाजियाबाद में बाइक मुहैया कराई थी। इसके लिए आरोपी को हैंडलर की तरफ से बाइक की गूगल लोकेशन भेजी गई थी, जहां पहुंचने पर उसे चाबी लगी बाइक खड़ी मिली थी। इतना ही नहीं, बाइक की टंकी पेट्रोल से फुल थी। जैसे ही संदिग्ध आतंकी ने बाइक स्टार्ट की, उसे उसका अगला टारगेट फिर से ‘गूगल लोकेशन’ के जरिए ही भेजा गया। यह खुलासा आरोपी से पूछताछ में हुआ है।


सीमापार से आए निर्देश के मुताबिक, संदिग्ध आतंकी को बाइक से पहले धौलाकुआं पहुंचना था, जहां से उसे रिज रोज होते हुए करोलबाग की तरफ जाने का निर्देश दिया गया था। यह खुलासा मुठभेड़ के बाद दबोचे गए संदिग्ध आतंकी ने पूछताछ के दौरान किया है। आरोपी ने यह भी बताया कि उसे कह कहां जाना है, कहां से हथियार लेना है, कहां से विस्फोटक लेना है, और कहां आईईडी का टारगेट फिक्स करने लिए जाना है, यह सबकुछ उसे अफगानिस्तान में बैठा उसका आका ‘गूगल लोकेशन’ या फिर चैट अप्लीकेशन के जरिए मुहैया कराने वाला था।



आरोपी मुस्तकीम की मानें तो उसे जो कुछ भी करना होता था, वह सबकुछ सीमापार से ही तय होता था। हालांकि पुलिस ने उसे करोलबाग जाने के पहले ही रिज रोड पर मुठभेड़ के बाद धर दबोचा। पुलिस अब उसके और उसके नेटवर्क से जुड़े लोगों के जरिए यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि क्या उससे कोई मिलने वाला था या फिर उसे आगे के लिए दोबारा निर्देश मिलने वाला था। 


बाइक का इंजन व चेचिस नंबर मिटाया
मामले की जांच में जुटी स्पेशल सेल सूत्रों की मानें तो इस बाइक का इंजन और चेचिस नंबर भी मिटा दिया था ताकि आरोपी के पकड़े जाने या फिर वारदात के बाद बाइक बरामद होने की स्थिति में इन नंबरों के जरिए बाइक के मालिक तक पुलिस न पहुंच सके। मामले की तफ्तीश में जुटी स्पेशल सेल की टीम बाइक के मालिक तक पहुंचने की कोशिश में जुटी है। जिस लोकेशन से संदिग्ध आतंकी ने यह बाइक उठाई थी, उस बाइक को किस शख्स ने वहां लाकर खड़ा किया था, यह जानने के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। पुलिस यह पता लगा रही है कि यह बाइक गाजियाबाद की ही है या फिर कहीं और की। इसके अलावा यह चोरी की है या फिर किसी ऐसे शख्स की है जो स्लीपर सेल के रूप में काम करता है और उसने इंजन व चेचिस नंबर मिटाकर यह बाइक आतंकी को मुहैया कराई थी।  


बस से पहुंचा था गाजियाबाद
स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक आतंकी मोहम्मद मुस्तकीम खान बलरामपुर स्थित अपने घर से तो किसी के इलाज के लिए सिलसिले में लखनऊ जाने की बात कहकर निकला था। इसके बाद वह घर नहीं गया। वह कुछ दिनों तक लखनऊ में ही रहा और वहां से बस में सवार होकर गाजियाबाद पहुंचा। इस दौरान ही उसे गूगल लोकेशन भेजकर गाजियाबाद से बाइक उठाने को कहा गया था। अब तक की तफ्तीश के मुताबिक, उसने दिल्ली में आईईडी प्लांट करने के अलावा फिदायिन हमले के लिए तीन मानव बम तैयार करने के लिए विस्फोटक से लैस दो जैकेट और एक बेल्ट भी बनाकर अपने घर में रखा था।                                   




प्रियंका का योगी सरकार पर हमला

प्रियंका का महिला अपराधों को लेकर योगी सरकार पर हमला


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध की बढ़ती घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए योगी सरकार पर हमला किया है, और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से इन वारदातों को रोकने के लिए राज्य सरकार को सख्त कदम उठाने का निर्देश देने का आग्रह किया है। प्रियंका गांधी ने बुधवार को यहां जारी एक बयान में कहा, “महामहिम राज्यपाल महोदया उत्तर प्रदेश। उप्र में महिला सुरक्षा के हालात बहुत खराब हो चुके हैं। लखीमपुर की एक लड़की ऑनलाइन फॉर्म भरने जा रही थी। उसकी बलात्कार कर नृशंस तरीके से हत्या हो गई। यूपी में ऐसा अब रोज हो रहा है। आशा है महिला होने के नाते आप इसकी गंभीरता समझेंगी और संज्ञान में लेंगी।”कांग्रेस की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव राज्य में बढ़ते अपराधों को लेकर प्रदेश सरकार को लगातार कटघरे में खड़ा कर रही हैं,और महिलाओं के साथ होने वाले अत्याचार रोकने में विफल बता रही हैं।                 


सरकार की आड लेता आरबीआईः एससी

सुप्रीम कोर्ट ने सख्त लॉकडाउन के बारे में यह कहा


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के चलते केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का ऐलान किया था, जिसकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा। सुप्रीम कोर्ट ने आज लोन मोरेटोरियम केस की सुनवाई के दौरान कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में जो दिक्कत आई है,वह केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए सख्त लॉकडाउन की वजह से है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि वह कोयले की बकाया राशि और अफिडेविट दायर करने में देरी को लेकर अपना रुख साफ करे। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा कि आप अपना रूख साफ करिए। आप कहते हैं,कि आरबीआई ने फैसला लिया, हमने आरबीआई का जवाब देखा है, केंद्र आरबीआई के पीछे छिप रही है।             


फेसबुक ने मंच पर पेश किया 'शॉपिंग टेब'

फेसबुक ने अपने मंच पर पेश किया नया शॉपिंग टैब


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। सोशल मीडिया वेब साइट फेसबुक ने इंस्टाग्राम की ही तरह अपने मुख्य ऐप पर फेसबुक शॉप को लॉन्च किया है।जिसके तहत कंपनियां अपने उत्पादों को करोड़ों खरीददारों के समक्ष बड़ी ही आसानी से पेश कर पाएंगे। फेसबुक ने सभी अमेरिकी व्यवसायियों व निर्माताओं के लिए इंस्टाग्राम पर चेकआउट फीचर को और भी अधिक बेहतर बनाने का भी ऐलान किया है।                   


फेफड़ों के कैंसर से पीड़ित 'संजय दत्त'

फेफड़ों के कैंसर से पीड़ित संजय दत्त के बारे में आई यह खबर


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त फेफड़ों के कैंसर से पीड़ित हैं। अभी वह मुंबई के अस्पताल में इलाज करा रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है,कि वह जल्द ही अपना काम पूरा करके इलाज के लिए अमेरिका रवाना हो सकते हैं। अब अभिनेता के करीबी दोस्त और प्रड्यूसर राहुल मित्रा ने उनकी सेहत को लेकर अपडेट दिया है। उन्होंने कहा है कि संजय दत्त की तबीयत उतनी भी गंभीर नहीं है, जितना कहा जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी संजय दत्त का प्रारंभिक इलाज चल रहा है और वह अपनी इस लड़ाई में जरूर जीतेंगे।             


बहुत- सी चीजों में इस्तेमाल होता है 'सोडा'

खूबसूरत दिखना हर किसी की चाहत होती है। लोग उसके लिए तरह-तरह की तरकीबें आजमाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं बेकिंग सोडा की इसमें क्या भूमिका हो सकती है? बेकिंग सोडा के चेहरे पर इस्तेमाल से मिलनेवाले नतीजे देखकर हैरान रह जाएंगे। उसके बाद उससे नहाएं, उसको चेहरे पर लगाएं और सूखने पर सामान्य पानी से धो लें।


रंगत के लिए


किसी हद तक बेकिंग सोडा रंग को निखार भी सकता है। इसके लिए एक चम्मच बेकिंग सोडा, नींबू का रस, 2-5 बूंदें जैतून का तेल मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। उसके बाद चेहरे पर पांच मिनट तक लगा रहने दें। पांच मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।


दाग-धब्बे दूर करने के लिए


बेकिंग सोडा एंटी सेप्टिक विशेषताएं रखता है। उसको लगाने से न सिर्फ निशान कंट्रोल में रहते हैं बल्कि त्वचा का PH (पॉवर ऑफ हाइड्रोजन) मान भी संतुलित होता है। बेकिंग सोडा और पानी मिलाकर एक पेस्ट बना लें। अब उसे चेहरे की प्रभावित जगह पर 20 मिनट तक लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से मुंह धो लें। विशेषज्ञों के मुताबिक त्वचा का PH लेवल छह से ज्यादा होने पर फोड़े, फुंसी और मुंहासों की समस्या बढ़ती है।                           


बसों की जोरदार टक्कर से 6 की मौत

बसों में टक्कर, 6 की मौत


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार सुबह दो रोडवेज बसों की जोरदार टक्कर हो गई। इस भीषण हादसे में बस चालक समेत 6 लोगों की मौत हो गई जबकि 8 लोग घायल हुए हैं। घायलों को इलाज़ के लिए ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां सभी की हालत गंभीर बताई जा रही हैं। यह दर्दनाक हादसा लखनऊ के काकोरी में हरदोई रोड पर बुधवार सुबह करीब 6:30 बजे हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक लखनऊ से हरदोई की ओर जा रही रोडवेज बस ने ट्रक को ओवरटेक करने की कोशिश की। इसी दौरान सामने से आ रही दूसरी रोडवेज बस से उसकी जोरदार टक्कर हो गई। टक्कर इतनी तेज थी कि दोनों बसों के परखच्चे उड़ गए। हादसे के बाद रोडवेज बस चालक समेत तीन सवारियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि तीन की अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। आनन-फानन मौके पर पुलिस ने जेसीबी मशीन से सड़क से बसों को हटवाया और घायलों को इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया, जहां सभी की हालत गंभीर बताई जा रही हैं।                   


डिप्टी सीएम की किस्मत ने दिया साथ

राणा ओबरॉय


चंडीगढ। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की किस्मत ने उनका पूरा साथ दिया है। क्योंकि इसबार मुख्यमंत्री मनोहरलाल औऱ स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता कोरोना की लपेट में फंसे हुए है। इस बार के मानसून सत्र में दुष्यंत चौटाला सदन के नेता के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। विपक्षी दल के नेताओं के हमले के जवाब की जिम्मेदारी भी दुष्यंत चौटाला पर होगी। इसी तरह डिप्टी स्पीकर को भी विधानसभा सत्र में विधानसभा अध्यक्ष की जिम्मेदारी बखूबी से निभानी होगी। पक्ष औऱ विपक्ष के नेताओ के बीच सामंजस्य बिठाने के साथ साथ शांतिपूर्ण तरीके से सदन को चलाने की भूमिका निभानी होगी।                    


एटीएम क्लोन करने वाला गिरोह सक्रिय

अतुल त्यागी (मंडल प्रभारी)
मुकेश सैनी (जिला प्रभारी)
एटीएम कार्ड बदलकर चपत लगाने वाला गिरोह सक्रिय


 सिम्भावली क्षेत्र में एटीएम कार्ड बदलकर चपत लगाने वाला गिरोह सक्रिय


गढ़मुक्तेश्वर/हापुड़। सिंभावली थाना क्षेत्र मे भोले भाले लोगों के एटीएम कार्ड बदलकर चपत लगाने वाला गिरोह सक्रिय है।विदित रहे कि भोवापुर मस्तानगर में स्थित एटीएम पर कार्ड बदलकर चपत लगाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगभग छ माह पूर्व में इस पर कार्ड बदलकर चपत लगाने वाले गिरोह के तीन लोगों को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसी सिलसिले के चलते आज फिर एक व्यक्ति का कार्ड बदलकर चपत लगाने की कोशिश में नाकाम होने पर कार्ड धारक को सन्देह हुआ जिसमें कार्ड बदलकर चपत लगाने वाला व्यक्ति एटीएम से निकलकर भागने लगा पीड़ित के द्वारा शोर मचाने पर कार्ड बदलकर भाग रहे व्यक्ति को राहगीरों ने पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। वहीं सिम्भावली पुलिस ने मामले की अग्रिम जांच शुरू दी है।                  


तमिलनाडु में मृतक संख्या-6,721 हुई

चेन्नई। तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के 5,951 नये मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 3,91,303 हो गयी है, वहीं एक दिन में संक्रमण से 107 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 6,721 पहुंच गयी है। स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन के अनुसार अनेक अस्पतालों से 6,998 कोविड-19 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद राज्य में अब तक कुल 3,32,454 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, वहीं इस समय राज्य में 52,128 मरीजों का इलाज चल रहा है। मृतकों में 35 और 90 साल की दो महिलाएं शामिल हैं। 95 मृतकों को अन्य बीमारियां भी थीं। अब तक मृत 6,721 लोगों में 2,623 लोग चेन्नई के थे। संक्रमण के नये मामलों में राज्य की राजधानी में 1,270 नये मामले आए।             


खतरनाकः देश में 'जाली नोटों' की बढत

जरा बचना! जाली नोटों को लेकर आई बड़ी खबर


मुंबई। वर्ष 2019-20 में तकरीबन तीन लाख भारतीय मुद्रा के जाली नोट ( एफआईसीएन) पकड़े गए। इसमें सबसे खास बात ये है,कि पकड़े गए जाली नोटों में उन नोटों की अधिक बढ़ोतरी हुई है, जिनके लेन-देन में कोई ध्यान ही नहीं देता। 2000 या 500 रुपये के नोट तो हम कई बार पलट कर चेक कर लेते हैं पर 10 रुपये के नोट को शायद ही कोई चेक करता होगा। भारतीय रिजर्व बैंक की 2019-20 की रिपोर्ट में 10 रुपये के जाली नोटों में पिछले साल की तुलना 144.6 प्रतिशत का उछाल आया है। रिपोर्ट के अनुसार 2019-20 में बैंकिंग क्षेत्र में पकड़े गए जाली नोटों में से 4.6 प्रतिशत रिजर्व बैंक ने पकड़े जबकि 95.4 प्रतिशत जाली नोट अन्य बैंकों ने पकड़े। कुल मिलाकर वर्ष. में 2,96,695 जाली नोट पकड़े गए। एक वर्ष पहले की तुलना में 2019-20 में 10 के जाली नोटों में 144.6 प्रतिशत, 50 में 28.7 प्रतिशत, 200 में 151.2 प्रतिशत तथा 500 (महात्मा गांधी-नई श्रृंखला) के जाली नोटों में 37.5 प्रतिशत का इजाफा हुआ। वहीं दूसरी तरफ 20 के जाली नोटों में 37.7 प्रतिशत, 100 में 23.7 प्रतिशत तथा 2,000 के जाली नोटों में 22.1 प्रतिशत की कमी आई। समाप्त वित्त वर्ष में 2,000 के 17,020 जाली नोट पकड़े गए जबकि 2018-19 में यह संख्या 21,847 नोट थी।             


महंगाईः हॉटसिटी में हरी सब्जी तम-तमाई

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद/नई दिल्ली। मानूसन के मेहरबान होने से एक तरफ खरीफ फसलों की बंपर पैदावार की उम्मीद की जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ, भारी बारिश और बाढ़ के कारण हरी सब्जियों की किल्लत होने से इनके दाम आसमान छू गए हैं। बीते दो महीने में ज्यादातर सब्जियां दो से तीन गुनी महंगी हो गई हैं और बरसात से देश में बने हालात के बीच सब्जियों की महंगाई से फिलहाल राहत की उम्मीद के आसार नहीं दिख रहे हैं। इस महीने हरी शाक-सब्जियों के साथ-साथ आलू और प्याज के दाम में भी काफी इजाफा हो गया है।


देश के विभिन्न भागों में हुई भारी बारिश और बाढ़ के हालात के चलते हरी सब्जियों की आवक घटने से इनकी कीमतों में भारी इजाफा हो गया है। आलू, प्याज, टमाटर समेत तमाम हरी सब्जियों के दाम आसमान चढ़ गए हैं। दिल्ली-एनसीआर में बैंगन, लौकी और तोरई भी 50 रुपये किलो मिल रही है। फूलगोभी 120 रुपय किलो तो शिमला मिर्च 100 रुपये किलो हो गई है। प्याज जो 20 रुपये किलो मिल रहा था, अब 30 रुपये किलो से ऊंचे भाव पर मिलने लगा है। टमाटर, जिसे किसान जून महीने में औने-पौने दाम पर बेचने को मजबूर थे, इस समय दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में 60-70 रुपये किलो ग्राहकों को मिल रहा है। आजादपुर मंडी एपीएमसी के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र शर्मा ने बताया कि देश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ के कारण फसल खराब होने से सब्जियों की आवक पर असर पड़ा है। राज नगर एक्सटैन्शन में ठेले पर सब्जी बेचने वाले मुस्तक़ीम ने बताया कि थोक मंडियों से ही सब्जियां ऊंचे भाव पर आ रही हैं। उन्होंने कहा कि बरसात में सब्जियां ज्यादा खराब होती हैं।


आपको बता दें कि आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव शनिवार को 6.25 रुपये से 16 रुपये प्रति किलो था। वहीं, आलू का का थोक भाव 13 रुपये से 44 रुपये प्रति किलो, जबकि टमाटर का थोक भाव आठ रुपये से 43.50 रुपये प्रति किलो रहा। कारोबारियों ने बताया कि अब लोग बाहर होटल, ढाबा व रेस्तरां में भी खाने के लिए जाने लगे हैं, जिससे सब्जियों की खपत बढ़ गई है। इसलिए कीमतों में इजाफा हुआ है।


दिल्ली-एनसीआर में सब्जियों के खुदरा भाव (रुपये प्रति किलो)
आलू 35-40, फूलगोभी-120, बंदगोभी-40, टमाटर 60-70, प्याज 30, लौकी/घीया-50, भिंडी-50, खीरा-50, कद्दू-30, बैंगन-50, शिमला मिर्च-100, तोरई-40-50, करैला-40, परवल 60-70, बींस-80, मटर-200                  


निर्धारित समय पर आयोजित होगी परीक्षा

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। जेईई-नीट की परीक्षाओं को सुरक्षित बनाने और अभ्यर्थियों की आशंकाओं को शांत करने के लिए मंगलवार को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने नए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। इन दिशानिर्देशों में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए देश भर में परीक्षा केंद्र बढ़ा दिए गए हैं। इससे एक शिफ्ट और कक्षा में अभ्यर्थियों की संख्या कम होगी।


आपको बता दें कि जेईई मेंस कंप्यूटर आधारित टेस्ट है, जबकि नीट में लिखना होगा। वहीं, एनटीए और शिक्षा मंत्रालय ने यह भी साफ कर दिया है कि परीक्षाएं सितंबर में अपने तय समय पर आयोजित की जाएंगी। जेईई के एडमिट कार्ड जारी किए जा चुके हैं और छात्र डाउनलोड भी कर चुके हैं। नीट के एडमिट कार्ड भी जल्द ही जारी होंगे। इसलिए छात्र किसी प्रकार के असमंजस की स्थिति में न रहें। एनटीए ने 99 फीसदी छात्रों के लिए उनकी पहली प्राथमिकता का परीक्षा केंद्र सुनिश्चित किया है। जेईई मेन के लिए 8.58 लाख और नीट के लिए 15.97 लाख विद्यार्थी पंजीकृत हैं।


जेईई और नीट को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस की अहम बातें –



  • नीट की परीक्षा के दौरान एक कक्षा में 24 की जगह 12 अभ्यर्थी बैठेंगे।

  • नीट परीक्षा के केंद्र 2546 से बढ़ाकर 3843 किए गए हैं।

  • जेईई परीक्षा के लिए शिफ्ट 8 से बढ़ाकर 12 और परीक्षा केंद्र 570 से बढ़ाकर 660 किए गए हैं।

  • जेईई में एकएक सीट छोड़कर छात्रों को बिठाया जाएगा।

  • जेईई की एक पाली में एक लाख 32 हजार की जगह अब 85 हजार अभ्यर्थी बैठेंगे। हालांकि सीटिंग प्लान में भी बदलाव किया गया है।

  • परीक्षार्थियों को एक दूसरे से छह फीट की दूरी बनाकर रखनी होगी।

  • जिस परीक्षार्थियों का बॉडी टेम्परेचर 99.4 डिग्री फॉरेनहाइट से ज्यादा होगा, उन्हें आइसोलेशन रूम में ले जाया जाएगा। वह वहीं बैठकर परीक्षा देंगे।

  • फ्रिस्किंग, डॉक्यूमेंट की वेरिफिकेशन का काम रजिस्ट्रेशन रूम के अंदर किया जाएगा।

  • परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में नया मास्क दिया जाएगा। परीक्षा केंद्र में एडमिट कार्ड, आईडी प्रूफ के साथ सिर्फ पानी की बोतल, हैंड सेनिटाइजर ले जाने की ही अनुमति होगी।

  • परीक्षा देते समय स्टूडेंट्स के लिए मास्क लगाना और दस्ताने पहनना अनिवार्य नहीं होगा।


सोशल डिस्टेंसिंग के लिए दिशानिर्देश
एनटीए ने कहा है कि परीक्षा के दौरान भीड़ न हो, इसके लिए प्रवेश औऱ निकासी के समय और द्वार को अलग रखने का भी निर्णय किया गया है। अभ्यर्थी एक साथ अंदर नहीं प्रवेश करेंगे और न ही एक साथ परीक्षा कक्ष छोड़ने की इजाजत होगी। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर अभ्यर्थियों के क्या करें-क्या न करें के दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। अगर परीक्षा केंद्र के बाहर किसी को इंतजार करना पड़ रहा रहा है, तो उस दौरान भी सोशल डिस्टेसिंग बनी रहेगी।                


मुस्लिम देश में अनिवार्य 'रामायण' पढ़ना

दुनिया का सबसे बड़ा मुस्लिम देश जहाँ अनिवार्य है रामायण पढ़ना


हमारी दुनिया बहुत बड़ी है। हजारों सालों से ही हिंदू व मुस्लिम धर्म को अलग अलग रखा गया है। बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा मुस्लिम देश इंडोनेशिया को माना जाता है। क्योंकि इश देश में 12.07 प्रतिशत मुस्लिम लोग निवास करते है।
भारत में सिर्फ मुस्लिम जाति का 10.09 प्रतिशत हिस्सा ही निवास करता है। वहीं पाकिस्तान में 11 प्रतिशत हिस्सा निवास करता है।
आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बिताने जा रहे है।जो दुनिया का सबसे मुस्लिम देश माना गया है,और यहां पर हिंदूओं की तरह रामायण पढ़ना अनिवार्य है।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हम बात कर रहे है।इंडोनेशिया की। जहां पर कुरान के साथ साथ रामायण को भी उतना ही महत्व दिया जाता है और राम नाम का पाठ किया जाता है। यहां पर कई हिंदू मंदिरो का भी निर्माण किया गया है।इंडोनेशिया की भाषा को 'बहासा इंदोनेसिया' कहते हैं। उनकी भाषा पर संस्कृत का काफी प्रभाव दिखता है।
इंडोनेशिया के महान नेता सुकर्णो का नाम महाभारत के किरदार कर्ण से ही लिया गया है।इस देश की सबसे चौंका देने वाली बात है कि यहां पर आधे से ज्यादा लोगों के नाम संस्कृत में रखे गए है।
बताया जाता है कि यहां पर संस्कृत जावानीज भाषा का हिस्सा बन चुकी है।
इंडोनेशियाई और जावानीज भाषा में संस्कृत के बोध वाले कई शब्द मिल जाएंगे। सुबह और शाम नवाज के बाद इंडोनेशिया के लोगों रामायण का भजन भी सुनते हैं ,और उससे काफी प्रेरित होते हैं। इंडोनेशिया की धर्म सहिष्णुता मिसाल के लायक है। यहां के मुसलमानों और हिंदुओं के मन में दूरियां नहीं है।               


गाजियाबाद डीएम को पेरेंट्स की 'चेतावनी'

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन ने जिलाधिकारी को सौंप चेतावनी दी है कि अगर सात दिनों के अंदर जिला स्तरीय शुल्क नियामक समिति ने ऑन लाइन क्लास के अनुसार फीस का निर्धारण नहीं किया तो वे 2 सिंतबर 2020 से जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।


आपको बता दें कि इससे पहले 22 जुलाई को भी पेरेंट्स एसोसिएशन ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना और क्रमिक भूख हड़ताल की थी। उस समय जिला विद्यालय निरीक्षक और सिटी मजिस्ट्रेट ने तथाकथित रूप से पेरेंट्स एसोसिएशन को तथाकथित रूप से आश्वासन दिया था कि किसी भी बच्चे की ऑनलाइन क्लास बंद नहीं होगी और ना ही किसी भी बच्चे का नाम काटा जाएगा।  जिसके बाद जीपीए ने अपनी कार्मिक भूख -हड़ताल को स्थगित कर दिया था। लेकिन हाल ही में कुछ निजी स्कूलों ने फीस न जमा कराने वाले बच्चों की ऑनलाइन क्लासें बंद कर दी थी जिसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक की ओर से ऐसा करने वाले स्कूलों को नोटिस जारी किया गया था। 


पेरेंट्स एसोसिएशन का आरोप है कि उन्हें बच्चों की ऑनलाइन क्लास को रोकना, एग्जाम रोकना, एग्जाम के रिजल्ट रोकना एवं बच्चों के नाम काटने तक की धमकी देने की अनगिनत शिकायतें मिल रही हैं। इस बारे में जिला स्कूल इंस्पेक्टर और जिला स्तरीय शुल्क नियामक समिति को पत्र लिखने के बाद केवल कुछ स्कूलों को ही नोटिस जारी किया गया है जिससे अभिभावक संतुष्ट नहीं है।


डीएम गाज़ियाबाद को दिए गए ज्ञापन में गाज़ियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन की प्रमुख मांगें इस प्रकार हैं



  • लॉक डाउन समय की एक तिमाही ( अप्रैल , मई , जून) की फ़ीस माफ़ी।



  • ऑनलाइन क्लास के अनुसार फ़ीस निर्धारित करना।



  • बच्चों की बंद की गईं ऑनलाइन क्लास को तत्काल प्रभाव से शुरू करवाना।



  • DFRC को अभिभावकों द्वारा की जा रही शिकायतों का निस्तारण करना।



  • ज़िले के सभी निजी स्कूलों की बैलेंस-सीट की जाँच कर फीस अधिनियम 2018 के अनुसार फीस का निर्धारण।


ज्ञापन देने वालों अभिभावकों में अनिल सिंह , कौशलेन्द्र सिंह  कौशल ठाकुर, अजित रावत , अजित कुमार मिश्रा , अरुण आजाद , मनीष कुमार , दीपक चौधरी , सुमित चौधरी , विवेक जैन , विवेक त्यागी , अनुभव कौशिक , विनय कक्कड़ आदि प्रमुख हैं।               


असम के पूर्व 'मुख्यमंत्री' कोरोना पॉजिटिव

गुवाहाटी। असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई कोरोना वायरस (COVID-19) से संक्रमित हो गए हैं। उन्होंने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। कांग्रेसी के वरिष्ठ नेता ने पिछले कुछ दिनों में उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों से टेस्ट कराने का आग्रह किया। हालांकि , उनकी पत्नी डॉली गोगोई की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है।


डॉक्टरों ने 85 वर्षीय राजनेता को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है। जोरहाट जिले के टिटबोर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले गोगोई कोरोना से संक्रमित होने वाले असम के 13 वें विधायक हैं। गगोई के पूर्व कैबिनेट सहयोगी और गोलाघाट के विधायक अजंता नियोग ने मंगलवार को कोरोना से संक्रमित पाए गए थे और उन्हें गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया।               


महिला किसान को मिलेगा 'लोकमत सम्मान'

अतुल त्यागी (मंडल प्रभारी)
मुकेश सैनी (जिला प्रभारी)
प्रगतिशील महिला किसान सारिका त्यागी का होगा सम्मान


हापुड़। जनपद के वझीलपुर गांव की प्रगतिशील महिला किसान सारिका त्यागी पत्नी ज्ञानेन्द्र त्यागी को गत वर्ष सरसों उत्पादन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा प्रथम स्थान के लिए एक लाख रुपये का चेक भेंट कर व शाल उढाकर व सम्मान पत्र देकर, सम्मानित किया गया था। अब आगामी इकत्तीस अक्टूबर को 'लोकमत सम्मान 2020' लखनऊ के चयनित किया गया है।
पत्र मिलते ही क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गई
इससे पूर्व में भी सारिका त्यागी के ससुर सोमेन्द्र सिंह को सरसों उत्पादन में सन् 2010 में जिले स्तर पर (जब जिला गाज़ियाबाद था ) था के लिए प्रथम पुरस्कार व पति ज्ञानेन्द्र सिंह त्यागी को सन् 2012 में मसूर उत्पादन के लिए तत्कालीन जिलाधिकारी चक्रपाणि ने जनपद हापुड़ में प्रथम पुरस्कार मिल चुका है।


केसः नेता राम ने सीएम को लिखी चिट्ठी

मुंबई। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत केस के मामले में नया मोड़ आ गया है। रिया चक्रवर्ती के वायरल चैट से ड्रग्स कनेक्शन सामने आया है। इस मामले पर सियासी बयानबाजी भी शुरू हो गई है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता राम कदम ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर विधानसभा में बॉलीवुड के ड्रग्स कनेक्शन पर बहस करने की मांग की है।


अपनी चिट्ठी में बीजेपी नेता राम कदम ने कहा, 'आपको पता है कि ड्रग्स और बॉलीवुड को लेकर एक बहस छिड़ी हुई है। मैं आपसे बॉलीवुड इंडस्ट्री में ड्रग्स नेक्सस को खुलासे के लिए जांच की मांग करता हूं। पूरा प्रदेश बॉलीवुड सितारों को अपना आइकन मानता है। ऐसे में ड्रग्स को लेकर आ रही खबर से उन पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। बीजेपी नेता राम कदम ने कहा, 'मैं आपसे अपील करता हूं कि विधानसभा के इस सत्र में बॉलीवुड इंडस्ट्री की ओर से ड्रग्स के इस्तेमाल और इसके नेक्सस पर बहस की जाए और उचित कार्रवाई की जाए। एक और ट्वीट में राम कदम ने कहा, 'ड्रग्स माफिया का एंगल सामने आ रहा है। यह बेहद गंभीर है।


बीजेपी नेता राम कदम ने अपने ट्वीट में कहा, 'कोई भी अभिनेता या राजनीतिक नेता जो मूल रूप से युवाओं के लिए प्रतीक नहीं हैं, उन्हें ड्रग्स के सेवन में शामिल होना चाहिए. ऐसे राजनीतिक नेता और अभिनेता जो नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं, उन्हें सार्वजनिक जीवन छोड़ देना चाहिए।                 


भ्रष्ट दरोगा पर कप्तान की गाजः हापुड़

अतुल त्यागी (मंडल प्रभारी)
हापुड़ कप्तान संजीव सुमन का एक्शन हुआ शुरू भ्रष्टाचार में लिप्त चौकी इंचार्ज पर गिरी गाज।


हापुड़। कप्तान संजीव सुमन ने बड़ा एक्शन लिया है हापुड़ की अयोध्यापुरी चौकी पर तैनात चौकी इंचार्ज नवीन कुमार गौतम को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। इतना ही नहीं भ्रष्टाचारी में लिप्त पुलिस कर्मियों को हापुड़ एसपी संजीव सुमन ने सख्त निर्देश दिया है वही चौकी इंचार्ज नवीन कुमार गौतम की विभागीय जांच कराने को कहा है।हापुड़ में एसपी संजीव सुमन का पड़ा एक देख अब भ्रष्टाचारी में लिप्त पुलिसकर्मियों में हड़कंप मचना शुरू हो गया है। अभी देखना यह है गाज अभी और भी गिर सकती हैं या यही रुकेगी  हापुड़ कप्तान एक्शन मोड में दिखाई दे रहे हैं।


महाराष्ट्रः 24 घंटे में 122 पुलिस संक्रमित

मुंबई। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में 122 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाये गये और दो जवानों की इस संक्रमण के कारण मौत हो गयी। महाराष्ट्र पुलिस के अनुसार राज्‍य में अब तक कुल 14,189 जवान कोरोना संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से 11,423 जवान इलाज के बाद स्‍वस्‍थ हो गये हैं। अब तक 144 जवानों की इस महामारी के कारण मौत हो चुकी है।   


महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 10,425 नए मरीज सामने आये और 329 संक्रमितों की मौत हो गयी। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राज्‍य में कुल संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 7 लाख को पार करता हुआ 7,03,823 तक पहुंच चुका है। राज्‍य में अब तक कुल 5,14,790 मरीज स्‍वस्‍थ होने के बाद अस्‍पताल से घर जा चुके हैं, 1,65,921 मरीज सक्रिय हैं।                     


₹7000 लीटर से महंगा गधी का दूध

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना काल में गधी के दूध की असलियत सामने आई है| लोगों ने जब इसकी कीमत जानी, तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई| कीमत जानकर आप यकीन करेंगे कि बाकि मवेशियों के दूध की कीमत कुछ 100 रुपये प्रति लीटर होगी| लेकिन गधी का दूध 7 हज़ार रुपये प्रति लीटर मिल रहा है | बढ़ती हुई मांग के बीच जल्द ही इसकी कीमत 10 हज़ार रुपये प्रति लीटर तक पहुँच सकती है|


बताया जाता है कि हलारी नस्ल की गधी के दूध को दवाइयों का खजाना कहा जाता है| इसके दूध में कैंसर, मोटापा, ऐलर्जी जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता होती है| यह नस्ल गुजरात में पाई जाती है | जानकारों का कहना है कि कई बार गाय या भैंस के दूध से छोटे बच्चों को एलर्जी हो जाती है लेकिन हलारी नस्ल की गधी के दूध से कभी एलर्जी नहीं होती| इसके दूध में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी एजीन तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में कई गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता विकसित करते हैं|दरअसल कोरोना संक्रमण से बचने के लिए इसे कारगर माना जा रहा है | बताया जाता है कि गधी का दूध इंसानों के लिए न सिर्फ बेहद फायदेमंद होता है बल्कि शरीर का इम्यून सिस्टम ठीक करने में काफी बड़ी भूमिका निभाता है| इससे कई ब्यूटी प्रोडक्ट भी बनते हैं | कई संक्रमितों ने ठीक होने के बाद गधी के दूध का इस्तेमाल किया | उन्हें चौंकाने वाले रिजल्ट मिले | यही नहीं कई ऐसे भी लोग रहे जो अपने कमजोर इम्यून सिस्टम के कारण चर्चित रहे |


उन्होंने जब से गधी का दूध पीना शुरू किया | उनकी सेहत में जबरदस्त सुधार देखा गया | इसके चलते बाजार में इस दूध की मांग बढ़ गई | विभिन्न किस्म की गधी का दूध बाजार में 2000 से लेकर 7000 रुपए प्रति लीटर तक में बिकता है| इससे ब्यूटी प्रॉडक्ट्स भी बनाए जाते हैं जो काफी महंगे होते हैं| गधी के दूध से साबुन, लिप बाम, बॉडी लोशन तैयार किए जा रहे हैं| लिहाजा देश में पहली बार गधी के दूध का व्यावसयिक इस्तेमाल शुरू हो रहा है | फ़िलहाल इसके एक लीटर दूध की कीमत होगी 7000 रुपये निर्धारित की गई है | ज्यादा दूध रोजाना उपलब्ध हो सके इसके लिए जल्द ही गधी के दूध की डेयरी भी शुरू होने वाली है | राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र हिसार में गधी के दूध की डेयरी शुरू की जा रही है | एनआरसीई हिसार में हलारी नस्ल की गधी के दूध की डेयरी शुरू होने के बाद इसे देश के विभिन्न हिस्सों में भेजा जा सकेगा | एनआरसीई में 10 हलारी नस्ल की गधी सैकड़ों की तादात में रखी गई है | यहाँ इनकी ब्रीडिंग की जा रही है | ब्रांडिंग के बाद डेयरी का काम जल्द शुरू हो जाएगा | गधी के दूध की डेयरी शुरू करने के लिए NRCE हिसार के केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र और करनाल के नेशनल डेयरी रीसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने दिन – रात एक कर दिया है | दरअसल कोरोना संक्रमण से बचने के लिए इसे कारगर माना जा रहा है | बताया जाता है कि गधी का दूध इंसानों के लिए न सिर्फ बेहद फायदेमंद होता है बल्कि शरीर का इम्यून सिस्टम ठीक करने में काफी बड़ी भूमिका निभाता है| इससे कई ब्यूटी प्रोडक्ट भी बनते हैं | कई संक्रमितों ने ठीक होने के बाद गधी के दूध का इस्तेमाल किया | उन्हें चौंकाने वाले रिजल्ट मिले | यही नहीं कई ऐसे भी लोग रहे जो अपने कमजोर इम्यून सिस्टम के कारण चर्चित रहे |              


उत्तराखंड में संक्रमित संख्या-16,014

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है।यहां मंगलवार को कोरोना ने छह और मरीजों की जान ले ली।वहीं, कोरोना के 485 नए मामले सामने आए हैं। इस तर प्रदेश में कोरोना से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 16,014 हो गयी है।


यहां प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार तीन मरीजों ने एम्स ऋषिकेश में दम तोड़ा। वहीं, दो मरीजों की देहरादून के दून मेडिकल कॉलेज में मौत हुई है। इसके अलावा एक अन्य की मौत हल्द्वानी स्थित सुशीला तिवारी अस्पताल में हुई। बुलेटिन के अनुसार अब तक प्रदेश में महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 213 हो चुकी है।             


सिक्कीमः 934 लोग ठीक, 3 की मौत

गंगटोक। सिक्किम में सोमवार को 43 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। अधिकारी ने बताया कि इसके साथ ही राज्य में कुल कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 1 सूचना, शिक्षा एवं संप्रेषण अधिकारी सोनम भूटिया ने बताया कि 42 नये मामले अकेले पूर्वी सिक्किम जिले में आए हैं जबकि पश्चिम जिले में एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।


स्वास्थ्य सचिव पेम्पा टी भूटिया ने बताया कि राज्य में इस समय 509 कोविड-19 मरीज उपचाराधीन हैं जबकि 934 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं राज्य में तीन लोगों की मौत हुई है।


इस बीच, पूर्वी सिक्किम के पुलिस अधीक्षक ने कर्मचारी के संक्रमित पाए जाने के बाद सिक्किम विधानसभा परिसर और कार्यालय को 72 घंटे के लिए निषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया है।             


मेघालयः 29 नए वायरस संक्रमित मिलें

शिलांग। मेघालय में 11 सुरक्षाकर्मियों समेत कम से कम 18 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद मंगलवार को राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1 स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।


स्वास्थ्य सेवा निदेशक अमन वार ने कहा कि नए मामलों में से 14 पूर्वी खासी हिल जिले से सामने आए, दो मामले री भोई और एक-एक मामले उत्तरी और पश्चिमी गारो हिल्स जिले से सामने आए। उन्होंने कहा, “सशस्त्र सेनाओं के 11 कर्मी संक्रमण के शिकार हुए हैं जिनमें से 10 पूर्वी खासी हिल जिले से हैं और एक पश्चिमी गारो जिले से हैं।”


मेघालय में वर्तमान में कोविड-19 के 1,187 मरीजों का इलाज चल रहा है और अब तक 799 मरीज ठीक हो चुके हैं।


अब तक राज्य में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत हो चुकी है।


वार ने कहा कि पूर्वी खासी हिल जिले में 780 मरीजों का इलाज चल रहा है।


उन्होंने कहा कि पश्चिमी गारो हिल में 224 और री भोई में 93 मरीजों का इलाज चल रहा है।


उन्होंने कहा कि पूर्वी खासी हिल जिले में कोविड-19 के जिन मरीजों का इलाज चल रहा है उनमें से 285 सुरक्षाकर्मी हैं।


कोतवाली में 'भारत माता' का अपमान

भोपाल। मध्य प्रदेश के सिवनी के कोतवाली में पिछले 3 सालों से भारत माता की प्रतिमा का अपमान हो रहा है। इस प्रतिमा को सिवनी से 3 किलोमीटर दूर खैरी टेक गांव से प्रशासन द्वारा जब्त कर कोतवाली लाया गया था। कोतवाली के कबाड़खाने में रखी गई यह प्रतिमा खराब हो रही है। 


दरअसल, विद्युत मंडल में कार्यरत सरकारी कर्मचारी विपत लाल विश्वकर्मा ने अपने खर्च से दो लाख रुपए की लागत से 5 टन वजनी भारत माता की एक बहुत ही खूबसूरत प्रतिमा बनवाकर सरपंच की सहमति से उसे खैरी टेक पर स्थापित किया था। प्रतिमा स्थापित करने के 4 महीने बाद कुछ लोगों ने प्रशासन से इसकी शिकायत कर दी। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए प्रशासन उस मूर्ति को जब्त कर कोतवाली ले आई। प्रशासन द्वारा जब मूर्ति को वहां से हटाया जा रहा था तो मूर्ति ट्रैक्टर ट्राली से नीचे गिर गई थी। मूर्ति हटाने के दौरान विवाद भी हुआ था, जिस देश और प्रदेश में उस बीजेपी का शासन है जो भारत माता के लिए जान न्योछावर करती है, इसके बावजूद विगत 3 वर्षों से भारत माता का कोतवाली में कैद रहना हैरान करती है। 


हालांकि विपत लाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और बाबूलाल गौर से एक उचित स्थान पर उस मूर्ति को स्थापित करने की कई बार याचना की, उसके बावजूद प्रशासन के कानों में जूं नहीं रेंग रही है।             


यूपीः राशन कार्ड पर मिलेगी सस्ती चीनी

मुरादाबाद/लखनऊ। प्रदेश सरकार गरीबों को पेट भर भोजन उपलब्‍ध कराने के बाद उनकी चाय भी मीठी करने जा रही है। राशन कार्ड धारकों को फिर से कोटे की दुकान से चीनी उपलब्ध कराई जाएगी। सितंबर में सहकारी मिल संघ मुरादाबाद जिले को चीनी उपलब्ध करा देगा। फिलहाल एक राशन कार्ड पर एक किलो ही चीनी दी जाएगी।


प्रदेश में राशन कार्ड धारकों को मार्च 2017 से पहले कम कीमत पर चीनी उपलब्ध कराई जाती थी। इसके बाद राशन कार्ड धारकों को चीनी देने के लिए सरकार ने बजट आवंटित करना बंद कर दिया। बजट के अभाव में सब्सिडी पर मिलने वाली चीनी मिलनी बंद हो गई। लॉकडाउन में आर्थिक मंदी होने से गरीबों को काम नहीं मिल पा रहा है।


काम धंधे बंद होने से मजदूर घर वापस आ गए हैं। केंद्र सरकार ने गरीब परिवारों को नवंबर तक माह में दो बार खाद्यान्न देने का आदेश जारी किया है। माह के प्रथम सप्ताह में दो रुपये किलो गेहूं व तीन रुपये किलो चावल दिया जाता है। माह के तृतीय सप्ताह में निश्शुल्क गेहूं व चावल के साथ एक किलो चना मिलता है।

प्रदेश सरकार के आदेश पर खाद्य तथा रसद विभाग के आयुक्त मनीष चौहान ने 18 अगस्त को पत्र जारी किया है। जिसमें कहा है कि प्रदेश के सभी जिले के अन्त्योदय राशन कार्ड धारकों को चीनी दी जाएगी। एक कार्ड पर एक किलो चीनी मिलेगी। मुरादाबाद जिले को उत्तर प्रदेश सहकारी चीनी मिल संघ सितंबर में चीनी उपलब्ध कराएगा। आदेश के बाद तीन माह के लिए चीनी स्टॉक करने के लिए जिला स्तर पर गोदाम की व्यवस्था की जा रही है। जिला पूर्ति अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि शासन ने राशन कार्ड धारकों को चीनी उपलब्ध कराने का आदेश जारी किया है। सितंबर में चीनी मिल जाएगी, लेकिन राशन कार्ड धारकों को चीनी का वितरण अक्टूबर से किया जाएगा।                  


दाऊद की प्रेमिका बताई 'फिल्मी-हस्ती'

64 साल की उम्र में दाऊद की प्रेमिका बताई जा रही यह फिल्मी हस्ती


नई दिल्ली। 64 साल के दाऊद ने अपने दबदबे के दम कर हयात को कई फिल्मों में काम दिलाया। हयात को 2019 में पाकिस्तान के सर्वोच्च सम्मानों में से एक तमगा-ए-इम्तियाज मिला था। भारत का मोस्ट वांटेड भगोड़े दाऊद इब्राहिम का नाम इन दिनों पाकिस्तान की प्रमुख फिल्म अभिनेत्री ‘ग्लैमरस गर्ल’ मेहविश हयात के साथ जुड़ रहा है। उसने अपने दबदबे के चलते हयात को कई फिल्मों में काम भी दिलाया है। मेहविश को गैंगस्टर गुड़िया के नाम से भी जाना जा रहा है। 
सूत्रों के मुताबिक हयात के केवल दाऊद ही नहीं, कई क्रिकेटर और यहां तक की पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से भी करीबी संबंध हैं। पिछले साल मेहविश हयात को पाकिस्तान के नागरिक पुरस्कारों में से एक तमगा-ए-इम्तियाज से नवाजा गया था।
इसके बाद तो सोशल मीडिया कई तरह की कहानियों से पट गया था। लोगों का कहना था कि उसे पुरस्कार इसलिए मिला, क्योंकि उसके पाकिस्तान में बहुत ताकतवर लोगों से संबंध हैं। एक प्रमुख वेबसाइट ने तभी दाऊद इब्राहिम से उनकी करीबी के बारे में संकेत दिया था।
अपने लुक के लिए जानी जाने वाली हयात पाकिस्तान की एक टॉप सिंगिंग स्टार भी है।और अक्सर कुछ जानी-मानी हस्तियों को होस्ट करती है। इनमें क्रिकेटर्स, राजनेता और उद्योगपति शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हयात को पाकिस्तानी फिल्मों में आइटम नंबर करने के बाद शोहरत मिली थी। इसके बाद वह दाऊद इब्राहिम के संपर्क में आई, जिसके दबदबे के चलते उसे कुछ हाई बजट की फिल्में मिलीं। दाऊद पाकिस्तान की फिल्म इंडस्ट्री को फंड करता है। उसके कराची और लाहौर में कई बड़े प्रोड्यूसर और डायरेक्टर से संबंध हैं।37 साल की हयात के ट्विटर पर 14 लाख फॉलोवर्स हैं। हाल में हयात को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया जा रहा है। कई भारतीयों ने उन्हें ट्विटर पर ट्रोल करते हुए लिखा कि जिसने 1993 के मुंबई में बम धमाकों में सैकड़ों निर्दोष लोगों की हत्या की उसके साथ वह करीबी रिश्ते में है। पाकिस्तान के लोगों ने भी हयात को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजे जाने पर सवाल उठाए हैं।ट्विटर पर ट्रोल किए जाने के बाद हयात ने कहा कि उसके खिलाफ साजिश की जा रही है। उसने दाऊद के साथ अपने संबंधों को नकारते हुए कहा कि जो उनसे जलते हैं उन्होंने ही यह अफवाह फैलाई है।               


झारखंडः नेशनल खिलाड़ी ने की आत्महत्या

झटकाः इस नेशनल खिलाड़ी ने की आत्महत्या


रांची। नेशनल हॉकी खिलाड़ी और एजी ऑफिस में एकाउंटेंट के पद पर पदस्थापित गुरुशरण सिंह ने फंदे से झूलकर आत्महत्या कर ली। गुरुशरण ने डोरंडा के एजी कॉलोनी स्थित सरकारी क्वॉर्टर में ही फंदे से झूलकर अपनी जान दी है। 28 वर्षीय गुरुशरण सिंह पंजाब के रहने वाले थे। कुछ साल से वह रांची में ही रह रहे थे। रांची नौकरी करने से पहले वह पंजाब से ही नेशनल प्रतियोगिता में खेल चुके हैं। सूचना मिलने के बाद डोरंडा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है।                   


देश में 7,07,267 एक्टिव वायरस केस

देश में कोरोना से एक दिन में 1000 से ज्यादा की मौत


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस (कोविट-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 67,151 नए मामले सामने आए हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में 1,059 लोगों की मौत कोरोना से हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बुधवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 32,34,474 तक पहुंच गई है। वहीं मृतकों की संख्या बढ़कर 59,449 हो गई। देश में कोरोना के कुल मामलों में 7,07,267 एक्टिव केस है।जबकि 24,67,759 लोग स्वस्थ होकर घरों को लौट चुके हैं। कोविट-19 को काबू में करने के लिए परीक्षण का दायरा निरंतर बढ़ाया जा रहा है। और 25 अगस्त तक तीन करोड़ 76 लाख 51 हजार 512 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है। भारतीय चिकित्सा अनुंसधान परिषद (आईसीएमआरI) की तरफ से बुधवार को बताया गया कि 25 अगस्त को देश भर में कोरोना वायरस के आठ लाख 23 हजार 992 नमूनों की जांच की गई हालांकि यह संख्या एक दिन पहले के नौ लाख 25 हजार 383 नमूनों की तुलना में एक लाख से अधिक कम थी। परिषद के अनुसार 25 अगस्त तक कोरोना की कुल जांच तीन करोड़ 76 लाख 51 हजार 512 पर पहुंच गई।             


महिला उत्पीड़न की दर्दनाक तस्वीर दिखी

नई दिल्ली। दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके से महिला उत्पीड़न की दर्दनाक घटना सामने आई है। खबर के अनुसार, यहां एक व्यक्ति ने 32 साल की पत्नी काे जंजीर से बांधकर बंदी बना रखा था। महिला काे मानसिक रूप से बीमार बताया जा रहा है। बंदी बनाने वाले से उसकी शादी 11 साल पहले हुई थी।
दिल्ली महिला आयोग ने मंगलवार काे महिला को छुड़ाया और उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


 दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने घटना की जानकारी और वीडियो अपने टि्वटर अकाउंट पर शेयर करते हुए लिखा है कि ऐसी घटनाओं से दिल टूट जाता है।
आयोग की तरफ से बताया गया कि पीड़िता को इहबास में शिफ्ट करने की कार्रवाई और एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। बताया गया कि जब महिला आयोग की टीम ने बच्चों से बात की तो उन्होंने बताया कि उनके पिता मां को बहुत मारते हैं और जंजीर से बांधकर रखते हैं। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, हमें इस मामले की शिकायत अपने स्थानीय स्तर पर काम कर रही महिला पंचायत के जरिए मिली। सूचना मिलते ही आयोग की सदस्य फिरदौस खान और किरण नेगी के साथ मैं दिए गए पते पर पहुंची तो महिला की हालत देखकर स्तब्ध रह गई।


ज़ी न्यूज़ इंडिया डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, महिला के पति ने उसे पिछले 6 महीने से उसी के घर में जंजीरों से बांधकर रखा था। पीड़ित महिला का पति उसके साथ मारपीट करता था और टॉर्चर करता था। महिला के तीन बच्चे भी हैं जिनके साथ भी अक्सर मारपीट की जाती थी।
उन्होंने बताया कि महिला के पैर ज़ंजीरो से बांधे गए थे एवं उसे बहुत ही बुरे हाल में रखा गया था। महिला के साथ इस प्रकार की प्रताड़ना की गई कि उसकी मानसिक स्तिथि भी बिगड़ गई है।                   



शोषण के विरुद्ध मनरेगा कर्मियों की हड़ताल

बिलारी। उत्तर प्रदेश रोजगार सेवक संघ ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में मनरेगा कर्मियों के उत्पीड़न पर रोष जताया है। साथ ही बुधवार से दो दिवसीय कलम बंद हड़ताल का ऐलान किया गया है। मंगलवार की सुबह उत्तर प्रदेश रोजगार सेवक संघ की ब्लाक बिलारी इकाई की एक बैठक ब्लाक परिसर में हुई सेवक और मनरेगा सेल से जुड़े अन्य कर्मचारी लॉक डाउन अवधि शुरू होने से लेकर अब तक काफी मेहनत के साथ मनरेगा का काम करते चले आ रहे हैं। प्रदेश में विभिन्न ब्लॉकों मैं अलग अलग तरीके से मनरेगा कर्मी का शोषण और उत्पीड़न किया जा रहा है। रोजगार सेवक संघ के कई पदाधिकारी बोले कि अक्सर ग्राम प्रधानों की झूठी शिकायतों पर भी रोजगार सेवकों का उत्पीड़न हो रहा है। लक्ष्य पूर्ति के नाम पर ब्लाक अधिकारियों को भी रोजगार सेवकों को परेशान करते हैं। बैठक में निर्णय लिया गया कि अखिल भारतीय मनरेगा कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर बुधवार और बृहस्पतिवार को बिलारी ब्लॉक में भी मनरेगा कर्मी कलम बंद हड़ताल पर रहेंगे।                  


राजस्थान के कई जिलों में बारिश का अलर्ट

नरेश राघानी


जयपुर। राजस्थान में पिछले कई दिनों से हो रही बरसात ने अधिकतर जिलों को भिगो दिया है, अभी आगामी दो दिनों तक कुछ जिलों में भारी बरसात हो सकती है। इसकी जानकारी (Metrology Department Rajasthan) मौसम विभाग ने जारी की है। पूर्व राजस्थान में 27 अगस्त को भारी बारिश और 28 अगस्त को कोटा, उदयपुर संभाग में बारिश की संभावना जताई है। पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, जैसलमेर व बाड़मेर जिलों भारी बरसात की चेतावनी के चलते येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने इस सप्ताह पश्चिमी राजस्थान के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने जोधपुर, जैसलमेर, जालौर इत्यादि जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में तेज मेघ गर्जना के साथ बरसात हो सकती है।


मौसम विभाग ने मानसून के पश्चिमी राजस्थान की और बढ़ने के संकेत दिए है। जिससे इसके अंर्तगत आने वाले जिलों में भारी बरसात हो सकती है। इन जिलों में दो दिनों तक लगातार बरसात की संभावना जताई है।                         


पार्टी की विचार गोष्ठी कार्यक्रम आयोजित

मनीष कुमार यादव


मधुबनी। जिले के हरलाखी प्रखंड के झिटकी गांव स्थित पार्टी कार्यालय पर हिन्दुस्तान इन्कलाब पार्टी के द्वारा विचार गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता पंचायत के मुखिया ललटु मंडल और संचालन हिंदुस्तान इंकलाब पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष महेश प्रसाद मंडल ने की। मुख्य अतिथि के रूप में पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र चरण मंडल ने अपने सम्बोधन में कहा कि अजादी के बाद से ही विभिन्न राजनितिक पार्टियों के द्वारा पिछड़ा और अति पिछड़ा समाज के साथ शोषन किया जा रहा है। यह पार्टियां चुनाव आते ही हम पिछड़ा और अति पिछड़े समाज को चुनावी झांसे देकर वोट ले लेते है और उसके बाद दरकिनार कर देते है। कहा कि हमारी पार्टियाँ अपने समाज को आगे बढ़ाने के लिए खुद ही चुनाव लड़ने की सोच रही है,और हो सकता है की आगामी विधानसभा चुनाव के लिए हमारी पार्टी कई सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेगी। वहीं महेश प्रसाद मंडल ने कहा कि हमारे समाज को पुरी एकता के साथ संगठित होना होगा तभी उचित न्याय और अधिकार मिल सकेगा। पिछड़ों के लिए हमारी पार्टी विभिन्न गावों में विचार गोष्ठी कार्यक्रम कर लोगों को संगठित करने के लिए जागरूक करेगी। मौके पर गंगा प्रसाद मंडल, राज कुमार मंडल, जय कुमार मंडल, वृजकिशोर भंडारी,देवेन्द्र कुमार चौधरी, उपेन्द्र राम, सुबोध मंडल, जामुन मंडल समेत दर्जनों लोगों ने समाजिक दूरी बनाकर बैठक में भाग लिए।              


सड़क मरम्मत की मांग, किया प्रदर्शन

सुपौल। पथरा गोरधई पंचायत के वार्ड 15 से एनएच 327 जागुर गांव तक जाने वाली जर्जर सड़क की मरम्मत कराने और नहर पर पुल बनाने की मांग को लेकर मंगलवार को ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान ग्रामीण जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने कहा कि सरकार एक तरफ सड़कों का जाल बिछा रही है तो दस साल से जर्जर सड़क की सुधि नहीं ली जा रही है। सड़क क्षतिग्रस्त रहने से वाहन चालक अक्सर दुर्घटना के शिकार होते रहते हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सड़क मरम्मत के लिए जनप्रतिनिधि और जिले के अधिकारियों को कई बार लिखा गया लेकिन सड़क मरम्मत को लेकर अब तक से कोई रूचि नहीं ली गई है। स्थिति यह है कि सड़क जर्जर रहने से आसपास की लगभग तीन हजार की आबादी को आवागमन में परेशानी होती है। बरसात के समय सड़क के दोनों ओर झील बन जाता है। सड़क पर पानी बहने से बूढ़े और महिलाओं को सड़क पार करने में परेशानी होती है। खास कर बच्चों के साथ हादसा होने की आशंका रहती है।           


गिरफ्तारी के लिए निकाला 'कैंडल मार्च'

मनीष कुमार यादव


मधुबनी। जिले के फुलपरास अनुमंडल मुख्यालय बाजार में देर शाम को कलुआही में नाबालिग के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या को लेकर शोशल एक्टिविस्ट फोरम फुलपरास के तत्वावधान में सामाजिक कार्यकर्ताओं ने प्रदीप कुमार प्रभाकर के नेतृत्व में बलात्कारियों के विरुद्ध कैंडल मार्च निकालकर प्रर्दशन किया गया। इस दौरान युवकों ने बिहार सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। ज्ञात हो कि कलुआही प्रखंड के एक गांव में बीते दिन 13 वर्षिय नाबालिक लड़की के साथ दुष्कर्म व हत्या करने वाले दरिंदों के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला प्रदर्शन किया। युवकों ने कैंडल मार्च के साथ शहीद परमेश्वर चौक से अंडर पास होते हुए लोहिया चौक तक प्रर्दशन किया गया। प्रर्दशन के दौरान युवकों ने नाबालिग पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग करते हुए नारेबाजी की गई। साथ ही बलात्कारियों को फांसी देने की मांग किया है। इस कैंडल मार्च में दिनेश कुमार दिवाकर, गुड्डू कुमार, योगेंद्र कुमार, विजय यदुवंशी, संजीव कुमार यादव, पप्पू कुमार, रूपेश कुमार, कृष्ण कुमार, नीतीश सिंह, संतोष कुमार, राजेश कुमार सहित बड़ी संख्या में युवक शामिल थे।           


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...