बुधवार, 9 अक्तूबर 2019

हिरण सींगो के साथ महिला गिरफ्तार

प्रयागराज/इलाहाबाद। जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने इलाहाबाद जंक्शन से हिरण की सींगों के साथ महिला तस्कर को पकड़ा है। महिला के पास हिरण के सींगों के 93 टुकड़े थे। उसे जब्त कर लिया गया और महिला के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत कार्रवाई की गई है। इसकी कीमत ढाई लाख रुपये बताई जा रही है।


जीआरपी व आरपीएफ की चेकिंग में पकड़ी गई महिला:-इलाहाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म एक पर जीआरपी और आरपीएफ की टीम चेकिंग कर रही थी। त्योहार के मद्देनजर जीआरपी इंस्पेक्टर रघुबीर सिंह के निर्देशन में टीम प्लेटफार्म एक पर मजार के पास पहुंची। वहां एक महिला काले रंग का झोला और एक सफेद बोरी में कुछ सामान लेकर बैठी थी। सिपाहियों को देखकर वह हड़बड़ा गई। सिपाहियों को शक हुआ तो उसकी तलाशी ली गई। उसके झोले और बोरी की जांच गई। तब झोले में 66 और बोरे में 27 टुकड़े हिरण की सींग के मिले। पूछताछ में महिला ने अपना नाम कमला देवी पत्नी लालजी कोल (35) निवासी मडइया, वाल्मीकि नगर, थाना मानिकपुर जिला चित्रकूट बताया।


चित्रकूट के जंगलों से लेकर आई थी हिरण की सींग:-महिला ने बताया कि वह इसे चित्रकूट के जंगलों से लेकर आई है। यहां पर दूसरा व्यक्ति इसे लेने के लिए आने वाला था। हालांकि उससे पहले ही वह पकड़ी गई। महिला उस व्यक्ति का नाम नहीं बता सकी। इंस्पेक्टर ने बताया कि यह महिला करियर का काम करती है। अब इसके खरीदने वाले की तलाश की जा रही है। इसकी कीमत करीब ढाई लाख रुपये बताई जा रही है।


किस काम की है हिरण की सींग:-हिरण की सींग से शक्तिवर्धक दवाएं बनाई जाती हैं। इसके अलावा कई अन्य दवाएं इससे बनती हैं। कुछ लोग इसे अपने घरों में सजावट के लिए रखते हैं। बाजार मेें यह महंगे दामों पर बिकती है। बृजेश केसरवानी


'गायो' पर सरकार धन खर्च करती है?

लगभग 3 से 4 दिन से बीमार पड़ी गौ माता को देखने वाला कोई नहीं, एक समाज सेविका ने डॉक्टरों को बुलाकर कराया इलाज


अविनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद ,लोनी। सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना को धक्का देती हुई स्थिति वार्ड नंबर 9 लक्ष्मी गार्डन मे देखने को मिली। लगभग 3 से 4 दिन से एक गौ माता बीमार पड़ी दिखाई दे रही थी। हालांकि इसके लिए किसी ने कुछ भी नहीं किया। एक समाज सेविका भावना बिष्ट को जैसे ही पता चला। उन्होंने तुरंत डॉक्टरों को बुलाकर उसका इलाज करवाया तथा उसकी देखरेख की।


लक्ष्मी गार्डन वार्ड नंबर 9 मे कई दिनों से बीमार पड़ी है गौ माता, तड़प रही थी। इसकी जानकारी जैसे ही समाज सेविका भावना बिष्ट को चली तो उन्होंने देखा कि गौ माता कराह रही थी। तभी उन्होंने डॉक्टरों को सूचना देकर बुलवाया और उसका इलाज कराया। हालांकि इसकी जिम्मेवारी सरकार द्वारा चलाई जा रही आवरा पशुओं को गोशाला में रखने की है। और इसकी देखरेख के लिए प्रशासन अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने नजरअंदाज करते हुए बीमार गौ माता को देखने के लिए कोई नहीं आया। ना ही उसे किसी गौशाला में ले जाकर रखा गया। ना ही उसका इलाज कराया गया, ना ही उसके खाने की व्यवस्था की गई। हालांकि अभी भी वह उसी ही जगह पड़ी हुई है और डॉक्टर इलाज करके आए तो आज पता चला कि कुछ आराम है। लेकिन उसका रहने का ठिकाना आज भी वही है। जहां वह बीमार पड़ी हुई थी ।अभी तक किसी भी ने इसकी सुध नहीं ली है कि उसको किसी गौशाला में ले जाएं,और उसका सही तरह से इलाज कराएं। खाने-पीने का भी ध्यान रखें। जबकि प्रदेश सरकार का सख्त आदेश है कि आवारा पशुओं को गौशाला में रखा जाए और उनका खाने-पीने का इंतजाम चिकित्सा सुविधा भी वही दी जाए। हालांकि वैसे तो घरों में लोग गायों को पाल लेते हैं और जब तक वह दूध देती है तब तक उसे घर में रखते हैं। उसके बाद उसे बिचारी को घर से बाहर निकाल देते हैं ऐसे ही लोगों के खिलाफ प्रशासन सख्त से सख्त कार्रवाई करें।


कांशीराम की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि

लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती ने कांशीराम की पुण्यतिथि पर उनको याद करते हुए श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने उत्तर प्रदेश का उदाहरण देते हुए कहा कि जातिवादी व संकीर्ण ताकतें बीएसपी मूवमेंट को चुनौतियां, लेकिन वह आगे बड़ते रहे। उन्होंने कांशीराम को पुष्पांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के साथ उनके सपनों को साकार करने का संकल्प भी लिया।उन्होंने बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा कि 'बामसेफ, डीएस4 व बीएसपी मूवमेंट के जन्मदाता व संस्थापक कांशीरामजी को आज उनकी पुण्यतिथि पर बीएसपी द्वारा देश व विशेषकर यूपी में अनेकों कार्यक्रमों के जरिए भावभीनी श्रद्धांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उपेक्षितों के हक में उनका संघर्ष था 'वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा।' उन्होंने कहा कि दिल्ली में गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर स्थित प्रेरणा केंद्र में और लखनऊ में बीएसपी सरकार द्वारा वीआइपी रोड में स्थापित भव्य मान्यवर श्री कांशीरामजी स्मारक स्थल के आयोजनों में बहुजन नायक कांशीराम को पुष्पांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उनके सपनों को साकार करने का संकल्प। बसपा प्रमुख मायावती ने आगे कहा कि 'बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान के मूवमेंट को समर्पित कांशीराम जानते थे कि जातिवादी व संकीर्ण ताकतें साम, दाम, दंड, भेद आदि हथकंडों से बीएसपी मूवमेंट को चुनौतियां देती रहेंगी, जिसका सूझबूझ से मुकाबला करके आगे बढ़ना है। इसका बेहतरीन उदाहरण यूपी है।'


आज कांशीराम की 13वीं पुण्यतिथि:-पिछड़े, दलितों और आदिवासियों को राजनीति में एक अहम स्थान दिलाने वाले कांशीराम डॉ. भीमराव आंबेडकर के बाद दलितों के सबसे बड़े नेता माने जाते हैं। बुधवार को उनकी 13वीं पुण्यतिथि है। 9 नवंबर, 2006 को उनका निधन हुआ था। पंजाब प्रांत के एक दलित परिवार कांशीराम का जन्म 15 मार्च, 1934 में हुआ था। उन्होंने सरकारी नौकरी छोड़कर दलितों के उत्थान का फैसला किया था। 1981 में उन्होंने दलित शोषित समाज संघर्ष समिति या डीएस4 की स्थापना की। उन्होंने 1984 में बहुजन समाज पार्टी की स्थापना की।


सरकार ने किसानों की पांच मांगे मानी

नई दिल्ली। एनएच-24 पर चल रहे धरना प्रदर्शन को किसानों ने खत्म कर दिया है। कृषि मंत्रालय के अधिकरियों के आश्वासन के बाद किसानों ने धरना खत्म किया है। 11 किसानों का प्रतिनिधिमंडल कृषि मंत्रालय के अधिकारियों से मिलने गया था। मोदी सरकार ने किसानों की 5 मांगों को मान लिया है। सरकार के मुताबिक अब किसान बीमा योजना का लाभ सभी किसानों को दिया जाएगा। प्रदूषित नदियों की सफ़ाई के लिए विशेष टास्क फ़ोर्स बनाई जाएगी। 14 दिन के अंदर गन्ना किसानों का भुगतान किया जाएगा। भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया को आसान बनाया जाएगा। किसानों पर धरना प्रदर्शन के कारण लगे मुकदमों को जल्द ख़त्म कराया जाएगा। 
इसके अलावा किसानों को गृहमंत्री और प्रधानमंत्री से भी मिलवाने का आश्वासन दिया गया है। बता दें कि किसानों की मांगों पर विचार करने के लिए अधिकारियों का प्रतिनिधिमंडल बनाया जाएगा। सुबह से दिल्ली बार्डर पर किसानों ने एनएच-24 बंद कर दिया था। प्रशासन ने उन्हें दिल्ली आने से रोक दिया था। गौरतलब है कि भारतीय किसान संगठन के सैकड़ों सदस्यों ने अपनी मांगों को लेकर दिल्ली की ओर कूच किया था। यह यात्रा नोएडा से शनिवार को सुबह आठ बजे से दिल्ली की ओर रवाना हुई थी। भारतीय किसान संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक सोम के मुताबिक किसानों की अधिकार पदयात्रा की शुरुआत 11 सितंबर को सहारनपुर से हुई थी।


'सूअर' ने दिया अद्भुत बच्चे को जन्म

रजनीकांत अवस्थी
रायबरेली। महराजगंज क्षेत्र के गांव जुड़ा मजरे कोटवा मदनिया निवासी श्यामलाल पुत्र मैकू के घर में एक सूअर ने भगवान गणेश के स्वरूप एक बच्चे को जन्म दिया है। लोगों की भारी भीड़ जुटी हुई है। लोग इसे भगवान गणेश का अवतार मान रहे हैं और पूरे विधि विधान से धूप दीप प्रज्वलित कर पूजा अर्चना कर रहे हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक श्यामलाल पुत्र मैकू के घर लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है और भारी संख्या में पुरुष महिलाएं धूप दीप प्रज्वलित कर पूजा अर्चना कर रही हैं।


देश का पहला सरकारी महिला जिम

देश का पहला सरकारी महिला जिम पुरकाजी में तैयार एक छोटी सी झलक


बनने से पहले ही हाउसफुल हो चुका है बुकिंग के लिए सिफारिशें जारी, जल्द होगा उद्घाटन


मुजफ्फरनगर। पुरकाजी चेयरमैन ज़हीर फ़ारुकी सबसे अलग और बेहतरीन करने के लिए पहचान बना चुके हैं उन्होंने सबसे अलग हटकर हिंदुस्तान का पहला सरकारी महिला जिम पुरकाजी बनाने का निर्णय लिया तो सबने उनकी मज़ाक सी उड़ाई लेकिन जब उन्होंने बेहतरीन जिम तैयार करा दिया और उसमे इम्पोर्टेड समान आकर लगना शुरू हुआ तो देखने वालों की भीड़ लगी रहती है महिलाओं में जबरदस्त खुशी की लहर है चारो तरफ ओर रास्तों पर कैमरो से लैस महिला जिम बनाया गया है हालाकि अभी फोटो लेने पर पाबंदी है लेकिन लोगो की उत्सुकता को देखते हुए बड़ी मुश्किल से एक झलक जनता तक जारी की जा रही है देश का पहला महिला जिम उदघाटन के लिए तैयार है जनपद मुजफ्फरनगर के लिए गर्व का विषय है ज़हीर फ़ारुकी चेयरमैन के ऐतिहासिक कामो में एक ओर बड़ा काम जुड़ने जा रहा है। सबके लिए बनेगी मिसाल।


दरोगा पर लगाया अभद्रता का आरोप

गाजियाबाद,मोदीनगर। दबिश देने के नाम पर निवाड़ी थाने में तैनात एक दरोगा पर शराब पीकर घर में घूसकर दलित महिलाओं के साथ अभद्रता करने का आरोप लगाया है। पीडि़त परिवार ने मुख्यमंत्री पोर्टल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। कस्बा निवाड़ी निवासी राजपाल खट़ीक ने बताया कि मेरे पुत्र मनोज का उसकी पत्नी से काफी समय से विवाद चल रहा है। मामला न्यायालय में चल रहा है। पिछले दिनों महिला ने मनोज के खिलाफ धमकी देने की निवाडी थाने में एनसीआर दर्ज कराई थी। मनोज ने गाजियाबाद कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दी। अदालत ने थाना निवाड़ी से मनोज के खिलाफ अन्य कोई मुकदमा होने की जानकारी दी। निवाडी पुलिस ने अन्य कोई मुकदमा दर्ज न होने का हलकनामा कोर्ट में दिया। इसके बाद अदालत ने निवाड़ी पुलिस को मनोज के खिलाफ कोई कार्रवाई न करने का आदेश दिया। आरोप है कि 5 अक्तूबर की रात ग्यारह बजे के आसपास निवाड़ी थाने में तैनात दरोगा राजपाल खट़ीक के मकान पर पहुंचे और गाली गलौच करने लगे। आरोप है कि दरोगा ने महिलाओं के साथ भी अभद्रता की। पीडि़त ने मुख्यमंत्री पोर्टल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को शिकायत कर दरोगा के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। पीडि़त परिवार ने चेतावनी दी हैं। कि यदि जल्द कार्रवाई नहीं हुई तो पूरा परिवार धरने पर बैठ जाएगा। दरोगा ने आरोपों को गलत बताया है। सीओ मोदीनगर केपी मिश्रा ने बताया कि जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।


एक्सप्रेस-वे का निर्माण रोकने की चेतावनी

गाजियाबाद। मोदीनगर स्‍थित भोजपुर थानाक्षेत्र के गांव मुरादाबाद में 19 गांवों के किसानों की एक महापंचायत का आयोजन किया गया। किसानों ने एनएचएआई से एक सामान मुआवजा व चकरोड व टयूवबैल को मुआवजा दिलाने की मांग की किसानों ने मांगे न माने जाने पर किसानों ने दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य रोकने की चेतावनी दी है। गांव मुरादाबाद में किसान कल्याण समिति के बैनर तले एक महापंचायत का आयोजन किया गया। पंचायत में दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे से प्रभावित 19 गांवों के सैकड़ों किसानों ने भाग लिया। महापंचायत का अध्यक्षता दलवीर नेता जी व संचालन समिति के सचिव मनवीर त्यागी ने किया। पूर्व जिला पंचायत सदस्य सतीश राठी ने कहा की किसानों की दो साल से लंबित कई मामले जिलाधिकारी गाजियाबाद कोर्ट में चल रहे हैं।लेकिन अभी तक उनका कोई समाधान नहीं हो पाया है। जिसके चलते सैकड़ों किसानों का मुआवजा फंसा हुआ हैं।जबकि एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य शुरु होने वाला है। उन्होने बताया कि इसके अलावा एक्सप्रेस वे निर्माण कार्य के चलते चकरोड समाप्त हो गई और सैकड़ों टयूवबैल नष्ठ कर दी गई है। टयूवबैलों के अभी तक मुआवजा तक नहीं दिए गए है। मनवीर त्यागी ने कहा कि सभी गांवों के किसानों को एक सामान मुआवजा दिया जाना चाहिए। इसके अलावा चार सौ से अधिक किसानों की फाइल एनएचएआई द्वारा सेंशन कोर्ट में पड़ी है। जिनका निस्तारण नहीं हो रहा है। पंचायत में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि यदि जल्द किसानों की मांग पूरी नहीं हुई ।तो दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे का काम रोक दिया जाएगा। किसानों ने गांव मुरादाबाद में पंचायत स्थल पर ही अनिश्चिकॉलोनी धरना शुरु कर दिया है। इस मौके पर जयवीर गुर्जर,महावीर ,सतपाल सिंह ,चांदवीर चूडिय़ाला महकार सिंह ,आसिफ अली ,उम्मेद खान व बलराज सिंह व रमेश कुमार सहित सैकड़ों किसान मौजूद थे।


ऑपरेशन खुशी से मिली परिवारों को खुशी

विजयदशमी को ऑपरेशन खुशी टीम ने दो और परिवारों को दी खुशी जब उनके लापता बच्चे उन्हें वापस मिल गए


प्रयागराज। सहायक पुलिस अधीक्षक,क्षेत्र अधिकारी नगर तृतीय प्रयागराज अमित कुमार आनंद के निर्देशन पर टीम के सदस्य एसआई कामता प्रसाद हेड कांस्टेबल संजय दुबे कांस्टेबल मुलायम यादव व यशवंत सिंह महिला कांस्टेबल दीपिका सोनी महिला कांस्टेबल कुमारी कविता 'ऑपरेशन खुशी' के तहत जब दिनांक 29 सितंबर को धूमनगंज स्थित राजरूपपुर बालगृह पहुंचे तो वहां पर मौजूद दो बच्चों से मुलाकात हुई। बच्चों से नाम पूछने पर एक ने अपना नाम सोनू पिता का नाम स्वर्गीय रामाश्रय माता का नाम सरोज पता बिधनू कानपुर नगर उम्र 10वर्ष बताया तथा दूसरे ने अपना नाम आशीष पिता का नाम राकेश बंजारा पता चकेरी, कानपुर उम्र 10वर्ष बताया। दोनों बच्चों के बताए गए पते से संबंधित थाना प्रभारी चकेरी एवं थाना प्रभारी बिधनू से ऑपरेशन खुशी के टीम द्वारा जरिए मोबाइल से संपर्क किया गया। दोनों बच्चों का फोटो थाना प्रभारी को भेजा गया। थाना प्रभारी चकेरी व बिधनू ने बताया कि दोनों बच्चों के गायब होने के संबंध में मुकदमा लिखा गया है। थाना प्रभारी ने दोनों बच्चों के परिवार से बात कराई आशीष के पिता राकेश बंजारा व सोनू के माता सरोज दिनांक 8 अक्टूबर को इलाहाबाद आए। ऑपरेशन खुशी टीम के सदस्य दोनों बच्चों के परिवार को लेकर राजरूपपुर ले गए तथा बच्चों से मिलवाया। दोनों बच्चे अपने माता-पिता से मिलकर रोने लगे। दोनों बच्चों को उनके परिवार को सौंपा गया। सोनू की माता ने बताया कि थाना बिधनू में दिनांक 5/10/19 को अपराध संख्या 994/19 धारा 363 भा द वि मुकदमा लिखवाया गया है तथा आशीष के पिता ने बताया कि थाना चकेरी में दिनांक 7/10/19 को अपराध संख्या 566/19 धारा 363 मुकदमा लिखवाया सोनू एवं आशीष ने बताया कि 25/9/19 को दोपहर 2:00 बजे घर के सामने खेल रहे थे कि एक शिवम नाम का लड़का बहला-फुसलाकर स्टेशन ले आया और ट्रेन में बैठा कर इलाहाबाद ले आया। बताया कि काम दिलवाऊंगा और जबरदस्ती लाया था हमें।  हम दोनों ट्रेन में रोने लगे तो वह छोड़ कर भाग गया। बताया कि शिवम् पहले हमारे घर के पास रहता था पहले भी पड़ोस से बच्चो को ले गया था। हम लोगों को चाइल्ड लाइन वाले ले गए तब पुलिस आई और मेरे घर सूचना देकर हमारे परिवार से मिलवाया गया दोनों बच्चे पुलिस कार्रवाई से बहुत खुश थे।  बच्चों को उनके दोनों परिवार को दिया गया तथा थाना प्रभारी चकेरी एवं बिधनू को बताया गया कि दोनों बच्चे बता रहे थे कि शिवम् नाम का लड़का हम लोग को बहला-फुसलाकर लाया था। इस संबंध में कार्रवाई करने हेतु दोनों थाना प्रभारी को अग्रिम विधिक कार्यवाही हेतु अवगत करा दिया गया है। दोनों थाना प्रभारी ने कहा कि हम उक्त प्रकरण में गहनता से विवेचना कर बच्चों को ले जाने वाले व्यक्तियों का पता लगाकर विधिक कार्यवाही करेंगे। विजयदशमी के दिन ऑपरेशन खुशी के अन्तर्गत दो और बच्चो को उनके माता पिता से मिलवाया गया। सोनू पुत्र स्वर्गीय रामाश्रय माता का नाम सरोज पता बिधनू कानपुर नगर उम्र 10वर्ष तथा आशीष पुत्र राकेश बंजारा पता चकेरी, कानपुर उम्र 10वर्ष  को शिवम् नाम का लड़का बेहला फुसला कर उनको ले आया था। जो इन्हे प्रयागराज छोड़ चला गया। जिसको आपरेशन ख़ुशी टीम ने उसके परिवार से मिलवाया है। सहायक पुलिस अधीक्षक प्रयागराज अमित कुमार आनंद द्वारा चलाए जा रहे अभियान के अन्तर्गत अब तक 19 बच्चो को इस आपरेशन के तहत मिलवाया जा चुका  है।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


कांग्रेस सत्तारूढ़ भाजपा को दे पाएगी शिकस्त

राणा ओबराय
बिखरती हुई हरियाणा कांग्रेस क्या हरियाणा चुनाव में दे पाएगी सत्तारूढ़ भाजपा को शिकस्त

चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा कांग्रेस को झटके पर झटके लग रहे हैं। कांग्रेस का साम्राज्य बिखरता जा रहा है।हालांकि चुनाव के समय सभी पार्टियों के नेता इधर-उधर भागते है। लेकिन जबसे हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए टिकटों का बंटवारा हुआ है तबसे कांग्रेस में कुछ ज्यादा ही भागमभाग देखने को मिल रही है। टिकट घोषित होने के बाद कांग्रेस के ही लोग उसकी खिलाफत पर उतर आये हैं। अपनी ही पार्टी के प्रति विद्रोह की स्थिति पैदा कर दी है। ये वे लोग हैं जिन्होने कोई दूसरी पार्टी नहीं पकड़ी पर अब ये कांग्रेस के भी नहीं रहे हैं।ऐसे में कांग्रेस संगठन कमजोर होने की राह पर बढ़ रहा है जो कि हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ठीक नहीं है। बल्लबगढ़ से शारदा राठौड़, कुरुक्षेत्र से कैलाशो सैनी, फतेहाबाद से दुड़ाराम, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर, आदि नेताओ के कारण कांग्रेस की चूल्हे हिलने लग गयी है। दूसरी तरफ कांग्रेस के लिए अच्छी बात यह है कि दूसरे दलों से भी बहुत से मजबूत नेताओ ने भी कांग्रेस का दामन थाम कर कांग्रेस को मजबूती प्रदान की है। पार्टी छोड़ने वाले प्रदेश महासचिव टेकचंद मिढा ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए डॉ. अशोक तंवर और उनकी टीम ने काम किया और अब मजदूरी का फल लेने के लिए हुड्डा ने अपनी मनमर्जी करके टिकट वितरण किया। मिड्ढा ने कहा कि आज यहां एकत्रित हुए सभी साथी कांग्रेस हाईकमान के इस फैसले से नाराज हैं और इसीलिए हमने फैसला किया है कि पार्टी छोड़कर सभी कांग्रेसी उम्मीदवारों का विरोध किया जाएगा। विद्रोही कांग्रेस नेताओं का हुड्डा और शैलजा पर आरोप हैं कि कुछ दिन पहले आए लोगों को ही कांग्रेस ने टिकट दे दिया और पुराने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी की है। अब देखना वाली बात यह है कि इतने झटके खाने के बाद भी हरियाणा कांग्रेस क्या भाजपा को पटखनी देने में कामयाब हो पाएगी।


खो-खो प्रतियोगिता में रायबरेली को कांस्य

सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। रांची, झारखंड में आयोजित सब जूनियर वर्ग बालक बालिका की राष्ट्रीय स्तर खो-खो प्रतियोगिता में जनपद रायबरेली के चार बालक रमेश मौर्य(कप्तान),आकाश मौर्य,रौनक मौर्य,शुभांकर व चार बालिकाये काजल,पूनम,अंशिका,रुचि ने उत्तर प्रदेश की खो-खो टीम के रूप में प्रतिभाग किया। जहां पहली बार बालक वर्ग को कांस्य पदक प्राप्त हुआ ।बालकों और बालिकाओं की शानदार प्रदर्शन व उपलब्धि पर आज जनता एक्सप्रेस से रायबरेली पहुंचने पर स्टेशन पर उनका भव्य स्वागत किया गया ।स्वागत करने वालों में डिस्टिक एथलेटिक एसोसिएशन के सचिव लक्ष्मीकांत शुक्ला,जिला एवं शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान के प्रवक्ता आशुतोष त्रिपाठी,स्काउट गाइड संस्था के जिला सचिव अरविंद कुमार शुक्ला,माध्यमिक शिक्षा के जिला क्रीड़ा सचिव श्री अजय सिंह चंदेल,राजकीय इंटर कॉलेज के श्री अनीश अहमद साथ ही नितीश शुक्ला एडवोकेट शिवम त्रिवेदी, दुर्गेश शुक्ला व नितिन गुप्ता एडवोकेट आदि ने खिलाड़ियों को माला पहनाकर मिठाई खिलाकर उनका स्वागत और अभिनंदन किया ।इस अवसर पर डिस्टिक खो-खो एसोसिएशन के सचिव लक्ष्मीकांत शुक्ल ने कहा कि 9 अक्टूबर को सारे बच्चों को जो रांची में शानदार प्रदर्शन करके लौटे हैं उनको शिक्षा विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में एसोसिएशन और समाजसेवियों के द्वारा सम्मानित किया जाएगा।


नवरात्रि उत्सव का कार्यक्रम संपन्न

नवदुर्गा सेवा समिति द्वारा आयोजित सार्वजनिक नवरात्रि उत्सव का कार्यक्रम सम्पन्न


रमेश प्रजापति


जौनपर। नवदुर्गा सेवा समिति द्वारा आयोजित सार्वजनिक नवरात्रि उत्सव का कार्यक्रम मंगलवार को भद्रराव -मलाई-जौनपर में संपन्न किया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से  बम्पर डांस प्रोग्राम का आयोजन 3 दिनों से किया गया था। जिसका फाइनल मंगलवार को किया गया। जिसमें इस बम्पर डांस के न्यायाधीश रहे आशे मौर्य ,बबलू सिंह, कल्लू सिंह व लक्ष्मी शंकर सिंह। जिसमे प्रथम पुरस्कार कुलदीप मिश्रा (रेंजर सायकल), दूसरा पुरस्कार रविन्द्र विश्वकर्मा (म्युझिक सिस्टम), तीसरा पुरस्कार (फर्राटा पंखा) दिया गया। इस नवरात्रि पर्व में जौनपर ,बदलापुर, गोरखपुर, हड़िया, प्रयागराज व अन्य दूर दराज के सभी  डांसरों ने भाग लिया। साथ ही साथ 5000 से  7000 हजार देवी भक्तों में माता का दर्शन किया। जिसके प्रमुख मौजूद रहे संस्थापक दिनेश प्रजापति(पंडित), कार्याध्यक्ष रमेश प्रजापति, अध्यक्ष जी.ड़ी प्रजापति, उपाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद प्रजापति(प्रधान), भोनू विश्वकर्मा
कोषाध्यक्ष गोविंद प्रजापति, रमेश प्रजापति ,रामशंकर प्रजापति, विमल मिश्रा, पूजा व्यवस्था रामदत्त प्रजापति, अशोक प्रजापति, बोने शर्मा ,अभय प्रजापति ,कृष्ण कुमार प्रजापति इलेक्टिशन सोनू प्रजापति, सोनू प्रजापति, चंद्रशेखर प्रजापति, प्रबंधक राजू प्रजापति, व्यवस्था  सूरज गौंड, मनोज प्रजापति, रोहित प्रजापति, कमलेश प्रजापति, सन्तोष प्रजापति, वीरू शर्मा, दीपक प्रजापति, धर्मेंद्र मौर्य, विजयशंकर मौर्य, रीतू प्रजापति, विवेक गौड़, आशीष प्रजापति, राहुल प्रजापति, अर्जुन प्रजापति, शिवम प्रजापति, अजय प्रजापति, धीरू शर्मा, संजय प्रजापति, अमन प्रजापति ,दाउ गौंड,शेखर प्रजापति, व अन्य सभी  कार्यकर्ता,पदाधिकारी व सभी दर्शकों शामिल रहे।


सीएम योगी ने अखिलेश पर कसा तंज

गोरखपुर। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर मामले में सोमवार को सपा के मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। योगी ने कहा कि जिनकी भूमिका नकारात्मक हो, उनसे सकारात्मक अपेक्षा करना ठीक नहीं है। हमने गांधी जयंती पर 36 घंटे विधानसभा चलाई ताकि बापू के विचारों पर चर्चा हो सके। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान सभी को करना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए निर्णय जरूरी है।


गोरखपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए योगी ने यह बातें कही। योगी ने कहा, ”कहते हैं कि सैकड़ों सालों से चल रहे एक विवाद का पटाक्षेप होना चाहिए। जिससे देश के प्रत्येक नागरिक के मन में विश्वास पैदा हो सके। योगी ने कहा कि दुर्भाग्य है कि जिनको जनता के मुद्दे से कोई मतलब नहीं उन्होंने वॉक आउट किया और ये गांधी जी का अपमान है। सरकार का एजेंडा स्पष्ट है कि विकास का जो मॉडल मोदीजी ने खड़ा किया है वो हमारी प्रेरणा है।”


अखिलेश ने योगी के बयान पर उठाए थे सवाल
इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा, 'आज अखबारों में देखने को मिला कि वह (योगी) कह रहे हैं कि जल्द ही खुशखबरी मिलेगी। सपा प्रमुख ने सवालिया लहजे में पूछा कि उन्हें कैसे पता चला कि आयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट का क्या फैसला आने वाला है?” अखिलेश ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सीएम योगी के बयान का वीडियो भी दिखाया।


गांधी जयंती पर चले सत्र पर भी बोले थे अखिलेश
अखिलेश ने कहा, 'गांधी जी की 150 जयंती मनाई गई, जिसमें विधानसभा का 36 घंटे का सत्र चला। लेकिन भाजपा सत्य और अहिंसा का पालन नहीं करती। सरकार विधानसभा में झूठ बोल रही है। मेट्रो से लेकर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे तक हमारे (सपा सरकार) प्रोजेक्ट हैं।'


मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा- खुशखबरी जरूर मिलेगी
अयोध्या में आज मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी इकबाल अंसारी ने कहा कि अयोध्या को खुशखबरी जरूर मिलेगी, लेकिन कोर्ट हमेशा सबूतों के आधार पर फैसला करता है। साथ ही अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट जो भी फैसला करेगा हम उसे मानने को तैयार हैं। अंसारी ने कहा कि कोर्ट तय करेगा कि फैसला किसके पक्ष में होता है।


जम्मू-कश्मीर से एडवाइजरी हटाने का आदेश

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को दो महीने से अधिक पुरानी एडवाइजरी को हटाने का निर्देश दिया, जिसमें पर्यटकों को घाटी छोड़ने के लिए कहा गया था। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि गृह विभाग ने एडवाइजरी को तत्काल हटाने के लिए कहा है। यह 10 अक्तूबर से प्रभावी होगा। इससे राज्य में पर्यटकों का आना-जाना शुरू हो जाएगा। राज्य प्रशासन ने 2 अगस्त को एक सुरक्षा सलाह जारी की थी। इसमें घाटी में आतंकी खतरे का हवाला देते हुए अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को जल्द से जल्द कश्मीर छोड़ने के लिए कहा था। यह जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के ठीक पहले जारी की गई थी।


मलिक मुख्य सचिव के साथ घाटी में सुरक्षा इंतजामों का जायजा ले रहे थे। इस बैठक में प्लानिंग एंड हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट विभाग के मुख्य सचिव भी मौजूद थे। राज्यपाल को इस दौरान कश्मीर में होने वाले पंचायत चुनावों की तैयारियों के बारे में भी बताया गया। उन्हें बताया गया कि इन चुनावों में लोग बढ़ चढ़ कर रुचि ले रहे हैं और कई सीटों पर नामांकन भी फाइल किए जा चुके हैं। इसके अलावा राज्यपाल को सेब के व्यापार में हो रही प्रगति के बारे में भी बताया गया। सेब की कीमतों में कुछ बदलाव भी किए जा रहे हैं जिसकी घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी।


आदेशों के विरुद्ध जिला-अस्पताल के चिकित्सक

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों की धज्जियाँ उड़ाते मुरादाबाद के जिला अस्पताल के डॉक्टर


मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद के जिला अस्पताल के डॉक्टर योगी सरकार को बदनाम करने का काम कर रहे है जिला अस्पताल में मरीज़ों का हो रहा है शोषण इमरजेंसी में बैठे डॉक्टर कर रहे है मरीज़ों का उत्पीड़न इमरजेंसी से डॉक्टर बोलते है ओपीडी मे दिखाओ ओपीडी मे जाने के बाद देखा जाता है कि डॉक्टर अपने चैम्बर मे ही नही है सुबह 11: 00 बजे डॉक्टर चैम्बर मे क्यों नही है और जो वहाँ डॉक्टर के जूनियर बैठे होते है वो बोलते है इमरजेंसी मे दिखाओ जब इस सम्बंध मे सीएमएस डॉक्टर ज्योत्स्ना पन्त से शिकायत की गई तो सीएमएस ज्योत्स्ना पन्त के लिखकर देने के बाद ही इमरजेंसी मे बैठे हुए डॉक्टर ने मरीज़ को भर्ती किया जिसमें मरीज़ को इमरजेंसी वार्ड के बेड खाली होने के बाद भी मेडिकल वार्ड तृतीय मंज़िल पर भर्ती किया है जिसमे मरीज़ के तीमारदार ने जब डॉक्टर से इमरजेंसी वार्ड मे भर्ती करने की बात कही तो डॉक्टर ने बोला कि सीएमएस मेडम से कहो वही इमरजेंसी मे भर्ती करेंगी जहाँ एक तरफ तो सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी जनता को बेहतर व अच्छा उपचार दिलाने की बात कर रहे है प्रधानमंत्री जी आयुष्मान कार्ड के माध्यम से निःशुल्क व बेहतर उपचार दिलाने की बात कर रहे तो जिला अस्पताल के डॉक्टर उस पर पलीता लगाते साफ़ नज़र आ रहे है। 


रेहान अंसारी


सपा ने पुतला फूंक किया विरोध प्रदर्शन

तारिक आज़मी


वाराणसी। झाँसी में सोमवार को हुवे ट्रक मालिक पुष्पेन्द्र यादव एनकाउंटर केस को सपा ठंडा नही पड़ने देना चाहती है। इस एनकाउंटर पर सपा लगातार सवालिया निशाँ लगाते हुवे। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन कर रही है। इसी क्रम में वाराणसी के कोतवाली थाना क्षेत्र के मैदागिन पर आज छात्र नेता और पूर्व अध्यक्ष पद प्रत्याशी समन यादव के नेतृत्व में समाजवादी छात्र सभा के सदस्यों ने पुतला दहन किया।


प्राप्त समाचारों के अनुसार पुष्पेन्द्र यादव एनकाउंटर प्रकरण में विरोध दर्ज करवाने हेतु छात्र संघ अध्यक्ष पद प्रत्याशी रहे समन यादव आप समाजवादी छात्र सभा के अन्य सदस्यों के साथ मैदागिन पर पुतला दहन करने पहुचे। इस दौरान पुलिस द्वारा पुतला छीनने का भी प्रयास हुआ, मगर छात्र नेताओ ने पुतले को आग लगा दिया। बताया जाता है कि इसी हड़बड़ी में पुतले को लगी आग के चपेट में एक छात्र नेता भी आ गया। जिसके पैरो के पास कपडे ने आग पकड़ लिया था। मौके पर मौजूद छात्र नेताओ ने तत्परता दिखाते हुवे तुरंत उसके शरीर से आग को बुझा दिया और फौरी इलाज हेतु अज्ञात स्थान पर लेकर चले गये। दुर्घटना में शिकार छात्र का नाम ऋषि यादव बताया जा रहा है।


बताया जाता है कि पुतला दहन जिस दौरान हुआ उस दौरान मौके पर अम्बिया मंडी चौकी इंचार्ज अनिल मिश्रा मौके पर थे, और उन्होंने पुतला छीनने का भी प्रयास किया मगर असफल रहे. पुतला दहन की जानकारी होते ही प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया और मौके पर थाना प्रभारी कोतवाली तथा थाना प्रभारी आदमपुर अपने दल बल के साथ पहुच गये। पुलिस के पहुचने से पहले ही छात्र मौके से फरार हो चुके थे और पुतला फुका जा चूका था। पुलिस पुतला दहन करने का नेतृत्व कर रहे समन यादव को लेकर कोतवाली आ गई है। आगे की कार्यवाही प्रचलित है। इस दौरान थाना कोतवाली में सपाइयो का जमावड़ा लगा हुआ है।गौरतलब हो कि सोमवार को झाँसी में पुलिस मुठभेड़ के दौरान ट्रक मालिक पुष्पेन्द्र यादव की मौत हो गई थी। पुष्पेन्द्र के परिजनों का आरोप है कि बिना उनको सुचना दिए ही पुलिस ने पुष्पेन्द्र के लाश का अंतिम संस्कार कर डाला। इस दौरान पुष्पेन्द्र के परिजन कई गंभीर आरोप भी पुलिस पर लगा रहे है। इस कथित एनकाउंटर के विरोध में सपा लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही है। यही नही वाराणसी के विश्व प्रसिद्ध भरत मिलाप में यादव समुदाय के द्वारा रथ खीचा जाता था। आज जारी बयान में यादव समुदाय ने एलान किया है कि वह रथ को हाथ नही लगायेगे।


शेहला रशीद ने छोड़ी चुनावी राजनीति

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी की पूर्व छात्रा और नेता शेहला रशीद ने चुनावी राजनीति को बॉय बॉय बोल दिया है। शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट ज्वाइन करने वाली शेहला रशीद का कहना है कि वह वह कश्मीरियों के साथ हो रहे बर्ताव को बर्दाश्त नहीं कर सकती हैं। शेहला रशीद ने कहा कि केंद्र सरकार अब दुनिया को चुनाव कराकर दिखाना चाहेगी कि अभी भी कश्मीर में लोकतंत्र है, लेकिन जो चल रहा है वह लोकतंत्र नहीं, उसकी हत्या है।
शेहला ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा था, कश्मीर में प्रतिबंध हटाने के लिए भारत पर अंतर्राष्ट्रीय दबाव है। ऐसे में सरकार चुनाव कराकर यह दिखाना चाहती है कि अभी भी लोकतंत्र जिंदा है। हालांकि जो चल रहा है वो लोकतंत्र नहीं है बल्कि लोकतंत्र की हत्या है। यह कठपुतली नेताओं को स्थापित करने की योजना है। शेहला ने लिखा कि इंसाफ की लड़ाई सच बोलने से ज्यादा भी कुछ मांगती है। मुझ पर सच बोलने के लिए देशद्रोह का आरोप लगा। लेकिन यह मुझे सच बोलने से विचलित नहीं कर सकता। जहां जरूरत होगी मैं अपनी आवाज बुलंद करती रहूंगी। गौरतलब है कि शेहला राशिद के खिलाफ जम्मू कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन के बारे में उनके बयान को लेकर उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया था।


भारत की जमुना क्वार्टर फाइनल मे

नई दिल्ली। भारत की जमुना बोरा ने बुधवार को दमदार प्रदर्शन करते हुए यहां जारी विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 54 किलोग्राम भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। जमुना ने दूसरे दौर के मैच में पांचवीं सीड अल्जीरिया की ओयूदाद साफोउ को 5-0 से मात दी। पांचों रैफरियों ने जमुना के पक्ष में अंक दिए। जमुना को पांच रैफिरयों ने 28-29, 27-30, 27-30, 27-30, 27-30 ने अंक दिए। पहले दौर में जमुना आक्रामक होकर खेल रही थीं, लेकिन जल्दबाजी में वह गलतियां भी कर रही थीं। वह हालांकि अपने बाएं जैब के जरिए ओयूदाद को चकमा दे दाएं जैब से अंक लेने में सफल रहीं। जमुना, ओयूदाद के बेहद करीब जाकर खेल रही थीं। दूसरे दौर में उन्होंने अपनी रणनीति बदली और इंतजार कर ओयूदाद के पास आने का मौका ढ़ूंढ़ा। उनके कुछ पंच सटीक रहे। वह बाएं-दाएं संयोजन का अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं। तीसरे दौर में भी शुरुआत में उन्होंने यही रणनीति अपनाई, लेकिन अंत में वह थोड़ी पिछड़ने लगीं। जमुना ने हालांकि अपने आप को तुरंत संभाला और डिफेंसिव होते हुए बढ़त को जाया नहीं जाने दिया।


1000 फुट की ऊंचाई से गिरा, सलामत

डोंगरगढ़। यदि कोई व्यक्ति 1 हजार फीट से नीचे गिरता है और बच जाए तो उसे आप चमत्कार ही कहेंगे। जी हां कुछ ऐसा ही मामला देखने को मिला है डोंगरगढ़ के विश्व प्रसिद्ध माँ बम्लेश्वरी मंदिर जो कि जमीन से लगभग 1 हजार फीट ऊपर पहाड़ पर स्थित है और वहां स्थित सेल्फी प्वाइंट से एक व्यक्ति जिसका नाम महेश साहू जो मुंगेली का निवासी है नीचे गिर पड़ा जिसकी सूचना मंदिर ट्रस्ट द्वारा प्रशासन को दी गई। इसके बाद स्थानीय पुलिस द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन लॉन्च किया गया। लेकिन इसे आप चमत्कार ही कहेंगे कि इतनी ऊंचाई से गिरने के बाद भी युवक जिंदा बच गया और पुलिस के सिपाहियों ने अपनी पीठ पर उठा कर उसे नीचे एम्बुलेंस तक पहुंचाया। जहां से उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोंगरगढ़ ले जाया गया जहां उसका इलाज जारी है। पुलिस विभाग द्वारा मामले की जांच जारी है।


मूर्ति विसर्जन के दौरान 10 युवक डूबे

धौलपुर। राजस्थान के धौलपुर में बीते रोज मूर्ति विसर्जन के दौरान एक बड़ा हादसा हुआ। नदी में मूर्ति विसर्जन के दौरान 10 युवक डूब गए। यह दर्दनाक हादसा दीहोली इलाके में महंदपुरा गांव के पास भूरा घाट पर हुआ। जानकारी के मुताबिक, महंदपुरा गांव में रहने वाले लोग चंबल नदी में मूर्ति विसर्जन करने के लिए पहुंचे। बताया जा रहा है कि इस बीच दो युवक नदी में नहाने चले गए। इस दौरान वे तेज बहाव में डूबने पर छटपटाने लगे। उन्हें बचाने के लिए जो लोग भी नदी में उतरे वे सभी तेज बहाव में बह गए।गोताखोरों की टीम घटनास्थल पर पहुंची और रेस्क्यू शुरू किया। वहीं पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में एक नाव पलटने के बाद पानी में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई। मारे गए बच्चों में दो सगे भाई-बहन थे। यह हादसा मालदा जिले के वैष्णवनगर इलाके में हुआ है।


चीनी अधिकारियों के वीजा पर रोक

वॉशिंगटन। अमेरिका ने चीन की 28 संस्थाओं पर बैन के बाद अब उसके अधिकारियों के वीजा पर भी रोक लगा दी है। अमेरिका ने मंगलवार को चीन के अशांत शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों के दमन को लेकर यह फैसला लिया है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने एक बयान में कहा, अमेरिका चीन से अपील करता है कि वह शिंजियांग में दमन के अपने अभियान को तत्काल बंद करे। अमेरिका ने चीन पर स्वायत्त शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों के हाइटेक सर्विलांस और कठोर नियंत्रण का आरोप लगाया है।
Ad


अमेरिकी विदेश मंत्री पॉम्पियो ने कहा, चीन सरकार ने शिनजियांग प्रांत में उइगर, कजाख और किर्ग अल्पसंख्यक मुस्लिमों पर कड़े नियंत्रण की कोशिशें की हैं। उन्होंने कहा,'चीन ने अपनी इस कार्रवाई के तहत बड़े पैमाने पर अल्पसंख्यक मुस्लिमों को डिटेंशन कैंपों में रखा है। हाई-टेक सर्विलांस किया जा रहा है। उनकी सांस्कृतिक और धार्मिक पहचान पर कड़ा नियंत्रण रखा जा रहा है। इसके अलावा विदेश से लौटने वाले लोगों पर भी तरह-तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं और कड़ी निगरानी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ये वीजा प्रतिबंध चीन सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के पदाधिकारियों पर है, जो उइगर, कजाख और किर्ग समेत चीन में रहने वाले तमाम मुस्लिमों पर कठोर नियंत्रण के लिए जिम्मेदार हैं। यही नहीं अमेरिका ने इन अधिकारियों समेत उनके परिवारों पर भी वीजा प्रतिबंध लागू करने का फैसला लिया है। अमेरिका ने इस फैसले से एक दिन पहले ही चीन की 28 संस्थाओं को भी ब्लैकलिस्ट करने का फैसला लिया था।


कांग्रेस को बस विरोध करना आता है

कैथल। केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस काे बस विरोध करना आता है, चाहे वह राफेल हो या अनुच्‍छेद 370 को हटाने का मामला। उन्‍हें पूरा भरोसा है कि किसानों की भूमि हरियाणा में भाजपा 75 पार के लक्ष्य के साथ फिर सरकार बनाएगी। उन्‍होंने कांग्रेस को राफेल और अनुच्‍छेद 370 के मामले पर जमकर घेरा। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने देश की सुरक्षा के लिए अहम राफेल का विरोध किया। जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटाने का भी इन लोगों ने विरोध किया।


अमित शाह ने यहां भाजपा की विजय संकल्‍प रैली में कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में कल राफेल का 'शस्‍त्र पूजन' किया। कांग्रेस को यह पसंद नहीं आया। क्या विजयदशमी पर 'शस्‍त्र पूजन' नहीं किया जाता है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस को बस विरोध करना है। उन्‍होंने विजय दशमी पर राफेल को सेना में शामिल करने के लिए पीएम मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को बधाई। उन्‍होंने कहा कि राफेल का सेना में शामिल होना कांग्रेस को बुरा लगा रहा है। कांग्रेस को सोचना चाहिए कि किस चीज का विरोध करना चाहिए और किसका नहीं।


उन्‍होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा चुनाव प्रचार अभी शुरू हुआ है। विरोधियों को समझ नहीं आ रहा कि चुनाव अभियान पूर्व से शुरू करें या पश्चिम से। राज्‍य में विपक्ष पूरी तरह गफलत में है। सीएम मनोहर ने पांच साल शासन किया। मनोहर सरकार की कोई जाति नहीं है। चौटाला आते थे तो गुंडागर्दी बढ़ती थी, हुड्डा आते थे तो भ्रष्टाचार संग लाते थे। अब न गुंडाराज और न भ्रष्टाचार। नौकरियों का बाजार अब बीते जमाने की बात हुई। अब नौकरियों में भ्रष्‍टाचार खत्म हुआ है। उन्‍होंने कहा कि हरियाणा की मनोहरलाल सरकार ने लिंग अनुपात सुधारने काम किया।


जाति विशेष को दी गई है तवज्जो

नई दिल्ली। जाति (caste) है कि जाती ही नहीं। जाएगी भी कैसे? जात-पात खत्म करने का नारा देने वाली पार्टियां अपना चुनाव जातीय गुणा-भाग करके ही लड़ती हैं। अपना कोर वोटबैंक (Vote Bank) देखकर टिकट वितरण करती हैं। हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election 2019) भी इससे अछूता नहीं है। इस प्रदेश में करीब 25 फीसदी जाटों (Jat) की आबादी होने का दावा किया जाता है, इसलिए बीजेपी (BJP), कांग्रेस (Congress) और जेजेपी (JJP) ने इसी समाज को सबसे ज्यादा टिकट दी है। जेजेपी ने 34, कांग्रेस ने 27 और बीजेपी ने 20 जाट उम्‍मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है।


कांग्रेस ने अपने पुराने वोटबैंक पंजाबी (Punjabi) को नाराज कर लिया है। वजह ये है कि पिछली बार पंजाबी समुदाय बीजेपी की ओर शिफ्ट कर गया था। इसलिए इस बार कांग्रेस ने सिर्फ दो पंजाबियों को टिकट दी है। यहां तक कि पानीपत जैसी पंजाबियों की पारंपरिक सीट पर उसने पंजाबी को टिकट नहीं दी। फरीदाबाद में एक टिकट हमेशा पंजाबी को मिलती थी, लेकिन इस बार उसने किसी पंजाबी को टिकट नहीं दी। इसे केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने बाकायदा मुद्दा बना दिया है। कह रहे हैं कि पंजाबियों की उपेक्षा कांग्रेस को भारी पड़ेगी। इसीलिए वो बड़खल से अपनी प्रत्याशी पंजाबी समाज से आने वाली सीमा त्रिखा को साथ लेकर कांग्रेस के सबसे पुराने पंजाबी नेताओं में से एक पूर्व मंत्री एसी चौधरी के घर समर्थन मांगने पहुंच गए। चौधरी कांग्रेस नेतृत्व से नाराज हैं। बीजेपी ने 9 पंजाबियों को मैदान में उतारा है।


कांग्रेस ने राजपूत (Rajput) समाज को भी इस बार टिकट वितरण में साइडलाइन कर दिया है। पार्टी ने इस समाज से सिर्फ दो उम्‍मीदवारों को मैदान में उतारा है। वहीं, बीजेपी ने 4 तो जेजेपी ने सिर्फ एक प्रत्‍याशी को चुनाव लड़ाने का फैसला किया है।


वैश्य समाज:-वैश्य (Bania) समाज बीजेपी का पारंपरिक वोटर रहा है, इसलिए पार्टी ने इसके 9 प्रत्याशियों पर दांव लगाया है। दूसरी ओर कांग्रेस ने 5 और जेजेपी ने इस समाज के 4 लोगों को टिकट दिया है। बीजेपी ने सबसे ज्यादा 7 ब्राह्मणों (Brahmin)  को टिकट दी है। इसके मुकाबले जेजेपी ने 6 और कांग्रेस 5 को मैदान में उतारा है।


मुस्लिमों (Muslim) को सबसे ज्यादा 6 टिकट कांग्रेस ने दी है. वहीं, चार को जेजेपी ने और 3 को बीजेपी ने मैदान में उतारा है। गुर्जर समाज के 6-6 लोगों को जेजेपी और कांग्रेस ने और 5 को बीजेपी ने टिकट से नवाजा है। हालांकि, यादव समाज के मामले में सबने बराबरी की है। इन तीनों पार्टियों ने इस समुदाय से तीन-तीन प्रत्‍याशी उतारे हैं। बीजेपी ने अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के लोगों को 17 टिकट दी है। कांग्रेस और जेजेपी ने 18-18 उम्‍मीदवारों को उतारे का फैसला किया है।


बिजली निगम भर्ती का मुद्दा गरमाया

करनाल। हरियाणा सरकार ने बिजली निगम में सब डिवीजनल ऑफिसर (SDO) की भर्ती के लिए दोबारा नए सिरे से आवेदन आमंत्रित करने का फैसला किया है। वहीं इस पर चुनावी मौसम में राजनीतिक श्रेय की होड़ की बात भी सामने आई है। एक ओर जेजेपी अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला अपने द्वारा मुद्दा उठाए जाने के परिणामस्वरूप इस फैसले को प्रदेश के युवाओं की जीत बता रहे थे, वहीं करनाल पहुंचे सीएम मनोहर लाल ने कहा कि दुष्यंत बेवजह इसका श्रेय लेने में लगे हैं।


दरअसल हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम ने 27 जून को विज्ञापन जारी करते हुए SDO के पद के लिए आवेदन मांगे थे। आवेदन के बाद चर्चा में आया कि 80 में से हरियाणा के सिर्फ 2 ही युवाओं को मौका मिल पाया है। मंगलवार को चर्चा उठी कि हरियाणा सरकार ने इस भर्ती को रद्द कर दिया है। 4 अक्टूबर को हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड के डिप्टी सेक्रेटरी की तरफ से जारी एक नोटिफिकेशन भी चर्चा में है। इसमें लिखा गया है कि इनके लिए आवेदन करने वाले युवा डिप्टी सेक्रेटरी को अपनी फीस वापसी के लिए लिख सकते हैं। इसके लिए अभ्यर्थियों को नाम, बैंक खाता, बैंक शाखा और आईएफएससी कोड उपलब्ध कराना होगा, जिसके बाद उन्हें फीस वापस कर दी जाएगी।


दुष्यंत चौटाला ने बताई जेजेपी की पहली जीत
बता दें इस मामले में 30 अगस्त को ट्वीट करते हुए दुष्यंत चौटाला ने लिखा था कि हरियाणा की नौकरियों में 75% नौकरियां यहां के युवाओं को मिले। बिजली निगम में भर्ती किए गए कुल 80 एसडीओ में से 78 बाहरी राज्यों से हैं, जबकि हरियाणा से सिर्फ दो युवाओं को नौकरी मिल पाई और ये सरासर अन्याय है। उन्होंने कहा कि यह भर्ती रदद् होना जेजेपी की पहली जीत है।


बीएसएनएल डोंट शे नव 'कनेक्टिंग इंडिया

नई दिल्ली। इस बात से अवगत करा दें कि इसको लेकर गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बनी ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स (जीओएम) के बीच सहमति बन गई है। और जीओएम ने इस प्लान को हरी झंडी दे दी है। वहीं रिवाइवल प्लान के तहत सरकार एमटीएनएल और बीएसएनएल के कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र कम कर 58 साल करेगी। स्पेशल केस के तहत कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र कम होगी। इन सब के बीच इस बात से भी अवगत करा दें कि सरकार एमटीएनएल और बीएसएनएल के 50 साल से ऊपर के करीब 85 हजार कर्मचारियों को वीआरएस स्कीम देगी। इससे दोनों कंपनियों में 85 हजार कर्मचारी ही बचेंगे। अभी दोनों में मिलाकर 1.80 लाख कर्मचारी हैं। वीआरएस पर सरकार 40 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी। सरकार अगले 8 साल के अंदर कर्मचारियों को रकम चुकाएगी।


पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष को दिनदहाड़े गोली मारी

सुनील उपाध्याय 
 बस्ती। जिले के एपीएन पीजी कालेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष आदित्य नारायण तिवारी कबीर को बुधवार को शहर के मालवीय रोड स्थित अग्रवाल भवन परिसर में गोली मार दी गई। गोली लगने से गंभीर रूप से घायल कबीर को जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां स्थिति नाजुक देख चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ रेफर कर दिया लखनऊ ले जाते समय रास्ते में छात्र नेता की मौत।


विरोध में सड़क जाम:-घटना से आक्रोशित भाजपा नेताओं व आम लोगों ने जिला अस्पताल के पास सड़क जाम कर दिया है। आक्रोशित लोगों ने घटना के लिए पुलिस को जिम्‍मेदार बताया है।


तमंचे से किया फायर:-बताया जा रहा है कि दो युवक बाइक पर सवार होकर कोतवाली क्षेत्र में स्थित अग्रवाल भवन परिसर में पहुंचे। जब तक लोग कुछ समझ पाते एक युवक ने तमंचे से कबीर पर फायर कर दिया। कबीर ने बचने की कोशिश की तो गोली उनके हाथ को छूते हुए सीने में जा लगी। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़ पड़े।


दो हमलावर पकड़े गए:-एक युवक मौके पर ही पकड़ा गया। दूसरा भागते समय पिकौरा शिव गुलाम मोहल्ले में एक व्यक्ति के घर में घुस गया, जिसे भीड़ ने दबोच लिया। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। भीड़ को शांत करने का प्रयास किया जा रहा है। जिला अस्पताल मार्ग को सुरक्षा की दृष्टि से बंद कर दिया गया है। शहर में चौकसी बढ़ा दी गई है।


जम्मू-कश्मीर बीडीसी चुनाव का बहिष्कार

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में होने वाले ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल चुनाव (बीडीसी) चुनाव का कांग्रेस भी बहिष्कार करेगी। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीए मीर ने कहा कि कश्मीर में राजनीतिक नेता नजरबंद हैं। चुनाव आयोग को ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल चुनाव ऐलान से पहले राजनीतिक दलों से बात करनी चाहिए थी। जब नेता हिरासत में होते हैं तो राजनीतिक दल चुनाव में कैसे हिस्सा ले सकते हैं। अगर सरकार ने सभी नेताओं को रिहा कर दिया होता तो हम चुनाव में हिस्सा लेते, लेकिन हम चुनाव का बहिष्कार करेंगे।


केंद्रीय कैबिनेट की बैठक,कई अहम फैसले

नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में कई अहम मुद्दों पर फैसले लिए गए। जिसमें महंगाई भत्ते को 5 फीसदी बढ़ाने का फैसला। डीए 12 % से बढ़कर 17% हुआ । 50 लाख सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा फायदा।


प्रकाश जावड़ेकर  केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री  के द्वारा आज केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए बताया। पीओके से आए विस्थापितों के लिए मदद का ऐलान किया गया। इससे 5300 परिवारों को 5.5-5.5 लाख रुपये की मदद मिलेगी।प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के सालाना दी जाने वाले 6 हजार रुपये की धनराशि के लिए नवंबर तक आधार की जरूरत नहीं पड़ेगी। नवंबर तक आधार की वजह से किसी किसान के पैसे नहीं रुकेंगे।


लोकल ट्रेन में आग,खाली कराया स्टेशन

मुंबई। मुंबई के वाशी रेलवे स्टेशन पर बड़ा हादसा होते-होते टल गया। यहां पनवेल की ओर जा रही लोकल ट्रेन में बुधवार सुबह आग लग गई। पूरे वाशी रेलवे स्टेशन खाली कराया गया। आग लगने की सूचना मिलते ही रेलवे स्टेशन में अफरा-तफरी मच गई। जानकारी के अनुसार आग पेंटोग्राफ में लगी। हालांकि हादसे में किसी भी प्रकार की जनहानि की खबर नहीं है। बताया जा रहा है कि ट्रेन में पहले शॉर्ट सर्किट हुआ और फिर तेजी से आग फैल गई। यह ट्रेन पनवेल की तरफ जा रही थी। हादसे के बाद नवी मुंबई से पनवेल की ओर जाने वाली ट्रेनों को रोक दिया गया था। बड़ी संख्या में रेलवे अधिकारी और अग्निशमन दल के कर्मचारी आग की सूचना पर स्टेशन पहुंच गए थे। आग लगने के कुछ ही देर बाद इस पर काबू पा लिया गया। इसके थोड़ी ही देर बाद पनवेल की तरफ जाने वाली ट्रेनाें को भी रवाना कर दिया गया। रेलवे अधिकारियों के अनुसार आग के चलते थोड़ी देर के लिए यातायात बाधित हुआ था लेकिन जल्द ही उसे ठीक कर दिया गया। फिलहाल यातायात सामान्य है।


पट्टा धारकों के हित में समिति का गठन

बलरामपुर। जिले में पट्टाधृति अधिकारों का प्रदान किया जाना अधिनियम के अन्तर्गत समयसीमा में कार्यवाही करने हेतु कलेक्टर संजीव कुमार झा द्वारा जिला स्तर पर समिति का गठन किया गया है। गठित समिति में अपर कलेक्टर विजय कुमार कुजूर को अध्यक्ष एवं डिप्टी कलेक्टर ज्योति बबली बैरागी को संयोजक तथा सर्व मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को सदस्य नियुक्त किया है। कलेक्टर ने समिति के संयोजक को अधिनियम के क्रियान्वयन के संबंध में प्रत्येक सप्ताह होने वाली समय-सीमा बैठक में अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत करने को कहा है।


टाटा ने कम कीमत वाली 1 कार बेची

मुबंई। वाहन बनाने वाली देश की प्रमुख कंपनी टाटा मोटर्स ने इस साल के पहले नौ महीने में कम कीमत वाली अपनी नैनो कार की एक भी यूनिट का उत्पादन नहीं किया है। कंपनी ने फरवरी में केवल एक कार बेची थी। हालांकि टाटा मोटर्स ने आधिकारिक रूप से इस मॉडल को बंद करने के बारे में कोई घोषणा नहीं की है। कंपनी अब तक कहती रही है कि नैनो के भविष्य को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया है। कार उत्पादन की योजना मांग, पहले के बचे भंडार और नियोजित दक्षता पर आधारित है।


बीएस6 मानकों पर खरी नहीं उतरेगी नैनो


हालांकि टाटा मोटर्स ये स्वीकार करती है कि नैनो का मौजूदा रूप नए सुरक्षा नियमन और भारत स्टेज-6 (BS-VI) उत्सर्जन मानकों को पूरा नहीं कर पाएगा। कंपनी की शेयर बाजारों को दी गई सूचना के अनुसार इस साल सितंबर में घरेलू बाजार में नैनो का उत्पादन और बिक्री नहीं हुई। ये लगातार नौवां महीना है जब टाटा मोटर्स ने नैनो की एक भी इकाई का उत्पादन नहीं किया।


'ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया' आएगी नजर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने देश में पर्यावरण के संरक्षण और हरित क्षेत्र को बढ़ाने के लिए 1,400 किलोमीटर लंबी ग्रीन वॉल तैयार करने का फैसला लिया है। अफ्रीका में सेनेगल से जिबूती तक बनी हरित पट्टी की तर्ज पर गुजरात से लेकर दिल्ली-हरियाणा सीमा तक 'ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया' को विकसित किया जाएगा। इसकी लंबाई 1,400 किलोमीटर होगी, जबकि यह 5 किलोमीटर चौड़ी होगी। अफ्रीका में क्लाइमेट चेंज और बढ़ते रेगिस्तान से निपटने के लिए हरित पट्टी को तैयार किया गया है। इसे ग्रेट ग्रीन वॉल ऑफ सहारा भी कहा जाता है।


सरहदी गांवों में पाकिस्तानी ड्रोन दिखा

नई दिल्ली। पाकिस्‍तान अपनी कायराना हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। इंडो-पाक सीमा पर लगातार दूसरे दिन ड्रोन देखने का मामला सामने आया है। यह ड्रोन भारत पाकिस्तानी सीमा से लगे गांव टेंड्डी वाला के पास नजर आया। लोगों ने इस ड्रोन को कैमरे में कैद किया है। सुरक्षा एजेंसियों ने चौकसी बरतनी शुरू कर दी हैं। स्‍थानीय लोगों का कहना है कि पंजाब के फिरोज़पुर के हुसैनीवाला बॉर्डर के पास मंगलवार रात एक ड्रोन को देखा गया। सरहदी गांव हाजरा सिंह वाला के पास और टेंडीवाला गांव के पास पाकिस्तानी ड्रोन देखा गया। थोड़ी ही देर बाद ड्रोन गुम हो गया। पुलिस-प्रशासन ने स्‍थानीय लोगों से सतर्कता बरने की अपील की है। इस घटना के बाद सरहदी गांवों में दहशत का माहौल है और ग्रामीण खौफ में हैं।


अर्थव्यवस्था की सुस्ती पर वैश्विक चेतावनी

वाशिंगटन। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने आर्थिक सुस्ती को लेकर चेतावनी जारी की है। आईएमएफ चीफ क्रिस्टालिना जॉर्जिएवा ने कहा कि इस वक्त वैश्विक अर्थव्यवस्था में आर्थिक सुस्ती देखी जा रही है, जिसके कारण 90 फीसदी देशों की विकास की रफ्तार धीमी चल रही है। वहीं तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था होने के चलते भारत पर इसका अन्य देशों के मुकाबले ज्यादा असर देखने को मिल सकता है। उन्होंने कहा कि साल 2019 में हमें लगता है कि दुनिया के 90 फीसदी देशों में ग्रोथ रेट सुस्त रहेगी। वैश्विक अर्थव्यवस्था अब सुस्ती के दौर में है।


राफेल: मिनट में 2500 राउंड फायरिंग

नई दिल्ली। दशहरा विजयादशमी के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज पेरिस में राफेल विमान की पूजा की। फ्रांस ने भारत को RB 001 राफेल विमान सौंप दिया है। वायुसेना के लिए यह दिन ऐतिहासिक था। भारतीय वायुसेना (IAF) को आज अपना पहला राफेल (Rafale) लड़ाकू विमान मिल गया है। आज से वायुसेना की ताकत दोगुनी हो गई है. राफेल को रिसीव करने खुद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) फ्रांस पहुंचे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मेरीनेक स्थित डसॉ एविएशन प्लांट का भी जायजा लिया।


जानिए क्या है विमान की खासियत


भारत सरकार ने साल 2016 में 36 लड़कू विमान की खरीद के लिए फ्रांस से करार किया था। डील के बाद से ही पाकिस्तान-चीन घबराए हुए हैं। राफेल के आने से भारतीय वायुसेना की ताकत दोगुनी हो गई है। राफेल की खूबी है कि वो हवा से हवा और हवा से जमीन पर हमले के साथ परमाणु हमले करने में भी सक्षम हैं। ये विमान बहुत कम ऊंचाई पर उड़ान के साथ हवा से हवा में मिसाइल दाग सकता है।


जानिए क्या हैं राफेल की ताकत


राफेल की सबसे बड़ी ताकत है उसकी फायरिंग क्षमता। राफेल एक मिनट में 2500 राउंड फायरिंग कर सकता है। इस विमान के दोनों तरफ से 30mm के तोपगोले दागे जा सकते हैं। राफेल परमाणु हमले, एंटी शिप अटैक, टोही क्षमता, क्लोज एयर सपोर्ट, एयर डिफेंस और लेजर निर्देशित लंबी दूरी की मिसाइल के हमले में भी सक्षम है।


मान-सम्मान,प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी:तुला

राशिफल


वृषभ:आज का दिन आपका व्यस्ततापूर्वक बीतेगा, अधूरे कार्य पूर्ण होंगे, व्यवसाय हो या नौकरी सभी कार्य सफलतापूर्वक संपन्न होंगे। कलाकार एवं कारीगरों को उनकी कला का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा और उनकी कदर होगी। शत्रु बलहीन रहेंगें। 


मिथुन:आज भाग्य का साथ पाएंगे तो सभी कार्य बनते जाएंगे। उपाय करके ही कार्य की शुरुआत करें तभी कार्य में आने वाली बाधाएं दूर होंगी। आय-संपत्ति के लिए दिन शुभ है। स्वास्थ्य अच्छा रहने से सुख और आनंद की अनुभूति होगी। आज अपनी प्रतिभा का पूर्ण लाभ ले सकेंगे।


कर्क:आज का दिन मध्यम फलदायी होगा। आज वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। स्वास्थ्य के प्रति विशेष सावधानी बरतें। बिना सोच-विचार के आज कोई कार्य न करें। स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। सुनी-सुनाई बात पर विश्वास और अमल न करें। 


सिंह:आज आपको आपके जीवनसाथी और प्रिय व्यक्ति का साथ मिलेगा। भावनात्मक संबंध स्थापित होंगे। नई योजनाएं लाभ देंगी। मनोरंजन कार्य पर धन खर्च हो सकता है। प्रेम प्रसंग में सफलता मिलेगी। सगे-संबंधियों या मित्रों की तरफ से उपहार मिलेगा।


कन्या:आज विरोधियों की आलोचना के प्रति ध्यान न दें। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। अचानक कोई शुभ सुचना से मन प्रसन्न रहेगा। प्रवास और स्वादिष्ट भोजन आपके दिन को आनंद पहुंचाएगा। आर्थिक लाभ की संभावना है।


तुला:आज आपको आपकी योग्यता के अनुसार मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। संतान से सुख प्राप्त होगा। यात्रा में सफलता के योग बन रहे हैं। आकस्मिक धन प्राप्ति से आपका दिन अत्यंत आनंदप्रद बना रहेगा। आय में वृद्धि होगी।


वृश्चिक:आज का दिन मिश्रित फलदायी होगा। आज आपकी मानसिक प्रवृत्ति नकारात्मक रहेगी। क्रोध एवं आवेश से बचें। आंख में पीड़ा हो सकती है। आध्यात्मिक व्यवहार मानसिक शांति दे सकेंगे। परिवार में क्लेश का वातावरण हो सकता है।


धनु:आप आपके पराक्रम में वृद्धि होगी। प्रिय व्यक्तियों के साथ और मुलाकात यादगार रहेगी। यात्रा मंगलमय रहेगी। सभी कार्य पूर्ण होंगे। नौकरी में उत्साहजनक स्थिति रहेगी। कारोबार में लाभ होगा। शत्रु परास्त होंगे। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। 


मकर:आज अचानक धन लाभ का योग बन रहा है। कोई नया कार्य या प्रोजेक्ट शुरू करना लाभदायक रहेगा, मौके बार-बार आपके दरवाजे पर दस्तक नहीं देंगे। कार्यक्षेत्र में अनुभवी लोगों से सहयोग मिलेगा। सामाजिक और पारिवारिक जीवन में माता-पिता से सहयोग लें। 


कुंभ:आज सोचा हुआ कार्य पूर्ण होगा। आज कार्य सिद्धि का दिन है। आज मन और चित्त दोनों से आप प्रसन्नता का अनुभव करेंगे। मानसिक भार आज हल्का रहेगा। जितनी मेहनत करेंगे उससे बढ़कर सफलता मिलेगी। आपके प्रभाव में वृद्धि होगी, मनोबल बढ़ेगा। 


मीन:आज का दिन मध्यम फलदायी होगी। आज धन के अपव्यय का योग है। किसी को उधार न दें। यात्रा करने से परहेज करें। मानसिक तनाव से बचें। असंतोष छोड़कर आत्मसंतोषी बनें। स्वास्थ्य की चिंता परेशान कर सकती है। जलाशय से दूर रहना हितकर है।


उप-विषाणु का कण भी रोग

विषाणुओं के अध्ययन की एक मुख्य प्रेरणा यह तथ्य है, कि वे कई संक्रामक रोग पैदा करते हैं। इन रोगों में जुखाम, इंफ्लुएन्ज़ा, रेबीज़, खसरा, दस्त के कई रूप, हैपेटाइटिस, येलो फीवर, पोलियो, चेचक तथा एड्स तक आते हैं। कई विषाणु, जिन्हें ऑन्कोवायरस कहते है। कई तरह के कैंसर में भी योगदान देते हैं। कई उप-विषाणु कण भी रोग का] का निमित्त है एक उपग्रह विषाणु। विषाणु जिस शैली में रोग करते हैं, उसका अध्ययन विषाण्वीय रोगजनन या वायरल पैथोजैनेसिस कहलाता है। जिस श्रेणी तक कोई विषाणु रोग करता है, उसे "वायरुलेंस कहते हैं।


जब किसी कशेरुकी जीव की उन्मुक्ति प्रणाली का विषाणु से सामना होता है, वह विशिष्ट रोगप्रतिकारक या एंटीबॉडी का निर्माण करती है, जो विषाणु को बांध कर उसे विध्वंस के लिये विह्नित कर देती है| इन रोगप्रतिरोधकों की उपस्थिति कभि कभि यह जानने के लिये भि जांची जाती है, कि कोई व्यक्ति पूर्व में उस विषाणु से आक्रमित हुआ है या नहीं| ऐसे परीक्षणों में से एक है ऐलाइज़ा या ई एल आई एस ए| विषाणु जनित रोगों से बचाव हेतु टीकाकरण लाभदायी होता है, जिसमें व्यक्ति के शरीर में प्रतिरोधक तत्व पहले से ही डाल दिये जाते हैं, या उनमें प्रतिरोधकों का निर्माण कराया जाता है| खास तौर पर बनायी मोनोक्लोनल एंटीबॉडीज़ का भी प्रयोग विषाणुओं की उपस्थिति जाँच हेतु किया जा सकता है, जिसे फ्ल्यूरोसेंस सूक्ष्मदर्शिकी या फ्ल्यूरोसेंस माइक्रोस्कोपी कहा जाता है। विषाणुओं के विरुद्ध कशेरुकियों की दूसरी रक्षा पद्धति है कोशिका मध्यस्थ उन्मुक्ति या सेल मेडियेटेड इम्म्युनिटी जिसमें प्रतिरोधित कोशिकाएं, जिन्हें टी-कोशिका कहते है, कार्यरत होते हैं| शरीर की कोशिकाएं, अन्वरत रूप से अपने प्रोटीन कोशिका का एक छोटा अंश कोशिका की सतह पर प्रदर्शित करतीं हैं| यदि टी-कोशिका को संदेहजनक विषाणु अंश वहां मिलता है, तो उसका होस्ट (आतिथेय) कोशिका मिटा दिया जाता है, व विषाणु विशिष्ट टी-कोशिका बढ़्ती जातीं हैं| यह पद्धति कुछ टीकों द्वारा आरंभ की जा सकती है।


पादप, पशु श्रेणी व कई अन्य यूकैर्योट्स में पायी जाने वाली, एक महत्वपूर्ण कोशिकीय पद्धति, आर एन ए इंटरफेयरेंस, विषाणुओं के विरुद्ध रक्षा कए लिये यथासंभव उपयुक्त है| इंटरैक्टिंग किण्वकों का एक समूह, डबल स्टअंडेड आर एन ए अणुओं (जो कि कई विषाणुओं में जीवन चक्र का भाग होते हैं) पहचानते हैं और फिर उस आर एन ए अणु के सभि सिंगल स्ट्रैंडेड अणुओं को नष्ट कर देते हैं।


हरेक हानिकारक विषाणु एक विरोधाभार प्रस्तुत करता है: होस्ट को नष्ट करना विषाणु के लिये आवश्यक नहीं है| फिर क्यों और कैसे इस विषाणु का विकास हुआ? आज यह माना जाता है, कि अधिकांश विषाणु, अपने होस्ट के भीतर अपेक्षाकृत कृपालु होते हैं| हानिकारक विषाणु रोगों को ऐसे समझा जा सकता है, कि कोई कृपालु विषाणु, जो अपनी जाति में कृपालु है, कूद कर एक नयी जाति में चला जाता है, जो उसकी देखि समझी नहीं है।


 ज़ूनोसिस
उदा० इन्फ्लुएंज़ा विषाणु के प्राकृतिक होस्ट सुअर या पक्षी होते हैं, व एड्स को कृपालु मर्कट विषाणु से निकला बताया जाता है। हालांकि कई विषाणुजनित रोगों से बचाव टीकों द्वारा लम्बे समय तक संभव है, विषाणु विरोधी औषधियों का विकास, रोगों के उपचार हेतु, अपेक्षाकृत नया विकास है| पहला ड्रग था इंटरफैरोन, वह पदार्थ, जो कि प्राकृतिक रूप से कुछ उन्मुक्त कोशिकाओं द्वारा संक्रमण दिखने पर उत्पादित होते हैं, व उन्मुक्ति प्रणाली के अन्य भागों को उत्तेजित (स्टिमुलेट) करते हैं।


सबसे प्राचीन पालतू पशु

वह मनुष्य से जुड़ा हुआ संसार का सबसे प्राचीन पालतू स्तनपोषी प्राणी है, जिसने अज्ञात काल से मनुष्य की किसी ने किसी रूप में सेवा की है। घोड़ा ईक्यूडी (Equidae) कुटुंब का सदस्य है। इस कुटुंब में घोड़े के अतिरिक्त वर्तमान युग का गधा, जेबरा, भोट-खर, टट्टू, घोड़-खर एवं खच्चर भी है। आदिनूतन युग (Eosin period) के ईयोहिप्पस (Eohippus) नामक घोड़े के प्रथम पूर्वज से लेकर आज तक के सारे पूर्वज और सदस्य इसी कुटुंब में सम्मिलित हैं।


इसका वैज्ञानिक नाम ईक्वस (Equus) लैटिन से लिया गया है, जिसका अर्थ घोड़ा है, परंतु इस कुटुंब के दूसरे सदस्य ईक्वस जाति की ही दूसरों छ: उपजातियों में विभाजित है। अत: केवल ईक्वस शब्द से घोड़े को अभिहित करना उचित नहीं है। आज के घोड़े का सही नाम ईक्वस कैबेलस (Equus caballus) है। इसके पालतू और जंगली संबंधी इसी नाम से जाने जातें है। जंगली संबंधियों से भी यौन संबंध स्थापति करने पर बाँझ संतान नहीं उत्पन्न होती। कहा जाता है, आज के युग के सारे जंगली घोड़े उन्ही पालतू घोड़ो के पूर्वज हैं जो अपने सभ्य जीवन के बाद जंगल को चले गए और आज जंगली माने जाते है। यद्यपि कुछ लोग मध्य एशिया के पश्चिमी मंगोलिया और पूर्वी तुर्किस्तान में मिलनेवाले ईक्वस प्रज़्वेलस्की (Equus przwalski) नामक घोड़े को वास्तविक जंगली घोड़ा मानते है, तथापि वस्तुत: यह इसी पालतू घोड़े के पूर्वजो में से है। दक्षिण अफ्रिका के जंगलों में आज भी घोड़े बृहत झुंडो में पाए जाते है। एक झुंड में एक नर ओर कई मादाएँ रहती है। सबसे अधिक 1000 तक घोड़े एक साथ जंगल में पाए गए है। परंतु ये सब घोड़े ईक्वस कैबेलस के ही जंगली पूर्वज है और एक घोड़े को नेता मानकर उसकी आज्ञा में अपना सामाजिक जीवन व्यतीत करतेे है। एक गुट के घोड़े दूसरे गुट के जीवन और शांति को भंग नहीं करते है। संकटकाल में नर चारों तरफ से मादाओ को घेर खड़े हो जाते है और आक्रमणकारी का सामना करते हैं। एशिया में काफी संख्या में इनके ठिगने कद के जंगली संबंधी 50 से लेकर कई सौ तक के झुंडों में मिलते है। मनुष्य अपनी आवश्यकता के अनुसार उन्हे पालतू बनाता रहता है।


लंबी यात्रा कर पहुंचा शकरकंद

शकरकंद (sweet potato ; वैज्ञानिक नाम : Ipomoea batatas - ईपोमोएआ बातातास्) कॉन्वॉल्वुलेसी (Convolvulaceae - कोन्वोल्वूलाकेऐ) कुल का एकवर्षी पौधा है, पर यह अनुकूल परिस्थिति में बहुवर्षी सा व्यवहार कर सकता है। यह एक सपुष्पक पौधा है। इसके रूपान्तरित जड़ की उत्पत्ति तने के पर्वसन्धियों से होती है जो जमीन के अन्दर प्रवेश कर फूल जाती है। जड़ का रंग लाल अथवा भूरा होता है एवं यह अपने अन्दर भोजन संग्रह करती है।


यह उष्ण अमरीका का देशज है। अमरीका से फिलिपीन होते हुए, यह चीन, जापान, मलेशिया और भारत आया, जहाँ व्यापक रूप से तथा सभी अन्य उष्ण प्रदेशों में इसको खेती होती है। यह ऊर्जा उत्पादक आहार है। इसमें अनेक विटामिन रहते हैं विटामिन "ए' और "सी' की मात्रा सर्वाधिक है। इसमें आलू की अपेक्षा अधिक स्टार्च रहता है। यह उबालकर, या आग में पकाकर, खाया जाता है। कच्चा भी खाया जा सकता है। सूखे में यह खाद्यान्न का स्थान ले सकता है। इससे स्टार्च और ऐल्कोहॉल भी तैयार होता है। बिहार और उत्तर प्रदेश में विशेष रूप से इसकी खेती होती है। फलाहारियों का यह बहुमूल्य आहार है। इसका पौधा गरमी सहन कर सकता है, पर तुषार से श्घ्रीा मर जाता है।


शकरकंद सुचूर्ण तथा अच्छी जोती हुई भूमि में अच्छा उपजता है। इसके लिए मिट्टी बलुई से बलुई दुमट तथा कम पोषक तत्ववाली अच्छी होती है। भारी और बहुत समृद्ध मिट्टी में इसकी उपज कम और जड़ें निम्नगुणीय होती हैं। शकरकंद की उपज के लिए भूमि की अम्लता विशेष बाधक नहीं है। यह पीएच ५.० से ६.८ तक में पनप सकता है। इसकी उपज के लिए प्रति एकड़ लगभग ५० पाउंड नाइट्रोजन की आवश्यकता होती है। फ़ॉस्फ़ेट और पौटैश उर्वरक लाभप्रद होते हैं। पौधा बेल के रूप में उगता है। पौधा में कदाचित ही फूल और बीज लगते हैं।


रासायनिक अभियांत्रिकी

रासायनिक अभियान्त्रिकी (en:Chemical Engineering) रसायन शास्त्र, भौतिकी, अर्थशास्त्र वगैरह और उनके सिद्धान्तों को औद्योगिक उपयोगों में प्रयुक्त कराने वाला विज्ञान या व्यवसाय है। इसका मुख्य हिस्सा प्रक्रम अभियान्त्रिकी कहलाता है, जिसमें भारी मात्रा में निर्मित रसायनों को औद्योगिक स्तर पर सहज तरीके से बनाने का अध्ययन किया जाता है। लेकिन आज रासायनिक अभियान्त्रिकी सिर्फ़ इसी तक सीमित नहीं है। आज रासायनिक अभियन्ता जैवप्रौद्योगिकी (जेनेटिक्स, ख़मीरीकरण आदि) विषयों पर काम और शोध करते हैं और विमान, अन्तरिक्ष यान, खाद्य पदार्थ, जैवमेडिकल संयन्त्र, सिलिकॉन तकनीकी. नैनोतकनीकी, इलेक्ट्रॉनिक्स वगैरह के क्षेत्रों में नये और उच्च कोटि के पदार्थों का निर्माण भी सहज तरीके से करते हैं।


उपयोग
रासायनिक इंजीनियरी अनेकानेक प्रकार के उत्पादों के निर्माण में प्रयुक्त होती है। अकार्बनिक एवं कार्बनिक रसायनों का निर्माण करना, सिरैमिक्स, ईंधन, पेट्रोरसायन, कृषिरसायन (agrochemicals जैसे उर्वरक, कीटनाशक, घासफूसनाशक (herbicides)), प्लास्टिक एवं एलास्टोमर, विस्फोटक, डिटरजेंत एवं डिटरजेन्ट उत्पाद (जैसे साबुन, शैम्पू, सफाई में प्रयुक्त द्रव आदि]], इत्र, फ्लेवर, एवं औषधियों आदि का निर्माण रसायन इंजीनियरी के प्रमुख अनुप्रयोग हैं।


रसायन इंजीनियरी से सम्बन्धित विषय हैं - काष्ठ प्रसंस्करण (wood processing), खाद्य प्रसंस्करण (food processing), पर्यावरण तकनीकी (environmental technology), तथा पेट्रोलियम, काँच, पेंट, चिपकाने वाले पदार्थ (adhesives) आदि।


संकल्पमयी संसार की विशेषता

गतांक से...
 मेरे प्यारे जब यह वाक्य कहा गया संभव ब्रहे, मुझे ऐसा स्मरण आ रहा है पुत्रों, राम ने कहा कि मैं राष्ट्र को नहीं चाहता। मैं भयंकर वन में जाकर तप करना चाहता हूं। क्योंकि तप से ही मानव का जीवन उन्नत होता है और तप से ही मानव की तमोगुण की तरंगे सतोगुण में प्रवेश कर जाती हैं। इसलिए मैं अपने में तपस्वी बनना चाहता हूं। यह वाक्य उन्होंने स्वीकार कर लिया और स्वीकार करके उन्हीं ने कहा, भरतम्‌ ब्रवहे, हे विधाता भरत, इस राष्ट्र को तुम भोगो। उन्होंने कहा प्रभु मुझे कोई अधिकार नहीं है आप जेष्‍ठ है। आपका यह राज्य है इसे भोगीए प्रभु। उन्होंने कहा है भरत मैं तपस्या करने जा रहा हूं जब तक मैं तपस्वी नहीं बनूंगा मैं राज्य का अधिकारी नहीं हूं। क्योंकि तप करने के पश्चात ही मानव को राज्य का अधिकार होता है। जब उन्होंने ऐसा कहा उन्होंने कहा तपम ब्रह्मा, महात्मा भरत ने आचार्य से कहा, आचार्यजन इसका निपटारा कीजिए। यह क्या शब्द कह रहे हैं। उन्होंने कहा है राम को पूर्णता को प्राप्त नहीं कर सकूंगा। क्योंकि मैं राष्ट्र का अधिकारी नहीं हूं तो भी मैं तपस्या करूंगा। परंतु देखो उन्होंने उसे शिक्षा दी और शिक्षा देने के पश्चात वह अध्ययन करने लगे। मेरे प्यारे, राम अयोध्या को त्याग कर वन में चले गए और वन में जाकर के तपस्या करने लगे। तपस्या क्या है? देखो दूषित अन्‍न को पान नहीं करना चाहिए। उसको पान करने का नाम तपस्या है। मुझे स्मरण आता रहता है कि राम ने उसको पान किया। जिस पर किसी का अधिकार नहीं था उसको एकत्रित करके उसका दुग्ध बनाते और अग्‍नि में तपा करके खरल बना करके उसको पान करते। उन्होंने 12 वर्ष का इस प्रकार कठोर तप करने का निश्चय किया। राम प्रातः काल और सांयकाल तक रात्रि के काल में भी प्रभु के ऊपर मनन करते रहते और यह प्रार्थना करते रहते प्रभु तेरा कैसा उधरवा जगत है। यह कैसी भव्यशाला है। जिसमें आपको पुरोहित बना करके हम तपस्या में परिणत होने जा रहे हैं। मेरे प्यारे राम के यहां ऋषि-मुनियों का आवागमन होता रहता और तपस्या में परिणत होते रहते। उनका जीवन बड़ा भव्यता में परिणत होता रहता। राम ने 12 वर्ष का अनुष्ठान किया ,12 वर्षों में अध्ययन करते उनको पान करने के लिए तिर्यकसंग कोई कर्तव्य करते। अन्न को पान करने के लिए राम का जीवन बड़ा संचालित हो रहा है। विचार में मग्‍न है। महात्मा वशिष्ठ मुनि महाराज माता अरुंधति एक समय तपस्वी के दर्शन करने जा पहुंचे। राम ने उनके चरणों की पादुका का जल से स्पर्श करके उसका आचमन किया। आचमन करने के पश्चात भब्रहे कृतम, राम तपस्या में परिणित है। वे तपस्या कर रहे हैं मानव मन को पवित्र बना रहे हैं। क्योंकि मन को पवित्र बनाने का नाम ही तप कहा जाता है। पुराणों को शोधन करने का नाम ही तपस्या कहा जाता है। मेरे प्यारे देखो तपस्यम ब्रह्मा कृतम् लोका:, तपस्या में परिणत है। परंतु ऋषि वशिष्ठ मुनि महाराज और माता अरुंधति दोनों अपने आश्रम से भ्रमण करते हुए राम के समीप पहुंचे। राम उन्हें दृष्टिपात करते हुए उनकी हर्ष की कोई सीमा नहीं रही। ऋषि के चरणों को स्पर्श करते बोले कि प्रभु मेरा यह कैसा अहोभाग्य है। भगवान जो ब्रहमवेता का मुझे दर्शन हो रहा है। मानव देखो  दर्शनम ब्रह्मा:, विचार विनिमय कर रहे थे और अपने को विचारशील बनाते हुए, इस सागर से पार होना चाहते हैं। वह अनुपम सागर है जिस सागर के लिए प्रत्येक मानव परंपरागतो से ही महान से महान कल्पना करता रहा है। राम उस अन्न को पान करके तपस्यम्‌, वशिष्ठ मुनि ने कहा राम तुम इस प्रकार का यह तप क्यों कर रहे हो। उन्होंने कहा प्रभु मैंने लंकापति से संग्राम किया है और संग्राम में मेरी रजोगुण और तमोगुण प्रवृत्ति विशेष कर रही है। उस रजोगुण में मैंने लंका के प्राणी मात्र को नष्ट किया है। मैं इसलिए पापाचार में परिणित हो रहा हूँ। विचारने से यह प्रतीत होता है कि मेरे अंतःकरण में हृदय में जो संस्कार विधमान हो गए हैं। जो संस्कारों की उपलब्धियां हो गई है उन्हें नष्ट करना मेरा कर्तव्य कहलाता है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


हिंदी दैनिक


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 10, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-67 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार,10 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि- द्वादशी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:16,सूर्यास्त 06:05
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी,नमी बनी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...