गुरुवार, 3 अक्तूबर 2019

देखिए विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही

विधुत विभाग की बड़ी लापरवाही


मोहित श्रीवास्तव
गाजियाबाद,लोनी। बिजली विभाग की इतनी बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। शांति नगर कॉलोनी स्‍थित शांति निकेतन इंटर कॉलेज की दीवारों से लगाकर जमीन पर ही ट्रांसफार्मर रख दिया गया है। ट्रांसफार्मर सेे आसपास के घरों में विद्युत कीी आपूर्ति की जा रही है। और तो ट्रांसफार्मर के बगल में नाली का पानी बहता हैै। स्थानीय निवासियों के द्वारा बताया गया है कि कई बार करंट भी आ जाता है। कई बार तो ट्रांसफार्मर में आग भी लग चुकी है। जमीन पर रखा ट्रांसफार्मर हादसे को दावत दे रहा है। जिससे विद्यार्थियों और स्थानीय निवासियों को हमेसा डर भी बना रहता है कि कही बच्चों के या अन्य लोगो के साथ कोई अप्रिय घटना नहीं हो जाये। कई बार कम्प्लेन करने पर भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। क्या विद्युत विभाग इस कदर लापरवाह हो सकता है?


कुंभ के विकास का वास्तविक दर्शन

प्रयागराज। लगातार हो रही बारिश से नगर-निगम प्रशासन एवं मेयर साहेब की लापरवाही सामने आ गई है।
निरंजन डॉट का पुल एवं कई इलाके मे बरसात का पानी भरा, आवागमन में हुई परेशानी।


46000 करोड़ का बजट से महाकुंभ और स्मार्ट सिटी के नाम पर और भी बजट किए गये। ठेकेदार और अधिकारियों ने खूब मलाई खाई है। जिसका खामियाजा अब जनता को भुगतना पड़ रहा है। जनता को इस कदर परेशान किया गया कि विकास के नाम पर उसके मकानों में तोड़फोड़ कराई गयी। जनता के व्यापार के साथ भी उठा-पटक की गई । जनता बेहाल और परेशान रही।
योगी सरकार ने 4000 करोड़ रुपए अपने प्रचार में खर्च कर विकास कार्य को गिना दिया। लेकिन जमीनी स्तर पर इनका विकास सिर्फ कुंभ तक ही दिखा। कुंभ के बाद इनका विकास चरमरा गया हैं ।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


शासन-प्रशासन नहीं सुन रहा फरियाद

प्रयागराज रामबाग कॉलोनी के घरों में घुसा पानी और आला अधिकारियों को फोन कर कर के हारे कॉलोनी के लोग



प्रयागराज। रेलवे कॉलोनी स्‍थित रामबाग 50 घरों के निवासी पिछले 2 दिन से घरों में कैद हैं। बच्चे स्कूल भी नहीं जा पा रहे हैं। वहां के निवासियों ने प्रयागराज के आला अधिकारियों से गुहार लगाई। नगर-निगम कहता है कि रेलवे की कॉलोनी है और रेलवे कहता है कि यह कार्य नगर-निगम का है। दो पाटों के बीच में पीस रहे हैं रामबाग रेलवे कॉलोनी के निवासी। घरों में, किचन में, लेट्रिन-बाथरूम हर जगह पानी  घुसा हुआ है और बच्चे स्कूल भी नहीं जा पा रहे हैं। उनका कहना है आखिर में हम फरियाद लगाएं तो किससे लगाएं। आला अधिकारियों को हम फरियाद लगा चुके हैं क्या यही है योगी और मोदी का विकास?
एफटीपी घरों में पानी।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


रेणुकूट चेयरमैन को मारी गोली, मौत

रेणुकूट सोनभद्र चेयरमैन शिव प्रताप सिंह उर्फ बबलू सिंह को कुछ अज्ञात लोगों ने गोली मारी 


सोनभद्र। रेणुकूट के चेयरमैन शिव प्रताप सिंह उर्फ बबलू सिंह की गोली मारकर हुई हत्या को लेकर स्थानीय लोगों ने एनएच वाराणसी शक्तिनगर मार्ग पर पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए चक्का जाम किया। बताते चलें कि रेणुकूट के चेयरमैन शिव प्रताप सिंह उर्फ बबलू सिंह को कल रात 10:00 बजे के लगभग अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी।स्थानीय लोगों ने हिंडालको हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां हालात गंभीर देखे जाने पर चिकित्सालय ने वाराणसी रेफर कर दिया। वाराणसी ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान ट्रामा सेंटर में लगभग रात्रि 2:27 पर मृत घोषित किया। जिसको लेकर पूरे क्षेत्र में सन्नाटा पसरा है। लोगों में चर्चा का विषय बन गया है कि आखिर चेयरमैन को ही निशाना क्यों बनाया जा रहा है ।इससे पहले चोपन के चेयरमैन इम्तियाज अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अभी अपराध पूर्ण रूप से पकड़े भी नहीं गए कि अब रेणुकूट के चेयरमैन शिव प्रताप सिंह उर्फ बबलू सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई जिससे लोगों में दहशत का माहौल है। वहीं धरने पर बैठी महिलाओं ने आक्रोशित मुद्रा में दिख रही हैं। जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रही है।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


नमो सेना इंडिया का स्वच्छता अभियान

नमो  सेना इंडिया ने चलाया स्वच्छता अभियान


मोहित श्रीवास्तवगा


गाजियाबाद, लोनी। संपूर्ण देश में 2 अक्टूबर को पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एवं गांधी जयंती उपलक्ष्‍य में स्वच्छता अभियान चलाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। नमो सेना इंडिया के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं के द्वारा संगम विहार कॉलोनी में सार्वजनिक रूप से सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को आगे बढ़ाते हुए संस्था के पदाधिकारी ने बताया संस्था राष्ट्र हित के कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती रहेगी। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र बसोया एडवोकेट, जिला संगठन सचिव सचिन कुमार, जिला सचिव पिंटू नंबरदार, जिला संगठन मंत्री सुम्मी वसोया, जिला महासचिव महिपाल चौधरी, कोषाध्यक्ष नरेंद्र राजपूत आदि के साथ कई कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


मयंक अग्रवाल ने जड़ा दोहरा शतक

मयंक अग्रवाल की धमाकेदार बल्लेबाजी, जड़ा करियर का पहला दोहरा शतक


विशाखापत्तनम। भारतीय ओपनर मयंक अग्रवाल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए दोहरा शतक ठोक दिया है। उन्होंने भारतीय पारी के 116वें ओवर में यह उपलब्धि हासिल की।


200 रन तक पहुंचने के सफर में मयंक ने 22 चौके और 5 छक्के जड़े हैं। मयंक अग्रवाल का यह पांचवां टेस्ट है, लेकिन दिलचस्प बात है कि भारतीय जमीन पर वह अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रहे हैं। इससे पहले उन्होंने दो टेस्ट ऑस्ट्रेलिया जबकि दो मुकाबले वेस्टइंडीज में खेले हैं।मयंक अग्रवाल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बतौर ओपनर दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे एशियाई ओपनर हैं। हालांकि ये और बात है कि ये कारनामा करने वाले पहले खिलाड़ी भी भारतीय हैं। मयंक से पहले टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दोहरा शतक लगाया था।मयंक अग्रवाल के नाम दो दोहरे शतक और एक तिहरा शतक दर्ज है। उन्होंने नवंबर 2017 में कर्नाटक के लिए महाराष्ट्र के खिलाफ नाबाद 304 रन बनाए थे। इसके बाद उन्होंने अगस्त 2018 में दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ इंडिया ए के लिए 220 रन बनाए। और अब फिर उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम इंडिया के लिए दोहरा शतक जड़ दिया है।


जहां तक भारतीय जमीन पर अपने पहले ही टेस्ट मैच में किसी भारतीय की सबसे बड़ी पारी के रिकॉर्ड की बात है तो ये कारनामा चेन्नई में साल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ करुण नायर ने किया था। उन्होंने नाबाद 303 रन बनाए थे। विनोद कांबली ने मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ साल 1992 में 224 रन बनाए थे। वहीं दिलीप सरदेसाई ने मुंबई में न्यूजीलैंड के खिलाफ 1964 में नाबाद 200 रन बनाए थे। मयंक अग्रवाल भी अब इस लिस्ट में शामिल हो गए हैं।


सोसाइटी के नाम करोडो की ठगी

कानपुर। गैब ग्राम विकास क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी के नाम से फर्जी शाखा खोलकर निवेश के नाम पर करीब तीन सौ लोगों से करोड़ों रुपये ठग लिए गए। पीड़ित के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री समेत सीबीआई तथा पुलिस के आलाधिकारियों को पत्र लिखने पर कल्याणपुर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। नौ आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। इंस्पेक्टर अश्विनी कुमार पांडेय के मुताबिक बारासिरोह, कल्याणपुर निवासी अनिल कुमार त्यागी का आरोप है कि शास्त्री नगर मार्केट में सोसाइटी के नाम से एक शाखा खोली गई थी। वर्ष 2016-2017 के बीच शहर के 200-300 लोगों को फंसाकर यहां के अधिकारियों व कर्मचारियों ने निवेश के नाम पर करोड़ों रुपये ठग लिए।जब निवेशकों ने पैसे मांगे तो सोसाइटी के लोगों ने इंकार कर दिया। और कुछ दिन बाद दफ्तर बंद कर फरार हो गए। अनिल का आरोप है कि तब वह नौबस्ता थाने से लेकर आलाधिकारियों के चक्कर लगाते रहे लेकिन किसी ने नहीं सुनी। इंस्पेक्टर का कहना है कि दस्तावेजों की जांच की जा रही है। जल्द कार्रवाई होगी।


इनके खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर
पुलिस के मुताबिक सोसाइटी के सचिव व चीफ मैनेजर ब्लॉक किदवई नगर निवासी गिरीश शर्मा, जीएम अनुराग शर्मा, मैनेजर मृदुल शर्मा व राघव शुक्ला, ममता शर्मा, स्वाती शर्मा, वर्षा शर्मा और जी ब्लॉक किदवई नगर के अमित यादव तथा रामपट्टी गांव के कुलदीप यादव उर्फ अनमोल यादव( शाखा प्रंधक) पर रिपोर्ट दर्ज हुई है।


कई प्रदेशों में दर्ज हो चुके हैं मामले
इंस्पेक्टर ने बताया कि सोसाइटी के नाम पर पिछले पांच-छह वर्षों में देश के कई राज्यों में हजारों करोड़ रुपये की ठगी की गई है। दर्जनों मुकदमे भी दर्ज हुए हैं। पुलिस ने इनमें से कई मामलों की जानकारी वादी के जरिए जुटाई है।


कांग्रेस ने की प्रत्याशियों की लिस्ट जारी

राणा ओबराय


नई दिल्ली। ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने देर रात हरियाणा विधानसभा के 84 प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी।


कालका- प्रदीप चौधरी
पंचकूला-चंद्रमोहन
नारायणगढ़-श्रीमती शैली
अंबाला सिटी-जसबीर मालौर
मुलाना (सुरक्षित)-वरुण चौधरी


सढौरा (सुरक्षित)-रेनू बाला
जगाधरी-अकरम खान
यमुनानगर-निर्मल
शाहबाद (सुरक्षित)-अनिल धंतौड़ी
थानेसर-अशोक अरोड़ा
पिहोवा-मनदीप सिंह
गुहला (सुरक्षित)-दिल्लू राम
कलायत- जयप्रकाश (जेपी)
कैथल- रणदीप सुरजेवाला
पुंडरी-सतबीर सिंह जांगड़ा
नीलोखेड़ी (सुरक्षित)-बंताराम बाल्मीकि
इंद्री-डॉ.नवजोत कश्यप
करनाल-त्रिलोचन सिंह
घरौंडा- अनिल राणा


पानीपत ग्रामीण-ओपी जैन
पानीपत शहर-संजय अग्रवाल
इसराना (सुरक्षित)-बलवीर बाल्मीकि
समालखा-धर्म सिंह छोकर
गन्नौर-कुलदीप शर्मा
राई-जयतीर्थ दहिया
खरखौदा (सुरक्षित)-जयवीर बाल्मीकी
सोनीपत-सुरेंद्र पंवार
गोहाना-जगबीर सिंह मलिक
बरौदा-श्रीकृष्ण हुड्डा
जुलाना-धर्मेंद्र ढुल
सफीदों-सुभाष देशवाल
जींद-अंशुल सिंगला
उचाना कलां-बालाराम कठवाल
नरवाना (सुरक्षित)-विद्या रानी
टोहाना-परमवीर सिंह
रतिया (सुरक्षित)-जरनैल सिंह
कालांवली (सुरक्षित)-शीशपाल
डबवाली-अमित सिहाग
रानिया-विनीत कंबोज
सिरसा-होशियारी लाल शर्मा
एेलनाबाद-भरत सिंह बेनीवाल
आदमपुर-कुलदीप बिश्नोई
उकलाना (सुरक्षित)-बालादेवी
नारनौंद-बलजीत सिहाग
हांसी-ओमप्रकाश
हिसार-रामनिवास
नलवा-रणधीर पनिहार
लोहारू-सोमवीर सिंह
बाढड़ा-रणबीर महेंद्रा
दादरी-नृपेंद सिंह
भिवानी-अमर सिंह
तोशाम-किरण चौधरी
बवानीखेड़ा-(सुरक्षित)-रामकिशन फौजी
महम-आनंद सिंह डांगी
गढ़ी सांपला किलोई-भूपेंद्र सिंह हुड्डा
रोहतक- भारत भूषण बतरा
कलानौर (सुरक्षित)-शकुंतला खटक
बहादुरगढ़-राजेंद्र जून
बादली-कुलदीप वत्स
झज्जर (सुरक्षित)-गीता भुक्कल
बेरी-डॉ.रघुबीर सिंह कादयान
अटेली-राव अर्जुन सिंह
महेंद्रगढ़- राव दान सिंह
नारनौल-राव नरेंद्र सिंह
नांगल चौधरी-राजाराम गोलवा
बावल (सुरक्षित)-एमएल रंगा
कोसली-यादवेंद्र सिंह
रेवाड़ी-चिरंजीव राव
पटौदी-(सुरक्षित)-सुधीर चौधरी
बादशाहपुर-कमलबीर यादव
गुरुग्राम- सुखबीर कटारिया
सोहना-शमशुद्दीन
नूंह-आफताब अहमद
फिरोजपुर झिरका-मामन खान
पुन्हाना-मोहम्मद एजाज खान
हथीन-मोम्मद इजराइल
होडल(सुरक्षित)-उदयभान
पलवल-करण दलाल
पृथला-रघुबीर सिंह तेवतिया
एनआइटी फरीदाबाद- नीरज शर्मा
बड़खल-विजय प्रताप सिंह
बल्लभगढ़-आनंद कौशिक
फरीदाबाद-लखन सिंगला
तिगांव- ललित नागर
—————-


इन छह सीटों पर घोषित नहीं हुए उम्मीदवार


रादौर-
लाडवा-
असंध-
फतेहाबाद-
बरवाला-
अंबाला कैंट


पान-मसाला बाजार में मचा हड़कंप

पान मसाला बाजार में मचा हडक़ंप, बेचने व खाने वाले दोनों ही बेचैन, फेल हुआ नमूना तो


जयपुर। राज्य सरकार की ओर से पान मसाले में हानिकारक तत्वों की सूचना जारी करने और ऐसे पान मसालों पर प्रतिबंध की घोषणा के बाद प्रदेश के पान मसाला कारोबारियों और इनका सेवन करने वालों में हडक़ंप मच गया। व्यापारी पूछताछ कर रहे हैं कि उनके पास रखे पान मसाले  के स्टॉक का क्या होगा? स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि उन्हींं पान मसालों को हटाना होगा, जिनमें प्रतिबंधित किए गए तत्व तंबाकू, निकोटीन, मैग्नेशियम, कार्बोनेट, निकोटीन, और मिनरल ऑइल पाए जाएंगे। इसके नमूने लेकर जांच करवाई जाएगी। सरकार के ऐलान के मुताबिक खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत जांच में सैंपल फेल होने पर निर्माता को पूरा माल वापस लेना होगा। प्रतिबंधित बैच यदि बिकता पाया गया तो संबंधित निर्माता और विके्रता पर कार्रवाई होगी। चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि सैंपल लेने के निर्देश दिए हैं। जांच सरकारी प्रयोगशाला में होगी। ये होगा बदलाव - दवा सैंपलों के समान पान मसालों की जांच और कार्रवाई होगी। - पहले मिलावट की धाराओं में कार्रवाई अब सैंपल का बैच हटेगा। - संबंधित बैच के निर्माण, उत्पादन और भंडारण पर भी रोक। - प्रतिबंधित बैंच बाजार में मिला तो निर्माता- विक्रेता पर सख्त कार्रवाई। घोषणा से असमंजस, बाद में स्पष्टीकरण बुधवार दोपहर की गई पान मसालों संबंधी घोषणा के बाद असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। व्यापारियों में पान मसाले पर ही बैन का संदेश चला गया। दरअसल, खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत हानिकारक तत्वों वाले पान मसाले पहले से ही प्रतिबंधित हैं। चिकित्सा विभाग ने संशोधित सूचना जारी कर स्पष्ट किया कि जांच में फेल।


विपक्ष,विकास की बात नहीं चाहता:महाना

लखनऊ। यूपी के औद्योगिक विकास कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा है दो दिवसीय सत्र में विपक्ष का सदन में न आना ही इस बात का प्रमाण है कि वो विकास पर बात नही करना चाहते है। साथ ही उन्होंने कहा कि वो सदन में ना आकर सड़क पर प्रदर्शन कर रहे है ।जनता ने उन्हें सदन में भेजा था कि चर्चा करे पर वो सड़क पर है। इसलिए जनता ने उन्हें सड़क पर ला दिया है। साथ ही अदिति सिंह पर कांग्रेस नेताओं के न आने और अदिति के आने पर उन्होंने कहा कि वो गांधी के विचारों से जुड़ी है इस लिए आई है। साथ ही कहा कि भाजपा के विचारों से भी जुड़ी है। कहीं न कहीं उन्होंने इशारा किया है कि अदिति सिंह पार्टी जॉइन कर सकती है।


कांग्रेस विधायिका ने की भाजपा ज्वाइन

कांग्रेस विधायिका अदिति सिंह के पार्टी जॉइन करने पर बोले सुरेश खन्ना
लखनऊ। पार्टी में जो आये स्वागत है,गांधी जी की 150 वी जयंती पर दो दिवसीय सत्र के दौरान नगर विकास मंत्री का बयान आया कि सत्र में जो उत्साह सुबह देखने को मिल रहा था, वही अभी भी देखने को मिल रहा है। गांधी जयन्ती पर विकास पर लगातार चर्चा चल रही है। विपक्ष ने वादा किया था और वो सदन में रिकॉर्डिंग में भी मौजूद है पर कोई  नही आया। साथ ही कांग्रेस विधायिका अदिति सिंह के पार्टी मे आने पर उन्होंने कहा वो गांधी जी को मानती है। उनके आने का कोई मकसद नही। साथ ही कहा अगर कोई पार्टी में आना चाहता है तो स्वागत है।


दोनो आरोपी आईएएस को वेटिंग में डाला

केंद्र सरकार एवं प्रदेश सरकार ने खनन घोटाला: दो आईएएस अपने पद से हटाए गए, वेटिंग में डाला गयाकहा जा रहा है कि सीबीआई (CBI) के बाद अब ईडी (ED) अजय और पवन कुमार पर शिकंजा कसेगी


लखनऊ। सहारनपुर खनन घोटाले में आरोपित आईएएस अजय कुमार सिंह और पवन कुमार को सरकार ने उनके पदों से हटाकर वेटिंग में डाल दिया है। बता दें अजय खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग में सचिव थे, जबकि पवन आवास एवं शहरी नियोजन विभाग में विशेष सचिव के पद पर तैनात थे। कहा जा रहा है कि सीबीआई (CBI) के बाद अब ईडी (ED) अजय और पवन कुमार पर शिकंजा कसेगी। बता दें मंगलवार को सीबीआई ने 11 स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। लखनऊ में अजय और पवन के यहां भी छापेमारी हुई थी। सीबीआई ने अजय के घर से 15 लाख कैश व अन्य के यहां से खनन घोटाले से जुड़े अहम दस्तावेज जब्त किए थे।


गौरतलब है कि 30 सितंबर को सीबीआई ने आईएएस अजय और पवन के खिलाफ खनन घोटाले में एफआईआर दर्ज किया था। ये दोनों सहारनपुर में 2012 से 2016 तक बतौर जिलाधिकारी तैनात थे। दोनों पर आरोप है कि सहारनपुर के जिलाधिकारी रहते दोनों ने अवैध रूप से खनन पट्टे जारी किए थे। सीबीआई के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय भी इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पूछताछ करेगा।


अब तक आठ आईएएस  खिलाफ एफआईआर


खनन घोटाले में इन अफसरों के अलावा आईएएस बी चंद्रकला, अभय कुमार सिंह, विवेक, देवी शरण उपाध्याय, संतोष कुमार राय और जीवेश नंदन के खिलाफ भी सीबीआई एफआईआर दर्ज कर चुकी है। इन पर फतेहपुर, हमीरपुर, देवरिया, शामली और कौशांबी में नियुक्ति के दौरान हुए खनन घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत केस दर्ज कर रहा है।


गौरतलब है कि सीबीआइ करीब दो सालों से खनन घोटाले की परतें खंगाल रही है। सीबीआइ ने पूर्व में हाईकोर्ट के आदेश पर हमीरपुर, शामली, फतेहपुर, देवरिया, सिद्धार्थनगर व अन्य जिलों में वर्ष 2012 से 2016 के बीच हुए खनन में धांधली की शिकायतों पर मार्च 2017 में सात प्रारंभिक जांच (पीई) दर्ज की थीं। आरोप था कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के प्रतिबंध के बावजूद हमीरपुर समेत कई स्थानों पर धड़ल्ले से खनन कराया गया। सीबीआइ दिल्ली ने प्रारंभिक जांच के बाद हमीरपुर में हुई धांधली के मामले में आरोपित तत्कालीन डीएम हमीरपुर बी.चंद्रकला अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिसके बाद सीबीआइ ने सहारनपुर, फतेहपुर व देवरिया समेत चार जिलों में अवैध खनन के मामलों में अलग-अलग केस दर्ज किये थे।


शव लेने पहुंची 7 पत्नी, सकते में पुलिस

हरिद्वार। पुलिस के सामने आत्महत्या के मामले तो आए दिन सामने आते हैं लेकिन उत्तराखंड में पुलिस के सामने आत्महत्या के बाद ऐसे हालात बने की वह भी सकते में आ गई। किसी फिल्मी कहानी की तरह ही पल-पल बदलते हालातों के बीच पुलिस असली को खोजने के लिए परेशान होती रही। हरिद्वार में एक 40 साल के शख्स ने रविवार को जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। यहां तक तो पुलिस के लिए सबकुछ ठीक था, लेकिन पुलिसवालों की मुश्किल उस वक्त बढ़ गई जब मृतक का शव लेने के लिए एक, दो या तीन नहीं बल्कि 7-7 महिलाएं पुलिस के पास पहुंच गई। सभी महिलाएं खुद को मृतक की पत्नी बता रहीं थी।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुरुआत में 5 महिलाएं मृतक का शव लेने के लिए पहुंची थी। दिलचस्प बात यह थी कि इन पांचों महिलाओं में से कोई भी एक दूसरे को नहीं जानती थी और सभी इस बात से बेखबर थीं कि उनके पति की किसी अन्य महिलाा के साथ संबंध रहे हैं। पुलिस जब इस मुश्किल से निपट रही थी कि बाद में 2 अन्य महिलाएं भी थाने पहुंची और मृतक को अपना पति बताने लगीं।
मृतक के लिए 7-7 महिलाओं के दावे को देखकर पुलिस घनचक्कर हो गई। काफी देर तक चले ड्रामें और हंगामे के बाद पुलिस ने जैसे तैसे स्थिति को संभाला।
हरिद्वार की रविदास बस्ती में रहने वाला पवन कुमार पेशे से ड्रायवर था। पुलिस के मुताबिक रविवार रात को पवन ने जहर खा लिया था। जहर खाने के बाद उसकी हालत बिगड़ने पर उसकी पत्नी उसे अस्पताल लेकर गई थी लेकिन उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी।
पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया था कि पीड़ित भारी आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। इसके साथ ही यह भी सामने आया कि वह एक लो प्रोफाइल जिंदगी जी रहा था और उसके ज्यादा दोस्त भी नहीं थे।
सिटी पुलिस स्टेशन के एसएचओ प्रवीण कुमार कोशियारी ने बताया कि 'हम इसकी जांच कर रहे हैं कि मृतक ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया? महिला जो मृतक को अस्पताल ले गई थी उसने खुद को मृतक की पत्नी बताया था लेकिन उसने आत्महत्या की वजह का खुलासा नहीं किया। हमने मृतक का शव ऑटोप्सी के लिए जिला अस्पताल भेजा है।'
इस घटना के सामने आने के बाद पुलिस भी सकते में हैं। वहीं अब तक मृतक द्वारा आत्महत्या करने की वजह का खुलासा नहीं हो सका है।


आदित्य ने लिया बाल ठाकरे का आशीर्वाद

शिवसेना की राजनीति के इतिहास में पहली बार कोई ठाकरे परिवार का सदस्य चुनाव लड़ रहा है। गुरुवार को अपना नामांकन भरने से पहले आदित्य ठाकरे ने अपने दादा बालासाहेब ठाकरे के आसन से आशीर्वाद लिया।



चुनावी राजनीति में आदित्य ठाकरे का डेब्यूनामांकन से पहले लिया बाल ठाकरे के आसन से आशीर्वादठाकरे परिवार के पहले सदस्य जो चुनाव में उतरे


मुबंई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंका जा रहा है और ये चुनाव शिवसेना के लिए खास होने जा रहा है। शिवसेना की राजनीति के इतिहास में पहली बार कोई ठाकरे परिवार का सदस्य चुनाव लड़ रहा है। गुरुवार को अपना नामांकन भरने से पहले आदित्य ठाकरे ने अपने दादा बालासाहेब ठाकरे का आशीर्वाद लिया।आदित्य ठाकरे ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर साझा की। जिसमें वह बालासाहेब के आसन से आशीर्वाद ले रहे हैं। आसन पर बाल ठाकरे की तस्वीर है और उनका कुछ सामान रखा है। आदित्य ठाकरे इस बार वर्ली विधानसभा सीट से चुनावी डेब्यू कर रहे हैं।चुनावी टेस्ट से पहले आदित्य ठाकर ने हुंकार भी भरी है। बुधवार को नामांकन से पहले उन्होंने कहा, 'मैं चुनाव लड़ रहा हूं...मैंने बड़ा कदम उठाया है। मेरे लिए यह बड़ा क्षण है और ऐतिहासिक है। मेरे खिलाफ किसी को खड़ा होने दीजिए, यह उसका अधिकार है। मैं भयभीत नहीं हूं, क्योंकि मुझे भरोसा है कि आप मुझे हारने नहीं देंगे।


गौरतलब है कि इससे पहले शिवसेना के गठन से लेकर आजतक ठाकरे परिवार का कोई भी सदस्य चुनावी राजनीति में नहीं उतरा है। फिर चाहे वह बाल ठाकरे हो, उद्धव ठाकरे या राज ठाकरे ही क्यों ना हो। शिवसेना जब सत्ता में रही तब भी ठाकरे परिवार के किसी सदस्य ने कोई पद नहीं लिया था।


अब इस बार उम्मीद जताई जा रही है कि अगर शिवेसना-बीजेपी के गठबंधन की सत्ता में वापसी होती है, तो आदित्य ठाकरे डिप्टी सीएम की कमान संभाल सकते हैं। हालांकि, शिवसेना की ओर से लगातार बयान दिए जा रहे हैं कि आदित्य ठाकरे डिप्टी नहीं बल्कि सीधे सीएम ही बनेंगे।


कब होने हैं चुनाव?


गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा की 288, जबकि हरियाणा विधानसभा की 90 सीटों के चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होने हैं। चुनाव परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। दोनों राज्यों में सत्तारूढ़ भाजपा इस बार भी वर्तमान मुख्यमंत्रियों के साथ ही अपनी जीत को दोहराना चाहती है। महाराष्ट्र में बीजेपी अभी तक 139 उम्मीदवारों का ऐलान कर चुकी है, जबकि शिवसेना ने 124 का ही ऐलान किया है।


हिस्ट्रीशीटर को गोली मार किया सरेंडर

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक कारोबारी ने हिस्ट्रीशीटर की गोली मारकर हत्या मामले में जुर्म दर्ज होने से पहले ही सरेंडर कर दिया। घटना बुधवार की देर रात करीब 12 बजे की बताई जा रही है। महादेवघाट स्थित प्रांजल पेट्रोल पंप के पास केबल कारोबारी ने हिस्ट्रीशीटर बुल्ठू पाठक की गोली मारकर हत्या कर दी। बुल्ठू पाठक द्वारा विवाद करने के बाद इस वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है। हत्या के बाद कारोबारी सरेंडर करने खुद ही पुलिस थाने पहुंच गया।


रायपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक केबल कारोबारी धर्मेंद्र ठाकुर अपने बेटे शिवेंद्र के साथ वैन से कहीं जा रहा था। रात करीब 12 बजे उसकी वैन की टक्कर बाइक सवार हिस्ट्रीशीटर बुल्ठू पाठक से हो गई। इसके बाद पाठक ने कारोबारी को गाली दी, लेकिन वे वहां नहीं रुके। इसके बाद वे महादेवघाट स्थित पेट्रोल पंप के पास रुके तभी वहां बुल्ठू पहुंचा और धर्मेंद्र के बेटे पर चाकू से हमला कर दिया।


तो धर्मेन्द्र ने चलाई गोली
बेटे पर चाकू से हमला होता देखकर धर्मेंद्र ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से चार फायर किए। इसमें से एक गोली पाठक के सीने में लगी। इस वारदात के बाद धर्मेन्द्र खुद ही डीडीनगर पुलिस थाने गया और सरेंडर कर दिया। इसके बाद घटना स्थल पर पुलिस पहुंची तो देखा कि बुल्ठू पाठक जमीन पर पड़ा है। उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस की मदद से धर्मेंद्र के बेटे को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गौरतलब है कि पाठक के खिलाफ पूर्व में हत्या समेत कई अपराध अलग अलग पुलिस थानों में दर्ज हैं। हत्या की खबर मिलने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एडिशनल एसपी सिटी प्रफुल्ल ठाकुर के साथ आधा दर्जन अफसर व थानेदार मौके पर पहुंच गए। पुलिस अफसरों को पहले केबल कारोबार में रंजिश का शक था, लेकिन पूछताछ में यह बात सामने आई कि गाड़ियों में टक्कर के बाद यह वारदात हुई।


गांधी जयंती पर फूट कर रोए सपा नेता

संभल। संभल से समाजवादी पार्टी नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित तो किए ही। इस दौरान वो इतने भावुक हो गए कि बापू-बापू करते हुए प्रतिमा पकड़कर फूट-फूटकर रोने लगे। इस दौरान सपा नेता कहा कि हमें अनाथ कर बापू कहां चले गए। इतने बड़े देश को आपने आजाद कराया और हमें अनाथ बनाकर चले गए।


यह पूरा मामला चंदौसी कोतवाली क्षेत्र के फव्वारा चौक का है। सपा जिला अध्यक्ष फिरोज खान आए थे बापू को श्रद्धांजलि देने, लेकिन भावनाओं का ऐसा ज्वार उठा कि फफक-फफक कर रो पड़े। सपा के दोनों कार्यकर्ता लगातार भींगी हुई आंखों पर रुमाल फेरते रहे। इस दौरान साथी कार्यकर्ता पीठ का हाथ फेरकर दिलासा दे रहे थे। 


फिर चलाया सफाई कार्यक्रम:करीब एक मिनट के अंदर दिल को छू लेने वाला विलाप खत्म हो गया। इसके बाद अगला कार्यक्रम शुरू हुआ। ये था सफाई का। कहीं से कार्यकर्ताओं ने एक ठेले का इंतजाम किया। फिर सफाई का काम शुरू हो गया। इस दौरान सपा कार्यकर्ता सफाई कम फोटो ज्यादा खिचाते नजर आए।


बीजेपी सरकार पर साधा निशाना:सफाई अभियान के दौरान समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष फिरोज खान ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। फिरोज खान ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत बीजेपी लाखों रूपये डकार रही है। आज इस देश में लूट खसोट मची है, इसलिए बापू को याद करके मेरी आंखें भर आई। मैं बहुत रोया हूं।


मेरठ:स्वाइन फ्लू ने दंपत्ति की ली जान

मेरठ। मेरठ के जागृति विहार सेक्टर-6 निवासी स्वाइन फ्लू से पीड़ित मरीज देवेंद्र सिंह (77) का मंगलवार को नोएडा के सेक्टर-62 स्थित फोर्टिस अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। 24 सितंबर को उनकी पत्नी राजवीरी सिंह (73) की  उपचार के दौरान फोर्टिस अस्पताल में मौत हो गई थी। कई सप्ताह से देवेंद्र की हालत गंभीर बनी हुई थी। वह वेंटिलेटर पर थे। 


मेरठ के आनंद अस्पताल और बाद में मेडिकल अस्पताल में पति-पत्नी का इलाज किया गया था। हालत बिगड़ने पर इनको हायर सेंटर फोर्टिस ले जाया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजकुमार चौधरी ने बताया कि स्वाइन फ्लू से मौत की जानकारी मिल गई है। पत्नी-पति के मौत के बाद घर में कोहराम मच गया। उनके बेटे का कहना था एक महीने में माता-पिता दोनों स्वाइन फ्लू से चले गए। स्वाइन फ्लू को लेकर पूरे इलाके में दशहत का माहौल है। स्वास्थ्य विभाग की टीम इस इलाके में पहले जा चुकी है। इनके परिवार वालों को भी टेमी फ्लू की दवा दी जा चुकी है। 


छह सौ से ज्यादा स्वाइन फ्लू के मरीज 


सीएमओ ने बताया कि जिले में इस साल अब तक स्वाइन फ्लू के छह सौ से ज्यादा रोगियों की पुष्टि हो चुकी है। जिले के सरकारी और निजी अस्पतालों में स्वाइन फ्लू मरीजों के लिए 10-10 बेड का अलग वार्ड बनाया गया है। 


स्वाइन फ्लू के लक्षण


-नाक से पानी बहना


-नाक बंद हो जाना
-गले में खराश।
-सर्दी-खांसी।
-बुखार।
-सिरदर्द, शरीर दर्द, थकान, ठंड लगना, पेटदर्द।
-कभी-कभी दस्त उल्टी आना। युवाओं, छोटे बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को यह तीव्र रूप से प्रभावित करता है।


ऐसे होता है संक्रमण


डॉक्टरों के मुताबिक इसका संक्रमण रोगी के खांसने, छींकने आदि से निकली हुई द्रव की बूंदों से होता है। रोगी मुंह या नाक पर हाथ रखने के पश्चात जिस भी वस्तु को छूता है, फिर से उस संक्रमित वस्तु को स्वस्थ व्यक्ति द्वारा छूने से रोग का संक्रमण हो जाता है। संक्रमित होने के एक से सात दिन के अंदर लक्षण उत्पन्न हो जाते हैं।


बचाव
-खांसी, जुकाम, बुखार के मरीजों से दूर रहें।
-आंख, नाक, मुंह को छूने के बाद किसी अन्य वस्तु को न छुएं
-हाथों को साबुन या एंटीसेप्टिक द्रव से धोकर साफ करें।
-खांसते, छींकते समय मुंह व नाक पर कपड़ा रखें।
-स्टार्च (आलू, चावल आदि) और शर्करायुक्त पदार्थों का सेवन कम करें।
-दही का सेवन नहीं करें, छाछ ले सकते हैं। खूब उबला हुआ पानी पीएं।
-सर्दी-जुकाम और बुखार होने पर भीड़भाड़ में जाने से बचें।


आज चार्जशीट दाखिल करेगा एनआईए

नई दिल्ली। अलगाववादियों पर शिकंजा कसने की प्रक्रिया के तहत राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कई कश्मीरी अलगाववादी नेताओं के खिलाफ गुरुवार को अदालत में आरोप-पत्र दाखिल कर सकती है। जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के यासीन मलिक सहित कई अन्य कश्मीरी अलगाववादियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) के तहत जांच एजेंसी द्वारा गुरुवार को आरोप पत्र दायर किए जाने की संभावना है। 


इन अलगाववादी नेताओं पर आरोप है कि इन्होंने 2010 और 2016 में कथित तौर पर आतंकवादी गतिविधियों और पथराव कराने के लिए पाकिस्तान से धन (फंड) लिया था। मीरवाइज उमर फारूक और सैयद अली शाह गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के दो धड़ों से जुड़े कई अलगाववादियों को आतंकी फंडिंग के आरोप में एनआईए ने 2017 में गिरफ्तार किया था। इसके अलावा एनआईए ने अलगाववादियों के लिए पाकिस्तान से खुफिया तौर पर फंड लेने के लिए श्रीनगर के एक व्यापारी जहूर वटाली को भी गिरफ्तार किया। 
एनआईए द्वारा गिरफ्तार किए गए कुछ ज्ञात अलगाववादी नेताओं में शब्बीर शाह, नईम खान, मसरत आलम, असिया अंद्राबी और फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे शामिल हैं। यासीन मलिक को 2010 और 2016 में अलगाववादी आंदोलन के दौरान कश्मीर में अशांति फैलाने में उनकी भूमिका को लेकर चार अप्रैल को गिरफ्तार किया गया। 2016 में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की हत्या के बाद से घाटी में अशांति फैलाने का उन पर आरोप है। 
मलिक जॉइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) का हिस्सा था, जिसमें मीरवाइज और सैयद अली शाह गिलानी गुट भी शामिल था। इसने अलगाववादी आंदोलन की अगुवाई की थी। पाकिस्तानी महिला मशाल मलिक से शादी करने वाले मलिक पर यह भी आरोप है कि कश्मीर में आतंक फैलाने वाले और संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक रूप से आंतकी घोषित किए गए मुंबई हमले के मास्टरमाइड हाफिज सईद के साथ भी उसके संबंध हैं। एनआईए का आरोप-पत्र कहता है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुरे में मलिक ने लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के कैंपों का दौरा किया था और वहां लश्कर के कैडर (आतंकवादियों) को संबोधित किया था। आरोप-पत्र मे कहा गया है, आरोपी यासीन मलिक ने इस बात को खुद पत्रकार रजत शर्मा को दिए एक साक्षात्कार में टीवी पर (आप की अदालत कार्यक्रम में) इस बात को कबूल किया है।


छोटा राजन के भाई को कमल का फूल

मुंबई। अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के भाई दीपक निकालजे को केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपना उम्मीदवार बनाया है। निकालजे रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के टिकट पर सातारा जिले की फलटन सीट से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन उनका चुनाव चिन्ह कमल होगा। वह बीजेपी के चुनाव चिन्ह 'कमल' के निशान पर ही चुनाव मैदान में उतरेंगे।
इससे पहले भी दीपक निकालजे आरपीआई की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। आठवले की पार्टी से उन्होंने 2004, 2009 और 2014 में चेंबूर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि उन्हें एक बार भी जीत नहीं मिली थी। निकालजे 10वीं पास हैं। उनका नाम कई आपराधिक मामलों में सामने आया था। निकालजे के समर्थक उन्हें 'दीपक भाऊ' कहते हैं।


निकालजे के पास करोंडों की संपत्ति
ऐसा माना जाता ही कि संजय दत की मशहूर फिल्म 'वास्तव' में दीपक निकालजे का ही पैसा लगा था। लोगों का ऐसा भी मानना है कि फिल्म छोटा राजन के किरदार से काफी मिलती-जुलती थी। दीपक रियल स्टेट कारोबार से जुड़ा है। उन्होंने 2009 लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग को दिए अपने हलफनामे में 4 करोड़ की सम्पत्ति और 500 स्क्वेयर फीट के बंगले का मालिक बताया था।
21 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी, शिवसेना और आरपीआई के बीच गठबंधन हुआ है। तीनों पार्टी राज्य में मिलकर चुनाव लड़ रही हैं। महाराष्ट्र की सभी 288 सीटों पर 21 अक्टूबर को एक ही चरण में वोट डाले जाएंगे। जबकि इसके तीन दिन बाद यानी 24 अक्टूबर को मतगणना होगी।


लक्ष्मी बॉम्ब में अक्षय ने बढ़ाई उत्सुकता

फिल्म लक्ष्मी बॉम्ब की पहली तस्वीर में अक्षय आंखो में काजल लगाते आए नजर


मुबंई। अक्षय कुमार हॉरर कॉमेडी फिल्म लक्ष्मी बॉम्ब में नजर आने वाले हैं। इस फिल्म से अक्षय का फर्स्ट लुक रिलीज कर दिया गया है। फर्स्ट लुक पोस्टर में अक्षय कुमार अपनी आंखो में काजल लगाते नजर आ रहे हैं। इस लुक को देखकर फिल्म में उनके कैरेक्टर को लेकर उत्सुकता बढ़ गई है। फिल्म से अपने पहले लुक को खुद अक्षय ने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। पोस्टर में धमाके जैसा साइन बना हुआ है और बीच में अक्षय नजर आ रहे हैं। पोस्टर शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- 'कहानी से आपके लिए एक बम इसका धमाका जून 2020 में होगा।'


फिल्म में अक्षय के अपोजिट कियारा आडवाणी नजर आएंगीं। इसके साथ ही अमिताभ बच्चन फिल्म में ट्रांसजेंडर के भूत के रोल में नजर आएंगे। वहीं फिल्म में तुषार कपूर और आर माधवन अहम रोल में दिखेंगे। लक्ष्मी बॉम्ब तमिल फिल्म कंचना की रीमेक है। तमिल फिल्म का निर्देशन राघव लॉरेंस ने किया था और रिमेक फिल्म भी वही बना रहे हैं।


राजधानी में 'जैश' आतंकियों की घुसपैठ

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन से चार आतंकी छिपे होने की खबर है। सुरक्षा एजेंसियों को इनपुट मिला है कि त्योहार के मौसम में आतंकी बड़ा हमला कर सकते हैं। इस अलर्ट के बाद दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। खुफिया सूचना के अनुसार, आतंकी त्योहार के दौरान भीड़ भाड़ वाले क्षेत्रों, बाजारों में बड़े पैमाने पर तबाही मचाने की फिराक में हैं। इस सूचना के बाद से ही दिल्ली पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने राजधानी व आसपास की सुरक्षा को लेकर चौकसी बढ़ा दी है।


एजेंसियों के मुताबिक आतंकी जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही विरोध में हैं। ऊपर से उन्हें पाकिस्तानी खुफिया इकाई आईएसआई का समर्थन भी है। ऐसे में आतंकी देश में खासतौर से दिल्ली में किसी बड़े हमले को अंजाम देने की नापाक साजिश रच रहे हैं। इसके लिए जैश के आतंकियों के एक समूह के दिल्ली में कूच करने की सूचना है। दिल्ली में आतंकियों के पहुंचने के इस इनपुट के बाद से ही यहां सुरक्षा को लेकर विशेष चौकसी बरती जा रही है।


भारतीय डाक विभाग में निकली रिक्तियां

नई दिल्ली। बेरोजगार युवाओ के नौकरी करने का बड़ा मौका मिल रहा है.. अगर आपभी अच्छी नौकरी  की तलाश कर रहें हैं तो आपके लिए ये बड़ी खुशखबरी है। इससे के लिए बस आपकों यह खबर पढऩी है और इस नौकरी के लिएआवेदन करना हैै, बता दे नौकरी के लिए पात्र और इच्छुक उम्मीदवार आवेदन करने की अंतिम तिथि, आवेदन शुल्क, नौकरी के लिए चयन प्रक्रिया, नौकरी के लिए आयु सीमा, जिन पदों पर भर्ती निकली उनका विवरण, पदों के नाम, नौकरी के लिए शैक्षणिक योग्यता, कुल पदों की संख्या जैसी नौकरी से जुड़ी बेहद महत्वपूर्ण जानकारी नीचे विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं अगर आप आवेदन करने के इच्छुक है तो नीचें दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें।


इंडियन पोस्टल डिपार्टमेंट में दसवीं पास के लिए स्टाफ कार ड्राइवर के पदों पर भर्तियां निकाली हैं। इच्छुक अभ्यर्थी डाक के जरिए 13 नवंबर तक आवेदन भेज सकते हैं। भारतीय डाक विभाग में दसवीं पास के लिए भर्तियां आमंत्रित की हैं। इन रिक्त पदों पर भर्ती के लिए अभ्यर्थी डाक विभाग के जरिये आवेदन भेज सकता है। डाक विभाग ने कुल 10 पदों पर ये रिक्तियां निकाली हैं।


रिक्तियों का विवरण:


पद: स्टाफ कार ड्राइवर


कुल रिक्तियां: 10 (इसमें से अनारक्षित- 05 पद हैं)


योग्यता: इन पदों के लिए अभ्यर्थी को मान्यता प्राप्त स्कूली शिक्षा बोर्ड से दसवीं पास होना चाहिए. अभ्यर्थी 13 नवंबर तक इसमें आवेदन कर सकते हैं.


ये भी है जरूरी:अभ्यर्थी के पास हल्के और भारी वाहन चलाने का वैध ड्राइविंग लाइसेंस भी होना चाहिए. इसके अलावा आवेदक को मोटर मेकेनिज्म की जानकारी होने के अलावा ड्राइविंग का कम से कम तीन वर्ष का अनुभव होना चाहिए.


तय आयु सीमा: अभ्यर्थी को आवेदन के लिए न्यूनतम 18 और अधिकतम 27 वर्ष का होना चाहिए. इन पदों पर एससी/एसटी उम्मीदवारों को पांच वर्ष और ओबीसी उम्मीदवारों को तीन वर्ष की छूट दी जाएगी. इन पदों पर वेतनमान 19,900 रुपये दिया गया है. इसके अलावा इसमें आवेदन शुल्क के तौर पर आवेदन को 100 रुपये देय होंगे. आवेदक को इसका भुगतान इंडियन पोस्टल ऑर्डर के जरिए करना होगा.


ये होगी चयन प्रक्रिया:


योग्य उम्मीदवारों का चयन उनके शैक्षणिक कागजात के अलावा ड्राइविंग टेस्ट में प्रदर्शन के आधार पर होगा.


ऐसे करें आवेदन


स्टेप 1: सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट indiapost.gov.in पर लॉग इन करें
स्टेप 2:  होमपेज खुलने पर नीचे दिए गए “Opportunities” ऑप्शन पर क्लिक करें.


स्टेप 3: क्लिक करते ही यहां एक नया वेबपेज खुल जाएगा।


PDF में मिलेगी जानकारी


इस शीर्षक के नीचे दिख रहे लाल रंग के पीडीएफ साइन पर क्लिक करते ही इन रिक्तियों से संबंधित सारी जानकारी खुल जाएगी. ऐसा करते ही रिक्तियों से संबंधित विज्ञापन खुल जाएगा. विज्ञापन को ठीक से पढ़कर उचित योग्यता है तो दिए गए बिंदुओं के आधार पर जानकारी देकर आवेदन दिए गए पते पर भेज दें.


आवेदन भेजने का पता:-मैनेजर, मेल मोटर सर्विस, जीपीओ कैम्पस, पटना-800001


ये है वेबसाइट : www.indiapost.gov.in


भारतीय करोड़पति की अमेरिका में हत्या

कैलिफोर्निया। सैंटा क्रूज में रहने वाले भारतीय मूल के करोड़पति तुषार अत्रे का शव उनकी बीएमडब्लू कार से बरामद हुआ है। 1 अक्टूबर को तुषार का उनके घर से अपहरण कर लिया गया था। सैंटा क्रूज पुलिस के अनुसार, डिजिटल मार्केटिंग कंपनी अत्रे नेट आईएनसी के मालिक 50 वर्षीय तुषार का मंगलवार की सुबह करीब 3 बजे उनके घर से अपहरण कर लिया गया था। तुषार को आखिरी बार अपनी सफेद रंग की बीएमडब्लू कार में देखा गया था।


मंगलवार की दोपहर को तुषार की कार को लोकेट किया गया। इससे पहले पुलिस ने तुषार की फोटो और उनकी गाड़ी का नंबर फेसबुक पर शेयर किया था और लोगों से आग्रह किया था कि किसी को भी तुषार या उनकी गाड़ी के बारे में पता चले तो वह तुरंत उन्हें सूचित करें। सैंटा क्रूज माउंटेन्स पर तुषार की गाड़ी मिली और जब उसकी छानबीन की गई तो उसमें से तुषार का शव बरामद हुआ।


इस घटना की जानकारी देते हुए सैंटा क्रूज पुलिस ने बताया कि यह मामला रॉबरी का लग रहा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। इस केस में पुलिस को दो लोगों पर शक है और उनकी तलाश की जा रही है।


वंदे भारत एक्सप्रेस को गृहमंत्री की हरी झंडी

नई दिल्ली। वंदे भारत एक्सप्रेस को गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को हरी झंडी दिखाकर दिल्ली से कटरा के लिए किया। इस ट्रेन का नियमित संचालन 5 अक्टूबर से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि आज पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर वासियों को बहुत बड़ा तोहफा दिया है।
शाह ने कहा कि 5 अक्तूबर से ये रेलगाड़ी शुरू हो जाएगी। बता दें कि इस ट्रेन के लिए टिकटों की बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर शुरू हो गई है। वंदे भारत एक्सप्रेस यात्रियों को सुपरफास्ट ट्रेन से चार घंटे पहले ही कटरा पहुंचा देगी। यानी यह दिल्ली से कटरा और कटरा से दिल्ली आने में सिर्फ 8 घंटे का वक्त लेगी। पांच अक्तूबर से ट्रेन का परिचालन सप्ताह में छह दिन होगा।


स्टार प्रचारको में एक भी मुस्लिम नहीं

कांग्रेस की स्टार प्रचारक में एक भी मुस्लिम नही,पूर्व राज्यपाल अज़ीज़ कुरेशी गुस्से में,कहा मुसलमान कांग्रेस के गुलाम नही हैं।
शेख नसीम


भोपाल। मध्य प्रदेश के झाबुआ विधानसभा के लिए होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के समर्थन में कांग्रेस ने अपनी स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी लेकिन इस सूची में एक भी मुस्लिम नेता को शामिल नही किया गया हैं।


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यपाल अज़ीज़ कुरेशी ने इस पर कांग्रेस के नेताओ पर ही हमला बोलते हुए कहाकि झाबुआ  विधानसभा उपचुनाव में प्रचार के लिए स्टार प्रचारकों की सूची में एक भी मुस्लिम नेता को शामिल नही किया गया हैं उन्होंने कहाकि मुसलमान कांग्रेस के गुलाम नही हैं और न ही दिहाड़ी मजदूर। बहुत हो गया अब हम और अपमान बर्दाश्त नही करेंगे। कांग्रेस ने एक भी मुस्लिम नेता को सूची में शामिल नही करते हुए मुसलमानो की उपेक्षा की हैं आने वाले समय मे ये कांग्रेस के लिए बहुत नुकसान वाला फैसला होगा।


यात्री बस गिरी नदी में ,7 की मौत

छतरपुर। मध्य प्रदेश के छतरपुर में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है जहां मध्य प्रदेश से छतरपुर जा रही यात्री बस अचानक अनियंत्रित होकर पुल से नीचे नदी में जा गिरी जिससे 7 लोगों की मौत की खबर अभी तक सामने आई है वहीं 3 दर्जन से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं ।दरअसल मध्‍य प्रदेश में बीती रात एक दर्दनाक हादसा घट गया। यहां भोपाल से छतरपुर जा रही एक यात्री बस रायसेन के पास पुल से नीचे आ गिरी। इस हादसे में 7 यात्रियों की मौत हो गई और 3 दर्जन से ज्‍यादा लोग घायल हो गए। पुलिस सहित एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है और स्‍थानीय लोगों की मदद से घायलों को बाहर निकाला।


करीब 1.30 बजे रायसेन के निकट एक दरगाह के पास रिछन नदी के पुल से यह बस अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी। इस दुर्घटना में 7 यात्रियों की मौत हो गई, वहीं 3 दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। कोतवाली पुलिस सहित एसडीआरएफ(SDRF) की टीम मौके पर पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि बस पुल के नीचे पानी मे आधी डूबी है। घायलों को निकालने में स्थानीय लोग भी मदद को पहुँचे गए हैं। घायलों को जिला अस्पताल भेजा जा रहा है।


आपके सितारे पक्ष में रहेंगे:मीन

राशिफल


वृषभ:आपका प्रयास आज रंग लाएगा। शुभ समाचार मिलेगा। नए अवसर प्राप्त होंगे जिनसे जीवन में उत्साह एवं आनंद का संचार होगा। अपनों से सहयोग मिलेगा, मित्र भी साथ देंगे। नौकरी में नए विचारों और उर्जा से अच्छा प्रदर्शन करेंगे। 
मिथुन:आर्थिक मामलों में दिन लाभप्रद रहेगा। कहीं से धन की प्राप्ति हो सकती है। कोई चाहत पूरी हो सकती है। यात्रा मंगलमय होगी। कम प्रयास से ही आप मान-सम्मान और यश प्राप्त कर लेंगे। कुल मिलकर दिन शुभ रहेगा।


कर्क: स्वास्थ्य नरम रहेगा। साझेदारी के काम में समझदारी और सतर्क रहने की जरूरत है। अपने भी आज बेगानों का व्यवहार करेंगे। अपने काम से मतलब रखिए, विवादों में फंसकर अपना नुकसान करवा सकते हैं। दुर्गा नामावली का पाठ करना शुभ रहेगा।


सिंह:आज का दिन उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। संयम से दिन बिताएं। कोई अप्रिय समाचार मिल सकता है या कोई अप्रिय घटना हो सकती है जिससे निराश होंगे। सोच-समझकर ही यात्रा एवं कार्य-व्यवहार करें। साधु-संतों का आशीर्वाद मन में उर्जा का संचार करेगा। 


कन्या:आज सितारे आपके पक्ष में हैं। आपकी यात्रा लाभप्रद रहेगी। मान-सम्मान और प्रभाव बढ़ेगा। कार्यों में सफलता मिलेगी। जितनी मेहनत और प्रयास करेंगे उस अनुपात में लाभ प्राप्त होगा। अधिकारी वर्ग से सहायता मिलेगी, विरोधी निर्बल रहेंगे।
तुला:आज का दिन आनंद और उत्साह में बीतेगा। कहीं आपका धन फंसा है तो आज मिल सकता है। जिन क्षेत्रों में प्रयास करेंगे उनमें सफलता मिलेगी। सामाजिक क्षेत्र में सम्मान और प्रतिष्ठा प्राप्त करेंगे। धर्म-कर्म के काम में रुचि लेंगे।


वृश्चिक:आज कुछ नए संपर्क बन सकते हैं जिनसे आपको लाभ मिलेगा। कोई अटका हुआ काम बनने से आप प्रसन्न रहेंगे। महिला मित्रों और संबंधियों से मधुर संबंध बनाकर रखें, फायदा होगा। अतिउत्साह से नुकसान हो सकता है, जोखिम लें मगर समझदारी से।


धनु:आज आपको धैर्य और संयम से काम लेना होगा नहीं तो कार्यों में बाधाओं का सामना करना होगा। कठिनाई के बाद सफलता मिलेगी। किसी बात से मन खिन्न रह सकता है। कुछ उलटे-सीधे खर्च भी होंगे। धर्म-कर्म में भी मन आज उचाट रह सकता है। 
मकर:आज का दिन आपके लिए उत्साहवर्धक है। कोई शुभ समाचार मिल सकता है, उन्नति का अवसर मिलेगा। कहीं से आज उपहार या पुरस्कार मिल सकता है। जो लोग यात्रा पर जा रहे हैं उनकी यात्रा सुखद और मजेदार रहेगी। पारिवारिक जीवन में तालमेल बना रहेगा।


कुंभ:आज आपके ऊपर काम का दबाव रहेगा, व्यस्त रहेंगे। धन खर्च होगा लेकिन सुख-समृद्धि के साधन भी बढ़ेंगे। गुप्त शत्रु परेशान कर सकते हैं। स्वास्थ्य के मामले में लापरवाही ना करें। पारिवारिक जीवन में तालमेल से तनाव कम होगा।


मीन:बीते कई दिनों से चली आ रही परेशानी आज दूर होगी। भाग्य का पूरा-पूरा साथ मिलेगा, कम प्रयास में ही सफलता प्राप्त कर लेंगे। विरोधियों का प्रभाव कम होगा। मन को शांत रखकर काम करते रहिए आज, सब कुछ आपके पक्ष में होगा।


विशाल जलीय गोह

गोह (Monitor lizard) सरीसृपों के स्क्वामेटा (Squamata) गण के वैरानिडी (Varanidae) कुल के जीव हैं, जिनका शरीर छिपकली के सदृश, लेकिन उससे बहुत बड़ा होता है।


गोह छिपकिलियों के निकट संबंधी हैं, जो अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, अरब और एशिया आदि देशों में फैले हुए हैं। ये छोटे बड़े सभी तरह के होते है, जिनमें से कुछ की लंबाई तो 10 फुट तक पहुँच जाती है। इनका रंग प्राय: भूरा रहता है। इनका शरीर छोटे छोटे शल्कों से भरा रहता है। इनकी जबान साँप की तरह दुफंकी, पंजे मजबूत, दुम चपटी और शरीर गोल रहता है। इनमें कुछ अपना अधिक समय vchh में


जातियाँ 


बंगाल गोह (Varanus benghalensis)


मलेशिया (बोर्नियो) का विशाल जलीय गोह
इनकी कई जातियाँ हैं, लेकिन इनमें सबसे बड़ा ड्रैगन ऑव दि ईस्ट इंडियन ब्लैंड (Dragon of the East Indian bland) लंबाई में लगभग 10 फुट तक पहुँच जाता है। नील का गोह (नाइल मॉनिटर / Nile Monitor, V. niloticus) अफ्रीका का बहुत प्रसिद्ध गोह है और तीसरा (V. exanthematicus) अफ्रीका के पश्चिमी भागों में काफी संख्या में पाया जाता है। इसकी पकड़ बहुत ही मजबूत होती है।


भारत में गोहों की छ: जातियाँ पाई जाती हैं, जिनमें कवरा गोह (V. Salvator) सबसे प्रसिद्ध है। इसके बच्चे चटकीले रंग के होते हैं, जिनकी पीठ पर बिंदियाँ पड़ी रहती हैं और जिन्हें हमारे देश में लोग 'बिसखोपरा' नाम का दूसरा जीव समझते हैं। लागों का ऐसा विश्वास है कि बिसखोपरा बहुत जहरीला होता है, लेकिन वास्तव में ऐसा है नहीं। बिसखोपरा कोई अलग जीव न होकर गोह के बच्चे हैं, जो जहरीले नही होते।


रहन-सहन:-गोह पानी व दलदल से प्यार करती है। साँप की तरह जीभ लपलपाती रहती। लगभग सात फुट से ज्यादा। पूँछ लंबी, चपटी, देह की बजाय भारी। दाँत नुकीले, थूथन का सिरा चपटा, सिर दबा हैआ आर अगुलिया साधारण लबाइ की होती हैं। पूछ की मार बडा असर करती है।


गोह जब दौडती है तब पूछ ऊपर उठा लेती है। गोह मेंढक, कीडे-मकोडे, मछलियाँ और केकडे खाती है। यह बडी गुस्सैल स्वभाव की है। गोह आजकल बरसात से पहले किसी बिल या छेद में १५ से २० तक अडे देती है। मादा अंडों को छिपाने के लिए फिर भर देती है और बहकाने के लिए चारों ओर दो-तीन और बिल खोदकर छोड देती है। आठ नौ महीने के बाद कहीं सफेद रग के अंडे फूटते है। छोटे बच्चों के शरीर पर बिंदिया, व चमकदार छल्ले होते है। गोह पानी में रहती है। तराकी में दक्ष है यह, साथ में तेज धावक व वृक्ष पर चढने में माहिर हैोती है। पुराने समय में जो काम हाथीघोडे नहीं कर पाते थे, उसे गोह आसानी से कर देती थी। इनकी कमर में रसा बाधकर दीवार पर फेंक दिया जाता था और जब ये अपने पंजों से जमकर दीवार पकड लेती थी, तब रस्सी के सहारे ऊपर चढ जाते थे।


प्रंशात महासागर के आदिवासी गोह खाते भी है। यहाँ इनकी खाल के लिए शिकार किया जाता है। गोह वन्य-प्राणी अधिनियम के तहत संकटगत अबल सूची में शामिल है।


मां शक्ति रूपेण संस्थिता

कात्यायनी नवदुर्गा या हिंदू देवी पार्वती (शक्ति) के नौ रूपों में छठवीं रूप हैं


कात्यायिनी - नवदुर्गाओं में षष्ठम्
देवनागरी-कात्यायिनी
संबंध-हिन्दू देवी
मंत्र-चन्द्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहन। कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी ॥
अस्त्र-कमल व तलवार
जीवनसाथी-शिव
सवारी-सिंह
'कात्यायनी' अमरकोष में पार्वती के लिए दूसरा नाम है, संस्कृत शब्दकोश में उमा, कात्यायनी, गौरी, काली, हेेमावती व ईश्वरी इन्हीं के अन्य नाम हैं। शक्तिवाद में उन्हें शक्ति या दुर्गा, जिसमे भद्रकाली और चंडिका भी शामिल है, में भी प्रचलित हैं। यजुर्वेद के तैत्तिरीय आरण्यक में उनका उल्लेख प्रथम किया है। स्कन्द पुराण में उल्लेख है कि वे परमेश्वर के नैसर्गिक क्रोध से उत्पन्न हुई थीं , जिन्होंने देवी पार्वती द्वारा दी गई सिंह पर आरूढ़ होकर महिषासुर का वध किया। वे शक्ति की आदि रूपा है, जिसका उल्लेख पाणिनि पर पतञ्जलि के महाभाष्य में किया गया है, जो दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में रचित है। उनका वर्णन देवीभागवत पुराण, और मार्कंडेय ऋषि द्वारा रचित मार्कंडेय पुराण के देवी महात्म्य में किया गया है जिसे ४०० से ५०० ईसा में लिपिबद्ध किया गया था। बौद्ध और जैन ग्रंथों और कई तांत्रिक ग्रंथों, विशेष रूप से कालिका पुराण (१० वीं शताब्दी) में उनका उल्लेख है, जिसमें उद्यान या उड़ीसा में देवी कात्यायनी और भगवान जगन्नाथ का स्थान बताया गया है।


परम्परागत रूप से देवी दुर्गा की तरह वे लाल रंग से जुड़ी हुई हैं। नवरात्रि उत्सव के षष्ठी को उनकी पूजा की जाती है। उस दिन साधक का मन 'आज्ञा चक्र' में स्थित होता है। योगसाधना में इस आज्ञा चक्र का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है। इस चक्र में स्थित मन वाला साधक माँ कात्यायनी के चरणों में अपना सर्वस्व निवेदित कर देता है। परिपूर्ण आत्मदान करने वाले ऐसे भक्तों को सहज भाव से माँ के दर्शन प्राप्त हो जाते हैं।


श्लोक:-चन्द्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहन ।
कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी ॥
कथा उपासना:-नवरात्रि का छठा दिन माँ कात्यायनी की उपासना का दिन होता है। इनके पूजन से अद्भुत शक्ति का संचार होता है व दुश्मनों का संहार करने में ये सक्षम बनाती हैं। इनका ध्यान गोधुली बेला में करना होता है। प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में छठे दिन इसका जाप करना चाहिए।


या देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:॥
अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और शक्ति -रूपिणी प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ।इसके अतिरिक्त जिन कन्याओ के विवाह मे विलम्ब हो रहा हो, उन्हे इस दिन माँ कात्यायनी की उपासना अवश्य करनी चाहिए, जिससे उन्हे मनोवान्छित वर की प्राप्ति होती है।


विवाह के लिये कात्यायनी मन्त्र--ॐ कात्यायनी महामाये महायोगिन्यधीश्वरि । नंदगोपसुतम् देवि पतिम् मे कुरुते नम:॥


महिमा:- माँ को जो सच्चे मन से याद करता है उसके रोग, शोक, संताप, भय आदि सर्वथा विनष्ट हो जाते हैं। जन्म-जन्मांतर के पापों को विनष्ट करने के लिए माँ की शरणागत होकर उनकी पूजा-उपासना के लिए तत्पर होना चाहिए।


संकल्प विवेचना और धारणा

गतांक से...
 देवी, जब हम जैसे पुत्र माता के गर्भ स्थल में होते हैं तो सप्‍त माह  में दोनों मंडलों की कांतिया आती रहती है और उनके उपयोग को ग्रहण करते हुए । 'अमृतम ब्रह्मणम्‌ ब्रह्म कृतम' गर्भ में विद्यमान बालक में बुद्धि का निर्माण करते हैं। बुद्धि की वर्तिका का जन्म होता है। यदि उस माह में माता के गर्भ से यदि 'विक्षालम्‌ ब्रहे' पृथक हो जाए तो उसको जीवन शक्ति प्राप्त नहीं होती है। यह जीवन की आभा का निर्माण करने वाले हैं। प्रभु ने इस ब्रह्मांड को और पिंड को दोनों को एक सूत्र में लाने का प्रयास किया है। विचार-विनिमय करते, उन्होंने कहा हे प्रभु, यह जो चंद्रमा है इसका मूल क्या है? चंद्रमा का मूल सोम है। उन्होंने कहा सोम का मूल क्या है? उन्होंने कहा सोम का मूल सूर्य कहलाता है। क्योंकि सूर्य से जो कांति आती है शीतल बन जाती है। अमृतमयी बन जाती है। इसकी उत्पत्ति का मूल सूर्य कहलाता है। सूर्य से नाना प्रकार की किरणें आती रहती है। यही सोम बनकर के कृषि को उधरवा में गमन कराती रहती है और खनिज-खाध में भी यही विद्यमान रहती है। मेरे पुत्रों देखो, जब ऋषि ने इस प्रकार वर्णन किया तो माता अरुंधति मौन हो गई। इसी विचार में प्रातः काल हो गया प्रातकाल होते ही  ऋषि वशिष्ठ और अरुंधती अपने आसन से पृथक हुए और अपनी क्रियाओं से निवृत्त हुए। उसके पूर्व राजा दशरथ उनके समीप जा पहुंचे। ऋषि वशिष्ठ बोले कि हे राजन, तुम किस काल में पधारे हो? उन्होंने कहा प्रभु मैं तो सांयकाल आ गया था परंतु तुम्हारे विचार इतने गंभीर हो रहे थे। मैं उन में इतना मगन हो गया कि मुझे कोई प्रतीत ही नहीं हुआ। वह बड़े मन प्रसन्न हुए और 'मंगलम ब्रव्‍हे' राजा से कहा कहो भगवान कैसे आगमन हुआ? उन्होंने कहा प्रभु मैं इस समय बड़ा आपातकाल में हूं। वशिष्ट बोले कि क्या आपातकाल है, उन्होंने कहा कि माता 'ब्राह्मणोंमें वर्तम्‌' देखो माता अरुंधति और आप दोनों को मैं चाहता हूं कि राष्ट्र गृह में जाकर के कौशल्या जी को शिक्षा दें। क्योंकि कौशल्य जी राष्ट्र का अनुकरण नहीं कर रही है। क्षुदा से पीड़ित रहती है अथवा नहीं। इसको मैं नहीं जान पाया। उन्होंने स्वीकार किया और अपनी क्रियाओं से निवृत्त होकर के उनके वाहन में विद्यमान हो करके गमन किया। भ्रमण करते हुए राष्ट्र गृह अयोध्या में आ गए। पर्दाप्रण हुआ तो एक आनंदवत छा गया।
 ब्रह्मावेता राष्ट्र आगमन होना एक सौभाग्य था। राष्ट्रीय ग्रह में आना और भी सौभाग्य था। कौशल्या जी के समीप पहुंचे माता कौशल्या जी ने उन्हें 3 आसन प्रदान किए। एक राजा का, एक माता का और एक पित्र का। जब यह आसन पर विद्यमान हो गए। तो उन्होंने बारी-बारी चरणों को स्पर्श किया और कहा कि भगवान आज कैसे मेरा सौभाग्य जागरूक हो गया है मैं कितनी सौभाग्यशाली हूं। हे भगवान, आप उदगीत गाइए, कैसे आगमन हुआ है। बिना सूचना के बिना कोई कारण के, ऋषि वशिष्ठ मुनि बोले देवी, तुम शांतम व्रहे क्रता। वे शांत विधमान हो गई। ऋषि वशिष्ठ मुनि बोले की हे दिव्या, हे पुत्री, तुमसे हम कुछ प्रसन्न करना चाहते हैं। कौशल्या जी ने कहा भगवान जो मुझे आज्ञा देंगे मैं उसका आदर करूंगी और उसको धारण करूंगी। उन्होंने कहा तो हे दिव्या, हमने यह श्रवन किया है कि तुम राष्ट्र का अनुग्रह नहीं कर रही हो। उन्होंने कहा प्रभु मैं नहीं कर पा रही हूं। उन्होंने कहा कि मैं अपने  उदर स्थल से ऐसे महापुरुष संतान को जन्म देना चाहती हूं त्याग और तपस्या में अपने जीवन को व्‍यतीत करे,मेरी कामना है उसी कामना में सदैव तत्पर रहती हूं। प्रभु जब उन्होंने ऐसा कहा हे ब्रहमणेब्रह' हमारी इच्छा यह है कि तुम राष्ट्र के अन्न को ग्रहण करो। उन्होंने कहा प्रभु मैं राष्ट्र के अन्‍न कों ग्रहण नहीं करूंगी। यह मेरा संकल्प हो गया है और यह जो परमात्मा का जगत है, यह संकल्प में ही नहीं रहता है। यदि परमात्मा का संकल्प है जब परमात्मा ने तप किया था। तपस्या में बहुदा ब्रह्मा को बहुदा की इच्छा बनी तो यह ब्रह्मांड नाना प्रकार के लोक-लोकातंरो में परिणत हो गया। हे प्रभु, यह प्रभु का संकल्प है जितनी आयु उन्हें प्रदान की है उतनी आयु में रहेंगे। उतने समय उनका पिंड बना रहेगा। प्राण सत्ता चली जाएगी, प्राण छिन्न-भिन्न हो जाएगा। प्रभु संकल्पमयी यह संसार है और मैं अपने संकल्पों को नष्ट नहीं करूंगी।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 04, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-61 (साल-01)
2. शुक्रवार, 04 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि -षष्‍ठी , विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:15,सूर्यास्त 06:09
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी,हल्‍की बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


दिल्ली में सोमवार को 131 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय               नई दिल्ली।  दिल्ली में सोमवार को 22 फरवरी के बाद से कोविड-19 के सबसे कम 131 नए मामले सामने आए तथा 16 मरीजों की...